विज्ञापन
विज्ञापन
कुंडली में स्थित मंगल और शनि का सम्बन्ध किस प्रकार करेगा आपको प्रभावित !
astrology

कुंडली में स्थित मंगल और शनि का सम्बन्ध किस प्रकार करेगा आपको प्रभावित !

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

From nearby cities

विज्ञापन
Digital Edition

कोई तो है, जो हमारे भविष्य की चिंता करता है

प्रधानमंत्री स्वनिधि योजना से 10 हजार रुपये का ऋण लेकर दुबे का पड़ाव निवासी पिंकी प्रतिदिन 200 से 250 रुपये कमा रहे हैं। इससे उनकी आर्थिक तंगी दूर होने के साथ-साथ लॉकडाउन के बाद ठहरी हुई घर गृहस्थी की गाड़ी भी चल पड़ी है। वह प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के दीवाने हो गए हैं। उनका कहना है कि कोई तो है, जो हमारे भविष्य की चिंता कर रहा है। ऐसे ही भाव प्रधानमंत्री के वर्चुअल संवाद में शामिल अधिकतर रेहड़ी-पटरी दुकानदारों के मन में थे।
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने मंगलवार को उत्तर प्रदेश के रेहड़ी-पटरी दुकानदारों से वर्चुअल संवाद किया। नगर निगम द्वारा कार्यक्रम का आयोजन डीएस कॉलेज ऑडिटोरियम में किया गया था। अलीगढ़ के दुकानदारों को प्रधानमंत्री से सीधा संवाद का मौका नहीं मिला। लेकिन अन्य शहरों के दुकानदारों से प्रधानमंत्री का संवाद देख-सुन कर बेहद उत्साहित नजर आए। शहर के करीब 150 दुकानदारों ने समय पर ऋण चुकाने एवं भविष्य में बैंक से फायदा उठाने का संकल्प लिया। उल्लेखनीय है कि नगर निगम द्वारा 13500 रेहड़ी-पटरी दुकानदारों को ऋण दिलाने का लक्ष्य निर्धारित किया गया है। 13359 दुकानदारों के ऑनलाइन आवेदन प्राप्त हुए हैं। 6832 दुकानदारों के ऋण स्वीकृत हो चुके हैं। 4851 दुकानदारों को ऋण मिल चुका है।
ऋण मिलते ही दौड़ने लगी जीवन की गाड़ी : पिंकी
पिंकी ने बताया कि लॉकडाउन के बाद परिवार की स्थिति बेहद खराब हो गई थी। रोडवेज अड्डा पर पेठा का काम आगे बढ़ाने के लिए पैसे नहीं थे। कभी किसी बैंक से ऋण नहीं लिया था। प्रधानमंत्री स्वनिधि योजना की जानकारी हुई तो नगर निगम में आवेदन किया। कुछ ही दिन में बैंक से फोन आ गया कि आकर पैसा ले जाएं। दो बार में 10 हजार रुपये मिले। पेठा बनाने का सामान खरीद कर लाया और जीवन की गाड़ी चल पड़ी।
पीएम ने जो अवसर दिया है, उसका फायदा उठाएंगे : कुशलपाल
पला साहिबाबाद में गोलगप्पे और टिक्की का काम करने वाले कुशलपाल ने भी इस योजना के तहत 10 हजार रुपये का ऋण लिया है। वह कहते हैं कि प्रधानमंत्री ने जो अवसर उपलब्ध कराया है, उसका पूरा फायदा उठाने का प्रयास करेंगे। समय पर बैंक का ऋण चुकता कर व्यापार को आगे बढ़ाने के लिए बैंक से फिर ऋण लेंगे। कुछ अन्य लाभार्थियों का कहना है कि बैंक वाले गरीबों को कहां ऋण देते हैं। लेकिन प्रधानमंत्री की नीतियों के कारण पहली बार उन्हें बेहद आसान तरीके से ऋण मिल रहा है।
राजकुमार की आंखों से झलक पड़े आंसू
सराय दीनदयाल के राजकुमार का रो-रो कर बुरा हाल है। उनका ऋण अभी स्वीकृत नहीं हुआ है। बैंक और नगर निगम के बीच दौड़ लगा रहे हैं।
वर्चुअल संवाद के दौरान राजकुमार भी डीएस कॉलेज पहुंच गए। उन्होंने कहा कि बैंक ऑफ बड़ौदा वाले उन्हें टहला रहे हैं। राजकुमार पला होली चौक पर चाट का ढकेल लगाते हैं। वर्तमान में आर्थिक स्थिति बेहद खराब है। दो बेटियां हैं। आर्थिक तंगी के कारण मजदूरी करने जाना पड़ रहा है। मान सिंह नगला पुलिया के राजेंद्र सिंह का भी ऐसा ही हाल है। वह भी ढकेल लगाते हैं। ग्रामीण बैंक के मैनेजर उन्हें टहला रहे हैं। राजकुमार एवं राजेंद्र सिंह जैसे बहुत लोग हैं, जिन्हें योजना के तहत ऋण नहीं मिल पाया है।
... और पढ़ें

