विज्ञापन
विज्ञापन
आज ही बनवाएं फ्री जन्मकुंडली, जानें कैसा है आपका भविष्य !
JANAM KUNDALI

आज ही बनवाएं फ्री जन्मकुंडली, जानें कैसा है आपका भविष्य !

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

From nearby cities

विज्ञापन
Digital Edition

विद्यालय आवंटन काउंसलिंग में दो शिक्षिकाएं कोरोना संक्रमित

कंपोजिट मॉडल इंग्लिश स्कूल एलमपुर में विद्यालय आवंटन के लिए हो रही काउंसलिंग में दो शिक्षिकाएं कोरोना संक्रमित पाई गई। बृहस्पतिवार को 56 दिव्यांग व महिला शिक्षिकाओं की काउंसलिंग हुई, जबकि दोअनुपस्थित रहे।

एलमपुर में चार-तीन दिव्यांग महिला व पुरुष व 49 महिला शिक्षिकाओं की काउंसलिंग हुई। काउंसलिंग में देरी से पहुंचने के चलते एक महिला शिक्षिका व दिव्यांग कोटे से एक पुरुष की काउंसलिंग नहीं हो सकी। अब इनकी काउंसलिंग शुक्रवार व शनिवार को होगी। इससे पहले स्वास्थ्य टीम की ओर से की गई एंटीजन जांच में दो शिक्षिकाएं कोविड-19 संक्रमित पाई गईं। हालांकि, स्वास्थ्य टीम की देखरेख में शिक्षा विभाग ने कोविड-19 के दिशा-निर्देश का पालन करते हुए दोनों संक्रमित शिक्षिकाओं की काउंसलिंग करा दी।

काउंसलिंग से पहले शिक्षिकाओं की थर्मल स्कैनिंग हुई। उन्हें गोले में लगी कुर्सी पर बिठाया गया। डायट के प्राचार्य डॉ. आईपीएस सोलंकी, बीएसए डॉ. लक्ष्मीकांत पांडेय, परियोजना निदेशक सचिन की देखरेख में शिक्षिकाओं की काउंसलिंग हुई। काउंसलिंग की व्यवस्था वीके सिंह, दुष्यंत सिंह, सचिन दीक्षित, देवेश गुप्ता व कुलदीप चौधरी ने संभाली।
... और पढ़ें

ट्रांसपोर्ट नगर का निर्माण आरंभ, ओएसडी बोले- समतलीकरण का काम एक सप्ताह में हो जाएगा पूरा

गांव ल्योहसरा में बहुप्रतीक्षित ट्रांसपोर्ट नगर निर्माण कार्य बृहस्पतिवार से विधिवत रूप से आरंभ हो गया। पैमाइश हुई तो समतलीकरण में जुटी प्राधिकरण की जेसीबी दिनभर दहाड़ती रही। इस दौरान ग्राम प्रधान ठा. रहीशपाल सिंह भी मौजूद रहे और इस सफलता के लिए क्षेत्रवासियों के साथ-साथ जिला प्रशासन को भी बधाई दी है।

गांव ल्योहसरा में ट्रांसपोर्ट नगर निर्माण के लिए भूमि के समतलीकरण का काम बृहस्पतिवार से आरंभ हो गया। ओएसडी आलोक गुप्ता के नेतृत्व में प्राधिकरण की जेसीबी दिनभर भूमि समतल करने में जुटी रही। बताते चलें कि प्राधिकरण के अधिकार क्षेत्र में आई 50 हेक्टेयर भूमि के चरणवार समतलीकरण की रणनीति बनाई गई है।

पहले चरण में 8 हेक्टेयर भूमि की पैमाइश हो गई है। बृहस्पतिवार से इस भूमि के समतलीकरण का काम आरंभ हो गया। ओएसडी आलोक गुप्ता ने बताया कि चयनित भूमि के समतलीकरण का काम अगले सप्ताह के अंत तक पूर्ण हो जाएगा। ग्राम प्रधान ठा. रहीशपाल सिंह ने कहा है कि इस काम में प्रशासन का पूरा सहयोग किया जाएगा।
... और पढ़ें

