विज्ञापन

मैनपुरी

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
Digital Edition

मैनपुरी: प्रेमी निकला नवविवाहिता पर हमले का आरोपी, मोबाइल ने खोला हमलावार का राज

शादीशुदा प्रेमिका ने जब साथ चलने से मना किया तो गुस्से में आकर प्रेमी ने जान लेने की कोशिश की थी। गांव तिसौली में नवविवाहिता पर हुए जानलेवा हमला की वारदात का पुलिस ने मंगलवार को खुलासा किया। पुलिस के अनुसार युवती और युवक के बीच करीब तीन साल से प्रेम संबंध थे। आरोपी ने जुर्म का इकबाल किया है। 

थाना क्षेत्र के गांव तिसौली निवासी युवक की शादी करीब 17 दिन पूर्व थाना किशनी के गांव कुरसंडा निवासी युवती के साथ हुई थी। चार दिन पूर्व पति के दिल्ली चले जाने के बाद रात के समय युवती पर किसी ने चाकू से हमला कर घायल कर दिया था। मामले की जांच में जुटी पुलिस ने मंगलवार को वारदात का खुलासा किया है। सीओ अमर बहादुर ने प्रेसवार्ता कर बताया कि युवती पर जानलेवा हमला करने वाला कोई और नहीं बल्कि उसका ही प्रेमी सुमित पुत्र महेश चंद्र था। 

दोनों एक ही गांव के रहने वाले हैं, करीब तीन वर्ष से प्रेम संबंध चल रहे थे। पांच दिसंबर की रात प्रेमिका के बुलाने पर ही वह साइकिल से उसके घर पहुंचा था। वहां सुमित ने प्रेमिका से साथ चलने के लिए कहा तो उसने मना कर दिया। यह बात सुनकर प्रेमी सुमित आग बबूला हो गया। साथ लाए चाकू से उसने प्रेमिका पर हमला कर दिया। युवती की चीख सुनकर जब घर में सो रहे लोग व आसपास के लोग जागे तो आरोपी वहां से भाग गया था। प्रभारी निरीक्षक नरेंद्र पाल सिंह ने बताया कि मंगलवार को उसे फर्दपुर तिराहा के पास से गिरफ्तार कर लिया गया। उसके कब्जे से हमले में प्रयुक्त चाकू और मोबाइल बरामद किया गया।

पुलिस के हाथ लगा था प्रेमी का मोबाइल
जानलेवा हमला करने के बाद सुमित हड़बड़ाहट में साइकिल लेकर भाग गया था, लेकिन वह अपना मोबाइल युवती के कमरे में ही छोड़ गया था। मौके पर पहुंची पुलिस को घटनास्थल के निरीक्षण के दौरान उक्त मोबाइल बरामद कर लिया था। आरोपी के मोबाइल की खुलासे में अहम भूमिका रही है।
 
... और पढ़ें

मैनपुरी: घर में घुसकर नवविवाहिता पर जानलेवा हमला, गले पर किए चाकू से वार, हमलावर फरार

मैनपुरी जिले में शनिवार की रात घर में घुसकर नवविवाहिता पर चाकू से हमला कर दिया गया। चीख-पुकार सुनकर परिजन और आसपास के लोग जाग गए। तभी हमलावर भाग गए। महिला को गंभीर हालत में जिला अस्पताल में भर्ती कराया गया। वहां से सैफई मेडिकल कॉलेज रेफर कर दिया गया। पुलिस हमलावरों की तलाश में जुटी है। 

घटना थाना बिछवां क्षेत्र के गांव तिसौली की है। हमले में घायल नवविवाहिता 19 वर्षीय सुलेखा की शादी 15 दिन पूर्व जयवीर से हुई थी। परिजनों के अनुसार नवदंपती के बीच सबकुछ ठीक चल रहा था। जयवीर सिंह दिल्ली में रहकर ऑटो चलाता है। तीन दिन पूर्व वह दिल्ली चला गया था। घर पर मां, बहन और उसकी पत्नी सुलेखा थे। 


शनिवार को सुलेखा की सास पड़ोस के घर में आयोजित कार्यक्रम में शमिल होने गईं थीं। घर पर ननद सुजाता और सुलेखा रह गए थे। परिजनों के अनुसार दोनों अलग-अलग कमरों में सो रहे थे। रात करीब डेढ़ बजे घर में अज्ञात हमलावर दाखिल हुए और कमरे में सो रही सुलेखा को पीटने लगे। हमलावरों ने गले पर चाकू से वार किए। 
 
