विज्ञापन
विज्ञापन
प्रतिष्ठित ज्योतिषाचार्यों से जानें वर्ष 2021 में होने वाली शुभ - अशुभ घटनाएं !
astrology

प्रतिष्ठित ज्योतिषाचार्यों से जानें वर्ष 2021 में होने वाली शुभ - अशुभ घटनाएं !

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

From nearby cities

विज्ञापन
Digital Edition

गुलाब की खुशबू से जल्द महकेगा सर सैयद हाउस

अलीगढ़ मुस्लिम विश्वविद्यालय के सर सैयद हाउस परिसर में गुलाब के पौधों का एक बगीचा तैयार किया जा रहा है। विश्वविद्यालय के लैंड एंड गार्डन विभाग द्वारा तैयार किए जा रहे इस बगीचे में गुलाब की कई किस्में लगाई गई हैं। दावा किया गया है कि यह अलीगढ़ में ही नहीं, उत्तर प्रदेश और आसपास के क्षेत्र में अपनी तरह का एकमात्र रोज गार्डन होगा। इसको पूरा करने का काम युद्ध स्तर पर हो रहा है।
एएमयू के लैंड एंड गार्डन विभाग के मेंबर इंचार्ज प्रोफेसर जकी अनवर सिद्दीकी ने बताया कि करीब 4 बीघा क्षेत्र में फैले इस गुलाब के बगीचे में 43 किस्म के गुलाब लगाए गए हैं। इन गुलाबों को दक्षिण भारत से मंगवाया गया है। प्रत्येक वैरायटी के 12 पौधे लगाए गए हैं। अब इस गार्डन का काम करीब-करीब पूरा होने को है। नवंबर के पहले सप्ताह में इसका विधिवत उद्घाटन कराने की तैयारी की जा रही है। उन्होंने बताया कि इस वर्ष जो फूल गुलाब के पौधों पर आएंगे, वह पूरी तरह खिले नहीं होंगे। लेकिन अगले वर्ष जब सीजन आएगा, तब गुलाब अपनी पूरी क्षमता के साथ खिले होंगे। उन्होंने कहा विश्वविद्यालय में अन्य स्थान पर गुलाब की अन्य वैरायटी के साथ एक और बगीचे की संभावनाओं पर भी विचार विमर्श किया जा रहा है।
... और पढ़ें

मीट फैक्टरी से लौट रहे बाइक सवार की दुर्घटना में मौत

लोधा क्षेत्र में खेरेश्वर हाईवे पर मंगलवार दोपहर कार की चपेट में आकर बाइक सवार युवक की मौत हो गई। दुर्घटना के बाद कार चालक भागने में सफल रहा।
पुलिस के अनुसार देहलीगेट के नींवरी निवासी 28 वर्षीय अंसार खां पुत्र सिराज खां की जलालपुर में हेयर ड्रेसर की दुकान है। मंगलवार दोपहर वह बाइक से दोस्त से मिलने एलाना मीट फैक्टरी गया था। वापसी में खेरेश्वर हाईवे पर जाफरी मोड़ पर पीछे से आती कार ने टक्कर मार दी।
इस दुर्घटना के बाद मौके पर कार का बंफर गिर गया। लोगों ने घायल को जेएन मेडिकल में भेजा, मगर उसे मृत घोषित कर दिया गया। अंसार कुल नौ भाई बहन थे, जिनमें वह चौथे नंबर का था। घर में पत्नी व एक बेटा भी है। भाई सलीम ने मौके पर पड़े मिले कार के बंफर पर अंकित नंबर प्लेट के आधार पर मुकदमा दर्ज कराया है।
... और पढ़ें

हाथरस: एसआईटी के सदस्य डीआईजी की पत्नी के आत्महत्या करने पर सभी हतप्रभ

बिटिया के मामले में जांच कर रही एसआईटी में शामिल डीआईजी चंद्रप्रकाश की पत्नी द्वारा आत्महत्या की खबर जैसे ही स्थानीय अधिकारियों ने सुनी तो वह अचंभित रह गए। पिछले दिनों टीम जब छानबीन कर रही थी तो चंद्रप्रकाश यहां करीब ढाई सप्ताह तक रुके थे। चंद्रप्रकाश 2007-08 में बतौर पुलिस अधीक्षक तैनात रह चुके हैं।

उल्लेखनीय है कि योगी सरकार ने बिटिया के प्रकरण में सबसे पहले एसआईटी की जांच की बैठाई थी। तीन सदस्यीय इस टीम में गृह सचिव भगवान स्वरूप, डीआईजी चंद्रप्रकाश और एक आईपीएस अधिकारी पूनम शामिल हैं। यह टीम अपनी जांच कर यहां से करीब सप्ताह भर पहले जा चुकी है।

इस टीम की पहली रिपोर्ट पर ही यहां तत्कालीन एसपी, सीओ सिटी सहित छह पुलिसकर्मी निलंबित हुए थे। अब शनिवार को जैसे ही स्थानीय अधिकारियों को यह जानकारी मिली कि इस टीम में शामिल डीआईजी चंद्रप्रकाश की पत्नी ने लखनऊ में आत्महत्या कर ली है तो वह हतप्रभ रह गए। कुछ अधिकारी भी शोकाकुल दिखे।
... और पढ़ें

