विज्ञापन

रेवाड़ी

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
Digital Edition

रेवाड़ी: आसलवास नहर के पास मिला महिला का अधजला शव, नहीं हो सकी शनाख्त 

हरियाणा के रेवाड़ी जिले के बावल क्षेत्र में दिल्ली-जयपुर राष्ट्रीय राजमार्ग के साथ गांव आसलवास स्थित जेएलएन नहर के पास अधजली अवस्था में एक महिला का शव मिला है, जिसने नीले रंग की टी-शर्ट और निक्कर पहने हुए हैं। सूचना मिलने के बाद पुलिस मौके पर पहुंची और शव को कब्जे में लेकर रेवाड़ी के सामान्य अस्पताल में पंचनामा कार्रवाई के लिए भिजवा दिया। देर शाम तक मृतका की शनाख्त नहीं हो पाई थी। 

गांव आसलवास स्थित जेएलएन नहर के पास बुधवार की सुबह लोग टहल रहे थे। इसी बीच कुछ लोगों को एक महिला की अधजली लाश दिखाई दी। देखने से उसकी उम्र 34 वर्ष के करीब लग रही थी। इस पर लोगों ने तुरंत इसकी सूचना पुलिस को दी।

मौके पर पहुंची पुलिस ने जांच पड़ताल की। यह शव यहां कहां से आया? पुलिस इसका सुराग लगा रही है। पुलिस को अंदेशा है कि कहीं महिला की हत्या दूसरी जगह करके उसके शव को यहां जलाने की कोशिश तो नहीं की गई। फिलहाल इस वारदात की जांच शुरू हो गई है। 
... और पढ़ें

रेवाड़ी: घंटी बजाकर घर में घुसे हथियारों से लैस बदमाश, पिस्टल दिखाकर लूटे 50 हजार रुपये  

रेवाड़ी शहर के पॉश इलाके सेक्टर-3 में सोमवार की रात को हथियारबंद बदमाशों ने एक घर में घुसकर पिस्टल के बल पर पचास हजार रुपये लूट लिए। इस दौरान घर में नौकर और बुजुर्ग मौजूद थे। मॉडल टाउन थाना पुलिस ने मामला दर्ज कर लिया है।  

शहर के सेक्टर तीन में रहने वाले महेंद्र गोयल और उनके भाई विनयशील गोयल ने आसपास ही मकान बनाए हुए हैं। विनयशील गोयल के पास उनके बुजुर्ग पिता नरेन्द्र कुमार (82) रहते हैं। सोमवार रात विनयशील किसी काम से बाहर गए हुए थे। घर में पिता नरेन्द्र कुमार और दो घरेलू नौकर नेपाल निवासी प्रकाश व बिहार के सीतामढ़ी निवासी विक्रम मौजूद रहे।

नौकर और बुजुर्ग के अनुसार सोमवार की रात करीब पौने 11 बजे घर के बाहर दो हथियारबंद बदमाश पहुंचे। इस दौरान उन्होंने दरवाजे पर लगी घंटी बजाई। इस पर नौकर ने दरवाजा खोला तो दोनों बदमाश पिस्टल के बल पर अंदर घुस गए। बदमाशों ने बुजुर्ग नरेन्द्र कुमार को भी पिस्टल दिखाकर डरा दिया और फिर अलमारी की चाबी मांगी। इस दौरान नरेन्द्र ने बदमाशों को चाबी सौंप दी।

बदमाशों ने अलमारी में रखे करीब 50 हजार रुपसे कैश निकाले और फिर धमकी देकर भाग गए। नरेन्द्र कुमार के दूसरे बेटे महेन्द्र गोयल ने बताया कि वारदात से कुछ देर पहले ही वह अपने पिता से मिलकर लौटे थे। वारदात को अंजाम देने वाले एक बदमाश ने मास्क लगाया हुआ था, जबकि दूसरे ने मुंह पर कपड़ा ढका हुआ था।

मंगलवार सुबह जांच के लिए मॉडल टाउन थाना प्रभारी रतनलाल से लेकर अन्य पुलिस अधिकारी भी मौके पर पहुंचे। मॉडल टाउन पुलिस के अलावा सीआईए टीम बदमाशों की धरपकड़ में लगी है। सेक्टर तीन रेवाड़ी का पॉश इलाका है। इस इलाके में कई बिजनेसमैन से लेकर बड़े व्यापारी और अधिकारी रहते हैं।

सीसीटीवी कैमरे में कैद हुई वारदात 
वारदात करने वाले दोनों बदमाश घर में लगे सीसीटीवी कैमरे में कैद हो गए। घर में घुसने से पहले दोनों मोटरसाइकिल पर घर के आगे से निकलते व फिर लौटते हुए भी दिखाई दे रहे हैं। लूट की वारदात करने वाले बदमाशों को घर के बारे में पूरी जानकारी थी। पुलिस को बदमाशों द्वारा घर की रेकी किए जाने का भी अंदेशा है। वारदात से कुछ समय पहले ही महेंद्र गोयल अपने पिता से मिलकर घर गए थे। कुछ ही देर बाद उन्हें लूट होने की सूचना मिली।

