विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
हनुमान जयंती पर नौकरी प्राप्ति, आर्थिक उन्नत्ति, राजनीतिक सफलता एवं शत्रुनाशक हनुमंत अनुष्ठान - 8 अप्रैल 2020
Astrology Services

हनुमान जयंती पर नौकरी प्राप्ति, आर्थिक उन्नत्ति, राजनीतिक सफलता एवं शत्रुनाशक हनुमंत अनुष्ठान - 8 अप्रैल 2020

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

From nearby cities

#9Pm9Minute: दीपों की जगमग रोशनी के साथ एकजुट नजर आए कानपुर सहित आसपास के जिले, देखें तस्वीरें

दुनियाभर में फैले कोरोना वायरस के संक्रमण से लड़ने के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की रविवार रात 9 बजे 9 मिनट तक लाइटें बंद करने की अपील का लोगों ने खुले दिल से समर्थन किया।

5 अप्रैल 2020

विज्ञापन
विज्ञापन

सिद्धार्थनगर

सोमवार, 6 अप्रैल 2020

एसपी बस्ती की फेक आईडी से शिक्षामंत्री पर अभद्र टिप्पणी की

संशोधित---
बस्ती एसपी की फेक आईडी से बेसिक शिक्षामंत्री से अभद्रता
सिद्धार्थनगर। सोशल साइट पर एसपी बस्ती की फेक आईडी से बेसिक शिक्षा राज्यमंत्री डॉ. सतीशचंद्र द्विवेदी के खिलाफ आपत्तिजनक टिप्पणी करने का मामला प्रकाश में आया है। मंत्री के करीबियों के अनुसार बृहस्पतिवार सुबह उनकी सोशल साइट अकाउंट पर एसपी बस्ती नाम के अकाउंट से आपत्तिजनक पोस्ट की गई। बेसिक शिक्षा राज्य मंत्री ने इसे संज्ञान में लेकर एसपी बस्ती को अवगत कराया। बेसिक शिक्षामंत्री डॉ. सतीशचंद्र द्विवेदी ने बताया कि उन्होंने इसकी शिकायत एसपी बस्ती से की है। सिद्धार्थनगर एसपी विजय ढुल ने बताया कि मामला उनकी जानकारी में है। बेसिक शिक्षा राज्यमंत्री की ओर से बस्ती एसपी के यहां शिकायत दर्ज करवाई गई है। उस जिले की पुलिस ही केस देखेगी। उधर, एसपी बस्ती हेमराज मीणा का कहना है कि मामला संज्ञान में है। केस दर्ज कराई जा रही है। फेक आईडी चलानेवाले को पुलिस ट्रेस कर रही है।
... और पढ़ें