IPL 2020: अलीगढ़ में सट्टा विवाद में युवक की गोली मारकर हत्या, बवाल, आगजनी

सासनीगेट क्षेत्र के मिश्रित आबादी वाले सराय मिस्र में मंगलवार रात सट्टे के विवाद में वाल्मीकि-कोली समाज के युवकों की भिड़ंत में एक युवक की हत्या कर दी गई। हत्या के बाद उग्र हुए वाल्मीकि समाज ने जमकर बवाल काटा। एक तरफ आरोपी भाइयों के घरों पर पथराव व तोड़फोड़ कर आग लगाने की कोशिश की और फैक्टरी से बाइकें व स्कूटी निकालकर तोड़फोड़ करते हुए उनको भी फूंकने की कोशिश की। 

खबर पर एसएसपी, एसपी सिटी सहित तमाम पुलिस बल पहुंच गया। तब जाकर माहौल सामान्य हुआ। इधर, देर रात जिला अस्पताल में भी जुटी भीड़ हंगामा कर रही थी। वहां अलग पुलिस टीम उन्हें समझाने में लगी थी। वहीं, पुलिस ने एक आरोपी को गिरफ्तार कर लिया है।

सराय मिस्र गोबर खूंदा में वाल्मीकि व कोली समाज की मिश्रित आबादी रहती है। मंगलवार रात करीब 10 बजे वाल्मीकि समाज व कोली समाज के युवकों में सट्टे के विवाद में झगड़ा हो गया। आरोप है कि वाल्मीकि समाज के 24 वर्षीय शक्ति पुत्र प्रमोद को गोली मार दी। गोली मारने का आरोप कोली समाज के दो भाइयों पर लगा। गोली युवक के सीने में लगी थी। आनन-फानन उसे जिला अस्पताल ले जाया गया। जहां उसे मृत घोषित कर दिया गया। 

जैसे ही शक्ति की मौत की खबर उसके मोहल्ले में आई तो लोगों ने हंगामा शुरू कर दिया और आरोपी भाइयों शंकर व वीरपाल के घर में घुसकर तोड़फोड़ कर दी। पास ही हार्डवेयर फैक्टरी में खड़ी स्कूटी व बुलेट बाइक को बाहर खींचकर उसमें तोड़फोड़ करते हुए आग लगाने की कोशिश की गई। घर में पथराव किया और आग लगाने की कोशिश की गई। खबर पर कई थानों का फोर्स व पीएसी मौके पर आ गई। पुलिस के सामने भी लोग घर में घुसकर तोड़फोड़ व पथराव कर रहे थे। 

देररात एसएसपी मुनिराज जी, एसपी सिटी अभिषेक कुमार, सीओ सुदेश गुप्ता समेत फोर्स मौजूद था। फॉरेंसिक टीम भी साक्ष्य जुटाने में लगी थी। पुलिस बल किसी तरह लोगों को रोके था। बार-बार लोग उग्र हो रहे थे। इधर, जिला अस्पताल में भी हंगामे के हालात बने थे। वहां कई थानों का फोर्स मौजूद था। सीओ प्रथम सुदेश गुप्ता ने मौत की पुष्टि करते हुए बताया कि आपसी विवाद में यह घटना हुई है।

आपसी विवाद में गोली चलने से एक युवक की मौत हो गई है। जिन दो भाइयों पर आरोप है, उनमें से एक को गिरफ्तार कर लिया गया है। घटना स्थल पर हालात नियंत्रित हैं। जांच के बाद ही घटना का मूल कारण पता चल सकेगा। 
- मुनिराज जी एसएसपी
... और पढ़ें
जिला अस्पताल में पुलिस और भीड़ जिला अस्पताल में पुलिस और भीड़