वाल्व बिना बदले किशोरी के हृदय में ट्यूमर का किया आपरेशन

अलीगढ़ मुस्लिम विश्वविद्यालय के जवाहरलाल नेहरू मेडिकल कॉलेज के डॉक्टरों के नाम एक और उपलब्धि जुड़ गई है। उन्होंने फिरोजाबाद निवासी 17 वर्षीय किशोरी के हृदय में ट्यूमर का सफल आपरेशन किया है, वह भी वाल्व को बिना बदले। आपरेशन के बाद सबा की हालत सामान्य है। कठिन सर्जरी करने वाली टीम को कुलपति ने बधाई दी है। इस सर्जरी का खर्च समाजसेवी और पूर्व विधायक जफर आलम ने उठाया है।
मेडिकल कालेज के कार्डियोथोरासिक सर्जन डा. आजम हसीन के नेतृत्व में डा. सुमित प्रताप सिंह व डा. मयंक यादव ने आपरेशन किया। टीम में डा. साबिर अली खान, डा. नदीम रजा, डा. हर्ष, डा. शाहिद तथा डा. लक्ष्य वार्ष्णेय भी शामिल थे। डा. आजम हसीन ने बताया कि फिरोजाबाद की रहने वाली 17 वर्षीय सबा को सांस लेने में कठिनाई होती थी। वह अकसर बेहोश हो जाती थी। प्रारंभिक जांच में हृदय संबंधी समस्या का पता चला। सभी प्रकार की जांच के बाद डॉक्टर्स ने सर्जरी का विकल्प चुना। इस सर्जरी में हृदय में मौजूद ट्यूमर का आपरेशन किया गया। वह भी वाल्व को बिना बदले, जो एक असाधारण उपलब्धि है। उन्होंने कहा कि अब सबा की स्थिति सामान्य है।
डा. आजम हसीन की टीम को बधाई देता हूं। जेएन मेडिकल कालेज के चिकित्सक पूरी लगन के साथ कार्य कर रहे हैं। यह असामान्य आपरेशन उनकी कर्मठता का उदाहरण है। - प्रो. तारिक मंसूर, कुलपति, एएमयू
मेडिकल कालिज के कार्डियक सर्जरी विभाग के अंतर्गत गत 3 वर्षों में 400 से अधिक शल्य कार्य सफलतापूर्वक किये जा चुके हैं । - प्रो. शाहिद अली सिद्दीकी, प्रिंसिपल, जेएन मेडिकल कालेज
मेडिकल कालेज के चिकित्सक कई जटिल शल्य कार्य अंजाम दे चुके हैं। जिनमें से कई मामले दूसरे अस्पतालों द्वारा रेफर किये गए थे
- प्रो. राकेश भार्गव, डीन मेडिसिन फैकेल्टी, जेएन मेडिकल कॉलेज
... और पढ़ें

पहली बार बहुविकल्पीय आधार पर होंगी एलएलबी की परीक्षाएं

डॉ. भीमराव आंबेडकर विश्वविद्यालय के इतिहास में पहली बार चार नवंबर से एलएलबी अंतिम वर्ष की परीक्षाएं ओएमआर शीट पर आयोजित हो रही हैं। जबकि छात्र नेताओं ने इस परीक्षा पैटर्न पर विरोध जताया है। उनका कहना है कि छात्र हित में यह परीक्षाएं लिखित में आयोजित हों। इस संबंध में शिक्षक संगठन ने कहा कि उनके पास कोई शिकायत नहीं आई है। परीक्षा से पहले शिकायत गलत है।
बता दें कि एलएलबी अंतिम वर्ष की परीक्षाएं नवंबर में शुरू होंगी। विश्वविद्यालय ने चार नवंबर से परीक्षा की तिथियां भी घोषित कर दी हैं। इन तिथियों की घोषणा पर छात्र नेता अमित गोस्वामी ने विरोध जताया है। उन्होंने कहा कि इतिहास में पहली बार बहुविकल्पीय आधार पर परीक्षाएं आयोजित हो रही हैं। जबकि छात्र छात्राएं बहुविकल्पीय व्यवस्था से परिचित नहीं हैं। ऐसे में छात्र हित में परीक्षाएं लिखित में होनी चाहिए।
इस संबंध में कुलपति प्रो. अशोक मित्तल ने कहा कि कोरोना संक्रमण काल में शिक्षक उत्तर पुस्तिका जांचने के लिए तैयार नहीं है। परीक्षा होने के बाद अगर सालभर परीक्षा परिणाम अटक गया तो कौन जिम्मेदार होगा। ऐसे में कॉपी स्कैन होकर छात्र छात्राओं को तुरंत नंबर मिलेंगे और परिणाम भी जल्द जारी हो जाएगा। आगरा विश्वविद्यालय शिक्षक संघ के अध्यक्ष मुकेश भारद्वाज ने बताया कि अभी तक विद्यार्थियों ने लिखित में कोई शिकायत नहीं दी है। परीक्षा के अंतिम समय विरोध करना सही नहीं है। अगर कोई समस्या है तो कुलपति से मिलें। वहीं इस विषय में कोई निर्णय ले पाएंगे। तब तक अपनी परीक्षाओं की तैयारी भी करते रहें।
... और पढ़ें

