विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
कराएं दिवाली की रात लक्ष्मी कुबेर यज्ञ, होगी अपार धन, समृद्धि  व्  सर्वांगीण कल्याण  की प्राप्ति : 27-अक्टूबर-2019
Astrology Services

कराएं दिवाली की रात लक्ष्मी कुबेर यज्ञ, होगी अपार धन, समृद्धि व् सर्वांगीण कल्याण की प्राप्ति : 27-अक्टूबर-2019

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

From nearby cities

कमलेश तिवारी हत्याकांड: गुजरात से आए थे हत्यारे, मिठाई के डिब्बे ने खोला राज

हिंदू समाज पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष कमलेश तिवारी हत्याकांड में यूपी पुलिस ने 24 घंटे में खुलासा कर दिया है। पुलिस ने घटना में शामिल तीन लोगों को गुजरात के सूरत से गिरफ्तार किया है।

19 अक्टूबर 2019

विज्ञापन
विज्ञापन

मैनपुरी

शनिवार, 19 अक्टूबर 2019

सोशल मीडिया पर छाया बच्चों से झाडू लगवाते हुए वीडियो

मैनपुरी/कुरावली। प्राथमिक विद्यालय नगला खुमानी पर बच्चों का झाड़ू लगाते हुए वीडियो गुरुवार को वायरल हुआ। वीडियो में बच्चे स्कूल में झाड़ू लगाने के साथ ही गंदगी साफ करते हुए देखे जा रहे हैं। अधिकारियों ने मामले की जांच कर कार्रवाई करने की बात कही है।
कुरावली विकास खंड के प्राथमिक विद्यालय नगला खुमानी पर धर्मेंद्र कुमार पांडेय शिक्षक के रूप में तैनात हैं। गुरुवार को इस विद्यालय पर बच्चे झाड़ू लगा रहे थे। तभी यहां पहुंचे दो लोगों ने वीडियो बना लिया। जानकारी होते ही धर्मेंद्र कुमार भी यहां पहुंच गए। वीडियो बना रहे लोगों से उनका विवाद भी हुआ।
बाद में सोशल मीडिया पर यह वीडियो पूरे दिन चर्चा का विषय रहा। इस संबंध में जब धर्मेंद्र कुमार पांडेय से बात की गई तो उनका कहना था कि वे गांव से बच्चों को बुलाने गए थे तभी यहां पहुंचे कुछ लोगों ने बच्चों से जबरन झाड़ू लगवाते हुए वीडियो बनाया। रसोइया ने रोका तो उसके साथ अभद्रता की। शिक्षक ने आरोपियों के विरुद्ध थाना कुरावली में तहरीर भी दी है।
मामले की जानकारी मिली है। जांच कराई जाएगी। यदि शिक्षक दोषी पाया जाता है तो उसके विरुद्ध कार्रवाई होगी।
-विजय प्रताप सिंह, बीएसए
... और पढ़ें