... और पढ़ें

घर आए पति के बहनोई ने साथी संग किया महिला से दुष्कर्म, पुलिस ने नहीं लिखी रिपोर्ट

मैनपुरी के एक मोहल्ला निवासी महिला के साथ पति के बहनोई और उसके साथी ने तमंचे के बल पर सामूहिक दुष्कर्म किया। आरोप है कि आरोपियों ने उसे शिकायत करने पर जान से मारने की धमकी दी। आरोप है कि पीड़िता ने कोतवाली में शिकायत की लेकिन पुलिस ने रिपोर्ट दर्ज नहीं की। गुरुवार को पीड़िता ने एसपी कार्यालय में प्रार्थना पत्र देकर रिपोर्ट दर्ज कराने की मांग की। 


थाना बिछवां क्षेत्र की रहने वाली अनुसूचित जाति की महिला वर्तमान में पति के साथ शहर के एक मोहल्ला में रहती है। बुधवार को महिला का पति किसी काम से बाहर गया था। आरोप है कि विगत रात करीब 10:30 बजे पति का बहनोई अपने एक साथी के साथ घर पर आया।

नगीना हत्याकांड: प्रेमिका के सिर में मारी थी गोली, फिर लाश के पास फूट-फूटकर रोया आरोपी

इस पर महिला ने उसे नाश्ता पानी कराया। इसके बाद कमरे में जाकर सो गई। रात करीब 11 बजे आरोपी तमंचा लेकर उसके कमरे में आए और तमंचे के बल पर आरोपियों ने बारी-बारी से उसके साथ साथ दुष्कर्म किया।

पीड़िता ने मामले की शिकायत कोतवाली में की तो जांच के बाद कार्रवाई की बात कही गई। इसके बाद वह शिकायत लेकर एसपी अविनाश पांडेय से मिलने पहुंची, लेकिन अधिकारी से मुलाकात नहीं हो सकी। इसके बाद महिला ने शिकायती पत्र एसपी कार्यालय में दिया। मामले में इंस्पेक्टर भानुप्रताप सिंह का कहना है कि कोतवाली में इस तरह की कोई शिकायत प्राप्त नहीं हुई। यदि शिकायत मिलती है तो मामला दर्ज कर कार्रवाई की जाएगी। ... और पढ़ें

मैनपुरी: फर्जी शस्त्र लाइसेंस बनाने वाले गिरोह का पर्दाफाश, पुलिस ने तीन आरोपियों को किया गिरफ्तार

मैनपुरी में पुलिस ने फर्जी शस्त्र लाइसेंस बनाने वाले गिरोह के तीन शातिरों को गिरफ्तार किया है। उनके कब्जे से चार फर्जी लाइसेंस भी बरामद हुए हैं। गिरोह के तीन अन्य सदस्यों की तलाश में पुलिस जुट गई है। रविवार को सीओ सिटी ने प्रेसवार्ता कर इस कार्रवाई के संबंध में जानकारी दी। 

रविवार को इंस्पेक्टर कोतवाली भानु प्रताप को मुखबिर ने सूचना दी कि बेवर का रहने वाला एक व्यक्ति जो फर्जी शस्त्र लाइसेंस बनाता है। वह क्षेत्र में गया है। इस सूचना पर इंस्पेक्टर ने एसआई अमित सिंह ने एक टीम को गिरफ्तारी के लिए लगा दिया। कुछ देर बाद गोला बाजार तिराहा के पास से पुलिस ने उमेश चंद्र निवासी मनकापुर बेवर को गिरफ्तार कर लिया।

सीओ सिटी अभय नारायण राय ने बताया कि पकड़े गए उमेश के कब्जे से चार शस्त्र लाइसेंस बरामद हुए। जब इसकी असलहा बाबू से जांच कराई गई तो यह फर्जी पाए गए। कार्यालय में उक्त लाइसेंस किसी और के नाम से पंजीकृत थे। सख्ती से पूछताछ करने पर उमेश ने बताया कि वह अपने साथियों के साथ मिलकर फर्जी लाइसेंस बनाता है। 
... और पढ़ें
सांकेतिक तस्वीर सांकेतिक तस्वीर