एसपी भी पहुंचे मौके पर
लूट की वारदात की सूचना के बाद पुलिस अधीक्षक राजेश कुमार रात में ही मौके पर पहुंचे। इसके अतिरिक्त पुलिस उप अधीक्षक अमित भाटिया, अपराध अनुसंधान शाखा (सीआईए) इंचार्ज सतेंद्र सिंह, माडल टाउन थाना एसएचओ रतन लाल व सेक्टर-तीन चौकी प्रभारी एएसआई अजय कुमार भी मौके पर पहुंचे। पुलिस ने सीसीटीवी फुटेज अपने कब्जे में लिए हैं और बदमाशों की पहचान का प्रयास कर रही है। पुलिस अधीक्षक राजेश कुमार ने कहा कि आरोपियों की पहचान कर जल्द ही गिरफ्तार किया जाएगा।
 
... और पढ़ें

रेवाड़ी: महिला से छेड़छाड़ के दोषी को एक साल की सजा, अदालत ने जुर्माना भी लगाया

हरियाणा के रेवाड़ी में अतिरिक्त जिला एवं सत्र न्यायाधीश कंचन माही की अदालत ने महिला से छेड़छाड़ के दोषी युवक को एक साल की कैद की सजा सुनाई है। साथ ही 11 हजार रुपये जुर्माना भी लगाया है। दोषी युवक पीड़िता के ही गांव का ही रहने वाला है।

मार्च 2019 को पुलिस को दी शिकायत में माडल टाउन थाना क्षेत्र के एक गांव निवासी एक महिला ने कहा था कि वह कनीना स्थित एक कॉलेज में पढ़ाई कर रही है। 27 मार्च की सुबह भी वह अपने पति के साथ कॉलेज जाने के लिए घर से निकली थी। दोनों पैदल गांव के बस स्टॉप पर जा रहे थे। रास्ते में पीछे से गांव निवासी एक युवक अपनी कार लेकर आया।

युवक ने महिला व उसके पति को रेवाड़ी तक छोड़ने की बात कह कर अपनी कार में बैठा लिया था। महिला के पति रास्ते में ही किसी काम से कार से उतर गया था। कुछ दूर चलने के बाद महिला को अकेली पाकर कार चालक ने छेड़छाड़ शुरू कर दी थी।

आरोपी ने कार रोक कर महिला को आगे सीट पर बैठने के लिए कहा। इंकार करने पर आरोपी ने महिला को पैसों का भी लालच दिया था। कार से उतरने के बाद महिला ने अपने पति को युवक द्वारा की गई हरकतों की जानकारी दी थी, जिसके बाद पुलिस को शिकायत दी गई थी। 

माडल टाउन थाना पुलिस ने आरोपी युवक के खिलाफ छेड़छाड़ व एससी-एसटी एक्ट के तहत मामला कर जांच शुरू की थी। जांच के बाद पुलिस ने अदालत में आरोपी के खिलाफ चालान पेश किया था। अतिरिक्त जिला एवं सत्र न्यायाधीश कंचन माही की अदालत ने पुलिस द्वारा रखे गए साक्ष्यों व गवाहों के बयान दर्ज करने के बाद युवक को छेड़छाड़ व एससी-एसटी एक्ट के तहत दोषी माना। अदालत ने दोषी युवक को एक साल की कैद व 11 हजार रुपये का जुर्माना की सजा सुनाई है। जुर्माना नहीं भरने पर दोषी युवक को 15 दिन की अतिरिक्त जेल की सजा भुगतनी होगी।
... और पढ़ें

रेवाड़ी: ऑटो में मां-बेटी के दो लाख रुपये चोरी, महिला गिरफ्तार, 1.90 रुपये बरामद

हरियाणा के रेवाड़ी में बैंक से रुपये निकाल कर ऑटो से भिवाड़ी के गांव मिलकपुर से धारूहेड़ा आते समय मां-बेटी के बैग से दो लाख रुपये चोरी कर लिए गए। महिला की शिकायत पर भिवाड़ी पुलिस ने तत्परता दिखाते हुए चोरी करने वाली एक महिला को गिरफ्तार कर लिया। पुलिस ने आरोपी महिला से एक लाख 90 हजार रुपये भी बरामद कर लिए।  
 
बताया जाता है मूल रूप से उत्तर प्रदेश की रहने वाली शांति देवी परिवार के साथ नारायण विहार आकेड़ा में रहती है। उनकी बेटी की दो माह बाद शादी है। बैंक से रुपये निकलवाकर उत्तर प्रदेश में जाने का कार्यक्रम बनाया हुआ था लेकिन इसी दौरान घर जाते समय दो लाख रुपये चोरी हो गए थे। यह राशि उन्होंने बेटी की शादी के लिए निकलवाई थी।
 
भिवाड़ी पुलिस डीएसपी हरिराम कुमावत ने बताया कि धारूहेड़ा नारायण विहार आकेड़ा की रहने वाली शांति देवी अपनी बेटी के साथ मिलकपुर के इंडियन ओवरसीज बैंक से दो लाख रुपये निकालकर कर ऑटो में भिवाड़ी मोड़ आई थी। वहां से नीलम चौक के लिए दूसरे ऑटो में बैठ गई।
 
रास्ते में उनके थैले से किसी ने दो लाख रुपये चोरी कर लिए। भिवाड़ी पुलिस ने मामला दर्ज कर जांच शुरू की थी। सीसीटीवी फुटेज खंगालने के बाद पुलिस ने अलवर के गांव मसीत निवासी प्रेम देवी को गिरफ्तार कर लिया। पुलिस ने आरोपी महिला से चोरी किए एक लाख 90 हजार रुपये भी बरामद कर लिए है। पुलिस उससे अन्य चोरी की वारदात के बारे में पूछताछ कर रही है।
... और पढ़ें
सांकेतिक तस्वीर सांकेतिक तस्वीर

