विज्ञापन
विज्ञापन
दुर्गा पूजा का छठा दिन आज, माँ कात्यायनी की पूजा से सम्पूर्ण समस्या का होता है समाधान !
Navratri Special

दुर्गा पूजा का छठा दिन आज, माँ कात्यायनी की पूजा से सम्पूर्ण समस्या का होता है समाधान !

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

अमेरिका में रिसर्च छोड़कर वापस आए डॉ संदीप, बच्चों को विज्ञान के प्रति कर रहे जागरूक

डॉ. संदीप सिंह अमेरिका में पोस्ट डॉक्टरल रिसर्च छोड़कर वापस अपने देश आ गए हैं और ग्रामीण बच्चों को विज्ञान और तकनीक के प्रति जागरूक कर रहे हैं।

13 अक्टूबर 2020

विज्ञापन
Digital Edition

धार्मिक स्थलों के दर्शन के लिए 12 हजार व खेल में अच्छा प्रदर्शन करने वाले बच्चों को एक लाख देगी योगी सरकार

मुख्य सचिव राजेन्द्र कुमार तिवारी ने श्रम कल्याण परिषद की तीन योजनाओं को लागू करने के निर्देश दिए हैं। उन्होंने कहा कि स्वामी विवेकानंद ऐतिहासिक पर्यटन यात्रा योजना में श्रमिकों को धार्मिक व ऐतिहासिक स्थलों के दर्शन के लिए 12 हजार रुपये की आर्थिक सहायता दी जाए। इस योजना को आईआरसीटीसी या पर्यटन विभाग की किसी योजना के माध्यम से संचालित किया जाए।

मुख्य सचिव की अध्यक्षता में उत्तर प्रदेश श्रम कल्याण परिषद में अपर मुख्य सचिव श्रम सुरेश चन्द्रा ने तीन योजनाओं का प्रस्तुतीकरण दिया। बैठक में महादेवी वर्मा पुस्तक क्रय आर्थिक सहायता योजना के तहत कारखानों में कार्यरत श्रमिकों की उच्च शिक्षा में पढ़ने वाली बेटियों को किताबें खरीदने के लिए 7,500 रुपये की आर्थिक सहायता प्रदान देने का निर्णय लिया गया।

यह भी फैसला हुआ कि श्रमिकों के बच्चों के जिला स्तरीय खेलों में चयनित होने पर 10 हजार रुपये, राज्य स्तर पर चुने जाने पर 25 हजार रुपये, राष्ट्रीय स्तर पर चयनित होने पर 50 हजार रुपये तथा अंतर्राष्ट्रीय स्पर्धा के लिए चयन होने पर 1 लाख रुपये की राशि प्रोत्साहन के रूप में दी जाएगी।

मुख्य सचिव ने लाभार्थियों के चयन के लिए डीएम की अध्यक्षता में समिति गठित करने के निर्देश दिए। समिति में क्षेत्रीय उप श्रमायुक्त तथा जिला खेल अधिकारी को सदस्य के रूप में शामिल किया जाएगा।
... और पढ़ें
मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ

राज्यसभा प्रत्याशी हलफनामा: 14 करोड़ के मालिक हैं कलम से लेकर कार्बाइन चलाने वाले सपा नेता रामगोपाल यादव

समाजवादी पार्टी के महासचिव प्रोफेसर रामगोपाल यादव ने राज्यसभा चुनाव के लिए बुधवार को नामांकन दाखिल कर दिया। इस दौरान उन्होंने अपनी संपत्ति का ब्यौरा दिया।

रामगोपाल यादव 14 करोड़ 19 लाख रुपये की संपत्ति के मालिक हैं। जिसमें से चल संपत्ति 2 करोड़ 9 लाख 42 हजार 611 रुपये व अचल संपत्ति 12 करोड़ 10 लाख रुपये है।

