विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
एक माह तक वृंदावन बिहारी जी मंदिर में कराएं चन्दन तुलसी इत्र सेवा , मिलेगा नौकरी व व्यापार से जुड़े समस्याओं का समाधान
Puja

एक माह तक वृंदावन बिहारी जी मंदिर में कराएं चन्दन तुलसी इत्र सेवा , मिलेगा नौकरी व व्यापार से जुड़े समस्याओं का समाधान

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
Digital Edition

प्रयागराज: कॉलेज में घुसकर कर्मचारी की गोली मारकर हत्या, दो महीने में पांचवी वारदात

अधिवक्ता हत्याकांड का खुलासा हुए अभी 24 घंटे भी नहीं बीते थे कि एक और हत्या से सोरांव फिर दहल उठा। यहां स्थित रामलखन महाविद्यालय के भीतर ही चतुर्थश्रेणी कर्मचारी योगेश यादव(36) की गोली मारकर हत्या कर दी गई। आरोप साथी कर्मचारी पर है जो घटना के बाद से गायब है। घटना की वजह का पता नहीं चल सका है। पुलिस नामजद रिपोर्ट दर्ज कर आरोपी की तलाश कर रही है। 

थरवई, इस्माइलगंज का रहने वाला योगेश पुत्र परमानंद यादव सरायबाहर गांव स्थित रामलखन महाविद्यालय में छह साल से बतौर चतुर्थश्रेणी कर्मचारी काम करता था। गर्मी की छुट्टी के बाद एक दिन पहले ही कॉलेज खुला और यहां साफ-सफाई का कार्य शुरू हुआ। रोज की तरह कॉलेज पहुंचकर शनिवार सुबह भी वह कामकाज में जुट गया। 9.45 बजे के करीब जब वह लाइब्रेरी में था तभी गोली अचानक गोली चली। फायरिंग की आवाज सुनकर लोग भागकर पहुंचे तो देखा कि वह मृत पड़ा था।

गोली उसके सिर में लगी थी और मौके पर काफी खून भी बिखरा हुआ था। कॉलेज में हत्या की खबर से गांव में सनसनी फैल गई। सूचना पर सोरांव पुलिस के साथ ही सीओ व एसपी गंगापार भी पहुंच गए। पूछताछ में पता चला कि घटना के बाद से कॉलेज में ही तैनात एक अन्य चतुर्थश्रेणी कर्मचारी रामबाबू उर्फ मझारी गायब है जो घटना के वक्त घटनास्थल पर मौजूद था। ऐसे में आशंका जताई गई कि हत्या उसने ही की। उधर तब तक सूचना मिलने पर परिजन भी पहुंच गए। पुलिस ने पूछताछ की लेकिन वह किसी तरह के विवाद की जानकारी से इंकार करते रहे। भाई बृजेश की तहरीर पर पुलिस ने आरोपी के खिलाफ नामजद रिपोर्ट दर्ज कर उसकी तलाश शुरू कर दी है। 

तहरीर के आधार पर मुकदमा दर्ज कर आरोपी की तलाश शुरू कर दी गई है। उसके पकड़े जाने के बाद ही वारदात की वजह साफ हो सकेगी। 
नरेंद्र प्रताप सिंह, एसपी गंगापार
... और पढ़ें

