बेहतर अनुभव के लिए एप चुनें।
INSTALL APP
विज्ञापन
विज्ञापन
बुध का तुला राशि गोचर, जानें क्या होगा आपके जीवन पर प्रभाव
Myjyotish

बुध का तुला राशि गोचर, जानें क्या होगा आपके जीवन पर प्रभाव

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

उत्कृष्ट विवेचना के लिए एसीपी श्वेता श्रीवास्तव को मिलेगा गृहमंत्री से पदक

इस पदक के लिए देश के 152 पुलिसकर्मियों को चयन किया गया है। देश के सबसे बड़े प्रदेश से इस पदक के लिए सिर्फ दस पुलिसकर्मियों को चुना गया है। इस बार पदक...

14 अगस्त 2021

Digital Edition

यूपी : 28 हजार करोड़ से ज्यादा की बिजली खरीदी, वसूले सिर्फ 21 हजार करोड़

बिजली कंपनियां लाइन हानियां (बिजली चोरी) कम करने के साथ-साथ राजस्व वसूली के मोर्चे पर भी फिसड्डी साबित हो रही हैं। राजस्व वसूली के ताजा आंकड़ों ने प्रदेश में बिजली सुधार के दावों की कलई खोलकर रख दी है। वित्तीय वर्ष के शुरुआती पांच महीने में बिजली कंपनियों ने केंद्र व राज्य के बिजली उत्पादकों से 28,411 करोड़ रुपये की बिजली खरीदी है। इस पर मुनाफा कमाना तो दूर, बिजली कंपनियों ने जितने की बिजली खरीदी उतना राजस्व भी वसूल नहीं कर पाई हैं।

इस अवधि में कुल राजस्व वसूली महज 21,246 करोड़ रुपये ही हो पाई है। यानी पहले पांच महीने में ही पावर कॉर्पोरेशन का घाटा बढ़कर 9,148 करोड़ रुपये का हो चुका है। इसमें राजस्व वसूली के अतिरिक्त अन्य मदों से होने वाली कम आमदनी भी शामिल है। इसकी वजह से कॉर्पोरेशन यूपी को बिजली देने वाले उत्पादकों को समय से भुगतान नहीं कर पा रहा है। एनटीपीसी तो पिछले दिनों नोटिस देकर एक सप्ताह सीमित मात्रा में बिजली रोक भी चुका है।

कॉर्पोरेशन के प्रबंध निदेशक पंकज कुमार की ओर से बुधवार को सभी बिजली कंपनियों के प्रबंध निदेशकों को राजस्व वसूली को लेकर भेजे गए पत्र में एनटीपीसी का भी जिक्र किया गया है। चुनावी साल में भले ही बिजली दरें न बढ़ी हों, पर इन हालातों को देखते हुए देर-सवेर उपभोक्ताओं पर बिजली की दरों का बोझ बढ़ना तय है। साथ ही उत्पादकों को समय से भुगतान न होने की वजह से बिजली संकट भी खड़ा हो सकता है।

‘यह सही है कि लक्ष्य के मुक ाबले राजस्व वसूली कम हो रही है। यह चिंता का विषय है, क्योंकि जिन उत्पादकों से बिजली खरीदी जा रही है, उन्हें समय से भुगतान नहीं हो पा रहा है। सभी बिजली कंपनियों के एमडी को राजस्व वसूली की नियमित रूप से सघन मॉनीटरिंग करके इसमें बढ़ोतरी करने के सख्त निर्देश दिए गए हैं ताकि स्थिति में सुधार हो सके।’
एम. देवराज, अध्यक्ष, उत्तर प्रदेश पावर कॉर्पोरेशन
... और पढ़ें
Electricity Electricity

जाटव वोट बैंक में सेंधमारी की रणनीति : मायावती के मुकाबले बेबीरानी मौर्य होंगी भाजपा का दलित चेहरा

