विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
सुखी वैवाहिक जीवन के लिए इस जन्माष्टमी मथुरा में कराएं राधा-कृष्ण युगल पूजा, 24 अगस्त को
Astrology Services

सुखी वैवाहिक जीवन के लिए इस जन्माष्टमी मथुरा में कराएं राधा-कृष्ण युगल पूजा, 24 अगस्त को

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

From nearby cities

हरियाणा की बेटी ने जीता गोल्ड मेडल, चीन की सरजमी में फहराया तिरंगा, कई रिकॉर्ड हैं नाम

महिला कुश्ती प्रतियोगिता में 53 किलोग्राम कैटेगरी में निर्मला ने गोल्ड मेडल जीत कर देश, हरियाणा और पुलिस का नाम रोशन किया है।

21 अगस्त 2019

विज्ञापन
विज्ञापन

कैथल

बुधवार, 21 अगस्त 2019

अनियंत्रित होकर पेड़ से टकराई बाइक, जीजा-साले ने तोड़ा दम

गांव मांडी सदरां में सड़क दुर्घटना में मोटर साइकिल सवार जीजा साले की मौत हो गई। पुलिस ने आवश्यक कार्रवाई कर शव परिजनों को सौंप दिया है। गांव मांडी सदरां में पिहोवा निवासी विक्रमजीत सिंह अपनी पत्नी के साथ रक्षाबंधन पर ससुराल आया हुए थे। वह 15 अगस्त शाम को एक दुकान देखने के सिलसिले में अपने साले लखवीर सिंह के साथ पोलड़ गांव में गये। पोलड़ से जब वापस मांडी आ रहे थे तो डेरा सोहन सिंह के पास मोड़ पर बाइक बेकाबू हो गई व पेड़ से टकरा गई। इससे मौके पर ही दोनों जीजा साले की मौत हो गई। मृतक दोनों मजदूरी करके परिवार चला रहे थे।
सीवन थाना प्रभारी तेज पाल ने बताया कि पुलिस ने लखवीर सिंह के पिता कर्मबीर सिंह की शिकायत पर मामला दर्ज कर लिया गया है। शवों को पोस्टमार्टम करवाकर परिजनों को सौंप दिया गया है। ... और पढ़ें

छह एकड़ जमीन बेचने के नाम पर 78 लाख की धोखाधड़ी

गांव बाउपर में छह एकड़ जमीन बेचने के नाम पर पंजाब निवासी एक आरोपी ने अंबाला निवासी एक व्यक्ति के साथ 78 लाख रुपये की धोखाधड़ी की। मामले में पुलिस ने आरोपी के खिलाफ चीका थाना में केस दर्ज कर लिया है।
सारदा नगर रतनगढ़ रोड अंबाला निवासी देशराज ने चीका थाना में दी। शिकायत में बताया कि उसने खेड़ी गज्जू जिला पटियाला पंजाब निवासी अनिल कुमार से गांव बाउपुर में छह एकड़ जमीन मोल ली थी। उसने यह जमीन 13 लाख रुपये प्रति एकड़ के हिसाब से ली थी। इसका इकरारनामा 28 अक्टूबर 2015 को लिखा गया था। इकरारनामा में यह शर्तें थी कि वे रजिस्ट्री से पहले अपना बैंक का बकाया अदा कर देगा, लेकिन अनिल कुमार ने यह रकम बैंक को अदा नहीं की व उससे अलग-अलग तरीकों से पैसे लेता रहा। शिकायतकर्ता ने बताया कि इकरारनामा के वक्त उसे भूमि पर कब्जा भी दे दिया था। बैंक का कर्ज अदा न करने की वजह से उसके हक में रजिस्ट्री नहीं हो सकी। अब तक वह 78 लाख रुपये अनिल कुमार को दे चुका है। इसके बावजूद अनिल कुमार रजिस्ट्री करवाने से मना कर गया। शिकायतकर्ता ने बताया कि अनिल कुमार ने धोखाधड़ी से यह जमीन अपने पिता रोशन लाल के नाम तब्दीलनामा लगवा दी, जिनके बिना पर जमीन पर बैंक ऑफ इंडिया से पंद्रह लाख रुपये लोन ले लिया। इसके बाद उसने एक दिवानी दावा देशराज बनाम अनिल कुमार गुहला अदालत में डाल रखा है, जिसमें अदालत ने कब्जा करने के बारे स्टेटस को रखने का आदेश जारी किया हुआ है। अदालत के आदेश के बावजूद आरोपी उसके कब्जे में दखल अंदाजी करना चाहते हैं। देशराज ने बताया कि अब उसने जमीन पर फसल लगा रखी है, जिसे आरोपी काटने से रोकना चाहते हैं। पुलिस ने केस दर्ज कर एसआई जय नारायण को मामले की जांच सौंपी है। ... और पढ़ें

