बेहतर अनुभव के लिए एप चुनें।
INSTALL APP
विज्ञापन

शामली

विज्ञापन
कालाष्टमी प्राचीन कालभैरव मंदिर दिल्ली में पूजा और प्रसाद अर्पण से बनेगी बिगड़ी बात, अभी बुक करें
Myjyotish

कालाष्टमी प्राचीन कालभैरव मंदिर दिल्ली में पूजा और प्रसाद अर्पण से बनेगी बिगड़ी बात, अभी बुक करें

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
Digital Edition

बड़ा खुलासा: धर्मांतरण से पहले गैर मुस्लिमों को ये किताब देते थे मौलाना कलीम, सबूत जुटाने में जुटी सुरक्षा एजेंसियां

मौलाना कलीम सिद्दीकी के खिलाफ एटीएस सबूत जुटा रही है। जांच में सामने आया है कि धर्मांतरण से पहले गैर मुस्लिमों को मौलाना ‘आपकी अमानत, आपकी सेवा में’ नाम की एक किताब देते थे। वहीं एटीएस की टीम मौलाना से पूछताछ कर रही है और उसके करीबियों की तलाश में आसपास के जिलों में ताबड़तोड़ दबिश दी जा रही है।
 
मौलाना कलीम सिद्दीकी करीब 26 साल से मदरसों, जलसे और धार्मिक कार्यक्रमों में पहुंचकर लोगों से रूबरू होते रहे हैं। हर वर्ग के लोग उनका सम्मान करते थे। एटीएस की जांच में सामने आया है कि धर्मांतरण से पहले गैर मुस्लिम लोगों को ‘आपकी अमानत, आपकी सेवा में’ नाम की पुस्तक दी जाती थी। गैर मुस्लिम लोगों को किताब का पूरा पाठ पढ़ाया जाता था। हालांकि गैर मुस्लिम लोगों के साथ धर्मांतरण करने के लिए जबरदस्ती नहीं होती थी।
... और पढ़ें

जल्द होगा पर्दाफाश: शमीम ने उगले बड़े राज, आतंकी कनेक्शन तलाश रही एटीएस, पश्चिमी यूपी के जिलों में ताबड़तोड़ दबिश

बिजनौर के शमीम सलमानी ने ही अपने बेटे जावेद तक कश्मीर में पिस्टल पहुंचाई थी। एटीएस और आर्मी इंटेलिजेंस की पूछताछ के बाद कश्मीर के श्रीनगर तक बिजनौर से असलहा की तस्करी होने की तस्वीर साफ हो गई। अब एटीएस हथियारों की तस्करी की सभी कड़ियां जोड़ने में लगी है। सूत्रों का कहना है कि बुधवार रात में एटीएस ने मुजफ्फरनगर में दबिश दी, लेकिन वहां कुछ हाथ नहीं लगा। गुरुवार को भी एटीएस ने शमीम को साथ ले जाकर आसपास के जिलों में दबिश दी।

गुरुवार सुबह एटीएस ने नूरअलीपुर भगवंत उर्फ डहरी के ग्राम प्रधान को फोन कर शमीम को फिर से बुला लिया। बता दें कि शमीम सलमानी की शारीरिक कमजोरी और नशे की लत को देखते हुए बुधवार रात उसे ग्राम प्रधान की सुपुर्दगी में दे दिया गया था। शमीम सलमानी के कोतवाली देहात थाने पहुंचते ही टीम उसे लेकर कहीं के लिए रवाना हो गई। सूत्रों के मुताबिक, रात के वक्त एटीएस ने मुजफ्फरनगर में दबिश दी थी, जबकि गुरुवार की सुबह फिर से शमीम को लेकर निकल गई और जिले में दूसरी जगहों पर दबिश दी। एटीएस उस कड़ी तक जाने का प्रयास कर रही है, जहां से शमीम को पिस्टल मिलते थे। असलहा लेकर शमीम कश्मीर तक पहुंचाने का काम करता था। 