बसपा सुप्रीमो मायावती के मुकाबले के लिए भाजपा ने उत्तराखंड की पूर्व राज्यपाल व नवनियुक्त राष्ट्रीय उपाध्यक्ष बेबीरानी मौर्य को पार्टी का दलित चेहरा बनाया है। भाजपा ने मायावती के जाटव वोट बैंक में सेंध लगाने के लिए बेबीरानी को पूरी ताकत से चुनावी मैदान में उतारने की रणनीति बनाई है। ब्रज, पश्चिम, अवध, कानपुर-बुंदेलखंड, काशी और गोरखपुर क्षेत्र में बेबीरानी की एक-एक बड़ी सभा कराने के साथ सभी 75 जिलों में बेबीरानी की चुनावी सभाएं और सम्मेलन कराए जाएंगे।

भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा ने गत महीने हुए प्रवास में ही मायावती के जाटव वोट बैंक में सेंध लगाने  की नींव रख दी थी। इंदिरा गांधी प्रतिष्ठान में आयोजित ब्लॉक प्रमुख और जिला पंचायत अध्यक्षों के सम्मेलन में नड्डा का स्वागत चित्रकूट के जिला पंचायत अध्यक्ष अशोक जाटव से कराया गया था। वहीं नड्डा ने सहारनपुर की बलिया खेड़ा की ब्लॉक प्रमुख सोनिया जाटव का स्वागत किया था। उसी दिन शाम को प्रदेश मुख्यालय में आयोजित बैठक में प्रदेश में लगातार कमजोर हो रही बसपा सुप्रीमो मायावती के जाटव वोट बैंक में सेंध लगाने की योजना भी बनी थी।

भाजपा हाईकमान ने तय रणनीति के तहत बेबीरानी मौर्य से उत्तराखंड के राज्यपाल पद से इस्तीफा दिलाकर उन्हें पार्टी का राष्ट्रीय उपाध्यक्ष नियुक्त किया। जानकारी के मुताबिक ब्रज और पश्चिम के जिलों में खासतौर पर जाटव वोट बैंक पर मायावती का कब्जा माना जाता है। आगरा की बेबीरानी भी जाटव समाज से है। पार्टी ने पश्चिम एवं ब्रज के साथ पूरे प्रदेश में जाटव वोट बैंक को साधने के लिए बेबीरानी पर दांव खेला है। बुधवार को प्रदेश मुख्यालय में चुनाव प्रभारी धर्मेन्द्र प्रधान की पहली चुनावी बैठक में बेबीरानी को लेकर योजना बनाई गई। अक्तूबर-नवंबर में बेबीरानी मौर्य की हर क्षेत्र में एक-एक बड़ी सभा कराई जाएगी, इसमें क्षेत्र के सभी जिलों की दलित एवं अति दलित जातियों के साथ खासतौर पर जाटव समाज के लोगों को जुटाने का प्रयास किया जाएगा। क्षेत्रों के बाद दिसंबर से लेकर चुनाव तक हर जिले में बेबीरानी मौर्य की एक-एक बड़ी सभा कराई जाएगी। उनकी सभाओं के लिए प्रदेश महामंत्री प्रियंका रावत को समन्वयक नियुक्त किया गया है।

हर क्षेत्र की बनेगी अलग रणनीति
भाजपा ब्रज, पश्चिम, काशी, गोरखपुर, अवध और कानपुर-बुंदेलखंड क्षेत्र के लिए अलग-अलग चुनावी रणनीति बनाएगी। सभी छह क्षेत्रों में मोदी-योगी सरकार के लाभार्थियों को साधने के साथ वहां हुए विकास, जातीय समीकरण, विपक्षी दलों की स्थिति और समसामायिक स्थिति के अनुसार हर क्षेत्र की अलग रणनीति तैयार की जाएगी।
... और पढ़ें

रडार पर कलीम से जुड़े मदरसे : मौलाना कलीम 10 दिन की रिमांड पर, एटीएस ने तैयार की सवालों की लंबी फेहरिस्त

मदरसे की आड़ में दावत देकर अवैध रूप से धर्मांतरण कराने और इसके लिए विदेश से फंडिंग लेने के मुख्य आरोपी मौलाना कलीम सिद्दीकी को अदालत ने 10 दिन की रिमांड पर एटीएस को सौंप दिया है। एटीएस के विशेष न्यायाधीश योगेंद्र राम गुप्ता के आदेश के अनुसार रिमांर्ड 24 सितंबर सुबह 10 बजे से शुरू होगी।

