बेहतर अनुभव के लिए एप चुनें।
INSTALL APP
विज्ञापन

बस्ती

विज्ञापन
कालाष्टमी प्राचीन कालभैरव मंदिर दिल्ली में पूजा और प्रसाद अर्पण से बनेगी बिगड़ी बात, अभी बुक करें
Myjyotish

कालाष्टमी प्राचीन कालभैरव मंदिर दिल्ली में पूजा और प्रसाद अर्पण से बनेगी बिगड़ी बात, अभी बुक करें

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
Digital Edition

बस्ती: मामूली विवाद में दबंगों ने युवक को मारी गोली, बीच-बचाव करने पहुंचे पिता को लाठी से पीटा

बस्ती जिले के हर्रैया थाने के करमडाड़े गांव में मामूली बात को लेकर युवक ने फायर झोंक दिया। जिससे गांव के 33 वर्षीय अंगद दुबे को गोली लग गई। मौके पर पहुंचे अंगद दुबे के पिता 65 वर्षीय उमानाथ दुबे को भी लाठी से पीटकर सिर फोड़ दिया। सूचना पर पहुंची पुलिस ने दोनों को गंभीर हालत में सीएचसी पहुंचाया। जहां से अंगद दुबे को जिला अस्पताल रेफर कर दिया गया।
   
घायल अंगद दुबे ने बताया कि वह रास्ते के किनारे खड़े थे। तभी गांव के संतोष गौड़ व ऋतिक बाइक लेकर पहुंचे और उसके ऊपर बाइक चढ़ाने का प्रयास किया। उसने एतराज किया तो धमकी देते हुए दोनों घर गए और तमंचा लेकर आए। आते ही अंगद दुबे पर गोली चला दी। खबर पाकर अंगद के पिता मौके पर पहुंचे तो उन्हें लाठी से पीट दिया। प्रभारी निरीक्षक विंदेश्वरी मणि त्रिपाठी के मुताबिक ओरोपियों की तलाश की जा रही है। अबी तहरीर नहीं मिली है।
... और पढ़ें

आशा कार्यकत्री का कारनामा: नर्सिंग होम से नवजात को चुराकर मौसी ने तांत्रिक को बेचा, 50 हजार रुपये की लालच में किया था सौदा

उत्तर प्रदेश के बस्ती शहर के एक नर्सिंग होम से नवजात शिशु के गायब होने का सनसनीखेज मामला सामने आया। जिसमें बच्चे की रिश्तेदार आशा कार्यकत्री ने उसे एक तांत्रिक के हाथ बेच दिया था। सूचना मिलते ही सक्रिय हुई पुलिस ने कड़ी से कड़ी जोड़कर खोजबीन की तो चौंकाने वाली कहानी सामने आई। गनीमत रही कि कुछ घंटे पहले ही पैदा हुए नवजात को पुलिस ने रुधौली थाने के अठदेउरा गांव से ढूंढ निकाला। उसे तांत्रिक के गांव की महिला ने अपने घर में छिपाया था। माना जा रहा है कि यदि पुलिस ने तत्परता न दिखाई होती तो तांत्रिक के हाथ लगे नवजात बच्चे की जान को भी खतरा हो सकता था।

एएसपी दीपेंद्र चौधरी ने कोतवाली में प्रेसवार्ता कर बताया कि आशा कार्यकत्री पूजा पत्नी मनोज निवासी मझौआमीर थाना वाल्टरगंज, तांत्रिक प्रमोद कुमार पांडेय उर्फ रिंकू पांडेय निवासी अठदेउरा थाना रुधौली व तांत्रिक के ही गांव की प्रीति पांडेय पत्नी मनोज पांडेय को गिरफ्तार कर लिया गया है। एएसपी ने बताया कि नवजात बालक को उसके माता-पिता को सुपुर्द कर दिया गया है। चार घंटे के अंदर इस सनसनीखेज मामले का खुलासा करने के एवज में कोतवाली पुलिस की टीम को 10 हजार रुपये पुरस्कार देने का एलान किया है। जिसमें कोतवाल शिवाकांत मिश्र, एसआई मुनींद्र त्रिपाठी, महिला एसआई किरन भाष्कर, चंद्रप्रकाश मिश्र, मनीष कुमार यादव, आराधना तिवारी शामिल रहीं।
 