बता दें कि पिछले दस सालों से कश्मीर के श्रीनगर में रहकर सैलून चलाने वाले शमीम सलमानी के बेटे जावेद को आर्मी ने गिरफ्तार किया है। सेना के इनपुट पर ही यूपी एटीएस सक्रिय हुई थी। आर्मी इंटेलिजेंस के दो अधिकारी भी एटीएस के साथ कोतवाली देहात पहुंचे थे। जिन्होंने बुधवार की सुबह ही डहरी के रहने वाले शमीम सलमानी और उसके छोटे बेटे परवेज सलमानी को दबोच लिया था। बुधवार को दिनभर पिता-पुत्र से पूछताछ की गई। इस दौरान एक कार चालक का नाम भी सामने आया था, जिसे शमीम कश्मीर तक लेकर गया था। इस कार चालक को भी हिरासत में लिया गया, लेकिन पूछताछ के बाद उसे छोड़ दिया गया था।

यह भी पढ़ें: 
आखिर खुली पोल: अब नितिन पंत ने खोले मौलाना के खौफनाक राज, बोला- लड़कियों को फंसा धर्म परिवर्तन का बनाते थे दबाव
... और पढ़ें

आखिर खुली पोल: अब नितिन पंत ने खोले मौलाना के खौफनाक राज, बोला- लड़कियों को फंसा धर्म परिवर्तन का बनाते थे दबाव

एटीएस द्वारा पकड़े गए मौलाना कलीम सिद्दीकी पर सहारनपुर के बालाजी घाट स्थित आश्रम में रह रहे नितिन पंत ने संगीन आरोप लगाए हैं। नितिन का कहना है कि उसका भी जबरन धर्मांतरण कराया गया था। फुलत के मदरसे में रहने के दौरान मौलाना कलीम से उसकी कई मुलाकात हुई थी। आरोप है कि उसे लड़कियों को फंसाने और धर्म परिवर्तन कराने के लिए बरगलाया जाता था। 

नैनीताल (उत्तराखंड) के तल्लीताल निवासी नितिन पंत पुत्र स्व. देवेंद्र पंत वर्तमान में पांवधोई नदी के पास स्थित बालाजी घाट पर बने आश्रम रह रहे हैं। नितिन ने बताया कि वह वर्ष 2010 में राजस्थान के भिवाड़ी में नौकरी की तलाश में गया था, जहां उसकी मुलाकात हरियाणा के मेवात के गांव पंचगांव निवासी इम्तियाज अली से हुई थी। इम्तियाज अली उसको अपने घर ले गया था। इसके बाद उसे बंधक बना लिया गया और जबरन एक मस्जिद में रखा गया। 
... और पढ़ें

एनकाउंटर का खौफ: हाथ उठाकर कोतवाली पहुंचे आरोपी, अपराध से की तौबा, ये था पूरा मामला

शामली जनपद के कैराना में सोमवार को दो आरोपियों ने थाने पहुंचकर आत्मसमर्थन किया। दोनों आरोपी हाथ उठाकर थाने पहुंचे और भविष्य में अपराध से तौबा की। बताया गया कि एक सप्ताह पूर्व गांव रामड़ा में बच्चों के विवाद में एक पक्ष के लोगों पर जानलेवा हमला किया गया था।

गांव रामड़ा में 30 नवंबर को बच्चों के विवाद में भूरा पक्ष के लोगों ने लाठी-डंडे व धारदार हथियारों से हमला करके दिलशाद व उसकी पत्नी जाहिदा को गंभीर रूप से घायल कर दिया था। उक्त हमले की वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो गई थी। इस मामले में दिलशाद के पिता लतीफ की तहरीर पर पुलिस ने पांच आरोपियों के विरुद्ध मुकदमा दर्ज कर लिया था। 

यह भी पढ़ें: 
शादी की खुशियों में मातम: भीषण हादसे में पति-पत्नी और बेटी की मौत, कार के उड़े परखच्चे, देखिए दर्दनाक तस्वीरें

वहीं आरोपियों की गिरफ्तारी के लिए पुलिस दबिश दे रही थी। पुलिस के बढ़ते दबाव के चलते सोमवार सुबह मामले में आरोपी नाहिद व भूरा उर्फ यूसुफ निवासी रामड़ा अपने हाथ उठाकर कोतवाली पहुंच गए। पुलिस ने दोनों आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया।