हरियाणा:  हथीन पुलिस चौकी में रेवाड़ी के ईएएसआई ने फंदा लगाकर दी जान, बैरक में लगी खिड़की से लटकता मिला शव

हरियाणा के पलवल में हथीन शहर पुलिस चौकी में तैनात ईएएसआई सुरेश कुमार ने बुधवार सुबह अज्ञात कारणों से पुलिस चौकी के बैरक में ही फंदे लटक कर जान दे दी। उसका शव बैरक में लगी खिड़की से लटकता मिला। इसकी जानकारी होने पर चौकी में हड़कंप मच गया। पुलिस के वरिष्ठ अधिकारी मौके पर पहुंचे। मामले की छानबीन की जा रही है। 

हथीन थाना की शहर चौकी में तैनात रेवाड़ी निवासी ईएएसआई सुरेश कुमार बुधवार की सुबह 4 बजे गश्त के बाद चौकी लौटा था। वह आराम करने के लिए पुलिस चौकी में बने अपने बैरक में पहुंचा। इसके बाद उसने चौक में बने कमरे की खिड़की से फंदा लगाकर आत्महत्या कर ली।

सुरेश कुमार मूल रूप से रेवाड़ी के मानकपुर गांव का रहने वाला था और वर्तमान में परिवार के साथ धारूहेड़ा में मकान बनाकर रह रहा था। वह तीन बच्चों का पिता था। जिनमें दो लड़के और एक लड़की है। वह 2008 से पलवल में तैनात था।

सुबह 10 बजे जब साथी पुलिसकर्मी बैरक में गए तो वहां पर सुरेश कुमार को फंदे पर लटका देखा। इसकी सूचना पुलिस अधिकारियों को दी गई। डीएसपी रतनदीप बाली चौकी में पहुंचे। इसकी सूचना मृतक के परिजनों को दे दी गई है। फिलहाल शव को पोस्टमार्टम के लिए नागरिक अस्पताल पलवल भेजा गया है। पुलिस छानबीन कर रही है। मौके से कोई सुसाइड नोट मिलने की जानकारी अभी सामने नहीं आई है।

परिजनों का इंतजार
सुरेश कुमार ने आत्महत्या क्यों की गई, इस बारे में अभी कोई कारण सामने नहीं आया है। हथीन थाना प्रभारी जसवीर सिंह ने बताया कि शव को फंदे से उतारकर शव को पोस्टमार्टम के लिए जिला नागरिक अस्पताल पलवल भेज दिया गया है। उसके परिजनों का इंतजार किया जा रहा है। परिजनों के बयान के आधार पर ही आगे की कार्रवाई की जाएगी।
... और पढ़ें

पत्नी व बेटी की हत्या का मामला: धर्म बदलकर जिस प्रेमी से की थी शादी उसने ही की हत्या, पड़ोसी की छत से हुआ फरार

हरियाणा के रेवाड़ी शहर के कृष्णा नगर स्थित एक मकान में अपनी गर्भवती पत्नी व चार वर्षीय बेटी की हत्या के मामले में कई बातें सामने आई हैं। मृतका ने छह साल पूर्व धर्म बदलकर जिस प्रेमी संग शादी की थी उसने ही उसकी व उसकी बेटी की हत्या कर दी। वहीं खुलासा यह हुआ है कि महिला व उसकी बेटी का हत्यारोपी दिनेश पड़ोसी की छत से फरार हुआ था। आरोपी ने पत्नी के दुपट्टे व कपड़े सुखाने वाली रस्सी को पड़ोसी की छत पर उतरने का जरिया बनाया था। शनिवार को माडल टाउन थाना ने दिनेश के खिलाफ हत्या का मामला दर्ज कर लिया है और उसकी तलाश कर रही है। 

पुलिस के अनुसार करनाल के गांव शेखपुरा जहांगीर निवासी दिनेश अपनी पत्नी साक्षी व चार वर्षीय बेटी के साथ मोहल्ला कृष्णा नगर में किराए पर रहता था और बावल स्थित एक कंपनी में कार्यरत था। शुक्रवार को दिन में किसी समय दिनेश ने पत्नी साक्षी व बेटी अवनी की गला घोंटकर हत्या कर दी थी और फरार हो गया था।
 
आरोपी ने तीसरी मंजिल पर कमरा किराए पर लिया हुआ था। हत्या के बाद सीढ़ियों की बजाय कपड़े सुखाने वाली रस्सी व दुपट्टे बांधकर पड़ोसी की छत पर उतारा और वहां से कूदकर फरार हो गया। दूसरी मंजिल पर रहने वाले किराएदार की बेटी जब अवनी के साथ खेलने के लिए गई तो हत्याकांड का पता लगा था और पुलिस को सूचना दी गई थी।

