विज्ञापन
विज्ञापन
कार्य बाधा एवं परेशानियों को दूर करने हेतु कामाख्या शक्तिपीठ में कराएं बगलामुखी विशिष्ट पूजा
Navratri Special

कार्य बाधा एवं परेशानियों को दूर करने हेतु कामाख्या शक्तिपीठ में कराएं बगलामुखी विशिष्ट पूजा

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

From nearby cities

विज्ञापन
Digital Edition

सीएम योगी आदित्यनाथ पहुंचे गोरखनाथ मंदिर, करेंगे महानिशा और शस्त्र पूजन

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री व गोरक्षपीठाधीश्वर योगी आदित्यनाथ शुक्रवार को गोरखनाथ मंदिर पहुंचे। इस दौरान उन्होंने बाबा गोरखनाथ और अपने गुरु महंत अवैद्यनाथ के दर्शन-पूजन किए। सीएम योगी आज रात को गोरखनाथ मंदिर के शक्ति मंदिर में अष्टमी तिथि पर महानिशा पूजन, शस्त्र पूजन और हवन-यज्ञ करेंगे।
 
नाथ संप्रदाय की परंपरा के मुताबिक अष्टमी तिथि की रात में ही गोरखनाथ मंदिर में हवन की परंपरा है। मुख्यमंत्री विजयादशमी तक गोरखनाथ मंदिर में ही प्रवास करेंगे।

मंदिर के सचिव द्वारिका तिवारी ने बताया कि आज की शाम 6 बजे से गौरी-गणेश की पूजा से शुरूआत होगी। इसके बाद गोरक्षपीठाधीश्वर वरुण पूजन, पीठ पूजन, यंत्र पूजन, स्थापित मां दुर्गा की विधिवत पूजा, भगवान राम-लक्ष्मण-सीता का षोडषोपचार पूजन, भगवान कृष्ण एवं गोमाता का पूजन, नवग्रह पूजन, विल्व अधिष्ठात्री देवता का पूजन, शस्त्र पूजन, द्वादश ज्योर्तिंलिंग-अर्धनारीश्वर, शिव-शक्ति पूजन, बटुक भैरव, काल भैरव, त्रिशूल पर्वत पूजन करेंगे।
... और पढ़ें
सीएम योगी आदित्यनाथ। सीएम योगी आदित्यनाथ।

योगी आदित्यनाथ का वो बयान, जो सात साल बाद हुआ था वायरल

मुंडन संस्कार करके वापस आ रहे थे लोग, नहीं पता था रास्ते में मिलेगी ऐसी मौत

उत्तर प्रदेश के महराजगंज जिले में बड़ी खबर है। यहां चौक थाना क्षेत्र के ग्राम सभा मधुबनी गांव में धान के खेत में ट्रैक्टर ट्राली पलटने से एक बालक की मौत हो गई। जबकि 16 लोग घायल हो गए। हादसे में घायल लोगों को सीएचसी मिठौरा एंबुलेंस से भेजा गया। सभी लोग बच्ची का मुंडन संस्कार कराने के बाद ट्रैक्टर ट्राली से घर वापस आ रहे थे।

जानकारी के मुताबिक, चौक थाना क्षेत्र के ग्राम सभा मधुबनी के बेलवा टोला निवासी विद्या सागर की पुत्री गरिमा का शुक्रवार को मुंडन संस्कार मधुबनी बड़े टोले पर स्थित पोखरे के पास प्राचीन शिव मंदिर में हुआ। मुंडन संस्कार में शामिल होने के लिए सभी लोग ट्रैक्टर-ट्राली से मंदिर पहुंचे थे।

आयोजन के बाद वापस लौटते समय मधुबनी बड़े ग्राम सभा से दक्षिण ट्रांसफर से सटे मुर्गी फार्म के पास तेज रफ्तार ट्रैक्टर ट्राली अनियंत्रित होकर पलट गई। ट्राली में बैठी सभी महिलाएं दब गईं। ट्रैक्टर चालक मौके से फरार हो गया।

ग्रामीणों की सहायता से सभी घायलों को बाहर निकाला गया। इस दुर्घटना में राम भवन के पुत्र अमन (12) की घटनास्थल पर ही मौत हो गई। जबकि लीलावती (60), पुष्पा (60), जड़ावती (55), सीमा (12), दुर्गावती (20), हेमलता (22), मोहित (12), नंदनी (12), सीमा (25), आरती (35), करीना (22), श्याम दुलारी (60), रूबीना (20), सुशीला (14), घोलरा (60), मीना (35) घायल हो गईं।

मृत अमन अपने माता-पिता का एकलौता संतान था। घटना के समय अमन की माता पूनम निचलौल थाने पर मिशन शक्ति की बैठक में गई थी। अमन के पिता घटना के समय घर पर थे। अचानक हुए मासूम की मौत से परिजनों का रो-रोकर बुरा हाल है।

