विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
सर्वपितृ अमावस्या को गया में अर्पित करें अपने समस्त पितरों को तर्पण, होंगे सभी पूर्वज प्रसन्न, 28 सितम्बर
Astrology Services

सर्वपितृ अमावस्या को गया में अर्पित करें अपने समस्त पितरों को तर्पण, होंगे सभी पूर्वज प्रसन्न, 28 सितम्बर

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

From nearby cities

अयोध्या प्रकरणः कल्याण सिंह बतौर आरोपी 27 को अदालत में तलब, विशेष न्यायाधीश ने दिया आदेश

अयोध्या प्रकरण के विशेष न्यायाधीश सुरेंद्र कुमार यादव ने पूर्व मुख्यमंत्री व राजस्थान के पूर्व राज्यपाल कल्याण सिंह को बतौर आरोपी तलब किया है।

22 सितंबर 2019

विज्ञापन
विज्ञापन

अम्बेडकरनगर

रविवार, 22 सितंबर 2019

जीआरपी ने मासूम की खोज में दिन भर चलाया कांबिंग अभियान

अंबेडकरनगर। बुधवार को दिल्ली जा रही फरक्का एक्सप्रेस से मासूम को फेंके जाने का मामला सामने आने के बाद गुरुवार को अकबरपुर जीआरपी टीम पूरे दिन कांबिग में जुटी रही। कटेहरी से गोसाईगंज स्टेशन के बीच जीआरपी व पुलिस टीम ने पटरी के दोनों तरफ तलाशी अभियान चलाया। पूरे दिन चले तलाशी अभियान के बाद भी पुलिस टीम को सफलता हाथ नहीं लगी।
बताते चलें कि बुधवार को मालदा से दिल्ली जाने वाली फरक्का एक्सप्रेस में अपने पति व डेढ़ वर्षीय पुत्र के साथ पश्चिम बंगाल निवासी उमा बर्मन भी सफर कर रही थीं। बताया जाता है कि ट्रेन में बिहार के सीतामढ़ी निवासी कमलेश कुमार से कुछ विवाद हो गया। उस समय ट्रेन अंबेडकरनगर जिले के कटेहरी व अयोध्या जिले के गोसाईगंज स्टेशन के बीच पहुंची थी।
इसी बीच आरोपी ने महिला की गोद में मौजूद डेढ़ वर्षीय बच्चे को खींचकर चलती ट्रेन से बाहर फेंक दिया। इस पर ट्रेन जब गोसाईगंज स्टेशन पर रुकी तो पति पत्नी ने मामले की शिकायत दर्ज कराई। घटना की जानकारी अकबरपुर जीआरपी को दी गई। अकबरपुर जीआरपी टीम सूचना पाकर सक्रिय हुई। बच्चे की तलाशी अभियान चलाया गया। हालांकि अंधेरा हो जाने के चलते बच्चे का कुछ पता नहीं चला।
गुरुवार सुबह होने के साथ ही एक बार फिर अकबरपुर जीआरपी थानाध्यक्ष नितेन्द्र कुमार शुक्ल की अगुवाई में 150-150 पुलिस कर्मियों की दो टुकड़ियों ने कांबिंग शुरू की। पटरी के दोनों तरफ टीम पैदल तलाशी अभियान चलाते हुए कटेहरी से गोसाईगंज स्टेशन तक गई। पूरे दिन तलाशी अभियान चला। हालांकि, बच्चे का कहीं कोई पता नहीं चल पाया। घटना की जानकारी होने पर एसपी वीरेंद्र कुमार मिश्र ने सिविल पुलिस को भी तलाशी अभियान में मदद का निर्देश दिया। सिविल पुलिस भी जीआरपी पुलिस टीम के साथ कांबिंग में जुटी रही।
... और पढ़ें

