विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
कराएं दिवाली की रात लक्ष्मी कुबेर यज्ञ, होगी अपार धन, समृद्धि  व्  सर्वांगीण कल्याण  की प्राप्ति : 27-अक्टूबर-2019
Astrology Services

कराएं दिवाली की रात लक्ष्मी कुबेर यज्ञ, होगी अपार धन, समृद्धि व् सर्वांगीण कल्याण की प्राप्ति : 27-अक्टूबर-2019

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

From nearby cities

दीपोत्सव पर अयोध्या में 373 करोड़ की योजना का लोकार्पण करेंगे मुख्यमंत्री योगी

दीपोत्सव के शुभारंभ के दिन 26 अक्तूबर को रामकथा पार्क से मुख्यमंत्री योगी आदित्याथ करेंगे योजना का लोकार्पण

22 अक्टूबर 2019

विज्ञापन
विज्ञापन

बस्ती

मंगलवार, 22 अक्टूबर 2019

जीजीआईसी ः शिक्षकों की कमी, मैदान में लहलहा रही धान की फसल

जीजीआईसी में शिक्षकों का अभाव, लहलहा रहे ‘मैदान’ में धान
बभनान। गौर ब्लॉक के कछिया में बना राजकीय कन्या इंटर कॉलेज कभी बेटियों के लिए वरदान था। लेकिन अब शिक्षकों के अभाव में छात्राओं का कॉलेज से मोह भंग हो गया है। वर्तमान सत्र में हाई स्कूल व इंटर कक्षाओं में महज 30 छात्राओं का नामांकन हो पाया है। मजे की बात यह है कि जिस मैदान पर बेटियां खेलकूद कर जिले का नाम रोशन करती थीं। वहां अब धान की फसलें लहलहा रही हैं। कार्यवाहक प्रधानाचार्य का कहना है कि शिक्षकों की कमी के कारण छात्राएं नामांकन कराने से कतरा रही हैं।
गौर ब्लाक के कछिया में स्थित इस विद्यालय के लिए 2012-13 में नए भवन का निर्माण कराया गया। इस पर करीब 50 लाख रुपये खर्च किए गए। भवन के तीन कमरों में अत्याधुनिक प्रयोगशालाएं तो पांच कमरों को शिक्षण कार्य के लिए बनाए गए। इसी में प्रधानाचार्य का निवास है। इसके अतिरिक्त भवन के कमरों पर ताले लटक रहे हैं। कंप्यूटर खराब है। कॉलेज परिसर में झाड़ियां पहचान बन गई है। वैसे तो यहां नौ प्रवक्ता, सात पद सहायक अध्यापक, तीन चतुर्थ श्रेणी कर्मी व दो लिपिक के पद सृजित हैं। लेकिन अब दो सहायक शिक्षक व एक चतुर्थ श्रेणी कर्मी के अलावा दो अल्पकालिक शिक्षकों से काम चल रहा है। शुक्रवार को अमर उजाला की टीम ने विद्यालय की पड़ताल की तो पता चला कि यहां दो अल्पकालिक शिक्षक पटेश्वरी गुप्ता व शिवबरन निषाद ही पढ़ा रहे हैं। सहायक अध्यापक प्रभारी प्रधानाचार्य मीनाक्षी जायसवाल व माधुरी सिंह अवकाश पर हैं। चतुर्थ श्रेणी कर्मी रामदेव, लिपिक रमेशधर द्विवेदी भी मौजूद नहीं मिले। कनिष्ठ लिपिक अशोक कुमार गौतम का संबद्धीकरण अभिनव विद्यालय बभनान कर दिया गया है। कक्षा नौ में पांच, हाई स्कूल में छह, कक्षा 11 में ग्याहर तो कक्षा 12 में आठ छात्राओं का नामांकन किया गया है। विद्यालय में आधुनिक प्रयोगशाला बेकार हो रही है। यहां मंगाए गए 10 कंप्यूटर जीर्ण शीर्ण हो चुके हैं।
कार्यवाहक प्रधानाचार्य मीनाक्षी जायसवाल ने बताया बिजली न होने से कंप्यूटर बेकार हो गए हैं। विद्यालय को परीक्षा केंद्र नहीं बनाए जाने के कारण अभिभावक नामांकन नहीं करा रहे हैं। बताया कि शिक्षकों की कमी सबसे बड़ी समस्या है। रही धान बुआई करने की बात तो पिछले दिनों निरीक्षण करने आए जेडी के निर्देश पर यहां खाली पड़े मैदान का उपयोग धान बुआई कर किया गया है।
... और पढ़ें