कोरोना से लड़ने का हथियार बना सोशल मीडिया

फोटो-
कोरोना से लड़ने का हथियार बना सोशल मीडिया
लखनऊ से ही कमान संभाल रहे स्वास्थ्य मंत्री, बेसिक शिक्षा मंत्री और सांसद
सोशल मीडिया पर कार्यकर्ताओं का बढ़ा रहे उत्साह, अफसरों को दे रहे निर्देश
अमर उजाला ब्यूरो
सिद्धार्थनगर। कोरोना को तभी मात दिया जा सकता है, जब हर कोई दहलीज के अंदर रहकर वार करें। बचाव और राहत के बीच दहलीज के भीतर रहकर वैश्विक महामारी से लड़ने के लिए सोशल मीडिया को हथियार बना रहे हैं। मंत्री, सांसद, विधायक हो अफसर या जिनके कंधे पर जनता को जागरूक करने की जिम्मेदारी है, सभी सक्रिय भूमिका निभाने की मुहिम में जुट गए हैं।
एक सप्ताह से लॉकडाउन की घोषणा के बाद से जनता की नुमाइंदगी करने वाले माननीय के कदम भी उनके आवास पर ही ठहर गए हैं। इसके बाद भी कई ऐसे जनप्रतिनिधि, मंत्री हैं, जिन्होंने अपने-अपने आवासों को क्वारंटीन घर में तब्दील कर जनता की समस्याओं पर पैनी नजर रखे हुए हैं।
जानकारी मिलते ही संबंधित अधिकारियों को अवगत कराने से नहीं चूक रहे हैं। सोशल मीडिया पर सर्वाधिक सक्रियता बेसिक शिक्षा मंत्री डॉ. सतीश द्विवेदी की दिखाई दे रही है। वह लखनऊ स्थित आवास से ही प्रतिदिन इटवा क्षेत्र समेत पूरे जिले की जनता, कार्यकर्ताओं से लाइव हो रहे हैं। प्रभार वाले जनपद सोनभद्र की गतिविधियों पर नजर रखे हुए हैं। प्रदेश के चिकित्सा एवं स्वास्थ्य मंत्री जय प्रताप सिंह ने फेसबुक पर प्रतिदिन की भांति काम करते हुए सभी जिलों के सीएमओ से संवाद कर कोरोना की स्थिति पर नजर रखने की बात लिखी है।
मोबाइल के जरिए बांसी विस क्षेत्र के कार्यकर्ताओं, समर्थकों की समस्याओं का निदान करा रहे हैं। सांसद जगदंबिका पाल भी लखनऊ में रहकर डुमरियागंज संसदीय क्षेत्र की जनता की समस्याओं से रूबरू हो रहे हैं। इन्होंने भी सोशल मीडिया के माध्यम से सूचनाएं देने की अपील कर रखी है।
मुंबई में भी निस्तारित हो रहीं समस्याएं
मुंबई में रह रहे इटवा विधानसभा क्षेत्र के निवासियों की समस्याओं का निदान हो रहा है। क्षेत्रीय विधायक और बेसिक शिक्षा मंत्री प्रदेश से बाहर मुंबई जैसे शहर में भी सहयोग कर रहे हैं। सोशल मीडिया पर करही निवासी सचिन मिश्र, कैलाश मिश्र, सुनील मिश्र, पुनवासी गुप्ता, समीम चौधरी, राम विलास चौरसिया ने खाद्यान्न न होने की जानकारी दी। मंत्री ने मुंबई के भाजपा कार्यकर्ताओं के माध्यम से उन्हें राशन मुहैया कराई। उन्होंने लॉकडाउन का पालन करने की अपील करते हुए मनोबल डाउन नहीं होने देने की बात लिखी है।
... और पढ़ें

कर शोरी से दुष्कर्म के आरोपी पिता का शव हवालात में फांसी पर लटका मिला

नेपाल डेस्क के ध्यानार्थ---
हवालात के शौचालय में कुंडी के सहारे फंदे से लटका मिला शव
पत्नी की तहरीर पर केस दर्ज करके पुलिस ने किया था गिरफ्तार
नेपाल के कपिलवस्तु जिले स्थानीय थाने के मामला
अमर उजाला ब्यूरो
कपिलवस्तु (सिद्धार्थनगर)। नाबालिग बेटी से दुष्कर्म के आरोप में कपिलवस्तु (नेपाल) जिले के स्थानीय थाने की हवालात में बंद पिता का शव बृहस्पतिवार सुबह शौचालय में कुंडी के सहारे फंदे पर लटका मिला। पुलिस ने शव को पोस्टमार्टम के लिए भिजवाया है। पत्नी ने ही उसके खिलाफ 16 वर्षीय बेटी से दुष्कर्म का केस दर्ज कराया था।
नेपाल के कपिलवस्तु जिले के स्थानीय थाने में एक महिला ने पति पर 16 वर्षीय पुत्री से अनेक बार दुष्कर्म करने का केस दर्ज कराया था। पुलिस ने आरोपी पिता को हिरासत में लेकर जांच शुरू कर दी थी। पुलिस के अनुसार हवालात में आरोपी पिता के साथ ही एक दूसरे मामले का आरोपित भी बंद था। हवालात में ही शौचालय अटैच है। दूसरे आरोपित ने बृहस्पतिवार सुबह आवाज देकर बताया कि आरोपित पिता शौचालय का दरवाजा नहीं खोल रहा है। इस पर पुलिस ने दरवाजा तुड़वाया। अंदर शौचालय की कुंडी में गमछे के सहारे आरोपित पिता का शव फांसी पर लटकता मिला। इलाका प्रहरी कार्यालय के इंसपेक्टर आयूष जोशी ने बताया कि मामले की जानकारी उच्च अधिकारियों को दे कर शव पोस्टमार्टम के लिए भिजवाया गया है।
... और पढ़ें

