विज्ञापन
विज्ञापन
कार्य बाधा एवं परेशानियों को दूर करने हेतु कामाख्या शक्तिपीठ में कराएं बगलामुखी विशिष्ट पूजा
Navratri Special

कार्य बाधा एवं परेशानियों को दूर करने हेतु कामाख्या शक्तिपीठ में कराएं बगलामुखी विशिष्ट पूजा

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

From nearby cities

विज्ञापन
Digital Edition

बलिया गोलीकांड: पुलिस हटी लेकिन गांव में फिर भी पसरा सन्नाटा, लोग बोले- शांति से रहना चाहते हैं

बलिया जा रहे करणी सेना प्रदेश अध्यक्ष को बूढ़नपुर में रोका, चालान कर एक-एक लाख का मुचलका

बलिया जिले के दुर्जनपुर हत्याकांड को लेकर बलिया में आयोजित कार्यक्रम में प्रतिभाग करने जा रहे करणी सेना के प्रांतीय पदाधिकारियों को आजमगढ़ पुलिस ने बूढ़नपुर चौक पर रोक लिया। हालांकि सभी को अतरौलिया स्थित लोहरा टोल प्लाजा पर रोकने की योजना थी, लेकिन ये लोग रास्ता बदल कर बूढ़नपुर तक पहुंचने में सफल रहे।
सभी को कोयलसा ब्लॉक सभागार ले जाकर बैठाया गया है। वहीं सूचना पर गाजीपुर और सुल्तानपुर के पदाधिकारी व कार्यकर्ता भी कोयलसा ब्लॉक पहुंच गए। पुलिस सभी का 151 में चालान कर एक-एक लाख का मुचलका भरवा रही है।


बलिया में दुर्जनपुर हत्याकांड को लेकर करणी सेना कर बुधवार को कार्यक्रम आयोजित था। सभी जिलों से कार्यकर्ताओं व पदाधिकारियों को बलिया बुलाया गया था। प्रशासन ने कार्यक्रम की अनुमति नहीं दी थी। इसके साथ ही पदाधिकारियों को बलिया पहुंचने से पहले ही रोकने की रणनीति बना ली गई थी।
... और पढ़ें

विंध्यधाम में आस्था: टुनटुन ने की दंडवत त्रिकोण परिक्रमा, आशियाने का सपना पूरा करने के लिए बना रहे पत्थरों का घरौंदा

Ballia Murder Case: रिमांड पर लेने के बाद धीरेंद्र को थाने लाई पुलिस, फिर घर लेकर पहुंची, गोली चलाने पर पुछताछ जारी

पुलिस की रिमांड में मुख्य आरोपी धीरेंद्र। पुलिस की रिमांड में मुख्य आरोपी धीरेंद्र।

बलिया हत्याकांड: मुख्य आरोपी को थाने लाकर पुलिस ने शुरू की पूछताछ, घर ले जाकर की असलहा की तलाश

बलिया जिले के दुर्जनपुर हत्याकांड के मुख्य आरोपी धीरेंद्र प्रताप सिंह उर्फ डब्लू को पुलिस ने अपनी कस्टडी में ले लिया है। उसे जिला कारागार से सीधे रेवती थाना ले जाया गया है। वहां इस वक्त उससे एक बंद कमरे में थाना प्रभारी/विवेचक प्रवीण कुमार सिंह पूछताछ कर रहे हैं।
पुलिस ने धीरेंद्र को 48 घंटों के रिमांड पर लेने के बाद मेडिकल चेकअप कराया। उसके बाद आरोपी को 11 बजे रेवती थाना लेकर आई। अधिवक्ता बृजेश सिंह थाने पर साथ रहे। बंद कमरे में आवश्यक पूछताछ करने के बाद पुलिस धीरेंद्र को दुर्जनपुर स्थित उसके आवास पर ले गई। आवास पर पहुंचते ही घर की महिलाएं आरोपी से लिपट कर रोने लगीं। अभी पुलिस आरोपी के घर में आरोपी के साथ बातचीत में लगी हुई है।


कोर्ट ने पुलिस रिमांड की अर्जी स्वाकीर
बलिया के सीजेएम कोर्ट ने बुधवार को मुख्य आरोपी धीरेंद्र प्रताप सिंह डब्लू की पुलिस कस्टडी रिमांड कोर्ट ने स्वीकार कर ली थी। कोर्ट ने 48 घंटे की रिमांड की अनुमति देते हुए आरोपी को अधिवक्ता साथ रखने की छूट दी, जो पुलिस कार्रवाई में हस्तक्षेप किए बिना दूर से कार्रवाई को देख सकता है।

थानाध्यक्ष रेवती प्रवीण कुमार सिंह की ओर से अभियोजन अधिकारी अधिवक्ता ओंकार त्रिपाठी व शिवबचन राम ने कोर्ट सीजेएम रमेश कुशवाहा की कोर्ट में सात दिन की रिमांड की मांग करते हुए कहा कि 15 अक्तूबर को दुर्जनपुर गांव में जयप्रकाश पाल की हत्या के बाद आरोपी शस्त्र समेत फरार था।
... और पढ़ें