गलत अल्ट्रासाउंड रिपोर्ट देकर गर्भपात कराने का बनाया दबाव

फतेहगंज पश्चिमी। अल्ट्रासाउंड सेंटर संचालक ने गलत रिपोर्ट देकर गर्भ में शिशु की मौत बताकर परिवार के होश उड़ा दिए। गर्भवती का इलाज कर रही महिला डॉक्टर ने रिपोर्ट को सही ठहराते हुए पति पर पत्नी को गर्भपात कराने को दबाव डाला। बाद में जब बरेली में अल्ट्रासाउंड कराया गया तो रिपोर्ट नार्मल आई।
गांव पंथरा निवासी नेत्रपाल की गर्भवती पत्नी का इलाज कस्बे की एक महिला डॉक्टर के यहां चल रहा है। 19 जून को वह पत्नी को दिखाने पहुंचे तो डॉक्टर ने बच्चे की स्थित जानने के लिए अल्ट्रासाउंड कराने को कहा। नेत्रपाल ने उनकी सलाह पर कस्बा के ही एक सेंटर पर अल्ट्रासाउंड कराया, जहां रिपोर्ट निगेटिव दी गई। महिला डॉक्टर ने गर्भ में बच्चे को मृत बताकर पत्नी की जान को खतरा बताते हुए तुरंत गर्भपात कराने का दबाव बनाया। चार हजार खर्च भी बता दिया। नेत्रपाल को भरोसा नहीं हुआ तो वह कुछ देर में आने की बात कहकर चले आए। फिर उन्होंने बरेली के एस सेंटर पर अल्ट्रासाउंड कराया तो रिपोर्ट नार्मल आई। बच्चा जीवित था। जब इस रिपोर्ट के बारे में कस्बा स्थित अल्ट्रासाउंड सेंटर संचालक को बताया तो वह उल्टा हड़काने लगा। किसी को नहीं बताने की हिदायत दी। नेत्रपाल ने फतेहगंज पश्चिमी थाने में तहरीर दी है। पुलिस मामले की जांच कर रही है। ब्यूरो
... और पढ़ें

आंगन में सोता रहा परिवार और चोर समेट ले गए लाखों का माल

मीरगंज। हल्दी खुर्द गांव में आंगन में गहरी नींद में सोये परिवार के घर को निशाना बनाकर चोर लाखों रुपये की नकदी, जेवर चोरी कर फरार हो गए। सूचना पर पहुंची पुलिस ने चोरों की तलाश में कांबिंग की, लेकिन वे हाथ नहीं लगे।
मीरगंज थाना क्षेत्र के गांव हल्दी खुर्द के सलीम के घर में निर्माण कार्य चल रहा है। मकान के किसी दरवाजे पर किवाड़ नहीं है। गुरुवार रात परिवार आंगन में सो रहा था। किसी समय मौका पाकर चोर घुस आए और 34 हजार रुपये नकद सहित सोने चांदी के जेवर चोरी कर ले गए।
घर में खटपट की आवाज सुनकर उनके भाई इस्लाम नबी की पत्नी आशमा की आंख खुल गई तो उसे देखकर दो चोर घर से निकल कर भागे। जब उसने शोर मचाया तो गांव में जाग हो गई। लोगों ने उस गली से दो और चोरों को भागते हुए देखा। तभी गांव वालों ने मीरगंज पुलिस को फोन कर सूचना दी। पुलिस गांव में पहुंच गई और ग्रामीणों के साथ जंगल में खोजबीन की, लेकिन चोरों का कोई पता नहीं चला। शुक्रवार को सलीम ने मीरगंज थाने पहुंच कर चोरों के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज कराई है। पुलिस इस मामले की जांच कर रही है। ब्यूरो

प्रधान सहित तीन को शांतिभंग की आशंका में चालान
मीरगंज। थाना के गांव धंतिया में प्रधान पक्ष और कोटेदार पक्ष में विकास कार्यों की जांच कराने को लेकर हुए विवाद के मामले में पुलिस ने तीन लोगों को गिरफ्तार कर शांतिभंग की आशंका में चालान कर दिया। कुछ ग्रामीणों ने ग्राम प्रधान श्रीपाल पर विकास कार्यों में अनियमितताएं करने का आरोप लगाकर शिकायत उच्चाधिकारियों से की थी। जिसकी जांच करने एडीओ व ग्राम विकास अधिकारी गांव पहुंचे थे। वहां पर आपस में मारपीट हो गई, जिसमें छह लोग घायल हुए थे। पुलिस ने दोनों तरफ से 12 लोगों के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज की थी। जिसमें ग्राम प्रधान श्रीपाल, चंद्रभान और गोधन राम को गिरफ्तार कर शांतिभंग की आशंका में चालान कर दिया। ब्यूरो
... और पढ़ें

प्रयागराज तिहरे हत्याकांड में सामने आया चौंकाने वाला सच, पुलिस ने सुना होता तो जिंदा होते तीन लोग!