साक्षी ने किया था धर्म परिवर्तन
शादी से पहले साक्षी का नाम रुबीना था और वह दूसरे समुदाय से संबंध रखती थी। करनाल के गांव शेखपुरा जहांगीर में दिनेश व रुबीना एक दूसरे के पड़ोसी थे और उनके बीच प्रेम प्रसंग था। छह साल पहले दोनों ने गांव व अपने परिवार को छोड़ दिया था। दिनेश से शादी के लिए रुबीना ने धर्म परिवर्तन कर लिया था और साक्षी बन गई थी। कुरुक्षेत्र में कोर्ट में शादी करने के बाद दोनों रेवाड़ी आकर रहने लगे थे। इसके बाद दोनों के ही परिजनों का उनसे कोई संपर्क नहीं था। बताया जा रहा है कि ईद के दिन साक्षी की उसकी मां से कुछ समय के लिए बातचीत हुई थी।

सामने नहीं आया हत्या का कारण
शनिवार को साक्षी के परिजन रेवाड़ी पहुंचे। परिजनों ने बताया कि साक्षी सात माह की गर्भवती भी थी। पुलिस ने पोस्टमार्टम कराने के बाद शव परिजनों को सौंप दिए और दिनेश के खिलाफ हत्या का मामला दर्ज कर लिया है। माडल टाउन थाना एसएचओ रतनलाल ने बताया कि आरोपी युवक की तलाश की जा रही है और जल्द गिरफ्तार किया जाएगा। गिरफ्तारी के बाद ही हत्या के कारण सामने आ पाएंगे।
... और पढ़ें

रेवाड़ी: अमित शाह के पीएसओ के घर से लाखों की नकदी व जेवरात चोरी, चाचा के घर में भी लगाई सेंध

हरियाणा के रेवाड़ी के गांव चिल्हड़ में शुक्रवार रात को चोरों ने एक सेवानिवृत्त इंस्पेक्टर के घर में सेंध लगा लाखों रुपये के जेवरात चोरी कर लिये। चोरों ने दिल्ली पुलिस में कार्यरत उनके भतीजे के घर में भी चोरी की वारदात की है। बताया जा रहा है कि उनका भतीजा गृह मंत्री अमित शाह के पीएसओ हैं। शनिवार की सुबह चोरी की वारदात का पता लगने के बाद पुलिस को सूचना दी गई।

गांव से चिल्हड़ निवासी दयानंद यादव सीमा सुरक्षा बल से इंस्पेक्टर के पद से सेवानिवृत्त है। शुक्रवार की रात को चोरों ने उनके घर में सेंध लगा दी और एक कमरे का ताला तोड़कर संदूक में रखे लाखों रुपये के सोने-चांदी के जेवरात व एक लाख 75 हजार की नकदी चोरी कर ले गए। इसके बाद चोर उनके भतीजे दिल्ली पुलिस में कार्यरत नरेंद्र यादव के घर में भी घुस गए।

चोरों ने यहां से भी संदूक में रखे चांदी के सिक्के चोरी कर लिए। जाते समय चोर रसोई में रखा करीब पांच किलोग्राम देसी घी भी अपने साथ ले गए। शनिवार की सुबह परिवार के सदस्य उठे रसोई व कमरे में सामान बिखरा हुआ था। सूचना मिलने के बाद सदर थाना पुलिस मौके पर पहुंची। फिंगर प्रिंट एक्सपर्ट की मदद से पुलिस ने साक्ष्य जुटाने का भी प्रयास किया। पुलिस मामले की जांच कर रही है।
 
... और पढ़ें

रेवाड़ी: व्यापारी ने जहरीला पदार्थ खाकर की खुदकुशी, आत्महत्या से पहले वीडियो बनाकर बयां किया दर्द

चोरी के बाद बिखरा पड़ा सामान।
हरियाणा के रेवाड़ी जिले में एक व्यापारी ने खुदकुशी कर ली। आत्महत्या से पहले व्यापारी ने 2 मिनट 22 सेकेंड का वीडियो भी बनाकर वायरल किया जिसमें वह अपनी पत्नी के मामा, साले और पत्नी को अपनी मौत का जिम्मेदार ठहराते हुए सख्त कार्रवाई की मांग कर रहा है। गुरुवार की सुबह उसका शव गांव गोकलगढ़ स्थित जोहड़ के पास मिला। सूचना के बाद मौके पर पहुंची सदर पुलिस ने शव को कब्जे में ले लिया। पुलिस ने मृतक के पिता की शिकायत पर पत्नी सहित तीन लोगों पर मामला दर्ज किया है।

शहर के चार किलोमीटर दूर गांव गोकलगढ़ निवासी क्रांति यादव (35) ने शहर की ब्रास मार्केट में रेडीमेड कपड़े का शोरूम खोला हुआ था। वह पिछले काफी समय से घरेलू कलह के चलते परेशान था। उसने जहरीला पदार्थ खाकर खुदकुशी कर ली। सुबह की सैर पर निकले ग्रामीणों ने उसे जोहड़ के पास पड़ा देख पहले परिजनों को सूचना दी और फिर पुलिस को सूचित किया गया।

सूचना के बाद मौके पर पहुंची पुलिस ने शव को कब्जे में लिया तथा पोस्टमार्टम के लिए नागरिक अस्पताल भिजवा दिया। पुलिस ने दोपहर बाद पोस्टमार्टम कराकर शव परिजनों को सौंप दिया। ग्रामीणों ने बताया कि कुछ साल पहले ही उसकी मां की बीमारी के चलते मौत हो गई थी। घर में उसके अलावा बुजुर्ग पिता व एक छोटा भाई है। कुछ समय से क्रांति काफी ज्यादा परेशान चल रहा था।

