विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
महालक्ष्मी मंदिर, मुंबई में कराएं दिवाली लक्ष्मी पूजा और घर बैठें पाएं प्रसाद : 27-अक्टूबर-2019
Astrology Services

महालक्ष्मी मंदिर, मुंबई में कराएं दिवाली लक्ष्मी पूजा और घर बैठें पाएं प्रसाद : 27-अक्टूबर-2019

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

From nearby cities

कमलेश तिवारी हत्याकांड: प्रभारी सीजेएम के घर पेश किए गए आरोपी, तीन दिन की रिमांड पर भेजा

हिंदू समाज पार्टी के नेता कमलेश तिवारी हत्याकांड से जुड़े एक अन्य आरोपी आसिम को गिरफ्तार कर एटीएस लखनऊ ले आई और उससे गहन पूछताछ की गई।

22 अक्टूबर 2019

विज्ञापन
विज्ञापन

प्रयागराज

मंगलवार, 22 अक्टूबर 2019

रैगिंग के आरोप में इविवि के दस छात्र निलंबित

रैगिंग के आरोप में इविवि के दस छात्र निलंबित
शताब्दी ब्वॉयज हॉस्टल मामले में इविवि प्रशासन ने की कार्रवाई
सभी को नोटिस जारी, अधीक्षक को सौंपी गई थी मामले की जांच
प्रयागराज। इलाहाबाद विश्वविद्यालय (इविवि) के शताब्दी ब्वॉयज हॉस्टल में रैगिंग के आरोप में बीएएलएलबी के 10 छात्रों को निलंबित कर दिया गया है। साथ ही उन्हें कारण बताओ नोटिस जारी करते हुए 25 अक्तूबर को शाम चार से पांच बजे के बीच कुलानुशासक कार्यालय में व्यक्तिगत रूप से उपस्थित होकर स्पष्टीकरण देने को कहा गया है। नोटिस में उनसे पूछा गया है कि क्यों न उनके खिलाफ कठोर अनुशासनात्मक कार्रवाई की जाए।
चीफ प्रॉक्टर प्रो. राम सेवक दुबे की ओर से जारी नोटिस में कहा गया है कि यह अपराध गंभीर श्रेणी आता हैं, इसलिए आरोपी छात्रों को तत्काल प्रभाव से इविवि से निलंबित किया जाता है। जिन्हें निलंबित किया गया है, उनमें बीएएलएलबी द्वितीय वर्ष के छात्र गौतम आनंद, अपूर्वाराज, अभिषेक कुमार तिवारी, तृतीय वर्ष के छात्र निर्भय सिंह, शिखर श्रीवास्तव, सुजीत कुमार अग्रहरि, अविनाश कुमार, चौथे वर्ष के छात्र वैभव आनंद और बीएएलएलबी पांचवें वर्ष के छात्र गोपाल नाथ कर्ना एवं राहुल वर्मा शामिल हैं।
बीएएलएलबी के सीनियर छात्रों पर आरोप है कि वे अपने जूनियरों को पूरी रात हॉस्टल के बाहर बैठाकर रखते हैं और उनके साथ अभद्रता एवं गाली-गलौजी करते हैं। जूनियर छात्रों ने इसकी शिकायत केंद्रीय मानव संसाधन विकास मंत्रालय में की थी। साथ ही छात्रों के अभिभावकों ने चीफ प्रॉक्टर से मिलकर शिकायत दर्ज कराई थी, जिसके बाद चीफ प्रॉक्टर प्रो. रामसेवक दुबे ने हॉस्टल में जूनियर छात्रों के साथ बैठक कर प्रथम दृष्टया आरोप सही पाए थे। मामले की जांच हॉस्टल के अधीक्षक का सौंपी गई थी। साथ ही चीफ प्रॉक्टर एवं डीएसडब्ल्यू ने हॉस्टल का औचक निरीक्षण भी किया था।
... और पढ़ें