राजीव गांधी नगर में बंदरों को उत्पात, 30 बच्चों पर बोला हमला

मैनपुरी। नवीन मंडी के पास स्थित मोहल्ला राजीव गांधी नगर में बंदरों के उत्पात से लोग परेशान हैं। बंदरों ने 15 दिन में 30 बच्चों को काटकर घायल कर दिया है। भयग्रस्त परिजनों ने बच्चों का खेलना और छत जाना बंद कर रखा है। लोगों ने आईजीआरएस पर शिकायत की, लेकिन कार्रवाई आज तक नहीं हुई। उनका आरोप है कि अफसर इस ओर ध्यान नहीं दे रहे हैं।
लोगों का कहना है कि बंदर बच्चों को देखते ही उन पर हमला कर देते हैं। बचाव के लिए आने वाले मां-बाप व अन्य परिजन भी घायल हो रहे हैं। स्थिति यह है कि एक-एक बच्चे को तीन से चार बार बंदर काट चुुके हैं। मोहल्ला निवासी मनोज कुमार, अजय यादव, विनोद कुमार शर्मा, रविंद्र प्रताप सिंह, जयनरायन सिंह, सोनू, धु्रव कुमार, लालू यादव, ने जिलाधिकारी, वन अधिकारी व नगर पालिका प्रशासन से मांग की है कि बंदरों को पकड़वाया जाए। इससे बच्चे आजादी के साथ जीवन जी सकें।
ये बच्चे हैं वर्तमान में घायल
आर्यन, सौम्या, राघव पुत्र व पुत्री मनोज कुमार, नीशू पुत्र अजय यादव, खुशबू पुत्री विनोद कुमार, शिव्या पुत्री रविंद्र सिंह, प्रशांत पुत्र शेर सिंह, अनीता पुत्री जयनरायन सिंह, दीक्षा व आकांक्षा पुत्री सोनू तथा अप्पी आदि को बंदरों ने अपना शिकार बनाया है जो विभिन्न स्थानों पर अपना उपचार करा रहे हैं।
पालिका करती है टालमटोल
स्थानीय लोगों ने बताया कि पालिका केवल टालमटोल करती है। उन्होंने पालिका में शिकायत देकर बंदरों को पकड़वाने की मांग की। पालिका प्रशासन ने उनके पास व्यवस्था न होने की बात कही। साथ ही आश्वासन दिया कि वन विभाग की मदद से बंदरों को पकड़ने की व्यवस्था कराई जाएगी। शिकायतों को छह महीने का समय बीत चुका है, लेकिन अभी तक एक भी बंदर नहीं पकड़ा गया है।
मोहल्ले में टीम को भेजकर लोगों को राहत दिलाने का प्रयास किया जाएगा। अगर जरूरत पड़ी तो बंदरों को वन विभाग की मदद से पकड़ा जाएगा।
-लालचंद्र भारतीय, ईओ।
... और पढ़ें

बेवर डिपो की बस का यात्री जहरखुरानी का शिकार

कुरावली। बेवर डिपो की बस में सवार होकर दिल्ली से लौटते समय एक युवक जहरखुरानी का शिकार हो गया। जहरखुरानों ने उसका करीब एक लाख रुपये और अन्य सामान पार कर दिया। वह मंडी के पास सड़क किनारे झाड़ियों में बेहोशी की हालत में पड़ा मिला था। वहीं रोडवेज प्रशासन ने बस का संचालन दिल्ली से न होने की बात कही है।
उधर, पुलिस को गभाना टोल प्लाजा से बस के पास होने की जानकारी मिली है। अब पुलिस बस के बारे में भी जानकारी जुटाने में जुट गई है। गांव अकबरपुर झाला निवासी ब्रजपाल सिंह दिल्ली में काम करता है। रविवार की रात वह बेवर डिपो की बस से घर आ रहा था। परिजनों के अनुसार उसके पास करीब एक लाख रुपये व अन्य सामान भी था।
अलीगढ़ से पहले एक होटल पर बस रुकी तो वह खाना खाने के लिए चला गया। इसके बाद वह बस में आकर बैठा। बाद में उसने अपने आप को कुरावली सीएचसी पाया। परिजनों ने बताया कि युवक सोमवार की सुबह चार बजे मंडी के पास रोड किनारे झाड़ियों में बेहोशी के हालत में मिला था। उसका कैश और सामान गायब था।
बस दिल्ली नहीं आगरा के लिए संचालित हुई थी
पुलिस ने होश में आए युवक से जानकारी लेने के बाद बेवर डिपो पहुंचकर एआरएम से जानकारी ली। यहां बताया कि रविवार को उक्त नंबर की बस आगरा से बेवर के लिए संचालित हुई थी। बस दिल्ली के लिए नहीं गई थी। पुलिस जब जांच करने अलीगढ़ के पास हाईवे पर टोल प्लाजा पहुंची, तो पता चला कि टोल प्लाजा से उक्त नंबर की बस पास हुई है। रोडवेज प्रशासन द्वारा गलत जानकारी देने पर पुलिस भी हैरान है।
कौन ले गया था रोडवेज बस
बेवर डिपो के अधिकारी ने बताया कि बस का उस दिन दिल्ली के लिए संचालन नहीं हुआ। अगर अधिकारी की बात पर यकीन किया जाए तो सवाल उठता है कि आखिर बस का संचालन कौन कर रहा था। किसके द्वारा यात्रियों की टिकट बनाई गई। बस टोल प्लाजा से गुजरी यह बात साबित हो चुकी है। ऐसे में पुलिस अब मामले की गंभीरता से जांच कर रही है।
बस संख्या यूपी84 टी-0698 का संचालन दिल्ली रूट पर नहीं होता है। यह बस आगरा और बेवर के बीच संचालित होती है। जानकारी की जाएगी कि आखिर बस की लोकेशन दिल्ली रूट पर कैसे मिली।
-अपराजित श्रीवास्तव, एआरएम बेवर डिपो।
... और पढ़ें