दिल्ली के प्राचीन रविदास मंदिर का दोबारा निर्माण करवाए केंद्र सरकार ः सुरजेवाला

अखिल भारतीय कांग्रेस कोर कमेटी सदस्य, राष्ट्रीय मीडिया प्रभारी व कैथल से विधायक रणदीप सिंह सुरजेवाला ने रविदास मंदिर ढहाए जाने पर किसान भवन अपने निवास पर एक बयान जारी किया है। बयान में उन्होंने कहा कि दिल्ली के तुगलकाबाद में प्रतिष्ठित और ऐतिहासिक रविदास मंदिर को केंद्रीय एजेंसियों द्वारा गिराना एक जघन्य अपराध है और इससे संत रविदास के करोड़ों शिष्यों और श्रद्धालुओं की भावनाओं का अपमान हुआ है। हम मांग करते हैं कि केंद्र सरकार दिल्ली के प्राचीन रविदास मंदिर का दोबारा निर्माण करवाए।
संत रविदास की याद में बना यह मंदिर जिस रोड पर स्थित है, उसका नामकरण भी संत रविदास के नाम पर किया गया था। किवंदती के अनुसार जब संत रविदास बनारस से पंजाब की ओर जा रहे थे, तब उन्होंने 1509 में इस स्थान पर आराम किया था। यहां पर एक बावड़ी भी बनवाई गई थी, जो आज भी मौजूद है। कहा जाता है कि स्वयं सिकंदर लोदी ने संत रविदास से नामदान लेने के बाद उन्हें यहां जमीन दान की थी, जिस पर यह मंदिर बना था। आजाद भारत में 1954 में इस जगह पर एक मंदिर का निर्माण हुआ था। वर्षों पुरानी इस धरोहर को बचाने के लिए केंद्र की भाजपा सरकार ने कोई प्रयास नहीं किए, जिससे उनका दलित विरोधी चेहरा एक बार फिर उजागर हो गया है। सरकार द्वारा गिराए गए प्राचीन रविदास मंदिर को दोबारा बनाया जाए और अदालत से जो आदेश लेने हैं, वे लिए जाएं।
इसके अलावा यह भी काफी चिंताजनक है कि भारत सरकार में 89 सचिवों में केवल एक अनुसूचित वर्ग से है जबकि पिछड़ा वर्ग से कोई भी नहीं है, जो बेहद आपत्तिजनक है। इस खुलासे से साफ है कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी देश की आधी आबादी दलित व पिछड़ों पर भरोसा नहीं करते और उनसे भेदभाव व अनदेखी अब भाजपा का रास्ता बन गया है। ... और पढ़ें

बाढ़ का कहरः हरियाणा में 40 हजार एकड़ फसल डूबी, नौ जिलों में हजारों परिवार प्रभावित

हरियाणा में तबाही मचाकर यमुना का पानी मंगलवार शाम दिल्ली पहुंच गया है। राहत की बात है कि यमुना के साथ-साथ मारकंडा, घग्गर और टांगरी के जलस्तर में भी कमी आई है। फिर भी प्रदेश के नौ जिलों में इन नदियों के आसपास रह रहे हजारों लोग बाढ़ से अब भी प्रभावित हैं। मंगलवार को मारकंडा और यमुना का तटबंध टूटने से कई गांवों पर अब भी बाढ़ का खतरा मंडरा रहा है। 

बाढ़ में फंसे कई परिवारों को बचाव दल ने निकाल कर सुरक्षित स्थानों पर पहुंचाया गया। करीब 40 हजार एकड़ में फसल जलमग्न हैं। सरकार की ओर से हर प्रकार के हालात से निपटने के लिए पुख्ता इंतजाम के दावे किए गए हैं। हरियाणा की मुख्य सचिव केशनी आनंद अरोड़ा ने वीसी के जरिए केंद्र सरकार के कैबिनेट सेक्रेटरी प्रदीप कुमार सिन्हा को बताया कि यमुना का पानी दिल्ली पहुंच गया है।

सोनीपत और करनाल से 25 परिवारों को दूसरे स्थान पर सुरक्षित पहुंचा दिया गया है। सरकार की ओर से हर प्रकार के हालात से निपटने के लिए पुख्ता इंतजाम किए गए हैं। उन्होंने बताया कि दिल्ली के बाद यह पानी फरीदाबाद और पलवल में पहुंचेगा। इन दोनों जिलों में नदी के साथ लगते निचले इलाकों से लगभग 500 परिवारों को सुरक्षित स्थान पर पहुंचा दिया गया है। अरोड़ा ने बताया कि यमुना, मारकंडा, टांगरी और घग्गर में पानी के स्तर में कमी आ रही है। 

इसे भी पढ़ें- दिल्ली में हथिनीकुंड बैराज के नाम से क्यों है खौफ, यहां का पानी कैसे मचाता है तबाही, पूरी कहानी
... और पढ़ें
हजारों परिवार प्रभावित हजारों परिवार प्रभावित

हरियाणा की ढाई करोड़ जनता मेरा परिवार, इस परिवार से सरकार का लाईसैंस रिन्यू कराने आया हूं-मनोहर लाल