अवैध शराब बिक्री रोकने को यहां निभायी जाती सिर्फ फर्ज अदायगी

अवैध शराब बिक्री रोकने को यहां निभाई जाती सिर्फ फर्ज अदायगी
अंबेडकरनगर। जिले में अवैध शराब के कारोबार को रोकने व कच्ची शराब बनाने वालों के विरुद्ध कार्रवाई को लेकर जिले में लंबे समय से बड़ा अभियान नहीं चलाया जा सका है। यदि कहीं किसी प्रकार की घटना होती है, तो महज औपचारिकता ही निभाई जाती है। बड़ी कार्रवाई न होने का ही नतीजा है कि जिले के टांडा व आलापुर तहसील अन्तर्गत सरयू नदी के किनारे माझा क्षेत्र में धड़ल्ले से अवैध ढंग से कच्ची शराब का निर्माण कराया जा रहा है।
जिले में भी अवैध ढंग से शराब का कारोबार तेजी से फल फूल रहा है। इस पर अंकुश लगाने को लेकर न तो आबकारी विभाग को सुध है और न ही प्रशासन को। प्रदेश के किसी जनपद में यदि कभी किसी प्रकार की घटना होती है, तभी जिले की आबकारी टीम सक्रिय होती है। प्रशासन के निर्देश पर अवैध शराब के कारोबार को रोकने व कच्ची शराब के निर्माण पर अंकुश लगाने के लिए अभियान चलाया जाता है, लेकिन वह महज औपचारिकता तक ही सीमित रहती है। न तो इस बात पर ध्यान दिया जाता कि कच्ची शराब के निर्माण के लिए कच्चा माल, स्टीकर, बोतल समेत अन्य सामग्री कहां से प्राप्त होती है और इसमें लिप्त लोगों को कौन संरक्षण दे रहा है। अभियान के दौरान सिर्फ भट्ठी व लहन नष्ट करने पर ही जोर रहता है।
अवैध शराब पर अंकुश लगाने को लेकर आबकारी विभाग कितना गंभीर है, इसका अंदाजा इसी से लगाया जा सकता है कि 28 अगस्त 11 सितंबर चले विशेष अभियान के दौरान अवैध शराब में लिप्त मात्र 17 लोगों के विरुद्ध ही केस दर्ज किया गया। बीते छह माह में आबकारी विभाग की बड़ी सफलता की यदि बात की जाए, तो गत 14 जुलाई को उसे अढनपुर में मिली।
यहां छापा मारकर आबकारी व पुलिस ने संयुक्त अभियान के दौरान छापा मारकर अढनपुर स्थित सरकारी शराब की दुकान से 175 शीशी अवैध शराब बरामद की थी। बाद में दुकान का लाइसेंस निरस्त कर दिया गया था। इसके अलावा टीम को कोई बड़ी सफलता हाथ नहीं लगी।
आलापुर तहसील अन्तर्गत सरयू नदी के किनारे माझा कम्हरिया, अराजी देवारा, बंगालपुर, हिथनापुर केवटली, खरवइया नई बस्ती, मदैनिया, जबकि टांडा तहसील अन्तर्गत माझा चिंतौरा, माझज्ञ उलटहवा, माझा आसोपुर में कच्ची शराब का निर्माण होता है।
लगभग चार वर्ष पूर्व अहिरौली थाना क्षेत्र में गोरखपुर की एसटीएफ ने छापा मारकर एक बंद पड़ी राइस मिल में नकली शराब बनाने की फैक्ट्री पकड़ी थी। इसमें न सिर्फ बड़ी मात्रा में नकली शराब, बल्कि ब्रांडेड कंपनी के स्टीकर, शीशी समेत विभिन्न प्रकार के उपकरण बरामद हुए थे।
नकली शराब की बिक्री व कच्ची शराब निर्माण पर अंकुश पाने को लेकर समय समय पर अभियान चलाया जाता है। इसमें लिप्त लोगों पर कार्रवाई भी की जाती है।
अतुल कुमार श्रीवास्तव, जिला आबकारी अधिकारी
... और पढ़ें

गड्ढों में तब्दील होकर रह गया बसखारी हंसवर मुख्य मार्ग

बसखारी। बसखारी से हंसवर जाने वाला मुख्य मार्ग हादसों को दावत दे रहा है। सड़क की हालत देखकर पता ही नहीं चलता है कि सड़क में गड्ढे बने हैं या गड्ढों में सड़क छिप गई है। कई जगह दो से तीन फीट गहरे गड्ढे बन गए हैं। ऐसे में इस मार्ग से होकर निकलना जान जोखिम में डालने से कम नहीं है। यह बात अलग है कि हर दिन करीब पांच हजार से अधिक लोग इस रोड से गुजरते हैं। इसके बावजूद लोक निर्माण विभाग सड़क दुरुस्त कराने की जरूरत महसूस नहीं कर रहा है।
प्रदेश सरकार के गड्ढा मुक्ति अभियान की हकीकत परखनी है तो बसखारी-टांडा मुख्य मार्ग को देख लीजिए। सड़क से आवागमन करने की बात तो दूर सड़क में बने जानलेवा गड्ढों को ही देखकर लोगों के पसीने छूट जाते हैं। करीब 10 किलोमीटर लंबा यह मार्ग मौजूदा समय में हद दर्जे तक टूट चुका है। सड़क की ऊपर परत उखड़ने की बात तो दूर सड़क कई कई जगह दो से तीन फिट धंस कर गड्ढे का रूप ले चुकी है।
इस मार्ग से आवागमन करने में इन दिनों लोगों को काफी कठिनाई करनी पड़ रही है। आवागमन के लिहाज से यह मार्ग काफी उपयोगी है। बसखारी से टांडा जाने के लिए लोग इसी मार्ग का प्रयोग करते हैं। इस सड़क पर सैकड़ों छोटे बड़े वाहनों से लेकर 5 हजार से अधिक की आबादी हर दिन आवागमन करती है। इस मार्ग पर कई इंटर कॉलेज, महाविद्यालय व अन्य विद्यालय संचालित हैं। जान जोखिम में डालकर छात्र छात्राएं आवागमन करने को विवश होते हैं।
खास बात यह कि संतकबीरनगर व गोरखपुर को जाने के लिए भी इस मार्ग का प्रयोग बड़े पैमाने पर होता है। मकरा निवासी चंद्रभान, अर्जुन कुमार, भगवानपुर निवासी शिवसहाय शुक्ल, महेश शुक्ल, वरुण यादव, अरुण कुमार, चावड़ा निवासी जयवर्धन वर्मा, गाजीपुर निवासी धर्मेंद्र यादव, बाबूराम, काटो निवासी मेवालाल, अजय कुमार, उदयपुर निवासी अब्दुल रहमान, मोहम्मद वसीम आदि ने शासन-प्रशासन से सड़क दुरुस्त करने की मांग की है। उधर, लोक निर्माण विभाग के अधिशाषी अभियंता शंकर्षणलाल का कहना है कि जल्द ही सड़क को दुरुस्त कराया जाएगा।
... और पढ़ें