आईजी एटीएस जीके गोस्वामी ने बताया कि कलीम से कई सारी जानकारी इकट्ठा की जानी है। सूत्रों की मानें तो एटीएस ने सवालों की लंबी फेहरिस्त तैयार की है। इसमें पैसों के लेनदेन के अलावा उन मदरसों के बारे में भी जानकारी जुटाई जाएगी, जिसको कलीम ने पैसे दिए हैं। विदेशों से अवैध तरीके से खाते में पैसे आने के चलते कलीम के खिलाफ फेरा और फेमा के तहत भी मुकदमा चलेगा।
सूत्रों ने बताया कि एटीएस मौलाना के करीब आधा दर्जन से अधिक करीबियों पर भी निगाह रख रही है जो कलीम की गुनाहों में बराबर के भागीदार थे। वहीं, पश्चिमी यूपी से कई लोगों को हिरासत में भी लिया गया था, जिन्हें पूछताछ के बाद छोड़ दिया गया है।

छह अलग-अलग टीमें कर रहीं काम
कलीम मामले में छह अलग-अलग टीमें काम कर रही हैं। इसमें कलीम से जुड़े लोगों के खातों में आए धन के स्रोतों के साथ साथ फंडिंग के नाम पर विदेश से आए पैसों को कहां खर्च किया गया, इसकी भी जानकारी जुटाई जा रही है। पश्चिमी यूपी के अलावा एटीएस की एक टीम दिल्ली में कलीम के ठिकानों के बारे में जानकारी इकट्ठा कर रही है।

मुजफ्फरनगर लेकर जाएगी एटीएस
कलीम को रिमांड पर लेने के बाद एटीएस उसे लेकर मुजफ्फरनगर भी जा सकती है। कलीम मुजफ्फरनगर में एक बड़े मदरसे का संचालन करता है। इस मदरसे से कितने और मदरसे जुड़े हुए हैं, कौन-कौन लोग इस धंधे में सीधे तौर पर शामिल हैं, इसका पता लगाया जा रहा है।
... और पढ़ें

सुविधा को तरसते लोग: पीजीआई, लोहिया संस्थान और केजीएमयू के बीच दौड़ता रहा मरीज, छह घंटे बाद मिला वेंटीलेटर, सांसों ने छोड़ा साथ

लखनऊ में वेंटीलेटर डिब्बों में पैक रखे हैं या उनका संचालन नहीं हो पा रहा है। ऐेसे में अति गंभीर मरीजों को वेंटीलेटर न मिलने से उनकी जान जा रही है। बुखार से ग्रस्त एक मरीज तीन अस्पतालों की दौड़ लगाने के छह घंटे बाद ट्रॉमा में वेंटीलेटर मिला। ऐसे में कुछ ही देर बाद उसकी मौत हो गई। परिजनों का कहना है पहले पीजीआई एपेक्स ले गए थे। वहां पर कोविड अस्पताल होने की वजह से भर्ती नहीं किया गया। मरीज को बुखार संग सांस लेने की तकलीफ हुई थी।

प्रयागराज के रहने वाले गुलाब सिंह (50) को करीब चार दिन पहले तेज बुखार आया था। परिजनों ने पहले नजदीकी अस्पताल में ले जाकर भर्ती कराया मगर वहां पर कोई फायदा न मिला। इस दौरान मरीज की हालत गंभीर होती चली गई। उसे वेंटीलेटर स्पोर्ट की जरूरत बताकर पीजीआई भेजा गया। मंगलवार रात परिजन मरीज को लेकर पीजीआई पहुंचे। वहां पर घंटों तक मरीज एंबुलेंस में पड़ा तड़पता रहा मगर भर्ती नहीं किया गया। आखिर में एंबुलेंस चालक मरीज को लेकर निजी अस्पताल में वेंटीलेटर दिलाने का झांसा देकर भर्ती करा दिया। रात भर में निजी अस्पताल ने वेंटीलेटर व इलाज के नाम पर 90 हजार रुपये वसूल लिए। 

