विज्ञापन

कुशीनगर

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
Digital Edition

कुशीनगर: पति ने कबूला पत्नी की हत्या, बोले- पहले गला कसकर मारा, फिर काट डाला

कुशीनगर जिले के रामकोला थाना क्षेत्र के देवरिया बाबू गांव में शीला नाम की हत्या के बाद पोस्टमार्टम रिपोर्ट आ गई है। इस रिपोर्ट के मुताबिक, शीला की गला कसकर हत्या करने के बाद गले को काटा गया था। पुलिस ने हत्या में इस्तेमाल कुल्हाड़ी बरामद कर ली है। हत्यारोपित पति को पुलिस ने शनिवार को कोर्ट में पेश किया, जहां से उसे जेल भेज दिया गया।

रामकोला थाना क्षेत्र के ही हरपुर गांव के निवासी बृजनारायण ने अपनी बेटी शीला की शादी 15 वर्ष पहले जितई मौर्या के लड़के बीरबल मौर्या से की थी। शादी के बाद से शीला अपनी ससुराल में रहती थीं। उनके दो बच्चे खुशबू और विवेक हैं।

हरितालिका तीज के अवसर पर गुरुवार को शीला अपने पति बीरबल की लंबी आयु के लिए व्रत थी। आरोप के मुताबिक, आपसी कलह में रात में पति ने कुल्हाड़ी से गला काटकर शीला की हत्या कर दी थी। पुलिस ने महिला के शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया था और हत्यारोपित बीरबल मौर्या को खोटही गांव के निकट गन्ने के खेत से पकड़ा था।

रात में वह पुलिस की हिरासत में रहा। उसके बताने पर पुलिस ने हत्या में प्रयुक्त कुल्हाड़ी बरामद कर ली है। पोस्टमार्टम रिपोर्ट में गला कसकर हत्या करने की बात बताई गई है।

रामकोला थाने के एसओ डीके सिंह ने इसकी जानकारी दी। उन्होंने बताया कि पोस्टमार्टम रिपोर्ट में पहले गला कसकर हत्या करने की बात सामने आई है। उसके बाद कुल्हाड़ी से काटा गया है। शीला के पति बीरबल मौर्या को हत्या के आरोप में जेल भेज दिया गया है।

 
... और पढ़ें

कलंकित हुए रिश्ते: अवैध संबंध के शक में पत्नी और दो मासूम बेटों को उतारा मौत के घाट, फिर थाने पहुंचकर किया सरेंडर

उत्तर प्रदेश के कुशीनगर जिले में एक दिल दहला देने वाली घटना सामने आई है। यहां तुर्कपट्टी थाना क्षेत्र के भलुही गांव में सोमवार की देर रात एक व्यक्ति ने अपनी पत्नी और दो बेटों की सब्जी काटने वाले हंसिया से गला रेतकर हत्या कर दी। इसके बाद खुद को पुलिस के हवाले कर दिया। पुलिस ने शवों को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है। इस घटना के बाद पूरे इलाके में सनसनी फैल गई है। एसपी के मुताबिक हत्यारोपी ने बताया कि अवैध संबंध को लेकर उसे पत्नी पर शक था। इसके अतिरिक्त काम-काज को लेकर भी अक्सर झगड़ा होता था। इसी वजह से उसने पत्नी और दोनों बेटों की हत्या करने की बात बताई है। इस मामले में मृतका के भाई अमर गुप्ता की तहरीर पर हत्या का मुकदमा दर्ज किया गया है।