अमर उजाला शापिंग कार्निवाल : खुशियों की बारिश में हर लम्हा यादगार

खुशियों की बारिश में हर लम्हा यादगार
दीपोत्सव केरंग में रंगी सिविल लाइंस में अमर उजाला शापिंग कार्निवाल की तीसरी शाम
हाथी-घोड़े, बग्घियों की सवारी के लिए उमड़े बच्चे-महिलाएं
प्रयागराज। हर कदम पर आंखें ठहर गईं। हर लम्हा यादगार बना। कहीं झूले तो कहीं चर्खियों का शोर तो कहीं हाथी -घोड़े की सवारी की धूम। खरीददारी संग मस्ती, मनोरंजन और संगीत की जुगलबंदी के शापिंग कार्निवाल की तीसरी शाम सोमवार को हर किसी के जेहनोदिल में रच बस गई। दीपोत्सव के इस मेले में खुशियों के हजार रंग छा गए।
अमर उजाला के शापिंग कार्निवाल की रंगत सोमवार की शाम ढलते ही निखर गई। जगह-जगह अमर उजाला के कूपन दिखाकर हाथी, घोड़े, बग्घियों की सवारियां करने के लिए लोग बच्चों-महिलाओं के साथ अपनी बारी के इंतजार में खड़े नजर आए। धूमनगंज के अमित जायसवाल अपनी पत्नी व बच्चे के साथ बग्घी से सिविल लाइंस की चौड़ी सड़कों पर सैर कर मुग्ध थे। उनका कहना था कि इस मेले में आकर जी भर के मस्ती करने का मौका मिला। इसी तरह बलुआ घाट के सुजीत श्रीवास्तव अपनी पत्नी व बेटे संग मेला दिखने पहुंचे। ऐसे सैकड़ों जोड़ों ने खरीदारी संग मेले का आनंद उठाया। चाट, पकौड़े, गोलगप्पे के स्टालों पर स्वाद का तड़का भी खूब लग रहा था। शॉपिंग कार्निवाल के विस्तार के भी चर्चे खूब हो रहे थे। बिग बाजार से पत्थर गिरजा घर तक सड़क की दोनों पटरियों पर लंग-बिरंगी झालरों और रोड लाइट की सजावट देखते बन रही थी। सुभाष चौराहा से आगे बिग बाजार तक और दूसरी ओर सरदार पटेल मार्ग पर हाटस्टफ चौराहे से इंदिरा भवन के आगे माया बाजार तक मेले में चहल-पहल बढ़ने से बाजार का भी रंग चटख हो गया। बाउंसी, जंपिंग झूले के अलावा ट्रेन, चरखी का आनंद उठाने के लिए बच्चों की भीड़ लगी रही। सड़कों पर फर्राटा भरते क्लाउन रिक्शे आकर्षण का केंद्र बने हुए थे।
आओ हुजूर तुमको सितारों में ले चलूं...
मेले में आए युवाओं ने अमर उजाला के मंच पर भांगड़ा-ब्रेक डांस पर मचाया धमाल
प्रयागराज। शापिंग कार्निवाल की तीसरी शाम सुर, लय, ताल के साथ परवान चढ़ी। मेला देखने आए कलाकारों को मंच मिला तो उन्होंने अपने सुरों की कशिश से लोगों का दिल जीतने में कोई कसर नहीं छोड़ी। सोमवारकी निशा ऐसे ही सुहावने माहौल में निखरी और जवां हो उठी।
रंग-बिरंगी रोशनी की चकाचौंध वाले मुक्ताकाशीय मंच पर राहुल त्रिपाठी, हरिओम, जायमा, अब्दुल रहमान, विकास, केशव ने अपनी सुरों का जादू बिखेरा। बांसुरी पर पवन ने फिल्मी धुनों को बजाकर वाहवाही बटोरी। सबसे ज्यादा ध्यान खींचा शांभवी सिंह ने। उन्होंने एक से बढ़कर एक फिल्मी नगमों पर अपनी सुरों की मिठास से लोगों को झूमने-थिरकने के लिए मजबूर कर दिया। उन्होंने जब पेश किया कि- आओ हुजूर तुमको सितारों में ले चलूं.. तो इस नगमे पर लोग बरबस थिरकने लगे। अनूप श्रीवास्तव ने भी अपने गीतों से मेले में आए दर्शकों को मुग्ध किया। इसी तरह मेला देखने आए कई युवाओं ने फिल्मी धुनों पर भांगड़ा, ब्रेक डांस पेश किया। आशीष, पूर्विका-अवंतिका वर्मा, प्रत्युष गोस्वामी,हर्ष, इलेक्ट्रो डांस एकेडमी से अक्षत और अर्थ, अभिनंदन, दिव्यांश, बृजमोहन की नृत्य की प्रस्तुति सराही गई। संचालन सौरभ ने किया।
हमारे मुख्य सहयोगी हैं पान पारस कायम। अन्य सहयोगियों में यूनाइटेड ग्रुप ऑफ इंस्टीट्यूशन, नॉलेज पार्टनर, विष्णु भगवान पब्लिक स्कूल।
कार्निवाल में कल तक शापिंग संग मस्ती
प्रयागराज। अमर उजाला के पांच दिवसीय शॉपिंग कार्निवाल में मस्ती और धमाल का मौका अबी दो दिन बाकी है। 23 अक्तूबर तक सिविल लाइंस में करीब दो किमी केदायरे में लगे इस कार्निवाल में शहर के लोग दिवाली की खुशियां लूटेंगे। शॉपिंग ड्रा कूपन पर इनाम जीतने का मौका मिलेगा। इस कार्निवाल के सहयोगी प्रतिष्ठानों में शॉपिंग करने के बाद विवरण के साथ ड्राप बाक्सेज में कूपन जमा होंगे। कार्निवाल के मेगा ड्रा में आकर्षक उपहार जीतने का मौका मिलेगा।
प्रतिभाओं को तराशने का बेहतर मौका
प्रयागराज। तो अब तनिक भी सोचिए नहीं, आप भी शापिंग कार्निवाल में आइए और अपने हुनर का प्रदर्शन कीजिए। अमर उजाला शापिंग कार्निवाल में नई प्रतिभाओं को तराशने के मंच दिया जा रहा है। सोमवार की तीसरी निशा में दर्जन भर से अधिक बाल व युवा प्रतिभाओं ने अपने सुरों के साथ थिरकन से लोगों का दिल जीता। बुधवार तक चलने वाले इस कार्निवाल में हर किसी को अमर उजाला की ओर से मंच प्रदान करने का निर्णय लिया गया है। कोई भी अपना पंजीयन कराकर कार्निवाल के मंच पर प्रस्तुति दे सकता है।
amarujala carnival :memories of every moment in the rain of happiness
amarujala carnival :memories of every moment in the rain of happiness- फोटो : ALDCOMPACT
amarujala carnival :memories of every moment in the rain of happiness
amarujala carnival :memories of every moment in the rain of happiness- फोटो : ALDCOMPACT
amarujala carnival :memories of every moment in the rain of happiness
amarujala carnival :memories of every moment in the rain of happiness- फोटो : ALDCOMPACT
amarujala carnival :memories of every moment in the rain of happiness
amarujala carnival :memories of every moment in the rain of happiness- फोटो : ALDCOMPACT
... और पढ़ें

