विज्ञापन
विज्ञापन
नवरात्रि के दौरान विशेष प्रभावशाली है बगलामुखी मंत्रों का जाप एवं वांछाकल्पता पाठ ! आज ही बुक करें
Navratri Special

नवरात्रि के दौरान विशेष प्रभावशाली है बगलामुखी मंत्रों का जाप एवं वांछाकल्पता पाठ ! आज ही बुक करें

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

From nearby cities

विज्ञापन
Digital Edition

यूपी: आजमगढ़ में दिनदहाड़े स्कार्पियो सवार बदमाशों ने किया कोरोना योद्धा महिला का अपहरण, भाई को पीटा

उत्तर प्रदेश के आजमगढ़ जिले में भाई के साथ ड्यूटी पर जा रही कोरोना योद्धा का स्कॉर्पियो सवार बदमाशों ने दिनदहाड़े असलहे के बल पर अपहरण कर लिया। जैसे ही घटना की सूचना पुलिस को मिली, वह तत्काल सक्रिय हो गई। आसपास के थानों को भी सूचना दे दी गई।
इसका परिणाम रहा कि एक घंटे के अंदर ही महिला स्वास्थ्यकर्मी को तहबरपुर थाना पुलिस ने बरामद कर लिया। पुलिस ने सभी अपहरणकर्ताओं को भी पकड़ लिया। इनसे थाने में पूछताछ चल रही है। घटना का कारण अभी सामने नहीं आ सका है।


कप्तानगंज थाना क्षेत्र के एक गांव निवासी 24 वर्षीय विवाहिता जिला अस्पताल में महिला स्वास्थ्यकर्मी के पद पर तैनात है। रोज की तरह वह मंगलवार की सुबह भाई के साथ बाइक से ड्यूटी जाने के लिए निकली। अभी बाइक सवार भाई-बहन जूनियर हाईस्कूल पासीपुर रसूलपुर के पास ही पहुंचे थे कि एक स्कॉर्पियो सवारों ने उन्हें ओवरटेक कर रोक लिया।
... और पढ़ें

वाराणसी: आदर्श ग्राम में बुनकरों का मुर्री बंद कर प्रदर्शन, पीएम-सीएम तक बात पहुंचाने के लिए करेंगे तहसील का घेराव

प्रधानमंत्री आदर्श नागेपुर में क्षेत्र के सैकड़ों बुनकरों ने फ्लैट रेट पर बिजली की मांग को लेकर मंगलवार को प्रदर्शन किया। नागेपुर के नंदघर के सामने नागेपुर, बेनीपुर, हरसोस, जलालपुर, जंसा, महमहदपुर, कुण्डरिया, गनेशपुर, कल्लीपुर, मेहदीगंज गांवों से आए सैकड़ों बुनकरों ने सभा की।
आक्रोशित बुनकरों ने कहा कि अभी तक हमें बिजली की पुरानी व्यवस्था 2006 के बिजली विभाग के अधिनियम के अनुसार एक पावरलूम पर प्रतिमाह 70-75 रुपये बिजली का बिल चुकाना पड़ता था। लेकिन सरकार ने नए नियम बनाकर इस व्यवस्था को खत्म कर दिया है।


नई व्यवस्था के लागू होने के बाद बुनकरों को अब हर महीने का 1500-1600 रुपये बिजली का बिल देना पड़ेगा। जोकि फिलहाल उनके बस की बात नहीं है। बुनकरों ने कहा कि कोरोना वायरस जैसी वैश्विक महामारी से पैदा हुए आर्थिक संकट के कारण बुनकर पहले ही भुखमरी की कगार हैं।
... और पढ़ें

Navratri 2020: कूष्मांडा देवी के दर्शन को लगी भीड़, भक्तों ने की कोरोना को जल्दी दूर करने की प्रार्थना

