विज्ञापन
विज्ञापन
आपकी जन्मकुंडली दूर करेगी आपके जीवन का कष्ट
Janam Kundali

आपकी जन्मकुंडली दूर करेगी आपके जीवन का कष्ट

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
Digital Edition

दो लाख रुपए के साथ भारतीय नागरिक नेपाल में हुआ गिरफ्तार, पूछताछ जारी

नेपाल में विराटनगर पुलिस ने जांच के दौरान दिल्ली निवासी एक भारतीय नागरिक के पास पांच सौ और दो हजार के दो लाख रुपये भारतीय मुद्रा के साथ पकड़ा है। पुलिस उसे गिरफ्तार कर पूछताछ कर रही है। बताया जा रहा है कि नेपाल में पांच सौ और दो हजार के भारतीय मुद्रा के चलन पर रोक है।

शुक्रवार की रात नेपाल विराटनगर पुलिस मेट्रोपोलिटन सिटी 17 के पास इस्लामपुर में जांच कर रही थी। इस दौरान संदिग्ध रूप से घूम रहे एक भारतीय नागरिक की जांच में पुलिस ने करीब दो लाख भारतीय मुद्रा बरामद कर उसे गिरफ्तार कर पूछताछ कर रही है।

पुलिस उपाधीक्षक मान बहादुर राय ने बताया कि महेश चंद्र निवासी पश्चिमी दिल्ली के पास पांच सौ और दो हजार के दो लाख भारतीय मुद्रा के साथ गिरफ्तार किया गया। रकम के बारे में जानकारी हासिल की जा रही है।
... और पढ़ें

यूपी: बागीचे से मासूम का अपहरण, फिरौती के लिए फेंका पत्र

महराजगंज में एक हैरान करने वाला मामला सामने आया है। यहां सदर कोतवाली थाना क्षेत्र के बांसपार गांव के टोला भुलनापुर से छह साल के बालक का अपहरण कर लिया गया है। वहीं इस घटना से क्षेत्र में सनसनी फैल गई है।

मासूम की बरामदगी के लिए पुलिस अधीक्षक ने चार टीमों का गठन कर दिया है। अपहृत बालक के घर के पास एक चिट्ठी मिली है। जिसमें पचास लाख रुपये की फिरौती मांगी गई है।

ग्राम सभा बांसपार टोला भुलनापुर निवासी कृष्णा गुप्ता ने कोतवाली पुलिस को तहरीर देकर कार्रवाई की मांग की है। उन्होंने बताया कि मेरा छह साल का बेटा पीयूष गांव के बगीचे में नौ दिसंबर को खेल रहा था। जहां से कुछ लोग उसे उठा ले गए। इधर-उधर काफी तलाश किया, लेकिन उसका कहीं पर भी पता नहीं चल सका।

तहरीर के आधार पर सदर कोतवाली पुलिस जहां अज्ञात अपहरणकर्ताओं के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर मामले की छानबीन में जुटी हुई है। वहीं परिजनों का रो-रोकर बुरा हो गया है।

पुलिस अधीक्षक प्रदीप गुप्ता ने बताया कि अपहृत बालक की बरामदगी के लिए टीमों का गठन किया गया है। मासूम बालक के परिजनों को कथित एक पत्र प्राप्त हुआ है। जिसके आधार पर जांच शुरू कर दी गई है। जल्द ही बच्चे को बरामद कर लिया जाएगा।
... और पढ़ें

यूपी: थाने के शौचालय से भाग निकला अपराधी, थानेदार लाइन हाजिर

उत्तर प्रदेश के महराजगंज में एक हैरान करने वाला मामला सामने आया है। यहां चौक बाजार स्थानीय थाने से क्राइम ब्रांच के द्वारा गिरफ्तार एक शातिर अपराधी शौचालय की खिड़की तोड़ फरार होने की चर्चा तेज है।

जानकारी होने पर पुलिस हरकत में आई और उसको खोजने में लग गई है। सूत्रों के अनुसार वह कई मामलों में वांछित है, जिसे क्राइम ब्रांच की टीम ने क्षेत्र के ग्राम सभा खोस्टा टोला परागपुर से बीते शनिवार को गिरफ्तार कर चौक बाजार थाने लाई। जहां उससे पूछताछ की जा रही थी।

मंगलवार को सुबह शौच का बहाना बनाकर शौचालय में गया। काफी समय बीत जाने के बाद बाहर नहीं आया तो पहरेदार को शक हुआ और इसकी जानकारी थानाध्यक्ष को दी। शौचालय का दरवाजा किसी तरह खोलकर देखने पर पता चला कि अपराधी शौचालय की खिड़की तोड़कर फरार हो गया।