सीबीआई ने पूर्व परीक्षा नियंत्रक से की पूछताछ

सीबीआई ने पूर्व परीक्षा
नियंत्रक से की पूछताछ
उ.प्र. लोक सेवा आयोग की भर्ती परीक्षाओं में गड़बड़ी की कर रही है जांच
यूपीपीएससी में दर्ज किया गया बयान, खंगाला गया परीक्षा अनुभाग
प्रयागराज। उ. प्र. लोक सेवा आयोग द्वारा आयोजित भर्ती परीक्षाओं में हुई गड़बड़ी की जांच कर रही सीबीआई अचानक सक्रिय हो गई है। सीबीआई जांच में लेटलतीफी मामले की 23 अक्तूबर को हाईकोर्ट में सुनवाई होनी है। सोमवार को सीबीआई के नए जांच अधिकारी एसपी विजेंद्र कुमार के प्रयागराज पहुंचने के बाद उनके नेतृत्व में जांच टीम उत्तर प्रदेश लोक सेवा आयोग (यूपीपीएससी) पहुंची और आयोग के एक पूर्व परीक्षा नियंत्रक से पूछताछ की। इस दौरान परीक्षा अनुभाग भी खंगाला गया।
सीबीआई जांच शुरू होने के बाद यूपीपीएससी के पूर्व अध्यक्ष अनिल यादव के साथ एक परीक्षा नियंत्रक भी सीबीआई के निशाने पर हैं। पूर्व परीक्षा नियंत्रक के खिलाफ सीबीआई में शिकायत भी दर्ज कराई गई है। सोमवार सुबह सीबीआई की टीम आयोग पहुंची तो वहां हड़कंप मच गया। पूछताछ की के लिए सीबीआई की ओर से पूर्व परीक्षा नियंत्रक को पहले ही नोटिस जारी किया जा चुका था, क्योंकि जिन परीक्षाओं को लेकर सबसे अधिक विवाद हैं, उनमें से ज्यादातर परीक्षाएं इन्हीं के कार्यकाल में आयोजित की गईं थीं। सूत्रों का कहना है कि सीबीआई टीम ने आयोग में ही पूर्व परीक्षा नियंत्रक से काफी देर तक पूछताछ की। सीबीआई ने पूर्व परीक्षा नियंत्रक का बयान भी दर्ज किया।
सूत्रों के मुताबिक पूर्व में आयोजित पीसीएस परीक्षाओं के कुछ संदिग्ध चयनितों को भी पूछताछ के लिए आयोग में बुलाया गया था। सीबीआई जिस कार्यकाल में हुई परीक्षाओं की जांच कर रही है, उन्हीं परीक्षाओं के चयनितों से पूछताछ की गई। टीम के कुछ सदस्य काफी देर तक परीक्षा अनुभाग में रहे और वहां उन परीक्षाओं से जुड़े अभिलेख खंगाले, जिन्हें लेकर कोई न कोई विवाद रहा। इनमें पीसीएस-2015, एपीएस-2010 जैसी परीक्षाएं शामिल हैं। एसपी विजेंद्र कुमार ने आयोग के अध्यक्ष, सचिव और परीक्षा नियंत्रक से भी मुलाकात की। विजेंद्र मंगलवार को गोविंदपुर स्थित सीबीआई कैंप कार्यालय में शिकायतकर्ताओं से मुलाकात कर सकते हैं। फिलहाल सोमवार देर रात तक सीबीआई की टीम आयोग में ही डटी रही।
... और पढ़ें