मैनपुरी: बबूल के पेड़ को लेकर चलीं गोलियां, वृद्धा समेत तीन घायल, गांव में दहशत

मैनपुरी के नगला पंछी में शुक्रवार की रात बबूल के पेड़ को लेकर हुए विवाद के बाद दो पक्ष आपस में भिड़ गए। एक पक्ष के लोगों ने दूसरे पक्ष पर ताबड़तोड़ फायरिंग कर दी, जिसमें एक वृद्धा समेत तीन लोग घायल हो गए। घटना से गांव में दहशत फैल गई। सूचना पर फोर्स के साथ पुलिस अफसर पहुंच गए। पुलिस ने चार आरोपियों को असलहा सहित गिरफ्तार कर लिया है। 

थाना कुर्रा क्षेत्र के नगला पंछी में एक बबलू का पेड़ खड़ा है। इसे काटने को लेकर शुक्रवार रात करीब नौ बजे दो पक्षों के विवाद हो गया। इसी दौरान एक पक्ष के लोगों ने ताबड़तोड़ कई राउंड फायरिंग कर दी। गोलियां की तड़तड़ाहट से गांव दहल गया। लोग दहशत में आए गए। फायरिंग में गोली लगने से 60 वर्षीय रेशमा देवी व दो अन्य घायल हो गए। 

ये भी पढ़ें- 
करवा चौथ पर प्रेमी से मिलने आगरा आई जबलपुर की महिला, यहां पता चली चौंकाने वाली सच्चाई
  ... और पढ़ें
प्रतीकात्मक तस्वीर प्रतीकात्मक तस्वीर

यूपी पुलिस को 'मुर्दे' से शांतिभंग का खतरा, दो वर्ष पूर्व मर चुके किसान को बनाया आरोपी

मैनपुरी जिले में पुलिस का चौंकाने वाला कारनामा सामने आया है। पुलिस को मृत किसान से शांतिभंग का खतरा है। तभी तो पुलिस ने दो वर्ष पूर्व मर चुके किसान के खिलाफ शांतिभंग में चालान की रिपोर्ट एसडीएम कोर्ट में भेज दी। मामल संज्ञान में आने के बाद एसडीएम ने तत्काल रिपोर्ट मांगी है।

भोगांव थाना क्षेत्र के गांव नौरंगाबाद निवासी जयवीर सिंह के चाचा धर्मवीर सिंह यादव की करीब दो वर्ष पूर्व खेत पर काम करने के दौरान हृदयगति रुकने से मौत हो गई थी। एसआई अजय सिंह ने इस गांव के रोहित, नितिन, सौरभ, यतेंद्र सिंह व रामऔतार पर बच्चा चोर की अफवाह फैलाने का आरोप लगाते हुए चालानी रिपोर्ट एसडीएम कोर्ट में भेज दी। 

बीते चार अक्तूबर को एक और रिपोर्ट भेजी गई, जिसमें मृतक किसान धर्मवीर को भी आरोपी बना दिया। मृतक के भतीजे जयवीर ने मामले में एसडीएम पीसी आर्य को प्रार्थना पत्र देकर कार्रवाई की मांग की। इस लापरवाही पर नाराजगी व्यक्त करते हुए एसडीएम ने पुलिस से तत्काल रिपोर्ट मांगी है।
... और पढ़ें

