विज्ञापन
विज्ञापन
शरद पूर्णिमा पर जरूर रखें इन बातों का ख़ास ख्याल, जानें क्या करें और क्या नहीं ?
astrology

शरद पूर्णिमा पर जरूर रखें इन बातों का ख़ास ख्याल, जानें क्या करें और क्या नहीं ?

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

From nearby cities

विज्ञापन
Digital Edition

कातिल पत्नी का खुला खौफनाक राज... प्रेमी संग दिया था वारदात को अंजाम, ऐसे रची थी साजिश

एक्सक्लूसिव: अपराधियों में नहीं रहा हाफ एनकाउंटर का भी खौफ... ऐसा है पश्चिमी यूपी का हाल

ताबड़तोड़ एनकाउंटर करने वाली यूपी की पुलिस का खौफ बदमाशों में नहीं रह गया है। मेरठ जोन के जिलों मेरठ, मुजफ्फरनगर, बागपत, शामली व सहारनपुर में मुठभेड़ का डर नहीं होने से अपराधी बेलगाम हो गए हैं। नतीजा है कि हत्या, लूट डकैती व अपहरण की वारदात बढ़ गई हैं।

मार्च, 2017 में योगी सरकार बनने के बाद बदमाशों के एनकाउंटर का सिलसिला हर जनपद में शुरू हुआ था। मेरठ जोन के आठ जनपदों में इस दौरान 75 बदमाश मुठभेड़ में मारे गए थे, जबकि 1720 बदमाशों के पैर में गोली लगी थी। इससे अपराधों में कमी आ गई थी। अब पुलिस मुठभेड़ के दौरान सिर्फ बदमाशों के पैर में ही गोली मार रही है। 

पश्चिमी यूपी के जिलों में मुठभेड़ में बदमाशों को गोली मारने के लिए पुलिस ने हाफ और फुल एनकाउंटर के नाम रख दिए हैं। अपराधियों को पकड़ने के बाद पुलिस एनकाउंटर हाफ या फुल करना तय कर लेती है। 

मुठभेड़ का मजाक समझ गए अपराधी
पुलिस तो मुठभेड़ में बदमाशों के पैर में सिर्फ गोली छुआ रही है। यह बात तो डॉक्टर भी कहते हैं और अपराधी भी समझ गए हैं। मुठभेड़ में चालाकी से पैर में गोली मारने वाली पुलिस से बदमाश नहीं डरते हैं। खासतौर पर बागपत जिले में तो अपराधी हर दिन किसी न किसी वारदात को अंजाम दे रहे हैं। कब और किसकी जान चली जाए, वहां कोई नहीं जानता। 

24 घंटे भी अस्पताल में नहीं रुकते अपराधी
जिला अस्पताल और मेडिकल के डॉक्टर कहते हैं कि मुठभेड़ में बदमाशों की न कोई हड्डी टूटती है और न ही शरीर का कोई अन्य हिस्सा खराब होता है। गोली खानापूर्ति के लिए लगती है। इसके चलते 24 घंटे भी अपराधी अस्पताल में नहीं रुकते। चार-पांच घंटे बाद अस्पताल से उनकी छुट्टी कर दी जाती है और वह फिर जेल चले जाते हैं। यह रिकॉर्ड जिला अस्पताल और मेडिकल में भी दर्ज है।

यह भी पढ़ें: 
देवबंदी उलमा हुए नाराज, बोले- दाढ़ी कटवाने से अच्छा नौकरी छोड़ देते दरोगा इंतसार अली
... और पढ़ें

व्यापारी अपहरण मामले में बड़ा खुलासा, रिश्ते के दामाद ने रची थी खतरनाक साजिश, Video

शादी का झांसा देकर युवती से होटल में दुष्कर्म, शोर मचाने पर भीड़ ने आरोपी को दबोचा

उत्तर प्रदेश के मेरठ जनपद में किठौर की युवती से एक युवक ने लालकुर्ती स्थित एक होटल में दुष्कर्म की वारदात की। आरोपी युवती को सोहराब डिपो के सामने छोड़कर भाग रहा था। युवती के शोर मचाने पर भीड़ ने उसे पकड़कर पुलिस को सौंप दिया।