आईपीएल सट्टे के गढ़ में हत्या व बवाल से मुखबिर तंत्र फेल

शहर का सासनी गेट इलाका आईपीएल सट्टे का गढ़ है, इस तथ्य को किसी गवाही की जरूरत नहीं। इसके बावजूद सराय मिस्र में मंगलवार देर रात हुए घटनाक्रम में सासनी गेट पुलिस की मुखबिरी इतनी कमजोर रही कि हमलावर पुलिस के पहुंचते-पहुंचते हत्याकर भागने लगे और लैपर्डकर्मियों ने जब उन्हें घेरने का प्रयास किया तो लैपर्ड पर भी फायर झोंककर निकल गए। इसके बाद वाल्मीकि समाज की उत्तेजित भीड़ ने भी पुलिस के सामने सराय मिस्र से लेकर जयगंज तक जमकर बवाल काटा। हवाई फायरिंग, पथराव किया। हमलावरों के घरों में जमकर तोड़फोड़ की और गाड़ियों को फैक्टरी से निकालकर आग लगाने की कोशिश की। इसी बीच खबर पर कई थानों के फोर्स, पीएसी के साथ पहुंचे सीओ ने जैसे-तैसे हालात नियंत्रित किए। वरना कुछ भी हो सकता था।
परिवार व प्रत्यक्षदर्शियों की मानें तो शक्ति को आरोपी शंकर ने उसे उसके घर से बुलाया और बाहर आते ही उनमें किसी बात पर विवाद होने लगा। जानकार इस विवाद के मूल में आईपीएल सट्टे का विवाद ही बता रहे हैं। इसी बीच एकाएक मारपीट तक शुरू हो गई। हालांकि झगड़े की सूचना लैपर्ड तक पहुंच गई थी और लैपर्ड भी इलाके में सायरन बजाती हुई पहुंची। मगर तब तक हमलावरो ंने शक्ति के गोली मार दी। इस दौरान तीन-चार राउंड फायरिंग हुई। पुलिस ने भागते हमलावरों को घेरने की कोशिश की, मगर वे लैपर्ड को देख फायरिंग करते हुए भाग गए। इसके बाद कुछ लोग शक्ति को लेकर जिला अस्पताल चले गए। लैपर्ड इलाके में ही मौजूद रही। जैसे ही जिला अस्पताल से उसकी मौत की खबर आई तो हालात बेकाबू हो गए। लैपर्डकर्मी कुछ समझ पाते, तब तक तो हमलावरों के घर पर गुस्साए लोगों ने चढ़ाई कर दी और एक गुट हंगामा व पथराव करता हुआ गलियों में होकर जयगंज तक पहुंच गया। कुछ लोग पथराव व फायरिंग करते रहे।
इस सूचना पर वहां सासनी गेट, कोतवाली, देहली गेट पुलिस के अलावा सीओ, पीएसी, एसपी सिटी और बाद में एसएसपी पहुंचे। इसी बीच सफाईकर्मी नेता प्रदीप भंडारी आदि भी आ गए। उनके समझाने पर एक बार भीड़ मान गई और पुलिस जैसे ही तंग गली में मौजूद आरोपी के घर से बाहर आई। इसके बाद फिर पब्लिक हमलावर हो गई और घर में मौजूद शंकर व वीरपाल के पिता रघुवीर की पिटाई कर दी। लोगों का कहना था कि परिवार के और सदस्य घर व फैक्टरी में ही छिपे हैं। मगर उन्हें समझाकर जैसे तैसे शंात किया गया। एसएसपी व एसपी सिटी की ओर से ठोस भरोसा दिलाया गया। इसी बीच यह भी बताया गया कि एक आरोपी शंकर पकड़ लिया गया है, तब जाकर भीड़ शात हुई। वहीं जिला अस्पताल में भी हंगामा शांत हुआ।
भीड़ ने राहगीर मां-बेटे को पीटा, स्कूटी तोड़ जेवर लूटे
गोलीकांड के बाद गुस्साई भीड़ मोहल्ला जयगंज तक आ गई। यहां से दवा लेने के लिए स्कूटी पर गुजर रहे मां-बेटे को गुस्साई भीड़ ने रोक लिया। उनके साथ जमकर मारपीट की। मारपीट में घायल अविनाश उर्फ छोटू निवासी आरकेपुरम ने बताया कि वह अपनी मां उषा देवी के साथ स्कूटी से रात करीब 10 बजे दवा लेने जा रहे थे। तभी जयगंज के अंदर की ओर से एकदम भीड़ का रेला आया और उन्हें पकड़ लिया। उनके साथ मारपीट की। स्कूटी तोड़ दी। मां की सोने की चूड़ियां भी लूट ले गए। मारपीट में अविनाश के सिर में गंभीर चोट आई है। साथ ही उनका जबड़ा, कंधा व शरीर के अन्य से में भी चोट आई है। मां भी मारपीट में घायल हो गई है। जैसे तैसे पुलिस ने दोनों को भीड़ से छुड़ाने के बाद जिला अस्पताल में उपचार के लिए भेजा।
शक्ती की मौत के बाद मलखान सिंह अस्पताल में विलाप करती पत्नी प्रीती व  परिजन ।
शक्ती की मौत के बाद मलखान सिंह अस्पताल में विलाप करती पत्नी प्रीती व परिजन ।- फोटो : CITY OFFICE
... और पढ़ें