कैथल। मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने कहा कि हरियाणा की ढाई करोड़ जनता मेरा परिवार है। पूर्व नेताओं की तरह से हमने भाई-भतीजावाद, परिवारवाद की परंपरा को खत्म करके देश, प्रदेश को आगे बढ़ाने का लक्ष्य निर्धारित करते हुए पूरे प्रदेश में समान विकास कार्य करवाए हैं। मैं इसी परिवार से दोबारा से सरकार चलाने के लिए लाइसेंस को रिन्यू करने की अपील लेकर आया हूं। जनता इस बार फिर से उन्हें आशीर्वाद देगी। सीएम मंगलवार को जिले में 13 जगहों पर पहुंची जन आशीर्वाद यात्रा के दौरान उनके स्वागत में उमड़ी भीड़ को संबोधित कर रहे थे। गुहला-चीका के गांव भागल से यात्रा ने जिले में प्रवेश किया। इसके बाद गुहला-चीका, कांगथली, सीवन, कैथल में कई जगहों, पूंडरी, ढांड व कौल में करीब 13 जगहों पर यात्रा का स्वागत किया गया। हर जगह 5 से 6 भाजपा टिकटार्थी नेताओं द्वारा जुटाई गई भीड़ ने सीएम का अभिनंदन किया। कैथल में 31 करोड़ के विकास कार्यों का शिलान्यास व उद्घाटन किया। उन्होंने सीवन को नगर पालिका बनाने व हरियाणा में विकास परियोजनाओं के लिए सोशल ऑडिट सिस्टम लागू करने का भी ऐलान किया।
सीएम ने सभी जगहों पर कार्यकर्ताओं को संदेश दिया कि कैथल सहित प्रदेश में सभी हलकों में भाजपा की टिकट के लिए 15 से 20 तक उम्मीदवार हैं। सभी टिकट चाहते हैं। यदि उन्हें कह दिया जाए कि एक कमरे में जाकर एक उम्मीदवार पर सहमत हो जाओ तो वे सिर फटौव्वल कर लेेंगे। इसीलिए टिकट का फैसला बड़ों पर छोड़ दिया जाए। उनकी व पीएम नरेंद्र मोदी की भी मजबूरी है, टिकट एक को मिलेगा, गुलाब की पंखुड़ी एक को दी जाएगी। बाकी उनका समर्थन करें। जो चुनाव नहीं लड़ेगा, उसे भी काम दिया जाएगा। नायब सैनी को नारायणगढ़ से विधायक चुना गया, फिर वे मंत्री बनें, अब वे सांसद हैं। इस बार नारायणगढ़ से किसी ओर को टिकट देना होगा। जिला परिषद हो, पंचायत समिति हो या फिर कोई अन्य अदायरा। सभी जगह पार्टी नेताओं के लिए काम है। जो चुनाव नहीं लड़ेंगे, उन्हें भी काम दिया जाएगा। इसीलिए एकजुट होकर आज के बाद नेता के जयकारे लगाना छोड़ दें। नारे केवल दो लगाएं, भारत माता की जय, भारतीय जनता पार्टी जिंदाबाद।
कैथल से विधायक रणदीप सुरजेवाला पर शहर में सभी चौक-चौराहों से जमकर निशाना साधा और कहा कि उनका सूरज डूब चुका है। इस बार कैथल से भी भाजपा विजयी होगी। सीएम ने सभी शहरों में वहां सरकार द्वारा करवाए गए विकास कार्य गिनवाए। ईमानदारी, पारदर्शिता, सार्वजनिक कार्यों को प्राथमिकता, परिवारवाद का खात्मा जैसी उपलब्धियों के आधार पर जनता से फिर से सरकार बनाने के लिए आशीर्वाद मांगा और लोगों पर फूलों की वर्षा की। जन आशीर्वाद यात्रा में मुख्यमंत्री के साथ सहकारिता मंत्री मनीष ग्रोवर, सांसद नायब सिंह सैनी, गुहला के विधायक कुलवंत बाजीगर, करनाल के विधायक संजय भाटिया, मुख्यमंत्री के मीडिया सलाहकार अमित आर्य तथा भाजपा जिला अध्यक्ष अशोक गुर्जर खुली बस में सवार थे। ... और पढ़ें

कैथल के विधायक एवं कांग्रेस नेता रणदीप सुरजेवाला रहे सीएम के निशाने पर

कैथल। कैथल विधानसभा क्षेत्र से पिछले चुनाव में हुई हार को भारतीय जनता पार्टी ने जीत में बदलने के लिए विशेष फोकस किया हुआ है। यही कारण है कि मुख्यमंत्री मनोहर लाल की जन आशीर्वाद यात्रा के दौरान कैथल से विधायक एवं कांग्रेस के राष्ट्रीय मीडिया प्रभारी रणदीप सुरजेवाला मुख्यमंत्री के निशाने पर रहे। उन्होंने कैथल के भगवान परशुराम चौक पर पहली जनसभा को संबोधित किया। जहां पूर्व विधायक लीला राम, अरुण सर्राफ, विक्की शर्मा, प्रवीण सरदाना सहित कई नेताओं द्वारा आयोजित लोगों द्वारा सीएम का स्वागत किया। इस जनसभा में मुख्यमंत्री ने अपने भाषण की शुरुआत में ही सुरजेवाला पर हमला बोला। उन्होंने कहा कि पिछली बार कैथल से भाजपा हार गई थी। लेकिन कैथल के विधायक अब हवा-हवाई हो गया है। जींद में हुई हार ने उन्हें तारे दिख गए थे। जो देश का बड़ा नेता मानते थे और सोचते थे कि उनका नाम आते ही भाजपा का आगे बढ़ता हुआ रथ रुका जाएगा। लेकिन उन्हें मालूम नहीं था कि उनका आका भी आ जाए तो भी भाजपा को नहीं रोक पाएगा। महज 1000 वोटों से वे अपनी जमानत बचा पाए। अब उन्होंने कैथल से भी भागने की तैयारी कर ली है। यहां की जनता भाजपा को जितवाने का मन बना चुकी है। उन्होंने कहा कि सुरजेवाला का सूरज डूब चुका है। इसके बाद कमेटी चौक पर राव सुरेंद्र सिंह, यशपाल प्रजापति, प्रवीण प्रजापति, शैली मुंजाल द्वारा आयोजित जनसभा में सीएम ने सुरजेवाला का जिक्र नहीं किया। लेकिन पिहोवा चौक पर सुरेश गर्ग सहित अन्य नेताओं द्वारा आयोजित जनसभा में पहुंचते-पहुंचते उन्होंने फिर से सुरजेवाला पर हमला बोला। यहां उन्होंने कहा कि जींद का चुनाव तो कैथल की जनता को याद रहेगा। जनता का दर्द तो उसी समय ठीक हो गया था। अब विधायक सुरजेवाला का सूरज डूब चुका है। अब कोई उसकी सलाह पर चलने को तैयार नहीं। राहुल को फूंक मार कर सीखाता था। कांग्रेस की आज जो देश में हालत है। उसमें कुछ योगदान सुरजेवाला का भी है। सुरजेवाला 370 को लेकर उल्टा ही राग अलाप रहे हैं। उन्हें 370 की चिंता नहीं करनी चाहिए। सुरजेवाला का सूरज डूब चुका है।
इसके बाद हनुमान वाटिका के निकट कैलाश भगत, रॉकी मित्तल, नरेश मित्तल, गोपाल सैनी सहित अन्य नेताओं द्वारा आयोजित जनसभा में फिर से सुरजेवाला को निशाने पर लिया और कहा कि कैथल से विधायक हैं जिसे सुरजेवाला कहते हैं। सुरजेवाला का सूरज अब डूब चुका है। अब की बार कैथल से भाजपा विजयी होगी। ... और पढ़ें