 
... और पढ़ें

नेपाल तक फैला है नकली दवाओं का कारोबार, विभाग के हाथ नहीं लग पा रहे आरोपी धंधेबाज

गोरखपुर शहर के अलीनगर में बीते दिनों पकड़ी गई आठ लाख की नकली दवा के मामले में आरोपी धंधेबाज विभाग के हाथ नहीं लग सके हैं। बताया जा रहा है कि पकड़ी गई नकली दवा के अलावा शेष को धंधेबाजों ने जलाया नहीं, बल्कि उसे आसपास के मेडिकल स्टोरों पर खपा दिया। विभाग की ओर से दवाओं के सैंपल भी अब तक जांच के लिए नहीं भेजे गए हैं। नकली दवा पर अंकुश लगाने में विभाग की सुस्ती की वजह से धंधेबाज फिर से सक्रिय हो गए हैं।

जानकारी के मुताबिक, एक पखवारे पूर्व बाजार में नकली दवा आने की सूचना विभाग को मिली थी। इसमें 18 लाख रुपये की दवा बेच दी गई थीं। शेष 18 लाख रुपये की दवा लखनऊ के दुकानदार ने नकली कहकर वापस कर दी। इसी बीच भालोटिया मार्केट से इन दवाओं को गायब कर दिया गया।

विभाग ने इसमें से आठ लाख रुपये की दवा तो पकड़ ली, शेष 10 लाख की दवा छोटे मेडिकल स्टोरों पर पहुंच गई है। इन दवाओं को आसपास के मेडिकल स्टोरों पर खपा दिया गया है। इनमें सबसे अधिक दवा बड़हलगंज, भटहट, गोला, पीपीगंज, कैंपियरगंज, उरुवा बाजार, चौरीचौरा, बेलघाट जैसे जगहों पर पहुंच गई है।
... और पढ़ें
दवा (प्रतीकात्मक तस्वीर) दवा (प्रतीकात्मक तस्वीर)

इन दरिंदों की हैवानियत से शर्मसार हुआ पूरा गांव, लोगों ने कहा- 'फांसी से कम नहीं होनी चाहिए सजा'

उत्तर प्रदेश के मगराजगंज जिले में एक हैरान करने वाला मामला सामने आया है। यहां अपराध की दुनिया से दूर-दूर तक नाता न रखने वाले छह युवकों की करतूत से पूरा गांव शर्मसार हो गया है। शराब के नशे में इन युवकों ने एक बालिका के साथ दरिंदगी की सारी हदें पार कर दी। बालिका के साथ हैवानियत करने के बाद दरिंदों ने उसकी बेरहमी से हत्या कर दी। आरोपियों की इस कृत्य से शर्मसार हुए ग्रामीणों ने कहा कि ऐसी घिनौनी हरकत करने वालों को फांसी से कम सजा नहीं होनी चाहिए।  

यह है मामला
जिले के पुरंदरपुर क्षेत्र के एक गांव की बालिका का शव जंगल में स्थित पवह नाले के पास झाड़ी में 19 जनवरी को अर्धनग्न हाल में मिला था। पूछताछ में पता चला कि 12 साल की बालिका एक दिन पहले (18 जनवरी) दोपहर तीन बजे पकड़ी रेंज के जंगल में साइकिल से खरपतवार लेने गई थी।

शाम छह बजे तक वापस नहीं लौटी तो मां समेत गांव के अन्य लोग उसकी तलाश में जंगल की तरफ गए। पता न चलने पर सूचना पुरंदरपुर पुलिस को दी गई। मंगलवार की सुबह मां के साथ गांव के लोग जंगल में तलाश करने गए तो पवह नाले के समीप झाड़ी में बालिका का अर्धनग्न शव मिला था। मृत बालिका की मां की तहरीर पर केस दर्ज कर मामले की जांच शुरू हुई।
... और पढ़ें

यूपी: शराब के नशे में युवकों ने किया था मासूम के साथ सामूहिक दुष्कर्म, हकीकत सुनकर हैरान रह गई पुलिस

महराजगंज जिले में शराब के नशे में धुत युवकों ने दुष्कर्म के बाद बालिका की हत्या की थी। शुक्रवार को छह आरोपियों को गिरफ्तार पर पुलिस ने वारदात का पर्दाफाश कर दिया। इन युवकों ने जब पुलिस को पूरा घटनाक्रम बताया तो हकीकत सुनकर सभी हैरत में पड़ गए।