कारीगर के घर में पटाखे की चिंगारी से लगी आग

थाना बन्नादेवी क्षेत्र के सराय रहमान के एक फर्नीचर कारीगर के घर में पटाखे की चिंगारी से आग लग गई। इस आग में घर में रखा काफी सामान जल गया और आग बुझाने के प्रयास में खुद कारीगर व पड़ोसी झुलस गए। हालांकि खबर पर पहुंची दमकल ने आग पर काबू पाया।

सराय रहमान निवासी फर्नीचर कारीगर यूसुफ के घर में बृहस्पतिवार शाम बच्चे खेलते समय पटाखे चला रहे थे। इसी दौरान चिंगारी से घर में आग लग गई। कुछ देर बाद घर से धुआं निकलने लगा। देखते ही देखते आग ने भीषण रूप ले लिया। आग की लपटें देख आसपास के लोग हरकत में आ गए और आग बुझाने के प्रयास किए। खबर पर 20 मिनट में दमकल भी पहुंच गई। कुछ ही देर में आग पर काबू पा लिया गया। इस दौरान आग बुझाने के प्रयास में यूसुफ सहित दो लोग झुलस गए। बन्नादेवी पुलिस के अनुसार फर्नीचर व घरेलू सामान का नुकसान इस आग में हुआ है।


पटाखे नहीं चलाएंगे पर्यावरण बचाएंगे
पटाखे वायु प्रदूषण तो बढ़ाते ही हैं, हर साल इनके कारण होने वाली दुर्घटनाओं से जान माल को भारी नुकसान भी होता है। महामारी के इस दौर में वायुप्रदूषण बढ़ा तो खतरा कई गुना बढ़ जाएगा।  इस खतरे को देखते हुए अमर उजाला ने एक युद्ध पटाखों के विरुद्ध छेड़ दिया है। इस युद्ध को जीतने के लिए हम सब को एक शपथ लेनी होगी - पटाखे नहीं चलाएंगे, पर्यावरण बचाएंगे।


बच्चे हमारे इस अभियान के ब्रांड एंबेस्डर हो सकते हैं। बच्चों से अपील है कि एक पोस्टर पर यही शपथ लिखकर पोस्टर के साथ अपना फोटो खिंचवाकर निम्नलिखित मेल आईडी पर भेजें। मेल के साथ अपना नाम उम्र और शहर -कस्बे का नाम जरूर लिखें। चुनिंदा फोटो अमर उजाला में प्रकाशित किए जाएंगे। मेल आई डी-ali-cityreporter @ali.amarujala.com 
... और पढ़ें

मुख्तार के बेटों की अपील खारिज, खाली कराया जा रहा गजल होटल की दुकानों को, चारों तरफ फोर्स तैनात 

वाहनों में सामान लादते दुकानदार वाहनों में सामान लादते दुकानदार

यूपी में 1822 नए कोरोना पॉजिटिव, लखनऊ में मिले सबसे अधिक संक्रमित

यूपी में शनिवार को 1822 नए कोरोना पॉजिटिव मामले सामने आए हैं। यह संख्या शुक्रवार से लगभग 600 कम है। वहीं 2426 लोगों को ठीक होने के बाद डिस्चार्ज किया गया है। इस तरहब प्रदेश में 23678 एक्टिव मरीज बचे हैं। प्रदेश में अब तक कुल 481863 कोरोना पॉजिटिव केस सामने आ चुके हैं। इनमें से 451070 को डिस्चार्ज किया जा चुका है।

अपर मुख्य सचिव सूचना नवनीत सहगल ने बताया कि अब तक प्रदेश में 1,48,63,388 नमूनों की जांच की जा चुकी है। लगभग 7025 मरीजों की मौत हो चुकी है। शुक्रवार से शनिवार तक कुल 21 संक्रमित मरीजों की मौत हुई है। इस समय प्रदेश में सिर्फ तीन ऐसे जिले हैं जहां मरीज सबसे ज्यादा हैं। 

लखनऊ में 274, नोएडा में 205, मेरठ में 103 मरीज मिले हैं। इसके अलावा वाराणसी में 79, प्रयागराज में 73, गोरखपुर में 64, गाजियाबाद में 56, कानपुर नगर में 53 मरीज मिले हैं। अन्य जिलों में 50 से कम मरीज हैं।
... और पढ़ें