हाथरस: एसटीएफ ने श्यौराज जीवन से की पूछताछ, अब टीवी रिपोर्टर की बारी

न्यूज डेस्क, अमर उजाला, हाथरस
हाथरस कांड की आड़ में जातीय दंगे की साजिश रचने और कांग्रेस नेता श्यौराज जीवन द्वारा भड़काऊ बयान देने के मुकदमों में एसटीएफ ने विवेचना तेज कर दी है। इसी क्रम में एसटीएफ ने अलीगढ़ पहुंचकर कांग्रेस नेता जीवन से पूछताछ की। इस दौरान जीवन ने एसटीएफ के समक्ष अपना पक्ष रखते हुए कहा कि वह कई साल हाथरस कांग्रेस के जिलाध्यक्ष रहे हैं, हर वर्ग की सेवा की है। उस रात माहौल के बीच भावनाओं में बहकर कुछ कह दिया होगा, मगर किसी जाति या धर्म को लेकर मन में कोई भाव नहीं है। बता दें कि चंदपा पुलिस भी पूर्व में इस मुकदमे में जीवन को चंदपा बुलाकर पूछताछ कर चुकी है।
हाथरस प्रकरण में शासन के निर्देश पर यह मुकदमा दर्ज कराया गया था कि इस प्रकरण की आड़ में जातीय दंगा कराने की साजिश रची गई थी। इसके अलावा कांग्रेस नेता श्यौराज जीवन के खिलाफ भी भड़काऊ बयान देने का मुकदमा दर्ज कराया गया था। उनके भाषण का वीडियो भी वायरल हुआ था। यह दोनों मुकदमे चंदपा थाने में दर्ज हैं। इनकी विवेचना एसटीएफ की सौंप दी गई है। जातीय दंगे की साजिश के मुकदमे की विवेचना एसटीएफ की नोएडा शाखा कर रही है तो श्यौराज जीवन के खिलाफ दर्ज मुकदमे की विवेचना बरेली शाखा कर रही है। सोमवार को बरेली से एसटीएफ की टीम चंदपा थाने आई थी और वहां रिकॉर्ड खंगाले थे। उसके बाद बिटिया के गांव पहुंचकर एसटीएफ ने बिटिया के परिजनों से जीवन के बारे में पूछताछ की थी।
सोमवार शाम को एसटीएफ अलीगढ़ पहुंची और श्यौराज जीवन से पूछताछ की। उनका जो वीडियो वायरल हुआ था, उसको लेकर भी बातचीत थी। इस मामले में श्यौराज जीवन का कहना है कि एसटीएफ की टीम ने उनसे इस मामले में पूछताछ की है। उन्होंने भी एसटीएफ के समक्ष अपना पक्ष रखा। जीवन का कहना है कि जब वह बिटिया के गांव गए थे तो वहां का माहौल काफी भयावह था। जीवन का कहना है कि भावनाओं में बहकर उन्होंने कुछ कह दिया था।
उन पर जो भी आरोप लगाए गए हैं, वह पूरी तरह से निराधार हैं। किसी भी जाति के लिए उनकी गलत भावना कभी नहीं रही। किसी जाति विशेष के लिए कोई बात भी उन्होंने नहीं कही। वह कांग्रेस के सिपाही हैं। हर जाति और धर्म के लोगों की उन्होंने हमेशा मदद की है। कई साल हाथरस में जिलाध्यक्ष रहे हैं। जीवन ने बताया कि पिछले एक सप्ताह में एसटीएफ ने यह उनसे दूसरी बात पूछताछ की है और दोनों बार की बातचीत में संतुष्ट होकर गई है।
चैनल पर प्रसारित स्टिंग की सीडी बताएगी सच्चाई
श्यौराज जीवन ने एसटीएफ से बातचीत में टीवी पर प्रसरित खबर के मामले में खुद को निर्दोष बताते हुए कहा कि उन्हें फंसाया गया। इस पर एसटीएफ की ओर से उन्हें भरोसा मिला कि आप परेशान न हों। वह सीडी की जांच साफ कर देगी। अगर टीवी पर प्रसारित खबर की सीडी से छेड़छाड़ या कटिंग हुई होगी तो जांच में साफ हो जाएगा। उसके बाद किसी को कुछ कहने की जरूरत नहीं।
... और पढ़ें

कोरोना से दो महिलाओं सहित तीन की मौत, 19 संक्रमित

कोरोना वायरस की चपेट में आकर दो बुजुर्ग महिलाओं सहित तीन लोगों की मौत हो गई है। 19 नए लोग वायरस से संक्रमित पाए गए हैं। 24 लोग कोरोना को पराजित कर स्वस्थ हुए हैं। अब तक जनपद में संक्रमितों की संख्या 9396 और स्वस्थ हुए लोगों की संख्या 9098 तक पहुंच गई है। वर्तमान समय में 250 मरीज सक्रिय हैं।
जेएन मेडिकल कॉलेज में 55 वर्षीय एक मरीज की मौत हुई है। शहर के एक निजी अस्पताल में रामबाग कॉलोनी की 76 वर्षीय महिला की मृत्यु हो गई। अंतिम संस्कार के बाद उनकी रिपोर्ट धनात्मक है। तीसरी मौत दिल्ली में हुई है
। 14 अक्तूबर को गूलर रोड निवासी 75 वर्षीय महिला संक्रमित पाई गई थी। उनका उपचार दिल्ली के एक अस्पताल में चल रहा था।, जहां महिला की मृत्यु हो गई। जेएन मेडिकल कॉलेज, दीनदयाल अस्पताल, प्राइवेट लैब एवं एंटीजन टेस्ट में मंगलवार को 19 लोग संक्रमित पाए गए हैं। जिलाधिकारी चंद्रभूषण सिंह ने बताया कि संक्रमित मरीजों को कोविड-19 अस्पताल में भर्ती किया जा रहा है। परिजन एवं संपर्क में आए लोगों को क्वारंटीन कर नमूना लिया जाएगा।
... और पढ़ें