अलीगढ़ः कार के बोनट पर सिपाही को टांगकर दूर फेंका, पीछा करने पर भी हाथ नहीं आए बदमाश

टप्पल थाने के सामने पुलिस ने एक स्विफ्ट कार को रोकने की कोशिश की तो कार सवार लोगों ने गाड़ी रुकवा रहे एक सिपाही को टक्कर मारकर कार के बोनट पर गिरा लिया और काफी दूर तक बोनट पर लादे हुए ले गए। इसके बाद कार को झटका देकर सिपाही को एक ओर गिराया और भाग निकले। पुलिस ने काफी दूर तक कार का पीछा किया लेकिन अपराधी हाथ नहीं आए

बताते हैं कि मुखबिर के जरिए टप्पल पुलिस को सूचना मिली थी कि हामिदपुर तिराहे पर करीब 2 घंटे से एक स्विफ्ट कार खड़ी थी। उसमें दो पुरुष व एक महिला थे। बाद में महिला कार से उतरकर टेंपो में बैठ गई। कार टेंपो के पीछे चल रही है। इस पर पुलिस ने उक्त कार को थाने के सामने रोकने की कोशिश की तो फिल्मी स्टाइल में कार सवार अपराधियों ने एक सिपाही को बोनट पर गिरा लिया और वैसे ही कार ले भागे। 

बाद में सिपाही को गिराकर यमुना एक्सप्रेस-वे पर कार चढ़ाकर अपराधी निकल गए। इससे पहले भी इसी तरह एक दरोगा को कार के बोनट पर लादकर काफी दूर तक कार सवार लोग ले भागे थे। नूरपुर के रास्ते पर दरोगा को कार की बोनट से नीचे गिराया था। क्राइम इंस्पेक्टर विनोद कुमार सिंह से इस बारे में जानकारी चाही गई तो उन्होंने बताया मामला मेरे संज्ञान में नहीं है।
... और पढ़ें
demo pic... demo pic...

केनरा बैंक के एक दर्जन एटीएम का ऊपरी हिस्सा खोल चोरी

बिना सिक्योरिटी गार्ड चल रहे केनरा बैंक के एक दर्जन एटीएम इन दिनों चोरों के निशाने पर हैं। अलीगढ़ व हाथरस में केनरा बैंक ने डाईबोल्ट (कंपनी विशेष) के जहां-जहां एटीएम लगवा रखे हैं, वहां चोर दस्तक दे रहे हैं। नकाबपोश चोर एटीएम केबिन में घुसकर कार्ड व चाभी की मदद से रुपये निकालते हैं। एक बार में पांच हजार रुपये तक निकलते हैं। मगर वह खाताधारक के खाते से कटते नहीं हैं। इसलिए खाताधारक को इस चोरी की जानकारी नहीं होती। एक पखवाड़े में एक दर्जन एटीएम केबिन में हुईं इन घटनाओं पर जब बैंक अधिकारियों का ध्यान गया तो लीड बैंक मैनेजर तक मसला पहुंचा। मामले में तकनीकी टीम को लगाकर जांच शुरू करा दी गई है और कई थानों में मुकदमे भी दर्ज कराए गए हैं।


घटनाक्रम इस प्रकार है कि अक्तूबर माह की शुरुआत में ही केनरा बैंक की गूलर रोड एसएसआई शाखा के एटीएम में एक दिन टीम सुबह-सुबह रुपये डालने पहुंची तो मशीन का ऊपर का हिस्सा खुला मिला। इसकी जांच पड़ताल अभी पूरी हो पाती कि एक-एक कर कई एटीएम से इस तरह की शिकायतें आईं। सभी के सीसीटीवी चेक किए गए तो पाया गया कि रात के समय में नकाबपोश एक या दो लोग सभी एटीएम में पहुंचे हैं। नकाब व कैप लगा होने के कारण पहचान संभव नहीं हो रही।


फिर वे एटीएम में अपना कार्ड डालकर पिन कोड भी डालते हैं। पिन डालते ही केबिन की पावर सप्लाई काट देते हैं। इसके बाद सीसीटीवी में कुछ दिखाई नहीं देता। मगर सुबह पाया गया है कि मशीन का ऊपरी हिस्सा बाकायदा ऐसे खुला है, जैसे चाभी से खोला गया है। साथ ही कई खातों से पांच-पांच हजार रुपये भी निकाले गए हैं। मगर ये रकम खाते से न कटने के कारण खाताधारक को जानकारी नहीं हुई है।


जांच में यह भी पाया कि यह घटना सिर्फ डाईबोल्ट कंपनी के एटीएम में हुई। इनमें भी उन एटीएम को निशाना बनाया गया जहां निकासी कम है और कम लोग आते हैं। अलीगढ़ जिले में कुल नौ और हाथरस में तीन एटीएम में ऐसा हुआ है। इसे लेकर बन्नादेवी के गूलर रोड की घटना, क्वार्सी के रामघाट रोड की घटना, गांधीपार्क की घटना को लेकर सभी थानों में चोरी के प्रयास के मुकदमे भी संबंधित शाखा प्रबंधकों की ओर से दर्ज कराए गए हैं। 

