विज्ञापन
विज्ञापन
घर बैठें बनवाएं फ्री जन्मकुंडली, जानें बनते काम बिगड़ने का कारण
Kundali

घर बैठें बनवाएं फ्री जन्मकुंडली, जानें बनते काम बिगड़ने का कारण

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

From nearby cities

विज्ञापन
Digital Edition

BHU बीएफए परीक्षा में छात्रों ने लगाया धांधली का आरोप, सड़क पर उतरकर जताया विरोध

काशी हिंदू विश्वविद्यालय (बीएचयू) के छात्र एक बार फिर से धरना-प्रदर्शन पर उतर आए हैं। छात्रों ने इस बार परीक्षा में धांधली का आरोप लगाया है। बीएचयू प्रशासन उन्हें समझाने की कोशिश कर रहा है, लेकिन वह धरने पर अडिग हैं।
जानकारी के अनुसार, धरनारत छात्रों ने बीएचयू में बीएफए की प्रवेश परीक्षा दी थी, जिसमें यह असफल हो गए। छात्रों का आरोप है कि बीएचयू द्वारा अपने संबंधियों को धांधली के तौर पर ज्यादा नंबर देकर पास किया गया है। उनका कहना है कि वह सभी के सामने हमारी परीक्षा ले सकते हैं।


छात्रों के अनुसार कुछ छात्रों को प्रवेश देने के लिए बड़ी धांधली हुई है। पैसे लेकर प्रवेश दिया गया है। छात्रों ने पत्र के माध्यम से विश्वविद्यालय और वीसी को मामले से अवगत कराया। कहीं से सकारात्मक जवाब नहीं मिलने पर मंगलवार को दर्जनों छात्र विरोध जताने यूनिवर्सिटी पहुंच गए। छात्रों ने  पहले दृश्य कला संकाय की ओर कूच किया।
 
... और पढ़ें

मऊ: उधारी चुकाने में असफल रहने पर उठा ले गए बच्चों को, बिस्कुट खिलाने का बहाना करके हुए गायब

मऊ जिले में मंगलवार को एक ऐसी घटना सामने आई, जिसने रिश्ते के महत्व को शर्मशार कर दिया। दरअसल, कर्ज अदायगी को लेकर एक दोस्त ने दोस्त के बच्चों का ही अपहरण कर लिया। हालांकि, पुलिस की सतर्कता से 24 घंटे के अंदर बच्चों की सकुशल बरामदगी हो गई। 

दोहरीघाट थाना क्षेत्र के स्थानीय बाजार के हरिजन बस्ती निवासी अशोक के घर पर रविवार की शाम उसका मित्र अपनी पत्नी के संग आया। इस दौरान दोनों उसके घर पर रुके, लेकिन सुबह-सबेरे महिला किसी काम का बहाना बनाकर घर से निकल गई।

जबकि अशोक का मित्र इस बहाने से वहां रुका रहा कि उसकी पत्नी जब आएगी तब वह उसके साथ जाएगा। इस बीच, अशोक दिहाड़ी पर मजदूरी करने के लिए बड़हलगंज चला गया। पूर्वांह्न दस बजे के करीब अशोक का मित्र तजम्मूल हुसैन अशोक की पत्नी से बोला कि वह बच्चों को बिस्किट दिलाकर आ रहा है। इस बहाने से निकला लापता हो गया।

घंटों बाद जब वह और बच्चे वापस नहीं लौटे तो अशोक की पत्नी परेशान हो गई। इस पर पति के दोस्त की तलाश में निकली। कहीं पता न चलने पर इसकी सूचना पति को दी। बाद में अशोक और उसकी पत्नी दोहरीघाट थाने पहुंची और पुलिस को पूरी घटना से अवगत कराया। पुलिस तुरंत एक्शन में आई और कुछ ही देर में बच्चों को बरामद कर लिया।

 
... और पढ़ें

सोनू सूद कराएंगे धर्म परिवर्तन करने वाली युवती का इलाज, हरियाणा के करनाल में अब होगा इलाज

जौनपुर में कोरोना पॉजिटिव भाजपा नेता और डॉक्टरों के बीच मारपीट, मंत्रियों के नाम पर धमकाने का आरोप 

