विज्ञापन
विज्ञापन
आज ही बनवाएं फ्री जन्म कुंडली और पाएं समस्त परेशानियों के ज्योतिष्य समाधान
Kundali

आज ही बनवाएं फ्री जन्म कुंडली और पाएं समस्त परेशानियों के ज्योतिष्य समाधान

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
Digital Edition

Varanasi Corona News Updates: अगस्त में हालात बेकाबू, इस महीने में मिले 4174 मरीज

कोरोना से संक्रमित लोगों की संख्या के साथ मौत का ग्राफ भी बढ़ता जा रहा है। अगस्त के पहले सप्ताह में ही कोरोना वायरस बेकाबू हो गया है। इस महीने में अभी तक 1,407 मरीज मिल चुके हैं, जबकि 19 मरीजों ने कोरोना से दम तोड़ दिया है।
वाराणसी में शनिवार को सुबह 11 बजे तक 109 मरीज मिले हैं। सीएमओ डॉ वीबी सिंह ने बताया कि बीएचयू से 1301 सैंपल की रिपोर्ट मिली है, जिसमें 109 मरीज सामने आए हैं। अब तक संक्रमित 4,174 में 2205 मरीजों के डिस्चार्ज और 77 की मौत के बाद अब 1,892 एक्टिव मरीज हैं।


जानकारी के अनुसार, अगस्त महीने में अब तक 8 दिनों में कुल 1,407 नए मरीज मिले हैं। जिसमें शुक्रवार को सर्वाधिक 312 लोगों में कोरोना संक्रमण की पुष्टि हुई।
... और पढ़ें

यूपी: एक्सपायरी डेट का इंजेक्शन लगाते ही किशोरी की तबीयत बिगड़ी, मौत के बाद ग्रामीणों का हंगामा

उत्तर प्रदेश के जौनपुर जिले में तबीयत खराब होने के दौरान डॉक्टर के इंजेक्शन लगाने से किशोरी की मौत हो गई। जिससे हंगामा खड़ा हो गया। पहले आरोपी चिकित्सक को घेर लिया, फिर इंजेक्शन देने वाली दवा की दुकान में तोड़फोड़ की। पुलिस ने मौके पर पहुंचकर किसी तरह स्थिति संभाली।
जौनपुप जिले के मड़ियाहूं कोतवाली क्षेत्र के मनीपुर गांव निवासी सुरेंद्र कुमार सरोज की पुत्री ओरल(13) को कुछ दिनों पहले घाव हो गया था। शुक्रवार की शाम सुरेंद्र बेटी को लेकर गांव में ही क्लीनिक चलाने वाले लालजी मौर्य के पास गए।


चिकित्सक ने किशोरी को घाव सूखने का इंजेक्शन लगा दिया। घर पहुंचने के कुछ देर बाद ही किशोरी की तबीयत बिगड़ी और देर रात उसकी मौत हो गई। सूचना मिलते ही ग्रामीण क्लीनिक पर पहुंचे और चिकित्सक को घेर लिया। मामला गर्माते देख डॉक्टर ने माफी मांगते हुए बताया कि वह इंजेक्शन बगल के सुदनीपुर गांव स्थित दवा की दुकान से लाया था।
... और पढ़ें

डीरेका की पहल: कोरोना पॉजिटिव कर्मियों का रख रहा ख्याल, स्पेशल टीम कर रही सहायता

वाराणसी में कोरोना की डरावनी खबर के बीच एक अच्छी खबर डीजल रेल इंजन कारखाना में काम करने वाले कर्मचारियों के लिए है। परिसर में संक्रमित मिल रहे कर्मियों की सहायता के लिए यहां की लोको डिवीजन ने एक सहायता टीम का गठन किया है। यह टीम परिसर के कोविड-19 मरीजों की सहायता करती है।
संक्रमित कर्मचारियों को 10 हजार तक की इलाज में आर्थिक मदद, परिवार में राशन, दुग्ध, सब्जी अन्य जरूरती सामानों की पूर्ति कराने को हर वक्त तैयार रहती है। यह स्पेशल टीम अब तक 7 संक्रमित कर्मचारियों की मदद कर चुकी है।