वीडियो में बयां किया दर्द
क्रांति यादव ने खुदकुशी से पहले एक वीडियो बनाया, जिसमें क्रांति यादव खुद का नाम बताकर दावा कर रहा है कि उसकी लाइफ बहुत बढ़िया चल रही थी। उसकी पत्नी ने उसे बहुत परेशान कर दिया। कुछ लॉकडाउन की वजह से नुकसान हुआ तो पत्नी समझने लगी कि नुकसान की भरपाई नहीं होगी और उसने सारा पैसा अपने भाई को दे दिया।

मैं अपनी पत्नी और साले से परेशान होकर आत्महत्या कर रहा हूं। मैंने अपना खुद का घर बनाया, जिससे आज मैं ही बाहर हूं। जिसने मेरी शादी कराई उसके मामा से भी बात की। सास के नंबर मांगे, लेकिन नहीं मिले। बार-बार पुलिस में झूठी शिकायतें दी। मैं अपनी घरवाली, उसके भाई और मामा की वजह से अपनी जीवन लीला समाप्त कर रहा हूं...।
 
युवक ने फंदा लगाकर दी जान
युवक के सुसाइड करने के कारण का पता नहीं पाया है। रामपुरा थाना पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर कार्रवाई शुरू कर दी है। शहर से सटे गांव रामपुरा में रामप्रसाद के बेटे गोपाल (25) ने बुधवार की रात अपने ही घर में अज्ञात कारणों से फंदा लगाकर जान दे दी।

सुबह देर तक कमरा नहीं खुला तो परिजनों को शक हुआ। खिड़की से देखा तो उनके पैरों तले जमीन खिसक गई। गोपाल पंखे से फंदा लगाकर लटका हुआ था। परिजनों ने तुरंत इसकी सूचना पुलिस को दी। मौके पर पहुंची रामपुरा थाना पुलिस ने शव को नीचे उतार कर नागरिक अस्पताल में पहुंचाया, जहां दोपहर के समय पोस्टमार्टम के बाद शव परिजनों को सौंप दिया। हालांकि अभी यह साफ नहीं हो पाया है कि गोपाल ने आत्महत्या किस वजह से की। पुलिस मामले की जांच में जुटी है।

दो बच्चों के पिता ने लगाया फंदा
कोसली। गांव नांगल मूंदी निवासी 43 वर्षीय दो बच्चों के पिता ने गांव बेरली के पास खेतों में एक पेड़ से फंदा लगाकर जान दे दी। सूचना मिलने के बाद जाटूसाना पुलिस मौके पर पहुंची और शव को कब्जे में लेकर इसकी शिनाख्त में जुट गई। शव की शिनाख्त गांव नांगल मूंदी निवासी रामकिशन के रूप में हुई।

परिजनों ने पुलिस को बताया कि मृतक कई दिनों से मानसिक रूप से परेशान था। इसके बाद में पुलिस ने परिजनों के बयान दर्ज करके इस मामले में सामान्य कार्यवाही करते हुए शव को पंचनामा कार्रवाई के लिए रेवाड़ी के सामान्य अस्पताल भिजवा दिया। 

इस संबंध में जाटूसाना पुलिस एचएचओ निरीक्षक जितेंद्र कुमार ने बताया कि सूचना मिलने के बाद पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर पंचनामा कार्यवाही के लिए सामान्य अस्पताल रेवाड़ी भिजवा दिया है। उक्त अधिकारी ने बताया कि परिजनों ने मृतक के मरने की वजह मृतक के मानसिक रूप से परेशान होना बताई है।    
... और पढ़ें

रेवाड़ी: चिटफंड कंपनी ने प्लॉट और रुपये दोगुना कराने का झांसा देकर ठगे करोड़ों, आठ पर मामला दर्ज

हरियाणा के रेवाड़ी जिले में एक चिटफंड कंपनी ने कई लोगों के करोड़ों रुपये हड़प लिये। रुपये इन्वेस्ट करने वाले लोगों को प्लॉट और रुपये दोगुना करके लौटाने का झांसा दिया गया। समय पूरा होने के बाद उनके हाथ कुछ नहीं लगा। ऊपर से जो बॉन्ड और कागजात दिए थे, वे भी कंपनी ने वापस नहीं किए। मॉडल टाउन थाना पुलिस ने आठ लोगों के खिलाफ एफआईआर दर्ज की है।

शहर में बावल रोड पर वर्ष 2011 में रेवाड़ी ऑफ कर्मभूमि रियल एस्टेट प्राइवेट लिमिटेड के नाम से एक कार्यालय खुला था। इसमें रेवाड़ी के गांव खोरी निवासी सुरेंद्र कुमार बतौर ब्रांच मैनेजर और गुमीना निवासी निर्मल कुमार, अलीगढ़ के सुरेंद्र नगर निवासी देवेंद्रपाल, मथुरा निवासी मनोज कुमार, अलवर निवासी विजय कुमार, मामडपुर निवासी पूर्व प्रकाश, मथुरा निवासी राजेश्वरी सैंगर, गुमीना निवासी रजनी सिंह विभिन्न पदों पर कार्यरत थे।

