विज्ञापन
विज्ञापन
मौनी अमावस्या पर गया में कराएं तर्पण, हर तरह के ऋण से मिलेगी मुक्ति : 24 जनवरी 2020
Astrology Services

मौनी अमावस्या पर गया में कराएं तर्पण, हर तरह के ऋण से मिलेगी मुक्ति : 24 जनवरी 2020

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

शामली

शनिवार, 18 जनवरी 2020

रोडवेज बस में चारों ओर से घिरा था कुख्यात 'जॉनी', पुलिस ने सरेंडर करने का कहा तो खुद को मारी गोली

उत्तर प्रदेश के बिजनौर में बढ़ापुर थाने के सामने शुक्रवार रात करीब एक बजे पुलिस ने चेकिंग के लिए एक रोडवेज बस को रोका, चेकिंग के दौरान बस में बैठे कुख्यात जॉनी पर पुलिसकर्मियों ने तमंचा तान दिया, इसी बीच अन्य पुलिस कर्मी भी बस में पहुंच गए और उस पर राइफलें तान दी और उसे समर्पण करने को कहा। इस बीच जॉनी ने अपनी कनपटी से तमंचा सटाकर खुद को गोली मार ली।

जॉनी ने पिछले 26 सितम्बर को भाजपा नेता भीम सिंह कश्यप के बेटे राहुल और भतीजे कृष्ण की हत्या कर दी थी। दो दिन पहले उसने गांव दौलताबाद में एक युवती नितिका की हत्या कर दी थी। जॉनी शुक्रवार को नगीना में एक मिठाई की दुकान पर देखा गया था, उसके बाद वह एक बस में बैठकर चला गया था। रात में ही पुलिस ने उस पर एक लाख का इनाम घोषित कर दिया था।
... और पढ़ें

देश भर में फैला है सॉल्वर गैंग का जाल, पद के हिसाब से एक करोड़ तक लेते हैं रकम, गढ़ बना यह जिला

बिजनौर में सॉल्वर गैंग कई सालों से सक्रिय है। बैंक में नौकरी लगवाने से लेकर एमबीबीएस की परीक्षा पास कराने के लिए गैंग मोटी रकम लेता है। गैंग के सदस्यों के तमाम बड़े लोगों से ताल्लुक हैं। गैंग चोरी छिपे अपने काम को अंजाम देता रहता है। हर विभाग में पद के हिसाब से भर्ती की रकम तय की जाती थी।

मुजफ्फरनगर में लोअर पीसीएस परीक्षा पास कराने में पकड़े गए गैंग में बिजनौर के भी युवक शामिल हैं। बिजनौर की कुटिया कॉलोनी निवासी अमित कुमार, विशेषांक, हरेंद्र सिंह को पुलिस ने दबोचा है, जबकि विवेक फरार हो गया। बिहार के रोहताश जिले का मुकेश बिजनौर के हीमपुरदीपा थाने के गांव टुंगरी के ऋषभ कुमार की जगह परीक्षा दे रहा था। मुकेश को पकड़ने पर ही गैंग का खुलासा हुआ। पुलिस ने ऋषभ को भी दबोच लिया है।

पुलिस सूत्रों के मुताबिक गैंग का पूरे देश में जाल फैला हुआ है। किसी भी परीक्षा को पास कराने का गैंग ठेका ले लेता है। कई सालों से बिजनौर में गैंग सक्रिय है। गैंग के सदस्य मेरठ में भी दबोचे जा चुके हैं। शेरकोट में हरेवली मार्ग पर राकेश कुमार का दुर्गा महाविद्यालय है। महाविद्यालय का वह खुद प्रधानाचार्य है। 19 नवंबर 2018 को एसटीएफ मेरठ ने राकेश को यूपी टीईटी का फर्जी पेपर बनाते हुए दबोचा था। उसके कई साथी भी बाद में पकड़े गए थे।
... और पढ़ें

रिमांड पर बड़े राज खोलेगा गिरोह का सरगना, विदेशों में फैला था नेटवर्क, सामने आएगी असली सच्चाई

यूपी: दफ्तर में घूस लेते रंगे हाथ दबोचा गया लिपिक, आरोपी के खिलाफ मुकदमा दर्ज

भ्रष्टाचार निवारण संगठन मेरठ की टीम ने शामली में जिला कृषि रक्षा अधिकारी के कार्यालय के वरिष्ठ पटल सहायक (लिपिक) को छह हजार रुपये की रिश्वत लेते हुए रंगे हाथ उनके कार्यालय से गिरफ्तार कर लिया। आरोपी के खिलाफ कीटनाशक दवा की बिक्री का लाइसेंस बनवाने के नाम पर रिश्वत लेने का आरोप है। आरोपी लिपिक के खिलाफ भ्रष्टाचार निवारण अधिनियम के तहत शहर कोतवाली में रिपोर्ट दर्ज कराई गई है। 