बिना नाम लिए सांसद सतीश गौतम ने साधा मशकूर पर निशाना

सांसद सतीश कुमार गौतम ने बिहार के समस्तीपुर के मोहिउद्दीन नगर विधान सभा क्षेत्र में भाजपा प्रत्याशी के समर्थन में जनसभा को संबोधित किया। इस दौरान उन्होंने बिना नाम लिए एएमयू छात्र संघ के पूर्व अध्यक्ष एवं दरभंगा जिला के जाले विधानसभा क्षेत्र से कांग्रेस प्रत्याशी मशकूर उस्मानी पर निशाना साधा।
संगठन ने सांसद सतीश गौतम को दरभंगा प्रमंडल के समस्तीपुर जिला के मोहिउद्दीन नगर विधान सभा क्षेत्र का प्रभारी बनाया है। वहां से राजेश कुमार सिंह भाजपा के प्रत्याशी हैं। 3 नवंबर को चुनाव होना है। मंगलवार को मोहिउद्दीन नगर में सांसद सतीश गौतम ने भाजपा प्रत्याशी के पक्ष में प्रचार किया। जनसभा में उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर विश्वास कीजिए। वह जो कहते हैं, वह करते हैं। बिहार में नीतिश कुमार ने बहुत काम किया है। 15 साल पहले लालू प्रसाद का शासन था। बहन-बेटियां सुरक्षित नहीं थी। उन्होंने कहा कि आज बिहार में वे लोग भी चुनाव लड़ रहे हैं जो वंदे मातरम् कहने से घृणा करते हैं। देश का विभाजन कराने वाले जिन्ना का गुणगान करते हैं।
... और पढ़ें

रावण पुतला विवादः राधा ने खोला ‘रावण हरण’ का राज

अभिषेक शर्मा
रामलीला मैदान में रावण का पुतला तो जैसे-तैसे दहन हो गया। मगर, ‘रावण पुतला हरण’ लीला में परत दर परत राज खुल रहे हैं। मंगलवार को इस लीला में एक नया मोड़ तब आया जब चौकीदार राधा रानी ने खुला पत्र लिखकर अपनी बेगुनाही की कहानी सुनाई है और मुख्यमंत्री से न्याय व सच्चाई की जांच का अनुरोध किया है। पत्र में उसने उस रात हुए पूरे घटनाक्रम का उल्लेख किया है। उसका आरोप है कि उपाध्यक्ष विमल अग्रवाल ने आकर उसे धमकी दी थी। कहा था कि अगर पुतला नहीं हटा तो तुम्हारे ऊपर और अध्यक्ष पर मुकदमा दर्ज करा दूंगा। तब मजबूरन में अध्यक्ष से वार्ता कर पुतला हटवाया गया और पुतला कहीं गया नहीं था। पीछे बाग में रखवा दिया था।
रामलीला मैदान की चौकीदार राधारानी अग्रवाल उर्फ चांदनी ने पत्र में लिखा है कि वह 2003 में अपने पति के साथ यहां आई थी। पहले पति रामलीला मैदान की चौकीदार करते थे। उनकी मौत के बाद दो बच्चों की जिम्मेदारी देखते हुए कमेटी ने उसे यह काम सौंप दिया। 24 अक्तूबर की रात को रामलीला मैदान से गायब हुए पुतले को लेकर राधारानी ने पत्र में लिखा है कि पुलिस नोटिस को लेकर हुए विवाद के बाद उस रात 9.30 बजे रामलीला कमेटी के उपाध्यक्ष विमल अग्रवाल उसके पास आए। उन्होंने कहा था कि पुलिस ने पुतला दहन के लिए मना किया है। इसे यहां से हटवा देना। पुलिस रात को कभी भी आ सकती है। इसलिए गेट को भी ताला लगाकर रखना। इसी बीच उपाध्यक्ष ने महामंत्री अरविंद को भी बुला लिया। दोनों ने कहा कि हम जो कह रहे हैं, उसका पालन करो। बकौल राधा, उसने दोनों से कमेटी अध्यक्ष वेद प्रकाश जैन से बात करने को कहा तो उन्होंने फोन पर अध्यक्ष से बात कराई। फोन पर अध्यक्ष ने भी दोनों की बात मानने को कहा। इसके बाद अरविंद और विमल वहां से चले गए।
राधा के मुताबिक उसी रात फिर विमल अग्रवाल ने वहां आकर उसे धमकाते हुए कहा कि अगर यहां रावण के पुतले का दहन हुआ तो तेरे व अध्यक्ष के खिलाफ मुकदमा दर्ज करवा दिया जाएगा। इससे वह डर गई। इधर, रावण का पुतला बना रहा कारीगर राजू भी डर गया। फिर अध्यक्ष जी से फोन पर वार्ता हुई और महामंत्री जी से भी वार्ता हुई। अध्यक्ष जी ने जब सहमति दे दी, तब पुतला वहां से हटवाया गया। राजू रामलीला मैदान में जलाए जाने वाले पुतले को परिसर के पिछले भाग में रखकर चला गया। साथ ही वह एक अन्य पुतला दूसरे स्थान पर दहन होने के लिए बना रहा था। उसे अपने साथ ले गया। इसमें किसी का दोष नहीं है, यह कमेटी के आपसी विवाद का हिस्सा है। इस विवाद में उसे निर्दोष फंसाया गया और उसे गिरफ्तार कर रात भर थाने रखा गया। उसने मुख्यमंत्री से इस मामले में न्याय मांगते हुए सच्चाई की जांच की मांग की है।
इधर, उसने अमर उजाला से फोन पर बातचीत में कहा कि पुलिस अखंड रामायण पाठ के शुरू होने के समय से ही मैदान के बाहर रहकर सुरक्षा करती आ रही थी। विवाद वाली रात भी पुलिस बाहर ही थी। बाहर जीप में बैठे पुलिसकर्मियों ने कई बार इतना जरूर आवाज लगाकर कहा था कि क्यों पुतला तैयार कर रहे हो, यहां की अनुमति नहीं मिली है कोई पुतला दहन नहीं होगा। इस दौरान मैदान के भीतर कोई पुलिसकर्मी नहीं आया।
मैं इस समय केदारनाथ बाबा के दर्शन करने आया हूं। अब मेरे पीछे कोई क्या कह रहा है या लिखकर भेज रहा है। इस पर टिप्पणी करना उचित नहीं है। अलीगढ़ वापस आने पर ही बातचीत होगी। पहले ही बता चुका हूं कि पुतला अध्यक्ष ने हटवाया। इसमें और कुछ नहीं कहना।-विमल अग्रवाल उपाध्यक्ष रामलीला गौशाला कमेटी
पुलिस को भी मैंने अपना बयान दर्ज कराया है। उसमें भी यही बताया है। नोटिस विवाद के बाद रात में मैदान पर पुलिसकर्मी गए थे। उन्होंने महिला को पुतला हटाने को कहा। इसके बाद अध्यक्ष जी से वार्ता पर पुतला हटा है।-अरविंद कुमार महामंत्री रामलीला गौशाला कमेटी
... और पढ़ें