ये है अंदेशा
इस मामले में बैंक की तकनीकी टीम जांच कर रही है। जांच में यही पाया गया है कि डाईबोल्ट कंपनी के एटीएम एक ही तरह की चाभी से खुल जाते हैं। कोई व्यक्ति यह चाभी पा गया है और चोरियां कर रहा है। वह विद्युत आपूर्ति बंद कर यह चोरी करने का प्रयास करता है। कुछ जगह वह सफल हुआ है और कुछ जगह नहीं हो पाया है। अधिकांश वही एटीएम निशाने पर हैं जहां लोगों की कम आवाजाही है।

- हमारी बैंक के जहां-जहां डाई बोल्ट कंपनी के एटीएम लगे हैं, वहां-वहां चोरी की घटनाएं पिछले माह की 15 तारीख से प्रकाश में आ रहीं हैं। इसकी तकनीकी शाखा से जांच कराई जा रही है। साथ ही संबंधित थानों में मुकदमे दर्ज कराए गए हैं। अब तक कितनी रकम चोरी हुई है, इसे लेकर सभी जगहों से रिपोर्ट तलब की गई है। इसके बाद आगे की कार्रवाई तय होगी।
-अनिल कुमार, लीड बैंक मैनेजर, केनरा बैंक
 
... और पढ़ें

कारीगर के घर में पटाखे की चिंगारी से लगी आग

थाना बन्नादेवी क्षेत्र के सराय रहमान के एक फर्नीचर कारीगर के घर में पटाखे की चिंगारी से आग लग गई। इस आग में घर में रखा काफी सामान जल गया और आग बुझाने के प्रयास में खुद कारीगर व पड़ोसी झुलस गए। हालांकि खबर पर पहुंची दमकल ने आग पर काबू पाया।

सराय रहमान निवासी फर्नीचर कारीगर यूसुफ के घर में बृहस्पतिवार शाम बच्चे खेलते समय पटाखे चला रहे थे। इसी दौरान चिंगारी से घर में आग लग गई। कुछ देर बाद घर से धुआं निकलने लगा। देखते ही देखते आग ने भीषण रूप ले लिया। आग की लपटें देख आसपास के लोग हरकत में आ गए और आग बुझाने के प्रयास किए। खबर पर 20 मिनट में दमकल भी पहुंच गई। कुछ ही देर में आग पर काबू पा लिया गया। इस दौरान आग बुझाने के प्रयास में यूसुफ सहित दो लोग झुलस गए। बन्नादेवी पुलिस के अनुसार फर्नीचर व घरेलू सामान का नुकसान इस आग में हुआ है।


पटाखे नहीं चलाएंगे पर्यावरण बचाएंगे
पटाखे वायु प्रदूषण तो बढ़ाते ही हैं, हर साल इनके कारण होने वाली दुर्घटनाओं से जान माल को भारी नुकसान भी होता है। महामारी के इस दौर में वायुप्रदूषण बढ़ा तो खतरा कई गुना बढ़ जाएगा।  इस खतरे को देखते हुए अमर उजाला ने एक युद्ध पटाखों के विरुद्ध छेड़ दिया है। इस युद्ध को जीतने के लिए हम सब को एक शपथ लेनी होगी - पटाखे नहीं चलाएंगे, पर्यावरण बचाएंगे।


बच्चे हमारे इस अभियान के ब्रांड एंबेस्डर हो सकते हैं। बच्चों से अपील है कि एक पोस्टर पर यही शपथ लिखकर पोस्टर के साथ अपना फोटो खिंचवाकर निम्नलिखित मेल आईडी पर भेजें। मेल के साथ अपना नाम उम्र और शहर -कस्बे का नाम जरूर लिखें। चुनिंदा फोटो अमर उजाला में प्रकाशित किए जाएंगे। मेल आई डी-ali-cityreporter @ali.amarujala.com 
... और पढ़ें

अलीगढ़ः सराय मिस्र में जबर्दस्त तनाव, जद्दोजहद के बीच अंतिम संस्कार

महानगर के सासनी गेट थाने के सराय मिस्र इलाके में मंगलवार रात वाल्मीकि समाज के युवक की हत्या के बाद बुधवार को भी माहौल बेहद तनावपूर्ण रहा। पोस्टमार्टम केंद्र से लेकर घटनास्थल तक हंगामा-हायतौबा का आलम रहा। इसे लेकर पुलिस, पीएसी व आरएएफ को तैनात कर दिया गया। इस दौरान अंतिम संस्कार से पहले मुआवजा, मकान और नौकरी की मांग उठी। घंटों की वार्ता के बाद प्रशासन के स्तर से दो लाख रुपये मुआवजा देकर परिवार को सुरक्षा, नगर निगम में संविदा नौकरी व एक मकान की मांग पूरी करने का भरोसा दिलाया गया। तब जाकर शाम चार बजे शव श्मशान पहुंचा। इलाके में जबरदस्त तनाव के हालात बने हुए हैं।

