विज्ञापन
विज्ञापन
क्या नौकरी में आ रही परेशानियां वर्ष 2021 में हो जाएंगी समाप्त ? जानिए अनुभवी एस्ट्रोलॉजर्स से
astrology

क्या नौकरी में आ रही परेशानियां वर्ष 2021 में हो जाएंगी समाप्त ? जानिए अनुभवी एस्ट्रोलॉजर्स से

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
Digital Edition

यमुना एक्सप्रेसवे: छह साल में 746 की गई जान, फिर भी लागू नहीं हुए आईआईटी के सुझाव

भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान के ऑडिट का हवाला देते हुए आगरा डेवलपमेंट फाउंडेशन (एडीएफ) ने मुख्यमंत्री से यमुना एक्सप्रेसवे की सड़क सुरक्षा का मुद्दा उठाते हुए पोर्टल पर शिकायत दर्ज कराई है।

इस पर कहा है कि 2012 से लेकर जून 2018 तक 5189 सड़क हादसों में 746 लोगों की जान जा चुकी है और 8145 घायल हुए हैं। इसके बाद भी आईआईटी के सुझावों को अमल में नहीं लाया जा सका। 

एडीएफ के सचिव व वरिष्ठ अधिवक्ता केसी जैन ने बताया कि प्रौद्योगिकी संस्थान दिल्ली (आईआईटी) ने यमुना एक्सप्रेसवे की सड़क सुरक्षा ऑडिट रिपोर्ट 29 अप्रैल 2019 को एक्सप्रेसवे के निर्माणकर्ता जेपी इन्फ्राटेक को दी थी और ये यमुना एक्सप्रेसवे औद्योगिक विकास प्राधिकरण (येडा) तक पहुंच चुकी है। सड़क हादसे कम हो इसे लेकर जो प्रवर्तन के लिए पहल की जानी है जिसकी सिफारिशें आईआईटी दिल्ली ने की हैं। 
... और पढ़ें
यमुना एक्सप्रेसवे यमुना एक्सप्रेसवे

यूपी: कानपुर में जितिन प्रसाद बोले, भाजपा किसान विरोधी पार्टी, गिनाईं कांग्रेस की उपलब्धियां

कानपुर की घाटमपुर विधानसभा सीट पर उपचुनाव में कांग्रेस प्रत्याशी के समर्थन में बुधवार को रेउना कस्बे में आयोजित जनसभा में पूर्व केंद्रीय मंत्री जितिन प्रसाद ने भाजपा को किसान विरोधी पार्टी कहा। उन्होंने कहा कि कृषि कानून किसानों के लिए नासूर साबित होंगे।

भाजपा किसानों की आय बढ़ाने को लेकर रोज नए वादे करती है लेकिन हालात बिल्कुल उलट हैं। उन्होंने आरोप लगाया कि भाजपा वोट बैंक के लिए किसान हितैषी होने का ढोंग करती है। घाटमपुर का पावर प्लांट भी कांग्रेस शासनकाल में ही स्वीकृत हुआ था।

प्लांट बनकर तैयार होते ही घाटमपुर के साथ ही कई प्रदेशों को भी बिजली आपूर्ति की जाएगी। उन्होंने दावा किया कि कांग्रेस प्रत्याशी के जीतते ही अन्ना मवेशी, खाद, लोन समेत किसानों की अन्य समस्याओं को प्रमुखता से निपटाया जाएगा।

उन्होंने कांग्रेस प्रत्याशी डॉ. कृपाशंकर के समर्थन में पतारा, केवड़िया और हथेई में भी जनसभा की। इस दौरान किसान कांग्रेस जिलाध्यक्ष नरेंद्र चंचल, महानगर कांग्रेस अध्यक्ष हर प्रकाश अग्निहोत्री, संयोजक राजीव द्विवेदी, सरिता सिंगर, सुजीत यादव, नरेश कटियार आदि मौजूद थे। 
... और पढ़ें