मंगलवार सुबह मेरठ से भ्रष्टाचार निवारण संगठन के इंस्पेक्टर गजेंद्र सिंह के नेतृत्व में सात सदस्यीय टीम शामली पहुंची। इंस्पेक्टर गजेंद्र सिंह ने बताया कि सोमवार को उनके कार्यालय में मुजफ्फरनगर के थाना छपार के गांव रामपुर तिराहा निवासी सुरेंद्र सिंह रावल ने सुविधा शुल्क मांगे जाने के संबंध में लिखित शिकायत की थी। शिकायत में अवगत कराया था कि अपने भतीजे देवराज रावल के नाम से कीटनाशक दवा की बिक्री का लाइसेंस बनवाने के लिए जिला कृषि रक्षा अधिकारी कार्यालय में आवेदन किया हुआ है। उन्हें जनपद शामली के बाबरी थानाक्षेत्र के गांव कंजरहेड़ी में दुकान खोलने के लिए लाइसेंस की जरूरत है। 

आरोप लगाया कि लाइसेंस के नाम पर कार्यालय में तैनात वरिष्ठ पटल सहायक (लिपिक) मुनीश कुमार ने उनसे 10 हजार रुपये की रिश्वत की मांग रहा है। इंस्पेक्टर ने बताया कि इस शिकायत पर उन्होंने शामली पहुंचकर डीएम अखिलेश सिंह से मिलकर पूरी जानकारी दी और उनसे दो सरकारी अधिकारी बतौर गवाह उपलब्ध कराने की मांग रखी। डीएम ने उनके साथ जिला पूर्ति अधिकारी ओम हरि उपाध्याय और आदेश कुमार को उनके साथ भेज दिया।

यह भी पढ़ें: 
लेखपाल को 20 हजार की रिश्वत लेते रंगे हाथ दबोचा, आरोपी के खिलाफ मुकदमा दर्ज
... और पढ़ें
आरोपी को ले जाते अधिकारी आरोपी को ले जाते अधिकारी

शामलीः मशहूर गायक सहित चार की हत्या मामले में आरोपी को 14 दिन की न्यायिक हिरासत में भेजा

शामली की पंजाबी कॉलोनी में भजन गायक अजय पाठक सहित परिवार के चार सदस्यों की हत्या करने के आरोपी को आदर्श मंडी थाना पुलिस ने कड़ी सुरक्षा में कैराना स्थित मुख्य न्यायिक मजिस्ट्रेट की अदालत में पेश किया। जहां से उसे 14 दिन की न्यायिक हिरासत में जेल भेज दिया। 

बुधवार शाम करीब पांच बजे आदर्श मंडी थाना पुलिस ने हत्यारोपी हिमांशु निवासी ग्राम झाड़खेड़ी थाना कैराना को मुख्य न्यायिक मजिस्ट्रेट की अदालत में पेश किया। जब आरोपी कोर्ट से बाहर पुलिस के वाहन से उतरा तो वहां मौजूद अधिवक्ताओं में गुस्सा फूट पड़ा। अधिवक्ताओं ने कहा कि तूने देवता समान भजन गायक व उसके बच्चों की हत्या कर दी, तू जिसके घर का खा रहा था, उसी की हत्या कर दी, तुझे तो फांसी मिलनी चाहिए। 

शोक में न्यायिक कार्य से विरत रहे अधिवक्ता  
पाठक परिवार के चार सदस्यों की हत्या से शोक में कैराना बार एसोसिएशन के अधिवक्ता न्यायिक कार्यों से विरत रहे। दोपहर में बार भवन में आयोजित शोक सभा में दो मिनट का मौन रखकर दिवंगत आत्माओं की शांति के लिए प्रार्थना की गई। 

यह भी पढ़ें: 
दरवाजा खुलते ही दिखा खौफनाक मंजर, कमरे में पड़ी थी पति-पत्नी व बेटी की लाश, देखें तस्वीरें

इस दौरान रामकुमार वशिष्ठ, नसीम अहमद, बाबू इंतजार अहमद, रविन्द्र सिंह, अखलाक अहमद, शगुन मित्तल, नीरज चौहान आदि अधिवक्ता मौजूद रहे।