यह भी पढ़ें: वारदात से दहला इलाका: पहले बच्चों को उतारा मौत के घाट, फिर खुद उठाया खौफनाक कदम, देखें मौके की तस्वीरें
... और पढ़ें
हाथ उठाकर कोतवाली पहुंचे आरोपी। हाथ उठाकर कोतवाली पहुंचे आरोपी।

प्रधान के भाई का मर्डर: दो जिलों में तीन हत्याएं... एक व्यक्ति ने किया सुसाइड, खौफनाक हैं ये बड़ी वारदातें

उत्तर प्रदेश के मुजफ्फरनगर और शामली जनपद में शनिवार को दो खौफनाक वारदात सामने आई। जहां मुजफ्फरनगर में प्रधान के भाई की पीट-पीटकर हत्या कर दी गई। वहीं शामली में एक व्यक्ति ने अपने दो बच्चों को मौत के घाट उतार दिया। बच्चों की हत्या करने के बाद आरोपि पिता ने खुद भी फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली। 

बताया गया कि मुजफ्फरनगर में प्रधान का भाई मोहनवीर पाल शुक्रवार को काम करने के लिए फैक्टरी गया था। लेकिन वह शनिवार तक भी वापस घर नहीं लौटा। इसके बाद परिजनों ने उसकी तलाश की लेकिन वह कही नहीं मिला। वहीं शनिवार शाम को उसकी लाश जंगल में पूर्व प्रधान के खेत में मिली। उधर, शामली हुई सनसनीखेज घटना के बारे में पता चला कि सवित कुछ दिनों पहले अपने दोनों बच्चों को लेकर घर से चला था। वहीं शनिवार को उसने पहले दोनों को बच्चों को मौत के घाट उतार दिया और फिर खुद भी जान दे दी।
... और पढ़ें

खौफनाक वारदात: पहले अपहरण... फिर उतारा मौत के घाट, बहन के मोबाइल पर आई थी कॉल, मांगे थे पांच लाख रुपये

शामली जनपद में भैंसवाल गांव के युवक की अपहरण के बाद हत्या कर दी गई। अपहरण की सूचना पर पुलिस गुरुवार रात से ही उसकी तलाश कर रही थी। पुलिस ने गांव निवासी आरोपी को गिरफ्तार कर लिया है। हत्या की वजह रुपयों के लेन-देन का विवाद बताया जा रहा है।

भैंसवाल निवासी देवेंद्र कश्यप पुत्र श्यामा करनाल में मजदूरी करता था। परिजनों के मुताबिक देवेंद्र गुरुवार को गांव आ रहा था। शामली में चचेरी बहन नेहा और रिया से उसकी मुलाकात हुई थी। वह कुछ खरीदारी करने की बात कह रहा था। वहीं गुरुवार रात करीब नौ बजे देवेंद्र के मोबाइल से नेहा के नंबर पर कॉल आई। कॉल करने वाले व्यक्ति ने कहा कि पांच लाख दे जाओ और देवेंद्र को ले जाओ। 

नेहा के मुताबिक यह आवाज गांव के ही ललित पुत्र जसवीर की थी। परिजन ललित के घर पहुंचे तो वह फरार मिला। जिसके बाद पुलिस को सूचना दी गई। पुलिस ने मौके पर पहुंचकर जांच-पड़ताल की। अपहरण की रिपोर्ट दर्ज कर जंगल में देवेंद्र को घंटों तक तलाश किया। 

यह भी पढ़ें: 
भीषण आग से मचा हाहाकार : दुकान के भीतर जलती रहीं तीन जिंदगी, गूंजती रही बेबस परिजनों की चीत्कार

वहीं शुक्रवार दोपहर देवेंद्र का शव भैंसवाल में स्थित कन्या कल्याण गुरुकुल इंटर कॉलेज के पीछे के खेत में पड़ा मिला। उसकी गला दबाकर हत्या की गई थी। आरोपी ललित को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है और उससे पूछताछ में जुटी है। पुलिस ने देवेंद्र के शव पोस्टमार्टम के लिए भिजवा दिया गया है। 

यह भी पढ़ें: हथियारों के सप्लायर: सिपाही से निकला ये बड़ा कनेक्शन, सामने आई खौफनाक सच्चाई, सबूत हैं ये तस्वीरें

