विज्ञापन

लखीमपुर खीरी

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
Digital Edition

आटोलिफ्टर गैंग के चार बदमाश पुलिस के हत्थे चढ़े

लखीमपुर खीरी। थाना मैलानी पुलिस ने वाहन चेकिंग के दौरान चोरी की कार समेत चार लोगों को दबोच लिया। पुलिस ने आरोपियों की निशानदेही पर चोरी की तीन बाइक, एक बाइक का इंजन और एक कटा हुआ इंजन बरामद कर आरोपियों को कोर्ट में पेश किया। उन्हें अदालत ने जेल भेज दिया है।
पुलिस लाइंस सभागार में एसपी पूनम ने बताया कि प्रभारी निरीक्षक मैलानी राजवीर सिंह रविवार की शाम महरतला मार्ग पर रेवले क्रासिंग के पास वाहनों की चेकिंग कर रहे थे। इसी बीच एक कार आई। पुलिस को देखकर कार चालक भागने लगा लेकिन पुलिस ने उसे रोक लिया। कार से चालक दीपक कुमार निवासी अहमदनगर थाना हैदराबाद, रितेश कुमार निवासी उदयपुर ग्रांट नंबर 11, दीपू कुमार निवासी अन्नापुर ग्रंट नंबर 11 थाना मैलानी और खालिद खां निवासी मथुरानगर निवासी गोला देहात को पकड़ लिया। तलाशी लेने पर एक तमंचा, एक बांका और कारतूस मिला। पुलिस ने जब कार के कागज मांगे तो वे लोग कागज भी नहीं दिखा सके। कड़ाई से पूछताछ करने पर आरोपियों ने बताया कि वे लोग गिरोह बनाकर वाहनों की चोरी करते हैं।
... और पढ़ें

नाबालिग लड़की की शादी रुकवाई

लखीमपुर खीरी। मोहम्मदी क्षेत्र के गांव कंधरापुर में रविवार रात 16 साल की एक लड़की की शादी होने की खबर पाकर आशा ज्योति केंद्र ने पुलिस की मदद से विवाह रुकवाया। सोमवार को आशा ज्योति केंद्र पर दोनों पक्षों को लाया गया और बालिग होने तक विवाह न करने का समझौता होने पर दोनों पक्षों को छोड़ दिया गया।
कंधरापुर निवासी नाबालिक की शादी बहराइच के गांव टपरा निवासी युवक के साथ तय हुई थी। रविवार को बच्चू बरात लेकर यहां पहुंचा। इससे पहले अपराह्न चार बजे किसी ने बाल विवाह की जानकारी आशा ज्योति केंद्र और चाइल्ड लाइन को दे दी। इसके बाद जिला समन्वयक विजेता गुप्ता ने मोहम्मदी कोतवाली पुलिस से बाल विवाह को रोकने में मदद मांगी, लेकिन पुलिस फोर्स मुहैया नहीं कराई गई। लिहाजा टीम बिना पुलिस के गांव पहुंची, जहां लड़की और लड़के पक्ष से संपर्क करके शादी को रुकवाने का प्रयास किया।
ग्राम प्रधान रामसिंह ने बाल विवाह रोकने में कोई रुचि नहीं दिखाई तो टीम ने यूपी 100 पुलिस से मदद मांगी। पुलिस पहुंची और दोनों पक्षों को कोतवाली लेकर आई। वहां टीम ने बाल विवाह के जुर्म में कार्रवाई का डर दिखाया। इसके बाद सोमवार को दोनों पक्ष आशा ज्योति केंद्र पर पहुंचे, जहां बाल विवाह न करने के लिए लिखित समझौता कराकर छोड़ा गया।
... और पढ़ें