Prayagraj Triple Murder Case Prayagraj Triple Murder Case

गोरखपुर में भी हो चुका है प्रयागराज जैसा कांड, पांच लोगों की हत्या कर की थी लूटपाट

प्रयागराज में एक ही परिवार के पांच लोगों की हत्या और लूटपाट जैसी वारदातें गोरखपुर में ही दो बार हो चुकी हैं। वर्ष 2002 में खोराबार के शिवाजी नगर में बावरिया गिरोह ने एक ही परिवार के पांच लोगों की हत्या कर लूटपाट की थी। इसी तरह गोरखनाथ इलाके में भी एक ही परिवार के चार सदस्यों की हत्या कर बावरिया द्वारा ही डकैती की घटना हुई थी। वहीं बेलीपार में भी हत्या कर डकैती हुई थी।

ऐसी वारदातों को रोकने के मकसद से हर जिले की पुलिस सख्त हो गई है। पुलिस अब नई कालोनियों और घुमंतू जाति के लोगों पर विशष नजर रखेगी। सोमवार को एडीजी जोन दावा शेरपा ने सभी एसएसपी व एसपी को पत्र लिखकर सख्ती बरतने और रात्रिगश्त बढ़ाने का निर्देश दिया है।

एडीजी जोन ने जोन के ग्यारह जिलों की पुलिस को अपने-अपने इलाकों के अवैध व नई कॉलोनियों में गश्त बढ़ाने को कहा है। साथ ही कच्छा बनियान, बावरिया गिरोह व घुमंतू जातियों के लोगों की निगरानी करने का निर्देश दिया है।

पत्र में उन्होंने रेलवे स्टेशन, ढाबों, सरायों, बाग बगीचों या सड़क किनारे रहने वाले बाहरी लोगों की निगरानी और उनका पूरी जानकारी लेने का निर्देश दिया है। एडीजी का मानना है कि ठंड और भारी कोहरे से चोरी की घटनाओं में इजाफा हो रहा है। साथ ही ऐसे मौसम में डकैती की भी घटनाएं होती हैं। लिहाजा पिछले कुछ वर्षो में चोरी और डकैती के मामलों में जेल जा चुके बदमाशों की निगरानी की जाए।

वर्जन
पुलिस को विशेष सतर्कता बरतने को कहा है। घटनाओं को रोकने के लिए घुमंतू जातियों व कच्छा बनियान गिरोह के सदस्यों की निगरानी व रात्रि गश्त बढ़ाने का निर्देश दिया गया है।
- दावा शेरपा, एडीजी जोन
... और पढ़ें

एक पत्नी और बच्चा पहले से, अफसर ने की दूसरी शादी, ऐसा हुआ अंजाम

कर्नलगंज पुलिस ने पत्नी के रहते दूसरी शादी करने के आरोपी स्वास्थ्य विभाग अफसर अमित कुमार सोनकर को गिरफ्तार कर लिया है। सालभर से वांछित आरोपी को कर्नलगंज क्षेत्र से ही गिरफ्तार किया गया।

पुलिस ने बताया कि छोटा बघाड़ा निवासी सुमन लता की शादी 2016 में बस्ती निवासी अमित से हुई थी। वह बस्ती के ही सरकारी अस्पताल में संविदा पर प्रोग्रामिंग हेड है। शादी के बाद पता चला कि आरोपी पहले से विवाहित है और उसकी एक संतान भी है।

आरोप है कि विरोध पर उसने पत्नी को मारपीट कर घर से निकाल दिया। पिछले साल पीड़िता ने कर्नलगंज थाने में केस दर्ज कराया। जिसके बाद से पुलिस उसकी तलाश में जुटी थी। मंगलवार को चौकी प्रभारी मनोज सिंह ने उसे गिरफ्तार कर लिया। बताया कि आरोपी को जेल भेजा जा रहा है।

बिना तलाक की दूसरी शादी, मुकदमा

चकिया निवासी जीनत जहां पुत्री मो. यूनुस ने बिना तलाक दूसरी शादी करने के आरोप में रेलकर्मी पति सैयद नौशाद हुसैन पर करेली थाने में केस लिखाया है। आरोप है कि 2004 में विवाह के बाद एक पुत्र को जन्म दिया। हालांकि पति ने 2007 में उसे मायके में छोड़ दिया और फिर नहीं ले गए।

आरोप है कि बिना तलाक हुए पति ने नौ दिसंबर को दूसरा विवाह अकबरपुर स्थित गेस्ट हाउस में कर लिया है। करेली पुलिस ने बताया कि तहरीर के आधार पर मामला दर्ज कर जांच की जा रही है।
... और पढ़ें