यातायात व्यवस्था में सुधार को जनता से मांगे सुझाव

अनलॉक लागू होते ही शहर की यातायात व्यवस्था में सुधार के लिए ट्रैफिक पुलिस ने काम शुरू कर दिया है। सात बिंदुओं पर एक कार्ययोजना तैयार की जा रही है। जनता से भी सुझाव मांगे गए हैं । कार्ययोजना में पार्किंग, नो वेंडिंग जोन सहित सभी महत्वपूर्ण पहलू शामिल किए जा रहे हैं। जिसे जल्द ही कमिश्नर के पास अनुमति के लिए भेजा जाएगा। एसपी यातायात ने पब्लिक से व्हाट्सएप नंबर 7088988000 व 9454400378 पर अपने सुझाव मांगे हैं।
एसपी ट्रैफिक सतीश चंद्र ने बताया कि शहर की यातायात व्यवस्था सुधार के लिए सात बिंदुओं पर कार्ययोजना तैयार की जा रही है। जिसमें पार्किंग, नो पार्किंग, नो एंट्री, वन-वे, अतिक्रमण व्यवस्था और नो वेंडिंग जोन को लेकर जगह निर्धारित कर ली गई हैं । जल्द ही एकल मार्ग की व्यवस्था की जाएगी। ई-रिक्शा के रूट भी तय किए जाएंगे, ताकि प्रतिबंधित जगहों पर ई-रिक्शा न चलें। सीएनजी, ऑटो व रोडवेज बसों के लिए भी मानक बनाए हैं। साथ में स्कूली वाहन के संचालन, दुर्घटना में घायलों को त्वरित इलाज के लिए भी योजना है।
जिले में ब्लैक स्पॉट चिन्हित कर लिए गए हैं। इन पर नगर निगम व आरटीओ के सहयोग से काम किया जा रहा है। चौराहों पर सीसीटीवी, अपडेट सिस्टम आदि का काम नगर निगम स्तर से किया जा रहा है। इस योजना को और बेहतर बनाने के लिए व्यापारी व आम लोगों से सुझाव मांगे गए हैं, उन पर अमल किया जाएगा। अब कोई भी अपने सुझाव तीन दिन में व्हाट्सएप पर दे सकते हैं। इन सुझावों को कार्ययोजना में शामिल किया जाएगा। इसके बाद कमिश्नर से अनुमति लेकर इसे लागू किया जाएगा।
... और पढ़ें