सासनीगेट के सराय मिस्र गोबर खूंदा में मंगलवार रात वाल्मीकि समाज के युवक शक्ति पुत्र प्रमोद की कोली समाज के युवकों ने झगड़े के बीच गोली मारकर हत्या कर दी थी। युवक की मौत के बाद इलाके में जबरदस्त बवाल हुआ था। रात जैसे तैसे पुलिस ने हालात सामान्य किए थे। इधर, बुधवार सुबह से ही पोस्टमार्टम केंद्र पर लोगों का जमावड़ा लगना शुरू हो गया। करीब 12 बजे पीड़ित परिवार को 25 लाख रुपये मुआवजा, नगर निगम में नौकरी, सुरक्षा के लिए शस्त्र लाइसेंस और मकान की मांग उठी। बातचीत के लिए एसीएम द्वितीय कई थानों के फोर्स के साथ पोस्टमार्टम केंद्र पहुंचे। बाद में वे अधिकारियों से विमर्श करने की बात कहकर चले गए। 

इस बीच काफी संख्या में महिलाएं व युवा सराय मिस्र में एकत्रित होकर आगरा रोड पर आ गए और नारेबाजी करने लगे। यह देख एक कंपनी पीएसी, एक कंपनी आरएएफ के अलावा जिले के कई थानों का फोर्स बुला लिया गया। इस दौरान आरोपियों की गिरफ्तारी की मांग करते हुए आगरा रोड पर दुर्गापुरी के बाहर जाम लगाने की कोशिश की गई। सीओ प्रथम व सीओ द्वितीय ने समझाने का प्रयास किया तो उनसे तीखी नोकझोंक हुई। किसी तरह भीड़ को सड़क से हटाया गया। इस पर लोग सड़क किनारे जमीन पर धरना देकर बैठ गए। यहां बैरीकेडिंग कर लोगों को पुलिस बल ने घेर लिया। इस दौरान रुक-रुककर प्रदर्शन व नारेबाजी होती रही।

इसी बीच अधिकारियों से वार्ता कर एसीएम वापस पोस्टमार्टम केंद्र पहुंचे, जहां उन्होंने मां के नाम दो लाख रुपये का चेक दिया, परिवार में नौकरी संविदा पर, कांशीराम आवास योजना में मकान व सुरक्षा का वायदा किया। तब जाकर कई घंटे की बातचीत पर शक्ति का भाई व समाज के लोग इस बात पर सहमत हुए कि शव मौके पर पहुंचने पर किसी तरह का हंगामा नहीं होगा। इसके बाद कड़ी सुरक्षा में युवकों की भीड़ वाहनों के साथ शव लेकर सराय मिस्र पहुंची। शव पहुंचते ही कुछ देर को गहमागहमी व हंगामी माहौल बना। मगर पुलिस प्रशासनिक टीम ने आनन-फानन औपचारिकताएं पूरी कर अंतिम संस्कार के लिए शव महेंद्र नगर श्मशान रवाना करा दिया। तब जाकर सब कुछ समान्य हुआ। इलाके में तनाव बरकरार है, जिसे लेकर पुलिस बल तैनात है।

हत्या में एक नामजद को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। बाकी नामजदों की गिरफ्तारी के लिए टीमें लगी हुई हैं। परिवार की जो मांगें थीं, उन पर प्रशासन ने मदद दी है। अब स्थिति सामान्य है। एहतियातन पुलिस बल तैनात है।
- मुनिराज जी, एसएसपी
... और पढ़ें

हाथरस कांड: बिटिया की मौत को एक माह बीता, कब उजागर होंगे असली गुनहगार, सबको है इसका इंतजार

tension...

IPL 2020: अलीगढ़ में सट्टा विवाद में युवक की गोली मारकर हत्या, बवाल, आगजनी

सासनीगेट क्षेत्र के मिश्रित आबादी वाले सराय मिस्र में मंगलवार रात सट्टे के विवाद में वाल्मीकि-कोली समाज के युवकों की भिड़ंत में एक युवक की हत्या कर दी गई। हत्या के बाद उग्र हुए वाल्मीकि समाज ने जमकर बवाल काटा। एक तरफ आरोपी भाइयों के घरों पर पथराव व तोड़फोड़ कर आग लगाने की कोशिश की और फैक्टरी से बाइकें व स्कूटी निकालकर तोड़फोड़ करते हुए उनको भी फूंकने की कोशिश की। 

खबर पर एसएसपी, एसपी सिटी सहित तमाम पुलिस बल पहुंच गया। तब जाकर माहौल सामान्य हुआ। इधर, देर रात जिला अस्पताल में भी जुटी भीड़ हंगामा कर रही थी। वहां अलग पुलिस टीम उन्हें समझाने में लगी थी। वहीं, पुलिस ने एक आरोपी को गिरफ्तार कर लिया है।