पीडब्ल्यूडी के ई-टेंडरिंग में सेटिंग का खेल, सिस्टम फेल

पीडब्ल्यूडी के ई-टेंडरिंग में ‘सेटिंग’ का खेल, सिस्टम फेल
बस्ती। भले ही सरकार ऑनलाइन सिस्टम के जरिए व्यवस्था को पारदर्शी बनाने में जुटी है। लेकिन विभागीय जिम्मेदार सरकार की इस योजना को कैसे पलीता लगा रहे हैं। इसकी बानगी जिले में पीडब्ल्यूडी विभाग में आसानी से देखी जा सकती है। अधिकारी किसी तरह मनमाने ढंग से ई-टेंडर के लिए ठेकेदारों के अभिलेखों में पात्रता व अपात्रता तय कर चहेतों को काम बांट रहे हैं।
दरअसल, पीडब्ल्यूडी विभाग में आन लाइन टेंडर की प्रक्रिया लंबे समय से जारी है। पात्रता के मानक भी तय किए गए हैं लेकिन इन मानकों को अधिकारियों ने मनमाने ढंग से परिभाषित कर चहेतों को काम बांट रहे हैं। पिछले दिनों करीब 50 करोड़ के ठेके के मामले में यह बात सामने आई है। इसमें संबंधित फर्म ने सबसे कम रेट डाला। फर्म के अभिलेख भी दुरुसत थे लेकिन उसे काम टेंडर नहंी मिला। जिम्मेदारों ने खेल कर यह काम चहेतों को दे दिया। हालांकि संबंधित फर्म के प्रोपराइटर ने दबी जुबान बात कही लेकिन अधिकारियों के दबाव में चुप्पी साध ली। यह तो महज बानगी है। लंबे समय से विभाग में इस खेल को जिम्मेदार अंजाम दे रहे हैं। खबर तो यह भी है कि राजधानी के भी एकाध जिम्मेदार इस पूरे खेल में शामिल हैं। सूत्र तो बताते हैं कि इसके खिलाफ आवाज उठाने वाले ठेकेदारों को चुप रहने के एवज में छिटपुट काम भी दे दिया जाता है।
पीडब्ल्यूडी के अधीक्षण अभियंता रामानंद राम ने कहा कि ई-टेंडरिंग में खेल का आरोप निराधार है। ठेकेदार इसकी शिकायत करते हैं जिनके टेंडर पात्रता में फेल हो जाते हैं। सभी काम शासन के तय पात्रता मानक के अनुसार ही दिए जाते हैं। ई-टेंडरिंग प्रक्रिया में सबसे पहले पात्रता देखी जाती है।
... और पढ़ें

छप्पर में लगी आग, महिला झुलसी

घर में लगी आग, तीन बकरियाें सहित महिला झुलसी
सल्टौआ। सोनहा थाना क्षेत्र के लौकी गांव में बृहस्पतिवार की आधी रात एक छप्पर के घर में आग लग गई। इसमें तीन बकरियों की झुलसने से मौत हो गई। जबकि आग पर काबू पाने के प्रयास में महिला झुलस गई। यह घटना लौकी गांव के मुस्ताक के घर हुई है।
बृहस्पतिवार रात पूरा परिवार सो रहा था। तभी करीब पौने 12 बजे अचानक छप्पर से आग की लपटें निकलने लगी। जब तक परिजनों की नींद खुली आग ने पूरे घर को अपनी चपेट में ले लिया। परिजनों की चीखपुकार सुनकर पहुंचे लोग आग बुझाने की कोशिश करने लगे। इस दौरान घर में रखी पांच हजार की नकदी, कपड़े, राशन आदि आदि जल गए। घर में बंधी तीन बकरियों की भी झुलसने से मौत हो गई। वहीं, मुस्ताक की पत्नी समीउलनिशा आग बुझाने लगी तो वह झुलस गईं। उसे प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र सल्टौआ में भर्ती कराया गया है। घटन की जानकारी मिलने पर हल्का लेखपाल सीमा कुमारी भी शुक्रवार सुबह मौके पर पहुंचीं और मुआयना कर संपत्ति की क्षति का आकलन कर रिपोर्ट तहसील प्रशासन को दी है। ग्राम प्रधान विश्वनाथ चौधरी ने मौके पर पहुंचकर अग्नि पीड़ित को तात्कालिक सहायता दी गई है। हल्का लेखपाल भी अपनी रिपोर्ट दिए हैं। नियमानुसार मदद भी मिलेगी।
... और पढ़ें

100 नहीं, अब 112 डायल करें

100 नहीं, 112 डायल करें
बस्ती। इमरजेंसी में पुलिस बुलाने के लिए सौ नंबर, एंबुलेंस के लिए 108 और दमकल बुलाने के लिए 101 नंबर डायल करने की झंझट खत्म हो जाएगी। 24 घंटे उपलब्ध की जाने वाली आपातकालीन सेवाओं को 112 नंबर से जोड़ा जा रहा है। ताकि अलग-अलग सेवाओं के लिए एक ही नंबर 112 याद रखना पड़े। आईजी आशुतोष कुमार ने बताया कि 26 अक्तूबर से यह सेवा लागू की जाएगी। इसके बाद 112 डायल करने पर प्रमुख आपातकालीन सेवा जैसे पुलिस, अग्निशमन, एंबुलेंस व एसडीआरएफ की मदद ली जा सकेगी।
आईजी आशुतोष कुमार के अनुसार इस सेवा के शुरू हो जाने से लोगों को अलग-अलग हालात के लिए ढेर सारे नंबरों को याद नहीं करना पड़ेगा। कई बार नंबर व्यस्त रहने से भी दिक्कत होती है। जरूरत के वक्त आपात सुविधा नहीं मिल पाती। इससे लोगों को दिक्कतों का सामना करना पड़ता है। यह नंबर कॉल करने पर तुरंत ही उपलब्ध होगा। साथ ही जो सुविधा आपको चाहिए, उसके बारे में बताने पर वह तुरंत ही उपलब्ध होगा।
कई नंबर की झंझट खत्म
112 नंबर से डायल नंबर 100 (पुलिस), 101 (दमकल) और 108 (स्वास्थ्य) सेवाओं को एक साथ जोड़ दिया गया है। इससे पहले इमरजेंसी सेवाओं के लिए 20 से अधिक आपात नंबर थे। कई बार कुछ नंबरों के व्यस्त होने के कारण फोन मिल पाना संभव नहीं हो पाता था, लेकिन नई प्रणाली के लागू हो जाने के बाद से लोगों को इनसे छुटकारा मिल जाएगा।
... और पढ़ें