परिजनों ने रुपये न होने की बात कहकर बुधवार सुबह डिस्चार्ज करा लिया। मरीज को वेंटीलेटर स्पोर्ट एंबुलेंस से दोबारा पीजीआई लेकर गए मगर वहां से फिर निराश लौटना पड़ा। मरीज को लेकर लोहिया संस्थान गए मगर वहां पर वेंटीलेटर खाली न मिला। इस दौरान करीब छह घंटे बीत गए। आखिर में तीमारदार मरीज को लेकर दोपहर करीब दो बजे ट्रॉमा सेंटर आए। वहां पर डॉक्टरों से मिन्नत करने बाद मरीज को मेडिसिन वार्ड के आईसीयू में वेंटीलेटर स्पोर्ट पर डाला गया। वेंटीलेटर स्पोर्ट पर जाने के कुछ ही देर बाद मरीज ने दम तोड़ दिया। 

भतीजा कन्हैया लाल का कहना है कि मरीज को लेकर करीब छह घंटे तक भटकने बाद वेंटीलेटर मिला मगर तब तक काफी देर हो चुकी थी। केजीएमयू प्रवक्ता डॉ. सुधीर सिंह का कहना है संस्थान में आने वाले अति गंभीर मरीजों को प्राथमिकता से इलाज मुहैया कराया जाता है।
... और पढ़ें

यूपी: बीते 24 घंटे में सिर्फ 11 नए कोरोना मरीज मिले, 69 जिलों में संक्रमण का एक भी मामला नहीं

केजीएमयू
यूपी में बीते 24 घंटे में हुई 2 लाख 20 हजार 65 सैम्पल की टेस्टिंग में सिर्फ 11 नए मरीजों की पुष्टि हुई है। मात्र 06 जनपदों में ही नए मरीज मिले। कहीं भी दोहरे अंकों में नए केस नहीं पाए गए। इसी अवधि में  20 मरीज स्वस्थ होकर डिस्चार्ज हुए।

प्रदेश में अब तक 16 लाख 86 हजार 644 प्रदेशवासी कोरोना संक्रमण से मुक्त होकर स्वस्थ हो चुके हैं। विगत दिवस हुई कोविड टेस्टिंग में 69 ज़िलों में संक्रमण का कोई भी नया केस नहीं मिला। वर्तमान में 186 कोरोना संक्रमितों का उपचार हो रहा है।

कोविड टीकाकरण के लिए अर्ह प्रदेश की 53.14% आबादी ने टीके की पहली डोज प्राप्त कर ली है। अब तक 07 करोड़ 99 लाख लोगों को टीके की पहली डोज लगाई जा चुकी है। इसी प्रकार, 01 करोड़ 76 लाख लोगों ने टीके की दोनों खुराक ले ली है।

प्रदेश में कुल कोविड वैक्सीनेशन 09 करोड़ 76 लाख से अधिक हो चुका है। यह किसी एक राज्य में हुआ सर्वाधिक टीकाकरण है।
... और पढ़ें

योगी का आत्मविश्वास: बोले- साढ़े चार साल में बदली यूपी की तस्वीर, हम फिर सरकार बनाएंगे

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि साढ़े चार वर्ष के शासन में कानून व्यवस्था में सुधार, निवेश, रोजगार और औद्योगिक विकास से प्रदेश की तस्वीर बदली है। प्रदेश की महिलाएं, युवा सहित हर वर्ग बिना किसी जाति धर्म के भेद के भाजपा को वोट देना चाहता है। 2022 में फिर भाजपा की सरकार बनेगी।

मुख्यमंत्री योगी भाजपा प्रदेश मुख्यालय में आयोजित बैठक में बोल रहे थे। उन्होंने कहा कि साढ़े चार वर्ष में सरकार ने देश में प्रदेश की छवि को बदला है। प्रदेश में पहली बार तीन लाख करोड़ का निवेश हो रहा है। सरकारी क्षेत्र में साढ़े चार लाख नौकरियां देने के साथ निजी क्षेत्र में करोड़ों नौकरियां और स्वरोजगार भी दिया है। प्रदेश सरकार ने कोरोना प्रबंधन में सफलता हासिल करने के साथ टीकाकरण में भी देश में रिकार्ड बनाया है।

बैठक में यूपी चुनाव के लिए प्रभारी बनाए गए केंद्रीय शिक्षा मंत्री धर्मेन्द्र प्रधान, केंद्रीय मंत्री अनुराग ठाकुर, भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष स्वतंत्र देव सिंह व उप मुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य भी मौजूद थे।