अलीगढ़ः आरटीओ गेट पर दिनदहाड़े फायरिंग कर एक की हत्या, दूसरा जख्मी

महानगर के बन्नादेवी थाना क्षेत्र में संभागीय परिवहन कार्यालय (आरटीओ) के जीटी रोड स्थित गेट पर शनिवार की दोपहर हुई सनसनीखेज वारदात में एक बस ऑपरेटर की गोली मारकर हत्या कर दी गई, जबकि एक हॉस्पिटल संचालक गोली लगने से जख्मी हो गया। इस वारदात को ताबड़तोड़ फायरिंग कर दिनदहाड़े चार शूटरों ने अंजाम दिया, जिससे इलाके में अफरा-तफरी व दहशत का माहौल बन गया। 

शूटर दस हजार रुपये के विवाद से जुड़ी पुरानी रंजिश में हॉस्पिटल संचालक की हत्या के इरादे से आए थे, जबकि फायरिंग में उसके साथी बस ऑपरेटर की जान चली गई। खबर पर एसपी सिटी पुलिस टीम व फॉरेंसिक टीम के साथ मौके पर पहुंच गए। जांच पड़ताल के बाद हमलावरों की तलाश शुरू कर दी गई है। इस हत्या व हमले की घटना में हॉस्पिटल संचालक ने चार नामजदों पर मुकदमा दर्ज कराया है।

गांधी पार्क क्षेत्र के गांव सिंधौली निवासी भूपेंद्र सिंह धनीपुर मंडी स्थित आराध्या हॉस्पिटल के संचालक है। भूपेंद्र के अनुसार वह अपनी एंबुलेंस की फिटनेस के लिए दोपहर में आरटीओ कार्यालय आए थे। वहां गेट पर रामकृष्ण टूर एंड ट्रैवल्स संचालक रामकृष्ण (50) पुत्र तालेवर सिंह निवासी कुंवर नगर कालोनी, गांधी पार्क मिल गए। दोनों बात कर रहे थे, तभी चार नामजद हमलावर देवेंद्र टेड़ा, हनुमान, किट्टू और सुमित निवासीगण सिंधौली आए और आते ही उसे निशाना बनाकर ताबड़तोड़ फायरिंग कर दी। आठ राउंड फायरिंग हुई।

इस दौरान उनके बायें पैर में एक गोली व एक छर्रा लगा। इसी फायरिंग में रामकृष्ण के सीने व दायें पैर में गोली लग गईं। इस दौरान वहां अफरा-तफरी मच गई। दो गोली लगने के बाद भी हमले से बचने के लिए रामकृष्ण आरटीओ गेट से सटी एक बिल्डिंग में अंदर भागे तो हमलावरों ने उनके पीछे दौड़कर कई राउंड फायर किए, जबकि भूपेंद्र वहीं एक कोने में छिप गया। इसके बाद हमलावर मौके से भाग गए।  

सूचना पर कुछ ही देर में थाना पुलिस पहुंच गई। दोनों को जिला अस्पताल लाया गया, जहां से रामकृष्ण को नाजुक हालत में जेएन मेडिकल कॉलेज भेजा गया। मगर वहां उसे मृत घोषित कर दिया। वहीं भूपेंद्र को जिला अस्पताल से ही प्राथमिक उपचार के बाद छुट्टी दे दी गई। इस खबर पर रामकृष्ण के परिवार में कोहराम मच गया। पुलिस पूछताछ में भूपेंद्र ने बताया कि उसने देवेंद्र टेड़ा को लॉकडाउन में दस हजार रुपये उधार दिए थे। उन्हें वापस मांगने पर 29 अक्तूबर को भी विवाद हुआ था। इसके बाद शुक्रवार रात को देवेंद्र व उसके साथियों ने भूपेंद्र के भतीजे को एटा चुंगी पर धमकाया था। साथ में आराध्या हास्पिटल पर आकर भी धमकी दे गए थे। इधर, पुलिस जांच में यह भी सामने सामने आया है कि भूपेंद्र व रामकृष्ण आरटीओ में भी दलाल के रूप में सक्रिय रहते थे। भूपेंद्र का तो यहां अच्छा खासा रसूख है।