गाजीपुर मेंं सुसाइड नोट लिख कर व्यवसायी ने जान दी

शहर कोतवाली क्षेत्र के महराजगंज के बर्तन व्यवसायी ने मंगलवार रात जहर खाकर जान दे दी। सुसाइड नोट में बसपा से चुनाव लड़ने के लिए बसपा सुप्रीमो मायावती द्वारा मांगे गए दो करोड़ रुपये का इंतजाम न होने को कारण बताया गया है। पुलिस मामले की जांच कर रही है।

वहीं बसपा जिलाध्यक्ष रामप्रकाश गुड्ड ने कहा कि वह न तो बसपा के कार्यकर्ता थे और न चुनाव लड़ाने की बात हो रही थी, पार्टी को बदनाम किया जा रहा है। महराजगंज निवासी मुन्नू प्रसाद (62) के तीन पुत्र हैं। दो पुत्र डब्लू एवं बबलू मुंबई में रहते हैं। दोनों पुत्रों के साथ पत्नी दुर्गा भी वहीं रहती हैं। तीसरा पुत्र दीपक पिता के साथ रह कर बर्तन व्यवसाय में सहयोग करता है। सुबह करीब छह बजे दीपक चाय बनाकर पिता मुन्नू प्रसाद को जगाने कमरे में गया, तो चारपाई पर वह मृत मिले। सूचना पर महराजगंज चौकी प्रभारी राजेश कुमार मिश्र टीम के साथ पहुंचे।

कोतवाली प्रभारी विमल मिश्र ने बताया कि मुन्नू प्रसाद ठठेर गांव में साइकिल से बर्तन बेचते थे। घर वालों के अनुसार मुन्नू बसपा के सक्रिय सदस्य थे। कुछ समय से वह क्षेत्र में चुनाव लड़ने के लिए तैयारियों में भी जुटे हुए थे।  पार्टी के हर कार्यक्रम में भाग लेते थे। कहते थे कि इस बार सदर से विधायक का चुनाव लड़ेंगे। बसपा सुप्रीमो से बात हो गई है। 
... और पढ़ें

अलीगढ़ः सराय मिस्र में जबर्दस्त तनाव, जद्दोजहद के बीच अंतिम संस्कार

महानगर के सासनी गेट थाने के सराय मिस्र इलाके में मंगलवार रात वाल्मीकि समाज के युवक की हत्या के बाद बुधवार को भी माहौल बेहद तनावपूर्ण रहा। पोस्टमार्टम केंद्र से लेकर घटनास्थल तक हंगामा-हायतौबा का आलम रहा। इसे लेकर पुलिस, पीएसी व आरएएफ को तैनात कर दिया गया। इस दौरान अंतिम संस्कार से पहले मुआवजा, मकान और नौकरी की मांग उठी। घंटों की वार्ता के बाद प्रशासन के स्तर से दो लाख रुपये मुआवजा देकर परिवार को सुरक्षा, नगर निगम में संविदा नौकरी व एक मकान की मांग पूरी करने का भरोसा दिलाया गया। तब जाकर शाम चार बजे शव श्मशान पहुंचा। इलाके में जबरदस्त तनाव के हालात बने हुए हैं।

सासनीगेट के सराय मिस्र गोबर खूंदा में मंगलवार रात वाल्मीकि समाज के युवक शक्ति पुत्र प्रमोद की कोली समाज के युवकों ने झगड़े के बीच गोली मारकर हत्या कर दी थी। युवक की मौत के बाद इलाके में जबरदस्त बवाल हुआ था। रात जैसे तैसे पुलिस ने हालात सामान्य किए थे। इधर, बुधवार सुबह से ही पोस्टमार्टम केंद्र पर लोगों का जमावड़ा लगना शुरू हो गया। करीब 12 बजे पीड़ित परिवार को 25 लाख रुपये मुआवजा, नगर निगम में नौकरी, सुरक्षा के लिए शस्त्र लाइसेंस और मकान की मांग उठी। बातचीत के लिए एसीएम द्वितीय कई थानों के फोर्स के साथ पोस्टमार्टम केंद्र पहुंचे। बाद में वे अधिकारियों से विमर्श करने की बात कहकर चले गए। 