जौनपुर जिला महिला अस्पताल परिसर में बने कोविड-19 के एल-टू अस्पताल में भर्ती एक भाजपा नेता और स्वास्थ्य कर्मियों के बीच मारपीट का मामला सामने आया है। शिकायत के बाद बुधवार को सिटी मजिस्ट्रेट के नेतृत्व में सीएमओ और सीएमएस ने अस्पताल पहुंचकर पूरे मामले की जानकारी ली। एल-2 अस्पताल में लगे सीसी टीवी कैमरे के फुटेज खंगाले गए। करीब दो घंटे तक अफसर अस्पताल में रहे। मारपीट की बात से उन्होंने इंकार किया है।

सुईथाकला के जहीरुद्दीनपुर गांव निवासी भाजपा के युवा मोर्चा के वाराणसी मंडल के पदाधिकारी को पांच दिन पहले कोरोना पॉजिटिव होने पर एल-2 अस्पताल में भर्ती किया गया था। उनका आरोप है कि अस्पताल में ठीक से सफाई नहीं होती। स्वीपर से खाना भिजवाया जाता है। बेसिन से निकला गंदा पानी बहता रहता है।

मंगलवार को इसकी शिकायत जब स्वास्थ्य कर्मियों से की तो वह मारपीट करने लगे। वहीं स्वास्थ्य कर्मचारियों ने भाजपा नेता पर बदसलूकी का आरोप लगाया। शिकायत पर डीएम ने जांच के निर्देश दिए। बुधवार को सिटी मजिस्ट्रेट सहदेव मिश्र, कोतवाल संजीव मिश्र, सीएमओ डॉ. राकेश कुमार और सीएमएस डॉ. एके अग्रवाल, डॉ. एके शर्मा के साथ एल-2 अस्पताल पहुंचकर छानबीन की।

भाजपा नेता और ड्यूटी पर तैनात स्वास्थ्य कर्मियों से पूछताछ की गई। सीसी टीवी कैमरे का फुटेज भी खंगाला। कोतवाल संजीव कुमार मिश्र का कहना है कि मारपीट की कहीं से पुष्टि नहीं हुई। जांच कर रिपोर्ट डीएम को सौंपी जाएगी।
बेसिन से गंदा पानी गिरने की शिकायत मरीज ने की थी। उसे मंगलवार को ही ठीक करा दिया गया था। इसके बाद अस्पताल में गंदगी शिकायत मिली तो स्वीपर को भेजकर सफाई कराई गई। स्वास्थ्य कर्मियों की ओर से मारपीट किए जाने का आरोप गलत है। जांच कर वह रिपोर्ट डीएम को सौंपी जाएगी। 
डॉ. एके अग्रवाल, सीएमएस जिला महिला अस्पताल जौनपुर
... और पढ़ें
कोरोना वायरस के नमूने लेते कर्मचारी कोरोना वायरस के नमूने लेते कर्मचारी

Ballia Firing: 48 घंटे तक पुलिस रिमांड में रहेगा मुख्य आरोपी धीरेंद्र सिंह

बलिया जिले के दुर्जनपुर हत्याकांड के मुख्य आरोपी धीरेंद्र प्रताप सिंह उर्फ डब्लू की पुलिस रिमांड कोर्ट ने स्वीकार कर ली है। धीरेंद्र को 22 अक्तूबर सुबह दस बजे से 24 अक्तूबर सुबह दस बजे तक 48 घंटे के लिए पुलिस कस्टडी में भेज दिया गया है। कोर्ट ने अभियुक्त को अधिवक्ता साथ रखने की छूट दी है, जो पुलिस कार्रवाई में कोई हस्तक्षेप किए बिना दूर से कार्रवाई को देख सकता है।



विवेचक/थानाध्यक्ष रेवती प्रवीण कुमार सिंह की ओर से अभियोजन अधिकारी अधिवक्ता ओंकार त्रिपाठी व शिवबचन राम ने कोर्ट सीजेएम रमेश कुशवाहा की कोर्ट में सात दिन की पुलिस कस्टडी रिमांड की अर्जी पेश करते हुए कहा कि 15 अक्तूबर को दुर्जनपुर गांव में जयप्रकाश पाल की हत्या के बाद अभियुक्त शस्त्र समेत फरार था। इसे लखनऊ के पॉलिटेक्निक चौराहा एसटीएफ ने 18 अक्तूबर को गिरफ्तार किया और 19 अक्तूबर को न्यायिक अभिरक्षा में जिला कारागार बलिया भेज दिया गया।