इसके अलावा वह हथियारों के भी शौकीन हैं। उनके पास कार्बाईन, रायफल और एक रिवॉल्वर है। ये जानकारी उन्होंने नामांकन के साथ दाखिल किए गए हलफनामे में दी है।

रामगोपाल यादव राजनेता बनने से पहले एक शिक्षक थे। वह सपा के प्रमुख नेताओं में से एक हैं। राज्यसभा के लिए नामांकन दाखिल करते समय उनके साथ सपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव सहित कई पार्टी नेता मौजूद थे।

बता दें कि यूपी में 10 राज्यसभा सीटों के लिए चुनाव हो रहे हैं। विधायकों की क्षमता के आधार पर समाजवादी पार्टी अपने एक सदस्य को राज्यसभा भेज सकती है। इसलिए रामगोपाल यादव का चुनाव जीतना लगभग तय माना जा रहा है।
... और पढ़ें

बिकरू कांड: ईडी ने विकास दुबे की पत्नी व बेटों से सात घंटे तक की पूछताछ

कानपुर के बिकरू में आठ पुलिसकर्मियों की हत्या के बाद पुलिस मुठभेड़ में मारे गए गैंगस्टर विकास दुबे व उसके करीबियों के आर्थिक साम्राज्य की तह तक पहुंचने की कोशिश कर रही प्रवर्तन निदेशालय की टीम ने बुधवार को विकास दुबे की पत्नी ऋचा दुबे व उसके दोनों बेटों से करीब सात घंटे तक पूछताछ की। इस दौरान किसी अन्य को वहां उपस्थित नहीं रहने दिया गया।

ईडी ने विकास दुबे के साबुन व्यापारी से क्या रिश्ते थे? कौन-कौन राजनेता उसके संपर्क में था? कारोबार में कौन-कौन साझेदार था? जैसे सवाल पूछे। ईडी ने ऋचा को बुधवार को चल अचल संपत्ति के दस्तावेजों के साथ निदेशालय में हाजिर होने के लिए नोटिस भेजा था।

नोटिस पर ऋचा अपने बेटों आकाश, शांतनु और वकील के साथ दिन में करीब सवा 11 बजे निदेशालय पहुंची। निदेशालय के अधिकारियों ने बताया कि सभी से सामान्य पूछताछ की गई।

दरअसल, प्रवर्तन निदेशालय ने 14 सितंबर को विकास दुबे और उसके साथी जय बाजपेयी सहित 36 आरोपियों के खिलाफ मनी लॉन्ड्रिंग का केस दर्ज किया था। जय बाजपेयी, विकास दुबे का फाइनेंसर है। पुलिस ने जय बाजपेई की कानपुर में तीन अवैध संपत्तियों को कुर्क भी किया था। वर्तमान में वह जेल में बंद है।

हालांकि निदेशालय का अधिकारियों का कहना था कि बयान दर्ज नहीं किए गए हैं। सूत्रों का कहना है कि निदेशालय की एक महिला अधिकारी ने ही ऋचा दुबे से अधिक पूछताछ की। पूछताछ का खास बिंदु विकास दुबे के आर्थिक साम्राज्य में उसके सहयोगियों पर केंद्रित था। निदेशालय इससे पहले विकास दुबे के फायनेंसर जय बाजपेयी से पूछताछ कर चुका है और विकास व उसके अन्य सहयोगियों की चल अचल संपत्ति का ब्यौरा भी जुटाया है। विकास की पत्नी ने अपने व विकास के बैंक खातों से संबंधित दस्तावेज निदेशालय के अफसरों को दिए। प्रवर्तन निदेशालय को जांच में अब तक 139 संपतियों का ब्यौरा मिला है।
... और पढ़ें