छुट्टा पशुओं को लेकर ग्रामीणों का प्रदर्शन

छुट्टा पशुओं को लेकर ग्रामीणों का प्रदर्शन
बस्ती। पैकोलिया थाने के सेखुई से ट्रक से बरामद गोवंशीय पशुओं को गोशाला में पहुंचाने के दौरान सोमवार सुबह घंटों रस्साकशी होती रही। दुबौलिया और पैकोलिया थाने की पुलिस की कोशिश के बावजूद ग्रामीणों ने रमना तौकीर स्थित गोशाला में पशुओं को नहीं छोड़ने दिया। रमना तौफीर के अलावा क्षेत्र के सांडपुर, बरदिया, चपरा, हेंगापुर आदि गांवों के सैकड़ों ग्रामीण प्रदर्शन करने लगे तो पुलिस प्रशासन के हाथ-पांव फूल गए। पुलिस की ग्रामीणों से टकराव की नौबत तक आ गई।
आखिरकार पैकोलिया पुलिस को ट्रक पर लदे मवेशियों को लेकर लौटना पड़ा। इस दौरान चार पशुओं की मौत हो गई। मृत मवेशियों को पुलिस ने उसी गोशाला के बगल में पोस्टमार्टम कराने के बाद दफन करा दिया, जबकि दो जानवर भाग गए। बाकी बचे 13 मवेशियों को पुलिस पैकोलिया थाना क्षेत्र के आमा गांव की गोशाला में शिफ्ट कर दिया है। तब जाकर प्रशासन ने राहत की सांस ली। दुबौलिया के इंस्पेक्टर पंकज सिंह, पैकोलिया के थानाध्यक्ष दुर्गा प्रसाद ने बताया कि पशुओं का माकूल इंतजाम कर दिया गया है।
सेखुई बाग में पकड़ा गया ट्रक
पैकोलिया। हर्रैया-बभनान मार्ग पर पूर्व माध्यमिक विद्यालय सेखुई के पास रविवार/सोमवार रात करीब एक बजे दबिश देकर पुलिस ने पशुओं से भरा ट्रक पकड़ा। इसमें मवेशी (सांड़) लदे थे। मुखबिर की सूचना पर यूपी-100 टीम सबसे पहले पहुंची। पशुओं का देख थाने पर सूचना देकर फोर्स बुलाया। उपनिरीक्षक उमा शंकर त्रिपाठी हमराहियों के साथ पहुंचे, तब तक तस्कर ट्रक छोड़ फरार हो गए। पुलिस ट्रक लेकर दुबौलिया थानाक्षेत्र के रमना तौफीर गोशाला पहुंची, जहां ग्रामीणों की नाराजगी के कारण पुलिस को लौटना पड़ा। पैकोलिया क्षेत्र में चर्चा है कि सौ मीटर की दूरी पर स्थित परसा तिराहे पर थाने की पुलिस एवं डायल 100 टीम मौजूद रहती है। इसके बावजूद तस्करों ने साहस कैसे जुटा लिया। उस बाग में बड़े पैमाने पर पशुओं को एकत्रित कर गैर प्रांत भेजा जाता है।
चारदीवारी की जगह गड्ढा, भाग रहे जानवर
दुबौलिया। ग्रामीणों का गुस्सा यूं ही नहीं छलका। रमना तौफीर, सांडपुर, बरदिया, चपरा, हेंगापुर आदि गांवों के किसान लाठी लेकर पुलिस के सामने खड़े होने का साहस कतई नहीं करते। मगर लगातार फसलों के बर्बाद होने से परेशान हैं। कमल, गप्पू, अनिल, मोनू, मुकेश, अखिलेश, अमरजीत, संतोष, धर्मेंद्र आदि का कहना है कि वे पशुओं को यहां लाने के खिलाफ नहीं हैं, मगर उनका प्रबंध किया जाए। आरोप है कि एक करोड़ बीस लाख की लागत से गोशाला का निर्माण कराया गया। चारों तरफ चारदीवारी की जगह सिर्फ गड्ढा खोद दिया गया। जहां से छुट्टा पशु फसलों को चरने पहुंच जाते हैं। सैकड़ों की संख्या में झुंड बनाकर गोवंशीय पशु खुले में टहल रहे हैं। दो अस्थाई कर्मचारी तैनाती हैं जो रात में गोशाला छोड़ देते हैं।
... और पढ़ें

कानपुर में गंगा में नहाते वक्त छात्र लापता

कानपुर में गंगा में नहाते वक्त बहादुरपुर का छात्र लापता
बहादुरपुर (बस्ती)। कानपुर में मेडिकल की तैयारी करने गए बहादुरपुर निवासी 22 वर्षीय अनूप सोमवार को गंगा नदी में नहाते वक्त लापता हो गया। दोस्तों के साथ अटल घाट पर गंगा स्नान करते समय पैर फिसलने से वह तेज धारा में चला गया। सूचना पर परिवार में कोहराम मच गया। लोग कानपुर के लिए रवाना हो गए।
कलवारी थानाक्षेत्र के बहादुरपुर निवासी अनूप के पिता ओमप्रकाश ने बताया कि सोमवार शाम को दोस्त संजय निषाद निवासी गोरखपुर एवं देवरिया के निवासी आदर्श के साथ गंगा नदी के अटल घाट पर बेटा नहाने गया था। तीनों एक साथ नदी में उतरे और अचानक डूबने लगे। शोर मचाने पर आसपास के तैराकों ने संजय और आदर्श को बचा लिया। मगर बहाव तेज होने के कारण अनूप नदी की धारा में लापता हो गया।
... और पढ़ें