ऐसे हुई घटना
घटनाक्रम के अनुसार, वाल्टरगंज थाने के भरवलिया निवासी इंद्रेश की पत्नी छाया को प्रसव पीड़ा शुरू हुई। सोमवार/मंगलवार तड़के करीब तीन बजे उसे शहर के मालवीय रोड स्थित एसएस नर्सिंग होम में प्रसव के लिए भर्ती कराया। मंगलवार दोपहर बाद तीन बजे उसे ऑपरेशन से बेटा पैदा हुआ। बेटा पैदा होने पर माता-पिता के अलावा अन्य रिश्तेदार खुशी से झूम उठे। उसी समय प्रसूता छाया की मौसी की बेटी जो आशा कार्यकत्री भी है, पहुंच गई। सभी एक-एक करके बच्चे को गोद में लेकर लाड-प्यार बरसाने लगे।
... और पढ़ें

बस्ती: चौथी कक्षा की छात्रा के साथ किशोर ने किया दुष्कर्म, आरोपी फरार

बस्ती जिले के दुबौलिया थाना क्षेत्र में एक आठ साल की बालिका के साथ दुष्कर्म की घटना सामने आई है। वह रविवार आरोपी गांव का ही रहने वाला नाबालिक है। थाना प्रभारी मनोज कुमार ने बताया कि नामजद मुकदमा दर्ज कर लिया गया है। पीड़िता को जिला महिला अस्पताल में मेडिकल के लिए भेजा गया है।

थाना क्षेत्र के एक गांव की रहने वाली पीड़ित बालिका गांव के प्राथमिक विद्यालय में पढ़ने वाली कक्षा चार की छात्रा है। आरोप है कि गांव का आठवीं में पढ़ने वाला 16 साल का किशोर रविवार देर शाम उसे गन्ने के खेत में घास काटते समय पकड़ लिया। जो कक्षा आठ का छात्र है। जबरदस्ती करने पर बालिका ने शोर मचाया तो आस पास के लोग मदद को पहुंचे। आरोपी युवक मौके से फरार हो गया।

दुबौलिया पुलिस ने बालिका के पिता की तहरीर पर आरोपी के खिलाफ दुष्कर्म व पाक्सो एक्ट के तहत मुकदमा दर्ज कर बालिका को मेडिकल जांच के लिए जिला महिला अस्पताल भेजा।
... और पढ़ें

बस्ती: हर्रैया ब्लॉक प्रमुख अगवा, नशे का इंजेक्शन लगाकर छोड़ा

बस्ती जिले के ब्लॉक प्रमुख हर्रैया के रहस्यमय ढंग से कार में अपहरण का मामला सामने आया है, जिन्हें थोड़ी ही देर बाद नशे का इंजेक्शन लगाकर नकाब पहनाकर छोड़ भदावल पेट्रोलपंप के पास छोड़ दिया गया। चार जनवरी की घटना में 13 जनवरी को थाने पर तहरीर दी गई।

सीओ हर्रैया शेषमणि उपाध्याय ने बताया कि तीन अज्ञात कार सवार लोगों के खिलाफ अपहरण के तहत मुकदमा दर्ज कर जांच की जा रही है। हर्रैया थाना क्षेत्र के भदावल खुर्द निवासी ब्लॉक प्रमुख विकास कुमार निषाद ने तहरीर में बताया है कि चार जनवरी शाम करीब सात बजे सावित्री सिंह स्मारक इंटर कॉलेज भदावल के पास खड़े थे। उसी समय काले रंग की कार से कुछ लोग आए और उन्हें जबरदस्ती खींच कर बैठा लिया।

 आरोप है कि अंदर बैठे तीन लोगों ने मिलकर उन्हें इंजेक्शन लगा दिया जिससे वह बेहोश हो गए। करीब आधे घंटे बाद भदावल बाजार के पास लोगों ने नकाब पहने एक व्यक्ति को लड़खड़ाते हुए देखा। पहले महिला समझकर लोगों ने नजरअंदाज किया लेकिन लड़खड़ाने की वजह से कुछ लोगों ने नकाब उठाया तो हैरान रह गए।