स्वास्थ्य कर्मियों ने लगाई सुरक्षा की गुहार

स्वास्थ्य कर्मियों ने लगाई सुरक्षा की गुहार
सिद्धार्थनगर। जिला अस्पताल के चिकित्सकों ने एक व्यक्ति पर धमकी देने का आरोप लगाया है। सिक नियोनेटल केयर यूनिट (एसएनसीयू) वार्ड में तैनात डॉक्टर और स्वास्थ्य कर्मियों ने सदर पुलिस को शिकायती पत्र देकर सुरक्षा की गुहार लगाई है। मामला शनिवार की रात का बताया जा रहा है।
सदर थाने में दिए गए तहरीर में डॉ. शैलेंद्र कुमार और डॉ. संजय चौधरी सहित स्वास्थ्य कर्मियों ने जानकारी दी है कि एसएनसीयू वार्ड में एक व्यक्ति आया था, उसके बच्चे की हालत ठीक नहीं थी। उसे यह बताया गया था, इसके बाद इलाज शुरू हुआ है। देर रात महिला का पति स्टाफ से अभद्र व्यवहार करने लगा और गाली देने लगा। जब स्वास्थ्य कर्मियों ने विरोध किया तो नेता का करीब बताते हुए जान से मार देने की धमकी दी और नौकरी से निकलवा देने की बात कह रहा था। मामले की जांच करते हुए कार्रवाई की जाए और सुरक्षा मुहैया कराई जाए। एसओ सदर राजेंद्र बहादुर सिंह ने बताया कि मामला संज्ञान में आया है। महिला ने भी शिकायती पत्र दिया है। मामले की जांच की जा रही है, सत्यता के आधार पर कार्रवाई की जाएगी।
... और पढ़ें

महिला के हत्यारोपित सास-ससुर समेत तीन गिरफ्तार

महिला के हत्यारोपित सास-ससुर समेत तीन गिरफ्तार
कपिलवस्तु। नेपाल में गैर व्यक्ति से संबंध के संदेह में एक महिला को उसके ससुराल वालों ने मौत के घाट उतार दिया। पुलिस ने हत्या के आरोप में मृतका के सास-ससुर और देवरानी को गिरफ्तार किया है। नेपाल के परसा जिले के बहादुर माई नगर पालिका के वार्ड संख्या आठ राम नगर निवासी उर्मिला देवी (25) का पति और देवर कमाने बाहर गए हुए थे। इस बीच उसकी संदिग्ध परिस्थितियों में मौत हो गई और परिजनों ने उसका शव दाह संस्कार को ले गए थे। दाह संस्कार के दौरान सूचना पाकर पहुंची पुलिस ने अधजले शव को अपने कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम को भेज दिया। मामले की छानबीन में पता चला की दूसरे व्यक्ति से अवैध संबंध के शक में ससुर सुरेश, सांस फूल कुमारी और देवरानी मालती ने उसकी हत्या कर दी है। पुलिस ने तीनों को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया है। नेपाल के परसा जिले के एसपी गंगा पंत ने बताया कि सूचना के आधार पर आरोपियों को गिरफ्तार कर मामले की छानबीन की जा रही है।
... और पढ़ें