झाड़ी में मिला युवती का शव, रेप के बाद हत्या की आशंका, कॉल डिटेल्स से पता चलेगा कौन है कातिल

marrige
फूलपुर/प्रतापपुर। सराय ममरेज के वारी-दुर्गागंज मार्ग पर नई बस्ती गांव के सामने सोमवार को एक युवती की बेरहमी से हत्या कर शव सड़क किनारे झाड़ियों में फेंक दिया गया। युवती के कपड़े अस्त-व्यस्त थे। पुलिस को पास में ही उसका मोबाइल मिला, जिसके आधार पर पता चला कि मोबाइल जौनपुर के मीरपुर थाना क्षेत्र की रहने वाली युवती का है। वह घर से लापता है। पुलिस की एक टीम मीरपुर भेजी गई है। आशंका व्यक्त की जा रही है कि हत्या से पहले युवती के साथ दुष्कर्म भी किया गया।

सरायममरेज थाना क्षेत्र के वारी-दुर्गागंज मार्ग पर नई बस्ती गांव के सामने झाड़ियों में करीब 35 साल की युवती का शव पड़ा हुआ था। उसके कपड़े अस्त व्यस्त थे। कातिलों ने चेहरे समेत शरीर पर तमाम जगह चाकुओं से वार कर उसकी हत्या की थी। सोमवार को दिन में घास काटने गई एक महिला ने शव देखा तो उसने शोर मचाया। सूचना पर पुलिस पहुंच गई। प्रभारी एसपी गंगापार भी पहुंचे। फोरेंसिक टीम ने जांच-पड़ताल की। इसी दौरान वहां एक मोबाइल मिल गया। पुलिस ने कई नंबरों पर काल किया लेकिन उठा नहीं। शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया गया।

एसपी गंगापार के मुताबिक घटनास्थल के पास छानबीन की गई। वहां ज्यादा खून नहीं था। जिस तरह से उसके पूरे शरीर को चाकुओं से गोदा गया है, वहां भारी मात्रा में खून गिरा होना चाहिए थे। इसी से आशंका जताई जा रही है कि उसे कहीं और से मारकर यहां सुनसान जगह पर शव फेंक दिया गया। फिलहाल जांच अभी प्रारंभिक अवस्था में है। शव के पास से जो मोबाइल मिला, उस पर बाद में एक महिला ने काल किया था। उसने बताया कि जौनपुर के मीरपुर की रहने वाली युवती लापता है। मोबाइल भी उसी का है। पुलिस की एक टीम मीरपुर भेज दी गई है। उसके अस्त व्यस्त कपड़ों से लोगों ने दुष्कर्म की आशंका जताई है। पोस्टमार्टम से इस बात का खुलासा हो सकेगा।

मोबाइल कॉल डिटेल्स से पता चलेगा कौन है कातिल
फूलपुर। युवती के शव के पास से जो मोबाइल मिला है, उसकी कॉल डिटेल्स निकलवाई जा रही है। फिलहाल कॉल लाग में जो भी मोबाइल नंबर मिले, उनमें अधिकांश बंद हैं या फिर उठ नहीं रहे हैं। पुलिस का कहना है कि कॉल डिटेल्स मिलने के बाद कातिलों के बारे में पूरी जानकारी मिल जाएगी।

अगस्त में मिले शव की अब तक शिनाख्त नहीं
जगतपुर। उतरांव के पयागीपुर हाईवे के पास 21 अगस्त को एक युवती की गला दबाकर हत्या के बाद कातिलों ने शव सर्विस लेन के बगल खेतों में फेंक दिया था। इस घटना को तीन महीने बीत गए लेकिन अभी तक युवती की शिनाख्त नहीं हो पाई।
... और पढ़ें

एलटी ग्रेड शिक्षक भर्ती परीक्षा के पेपर लीक मामले में अंजू और कौशिक के खिलाफ आरोप पत्र दाखिल

एलटी ग्रेड शिक्षक भर्ती परीक्षा में धांधली की आरोपी उत्तर प्रदेश लोक सेवा आयोग की निलंबित परीक्षा नियंत्रक अंजू कटियार और कौशिक कुमार के खिलाफ सोमवार को भ्रष्टाचार निवारण अधिनियम की कोर्ट में पुलिस ने 250 पन्ने से ज्यादा का आरोप पत्र दाखिल किया। प्रकरण के शेष अन्य सात आरोपियों के खिलाफ कुर्की की कार्रवाई की प्रक्रिया चल रही है। अंजू के खिलाफ आरोप पत्र दाखिल करने के लिए पुलिस अब तक शासन स्तर से अभियोजन की अनुमति मिलने का इंतजार कर रही थी।