दुर्गा मूर्तियों को भव्य लुक देने में तेजी से जुटे हैं कारीगर

अंबेडकरनगर। दुर्गा पूजा को लेकर जिले में तैयारियां तेज हो गई हैं। माता की प्रतिमाओं का निर्माण भी अंतिम चरण में है। कारीगरों के हाथ तेजी से चल रहे हैं। पांच हजार से 60 हजार रुपये तक की प्रतिमाओं को आकर्षक रूप देने में कारीगर जुटे हैं। कारीगरों के अनुसार, निर्माण सामग्री के दामों में तो वृद्धि हुई है, लेकिन प्रतिमाओं के दामों में वृद्धि नहीं हुई है। ऐसे में सिर्फ लागत ही निकल पाती है।
जिला मुख्यालय पर दो स्थानों पर मूर्तियों का निर्माण कार्य चल रहा है। इन्हीं स्थानों से जिले के विभिन्न क्षेत्रों में मूर्तियां जाती हैं। पर्व से पहले मूर्तियों का निर्माण कार्य पूर्ण हो सके, इसके लिए कारीगरों के हाथ तेजी से चल रहे हैं। मूर्तियों को अंतिम रूप देने में कारीगर जुट गए हैं।
अकबरपुर-अयोध्या मार्ग पर मूर्ति के निर्माण में लगे पश्चिम बंगाल के केडी पाल ने कहा कि मूर्ति निर्माण में न सिर्फ उसका परिवार बल्कि पांच अन्य कारीगरों को लगाया गया है। मौजूदा समय में कुल 60 मूर्तियां बनाई गई हैं। इनमें से 52 की बुकिंग हो चुकी है। सभी मूर्तियों के निर्माण में कुल सात ट्रॉली मिट्टी लगी है। इसमें चार ट्रॉली काली, जबकि 3 ट्रॉली पीली मिट्टी लगी है। कहा कि मूर्ति निर्माण में लगने वाले सामग्रियों के दाम में तो वृद्धि हुई, लेकिन मूर्तियों के दाम में वृद्धि नहीं हुई। कहा कि 5 हजार से 60 हजार रुपये तक की मूर्तियों का निर्माण वह कर रहा है। मूर्तियों के दाम में वृद्धि न होने से सिर्फ लागत ही निकल पाती है। कहा कि 27 सितंबर से मूर्तियों के उठान का कार्य प्रारंभ हो जाएगा।
पहितीपुर रोड पर मूर्ति निर्माण में लगे एसके पाल ने कहा कि उसके कारखाने में कुल 112 मूर्तियों का निर्माण चल रहा है। इनमें से ज्यादातर का निर्माण कार्य पूर्ण हो चुका है। उन्हें आखिरी टच देना शेष है। इसके बाद मूर्तियों का साज श्रृंगार किया जाएगा। कहा कि 84 मूर्तियों की बुकिंग हो चुकी है। विगत वर्ष की तरह इस बार भी मूर्तियों के 5 हजार से 55 हजार रुपये में मूर्तियां बिक रही हैं। कहा कि पिछले तीन दशक उनका परिवार मूर्तियों के निर्माण में लगा हुआ है। कहा कि मूर्तियों के निर्माण में काली व पीली मिट्टी के प्रयोग के साथ ही बांस, रस्सी आदि का प्रयोग किया जाता है।
... और पढ़ें
अंबेडकरनगर के अयोध्या मार्ग स्थित दुर्गा प्रतिमाओं को अंतिम रूप देता कलाकार अंबेडकरनगर के अयोध्या मार्ग स्थित दुर्गा प्रतिमाओं को अंतिम रूप देता कलाकार

तालाब आवंटन गड़बड़ी में फंसे एसडीएम, तहसीलदार समेत दो अन्य कर्मी

अंबेडकरनगर। मत्स्य पालन के लिए तालाबों के पट्टा आवंटन में गड़बड़ी पर डीएम ने सख्त रूप अपनाते हुए आलापुर तहसील के एसडीएम, तहसीलदार, नायब नाजिर व रजिस्ट्रार कानूनगो के खिलाफ कार्रवाई के निर्देश दिए हैं।
बीते दिनों आलापुर तहसील में तालाबों के पट्टे के आवंटन में बड़े पैमाने पर गड़बड़ी की सूचना जिला प्रशासन को मिली थी। डीएम ने संज्ञान लेते हुए प्रारंभिक जांच कराई तो गड़बड़ी सामने आ गई। इसमें ग्राम पंचायत संदहा बनगवां में तालाब का पट्टा संबंधित गांव के ग्रामीणों को न देकर सहकारी समिति बुकिया को दे दिया गया। तालाब की न्यूनतम बोली 60 लाख रुपए थी जो 15 लाख की चार किस्तों में जमा होनी थी। बताया जाता है कि इसके बजाय डेढ़ लाख रुपए ही जमा कराए गए।
डीएम राकेश कुमार मिश्र ने पाया कि आवंटन नियम किया गया है। साथ ही राजस्व को भी नुकसान पहुंचाया गया है। उन्होंने अपर जिलाधिकारी को निर्देश दिया कि मामले में एसडीएम, तहसीलदार, रजिस्ट्रार कानूनगो व नायब नाजिर के विरुद्ध कार्रवाई की जाए। उधर, एडीएम अमरनाथ राय ने बताया कि मामले में अधिकारियों व कर्मचारियों की भूमिका तय की जाएगी। इन सभी को आरोप पत्र जारी किया जाएगा। साथ ही विस्तृत रिपोर्ट तैयार कर कार्रवाई की संस्तुति की जाएगी।
... और पढ़ें