जम्मू-कश्मीर से अनुच्छेद 370 हटने से राहुल गांधी और ओवैसी दुखी: मुख्यमंत्री योगी

जम्मू-कश्मीर से अनुच्छेद 370 हटने से राहुल गांधी और ओवैसी दुखी हैं। जमुई में भाजपा उम्मीदवार श्रेयसी सिंह के लिए चुनाव प्रचार करते हुए यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ ने कहा कि नौजवान जानता है कि पाक की तारीफ करने वालों के हाथों देश सुरक्षित नहीं। देश तो नरेंद्र मोदी के हाथों सुरक्षित है।

सीएम ने कहा कि जिसने भी भारत की तरफ  टेढ़ी नजर से देखा उसे मोदी सरकार में जवानों ने मुंहतोड़ जवाब दिया। अब तो मोदी के नाम से पाकिस्तान के पीएम भी भयभीत हैं। योगी ने कहा कि मोदी सरकार में गरीबों-पिछड़ों का कल्याण हुआ। जो वादे किए, उसे पूरे कर रहे हैं। दिल्ली में मोदी और बिहार में नीतीश की सरकार में विकास हुआ है। इसे और आगे बढ़ाना है। कोरोना के दौरान मतदाताओं से एहतियात बरतने की अपील की।

सीएम योगी ने बिहार में जमुई के अलावा तरारी (भोजपुर) और पालीगंज (पटना)  विधान सभा क्षेत्र में भी राजग उम्मीदवारों के पक्ष में जनसभाएं कीं। राजद के 10 लाख नौकरी देने के चुनावी वादे को बिहार के युवाओं के साथ मजाक बताते हुए योगी ने कहा कि नौकरी देने की बात वो लोग कर रहे हैं, जिन्होंने 15 साल गरीबों का राशन तो खाया ही जानवरों का चारा भी खा गए। योगी ने बिहार के लोगों को कोरोना के बाद अयोध्या आने और राम लला के दर्शन का न्यौता भी दिया।a
... और पढ़ें

मुख्तार अंसारी के दोनों बेटों को बड़ी राहत, गिरफ्तारी पर हाईकोर्ट ने लगाई रोक

हाईकोर्ट की लखनऊ पीठ ने बाहुबली विधायक मुख्तार अंसारी के दो बेटों के खिलाफ दर्ज फर्जीवाड़ा के आरोपों की एफआईआर मामले में उनकी गिरफ्तारी पर अगली सुनवाई तक रोक लगा दी है। कोर्ट ने मामले में राज्य सरकार समेत अन्य पक्षकारों को जवाबी हलफनामा दाखिल करने को चार हफ्ते का समय दिया है। इसके बाद दो हफ्ते में याचियों की तरफ से जवाब दाखिल किया जा सकेगा।

अदालत ने इस समय के तुरंत बाद याचिका को सूचीबद्ध करने के निर्देश दिए हैं। तब तक याचियों की इस केस में गिरफ्तारी पर रोक रहेगी। हालांकि, कोर्ट ने साफ कहा कि इस केस की तफ्तीश जारी रहेगी और दोनों याची विवेचना करने वाली एजेंसी को पूरी तरह से सहयोग करेंगे।

न्यायमूर्ति देवेन्द्र कुमार उपाध्याय और न्यायमूर्ति सरोज यादव की खंडपीठ ने यह आदेश बुधवार को मुख्तार अंसारी के दो बेटों अब्बास अंसारी और उमर अंसारी की याचिका पर सुनवाई के बाद दिया।

याचिका में राजधानी की हजरतगंज कोतवाली में उनके खिलाफ दर्ज कराई गई प्राथमिकी को रद्द करने की गुजारिश करते हुए आरोपियों की इस प्रकरण में गिरफ्तारी पर रोक लगाने का आग्रह किया गया था। इसमें शहर के डालीबाग इलाके में कथित निष्क्रान्त सम्पत्ति पर घर का नक्शा एलडीए से मंजूर कराने में फर्जीवाड़ा करने आदि के आरोप हैं। कोर्ट के इस अंतरिम आदेश से मुख्तार के दोनों बेटों को इस केस में फिलहाल बड़ी राहत मिली है।
... और पढ़ें