2018 में आयोजित एलटी ग्रेड शिक्षक भर्ती परीक्षा में हुई धांधली का खुलासा 28 मई 2019 को एसटीएफ ने किया था। प्रकरण में कोलकाता निवासी प्रिंटिंग प्रेस मालिक कौशिक कुमार को चोलापुर क्षेत्र से गिरफ्तार किया गया। इसके बाद 30 मई को अंजू कटियार को प्रयागराज से गिरफ्तार किया गया।

ये भी पढ़ें : 
भाजपा के खिलाफ ये बयान देकर फंसे ओमप्रकाश राजभर, मऊ में केस दर्ज और वाराणसी में शिकायत

फिलहाल दोनों जिला जेल में बंद हैं। इस मामले में वांछित अन्य सात आरोपियों की अग्रिम जमानत याचिका जनपद न्यायालय से खारिज हो चुकी है। एसएसपी आनंद कुलकर्णी ने बताया कि अंजू और कौशिक के खिलाफ धोखाधड़ी, भ्रष्टाचार, आपराधिक षड्यंत्र सहित अन्य आरोपों के संबंध में पुलिस के पास पर्याप्त साक्ष्य हैं।
... और पढ़ें

वाराणसी : ट्रेन से उतरते वक्त नीचे गिरा जवान, अस्पताल में इलाज के दौरान थम गईं सांसें

प्रयागराज जंक्शन पर सोमवार रात हुए हादसे में आरएएफ जवान की मौत हो गई। प्लेटफार्म पर उतरते वक्त वह नीचे गिरकर ट्रेन की चपेट में आ गए, जिससे गंभीर चोटें आईं। इलाज के लिए जवान को एसआरएन अस्पताल पहुंचाया गया, जहां देर रात उनकी सांसें थम गईं।

वाराणसी के बड़ागांव थाना अंतर्गत हसनपुर गांव निवासी राघवेंद्र सिंह(40) शांतिपुरम स्थित आरएएफ 101 बटालियन की डी कंपनी में कांस्टेबल के पद पर तैनात थे। पिछले दिनों छुट्टी पर वह दिल्ली गए थे, जहां से सोमवार को वह संपूर्ण क्रांति एक्सप्रेस से फाफामऊ में बटालियन परिसर स्थित अपने आवास पर लौट रहे थे।

रात 12.48 बजे के करीब ट्रेन प्लेटफार्म नंबर चार से होकर गुजर रही थी। इसी दौरान राघवेंद्र ने नीचे उतरने का प्रयास किया। हालांकि इस दौरान वह खुद को संभाल नहीं सके और ट्रैक पर गिरकर ट्रेन की चपेट में आ गए। हादसे में उनके पैर कट गए और शरीर के अन्य हिस्सों में भी गंभीर चोटें आईं।
... और पढ़ें

यूपीपीएससी : पेपर लीक मामले में छह आरोपियों की अग्रिम जमानत अर्जी खारिज

एलटी ग्रेड शिक्षक भर्ती परीक्षा के पेपर लीक मामले में आरोपी चोलापुर थाना के दशनीपुर के शैलेंद्र कुमार सिंह, जौनपुर के नेवढ़िया के अजीत कुमार व अजय कुमार चौहान, गाजीपुर के सुहवल के प्रभुदयाल सिंह यादव और आसनसोल के गणेश व रंजीत की अग्रिम जमानत अर्जी खारिज कर दी गई। यह आदेश विशेष न्यायाधीश भ्रष्टाचार निवारण अधिनियम चतुर्थ रामचंद्र की अदालत ने दिए।

आरोपियों की अग्रिम जमानत अर्जी का विरोध प्रभारी डीजीसी मुन्नालाल यादव और एडीजीसी विनय कुमार सिंह ने किया। यूपीपीएससी द्वारा जुलाई 2018 में आयोजित एलटी ग्रेड शिक्षक भर्ती परीक्षा में हुई धांधली का 28 मई 2019 को एसटीएफ ने खुलासा किया था।