- यह हमला हास्पिटल संचालक भूपेंद्र पर हुआ था। उसकी ओर से दी गई तहरीर पर मुकदमा दर्ज किया गया है। आसपास लगे सीसीटीवी कैमरे खंगाले जा रहे हैं। हालांकि विवाद दस हजार रुपये के लेनदेन का है। मगर स्वयं भूपेंद्र व रामकृष्ण के आरटीओ पर दलाली के रूप में सक्रिय रहने की जानकारी भी मिली है। नामजद आरोपी देवेंद्र टेड़ा और हनुमान कैश वैन लूटकांड में गांधी पार्क से जेल भी जा चुके हैं। हमलावरों की तलाश में पुलिस टीमें जुटी हैं। जल्द ही उनको गिरफ्तार कर लिया जाएगा। -अभिषेक एसपी सिटी
... और पढ़ें

अलीगढ़ में गत्ता फैक्टरी में शार्ट सर्किट से लगी आग, लाखों का माल जलकर राख

अलीगढ़ के सासनीगेट क्षेत्र के पला रोड पर शुक्रवार रात एक गत्ता फैक्टरी में शार्ट सर्किट से आग लग गई। हालांकि घटना के समय फैक्टरी बंद थी। सुबह लोगों को आग की जानकारी हुई तो खबर देकर पुलिस व दमकल को बुला लिया गया, तब जाकर एक घंटे में आग बुझाई जा सकी। 

खिरनी गेट चौकी निवासी नितिन माहेश्वरी की पला रोड पर गत्ता फैक्टरी है। लॉकडाउन के बाद से फैक्टरी में काम नहीं हो रहा था। शुक्रवार को यहां गत्ते व पैकिंग का सामान रखवाया गया था। 

रात में किसी समय शॉर्ट सर्किट से आग लग गई।  सुबह करीब छह बजे लोगों ने धुआं देखा तब पुलिस को खबर दी। खबर पर मालिक भी आ गए। तब तक काफी सामान जल चुका था।  दमकल ने एक घंटे में आग पर काबू पाया।
 
... और पढ़ें

एक युद्ध पटाखों के विरुद्धः पटाखों रहेंगे दूर, दीपक जलाएंगे भरपूर

गत्ता फैक्टरी में लगी आग
अमर उजाला अभियान ‘एक युद्ध, पटाखों के विरुद्ध’ के अंतर्गत शुक्रवार को आईटीआई रोड स्थित रोज एकेडमी पब्लिक स्कूल में महिलाओं को मिशन साक्षरता अधिकारी व जीजीआईसी छर्रा की प्रधानाचार्य नीलम शर्मा ने शपथ दिलाई। कहा कि पर्यावरण संरक्षण के लिए दीवापली पर पटाखों को नहीं जलाएंगे। महिलाएं घर का अभिन्न अंग होती हैं। इस अभियान में मातृ शक्ति पूरा सहयोग करेगी।

नीलम शर्मा ने बताया कि शुक्रवार को मोबाइल पर आए नोटिफिकेशन के अनुसार अलीगढ़ शहर का वायु गुणवत्ता सूचकांक 355 था, जो कि हानिकारक है। ऐसे परिवेश में लंबे समय तक रहने पर फेफड़े और दिल की बीमारियां बढ़ेंगी।

राधे राधे वूमेन क्राफ्ट इंस्टीट्यूट के डायरेक्टर गौरव अग्रवाल ने कहा कि वायू प्रदूषण के चार प्रमुख कारण हैं। पहला हवा के बहाव में कमी आना। दूसरा दीपावली पर अत्यधिक बारूद चलाना। तीसरा हरियाणा और पंजाब के में पराली जलना और वाहनों की संख्या में अत्यधिक वृद्धि होना। ऐसे में दीपावली पर ‘अमर उजाला’ के अभियान का हिस्सा बनकर लोगों को पटाखे न जलाने के लिए प्रेरित करेंगे। इससे प्रदूषण को काफी हद तक रोका जा सकेगा। इस मौके पर जिला केंद्र प्रभारी रागिनी राजपूत, केंद्र प्रभारी गौसिया नसीम, प्रेरणा सक्सेना, रिया सक्सेना, प्रबंधक देश दीपक शर्मा मौजूद रहे।

