विज्ञापन
विज्ञापन
धन - धान्य से परिपूर्णता प्राप्ति हेतु आज ही बुक करें शरद पूर्णिमा पर महालक्ष्मी सूक्त पाठ एवं हवन
astrology

धन - धान्य से परिपूर्णता प्राप्ति हेतु आज ही बुक करें शरद पूर्णिमा पर महालक्ष्मी सूक्त पाठ एवं हवन

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
Digital Edition

राज्यसभा चुनाव से पहले मायावती को झटका, अखिलेश से मिले बसपा के पांच बागी विधायक

राज्यसभा चुनाव के लिए बसपा प्रत्याशी रामजी गौतम के प्रस्तावक के तौर पर नाम वापसी की अर्जी देने वाले बसपा विधायकों ने बुधवार को समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव से मुलाकात की। विधायकों के इस फैसले से बसपा प्रत्याशी की उम्मीदवारी पर संकट खड़ा हो गया है।

बता दें कि विधायकों की इस बगावत से बसपा मुश्किल में पड़ गई है। इन विधायकों में असलम राईन, असलम चौधरी, गोविंद भार्गव, हाकिम सिंह बिंद और मुज्तबा सिद्दीकी हैं। इन सभी ने प्रस्तावक के रूप में नाम वापस लेने की अर्जी दे दी है। बता दें कि रामजी गौतम ने राज्यसभा के उम्मीदवार के रूप में 26 अक्तूबर को नामांकन किया था तब उनके साथ पार्टी के राष्ट्रीय महासचिव सतीश चंद्र मिश्रा व कई अन्य नेता मौजूद थे।

भिनगा के बसपा विधायक मो. असलम राईन ने फोन पर बताया कि चार विधायकों ने लिखकर दिया है कि राम जी गौतम के प्रस्तावक के रूप में उन लोगों ने दस्तखत नहीं किया। उनके फर्जी हस्ताक्षर बनाए गए हैं।

राईन ने कहा कि कूटरचित हस्ताक्षर के लिए वह विधिक कार्रवाई करेंगे। फर्जी हस्ताक्षर की शिकायत करने वाले विधायकों में मुज्तबा सिद्दीकी, हाकिम लाल बिंद व असलम चौधरी हैं।
... और पढ़ें
अखिलेश यादव अखिलेश यादव

राज्यसभा चुनाव: बसपा में बगावत, प्रत्याशी रामजी गौतम के पांच प्रस्तावक अपना नाम वापस लेने विधानसभा पहुंचे

बहुजन समाज पार्टी में बगावत हो गई है। राज्यसभा चुनाव के लिए पार्टी के प्रत्याशी रामजी गौतम के पांच प्रस्तावक अपना नाम वापस लेने के लिए विधानसभा पहुंच गए हैं।

इन प्रस्तावकों में असलम राईन, असलम चौधरी, गोविंद भार्गव, हाकिम सिंह बिंद और मुज्तबा सिद्दीकी हैं। इन सभी ने प्रस्तावक के रूप में नाम वापस लेने की अर्जी दे दी है।

बता दें कि रामजी गौतम ने राज्यसभा के उम्मीदवार के रूप में 26 अक्तूबर को नामांकन किया था तब उनके साथ पार्टी के राष्ट्रीय महासचिव सतीश चंद्र मिश्रा व कई अन्य नेता मौजूद थे।

बुधवार को जब प्रस्तावक अपना नाम वापस लेने के लिए विधानसभा आए तो हलचल मच गई। अभी तक पार्टी की तरफ से इस पर कोई आधिकारिक बयान नहीं आया है।

भिनगा के बसपा विधायक मो. असलम राईन ने फोन पर बताया कि चार विधायकों ने लिखकर दिया है कि राम जी गौतम के प्रस्तावक के रूप में उन लोगों ने दस्तखत नहीं किया। उनके फर्जी हस्ताक्षर बनाए गए हैं।