उधर, देवेंद्र की हत्या के बाद से परिजनों में कोहराम मचा है और परिजनों का रो-रोकर बुरा हाल है। 15 दिन पूर्व ही देवेंद्र की पत्नी अमरेश ने पुत्री को जन्म दिया था।
... और पढ़ें

यूपी: सॉल्वर गैंग के सदस्य और दलाल को भेजा जेल, वेस्ट यूपी से बिहार तक फैला है गैंग

उत्तर प्रदेश पुलिस की एसआई की लिखित परीक्षा में बुधवार को कंकरखेड़ा पुलिस ने दलाल समेत दो को गिरफ्तार किया था, जिनसे रात भर पुलिस व क्राइम ब्रांच ने पूछताछ की। जांच में सामने आया है कि सॉल्वर गैंग वेस्ट यूपी से लेकर बिहार तक फैला हुआ है। मेरठ में दो बार सॉल्वर ने दूसरे के नाम पर परीक्षा देने का प्रयास किया और पकड़े गए। एसटीएफ की टीमें गैंग का नेटवर्क खंगालने में लगी है। 

बुधवार को कंकरखेड़ा पुलिस ने राधेश्याम इंजीनियरिंग कॉलेज में सॉल्वर दीपक पुत्र भीम प्रकाश निवासी गोपालपुर मठ कनेरी पटना बिहार को पकड़ा था। उसकी निशानदेही पर दलाल इमरान पुत्र अकबर निवासी जयपुर जिला संत रविदास नगर को गिरफ्तार किया। इमरान ने बताया कि वह अपने साथी आगरा निवासी अमन के कहने पर योगेंद्र निवासी फिरोजाबाद के स्थान पर पटना निवासी सॉल्वर दीपक को लेकर आया था। पुलिस ने कंकरखेड़ा थाने में दीपक और इमरान के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया। बृहस्पतिवार को दोनों को कोर्ट में पेश कर जेल भेज दिया गया।

यह भी पढ़ें: 
यूपी में ताबड़तोड़ हत्याएं: मंत्री और अफसरों के दावों की खुल रही पोल, हाईवे पर हो रहे दिनदहाड़े कत्ल, सबूत हैं ये तस्वीरें
 
एक लाख रुपये एडवांस दिया
इंस्पेक्टर कंकरखेड़ा सुबोध कुमार सक्सेना ने बताया कि इमरान दलाल है, जो मेरठ, अलीगढ़, बागपत, एटा आदि से अभ्यर्थी तलाश करता है। इमरान एक परीक्षार्थी से 50 हजार रुपये तक लेता है, जबकि सॉल्वर को 70 हजार रुपये दिए जाते हैं। बाकी परीक्षा का ठेका पांच से छह लाख रुपये में लिया गया है। पुलिस सौरभ यादव, अशोक कुमार, योगेंद्र और अमन की भी तलाश कर रही है। 

यह भी पढ़ें: डबल मर्डर: पूजा में लीन थे दो सगे भाई, दुश्मनों ने उतारा मौत के घाट, खौफनाक मंजर देख कांप गई लोगों की रूह, तस्वीरें

चार दिन में दूसरा गैंग आया सामने
मेरठ में पुलिस ने रविवार को परीक्षार्थी मानवेंद्र के नाम पर परीक्षा दे रहे आशुतोष निवासी देवरिया को गिरफ्तार किया था। आशुतोष के साथ साहिर निवासी बुलंदशहर से भी पूछताछ की गई थी। पता चला कि पटना का अमित सॉल्वर गैंग चला रहा था।
... और पढ़ें

कातिल भाई: सच जानकर अफसर भी हैरान, शर्म से झुके परिजनों के सिर, आरोपी ने उगला कत्ल का पूरा राज

आरोपी गिरफ्तार।
मेरठ में रेड कारपेट बैंक्वेट हॉल में दूल्हे की भांजी की हत्या का बुधवार को सनसनीखेज खुलासा हुआ। हत्यारोपी कोई और नहीं बल्कि पिलखुआ निवासी मौसेरा भाई विशाल गुप्ता निकला। युवती के साथ उसी ने दुष्कर्म करने का प्रयास किया था और विरोध करने पर गला घोंटकर हत्या कर दी थी। भावनपुर पुलिस ने उसे गिरफ्तार कर क्राइम सीन भी दोहराया। घटनास्थल पर सिपाही रवि बालियान भी मौजूद था, जिसकी जांच करने का पुलिस दावा कर रही है। 