नदी के जलस्तर में दर्ज हुई कमीं, माझा क्षेत्र में मुश्किलें बरकरार

मामूली घटा जलस्तर, मुश्किलें बरकरार
- सरयू के जलस्तर में चार सेमी. की आई कमी, कटान की आशंका बढ़ी
फोटो 25 व 26
माई सिटी रिपोर्टर
टांडा/ऱाजेसुल्तानपुर। सरयू नदी के जलस्तर में शनिवार को 4 सेमी की कमी दर्ज हुई। हालांकि, माझा क्षेत्र के ग्रामीणों की मुश्किलें अब भी बरकरार हैं। नदी के जलस्तर में हो रहे उतार-चढ़ाव से बाढ़ प्रभावित क्षेत्र में मवेशियों के सामने चारे का संकट बढ़ गया है। उधर, जलस्तर गिरने से कटान की संभावना बढ़ गई है।
गौरतलब है कि बीते कुछ दिनों से सरयू नदी के जलस्तर में उतार-चढ़ाव का दौर जारी है। एक दिन पहले सरयू नदी का जलस्तर खतरे के लाल निशान से 25 सेमी. ऊपर 92.98 सेमी दर्ज किया गया था। जलस्तर बढ़ने से माझा उलटहवा, माझा अवसानपुर, आसोपुर, माझा चिंतौरा, माझा करमपुर बरसावां, माझा इस्माइलपुर बेलदहा समेत आधा दर्जन गावों के ग्रामीणों की चिंता बढ़ गई थी। दरअसल, जिस रफ्तार से जलस्तर में वृद्धि हो रही थी, उससे ऐसा लग रहा था कि शनिवार शाम तक बाढ़ का पानी गांव के पास पहुंच जाएगा। हालांकि तमाम आशंकाओं के बीच शनिवार को सुबह से ही जलस्तर में धीमी गति से कमी होने लगी। शाम चार बजे तक जलस्तर चार सेमी घटकर 92.94 सेमी पर पहुंचकर रुक गया।
जलस्तर में होने से प्रभावित क्षेत्र के ग्रामीणों ने राहत की सांस ली, लेकिन उनकी मुश्किलें अभी भी बरकरार हैं। दरअसल बाढ़ का पानी माझा क्षेत्र के खेतों में पहुंच गया है। इससे संबंधित क्षेत्र के मवेशियों के लिए चारे का संकट खड़ा हो गया है। ग्रामीण रामलखन व बरखू ने कहा कि चारे की समस्या उत्पन्न होने के बावजूद जिम्मेदार अधिकारियों द्वारा ठोस कदम नहीं उठाया जा रहा है। कहा कि खेत में पानी भरा होने के चलते चारे का संकट खड़ा हो रहा है। प्रशासन को इसे गंभीरता से लेते हुए ठोस कदम उठाना चाहिए। इस बीच जलस्तर में कमी होने से संबंधित क्षेत्र में कटान की संभावना से ग्रामीणों में चिंता व्याप्त हो गई है। राजेसुल्तानपुर के हंसू के पूरा में पानी भर जाने से छात्र-छात्राओं को नाव से विद्यालय जाने को विवश होना पड़ रहा है। उधर, एडीएम अमरनाथ राय ने कहा कि प्रशासन जलस्तर पर लगातार पैनी निगाह जमाए हुए है। स्थिति पूरी तरह नियंत्रण में है। चारे की कोई कमी नहीं है। यदि कहीं चारे की जरूरत पड़ी तो उपलब्ध कराया जाएगा। जलस्तर में कमी होने से कटान की भी कोई संभावना अभी नहीं है। कटान रोकने को लेकर जरूरी कदम उठाए गए हैं।
... और पढ़ें