बताया जा रहा है कि इस गांव का 35 वर्षीय राजेश गुप्ता पहले चंडीगढ़ में कपड़े की सिलाई का कार्य करता था। तीन महीने पहले उसकी मां कलावती की सड़क दुर्घटना में घायल होने की वजह से मौत हो गई। इसकी सूचना मिलने पर घर चला आया था। सोमवार की रात लगभग 11 बजे उसने अपनी 30 वर्षीय पत्नी निक्की गुप्ता और सात साल के बेटे शिवम एवं तीन साल के आयुष की हंसिया से गला रेतकर हत्या कर दी। इसके बाद खुद थाने पहुंचकर आत्मसमर्पण कर दिया। पुलिस घटना की जांच पड़ताल में जुटी है। मौके पर सीओ संदीप वर्मा पहुंचे थे। तुर्कपट्टी थाने के एसओ आनंद गुप्ता ने बताया कि प्रथम दृष्टया पति-पत्नी का आपसी विवाद सामने आया है। दोनों के बीच आपसी विवाद होता रहता था। घटना की जांच की जा रही है।

इसकी सूचना मिलने पर एसपी सचिंद्र पटेल भी घटनास्थल पर पहुंचे और इस बारे में जानकारी ली। फिर तुर्कपट्टी थाने पहुंचकर हत्यारोपी से घटना के बारे में पूछताछ की। एसपी ने बताया कि राजेश के पास कोई स्थाई रोजगार नहीं था। कभी मजदूरी तो कभी चालक का कार्य करता था। पत्नी के चरित्र पर भी शक था। इसे लेकर अक्सर दोनों में झगड़ा होता था। उसने इसी वजह से पत्नी और दोनों बेटों की हत्या करने की बात कही है।
... और पढ़ें

गोरखपुर: प्रेमी को फंसाने के लिए दी बच्ची के अपहरण की फर्जी सूचना, ऐसे हुआ खुलासा

उत्तर प्रदेश के कुशीनगर जिले के रामकोला रेलवे स्टेशन से बच्ची के अपहरण की सूचना महिला ने अपने प्रेमी को फंसाने के लिए दी थी। बुधवार जीआरपी ने बच्ची को महिला की सहेली के घर से बरामद कर लिया। महिला ने बच्ची को वहां दिल्ली जाने की बात कहकर छोड़ा था। बच्ची को बरामद करने के बाद जीआरपी ने उसे उसकी मां को सुपुर्द कर दिया। हालांकि जीआरपी ने महिला पर कोई कार्रवाई नहीं की है। मानवीय आधार पर पुलिस ने कार्रवाई ना करने की बात कही है।

जीआरपी थाना प्रभारी उपेंद्र श्रीवास्तव के मुताबिक, पिपराइच इलाके की रहने वाली महिला की शादी देवरिया जिले के सलेमपुर में हुई है। उसकी दो साल की एक बच्ची है। पति से विवाद होने के बाद महिला घर छोड़कर चली गई थी। जिसके बाद रामकोला धनंजय यादव से उसका प्रेम हो गया और पिछले छह माह तक वह साथ रही। अनबन होने पर प्रेमी उसे छोड़कर चला गया।

26 अगस्त की सुबह महिला ने फोन कर बताया कि रामकोला रेलवे स्टेशन से उसकी बच्ची गायब हो गई। सर्विलांस की मदद से खोजबीन शुरू की गई तो पता चला कि वह रामकोला रेलवे स्टेशन पर गई ही नहीं थी। काल डिटेल के जरिए छानबीन करने पर पता चला महिला 25 अगस्त की शाम नौतनवां में रहने वाली अपनी सहेली के घर पहुंची थी। जरूरी काम से दिल्ली जाने की जानकारी सहेली को देते हुए बच्ची को छोड़कर चली आई। बुधवार को नौतनवां पहुंची जीआरपी की टीम ने बच्ची को बरामद कर लिया।
... और पढ़ें

Kushinagar: कुशीनगर में चाकू गोदकर मुनीम की हत्या, मचा हड़कंप

कुशीनगर जिले के अहिरौली बाजार थानाक्षेत्र के मुजड़िहा बाजार में देसी शराब की दुकान के मुनीम की चाकुओं से  गोदकर हत्या कर दी गई। घटना रविवार की रात 11 बजे हुई। घटना की सूचना पर अज्ञात हमलावरों के खिलाफ मुकदमा दर्ज करके पुलिस मामले की छानबीन में जुटी है। मुनीम के परिजनों का कहना है कुछ लोगों से लेनदेन को लेकर विवाद चल रहा था।