अतुल माहेश्वरी छात्रवृत्ति परीक्षाः अरमानों को लगे पंख, परीक्षा में शामिल हुए हजारों छात्र-छात्राएं

अमर उजाला फाउंडेशन की ओर से दी जाने वाली अतुल माहेश्वरी छात्रवृत्ति परीक्षा मेधावी छात्रों के कैरियर की राह आसान कर रही है। रविवार को दो पालियों में हुई परीक्षा में छात्र-छात्राओं की भारी भीड़ उमड़ी। शहर के बृज बिहारी सहाय (बीबीएस) इंटर कॉलेज परीक्षा केंद्र पर छात्रवृत्ति परीक्षा में शामिल होने के लिए जिले के दूरदराज इलाकों से आए विद्यार्थियों में खासा उत्साह दिखा। 

अतुल माहेश्वरी छात्रवृत्ति परीक्षा में पंजीकृत कुल 3801 परीक्षार्थियों में से 2440 उपस्थित रहे अर्थात 64.2 फीसदी परीक्षा में शामिल हुए। 11 से 12.30 बजे के बीच हुई पहली पाली में नौवीं एवं दसवीं की परीक्षा में कुल 1546 परीक्षार्थियों में से 1011 परीक्षा में शामिल हुए। दोपहर दो से 3.30 बजे के बीच हुई दूसरी पाली की परीक्षा में ग्यारहवीं और बारहवीं के कुल 2255 परीक्षार्थियों में से 1429 परीक्षा में शामिल हुए। इस प्रकार पहली एवं दूसरी पाली में क्रमश: 65 एवं 64 फीसदी उपस्थिति रही। छात्रवृत्ति परीक्षा देकर केंद्र से बाहर निकले छात्र-छात्राओं ने अमर उजाला की पहल की सराहना की। इन बच्चों का कहना था कि छात्रवृत्ति मिलने से उनके भविष्य के सपने पूरे होंगे। 

दिव्यांग छात्र श्रुति लेखक के साथ पहुंचा
अतुल माहेश्वरी छात्रवृत्ति परीक्षा में मिली सुविधा का उपयोग करते हुए एक दृष्टिबाधित परीक्षार्थी श्रुति लेखक के साथ परीक्षा में पहुंचा, जबकि पैर से दिव्यांग एक परीक्षार्थी वाकर के सहारे परीक्षा देने पहुंचा।

आपस में मिलकर प्रश्नपत्र पर चर्चा
दोनों पालियों की परीक्षा खत्म होने के बाद छात्र-छात्राएं आपस में मिलकर उत्तर का मिलान करते रहे। बीबीएस इंटर कॉलेज परिसर और उसके बाहर बड़ी संख्या में परीक्षार्थी उत्तर को लेकर चर्चा करते रहे।

परीक्षा में इनका रहा सहयोग
अतुल माहेश्वरी छात्रवृत्ति परीक्षा के सफल आयोजन में बीबीएस इंटर कॉलेज प्रबंधन का पूरा सहयोग रहा। स्कूल के प्रबंधक रणजीत सिंह, स्कूल प्रबंधन से जुड़ीं सीमा रानी श्रीवास्तव, प्रधानाचार्या रजनी शर्मा के अलावा समेत शिक्षक-शिक्षिकाओं की टीम ने परीक्षा संपन्न कराई।
... और पढ़ें
atul maheshwari scholarship exam prayagraj atul maheshwari scholarship exam prayagraj