लोको डिवीजन की टीम ने एक व्हाट्सएप ग्रुप कोविड हेल्प बनाया है। जिसके तहत परिसर के संक्रमित मरीज मिलने पर उन्हें ग्रुप में जोड़ा जाता है। संपर्क करके समस्याओं व परिवार की जरूरतों के बारे में हर समय जानकारी हासिल की जाती रहती है। इसके बाद टीम उक्त कर्मचारी के आवास पर सामानों की उपलब्धता की व्यवस्था कराती है।
... और पढ़ें

बीएड की प्रवेश परीक्षा आज, मास्क और सैनिटाइजर के बिना नहीं मिलेगा प्रवेश, दो पालियों में 109 केंद्रों पर होगी परीक्षा

संयुक्त बीएड प्रवेश परीक्षा में केंद्र पर बिना मास्क और सैनिटाइजर के प्रवेश नहीं दिया जाएगा। जिले में बनाए गए 109 परीक्षा केंद्रों पर   तैयारियों को शनिवार को अंतिम रूप दिया गया। अभ्यर्थियों के पहुंचने का सिलसिला शनिवार की सुबह से ही शुरू हो गया। रविवार को दो पालियों में बीएड प्रवेश परीक्षा का आयोजन किया जाएगा।

जिले में बनाए गए 109 परीक्षा केंद्रों को शनिवार को सैनिटाइज किया गया। इसके साथ ही सभी केंद्रों पर कर्मचारी अनुक्रमांक के हिसाब से डेस्क स्लिप लगाने में मशगूल रहे। सभी केंद्रों पर 39177 अभ्यर्थी परीक्षा देंगे। छात्रों को मास्क और सैनेटाइजर लेकर आने को कहा गया है। करीब पांच महीने बाद कोई परीक्षा हो रही है। इसे लेकर छात्रों में भय और दहशत का भी माहौल है। केंद्रों पर भी मास्क रखने का निर्देश दिया गया है जो अभ्यर्थी मास्क लेकर नहीं आएंगे उनको मास्क उपलब्ध कराया जाएगा।

बीएड प्रवेश परीक्षा के दौरान थर्मल स्कैनिंग में अगर किसी अभ्यर्थी का तापमान अधिक हुआ या सर्दी-जुकाम की शिकायत हुई तो उसको आइसोलेट कर दिया जाएगा। हर परीक्षा केंद्र पर ऐसे अभ्यर्थियों के लिए कमरे रिजर्व रखे गए हैं। काशी विद्यापीठ नोडल केंद्र के 64 और बीएचयू के 45 परीक्षा केंद्र बनाए गए हैं। परीक्षार्थियों को परीक्षा शुरू होने के एक घंटे पहले केंद्र पर पहुंचना होगा। बगैर थर्मल स्कैनिंग के कोई भी परीक्षार्थी परीक्षा केंद्र में प्रवेश नहीं कर पाएगा।
 
... और पढ़ें
सांकेतिक तस्वीर सांकेतिक तस्वीर

Varanasi Corona News Updates: भाजपा विधायक सौरभ श्रीवास्तव समेत 197 लोग मिले कोरोना पॉजिटिव, दो की मौत

वाराणसी कैंट विधायक सौरभ श्रीवास्तव की कोरोना रिपोर्ट शनिवार को पॉजिटिव आई। इसके अलावा एसीएम तृतीय सिद्धार्थ यादव भी संक्रमित हुए हैं। सौरभ श्रीवास्तव ने अपनी कोरोना रिपोर्ट पॉजिटिव आने की जानकारी देते हुए लोगों से सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करते रहने की अपील की है।

उन्होंने अपनेे फेसबुक अकाउंट पोस्ट में लिखा " संपर्क में आने वाले लोग खुद को क्वारंटीन कर लें और आवश्यकतानुसार अपनी जांच भी करा लें। लक्षण रहित होने के कारण चिकित्सकों की राय पर मैं वर्तमान में अपने आवास पर ही क्वारंटीन हूं। "  शनिवार को विधायक का जन्मदिन भी था।

