विज्ञापन
विज्ञापन
घर बैठें बनवाएं फ्री जन्मकुंडली, जानें बनते काम बिगड़ने का कारण
Kundali

घर बैठें बनवाएं फ्री जन्मकुंडली, जानें बनते काम बिगड़ने का कारण

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
Digital Edition

टूंडला विधानसभा उपचुनावः मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की चुनावी सभा आज

टूंडला विधानसभा सीट के उपचुनाव के लिए मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ भाजपा उम्मीदवार के समर्थन में आज (गुरुवार) बीरी सिंह महाविद्यालय के मैदान पर चुनावी सभा को संबोधित करेंगे। उनके आगमन की तैयारियां जोरों से की जा रही हैं। मुख्यमंत्री शाम करीब सवा चार बजे सभास्थल पर आएंगे।

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के आगमन को लेकर प्रशासन पूरी तरह से अलर्ट है। सभी व्यवस्थाओं को पूरा किया गया है। नगर पालिका चेयरमैन रामबहादुर चक ने ईओ मुकेश कुमार के साथ पहुंचकर कर्मचारियों को आवश्यक दिशा-निर्देश दिए। पालिका कर्मियों से मैदान की साफ-सफाई के साथ ही समतलीकरण कराया गया जिससे सभा में आने वाले लोगों को परेशानी न हो। वहीं उपमुख्यमंत्री दिनेश शर्मा ने भी सभा स्थल का जायजा लिया।

मुख्यमंत्री की जनसभा को लेकर मैदान की पूरी तरह से साफ-सफाई कराने के साथ ही मैदान को जेसीबी की सहायता से समतल किया गया है। हेलीपैड पर उग आई घास को साफ किया गया।
मुकेश कुमार, ईओ, नगर पालिका टूंडला
... और पढ़ें
मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ

ज्ञानवापी प्रकरण में दाखिल निगरानी याचिका पर अदालत आज सुनाएगी आदेश

प्राचीन मूर्ति स्वयंभू ज्योतिर्लिंग भगवान विश्वेश्वरनाथ से संबंधित ज्ञानवापी प्रकरण में दाखिल निगरानी याचिका पर जिला जज यूसी शर्मा की अदालत गुरुवार को आदेश सुनाएगी।  मंगलवार को अदालत में भगवान विश्वेश्वरनाथ के वाद मित्र और अंजुमन इंतजामिया मसाजिद कमेटी व सेंट्रल सुन्नी वक्फ बोर्ड के अधिवक्ताओं ने दलीलें पेश की थीं।

सेंट्रल सुन्नी वक्फ बोर्ड की निगरानी याचिका विचारार्थ स्वीकार होने के मुद्दे पर सभी पक्षों की दलील सुनने के बाद जिला जज की अदालत ने आदेश सुरक्षित कर लिया था। अंजुमन इंतजामिया मसाजिद कमेटी और सेंट्रल सुन्नी वक्फ बोर्ड का कहना है कि ज्ञानवापी प्रकरण की सुनवाई का अधिकार अवर न्यायालय को नहीं, बल्कि लखनऊ स्थित सेंट्रल सुन्नी वक्फ बोर्ड को है।

वहीं, भगवान विश्वेश्वरनाथ के वाद मित्र का कहना है कि अवर न्यायालय के अंतरिम आदेश के खिलाफ सिविल प्रक्रिया संहिता के तहत निगरानी याचिका दाखिल नहीं की जा सकती है।
... और पढ़ें

अपराजिता: एफआईआर दर्ज न करना भी एक अपराध, पीड़िता चाहे तो पुलिस अधिकारी पर भी दर्ज करवा सकती है मुकदमा

किसी भी अपराध में पीड़िता की रिपोर्ट दर्ज न करना भी अपराध की श्रेणी में आता है। ऐसे में पीड़िता चाहे तो पुलिस अधिकारी पर भी एफआईआर दर्ज करवा सकती है। इसमें दो साल तक की सजा का प्रावधान है। यह बात अमर उजाला अपराजिता 100 मिलियन स्माइल के तहत आयोजित परिचर्चा में वूमेन एंपावरमेंट फाउंडेशन के फाउंडिंग प्रेसिडेंट और रिटायर्ड आईपीएस रतन कुमार श्रीवास्तव ने कही।

महिलाओं के मौलिक और कानूनी अधिकारों के बारे में जानकारी देने के लिए परिचर्चा का आयोजन अमर उजाला कार्यालय में किया गया। इस परिचर्चा को फेसबुक पर लाइव भी किया गया। वाइस प्रेसिडेंट अनिल सिंदूर ने भी अपराजिता समूह की सदस्यों को कानून के बारे में जानकारी दी और उनके सवालों के जवाब दिए।