राशन कम देने के मामले में कोटेदार गिरफ्तार

कम राशन देने के मामले में कोटेदार गिरफ्तार
डुमरियागंज। यूनिट से कम राशन का वितरण करने के मामले में एसडीएम के निर्देश पर पूर्ति निरीक्षक ने डुमरियागंज थाने में एक कोटेदार और थोक विक्रेताओं के खिलाफ आवश्यक वस्तु अधिनियम के तहत केस दर्ज किया। एक कोटेदार को गिरफ्तार करके जेल भेज दिया है।
क्षेत्र के तड़वा के कोटेदार द्वारा राशन कार्ड धारकों को कम राशन उपलब्ध कराने तथा अधिक मूल्य लेने की शिकायत उपभोक्ताओं ने एसडीएम से की थी। इस मामले में एसडीएम के निर्देश पूर्ति निरीक्षक नरेंद्र मणि त्रिपाठी से जांच कराई गई। जांच में शिकायत सही पाए जाने पर आवश्यक वस्तु अधिनियम के तहत डुमरियागंज थाने में केस दर्ज किया गया था। साथ ही पुलिस ने उसे गिरफ्तार करके जेल भेज दिया है। साथ ही बाजार का मूल्य नियंत्रित करने के लिए हल्लौर के दो थोक विक्रेता के के खिलाफ केस दर्ज किया है। एसडीएम डुमरियागंज त्रिभुवन कुमार ने तहसील के समस्त थोक विक्रेता, राशन विक्रेता, कोटेदार को चेतावनी देते हुए कहा है कि राशन वितरण के दौरान किसी प्रकार की कालाबाजारी या अनियमितता पाई जाती है तो उनके विरुद्ध मुकदमा दर्ज कर उन्हें जेल भेजने की कार्रवाई की जाएगी।
... और पढ़ें

कोरोना वायरस के सात संदिग्धों की रिपोर्ट निगेटिव

कोरोना वायरस के सात संदिग्धों की रिपोर्ट निगेटिव
सिद्धार्थनगर। महिला चिकित्सालय के क्वारंटीन में भर्ती किए कोरोना के सात संदिग्ध मरीजों की रिपोर्ट शनिवार की दे रात आग गई। सभी का रिपोर्ट निगेटिव आया है। कोरोना वायरस के संदिग्ध मरीजों को रखने के लिए महिला चिकित्सालय में क्वारंटीन हाउस बनाया है। मौजूदा समय में वार्ड में 31 लोगों को रखा गया है। इसमें सभी को बुखार और जुकाम की शिकायत है। चिकित्सकों की टीम लगातार इनकी जांच और उचपार में लगे हुए हैं। दो दिन पूर्व सात लोगों के लार का सैंपल जांच के लिए भेजा गया था। जांच रिपोर्ट में सभी निगेटिव है, किसी में भी कोरोना का संक्रमण नहीं मिला है। सीएमओ डॉ. सीमा राय ने बताया कि सात मरीजों का सैंपल भेजा गया था, सभी के रिपोर्ट निगेटिव है।
... और पढ़ें