शिवबाबा में मिला चलती ट्रेन से फेंके गए मासूम का शव

अंबेडकरनगर। तीन दिन पहले ट्रेन से फेंके गए डेढ़ वर्षीय मासूम का शव शिवबाबा धाम के पास मिला। पुलिस तीन दिन से पटरियों के किनारे तलाशी अभियान चला रही थी। शव मिलने के बाद पोस्टमार्टम कराकर परिवारीजनों को सौंप दिया गया।
पश्चिम बंगाल निवासी उमा वर्मन के डेढ़ वर्षीय पुत्र को 18 सितंबर को फरक्का एक्सप्रेस की जनरल बोगी से एक सिरफिरे युवक ने नीचे फेंक दिया था। युवक की पहचान बिहार के सीतामढ़ी निवासी कमलेश के तौर पर हुई थी। अन्य यात्रियों ने आरोपी को पकड़कर जमकर पीटा। इसके बाद पुलिस को सौंप दिया था। महिला कोलकाता से दिल्ली जा रही थी। महिला के अनुसार, उसके बच्चे को कटेहरी व गोसाईगंज स्टेेशन के बीच फेंका गया। घटना के बाद से ही पुलिस टीम सक्रिय हो गई थी। लखनऊ जीआरपी के सीओ ने अकबरपुर पहुंचकर हालात की समीक्षा की। केस दर्ज करने के साथ ही मासूम की तलाशी का अभियान शुरू हो गया था। पहले दिन पुलिस टीम को अंधेरा हो जाने के चलते ज्यादा समय नहीं मिला।
19 व 20 सितंबर को भारी बड़ी तादाद में पुलिस कर्मियों को अभियान में उतारा गया। टीम ने कटेहरी से गोशाईगंज के बीच पटरियों के आसपास चप्पा चप्पा छान मारा, लेकिन सफलता नहीं मिली। इस पर एक दिन पहले शुक्रवार को एक टीम ने गोसाईगंज स्टेशन से अयोध्या की तरफ, जबकि दूसरी टीम ने कटेहरी से अकबरपुर की तरफ तलाशी अभियान शुरू किया। लगभग पांच पांच किलोमीटर का यह अभियान भी शुक्रवार शाम पूरा हो गया, लेकिन मासूम नहीं मिला। शनिवार को पुलिस टीम आगे के लिए निकलती इससे पहले ही कुछ ग्रामीणों ने शिवबाबा धाम के पास मासूम का शव देख डायल 100 को सूचित किया।
इसके बाद मौके पर जीआरपी टीम भी परिजनों को लेकर पहुंच गई। शव ट्रेन से फेंके गए मासूम का था। इसकी पहचान कर परिवारीजन फिर से रोने-पीटने लगे। पुलिस टीम ने उन्हें किसी तरह चुप कराया। इसके बाद शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया। जीआरपी प्रभारी नितेंद्र कुमार शुक्ल ने बताया कि शव का पोस्टमार्टम कराकर उसे परिवारीजनों को सौंप दिया गया है।
... और पढ़ें

अम्बेडकरनगर : चलती ट्रेन से फेंके गए मासूम का शव तीन दिन बाद बरामद, मां सदमे में

चलती ट्रेन में यात्रियों के बीच हुए विवाद के बाद फेंके गए डेढ़ वर्षीय मासूम का शव तीन दिन बाद शिवबाबा के निकट से शनिवार सुबह बरामद कर लिया गया।
 गौरतलब है कि गत बुधवार को ट्रेन की जनरल बोगी में हुए विवाद के बाद पश्चिम बंगाल निवासी महिला उमा वर्मन के डेढ़ वर्षीय पुत्र को फरक्का एक्सप्रेस से नीचे फेंक दिया गया था।

इसके बाद आरोपी बिहार निवासी कमलेश को पकड़कर यात्रियों ने जमकर पीटा था। जीआरपी केस दर्ज करने के बाद बच्चे की तलाश कटेहरी और अयोध्या जनपद के गोसाईगंज स्टेशन के बीच कर रही थी। महिला ने कटेहरी के बाद घटना होने का जिक्र किया था। 

ये भी पढ़ें : 
युवक ने महिला से बच्चा छीन चलती ट्रेन से फेंका, जीआरपी ने लिया हिरासत में

तलाशी अभियान में जीआरपी के अलावा बड़ी संख्या में सिविल पुलिसकर्मी लगाए गए थे। पुलिस टीम एक दिन पहले शुक्रवार से अकबरपुर की तरफ सर्च करते बढ़ रही थी। इस बीच आज सुबह शिवबाबा के निकट शव पड़ा होने की सूचना मिली। इसके बाद टीम पहुंच गई। परिजनों ने शव की पहचान भी कर ली। जीआरपी थाना प्रभारी नितेन्द्र शुक्ल ने शव मिलने की पुष्टि की है। शव मिलने की सूचना के बाद मां सदमे में है। ... और पढ़ें