प्रकरण में कोलकाता निवासी प्रिंटिंग प्रेस मालिक कौशिक कुमार कर और उत्तर प्रदेश लोक सेवा आयोग की तत्कालीन परीक्षा नियंत्रक अंजू कटियार को गिरफ्तार कर जेल भेजा गया था। मामले की जांच कर रहे विवेचक के अनुसार, चोलापुर थाने में दर्ज इस मुकदमे की तफ्तीश अंतिम दौर में हैं और चार्जशीट जल्द ही अदालत में दाखिल की जाएगी।
... और पढ़ें

मोबाइल चोरी होने पर कांवरियों ने किया चक्का जाम, पुलिस ने ढूंढने के लिए मांगा समय

वाराणसी में मंगलवार को प्रयागराज से चले कांवरिया काशी में जल चढ़ाकर वापस लौटने लगे। वह जैसे ही मंडुवाडीह में खड़े अपने वाहन के पास पहुंचे तो पता चला कि उनके मोबाइल से भरे बैग गायब हैं। दिनभर इंतजार के बाद जब मोबाइल नहीं मिले तो गुस्साए कांवरियों ने मंडुवाडीह थाने के पास चक्का जाम कर दिया।

जानकारी के अनुसार सोमवार को प्रयागराज से जल भर कर कौलापुर गोपीगंज से तकरीबन 25 की संख्या में मैजिक गाड़ी के साथ आए कांवरियों की गाड़ी को जाम के चलते मडुंवाडीह पुलिस ने त्रिमुहानी पर खड़ा करा दिया। ड्राइवर को छोड़ सभी कांवरिया दर्शन और जलाभिषेक के लिए बाबा विश्वनाथ धाम के लिए रवाना हो गए।

गाड़ी पर केवल जितेंद्र कुमार दूबे और गुलाब धर दूबे रुक गए। मंगलवार सुबह में लगभग 4 बजे दोनों उठकर के गाड़ी के बगल में लघुशंका के लिए गए। इस दौरान उन लोगों ने लघु शंका कर लौट कर आते वक्त गाड़ी से कुछ दूरी पर दो औरतों को देखा। दोनों गाड़ी के पास पहुंचे तो एक ही बैग में रखे हुए 14 कांवरियों के मोबाइल व लगभग 15 सौ रुपये नगदी समेत बैग गायब थे।
... और पढ़ें

पेपर लीक मामला : एसआईटी ने यूपीपीएससी के पूर्व चेयरमैन से घंटों तक की पूछताछ, धांधली से झाड़ा पल्ला

एलटी ग्रेड शिक्षक भर्ती परीक्षा धांधली की जांच कर रही स्पेशल इन्वेस्टिगेशन टीम (एसआईटी) ने शनिवार को उत्तर प्रदेश लोक सेवा आयोग के पूर्व चेयरमैन डॉ अनिरुद्ध सिंह यादव से आठ घंटे तक पूछताछ की। इस दौरान डॉ अनिरुद्ध ने परीक्षा में हुई धांधली से पूरी तरह अनभिज्ञता जताते हुए अपना पल्ला झाड़ा।

डॉ अनिरुद्ध ने कहा कि परीक्षा के पेपर कहां छपे और कैसे लीक हुए, इसके संबंध में उन्हें कोई जानकारी नहीं है। एसआईटी के सदस्यों के अनुसार डॉ अनिरुद्ध के जवाब काफी हद तक संतोषजनक नहीं प्रतीत हुए हैं और जरूरत पड़ेगी तो उन्हें दोबारा नोटिस जारी कर पूछताछ की जाएगी।

यूपीपीएससी द्वारा जुलाई 2018 में आयोजित एलटी ग्रेड शिक्षक भर्ती परीक्षा में हुई धांधली को उजागर कर एसटीएफ ने बीते मई महीने में कोलकाता निवासी प्रिंटिंग प्रेस मालिक कौशिक कुमार को गिरफ्तार किया था। इसके बाद आयोग की तत्कालीन परीक्षा नियंत्रक अंजू कटियार को गिरफ्तार किया गया था। शिक्षक भर्ती परीक्षा जब आयोजित हुई थी तो उस दौरान डॉ अनिरुद्ध उत्तर प्रदेश लोक सेवा आयोग के चेयरमैन थे। इस वजह से एसआईटी ने उन्हें नोटिस जारी कर पूछताछ के लिए बुलाया।
... और पढ़ें
Election
  • Downloads

Follow Us

विज्ञापन