पुलिस के अनुसार आरोपी गुलफाम युवती को दो दिन पहले लाया था। शादी करने का झांसा देकर उसके साथ दुष्कर्म किया था। एसपी सिटी ने बताया कि युवती के अपहरण का केस किठौर थाने में दर्ज था। गुलफाम पर दुष्कर्म का केस दर्ज कर लिया है। पीड़िता को उसके परिजनों की सुपुर्दगी में दे दिया है। युवती के कोर्ट में बयान कराए जाएंगे।

यह भी पढ़ें: 
मन्नू कबाड़ी के घर दबिश... अंदर का नजारा देख पुलिस अफसर भी हैरान, देखिए तस्वीरें

वहीं इससे पहले परतापुर थाना क्षेत्र के गांव में सोमवार को एक युवक ने 10 साल की बच्ची से दुष्कर्म की वारदात कर दी थी। बच्ची की चीख पुकार सुनकर पड़ोसी मौके पर पहुंचे थे। लेकिन आरोपी युवक बच्ची को छोड़कर फरार हो गया था।

पुलिस के अनुसार एक व्यक्ति अपनी 10 वर्षीय बच्ची को लेकर सोमवार रात परतापुर थाने पहुंचा। आरोप लगाया कि 20 अक्तूबर की देर शाम उसकी बच्ची घर के बाहर खेल रही थी। उसका पड़ोसी युवक भूरा बच्ची को बहाने से अपने घर में ले गया और दुष्कर्म किया।

नोट- इन खबरों के बारे आपकी क्या राय हैं। हमें फेसबुक पर कमेंट बॉक्स में लिखकर बताएं।

शहर से लेकर देश तक की ताजा खबरें व वीडियो देखने लिए हमारे इस फेसबुक पेज को लाइक करें


https://www.facebook.com/AuNewsMeerut/
... और पढ़ें
प्रतीकात्मक तस्वीर प्रतीकात्मक तस्वीर

सहारनपुर: हाईटेंशन लाइन की चपेट में आकर युवक की मौत, बालिका झुलसी, ग्रामीणों ने गड्ढे में दबाई

उत्तर प्रदेश के सहारनपुर में विद्युत निगम की लापरवाही ने गांव हैदरपुर उर्फ हिंदूवाला में युवक की जान ले ली। युवक अपनी भतीजी के साथ पशुओं को चारा खिलाने जंगल में गया था। वहां काफी नीचे तक झूल रही हाईटेंशन विद्युत लाइन से युवक का शरीर छू गया। जिससे उसके शरीर में आग लग गई और युवक का शरीर कोयला बन गया। वहीं, युवक की भतीजी भी झुलस गई, जिसे अंधविश्वास के चलते लोगों ने गड्ढा खोदकर मिट्टी में दबा दिया। बाद में पुलिस ने लड़की को अस्पताल भिजवाया। 

कोतवाली मिर्जापुर के गांव हैदरपुर उर्फ हिंदूवाला निवासी रामपाल उर्फ नीटू (30) पुत्र महेंद्र मंगलवार को अपनी 10 वर्षीय भतीजी प्रियांशी के साथ पशुओं को चारा खिलाने जंगल गया था। दोपहर करीब एक बजे वह विद्युत लाइन से टकरा गया, जो काफी नीचे झूल रही थी। इससे उसके शरीर में आग लग गई और काफी देर तक जलने के बाद उसकी मौके पर ही मौत हो गई। प्रियांशी भी बुरी तरह से झुलस गई।
... और पढ़ें

संभल में तैनात सिपाही ने गोली मारकर की आत्महत्या, ग्रामीणों को नहीं हो रहा विश्वास, परिजनों में मचा कोहराम

मौके पर मौजूद ग्रामीण
जनपद संभल के थाना हयातनुगर पुलिस चौकी में तैनात बिजनौर जनपद के चांदपुर थानाक्षेत्र के गांव खेड़की निवासी सिपाही अंकित की मौत का गांववासियों को यकीन नहीं हुआ। अंकित की मौत की खबर से परिजनों में कोहराम मचा हुआ है। परिजन मौत की खबर सुनकर हयातनगर के लिए रवाना हो गए हैं।