चौक थानाध्यक्ष अरुण कुमार दुबे ने बताया कि ट्राली पलटने से कई लोग घायल हो गए, सभी घायलों को एंबुलेंस से सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र मिठौरा पहुंचाया गया है। बालक के शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया गया है। तहरीर मिलने पर कार्रवाई की जाएगी।
... और पढ़ें

सिद्धार्थनगर में वनकर्मी समेत 25 नए मिले कोरोना संक्रमित, एक्टिव मरीज हुए 302

सिद्धार्थनगर जिले में वनकर्मी समेत 25 कोरोना संक्रमित मिले। शुक्रवार को लखनऊ मेडिकल कॉलेज से आई रिपोर्ट में संक्रमण की पुष्टि हुई। इसके बाद स्वास्थ्य विभाग की टीम ने मरीजों को महिला अस्पताल स्थित आइसोलेशन वार्ड में भर्ती करा दिया।

जिले में अब तक 3655 संक्रमित पाए जा चुके हैं। इनमें 3311 स्वस्थ होकर घर जा चुके हैं। 302 का इलाज चल रहा है और अब तक संक्रमण से 43 लोगों की मौत हो चुकी है।

जिले में कोरोना संक्रमित मरीजों संख्या तेजी से बढ़ रही है। स्वास्थ्य विभाग की ओर से जारी किए गए आकड़ों के मुताबिक सर्वाधिक 10 संक्रमित बांसी ब्लॉक क्षेत्र में पाए गए। इनमें पचहर गांव में चार, मधुकरपुर और बड़हर घाट गांव में दो-दो और हरैया नानकार और अशोकनगर में एक-एक संक्रमित मिले।

नौगढ़ ब्लॉक के बडग़ो, करौती, रसूलपुर, वनविभाग और पीडब्ल्यूडी में एक-एक संक्रमित मिले। जोगिया के सिकरी भड़रिया, पलिया सिसवा, सोहरतगंज गांव में एक-एक संक्रमित मिले। शोहरतगढ़ अलीदापुर और बनकटवा गांव में एक-एक संक्रमित मिले।

मिठवल के करही और बनकटा गांव में एक-एक संक्रमित मिले। डुमरियागंज जोखौली, खुनियांव के गौरी बाजार गांव में एक-एक संक्रमित मिले। सीएमओ डॉ. इंद्रविजय विश्वकर्मा ने बताया कि 25 संक्रमित मिले हैं, उन्हें महिला अस्पताल आइसोलेशन वार्ड में भर्ती कराया गया। संपर्क में आने वालों का सैंपल जांच के लिए भेज दिया गया।
... और पढ़ें

घर में रखा गया था लाखों रुपये का विदेशी कॉस्मेटिक सामान, ऐसे हुआ खुलासा

Corona testing
उत्तर प्रदेश के महराजगंज जिले में एक हैरान करने वाला मामला सामने आया है। यहां नौतनवां कस्बे के जयहिंद चौराहे के पास शुक्रवार दोपहर में उपजिलाधिकारी प्रमोद कुमार एवं क्षेत्राधिकारी अजय सिंह चौहान ने एसएसबी एवं कस्टम विभाग की संयुक्त टीम के साथ एक घर में छापा डाला। जहां डंप किया गया विदेशी कॉस्मेटिक सामानों का जखीरा बरामद हुआ। वहीं मौके से कई एक्सपायरी सामान भी मिले हैं, जिसे जब्त कर दिया गया। एसडीएम के मुताबिक सामान स्वामी के विरुद्ध फर्जीवाड़ा के तहत मुकदमा दर्ज कर उसे बीस लाख के जमानत मुचलके से भी पाबंद किया जाएगा।

एसडीएम प्रमोद कुमार ने बताया कि मुखबिर से सूचना मिली कि शास्त्री नगर वार्ड निवासी एक व्यक्ति के घर में नेपाल से लाया गया कई लाख का कॉस्मेटिक सामान रखा गया है। उन्होंने बताया कि सूचना को गंभीरता से लेते हुए जब टीम के साथ छापा डाला गया तो वहां कुछ महिलाएं देशी व विदेशी एक्सपायरी कॉस्मेटिक सामानों के रैपर में फेरबदल करती हुई मिली।

इसके बाद वहां बने गोदाम का ताला खोला गया तो नेपाल निर्मित फेयरनेस क्रीम, हेयर कलर, फेस क्रीम, परफ्यूम, टूथ पेस्ट, शूज पॉलिश सहित विभिन्न प्रकार के कॉस्मेटिक सामग्रियों की बरामदगी हुई। जिसकी कीमत करीब पचास लाख से अधिक रुपयों में आंकी जा रही है।