अहिरौली बाजार थाना क्षेत्र के मुजडीहा चौराहे पर महराजगंज जनपद के थाना कोतवाली सदर नेदुआ बाजार निवासी जानकी देवी के नाम से देसी शराब की दुकान है। उसी दुकान पर उनका बेटा व्यासमुनि यादव (40 ) मुनीम था। रविवार की रात करीब 11 बजे व्यास मुनि यादव शराब की दुकान बंद करके सामने रखे तख्त पर भोजन कर रहा था। तभी एक बाइक पर सवार दो अज्ञात व्यक्ति आए। मुनीम से कुछ बात करने के बाद उस पर चाकू से हमला कर दिया। मुनीम के शोर मचाने पर आसपास के लोग पहुंचते। इसके पहले हमलावर फरार हो गए।

लोगों ने घटना की सूचना अहिरौली बाजार पुलिस को दी। ग्रामीण मुनीम को अस्पताल ले जाते इसके पहले मौत हो गई। घटना की जानकारी पाकर परिजन भी पहुंच गए।

मुनीम व्यासमुनि के दो पुत्र छोटू (10) और शिवम (8) वर्ष हैं। प्रभारी निरीक्षक पंकज कुमार गुप्ता ने बताया कि मृतक के भाई की तहरीर पर हत्या का मुकदमा पंजीकृत किया गया है।
... और पढ़ें
कुशीनगर में हत्या। कुशीनगर में हत्या।

कुशीनगर: मुठभेड़ में चार टप्पेबाज गिरफ्तार, गोली लगने से एक घायल

कुशीनगर में रविवार की देर रात पटहेरवा थाना क्षेत्र के रामकोला चट्टी के निकट पुलिस और टप्पेबाजों में मुठभेड़ हो गई। मुठभेड़ में चार टप्पेबाज गिरफ्तार कर लिए गए। एक को गोली भी लगी है। उसका इलाज पुलिस अभिरक्षा में चल रहा है। इनके पास तमंचा और कारतूस भी मिले हैं।

बताया जा रहा है कि रविवार की रात करीब बारह बजे पुलिस को बिहार की तरफ से बाइक सवार आते दिखे। रोकने पर पुलिस टीम पर फायर शुरू कर दिए। पुलिस की जवाबी कार्रवाई में एक घायल हो गया, जबकि अन्य तीन को पुलिस ने धर दबोचा।

पटहेरवा थाने के एसओ अखिलेश सिंह ने बताया कि आए दिन बैंको से रुपये निकालकर जा रहे लोगों से ये अंर्तप्रांतीय गिरोह के टप्पेबाज छिनैती किया करते थे। एक टप्पेबाज राजेश कुशवाहा के दाहिने पैर में गोली लगी है। उसका इलाज पुलिस अभिरक्षा में चल रहा है।

गिरफ्तार राजेश कुशवाहा पुत्र बासठ महतो, सुरेश प्रसाद पुत्र भीखम प्रसाद, परमेन्द्र कुमार तिवारी पुत्र नवलदत्त तिवारी रानीपाकड़, थाना मुफ्फसिल जनपद पशिमी चंपारण बिहार व बलिस्टर दास पुत्र नंनुदास शिक्षक नगर थाना नगर टाउन जनपद पश्चिमी चंपारण बिहार का निवासी है।

इनके पास से दो तमंचा, तीन कारतूस, तीन बिना नंबर की बाइक और अन्य सामान बरामद हुआ है। इनके खिलाफ नियमानुसार कार्रवाई की जा रही है। बिना नंबर सहित अन्य सामान बरामद हुआ है आगे की कार्रवाई की जा रही है।
... और पढ़ें

कुशीनगर: युवती को अगवा कर दुष्कर्म, पिटाई और नशीला पदार्थ खिलाने का आरोप, मां ने दी तहरीर