उन्हें एक स्थानीय चिकित्सक के पास ले गए। प्रमुख का कहना है कि थोड़ी देर बाद जब होश आया तो खुद को भदावल के एक बंगाली डॉक्टर के यहां थे। उस समय घबराहट में तहरीर नहीं दी लेकिन, बृहस्पतिवार को थाने में तहरीर दी। तहरीर में यह नहीं बताया गया कि गाड़ी में सवार लोग कौन थे और किस मकसद से ऐसा किया। पुलिस प्रकरण की छानबीन कर रही है।
... और पढ़ें
सांकेतिक तस्वीर। सांकेतिक तस्वीर।

बस्ती: हारमोनियम वादक का घर में मिला शव, जांच में जुटी पुलिस

बस्ती जिले के राम जानकी मार्ग पर स्थित कलवारी थाना क्षेत्र के पाऊं कस्बे में हारमोनियम वादक मो. इद्रीश (80) की संदिगध परिस्थितियों में मौत हो गई। उनका शव उनके घर से लावारिश हालात में मिला। ग्रामीणों की सूचना पर पहुंची पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेजा। इद्रीश के बेटे रईस ने कलवारी पुलिस को तहरीर देकर मौत को संदिग्ध बताते हुए जांच की मांग की है।

मोहम्मद इद्रीश हारमोनियम बजाने के साथ साथ भजन भी गाते थे। उनको लोग रामयाण, भजन, रामलीला सहित अन्य सांस्कृतिक कार्यक्रमों के लिए बुलाते थे। उनसे मिलने वाली बख्शीस से अपना जीविकोपार्जन करते थे। दो बेटो में बड़ा बेटा फिरोज काफी पहले गायब हो गया था। जिसका आज तक पता नहीं चला। जबकि छोटा बेटा रईस रसूलपुर थाना टांडा अंबेडकर नगर में अपने परिवार के साथ रहता है।

लोगों ने बताया कि मोहम्मद इद्रीश गांव के बाहर घर बनाकर रहते थे। बृहस्पतिवार सुबह पाऊं निवासी युसुफ उनके घर के पास गया तो उसे दुर्गन्ध लगा। इस बारे में उसने गांव में लोगों को बताया। कुछ ही देर में लोगों की सूचना पर पहुंची पुलिस ने शव कब्जे में लिया।

मृतक के बेटे रईस ने पुलिस को तहरीर देकर लिखा है कि उसके पिता का पोस्टमार्टम कराकर मौत का कारण पता लगाया जाय। थानाध्यक्ष अरविंद कुमार शाही ने बताया कि शव निरीक्षण से लगता है कि मौत कुछ दिन पूर्व हुई है। शव में कीड़े पड़ गये है। मौत का सही कारण पोस्टमार्टम रिपोर्ट आने के बाद ही पता चलेगा।

 
... और पढ़ें

बस्ती: विवाहिता की संदिग्ध मौत में दहेज हत्या का मुकदमा, 29 दिसंबर को हुई थी घटना

पांच दिन पहले पुरानी बस्ती थाने के सोनहटी बुजुर्ग में विवाहिता की संदिग्ध हालात में झुलस कर मौत के मामले में पुलिस ने चार ससुरालियों के विरुद्ध दहेज हत्या के आरोप में मुकदमा दर्ज कर लिया है। जिसमें मृतका सुनीता की मां ज्ञानमती देवी ने तहरीर दी।

एसओ आलोक श्रीवास्तव ने बताया कि मृतका के ससुर राममूरत, सास मीना देवी, देवर राजेश समेत चार लोगों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर छानबीन शुरू कर दी गई है।

वाल्टरगंज थाना क्षेत्र के बभनगावां की रहने वाली सुनीता (28) की चार साल पहले पुरानी बस्ती के सोनहटी बुजुर्ग में शादी हुई थी। काम के सिलसिले में सुनीता का पति हैदराबाद में रहता है। गांव में सुनीता अपने सास-ससुर व तीन देवरों के साथ रह रहती थी।

ससुराल के लोगों ने पुलिस पूछताछ में बताया था कि 29 दिसंबर 2021 बुधवार को परिवार के बाकी लोग किसी न किसी काम से बाहर गए हुए थे। सास गांव में ही एक व्यक्ति की मौत की सूचना पर संबंधित के घर गई थी। अकेले घर पर अलाव तापते समय सुनीता की साड़ी में आग लग गई। जिससे वह गंभीर रूप से झुलस गई थी।