सराय मिस्र गोबर खूंदा में वाल्मीकि व कोली समाज की मिश्रित आबादी रहती है। मंगलवार रात करीब 10 बजे वाल्मीकि समाज व कोली समाज के युवकों में सट्टे के विवाद में झगड़ा हो गया। आरोप है कि वाल्मीकि समाज के 24 वर्षीय शक्ति पुत्र प्रमोद को गोली मार दी। गोली मारने का आरोप कोली समाज के दो भाइयों पर लगा। गोली युवक के सीने में लगी थी। आनन-फानन उसे जिला अस्पताल ले जाया गया। जहां उसे मृत घोषित कर दिया गया। 

जैसे ही शक्ति की मौत की खबर उसके मोहल्ले में आई तो लोगों ने हंगामा शुरू कर दिया और आरोपी भाइयों शंकर व वीरपाल के घर में घुसकर तोड़फोड़ कर दी। पास ही हार्डवेयर फैक्टरी में खड़ी स्कूटी व बुलेट बाइक को बाहर खींचकर उसमें तोड़फोड़ करते हुए आग लगाने की कोशिश की गई। घर में पथराव किया और आग लगाने की कोशिश की गई। खबर पर कई थानों का फोर्स व पीएसी मौके पर आ गई। पुलिस के सामने भी लोग घर में घुसकर तोड़फोड़ व पथराव कर रहे थे। 

देररात एसएसपी मुनिराज जी, एसपी सिटी अभिषेक कुमार, सीओ सुदेश गुप्ता समेत फोर्स मौजूद था। फॉरेंसिक टीम भी साक्ष्य जुटाने में लगी थी। पुलिस बल किसी तरह लोगों को रोके था। बार-बार लोग उग्र हो रहे थे। इधर, जिला अस्पताल में भी हंगामे के हालात बने थे। वहां कई थानों का फोर्स मौजूद था। सीओ प्रथम सुदेश गुप्ता ने मौत की पुष्टि करते हुए बताया कि आपसी विवाद में यह घटना हुई है।

आपसी विवाद में गोली चलने से एक युवक की मौत हो गई है। जिन दो भाइयों पर आरोप है, उनमें से एक को गिरफ्तार कर लिया गया है। घटना स्थल पर हालात नियंत्रित हैं। जांच के बाद ही घटना का मूल कारण पता चल सकेगा। 
- मुनिराज जी एसएसपी
... और पढ़ें

आज से शराब की दुकान सुबह 10 से रात 10 बजे तक खुलेंगी

जिले में आज से शराब-बीयर की दुकान, मॉडल शॉप व बार सुबह 10 से रात 10 बजे तक खुलेंगे। यह आदेश भांग की दुकानों पर भी जारी रहेगा। हालांकि यह व्यवस्था कंटेनमेंट जोन के बाहर की दुकानों पर लागू रहेगी।
जिला आबकारी अधिकारी धीरज शर्मा ने बताया कि शासन के आदेश पर यह व्यवस्था अलीगढ़ में लागू की गई है। लॉकडाउन के बाद आई गाइड लाइन के तहत सुबह दस बजे से रात नौ बजे तक बार, मॉडल शॉप और फुटकर दुकानों को खोला जा रहा था। सभी शराब विक्रेताओं को आदेश से अवगत करा दिया गया है। इसके साथ त्योहारी सीजन को देखते हुए शराब-बीयर की दुकानों, बार पर चेकिंग की व्यवस्था के लिए टीम लगाई गई है। विक्रेताओं को सख्त आदेश जारी करते हुए समयानुसार ही दुकान खोलने को कहा गया है। रात 10 बजे के बाद कोई दुकान, बार खुलता पाया गया तो कार्रवाई की जाएगी।
... और पढ़ें