गांव खेड़की निवासी राजवर्धन सिंह का 25 वर्षीय इकलौता पुत्र अंकित यादव जनपद संभल की हयातनगर पुलिस में तैनात था। मंगलवार की दोपहर पजिनों को सूचना मिली कि अंकित ने अपनी पिस्टल से गोली मारकर आत्महत्या कर ली है। आत्महत्या की खबर से परिजनों में कोहराम मच गया।

परिजन व गांववासी खबर सुनकर हयातनगर के लिए रवाना हो गए। अंकित का व्यवहार इतना मधुर व मिलनसार था कि गांववासियों की उसकी मौत का यकीन नहीं हुआ। अंकित की अभी शादी नहीं हुई थी। उसकी एक बड़ी बहन है जिसकी शादी हो गई है। अंकित की मौत की खबर से गांववासियों व मिलने वालों का घर पर तांता लगा हुआ है।
आत्महत्या करने वाले सिपाही अंकित यादव का फाइल फोटो।
आत्महत्या करने वाले सिपाही अंकित यादव का फाइल फोटो।- फोटो : BIJNOR
 
... और पढ़ें

मुजफ्फरनगर: उपभोक्ताओं का करोड़ो डकार गया बिजली विभाग, बिल ठीक करने के नाम पर धोखा

उत्तर प्रदेश के मुजफ्फरनगर में बिजली के बढ़े बिल ठीक करने के नाम पर विद्युत निगम के अधिकारी और कर्मचारी उपभोक्ताओं के साथ खेल कर दिया। आरोप है कि विद्युत निगम के कर्मचारी उपभोक्ताओं का लाखों रुपये डकार गए। उपभोक्ताओं के सामने मामला तब आया, जब बिल जमा करने के बाद भी बकाया उनके नए बिल में जुड़ कर आ गए। उपभोक्ताओं ने इसकी शिकायत मुख्यमंत्री और ऊर्जा मंत्री से की है।

विद्युत निगम में अधिकारियों और कर्मचारियों की मिलीभगत से उपभोक्ताओं के साथ खेल कर दिया गया। सैकड़ों ऐसे मामले सामने आए हैं, जिनमें बिजली का बिल ठीक करने के बहाने जमा की गई सारी राशि डकार ली गई। उपभोक्ताओं को जो रसीद दी गई वह फर्जी निकली। रसीद का प्रारूप असली के जैसा ही है। उसी कंप्यूटर से निकाल कर दी गई, जिससे असली रसीद निकलती है।

साउथ अंबा विहार की दृक्षा ने एक उपभोक्ताओं की सूची और फर्जी बिल संलग्न कर मुख्यमंत्री और ऊर्जा मंत्री से शिकायत की है। दृक्षा ने शिकायत में कहा है कि अधिशासी अभियंता नगर पंकज कुमार की आईडी पंकज के-9 के आधार पर ही घालमेल किया है।
... और पढ़ें

देवबंद: ग्राम प्रधान समेत चार के खिलाफ मामला दर्ज, बारात घर में नाम पट्टिका लगाने को लेकर हुआ था विवाद

देवबंद क्षेत्र के जटौल गांव में नाम पट्टिका लगाने को लेकर दो पक्षों में हुए विवाद में पुलिस ने ग्राम प्रधान समेत चार लोगों के खिलाफ विभिन्न धाराओं में मामला दर्ज कर जांच शुरू कर दी। 

सोमवार को जटौल में अंबेडकर बारातघर में प्रधान खिला सिंह द्वारा बाबा साहब और संत रविदास के नाम के बीच नाम पट्टिका लगाने को लेकर भतीजे कवींद्र और दूसरे पक्ष के सोनू में कहासुनी हो गई थी। इस दौरान एक पक्ष ने प्रधान के नाम की पट्टिका हटाकर उसे तोड़ दिया था। इससे दोनों पक्षों में मारपीट और पथराव हुआ।

इनमें दोनों पक्षों के पांच लोग घायल हो गए थे। मंगलवार को पुलिस ने अनुसूचित जाति के भूरा की तहरीर पर ग्राम प्रधान खिला सिंह, कवींद्र, गौरव और सौरभ के खिलाफ मामला दर्ज कर  गांव में पुलिस बल तैनात किया।
 