खाद्य विभाग की टीम ने बर्फी के तीन नमूने भरे

मैनपुरी। त्योहारों को देखते हुए खाद्य सुरक्षा एवं औषधि प्रशासन ने भी मिलावट के खिलाफ अभियान शुरू कर दिया है। शुक्रवार को टीम ने शहर के साथ-साथ औंछा और घिरोर में भी दुकानों पर चेकिंग की। टीम ने तीन बर्फी के नमूने लेकर जांच के लिए भेजे हैं।
अभिहित अधिकारी रामसुंदर प्रसाद के नेतृत्व में शुक्रवार को खाद्य सुरक्षा विभाग की टीम ने अभियान चलाया। सबसे पहले टीम ने ज्योंती रोड स्थित मिठाई की दुकानों पर चेकिंग की। इस दौरान संदेह के आधार पर ज्योती स्वीट हाउस से बर्फी, नितिन मिष्ठान भंडार और बालाजी मिष्ठान भंडार से नारियल की रंगीन बर्फी का एक-एक नमूना लिया गया।
टीम ने दुकानदारों को साफ-सफाई रखने के साथ ही दूषित मिठाइयों की बिक्री न करने की हिदायत दी। टीम ने औंछा और घिरोर में निरीक्षण के दौरान 14 किलो दूषित बर्फी, 18 किलो रसगुल्ला, छह किलो बालूशाही और पांच किलो गुजिया नष्ट कराई। दुकानदारों को चेतावनी दी कि अगर दोबारा दूषित मिठाइयां मिली तो कार्रवाई होगी। टीम में खाद्य सुरक्षा अधिकारी डॉ. राजीव कुमार, एसबी सिंह, डीके वर्मा और सुघर सिंह शामिल रहे।
... और पढ़ें

जनपदीय प्रतियोगिता में अभिजीत, शिवांकी और कर्णप्रताप बने चैंपियन

किशनी। नगर के आदर्श इंटर कॉलेज के मैदान पर चल रही 64वीं जनपदीय क्रीड़ा प्रतियोगिता का शुक्रवार को समापन हो गया। तीन दिवसीय प्रतियोगिता के सीनियर वर्ग में दिहुली के अभिजीत, जूनियर वर्ग में समान की शिवांकी और सब जूनियर वर्ग में कुसमरा के कर्णप्रताप को चैंपियन घोषित किया गया। समापन समारोह में मुख्य अतिथि एसडीएम प्रेमप्रकाश ने सफल प्रतिभागियों को पुरस्कार प्रदान कर सम्मानित किया।
तीन दिवसीय क्रीड़ा प्रतियोगिता के अंतिम दिन सब जूनियर वर्ग में एसएसजीएम कुसमरा के कर्ण प्रताप ने 100, 200 व 400 मीटर दौड़ में प्रथम स्थान हासिल किया। सीनियर बालक वर्ग में एके इंटर कॉलेज दिहुली के अभिजीत ने लम्बी कूद, त्रिकूद व 400 मीटर दौड़ में प्रथम स्थान हासिल किया।
जूनियर बालिका वर्ग में श्री नेहरू स्मारक इंटर कॉलेज समान की छात्रा शिवांकी ने 100, 200 व 400 मीटर दौड़ में प्रथम स्थान पाया। तीन प्रतियोगिताओं में प्रथम पाने वालों को चैंपियन घोषित किया गया। जूनियर बालक वर्ग की 800 व 1500 मीटर दौड़ में नेशनल इंटर कॉलेज भोगांव के छात्र आलोक कुमार ने प्रथम स्थान हासिल किया।
100 मीटर दौड़ में एमएसजीएम कुसमरा के राज अवस्थी, एके इंटर कॉलेज बरनाहल के आदित्य व जीआईसी मैनपुरी के शिवम ने संयुक्त रूप से द्वितीय, आदर्श इंटर कॉलेज किशनी के समरऊ ने तृतीय स्थान हासिल किया। एसडीएम ने सभी को पुरस्कार वितरित किया। इस मौके पर डीआईओएस सर्वेश कुमार, सह जिला विद्यालय निरीक्षक शौकीन सिंह यादव, उमा शंकर यादव, संजय सिंह, सरमन सिंह, मनोज यादव, रवि तोमर, दिलमोहन सोनी, मनोज यादव सहित कई लोग मौजूद रहे। संचालन जैन इंटर कॉलेज के प्रवक्ता पवन यादव ने किया।
... और पढ़ें