यूपी: वाराणसी में एक किशोरी का आपत्तिजनक फोटो सोशल मीडिया पर पोस्ट करने से परिवार परेशान, मुकदमा दर्ज

वाराणसी में एक हैरान करने वाला मामला सामने आया है। कुछ युवकों ने एक किशोरी की आपत्तिजनक फोटो सोशल मीडिया पर पोस्ट कर दी। इससे परिजनों में हड़कंप मच गया है। किशोरी के परिजनों ने इसकी सूचना पुलिस को दी है।
पुलिस ने सोशल मीडिया पर आपत्तिजनक फोटो भेजने के मामले में अज्ञात के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया है। जंसा थाना क्षेत्र के एक गांव निवासी व्यक्ति ने तहरीर देकर पुलिस को बताया कि उनकी 15 वर्षीय भतीजी की फोटो के साथ कुछ युवकों की फोटो को जोड़ कर सोशल मीडिया के अलग-अलग प्लेटफार्म पर पोस्ट किया जा रहा है।


भतीजी की आपत्तिजनक फोटो के चलते पूरा परिवार परेशान है। पुलिस ने मुकदमा दर्ज कर प्रकरण की जांच शुरू कर दी है।
... और पढ़ें

वाराणसी: परिजनों पर देखभाल न करने का आरोप लगाकर प्रेमी से शादी पर अड़ी

पीड़िता (सांकेतिर तस्वीर)

वाराणसी: बुनकरों के साथ कांग्रेस का प्रदर्शन, शास्त्री घाट पर बैठकर सरकार से कर रहे ये मांग

वाराणसी में बुनकर गुरुवार को फिर से अपनीं मांगों को लेकर धरना-प्रदर्शन पर उतर आए हैं। प्रदेश कांग्रेस कमेटी के आह्वान पर शास्त्री घाट पर बड़ी संख्या में बुनकर जुट आए हैं। बिजली रेट पर मिलने वाली पुरानी सब्सिडी की व्यवस्था को फिर से बहाल करने की मांग कर रहे हैं।
घाट की सीढ़ियों पर भी प्रदर्शन चल रहा है। उन्होंने अपर नगर मजिस्ट्रेट चतुर्थ को अपनीं मांगों को लेकर ज्ञापन सौंपा है।


इससे पहले बुधवार को जवाहर नगर स्थित प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के संसदीय कार्यालय पर बुनकरों ने मानव श्रंखला बनाकर विरोध कर रहे थे। उन्होंने बिजली रेट पर सरकार द्वारा लाई गई नई व्यवस्था को हटाने की मांग की थी।
... और पढ़ें

बलिया हत्याकांड: भाजपा विधायक सुरेंद्र सिंह का बयान, बोले-...तो कर सकता हूं जीवन का अंत 

भाजपा विधायक सुरेंद्र सिंह बुधवार को वाराणसी पहुंचे और बीएचयू के ट्रामा सेंटर में भर्ती दुर्जनपुर कांड के मुख्य आरोपी धीरेंद्र के परिजनों से मिलकर उनका हाल जाना। इस दौरान विधायक ने फिर दोहराया कि आरोपी पक्ष का केस दर्ज नहीं हुआ तो मैं अपने जीवन का अंत कर लूंगा।

बीएचयू के ट्रामा सेंटर पहुंचे विधायक ने डॉक्टरों से बातचीत की। वहीं धीरेंद्र के परिजनों को उनकी जरूरत के सामान उपलब्ध कराए। उन्होंने फोन पर अमर उजाला से बातचीत में कहा कि वह नवरात्र तक कुछ नहीं करेंगे। यदि इस दौरान धीरेंद्र की तरफ से भी मुकदमा दर्ज कर लिया जाता है तो ठीक, अन्यथा इस परिवार को न्याय के लिए वे पूरा प्रयास करेंगे।
 
... और पढ़ें

ज्ञानवापी प्रकरण में दाखिल निगरानी याचिका पर अदालत आज सुनाएगी आदेश

प्राचीन मूर्ति स्वयंभू ज्योतिर्लिंग भगवान विश्वेश्वरनाथ से संबंधित ज्ञानवापी प्रकरण में दाखिल निगरानी याचिका पर जिला जज यूसी शर्मा की अदालत गुरुवार को आदेश सुनाएगी।  मंगलवार को अदालत में भगवान विश्वेश्वरनाथ के वाद मित्र और अंजुमन इंतजामिया मसाजिद कमेटी व सेंट्रल सुन्नी वक्फ बोर्ड के अधिवक्ताओं ने दलीलें पेश की थीं।

सेंट्रल सुन्नी वक्फ बोर्ड की निगरानी याचिका विचारार्थ स्वीकार होने के मुद्दे पर सभी पक्षों की दलील सुनने के बाद जिला जज की अदालत ने आदेश सुरक्षित कर लिया था। अंजुमन इंतजामिया मसाजिद कमेटी और सेंट्रल सुन्नी वक्फ बोर्ड का कहना है कि ज्ञानवापी प्रकरण की सुनवाई का अधिकार अवर न्यायालय को नहीं, बल्कि लखनऊ स्थित सेंट्रल सुन्नी वक्फ बोर्ड को है।