- वायु प्रदूषण में पटाखे भी कई हद तक प्रमुख कारण है। मैं अपने परिवार को प्रेरित करूंगी कि वह इस बार घर में पटाखें नहीं लाएं और अमर उजाला के अभियान से जुड़े। -रागिनी राजपूत।

-पटाखों के साथ वाहनों की बढ़ती संख्या भी प्रदूषण को बढ़ावा दे रही है। हम पटाखों को न लाने की शपथ ले रहे हैं। इसके साथ ही प्राकृतिक ईधन से चलने वाले वाहनों को तवज्जो देनी चाहिए। -अंजलि राजौरा।

-अलीगढ़ में वायु प्रदूषण में बढ़ोत्तरी हो रही है। ऑक्सीजन की कमी हो रही है। अगर आज हम सचेत नहीं हुए तो आने वाली पीढ़ियों को दिक्कतों का सामना करना पड़ेगा। - प्रेरणा सक्सेना।

-हमें हर वह तकनीक विकसित करनी होगी, जिससे पर्यावरण का संरक्षण कर सकें। अन्यथा आने वाली पीढ़ी को आक्सीजन मास्क लगाकर घूमना पड़ेगा। आज नहीं सुधरे तो कल का भविष्य अंधकार में होगा। -प्रिया सक्सेना।

- त्योहार पर आतिशबाजी करना अच्छा लगता है, लेकिन मानवजाति के हित को देखते हुए अमर उजाला के अभियान से जुड़ रहे हैं। हम खुद न तो आतिशबाजी लाएंगे और न ही परिजनों को लाने देंगे। -देश दीपक भट्ट, डायरेक्टर रोज एकेडमी पब्लिक स्कूल।
 
 
... और पढ़ें

हाथरस कांड: एक आरोपी के दोस्त से सीबीआई ने की पूछताछ, खेत में बिटिया के परिजनों ने किया काम

अलीगढ़ पुलिस ने किया ऑनलाइन ठगी करने वाले अंतरराष्ट्रीय गिरोह का भंडाफोड़, तीन गिरफ्तार

साइबर सेल की मदद से क्वार्सी पुलिस को बड़ी सफलता हासिल हुई है। पुलिस ने दिल्ली में रहकर ऑनलाइन ठगी करने वाले अंतरराष्ट्रीय साइबर ठग गैंग के दो नाइजीरियन सरगनाओं सहित तीन लोगों को गिरफ्तार किया है। यह साइबर ठग फेसबुक पर दोस्ती कर लोगों को इनामी लालच देकर ठगते हैं। इस गैंग ने यहां किशनपुर इलाके के एक शिक्षक से इसी तरह का लालच देकर 31.23 लाख रुपये ठग लिए। इसी शिक्षक की शिकायत पर जांच करते हुए पुलिस इस गैंग तक पहुंची। साइबर ठगी से जुटाई गई रकम वेस्टर्न यूनियन मनी ट्रांसफर के जरिये नाइजीरिया ट्रांसफर की गई है। जालसाज अब तक डेढ़ करोड़ रुपये से अधिक की रकम इसी तरह ऐंठ चुके हैं।

यह जानकारी देते हुए एसपी देहात शुभम पटेल ने शुक्रवार को पुलिस लाइन सभागार में प्रेसवार्ता में बताया कि किशनपुर दयाल नगर निवासी भगवती दत्त शर्मा पेशे से शिक्षक हैं। उन्होंने पांच अगस्त को यह शिकायत दी कि उनके साथ फेसबुक पर कुछ विदेशी लोगों ने दोस्ती कर पिछले एक साल के दौरान 31.23 लाख रुपये की (मार्च 2019 से जुलाई 2020 के मध्य) ठगी कर ली है। एसएसपी ने इस शिकायत पर साइबर सेल को जांच सौंपते हुए क्वार्सी थाने में धोखाधड़ी व साइबर एक्ट का मुकदमा दर्ज कराया। इसी मामले में साइबर सेल ने जांच करते हुए विभिन्न तकनीकी पक्षों की मदद से पाया कि यह गैंग फेसबुक पर खुद को विदेशी बताकर भारतीय लोगों से दोस्ती करते हैं। इसके लिए बाकायदा फर्जी फेसबुक आईडी बनाई जाती हैं। अधिकांश मामलों में महिला की आईडी से पुरुष से और पुरुष की आईडी से महिला से दोस्ती की जाती है। 