इनके अलावा शनिवार को भी दो मरीजों की मौत हो गई और 196 नए मरीज मिले हैं। इसमे सात बच्चों, ईएसआई में दो, ज्ञानवापी इलाके में छह, हुकुलगंज में पांच मरीज मिले हैं।

स्वास्थ्य विभाग को बीएचयू से शनिवार को 2250 सैंपल की रिपोर्ट मिली है। जिसमें स्वास्थ्य केंद्रों द्वारा लिए गए सैम्पल के साथ ही अलग-अलग कालोनियों से भी संक्रमित मरीज मिले हैं। सीएमओ डॉक्टर वीबी सिंह ने बताया कि बीएचयू में भर्ती रानीपुर महमूरगंज निवासी 35 वर्षीय महिला और एपेक्स हॉस्पिटल में भर्ती सिगरा नेहरू नगर निवासी 51 वर्षीय पुरुष की मौत हो गई है।

इसके बाद कुल मरने वालों की संख्या 79 पहुंच गई है। नए मरीजों में चंद्रा रेजिडेंसी हुकुलगंज में 3 साल के बच्चे के साथ तीन, बुद्ध विहार कॉलोनी, शुकुलपुरा महमूरगंज, कोनिया, बड़ी गैबी, अस्सी, शिवपुर में एक-एक मरीज मिलने के साथ ही पुराना पान दरीबा, सोनकर बस्ती जगतगंज में तीन, सिकरौल कैंट में तीन, माधोपुर में तीन हुकूलगंज में 3 मरीज मिले हैं।
... और पढ़ें

Corona In Azamgarh: नौ माह की बच्ची समेत 81 और संक्रमित मिले, सक्रिय मरीजों की संख्या 917 पहुंची

आजमगढ़ जनपद में कोरोना संक्रमण का कहर लगातार बढ़ता जा रहा है। शनिवार को भी जनपद में एक साथ 81 नये कोरोना संक्रमित पाए गए हैं। शुक्रवार को 99 कोरोना संक्रमित पाए गए थे। शनिवार को मिले मरीजों में रैपिड एंटीजन टेस्ट (रैट) से 61, आरटी-पीसीआर से 15, ट्रू नेट मशीन के पांच केस सामने आए हैं।

शनिवार को भी 29 मरीज स्वस्थ घोषित किए गए हैं। अब तक 626 मरीजों स्वस्थ होने के बाद डिस्चार्ज भी किए गए हैं। जनपद में सक्रिय मरीजों की संख्या 969 पहुंच गई है। रिकवरी दर 39 फीसद के आसपास है। अब तक 29 मरीजों की मौत हुई हैं। जनपद में शनिवार को संक्रमित मिले मरीजों में नौ साल की बच्ची भी शामिल है।

सीएचसी मुबारकपुर में शनिवार को कुल 27 लोगों की जांच की गई। इसमें नौ कोरोना पाजिटिव मिले हैं। सभी संक्रमित मोहल्ला पुरानी बस्ती के ही निवासी बताए गए हैं। इसमें पांच महिलाएं शामिल हैं। बताया जा रहा है कि सभी पिछले दिनों पुलिस चौकी में भोजन बनाने वाली संक्रमित महिला के संपर्क में आने से ही संक्रमित हुए हैं। सभी को डेंटल कालेज इटौरा में आइसोलेट किया गया है।

रानी की सराय में 65 लोगों की जांच की गई जिसमें पांच  पॉजिटिव मिले हैं। प्रभारी चिकित्सा अधिकारी डॉ. सत्य प्रकाश गौतम ने बताया कि तीन लोग एक ही परिवार के हैं। इसमें एक तीन साल की बच्ची भी है। जहानागंज में सीएचसी कोल्हूखोर पर 10 लोगों और भुजही गांव के 20 लोगों की सैंपलिंग हुई। कस्बे के मिश्रा मार्केट का एक व्यक्ति संक्रमित पाया गया।