अधिवक्त ने कहा कि विवेचना के लिए असलहा बरामदगी, साक्ष्य संकलन व अपराध के बाद फरार होने के दौरान किसके द्वारा सहयोग किया गया, छिपाया गया के संबंध में पूछताछ करना जरूरी है। अभियुक्त ने असलहा कहां छिपाया है और चलकर बरामद करा सकता है ऐसी स्वीकारोक्ति की है।
... और पढ़ें

बलिया जा रहे करणी सेना प्रदेश अध्यक्ष को बूढ़नपुर में रोका, चालान कर एक-एक लाख का मुचलका

बलिया जिले के दुर्जनपुर हत्याकांड को लेकर बलिया में आयोजित कार्यक्रम में प्रतिभाग करने जा रहे करणी सेना के प्रांतीय पदाधिकारियों को आजमगढ़ पुलिस ने बूढ़नपुर चौक पर रोक लिया। हालांकि सभी को अतरौलिया स्थित लोहरा टोल प्लाजा पर रोकने की योजना थी, लेकिन ये लोग रास्ता बदल कर बूढ़नपुर तक पहुंचने में सफल रहे।
सभी को कोयलसा ब्लॉक सभागार ले जाकर बैठाया गया है। वहीं सूचना पर गाजीपुर और सुल्तानपुर के पदाधिकारी व कार्यकर्ता भी कोयलसा ब्लॉक पहुंच गए। पुलिस सभी का 151 में चालान कर एक-एक लाख का मुचलका भरवा रही है।


बलिया में दुर्जनपुर हत्याकांड को लेकर करणी सेना कर बुधवार को कार्यक्रम आयोजित था। सभी जिलों से कार्यकर्ताओं व पदाधिकारियों को बलिया बुलाया गया था। प्रशासन ने कार्यक्रम की अनुमति नहीं दी थी। इसके साथ ही पदाधिकारियों को बलिया पहुंचने से पहले ही रोकने की रणनीति बना ली गई थी।
... और पढ़ें

यूपी: जमीन विवाद में रिश्तों की हत्या, बहनोई ने चचेरे साले को मारी गोली  

टुनटुन ने की दंडवत त्रिकोण परिक्रमा।
गाजीपुर जिले के नंदगंज थाना क्षेत्र के दवोपुर मड़ई गांव में जमीन और मकान के बंटवारे के विवाद में बुधवार को बृजेश यादव ने अपने चचेरे साले अवधेश यादव की गोली मारकर हत्या कर दी। घटना के बाद बहनोई और उसके एक साथी हमलावर को ग्रामीणों ने पकड़ लिया जबकि उनके चार साथी फरार हो गए।

कप्तान डा. ओमप्रकाश सिंह, एसपी सिटी गोपीनाथ सोनी, सीओ सिटी ओजस्वी चावला तथा सीओ भुड़कुड़ा महमूद अली समेत कई थानों की फोर्स मौके पर पहुंच गई। मामले में छह लोगों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर लिया गया है। पिटाई से घायल हमलावरों को वाराणसी के ट्रामा सेंटर रेफर किया गया है। 

दवोपुर मड़ई निवासी अवधेश यादव (40) का अपने सगे चाचा शोभनाथ से करीब दस वर्षों से पैतृक मकान एवं भूमि विवाद कोलेकर रंजिश चल रही थी। सुबह करीब नौ बजे अवधेश का पुत्र अभिषेक उर्फ गोलू अपने घर के सामने खड़ा था। इसी बीच करंडा थाने के नारी पचदेवरा गांव निवासी और उसके चचेरे फूफा बृजेश यादव और पंचदेवरा का ही किशन यादव स्कार्पियो से वहां पहुंचे।

 
... और पढ़ें

वाराणसी: फिर सड़कों पर उतरे बुनकर, आज पीएम मोदी के संसदीय कार्यालय पर बनाई मानव श्रंखला

