विज्ञापन
विज्ञापन
बनवाएं फ्री जन्मकुंडली और जानें , कही आपकी कुंडली में कोई दोष तो नहीं ?
astrology

बनवाएं फ्री जन्मकुंडली और जानें , कही आपकी कुंडली में कोई दोष तो नहीं ?

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

From nearby cities

विज्ञापन
Digital Edition

त्योहारों पर रेल यात्रा का संकट, निरस्त हुई 12 से अधिक ट्रेनें, इन रूटों पर प्रभावित होगा संचालन

पंजाब में किसान आंदोलन के कारण कई स्पेशल ट्रेनों का संचालन चार नवंबर तक स्थगित कर दिया गया है। इनके अलावा पूर्व में ट्रेनें अंबाला तक चल रही थीं। वे पूर्व की तरह चलती रहेंगी। इसके चलते त्योहारी सीजन में यात्रियों के लिए परेशानी और बढ़ गई है। इन ट्रेनों में माता वैष्णो देवी के अलावा अन्य मुख्य स्टेशनों को जाने वाली गाड़ियां भी शामिल हैं।

रेलवे स्टेशन अधीक्षक कपिल शर्मा के अनुसार 02231 लखनऊ चंडीगढ़ एक्सप्रेस, 02232 चंडीगढ़ लखनऊ एक्सप्रेस,- 04888 ऋषिकेश बाडमेर एक्सप्रेस, 04519 दिल्ली भटिंडा एक्सप्रेस, 04520 भटिंडा दिल्ली एक्सप्रेस, 04612 माता वैष्णो देवी कटरा एक्सप्रेस, 04924 चंडीगढ़ गोरखपुर एक्सप्रेस, 04923 गोरखपुर चंडीगढ़ एक्सप्रेस, 02331 हावड़ा जम्मूतवी एक्सप्रेस, 02332 जम्मूतवी हावड़ा एक्सप्रेस सहित अन्य कई ट्रेनों के संचालन पर यह असर पड़ा है।

यह भी पढ़ें: 
निलंबित एसआई इंतसार अली के समर्थन में उतरे जमीयत उलमा के पदाधिकारी, दाढ़ी रखने पर हुई थी ये कार्रवाई

रेलवे की ओर से कुछ दिन पहले ही त्योहारी सीजन में यात्रियों को राहत दिलाने के लिए इन ट्रेनों का संचालन शुरू किया गया था। लेकिन पंजाब में किसान आंदोलन के कारण ट्रेनों का आवागमन बाधित हो गया है। जन शताब्दी सहित अन्य ट्रेनें पहले से ही प्रभावित चल रही हैं जबकि कुछ ट्रेनों को अंबाला तक ही चलाया जा रहा है।

नोट- इन खबरों के बारे आपकी क्या राय हैं। हमें फेसबुक पर कमेंट बॉक्स में लिखकर बताएं।

शहर से लेकर देश तक की ताजा खबरें व वीडियो देखने लिए हमारे इस फेसबुक पेज को लाइक करें


https://www.facebook.com/AuNewsMeerut/
... और पढ़ें

सहारनपुर: पेड़ पर लटका मिला लापता युवक का शव, जांच में जुटी पुलिस

सहारनपुर में रामपुर मनिहारान क्षेत्र के गांव घाटहेड़ा निवासी व्यापारी आदेश धीमान (33 वर्षीय) का शव बाग में पेड़ से लटका मिला। व्यापारी की दोनों टांगे जमीन पर मुड़ी हुई थीं, लेकिन उनके एक पैर में जूता नहीं था। व्यापारी के गले में उनकी पेंट और शर्ट से बना फंदा डाला हुआ था। पुलिस इस घटना को आत्महत्या मान रही है, लेकिन व्यापारी के परिजनों ने हत्या की आशंका जताई है। 

आदेश धीमान प्लास्टिक का दाना बनाकर सप्लाई करते थे। उन्होंने भगवानपुर (रुड़की) में प्लास्टिक दाना बनाने की यूनिट लगा रखी थी। शुक्रवार को शाम करीब सात बजे उन्होंने अपनी मां को कॉल करके बताया कि नानौता जा रहा हूं, इसके बाद गांव में आएंगे। देर रात तक आदेश घर नहीं लौटे तो परिजनों ने उनके नंबर पर कॉल की, लेकिन कॉल रिसीव नहीं हुई। इसके बाद परिजनों को चिंता हुई और रात में ही उनको तलाशना शुरू कर दिया, मगर आदेश का कुछ पता नहीं चला। 