ईसापुर में विवाहिता ने फंदा लगाकर दी जान

लखीमपुर खीरी। थाना ईसानगर के गांव ईसापुर निवासी एक 19 वर्षीय विवाहिता ने फंदा लगाकर जान दे दी। मायके वालों ने दहेज के खातिर मारपीट कर फंदे पर लटकाने का आरोप लगाया है। पुलिस ने शव पोस्टमार्टम को भेजा है।
सीतापुर के थाना सकरन के गांव ऊंचागांव निवासी सुमन देवी ने बताया कि उन्होंने अपनी पुत्री पिंकी की शादी करीब आठ महीने पहले थाना ईसानगर के गांव ईसापुर निवासी दीपू भार्गव के साथ की थी। उन्होंने बताया कि दीपू और पुत्री के ससुराल के अन्य लोग दहेज में बाइक की मांग कर रहे थे। आर्थिक स्थिति खराब होने के कारण वह बाइक की मांग पूरी नहीं कर सकी। इससे नाराज दीपू और अन्य लोग उसकी पुत्री को मारपीट कर प्रताड़ित करने लगे। पुत्री पिंकी जब ससुराल आती तो प्रताड़ित करने की बात बताई। कई बार समझाया बुझाया, लेकिन पुत्री के ससुराल वाले नहीं माने। शनिवार की सुबह आसपास के लोगों ने सूचना दी कि पुत्री पिंकी कमरे के अंदर कुंडे से लटक रही है। जब वह लोग मौके पर पहुंचे तो शव जमीन पर पड़ा था। ससुराल के लोग घर से फरार थे। शव पर चोटों के निशान थे। शव देखकर चीखपुकार मच गई। मायके वालों की सूचना पर पहुंची पुलिस ने शव पोस्टमार्टम को भेजा है। प्रभारी निरीक्षक अजय मिश्रा ने बताया कि अभी तहरीर नहीं मिली है। तहरीर मिलने पर रिपोर्ट दर्ज कर कार्रवाई की जाएगी। शव का पोस्टमार्टम कराया जा रहा है।
... और पढ़ें

Panipat: दिवाली की रात दुकान से पटाखे लेने गई बच्ची का अर्धनग्न शव मिला, प्राइवेट पार्ट से हो रही थी ब्लीडिंग

पानीपत के कुलदीप नगर में दिवाली की रात घर से बाहर गली में ही दुकान से पटाखे लेने गई सात वर्षीय बच्ची संदिग्ध परिस्थितयों में लापता हो गई। मंगलवार सुबह उसका शव उसके घर के ही पीछे एक खाली प्लॉट में झाड़ियों में पड़ा मिला। बच्ची का शव अर्धनग्न अवस्था में था।

शव को पड़ोस में रहने वाली एक लड़की ने अपने घर की छत से देखा। इसके बाद उसने अपने परिजनों को बताया। परिजनों ने मामले की सूचना पुलिस को दी। सूचना मिलते ही एसपी शशांक कुमार सावन पुलिस दलबल के साथ मौके पर पहुंचे। पुलिस की तीनों सीआईए समेत पुराना औद्योगिक थाना पुलिस, एफएसएल टीम भी मौके पर पहुंची। टीमों ने मौके से साक्ष्य जुटाए। इसके बाद शव को पानीपत सिविल अस्पताल भिजवाया गया। जहां उसका पंचनामा भरवा कर पोस्टमार्टम प्रक्रिया शुरू की गई है।

सुबह ही करवाया था अपहरण का केस दर्ज
पुराना औद्योगिक थाना पुलिस को दी शिकायत में एक व्यक्ति ने बताया कि वह मूल रुप से जिला लखीमपुर यूपी का रहने वाला है। अभी वह पानीपत के कुलदीप नगर में रहता है। वह मजदूरी करता है। उसकी दो बेटियां हैं। बड़ी बेटी सात साल की थी। दिवाली की रात करीब 9 बजे वह घर से दुकान पर गई थी लेकिन वापस नहीं आई। उसकी कई जगहों पर तलाश की गई थी लेकिन उसका पता नहीं चला। पुलिस ने पिता की शिकायत पर बच्ची के अपहरण का केस दर्ज कर लिया था। 

प्राइवेट पार्ट से हो रहा था रक्त रिसाव
शव मिलने की सूचना पर मौके पर पहुंची पुलिस ने जांच के दौरान देखा कि बच्ची का शव अर्धनग्न अवस्था में था। उसके प्राइवेट पार्ट से ब्लीडिंग हो रही थी। बच्ची के होंठ पर भी चोट के निशान थे। इसके अलावा उसके शरीर पर मकौड़े चल रहे थे।
... और पढ़ें
मामले की जांच करते पुलिसकर्मी। मामले की जांच करते पुलिसकर्मी।

लखीमपुर खीरी: अजय मिश्र के बेटे आशीष की जमानत याचिका वापस, आवेदन में थीं खामियां

लखीमपुर के तिकुनिया हिंसा मामले में मुख्य आरोपी आशीष मिश्रा मोनू की जमानत अर्जी नॉट प्रेस यानी आरोपी के वकील की तरफ से सुनवाई पर बल न देने के कारण खारिज हो गई है। इसके अलावा अंकित दास समेत हत्या के पांच अन्य आरोपियों की भी जमानत अर्जी नॉट प्रेस हुई, क्योंकि वे पुरानी धाराओं में दाखिल थी। जिला जज मुकेश मिश्र ने सोमवार को सभी छह जमानत अर्जियों को खारिज कर दिया।