जिले में पांच हजार लोगों को किया चुका क्वारंटीन

जिले में पांच हजार लोगों को किया चुका क्वारंटीन
विदेश और अन्य राज्यों से जिले में अब तक पहुंचे 13 हजार
परिषदीय समेत प्राइवेट विद्यालयों, पंचायत बने क्वारंटीन सेंटर
अमर उजाला ब्यूरो
सिद्धार्थनगर। विदेश और अन्य राज्यों से लौट रहे लोगों ने स्वास्थ्य विभाग की चिंता बढ़ा दी है। ऐसे लोगों और उनके परिवार की निगरानी तेज हो गई है। अब तक जिले में पांच हजार लोगों को क्वारंटीन किया जा चुका है। जिले में पहुंचाने वालों की संख्या 12,832 हो चुकी है।
लॉकडाउन घोषित होने के बाद से ही दिल्ली, मुंबई, गुजरात और अन्य राज्यों से बड़ी संख्या में लोग अपने घरों को लौट रहे हैं। ऐसे में स्वास्थ्य महकमा समेत प्रशासनिक अफसरों की चिंता भी बढ़ती जा रही है। जिले में आए 12832 लोगों की निगरानी के लिए प्रत्येक गांव में आशा, एएनएम और ग्राम प्रधान की टीम बना दी गई है। गांव-गांव में बाहर से आने वाले लोगों को चिह्ंित कर सूची बनाई जा रही है। ऐसे लोगों की जांच की जा रही है और उन्हें बेसिक शिक्षा परिषद के स्कूलों, पंचायत घरों, प्राइवेट स्कूलों में क्वारंटीन कराया जा रहा है। सीडीओ पुलकित गर्ग ने बताया कि जिलाधिकारी के निर्देशन में बाहर से आने वाले लोगों की जांच कराई जा रही है। सीएमओ को कड़े निर्देश दिए गए हैं। टीम गठित किया गया है। यदि टीमों को किसी में लक्षण नजर आते हैं तो गांव के प्राइमरी, जूनियर अथवा प्राइवेट स्कूल में उन्हें क्वारंटीन के लिए सख्त हिदायत दिए गए हैं।
बाहर से आए हैं तो यह करें
बाहर से आए लोगों को 14 दिन तक अपनी और अपने लोगों की सुरक्षा के लिए घर पर रहें। बुखार और खांसी होने पर आराम करें। सांस फूलने अथवा तेज बुखार आने पर चिकित्सक से सलाह लें और जरूरत पड़ने पर स्वास्थ्य विभाग के टोल फ्री नंबर पर फोन मिलाएं। स्वास्थ्य विभाग से आने वाली टीम से कोई भी जानकारी न छुपाएं।
... और पढ़ें

लॉक डाउन में भुखमरी की कगार पर पहुंचे मुड़िला डीह के परिवार

भुखमरी की कगार पर मुड़िलाडीह के घुमंतू समुदाय
बढ़नी और दुधवनिया बुजुर्ग के बीच बसा मुड़िलाडीह इन दोनों का हिस्सा नहीं
गरीब परिवारों के पास नहीं पहुंच रही प्रशासन की मदद
विजय श्रीवास्तव
बढ़नी। बढ़नी नगर पंचायत और दुधवनिया बुजुर्ग के बीच बसे करीब 100 परिवारों वाले मुड़िलाडीह के लोग लॉकडाउन के कारण भुखमरी की कगार पर पहुुंच चुके हैं। कारण, यह छोटा सा डीह न तो नगर पंचायत का हिस्सा है और न ही दुधवनिया बुजुर्ग गांव का। गरीब, मजदूर-घुमंतू समुदाय के सदस्यों वाले इस गांव में न तो नगर पंचायत प्रशासन मदद पहुंचा रहा है और न ही दुधवनिया बुजुर्ग गांव का प्रधान। प्रशासनिक अधिकारी इस गांव के उनके अधिकार क्षेत्र में नहीं आने की बात कह पल्ला झाड़ रहे हैं।
21 दिन का लॉकडाउन घोषित होने के बाद आर्थिक रूप से कमजोर, मजदूर, बेसहारा और जरुरतंमदों को राशन आदि पहुंचाने के आदेश शासन ने जारी किए हैं। प्रशासनिक दस्तावेजों में इस डीह को कोई पहचान नहीं मिली इसलिए यहां तक राहत सामग्री भी नहीं पहुंच रही। गांव की अनारा देवी घर-घर जाकर सिल-लोढ़ा छीनने का काम करती हैं। वह बताती हैं कि दुधवनिया डीह पहले नगर पंचायत बढ़नी का हिस्सा था। यहां के लोग वार्ड नंबर एक के प्रत्याशी के लिए वोट देते थे। अर्सा पहले परिसीमन हुआ और इसे नगर पंचायत के बाहर कर दिया गया। अब गांव वाले सांसद-विधायक चुनने के लिए तो वोट देते हैं लेकिन नगर पंचायत या ग्राम पंचायत में इनका वोट शामिल नहीं है। पहले राशन कार्ड बना था, नगर पंचायत से बाहर हुए तो राशन कार्ड भी रद्द कर दिए गए। इस डीह में दैनिक मजदूरी, सिल-लोढ़ा छीनने वाले, सब्जी, चाय का ठेला लगाने वाले आदि लोगों केे करीब 100 परिवार हैं। विकास कार्य तो दूर किसी गांववालों को किसी भी सरकारी योजना का लाभ नहीं मिलता। पेंशन, राशन, आवास कोई सुविधा नहीँ। लॉकडाउन में जमा पूंजी और राशन सब खत्म हो चुका है लेकिन प्रशासन की ओर से कोई राहत नहीं दी जा रही है। चाय बेचने वाली उषा देवी काम बंद होने के कारण दो बच्चों का पेट नहीं पाल पा रही हैं। परमात्मा प्रसाद, वकील, रामू, अजय, शहजादे, श्यामू, कल्लू आदि दैनिक मजदूरी कर परिवार चलाते हैं। अधिकतर लोगों के घर में दो दिन से चूल्हा नहीं जल पाया है।
मुड़िलाडीह हमारी नगर पंचायत का हिस्सा नहीं है इसलिए वहां के लोगों को नगर पंचायत चुनाव में मतदान का अधिकार नहीं है। बताया जाता है कि बहुत पहले तय हुआ था कि सर्वे का मुड़िलाडीह को ग्रामीण वार्ड बनाया जाएगा, वर्तमान में यह प्रकरण शासन स्तर पर लंबित है।
राजन गुप्ता, ईओ नगर पंचायत बढ़नी
पहचान दिलाने के लिए हो चुके हैं प्रदर्शन
दुधवनिया बुजुर्ग के ग्राम प्रधान हैदर आलम बताते हैं कि मुड़िलाडीह को नगर पंचायत बढ़नी या दुधवनिया बुजुर्ग में शामिल किए जाने के लिए कई बार धरना-प्रदर्शन हुए हैं। हर बार अधिकारियों ने इस डीह को या तो नगर पंचायत या हमारे गांव में समायोजित करने का आश्वासन दिया लेकिन आज तक कोई कार्रवाई नहीं हो सकी। विकास के नाम पर सांसद जगदंबिका पाल ने सांसद निधि से इस गांव के नाली बनवाई थी इसके अलावा कोई विकास कार्य नहीं हुआ।
... और पढ़ें