वाराणसी: युवक ने दूसरी पत्नी का जबरन करवाया गर्भपात, पहली शादी का पता चलने पर पीड़िता ने कराया दुष्कर्म का मुकदमा

वाराणसी के बीएचयू ट्रॉमा सेंटर में कार्यरत खोजवां सरायनंदन निवासी अभिलाष दूबे उर्फ मोना के खिलाफ मंगलवार की रात लंका थाने में दुष्कर्म सहित अन्य आरोपों में मुकदमा दर्ज किया गया। पुलिस ने मुकदमा दर्ज करने के साथ ही आरोपी की तलाश शुरू कर दी है।
मिर्जापुर जिले के नई बस्ती बघेरा क्षेत्र की एक युवती के अनुसार वह अपने जीविकोपार्जन के लिए सीरगोवर्धनपुर स्थित एक क्लीनिक में काम करती थी। गठिया रोग से ग्रस्त होने के कारण वह बीएचयू ट्रॉमा सेंटर में उपचार कराने गई तो उसकी मुलाकात वहां काम करने वाले अभिलाष दूबे उर्फ मोना से हुई।


दोनों के बीच बातचीत का सिलसिला बढ़ा तो उन्होंने शादी करने का निर्णय लिया। 17 अगस्त 2016 को दोनों ने एक मंदिर में शादी की। इस दौरान वह गर्भवती हो गई थी तो अभिलाष ने जबरन उसका गर्भपात करा दिया था। कुछ समय बीतने के बाद पता लगा कि अभिलाष वर्ष 2014 से ही शादीशुदा है और उसका एक बेटा भी है।
... और पढ़ें

वाराणसी: कच्ची शराब बनाने के आरोप में गिरफ्तार अभियुक्तों को लेकर ग्रामीणों ने घेरा थाना, सड़क पर लगाया जाम

वाराणसी में कच्ची शराब बनाने के आरोप में गिरफ्तार तीन अभियुक्तों के विरोध में परिजनों और ग्रामीणों ने रोहनिया थाने का घेराव किया। इस दौरान उन्होंने सड़क जाम कर दी। इसके बाद पुलिस ने उनपर लाठियां बरसा दीं।
जानकारी के अनुसार, लॉकडाउन में 17 अप्रैल को कच्ची शराब बनाने के आरोप में रोहनिया थाना क्षेत्र के भवानीपुर निवासी बृजनाथ पटेल को पुलिस ने शराब के साथ पकड़ा था। पुलिस ने इस दौरान यूरिया और 10 कुंतल लहन बरामद किया, लेकिन लहन को वहीं नष्ट कर दिया था।


जांच के दौरान विजय कुमार पटेल व इन्द्रजीत पटेल को भी अभियुक्त बनाया गया। बरामद कच्ची शराब की जांच विधि विज्ञान प्रयोगशाला में की गई तो रिपोर्ट में जहरीली पाई गई। उसके बाद तीनों के खिलाफ कई धाराओं में मुकदमा दर्ज किया था।
... और पढ़ें

पंजाब से मुख्तार को लाने गई पुलिस लौटी खाली हाथ, डॉक्टरों ने लगाई जेल से रवानगी पर रोक

फर्जी कागजात के आधार पर 1990 में शस्त्र लाइसेंस लेने के मामले में जारी वारंट-बी पर मऊ के बाहुबली विधायक मुख्तार अंसारी को पंजाब के रोपड़ जेल से लाने गई जनपद पुलिस को खाली हाथ लौटना पड़ा। डॉक्टरों ने मुख्तार अंसारी की रीढ़ की हड़्डी में समस्या, मधुमेह और डिप्रेशन की बीमारी से पीड़ित बताते हुए तीन माह तक बेड रेस्ट की सलाह दी है।

मुख़्तार अंसारी के धोखे से कागजात तैयार कराकर शस्त्र लाइसेंस लेने तथा इस काम में सरकारी अधिकारी एवं कर्मचारियों की मदद मिलने की बात सामने आई थी। इसके बाद मामले की जांच सीबीसीआईडी को सौंप दी गई थी। फिर वर्ष 1997 में चार्जशीट दाखिल की गई। इसमें मुख्तार, रुद्र प्रताप शस्त्र लिपिक, दिलदार अहमद आयुष लिपिक, मुहम्मद अरशद लिपिक, राम लखन सिंह डिप्टी कलेक्टर आरोपी बनाए गए। 