इस बीच काफी संख्या में महिलाएं व युवा सराय मिस्र में एकत्रित होकर आगरा रोड पर आ गए और नारेबाजी करने लगे। यह देख एक कंपनी पीएसी, एक कंपनी आरएएफ के अलावा जिले के कई थानों का फोर्स बुला लिया गया। इस दौरान आरोपियों की गिरफ्तारी की मांग करते हुए आगरा रोड पर दुर्गापुरी के बाहर जाम लगाने की कोशिश की गई। सीओ प्रथम व सीओ द्वितीय ने समझाने का प्रयास किया तो उनसे तीखी नोकझोंक हुई। किसी तरह भीड़ को सड़क से हटाया गया। इस पर लोग सड़क किनारे जमीन पर धरना देकर बैठ गए। यहां बैरीकेडिंग कर लोगों को पुलिस बल ने घेर लिया। इस दौरान रुक-रुककर प्रदर्शन व नारेबाजी होती रही।

इसी बीच अधिकारियों से वार्ता कर एसीएम वापस पोस्टमार्टम केंद्र पहुंचे, जहां उन्होंने मां के नाम दो लाख रुपये का चेक दिया, परिवार में नौकरी संविदा पर, कांशीराम आवास योजना में मकान व सुरक्षा का वायदा किया। तब जाकर कई घंटे की बातचीत पर शक्ति का भाई व समाज के लोग इस बात पर सहमत हुए कि शव मौके पर पहुंचने पर किसी तरह का हंगामा नहीं होगा। इसके बाद कड़ी सुरक्षा में युवकों की भीड़ वाहनों के साथ शव लेकर सराय मिस्र पहुंची। शव पहुंचते ही कुछ देर को गहमागहमी व हंगामी माहौल बना। मगर पुलिस प्रशासनिक टीम ने आनन-फानन औपचारिकताएं पूरी कर अंतिम संस्कार के लिए शव महेंद्र नगर श्मशान रवाना करा दिया। तब जाकर सब कुछ समान्य हुआ। इलाके में तनाव बरकरार है, जिसे लेकर पुलिस बल तैनात है।

हत्या में एक नामजद को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। बाकी नामजदों की गिरफ्तारी के लिए टीमें लगी हुई हैं। परिवार की जो मांगें थीं, उन पर प्रशासन ने मदद दी है। अब स्थिति सामान्य है। एहतियातन पुलिस बल तैनात है।
- मुनिराज जी, एसएसपी
... और पढ़ें

सहकारी बैंक भर्ती घोटाले में एफआईआर दर्ज, मुख्यमंत्री योगी ने दिए थे निर्देश 

tension...
सपा शासन में राज्य भंडारण निगम और सहकारी ग्राम विकास बैंक में हुई भर्तियों में घोटाले की जांच पूरी करने के बाद एसआईटी ने मुकदमा दर्ज कर लिया है। इनमें उप्र कोऑपरेटिव बैंक लिमिटेड के तत्कालीन प्रबंध निदेशक हीरालाल यादव व रविकांत सिंह शामिल हैं।
 
इनके अलावा प्रदेश सहकारी संस्थागत सेवा मंडल के तत्कालीन अध्यक्ष रामजतन यादव, सचिव राकेश कुमार मिश्रा, सदस्य संतोष कुमार श्रीवास्तव, कंप्यूटर एजेंसी एक्सिस डिजिनेट टेक्नोलॉजी प्राइवेट लिमिटेड के संचालक राम प्रवेश यादव, उप्र सहकारी संस्थागत सेवा, मंडल उप्र कोऑपरेटिव बैंक की प्रबंध समिति व बैंक के अन्य अधिकारियों व कर्मियों पर भी एफआईआर दर्ज की गई है। अब इन सभी पर शिकंजा कसेगा। मुख्यमंत्री योगी ने इस मामले की जांच जल्द पूरी करने के निर्देश दिए थे। 