वहीं, शनिवार सुबह गांव नवादा के जंगल में ग्रामीणों ने बाग में पेड़ से शव देखा। मौके पर पहुंची पुलिस ने शव को नीचे उतरवाया। पेड़ पर लटके शव की पहचान घाटहेड़ा निवासी आदेश के रूप में हुई। इसके बाद उनके परिजनों को सूचना दी गई। 

घटनास्थल के पास ही आदेश की बाइक पड़ी मिली और उनके बैग के कागज भी वही बिखरे पड़े मिले। आदेश के भाई सुनील ने रामपुर मनिहारान थाना पुलिस को तहरीर देकर कार्रवाई की मांग की। बाद में पोस्टमार्टम होने पर आदेश का शव घर पहुंचा तो परिवार में कोहराम मच गया। आदेश के परिवार में उसकी पत्नी और दो साल की बेटी है। उनका एक भाई बैंक में नौकरी करता है। 

यह भी पढ़ें: 
निलंबित दरोगा इंतसार अली ने आखिर कटवाई दाढ़ी, एसपी ने किया बहाल, ये था पूरा मामला
... और पढ़ें

कोरोना का असर, इस बार पंजाब-उत्तराखंड में नहीं जलेंगे चरथावल के 'रावण', मुस्लिम परिवार में मायूसी

अमर उजाला एक्सक्लूसिवः मिलों में 7996 मृत किसानों का गन्ना डाल रहा माफिया 

गन्ना विभाग माफिया से पार नहीं पा सका है। पिछले साल 7186 मृत किसानों के बांड निरस्त करने वाले गन्ना विभाग को इस बार मंडल के पांच जिलों में कराए गए सर्वे में 7996 मृत किसानों के नाम पर बांड चलते मिले। गन्ना माफिया और रसूखदार किसान समिति एवं मिल कर्मियों की मिलीभगत से बांड में अभी भी खेल कर रहे हैं। 

माफिया ने किसान के नाम के आगे कुमार एवं सिंह आदि लगाकर डबल बांड बनवाए हैं। इससे किसान की कम रकबे में दोगुनी पर्ची हो जाती हैं। इससे वह समय से पहले गन्ना मिल में डाल देता है। उप गन्ना आयुक्त राजेश मिश्र के अनुसार मंडल में 947 किसानों के बांड डबल मिले हैं। इसी तरह राजस्व विभाग से खसरा-खतौनी की जांच कराने के बाद 1800 किसानों के पास वास्तविक के मुकाबले तीन हजार हेक्टेयर से ज्यादा रकबा दर्ज मिला है। 

गन्ना विभाग द्वारा संचालित गन्ना विकास समितियां, शुगर मिल और किसानों के बीच सेतु का काम करती हैं। गन्ना एक्ट के मुताबिक किसान शुगर मिल को गन्ना समितियों के माध्यम से आपूर्ति करते हैं। इसके लिए किसानों को निर्धारित फीस देकर गन्ना विकास समिति का सदस्य बनना पड़ता है। समिति अपने सदस्यों को गन्ना आपूर्ति करने के लिए बांड (अनुबंध पत्र) जारी करती हैं। इसके आधार पर किसान मिल को गन्ना आपूर्ति करते हैं। 
 
बागपत में डबल बांड के सबसे ज्यादा मामले
जिला              भूमिहीन        फर्जी किसान            मृत किसान              डबल बांड
मेरठ                 54                  01                       1389                 87
बागपत             426                 27                        3220                609
गाजियाबाद         08                   00                         44                    06
हापुड़               135                 00                        1918                 83
बुलंदशहर          84                   00                         1425                162 
कुल                     707                 28                        7996                   947

रिकॉर्ड कर रहे दुरुस्त
किसानों के भू-अभिलेखों की राजस्व विभाग से जांच में वास्तविक के मुकाबले तीन हजार हेक्टेयर से ज्यादा रकबा मिला। 7996 मृत किसानों के बांड चलते मिले। रिकॉर्ड को दुरुस्त करा दिया है। 
- राजेश मिश्र, उप गन्ना आयुक्त, मेरठ मंडल
... और पढ़ें
गन्ने के खेत गन्ने के खेत