इस मामले में मुख्तार को 21 अक्तूबर को प्रयागराज में विशेष कोर्ट में पेश होना है। इसके मद्देनजर मुख्तार को लेने जनपद पुलिस की टीम 18 अक्तूबर को पंजाब पहुंची थी। वहां बताया गया कि मुख्तार की तबीयत ठीक नहीं है। रोपण के सिविल सर्जन डॉ. दविंदर कुमार ने बताया कि डॉक्टरों का बोर्ड बनाकर मुख्तार अंसारी का मेडिकल किया गया था। उसकी रीढ़ की हड्डी में समस्या है और वह शुगर के अलावा डिप्रेशन की बीमारी से भी पीड़ित है। डॉक्टरों ने मुख्तार अंसारी को तीन महीने का बेड रेस्ट करने की सलाह दी है। 

रोपड़ जेल प्रशासन ने इसी मेडिकल के आधार पर यूपी पुलिस को मना किया है कि मुख्तार अंसारी इतना लंबा सफर करने के लिए सक्षम नहीं है।
 उधर, गाजीपुर के एसपी डॉ. ओपी सिंह ने बताया कि बीमारी के कारण मुख्तार अंसारी को पंजाब के रोपड़ जेल से गाजीपुर पुलिस को नहीं सौंपा गया है। इस कारण पुलिस टीम लौट आई। वस्तुस्थिति से  न्यायालय को अवगत कराया जाएगा।
... और पढ़ें

उत्कृष्ट कोच और मां वैष्णो देवी के  जयकारे के साथ रवाना हुई बेगमपुरा एक्सप्रेस रवाना

त्योहार पूजा स्पेशल ट्रेनों का संचालन मंगलवार से शुरू हो गया। 7 माह के बाद वाराणसी से जम्मू के बीच बेगमपुरा एक्सप्रेस का संचालन शुरू हुआ। ट्रेन की सभी 22 कोच को रेलवे ने उत्कृष्ट रंग रूप दिया। कोच के अंदर सोशल डिस्टेंसिग के लिए खास इंतजाम किए गए हैं।

वातानुकूलित कोच में यात्री रेड कार्पेट से होकर अपनी सीट पर पहुंचे। कोच में वाल पर झलक रही बनारस की संस्कृति ने यात्रियों को काफी आकर्षित किया। एडीआरएम रवि चतुर्वेदी समेत रेलवे अधिकारियों ने बेगमपुरा एक्सप्रेस को रवाना किया।

कैंट रेलवे स्टेशन से अपने निर्धारित समय दोपहर 12.40 बजे 02237 बेगमपुरा एक्सप्रेस जम्मूतवी के लिए रवाना हुई। ट्रेन में सवार होते ही यात्रियों ने जय माता दी का उद्घोष करके सफर शुरू किया। इस दौरान एडीआरएम रवि प्रकाश चतुर्वेदी ने बताया कि त्योहार स्पेशल बेगमपुरा एक्सप्रेस के सभी 22 कोच को उत्कृष्ट कोच बनाया गया है।

कोरोना संक्रमण के प्रति यात्रियों को जागरूक करने के इरादे से कोच के अंदर फर्श पर पीली पट्टी खींची गई है। यात्रियों के इन्ही पट्टी के अंदर रहना होगा। इसके अलावा स्लीपर व वातानुकूलित कोच के टॉयलेट में भी कई बदलाव हुए हैं। इस कोच का नाम ही उत्कृष्ट रखा गया है।

31 तक 180 से अधिक सीटें खाली
बेगमपुरा एक्सप्रेस कैंट रेलवे स्टेशन से रोजाना चलेगी। लखनऊ के रास्ते जाने वाली ट्रेन के सभी श्रेणी के कोच में 180 से अधिक सीटें 31 अक्तूबर तक खाली हैं।
... और पढ़ें
Election
  • Downloads

Follow Us

X

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00
X