जब डाक्टर की टीम उनको लेने घर पहुंची तो पत्नी ने होम आइसोलेशन की बात कही। इससे आसपास के लोग परेशान हैं। सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र हरैया चिकित्सा प्रभारी डॉ. देवानन्द यादव ने बताया कि चक्की हाजीपुर गांव निवासी प्राइवेट चिकित्सक और मऊ भीम्बर निवासी कोरोना संक्रमित पाए गए हैं। पल्हनी नई कालोनी में नौ माह के बच्चे को भी कोरोना संक्रमण मिला है। उसे मेडिकल कालेज में आइसोलेट कराया गया है। परिवार में एक लोग पहले कोरोना संक्रमित मिले थे। 

कोरोना संक्रमण की जांच के लिए पूर्व प्रेषित सैंपल में 81 व्यक्तियों की जांच रिपोर्ट पॉजिटिव प्राप्त हुई है। इसमें रैपिड एंटीजन टेस्ट (रैट) के 61, आरटी-पीसीआर के 15, ट्रू नेट मशीन के 5 केस हैं। अब तक कुल 1624 कोरोना पाजिटिव मरीज पाए गए हैं। वर्तमान समय में 969 एक्टिव केस हैं। 626 मरीज स्वस्थ होकर डिस्चार्ज हो चुके हैं। 29 मरीजों की मौत हुई है।
... और पढ़ें

जौनपुर में बालिका की हत्या, दुष्कर्म का शक, चेहरा जलाने की कोशिश, दो हिरासत में, मुख्य आरोपी की तलाश

दो दिनों से लापता 11 साल की लड़की की शनिवार सुबह खेत में लाश मिली। गला रेतकर हत्या करने के बाद चेहरा जलाने की भी कोशिश की गई थी। दुष्कर्म की भी आशंका है। लोगों ने मामले में पुलिस पर लापरवाही का आरोप लगाते हुए सुबह नौ बजे से शाम पांच बजे तक धरना देकर जौनपुर जिले के मड़ियाहूं कोतवाल के निलंबन की मांग की। मामले में दो लोगों को हिरासत में लिया गया है। 

लड़की की मां मूक और पिता अशक्त हैं। गुरुवार की शाम पड़ोस के गांव के दो लोग काम का बहाना बनाकर लड़की को साथ ले गए थे। उसके बाद वह घर नहीं लौटी। फिर प्रधान ने शुक्रवार को पुलिस को सूचना दी। इस बीच, शनिवार की सुबह बगल के गांव में लड़की का शव मिला।

इसके विरोध में ग्रामीणों ने ब्लाक प्रमुख मड़ियाहूं लाल प्रताप यादव के नेतृत्व में धरना दिया। पूर्व सांसद तूफानी सरोज और अन्य सपा नेता भी पहुंचे और पुलिस के खिलाफ नारेबाजी की। सूचना पर आईजी विजय सिंह मीणा कोतवाली पहुंचे।

बताया कि मुख्य आरोपी को पकड़ने के लिए तीन टीमें जिले में और एक टीम चंदौली भेजी गई है। आरोपियों पर सख्त कार्रवाई की जाएगी। एसपी अशोक कुमार ने कहा कि तहरीर के आधार पर केस दर्ज कर कार्रवाई की जाएगी।
... और पढ़ें

BHU Admission के लिए 24 अगस्त से होंगी प्रवेश परीक्षाएं, दो चरणों में 14 सितंबर तक होगी परीक्षा

प्रतीकात्मक तस्वीर
वाराणसी में BHU में स्नातक और स्नातकोत्तर में दाखिले को लेकर प्रवेश परीक्षा की नई तिथि घोषित हो गई है। दो  चरणों में होने वाली परीक्षा का पहला चरण 24 से 31 अगस्त और दूसरा चरण 9 से 14 सितंबर तक रहेगा। परीक्षा समय सारिणी 17 अगस्त तक वेबसाइट पर जारी कर दी जाएगी। बीएचयू में दाखिले के लिए इस बार स्नातक और स्नातकोत्तर में करीब सवा पांच लाख अभ्यर्थियों ने आवेदन किया है।