मेरठ-हापुड़ लोकसभा सीट से बीजेपी सांसद राजेंद्र अग्रवाल कोरोना पाॅजिटिव, दिल्ली एम्स में भर्ती

मेरठ-हापुड़ लोकसभा सीट के भारतीय जनता पार्टी के सांसद राजेंद्र अग्रवाल की कोरोना रिपोर्ट पॉजिटिव आई है। सीएमओ ने की पुष्टि करते हुए बताया कि सांसद पिछले दो दिन से दिल्ली के एम्स अस्पताल में भर्ती हैं। उन्होंने बताया कि सांसद राजेंद्र अग्रवाल ने वहीं पर अपना कोरोना टेस्ट कराया था जिसमें वह पाॅजिटिव पाए गए। बतां दें कि इससे पहले किठौर विधायक सत्यवीर त्यागी भी कोरोना संक्रमित निकल चुके थे। 

दो दिन से ज़ुकाम की शिकायत थी, और कोई लक्षण नहीं
सांसद राजेंद्र अग्रवाल ने बताया कि अब वह स्वस्थ हैं। एसिंप्टोमेटिक हैं यानी कोरोना के लक्षण नहीं हैं। जल्द ही वह कोरोना को हरा देंगे। साथ ही उन्होंने अपील भी की है कि बीते दिनों जो लोग उनके संपर्क में रहे हैं, उन्हें भी एहतियात बरतते हुए अपनी कोरोना जांच करा लेनी चाहिए।

उन्होंने बताया कि दो दिन से ज़ुकाम की शिकायत थी, फिजिशियन डॉ विश्वजीत बैंबी से परामर्श लिया था। शनिवार को दिल्ली आ गए थे। जांच कराई तो रविवार को कोरोना की रिपोर्ट पॉजिटिव आई है। 

दूसरी तरफ, रिपोर्ट कोरोना पाजिटिव आने के बाद उनके हाल जानने के लिए फोन घनघनाने लगे। सीएमओ डॉ. राजकुमार ने बताया कि सांसद के कोरोना पॉजिटिव आने से अब उन लोगों को भी अपनी जांच करानी होगी, जो बीतेे दिनों उनके संपर्क में थे। उनके संपर्कवालों की सूची बनवाई जा रही है। इससे पहले मेरठ में किठौर विधायक सत्यवीर त्यागी समेत कई भाजपा नेता कोरोना पाजिटिव आ चुके हैं।

नोट- इन खबरों के बारे आपकी क्या राय हैं। हमें फेसबुक पर कमेंट बॉक्स में लिखकर बताएं।

शहर से लेकर देश तक की ताजा खबरें व वीडियो देखने लिए हमारे इस फेसबुक पेज को लाइक करें

https://www.facebook.com/AuNewsMeerut/
... और पढ़ें

Exclusive: ऑनलाइन पढ़ाई ने लिखने की गति घटाई, बोर्ड परीक्षाओं में टाइम मैनेजमेंट को लेकर बढ़ी शिक्षकों की चिंता

कोरोना महामारी के कारण बंद हुए स्कूल और ऑनलाइन पढ़ाई के कारण छात्रों की लिखने की गति भी मंद हो गई है। आम दिनों में जो छात्र एक मिनट में दो से तीन लाइनें लिख लेते थे, वे अब प्रति मिनट में एक से डेढ़ लाइन ही लिख पा रहे हैं।

दरअसल, ऑनलाइन कक्षाओं में छात्रों को लिखने का काम अधिक नहीं दिया गया और ऐसे में उनकी राइटिंग स्पीड कम हो रही है। अनलॉक के बाद स्कूल खुलने पर इसका खुलासा हुआ। अब विद्यार्थी और शिक्षक दोनों परेशान हैं कि बोर्ड परीक्षाओं में छात्र टाइम मैनेजमेंट करते हुए उत्तर कैसे लिखेंगे।

अनलॉक के बाद स्कूल खुलने पर लगभग सभी विद्यालयों ने ऑनलाइन-ऑफलाइन क्लास को जोड़ दिया गया। जब छात्र स्कूल पहुंचे और कक्षा अटैंड करते समय जब कॉपी पर उन्होंने लिखना शुरू किया तो वो लिख ही नहीं पाए। अंगुलियों हाथों में दर्द, ठीक से कलम न चला पाना, लिखने की गति कम होने की समस्या हुई। 
... और पढ़ें