नवरात्र के चौथे दिन भी श्रद्धालुओं की भीड़ उमड़ रही है। वाराणसी के दुर्गाकुंड स्थित मंदिर में कूष्मांडा देवी के दर्शन के लिए भक्त लाइन लगाकर दर्शन कर रहे हैं। कोरोना काल में लोगों को कोरोना गाइडलाइन का पालन करने के लिए सख्त निर्देश दिए गए हैं।
बिना मास्क के मंदिर में किसी को भी प्रवेश नहीं दिया जा रहा है। साथ ही हाथों को सैनिटाइज भी कराया जा रहा है। भक्तों मां कूष्मांडा से कोरोना वायरस के इस प्रकोप को जल्दी खत्म करने की प्रार्थना कर रहे हैं।


ईशत हास्य से ब्रह्मांड की रचना करने वाली देवी भगवती के चौथे स्वरूप मां कूष्मांडा की पूजा नवरात्र के चौथे दिन होती है। इनकी कांति और आभा सूर्य के समान है। जब सृष्टि नहीं थी, तब देवी के कूष्मांडा स्वरूप ने ही सृष्टि का विस्तार किया। मां का यह स्वरूप अन्नपूर्णा का है।
... और पढ़ें

बलिया गोलीकांड: पुलिस हटी लेकिन गांव में फिर भी पसरा सन्नाटा, लोग बोले- शांति से रहना चाहते हैं

मुख्य आरोपी धीरेंद्र के घर के बाहर तैनात पुलिस। मुख्य आरोपी धीरेंद्र के घर के बाहर तैनात पुलिस।

वाराणसी: युवक ने दूसरी पत्नी का जबरन करवाया गर्भपात, पहली शादी का पता चलने पर पीड़िता ने कराया दुष्कर्म का मुकदमा

वाराणसी के बीएचयू ट्रॉमा सेंटर में कार्यरत खोजवां सरायनंदन निवासी अभिलाष दूबे उर्फ मोना के खिलाफ मंगलवार की रात लंका थाने में दुष्कर्म सहित अन्य आरोपों में मुकदमा दर्ज किया गया। पुलिस ने मुकदमा दर्ज करने के साथ ही आरोपी की तलाश शुरू कर दी है।
मिर्जापुर जिले के नई बस्ती बघेरा क्षेत्र की एक युवती के अनुसार वह अपने जीविकोपार्जन के लिए सीरगोवर्धनपुर स्थित एक क्लीनिक में काम करती थी। गठिया रोग से ग्रस्त होने के कारण वह बीएचयू ट्रॉमा सेंटर में उपचार कराने गई तो उसकी मुलाकात वहां काम करने वाले अभिलाष दूबे उर्फ मोना से हुई।


दोनों के बीच बातचीत का सिलसिला बढ़ा तो उन्होंने शादी करने का निर्णय लिया। 17 अगस्त 2016 को दोनों ने एक मंदिर में शादी की। इस दौरान वह गर्भवती हो गई थी तो अभिलाष ने जबरन उसका गर्भपात करा दिया था। कुछ समय बीतने के बाद पता लगा कि अभिलाष वर्ष 2014 से ही शादीशुदा है और उसका एक बेटा भी है।
... और पढ़ें

उत्कृष्ट कोच और मां वैष्णो देवी के  जयकारे के साथ रवाना हुई बेगमपुरा एक्सप्रेस रवाना

त्योहार पूजा स्पेशल ट्रेनों का संचालन मंगलवार से शुरू हो गया। 7 माह के बाद वाराणसी से जम्मू के बीच बेगमपुरा एक्सप्रेस का संचालन शुरू हुआ। ट्रेन की सभी 22 कोच को रेलवे ने उत्कृष्ट रंग रूप दिया। कोच के अंदर सोशल डिस्टेंसिग के लिए खास इंतजाम किए गए हैं।

वातानुकूलित कोच में यात्री रेड कार्पेट से होकर अपनी सीट पर पहुंचे। कोच में वाल पर झलक रही बनारस की संस्कृति ने यात्रियों को काफी आकर्षित किया। एडीआरएम रवि चतुर्वेदी समेत रेलवे अधिकारियों ने बेगमपुरा एक्सप्रेस को रवाना किया।