मुख्यमंत्री के गोद लिए गांव में फिर लगा धांधली का आरोप

कैथल। मुख्यमंत्री के गोद लिए गांव क्योडक़ में चल रहे विकास कार्यों में गड़बड़ी का आरोप लगाया गया है। ग्राम पंचायत सदस्य राजकुमार, सेठपाल व अन्य ने मीडिया से बातचीत में कहा कि गांव के सरपंच द्वारा धांधली की जा रही है। अभी एक विजिलेंस रिपोर्ट आई है। जिसमें एक गली निर्माण में करीब 91 हजार रुपये की धांधली उजागर हुई है। गली में 7687 पेवर ब्लाक अधिक खर्च दिखाए गए हैं, जिसकी कीमत 91307 रुपये है। जबकि गांव में करीब 350 गलियां है। अगर सभी गलियों की जांच करवाई जाए तो बड़ा घोटाला निकल सकता है। हालांकि यह रिपोर्ट 2 नवंबर 2018 की है। सेठपाल ने कहा कि यह रिपोर्ट हमने विजिलैंस करनाल से ली है। जो विजिलेंस करनाल ने कार्यकारी अभियंता पंचायती राज, चौकसी एवं गुणवत्ता नियंत्रक मुख्यालय चंडीगढ़ को भेजी गई है। सेठपाल ने कहा कि इसके अलावा भी उन्होंने उपायुक्त को कई शिकायतें दी हुई हैं। लेकिन उन पर कोई कार्रवाई नहीं की गई और पिछले 6 माह से अधिक समय पर शिकायतें अधिकारियों की टेबल पर धूल फांक रही हैं। वे इस मामले की शिकायत सीएम को करेंगे। इस मौके पर राजा पंच, नरेश पंच, बॉबी पंच, पवन कुमार, पवन वाल्मीकि, सुरेश, राजा फौजी सहित अन्य ग्रामीण उपस्थित थे।
इन आरोपों पर गांव क्योडक़ के सरपंच बलकार आर्य का कहनाहै कि पहले भी उन पर आरोप लगाए गए थे, जिनमें वे बेकसूर साबित हुए थे। एक बार फिर से अनाप-शनाप आरोप लगाए जा रहे हैं। ऐसी कोई रिपोर्ट उनके संज्ञान में नहीं है कि विजिलेंस ने गड़बड़ी बताई है। ... और पढ़ें

चोरी व सेंधमारी के चार मामलों में छह आरोपी गिरफ्तार

कैथल। पुलिस ने चोरी व सेंधमारी के चार अलग-अलग मामलों में छह आरोपी गिरफ्तार किए हैं। इनके कब्जे से चोरीशुदा डीजल इंजन, सबमर्सिबल केबल, तीन हजार रुपये नकदी व दो मोबाइल फोन सहित दो लाख रुपये मूल्य से ज्यादा की चोरी की संपत्ति बरामद कर ली गई। गिरफ्तार किए गए चार आरोपी 19 अगस्त को न्यायालय के आदेशानुसार न्यायिक हिरासत में भेज दिए गए।
जनस्वास्थ्य विभाग का चोरीशुदा डीजल इंजन बरामद : सीआईए-वन प्रभारी इंस्पेक्टर अनूप कुमार ने बताया कि उपमंडल अभियंता जन स्वास्थ्य अभियांत्रिकी उपमंडल नंबर दो कैथल की शिकायत पर थाना सिविल लाइन में दर्ज मामले के अनुसार विभाग ने सफाई ठेकेदार उदय सिंह को सीवरों की सफाई के लिए दो सिलिंडर डीजल इंजन के लिये दिया हुआ था। जिसे 28 जुलाई की रात करनाल रोड से अज्ञात व्यक्ति चुरा ले गए। उक्त मामले में सीआईए-वन के एएसआई राजेंद्र ने आरोपी सतीश कुमार व राजीव उर्फ दीपक दोनों निवासी वार्ड नंबर 18 आंबेडकर कालोनी कैथल को गिरफ्तार कर लिया। आरोपियों द्वारा अपने मकान के नजदीक खाली पड़े प्लाट में तिरपाल के नीचे छिपाया गया चोरी का इंजन पुलिस ने बरामद कर लिया है। मामले में आगे जांच की जा रही है।
दो दुकानों में चोरी करने वाले तीन आरोपी काबू : सीआईए-वन इंचार्ज सब इंस्पेक्टर सत्यवान ने बताया कि गांव नरड़ निवासी किताब सिंह व भूपेंद्र सिंह करनाल रोड कैथल स्थित दुकान में गाड़ियों की सेल-परचेज का काम करते हैं, जहां से 14 अगस्त की दोपहर अज्ञात व्यक्ति शटर का ताला तोड़कर करीब 9500 रुपये नकदी चुरा ले गए। सीआईए-टू के हेड कांस्टेबल प्रदीप कुमार ने मामले में आरोपी पट्टी अफगान निवासी मंजीत व डिफेंस कॉलोनी निवासी विकास को गिरफ्तार कर उनके कब्जे से चोरी की तीन हजार रुपये नकदी व दो मोबाइल फोन बरामद कर लिए। आरोपियों द्वारा दोनों फोन कैथल क्षेत्र के दो अलग-अलग स्थानों से चुराने कुबूले गए हैं। दोनों आरोपी सोमवार को न्यायालय के आदेशानुसार 14 दिन की न्यायिक हिरासत में भेज दिए गए। 25 जलाई की रात इसी दुकान का शटर तोड़कर चोरी करने के प्रयास मामले में सीआईए-टू पुलिस के एचसी कमलजीत द्वारा आरोपी गांव नरड़ निवासी रोहित को गिरफ्तार कर लिया गया, जिसे न्यायालय के आदेशानुसार न्यायिक हिरासत में भेज दिया गया।
किसान के खेत से केबल चुराने वाला आरोपी गिरफ्तार : सेंधमारी के एक अन्य मामले की जानकारी देते हुए कलायत थाना प्रबंधक सब इंस्पेक्टर सुरेश कुमार ने बताया कि हेड कांस्टेबल रणदीप सिंह ने गांव शिमला निवासी रामनिवास को गिरफ्तार कर आरोपी के कब्जे से चोरी की केबल बरामद कर ली। शिमला निवासी राकेश की शिकायत अनुसार उसके मटौर रोड पर स्थित खेत से 20 मई की रात को आरोपी ताला तोड़कर बिजली केबल व अन्य संपत्ति चुरा ले गया था। ... और पढ़ें