प्लांट से आपूर्ति बाधित, गैस उपभोक्ता परेशान

किशनी में क्रीड़ा प्रतियोगिता के समापन पर प्रस्तुतियां देतीं छात्राएं
मैनपुरी। हाथरस सलेमपुर स्थित एलपीजी प्लांट पर दिक्कत आने से उपभोक्ताओं को बुकिंग के दस दिन बाद एलपीजी सिलिंडर की आपूर्ति हो पा रही है। जिससे उपभोक्ता परेशान हैं।
भारत गैस की सप्लाई सलेमपुर हाथरस स्थित एलपीजी प्लांट से हैं। यहां से सप्लाई बाधित होने के कारण जिले में गैस की आपूर्ति कम कर दी गई है। नतीजन उपभोक्ताओं को गैस सिलिंडर के लिए किसी एजेंसी पर 10 दिन तो किसी पर पांच या छह दिन तक का इंतजार करना पड़ रहा है। जिले की चंद्रा गैस एजेंसी पर जिले में सर्वाधिक उपभोक्ता हैं। यहां गैस की सप्लाई बुकिंग के पांच से छह दिन बाद हो रही है।
इसके अतिरिक्त शहीद प्रवीन कुमार गैस एजेंसी पर गैस की आपूर्ति में सात से आठ दिन का समय लग रहा है। वहीं अशोक वर्मा गैस एजेंसी पर भी बुकिंग के 11 से 12 दिन बाद गैस आपूर्ति हो पा रही है। यही हाल इंडेन का भी है। मोहम्मदाबाद स्थित प्लांट से इंडेन की एजेंसियों को भी प्रतिदिन सप्लाई न मिलने से मुश्किलें बढ़ गई हैं।
करहल स्थित एजेंसी पर प्री बुकिंग के बाद लोगों को 15 दिन तक का इंतजार करना पड़ रहा है। भले ही एजेंसी से घरेलू उपभोक्ताओं को आपूर्ति नहीं हो पा रही है, लेकिन बाजार में ऊंचे दामों पर सिलिंडर उपलब्ध हैं। इन दुकानदारों को आपूर्ति कहां से हो रही है ये भी जांच का विषय है।
जिले में हाथरस के सलेमपुर प्लांट से सप्लाई है। इस प्लांट पर ऊपर से ही सप्लाई बाधित हो गई है जिसके चलते 60 से 75 प्रतिशत सिलिंडर में कटौती की गई है। ऐसे में उपभोक्ताओं को समय से गैस उपलब्ध कराना संभव नहीं है। आठ अक्तूबर की बुकिंग वालों को आज सप्लाई दी जाएगी। अगले 15 दिन तक इस प्रकार की समस्या रहने की बात कही गई है। तब तक उपभोक्ता धैर्य बनाए रखें।
अशोक वर्मा, संचालक वर्मा गैस एजेंसी
... और पढ़ें

धान में बाली नहीं आने का कारण जानने पहुंची टीम

बेवर। 90 दिन बाद भी धान की फसल में बाली नहीं आने की खबर प्रकाशित होते ही कृषि विभाग में खलबली मच गई है। जिला कृषि अधिकारी गगनदीप सिंह के निर्देशन में कृषि वैज्ञानिक शौकत अली, तकनीकी सहायकों की टीम ने उमेश कुमार चतुर्वेदी के खेत का शुक्रवार को निरीक्षण किया।
कृषि विज्ञान केंद्र के वैज्ञानिक शौकत अली के अनुसार खेत में रोपी गई धान की फसल सुगंधा- 4 किस्म की है। यह प्रजाति 110- 120 दिन में पक कर तैयार हो जाती है। रोपाई के 90 दिन होने तक धान में बालियां पूरी तरह से निकल आनी चाहिए। खेत में एक दो बाली आई भी हैं जिनमें कीट लगा है।
विस्तृत रिपोर्ट जिला कृषि अधिकारी को दी जाएगी। जिला कृषि अधिकारी कार्यालय में किसान उमेश कुमार चतुर्वेदी को बुला कर मामले को दबाने के प्रयास भी तेज कर दिए गए हैं। सूत्रों की मानें तो 12 क्विंटल धान का बीज सुगंधा 4 की सप्लाई इस केंद्र पर भेजी गई थी। कृषि वैज्ञानिक के अनुसार दो किलो बीज की नर्सरी से दो बीघा खेत की रोपाई की जाती है।
इस प्रकार 12 क्विंटल बीज से बेवर ब्लाक क्षेत्र में 600 बीघा खेत में रोपाई की गई है। जिला कृषि अधिकारी गगनदीप सिंह का कहना है कृषि वैज्ञानिकों की टीम जांच कर रही है। रिपोर्ट मिलने पर कार्रवाई की जाएगी। तब तक किसान उमेश कुमार से फसल की सिंचाई करने को कहा गया है। बीज की सप्लाई कहां से किसके द्वारा की गई है इस संबंध में वह कोई जानकारी नहीं दे सके।
... और पढ़ें