पड़ोसियों की सूचना पर भागती हुई सास घर पर पहुंची और ग्रामीणों की मदद से जिला अस्पताल ले गई। डाक्टर ने हालत बेहद गंभीर देख मेडिकल कॉलेज गोरखपुर रेफर कर दिया, जहां उसकी मौत हो गई थी। शव को घर पर लाने के बाद सूचना पुलिस को दी गई थी। पुलिस ने शव को कब्जे में ले लिया था।


 
... और पढ़ें

बस्ती: पुलिस और बदमाशों के बीच हुई मुठभेड़, दो शातिर असलहा सप्लायर गिरफ्तार

बस्ती जिले की छावनी पुलिस व एसओजी टीम ने शनिवार की भोर में दो शातिर असलहा सप्लायर को मुठभेड़ में गिरफ्तार कर लिया। मुठभेड़ में एक बदमाश के पैर में गोली लगी है। इलाज के लिए उसे जिला चिकित्सालय में भर्ती कराया गया है। एक गोली वरिष्ठ उपनिरीक्षक श्याम मोहन त्रिपाठी के सीने पर लगी, लेकिन बुलेट प्रूफ जैकेट के चलते वह बच गए।

थानाध्यक्ष रोहित उपाध्याय ने बताया कि रात्रि गश्त के दौरान शनिवार की भोर में करीब तीन बजे एसओजी के जरिए सूचना मिली कि क्षेत्र के रामजानकी मार्ग से हाइवे को जोड़ने वाले संपर्क मार्ग से दो बदमाश निकल रहे हैं। सूचना मिलते ही मय पुलिस फोर्स के साथ नाल्हीपुर गांव के पास बने शमशान घाट पर घेराबंदी कर दी।

बदमाशों को आता देख रोकने की कोशिश की, जिस पर बदमाशों ने पुलिस टीम पर फायर झोंक दिया। एक गोली वरिष्ठ उपनिरीक्षक श्याम मोहन त्रिपाठी के सीने पर लगी गनीमत रही बुलेट प्रूफ जाकेट के चलते वह बच गए। जवाबी फायरिंग में पुलिस की गोली लगने से प्रद्युमन चौहान घायल हो गया।

बदमाशों की पहचान थाना क्षेत्र के ढोलवापुर अकला निवासी प्रद्युम्न चौहान व नाल्हीपुर निवासी करामत अली के रूप में हुई। दोनों के पास से एक पिस्टल 32 बोर, कारतूस एक जिंदा व एक खोखा, तमंचा 315 बोर, तमंचा 12 बोर और 820 रुपये नगद बरामद किया गया।

थानाध्यक्ष ने बताया कि दोनों ही अपराधी शातिर किस्म के हैं और अवैध असलहों के सप्लायर हैं। दोनों पर अयोध्या और बस्ती जनपद को मिलाकर आधा दर्जन से अधिक मुकदमे पंजीकृत हैं। पुलिस टीम में चौकी प्रभारी विक्रमजोत पवन कुमार मौर्य, उप निरीक्षक दुर्ग विजय सिंह, हेड कांस्टेबल कृष्णानंद तिवारी, कांस्टेबल अनिल कुमार यादव, बालेंदु पांडेय, सुदीप गुप्ता, आनंद राय, एसओजी टीम के कांस्टेबल अभिषेक तिवारी, अजय कुमार यादव , विजय यादव भी शामिल रहे।

 
... और पढ़ें

बस्ती: अवैध असलहा फैक्टरी का खुलासा, हिस्ट्रीशीटर गिरफ्तार

मुठभेड़ में घायल बदमाश।
बस्ती जिले के थाना हर्रैया पुलिस व एसओजी टीम की संयुक्त कार्रवाई में बृहस्पतिवार-शुक्रवार रात अवैध तमंचा बनाने की फैक्टरी पकड़ी गई है। जबकि इसे संचालित करने वाले अपराधी को गिरफ्तार किया गया है। पुलिस के अनुसार, हर्रैया के महुघाट अमारी बाजार मार्ग पर मुरादीपुर मनोरमा नदी के किनारे चल रही इस फैक्टरी से 315 और 12 बोर के छह निर्मित, तीन अर्ध निर्मित तमंचों के अलावा तीन जोड़ी पिस्टल की ग्रिप व इसे बनाने का उपकरण बरामद किया गया है।