मेरी किडनी ले लो, लेकिन मेरे दोस्त का शव दे दो...., साथी दरोगा की मौत पर अस्पताल में बिल को लेकर हंगामा

मेरठ के न्यूटीमा अस्पताल में शनिवार को एक दरोगा की मौत के बाद बिल के भुगतान को लेकर हंगामा हो गया। मेडिकल थाने की पुलिस को बुलाना पड़ा। बाद में शव पुलिस के सुपुर्द कर दिया गया।

दरोगा के परिजनों का आरोप था कि अस्पताल प्रबंधन बिल को लेकर शव देने से इनकार कर रहा था। एक साथी दरोगा ने तो यहां तक कहा कि मेरी किडनी ले लो, लेकिन मेरे दोस्त का शव दे दो। वहीं, अस्पताल के डॉ. संदीप गर्ग ने बताया कि करीब 60 हजार का बिल बकाया था, जो परिजन नहीं दे रहे थे। शव को नहीं रोका गया। पुलिस के सुपुर्द कर दिया गया था। हंगामे पर  उन्होंने मेडिकल पुलिस बुलाई थी। बिल अभी भी नहीं दिया है।

उन्होंने बताया कि संभल जिले के 30 वर्षीय निक्की का अस्पताल में इलाज चल रहा था। शनिवार को उनकी मौत हो गई। एसपी सिटी डॉ. एएन सिंह का कहना है कि दरोगा की मौत के बाद भी हॉस्पिटल का इस तरह का बर्ताव बर्दाश्त से बाहर है। इस मामले की गंभीरता से जांच होगी और कार्रवाई भी होगी। हॉस्पिटल के मैनेजर से सीसीटीवी कैमरे की फुटेज मांगी गई है। पुलिस सभी बिंदुओं पर जांच कर रही है।

नोट- इन खबरों के बारे आपकी क्या राय हैं। हमें फेसबुक पर कमेंट बॉक्स में लिखकर बताएं।

शहर से लेकर देश तक की ताजा खबरें व वीडियो देखने लिए हमारे इस फेसबुक पेज को लाइक करें

https://www.facebook.com/AuNewsMeerut/ ... और पढ़ें

सीसीएसयू कैंपस और कॉलेजों में दूसरी मेरिट से एडमिशन की अंतिम तिथि कल

meerut police
सीसीएसयू कैंपस और कॉलेजों में दूसरी मेरिट से एडमिशन की सोमवार को अंतिम तिथि है। इसके बाद विवि तीसरी मेरिट जारी करेगा। अभी तक 1 लाख 30 हजार रजिस्ट्रेशन में से सिर्फ 59894 एडमिशन हुए हैं। 
सीसीएसयू कैंपस और कॉलेजों में स्नातक के 40 कोर्सों में एडमिशन चल रहे हैं। विवि दो मेरिट जारी कर चुका है। दूसरी मेरिट से एडमिशन लेने की अंतिम तिथि 26 अक्तूबर रखी गई है। ऐसे में जिन छात्र-छात्राओं को दूसरी मेरिट में वरीयता के पहले कॉलेज मिल गए हैं, वे अगर एडमिशन नहीं लेंगे तो फिर दोबारा मौका नहीं मिलेगा।

सरकारी कॉलेजों में अब ज्यादा सीटें नहीं बची हैं। इसके चलते कई कॉलेजों में अब भी 70 फीसदी वाले छात्र-छात्राओं के नंबर नहीं आए हैं। सीसीएसयू कैंपस के विधि अध्ययन संस्थान में बीए-एलएलबी की मेरिट भी अभी 75 से ऊपर ही है। सोमवार तक कॉलेजों में कितने एडमिशन होंगे, इससे अगली मेरिट तय होगी। अभी तक दूसरी मेरिट में बहुत धीमी गति से एडमिशन हुए हैं। ब्यूरो