योगी के नेतृत्व में फिर भाजपा की सरकार बनेगी : स्वतंत्र देव
प्रदेश अध्यक्ष स्वतंत्र देव सिंह ने कहा कि 2022 में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के नेतृत्व में फिर भाजपा की सरकार बनेगी। प्रदेश सरकार ने प्रत्येक क्षेत्र और हर वर्ग के लिए काम किया है। प्रदेश में माफियाराज समाप्त हुआ है और लगातार हो रहे निवेश से प्रदेश दूसरे नंबर की अर्थव्यवस्था बना है। बैठक को प्रदेश प्रभारी राधा मोहन सिंह ने भी संबोधित किया।
... और पढ़ें

Top news of UP: यूपी के 69 जिलों में एक भी नया कोरोना मरीज नहीं, चुनाव प्रबंधन की जिम्मेदारी अनुराग ठाकुर को

यूपी के 69 जिलों में कोरोना का एक भी नया मरीज नहीं मिला है। वहीं, दो लाख से ज्यादा टेस्ट होने के बावजूद प्रदेश में बीते 24 घंटे में छह जिलों से सिर्फ 11 संक्रमित ही मिले हैं। इसके अलावा, यूपी में भाजपा ने चुनावी रोडमैप बनाना शुरू कर दिया है। इसके लिए पदाधिकारियों को जिम्मेदारी दी जा रही है। पढ़ें प्रदेश की प्रमुख खबरें

यूपी: बीते 24 घंटे में सिर्फ 11 नए कोरोना मरीज मिले, 69 जिलों में संक्रमण का एक भी मामला नहीं
यूपी में बीते 24 घंटे में हुई 2 लाख 20 हजार 65 सैम्पल की टेस्टिंग में सिर्फ 11 नए मरीजों की पुष्टि हुई है। मात्र 06 जनपदों में ही नए मरीज मिले। कहीं भी दोहरे अंकों में नए केस नहीं पाए गए। इसी अवधि में  20 मरीज स्वस्थ होकर डिस्चार्ज हुए।
पढ़ें पूरी खबर

यूपी चुनाव 2022: अनुराग ठाकुर को चुनाव प्रबंधन और कैप्टन अभिमन्यु को पश्चिम की कमान
आगामी विधानसभा चुनाव में भाजपा के चुनाव प्रबंधन और युवा मतदाताओं को आकर्षित करने की जिम्मेदारी केंद्रीय सूचना एवं प्रसारण मंत्री अनुराग ठाकुर की होगी। वहीं पश्चिम यूपी में किसानों और जाट समुदाय में व्याप्त असंतोष को दूर करने और वहां की चुनावी बागडोर हरियाणा के पूर्व मंत्री कैप्टन अभिमन्यु के पास रहेगी। पढ़ें पूरी खबर

एक और साधू की मौत: बाबा भारती आश्रम के सेवादार की संदिग्ध हालत में मौत, दो हिरासत में लिए गए
थाना नैमिषारण्य इलाके में बाबा भारती के आश्रम के सेवादार की संदिग्ध हालात में बुधवार की देर रात मौत हो गई। मामले की सूचना पाकर मौके पर पहुंची पुलिस ने शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है। पुलिस का कहना है कि जांच की जा रही है। पढ़ें पूरी खबर

यूपी चुनाव 2022: प्रदेश प्रभारी धर्मेंद्र प्रधान बोले- हम मदद करने आए हैं, चुनाव यूपी की टीम को ही जीतना है
भाजपा के यूपी चुनाव प्रभारी एवं केंद्रीय शिक्षा मंत्री धर्मेन्द्र प्रधान ने कहा कि देश के विकास एवं मजबूती के लिए प्रदेश में एक बार फिर भाजपा की सरकार बनना आवश्यक है। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के नेतृत्व ने प्रदेश के प्रति धारणा को बदलकर यूपी को देश का नंबर वन प्रदेश बना दिया है। पढ़ें पूरी खबर     