मैनपुरी: पांच साल की बालिका से समुदाय विशेष के युवक ने किया दुष्कर्म, मां के साथ मंदिर गई थी मासूम

मैनपुरी के करहल थाना क्षेत्र के अंतर्गत गुरुवार को मां के साथ मंदिर में पूजा करने गई पांच साल की मासूम के साथ युवक ने दुष्कर्म किया। लोगों के आने पर आरोपी बच्ची को लहूलुहान छोड़ वहां से भाग गया। घटना की जानकारी होने के बाद पुलिस हरकत में आ गई। बच्ची को अस्पताल में भर्ती कराया गया, वहीं दबिश देकर आरोपी को गिरफ्तार कर लिया गया। वहीं एक अन्य घटना में चार साल की मासूम से दुष्कर्म की कोशिश की गई है। पुलिस ने इस घटना के आरोपी को पकड़कर न्यायालय में पेश किया जहां से उसे जेल भेज दिया गया।

करहल थाना क्षेत्र की एक बस्ती निवासी एक महिला गुरुवार की सुबह महाशिवरात्रि पर पूजा करने के लिए मंदिर गई थी। उनके साथ पांच साल की पुत्री भी थी। मां जब मंदिर में चली गई तो बच्ची बाहर खेलने लगी। आरोप है तभी आरोपी इरशाद वहां आया और बच्ची को मंदिर के पीछे ले गया। वहां उसने बच्ची के साथ दुष्कर्म किया।

बच्ची की चीख पुकार सुनकर आसपास के लोग एकत्र हुए तो आरोपी बच्ची को लहूलुहान हालत में पड़ा छोड़कर भाग गया। स्थानीय लोगों ने बच्ची को अस्पताल में भर्ती कराया। उधर, सूचना मिलने के बाद प्रभारी निरीक्षक शिवकुमार चौहान पुलिस बल के साथ मौके पर पहुंचे। मामले को गंभीरता से लेते हुए पुलिस ने आरोपी के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर लिया। दबिश देकर आरोपी को भी गिरफ्तार कर लिया। 
... और पढ़ें

यूपी: अपहरण कर किशोरी से सामूहिक दुष्कर्म, आठ दिन बंधक बनाकर रखा, आरोपी फरार

मैनपुरी जिले के थाना औंछा क्षेत्र में एक गांव निवासी किशोरी को आठ दिन तक बंधक बनाकर तीन युवकों ने दुष्कर्म किया। काफी तलाश के बाद परिजनों ने उसे गाजियाबाद से मुक्त कराया। आरोपी फरार हैं। पीड़िता के पिता ने पुलिस पर भी मामले में उचित कार्रवाई नहीं करने का आरोप लगाया है।
 
परिजों के अनुसार 13 वर्षीय किशोरी 15 जनवरी को खेत पर गई थी। तभी आकाश निवासी गांव हरिसारी थाना अलीगंज (एटा) उसे साथी हरिओम और गुड्डू निवासी कठेगरा औछा की मदद से अगवा कर ले गया। तलाश के बाद परिजनों को सूचना मिली कि किशोरी गाजियाबाद की इंद्रापुरम कॉलोनी में है। 

25 जनवरी को परिजन उसे तलाशते हुए गाजियाबाद पहुंचे तो उन्हें देखकर आकाश भाग गया। परिजन किशोरी को मुक्त करा घर ले आए। पीड़िता ने बताया कि आठ दिन तक आरोपियों ने उसके साथ दुष्कर्म किया। किशोरी के परिजन 28 जनवरी को थाना औंछा में तहरीर दी, लेकिन लेकिन पुलिस ने अगवा करने का मामला दर्ज किया। 
... और पढ़ें

प्रेम संबंधों में हुई थी युवक की हत्या, मैनपुरी पुलिस ने हत्यारोपी जीजा-साले को गिरफ्तार कर किया खुलासा

मैनपुरी में किठाह मार्ग पर 20 दिन पूर्व मिले अज्ञात शव की पहचान के साथ ही पुलिस ने आरोपियों का भी पता लगा लिया है। अज्ञात शव विशाल का था। उसकी हत्या शादीशुदा प्रेमिका के पति व जीजा ने समाज में हो रही बदनामी के चलते एक अन्य साथी के साथ मिलकर की थी। मंगलवार को सीओ भोगांव ने प्रेसवार्ता कर घटनाक्रम के बारे में जानकारी दी। 