कुशीनगर थाना क्षेत्र की एक युवती को अगवा कर दुष्कर्म किए जाने, पिटाई और नशीला पदार्थ खिलाने का मामला सामने आया है। 24 घंटे बाद मिली अचेतावस्था में नहर के किनारे मिली युवती का तीसरे दिन इलाज कराने के बाद परिजन थाने लेकर पहुंचे। युवती की मां ने इस मामले में पुलिस को तहरीर देकर कार्रवाई की मांग की है। इस घटना में गांव के तीन लोगों के शामिल होने का आरोप है, जिसमें गांव के एक पूर्व प्रधान, एक अन्य प्रभावशाली व्यक्ति तथा एक महिला भी है।

युवती की मां की तरफ से तहरीर में बताया गया है कि बृहस्पतिवार की शाम उनकी पुत्री दरवाजे पर जल रही अलाव के पास बैठी थी। उसी समय गांव की एक महिला आयी और घूमने के बहाने उनकी बेटी को अपने साथ ले गई। गांव के बाहर पहुंचने पर वहां पहले से ही दो प्रभावशाली व्यक्ति गाड़ी लेकर मौजूद थे।

महिला ने युवती को उनके हवाले कर दिया। विरोध करने पर युवती की पिटाई की और दोनों व्यक्ति उसे गाड़ी में खींचकर बैठा लिए। उसके बाद कोई नशीली चीझ उसे सुंघाकर कुछ दूर ले जाने के बाद गन्ने के खेत में उसके साथ दुष्कर्म किए। युवती इस ठंड में पूरी रात गन्ने के खेत में अचेतावस्था में पड़ी रही।

सुबह जब उसकी मां को जानकारी हुई तो गांववालों के सहयोग से उसे लेकर सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र रामकोला पहुंचे। वहां उसकी हालत गंभीर देखते हुए डॉक्टर ने जिला अस्पताल रेफर कर दिया। वहां इलाज चल रहा था। हालत में सुधार पर होने पर युवती ने मां से आपबीती बताई। उसके बाद शनिवार को लेकर उसकी मां रामकोला थाने पहुंची और तहरीर दी।

इस संबंध में सीओ खड्डा शिवाजी सिंह ने कहा कि अभी तहरीर नहीं मिली है। तहरीर मिलते ही मुकदमा दर्ज कर अपेक्षित कार्रवाई की जाएगी।

 
... और पढ़ें

यूपी: मां ने रुपये नहीं दिए तो युवक ने घर में लगाई आग, गर्भवती भाभी की जलकर मौत

उत्तर प्रदेश के कुशीनगर जिले में एक हैरान करने वाला मामला सामने आया है। यहां रामकोला थाना क्षेत्र के पगार गांव के छपरा टोला में रविवार की देर शाम एक युवक ने मां के रुपये न देने पर पहले तो अपनी झोपड़ी में आग लगाई, फिर बड़े भाई की झोपड़ी में भी आग लगा दी। घर में काम कर रही उसकी भाभी ने अचानक लपटें उठते देखकर किसी तरह बच्चों को सकुशल बाहर निकाला। फिर खुद कुछ सामान निकालने अंदर गई तो आग में घिर गई। कई बार निकलने की कोशिश की, लेकिन धुएं से दम घुटने और आग से जलने की वजह से उसकी मौत हो गई। वह गर्भवती बताई जा रही है। सूचना पर पहुंची पुलिस ने ग्रामीणों की मदद से आग बुझाई। शव को पोस्टमार्टम के लिए भेजा। आरोपी युवक को पुलिस ने हिरासत में ले लिया है।