प्रयागराज में युवकी ईट पत्थर से कूंचकर हत्या

नवाबगंज (प्रयागराज)। नवाबगंज के कजिया गांव में रविवार की रात घर से मेला देखने के लिए निकले एक युवक की ईंट पत्थर से कूंचकर हत्या कर दी गई। सोमवार की दोपहर उसका शव घर से आधार किलोमीटर दूर खेत में मिला। घर वालों ने युवक के तीन दोस्तों के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज कराई है। तीनों अपने घरों से फरार हैं।
नवाबगंज के कजिया गांव का रहने वाला विनय पटेल उर्फ रमेश (25) घर में रहकर खेती किसानी करता था। रविवार की रात वह हथिगहां का दशहरा का मेला देखने के लिए गांव के रहने वाले अपने दोस्त सत्यम शर्मा के साथ निकला था। वह रात भर नहीं आया तो परिजन घबरा गए। वह सत्यम के घर पहुंचे, लेकिन वह भी रात से नहीं आया था। सभी दोस्तों के यहां उसकी तलाश हुई। पता चला कि रात में उसे सत्यम, संतोष और सकीले के साथ देखा गया था। संतोष और सकीले भी अपने घरों में नहीं थे। परिजन उसे दिन भर ढूंढते रहे। दोपहर बाद घर से आधा किलोमीटर दूर राजकुमार सिंह के खेत में विनय की लाश बरामद र्हइु। पुलिस ने शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया। भाई राजेश की तहरीर पर विनय के दोस्तों सत्यम शर्मा, संतोष पटेल और सकीले के खिलाफ हत्या की रिपोर्ट दर्ज कर ली गई। पुलिस ने तीनों की तलाश में दबिश दी लेकिन वे नहीं मिले। इंस्पेक्टर नवाबगंज ने बताया कि तहरीर के मुताबिक तीन दिन पहले मोबाइल को लेकर विनय का उसके दोस्तों के साथ झगड़ा हुआ था। इसी कारण उन्होंने रमेश को मार दिया।
बाग में की हत्या, मिली शराब की बोतलें और खून का निशान
नवाबगंज। विनय की लाश भले ही खेत में मिली हो लेकिन उसे पास में ही एक बाग में मारा गया। पुलिस ने वह जगह ढूंढ ली है। वहां पर शराब की बोतलें, ग्लास और खून के निशान मिले हैं। फोरेंसिक टीम ने सुबूत इकट्ठे किए। गांव वालों ने बताया कि विनय भी नशे का लती था। उसे अक्सर इसी बाग में दोस्तों के साथ देखा जाता था।
भाभी ने बचपन से पाला, रोते रोते बेहोश हुई
नवाबगंज। विनय के माता-पिता की मौत हो चुकी थी। वह जब चार साल का था, उसकी मां की मौत हो गई। उसके बड़े भाई राजेश पटेल की पत्नी शांति ने ही उसे मां बनकर पाला था। सोमवार को जब विनय की हत्या की खबर शांति को मिली तो वह बदहवास हो गई। वह रोते रोते अचेत हो गई। किसी तरह से उसे संभाला गया। विनय की बहनों बाला, कुसुम और कंचना के आंसू नहीं रुक रहे थे। वह तीन भाइयों में सबसे छोटा था।
... और पढ़ें