अलग-अलग खातों में मंगवाते थे रुपये
फेसबुक पर दोस्ती के नाम पर ये जालसाज अपने शिकार को गिफ्ट पार्सल आदि भेजने की बात कहते हैं और उसे रिसीव कराने के नाम पर रकम ऐंठते हैं। जांच में पाया गया कि यह अपने शिकार को धमकाते हैं कि माल कस्टम में फंस गया है। फिर शिकार के पास अलग-अलग विदेशी व भारतीय नंबरों व व्हाट्सएप नंबरों से कॉल की जाती है। कोई खुद को कस्टम अधिकारी बताता है और कोई कुछ बताकर अलग-अलग एकाउंट में रुपये मंगाए जाते हैं। जांच में पाया कि यह लोग देश भर में घूमते हैं। अलग-अलग खातों में रुपये मंगाते हैं। 

भगवती दत्त शर्मा से भी दिल्ली, नोएडा, गाजियाबाद के अलग-अलग खातों में रुपये मंगवाए गए। जांच में एक बैंक एकाउंट की मदद से पुलिस गैंग तक पहुंचने में सफल हुई और गैंग के नाइजीरिया निवासी सरगना, उसके साथी सहित तीन लोगों को इंस्पेक्टर क्वार्सी छोटेलाल व उनकी टीम ने गिरफ्तार कर लिया। पूछताछ में दोनों नाइजीरिया के नागरिकों जॉन बुल पुत्र इलोमा व मार्वेलॉस पुत्र कॉफी निवासीगण एग्ब्रो डेल्टा नाइजीरिया हाल निवासी एस 2-59 टॉप फ्लोर महावीर नगर तिलक नगर दिल्ली ने स्वीकार किया कि वे कई साल से भारत में हैं। दिल्ली का तिलक नगर उनका बेस कैंप है। वहां एक चर्च भी बना लिया है। उसी के इर्द-गिर्द काफी साथी किराये पर रहते हैं। कोई यहां पढ़ने तो कोई व्यापार करने आया है। 

वीजा अवधि खत्म होने के बाद भी रह रहे भारत में
जांच में यह भी पाया गया कि पकड़े गए नाइजीरियाई नागरिक में से जॉन बुल का वीजा 2015 में ही खत्म हो चुका है, जबकि मार्वेलॉस का वीजा 2019 में खत्म हो चुका है। वहीं पकड़ा गया तीसरा व्यक्ति सुमीर पुत्र श्रीकांत निवासी 28के ब्लाक महीपालपुर दिल्ली इनका एजेंट है। उसी के बैंक एकाउंट में आखिरी बार भगवती दत्त का रुपया पहुंचा था, जिसकी वजह से ये पकड़े गए। पुलिस ने तीनों पर धोखाधड़ी, साइबर एक्ट का मुकदमा दर्ज किया है। वहीं दोनों नाइजीरियन नागरिकों पर विदेश अधिनियम के तहत वीजा नियमों के उल्लंघन का भी अपराध दर्ज किया गया है। इनके पास से एक लैपटॉप, 18 स्मार्टफोन, 9 फोन कीपेड, 2 हार्ड डिस्क, 4 डोंगल, 6 चार्जर, 3 लैपटॉप चार्जर, 400 नाइजीरियन करेंसी बरामद हुए।
... और पढ़ें

पति को किडनी देकर आधुनिक ‘सावित्री’ बनीं कीर्ति गुप्ता

पौराणिक कथाओं में एक उदाहरण मिलता है कि सावित्री ने यमराज से अपने पति के प्राणों की रक्षा की। प्रतिभा कॉलोनी राजेंद्र नगर में रहने वाली एक महिला ने अपने पति की जिंदगी को बचाने के लिए अपनी किडनी देकर जीवनदान मिलने में मदद की। आधुनिक सावित्री बनी इस महिला के इस सराहनीय कार्य की क्षेत्र में चर्चा है। उसके पति अब स्वस्थ जीवन जी रहे हैं। पति मनोज के अनुसार अगर उनकी पत्नी न होती तो शायद वह अब तक इस दुनिया में न होते।