बीमार पशुओं के लिए अलग से बनाएं बाड़ा

बीमार पशुओं के लिए अलग बनाए बाड़ा
बस्ती। प्रमुख सचिव चीनी उद्योग संजय आर भूसरेडडी ने मुंडेरवा चीनी मिल व सांऊघाट ब्लाक के कुसमहा ग्राम में गो आश्रय स्थल का निरीक्षण किया। इसी के साथ ही चौपाल लगाकर विकास योजनाओं का सत्यापन किया। उनके साथ जिलाधिकारी आशुतोष निरंजन व सीडीओ अरविंद पांडेय मौजूद रहे।
मुंडेरवा चीनी मिल पहुंचे प्रमुख सचिव ने गन्ना किसान सट्टा मेला का भी निरीक्षण किया। चीनी मिल के प्रबंधक ने बताया कि अब तक बस्ती के 599 व खलीलाबाद के 117 किसानों ने पूर्व में किए गए सर्वे के दौरान हुई त्रुटियों को सही कराया है। बताया कि इस चीनी मिल परिक्षेत्र में कुल 32000 गन्ना किसान हैं। प्रमुख सचिव ने कहा कि 15 से 19 नवंबर के बीच किसी दिन मुख्यमंत्री यहां आकर मिल के पेराई सत्र का उद्घाटन कर सकते हैं। निर्देश दिए कि 10 नवंबर से पहले सभी तैयारिया पूरी कर ली जाए। चीनी मिल निरीक्षण के दौरान सचिव ने सुधार के लिए आवश्यक निर्देश दिए। जिला गन्ना अधिकारी रंजीत निराला को निर्देश दिए कि चीनी मिल की तैयारियों को समय से पूरा कराएं। कुसमहा गांव के गो आश्रय स्थल का निरीक्षण करते हुए सचिव ने निर्देश दिए कि यहां रखे गए पशुओं को हरा चारा अवश्य दें। निरीक्षण के दौरान गो आश्रय स्थल में कुल 31 पशु पाए गए। सभी पशुओं की टैगिंग कराई जा चुकी है। ग्राम पंचायत विकास अधिकारी नेहा शर्मा को निर्देश दिए कि बीमार पशुओं के लिए अलग से बाडा बनाएं। गो संरक्षण समिति गठित करने व गांव के चौकीदार से गोशाला की चौकीदारी कराने के निर्देश दिए।
चौपाल में प्रमुख सचिव ने श्यामा देवी, उर्मिला देवी, सरिता देवी, सुभावती, नीलम को प्रधानमंत्री आवास की चाभी व एक-एक सहजन का पौधा भेंट किया। राष्ट्रीय ग्रामीण आजीविका मिशन के तहत गठित आकाश महिला ग्राम संगठन, एकता महिला स्वयं सहायता समूह, गंगा जमुना स्वयं सहायता समूह की ओर से लगाए गए स्टॉल का निरीक्षण भी किया। डीएम ने कुसमहा गांव के विकास कार्यों का भौतिक सत्यापन किया गया। कहा कि सौभाग्य योजना के तहत निशुल्क बिजली कनेक्शन देने की योजना 31 दिसंबर-2019 तक बढ़ा दी गई है। यदि कोई परिवार इस योजना में कनेक्शन लेना चाहता है तो वह फार्म भर सकता है। जननी सुरक्षा योजना के तहत छह लाभार्थियों को अब तक 1400 रुपये की धनराशि न प्राप्त होने पर उन्होंने अप्रसन्नता व्यक्त किया। तीन दिन के भीतर पैसा खाते में भेजने का निर्देश दिया। उप कृषि निदेशक डॉ संजय त्रिपाठी ने बताया कि गांवों में डीबीटी के माध्यम से 89 किसानों को कृषि रक्षा रसायन, बीज व यन्त्र से लाभान्वित किया गया है। प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना में 238 किसानों के खाते मे पैसा आ गया है। गांव में 155 केसीसी कार्डधारक है। प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना में 25 लाभार्थी है। गांव में 20 से 24 अक्तूबर तक मिलियन फार्मर्स स्कूल एटीएम सुभाष की ओर से संचालित किया जाएगा।
... और पढ़ें