सोमवार रात बैंक्वेट हॉल में दूल्हे की भांजी की हत्या हो गई थी। परिवार ने सामूहिक दुष्कर्म के बाद हत्या होने का आरोप लगाया था। एसएसपी प्रभाकर चौधरी व एसपी देहात केशव कुमार ने पुलिस लाइन में बताया कि विशाल गुप्ता ने शादी समारोह में युवती को कमरे में बुलाकर दुष्कर्म का प्रयास किया था, विरोध करने पर उसकी हत्या कर दी। वारदात के बाद आरोपी मंडप से बाहर आ गया और करीब दो घंटे बाद वापस शादी समारोह में पहुंचा। युवती का पता न लगने पर विशाल और युवती के भाई के बीच कहासुनी भी हुई थी। विशाल ने परिवार के साथ मिलकर युवती को ढूंढने का नाटक भी किया था।
... और पढ़ें

कैराना: सीएम योगी की चेतावनी का खौफ, मुख्यमंत्री दौरे के अगले ही दिन कोर्ट में सरेंडर करने पहुंचा कुख्यात फुरकान

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के दौरे से अगले ही दिन कैराना के कुख्यात फुरकान ने जमानत तुड़वाकर कोर्ट में सरेंडर कर दिया। अगस्त 2014 में व्यापार मंडल के कोषाध्यक्ष विनोद सिंघल की हत्या के बाद सुर्खियों में आया कुख्यात बदमाश फुरकान गैंगस्टर के मुकदमे में जमानत तुड़वाकर कोर्ट में पेश हो गया। जहां से उसे न्यायिक हिरासत में जेल भेज दिया गया।

बताया गया कि 16 अगस्त 2014 को दिनदहाड़े बाजार बेगमपुरा में दुकान पर बैठे व्यापार मंडल के कोषाध्यक्ष विनोद सिंघल की हत्या कर दी गई थी। इसके आठ दिन बाद मुकीम गिरोह ने आयरन स्टोर के मालिक ममेरे भाइयों राजू और शंकर की रंगदारी न देने पर हत्या कर दी थी। विनोद सिंघल की हत्या में वांछित फुरकान निवासी कैराना को पुलिस ने 2017 में मुठभेड़ के दौरान गिरफ्तार करके जेल भेज दिया था। वर्तमान में फुरकान जमानत पर जेल से बाहर आया हुआ था। फुरकान के ऊपर गैंगस्टर के मुकदमे भी दर्ज थे। इन मुकदमों में भी उसे जमानत मिली हुई थी। 

यह भी पढ़ें: 
मर्डर की तस्वीरें: सराफ को दिनदहाड़े चाकू से गोदकर मार डाला, सामने आई अनैतिक संबंध की बात, खौफनाक है वारदात

वहीं सोमवार को मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने जनसभा को संबोधित करते हुए अपराधियों को कड़ी चेतावनी दी थी। इसके बाद मंगलवार को कुख्यात फुरकान गैंगस्टर के मुकदमे में अपनी जमानत तुड़वाकर कोर्ट में पेश हो गया। जहां से उसे न्यायिक हिरासत में जेल भेज दिया गया। कोतवाल प्रेमवीर राणा ने फुरकान के जमानत तुड़वाकर सरेंडर करने की पुष्टि की है।

यह भी पढ़ें: वीभत्स हादसा: रिटायर्ड फौजी-पत्नी व बेटे की मौत, हाईवे पर 50 मीटर तक घिसटते गए तीनों लोग, देखिए तस्वीरें

भाजपा सरकार में हुए पहले एनकाउंटर में हुआ था घायल
भाजपा की सरकार बनने के बाद वर्ष शामली जिले में सबसे पहले एनकाउंटर में गुंबद मोहल्ला निवासी कुख्यात फुरकान घायल हुआ था। तत्कालीन एसपी अजयपाल शर्मा के नेतृत्व में पुलिस के साथ उसकी मुठभेड़ हुई थी, जिसमें फुरकान को पांच गोली लगी थी। दो पुलिसकर्मी भी घायल हो गए थे।
... और पढ़ें