संसारपुर में बीमारियों रोकने में विभाग ने किए हाथ खड़े

मैनपुरी। शहर का मोहल्ला संसारपुर स्वास्थ्य विभाग के लिए चुनौती बना हुआ है। यहां के तालबों में भरा गंदा पानी ग्रामीणों को लगातार बीमार कर रहा है। गांव में 30 से अधिक मरीज बुखार से पीड़ित हैं, जबकि कई की डेंगू बुखार के कारण मौत हो चुकी है। पिछले एक महीने से चल रहे बचाव कार्य के बाद भी स्थिति मेें कोई सुधार नहीं हुआ है। स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों ने अब उच्चाधिकारियों को पत्र लिखकर गांव में सीवरेज से भरे तालाबों को खाली कराने का सुझाव दिया है।
मोहल्ला संसारपुर में पिछले एक महीने से स्वास्थ्य विभाग की टीम लगातार बचाव कार्य कर रही है, लेकिन कोई राहत नहीं मिल रही है। शुक्रवार को गांव पहुंची टीम को गंदगी मिली। जिला मलेरिया अधिकारी एसएन सिंह ने उच्चाधिकारियों को भेजे पत्र में लिखा है कि मोहल्ले में छह तालाब हैं। इनमें सीवर के पाइप डाल रखे हैं। इससे यहां गंदगी फैल रही है और बीमारियां बढ़ रही हैं।
लगातार एक महीने से हो रहे बचाव कार्य के बाद भी यहां रोग नहीं थम रहे हैं। इन सीवर युक्त तालबों को नगर पालिका से खाली कराया जाए। तभी गांव में बीमारियां रोकी जा सकती है। जिला मलेरिया अधिकारी व नोडल अधिकारी वाईपी दुबे की रिपोर्ट पर सीएमओ ने भी उच्चाधिकारियों को स्थिति से अवगत कराते हुए तालाब से सीवर युक्त पानी निकलवाने का सुझाव दिया है।
आलीपुर पट्टी में 35 का किया उपचार
आलीपुर खेड़ा। विकास खंड सुल्तानगंज के ग्राम आलीपुर पट्टी में डेंगू बुखार के चलते पूर्व प्रधानाध्यापक किशोरी लाल की मौत की सूचना के बाद स्वास्थ्य विभाग की टीम ने गांव में शिविर लगाया। प्रभारी चिकित्साधिकारी वाईपी दुबे की देख रेख में डॉ. पंकज पाठक, फार्मासिस्ट शैलेंद्र सिंह, अनुपम पाठक, महेंद्र सिंह, अवनीश राजपूत, चंद्रपाल सिंह, अरविंद यादव के साथ आलीपुर पट्टी गांव में चिकित्सकों की टीम ने 35 बुखार से पीड़ित मरीजों का उपचार किया। इसमें दो लोगों में मलेरिया के लक्षण पाए गए।
संसारपुर में गंदगी के कारण बीमारियां फैल रहीं हैं। गांव के लोगों को समझाया, लेकिन कोई मानने को तैयार नहीं है। नगर पालिका और उच्चाधिकारियों को जानकारी दी गई है। गांव में बचाव कार्य लगातार जारी हैं।
डॉ. एके पांडेय सीएमओ।
... और पढ़ें