खेड़ी लांबा में मनरेगा मजदूरों द्वारा दी गई शिकायत की जांच करने पहुंची विजिलेंस टीम

कलायत। जिला कष्ट निवारण समिति अध्यक्ष एवं स्वास्थ्य मंत्री अनिल विज को खेड़ी लांबा के ग्रामीणों ने दी शिकायत की जांच के लिए सोमवार को विजिलेंस टीम सब इंस्पेक्टर सूबे सिंह और कुरुक्षेत्र से भू गर्भ सहायक वैज्ञानिक देवराज टीम सहित गांव में पहुंची।
मौके पर मौजूद शिकायतकर्ता रामविलास, खुशी राम, शमशेर सिंह ने बताया कि वर्ष 2017 में ग्राम पंचायत द्वारा मनरेगा के तहत गांव के ढाब वाला तालाब की करीब 375 फीट लंबाई, 175 चौड़ाई और करीब पांच से छह फीट की गहराई तक खुदाई की गई थी। इसके अलावा पंचायत द्वारा गांव में विभिन्न स्थानों पर 10 नलकूप लगाए गए थे। उन्होंने बताया कि मनरेगा के तहत मजदूरों द्वारा तालाब खुदाई के दौरान कार्य किया गया था। मजदूरों द्वारा किए गए कार्य के तीन वर्ष बीत जाने के बाद भी करीब 70 हजार रुपये मजदूरी के पंचायत द्वारा अब तक नहीं दिए गए। उन्होंने पंचायत पर आरोप लगाते हुए कहा कि ग्राम पंचायत द्वारा मनरेगा के तहत करवाए गए कार्याें और गांव में लगवाए गए नलकूपों में भारी गोलमाल किया गया है। उन्होंने बताया कि स्वास्थ्य मंत्री अनिल विज के आदेशों के बाद भी करीब डेढ़ वर्ष बीत जाने के बाद भी न तो कोई जांच हो पाई है और न ही कोई ठोस कार्रवाई हो पाई है।
पंचायत विभाग से लिया गया संबंधित रिकार्ड : विजिलेंस सब इंस्पेक्टर सूबे सिंह ने बताया कि वर्ष 2016 में पंचायत द्वारा किए गए कार्यों जैसे मनरेगा मजदूरों द्वारा तालाब की खुदाई के रुपये और पंचायत लगाए गए फर्जी तौर से नलकूपों की शिकायत वर्ष 2018 ग्रामीणों ने जिला कष्ट निवारण समिति में दी गई थी। जिसकी जांच स्टेट विजिलेंस को दी गई थी। उन्होंने बताया कि पंचायत विभाग से संबंधित कार्यों का रिकार्ड लिया गया है और साथ-साथ किए गए कार्यों की जांच की जा रही है।
मजदूरों ने नहीं करवाए जरूरी दस्तावेज उपलब्ध, पंचायत मजदूरी की राशि देने को तैयार : सरपंच
सरपंच सुमन रानी ने बताया कि मजदूरों द्वारा वर्ष 2017 में किए गए कार्यों के लिए मजदूरों को बैंक कापी व जरूरी कागजात उपलब्ध करवाने के लिए कहा गया था। ताकि मजदूरों के मस्टरोल को आनलाइन किया जा सके। लेकिन मजदूरों न तो कागजात उपलब्ध करवाए और न ही जरूरी दस्तावेजों पर हस्ताक्षर किए। पंचायत मजदूरों द्वारा किए गए कार्यों की राशि देने के लिए आज भी तैयार है। उन्होंने बताया कि उनके द्वारा लगाए गए सभी आरोप निराधार है और पंचायत द्वारा सभी कार्य पारदर्शिता से किए गए है। भ्राम पंचायत हर स्तर पर जांच के लिए तैयार है। ... और पढ़ें

मोहन भगवत पर सुरजेवाला ने बोला हमला, कहा- दलित व पिछड़ा वर्ग विरोधी चेहरा फिर बेनकाब