कैसे मिले बच्चों को शिक्षा,जब विभिन्न विषयों के शिक्षक ही तैनात नही

राजेसुल्तानपुर (अंबेडकरनगर)। आलापुर तहसील क्षेत्र में स्थित राजकीय इंटर कॉलेजों व राजकीय उच्चतर माध्यमिक विद्यालयों में शिक्षकों के रिक्त चल रहे पदों पर नियुक्ति नहीं हो पा रही है। इससे तहसील क्षेत्र के चार विद्यालयों में अध्ययनरत करीब 300 छात्र-छात्राओं को बेहतर शिक्षा मिल पाना कठिन बना हुआ है। बच्चों को बेहतर शिक्षा देने का वादा करने के बावजूद विभाग को गणित, विज्ञान, अंग्रेजी व गृहविज्ञान जैसे महत्वपूर्ण विषय के लिए शिक्षक की उपलब्धता की फिक्र नहीं है।
आलापुर तहसील क्षेत्र में स्थित राजकीय बालिका इंटर कॉलेज तेन्दुआईकला, राजकीय उच्चतर माध्यमिक विद्यालय कम्हरिया, राजकीय उच्चतर माध्यमिक विद्यालय अहिरौली रानीमऊ, राजकीय उच्च माध्यमिक विद्यालय जहांगीरगंज में शिक्षकों के पद रिक्त हैं। इसके चलते शिक्षण कार्य सुचारु रुप से नहीं हो पा रहा है। शिक्षकों की कमी का असर बच्चों की संख्या पर भी लगातार पड़ रहा है।
राजकीय बालिका इंटर कॉलेज तेन्दुआईकला में वर्ष 2008 से शिक्षण कार्य चल रहा है।
एक प्रधानाचार्य पद के अलावा यहां पर नौ प्रवक्ता व सात सहायक पद स्वीकृत है। लिपिक के तीन पद व चतुर्थ श्रेणी के चार पद हैं। प्रधानाचार्य पद पर कार्यवाहक के रूप में विद्यावती की तैनाती है। हिन्दी प्रवक्ता पद पर रेखा देवी व संस्कृत विषय पर आशा यादव की नियुक्ति है। अंग्रेजी, संगीत गायन, भौतिक विज्ञान, रसायन विज्ञान, गणित, उर्दू, नागरिक शास्त्र, एलटी में हिंदी, संस्कृत, सामाजिक विषय, अंग्रेजी, गणित, कला व विज्ञान शिक्षक के पद रिक्त चल रहे हैं। लिपिक के दो व चतुर्थ श्रेणी के तीन पद रिक्त हैं। यहां पर कुल 83 छात्र छात्राएं पंजीकृत हैं।
राजकीय उच्चतर माध्यमिक विद्यालय अहिरौली रानीमऊ में एक पद प्रधानाचार्य, सात पद सहायक अध्यापक एलटी, एक पद लिपिक व दो पद चतुर्थ श्रेणी के हैं। प्रधानाचार्य पद पर विद्यावती की नियुक्ति है। हिन्दी विषय में चेतना यादव व विज्ञान विषय में राहतजहां की नियुक्ति है। अंग्रेजी, संस्कृत, सामाजिक विषय, गणित, गृह विज्ञान के पद रिक्त हैं। लिपिक व चतुर्थ श्रेणी के पद यहां वर्ष 2012 से रिक्त चल रहा है। यहां छात्र छात्राओं की संख्या लगभग 70 है।
राजकीय उच्चतर माध्यमिक विद्यालय कम्हरिया में प्रधानाचार्य का एक पद सहायक अध्यापक एलटी 7 पद, लिपिक के एक पद व चतुर्थ श्रेणी के दो पद सृजित हैं। पंजीकृत छात्र-छात्राओं की संख्या लगभग 34 है। यहां पर प्रधानाचार्य के पद पर वंशबहादुर व अंग्रेजी विषय पर घुरईराम की नियुक्ति हुई। हिंदी, संस्कृत, विज्ञान, गणित, गृहविज्ञान व सामाजिक विषय, एक पद लिपिक व दो पद चतुर्थ श्रेणी के पद रिक्त चल रहे हैं। राजकीय उच्चतर माध्यमिक विद्यालय जहांगीरगंज में में प्रधानाचार्य पद के अलावा सात सहायक अध्यापक, एलटी एक पद, चतुर्थ श्रेणी के दो पद सृजित हैं। यहां छात्र छात्राओं की संख्या महज 20 है। यहां पर प्रधानाचार्य का पद रिक्त है। लिपिक व चतुर्थ श्रेणी के पद रिक्त हैं। यहां पर संस्कृत, विज्ञान, सामाजिक विषय, गणित, गृहविज्ञान, एक पद लिपिक व दो पद चतुर्थ श्रेणी का पद रिक्त चल रहा है।
राजकीय विद्यालयों में शिक्षक पद पर तैनाती के लिए शासन से प्रक्रिया चल रही है। जिले में जिन राजकीय विद्यालयों में शिक्षकों की कमी है, इसकी रिपोर्ट शासन को भेज दी गई है। शासन से आवश्यक प्रक्रिया चल रही है। उपलब्ध संसाधन में छात्र छात्राओं को बेहतर शिक्षा दी जा रही है।
विनोद कुमार सिंह, डीआईओएस
... और पढ़ें