अपराध की दुनिया से दूर-दूर का नाता न रखने वाले युवकों के इस कृत्य से उनके गांव के लोग भी शर्मसार हैं। सभी यही कह रहे हैं कि ऐसा घिनौना कृत्य करने वालों की सही जगह जेल ही है। उन्हें कठोर सजा मिलनी चाहिए।

पुलिस कार्यालय में वारदात की जानकारी देते हुए एसपी प्रदीप गुप्ता ने बताया कि मामले का पर्दाफाश करने के लिए स्वाट टीम और कई थानों की पुलिस लगी थी। आरोपियों का पता लगाने के लिए गांव में जाल बिछाया गया। लोकल इनपुट के आधार पर जांच आगे बढ़ी तो लगा की घटना को अंजाम देने वाले युवक आसपास के ही हैं।

कुछ युवकों को हिरासत में लेकर पूछताछ शुरू हुई तो सच सामने आ गया। आरोपी वीरू, गोविंद, सोनू, पंकज, पवन, रामनयन को पुरंदरपुर थाना क्षेत्र के मंगरहिया तिराहे से गिरफ्तार कर जेल भेज दिया गया।

पकड़े न जाएं इस डर से मार डाला
पूछताछ में आरोपियों ने पुलिस को बताया कि सभी जंगल में बैठकर शराब पी रहे थे। इसी बीच जंगल में अकेली बालिका दिखी तो नियत में खोट आ गया। दुष्कर्म के बाद पकड़े न जाएं इसलिए गला दबाकर हत्या कर दी।

 
... और पढ़ें

गोरखपुर लूटकांड: लालच में आकर पुलिसकर्मियों ने की थी 30 लाख की लूट, नहीं पता था ऐसे होगा खुलासा

गोरखपुर लूटकांड में पकड़े गए बस्ती के तीनों पुलिसकर्मी वसूली के इरादे से गोरखपुर पहुंचे थे। उन्हें कुछ लोगों के नेपाल से सोना लेकर आने की सूचना मिली थी। ऐसे में वे बिना रवानगी दर्ज किए ही गोरखपुर जा पहुंचे और लूटकांड को अंजाम दे दिया। मुखबिर ने काफी दिनों से जाल बिछाए दारोगा धर्मेंद्र यादव को नेपाल से 80 लाख रुपये कीमत का सोना गोरखपुर पहुंचने की सूचना दी थी। इसके बाद वह पहले से तैयार दोनों खास सिपाहियों महेंद्र यादव और संतोष यादव के साथ बिना रवानगी दर्ज किए ही गोरखपुर जा पहुंचे। उनकी योजना सोना लाने वालों को पकड़ने और वसूली कर छोड़ देने की थी, लेकिन लालच आ जाने के कारण उन्होंने व्यापारियों से सोना छीन लिया और उनकी पिटाई कर उन्हें छोड़ दिया। ... और पढ़ें

यूपी: लुटेरे दारोगा की करतूत से शर्मसार हुआ पूरा गांव, बोले- यकीन नहीं हो रहा

पुलिस के गिरफ्त में सभी आरोपी।
उत्तर प्रदेश के गोरखपुर जिले में स्वर्ण व्यापारियों से 30 लाख की लूट के आरोप में दबोचे गए बस्ती में तैनात दारोगा धर्मेंद्र यादव, सिपाही महेंद्र यादव और संतोष यादव की संपत्तियों की जांच भी कराई जाएगी। अगर अपराध से अर्जित संपत्ति मिली तो उसे भी कुर्क किया जाएगा। एसएसपी जोगेंद्र कुमार ने साफ कहा कि इस मामले में इस तरह की कार्रवाई की जाएगी कि भविष्य के लिए नजीर बने और कानून का कोई रखवाला इस तरह का कदम उठाने से डरे।

जानकारी के मुताबिक, दारोगा धर्मेंद्र यादव गोरखपुर के सिकरीगंज का ही रहने वाला है। वह लंबे समय तक पीएसी में रहा है। गोरखपुर में इस तरह की दो वारदात की बात उसने कबूल की है। पिछली घटना में पुलिस ने इतनी सख्ती नहीं दिखाई और मामला खुल नहीं पाया था। हालांकि पुलिस ने तब भी केस दर्ज कर जांच की थी लेकिन तीन दिन बाद जांच शुरू की गई थी और पुलिस को कोई सीसीटीवी फुटेज या ऐसा सुराग नहीं मिल सका था जिससे वह आरोपियों तक पहुंच सके। लेकिन अब मामला पकड़ में आने के बाद पुलिस तह तक जाना चाहती है।