नोट- इन खबरों के बारे आपकी क्या राय हैं। हमें फेसबुक पर कमेंट बॉक्स में लिखकर बताएं।

शहर से लेकर देश तक की ताजा खबरें व वीडियो देखने लिए हमारे इस फेसबुक पेज को लाइक करें


https://www.facebook.com/AuNewsMeerut/
... और पढ़ें

बड़ा सवाल: आखिर क्यों हुई वारदात, जांच में उलझे अफसर, तीन हत्याओं से सिहर उठे लोग, तस्वीरें

हत्यारोपी को न्यायिक हिरासत में भेजा

ट्रिपल मर्डर: मशहूर भजन गायक सहित पत्नी व बेटी की धारदार हथियार से हत्या, इलाके में दहशत

उत्तर प्रदेश के शामली जनपद में मंगलवार शाम को एक बड़ी घटना हो गई। यहां अंतर्राष्ट्रीय भजन गायक अजय पाठक व उनकी पत्नी और बेटी की धारदार हथियार से काटकर हत्या कर दी गई। तीनों के शव घर में ही पड़े मिले। घटना की सूचना मिलते ही पुलिस अधिकारी मौके पर पहुंचे और मामले की जांच शुरू कर दी।

बता दें कि जिले की पंजाबी कॉलोनी में प्रसिद्ध गायक अजय पाठक (42 वर्ष) व उनकी पत्नी स्नेहा पाठक और उनकी 13 वर्षीय बेटी वसुंधरा पाठक को मौत के घाट उतार दिया गया। हालांकि अभी हत्या के कारण का पता नहीं लग सका है। पुलिस मामले की जांच में जुटी हुई है। 

बताया गया कि मंगलवार शाम को पड़ोसी उनके घर के अंदर गए तो तीनों के शव घर के अंदर पड़े थे। वहीं घर के अंदर का नजारा देख चीख- पुकार मच गई। इसके बाद पड़ोसियों ने पुलिस को सूचना दी। सूचना मिलते ही पुलिस मौके पर पहुंची और शवों को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भिजवा दिया। पुलिस का मानना है कि वारदात काफी देर पहले हो चुकी थी। इस खौफनाक वारदात से पूरे इलाके में दहशत फैल गई है। वहीं मौके पर लोगों की भारी संख्या में भीड़ जमा हई है।

यह भी पढ़ें: 
बसपा नेता मर्डर केस: भरी अदालत में खून का बदला खून, हर किसी के सामने थी मौत, देखें तस्वीरें
... और पढ़ें

यूपी: 20 लाख की ब्रांडेड शराब के साथ तीन आरोपी दबोचे, ट्रक चालक ने किए चौंकाने वाले खुलासे

शामली जनपद में आदर्श मंडी थाना पुलिस ने हरियाणा से शराब की तस्करी कर यूपी और बिहार में सप्लाई करने वाले अंतरराज्यीय गिरोह का पर्दाफाश करते हुए तीन आरोपियों को गिरफ्तार किया है। आरोपियों के कब्जे से 10 टायरा ट्रक और करीब 20 लाख रुपये कीमत की अंग्रेजी ब्रांडेड शराब की 185 पेटी शराब बरामद की है। 

आदर्श मंडी थानाध्यक्ष कर्मवीर सिंह ने बताया कि एसपी अजय कुमार के निर्देश पर मादक और नशीले पदार्थों की तस्करी और बिक्री की रोकथाम के लिए चलाए जा रहे अभियान के तहत मंगलवार रात टिटौली पुलिस चौकी पर आदर्श मंडी पुलिस और आबकारी टीम संयुक्त रूप से चेकिंग कर रही थी। उसी समय मुखबिर द्वारा हरियाणा की तरफ से ट्रक में शराब आने की सूचना मिली। इसके कुछ समय बाद हरियाणा की तरफ से आए 10 टायरा ट्रक को रोककर तलाशी ली तो उसके तहखाने में छिपाई गई ब्रांडेड अंग्रेजी शराब की 185 पेटी बरामद हुई। पुलिस ने मौके से तीन आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया। पकड़े गए आरोपियों के नाम रितेश, अजीत कुमार और संजय कुमार निवासी मधूटोला थाना खानपुर जिला समस्तीपुर बिहार है। 

यह भी पढ़ें: 
यूपी: गैंग का पर्दाफाश, चैयरमैन समेत आठ गिरफ्तार, कई जिलों में 60 हजार रुपये तक बेचते थे पिस्टल
... और पढ़ें