डेंगू का कहर बढ़ा, 1३ नए मरीज

प्रयागराज। मच्छरों की भरमार के चलते डेंगू कहर बरपा रहा है। सोमवार को डेंगू के 13 नए मरीज चिह्नित किए गए। जिले में अब तक पीड़ितों की संख्या 218 हो गई है। ब्लड बैंकों में प्लेटलेट्स के लिए मारामारी मची है।
एमएलएन मेडिकल कॉलेज के माइक्रोपैथालाजी विभाग में सोमवार को बुखार पीड़ित 63 मरीजों के रक्त की जांच की गई। इनमें 27 मरीज डेंगू पॉजीटिव पाए गए। इनमें 13 मरीज स्थानीय हैं, जिनकी रिपोर्ट सीएमओ को भेजी गई है। जिला संक्रामक रोग प्रभारी डॉ. एएन मिश्रा के मुताबिक डेंगू पीड़ित मरीजों के घर रैपिड रिस्पांस टीमों (आरआरटी) को भेजा गया है। सभी के घर के आसपास छिड़काव की भी व्यवस्था की गई है।
उधर, बदलते मौसम में डेंगू पीड़ितों की संख्या से लोग दहशत में हैं। सरकारी आंकड़ों के इतर डेंगू पीड़ितों की संख्या 500 के पार हो चुकी है। लगभग हर बड़े नर्सिंग होम में डेंगू के तीन से पांच मरीज भर्ती हैं। एसआरएन, बेली और काल्विन अस्पताल के डेंगू वार्ड फुल चल रहे हैं। दस-दस बेड के विशेष डेंगू वार्ड में भर्ती के लिए मरीजों को इंतजार करना पड़ रहा है। बेली और एएमए ब्लड बैंकों में प्लेटलेट्स लेने वालों की भीड़ जुट रही है। सीएमओ मेजर डॉ. जीएस बाजपेयी के मुताबिक पिछले वर्ष इस अवधि तक 406 मरीज डेंगू के थे, जिसमें इस बार काफी कमी आई है।
... और पढ़ें

बैंकों में आज हड़ताल

प्रयागराज। विलय के विरोध समेत छह बिंदुओं को लेकर बैंक के कर्मचारी मंगलवार को हड़ताल पर रहेंगे। इसकी वजह से राष्ट्रीयकृत बैंकों में बैंकिंग लेनदेन पूरी तरह से ठप रहने के आसार हैं। भारतीय स्टेट बैंक में भी ऑल इंडिया बैंक इंप्लाइज एसोसिएशन के सदस्यों की बड़ी संख्या है। ऐसे में एसबीआई में भी हड़ताल का असर पड़ना तय है।
ऑल इंडिया बैंक इंप्लाइज एसोसिएशन की ओर से राष्ट्रव्यापी हड़ताल की घोषणा की गई है। आंदोलन के समर्थन में कर्मचारियों की ओर से धरना-प्रदर्शन के अलावा जुलूस निकालने की भी घोषणा की गई है। ऐसे में निजी बैंक शाखाओं में भी तालाबंदी की आशंका है। त्यौहारी मौसम में पैसे की मांग बढ़ गई है। इसकी वजह से एटीएम पर भी दबाव बढ़ गया है। ऐसे में हड़ताल की वजह से लोगों की परेशानी बढ़ सकती है।
यूपी बैंक इंप्लाइज यूनियन के जिला सचिव शशिकांत श्रीवास्तव ने बताया कि हड़ताल के समर्थन में संगम प्लेस स्थित पीएनबी के सामने केंद्रीय धरना-प्रदर्शन होगा। इसके लिए सभी बैंकाें के कर्मचारियों का दिन में 11.30 बजे जमावड़ा होगा। इससे पहले कर्मचारी अपनी-अपनी शाखा परिसर में जुटेंगे और तालाबंदी कर प्रदर्शन करेंगे। इसके बाद जुलूस बनाकर वे संगम प्लेस पहुंचेंगे।
वहीं दूसरी ओर हड़ताल के समर्थन में सोमवार को यूनियन बैंक की मुख्य शाखा परिसर के सामने कर्मचारियों ने प्रदर्शन किया। प्रदर्शन करने वालों में एसबी राय, एके कपिला, एसबी दूबे, सौरभ कुमार सिंह, क्षितिज पांडेय, अशोक कुमार श्रीवास्तव, अमर नाथ आदि शामिल रहे।
कर्मचारियों की मांग
0 बैंकों का विलय रोका जाए
0 जन विरोधी बैंकिंग सुधारों पर रोक लगेे
0 खराब ऋणों की वसूली सुनिश्चित हो तथा चूककर्ता पर कार्रवाई हो
0 ग्राहकों पर आर्थिक भार न बढ़ाया जाए
0 नए प्रावधान लगाकर कर्मचारियों का उत्पीड़न बंद हो
0 सभी बैंकों में भर्ती की जाए
यूपी बैंक इंप्लाइज यूनियन में प्रयागराज का दबदबा
प्रयागराज। यूपी बैंक इंप्लाइज यूनियन के लिए सोमवार को आगरा में हुए चुनाव में प्रयागराज का दबदबा रहा। इसमें यहां के कर्मचारियाेंने पांच पदों पर कब्जा जमाया है। यूनियन में पहली बार चेेयरमैन के लिए चुनाव हुआ। इस पर 92 वर्षीय पीएन तिवारी निर्विरोध चुने गए। अब तक वह अध्यक्ष थे। इनके अलावा पीएनबी के शशिकांत श्रीवास्तव, इलाहाबाद बैंक के मदनजी उपाध्याय तथा युनाइटेड बैंक के एसपी शर्मा सहायक महामंत्री निर्वाचित हुए। बड़ौदा उत्तर प्रदेश ग्रामीण बैंक के बीके मिश्रा उपाध्यक्ष चुने गए। पूर्व में भी सात बार सहायक महामंत्री रह चुके शशिकांत यूनियन में जिला मंत्री भी हैं। वहीं मदनजी उपाध्याय जिलाध्यक्ष हैं।
... और पढ़ें