आईपीएल सट्टे के गढ़ में हत्या व बवाल से मुखबिर तंत्र फेल

शहर का सासनी गेट इलाका आईपीएल सट्टे का गढ़ है, इस तथ्य को किसी गवाही की जरूरत नहीं। इसके बावजूद सराय मिस्र में मंगलवार देर रात हुए घटनाक्रम में सासनी गेट पुलिस की मुखबिरी इतनी कमजोर रही कि हमलावर पुलिस के पहुंचते-पहुंचते हत्याकर भागने लगे और लैपर्डकर्मियों ने जब उन्हें घेरने का प्रयास किया तो लैपर्ड पर भी फायर झोंककर निकल गए। इसके बाद वाल्मीकि समाज की उत्तेजित भीड़ ने भी पुलिस के सामने सराय मिस्र से लेकर जयगंज तक जमकर बवाल काटा। हवाई फायरिंग, पथराव किया। हमलावरों के घरों में जमकर तोड़फोड़ की और गाड़ियों को फैक्टरी से निकालकर आग लगाने की कोशिश की। इसी बीच खबर पर कई थानों के फोर्स, पीएसी के साथ पहुंचे सीओ ने जैसे-तैसे हालात नियंत्रित किए। वरना कुछ भी हो सकता था।
परिवार व प्रत्यक्षदर्शियों की मानें तो शक्ति को आरोपी शंकर ने उसे उसके घर से बुलाया और बाहर आते ही उनमें किसी बात पर विवाद होने लगा। जानकार इस विवाद के मूल में आईपीएल सट्टे का विवाद ही बता रहे हैं। इसी बीच एकाएक मारपीट तक शुरू हो गई। हालांकि झगड़े की सूचना लैपर्ड तक पहुंच गई थी और लैपर्ड भी इलाके में सायरन बजाती हुई पहुंची। मगर तब तक हमलावरो ंने शक्ति के गोली मार दी। इस दौरान तीन-चार राउंड फायरिंग हुई। पुलिस ने भागते हमलावरों को घेरने की कोशिश की, मगर वे लैपर्ड को देख फायरिंग करते हुए भाग गए। इसके बाद कुछ लोग शक्ति को लेकर जिला अस्पताल चले गए। लैपर्ड इलाके में ही मौजूद रही। जैसे ही जिला अस्पताल से उसकी मौत की खबर आई तो हालात बेकाबू हो गए। लैपर्डकर्मी कुछ समझ पाते, तब तक तो हमलावरों के घर पर गुस्साए लोगों ने चढ़ाई कर दी और एक गुट हंगामा व पथराव करता हुआ गलियों में होकर जयगंज तक पहुंच गया। कुछ लोग पथराव व फायरिंग करते रहे।
इस सूचना पर वहां सासनी गेट, कोतवाली, देहली गेट पुलिस के अलावा सीओ, पीएसी, एसपी सिटी और बाद में एसएसपी पहुंचे। इसी बीच सफाईकर्मी नेता प्रदीप भंडारी आदि भी आ गए। उनके समझाने पर एक बार भीड़ मान गई और पुलिस जैसे ही तंग गली में मौजूद आरोपी के घर से बाहर आई। इसके बाद फिर पब्लिक हमलावर हो गई और घर में मौजूद शंकर व वीरपाल के पिता रघुवीर की पिटाई कर दी। लोगों का कहना था कि परिवार के और सदस्य घर व फैक्टरी में ही छिपे हैं। मगर उन्हें समझाकर जैसे तैसे शंात किया गया। एसएसपी व एसपी सिटी की ओर से ठोस भरोसा दिलाया गया। इसी बीच यह भी बताया गया कि एक आरोपी शंकर पकड़ लिया गया है, तब जाकर भीड़ शात हुई। वहीं जिला अस्पताल में भी हंगामा शांत हुआ।
भीड़ ने राहगीर मां-बेटे को पीटा, स्कूटी तोड़ जेवर लूटे
गोलीकांड के बाद गुस्साई भीड़ मोहल्ला जयगंज तक आ गई। यहां से दवा लेने के लिए स्कूटी पर गुजर रहे मां-बेटे को गुस्साई भीड़ ने रोक लिया। उनके साथ जमकर मारपीट की। मारपीट में घायल अविनाश उर्फ छोटू निवासी आरकेपुरम ने बताया कि वह अपनी मां उषा देवी के साथ स्कूटी से रात करीब 10 बजे दवा लेने जा रहे थे। तभी जयगंज के अंदर की ओर से एकदम भीड़ का रेला आया और उन्हें पकड़ लिया। उनके साथ मारपीट की। स्कूटी तोड़ दी। मां की सोने की चूड़ियां भी लूट ले गए। मारपीट में अविनाश के सिर में गंभीर चोट आई है। साथ ही उनका जबड़ा, कंधा व शरीर के अन्य से में भी चोट आई है। मां भी मारपीट में घायल हो गई है। जैसे तैसे पुलिस ने दोनों को भीड़ से छुड़ाने के बाद जिला अस्पताल में उपचार के लिए भेजा।
शक्ती की मौत के बाद मलखान सिंह अस्पताल में विलाप करती पत्नी प्रीती व  परिजन ।
शक्ती की मौत के बाद मलखान सिंह अस्पताल में विलाप करती पत्नी प्रीती व परिजन ।- फोटो : CITY OFFICE
... और पढ़ें