चौकी परिसर में मंगलवार को प्रेसवार्ता कर सीओ भोगांव ने बताया कि पुलिस ने देवेंद्र दिवाकर निवासी नगला पांडेय बेवर और कुलदीप उर्फ विक्रम निवासी गांव बीबीपुर थाना सौरिख कन्नौज को गिरफ्तार किया है। इन लोगों ने विशाल की हत्या किए जाने का जुर्म कबूल किया। पकड़े गए देवेंद्र ने बताया कि छोटी साली की शादी कुलदीप उर्फ विक्रम के साथ 2015 में हुई थी। करीब डेढ़ वर्ष पूर्व विशाल पत्नी को अपने साथ नोएडा ले गया। वहां एक किराए के मकान में रहने लगा। इससे समाज में उसकी व साले की काफी बदनामी हो रही थी। तभी उन लोगों ने विशाल की हत्या किए जाने की योजना बनाई। 

आगरा: सेना में भर्ती होने का युवाओं के लिए सुनहरा मौका, जानिए कब से शुरू होंगी भर्तियां

योजना के तहत पहले उसने पत्नी और विशाल को अपने विश्वास में लेना शुरू कर दिया। विशाल टेंपो चलाता था, उसकी कुछ किस्तें जमा करने को रह गईं थीं। उसने किस्त जमा कराने में मदद की बात कहकर 20 जनवरी को अपने घर बुलाया। वहां उसे शराब पिलाई और जब वह नशे में हो गया तो उसे किठाह मार्ग पर बगिया में ले गए। वहां उसकी मफलर से गला घोंटकर हत्या कर दी। शव को झाड़ियों में छिपा दिया। हत्या की इस वारदात में उनका सहयोग अश्वनी उर्फ भोले निवासी तेजगंज बेवर ने भी किया था। सीओ ने बताया कि गिरफ्तार जीजा-साले को जेल भेजा गया है। वहीं हत्याकांड में शामिल तीसरे आरोपी की तलाश की जा रही है। ... और पढ़ें

मैनपुरी: चार सुरक्षा कर्मचारियों को बंधक बनाकर बिजली विभाग के गोदाम में डाका, तीन असलहा लूटे

मैनपुरी पुलिस ने पकड़े हत्या के आरोपी जीजा-साले
मैनपुरी के दन्नाहार थाना क्षेत्र के सिरसागंज रोड स्थित साउथ यूपीपीटीसीएल (उत्तर प्रदेश पॉवर ट्रांसमिशन कोरपोरेशन लिमिटेड) के अस्थाई गोदाम में मंगलवार रात बदमाशों ने डाका डाला। गोदाम की सुरक्षा में तैनात चार सुरक्षाकर्मियों को बंधक बनाकर बदमाश एक रायफल और दो सिंगल बैरल बंदूक लूट ले गए। बुधवार सुबह जानकारी मिलने पर स्थानीय पुलिस के साथ आईजी आगरा जोन ने घटनास्थल का निरीक्षण किया। 


सार्वजनिक निजी भागीदारी (पीपीपी) के तहत साउथ यूपीपीटीसीएल के पास 35 साल के लिए ट्रांसमिशन पावर हाउस खर्रा के संचालन की जिम्मेदारी है। कंपनी ने बिजली उपकरण रखने के लिए सिरसागंज मार्ग पर अस्थाई गोदाम बना रखा है। मंगलवार रात करीब 12 बजे करीब आठ-दस बदमाशों ने गोदाम में डाका डाला। बदमाशों ने यहां तैनात सुरक्षा कर्मचारी अवनीश कुमार निवासी नगला छोटे थाना एलाऊ, नंदकिशोर निवासी नगला खुशाल करहल, प्रदीप सिंह निवासी नगला रामकिशन जिला फर्रुखाबाद और शशांक सिंह निवासी नगला पाल थाना कुर्रा को बंधक बना लिया।