तिकुनिया हिंसा कांड मामले में मुख्य आरोपी आशीष मिश्र मोनू की ओर से बदली गईं धाराओं के तहत दाखिल की गई नई जमानत अर्जी पर सोमवार को जिला जज अदालत में सुनवाई थी। डीजीसी अरविंद त्रिपाठी की ओर से आपत्ति उठाई गई कि दूसरी जमानत अर्जी में इस बात का स्पष्ट विवरण नहीं है कि आशीष मिश्र मोनू की कोई जमानत याचिका किसी अदालत में लंबित है या नहीं। 

वहीं आशीष मिश्र के अधिवक्ता अवधेश सिंह ने अदालत को बताया कि आशीष मिश्र मोनू की ओर से नई धाराओं में जमानत अर्जी पेश की गई है। उन्होंने कोई तथ्य नहीं छुपाया है। दोनों पक्ष सुनने के बाद जिला जज अदालत में हाईकोर्ट के समक्ष लंबित जमानत याचिका के बारे में विस्तार से और स्पष्ट विवरण पेश करने का निर्देश दिया गया। इसके चलते वरिष्ठ अधिवक्ता अवधेश सिंह ने आशीष मिश्र मोनू की दूसरी जमानत अर्जी नॉट प्रेस कर दी।

वहीं जिला जज मुकेश मिश्र की अदालत में अंकित दास, लतीफ उर्फ काले, सत्यम त्रिपाठी, नंदन सिंह बिष्ट सहित पांच हत्यारोपी की ओर से पेश हुए वरिष्ठ अधिवक्ता शैलेंद्र सिंह गौड़ ने बताया कि जमानत अर्जी पुरानी धाराओं के तहत दाखिल की गई थी। अब नई धाराओं के चलते केस में बदलाव किया गया है इसलिए अब इन पांच जमानत अर्जियों पर बल नहीं दिया जा रहा है। जिन्हें दोबारा दाखिल करने की अनुमति के साथ नॉट प्रेस कर दिया गया है। जिला जज मुकेश मिश्र ने सभी जमानत अर्जियां बिना कोई टिप्पणी पारित किए निरस्त कर दी हैं।
... और पढ़ें

लखीमपुर बवाल : सभी आठ मृतक के परिजनों के खाते में भेजी गई मुआवजे की रकम, फर्जी मैसेज वायरल करने वालों पर भी होगी सख्त कार्रवाई

लखीमपुर खीरी बवाल में अपनी जान गंवाने वाले सभी 8 मृतकों के परिजनों के खातों में मुआवजे की रकम जमा कर दी गई। अपर मुख्य सचिव गृह अवनीश कुमार अवस्थी ने इसकी जानकारी देते हुए बताया कि सोमवार को मृतकों के परिजनों को 45-45 लाख रुपये देने की घोषणा की गई थी। उसी क्रम में त्वरित कार्रवाई करते हुए सभी प्रक्रिया को पूरा किया गया और 48 घंटे के भीतर सभी आठ मृतकों के परिजनों के खातों में पैसे आनलाइन ट्रांसफर कर दिए गए।
    
उधर, अपर पुलिस महानिदेशक कानून व्यवस्था प्रशांत कुमार ने बताया कि इस मामले में दोनों ओर से एफआईआर दर्ज कराई गई है। दोनों एफआईआर की विवेचना पर निगरानी के लिए अपर पुलिस अधीक्षक की अध्यक्षता में सात सदस्यीय टीम बनाई गई है। उन्होंने कहा है कि इस मामले में जो भी दोषी होगा वह बख्शा नहीं जाएगा वह चाहे जितना ताकतवर क्यों न हो। प्रशांत कुमार ने बताया कि लखीमपुर की घटना को लेकर कई मार्फ वीडियो या दूसरे स्थानों के वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल किए जा रहे हैं। उन्होंने ऐसे लोगों से बाज आने को कहा है। प्रशांत कुमार ने कहा है कि अफवाह फैलाने वालों पर भी नजर रखी जा रही है और उनके खिलाफ सख्त से सख्त कार्रवाई की जाएगी।

लखीमपुर जाने से रोकने पर दी सफाई
प्रशांत कुमार ने कहा कि राजनैतिक दलों के नेताओं को लखीमपुर जाने से रोकने के दो कारण थे। पहला कारण वीआईपी को खतरा था और दूसरा कारण घटना के फौरन बाद पहुंचने से वहां कानून व्यवस्था की स्थिति भी उत्पन्न हो सकती थी। अब वहां स्थिति सामान्य हो गई है, इस लिए जाने दिया गया है।
... और पढ़ें