राईन ने कहा कि कूटरचित हस्ताक्षर के लिए वह विधिक कार्रवाई करेंगे। फर्जी हस्ताक्षर की शिकायत करने वाले विधायकों में मुज्तबा सिद्दीकी, हाकिम लाल बिंद व असलम चौधरी हैं।
... और पढ़ें

विधायक अलका राय का प्रियंका गांधी को पत्र, पूछा- मुख्तार अंसारी को क्यों बचा रही कांग्रेस

गाजीपुर जिले के मुहम्मदाबाद विधान सभा क्षेत्र की विधायक और कृष्णानंद राय की पत्नी अलका राय ने कांग्रेस पर मुख्तार अंसारी को बचाने का आरोप लगाया है। उन्होंने बीते 27 अक्तूबर को कांग्रेस की राष्ट्रीय महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा को लिखे गए पत्र में मुख्तार के मामले में राहुल गांधी और प्रियंका गांधी उनकी खामोशी की वजह पूछी है।
साथ ही पत्र का जबाव मांगते हुए अपराधियों पर कार्रवाई और सजा दिलाने में महिला होने के नाते मदद की अपील की है। उन्होंने महिला और विधवा को न्याय देने और मुख्तार के पेशी पर न पहुंचने से इंसाफ मिलने से वंचित रहने को चिंताजनक बताया। प्रियंका गांधी वाड्रा को लिखा अलका राय का पत्र सोशल मीडिया पर भी वायरल हो रहा है और उनके पुत्र ने इसे भेजे जाने की पुष्टि भी की है।


27 अक्तूबर की शाम भाजपा नेता और कृष्णानंद राय की पत्नी विधायक अलका राय ने कांग्रेस नेता प्रियंका गांधी को पत्र लिखा और मेल-पोस्ट के माध्यम से उन्हें भेजा। उन्होंने पत्र में पंजाब से कई मामलों में वांछित मुख्तार अंसारी के जेल से पेशी के लिए यूपी न भेजे जाने को लेकर आरोप लगाया है।
... और पढ़ें

NEET-2020 की परीक्षा में टॉप करने वाली आकांक्षा का पूरा खर्च उठाएगी योगी सरकार, मुख्यमंत्री ने किया सम्मानित

अलका राय, प्रियंका गांधी।
नीट (नेशनल एलीजीबिलिटी इंट्रेंस एक्जामिनेशन-2020) में शत प्रतिशत अंक पाकर टॉप करने वाली कुशीनगर (अभिनायकपुर) की आकांक्षा सिंह को बुधवार को मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने सम्मानित किया। लखनऊ स्थित अपने आवास पर आयोजित कार्यक्रम में मुख्यमंत्री ने कहा कि आकांक्षा की एमबीबीएस (यूजी) की पढ़ाई का पूरा खर्चा (प्रवेश, हॉस्टल, मेस आदि) राज्य सरकार उठाएगी। भविष्य में कोई दिक्कत न हो इसके लिए पूरी रकम एक मुश्त दी जाएगी।

मुख्यमंत्री योगी ने कहा कि प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी कर रहे बच्चों खासकर बालिकाओं के लिए आकांक्षा रोल मॉडल हैं। लोग उनसे प्रेरणा लें इसके लिए उनके गांव को जोड़ने वाली सड़क का नामकरण उनके नाम पर होगा।

मुख्यमंत्री ने कहा कि अति पिछड़े जिले से होने के बावजूद आकांक्षा ने सफलता का जो कीर्तिमान रचा है वह उनकी मेहनत, लगन, जज्बे और जुनून का सबूत है। साथ ही प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी कर रहे बच्चों खासकर बच्चियों के लिए प्रेरक भी है। नवरात्र में सरकार ने बहू-बेटियों के सम्मान, सशक्तिकरण और स्वावलंबन के लिए जो कदम उठाया है उसके लिए भी आकांक्षा खुद में रोल मॉडल हैं।