बाहर कमाने जाने के लिए मां से मांग रहा था रुपये

पगार गांव के छपरा टोला निवासी राजू बाहर कमाने जाने के लिए मां से रुपये मांग रहा था। लेकिन रुपये न होने की बात कहते हुए मां ने मना किया तो राजू ने गुस्से में पहले अपनी और फिर भाई की झोपड़ी जला दी। ग्रामीणों के मुताबिक राजू अक्सर घर में झगड़ा करता रहता था। दोनों झोपड़ियों के राख हो जाने से परिवार के पास ठंड में न तो सिर छुपाने की जगह बची और न पहनने-ओढ़ने को कपड़े व बिस्तर। सीओ खड्डा और तहसीलदार कप्तानगंज ने घटनास्थल का जायजा लिया।

राजू पहले मुंबई में खाना बनाने का काम करता था। लेकिन करीब आठ महीने पहले वह घर लौट आया। यहां वह कोई काम नहीं करता था। पिछले कुछ दिनों से वह मां पर बाहर जाने के लिए रुपये देने का दबाव बना रहा था। राजू सिंह (22) तीन भाई हैं। आरोप है राजू ने पहले अपनी झोपड़ी में आग लगाई और उसके बाद बड़े भाई जितेंद्र सिंह की झोपड़ी में भी आग लगा दी। उस समय जितेंद्र की पत्नी रंजना (36) घर में ही काम कर रही थी। अचानक आग की लपटें उठते देख वह बच्चों को उठाकर किसी तरह झोपड़ी से बाहर निकाली और खुद सामान निकालने के लिए अंदर चली गई। तब तक आग ने विकराल रूप धारण कर लिया। हर तरफ से घिर जाने के कारण आग में झुलस जाने से रंजना की मौत हो गई।

ग्रामीणों के मुताबिक जितेंद्र की रंजना से करीब 15 वर्ष पूर्व शादी हुई थी। उनकी छह संतानें हैं। पांच बेटियां और एक बेटा है। जितेंद्र बाहर काम करते हैं, जिससे परिवार का भरण-पोषण होता है। जितेंद्र इन दिनों घर आए थे, लेकिन घटना के समय घर पर मौजूद नहीं थे।
 
पुलिस अधीक्षक सचिंद्र पटेल ने बताया कि राजू ने अपनी मां से रुपये के लिए झगड़ा किया। रुपये नहीं मिले तो पहले अपनी झोपड़ी में आग लगाई, उसके बाद जितेंद्र की झोपड़ी में भी आग लगा दी। इस आग में खुद को और बच्चों को घिरा देखकर उसकी भाभी ने सबसे पहले बच्चों को सकुशल बाहर निकाला। उसके बाद घर में सामान निकालने, जिससे आग में घिर जाने से जलकर मर गई। वह गर्भवती थी। आरोपी को हिरासत में ले लिया गया है। तहरीर मिलते ही आगे की कार्रवाई की जाएगी।
... और पढ़ें

रिश्तों का कत्ल: पिता ने बेटे का गला रेतकर उतारा मौत के घाट, पत्नी पर भी किया जानलेवा हमला

झोपड़ी में आग लगने से गर्भवती की मौत।
उत्तर प्रदेश के कुशीनगर जिले में एक दिल दहलाने वाली घटना सामने आई है। यहां पडरौना कोतवाली क्षेत्र अंतर्गत देवकीनगर में एक व्यक्ति ने शुक्रवार की देर रात 13 साल के बेटे की गला रेतकर हत्या कर दी। पत्नी का भी गला रेतकर हत्या करने की कोशिश की। वारदात को अंजाम देने के बाद घर छोड़कर फरार हो गया। स्थानीय लोगों की सूचना पर पहुंची पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया। हत्यारोपी घटना के दौरान नशे में धुत बताया जा रहा है।

किशोर की मां प्रीती ने रोते हुए बताया कि शुक्रवार की रात उसका पति पवन सिंह घर में आया और 13 साल के बेटे को बिस्तर लगाने के लिए बोला। जैसे ही बेटा बिस्तर लगाने लगा, पीछे से उसने बेटे का गला रेतकर मार डाला। बेटे को बचाने के लिए दौड़ी तो उसका गला भी रेतकर हत्या की कोशिश करने लगा। किसी तरह प्रीती ने जान बचाई।