गोरखपुर: तस्करी के तीन आरोपी गिरफ्तार, 18 मवेशी कराए मुक्त

गोरखपुर जिले के चौरीचौरा फोरलेन के रास्ते बिहार की तरफ जा रहे एक ट्रक से तस्करी के तीन आरोपियों को गिरफ्तार कर पुलिस ने 18 मवेशियों को मुक्त कराया है। एसओजी व सोनबरसा पुलिस ने रामूडीहा गांव के पास से इस ट्रक को पकड़ा।

पकड़े गए आरोपियों की पहचान मोहज्ज्म निवासी सतोली थाना डिडौली, जेपीनगर, अमरोहा, आसिफ निवासी टाडा थाना पीलिया लखीमपुर खीरी और नत्थू निवासी गुरदेउ खैरा थाना मैगलगंज लखीमपुर खीरी के रूप में हुई है।

जानकारी के मुताबिक सोनबरसा चौकी पर इंचार्ज मदन मोहन मिश्रा और एसओजी टीम को सूचना मिली कि एक ट्रक से तस्कर मवेशी लेकर गोरखपुर की तरफ जा रहे हैं। शाम करीब पांच बजे सोनबरसा चौकी के सामने बैरियर लगाकर इस ट्रक को रोकने का प्रयास किया गया तो गाड़ी चालक पुलिस कर्मियों को कुचलने का प्रयास करते हुए गाड़ी लेकर भागने लगा।

पुलिस टीम ने गाड़ी का पीछा कर रामूडीहा गांव के सामने रोक लिया। ट्रक से तीन तस्करों को पकड़ा गया, जबकि एक तस्कर भाग निकला। गाड़ी पर 18 मवेशी लदे थे जिन्हें फलमंडी स्थित गोशाला भेजा गया।
... और पढ़ें

मूर्ति खंडित कर यज्ञशाला में आग लगाई, गांव में तनाव के बाद फोर्स तैनात

सांकेतिक तस्वीर
मैगलगंज थाना क्षेत्र के चौगानपुर गांव स्थित भुइंहार बाबा मंदिर में किसी व्यक्ति ने बजरंगबली की मूर्ति को तोड़ दिया और यज्ञशाला में आग लगा दी। घटना की गंभीरता को देखते हुए एसपी विजय ढुल भी मौके पर पहुंचे। एसपी ने गांव में तनाव को देखते हुए पुलिस बल तैनात कर दिया है। एसपी के मुताबिक, रिश्तेदारी में आए मानसिक मंदित युवक ने ऐसा किया है, जिसे पुलिस तलाश रही है। 

मैगलगंज थाना क्षेत्र के चौगानपुर गांव में भुइंहार बाबा का मंदिर है। शुक्रवार की रात किसी व्यक्ति ने मंदिर में स्थापित बजरंगबली की मूर्ति को तोड़ दिया और यज्ञशाला में आग लगा दी। सुबह कुछ ग्रामीणों ने बजरंगबली की खंडित मूर्ति और जलती हुई यज्ञशाला देखी तो पुलिस को सूचना दी। मौके पर डायल 112 पहुंची, जिसने जांच पड़ताल की। इसके बाद मैगलगंज थाने की पुलिस भी मौके पर पहुंच गई। कुछ ही समय में एसपी विजय ढुल भी घटनास्थल पर पहुंच गए। उन्होंने हालात का जायजा लिया। 

ग्रामीणों ने पुलिस को बताया कि सुबह जब वे मंदिर की तरफ गए तो यज्ञशाला जली हुई थी। मंदिर के अंदर हनुमान जी की मूर्ति क्षतिग्रस्त पड़ी थी। पास में ही जिला सीतापुर के महोली थानांतर्गत मुड़िया गांव निवासी भगवानदीन का मानसिक मंदित पुत्र शंकर बजरंगबली की गदा अपने कंधे पर रखकर बैठा हुआ था, जब ग्रामीणों ने उसको ललकारा तो वह वहां से खेतों में होकर भाग गया। ग्रामीणों के अनुसार, मानसिक मंदित युवक अपनी रिश्तेदारी में गांव में आया हुआ है। गांव में तनाव को देखते हुए एसपी ने पुलिस बल तैनात करा दिया है।  

चौगानपुर के प्रधान ने नई मूर्ति की स्थापना के लिए दिए 21 हजार
दूसरी तरफ ग्राम पंचायत चौगानपुर के प्रधान प्रमोद सिंह ने मंदिर में क्षतिग्रस्त मूर्ति की जगह नई मूर्ति लगाने के लिए 21 हजार की धनराशि दी है। प्रधान ने बताया कि मंदिर में जल्द ही नई मूर्ति मंगाकर स्थापित कराई जाएगी। था। 