हाथरस: एसटीएफ ने श्यौराज जीवन से की पूछताछ, अब टीवी रिपोर्टर की बारी

न्यूज डेस्क, अमर उजाला, हाथरस
हाथरस कांड की आड़ में जातीय दंगे की साजिश रचने और कांग्रेस नेता श्यौराज जीवन द्वारा भड़काऊ बयान देने के मुकदमों में एसटीएफ ने विवेचना तेज कर दी है। इसी क्रम में एसटीएफ ने अलीगढ़ पहुंचकर कांग्रेस नेता जीवन से पूछताछ की। इस दौरान जीवन ने एसटीएफ के समक्ष अपना पक्ष रखते हुए कहा कि वह कई साल हाथरस कांग्रेस के जिलाध्यक्ष रहे हैं, हर वर्ग की सेवा की है। उस रात माहौल के बीच भावनाओं में बहकर कुछ कह दिया होगा, मगर किसी जाति या धर्म को लेकर मन में कोई भाव नहीं है। बता दें कि चंदपा पुलिस भी पूर्व में इस मुकदमे में जीवन को चंदपा बुलाकर पूछताछ कर चुकी है।
हाथरस प्रकरण में शासन के निर्देश पर यह मुकदमा दर्ज कराया गया था कि इस प्रकरण की आड़ में जातीय दंगा कराने की साजिश रची गई थी। इसके अलावा कांग्रेस नेता श्यौराज जीवन के खिलाफ भी भड़काऊ बयान देने का मुकदमा दर्ज कराया गया था। उनके भाषण का वीडियो भी वायरल हुआ था। यह दोनों मुकदमे चंदपा थाने में दर्ज हैं। इनकी विवेचना एसटीएफ की सौंप दी गई है। जातीय दंगे की साजिश के मुकदमे की विवेचना एसटीएफ की नोएडा शाखा कर रही है तो श्यौराज जीवन के खिलाफ दर्ज मुकदमे की विवेचना बरेली शाखा कर रही है। सोमवार को बरेली से एसटीएफ की टीम चंदपा थाने आई थी और वहां रिकॉर्ड खंगाले थे। उसके बाद बिटिया के गांव पहुंचकर एसटीएफ ने बिटिया के परिजनों से जीवन के बारे में पूछताछ की थी।
सोमवार शाम को एसटीएफ अलीगढ़ पहुंची और श्यौराज जीवन से पूछताछ की। उनका जो वीडियो वायरल हुआ था, उसको लेकर भी बातचीत थी। इस मामले में श्यौराज जीवन का कहना है कि एसटीएफ की टीम ने उनसे इस मामले में पूछताछ की है। उन्होंने भी एसटीएफ के समक्ष अपना पक्ष रखा। जीवन का कहना है कि जब वह बिटिया के गांव गए थे तो वहां का माहौल काफी भयावह था। जीवन का कहना है कि भावनाओं में बहकर उन्होंने कुछ कह दिया था।
उन पर जो भी आरोप लगाए गए हैं, वह पूरी तरह से निराधार हैं। किसी भी जाति के लिए उनकी गलत भावना कभी नहीं रही। किसी जाति विशेष के लिए कोई बात भी उन्होंने नहीं कही। वह कांग्रेस के सिपाही हैं। हर जाति और धर्म के लोगों की उन्होंने हमेशा मदद की है। कई साल हाथरस में जिलाध्यक्ष रहे हैं। जीवन ने बताया कि पिछले एक सप्ताह में एसटीएफ ने यह उनसे दूसरी बात पूछताछ की है और दोनों बार की बातचीत में संतुष्ट होकर गई है।
चैनल पर प्रसारित स्टिंग की सीडी बताएगी सच्चाई
श्यौराज जीवन ने एसटीएफ से बातचीत में टीवी पर प्रसरित खबर के मामले में खुद को निर्दोष बताते हुए कहा कि उन्हें फंसाया गया। इस पर एसटीएफ की ओर से उन्हें भरोसा मिला कि आप परेशान न हों। वह सीडी की जांच साफ कर देगी। अगर टीवी पर प्रसारित खबर की सीडी से छेड़छाड़ या कटिंग हुई होगी तो जांच में साफ हो जाएगा। उसके बाद किसी को कुछ कहने की जरूरत नहीं।
... और पढ़ें

कोरोना से दो महिलाओं सहित तीन की मौत, 19 संक्रमित

कोरोना वायरस की चपेट में आकर दो बुजुर्ग महिलाओं सहित तीन लोगों की मौत हो गई है। 19 नए लोग वायरस से संक्रमित पाए गए हैं। 24 लोग कोरोना को पराजित कर स्वस्थ हुए हैं। अब तक जनपद में संक्रमितों की संख्या 9396 और स्वस्थ हुए लोगों की संख्या 9098 तक पहुंच गई है। वर्तमान समय में 250 मरीज सक्रिय हैं।
जेएन मेडिकल कॉलेज में 55 वर्षीय एक मरीज की मौत हुई है। शहर के एक निजी अस्पताल में रामबाग कॉलोनी की 76 वर्षीय महिला की मृत्यु हो गई। अंतिम संस्कार के बाद उनकी रिपोर्ट धनात्मक है। तीसरी मौत दिल्ली में हुई है
। 14 अक्तूबर को गूलर रोड निवासी 75 वर्षीय महिला संक्रमित पाई गई थी। उनका उपचार दिल्ली के एक अस्पताल में चल रहा था।, जहां महिला की मृत्यु हो गई। जेएन मेडिकल कॉलेज, दीनदयाल अस्पताल, प्राइवेट लैब एवं एंटीजन टेस्ट में मंगलवार को 19 लोग संक्रमित पाए गए हैं। जिलाधिकारी चंद्रभूषण सिंह ने बताया कि संक्रमित मरीजों को कोविड-19 अस्पताल में भर्ती किया जा रहा है। परिजन एवं संपर्क में आए लोगों को क्वारंटीन कर नमूना लिया जाएगा।
... और पढ़ें
Karwachauth Coupon
Karwachauth Coupon
Karwachauth Coupon
Karwachauth Coupon
Election
  • Downloads

Follow Us

X

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00
X