मुख्यमंत्री ने कहा कि इस सफलता के लिए पूरे परिवार को मेरी शुभकामनाएं। मुझे पूरा भरोसा है कि आकांक्षा सफलता के इस सिलसिले को जारी रखेंगी। सरकार आकांक्षा को संयुक्त टॉपर घोषित करने के लिए नीट को पत्र भी लिखेगी।  मालूम हो कि कम उम्र के नाते परीक्षा में पूरा अंक हासिल करने के बाद उनको दूसरा रैंक मिला है।
... और पढ़ें

यमुना एक्सप्रेस वे पर हादसाः सड़क किनारे खड़ी कार में पीछे से मारी टक्कर, पति-पत्नी और बेटे की मौत

यमुना एक्सप्रेस वे पर थाना महावन क्षेत्र में माइल स्टोन 114 पर बुधवार सुबह दर्दनाक हादसा घटित हो गया। सड़क किनारे खड़ी ऑल्टो कार में पीछे से एक अन्य कार ने टक्कर मार दी। इस हादसे में तीन लोगों की मौके पर ही मौत हो गई। एक युवक घायल है जिसे उपचार के लिए अस्पताल में भर्ती कराया गया है।

बताया गया है कि महावन छेत्र में राया बॉर्डर पर गाड़ी नंबर HR 26BS5989 ऑल्टो K10 में धर्मवीर सिंह राणा पुत्र दोजी राम निवासी हाउस नंबर 12 गली नंबर 4 राजीव नगर गुड़गांव, और ऊषा राना पत्नी धर्मवीर, अविनाश राणा पुत्र धर्मवीर सिंह गाड़ी को सड़क के किनारे खड़ा किया था।


इसी दौरान पीछे से गाड़ी नंबर PB 02CZ 4941 के चालक कुलदीप उर्फ लकी और प्रवीण कुमार निवासी गुरनाम नगर थाना बीडवीजन जिला अमृतसर पंजाब ने पीछे से ऑल्टो में टक्कर मार दी। ऑल्टो सवार धर्मवीर सिंह, ऊषा राणा और अविनाश राणा की इस हादसे में मृत्यु हो गई। दूसरी कार का ड्राइवर कुलदीप भी घायल हो गया। उसे उपचार के लिए जिला अस्पताल में भर्ती कराया है। वहीं मृतकों के शव पोस्टमार्टम के लिए भेजे गए हैं।
 
... और पढ़ें

उज्जैन पुलिस क्यों नहीं कर रही विकास दुबे को पकड़ने के इनाम पर दावा, क्या है एनकाउंटर और सरेंडर का सच

वाराणसी-गाजीपुर हाईवे पर बस में लगी आग, बाल-बाल बचे यात्री

वाराणसी-गाजीपुर के रास्ते मऊ जा रही रोडवेज की जनरथ बस के टायरों में मंगलवार की रात अचानक आग लग गई। आग लगने के बाद बस के अंदर मौजूद यात्रियों में भगदड़ मच गई और सभी बस से बाहर भागने लगे। हादसा गाजीपुर जिले के मरदह थाना क्षेत्र के मटेहू पुलिस चौकी के पास रात करीब साढ़े 10 बजे हुआ।
जानकारी के अनुसार, मंगलवार रात करीब साढ़े 10 बजे रोडवेज की जनरथ बस वाराणसी से गाजीपुर होते हुए मऊ जा रही थी। जैसे ही वह गाजीपुर जिले के मटेहूं पुलिस चौकी के पास पहुंची, बस के पहिए से आग की लपटें उठने लगीं। देखते ही देखते आग ने पूरी बस को अपनी चपेट में ले लिया।


आग की जानकारी होते ही चालक ने बस रोक दी। लेकिन थोड़ी ही देर में आग ने विकराल रूप ले लिया। चालक और परिचालक ने बुझाने का प्रयास किया, लेकिन टायर में लगी आग भड़क उठी। बस में आग के साथ धुएं का गुबार उठते ही यात्रियों में अफरा-तफरी मच गई।
... और पढ़ें
Election
  • Downloads

Follow Us

विज्ञापन
X

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00
X