चौगानपुर गांव में महोली थाना क्षेत्र का एक मानसिक मंदित शंकर पुत्र भगवानदीन आया था, जिसकी रात में रिश्तेदारों से कुछ बातचीत हो गई तो यह युवक मंदिर में जाकर लेट गया। इसके बाद उसने यज्ञशाला में आग लगा दी और मूर्ति भी तोड़ डाली। सुबह कुछ लोगों ने उसे इस खंडित मूर्ति के पास भी बैठे देखा था, जब तक पुलिस गई तब तक वह भाग चुका था। उसकी तलाश की जा रही है। 
- विजय ढुल, एसपी, लखीमपुर खीरी
... और पढ़ें

भगहर नाला में नहा रहे युवक की डूबकर मौत

ईसानगर। घाघरा नदी से निकलकर शिवपुर गांव के किनारे से निकले भगहर नाले में बुधवार की शामन मछली का शिकार करने गए एक युवक की नहाते समय डूबकर मौत हो गई। सूचना पर पहुंचे परिवार के लोगों ने उसकी तलाश की, लेकिन उसका कोई पता नहीं लगा। गुरुवार की सुबह गोताखोरों ने उसका शव बरामद किया। पुलिस ने शव पोस्टमार्टम को भेजा है।
घाघरा नदी से भगहर नाला गांव शिवपुर के पास से होते हुए निकला है। यह नाला करीब 50 मीटर चौड़ा है। गांव शिवपुर निवासी कोइला पासी का पुत्र दुर्गेश पासी (28) बुधवार को मछली मारने भगहर नाला अपने भतीजे विकास के साथ गया था। शाम करीब पांच बजे दुर्गेश नहाने के लिए नाले में उतर गया। नहाते समय अचानक वह गहरे पानी में पहुंच गया। नाला में फैली जलकुंभी में वह फंस गया। जलकुंभी मे फंसा दुर्गेश जब पानी से ऊपर नहीं आया तो भतीजे विकास ने घर वालों को सूचना दी। आनन-फानन में परिवार के लोग ग्रामीणों के साथ मौके पर पहुंच गए और रात भर दुर्गेश की तलाश की, लेकिन उसका कही पता नहीं चला। गुरुवार की सुबह गोताखोरों ने जलकुंभी में फंसे दुर्गेश के शव को ढूंढ निकाला। शव मिलते ही पूरे परिवार में चीख-पुकार मच गयी। सूचना पर पुलिस भी मौके पर पहुंच गई। प्रभारी निरीक्षक अजय मिश्रा ने बताया कि पुलिस ने मृतक के पिता की सूचना पर पहुंची पुलिस ने शव का पोस्टमार्टम कराया जा रहा है।
... और पढ़ें

सरकारी पैसे की लूट-खसोट में फंसी दो ग्राम प्रधानों की गर्दन

लखीमपुर खीरी। ग्राम पंचायतों को मिलने वाली सरकारी धनराशि के लूट-खसोट में कुंभी (गोला) और लखीमपुर ब्लॉक के दो ग्राम प्रधानों की गर्दन फंसी है, जिनमें से अमीनरनगर प्रधान के खिलाफ बर्खास्तगी की कार्रवाई प्रारंभ हो गई है। प्रधान के वित्तीय पावर फरवरी 2019 में ही सीज किए जा चुके हैं। फरवरी कुंभी की ग्राम पंचायत अमीरनगर की प्रधान ताहिरा बेगम पर 3,71,458 रुपये गबन के आरोप की पुष्टि होने के बाद डीएम शैलेंद्र कुमार सिंह ने बर्खास्तगी के साथ ही गबन की धनराशि की वसूली भू-राजस्व की भांति कराने की चेतावनी देते हुए जवाब तलब किया है। वहीं लखीमपुर की ग्राम पंचायत भंसड़िया की प्रधान ऊषा देवी भी 21,724 रुपये की हेराफेरी में दोषी पाई गई हैं।
कुंभी ब्लॉक की ग्राम पंचायत अमीरनगर की प्रधान ताहिरा बेगम के खिलाफ पहली जांच में 4,51,727 रुपये गबन किए जाने की पुष्टि होने पर डीएम शैलेंद्र कुमार सिंह ने 23 फरवरी 2019 को प्रधान के वित्तीय एवं प्रशासनिक अधिकार सीज कर दिए थे। ग्राम प्रधान को हटाने के लिए डीडीओ को जांच सौंपी गई थी, जिससे पहले नलकूप खंड प्रथम के अधिशाषी अभियंता ने जांच की थी। जांच में पाया गया कि वर्ष 2016-17 में 14 वें वित्त आयोग की धनराशि से डॉक्टर मशील के मकान से कल्लू के मकान तक खड़ंजा और नाली निर्माण 19,984 रुपये का गबन किया गया। इसी मद से इश्तियाक के मकान से एजाद के घर तक नाली-खडंजा/इंटरलॉकिंग निर्माण की वर्क आईडी बनाकर 1,87,219 रुपये हड़प लिए गए, लेकिन कहीं काम नहीं कराया गया। इसी तरह झम्मन खां के मकान से खैरूना के मकान तक मिट्टी खड़ंजा निर्माण कार्य के नाम पर वर्क आईडी बनाकर 2,24,524 रुपये गबन किए गए, जबकि इसका कार्य नहीं कराया गया। गांव में मिट्टी पटाई के नाम पर 20 हजार रुपये निकाले गए, लेकिन मिट्टी पटाई की पुष्टि नहीं हुई। डीडीओ अरविंद कुमार की रिपोर्ट आने के बाद डीएम शैलेंद्र कुमार सिंह ने पंचायत राज अधिनियम 1947 की धारा 95 (1) (छह) के तहत प्रधान को पदच्युत (बर्खास्त) करते हुए गबन की धनराशि की वसूली भू-राजस्व की भांति कराने की बात कही है, जिससे पहले प्रधान को साक्ष्य सहित अपना पक्ष रखने के लिए अंतिम अवसर दिया है।