वहीं, भगवान विश्वेश्वरनाथ के वाद मित्र का कहना है कि अवर न्यायालय के अंतरिम आदेश के खिलाफ सिविल प्रक्रिया संहिता के तहत निगरानी याचिका दाखिल नहीं की जा सकती है।
... और पढ़ें

जौनपुर में कोरोना पॉजिटिव भाजपा नेता और डॉक्टरों के बीच मारपीट, मंत्रियों के नाम पर धमकाने का आरोप 

जौनपुर जिला महिला अस्पताल परिसर में बने कोविड-19 के एल-टू अस्पताल में भर्ती एक भाजपा नेता और स्वास्थ्य कर्मियों के बीच मारपीट का मामला सामने आया है। शिकायत के बाद बुधवार को सिटी मजिस्ट्रेट के नेतृत्व में सीएमओ और सीएमएस ने अस्पताल पहुंचकर पूरे मामले की जानकारी ली। एल-2 अस्पताल में लगे सीसी टीवी कैमरे के फुटेज खंगाले गए। करीब दो घंटे तक अफसर अस्पताल में रहे। मारपीट की बात से उन्होंने इंकार किया है।

सुईथाकला के जहीरुद्दीनपुर गांव निवासी भाजपा के युवा मोर्चा के वाराणसी मंडल के पदाधिकारी को पांच दिन पहले कोरोना पॉजिटिव होने पर एल-2 अस्पताल में भर्ती किया गया था। उनका आरोप है कि अस्पताल में ठीक से सफाई नहीं होती। स्वीपर से खाना भिजवाया जाता है। बेसिन से निकला गंदा पानी बहता रहता है।

मंगलवार को इसकी शिकायत जब स्वास्थ्य कर्मियों से की तो वह मारपीट करने लगे। वहीं स्वास्थ्य कर्मचारियों ने भाजपा नेता पर बदसलूकी का आरोप लगाया। शिकायत पर डीएम ने जांच के निर्देश दिए। बुधवार को सिटी मजिस्ट्रेट सहदेव मिश्र, कोतवाल संजीव मिश्र, सीएमओ डॉ. राकेश कुमार और सीएमएस डॉ. एके अग्रवाल, डॉ. एके शर्मा के साथ एल-2 अस्पताल पहुंचकर छानबीन की।

भाजपा नेता और ड्यूटी पर तैनात स्वास्थ्य कर्मियों से पूछताछ की गई। सीसी टीवी कैमरे का फुटेज भी खंगाला। कोतवाल संजीव कुमार मिश्र का कहना है कि मारपीट की कहीं से पुष्टि नहीं हुई। जांच कर रिपोर्ट डीएम को सौंपी जाएगी।
बेसिन से गंदा पानी गिरने की शिकायत मरीज ने की थी। उसे मंगलवार को ही ठीक करा दिया गया था। इसके बाद अस्पताल में गंदगी शिकायत मिली तो स्वीपर को भेजकर सफाई कराई गई। स्वास्थ्य कर्मियों की ओर से मारपीट किए जाने का आरोप गलत है। जांच कर वह रिपोर्ट डीएम को सौंपी जाएगी। 
डॉ. एके अग्रवाल, सीएमएस जिला महिला अस्पताल जौनपुर
... और पढ़ें

Ballia Firing: दो दिन की पुलिस रिमांड मुख्य आरोपी धीरेंद्र सिंह, गोली मारकर की थी एक शख्स की हत्या

बलिया जिले के दुर्जनपुर हत्याकांड के मुख्य आरोपी धीरेंद्र प्रताप सिंह डब्लू की पुलिस कस्टडी रिमांड कोर्ट ने स्वीकार कर ली। कोर्ट ने 48 घंटे की रिमांड की अनुमति देते हुए आरोपी को अधिवक्ता साथ रखने की छूट दी है जो पुलिस कार्रवाई में हस्तक्षेप किए बिना दूर से कार्रवाई को देख सकता है।
थानाध्यक्ष रेवती प्रवीण कुमार सिंह की ओर से अभियोजन अधिकारी अधिवक्ता ओंकार त्रिपाठी व शिवबचन राम ने कोर्ट सीजेएम रमेश कुशवाहा की कोर्ट में सात दिन की रिमांड की मांग करते हुए कहा कि 15 अक्तूबर को दुर्जनपुर गांव में जयप्रकाश पाल की हत्या के बाद आरोपी शस्त्र समेत फरार था।




इसे पॉलिटेक्निक चौराहा थाना गाजीपुर लखनऊ से एसटीएफ ने 18 अक्तूबर को गिरफ्तार किया और 19 अक्तूबर को न्यायिक अभिरक्षा में जिला कारागार बलिया भेज दिया गया। अधिवक्ता ने कहा कि विवेचना के लिए असलहा बरामदगी, साक्ष्य संकलन व अपराध के बाद फरार होने के दौरान किसने सहयोग किया इस संबंध में आरोपी से पूछताछ करना आवश्यक है।
... और पढ़ें
Election
  • Downloads

Follow Us

X

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00
X