पुलिस को यह भी संदेह है कि इस तरह की और वारदातें आरोपी पहले भी कर चुके होंगे लेकिन पकड़े नहीं जा सके। यही वजह है कि पुलिस आरोपियों की संपत्ति की जांच कर रही है ताकि अवैधानिक तरीके से अर्जित की गई संपत्ति का पर्दाफाश हो सके। एसएसपी ने साफ कहा है कि इनकी बेनामी संपत्ति मिली तो अपराधियों की तरह ही कुर्की की जाएगी। इस मामले में ऐसी कार्रवाई करेंगे कि भविष्य में कोई पुलिस वाला इस तरह का काम करने की हिम्मत न जुटा सके।
... और पढ़ें

करोड़ों की संपत्ति का मालिक है लूटकांड का ये आरोपी, हर तीन महीने में बदल देता है गाड़ी

गोरखपुर के नौसड़ में महराजगंज के दो सराफा व्यापारियों से बुधवार को हुए 19 लाख रुपये नकद और 11 लाख के सोने-चांदी के जेवरात की लूट की घटना में गोरखपुर की पुलिस ने जिन आरोपियों को गिरफ्तार किया है उनमें महराजगंज जिले के भी दो लोग शामिल हैं। इनमें एक निचलौल कस्बे के मारवाड़ी वार्ड मोहल्ले का प्रॉपर्टी डीलर दुर्गेश अग्रहरि है, जबकि दूसरा शैलेश ठूठीबारी के ईटहियां का रहने वाला है। वह पोर्टल में काम करने के साथ ही खेतीबाड़ी करता है।

सूत्रों के मुताबिक दुर्गेश अग्रहरि बेहद शातिर किस्म का व्यक्ति है। छह भाई-बहनों में दूसरे नंबर के दुर्गेश ने नौवीं तक पढ़ाई की फिर वह पिता के लकड़ी के कारोबार में हाथ बंटाने लगा। जल्द अमीर बनने की चाहत में उसने प्रापर्टी डीलर का काम शुरू किया। इससे उसने एक दशक में ही करोड़ों की संपत्ति जुटा ली।
... और पढ़ें

यूपी: दरिंदगी के बाद बालिका की हत्या से गम और गुस्से में लोग, छावनी में तब्दील हुआ गांव

उत्तर प्रदेश के महराजगंज जिले के पुरंदरपुर क्षेत्र में दरिंदगी के बाद बालिका की हत्या से क्षेत्र के लोग गम और गुस्से में हैं। मंगलवार सुबह जैसे ही मामला प्रकाश में आया पुलिस मामले की गंभीरता को देखते हुए आरोपियों की तलाश में जुट गई। लोगों के गुस्से को भांपते हुए दस थानों की पुलिस गांव में तैनात कर दी गई। अब तक छह लोगों को हिरासत में लेकर पूछताछ की जा रही है।

पोस्टमार्टम के बाद मंगलवार रात बालिका के घरवालों को शव सौंप दिया गया। स्थानीय लोगों के आक्रोश को भांपते हुए पुलिस जल्द से जल्द शव का अंतिम संस्कार कराना चाह रही है। वहीं पीड़ित परिवार बालिका के पिता के हरियाणा से आने के बाद ही अंतिम संस्कार करने को कह रहा है। सूत्रों के अनुसार, बुधवार रात पिता के आने की संभावना है।

वहीं गांव में आक्रोश को देखते हुए फरेंदा सर्किल के साथ परसा मलिक, बरगदवां, नौतनवां, चौक, महिला थाना सहित अन्य थाने की पुलिस के साथ एएसपी निवेश कटियार, सीओ अशोक कुमार मिश्रा गांव में डेरा डाले हुए हैं। एएसपी निवेश कटियार ने बताया कि दोषियों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जाएगी। बालिका के अंतिम संस्कार का प्रयास किया जा रहा है।
 
... और पढ़ें

यूपी: बस्ती में तैनात दरोगा व सिपाहियों ने लूटे थे 30 लाख, थानेदार सहित 12 निलंबित