उत्साह और उमंग से दी अतुल माहेश्वरी छात्रवृत्ति परीक्षा

बस्ती के मुंडेरवा क्षेत्र में प्रमुख सचिव संजय आर भूसरेड्डी ने गोशाला का निरीक्षण किया।
उत्साह और उमंग से दी अतुल माहेश्वरी छात्रवृत्ति परीक्षा
बस्ती। मेधावियों को मंच उपलब्ध कराने वाले अमर उजाला फाउंडेशन की ओर से रविवार को अतुल माहेश्वरी छात्रवृत्ति परीक्षा आयोजित की गई। शहर स्थित पं. राजन महिला डिग्री कॉलेज में आयोजित परीक्षा में विभिन्न वर्गों से 748 परीक्षार्थियों ने हिस्सा लिया। परीक्षा के लिए यूपी बोर्ड के 1024 विद्यार्थियों ने पंजीकरण कराया था।
विद्यार्थियों में भारी उत्साह दिखा। निर्धारित समय पूर्वाह्न 11 बजे से दो घंटे पहले ही विद्यार्थी परीक्षा केंद्र पहुंच गए। सीसीटीवी कैमरे की निगरानी में परीक्षा 11 से 12:30 बजे तक चली। कक्षा नौ और 10 के लिए पंजीकृत 448 परीक्षार्थियों में 333 ने प्रतिभाग किया। कक्षा 11 और 12 के लिए पंजीकृत 576 प्रतियोगियों में 415 ने परीक्षा दी। परीक्षा के बाद मिलने वाली छात्रवृत्ति का सपना संजोए छात्र-छात्राओं के चेहरे पर संतोष के भाव दिखे। परीक्षा कक्ष में परीक्षार्थियों ने शालीनता से प्रश्नपत्रों को हल किया। सामान्य अध्ययन और सामान्य ज्ञान पर आधारित परीक्षा बहुविकल्पीय आधार पर हुई। इसके लिए परीक्षार्थियों को 90 मिनट का समय दिया गया था। निर्धारित समय से आधा घंटा पहले परीक्षार्थियों की सघन जांच के बाद प्रवेश दिया जाने लगा था। मंडल के बस्ती के अलावा सिद्धार्थनगर और संतकबीरनगर जनपदों के परीक्षार्थियों ने भी परीक्षा में हिस्सा लिया। शांतिपूर्ण परीक्षा के बाद निकले बच्चे उत्साह और उमंग से भरे थे। भारत माता की जय बोलते हुए सब अपने घरों को रवाना हुए।
पं. राजन महिला डिग्री कॉलेज के प्राचार्य डॉ. संजीव पांडेय अपने सहयोगियों के साथ परीक्षा की शुचिता को बनाए रखने के लिए हर कमरे की जांच करते रहे। परीक्षा में दिलीप कुमार पांडेय, जितेंद्र कुमार यादव, रामस्वरूप यादव, मनीष मिश्रा, राम निरंजन गुप्ता, अरुण बहादुर लाल श्रीवास्तव, विनोद चौबे, प्रमोद तिवारी, श्रेया शुक्ला, अर्चिता सिंह, जया त्रिपाठी, प्रतिष्ठा शुक्ला, विभा यादव, अजीम आदि का सहयोग रहा।
विद्यार्थियों को दिशा देगी परीक्षा: हिमांशु
पीपुल्स इंटर कॉलेज डुमरियागंज के हाईस्कूल के छात्र हिमांशु सोनी ने कहा कि इस तरह की परीक्षाएं उच्च शिक्षा में उपयोगी साबित होंगी। कहा कि यह परीक्षा एक बेहतर दिशा देने का काम करेगा।
परीक्षा से मिलती है सीख: साक्षी
सूर्या इंटर नेशनल की कक्षा नौ की छात्रा साक्षी त्रिपाठी कहती हैं कि परीक्षा से पास होना ही नहीं, बल्कि एक सीख भी मिलती है। इस दिशा में ‘अमर उजाला’ की ओर से छात्रवृत्ति परीक्षा सराहनीय है।
बौद्धिक विकास में सहायक : रेखा
अवध नारायण प्रताप इंटर कॉलेज सिद्घार्थनगर की छात्रा रेखा अग्रहरि का कहना है कि कक्षाओं की परीक्षा से अलग प्रतियोगी परीक्षाएं बौद्धिक विकास में सहायक होती हैं। कहा कि इस तरह के परीक्षा जरूरी होती है।
परीक्षा से प्रतिभा निखरती है: गौरव
रूंगटा सरस्वती विद्या मंदिर खलीलाबाद के गौरव यदुवंशी कहते हैं कि प्रतियोगी परीक्षाएं एक मंच प्रदान करती हैं। इसमें छात्र-छात्राएं खुद को मापते हैं। ऐसी परीक्षाओं से क्षमता का मूल्यांकन खुद कर सकते हैं।
बहुत अच्छा गया पेपर: रूचि
सावित्री विद्या बिहार बस्ती में 11वीं की छात्रा रूचि उपाध्याय ने कहा कि परीक्षा देकर बेहद अच्छा लगा। कहा कि प्रश्नों को देखकर थोड़ा मुश्किल हुई, लेकिन विकल्पों ने उत्तर संभाल दिया। पेपर बहुत अच्छा रहा।
सहायक है अतुल माहेश्वरी परीक्षा: अभिषेक
सरदार पटेल इंटर कॉलेज के अभिषेक त्रिपाठी का मानना है कि अतुल माहेश्वरी छात्रवृत्ति परीक्षा आगे बढ़ने के लिए सहायक का कार्य करेगी। हर छात्र को इस परीक्षा में जरूर भाग लेना चाहिए। इससे बौद्घिक क्षमता में वृद्घि होती है।
औरों को भी जागरूक करेंगे: प्रिंस वर्मा
बभनान जीआईसी में इंटर के छात्र प्रिंस वर्मा कहते हैं कि ‘अमर उजाला’ की ओर से छात्रवृत्ति दी जाती है। इसके लिए आयोजित होने वाली परीक्षा में आवेदन करने के लिए अपने साथियों को भी जागरूक करेंगे।
परीक्षा के लिए और प्रचार की जरूरत: डॉ. संजीव
पं. राजन महिला डिग्री कॉलेज के प्राचार्य डॉ. संजीव पांडेय कहते हैं कि अतुल माहेश्वरी छात्रवृत्ति परीक्षा का जो स्वरूप है और परीक्षा पास करने पर मिलने वाला लाभ सराहनीय है। यूपी बोर्ड के विद्यार्थियों के बीच इस परीक्षा में आवेदन के लिए अभी और प्रचार की जरूरत है। परीक्षा का जो पैटर्न है उससे आगे की परीक्षाओं की समझ विकसित होगी। प्रतियोगियों के लिए यह परीक्षा मार्गदर्शक ही नहीं एक वरदान भी है।
... और पढ़ें