ऑफिस खोलने के साथ ही खूब प्रचार-प्रसार किया गया कि उनकी कंपनी मल्टीपल इन्सटॉलमेंट स्कीम के जरिये पैसा इन्वेस्ट करने पर न केवल महंगी कीमत के प्लॉट मुहैया कराएगी बल्कि लोगों के पैसे कुछ साल में दोगुने करके लौटाए जाएंगे। इसी लालच में रेवाड़ी व आसपास के गांवों के लोग कंपनी के झांसे में आ गए। पीड़ित बिमला यादव, शकुंतला यादव, बिरेंद्र सिंह, इंद्रमल अग्रवाल, सुनीता यादव, ललिता, हेमलता, मुन्नी, मुकेश देवी व नरेश सोनी सहित दर्जनों लोगों ने कंपनी में खुद और अपने रिश्तेदारों के करोड़ों रुपये इन्वेस्ट कर दिए।
 
पैसे इन्वेस्ट करने वाले 65 लोग
पैसे इन्वेस्ट करने वालों की सूची में अभी 65 लोगों के नाम सामने आए हैं। इन लोगों को कंपनी की तरफ से पैसे जमा कराने पर बॉन्ड भी भरकर दिए गए लेकिन 2 साल का समय पूरा होने के बाद न तो उन्हें प्लॉट मिला और न ही पैसा वापस मिला। करोड़ों रुपये लौटाने का दबाव बनने पर कंपनी ने ऑफिस बंद कर दिया। उसके बाद कंपनी पदाधिकारियों से लोगों ने अपने पैसे वापस मांगे तो उनसे भरे हुए बॉन्ड वापस मंगवा लिए गए और फिर बॉन्ड और कागजात अपने कब्जे में लेने के बाद आरोपी फरार हो गए।

मथुरा से चलता था मेन ऑफिस
काफी दिनों तक धक्के खाने के बाद भी जब इन्वेस्ट करने वाले लोगों के पैसे नहीं मिले तो शिकायत पुलिस को दी गई। पुलिस ने जांच की तो पता चला कि 65 से ज्यादा लोगों के करोड़ों रुपये कंपनी ने हड़पे हैं। पुलिस कंपनी के मेन ऑफिस मथुरा तक पहुंच गई। मथुरा पहुंचने के बाद पता चला कि वर्ष 2016 में यहां से कंपनी के अधिकारी ऑफिस बंद कर भाग चुके हैं। मॉडल टाउन थाना पुलिस ने करोड़ों रुपये की धोखाधड़ी का केस दर्ज किया है।
 
... और पढ़ें

रेवाड़ी: भाजपा नेता ने ऑनलाइन मंगवाया साउंड सिस्टम, डिब्बा खोला तो निकला कबाड़ और एक पुराना स्पीकर

हरियाणा के रेवाड़ी शहर में भाजपा नेता सुनील मूसेपुर के साथ 30 हजार रुपये की ठगी हुई है। सुनील ने ऑनलाइन साइट के माध्यम से  साउंड सिस्टम का ऑर्डर दिया था। डिलीवरी ब्वॉय घर पर ऑर्डर देने पहुंचा तो डिब्बा खोलने पर उसमें से कबाड़ निकला। भाजपा नेता ने डिलीवरी ब्वॉय को पकड़कर पुलिस के हवाले कर दिया है। 

रेवाड़ी विधानसभा सीट से 2019 में भाजपा की टिकट पर चुनाव लड़ चुके सुनील मूसेपुर ने कुछ दिन पहले अमेजन से 30 हजार रुपये कीमत का एक साउंड सिस्टम ऑर्डर किया। डिलीवरी ब्वॉय ने पैकिंग को भाजपा नेता के हाथ में थमा दिया। भाजपा नेता ने मौके पर ही पैकिंग खोल कर देखी तो डिब्बे में गत्ते का कबाड़ और एक पुराना स्पीकर मिला।

उन्होंने डिलीवरी ब्वॉय को वहीं पर बैठाकर मॉडल टाउन थाना पुलिस को सूचना दी। डिलीवरी ब्वॉय संदीप ने बताया कि उन्हें कंपनी के गोदाम से माल डिलीवरी करने के लिए दिया जाता है। वह सीधे गोदाम से कस्टमर के पास पहुंचाते हैं। पैकिंग के अंदर क्या है, उन्हें इस बात की कोई जानकारी नहीं होती। मॉडल टाउन थाना पुलिस ने मामले की जांच शुरू कर दी।
... और पढ़ें

रेवाड़ी: कोरोनारोधी दूसरी डोज लगाने पर किशोरी की मां ने नर्स को पीटा, केस दर्ज, मां बोली- पहली डोज में बिगड़ गई थी तबीयत

हरियाणा के रेवाड़ी जिले के कोसली कस्बे में राजकीय वरिष्ठ माध्यमिक विद्यालय कन्हौरा में बच्चों को कोरोना रोधी टीका लगाने गई एक एएनएम को एक किशोरी की मां ने पीट दिया। इस घटना की शिकायत पीड़ित नर्स ने स्वास्थ्य विभाग के मेडिकल ऑफिसर से की। बाद में शिकायत मिलने पर पुलिस ने नर्स को पीटने वाली महिला के खिलाफ मामला दर्ज कर लिया।

प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र रत्नथल के प्रभारी डॉ. योगेश ने पुलिस को दी शिकायत में बताया कि स्टाफ नर्स लक्ष्मी की ड्यूटी बच्चों की कोरोनारोधी टीकाकरण कार्य में लगाई हुई है। वे कन्हौरा के एक सरकारी विद्यालय में अपनी ड्यूटी निभा रही थी। इसी दौरान गांव की एक महिला ने स्टाफ नर्स से मारपीट की।