बदमाशों ने चारों सुरक्षाकर्मचारियों को पीटते हुए शशांक की राइफल, नंदकिशोर और प्रदीप की सिंगल बैरल बंदूक लूट ली और फरार हो गए। जानकारी पर थाना पुलिस मौके पर पहुंची। बुधवार तड़के एसपी अविनाश पांडेय भी मौके पर पहुंच गए और जांच शुरू की। बुधवार दोपहर आईजी आगरा जोन ए सतीश गणेश (एडीजी प्रमोट) ने घटनास्थल का निरीक्षण कर जानकारी जुटाई। उन्होंने वारदात का जल्द से जल्द खुलासा करने के निर्देश स्थानीय पुलिस को दिए। देर शाम तक बदमाशों का सुराग नहीं लग सका था। 
 
... और पढ़ें

मैनपुरी: दरोगा की पिस्टल छीनकर भागा बदमाश, मुठभेड़ में गोली लगने से घायल

मैनपुरी जिले में पशु चोर गिरोह का सरगना मंगलवार दोपहर पेशी पर लाए जाने के दौरान दरोगा की पिस्टल छीनकर भाग निकला। उसने पीछा कर रही पुलिस टीम पर फायरिंग की। पुलिस की जवाबी कार्रवाई में बदमाश पैर में गोली लगने से घायल हो गया। उसे जिला अस्पताल से मेडिकल कॉलेज सैफई रेफर किया गया है।  
करहल थाना क्षेत्र के गांव नगला दयाल निवासी रामनरेश की 24 दिसंबर की रात पशु चोर को पकड़ने पर साथियों ने गोली मारकर हत्या कर दी थी। इस मामले में एक जनवरी को थाना पुलिस ने मुठभेड़ के दौरान चार पशु चोर फग्गू उर्फ राम सिंह बंजारा, जुम्मा, अमन खां और और इरफान उर्फ सोहिल को गिरफ्तार किया था। पशु चोरों के गिरोह के सरगना सलमान और उसके अन्य साथियों तलाश में पुलिस जुटी थी।
संबंधित खबर:
मैनपुरी में बड़ी वारदात: भैंस चोरी करने आए बदमाशों ने गोली मारकर की किसान की हत्या

सोमवार रात पुलिस ने गैंग के सरगना सलमान को घिरोर मार्ग से गिरफ्तार कर लिया। मंगलवार की दोपहर थाना पुलिस उसे जीप से पेशी पर ले जा रहे थी। पुलिस के अनुसार दोपहर करीब एक बजे बजे बुझिया पुल के पास उसने लघुशंका की बात कही। इस पर एसआई अंकित सिंह ने उसे नीचे उतारा। जीप से उतरते ही उसने दरोगा की पिस्टल छीन ली और भागने लगा।  ... और पढ़ें

मैनपुरी में बड़ी वारदात: भैंस चोरी करने आए बदमाशों ने गोली मारकर की किसान की हत्या

मैनपुरी जिले के थाना करहल क्षेत्र के नगला दयाल में गुरुवार देर रात एक घर में घुसे चोर को गृहस्वामी और उसके भाई ने पकड़ लिया। उसे बचाने के लिए अन्य साथियों ने पथराव और फायरिंग की। गोली लगने से गृहस्वामी की मौत हो गई और भाई गंभीर रूप से घायल हो गया। भतीजे की तहरीर पर पुलिस ने मुकदमा दर्ज कर जांच शुरू कर दी है। 

थाना क्षेत्र के गांव नगला दयाल निवासी 45 वर्षीय रामनरेश गुरुवार रात परिजनों के साथ घर में सो रहे थे। देर रात करीब 12:50 घर में कुछ चोर घुस आए। आहट सुनकर रामनरेश और भाई मुन्नालाल जाग गए। उन लोगों ने घर में एक चोर को पकड़ लिया और ग्रामीणों को जगाने के लिए शोर मचाना शुरू कर दिया। पकड़े गए साथी को बचाने के लिए अन्य चोरों ने पथराव करते हुए दोनों भाइयों को पीटना शुरू कर दिया। जब दोनों ने पकड़े गए चोर को नहीं छोड़ा, तो एक ने तमंचा से फायरिंग कर दी। एक गोली लगने से रामनरेश लहूलुहान होकर जमीन पर गिर गए। डंडा लगने से मुन्नालाल भी गंभीर रूप से घायल हो गया।