कबीर हत्याकांड: शह-मात के खेल में पड़ी गैंगवार की नींव

शह-मात के खेल में पड़ी गैंगवार की नींव
बस्ती। छात्रनेता कबीर तिवारी की हत्या ने साबित कर दिया है कि जिले में गैंगवार की नींव पुलिस प्रशासन की नाकामी का नतीजा है। प्रॉपर्टी की खरीद-फरोख्त या कब्जेदारी भले ही वजह बनी हो, लेकिन पुलिस अधिकारियों को बखूबी पता था कि शह-मात के खेल की आड़ में गैंगवार की नींव पड़ चुकी है।
21 जून को तत्कालीन एसपी पंकज कुमार ने पत्रकार वार्ता में जिन 40 मनबढ़ों को शहर में महीनों से अशांत करने के लिए चिह्नित करने का खुलासा किया था, उनमें से कई हत्याकांड से जुड़े पाए गए। एसपी 18 जून को गांधीनगर स्थित एपीएन पीजी कॉलेज के सामने तुरकहिया निवासी प्रॉपर्टी डीलर अनित शुक्ल पर दिनदहाड़े गोली चलाने की घटना का वर्कआउट कर रहे थे। उस वक्त एसपी पंकज कुमार (तत्कालीन) ने कोर्ट तिराहे पर फायरिंग, अमहट के पास नाबालिग बालिका को जबरन अपहरण आदि घटनाओं का जिक्र करते हुए दावा किया था कि शहर का अमन-चैन बिगाड़ने वालों को चुन-चुनकर सबक सिखाया जाएगा। मगर रात गई और बात गई। उस घटना में मुख्य आरोपी हनुुमानदास सहित अन्य को जेल भेजने के बाद कोतवाली पुलिस फिर पुराने ढर्रे पर आकर शह-मात के खेल में मशगूल हो गई।
इशारे पर खुलती थी जीडी
हत्याकांड की तफ्तीश में खुल रही परतें पुलिस की नाकामी की नई-नई तस्वीर दिखा रही है। एक वर्ष के भीतर कई मौकों पर देखा गया कि कोतवाली पुलिस की जीडी कथित आका के इशारे पर ही खुलती रही। खासकर छात्र नेताओं की मनबढ़ई, दबंगई जैसे मामलों में एक तरफा कार्रवाई के आरोप लगते रहे। कहा जाता है कि एक पक्षीय कार्रवाई के कारण दूसरे पक्ष का असंतोष व कानून के प्रति नफरत बढ़ती गई।
अगला टारगेट भोला
शूटर और साजिशकर्ता को कानून के शिकंजे में भेजकर पुलिस अब आलाकत्ल यानी हत्या में प्रयुक्त तीनों तमंचे मुहैया कराने वाले भोला गुप्ता पर रडार मोड़ दिया है। अवैध असलहों का धंधा करने वाले इस शख्स के करीबियों को पुलिस चिह्नित करने में जुटी है। उसके जरिए बाकी किरदारों की भूमिका का पुलिस पता लगाएगी।
सुबूत मिला तो बचेगा कोई नहीं
एसपी हेमराज मीणा का कहना है कि पुलिस कबीर हत्याकांड की तह तक पहुंच चुकी है। अब यह असमंजस नहीं है कि कैसे क्या हुआ। अब जैसे-जैसे सुबूत मिलते जाएंगे, उसके हिसाब से गिरफ्तारी की जाती रहेगी। इसके अलावा पुलिस अवैध धंधा करने वालों को अलग से निपटने की रणनीति पर काम कर रही है।
... और पढ़ें

पति पर दोस्तों के पास भेजने का आरोप,केस दर्ज

पति पर दोस्तों के पास भेजने का आरोप, केस दर्ज
बस्ती। पत्नी को दोस्तों के पास भेजने और उत्पीड़न करने के आरोपी पति के विरुद्ध पुलिस ने रविवार की देर शाम मुकदमा दर्ज कर लिया। एसपी हेमराज मीणा ने बताया कि महिला उत्पीड़न, मारपीट, धमकी देने की धाराओं में एफआईआर दर्ज कर तफ्तीश महिला एसआई संजू यादव को सौंपी गई है।
प्रकरण नगर थाना क्षेत्र के एक गांव निवासी विनोद कुमार ने करीब छह साल पहले शादीशुदा महिला से प्रेम विवाह किया। दोनों की दो बेटियां भी हैं। अब महिला का आरोप है कि विनोद ने उसे अपशब्द कहते हुए मारा-पीटा। जान से मारने की धमकी दी। उन्होंने पति पर दोस्तों के पास भेजने के भी आरोप लगाए। एसपी ने बताया कि रविवार को पुलिस टीम ने इस मामले में संबंधित का बयान भी दर्ज किया। केस दर्ज कर विवेचना की जा रही है।
... और पढ़ें

घर में विवाहिता की रहस्यमय हालात में मौत

घर में विवाहिता की रहस्यमय हालात में मौत
बस्ती। शहर कोतवाली क्षेत्र के जयपुरवा मोहल्ले की 32 वर्षीय विवाहिता की रहस्यमय परिस्थितियों में मौत हो गई। सूचना पाकर पहुंची पुलिस ने शव कब्जे में ले लिया। चौकी प्रभारी रोडवेज चंद्रकांत पांडेय ने बताया कि मृतका के गले में दोनों तरफ चोट के निशान हैं। गले में फंदा लगाने के निशान भी नहीं मिले। इससे मौत का रहस्य गहराता गया। मृतका की बहन रेनू की तहरीर पर मृतका के पति सतीश समेत चार के खिलाफ दहेज हत्या व अन्य धाराओं में मुकदमा दर्ज कर लिया है।
देवरिया के गौरीबाजार थानाक्षेत्र के सोहसा निवासी अर्चना उर्फ चुन्नी की शादी दिसंबर-2016 में गोरखपुर जिले के बांसगांव के चांडी निवासी राजेंद्र राय के बेटे सतीश राय के साथ हुई थी। सतीश राय वर्तमान में परिवार के साथ शहर के जयपुरवा मोहल्ले में किराए के मकान पर रहते हैं। रविवार सुबह सूचना मिली कि अर्चना की मौत हो गई है। इस पर अर्चना की गोरखपुर (खोराखार) की रहने वाली बहन रेनू राय मां के साथ बस्ती आ पहुंची। बहन ने तहरीर में बताया है कि शादी के बाद से ही दहेज के लिए ससुराल में प्रताड़ित किया जा रहा था। आरोप है कि दहेज की मांग को लेकर ही उनकी बहन अर्चना को पति सतीश राय या सास, ससुर, देवर व देवरानी ने गला दबाकर हत्या कर दी। पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है। अर्चना की बहन की तहरीर पर केस दर्ज कर पुलिस छानबीन में जुटी है।
... और पढ़ें