योगी सरकार ने एसआईटी को वर्ष 2017 में सहकारिता विभाग व अधीनस्थ संस्थाओं में एक अप्रैल 2012 से 31 मार्च 2017 के बीच की गई सभी नियुक्तियों की जांच की जिम्मेदारी सौंपी थी। एसआईटी ने उप्र सहकारी भूमि विकास बैंक, उप्र राज्य भंडारण निगम व उप्र कोऑपरेटिव बैंक लिमिटेड में भर्ती के 49 विज्ञापनों के जरिए की गई भर्तियों की पड़ताल की। इनमें नौ विज्ञापनों से जुड़े 81 पदों पर भर्ती प्रक्रिया पूरी नहीं हो सकी थी, जबकि 40 विज्ञापनों से संबंधित 2343 के सापेक्ष 2324 पदों पर भर्ती की गई। छानबीन में पता चला कि सहकारी संस्थागत सेवा मंडल के जरिए कोऑपरेटिव बैंक में चार प्रकार के पदों पर भर्ती पूरी की गई, लेकिन इनमें अनिवार्य शैक्षिक योग्यता में नियमों के विपरीत परिवर्तन किया गया।

इन्हें पूछताछ के लिए बुलाया
एसआईटी ने प्रदेश सहकारी ग्राम विकास बैंक में तैनात रहे अधिकारियों-कर्मचारियों को दो नवंबर से 29 नवंबर के बीच बयान दर्ज कराने के लिए बुलाया है। इनमें तत्कालीन मुख्य प्रबंधक नारद यादव, प्रबंधक सुधीश कुमार, आंकिक आशीष जायसवाल, लेखाकार एस जायसवाल व बृजेश पांडेय और प्रबंधक कोंपल श्रीवास्तव शामिल हैं। 
... और पढ़ें

यूपी: वंदे भारत एक्सप्रेस औरैया में हादसे का शिकार होने से बची, कई कोच के शीशे चटके

उत्तर प्रदेश के औरैया में वाराणसी से नई दिल्ली जा रही हाईस्पीड ट्रेन वंदेभारत एक्सप्रेस हादसे का शिकार होने से बच गई। बंद क्रासिंग के बीच ट्रैक पर पड़ी साइिकल टकराने से वंदेभारत एक्सप्रेस के कई कोच के शीशे चटक गए। हाईस्पीड ट्रेन वंदेभारत एक्सप्रेस वाराणसी से नई दिल्ली जा रही थी।

शाम करीब 7:40 बजे कंचौसी से गुजरना था। जिसपर गेटमैन ने क्राॅसिंग का गेट बंद कर दिया था। इस बीच ढिकियापुर का रहने वाला एक किशोर कंचौसी कस्बे से घर जा रहा था। बंद रेलवे क्रासिंग के फाटक के नीचे साइकिल निकालने लगा तभी उसे अप ट्रैक पर वंदे भारत एक्सप्रेस आते दिखाई दी।

इसपर वह घबरा गया और ट्रैक पर साइिकल छोड़कर अपनी जान बचाकर भागा। तभी तेज रफ्तार वंदेभारत एक्सप्रेस आ गई और ट्रैक पर पड़ी साइिकल में टक्कर लगते ही उसके परखचे उड़ गए। साइिकल के टूटे टुकड़े ट्रेन के कोच की खिड़की से जा टकराए, जिससे उसके शीशे चटककर क्षतिग्रस्त हो गए।