महिला ने कहा कि उसकी बेटी(15) की पहली डोज लेने के बाद तबीयत खराब हो गई इसलिए उसे दूसरी डोज नहीं देनी थी। उधर स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों ने कहा कि पहली डोज लेने के बाद संबंधित किशोरी को कोई परेशानी होने की बात सामने आई ही नहीं।

अगर ऐसा होता, तो उससे दूसरी डोज नहीं दी जाती। बहरहाल रोहड़ाई पुलिस ने सरकारी कार्य में बाधा पहुंचाने समेत अन्य धाराओं के तहत किशोरी की मां के खिलाफ मामला दर्ज कर लिया। उधर किशोरी की मां प्रतिमा ने कहा कि उसकी लड़की को पहली डोज देने पर तबीयत खराब हो गई थी, इसकी जानकारी देने के बावजूद उसकी लड़की को दूसरी डोज दी गई जो नियमानुसार गलत है। 
 
... और पढ़ें

रेवाड़ी: चिटफंड कंपनी बनाकर 57 लाख रुपये की धोखाधड़ी का मुख्य आरोपी गिरफ्तार, तीन दिन के रिमांड पर लिया

हरियाणा के रेवाड़ी में सोलर उपकरणों की खरीद पर शत-प्रतिशत सब्सिडी देकर चिटफंड नेटवर्क कंपनी बनाकर ठगी करने के मामले मास्टर माइंड मुख्य आरोपी को सीआईए इंचार्ज धारूहेड़ा, इंस्पेक्टर अजय कुमार की अगुवाई में गठित एसआईटी ने गिरफ्तार किया है। गिरफ्तार आरोपी की पहचान रेवाड़ी के गांव सुनारिया निवासी सोमदेव खोला के रूप में हुई है।

मामले में आरोपी के खिलाफ वर्ष 2019 में मामला दर्ज किया गया था। इसकी जांच बाद में धारूहेड़ा सीआईए इंचार्ज इंस्पेक्टर अजय कुमार की अगुवाई में गठित एसआईटी को सौंपी गई थी। एसआईटी द्वारा मामले में आरोपी के भाई पृथ्वीराज खोला और उसकी पत्नी सरोज को पहले ही गिरफ्तार किया जा चुका है। पुलिस मामले में 40 लाख रुपये बरामद करके अदालत से आरोपियों की डेढ़ एकड़ जमीन अटैच करा चुकी है। 

जांचकर्ता शहर थाना इंजार्च एसआई संजय कुमार ने बताया कि रोहतक की कैलाश कॉलोनी निवासी राजेंद्र सिंह तोमर सहित अन्य पीड़ितों ने जून 2019 में पुलिस अधीक्षक को शिकायत देकर बताया था कि सोमदेव खोला और उसके भाई पृथ्वी सिंह ने रेवाड़ी शहर में कमला पैलेस, धारूहेड़ा चुंगी पर सोलर-वे कंपनी के नाम तीन दफ्तर खोले हुए हैं।

यहां पर आरोपी केंद्र और राज्य सरकार द्वारा सोलर उपकरणों को बढ़ावा देने के नाम इनकी खरीद पर 100 प्रतिशत सब्सिडी का झांसा देकर एक चिटफंड नेटवर्क का काम करते हैं।  आरोपियों ने रोहतक सहित अन्य आसपास के जिलों के लोगों से कुल 57 लाख रुपये का निवेश कराया था।

आरोपी सोमदेव खोला खुद को कंपनी का एमडी बताता था और दफ्तर में भी उसने सेल्स मैनेजर के साथ अन्य लोग लगाए हुए थे। पीड़ितों ने बताया था आरोपी इस खरीद के दौरान 10 प्रतिशत टीडीएस काटते थे और इसका पैसा वापस जमा नहीं करके पूरा पैसा खुद ही हड़प जाते थे।

पुलिस ने राजेन्द्र सिंह तोमर की शिकायत पर मामला दर्ज करके आरोपियों की तलाश शुरू की थी। पुलिस ने जांच शुरू करते हुए आरोपियों के खातों को सील करा दिया था। इसमें लगभग 40 लाख रुपये थे। यह राशि रिकवर कर ली गई है। इसके अलावा एफआईआर दर्ज होने के बाद मामले में जांचकर्ता एसआई संजय कुमार ने आरोपी के भाई पृथ्वी सिंह के साथ आरोपी की पत्नी सरोज को वर्ष 2020 में गिरफ्तार कर लिया गया था।

वहीं आरोपी सोमदेव खोला फरार चल रहा था। इसी बीच पुलिस ने आरोपी की डेढ़ एकड़ जमीन को भी अदालत के माध्यम से अटैच कराकर इसकी प्रक्रिया को आगे बढ़ाया है। मामला संज्ञान में आने के बाद एसपी ने इस मामले में अब वर्तमान में सीआईए इंचार्ज धारूहेड़ा इंस्पेक्टर अजय कुमार की अगुवाई में जांच के लिए एसआईटी गठित की थी। एसआईटी ने आरोपी के भी बारे में सुराग लगाकर आरोपी सुनारिया निवासी सोमदेव खोला को गिरफ्तार कर लिया। पुलिस ने आरोपी को अदालत में पेश करके तीन दिन के पुलिस रिमांड पर लिया है। 
... और पढ़ें