विश्वविद्यालय की ओर से पहले 16 से 31 अगस्त तक की तिथि जारी की गई थी। अब उसमे बदलाव कर नई तिथि शनिवार को घोषित की गई है। पीआरओ सेल की ओर से जारी सूचना में पहले चरण में सभी स्नातकोत्तर पाठ्यक्रमों के साथ ही स्नातक स्तर पर एलएलबी,बीएड/बीएड स्पेशल एजुकेशन,बीपीएड, बीएफए और बीपीए पाठ्यक्रमों की परीक्षा कराई जाएगी।

दूसरे चरण में 9-10-11 और 14 सितंबर को होने वाली प्रवेश परीक्षा में बीए आर्ट,सोशल साइंस, बीए एलएलबी आनर्स, बीएससी, बीकॉम, बीएससी एजी, बायो,मैथ और शास्त्री और बी वॉक के विभिन्न पाठ्यक्रमों के लिए प्रवेश परीक्षा कराई जाएगी।
पीआरओ डॉ. राजेश सिंह ने बताया कि अभ्यर्थियों को प्रवेश परीक्षा संबंधित  समय सारणी की जानकारी बीएचयू के प्रवेश परीक्षा पोर्टल पर मिलेगी। साथ ही परीक्षा तिथि से एक सप्ताह पहले पोर्टल से ही प्रवेश पत्र भी अभ्यर्थी डाउनलोड कर सकते हैं।
... और पढ़ें

Corona In Ghazipur: एक ही परिवार के सात लोगों समेत 35 की रिपोर्ट आई पॉजिटिव, संक्रमितों की संख्या 1573 पहुंची

गाजीपुर जिले में एक ही परिवार के सात लोगों समेत 35 लोगों की रिपोर्ट शनिवार को पॉजिटिव आई। साथ ही कोविड केयर सेंटर में भर्ती सात मरीज स्वस्थ होकर घर पहुंचे। नए संक्रमितों को सहेड़ी स्थित कोविड केयर सेेंटर में भर्ती कराया गया। अब जनपद में कोरोना संक्रमितों की संख्या 1573 पहुंच गई है। वहीं 645 स्वस्थ हो चुके हैं, 12 की मौत हो गई है। वहीं संक्रिय केस का आंकड़ा 916 पहुंच गया है।

जिला अस्पताल में एंटीजन किट से चार और ट्रू नेट से दो की रिपोर्ट कोरोना पॉजिटिव आई। उन्हें तत्काल उपचार के लिए सहेड़ी स्थित कोविड केयर सेंटर भेजा गया। जमानिया नगर के कस्बा बाजार मेडिकल मोबाइल वैन से 75 लोगों की जांच की गई। इसमें एक ही परिवार के सात लोग संक्रमित पाए गए। इसमें तीन लोगों को जिला अस्पताल भेज दिया, जबकि बच्चों को होम आइसोलेट कर दिया गया।

नंदगंज के नवीन प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र पर 166 लोगों की जांच की गई। इसमें 164 का स्वैब सैंपलिंग की गई। जबकि दो लोगों की एंटीजन किट से जांच की गई। संक्रमित मिले आठ मरीजों को उपचार के लिए कोविड केयर सेंटर में भर्ती कराया गया।

तीन संक्रमित मरीजों को होम आइसोलेट किया गया है। महामारी के नोडल एसीएमओ डॉ. उमेश कुमार ने बताया कि 35 कोरोना संक्रमित मिले हैं। अब इनके संपर्क में आए संदिग्धों की तलाश शुरू कर दी गई है।
... और पढ़ें

विधायक विजय मिश्र के पुत्र का पलटवार, कहा-32  करोड़ के बकायेदार हैं मुकदमा कराने वाले

मकान और संपत्ति पर कब्जा करने के आरोप में रिश्तेदार कृष्णमोहन तिवारी की ओर से विधायक विजय मिश्र, उनकी पत्नी एमएलसी रामलली मिश्रा और पुत्र विष्णु मिश्र पर मुकदमा दर्ज कराने के बाद शनिवार को विधायक पुत्र विष्णु मिश्रा ने कृष्णमोहन तिवारी पर पलटवार किया। कहा कि उनके ऊपर हमारी कंपनी के 32 करोड़ रुपये बकाया हैं। रकम देनी न पड़े, इसलिए वह इस तरह के प्रपंच रच रहे हैं। 