प्रतिभा कॉलोनी राजेंद्र नगर के रहने वाले मनोज कुमार गुप्ता की शादी अलीगढ़ की ही रहने वाली कीर्ति गुप्ता से 1997 में हुई थी। मनोज कुमार गुप्ता का पहले सिनेमा हॉल पर कैंटीन और स्टैंड आदि के ठेके का काम था। शादी के बाद सब कुछ ठीक-ठाक चल रहा था, लेकिन सन 2012 के आते-आते मनोज कुमार को पता लगा कि उनको किडनी की समस्या है। इसके बाद खुशियों भरे परिवार में एक काली परछाई छा गई। मनोज कुमार कहते हैं कि उनकी पत्नी कीर्ति गुप्ता ने हार नहीं मानी और स्वयं आगे आकर अपनी किडनी अपने पति को देने का फैसला किया।

2013 में दिल्ली में मनोज का सफल ऑपरेशन हुआ और इसके बाद तब से आज तक मनोज कुमार एक स्वस्थ और खुशहाल जीवन जी रहे हैं। मनोज कुमार कहते हैं कि उनकी पत्नी की बदौलत परिवार में एक बार फिर से खुशियां हैं। प्रत्येक करवा चौथ पर जब वह देखते हैं कि महिलाएं अपने पति की सलामती के लिए व्रत रख रही हैं और पूजा भी कर रही हैं तो वह सोचते हैं कि उनकी पत्नी ने तो अपने कर्म से अपने आप को सावित्री सिद्ध करके दिखाया है। उनकी करवा चौथ की पूजा सर्वोपरि है ।
... और पढ़ें

अलीगढ़ः कार के बोनट पर सिपाही को टांगकर दूर फेंका, पीछा करने पर भी हाथ नहीं आए बदमाश

टप्पल थाने के सामने पुलिस ने एक स्विफ्ट कार को रोकने की कोशिश की तो कार सवार लोगों ने गाड़ी रुकवा रहे एक सिपाही को टक्कर मारकर कार के बोनट पर गिरा लिया और काफी दूर तक बोनट पर लादे हुए ले गए। इसके बाद कार को झटका देकर सिपाही को एक ओर गिराया और भाग निकले। पुलिस ने काफी दूर तक कार का पीछा किया लेकिन अपराधी हाथ नहीं आए

बताते हैं कि मुखबिर के जरिए टप्पल पुलिस को सूचना मिली थी कि हामिदपुर तिराहे पर करीब 2 घंटे से एक स्विफ्ट कार खड़ी थी। उसमें दो पुरुष व एक महिला थे। बाद में महिला कार से उतरकर टेंपो में बैठ गई। कार टेंपो के पीछे चल रही है। इस पर पुलिस ने उक्त कार को थाने के सामने रोकने की कोशिश की तो फिल्मी स्टाइल में कार सवार अपराधियों ने एक सिपाही को बोनट पर गिरा लिया और वैसे ही कार ले भागे। 

बाद में सिपाही को गिराकर यमुना एक्सप्रेस-वे पर कार चढ़ाकर अपराधी निकल गए। इससे पहले भी इसी तरह एक दरोगा को कार के बोनट पर लादकर काफी दूर तक कार सवार लोग ले भागे थे। नूरपुर के रास्ते पर दरोगा को कार की बोनट से नीचे गिराया था। क्राइम इंस्पेक्टर विनोद कुमार सिंह से इस बारे में जानकारी चाही गई तो उन्होंने बताया मामला मेरे संज्ञान में नहीं है।
... और पढ़ें

राज को राज रहने दो...आरटीओ में फोटो खींचा या वीडियो बनाई तो होगी जेल

संभागीय परिवहन विभाग के कर्मचारियों व अधिकारियों के भ्रष्टाचार की करतूत समय-समय जनता के सामने वीडियो-फोटो के जरिए आती रहती है। मगर, अब इसको कैमरे में कैद करने की किसी ने हिम्मत की तो उसको परिवहन विभाग जेल भिजवा देगा। आरटीओ कार्यालय की नई व पुरानी बिल्डिंग में जगह-जगह इस प्रकार के चेतावनी संदेश वाले पोस्टर चस्पा कर दिए गए हैं।