मेरठ-मुजफ्फरनगर के बाद शामली में अधिवक्ता की हत्या, पति का शव देख बिलख पड़ी पत्नी, मचा कोहराम

मेरठ और मुजफ्फरनगर के बाद अब शामली जनपद में भी बुधवार रात बाइक सवार दो हमलावरों ने अधिवक्ता गुलजार (30) की गोली मारकर हत्या कर दी। इस दौरान बाइक चला रहे मुंशी सचिन के साथ भी मारपीट की गई। हमलावर शामली से ही इनके पीछे लगे थे और पहले भी फायर किया, जो मिस हो गया।

घटना बुधवार रात करीब सवा आठ बजे की है। गुलजार गांव सिक्का निवासी इस्लामुदीन के पुत्र थे और कैराना में प्रैक्टिस करते थे। घटना के वक्त वह कैराना से बाइक से मुंशी सचिन निवासी कैडी के साथ अपने गांव सिक्का लौट रहे थे। बाइक सचिन चला रहा था। अधिवक्ता गुलजार के भाई इस्तखार उर्फ मोनू और सचिन ने बताया कि दिल्ली सहारनपुर हाईवे पर शामली से कुछ आगे स्थित एक होटमिक्स प्लांट के पास पीछे से आए बाइक सवार दो युवकों ने उन पर फायर किया जो मिस हो गया। उन्होंने बाइक दौड़ा दी तो हमलावर भी अपनी स्पीड तेज कर पीछे लग गए। करीब आधा किमी आगे सूनसान जगह पर हमलावरों ने उनकी बाइक में लात मारकर बाइक गिरा दी और गुलजार के सीने में तमंचा सटाकर गोली मार दी। हमलावरों ने सचिन के साथ भी मारपीट की। उनके फरार होने के बाद सचिन कुछ राहगीरों की मदद से गुलजार को पास के एक निजी अस्पताल लेकर पहुंचे, जहां उन्हें मृत घोषित कर दिया गया।

यह भी पढ़ें: 
पश्चिमी यूपी में नेताओं के बाद अब बदमाशों के निशाने पर अधिवक्ता, 20 दिन में तीन वकीलों की हत्या
... और पढ़ें

सुभान हत्याकांड: परिवार को मिली जान से मारने की धमकी, ग्रामीणों के साथ थाने पहुंचे पीड़ित परिजन

शामली जनपद में 10 वर्षीय बालक सुभान की हत्या करने के मामले में नामजद आरोपियों के दो भाइयों पर पीड़ित पक्ष को फोन पर गालीगलौज कर जान से मारने की धमकी देने का आरोप लगाया है। पीड़ित पक्ष ने ग्रामीणों के साथ थाने पहुंचकर तहरीर दी। पुलिस ने एनसीआर दर्ज कर मामले की जांच शुरू कर दी है।

कस्बा बाबरी में बुधवार को घर से मेला देखने गए सुभान की अपहरण के बाद हत्या कर दी थी। बालक का शव गुरुवार सुबह पड़ोसी इकबाल के घर के निकट नाले से बरामद हुआ था। इस मामले में पीड़ित पक्ष की तरफ से इकबाल, उसके पुत्र सादाब, इरशाद, पुत्री फरजाना और रुखसार के खिलाफ नामजद रिपोर्ट दर्ज कराई थी। पुलिस ने हत्या करने के आरोपी शादाब, इरशाद, फरजाना, रुखसार को गिरफ्तार कर जेल भेज चुकी है जबकि हत्या की साजिश में शामिल इकबाल अभी फरार चल रहा है।

वहीं शुक्रवार को सुभान के पिता इकराम ग्रामीणों के साथ बाबरी थाने पहुंचे। तहरीर देकर आरोप लगाया कि सुबह करीब आठ बजे उसे फोन कर हत्यारोपियों के भाई अफजाल और फरमान ने गालीगलौज करते हुए उसके भाई और बहनों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कराने पर जान से मारने की धमकी दी है। पीड़ितों और ग्रामीणों ने थाने पर हंगामा करते हुए आरोपियों के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज कर सुरक्षा करने की मांग की।
... और पढ़ें
अपने शहर की सभी खबर पढ़ने के लिए amarujala.com पर जाएं

Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google, और सोशल मीडिया साइट्स, जैसे की Facebook, के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।

Agree
Election
  • Downloads

Follow Us

विज्ञापन