पकड़ा आरोपी इससे पहले लालगंज थानाक्षेत्र में असलहा बनाने की फैक्टरी संचालित करते पकड़ा जा चुका है। वह नगर पंचायत हर्रैया की सभासद का पुत्र है।  गिरफ्तार किया गया राम शंकर उर्फ शंकर निवासी वार्ड नंबर चार हनुमानगढी कस्बा हर्रैया थाने का हिस्ट्रीशीटर है। जिस पर मारपीट, आर्म्स एक्ट, लूट, गुंडा एक्ट, जाब्ता फौजदारी, विस्फोटक अधिनियम सहित 16 मुकदमे दर्ज हैं।

बरामद असलहों में तीन तमंचे 315 बोर व कारतूस, दो  तमंचे 12 बोर ओर 32 बोर डबल नाल तमंचा शामिल है। प्रभारी निरीक्षक विजय कुमार सिंह ने बताया कि पकड़े गए हिस्ट्रीशीटर से पूछताछ की जा रही है कि उसने अपने बनाए असलहे किसे बेचे हैं।  

बानपुर से हुई थी बरामदगी

पिछले लोकसभा चुनाव के दौरान 29 मार्च 2019 की रात करीब सवा आठ बजे लालगंज क्षेत्र के बानपुर स्थित अड़बगवा बाग से पुलिस की स्वाट टीम व लालगंज पुलिस ने आरोपी रामशंकर सोनकर निवासी वार्ड चार हनुमानगढी थाना हरैया को पकड़ा था। जहां चार कट्टा 12 बोर, दो कट्टा 315 बोर, 12 बोर के दो और 315 बोर का एक अर्द्धनिर्मित कट्टा, छह लोहे की नाल 12 बोर, अवैध असलहा की बनाने की भट्ठी, औजार बरामद हुआ था।

 
... और पढ़ें

यूपी: बस्ती में पुलिस के साथ हुई मुठभेड़, गोंडा के तीन शातिर चोर गिरफ्तार

बस्ती जिले के छावनी थाना व एसओजी की संयुक्त टीम ने मुठभेड़ में तीन शातिर बदमाशों को गिरफ्तार किया है। एसपी आशीष श्रीवास्तव ने बताया कि चोरी व ठगी की घटनाओं को अंजाम देने में माहिर गैंग ने पुलिस घेराबंदी के दौरान फायरिंग कर कार से भागने की कोशिश की। लेकिन पकड़े गए।

आरोपियों के कब्जे से कट्टा-कारतूस के साथ जिले के रुधौली व नगर थाने में दर्ज चोरी व धोखाधड़ी के मुकदमे से संबंधित नगदी व कागजात और एक कार बरामद हुई है।
 
एसपी के अनुसार, मुठभेड़ में सुनील कश्यप, उत्तम कश्यप निवासी बाबाभर भटौरा थाना करनैलगंज जिला गोंडा और अरमान अली उर्फ बबलू निवासी धुसवा चतरौली थाना करनैलगंज जिला गोंडा के खिलाफ बस्ती के रुधौली थाने में चोरी और नगर थाने में धोखाधड़ी के मुकदमों में वांछित थे। थानाध्यक्ष छावनी रोहित उपाध्याय व एसओजी प्रभारी की टीम को शुक्रवार की रात सूचना मिली कि छावनी के देवकली नहर पुलिया के पास तीनों अंतरजनपदीय अपराधी चोरी की योजना बना रहे हैं।

युक्त टीम ने घेराबंदी की तो बदमाशों ने असलहे से फायरिंग कर दी। लेकिन पुलिस टीम ने चारों तरफ से घेरकर कर तीनों को गिरफ्तार कर लिया। एसपी के अनुसार अन्य जिलों में इनके आपराधिक इतिहास के बारे में जानकारी जुटाई जा रही है। चोरी व ठगी की घटना में प्रयुक्त कार को सीज कर दिया गया है। पुलिस टीम पर फायरिंग करने व चोरी-ठगी के माल बरामदगी के आरोप में छावनी थाने में तीनों के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया गया है।
... और पढ़ें

बस्ती: पति की हत्यारोपी पत्नी प्रेमी संग गिरफ्तार, तीन दिन पहले वारदात को दिया था अंजाम

ससुराल आए सिद्धार्थनगर के युवक राकेश यादव की हत्या के मामले में पुलिस ने उसकी लापता पत्नी पूजा यादव व उसके प्रेमी राजू चौधरी को गिरफ्तार कर लिया है। एंटी नारकोटिक्स टीम के सहयोग से प्रभारी निरीक्षक सोनहा रामकृष्ण मिश्र की टीम ने शुक्रवार को सुबह छह बजे क्षेत्र के बंजरिया मोड़ से गिरफ्तार किया।