घटना के बाद आरोपी मौके से भाग निकला। इस घटना की जानकारी होने पर पुलिस पहुंची और शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया। एसपी सचिंद्र पटेल ने बताया कि पति-पत्नी का आपसी विवाद है। इस विवाद में हत्या हुई है। इस घटना में आवश्यक कार्रवाई की जा रही है।
... और पढ़ें

कुशीनगर: आपसी झगड़े में पत्नी को उतारा मौत के घाट, हत्यारा पति गिरफ्तार

उत्तर प्रदेश के कुशीनगर जिले में एक हैरान करने वाला मामला सामने आया है। यहां आपसी झगड़े में एक व्यक्ति ने अपनी पत्नी को बांस से पीट- पीटकर मार डाला। सूचना पर पहुंची पुलिस ने हत्यारोपी पति को मौके से गिरफ्तार कर लिया है। हत्या में प्रयुक्त बांस के टुकड़े को भी बरामद कर लिया है।

बताया जा रहा है कि कप्तानगंज थाना क्षेत्र के कोटिया गांव निवासी राजेश नट अपनी 35 वर्षीय पत्नी हिना और बच्चों के साथ इसी थाना क्षेत्र के पचार गांव के बाहर प्राथमिक विद्यालय के बगल में स्थित जर्जर सरकारी भवन में रहता है। वह अक्सर शराब पीकर घर आता था, जिसको लेकर पत्नी के साथ झगड़ा होता था।

स्थानीय लोगों के अनुसार, गुरुवार की देर रात राजेश और उसकी पत्नी के बीच किसी बात को लेकर झगड़ा हो गया। विवाद इस कदर बढ़ गया कि नाराज राजेश ने बांस के टुकड़े से पत्नी को पीटकर मार डाला। राजेश के के दो बेटे और एक बेटी हैं।

घटना की सूचना मिलने पर एसओ संजय कुमार सिंह, सीओ पीयूष कांत राय ने पहुंचकर घटना की जानकारी ली। पुलिस ने शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया। एएसपी रितेश कुमार सिंह ने बताया कि पुलिस ने मामले में पति के खिलाफ हत्या का मुकदमा दर्ज कर उसे जेल भेज दिया है। हत्या में प्रयुक्त बांस का टुकड़ा भी बरामद कर लिया है।
... और पढ़ें

गोरखपुर: पुलिस पर हमला करने वाले फरार, तलाश में लगी टीमें


गोरखपुर जिले के चौरीचौरा इलाके के सोनबरसा पुलिस चौकी पर तैनात सिपाहियों के साथ मारपीट करने के आरोपी पुलिस की पकड़ से दूर हैं। मामले में अब तक सिर्फ दो आरोपियों को ही पुलिस पकड़ पाई है। पुलिस अब वीडियो फुटेज की मदद से आरोपियों की पहचान करने की कोशिश में जुटी है। घटना का मुख्य आरोपित विवेकानंद यादव व रविंद्र यादव पुलिस की पकड़ से दूर हैं।

जानकारी के मुताबिक, रामपुर बुजुर्ग के 15 मील चौराहे पर 22 अक्तूबर की रात शराब पीकर उत्पात मचा रहे आरोपियों को सिपाही प्रदीप कुमार व नीलेश कुमार ने मना किया तो आरोपियों ने उनकी पिटाई कर दी थी। एसएसपी ने मामले को गंभीरता से लेते हुए आरोपियों पर रासुका तक लगाने की बात कही।

कांस्टेबल प्रदीप की तहरीर पर कुशीनगर के हाटा कोतवाली अंतर्गत पिपरपाती निवासी विवेकानंद यादव, अहिरौली थाना क्षेत्र के भगवानपुर बुजुर्ग निवासी डब्लू उर्फ अनिल सिंह, पिपराइच के सुरसरदेउरी निवासी रविंद्र यादव व हरिओम यादव के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर अनिल सिंह व हरिओम को रात में ही गिरफ्तार कर जेल भेज गया था।