साथी को छुड़ाने के बाद सभी चोर भाग गए। सूचना पर पहुंची पुलिस दोनों भाइयों को मेडिकल कॉलेज सैफई में भर्ती कराया है। यहां रामनरेश को भी परीक्षण के लिए ले जाया गया, जिसे डॉक्टरों ने मृत घोषित कर दिया। पुलिस ने मृतक के भतीजे रंजीत की तहरीर पर अज्ञात के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर तलाश शुरू कर दी है। 

 
एक चोर को परिजनों ने पकड़ लिया था। इसके चलते साथियों ने पथराव और फायर किया। गोली लगने से गृहस्वामी की मौत हुई है। पुलिस चोरों की तलाश में जुटी हुई है। - अशोक कुमार, सीओ करहल। 
... और पढ़ें

चांदनी हत्याकांड: जिससे बेपनाह मोहब्बत करता था उसका शव भी घर नहीं ले जा सका, खत्म हुई एक और प्रेम कहानी

मैनपुरी के किशनी के कश्यप नगर में चांदनी की हत्या उसके सगे भाइयों ने की। हत्या के बाद शव को जमीन में दफन कर दिया। पुलिस ने खोदाई के बाद शव निकाला। शव बुरी हालत में था और उसे कहीं ले जाना नामुमकिन था। पुलिस ने पोस्टमार्टम के बाद चांदनी का शव उसके पति अर्जुन को सौंप दिया। चांदनी का अंतिम संस्कार किशनी में ही किया गया लेकिन अर्जुन के मन में ये टीस थी कि वो पत्नी का अंतिम संस्कार अपने गांव नहीं कर सका। अर्जुन ने चांदनी से प्रेम विवाह किया था। अंतिम संस्कार के दौरान अर्जुन फूट-फूटकर रोया। आन की खातिर एक और प्रेम कहानी का दर्दनाक अंत हो गया। अगली स्लाइड में पढ़िए पूरा घटनाक्रम... ... और पढ़ें

मैनपुरी: सिर कुचलकर ई-रिक्शा चालक की हत्या से सनसनी, विवाद के बाद दिया हत्याकांड को अंजाम

शराब के नशे में धुत ई-रिक्शा चालक की शनिवार रात ईंट से चेहरा और सिर कुचलकर हत्या कर दी गई। वारदात की जानकारी मिलने के बाद एएसपी ने घटनास्थल का निरीक्षण किया। हत्या के आरोपी को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया। उसने बताया कि ई-रिक्शा चालक उसकी मां को गाली दे रहा था।


मैनपुरी के भोगांव थाना क्षेत्र के मोहल्ला पथरिया तमोलियान निवासी राजेंद्र उर्फ कल्लू (38) शराब पीने का आदी था। परिजनों के अनुसार वह ई-रिक्शा चलाकर जो भी रुपया कमाता था, उसे नशे की लत में खर्च कर देता था। शनिवार की रात करीब आठ बजे वह नशे में धुत होकर मोहल्ला गड्ढा निवासी सलीम के पास पहुंचा।

बातचीत के बाद दोनों के बीच विवाद हो गया। कल्लू उसकी मां को गालियां देने लगा। मना करने के बाद भी जब राजेंद्र नहीं माना तो सलीम उसे खींच कर एक दुकान के सामने ले गया। वहां पड़ी ईंट को उठाकर सिर और चेहरे पर कई वार किए। इससे उसकी घटनास्थल पर ही मौत हो गई।

वारदात को अंजाम देने के बाद आरोपी वहां से भाग गया। वारदात की जानकारी मिलने के बाद एएसपी मधुवन कुमार ने घटनास्थल का निरीक्षण कर जानकारी जुटाई। राजेंद्र को एंबुलेंस से जिला अस्पताल भेजा गया। वहां चिकित्सकों ने मृत घोषित कर दिया। देर रात पुलिस ने दबिश देकर आरोपी सलीम को गिरफ्तार कर लिया। 

युवक की हत्या आपसी विवाद के बाद की गई है। तहरीर के आधार पर पुलिस ने रिपोर्ट दर्ज कर ली है। -मधुवन कुमार सिंह, एएसपी।  
 
... और पढ़ें
  • Downloads
    News Stand

Follow Us

  • Facebook Page
  • Twitter Page
  • Youtube Page
  • Instagram Page
  • Telegram
एप में पढ़ें

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00