शनिवार को मीडिया से मुखातिब विधायक और उनके पुत्र ने कहा कि कृष्णमोहन तिवारी से हमारे ताल्लुकात अच्छे हैं, लेकिन अचानक मन में लालच आने के कारण वह षड्यंत्र करने लगे हैं। उनके ऊपर सफेद गिट्टी, काली गिट्टी और प्रोजेक्ट सिक्योरिटी आदि के मद में कंपनी के 32 करोड़ 76 लाख रुपये बकाया हैं। इसे देना न पड़े, इसलिए किसी के बहकावे में आकर वह ऐसा कर रहे हैं। इससे पूर्व उन्होंने भुगतान के लिए जो तीन चेक दिए हैं, वे तीनों बाउंस हो गए। इसके लिए मैं अब कानूनी कार्रवाई करूंगा। 

उधर, विधायक विजय मिश्र ने कहा कि राजनीतिक विरोधी परिवार वालों को मिलाकर मेरी हत्या कराना चाहते हैं। क्योंकि उनकी मंशा भदोही पर कब्जा करने की है, जिसे कभी पूरा नहीं होने दिया जाएगा।

पिता की सारी संपत्ति की अकेली वारिस मैं : पुष्पलता

विधायक विजय मिश्र और उनके रिश्तेदार कृष्णमोहन तिवारी मामले में शनिवार को नया मोड़ आता दिखा। विधायक के खिलाफ संपत्ति पर कब्जा करने के प्रयास का आरोप लगाने वाले कृष्णमोहन की बहन पुष्पलता देवी उर्फ नीरजा ने गोपीगंज थाने में तहरीर देकर आरोप लगाया कि कृष्णमोहन मेरे सगे भाई नहीं हैं।

मेरी मां ने पैदाइश के समय उन्हें पैसे देकर खरीदा था। वह औराई के एक परिवार के बेटे हैं। डीएनए जांच करा ली जाए तो स्पष्ट हो जाएगा। ऐसे में अपने पिता की संपत्ति की वह अकेली वारिस है। लेकिन, उसके कथित भाई ने मां को प्रभाव में लेकर काफी संपत्ति अपने नाम करवा ली।

दावा किया है कि वह कोलकाता के अस्पताल में अकेली पैदा हुई थी। उसकी मां ने उसी अस्पताल में जन्मे एक अन्य नवजात को गोद लेकर जुड़वा बच्चे पैदा होने की बात कही थी। उधर गोपीगंज कोतवाल कृष्णानंद राय ने कहा कि तहरीर मिली है। जांच कराने के बाद आगे की कार्रवाई की जाएगी।
... और पढ़ें

शराब के लिए पैसा न मिलने पर फंदे पर लटककर दी जान, रात में ही छत से कूदकर जान देने की दे रहा था धमकी 

मऊ जिले के रानीपुर थाना क्षेत्र के काझा गांव में शुक्रवार रात एक व्यक्ति ने शराब के लिए पैसा नहीं मिलने पर फंदे से लटककर जान दे दी। लोगों को घटना की जानकारी शनिवार सुबह हुई। काझा गाव निवासी श्याम प्रसाद खरवार (50) टैक्सी चलाता था। वह शराब का आदी था।  

शुक्रवार की शाम को उसने पत्नी से शराब पीने के लिए पैसे मांगे। लेकिन मिला नहीं। इस पर रात में ही वह छत से कूदकर जान देने की धमकी दे रहा था, लेकिन किसी तरह लड़कों ने समझाकर शांत कराया। इसके बाद श्याम प्रसाद रात में खाना खाकर सोया लेकिन सुबह बिस्तर पर नहीं मिला। घर के लोग उसे ढूंढ रहे थे।

शनिवार सुबह लोग गांव के बाहर टहलने निकले तो बिजली की केबिल के फंदे पर लाश लटकती दिखी। उसकी पहचान श्याम प्रसाद के रूप में हुई। लोगों ने इसकी सूचना घर वालों तथा पुलिस को दी। इसके बाद काझा चौकी इंचार्ज ने शव पोस्टमार्टम के लिए भेजवाया। इस बाबत थानाध्यक्ष कुमुद शेखर सिंह का कहना है कि प्रथम दृष्टया मामला आत्महत्या का लगता है। पुलिस जांच कर रही है।
... और पढ़ें