इस घटना का मुख्य अभियुक्त विवेकानंद और रविंद्र की तलाश में पुलिस की चार टीमें लगातार दबिश दे रही हैं। आशंका जताई जा रही है कि विवेकानंद ने नेपाल में शरण ले ली है। पुलिस के मुताबिक विवेकानंद शातिर अपराधी है। उसके ऊपर हाटा कोतवाली में कई धाराओं के साथ एससी एसटी एक्ट का मुकदमा भी दर्ज है।  

चौरीचौरा सीओ जगत कनौजिया ने कहा कि हमला करने वाले नामजद विवेकानंद यादव और रविंद्र यादव की तलाश में दबिश दी जा रही है। जल्द ही दोनों आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया जाएगा।
 
... और पढ़ें

कुशीनगर: कर्ज चुकाने के लिए रची थी खुद के अपहरण की साजिश, जानिए कैसे हुआ खुलासा

कुशीनगर जिले के खड्डा थाना क्षेत्र के बंजारीपट्टी से गायब युवक के अपहरण की झूठी कहानी का पुलिस ने पर्दाफाश कर दिया है। सर्विलांस टीम ने उसके नंबर के जरिए पता लगाकर उसे कप्तानगंज के निकट पकड़ लिया। इस दरम्यान पुलिस घंटों परेशान रही। पूछताछ में उसने बताया कि कर्ज चुकाने के लिए अपने अपहरण की साजिश रची थी।

जानकारी के अनुसार, खड्डा पुलिस को रविवार की शाम को बंजारीपट्टी गांव के निवासी अभिमन्यु शर्मा ने सूचना दी थी कि उसके भाई रतन शर्मा का अपहरण हो गया है। उसके मोबाइल से 40 हजार रुपये की फिरौती मांगी जा रही है। इसकी सूचना मिलते ही हड़कंप मच गया। सीओ खड्डा शिवाजी सिंह के नेतृत्व में खड्डा के एसआई पीके सिंह, एसओ हनुमानगंज पंकज गुप्ता की टीम ने एसपी को सूचना देकर खोजबीन शुरू कर दी थी। इसमें एसओजी व सर्विलांस टीम को भी शामिल किया गया। कप्तानगंज थाने के एसओ संजय कुमार सिंह के नेतृत्व में पुलिस ने रविवार की देर रात कप्तानगंज के पास रतन शर्मा को पकड़ लिया।

पूछताछ में रतन शर्मा ने पुलिस को बताया कि उसके ऊपर 40 हजार रुपये कर्ज था। कर्ज देने वाले लोग अपनी रकम मांग रहे थे। उसने सोमवार को ही रकम देने का वादा किया था। पैसै का कोई व्यवस्था नहीं हो पाया तो अपने अपहरण का नाटक किया। उसने अलग- अलग लोगों से दिल्ली में अपने भाई को अपहरण की सूचना भिजवाई थी। अपने खाते में 40 हजार रुपये डालने को कहा था।

रतन ने बताया कि वह बिहार के वाल्मीकि नगर रोड स्टेशन चला गया। वहां से ही पैसा मांगने लगा। इसके बाद पैसेंजर ट्रेन से कप्तानगंज स्टेशन के पहले खुशहाल नगर हाल्ट पर उतर गया। वहां से पुलिस ने पकड़ लिया गया।

एसआई पीके सिंह ने बताया की रतन शर्मा ने कर्ज चुकाने के लिए अपहरण की झूठी कहानी गढ़ी थी। कप्तानगंज से रतन को पकड़ लिया गया है। पहले उसने इधर-उधर की कहानी बताई। बाद में हकीकत बता दिया। उसे कागजी कार्रवाई पूरा करके परिजनो को सौंप दिया गया। 
... और पढ़ें