कैंट रेलवे स्टेशन से अपने निर्धारित समय दोपहर 12.40 बजे 02237 बेगमपुरा एक्सप्रेस जम्मूतवी के लिए रवाना हुई। ट्रेन में सवार होते ही यात्रियों ने जय माता दी का उद्घोष करके सफर शुरू किया। इस दौरान एडीआरएम रवि प्रकाश चतुर्वेदी ने बताया कि त्योहार स्पेशल बेगमपुरा एक्सप्रेस के सभी 22 कोच को उत्कृष्ट कोच बनाया गया है।

कोरोना संक्रमण के प्रति यात्रियों को जागरूक करने के इरादे से कोच के अंदर फर्श पर पीली पट्टी खींची गई है। यात्रियों के इन्ही पट्टी के अंदर रहना होगा। इसके अलावा स्लीपर व वातानुकूलित कोच के टॉयलेट में भी कई बदलाव हुए हैं। इस कोच का नाम ही उत्कृष्ट रखा गया है।

31 तक 180 से अधिक सीटें खाली
बेगमपुरा एक्सप्रेस कैंट रेलवे स्टेशन से रोजाना चलेगी। लखनऊ के रास्ते जाने वाली ट्रेन के सभी श्रेणी के कोच में 180 से अधिक सीटें 31 अक्तूबर तक खाली हैं।
... और पढ़ें

दुर्जनपुर हत्याकांड: मुख्य आरोपी की पुलिस रिमांड पर सुनवाई आज, रेवती पुलिस ने सीजेएम कोर्ट में पेश की अर्जी  

भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा, भाजपा विधायक सुरेंद्र सिंह।
बलिया जिले के दुर्जनपुर हत्याकांड के मुख्य आरोपी धीरेंद्र प्रताप सिंह डब्लू को सात दिन की पुलिस रिमांड पर लेने के लिए रेवती पुलिस ने मंगलवार को सीजेएम कोर्ट में अर्जी पेश की। इसकी सुनवाई बुधवार को होगी। पुलिस उपमहानिरीक्षक आजमगढ़ सुभाष चंद्र दुबे ने बताया कि कोर्ट से रिमांड मिलने के बाद आरोपी से अन्य आरोपियों एवं हत्या में प्रयुक्त असलहे समेत कई बिंदुओं पर पूछताछ की जाएगी।

रेवती थाना क्षेत्र के दुर्जनपुर हत्याकांड में नामजद मुख्य आरोपी धीरेंद्र प्रताप सिंह को रविवार की सुबह एसटीएफ ने जनेश्वर पार्क, लखनऊ से गिरफ्तार किया था। रविवार रात लगभग नौ बजे एसटीएफ उसे लेकर बलिया पहुंची थी।
 
... और पढ़ें

ज्ञानवापी प्रकरण : तीनों पक्षों ने पेश की दलीलें, जिला जज ने आदेश रखा सुरक्षित

वाराणसी के ज्ञानवापी प्रकरण में जिला जज यूसी शर्मा की अदालत ने मंगलवार को सेंट्रल सुन्नी वक्फ बोर्ड की निगरानी याचिका विचारार्थ स्वीकृत होने के मुद्दे पर सभी पक्षों की दलीलें सुनने के बाद अपना आदेश सुरक्षित कर लिया है। इससे पहले अदालत में तीनों पक्षों ने अपनी दलीलें पेश की।

प्राचीन मूर्ति स्वयंभू ज्योतिर्लिंग भगवान विश्वेश्वरनाथ की तरफ से वाद मित्र विजयशंकर रस्तोगी, आरपी पांडेय, अमरनाथ शर्मा और सुनील रस्तोगी ने दलीलें पेश की। सेंट्रल सुन्नी वक्फ बोर्ड की तरफ से मोहम्मद तौफीक और अंजुमन इंतजामिया मसाजिद कमेटी की ओर से मुमताज अहमद ने दलीलें पेश की।