रेहड़ी-पटरी दुकानदारों के बच्चों को शिक्षित बनाना जरूरी

मंडलायुक्त जीएस प्रियदर्शी ने कहा कि रेहड़ी-पटरी दुकानदारों (स्ट्रीट वेंडर्स) का उद्धार शिक्षा के बिना अधूरा है। समाज में सम्मान प्राप्त करने के लिए प्रत्येक दुकानदार के परिवार के बच्चों को शिक्षित करना बेहद जरूरी है। डीएस कॉलेज ऑडिटोरियम में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी एवं दुकानदारों के बीच वर्चुअल संवाद कार्यक्रम का आयोजन किया गया था।
कार्यक्रम के बाद मंडलायुक्त ने नगर निगम से दुकानदारों को लाभ पहुंचाने के काम में तेजी लाने का आह्वान किया। पथ विक्रेताओं को शहरी आजीविका केंद्र से जोड़ने, उनके घरों के आसपास स्कूल खोलने, वेडिंग जोन में व्यवस्थित करने के साथ-साथ जनहित की योजनाओं का लाभ दिलाने की आवश्यकता जताई। मंडलायुक्त ने कहा कि रेहड़ी-पटरी दुकानदारों का भारतीय अर्थव्यवस्था में महत्वपूर्ण योगदान है। उन्होंने कहा कि जनपद में इसकी संख्या कितनी है, इसका सटीक आंकड़ा किसी के पास नहीं है।
नगर आयुक्त सत्य प्रकाश पटेल ने कहा कि अधिक से अधिक पथ विक्रेताओं को योजना का लाभ दिलाने में नगर निगम प्रशासन जुटा है। ऋण को समय पर अदा करने वाले दुकानदारों को 7 फीसदी का वार्षिक ब्याज सब्सिडी के तौर पर उनके बैंक खाते में सरकार की ओर से ट्रांसफर किया जाएगा। योजना में सहयोग के लिए नगर आयुक्त ने बैंककर्मियों को बधाई दी। अपर नगर आयुक्त अरुण कुमार गुप्त ने धन्यवाद ज्ञापित किया। इस अवसर पर सहायक नगर आयुक्त राजबहादुर सिंह, मुख्य कर निर्धारण अधिकारी विनय कुमार राय, उपमहापौर पुष्पेंद्र जादौन, पार्षद वीरेंद्र सिंह, पार्षद रश्मि, प्रगति चौहान, नगर स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. शिव कुमार आदि मौजूद थे।
रेहड़ी पटरी दुकानदारों से संवाद के दौरान प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि जनधन खाता खोले जाने के वक्त लोगों ने मजाक उड़ाया था। आपदा के वक्त वही काम आया।
उन्होंने कहा कि पहले रेहड़ी-पटरी दुकानदार बैंक में जाने की सोचते भी नहीं थे। आज बैंक खुद चलकर उनके पास आया है। आपके चेहरे पर खुशी देखकर मुझे संतोष हो रहा है। प्रधानमंत्री ने पीएम स्वनिधि योजना की चर्चा करते हुए कहा कि गरीबों की योजना इतनी जल्दी जमीन पर उतरेगी, किसी ने कल्पना भी नहीं की थी। इस योजना को तकनीक से जोड़ा गया है। ऋण के लिए कोई कागज, गारंटर और दलाल की जरूरत नहीं पड़ी। उन्होंने कहा कि रेहड़ी-पटरी दुकानदारों का अर्थव्यवस्था में महत्वपूर्ण योगदान है। उत्तर प्रदेश में पलायन रोकने में इनकी भूमिका है। हमारे देश का गरीब ईमानदारी एवं आत्मसम्मान से समझौता नहीं करता है। उन्होंने लोगों से कोरोना से बचाव के लिए दो गज की दूरी एवं मास्क पहनने का आह्वान किया।
... और पढ़ें

कोई तो है, जो हमारे भविष्य की चिंता करता है

प्रधानमंत्री स्वनिधि योजना से 10 हजार रुपये का ऋण लेकर दुबे का पड़ाव निवासी पिंकी प्रतिदिन 200 से 250 रुपये कमा रहे हैं। इससे उनकी आर्थिक तंगी दूर होने के साथ-साथ लॉकडाउन के बाद ठहरी हुई घर गृहस्थी की गाड़ी भी चल पड़ी है। वह प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के दीवाने हो गए हैं। उनका कहना है कि कोई तो है, जो हमारे भविष्य की चिंता कर रहा है। ऐसे ही भाव प्रधानमंत्री के वर्चुअल संवाद में शामिल अधिकतर रेहड़ी-पटरी दुकानदारों के मन में थे।
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने मंगलवार को उत्तर प्रदेश के रेहड़ी-पटरी दुकानदारों से वर्चुअल संवाद किया। नगर निगम द्वारा कार्यक्रम का आयोजन डीएस कॉलेज ऑडिटोरियम में किया गया था। अलीगढ़ के दुकानदारों को प्रधानमंत्री से सीधा संवाद का मौका नहीं मिला। लेकिन अन्य शहरों के दुकानदारों से प्रधानमंत्री का संवाद देख-सुन कर बेहद उत्साहित नजर आए। शहर के करीब 150 दुकानदारों ने समय पर ऋण चुकाने एवं भविष्य में बैंक से फायदा उठाने का संकल्प लिया। उल्लेखनीय है कि नगर निगम द्वारा 13500 रेहड़ी-पटरी दुकानदारों को ऋण दिलाने का लक्ष्य निर्धारित किया गया है। 13359 दुकानदारों के ऑनलाइन आवेदन प्राप्त हुए हैं। 6832 दुकानदारों के ऋण स्वीकृत हो चुके हैं। 4851 दुकानदारों को ऋण मिल चुका है।
ऋण मिलते ही दौड़ने लगी जीवन की गाड़ी : पिंकी
पिंकी ने बताया कि लॉकडाउन के बाद परिवार की स्थिति बेहद खराब हो गई थी। रोडवेज अड्डा पर पेठा का काम आगे बढ़ाने के लिए पैसे नहीं थे। कभी किसी बैंक से ऋण नहीं लिया था। प्रधानमंत्री स्वनिधि योजना की जानकारी हुई तो नगर निगम में आवेदन किया। कुछ ही दिन में बैंक से फोन आ गया कि आकर पैसा ले जाएं। दो बार में 10 हजार रुपये मिले। पेठा बनाने का सामान खरीद कर लाया और जीवन की गाड़ी चल पड़ी।
पीएम ने जो अवसर दिया है, उसका फायदा उठाएंगे : कुशलपाल
पला साहिबाबाद में गोलगप्पे और टिक्की का काम करने वाले कुशलपाल ने भी इस योजना के तहत 10 हजार रुपये का ऋण लिया है। वह कहते हैं कि प्रधानमंत्री ने जो अवसर उपलब्ध कराया है, उसका पूरा फायदा उठाने का प्रयास करेंगे। समय पर बैंक का ऋण चुकता कर व्यापार को आगे बढ़ाने के लिए बैंक से फिर ऋण लेंगे। कुछ अन्य लाभार्थियों का कहना है कि बैंक वाले गरीबों को कहां ऋण देते हैं। लेकिन प्रधानमंत्री की नीतियों के कारण पहली बार उन्हें बेहद आसान तरीके से ऋण मिल रहा है।
राजकुमार की आंखों से झलक पड़े आंसू
सराय दीनदयाल के राजकुमार का रो-रो कर बुरा हाल है। उनका ऋण अभी स्वीकृत नहीं हुआ है। बैंक और नगर निगम के बीच दौड़ लगा रहे हैं।
वर्चुअल संवाद के दौरान राजकुमार भी डीएस कॉलेज पहुंच गए। उन्होंने कहा कि बैंक ऑफ बड़ौदा वाले उन्हें टहला रहे हैं। राजकुमार पला होली चौक पर चाट का ढकेल लगाते हैं। वर्तमान में आर्थिक स्थिति बेहद खराब है। दो बेटियां हैं। आर्थिक तंगी के कारण मजदूरी करने जाना पड़ रहा है। मान सिंह नगला पुलिया के राजेंद्र सिंह का भी ऐसा ही हाल है। वह भी ढकेल लगाते हैं। ग्रामीण बैंक के मैनेजर उन्हें टहला रहे हैं। राजकुमार एवं राजेंद्र सिंह जैसे बहुत लोग हैं, जिन्हें योजना के तहत ऋण नहीं मिल पाया है।
... और पढ़ें