कांग्रेस नेता रणदीप सिंह सुरजेवाला ने सोमवार को राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ प्रमुख मोहन भागवत पर हमला बोला। उन्होंने कहा कि संघ प्रमुख के आरक्षण विरोधी बयान से आरएसएस और भाजपा का दलित व पिछड़ा वर्ग विरोधी चेहरा एक बार फिर बेनकाब हो गया है।

अपने निवास किसान भवन कैथल में मीडिया से बातचीत में सुरजेवाला ने कहा कि भाजपाई एजेंडा अब केवल बाबा साहेब आंबेडकर द्वारा निर्मित संविधान का तिरस्कार करना है। 

सच्चाई यह है कि भाजपा गरीबों व पिछड़ों को संविधान में मिले अधिकारों को खत्म करने व अतिक्रमण करने का षडयंत्र रच रही है। दलितों, पिछड़ों व आदिवासियों को संविधान में दिए अधिकारों को दबाना व कुचलना चाहती है।

यह भी पढ़ेंः पिता ने मुंह बांधकर 10 साल की बेटी से किया दुष्कर्म, लुधियाना में मंगेतर ने घर बुलाकर किया ये काम

मोदी सरकार का यह एजेंडा कोई आज का नहीं है, इससे पहले भी आरएसएस प्रमुख मोहन भागवत व आरएसएस के प्रचार प्रमुख मनमोहन वैद्य ने बिहार चुनाव के समय आरक्षण को समाप्त करने की बात कही थी। 

सुरजेवाला ने कहा कि संघ प्रमुख व भाजपा पंडित जवाहरलाल नेहरू, सरदार पटेल, महात्मा गांधी, आंबेडकर व करोड़ों स्वतंत्रता सेनानियों द्वारा निर्मित गरीबों, पिछड़ों व आदिवासियों के अधिकारों को समाप्त करना चाहती है।
... और पढ़ें

धोखाधड़ी से ट्रैक्टर बेचने वाले पंजाब निवासी पिता-पुत्र गिरफ्तार

करीब चार वर्ष पहले किसान को धोखाधड़ी पूर्वक फाइनेंस करवाया गया ट्रैक्टर बेचने के मामले में पंजाब निवासी पिता-पुत्र को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया। दोनों आरोपी न्यायालय के आदेशानुसार न्यायिक हिरासत में भेज दिए गए।
गांव पीड़ल निवासी अंग्रेज सिंह की शिकायत पर 23 सितंबर 2015 को थाना पूंडरी में दर्ज मामले अनुसार उसने गांव फरल निवासी जरनैल सिंह के घर खड़े 2014 मॉडल ट्रैक्टर को सवा चार लाख रुपये में खरीदा था। इसकी आरसी जरनैल के साले मलकीत सिंह के नाम थी। जरनैल के घर पर मौजूद मलकीत सिंह व उसके पुत्र बलविंद्र सिंह सहित तीनों को पूरी रकम 25 फरवरी 2015 को मौके पर अदा कर दी गई, जिन्होंने लिखित बयान दिया था कि ट्रैक्टर पर आज तक कोई भी चालान, एक्सीडेंट, फाइनेंस व लोन बकाया नहीं है। अंग्रेज सिंह को अपने साथ हुई धोखाधड़ी का पता उस समय चला जब वह ट्रैक्टर की आरसी अपने नाम करवाने के लिए पटियाला रजिस्ट्रेशन कार्यालय गया। उसे जानकारी मिली कि इस ट्रैक्टर पर सारा लोन बकाया है। आरोपियों द्वारा धोखाधड़ी पूर्वक आरसी से छेड़छाड़ करके ट्रैक्टर बेचा गया है।
प्रवक्ता ने बताया सीएम विंडो की मार्फत प्राप्त शिकायत पर पूंडरी थाना में दर्ज मामले की आगामी जांच हरनौली चौकी प्रभारी एएसआई सुभाष चंद्र को सौंपी गई थी। सुभाष चंद्र ने जांच के दौरान आरोपी परोड़ जिला पटियाला पंजाब निवासी मलकीत सिंह व उसके पुत्र बलविंद्र सिंह को गिरफ्तार कर लिया। वारदात में लिप्त तीसरा आरोपी पहले ही गिरफ्तार किया जा चुका है। ... और पढ़ें

तस्कर गिरफ्तार, नकदी, हेरोइन, गाड़ी और अन्य सामान बरामद

सीआईए-वन पुलिस के एंटी नारकोटिक सेल द्वारा एक शातिर नशा तस्कर काबू किया गया, जिसके कब्जे से करीब दो लाख रुपये मूल्य की 70 ग्राम हेरोइन, तस्करी में प्रयुक्त गाड़ी, इलेक्ट्रॉनिक कंप्यूटर कांटा, मोबाइल फोन व 2500 रुपये नकदी बरामद की गई। आरोपी के खिलाफ वर्ष 2018 में दर्ज हेरोइन तस्करी का एक अन्य मामला भी न्यायालय में विचाराधीन चल रहा है। उसके तार दिल्ली में एक विदेशी नागरिक से जुड़े हुए थे, जिसकी गिरफ्तारी के लिए रविवार को आरोपी का न्यायालय से दो दिन का पुलिस रिमांड हासिल किया गया है।
सीआईए-वन प्रभारी इंस्पेक्टर अनूप कुमार ने बताया कि एंटी नारकोटिक सेल इंचार्ज सब इंस्पेक्टर बलजीत सिंह, एसआई जोगिंद्र सिंह, एएसआई बलराज सिंह, एएसआई शुभकर्ण, कृष्ण कुमार, हेड कांस्टेबल राजेश कुमार, एचसी राज सिंह व सिपाही मनोज कुमार की टीम गश्त पर थी। गुप्त सूचना मिलने पर पुलिस द्वारा शहर थाना क्षेत्र में कुतबपुर रोड डेरा शीला खेड़ा के अंडरपास के नजदीक नाकाबंदी की गई। कुछ देर बाद पुलिस द्वारा गांव कुतबपुर की तरफ से आई गाड़ी रुकवाते हुए चालक प्रदीप कुमार गांव नरवलगढ़ को काबू किया। पुलिस द्वारा मौके पर डीएसपी एईसी बलजिंद्र सिंह को बुलाकर जब उनके समक्ष प्रदीप की तलाशी ली गई, तो उसकी पैंट की जेब से 70 ग्राम हेरोइन बरामद हुई। दूसरी जेब से एक मोबाइल फोन, 2500 रुपये व गाड़ी के डैशबोर्ड से इलेक्ट्रॉनिक कंप्यूटर कांटा बरामद करते हुए नशा तस्करी में प्रयुक्त गाड़ी भी कब्जे में ली गई। आरोपी एंटी 2018 में भी दो ग्राम इेरोइन सहित काबू किया जा चुका है। शहर थाना में मामला दर्ज कर एएसआई किताब सिंह द्वारा आरोपी को गिरफ्तार कर लिया गया। पूछताछ के दौरान आरोपी ने कबूला कि वह नई दिल्ली से नशा खरीदकर कैथल व आसपास के क्षेत्र में सप्लाई करता था। ... और पढ़ें