पत्नी-बेटे की हत्या, फांसी पर लटका मिला फॉलोअर

पत्नी-बेटे की हत्या, फंदे पर लटका मिला फॉलोवर
पुलिस लाइन स्थित आवास के भीतर सनसनीखेज वारदात
छोटा बेटा रात में घर लौटा तब हुई घटना की जानकारी
प्रयागराज। पुलिस लाइन रहने वाला फॉलोवर गोविंदनारायण(52), पत्नी चंद्रा(50) व बेटा सुनील (28) सोमवार रात सरकारी क्वार्टर में मृत पड़े मिले। महिला व उसके बेटे की भारी चीज से सिर पर वार कर हत्या की गई थी जबकि, फॉलोवर की लाश फंदे पर लटकी मिली। पुलिस आशंका जता रही है कि पत्नी-बेटे की हत्या करने के बाद फॉलोवर ने अपनी भी जान दे दी। शव पोस्टमार्टम के लिए भेजवा कर देर रात तक जांच पड़ताल होती रही।
मूल रूप से जालौन के डकोर, चिल्ली का रहने वाला गोविंदनारायण पिछले कई सालों से जिले में तैनात था। वह वर्तमान में डीआईजी कार्यालय में नियुक्त था। पत्नी व दो बेटों सुनील व भारत (22) संग वह पुलिस लाइन स्थित सरकारी क्वार्टर में रहता था। सुनील मानसिक रूप से बीमार था जबकि, भारत स्टूडियो चलाता था। पड़ोसियों ने बताया कि शाम पांच बजे के करीब फॉलोवर कार्यालय से घर पहुंचा और इसके बाद उसे किसी ने नहीं देखा। रात नौ बजे के करीब भारत कमरे पर पहुंचा तो दरवाजा बंद मिला। कई बार आवाज देने पर भी जवाब नहीं मिला तो उसने पिता के मोबाइल पर फोन मिलाया। लेकिन कोई फायदा नहीं हुआ। इसके बाद उसने पड़ोसी को जानकारी दी और फिर शक होने पर दोनों ने धक्का देकर दरवाजा खोला तो देखा कि मां व बड़ा भाई जमीन पर खून से लथपथ पड़े थे जबकि, पिता फंदे पर लटका हुआ था। सूचना पर एडीजी, डीआईजी, एसएसपी के साथ ही डीएम व अन्य प्रशासनिक अफसर भी पहुंच गए। जांच पड़ताल के बाद पुलिस ने तीनों शवों को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया। घटनास्थल की हालत देखने के बाद आशंका जताई जा रही है कि पत्नी-बेटे की हत्या करने के बाद फॉलोवर खुद फांसी पर लटक गया। हालांकि, इसकी वजह क्या रही, इसका पता नहीं चल सका। सूत्रों की मानें तो मौके से एक हथौड़ी भी मिली है। माना जा रहा है कि हत्या में इसी का इस्तेमाल किया गया।
तीनों शव भीतर के कमरे में पाए गए। महिला व उसके बेटे की लाश जमीन पर रक्तरंजित हालत में मिली जबकि, फॉलोवर का शव फंदे पर लटका हुआ था। फोरेंसिक टीम मौके पर जांच पड़ताल में जुटी है। बगल में ही एक मिनी टूलबॉक्स भी पड़ा था। जांच पड़ताल की जा रही है।
- सत्यार्थ अनिरुद्ध पंकज, एसएसपी
... और पढ़ें