पूछताछ के आधार पर एसपी आशीष श्रीवास्तव ने बताया कि एक वर्ष से पूजा अपने मायके में ही रह रही थी। जहां उसका गांव के निवासी राजू चौधरी से संबंध हो गया। दीपावली के दिन पूजा का पति राकेश यादव उसे घर ले जाने के लिए अपनी ससुराल भैंसहिया आया। उसी दिन पूजा ने अपने प्रेमी के साथ मिलकर पति को रास्ते से हटाने की योजना बना ली।

आठ नवंबर को पूजा को लेकर पति राजेश यादव की बाइक से वह घर से निकली। योजना के अनुसार पीछे-पीछे उसका प्रेमी राजू भी आने लगा। सगरा-कोल्हुई मार्ग पर कोल्हुई गांव के डीह स्थित बाग के पास पहुंचने के बाद राकेश यादव की पत्नी ने शौच जाने का बहाना बनाया। इसके लिए वह बाग में झाड़ियों के पास गई।

वहां साथ में अपने पति को भी किसी बहाने बुला ले गई। पीछे से उसका प्रेमी राजू चौधरी भी पहुंच गया। वहां दोनों ने मिलकर राकेश की गला घोंटकर हत्या कर दी। इसके बाद वहां से वे फरार हो गए। आरोपियों की निशानदेही पर मौके से पूजा की टूटी हुई सैंडल व टूटी हुई चूड़ियां बरामद हुई हैं।

बता दें कि सिद्धार्थनगर जनपद के पथरा बाजार थाना क्षेत्र के रमवापुर गांव निवासी राकेश यादव (30) पुत्र हरिशचंद्र उर्फ तौलू यादव की शादी भैंसहिया निवासी पूजा यादव पुत्री बुद्धिराम के साथ हुई थी। एक वर्ष पहले वह अपने मायके आई और तब से ससुराल नहीं गई थी।

दीपावली के दिन उसका पति राकेश उसे ले जाने आया था। आठ नवंबर को दोनों साथ बाइक से निकले थे। मगर दोपहर के समय सोनहा थाना क्षेत्र के सगरा-कोल्हुई मार्ग पर कोल्हुई गांव के डीह स्थित बाग में राकेश यादव का शव मिला। उसकी पत्नी तभी से लापता हो गई थी। जिसके बाद शक की सूई पत्नी की तरफ घूमने लगी थी। घटना के अगले दिन मृतक के बाबा ने दोनों आरोपियों पर नामजद हत्या का मुकदमा दर्ज कराया था।

 
... और पढ़ें

बस्ती: पुलिस मुठभेड़ में जानलेवा हमले का आरोपी गिरफ्तार, एक सिपाही व बदमाश को लगी गोली

उत्तर प्रदेश के बस्ती जिले के कलवारी थाना क्षेत्र के गोविंदापुर के पास शनिवार की सुबह कलवारी पुलिस व एंटी व्हीकल टीम की बदमाशों से मुठभेड़ हो गई। मुठभेड़ में कलवारी थाना क्षेत्र के ही सेमराचीगन निवासी मस्तराम को पैर में गोली लगी है। वहीं कलवारी थाने के सिपाही करमचंद को भी गोली लगी है।

जानकारी के अनुसार, बदमाश मस्तराम ने 14 नवंबर की रात में डीजे बजाने की बात को लेकर 17 वर्षीय अमरजीत निवासी तिघरा थाना दुबौलिया को लोहे के रॉड से सिर पर वार किया था। जिससे वह गंभीर रुप से घयाल हो गया था। डॉक्टरों ने उसे लखनऊ रेफर कर दिया था। वहीं पकड़े गए बदमाश मस्तराम के पास से तमंचा तथा कारतूस बरामद किया गया है।
... और पढ़ें

बस्ती: झांसा देकर किया दुष्कर्म, वीडियो बनाकर ब्लैकमेल करने का लगा आरोप

बस्ती जिले में शादी का झांसा देकर नाबालिग से दुष्कर्म मामले में पुलिस ने न्यायालय के आदेश पर दुष्कर्म, पोस्को एक्ट व दलित उत्पीड़न का मुकदमा दर्ज किया है।