वहीं, अनुसूचित जाति के लोगों का आरोप था कि ग्राम प्रधान दूसरे प्रदेश के जनप्रतिनिधि के नाम से अंबेडकर बारात घर में नाम पट्टिका लगाने का प्रयास कर रहे हैं, जो कानून के विरुद्ध है। ग्राम प्रधान ने आरोपों को निराधार बताया। राजनीति के तहत उनके खिलाफ मामला दर्ज किया। कोतवाल ने बताया मेडिकल रिपोर्ट के आधार पर ग्राम प्रधान समेत चार लोगों के खिलाफ मामला दर्ज किया है।

नोट- इन खबरों के बारे आपकी क्या राय हैं। हमें फेसबुक पर कमेंट बॉक्स में लिखकर बताएं।

शहर से लेकर देश तक की ताजा खबरें व वीडियो देखने लिए हमारे इस फेसबुक पेज को लाइक करें

https://www.facebook.com/AuNewsMeerut/
... और पढ़ें

हाल-ए-आयुर्वेदिक चिकित्सा: यूपी के इस जिले में चार चिकित्सकों के भरोसे सात डिस्पेंसरी

कोरोना काल में लोगों का झुकाव आयुर्वेद की ओर बढ़ा है, लेकिन सुविधाएं नहीं बढ़ सकीं। उत्तर  प्रदेश के शामली जनपद में जिला आयुर्वेदिक अधिकारी की तैनाती नहीं होने के कारण मुजफ्फरनगर से ही जिम्मेदारी संभाल रहे हैं। आयुर्वेदिक चिकित्सकों और फार्मासिस्ट की कमी के कारण मरीजों को लाभ नहीं मिल रहा है।

सात डिस्पेंसरी पर चार चिकित्सकों की तैनाती है। फार्मासिस्ट के सभी पद खाली हैं। इस वजह से मुजफ्फरनगर में तैनात दो फार्मासिस्ट संबद्ध किए गए हैं। चिकित्सकों की कमी के कारण वार्ड ब्वाय ही मरीजों का उपचार कर दवा देते हैं। पेश है अमर उजाला टीम की जिले की आयुर्वेदिक डिस्पेंसरी पर लाइव रिपोर्ट:-

भैंसवाल की डिस्पेंसरी सिलावर में हुई शिफ्ट
समय दोपहर एक बजे :
सिलावर आयुर्वेदिक डिस्पेंसरी में डॉ. सुरेंद्र कुमार मरीजों का उपचार करते हुए मिले। उन्होंने बताया कि डिस्पेंसरी पर 21 नए और 19 पुराने मरीज आए हैं। सभी की जांच कर दवा दी गई। यह डिस्पेंसरी भैंसवाल गांव के नाम से है। भैंसवाल में भवन जर्जर होने के कारण एक साल पहले यह सिलावर पीएचसी पर शिफ्ट की गई है।
... और पढ़ें

सुशील मूंछ के जमानतियों की कुंडली खंगालने में जुटी पुलिस, गाड़ी खरीदने वाले को दबोचा

पश्चिमी यूपी के माफिया सरगना सुशील मूंछ के कानपुर जेल से जमानत पर छूटने के बाद जनपद पुलिस भी उसके जमानतियों की कुंडली खंगालने में जुट गई है। वहीं, मूंछ पर शिकंजा कसने के लिए उसकी संपत्ति की जांच में भी तेजी लाई जा रही है।

15 अक्तूबर को सुशील मूंछ मेरठ के एक मामले में जमानत पर छूटकर जेल से बाहर आ गया, जिसकी भनक तक पुलिस-प्रशासन को नहीं लग पाई। करीब एक सप्ताह बाद पुलिस को मूंछ के जेल से बाहर आने की जानकारी मिली तो हड़कंप मच गया।

माफिया सरगना सुशील मूंछ की सभी संपत्तियों की जांच में भी तेजी लाई जा रही है। सुशील मूंछ के बेटे अक्षयजीत उर्फ मोनी को जनपद पुलिस कुछ दिन पहले ही जिलाबदर कर चुकी है, जिसके संपर्क में आने वाले लोगों की भी जांच की जा रही है।
... और पढ़ें
Election
  • Downloads

Follow Us

X

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00
X