नौतनवां एसडीएम प्रमोद कुमार का कहना है कि मौके से सामान का स्वामी पकड़ में नहीं आया है। उसके खिलाफ फर्जीवाड़ा समेत गंभीर धाराओं में मुकदमा दर्ज करते हुए उसे बीस लाख के जमानत मुचलके से पाबंद करने की कार्रवाई की जाएगी। उन्होंने बताया कि फिलहाल बरामद सामान को कस्टम एवं पुलिस विभाग अपने कब्जे में लेकर गिनती व अन्य कागजी कार्रवाई कर रही है। प्रक्रिया पूरी होने के बाद खुलासा किया जाएगा।
... और पढ़ें

रूट एक, ट्रेन एक मगर ड्राइवर-गार्ड की ड्यूटी अलग-अलग, जानिए क्या है पूरा मामला

रूट एक, ट्रेन भी एक और ड्राइवर (लोको पायलट) व गार्ड की ड्यूटी का समय अलग-अलग। हो यह रहा है कि कुछ रेल गाड़ियों में ड्राइवर जितनी दूरी तक ड्यूटी करते हैं, उतने में दो गार्ड लगाए जाते हैं। जबकि कई रेल गाड़ियों में चालक और गार्ड बराबर की ड्यूटी कर रहे हैं। अब ऑल इंडिया गार्ड एसोसिएशन ने संरक्षा और रेल राजस्व के नुकसान का हवाला देकर नियमों में बदलाव की मांग की है।

गार्ड की ड्यूटी निर्धारण में खामी की वजह से कभी-कभी गार्ड की कमी होने पर पैसेंजर और मालगाड़ी के गार्ड को एक्सप्रेस रेल गाड़ियों में भेजा जाता है, जोकि नियमानुसार सही नहीं है। इससे हादसे की गुंजाइश रहती है। वहीं, गार्ड की ड्यूटी पर 15 प्रतिशत अतिरिक्त माइलेज भत्ता भी देना पड़ता है। इसके अलावा वैशाली एक्सप्रेस, पाटिलीपुत्र और अवध एक्सप्रेस आदि रेल गाड़ियों में चालक और गार्ड की बराबर ड्यूटी होती है। जहां तक चालक रेल गाड़ी लेकर जाता है, वहां तक गार्ड भी जाता है।

पूर्वोत्तर रेलवे के वाराणसी मंडल में ड्राइवर और गार्ड की ड्यूटी में अधिक असमानता है। इस मंडल में दस से ज्यादा ट्रेनें हैं, जिनमें ड्राइवर सात से आठ घंटे तक ड्यूटी करते हैं और गार्ड की ड्यूटी तीन से चार घंटे होती है। रास्ते में गार्ड को बदलना पड़ता है। जबकि चालक गंतव्य तक जाता है।

बता दें कि वाराणसी मंडल में गोरखपुर पूर्व में एक्सप्रेस, पैसेंजर और मालगाड़ी में कुल स्वीकृत पद 107 हैं और वर्तमान में कुल 81 गार्ड ही तैनात हैं। 26 गार्ड की कमी है।
... और पढ़ें

नवरात्रि 2020: यहां रूदल ने की थी मां दुर्गा की स्थापना, श्रद्धालुओं की आस्था का केंद्र है ये मंदिर

उत्तर प्रदेश के महराजगंज में स्थित मां दुर्गा का प्राचीन मंदिर शारदीय व वासंतिक नवरात्रि में आस्था का सैलाब उमड़ता है। काले पत्थर से निर्मित प्रतिमा की स्थापना आल्हा के भाई रूदल ने की थी। श्रद्धालुओं का मानना है कि यहां आने वाले भक्तों की मनौती पूरी होती है।

जनश्रुतियों के अनुसार, महोबा के राजा आल्हा के छोटे भाई रूदल महोबा से वनवसिया में स्थित बनारस स्टेट के राजा सैयद से मिलने जा रहे थे। रात होने के चलते उन्होंने अपने सैनिकों के साथ आनंदनगर में ही पड़ाव डाल दिया। सोते समय मां जगदंबा ने रूदल को यहां पर अपने होने का स्वप्न दिखाया। सुबह होने पर रूदल ने मां की अराधना की। फिर मां दुर्गा की प्रतिमा की स्थापना की। रूदल के नाम से ही राजस्व अभिलेखों में यहां का नाम रूदलापुर सेखुई हो गया।

यहां का एक टोला भी रूदलापुर के नाम से आज भी जाना जाता है। कालातंर में प्राकृतिक प्रकोप के कारण मंदिर ध्वस्त हो गया था। सेठ आनंदराम जयपुरिया ने 1932 में कस्बे में गणेश शुगर मिल की स्थापना कराते समय खुदाई के समय एक प्रतिमा मिली, जिस पर जयपुरिया ने मंदिर का निर्माण करवाया।