सांप्रदायिक पोस्ट के मामले में दो गिरफ्तार

लॉकडाउन में नेपाल में फंसे 120 मजदूर

लॉकडाउन में नेपाल में फंसे 120 मजदूर
कपिलवस्तु में बच्चों के साथ फंसे हैं सभी लोग
मध्यप्रदेश के सागर जिले के हैं निवासी
अमर उजाला ब्यूरो
कपिलवस्तु। सीमा से सटे नेपाल के पकड़ी बाजार में लॉकडाउन के बाद 120 मजदूर फंस गए हैं। इनमें 40 बच्चे भी शामिल हैं। ऐसे में उन्हें कई प्रकार की समस्याओं से जूझना पड़ रहा है। सभी मजदूर मध्यप्रदेश के सागर जिले के मूल निवासी बताए जा रहे हैं। नेपाल के कपिलवस्तु जनपद की भारतीय सीमा से सटे पकड़ी थाना क्षेत्र स्थित साप्ताहिक बाजार पकड़ी और लबनी में लगभग 120 भारतीय मजदूर काम करते हैं। लॉकडाउन के कारण यह लोग फंस हैं। मजदूरों के अनुसार वे लोग भारत के मध्य प्रदेश के सागर जिले के तहसील व थाना मलथान कस्बे के रहने वाले हैं। यह लोग घूम-घूम कर हस्त निर्मित हंसिया, हथौड़ा, खुरपा, खुरपी आदि लोहे के सामान जगह-जगह बेचते थे। वर्तमान में लॉकडाउन के कारण वहां फंस गए हैं। हालांकि पकड़ी के बाजार व्यवस्थापन समिति व्यापारियों और ग्रामीणों ने इन लोगों के भोजन-पानी की व्यवस्था की है। पकड़ी और लबनी बाजार में फंसे भारतीयों में रमेश लोगडिय़ा, भूरे लोगडिय़ा, राम स्वरूप लोगडिय़ा, संतरा बाई लोगड़िया, मक्खन लोगड़िया, गौरा लोगड़िया, रामस बाई, गीता, गब्बर, सुमेर, राधा, मुकेश, गोलू, अमर, विष्णु लोगड़िया सहित 30 महिलाएं, 50 पुरुष और 40 बच्चे लोग शामिल हैं।
... और पढ़ें