कार्य दायित्व में लापरवाही, लेखपाल निलंबित

कार्य दायित्व में लापरवाही पर लेखपाल निलंबित
बस्ती/महसों। जिले के नोडल अधिकारी व प्रमुख सचिव, चीनी उद्योग एवं गन्ना विकास तथा आबकारी संजय आर भूसरेड्डी ने शनिवार को सदर तहसील के कृष्णा भगौती गांव में चौपाल लगाई। इस दौरान लेखपाल को कार्यों में लापरवाही पर निलंबित कर चार्जशीट देने का निर्देश दिया है। चौपाल में लेखपाल अनिल कुमार श्रीवास्तव की ओर से 1996 में गेनादेवी के नाम किया गया कृषि योग्य भूमि पट्टा भूमिधरी कर खतौनी में नाम दर्ज नही किया गया। बताया गया कि दीवानी न्यायालय का इस पर स्थगन आदेश है, जबकि अभिलेखों में ऐसा नहीं पाया गया।
चौपाल में शनिवार को प्रमुख सचिव ने आवासीय भूमि, तालाब का पट्टा, वरासत, प्रधानमंत्री जीवन ज्योति बीमा योजना आदि की समीक्षा की। इस दौरान पीएम आवास योजना के लाभार्थी संगीता, इंद्रावती, सीमा, विफई, दयाशंकर को आवास पूर्ण होने पर घर की चाबी तथा एक-एक सहजन का पौधा भेंट किया। इसके अलावा प्रधानमंत्री किसान मान योजना के लाभार्थियों को स्वीकृति पत्र भी प्रदान किया। गांव में बेहतर विकास कार्य कराने के लिए सचिव विनोद यादव तथा आंगनबाड़ी कार्यकर्ता को सम्मानित किया।
प्रमुख सचिव ने चौपाल में उन्होंने कहा कि स्वच्छता पर ध्यान दें। खुले में शौच न करें। उन्होंने गांव में लगाए गए 25 सोलर लाइटों को दो वर्ष की गारंटी वाला बताया और खराब होने पर तत्काल ठीक कराने को कहा। पेयजल के लिए ग्रामीणों से इंडिया मार्का हैंडपंप का पानी पीने की सलाह दी। इसके बाद वे गांव के विकास कार्यों की समीक्षा किए। समीक्षा में पाया गया कि गांव में 174 में से 162 परिवार को विद्युत कनेक्शन मिल चुका है। 41 घर सौभाग्य योजना से लाभान्वित हुए हैं। स्वच्छ पेयजल के लिए 13 इण्डिया मार्का टू हैण्ड पम्प स्थापित हैं। सभी संचालित हो रहे हैं। यहां प्राथमिक स्कूल भैसहिया में बच्चों को सरकार की ओर से मिलने वाली सभी सुविधाएं दी जा रही हैं।
गांव में प्रधानमंत्री आवास योजना के पांच लाभार्थी हैं, जिनका आवास पूर्ण हो गया है। 45 अन्य पात्र चयनित किए गये हैं। मनरेगा में आठ कार्यों के माध्यम से 4455 मानवदिवस सृजित किए गये हैं। सार्वजनिक वितरण के तहत चयनित सभी पात्रों को खाद्यान्न प्राप्त हो रहा है। आगनबाड़ी केंद्र में अतिकुपोषित आठ तथा कुपोषित 20 बच्चे पंजीकृत है। प्रमुख सचिव ने इन्हें पोषण पुनर्वास केन्द्र भेजकर इलाज कराने का निर्देश दिया।
------------------------------------------
जिला अस्पताल में सफाई के लिए दी चेतावनी
शनिवार सुबह प्रमुख सचिव ने जिला अस्पताल का आकस्मिक निरीक्षण किया। यहां सीटीस्कैन, ब्लडबैंक, पोषण पुनर्वास केंद्र पहुंच हालात जाने। ब्लडबैंक में सफाई पर विशेष ध्यान देने का निर्देश दिया। चेतावनी दी है कि यदि अस्पताल में समुचित सफाई समुचित नहीं पाई तो ठेकेदार का ठेका निरस्त कर इसे काली सूची में डाला जायेगा। पोषण पुनर्वास केंद्र में भर्ती बच्चों के अभिभावकों से भी प्रमुख सचिव मिले। केन्द्र में तैनात डाक्टर व स्टाफ को निर्देशित किया कि बच्चों का विशेष ध्यान रखें। इस मौके पर डीएम आशुतोष निरंजन, सीडीओं अरविंद पांडेय, सीएमओ डॉ. एके गुप्ता, एडीएम रमेश चंद्र, एसडीएम सदर शिव प्रताप शुक्ला तथा डीडीओ अजीत श्रीवास्तव, डॉ. संजय त्रिपाठी, रमन मिश्र, ब्रम्हचारी दूबे, डॉ. अश्वनी तिवारी, ग्राम प्रधान महेन्द्र प्रताप आदि मौजूद रहे।
----------------
इंजीनियरिंग और महिला पॉलिटेक्निक भी पहुंचे प्रमुख सचिव
तूफानी दौरे पर रहे नोडल अधिकारी एस भूसरेड़्डी सदर तहसील के कृष्णा भगौती गांव में चौपाल के बाद इंजीनियरिंग कॉलेज और महिला पॉलिटेक्निक भी पहुंच गए। वाल्टरगंज प्रतिनिधि के अनुसार प्रमुख सचिव ने चौपाल के बाद निर्माणाधीन इंजीनियरिंग कालेज व राजकीय महिला पालीटेक्निक का निरीक्षण किया। महिला पालीटेक्निक के भवन निर्माण में गुणवत्ता विहीन कार्य पाए जाने पर जेई व ठेकेदार को फटकार लगाई। मौके पर मौजूद ईंट द्वितीय श्रेणी का पाए जाने पर उन्होंने दस प्रतिशत भुगतान रोक देने का निर्देश डीएम को दिया। खंभे व छत निर्माण के संतोषजनक उत्तर न दिए जाने पर शटरिंग में भी दस प्रतिशत कटौती का निर्देश दिया। प्रमुख सचिव ने बिजली व्यवस्था, अर्थिंग व बेहतर क्वालिटी के वायर प्रयोग का निर्देश दिया।
-------------------
24 घंटे में ताबड़तोड़ निरीक्षण
जिले के नोडल अधिकारी व प्रमुख सचिव शुक्रवार शाम को बस्ती पहुंचे। देरशाम सबसे पहले हर्रैया पहुंच गए। ब्लॉक सभागार में जिले के आला अधिकारियों के साथ विकास कार्यों और योजनाओं के प्रगति की जानकारी ली। जिसके बाद रात में ही सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र का जायजा लिया। ओपीडी में रोज आने वाले रोगियों की संख्या का सही जवाब न मिलने पर नाराज हो गए। शौचालय में पसरी गंदगी देखकर सीएमओ से कार्यदायी संस्था का अनुबंध निरस्त करने का निर्देश दिया। प्रसव कक्ष में रात में किसी महिल चिकित्सक मौजूद नहीं रहने की जानकारी पर डीएम से महिला चिकित्सक की व्यवस्था करने को कहा।
... और पढ़ें