आरोपी प्रधान को नोटिस जारी
लखीमपुर ब्लॉक की ग्राम पंचायत भंसड़िया की प्रधान ऊषा देवी के खिलाफ लगे भ्रष्टाचार के आरोपों की जांच में पुष्टि हुई है। ग्रामीण अभियंत्रण विभाग के अधिशाषी अभियंता ने जांच में पाया कि शंकरदयाल के मकान से रामसागर के मकान तक इंटरलॉकिंग में खडंजे की पुरानी ईंटों का प्रयोग करके 1600 नई ईंट खरीदने के नाम पर 10,336 रुपये का गबन किया गया। इसके अलावा मौनी बाबा के मकान से रामनाथ के मकान तक इंटरलॉकिंग कार्य में 11,388 रुपये का गबन किया गया है। कुल 21,724 रुपये के गबन में प्रधान को प्रथम दृष्टया दोषी मानते हुए डीएम ने नोटिस जारी कर एक सप्ताह में जवाब मांगा है।

अमीरनगर प्रधान के खिलाफ 3,71,458 रुपये गबन के आरोप की पुष्टि जांच में हुई है, जिसके चलते डीएम की ओर से प्रधान के खिलाफ बर्खास्तगी की कार्रवाई प्रारंभ कर दी गई है। अंतिम अवसर के तौर पर प्रधान को साक्ष्य सहित जवाब प्रस्तुत करने के लिए एक सप्ताह का समय दिया गया है। इसके बाद सीधे बर्खास्तगी की कार्रवाई की जाएगी।
अजय कुमार श्रीवास्तव, डीपीआरओ
... और पढ़ें

बाइक सवार छात्र को ट्रक ने रौंदा, मौत

मोहम्मदी। मोहम्मदी-शाहजहांपुर मार्ग पर बुधवार की रात करीब साढ़े नौ बजे कस्बे के सीओ आवास के पास ट्रक ने बाइक सवार को रौंदा, जिसकी इलाज के लिए ले जाते समय रास्ते में मौत हो गई। बाइक चालक हेलमेट नहीं लगाए था।
मालूम हो कि विवेक त्रिपाठी (18) निवासी बडखर शिक्षा पाने को मोहम्मदी के शंकरपुर छावनी के एक मकान पर सपरिवार किराये पर रहकर पढ़ाई करता था। विवेक मोहम्मदी महाविद्यालय में बीए द्वितीय का छात्र था। वह बाइक से सामान खरीदने बाजार गया। जहां से वापस आ रहा था। जैसे ही सीओ आवास के पास पहुंचा तभी पीछे से आ रहे ट्रक ने ऊपर चढ़ा दिया। जिससे वह गंभीर रूप से घायल हो गया। राहगीरों की सूचना पर एंबुलेंस लेकर पहुंचे शिवम राठौर विवेक को सीएचसी मोहम्मदी ले गए। जहां डॉक्टरों ने प्राथमिक इलाज कर हालत नाजुक होने पर जिला अस्पताल शाहजहांपुर रेफर कर दिया। रास्ते में मुकरमपुर के पास उसने दम तोड़ दिया। घटना की सूचना पर पहुंचे चौकी प्रभारी कृपेंद्र कुमार आरक्षी जितेंद्र सिंह, राहुल गिरी ने मृतक का शव कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए जिला अस्पताल भेजा। घर वालों को हादसे की सूचना मिलते ही कोहराम मच गया। विवेक की मां रोहिनी और बहन रंजना का रो-रोकर बुरा हाल है।
... और पढ़ें