यूपी बढ़ता क्राइम: पहले किशोरी का अपहरण, फिर किया दुष्कर्म, पीड़िता की हालत गंभीर, हायर सेंटर के लिए रेफर

उत्तर प्रदेश के शामली जनपद में दुष्कर्म का एक मामला सामने आया है। झिंझाना कस्बे में शादीशुदा व्यक्ति ने एक किशोरी का अपहरण कर उसके साथ दुष्कर्म किया। विरोध करने पर उसके साथ मारपीट भी की। 
इसके बाद आरोपी फरार हो गया। किशोरी को गंभीर हालत में सीएचसी में भर्ती कराया गया। जहां से उसे हायर सेंटर रेफर कर दिया गया। पुलिस आरोपी की तलाश में जुटी है। 

किशोरी के पिता के अनुसार पड़ोस में रहने वाला शादीशुदा व्यक्ति उसकी पुत्री का मुंह दबाकर अपने घर में ले गया और उसके साथ दुष्कर्म किया। किशोरी बदहवास हालत में घर पहुंची। जिसके बाद परिजनों ने उसे सीएचसी में भर्ती कराया। जहां उसकी गंभीर हालत देखते हुए चिकित्सकों ने उसे हायर सेंटर रेफर कर दिया। 

यह भी पढ़ें: 
पति-पत्नी की मौत: घर से एक साथ उठीं अर्थी तो हर किसी की आंखें हुईं नम, बेटे ने एक ही चिता पर दी मुखाग्नि, तस्वीरें

वहीं एसएसआई अनिल कुमार और एसआई प्रमोद कुमार भी हॉस्पिटल पहुंचे और पीड़िता के बयान लिए। पीड़ित किशोरी के पिता ने थाने में तहरीर दी है। इसके बाद पुलिस आरोपी के संभावित ठिकानों पर दबिश दे रही है।

यह भी पढ़ें: बड़ी कार्रवाई: कबाड़ी हाजी गल्ला की पांच करोड़ की संपत्ति जब्त, मुनादी के बाद अफसरों ने लगाई मकान-गोदाम पर सील
... और पढ़ें

यूपी: छेड़छाड़ पर मनचले की धुनाई, पहले महिला ने चप्पलों से पीटा, फिर भीड़ ने लात-घूंसों से सिखाया सबक

शामली में स्कूल से बच्चों को लेकर घर जा रही महिला के साथ युवक ने छेड़खानी की। महिला ने आरोपी को पकड़कर चप्पलों से धुनाई की। भीड़ ने भी आरोपी की लात घूसों से जमकर पिटाई की। इसके बाद पुलिस ने मौके पर पहुंचकर आरोपी को हिरासत में ले लिया। इस घटना का वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है।

शनिवार दोपहर को बुढ़ाना रोड निवासी महिला अपने दो बच्चों को स्कूल से लेकर घर जा रही थी। वीवी इंटर कॉलेज रोड पर नाले के पुल के निकट एक युवक ने महिला पर अश्लील फब्तियां कसते हुए छेड़खानी कर दी। महिला ने आरोपी को पकड़ लिया और उसकी चप्पलों से जमकर धुनाई की। इस दौरान लोगों की भीड़ इकट्ठा हो गई। भीड़ ने भी आरोपी की लात-घूसों से पिटाई की। 

यह भी पढ़ें:
यूपी में रिश्वतखोरी के बड़े मामले: रंगेहाथ दबोचा गया ये अफसर, जांच में खुले बड़े राज, सच जानकर अफसर भी हैरान

सूचना पर पुलिस मौके पर पहुंची और आरोपी को हिरासत में ले लिया। महिला द्वारा आरोपी की पिटाई करने की घटना का मौके पर मौजूद लोगों ने वीडियो बना लिया और उसे सोशल मीडिया पर वायरल कर दिया। इस मामले में पीड़िता की तरफ से आरोपी मनीष के विरुद्ध शहर कोतवाली में तहरीर दी गई है। पुलिस का कहना है कि आरोपी के विरुद्ध कार्रवाई की जाएगी।

यह भी पढ़ें: बेटी की हत्या से बिखर गया परिवार: बूढ़े माता-पिता का रो-रोकर बुरा हाल, बोले- अब किसके सहारे जिएंगे हम
... और पढ़ें