इंडियन बॉक्सिंग लीग में पंच लगाते नजर आएंगे बॉक्सर मनोज

इंडियन बॉक्सिंग लीग में ओलंपियन मनोज पंच लगाते नजर आएंगे। बॉक्सिंग खेल की पहली इंडियन बॉक्सिंग लीग 20 अक्टूबर से 9 नवंबर तक होगी। दो बार के ओलंपियन व कॉमनवेल्थ खेलों के स्वर्ण पदक विजेता व सबसे लंबे समय तक एमेच्योर बॉक्सिंग खेलने वाले बॉक्सर मनोज कुमार ने कहा कि वे लंबे समय से इस लीग का इंतजार कर रहे थे। वे इसका हिस्सा बनने के लिए उत्सुक थे। उनका यह सपना अब पूरा होगा। वे इसके लिए भारतीय मुक्केबाजी संघ के अध्यक्ष अजय सिंह और महासचिव जय कोहली को भी बधाई देते हैं।
मनोज के कोच राजेश कुमार राजौंद ने बताया कि यह एमेच्योर बॉक्सरों के लिए दुनिया की पहली लीग है। फ्रेंचाइजी टीमें 28 अगस्त के बाद नीलामी के जरिए खिलाड़ियों को अपने साथ शामिल कर सकेंगी। 21 दिन तक होने वाली लीग में लगभग 90 मुकाबले होंगे। इस लीग का टेलीकास्ट स्टार स्पोर्ट्स चैनल पर होगा। इस लीग का आयोजन भारतीय मुक्केबाजी संघ के सौजन्य से स्पोर्ट्स लाइव नामक संस्था कर रही है। ... और पढ़ें