गोरखपुर कैंट इलाके के रेलवे स्टेशन से महराजगंज के दो स्वर्ण व्यापारियों को अगवा कर नौसड़ के पास से 30 लाख रुपये बस्ती में तैनात दरोगा व सिपाहियोें ने मिलकर लूटे थे। गोरखपुर पुलिस ने 24 घंटे के अंदर लूट कांड का पर्दाफाश करके दरोगा धर्मेंद्र यादव व दो सिपाहियों सहित छह आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया है।

आरोपियों के पास से लूट के 19 लाख रुपये नकद और 11 लाख रुपये कीमत का सोना व चांदी बरामद कर लिया गया। गिरोह का सरगना दरोगा धर्मेंद्र यादव को बताया गया है। आरोपी दरोगा ने लूट की एक और घटना कबूल की है। पुलिस के मुताबिक दरोगा ने चार लोगों के साथ कस्टम अफसर बनकर शाहपुर में एक व्यापारी से चार किलोग्राम चांदी लूटी थी। इस मामले में भी एक पुलिस कर्मी आरोपी है। वह अब भी पुलिस की पकड़ से दूर है।

दूसरी तरफ बस्ती के आईजी राजेश राय ने बताया कि स्वर्ण व्यापारियों से लूट के आरोपी पुरानी बस्ती थाने में तैनात दरोगा सहित 12 पुलिस कर्मियों को निलंबित कर दिया गया है। लापरवाही बरतने पर इंस्पेक्टर अवधेश राज सिंह सहित नौ और पुलिस कर्मी निलंबित किया गया है। निलंबित पुलिस कर्मियों की कुल संख्या 12 है। मामले की जांच एसपी सौंपी गई है। 
     
 
... और पढ़ें

महराजगंज: बुजुर्ग की धारदार हथियार से हत्या, जांच में जुटी पुलिस

उत्तर प्रदेश के महराजगंज जिले से बड़ी खबर है। यहां फरेंदा थाना क्षेत्र के उदितपुर टोला भगवतनगर में एक बजुर्ग की धारदार हथियार से वार कर हत्या कर दी गई। घटना की सूचना पर पहुंची पुलिस जांच पड़ताल में जुट गई है।

जानकारी के मुताबिक, खेत की रखवाली कर रहे 70 वर्षीय बुजुर्ग का खून से लथपथ शव शनिवार को भगवतनगर में देख कुछ लोगों ने ग्रामीणों को इसकी सूचना दी। मौके पर पहुंचे ग्रामीणों ने पुलिस को जानकारी दी। जिसके बाद फरेंदा व पुरंदरपुर पुलिस मौके पर पहुंचकर जांच पडताल शुरू कर दी। बताया जा रहा है कि मृतक तीन भाइयों में दूसरे नंबर का था। उसकी शादी नहीं हुई थी। ऐसे में घटना जमीनी विवाद को लेकर बताई जा रही है।

पुलिस की जांच में भी मामला जमीन से जुड़ा सामने आया है। फरेंदा थानाध्यक्ष गिरिजेश उपाध्याय ने बताया कि मामले की जांच की जा रही है।
... और पढ़ें

गोरखपुर का कारोबारी 1.47 करोड़ नेपाली रुपयों के साथ काठमांडू में गिरफ्तार, जांच में जुटी कई एजेंसियां

नेपाल की पुलिस ने सोमवार सुबह काठमांडू में एक भारतीय नागरिक को गिरफ्तार किया है। उसके पास से एक करोड़ 47 लाख 86 हजार नेपाली रुपये बरामद किए हैं। आरोपी गोरखपुर का रहने वाला है। पुलिस आरोपी से पूछताछ कर रही है।

आरोपी नेपाल के कपिलवस्तु से टैक्सी कर काठमांडू जा रहा था। वह रुपयों को झोले में छिपाकर रखा हुआ था। पुलिस टैक्सी चालक को भी गिरफ्तार कर पूछताछ कर रही है।

काठमांडू के एसएसपी अशोक सिंह ने बताया कि काठमांडू प्रवेश के समय जांच के दौरान आरोपी को पकड़ा गया। उसकी पहचान अमित गुप्ता निवासी गोरखपुर के रूप में हुई है। पुलिस को उस पर हुंडी के कारोबार का शक है। कई एजेंसियां मामले की जांच कर रही हैं।

अपने शहर की खबरों से अपडेट रहने के लिए पढ़ते रहिए
amarujala.comअमर उजाला गोरखपुर के फेसबुक पेज को लाइक और फॉलो करने के लिए यहां क्लिक कर सकते हैं।
... और पढ़ें
Election
  • Downloads

Follow Us

विज्ञापन
X

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00
X