सराफ का थैला छीनकर सीओ दफ्तर के पास से भागे थे लुटेरे

लखीमपुर खीरी। मोहल्ला रानीगंज में बुधवार की शाम लुटेरे सराफ का नकदी और चांदी से भरा थैला लेकर सीओ दफ्तर के पास की गली से भागे थे। बिना नंबर की काली बाइक से भाग रहे दोनों बदमाशों की फुटेज सीओ सिटी दफ्तर पर लगे सीसीटीवी कैमरे में कैद हुई है। हालांकि दोनों बदमाशों का चेहरा साफ नहीं आया है, जिससे बदमाशों की शिनाख्त कर पाना पुलिस के लिए आसान नहीं लग रहा है।
बुधवार की शाम करीब आठ बजे पल्सर बाइक पर सवार दो बदमाश मोहल्ला संकटा देवी निवासी सराफ अनुभव रस्तोगी उर्फ अन्नू के हाथ से थैला उस समय छीनकर भाग निकले थे, जब वह अपनी दुकान बंद कर घर जाने के लिए दुकान से आगे बढ़े थे। वारदात से पुलिस महकमे में हड़कंप मच गया था। एसपी पूनम, सीओ सिटी विजय आनंद भी मौके पर पहुंचे और वारदात की जानकारी ली थी। पुलिस ने आसपास के दुकानों और सीओ सिटी दफ्तर पर लगे सीसीटीवी कैमरे खंगाले। आसपास की दुकानों में भी दोनों लुटेरों की फुटेज कैद हुई है। फुटेज पर गौर करें तो दोनों युवक काफी देर से दुकान के नजदीक ही खड़े थे। बाइक काले रंग की थी। उस पर नंबर भी नहीं पड़े थे। खास बात यह है कि लूट करने के बाद सीओ दफ्तर की तरफ से ही बदमाश भागे थे, जिससे सीओ दफ्तर पर लगे कैमरों में भी दोनों बदमाशों की फुटेज कैद हुई है। हालांकि अंधेरा और लाइटों की चकाचौंध के कारण फुटेज साफ नहीं आई है। इससे पुलिस को लुटेरों की पहचान कर पाना मुश्किल होगा।

तीन संदिग्धों को पुलिस ने उठाया
सदर कोतवाली पुलिस ने सराफ से हुई लूट के मामले में तीन संदिग्धों को उठाया है। पुलिस तीनों से अलग-अलग पूछताछ कर रही है, लेकिन पुलिस के हाथ अभी तक ऐसे कोई सुराग नहीं लगे हैं, जिससे पुलिस बदमाशों तक पहुंच सके। हिरासत में लिए गए तीनों युवक आपराधिक किस्म के हैं।

सराफा व्यापारियों ने सीओ को दिया अल्टीमेटम
सराफ के साथ हुई लूट की घटना से सराफ व्यापारियों में जहां दहशत है। वहीं उनमें रोष भी है। गुरुवार को इंडियन बुलियन ज्वेलर एसोसिएशन के नगर अध्यक्ष आलोक कुमार रस्तोगी के नेतृत्व में सीओ सिटी और प्रभारी निरीक्षक सदर से मिले। व्यापारियों ने घटना पर रोष जताया और घटना का शीघ्र खुलासा न होने पर आंदोलन की चेतावनी दी। साथ ही शहर में गश्त बढ़ाने और व्यापारियों की सुरक्षा की मांग की। सीओ सिटी ने व्यापारियों से कुछ वक्त मांगा है।

घटना के खुलासे के लिए लगीं टीमें अपना काम कर रही हैं। कुछ संदिग्ध लोगों को पुलिस ने पकड़ा है, जिनसे पूछताछ की जा रही है, लेकिन पूछताछ में अभी कोई ऐसे तथ्य सामने नहीं आए हैं, जिससे पुलिस बदमाशों तक पहुंच सके।
विजय आनंद, सीओ सिटी
... और पढ़ें

सरकारी पैसे की लूट-खसोट में फंसी दो ग्राम प्रधानों की गर्दन...