थानाध्यक्ष पैकोलिया प्रदीप कुमार सिंह ने बताया कि क्षेत्र के एक गांव की 17 वर्षीया किशोरी ने विशेष न्यायाधीश एससीएसटी कोर्ट में अर्जी देकर आरोप लगाया कि बेलसड़ गांव के पिपरिया पुरवा नीरज यादव शादी का झांसा देकर विगत एक वर्ष पूर्व शारीरिक संबंध बनाया। उसी का अश्लील वीडियो बनाकर ब्लैकमेल करके दुष्कर्म कर रहा है।

उसका आरोप है कि बीते 26 मार्च की शाम करीब आठ बजे घर पर कोई नहीं था, उसी दौरान आरोपी आ गया और धमकी देकर जबरिया संबंध बनाने लगा। तभी परिवार वाले आ गए और उसे लोगों ने पकड़ लिया। पीड़िता ने परिवारवालों से आप बीती बताई।

पीड़िता के परिवार के लोग जब शादी को कहने लगे तो नीरज यादव, पंकज यादव, सीमा  देवी, रीमा देवी, और पूजा एक राय होकर लाठी-डंडा लेकर पीड़िता के घर चढ़ आए और परिवार वालों को जातिसूचक गालियां देते हुए मारने-पीटने लगे।

इसके बाद आरोपी नीरज यादव ने शादी करने से इनकार कर दिया है। थानाध्यक्ष ने बताया कि कोर्ट के आदेश पर दुष्कर्म, दलित उत्पीड़न और पोस्को एक्ट, जान से मारने की धमकी देने मामले में मुकदमा पंजीकृत किया है।
... और पढ़ें

यूपी: बलिया में बवाल न करता तो नहीं खुलती फर्जी सिपाही की पोल, भाई के प्रमाणपत्र पर कर रहा था नौकरी

अपने बड़े भाई का शैक्षिक प्रमाण पत्र लगाकर पुलिस विभाग में आरक्षी पद पर नौकरी करने वाला अगर पंचायत चुनाव में गांव जाकर बवाल न किया होता तो उसकी पोल नहीं खुलती। अपने गांव बलिया के रसड़ा पहुंच गया था और वहां चुनावी विवाद में अवैध असलहे से पड़ोसी पर फायर झोंक बैठा। इसके बाद उसकी कहानी खराब होने लगी और आखिरकार जिस महकमे की वर्दी पहनकर रौब गांठता रहा, उसी के हाथों गिरफ्तार होकर जेल भेजा गया।

कोतवाली पुलिस ने बुधवार को उसे केंद्रीय विद्यालय फर्टिलाइजर गोरखपुर से गिरफ्तार किया।  इस संबंध में धनन्जय सिंह कुशवाहा क्षेत्राधिकारी रुधौली ने जांच के बाद तहरीर देकर कोतवाली थाने में मुकदमा दर्ज कराया था। जिसमें बताया गया कि बलिया जिले के रसड़ा थाने के संवरा गांव निवासी रोहित कुमार सिंह अपने सगे भाई राहुल कुमार सिंह के अभिलेखों पर पुलिस विभाग में 2018 में भर्ती होकर राहुल कुमार सिंह के नाम पर नौकरी कर रहा था।

जांच से पाया गया कि रोहित कुमार सिंह ने बड़े भाई के हाई स्कूल व इण्टरमीडिएट का प्रमाण पत्र लगाकर राहुल कुमार सिंह के नाम पर पुलिस विभाग में नौकरी कर रहा था। हर्रैया थाने में तैनाती के दौरान पंचायत चुनाव में राहुल सिंह उर्फ रोहित अवकाश पर गया था। जहां विवाद होने के बाद उसने एक व्यक्ति पर गोली चला दिया था। जिसके बाद रसड़ा थाने में उसके खिलाफ मुकदमा दर्ज किया गया और उसे गिरफ्तार किया गया।

जांच में यह पोल खुला कि वह अपने भाई के प्रमाणपत्र पर नौकरी कर रहा है। एसपी बलिया की रिपोर्ट पर यहां के एसपी आशीष श्रीवास्तव ने सीओ रुधौली धनंजय सिंह कुशवाहा को जांच सौंपी। आरोप सही पाए जाने पर सीओ की तहरीर पर कोतवाली थाने में 29 मई को मुकदमा दर्ज किया गया।

 
... और पढ़ें
  • Downloads

Follow Us

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00