पूंडरी विधायक की पत्नी पर धोखाधड़ी का केस, जांच को पहुंची हैदराबाद पुलिस

हैदराबाद के एक स्टील व्यापारी से एक करोड़ रुपये लेन-देन के मामले में पूंडरी के विधायक प्रो. दिनेश कौशिक की पत्नी से पूछताछ करने हैदराबाद पुलिस उनके आवास पर पहुंची। पुलिस लेकर शिकायतकर्ता महिला का पति रविवार को पूंडरी पहुंचा था। हालांकि विधायक व उनकी पत्नी उसे नहीं मिले। वहीं हैदराबाद से आए व्यक्ति ने विधायक के पीए व वहां मौजूद लोगों पर मारपीट कर उसे बाथरूम में बंधक बनाने का आरोप लगाया है। बाद में पूंडरी पुलिस उन्हें विधायक आवास से लेकर थाने पहुंची और करीब एक घंटे की पूछताछ के बाद शिकायतकर्ता महिला के पति व उनके साथ आए लोगों को जाने दिया गया। उधर, विधायक की पत्नी ने आरोपों को नकारते हुए सारी राशि देने की बात कही और पूरे मामले को चुनावी समय में राजनीतिक साजिश करार दिया है।
यह था मामला : कैथल के करनाल रोड पर मीडिया से बातचीत में हैदराबाद के सिकंदराबाद निवासी घनश्यामदास ने कहा कि पूंडरी के विधायक प्रो. दिनेश कौशिक के परिजन संतलाल जो यूएसए में रह रहे हैं, उनके माध्यम से उनकी विधायक के साथ जान-पहचान हुई थी। वे हैदराबाद में स्टील का कारोबार करते हैं। इसी जान-पहचान के चलते विधायक ने उनसे एक करोड़ रुपये की राशि यह कहते हुए मांगी कि वे हरियाणा में माइनिंग का काम करते हैं। और इसमें वे पैसे लगाएंगे। साथ ही कहा कि वे हर माह 10 लाख रुपये मूलधन व ढाई लाख रुपये ब्याज की राशि उन्हें देते रहेंगे। इसपर उन्होंने अगस्त 2018 में विधायक को रुपये दे दिए। दो-तीन माह तक तो उन्होंने रुपये दिए। इसके बाद उन्होंने फोन उठाना बंद कर दिए। बार-बार कहने के बावजूद विधायक ने जब उनके रुपये नहीं लौटाए तो दो माह पूर्व वे यहां आए थे और विधायक ने अपनी पत्नी के नाम के दो चेक उन्हें दिए थे। 10 लाख रुपये के ये चेक बाउंस हो गए। इसके बावजूद विधायक या उनकी पत्नी ने उन्हें कोई जवाब नहीं दिया। न ही वकील के नोटिस का जवाब दिया।
दो मामलों में दर्ज हुआ केस : इसके बाद उनकी पत्नी सरोज बाला व पुत्रवधू रेनू कंडोई ने सिकंदराबाद क्षेत्र के थाना बावेनपल्ली में विधायक की पत्नी संध्या कौशिक के खिलाफ शिकायत दी। पुलिस ने वहां 2 जुलाई 2019 को केस दर्ज कर लिए। उनकी पुत्रवधू द्वारा संध्या कौशिक एेंड एसोसिएट्स को 50 लाख रुपये दिए गए थे जिनमें से उन्होंने 32 लाख 50 हजार रुपये वापस कर दिए। बाकी 15 लाख रुपये ब्याज सहित कुल 32 लाख 50 हजार रुपये नहीं लौटा रहे। उनके द्वारा दिया गया 10 लाख का चेक 25 जून को बाउंस हो चुका है। इसी प्रकार से उनकी पत्नी सरोज द्वारा दी गई शिकायत में कहा गया कि उनसे लिए गए 50 लाख रुपये में से केवल 17 लाख 50 हजार रुपये लौटाए गए हैं। बाकी 47 लाख 50 हजार रुपये ब्याज सहित नहीं लौटाए जा रहे। इन्हीं दो मामलों में कार्रवाई के लिए हैदराबाद पुलिस के सब इंस्पेक्टर सहित दो अन्य पुलिस कर्मियों सहित वे रविवार को पूंडरी पहुंचे थे।
विधायक आवास पर की गई मारपीट : घनश्यामदास ने कहा कि विधायक आवास पर उनके साथ मारपीट की गई। हैदराबाद पुलिस को उनसे अलग रखा गया। उन्हें शौचालय में बंद कर दिया गया। उनकी कोई सुनवाई नहीं हुई। अब वे वापस जा रहे हैं। जहां हैदराबाद के आला पुलिस अधिकारियों व कानूनविदों से सलाह-मशविरा करके अगला कदम उठाएंगे। साथ ही हरियाणा के सीएम मनोहर लाल से मांग करते हैं कि जिस तरह से वे देश भर में ईमानदारी के लिए जाने जाते हैं। इस मामले में उनके रुपये दिलवाएं। ताकि उन्हें न्याय मिल सके। घनश्याम ने पूंडरी एसएचओ पर भी धमकी देने का आरोप लगाया है।
शिकायत झूठी और आधारहीन : संध्या कौशिक
वहीं विधायक प्रो. दिनेश कौशिक की पत्नी संध्या कौशिक ने कहा कि शिकायतकर्ता पक्ष ने उनके खिलाफ जो शिकायत दर्ज करवाई है वह पूर्णतया झूठी व आधारहीन है। शिकायतकर्ता ने रुपये व्यापारिक हिस्सेदारी के तहत दिए थे और उसमें से अधिकतर रुपये उसे बैंक के द्वारा आरटीजीएस व नकदी में वापस किए जा चुके हैं। शिकायतकर्ता के साथ किसी भी प्रकार की धोखाधड़ी नहीं हुई है। मौजूदा चुनावी माहौल में मेरे पति की राजनीतिक छवि को खराब करने के लिए उनके राजनीतिक प्रतिद्वंद्वियों द्वारा मामले में दुष्प्रचार किया जा रहा है। शिकायतकर्ता ने अपने प्रभाव का गलत इस्तेमाल करके षड्यंत्र रचा है। जिसका कानूनी रूप से जवाब दिया जाएगा।
मारपीट के आरोपों को एसएचओ ने नकारा : पूंडरी एसएचओ धर्मपाल ने धमकी के आरोपों को लेकर कहा कि पुलिस के ऊपर आरोप लगते रहते हैं। पुलिस इतनी माड़ी (बुरी) भी नहीं है। मैं भला क्यों धमकी दूंगा? मुझे अभी तक यह नहीं पता लगा कि पुलिस क्यों आई है? आप पूंडरी चौकी प्रभारी से पूछ लीजिए। हैदराबाद पुलिस आई जरूर थी।
पूंडरी पुलिस चौकी प्रभारी दलबीर सिंह ने कहा कि विधायक प्रो. दिनेश कौशिक की पत्नी के साथ लेन-देन के एक मामले में हैदराबाद पुलिस उनके आवास पर गई थी। जहां वे नहीं मिलीं। इसके बाद टीम लौट गई। वहां से आए किसी व्यक्ति ने मारपीट जैसी कोई शिकायत नहीं दी है। पुलिस ने वहां कैमरे भी जांचें हैं। मारपीट की कोई घटना नहीं हुई है।
मामले की नहीं है जानकारी : विधायक
विधायक प्रो. दिनेश कौशिक ने कहा कि वे बाहर हैं। उन्हें मामले की ज्यादा जानकारी नहीं है। लेकिन कार्यकर्ताओं पर जो भी आरोप लगाए गए हैं, वे गलत हैं। कार्यकर्ता ऐसा नहीं कर सकते। सोमवार को पूंडरी पहुंच कर पूरे मामले की जानकारी हासिल करूंगा।
13-कैथल। पूंडरी में विधायक के निवास स्थान पर समर्थको से बात करते हुए हैदराबाद पुलिस।
13-कैथल। पूंडरी में विधायक के निवास स्थान पर समर्थको से बात करते हुए हैदराबाद पुलिस।- फोटो : Kaithal
... और पढ़ें
अपने शहर की सभी खबर पढ़ने के लिए amarujala.com पर जाएं

Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google, और सोशल मीडिया साइट्स, जैसे की Facebook, के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।

Agree