खतरे के लाल निशान से 25 सेंटीमीटर ऊपर पहुंची सरयू नदी

टांडा। सरयू नदी के जलस्तर में चौबीस घंटे के भीतर एक बार फिर तेजी से बढ़ोतरी हुई है। पानी खतरे के निशान से 25 सेंटीमीटर ऊपर पहुंच गया। टांडा के साथ ही आलापुर तहसील के मांझा क्षेत्र में रहने वाले ग्रामीणों की मुश्किलें एक बार फिर बढ़ गई हैं। इस बीच डीएम राकेश कुमार मिश्र ने प्रशासनिक अमले के साथ सरयू नदी को मोटर बोट से पार कर मांझा कला के ग्रामीणों के बीच पहुंचकर हाल लिया। ग्रामीणों की मांग पर डीएम ने यहां एक पुलिया निर्माण की घोषणा की। साथ ही बाढ़ प्रखंड को निर्देशित किया कि सभी 35 ठोकरों की मरम्मत तुरंत कराई जाए।
शुक्रवार को डीएम राकेश कुमार मिश्र बाढ़ प्रभावित ग्रामीणों का हाल जानने के लिए टांडा पहुंचे। उनके साथ एडीएम अमरनाथ राय, एसडीएम महेंद्र पाल सिंह, तहसीलदार संतोष ओझा तथा बाढ़ खंड के सहायक अभियंता पीयूष समेत राजस्व विभाग व बाढ़ प्रखंड की टीम मौजूद रही। माझा कला पहुंचाने पर वहां बताया गया कि 46 परिवार झोपडिंयों में रहते हैं।
पानी के तेजी से बढने पर समस्या हो सकती है। यदि दो फीट पानी और बढ़ा तो गांव पानी में डूब जाएगा। माझा उल्टहवा के प्रधान प्रतिनिधि शिवप्रसाद यादव ने बताया कि पुलिया न होने के कारण बच्चों को स्कूल जाने में कठिनाई होती है। उन्हें पानी से आने जाने की विवशता बनी रहती है। डीएम ने इस पर वहां पुलिया बनवाने का निर्देश दिया। साथ ही कहा कि राजघाट से डुहिया तक बनी 35 ठोकरों को तुरंत दुरुस्त करा दिया जाए। इससे पहले डीएम व अन्य अफसर बाकायदा सजी संवरी मोटर बोट पर बैठकर माझा कला गांव के पास तक पहुंचे। इसके बाद आधा किलोमीटर से अधिक की दूरी पैदल तय कर वे सब गांव तक पहुंचे। वहां ग्रामीणों से बातकर उन्हें भरोसा दिलाया गया कि प्रशासन पूरी तरह उनके साथ है। जरूरत के अनुसार सभी सुविधाएं उपलब्ध कराई जाएंगी।
इस बीच सरयू नदी का जलस्तर बीते 24 घंटे में एक बार फिर से उफान की तरफ हो गया। गुरुवार को नदी का जलस्तर खतरे के लाल निशान से मात्र 17 सेंटीमीटर ऊपर था। वहीं शुक्रवार को नदी का पानी 25 सेंटीमीटर ऊपर होकर 92.98 मीटर पर पहुंच गया। इससे ग्रामीणों के बीच चिंता बढने लगी है। उधर, एसडीएम महेंद्र पाल ने कहा कि प्रशासन स्थिति पर पूरी तरह नजर रख रहा है।
... और पढ़ें

चोरी गया सरकारी बोर्ड ग्राम प्रधान के घर से बरामद

भीटी (अंबेडकरनगर)। थाना क्षेत्र के समरसिंहपुर गांव में केंद्र व प्रदेश सरकार की विभिन्न योजनाओं के प्रचार प्रसार के लिए लगा छह बोर्ड बीते दिनों चोरी हो गया था। पुलिस ने गुरुवार को ग्राम प्रधान के घर से बरामद कर लिया। मामले में ग्राम प्रधान व उसके पति के खिलाफ विभिन्न धाराओं में केस दर्ज हुआ है।
जानकारी के अनुसार भीटी थाना क्षेत्र के समरसिंहपुर गांव के विभिन्न स्थानों पर केंद्र व प्रदेश सरकार की विभिन्न योजनाओं के प्रचार-प्रसार के लिए करीब डेढ़ माह पूर्व 1 लाख 62 हजार रुपए कीमत के छह बोर्ड लगवाए गए थे। इस बीच बुधवार को जब लोगों की नजर पड़ी तो सभी बोर्ड अपने अपने स्थान से गायब थे। मामले की सूचना गांव निवासी व भाजपा नेता शत्रुघ्र सिंह को दी गई।
उन्होंने घटना की जानकारी जिलास्तरीय पदाधिकारियों को दी।
पदाधिकारियों के निर्देश पर शत्रुधभन्र सिंह ने ग्राम प्रधान उषा वर्मा व उनके पति मयाराम के विरुद्ध थाने में तहरीर देकर बुधवार को ही केस दर्ज करा दिया। पुलिस मामले की छानबीन में जुटी हुई थी। इस बीच गुरुवार को पुलिस ने ग्राम प्रधान के घर से सभी बोर्ड बरामद कर लिया। प्रभारी थानाध्यक्ष नरसिंह ने बताया कि सभी बोर्ड आरोपी के घर से बरामद कर लिए गए हैं। आरोपियों की तलाश की जा रही है।
... और पढ़ें