इस मंदिर की प्रसिद्धि दूर-दूर तक फैली हुई है। हर वर्ष नवरात्रि के दिनों काफी संख्या में लोग मां का दर्शन करने आते हैं। मंदिर के पुजारी रवि नंदन पाठक ने बताया कि सच्चे मन से मांगी गई मनौती जरूर पूरी होती है। कस्बे के अधिकांश लोग प्रतिदिन मंदिर में पहुंच कर मां की आराधना कर आशीर्वाद लेते है।

लोगों को भाती है पोखरे की सुंदरता
मंदिर के बगल में स्थित पोखरे पर छठ पूजा का आयोजन होता है, जहां पर काफी संख्या में महिलाएं पहुंच कर वेदी बना कर पूजा करती हैं। पोखरे की सुंदरता लोगों का मन मोह लेती है। मंदिर पर अनेक वैवाहिक सहित धार्मिक कार्यक्रम होते हैं।
... और पढ़ें

कोविड टीकाकरण के लिए बन रही है इन खास लोगों की सूची, जानिए कौन लोग हैं शामिल

कोविड-19 की रोकथाम संबंधित टीकाकरण के लिए अग्रिम तैयारियां शुरू हो गई हैं। टीका (वैक्सीन) आने के बाद सबसे पहले सरकारी और निजी अस्पतालों में कार्यरत तकनीकी और गैर तकनीकी स्वास्थ्यकर्मियों को ही लगाया जाएगा। स्वास्थ्य विभाग ने इसके लिए सूची तैयार करने की प्रक्रिया शुरू कर दी है। मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉ. श्रीकांत तिवारी ने सभी सरकारी और गैर सरकारी अस्पतालों से सूची तैयार करने को कहा है।

अधीक्षकों/ प्रभारी चिकित्सा अधिकारियों तथा निजी अस्पतालों के संचालकों की अलग-अलग बैठक में सीएमओ ने दिशा-निर्देश दिया है कि यह कार्य प्राथमिकता के साथ होना चाहिए। इस संबंध में चिकित्सा-स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण विभाग के अपर मुख्य सचिव अमित मोहन प्रसाद ने प्रदेश के सभी जिलाधिकारियों को पत्र भी भेजा है। जिलाधिकारी के. विजयेंद्र पांडियन के निर्देश पर जिले में सरकारी और निजी अस्पतालों में कार्यरत समस्त स्वास्थ्य एवं अन्य संबंधित कर्मियों का डेटा बेस तैयार किया जा रहा है।

मुख्य चिकित्सा अधिकारी ने बताया कि शासन और जिलाधिकारी से प्राप्त दिशा-निर्देशों के अनुसार जनपद में कार्यरत समस्त मेडिकल, पैरामेडिकल एवं नॉन मेडिकल स्टॉफ को सूचीबद्ध किया जाना है। इस सूची में नियमित कर्मचारियों के अलावा राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन के संविदा और आउटसोर्सिंग के कर्मचारी भी शामिल होंगे।
... और पढ़ें

पंजाब में किसान आंदोलन के चलते ट्रेनों का संचालन प्रभावित, आठ ट्रेनें निरस्त, 12 बीच रास्ते से चलेंगी

पंजाब में चल रहे किसान आंदोलन के चलते ट्रेनों का संचालन सामान्य नहीं हो पाया है। इसकी वजह से यात्रियों की दिक्कत बढ़ जाएगी। रेल प्रशासन ने आठ ट्रेनें निरस्त कर दी हैं जबकि 12 ट्रेनों को बीच के रास्ते तक ही चलाया जाएगा।

ये ट्रेनें हुईं हैं निरस्त
  • चंडीगढ़ से 22 अक्तूबर से चार नवंबर तक 04924 चंडीगढ़-गोरखपुर स्पेशल
  • गोरखपुर से 23 अक्तूबर से पांच नवंबर तक 04923 गोरखपुर-चंडीगढ स्पेेशल
  • गोरखपुर से 26 अक्तूबर तक 02587 गोरखपुर-जम्मूतवी स्पेशल
  • जम्मूतवी से 31 अक्तूबर को 02588 जम्मूतवी-गोरखपुर स्पेशल
  • भागलपुर से 29 अक्तूबर को 05097 भागलपुर-जम्मूतवी स्पेशल
  • जम्मूतवी से 27 अक्तूबर को 05098 जम्मूतवी-भागलपुर स्पेशल
  • अमृतसर से 21 अक्तूबर से 4 नवंबर तक 04624 अमृतसर-सहरसा स्पेशल
  • सहरसा से 22 अक्तूबर से 5 नवंबर तक 04623 सहरसा-अमृतसर स्पेशल
... और पढ़ें
Election
  • Downloads

Follow Us

X

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00
X