मुख्यमंत्री योगी ने पीएम मोदी के व्यक्तित्व व कृतित्व पर आधारित प्रदर्शनी का किया उद्घाटन
मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने गुरुवार को लखनऊ स्थित भाजपा के प्रदेश मुख्यालय पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के व्यक्तित्व व कृतित्व पर आधारित प्रदर्शनी का शुभारंभ किया। पढ़ें पूरी खबर ... और पढ़ें

यूपी चुनाव 2022: प्रदेश प्रभारी धर्मेंद्र प्रधान बोले- हम मदद करने आए हैं, चुनाव यूपी की टीम को ही जीतना है

भाजपा के यूपी चुनाव प्रभारी एवं केंद्रीय शिक्षा मंत्री धर्मेन्द्र प्रधान ने कहा कि देश के विकास एवं मजबूती के लिए प्रदेश में एक बार फिर भाजपा की सरकार बनना आवश्यक है। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के नेतृत्व ने प्रदेश के प्रति धारणा को बदलकर यूपी को देश का नंबर वन प्रदेश बना दिया है।

चुनाव प्रभारी नियुक्त होने के बाद बुधवार शाम भाजपा प्रदेश मुख्यालय में आयोजित पहली बैठक में प्रधान ने साफ कहा कि चुनाव प्रभारी और सह प्रभारी यहां केवल मदद के लिए आए हैं। चुनाव जिताने का काम मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ, प्रदेश अध्यक्ष स्वतंत्र देव सिंह, उप मुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य सहित प्रदेश के नेताओं को ही करना है। प्रदेश में कानून व्यवस्था में सुधार से लेकर कोरोना महामारी के प्रबंधन में योगी सरकार ने बहुत अच्छा काम किया है। प्रदेश सरकार के काम को देश ही नहीं विश्व स्तर पर सराहा गया है।

उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी इतनी मजबूती से बड़े-बड़े काम इसलिए कर पा रहे हैं क्योंकि यूपी जैसा बड़ा प्रदेश उनके साथ कदम से कदम मिलाकर चल रहा है। केंद्र सरकार की ताकत बनी रहे इसलिए उत्तर प्रदेश में पूरी ताकत के साथ विधानसभा चुनाव जीतना है।
... और पढ़ें

एक और साधू की मौत: बाबा भारती आश्रम के सेवादार की संदिग्ध हालत में मौत, दो हिरासत में लिए गए

थाना नैमिषारण्य इलाके में बाबा भारती के आश्रम के सेवादार की संदिग्ध हालात में बुधवार की देर रात मौत हो गई। मामले की सूचना पाकर मौके पर पहुंची पुलिस ने शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है। पुलिस का कहना है कि जांच की जा रही है।

पोस्टमार्टम रिपोर्ट के बाद आगे की कार्रवाई की जाएगी। नैमिषारण्य इलाके में भैरमपुर मार्ग के पास बाबा भारती का आश्रम है, जहां पर भैरमपुर निवासी बालक दास (44) सेवादार था। बताया जाता है कि बुधवार की देर रात सेवादार की संदिग्ध हालात में मौत हो गई।

आसपास के लोगों का कहना है कि रात में पेट में तेज दर्द होने की वह से सेवादार मेडिकल स्टोर पर गया था, जहां से वापस आ रहा था। रास्ते में तेज दर्द होने की वजह से वह पेट पकड़कर बैठ गया। इसके बाद जोर-जोर से रोने लगा। सूचना पाकर बाबा भारती मौके पर पहुंचे।

पुलिस को मौके पर बुलाया गया। इसके बाद डॉक्टर भी आए, लेकिन तब तक सेवादार की मौत हो चुकी थी। सूचना पाकर एएसपी साउथ एनपी सिंह, सीओ मिश्रिख महेंद्र प्रताप सिंह पुलिस बल के साथ मौके पर पहुंचे और जांच पड़ताल की। फिलहाल पुलिस ने दो संदिग्धों को हिरासत में लिया है।

दोनों से पूछताछ चल रही है। सीओ मिश्रिख महेंद्र प्रताप सिंह ने बताया कि मामले में जांच की जा रही है। शव को पोस्टमार्टम के लिए भेजा गया है। रिपोर्ट का इंतजार किया जा रहा है।
... और पढ़ें
  • Downloads

Follow Us

X

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00
X