... और पढ़ें

शिक्षक हत्याकांडः पति की हत्या के बाद फेसबुक पर शेयर किया वीडियो, कामयाबी को अपनी मजबूरी बना लो

अल्कोहल भरा टैंकर पलटा, शराब समझकर लूट ले गए लोग, प्रशासन ने दी सेवन न करने की हिदायत

जलालाबाद-शाहजहांपुर रोड पर बुधवार सुबह साइकिल सवार को बचाने के चक्कर में अल्कोहल भरा टैंकर पलट गया। टैंकर में शराब होने की चर्चा फैलने पर आसपास के गांव वाले अल्कोहल भरकर ले जाने लगे। सूचना मिलने पर पहुंचे आबकारी विभाग के अधिकारियों और पुलिस ने डंडे फटकार कर बमुश्किल लोगों को रोका। मगर तब तक ग्रामीण सैकड़ों लीटर अल्कोहल लूटकर ले जा चुके थे। अल्कोहल में खतरनाक केमिकल मिला था। लोगों के सेवन करने से स्वास्थ्य को नुकसान होने के डर से आबकारी विभाग के अधिकारियों ने आसपास के गांवों में मुनादी कराई। 

हादसा बुधवार सुबह करीब छह बजे हुआ। लखीमपुर खीरी स्थित बजाज शुगर मिल से प्रयागराज के थाना सरांय ममरेजा निवासी चालक संतोष कुमार अल्कोहल भरा टैंकर लेकर गुजरात के अंकलेश्वर पनौती स्थित फैक्टरी में जा रहे थे। शाहजहांपुर-जलालाबाद रोड पर गांव कलक्टरगंज के पास अचानक सामने आए साइकिल सवार को बचाने की कोशिश में टैंकर असंतुलित होकर रोड से नीचे जाकर गड्ढे में पलट गया। इस पर टैंकर का ढक्कन खुलने से अल्कोहल फैलकर गड्ढों में भर गया। चालक को हल्की चोटें आईं। हादसे के बाद फैली दुर्गंध से आसपास खेतों में मौजूद लोग समझे कि टैंकर में शराब है। इसके बाद सभी बर्तन लेकर अल्कोहल भरने को दौड़ पड़े। 

चर्चा फैली तो कुछ ही देर में सैकड़ों की भीड़ जुट गई। फिर तो जिसके हाथ जो बर्तन लगा अल्कोहल भरने के लिए दौड़ पड़ा। उधर, सूचना पर जिला आबकारी अधिकारी प्रदीप दुबे, आबकारी निरीक्षक प्रणव पांडेय मौके पर पहुंचे। इस बीच जलालाबाद पुलिस भी मौके पर पहुंच गई। 

उन्होंने पहले तो लोगों को समझाकर रोकने की कोशिश की, ग्रामीण नहीं माने तो पुलिस ने डंडे फटकार कर जबरन रोका। मगर तब तक तमाम लोग सैकड़ों लीटर अल्कोहल भरकर अपने घरों को ले जा चुके थे। इसकी सूचना जिला आबकारी अधिकारी ने जिला प्रशासन को दी। इसके बाद राजस्व कर्मी भी मौके पर जा पहुंचे। सुबह करीब साढ़े नौ बजे क्रेन मंगाकर टैंकर को सीधा कराया गया। इसके बाद आबकारी विभाग, राजस्व और पुलिस कर्मियों ने आसपास के गांवों में जाकर लोगों मुनादी कराई। 

आबकारी निरीक्षक प्रदीप दुबे ने बताया कि टैंकर में भरे अल्कोहल में एसडीएस नाम का केमिकल मिला हुआ था, जिसके सेवन करने से स्वास्थ्य को भारी नुकसान हो सकता है। इसलिए गांवों में मुनादी कराकर लोगों को सचेत कर दिया गया है।
... और पढ़ें
Election
  • Downloads

Follow Us

विज्ञापन
X

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00
X