यूपी: गाजीपुर में एंबुलेंस मैनेजर पुलिस हिरासत में, कोरोना के बीच चालक हड़ताल पर, सभी सेवाएं ठप

उत्तर प्रदेश के गाजीपुर जिले में डीएम के निर्देश पर शुक्रवार की देर शाम कोतवाली पुलिस ने जिले के एंबुलेंस मैनेजर को हिरासत में ले लिया। इससे नाराज एंबुलेंस चालकों ने सेवाएं ठप कर रात में ही वाहन सहित मिश्र बाजार-कोतवाली मार्ग पर उग्र प्रदर्शन किया।
देर रात पुलिस ने उन्हें समझा- बुझाकर वापस भेज दिया। लेकिन एंबुलेंस चालकों ने चेतावनी दी है कि जब-तक मैनेजर को नहीं छोड़ा जाएगा, वह अपनी सेवाएं ठप रखेंगे। उधर डीएम के आदेश पर एंबुलेंस मैनेजर व प्रभारी पर मुकदमा दर्ज कर नौकरी से निकाले जाने का नोटिस भी तैयार कर दिया है।


पुलिस के अनुसार, लगभग एक सप्ताह पहले संक्रमित एसपी को लखनऊ जाने के लिए एंबुलेंस की तत्काल जरूरत थी, लेकिन एंबुलेंस उपलब्ध कराने में काफी देर कर दी गई थी। तब सीएमओ ने एंबुलेंस मैनेजर और प्रभारी को डांट-फटकार लगाने के साथ दुर्व्यवहार भी किया था। तब कर्मचारियों ने सीएमओ कार्यालय पर प्रदर्शन भी किया था।
... और पढ़ें

रिटायर्ड फौजी व परिवार की पिटाई के मामले में सीएम के तेवर सख्त, तत्कालीन थानाध्यक्ष समेत 5 पुलिसकर्मी सस्पेंड

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने शनिवार की देर शाम नूरपुर कांड के मामले में तत्कालीन नगसर थानाध्यक्ष समेत पांच पुलिस कर्मियों को निलंबित कर दिया। यह कार्रवाई जनपद के प्रभारी मंत्री आनंद स्वरूप शुक्ल एवं जिलाधिकारी ओमप्रकाश आर्य की जांच रिपोर्ट के आधार पर की गई है। 

नगसर थाना क्षेत्र के नूरपुर गांव का राजन पांडेय उर्फ झनकू बीते 26 जुलाई को पुलिस कस्टडी से फरार हो गया था। उसकी तलाश में पहुंची पुलिस ने आरोपी के न मिलने पर उसके पड़ोसियों से पूछताछ की। इस दौरान पुलिस का उनसे विवाद हो गया और फिर सेवानिवृत्त फौजी अजय पांडेय समेत परिवार के नौ लोगों की थाने ले गई।

थाने में सभी की बेरहमी से पिटाई की गई और आरोपी को छिपाने का मुकदमा दर्ज कर लिया। इसकी जानकारी होते ही सीएम ने बीते एक अगस्त को जिलाधिकारी को तथा दूसरे दिन जनपद के प्रभारी मंत्री आनंद स्वरूप शुक्ल को भेजकर मामले की पूरी जानकारी ली।

इस दौरान मंत्री को गांव के लोगों के आक्रोश का सामना भी करना पड़ा था। तब मंत्री ने भरोसा दिलाया था कि दोषियों को बख्शा नहीं जाएगा। इस मामले में शनिवार को प्रभारी मंत्री ने फोन पर बताया कि तत्कालीन थानाध्यक्ष रमेश कुमार एवं उप निरीक्षक कृष्णा यादव और अन्य तीन आरक्षियों को सीएम ने रिपोर्ट के आधार पर निलंबित कर दिया है। 
... और पढ़ें
Election
X

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
  • Downloads

Follow Us