वाहन चोर गिरोह का पर्दाफाश: पांच आरोपी दबोचे, चोरी की छह बाइक, एक स्कूटी और हथियार बरामद

शामली में कोतवाली पुलिस ने गांव लिलौन के जंगल में नहर पटरी पर चेकिंग के दौरान वाहन चोरी करने वाले गिरोह के पांच सदस्यों को गिरफ्तार किया है। उनके कब्जे से चोरी की छह बाइक, एक स्कूटी, तीन मोबाइल, तमंचे बरामद किए हैं।

एसपी सुकीर्ति माधव ने बताया कि बुधवार को चेकिंग के दौरान कोतवाली पुलिस ने गांव लिलौन के जंगल में पूर्वी यमुना नहर पटरी पर वाहन चोरी करने वाले गिरोह के पांच सदस्यों को गिरफ्तार किया है। 

यह भी पढ़ें: 
खास खबर: प्रधानों को गलत इतिहास पढ़ा रहा विभाग, वितरित की जा रही पुस्तक में दी गई भ्रामक जानकारी

पूछताछ में आरोपियों ने बताया कि बरामद बाइकों को शामली, दिल्ली, हरियाणा और उत्तराखंड से चोरी किया गया था। चोरी करने के बाद बिना नंबर प्लेट के कुछ दिन चलाकर शामली के रहने वाले गिरफ्तार साथी सागर के पास छोड़ी थी, जिन्हें दूसरे जनपद में बेचने के लिए ले जा रहे थे। 

यह भी पढ़ें: किसानों में उबाल: लखीमपुर खीरी की घटना का पश्चिमी यूपी पर कितना बड़ा असर, तस्वीरों में देखें छह जिलों का हाल

पकड़े गए आरोपियों के नाम सरफराज उर्फ पाजी निवासी गांव नहाली थाना सरधना जनपद मेरठ, कृष्ण निवासी संजय कालोनी भाटी माईंस फतेहपुर डेरी थाना जौनापुर जिला साउथ दिल्ली, करण निवासी पुष्प विहार सेक्टर-1 थाना साकेत न्यू दिल्ली-17, सागर निवासी गांव खेड़ीकरमू थाना कोतवाली शामली और संदीप निवासी गांव रसूलपुर थाना सेक्टर-32 करनाल (हरियाणा) है। गिरफ्तार आरोपियों पर पूर्व में भी मुकदमे दर्ज हैं। पुलिस ने सभी आरोपियों के विरुद्ध रिपोर्ट दर्ज कर चालान कर दिया है।
... और पढ़ें

शामली: एडिशनल मजिस्ट्रेट के चालक ने व्यापारी पर किया हमला, आंख में लगी गंभीर चोट, विरोध में लगाया जाम

शामली के कांधला कस्बे में अतिक्रमण हटाओ अभियान के दौरान एडिशनल मजिस्ट्रेट व प्रभारी ईओ देवेंद्र सिंह की गाड़ी के चालक की व्यापारियों से नोकझोंक हो गई। इस दौरान चालक ने व्यापारी अमित के साथ मारपीट कर दी। जिसमें अमित की आंख में गंभीर चोट आई। इससे अन्य व्यापारियों में आक्रोश फैल गया। 

यह भी पढ़ें: 
अमर उजाला फाउंडेशन: लोगों में गजब का उत्साह, शिविरों पर उमड़ी भीड़, मेरठ में इन स्थानों पर लग रहा कैंप, तस्वीरें

इसके बाद व्यापारियों ने अपनी दुकानें बंद कर दी। उन्होंने मामले में कार्रवाई की मांग को लेकर थाने पर हंगामा किया। उधर, व्यापारियों के परिवार की महिला और बच्चे रेलवे रोड पर जाम लगाकर बैठ गए। व्यापारी और उनके परिजन आरोपी चालक की गिरफ्तारी की मांग कर रहे हैं। वहीं पुलिस उन्हें समझाने में जुटी है।

यह भी पढ़ें: अतुल माहेश्वरी उपरिगामी सेतु: नाम पट्टिका के अनावरण की खास तस्वीरें, उपमुख्यमंत्री बोले- अमर उजाला से प्रेरणा लेकर हमने शुरू कीं कई योजनाएं
... और पढ़ें
  • Downloads

Follow Us

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00