रेवाड़ी: नकली सोना गिरवी रख बैंक के 19.22 लाख की धोखाधड़ी, दो महिलाओं सहित चार पर केस दर्ज

हरियाणा के रेवाड़ी जिले में पिछले डेढ़ साल के अंतराल में बैंक ऑफ बड़ौदा के साथ नकली सोना गिरवी रखकर ठगी करने का मामला सामने आया है। चार शातिरों ने अलग-अलग तारीख पर बैंक में जाकर गोल्ड लोन के नाम पर 19 लाख 22 हजार 250 रुपये का लोन ले लिया। सोने के आभूषणों की जांच की गई तो वह नकली मिले। बैंक ने रिकवरी के नोटिस भी भेजे, लेकिन पैसा नहीं मिला।

सोमवार को कोसली थाना पुलिस ने बैंक मैनेजर की शिकायत पर दो महिलाओं सहित चार लोगों के खिलाफ धोखाधड़ी का केस दर्ज कर लिया। कार्रवाई न होने पर बैंक के अधिकारी मंगलवार को एसपी से मिले, जिसके बाद मामले में तेजी लाई गई। 

कोसली स्थित बैंक ऑफ बड़ौदा के मैनेजर आशीष नरूला ने बताया कि करीब डेढ़ साल के अंतराल में कोसली के गांव झाल निवासी धर्मबीर, रिंकू रानी, गांव लुहाना निवासी सुनील कुमार व झज्जर के गांव तुम्बाहेड़ी निवासी सुमन ने गोल्ड लोन स्कीम के तहत उनकी बैंक शाखा में आवेदन किया था।

बैंक ने आवेदकों द्वारा गिरवी रखे गए सोने के आभूषण की शुद्धता की जांच कराई, जिसमें शुद्धता सही पाई गई थी। उन्होंने बताया कि दो दिन पूर्व उच्च अधिकारियों के निर्देश पर फिर से आभूषणों की जांच कराई गई, जिसमें इन चारों द्वारा गिरवी रखा गया सोना नकली पाया गया।

इन आरोपियों ने गिरवी रखे आभूषण
चारों आरोपियों को अलग-अलग तारीख पर लाखों रुपये लोन पास करके दे दिए। धर्मबीर ने 16 जनवरी 2021 को 150 ग्राम सोना गिरवी रखकर 2 लाख 90 हजार, रिंकू रानी ने 23 नवंबर 2020 को 261.55 ग्राम सोना गिरवी रखकर 5 लाख 5 हजार रुपये व 27 जनवरी 2021 को 229.78 ग्राम सोना गिरवी रखकर 2 लाख 05 हजार 250 रुपये, सुनील कुमार ने 1 मार्च 2021 को 154.56 ग्राम सोना गिरवी रखकर 2 लाख 28 हजार रुपये और 12 मार्च 2021 को 181.3 ग्राम सोना गिरवी रखकर 2 लाख 86 हजार रुपये व सुमन को 30 मार्च 2021 को 2 बार में 314.7 ग्राम सोना गिरवी रखकर 2 लाख 37 हजार और 1 लाख 71 हजार रुपये गोल्ड लोन दिया गया। 

बैंक अधिकारियों को शक हुआ तो कराई जांच
बैंक अधिकारियों को आरोपियों द्वारा रखे गए सोने की शुद्धता पर शक हुआ। इसके बाद उच्च अधिकारियों के निर्देश पर लैब से फिर से सोने की जांच कराई गई तो शातिरों के खेल का पता चला। लैब में हुई जांच में सोना नकली पाया गया। कुल गहनों में कुछ ग्राम ही सोने की शुद्धता मिली, जबकि 50 से 60 प्रतिशत तक सोना नकली मिला। इतना ही नहीं आरोपी गिरवी रखे सोने को बैंक से वापस भी लेने भी नहीं पहुंचे। इसके बाद बैंक ने आरोपियों को रिकवरी के नोटिस भेजे, लेकिन आरोपियों ने उसका भी जवाब नहीं दिया। रिकवरी की रकम करीब 19 लाख रुपये से ज्यादा है। इसलिए आरोपियों के खिलाफ पुलिस को शिकायत दी गई, लेकिन कोसली थाना पुलिस ने मामले को लटकाए रखा तो बैंक मैनेजर की तरफ से एसपी को शिकायत दी गई। अब एसपी के निर्देश पर पुलिस ने चारों आरोपियों के खिलाफ बैंक के साथ धोखाधड़ी करने का केस दर्ज किया है।

गोल्ड लोन प्राप्त करने के लिए इन मानदंडों को करना होता है पूरा
  • सोना आवेदक या परिवार के सदस्य के नाम पर होना चाहिए। 
  • ऋण के लिए आवेदन करने वाला ग्राहक भारत का निवासी होना चाहिए।
  • व्यक्ति की आयु 18-70 वर्ष के बीच होनी चाहिए। 
  • न्यूनतम ऋण राशि 18 हजार रुपये है।
 
... और पढ़ें
  • Downloads
    News Stand

Follow Us

  • Facebook Page
  • Twitter Page
  • Youtube Page
  • Instagram Page
  • Telegram
एप में पढ़ें

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00