कबीर हत्याकांड : मास्टर माइंड मुन्नू को पुलिस ने किया गिरफ्तार

कबीर हत्याकांड : मास्टर माइंड मुन्नू गिरफ्तार
बस्ती। भाजपा नेता व एपीएनपीजी कॉलेज छात्रसंघ के पूर्व अध्यक्ष आदित्य उर्फ कबीर तिवारी हत्याकांड के मास्टर माइंड प्रशांत पांडेय उर्फ मुन्नू को पुलिस ने दबोच लिया है। वहीं, उसका साथी अभिजीत सिंह को एसटीएफ ने लखनऊ में गिरफ्तार किया है।
शनिवार शाम सवा सात बजे पुलिस अधीक्षक हेमराज मीणा ने बताया कि कबीर की हत्या के समय दोनों अभियुक्त घटनास्थल के करीब थे। यह बात सीडीआर से पुष्टि हुई है। सीसीटीवी फुटेज व गवाहों के बयान के आधार पर शहर के अभिजीत सिंह निवासी पिकौरा दत्तूराय, प्रशांत पांडेय उर्फ मन्नू निवासी पिकौरा शिवगुलाम, नवरतन उर्फ भोलू गुप्ता निवासी चईयाबारी वारदात में शामिल रहे हैं। विवेचना में खुलासा हुआ है कि भोलू गुप्ता ने आरोपियों को असलहा उपलब्ध कराया था। कबीर तिवारी के वर्चस्व को आरोपी खत्म करना चाहते थे। इसी उद्देश्य से अनुराग तिवारी, अभय तिवारी, मन्नू पांडेय, भोलू गुप्ता ने इस हत्याकांड की साजिश कर वारदात को अंजाम दिया। हत्या करने वाले साथी अभियुक्तों को बचाने के लिए अपनी गाड़ी टाटा टेगोर कार संख्या यूपी 32 केसी 4777 लेकर तैयार थे।
हत्या के बाद अनुराग व अभय के पकड़े जाने के बाद मुन्नू पांडेय उक्त गाड़ी लेकर फरार हो गया। घटना के पहले व घटना के बाद अभिजीत व मुन्नू व अन्य अभियुक्तों की आपस में बात हो रही थी।
मुन्नू दे रहा था कबीर की लोकेशन की सूचना
मुन्नू बराबर अभिजीत को कबीर तिवारी की लोकेशन की सूचना दे रहा था। जैसे ही कबीर रंजीत चौराहे के पास पहुंचा। दोनों आरोपियों ने कबीर को गोली मार दी। अभिजीत व मुन्नू की गिरफ्तारी के लिए 13 अक्तूबर को 25-25 हजार का इनाम रखा गया था। एसपी मीणा ने बताया कि अभियुक्त अभिजीत सिंह को एसटीएफ ने लखनऊ से पकड़ा। जिसके विरुद्घ आसियाना थाने में मुकदमा दर्ज हुआ है। बकौल एसपी मुन्नू को नगर बाजार क्षेत्र बस्ती से गिरफ्तार किया गया है। तलाशी में एक कट्टा 12 बोर का व चार कारतूस बरामद हुआ है।
----------
भोलू गुप्ता की पुलिस को तलाश
- कबीर की हत्या में असलहा उपलब्ध कराने वाला भोलू गुप्ता पुलिस के लिए पहेली बना रहा। लेकिन पुलिस नवरत्न उर्फ भोलू गुप्ता तक पहुंचने के करीब है। एसपी हेमराज मीणा का कहना है कि भोलू चईयाबारी का रहने वाला है। जिस पर 15 मुकदमें दर्ज हैं। बताया कि जल्द ही इनकी भी गिरफ्तारी कर ली जाएगी। वहीं अभिजीत पर नौ व मुन्नू पर चार मुकदमे दर्ज हैं।
-------------------------
गिरफ्तार करने वाली टीम
नगर प्रभारी थानाध्यक्ष दिनेश कुमार सरोज, क्राइम ब्रांच के उपनिरीक्षक पंकज पाण्डेय, उपनिरीक्षक वीरेंद्र यादव, हेडकांस्टेबल अनिल कुमार, हिन्दे आजाद, जनार्दन प्रजापति, मनोज राय, अजय दुबे, मनोज कुमार, सर्वेश नायक, अभिषेक तिवारी, प्रेम शंकर गौंड तथा कांस्टेबल शेषनाथ यादव।
... और पढ़ें
अपने शहर की सभी खबर पढ़ने के लिए amarujala.com पर जाएं

Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google, और सोशल मीडिया साइट्स, जैसे की Facebook, के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।

Agree