इल्तिफातगंज नगर पंचायत को दुधिया रोशनी से जगमग करने का काम तेज

टांडा। सब कुछ ठीक रहा तो इल्तिफातगंज नगर पंचायत की सड़कों और गलियों को ही रात के अंधेरेे से निजात मिल जाएगी। यह पूरा इलाका रात में दूधिया रोशनी से नहाता नजर आएगा। दरअसल, करीब 1.60 करोड़ रुपए की लागत से नगर में सड़कों व गलियों में 200 जगह सोलर लाइटें लगाने का काम शुरू किया गया है। डॉ. एपीजे अब्दुल कलाम सौर पुंज योजना के तहत शुरू हुए प्रोजेक्ट के तहत नगर में दो स्थानों पर 18-18 किलोवाट क्षमता के दो सौर पैनल हब भी लगाए जाएंगे। इसी से सोलर लाइटों के लिए आपूर्ति की जाएगी। नगर पंचायत प्रशासन का दावा है कि अक्तूबर माह के अंत तक काम पूरा कर लिया जाएगा।
इससे नगर की करीब 20 हजार की आबादी सीधे तौर पर लाभांवित होगी।
केंद्र व प्रदेश सरकार नगर पालिकाओं व नगर पंचायतों को आकर्षक लुक देने के लिए प्रयासरत हैं। नगरीय क्षेत्रों में पेयजल, जल निकासी, आवागमन, साफ-सफाई के साथ ही मार्ग प्रकाश की व्यवस्था भी करने पर गंभीरता से ध्यान दिया जा रहा है। मार्ग प्रकाश व्यवस्था बेहतर होने से न सिर्फ आवागमन सुचारु होगा, बल्कि नगरीय क्षेत्रों में सुरक्षा व्यवस्था भी पुख्ता होगी। इसी के उद्देश्य से नगर पंचायत इल्तिफातगंज में बीते दिनों डॉ. एपीजे अब्दुल कलाम सौर पुंज योजना के तहत मार्ग प्रकाश व्यवस्था को बेहतर करने का निर्णय लिया। बोर्ड की आम सहमति के बाद नगर पंचायत में लगभग एक करोड़ 60 लाख रुपए की स्वीकृति इस योजना के लिए हुई। इस योजना के तहत नगर पंचायत से होकर गुजरने वाले मुख्य मार्गों व विभिन्न मोहल्लों में 200 स्थानों पर सोलर लाइट लगाई जाएगी।
इसके अलावा नगर पंचायत में 18-18 किलोवाट क्षमता के दो सोलर पैनल भी लगाने का निर्णय लिया गया है। वरिष्ठ लिपिक नियाज अहमद ने बताया कि सोलर पैनल हब नगर पंचायत कार्यालय व गांधी आश्रम के बगल स्थित नगर पंचायत की दुकानों की छत पर लगाने का काम चल रहा है। नगर पंचायत अध्यक्ष प्रतिनिधि निजाम अहमद ने बताया कि एनटीपीसी की तरफ से आने वाले मार्ग पर हाजी नुरुल्लाह विद्यालय से लेकर मुख्य चौराहा, अकबरपुर मार्ग पर नगर पंचायत सीमा तक की सौर बिजली नगर पंचायत कार्यालय के पैनल से की जाएगी, जबकि हाजी जुबेर मेमोरियल अस्पताल से बाजार के अंदर होते हुए शाही मस्जिद व कब्रिस्तान तक तथा बाजार के पास स्थित सरकारी विद्यालय से चौराहा होते हुए अयोध्या मार्ग पर स्थित पानी की टंकी तक बिजली सप्लाई गांधी आश्रम के बगल स्थित नगर पंचायत की दुकान के छत पर लगे पैनल से सप्लाई दी जाएगी।
डॉ. एपीजे अब्दुल कलाम सौर पुंज योजना के तहत नगर में बेहतर मार्ग प्रकाश व्यवस्था का कार्य तेजी से चल रहा है। सब कुछ ठीक रहा तो अक्तूबर माह के अंत तक कार्य पूरा कर लिया जाएगा। प्रोजेक्ट पर करीब 1.60 करोड़ रुपए खर्च होंगे।
- उमेश कुमार, अधिशाषी अधिकारी, नगर पंचायत, इल्तिफातगंज
... और पढ़ें

नवरात्रि पर्व पर व्यवस्था को मजबूत करने में जुटी अकबरपुर नगर पालिका

अंबेडकरनगर। नवरात्र को लेकर शुक्रवार को अकबरपुर नगर पालिका परिषद कार्यालय में पालिका अध्यक्ष सरिता गुप्ता की अध्यक्षता में सभासदों की बैठक हुई। इसमें पर्व के दौरान मंदिरों व दुर्गा पूजा पंडालों के आसपास साफ-सफाई कराने, पेयजल व प्रकाश व्यवस्था दुरुस्त करने पर जोर देते हुए तैयारियों की समीक्षा की गई।
सरिता गुप्ता ने कहा कि नवरात्र पर मंदिरों व दुर्गा पूजा पंडालों तक पहुंचने में श्रद्धालुओं को मुश्किल न हो, इसके लिए सभी जरूरी कदम उठाए जा रहे हैं। कहा कि न सिर्फ मंदिरों व पूजा पंडालों बल्कि आसपास हर दिन विशेष सफाई व चूने का छिड़काव कराया जाएगा। मंदिर व पूजा पंडालों के आसपास प्रकाश व्यवस्था भी सुनिश्चित कराई जाएगी। सभासदों से आह्वान किया कि अपने-अपने वार्डों में सफाई व्यवस्था सुनिश्चित कराएं। कहीं स्ट्रीट लाइट खराब हो तो इसकी जानकारी तुरंत दें, जिससे समय रहते दुरुस्त कराया जाए। पेयजल आपूर्ति में कोई समस्या हो तो इसकी भी जानकारी पालिका प्रशासन को दी जाए।
अध्यक्ष ने कहा कि मूर्ति विसर्जन स्थल गायत्री मंदिर है। इसके आसपास नदी तट की विशेष सफाई कराई जाएगी। विसर्जन के दौरान मुश्किल न हो, इसके लिए चार नाव व दो क्रेन की व्यवस्था की जाएगी। सुचारु प्रकाश के लिए तीन जेनरेटर लगाए जाएंगे। विसर्जन स्थल तक जाने वाले मार्ग की मरम्मत कराई जाएगी। इस दौरान अधिशाषी अधिकारी सुरेश कुमार, अध्यक्ष प्रतिनिधि मनोज गुप्ता, गुलाबचंद्र, काशी गुप्ता, बलराम, अमित, शिवकुमार आदि मौजूद रहे।
... और पढ़ें
अपने शहर की सभी खबर पढ़ने के लिए amarujala.com पर जाएं

Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google, और सोशल मीडिया साइट्स, जैसे की Facebook, के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।

Agree