भगवान विश्वेश्वर की तरफ से दलील दी गई कि अवर न्यायालय के अंतरिम आदेश के खिलाफ निगरानी याचिका सिविल प्रक्रिया संहिता के तहत दाखिल नहीं की जा सकती है। वहीं, अंजुमन इंतजामिया मसाजिद कमेटी और सेंट्रल सुन्नी वक्फ बोर्ड की तरफ से दलील दी गई कि अवर न्यायालय को ज्ञानवापी मामले की सुनवाई का अधिकार नहीं है, अपितु सुनवाई का।
 
... और पढ़ें

BHU बीएफए परीक्षा में छात्रों ने लगाया धांधली का आरोप, सड़क पर उतरकर जताया विरोध

काशी हिंदू विश्वविद्यालय (बीएचयू) के छात्र एक बार फिर से धरना-प्रदर्शन पर उतर आए हैं। छात्रों ने इस बार परीक्षा में धांधली का आरोप लगाया है। बीएचयू प्रशासन उन्हें समझाने की कोशिश कर रहा है, लेकिन वह धरने पर अडिग हैं।
जानकारी के अनुसार, धरनारत छात्रों ने बीएचयू में बीएफए की प्रवेश परीक्षा दी थी, जिसमें यह असफल हो गए। छात्रों का आरोप है कि बीएचयू द्वारा अपने संबंधियों को धांधली के तौर पर ज्यादा नंबर देकर पास किया गया है। उनका कहना है कि वह सभी के सामने हमारी परीक्षा ले सकते हैं।


छात्रों के अनुसार कुछ छात्रों को प्रवेश देने के लिए बड़ी धांधली हुई है। पैसे लेकर प्रवेश दिया गया है। छात्रों ने पत्र के माध्यम से विश्वविद्यालय और वीसी को मामले से अवगत कराया। कहीं से सकारात्मक जवाब नहीं मिलने पर मंगलवार को दर्जनों छात्र विरोध जताने यूनिवर्सिटी पहुंच गए। छात्रों ने  पहले दृश्य कला संकाय की ओर कूच किया।
 
... और पढ़ें

मऊ: उधारी चुकाने में असफल रहने पर उठा ले गए बच्चों को, बिस्कुट खिलाने का बहाना करके हुए गायब

मऊ जिले में मंगलवार को एक ऐसी घटना सामने आई, जिसने रिश्ते के महत्व को शर्मशार कर दिया। दरअसल, कर्ज अदायगी को लेकर एक दोस्त ने दोस्त के बच्चों का ही अपहरण कर लिया। हालांकि, पुलिस की सतर्कता से 24 घंटे के अंदर बच्चों की सकुशल बरामदगी हो गई। 

दोहरीघाट थाना क्षेत्र के स्थानीय बाजार के हरिजन बस्ती निवासी अशोक के घर पर रविवार की शाम उसका मित्र अपनी पत्नी के संग आया। इस दौरान दोनों उसके घर पर रुके, लेकिन सुबह-सबेरे महिला किसी काम का बहाना बनाकर घर से निकल गई।

जबकि अशोक का मित्र इस बहाने से वहां रुका रहा कि उसकी पत्नी जब आएगी तब वह उसके साथ जाएगा। इस बीच, अशोक दिहाड़ी पर मजदूरी करने के लिए बड़हलगंज चला गया। पूर्वांह्न दस बजे के करीब अशोक का मित्र तजम्मूल हुसैन अशोक की पत्नी से बोला कि वह बच्चों को बिस्किट दिलाकर आ रहा है। इस बहाने से निकला लापता हो गया।

घंटों बाद जब वह और बच्चे वापस नहीं लौटे तो अशोक की पत्नी परेशान हो गई। इस पर पति के दोस्त की तलाश में निकली। कहीं पता न चलने पर इसकी सूचना पति को दी। बाद में अशोक और उसकी पत्नी दोहरीघाट थाने पहुंची और पुलिस को पूरी घटना से अवगत कराया। पुलिस तुरंत एक्शन में आई और कुछ ही देर में बच्चों को बरामद कर लिया।

 
... और पढ़ें
Election
  • Downloads

Follow Us

X

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00
X