इन पोस्टरों को लेकर विभाग की सफाई है कि यह आदेश सिर्फ कुछ उन्मादी तत्वों को रोकने के लिए है। वह कार्यालय में आकर फोटो-वीडियो लेकर ब्लैकमेल करने की कोशिश करते हैं। इधर, शहर विधायक संजीव राजा ने इस आदेश को लेकर विभाग को आड़े हाथों लेते हुए कहा कि इस प्रकार के आदेश से साफ है कि अधिकारी खुद अपने विभाग के भ्रष्टाचारियों पर पर्दा डालने की कोशिश कर रहे हैं। परिवहन मंत्री से इस संबंध में शिकायत की जाएगी।

अमर उजाला में प्रकाशित खबर से तिलमिलाए
दरअसल, बृहस्पतिवार के अंक में अमर उजाला की ओर से एक खबर प्रकाशित की गई थी, जिसमें एआरटीओ प्रशासन रंजीत सिंह के कार्यालय में उनकी कंप्यूटर सीट पर उन्हीं की मौजूदगी में एक बाहरी व्यक्ति बैठकर काम कर रहा था। इससे पहले एक महिला बाबू की रिश्वत लेते हुए वीडियो वायरल हुई थी। उसकी भी खबर प्रमुखता से प्रकाशित हुई थी। यह तस्वीरें और वीडियो कार्यालय में वाहन संबंधी कार्य लेकर आने वाले आवेदकों द्वारा कैद की गई थी।

मीडिया के लिए यह आदेश लागू नहीं है। कई बार उन्मादी लोग आकर फोटो/वीडियो लेकर ब्लैकमेल करते हैं। इसको रोकने के लिए यह आदेश चस्पा कराए गए हैं।
- केडी सिंह, आरटीओ प्रशासन

आरटीओ की ओर से जारी आदेश के संबंध में उनसे जवाब तलब करते हुए आदेश के पीछे की स्पष्ट मंशा जानी जाएगी। अगर कोई सरकारी कर्मचारी या अधिकारी रिश्वत मांगता है तो पीड़ित को अपनी शिकायत मजबूती से करने के लिए वीडियो या फोटो बतौर सबूत जुटाने की पूरी छूट है।
- जीएस प्रियदर्शी, मंडलायुक्त

आरटीओ कार्यालय में जो भी भ्रष्टाचार हो रहा है। उसके खिलाफ कार्रवाई कराई जाएगी। वहीं, आरटीओ की ओर से फोटो और वीडियो लेने पर कानूनी कार्रवाई का आदेश जारी करना स्वीकार नहीं है। इससे साफ है कि वहां भ्रष्टाचार पर पर्दा डालने की कोशिश हो रही है। इसकी शिकायत परिवहन मंत्री से की जाएगी।
- संजीव राजा, शहर विधायक

आरटीओ के बाबुओं को नोडल अधिकारी से भी खौफ नहीं
जिले में दो दिवसीय दौरे पर आए नोडल अधिकारी नितिन रमेश गोकर्ण को लेकर जिले के सभी विभाग अलर्ट थे। मगर, आरटीओ कार्यालय में कई बाबू 11 बजे बाद भी अपने कार्यालय से गायब थे। इसके चलते वाहन संबंधी कार्यों के लिए आए आवेदकों को भारी परेशानी का सामना करना पड़ा। कार्यालय से गायब रहने वालों में रजिस्ट्रेशन पटल पर बैठने वाले बाबू कृष्णकुमार गौतम 11 बजे बाद भी कार्यालय से गायब दिखे। इसके साथ ही लाइसेंस रिन्यूवल व डुप्लीकेट काउंटर से भी कर्मचारी नदारद था।

कार्यालय में लर्निंग लाइसेंस बनवाने के लिए आए आवेदक निरंजन निवासी भगवान गढ़ी ने बताया कि वह 10 बजे कार्यालय में आए थे। उक्त समय कोई भी कर्मचारी यहां नहीं मिला। 11 बजे बाद काउंटर्स पर काम शुरू हुआ। आरटीओ प्रशासन केडी सिंह ने बताया कि समय पर न आने वाले कर्मचारियों से स्पष्टीकरण तलब किया जाएगा।
... और पढ़ें
Karwachauth Coupon
Karwachauth Coupon
Karwachauth Coupon
Karwachauth Coupon
Election
  • Downloads

Follow Us

X

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00
X