वाल्व बिना बदले किशोरी के हृदय में ट्यूमर का किया आपरेशन

अलीगढ़ मुस्लिम विश्वविद्यालय के जवाहरलाल नेहरू मेडिकल कॉलेज के डॉक्टरों के नाम एक और उपलब्धि जुड़ गई है। उन्होंने फिरोजाबाद निवासी 17 वर्षीय किशोरी के हृदय में ट्यूमर का सफल आपरेशन किया है, वह भी वाल्व को बिना बदले। आपरेशन के बाद सबा की हालत सामान्य है। कठिन सर्जरी करने वाली टीम को कुलपति ने बधाई दी है। इस सर्जरी का खर्च समाजसेवी और पूर्व विधायक जफर आलम ने उठाया है।
मेडिकल कालेज के कार्डियोथोरासिक सर्जन डा. आजम हसीन के नेतृत्व में डा. सुमित प्रताप सिंह व डा. मयंक यादव ने आपरेशन किया। टीम में डा. साबिर अली खान, डा. नदीम रजा, डा. हर्ष, डा. शाहिद तथा डा. लक्ष्य वार्ष्णेय भी शामिल थे। डा. आजम हसीन ने बताया कि फिरोजाबाद की रहने वाली 17 वर्षीय सबा को सांस लेने में कठिनाई होती थी। वह अकसर बेहोश हो जाती थी। प्रारंभिक जांच में हृदय संबंधी समस्या का पता चला। सभी प्रकार की जांच के बाद डॉक्टर्स ने सर्जरी का विकल्प चुना। इस सर्जरी में हृदय में मौजूद ट्यूमर का आपरेशन किया गया। वह भी वाल्व को बिना बदले, जो एक असाधारण उपलब्धि है। उन्होंने कहा कि अब सबा की स्थिति सामान्य है।
डा. आजम हसीन की टीम को बधाई देता हूं। जेएन मेडिकल कालेज के चिकित्सक पूरी लगन के साथ कार्य कर रहे हैं। यह असामान्य आपरेशन उनकी कर्मठता का उदाहरण है। - प्रो. तारिक मंसूर, कुलपति, एएमयू
मेडिकल कालिज के कार्डियक सर्जरी विभाग के अंतर्गत गत 3 वर्षों में 400 से अधिक शल्य कार्य सफलतापूर्वक किये जा चुके हैं । - प्रो. शाहिद अली सिद्दीकी, प्रिंसिपल, जेएन मेडिकल कालेज
मेडिकल कालेज के चिकित्सक कई जटिल शल्य कार्य अंजाम दे चुके हैं। जिनमें से कई मामले दूसरे अस्पतालों द्वारा रेफर किये गए थे
- प्रो. राकेश भार्गव, डीन मेडिसिन फैकेल्टी, जेएन मेडिकल कॉलेज
... और पढ़ें
Karwachauth Coupon
Karwachauth Coupon
Karwachauth Coupon
Karwachauth Coupon
Election
  • Downloads

Follow Us

X

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00
X