रिटायर्ड आईपीएस ने कहा कि यही कानून मेडिकल में भी लागू है। पीड़िता चाहे तो वह कभी भी अपना मेडिकल करवा सकती है और उसके लिए उसे एफआईआर की कॉपी की भी आवश्यकता नहीं है। कोई भी अस्पताल मेडिकल से मना नहीं कर सकता।

घर से बाहर काम करने वाली महिलाओं को विशाखा गाइडलाइंस के बारे में जानकारी होना जरूरी है। हर कार्यालय में आईसीसी इंटरनल कंप्लेंट्स कमिटी होना जरूरी है। अपराजिता समूह की सदस्यों ने भी अपने विचारों से अवगत कराया। संचालन सीमा जैन ने किया।
... और पढ़ें

यूपी में जातीय दंगा फैलाने की कोशिशों की जांच करेगी एसटीएफ, पीएफआई की भूमिका भी खंगालेगी टीम

अमिताभ
वेबसाइट के जरिये उत्तर प्रदेश का माहौल खराब करने की कोशिशों का पर्दाफाश करने के लिए यूपी एसटीएफ को लगाया गया है। जातीय दंगा भड़काने की पीएफआई की कोशिशों की भी जांच की जाएगी। जांच एजेंसी फिलहाल इन मामलों में दर्ज एफआईआर का अध्ययन कर रही है।

डीजीपी हितेश चंद्र अवस्थी ने बताया कि हाथरस कांड के बाद प्रदेश का माहौल खराब करने वालों की पहचान के लिए यूपी एसटीएफ को लगाया गया है। एसटीएफ उन तमाम मामलों की जांच करेगी जिनमें लोगों को भड़काने के साथ-साथ सोशल मीडिया के जरिये जाति विशेष के प्रति घृणा पैदा करने की कोशिश की गई।

मथुरा से गिरफ्तार किए गए पीएफआई से जुड़े लोगों की भी जांच होगी। इस मामले में प्रदेश के कई जिलों में डेढ़ दर्जन से अधिक मुकदमे दर्ज किए गए हैं। एसटीएफ आरोपियों से पूछताछ करेगी कि आखिर किसके कहने पर उन्होंने सोशल मीडिया पर माहौल खराब करने वाले पोस्ट डाले।
... और पढ़ें

बिकरू कांड में एक और कॉल रिकॉर्डिंग वायरल, पूर्व डीजीपी बोले- सीओ लूट रहा होगा

दशहरे के पहले शुरू हो जाएगा गोपीगंज के फ्लाईओवर पर आवागमन

यूपी में भीषण सड़क हादसा, बस की टक्कर से लोडर सवार दो लोगों की मौत, तीन गंभीर रूप से घायल

लखनऊ-कानपुर हाईवे पर तेज रफ्तार रोडवेज बस ने लोडर को टक्कर मार दी। हादसे में लोडर सवार वृद्ध समेत दो लोगों की मौत और तीन लोग घायल हो गए। मृतकों में एक लखनऊ और दूसरा गंगाघाट कोतवाली क्षेत्र का है। 

लोकनगर निवासी अतुल सिंह लोडर चालक है। बुधवार दोपहर वह लोडर लेकर लखनऊ से कानपुर जा रहा था। लोडर में उसके अलावा चार अन्य लोग बैठे थे। लखनऊ-कानपुर हाईवे पर बंथर चौराहे से आगे पेट्रोल पंप के पास पीछे से आ रही तेज रफ्तार रोडवेज बस ने लोडर में टक्कर मार दी।

इससे लोडर पलट गया। लखनऊ के बख्शी का तालाब थाना क्षेत्र के अर्जुनगंज अमामऊ निवासी रामशंकर 65 की मौके पर मौत हो गई। पुलिस ने अन्य चार घायलों को जिला अस्पताल पहुंचाया। वहां गंगाघाट थाना क्षेत्र के मंशाखेड़ा गांव निवासी शंकर निषाद (40)  पुत्र तुला की भी मौत हो गई।

घायलों मे बाराबंकी के जैंगाबाद गांव निवासी तौकीर (19) पुत्र अकील, मसौली निवासी लालमोहम्मद पुत्र जान मोहम्मद व एक अन्य युवक का इलाज चल रहा है। हादसे के बाद चालक बस लेकर भाग निकला। 
... और पढ़ें
Election
  • Downloads

Follow Us

विज्ञापन
X

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00
X