Coronavirus in Gorakhpur: बस्ती के संक्रमित युवक की मौत के बाद 15 रिश्तेदार क्वारंटीन, जनाजे में हुए थे शामिल

कोरोना संक्रमण के कारण मौत का शिकार हुए बस्ती के युवक की बहन का ससुराल बिस्कोहर कस्बे के एक मोहल्ले में है। युवक की मौत होने पर महिला के पति सहित परिवार के दो लोग जनाजे में शरीक हुए थे। महिला मायके में एक माह पहले से ही थी, प्रशासन ने उसे वहीं क्वारंटीन कर दिया है।

बृहस्पतिवार की देर रात एसडीएम और सीओ की मौजूदगी में परिवार के 15 सदस्यों को महिला चिकित्सालय के क्वारंटीन वार्ड में भर्ती कराया गया। सूत्रों के अनुसार बस्ती में जिस युवक की मौत कोरोना से हुई है उसकी बहन की शादी बिस्कोहर मुख्य बाजार निवासी एक व्यक्ति से हुआ है। महिला एक माह पहले से ही मायके में थी।

युवक की मौत का समाचार मिलने पर जीजा और एक अन्य सदस्य जनाजे में शामिल होने बस्ती गए थे और उसी शाम बिस्कोहर लौट आए थे। बृहस्पतिवार को महिला का पति राशन लेने के लिए कोटेदार के यहां गया था।

देर शाम प्रशासन को इसकी जानकारी होते ही एसडीएम इटवा विकास कश्यप, सीओ डुमरियागंज महेंद्र सिंह देव, एसओ त्रिलोकपुर रणधीर मिश्र, चौकी इंचार्ज बिस्कोहर कन्हैयालाल मौर्य, डॉ. शैलेंद्र मणि ओझा व स्वास्थ्य विभाग की टीम व बेसिक शिक्षा मंत्री के भाई अरुण द्विवेदी भी मौके पर पहुंच गए।

युवक और उसके परिवार के 15 सदस्यों को मेडिकल टीम ने महिला चिकित्सालय के क्वारंटीन वार्ड में भर्ती कराया गया। स्वास्थ्य टीम के अनुसार अभी तक किसी को बुखार व जुकाम जैसे शिकायत नहीं मिली है।
... और पढ़ें

कोरोना का खौफ: गांव में बाहरियों के प्रवेश पर लगाई रोक

गांव के बाहर लगाई बैरिकेडिंग
पकड़ी। कोरोना आपदा में सुरक्षा के प्रयासों के साथ ही ग्रामीण भी सतर्कता बरत रहे हैं। जोगिया ब्लॉक की ग्रामसभा नकाही के टोला इमिलडीह में ग्रामीणों ने गांव के बाहर जाने वाली सड़क पर बैरिकेडिंग लगाकर गांव में अजनबियों के प्रवेश पर रोक लगा दी है। साथ ही बैरियर पर बोर्ड लगा रखा दिया है कि जो लोग इसका पालन नहीं करेंगे उन पर 5000 रुपये का जुर्माना वसूला जाएगा। इस गांव में महिलाओं से लेकर बुजुर्ग एवं बच्चे भी सोशल डिस्टेंस का पालन कर रहे हैं। गांव के मतन निषाद, सुभावती, गरजू और राजकुमार निषाद का कहना है कि हम लोग खुद लॉकडाउन में सोशल डिस्टेंस का पालन करेंगे और दूसरों से भी कराएंगे।
... और पढ़ें
अपने शहर की सभी खबर पढ़ने के लिए amarujala.com पर जाएं

Disclaimer


हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर और व्यक्तिगत अनुभव प्रदान कर सकें और लक्षित विज्ञापन पेश कर सकें। अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।
Agree
Election
  • Downloads

Follow Us