दिल्ली से लौटे युवक ने फांसी लगाकर दी जान

बिछवां। दिल्ली से घर लौट कर आए गांव सुल्तानगंज के युवक ने फांसी का फंदा लगाकर खुदकुशी कर ली। सूचना पर पहुंची पुलिस ने परिजनों से पूछताछ की, लेकिन घरवाले भी आत्महत्या की वजह नहीं बता सके। पुलिस ने शव पोस्टमार्टम के लिए भेजा।
थाना क्षेत्र के गांव सुल्तानगंज निवासी 22 वर्षीय अर्जुन कश्यप दिल्ली में टेंपो चलाता था। शुक्रवार सुबह करीब चार बजे वह घर आ गया। परिजनों ने अचानक आने का कारण पूछा तो कुछ भी नहीं बताया। सुबह करीब सात बजे घर वाले दैनिक कार्यों से निवृत्त हो रहे थे, इसी बीच अर्जुन छत पर चला गया। बरामदे में लगे पंखा के कुंडा में दुपट्टा का फंदा लगाकर खुदकुशी कर ली।
कुछ देर बाद जब परिजन छत पर पहुंचे तो अर्जुन को फंदे पर लटका देख कोहराम मच गया। आनन फानन में उसे जिला अस्पताल लेकर पहुंचे। वहां चिकित्सकों ने उसे मृत घोषित कर दिया। सूचना पर पहुंची पुलिस ने शव कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेजा। युवक ने खुदकुशी क्यों की इसकी वजह कोई भी परिजन नहीं बता सका।
... और पढ़ें

पट्टी में दो समुदाय के लोगों के बीच ईंट पत्थर

मैनपुरी। मोहल्ला छपट्टी में गुरुवार रात दो समुदाय के लोगों के बीच मारपीट हो गई। इसके बाद जमकर ईंट पत्थर चले। एक पक्ष के पांच लोग घायल हो गए। उन्हें उपचार के लिए जिला अस्पताल ले जाया गया। वहां से एक घायल को सैफई रेफर कर दिया गया। पुलिस ने मामला दर्ज करने के साथ ही एक आरोपी को पकड़ लिया। शुक्रवार सुबह हिंदूवादी संगठन के कुछ लोग भी रिपोर्ट दर्ज कराने पहुंचे।
कोतवाली क्षेत्र के मोहल्ला छपट्टी में गुरुवार रात करवाचौथ को लेकर चहल पहल थी। इस बीच एक समुदाय के कुछ युवक पटाखे चलाने लगे। इसका विरोध करने पर दोनों समुदाय के लोग आमने सामने आ गए। पहले जमकर मारपीट हुई, उसके बाद दोनों के बीच काफी देर तक ईंट-पत्थर चले।
एक पक्ष के अकरम, सोहेल, हाफिज और वारसी घायल हो गए। वहीं दूसरे पक्ष के लोगों को भी चोट लगी हैं। सूचना पर पहुंची पुलिस ने घायलों को जिला अस्पताल में भर्ती कराया। वहां से अकरम को गंभीर हालत में सैफई रेफर कर दिया गया। कोतवाली पुलिस ने अकरम पक्ष की ओर से दी गई तहरीर के आधार पर मामला दर्ज कर लिया।
वहीं एक युवक अमोल को गिरफ्तार कर लिया है। शुक्रवार को हिंदूवादी संगठन के कुछ लोग थाने पहुंचे और मामले में मुस्लिम पक्ष के लोगों के विरुद्ध रिपोर्ट दर्ज कराने के लिए तहरीर दी। इंस्पेक्टर कोतवाली ओमहरि वाजपेयी का कहना है कि मारपीट की घटना हुई है। मामले की गंभीरता से जांच कर दोषियों के विरुद्ध कार्रवाई की जाएगी।
पहले कार्रवाई बाद में समझौता की बात
शुक्रवार सुबह कोतवाली पहुंचे कुछ हिंदूवादी नेता पहले तो कार्रवाई की मांग करते हुए इंस्पेक्टर पर मामला दर्ज करने का दबाव बनाते रहे। घर में घुसकर मारपीट व तोडफ़ोड़ का आरोप लगाया और मामले को सांप्रदायिक रंग देने की कोशिश की। पुलिस की सख्ती के आगे सभी के तेवर ठंडे पड़ गए। तथकाथित नेता ही खुद कोतवाली पहुंचे और मामले में समझौता कराने की बात कहने लगे।
... और पढ़ें