 
... और पढ़ें

यूपी: मुजफ्फरनगर के खतौली में युवती से छेड़छाड़, पांच के खिलाफ मुकदमा दर्ज

उत्तर प्रदेश के मुजफ्फरनगर में खतौली के एक गांव में युवती के साथ छेड़छाड़ मामले में पांच आरोपियों के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज कर ली गई है। पुलिस ने आरोपियों की तलाश में दबिश दी, लेकिन कोई हत्थे नहीं चढ़ा। वहीं, कुछ लोग पीड़ित पक्ष पर फैसले का भी बना रहे हैं।

कोतवाली क्षेत्र के गांव निवासी महिला ने तहरीर देकर बताया कि शुक्रवार को उसकी बेटी के साथ गांव के ही कुछ ने छेड़छाड़ करते हुए छींटाकशी व फब्तियां कसीं थीं। विरोध करने पर आरोपियों ने घर में घुसकर परिजनों से मारपीट करते हुए पथराव भी कर दिया था।

इस मामले को गंभीरता से लेते हुए सीओ आशीष प्रताप सिंह ने पुलिस को आरोपियों के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज करने के निर्देश दिए थे, जिसके बाद पुलिस ने महिला की तहरीर पर अनुज, शुभम, राहुल, सौरभ और जुगनू के खिलाफ छेड़छाड़ के आरोप में रिपोर्ट दर्ज कर उनकी तलाश में दबिश दी, लेकिन कोई हत्थे नहीं चढ़ा।

वहीं,  पीड़ित पक्ष का आरोप है कि आरोपियों के पक्ष में कुछ लोग उन पर फैसले का भी दबाव बना रहे हैं। पीड़ितों ने आरोपियों को गिरफ्तार कर जेल भेजने की मांग की है।

नोट- इन खबरों के बारे आपकी क्या राय हैं। हमें फेसबुक पर कमेंट बॉक्स में लिखकर बताएं।

शहर से लेकर देश तक की ताजा खबरें व वीडियो देखने लिए हमारे इस फेसबुक पेज को लाइक करें

https://www.facebook.com/AuNewsMeerut/ ... और पढ़ें

निलंबित दरोगा इंतसार अली ने आखिर कटवाई दाढ़ी, एसपी ने किया बहाल, ये था पूरा मामला

बागपत: उधम सिंह के रिश्तेदार शूटर कमल पंवार ने की थी सीमेंट व्यापारी की हत्या, गिरफ्तार

बड़ौत पुलिस ने कुख्यात बदमाश उधम सिंह के शूटर कमल पंवार को गिरफ्तार कर सीमेंट व्यापारी प्रदीप आत्रेय की लूट के बाद हत्या की घटना का खुलासा किया है। कमल का एक साथी बदमाश बंटी निवासी शामली अभी फरार है। पुलिस का दावा है कि दोनों बदमाश सीमेंट व्यापारी से रंगदारी मांगने पहुंचे थे। नकदी लूट कर भागते समय पीछा करने पर एक बदमाश ने उन्हें गोली मार दी थी। रंगदारी के लिए सरेशाम लूट और हत्या के खुलासे से बड़ौत के व्यापारियों में खौफ हो गया है।

गिरफ्तार कमल गांव शबगा का रहने वाला है। उसे पुलिस ने शबगा-जागोस मार्ग से गिरफ्तार किया है। एसपी अभिषेक सिंह ने शनिवार को इस खुलासे की जानकारी देते हुए बताया कि कमल कुख्यात अपराधी उधम सिंह करनावल (मेरठ) का रिश्ते का साला है और उसके लिए कई वर्षों से कार्य करता रहा है। उधम सिंह के कहने पर उसने कई लोगों की हत्या की हैं। अब वह उधम सिंह गैंग से अलग अपनी पहचान बनाने के लिए अपराध कर रहा है।

नौ अक्तूबर को वह शामली निवासी अपने साथी बंटी के साथ आत्रेय ट्रेडर्स पर पहुंचा। सीमेंट व्यापारी प्रदीप आत्रेय से रंगदारी मांगी और लूटपाट शुरू कर दी। व्यापारी ने विरोध किया और गोदाम में इनकी हाथापाई भी हुई। बदमाश भागने लगे तो व्यापारी ने इनकी पीछा किया।

भागते हुए कमल ने उन्हें गोली मार दी थी। बाद में व्यापारी ने उपचार के दौरान दम तोड़ दिया था। पुलिस ने गिरफ्तार बदमाश से एक तमंचा 315 बोर, खोखा, कारतूस और लूटी गई रकम 82 हजार रुपये में से 25 हजार रुपये बरामद किए हैं।
... और पढ़ें