लखीमपुर खीरी। ग्राम पंचायतों को मिलने वाली सरकारी धनराशि के लूट-खसोट में कुंभी (गोला) और लखीमपुर ब्लाक के दो ग्राम प्रधानों की गर्दन फंसी है, जिनमें से अमीनरनगर प्रधान के खिलाफ बर्खास्तगी की कार्रवाई प्रारंभ कर दी गई है। प्रधान के वितीय पावर पहले ही सीज किए गए जा चुके हैं। कुंभी की ग्राम पंचायत अमीरनगर की प्रधान ताहिरा बेगम पर 3,71,458 रुपये गबन के आरोप की पुष्टि होने के बाद डीएम शैलेंद्र कुमार सिंह ने बर्र्खास्तगी के साथ ही गबन की धनराशि की वसूली भू-राजस्व की भांति कराने की कार्रवाई प्रारंभ कर दी है। वहीं लखीमपुर की ग्राम पंचायत भंसडिय़ा की प्रधान ऊषा देवी भी 21,724 रुपये की हेराफेरी में दोषी पाई गई हैं।
कुंभी ब्लाक की ग्राम पंचायत अमीरनगर की प्रधान ताहिरा बेगम के खिलाफ पहली जांच में 4,51,727 रुपये गबन किए जाने की पुष्टि होने पर डीएम शैलेंद्र कुमार सिंह ने 23 फरवरी 2019 को प्रधान के वित्तीय एवं प्रशासनिक अधिकार सीज कर दिए थे। ग्राम प्रधान को हटाने की कार्रवाई के लिए डीडीओ को जांच सौंपी गई थी, जिससे पहले नलकूप खंड प्रथम के अधिशाषी अभियंता ने जांच की थी। इसके बाद जांच में पाया गया कि वर्ष 2016-17 में 14वें वित्त आयोग की धनराशि से डाक्टर मशील के मकान से कल्लू के मकान तक खड़ंजा और नाली निर्माण 19,984 रुपये का गबन किया गया। इसी मद से इश्तियाक के मकान से एजाद के घर तक नाली-खडंजा/इंटरलॉकिंग निर्माण की वर्क आईडी बनाकर 1,87,219 रुपये हड़प लिए गए, लेकिन कहीं काम नहीं कराया गया। इसी तरह झम्मन खां के मकान से खैरूना के मकान तक मिट्टी खडंजा निर्माण कार्य के नाम पर वर्क आईडी बनाकर 2,24,524 रुपये गबन किए गए, जबकि इसका कार्य नहीं कराया गया। गांव में मिट्टी पटाई के नाम पर 20 हजार रुपये निकाले गए, लेकिन मिट्टी पटाई की पुष्टि नहीं हुई। डीडीओ अरविंद कुमार की रिपोर्ट आने के बाद डीएम शैलेंद्र कुमार सिंह ने पंचायत राज अधिनियम 1947 की धारा 95 (1) (छह) के तहत प्रधान को पदच्युत (बर्खास्त) करते हुए गबन की धनराशि की वसूली भू-राजस्व की भांति कराने की बात कही है, जिससे पहले प्रधान को साक्ष्य सहित अपना पक्ष रखने के लिए अंतिम अवसर दिया है।

21 हजार की आरोपी प्रधान को नोटिस जारी
लखीमपुर ब्लाक की ग्राम पंचायत भंसडिय़ा की प्रधान ऊषा देवी के खिलाफ लगे भ्रष्टाचार के आरोपों की जांच में पुष्टि हुई है। ग्रामीण अभियंत्रण विभाग के अधिशाषी अभियंता ने जांच में पाया कि शंकरदयाल के मकान से रामसागर के मकान तक इंटरलॉकिंग में खडंजे की पुरानी ईंटों का प्रयोशग करके 1600 नई ईंट खरीदने के नाम पर 10,336 रुपये का गबन किया गया। इसके अलावा मौनी बाबा के मकान से रामनाथ के मकान तक इंटरलॉकिंग कार्य में 11,388 रुपये का गबन किया गया है। कुल 21,724 रुपये के गबन में प्रधान को प्रथम दृष्टया दोषी मानते हुए डीएम ने नोटिस जारी कर एक सप्ताह में जवाब मांगा है।

अमीरनगर प्रधान के खिलाफ 3,71,458 रुपये गबन के आरोप की पुष्टि जांच में हुई है, जिसके चलते डीएम की ओर से प्रधान के खिलाफ बर्खास्तगी की कार्रवाई प्रारंभ कर दी गई है। अंतिम अवसर के तौर पर प्रधान को साक्ष्य सहित जवाब प्रस्तुत करने के लिए एक सप्ताह का समय दिया गया है। इसके बाद सीधे बर्खास्तगी की कार्रवाई की जाएगी।
अजय कुमार श्रीवास्तव, डीपीआरओ
... और पढ़ें
Election
एप में पढ़ें
जानिए अपना दैनिक राशिफल बेहतर अनुभव के साथ सिर्फ अमर उजाला एप पर
अभी नहीं

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00