डेंगू की रिपोर्ट को अब चार दिन करना होगा इंतजार

मैनपुरी। डेंगू को लेकर हो रही फजीहत के बाद स्वास्थ्य विभाग ने इसकी जांच कार्ड से करोन पर रोक लगा दी है। अब एलाइजा से मरीजों की जांच कराने के निर्देश दिए हैं। एलाइजा टेस्ट की रिपोर्ट आने में तीन से चार दिन लग रहे हैं। इससे मरीजों की परेशानी बढ़ रही है।
आए दिन उच्चाधिकारी डेंगू को लेकर जवाब मांग रहे थे। इसके बाद सीएमओ ने जिले में डेंगू टेस्ट के लिए कार्ड से होने वाली जांच पर रोक लगा है। उन्होंने सीएमएस को निर्देश दिए हैं कि सिर्फ एलाइजा टेस्ट से ही डेंगू के मरीजों की जांच कराई जाए। कार्ड से डेंगू की जांच रिपोर्ट जहां कुछ ही घंटों में मिल जाती थी, वहीं एलाइजा टेस्ट की रिपोर्ट तीन से चार दिन बाद मिल रही है। इतना इंतजार करने के बजाय मरीज निजी पैथोलॉजी पर जाने को मजबूर हैं।
क्या है एलाइजा टेस्ट
जिले में डेंगू के टेस्ट की व्यवस्था सिर्फ जिला अस्पताल में ही है। यहां एलाइजर के माध्यम से एलाइजा टेस्ट किया जा रहा है। इसके लिए एलाइजा किट की व्यवस्था की गई है। एक किट से 92 मरीजों का टेस्ट किया जा सकता है। किट से अधिक से अधिक मरीजों की जांच की जा सके, इसलिए कम से कम 30 से 40 जांच पर ही इस टेस्ट की रिपोर्ट होती है। इसके लिए कर्मचारियों को दो से तीन दिन के मरीजों को इकट्ठा करना पड़ता है। तब तक मरीज की हालत बिगड़ चुकी होती है।
सीएमओ ने ही उपलब्ध कराए थे कार्ड
सूत्रों के अनुसार सीएमओ ने स्वयं डेंगू जांच के लिए जिला अस्पताल सहित सीएचसी और पीएचसी पर कार्ड उपलब्ध कराए थे। अब तक जिला अस्पताल की लैब में कार्ड से की गई एक भी जांच एलाइजा टेस्ट में गलत नहीं निकली। कार्ड से जांच की रिपोर्ट दो घंटे बाद ही मिल जाती थी, जिससे मरीजों को समय से उपचार हो जाता था।
सीएमओ के निर्देश पर कार्ड से जांच करने पर रोक लगा दी गई है। एलाइजर के जरिये ही डेंगू की जांच की जा रही है। आगे जैसे निर्देश मिलेंगे उनका पालन किया जाएगा।
डॉ. आरके सागर , सीएमएस।
कार्ड से की गई जांच अंतिम रिपोर्ट नहीं होती है। कार्ड से जांच के बाद भी एलाइजा टेस्ट कराना पड़ता है। ऐसे में कार्ड खराब हो रहे थे। जब अंतिम रिपोर्ट एलाइजा की ही मान्य है तो क्यों न केवल एलाइजा से ही जांच कराई जाए। इसी उद्देश्य के कारण एलाइजा किट से ही जांच के निर्देश दिए गए हैं।
डॉ. एके पांडेय सीएमओ।
... और पढ़ें
अपने शहर की सभी खबर पढ़ने के लिए amarujala.com पर जाएं

Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google, और सोशल मीडिया साइट्स, जैसे की Facebook, के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।

Agree