यूपी में 2,464 नए कोरोना पॉजिटिव, स्वस्थ होने की दर अब 92.17 प्रतिशत

UP Teacher Recruitment 2020: नव नियुक्त शिक्षकों को जिलों में स्कूल आवंटन के लिए काउंसलिंग 26 से 28 अक्तूबर तक

31277 सहायक अध्यापकों को नियुक्ति पत्र दिए जाने के बाद उन्हें जिलों में स्कूल आवंटित करने के लिए 26 से 28 अक्तूबर तक काउंसलिंग की जाएगी। बताया जा रहा है कि 29 से 30 अक्तूबर तक स्कूल आवंटन हो जाएगा जिसके बाद 31 अक्टूबर से 3 नवंबर तक शिक्षकों को स्कूलों में कार्यभार ग्रहण करना होगा।

बता दें कि 69000 सहायक शिक्षकों की भर्ती प्रक्रिया में 16 अक्तूबर को प्रदेश सरकार द्वारा प्रथम चरण में 31277 सहायक शिक्षकों को नियुक्ति पत्र दिया गया। जिसके बाद अब शिक्षकों को जिलों में स्कूल आवंटित कर दिए जाएंगे।

सरकार ने स्वीकार किया चयन में हुई गलतियां
वहीं, चयन प्रक्रिया पर सवाल उठने पर प्रदेश सरकार ने हाईकोर्ट में स्वीकार किया है कि चयन में गलतियां हुई हैं और कुछ कम मेरिट के लोगों को नियुक्ति मिल गई। जबकि अधिक मेरिट वालों को नहीं मिल सकी।

इलाहाबाद हाईकोर्ट में चल रही इस मामले की सुनवाई के दौरान महाधिवक्ता राघवेंद्र सिंह ने वीडियो कांफ्रेंसिंग से उपस्थित होकर बताया कि एनआईसी और बेसिक शिक्षा परिषद से हुई इस गलती के जांच के लिए सरकार ने कमेटी गठित कर दी है। उन्होंने कहा कि जो भी गलतियां हुई हैं, उनको सुधारा जाएगा और सरकार गलत चयन रद्द करेगी।
... और पढ़ें

अखिलेश यादव बोले, भाजपा सरकार की न तो नीतियां सही और न ही नीयत

समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव ने कहा है कि भाजपा सरकार की न तो नीतियां सही हैं और न ही नीयत। नतीजतन प्रदेश के विकास का पहिया थम गया है। समाजवादी सरकार के कामों में हेराफेरी करके वह अपना चेहरा बचाती आ रही है।

अखिलेश ने बुधवार को कहा कि लखनऊ में कैंसर इंस्टीट्यूट का शिलान्यास 2013 में समाजवादी सरकार ने किया था। सपा की सोच थी कि दिल, किडनी, लीवर व कैंसर जैसी गंभीर बीमारियों का अंतर्राष्ट्रीय स्तर का इलाज लखनऊ में ही मिले।

संपन्न लोग मुंबई, दिल्ली या चेन्नई में इलाज कराने जाते हैं, लेकिन आम लोगों को उपचार नहीं मिल पाता है। इसी को ध्यान में रखकर 20 दिसंबर 2016 को सपा सरकार ने कैंसर अस्पताल का लोकार्पण कर दिया था।

भाजपा सरकार ने सपा का काम अपने नाम करने की आदत का हास्यास्पद प्रदर्शन करते हुए 20 अक्टूबर को सीजी सिटी स्थित कैंसर अस्पताल के लोकार्पण का लोकार्पण कर दिया। उन्होंने पूर्व सरकार का कृतज्ञता के साथ स्मरण भी नहीं किया। यह कौन सी नैतिकता है ?
... और पढ़ें
Election
  • Downloads

Follow Us

X

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00
X