मेरठ के आशुतोष भल्ला बने भारतीय एथलेटिक संघ के उपाध्यक्ष, कहा- सिंथेटिक रेस ट्रेक बनवाना लक्ष्य

जिला एथलेटिक संघ अध्यक्ष व यूपी एथलेटिक संघ के चेयरमैन मेरठ निवासी आशुतोष भल्ला को भारतीय एथलेटिक संघ ( एएफआई ) का उपाध्यक्ष नियुक्त किया गया है। भारतीय खेल पटल पर मेरठ के लिए ये बड़ी उपलब्धि है तो साथ ही एथलेटिक खेलों के सुधार के लिए चुनौतीपूर्ण भी है। 

इस बड़ी जिम्मेदारी मिलने के बाद आशुतोष भल्ला ने कहा उप्र  सहित देश के अन्य राज्यों में सिंथेटिक ट्रेक पर ही खिलाड़ी अभ्यास करें। जिसके लिए केंद्र व राज्य सरकारों से मिलकर लक्ष्य तय करेंगे। ताकि हमारे खिलाडी जमीन पर न दौड़कर राष्ट्रीय व अंतरराष्ट्रीय सुविधा के तहत सिंथेटिक ट्रेक पर अभ्यास करें। उप्र जैसे बड़े राज्य में वर्तमान में 4 सिंथेटिक ट्रेक हैं, जिसमें 3 लखनऊ और 1 सैफई में मौजूद है। जबकि सहारनपुर में 400 मीटर सिंथेटिक ट्रेक का निर्माण कार्य चल रहा है।

मंडल स्तर पर खिलाड़ियों को सिंथेटिक ट्रेक मिलना चाहिए, जिसके लिए कार्य करेंगे। जबकि अन्य प्रदेशों की हालत यहां से बेहतर है। खिलाड़ियों की ओवर एज और डोपिंग की समस्या पर गम्भीरता से कार्य करेंगे।
... और पढ़ें

पूर्व ओलंपियन हॉकी खिलाड़ी मोहिंदर पाल सिंह अस्पताल में भर्ती, जताई किडनी डोनर की जरूरत

हॉकी में ओलंपिक खेलों में देश का प्रतिनिधित्व कर चुके मेरठ कैंट निवासी 59 वर्षीय एमपी सिंह किडनी बीमारी से जूझ रहे हैं। ओलंपिक में स्वर्ण पदक, अर्जुन अवार्डी और वर्ल्डकप विजेता टीम के सदस्य रहे महान हॉकी खिलाड़ी जिंदगी की जंग लड़ रहे हैं। उनकी दोनों किडनी डेमेज हो चुकी हैं। दिल्ली अपोलो हॉस्पिटल में भर्ती एमपी सिंह को किडनी डोनर की आवश्यकता है।

उनके बेटे हरिमोहन सिंह ने बताया पिछले 5 साल से पिता किडनी की बीमारी से जूझ रहे हैं। लेकिन अब दोनों किडनी डेमेज हो चुकी हैं। ऐसे में किडनी डोनर वेटिंग में हैं। जबकि डॉक्टरों ने तुरंत किडनी ट्रांसप्लांट के लिए कहा है।

ऐसे में उन्होंने सोशल मीडिया और अन्य माध्यमों से किडनी डोनर के लिए मैसेज जारी किया है। जिसमें ब्लड ग्रुप एबी पॉजिटिव किडनी डोनर का जिक्र किया गया है। पूर्व हॉकी खिलाड़ी प्रवीण शर्मा ने एमपी सिंह के स्वास्थ को लेकर चिंता जाहिर की है। उन्होंने कहा एक महान हॉकी खिलाड़ी को आज किडनी की आवश्यकता है। आशा करते करते हैं जल्द ठीक होकर हमारे बीच में आएं।

नोट- इन खबरों के बारे आपकी क्या राय हैं। हमें फेसबुक पर कमेंट बॉक्स में लिखकर बताएं।

शहर से लेकर देश तक की ताजा खबरें व वीडियो देखने लिए हमारे इस फेसबुक पेज को लाइक करें

https://www.facebook.com/AuNewsMeerut/
... और पढ़ें
Election
  • Downloads

Follow Us

X

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00
X