कुशीनगर: अवैध संबंधों के शक में की थी पत्नी की हत्या, आरोपी पति गिरफ्तार

कुशीनगर जिले के रामकोला स्थानीय थाना क्षेत्र के गांव खोटही टोला परसिया में हुई महिला की हत्या का पुलिस ने सोमवार को पर्दाफाश कर दिया। पुलिस महिला के पति को गिरफ्तार कर विधिक कार्रवाई में जुटी है। शनिवार सुबह करीब 10 बजे शराबी पति ने पत्नी की पीट-पीटकर हत्या कर दी थी। पुलिस की पूछताछ में आरोपी ने अवैध संबंधों के शक में हत्या करने की बात कही है।

एसओ डीके सिंह ने बताया कि थाना क्षेत्र के खोटही परसिया गांव निवासी मोती खटीक की पत्नी सुनीता (26) अपने घर पर रहती थी, जबकि पति गोरखपुर में कार्य करता था। जांच के दौरान पता चला कि वह जब भी घर पर आता था तो शराब के नशे में पत्नी सुनीता को मारता पीटता रहता था। उसे शक था कि उसकी पत्नी का किसी अन्य व्यक्ति से अवैध संबंध है।

शनिवार की सुबह जब वह घर आया तो पत्नी सुनीता से उसकी कहासुनी हो गई। इसी दौरान उसने शीशम के डंडे से उसे मारने लगा। महिला के सिर पर डंडा लगने से उसकी पत्नी अचेत होकर गिर गई। पिटाई से गंभीर रूप से घायल पत्नी की मौके पर ही मौत हो गई।

गांव के चौकीदार बालकिशोर की सूचना पर पहुंची पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर मुकदमा दर्ज कर जांच कर रही थी। इसमें हत्यारोपी पति मोती खटीक ने पूछताछ में पुलिस को बताया कि पत्नी पर अवैध संबंधों के चलते हत्या करने का बात स्वीकार की है। उसकी निशानदेही पर हत्या में प्रयुक्त शीशम का डंडा बरामद कर लिया गया।
... और पढ़ें

यूपी: कुशीनगर में मेला देखने गए किशोर की गला काटकर नृशंस हत्या, जांच में जुटी पुलिस

उत्तर प्रदेश के कुशीनगर जिले से एक दिल दहला देने वाली घटना सामने आई है। यहां सेरहवी कस्बे के अंबेडकर नगर मोहल्ले के एक किशोर की गला काटकर बेरहमी से हत्या कर दी गई है। किशोर का शव गुरुवार की सुबह चीनी मिल के केन यार्ड में मिला। शव मिलने की सूचना पर ग्रामीणों की भारी भीड़ जुट गई। इसी बीच किसी ने घटना की जानकारी पुलिस को दी। सूचना पर पहुंची पुलिस ने शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है। पुलिस घटना की जांच में जुटी है।

बताया जा रहा है कि सेवरही कस्बे के वार्ड नंबर 20 अंबेडकर नगर निवासी परदेशी का पुत्र ऋतिक बुधवार की रात दुर्गा पूजा का मेला देखने गया था। उसके बाद से घर नहीं लौटा। देर रात तक न लौटने पर परिजनों ने काफी खोजबीन की, लेकिन उसका कुछ पता नहीं चला।

इधर, गुरुवार की सुबह सेवरही चीनी मिल के केन यार्ड की तरफ फूल तोड़ने गए लोगों ने शव देखा तो सन्न रह गए। शोर सुनकर पहुंचे ग्रामीणों ने उसकी पहचान ऋतिक के रूप में की। जानकारी होते ही घटनास्थल पर पहुंचे परिजन शव से लिपटकर रोने लगे। परिजनों का बिलखना देख हर किसी की आंखें भर आईं। वहीं पुलिस ने शव को पोस्टमार्टम के लिए भेजा और घटना की जांच में जुट गए।
... और पढ़ें
एप में पढ़ें
जानिए अपना दैनिक राशिफल बेहतर अनुभव के साथ सिर्फ अमर उजाला एप पर
अभी नहीं

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00