गोश्त बिक्री प्रतिबंधित, मुर्गा भी नहीं काट सकेंगे

जीएम जलकल चार घंटे बंधक रहे

प्रयागराज। दिवाली से पहले 23 तक वेतन और बोनस भुगतान की मांग कर रहे कर्मचारियों ने सोमवार को जलकल विभाग के महाप्रबंधक और चार इंजीनियरों को चार घंटे तक बंधक बनाए रखा। धरना, प्रदर्शन, अभद्र नारेबाजी और धमकी से परेशान जीएम ने इसकी शिकायत डीएम से की। डीएम ने मौके पर मजिस्ट्रेट और पुलिस बल भेजा तब दोपहर दो बजे के बाद जीएम और इंजीनियर कैंप कार्यालय से निकल सके। इस बीच कर्मचारियों में कार्यालय के सामने सड़क पर जाम भी लगाया।
जलकल कर्मचारियों को वेतन और बोनस भुगतान के लिए 25 अक्तूबर तक का समय दिया गया है। वहीं यूनियन के पदाधिकारी 23 तक भुगतान न होने पर आंदोलन की चेतावनी पर अड़े हैं। जीएम जलकल रतन लाल के मुताबिक सुबह करीब 9.30 बजे उनके कैंप कार्यालय पर यूनियन के पदाधिकारी अन्य कर्मचारियों के साथ नारेबाजी करते हुए आए। जलकल यूनियन के अध्यक्ष सुधीर कुमार यादव, दिलीप चंद्र भारतीया, विनोद पटेल, पेंशनर संतोष कुमार मेहरोत्रा सैकड़ों कर्मचारियों के साथ आए। आरोप है कि कर्मचारी नेता अपने साथ आउटसोर्सिंग कर्मचारियों को भी लाए थे। वे तत्काल भुगतान पर अड़े तो उन्होंने दो दिन इंतजार करने को कहा। आरोप लगाया कि ठेकेदारों को भुगतान कर रहे हैं, कर्मचारी परेशान है।
कर्मचारी नेताओं ने जीएम रतन लाल के साथ जोन चार के अधिशासी अभियंता पुरुषोत्तम लाल, सहायक अभियंता अशोक भूषण और जोन दो के अधिशासी अभियंता विजय मौर्या को बंधक बना लिया। जीएम के वाहन को भी कर्मचारी घेरकर बैठ गए। बिना समय दिए वेतन-बोनस भुगतान पर अड़े कर्मचारी नारेबाजी कर रहे थे। डीएम के निर्देश पर पहुंचे एसीएम टू और पुलिस ने अफसरों को छुड़ाया। कर्मचारियों को दिवाली से पहले 25 अक्तूबर तक वेतन भुगतान का आश्वासन देकर हटाया गया। धरना प्रदर्शन में सचिंद्र नाथ राय, रिजवान आदि भी शामिल रहे।
अभद्रता करने में आठ कर्मचारी चिह्नित
जीएम और अभियंताओं को बंधक बनाने, अभद्रता करने के आरोप में यूनियन नेताओं समेत आठ लोगों को चिह्नित किया गया है। जीएम ने सभी को नोटिस जारी करने का निर्देश दिया है। वहीं फील्ड के कर्मचारियों के कार्यों का मंगलवार से भौतिक सत्यापन भी कराया जाएगा। अफसरों के मुताबिक वसूली और कार्यों में रुचि न लेने वाले कर्मचारियों के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी। जीएम ने इससे पहले पूर्व महाप्रबंधकों के साथ मारपीट की घटनाओं का जिक्र करते हुए सुरक्षा के लिए डीएम और नगर आयुक्त से फोन पर अनुरोध किया है।
वसूली पर निर्भर है संस्थान
जलकल विभाग को राज्य सरकार से सहायता नहीं मिलती। जलकर की वसूली से ही वेतन भुगतान और अन्य कार्य कराए जाते हैं। जीएम के मुताबिक सितंबर में बाढ़ और अक्तूबर में कई अवकाश से वसूली बाधित हुई। अब तेजी से वसूली की जा रही है। 25 तक कर्मचारियों को वेतन और बोनस के मद में करीब पौने दो करोड़ रुपये का भुगतान कर दिया जाएगा।
... और पढ़ें

योगगुरु आनंद गिरि बोले-मुझे फंसाया गया

प्रयागराज। आस्ट्रेलिया में छह महीने बीस दिन गुजारने के बाद योगगुरु स्वामी आनंद गिरि सोमवार को मठ बाघंबरी गद्दी पहुंचे। उन्होंने कहा कि सनातन धर्म की छवि बिगाड़ने के लिए कुछ लोगों ने साजिश रचकर मुझे फंसाने की पुरजोर कोशिश की थी, लेकिन वे इसमें सफल नहीं हुए। मठ में प्रवेश करते ही आनंद गिरि ने अखिल भारतीय अखाड़ा परिषद के अध्यक्ष महंत नरेंद्र गिरि से जब आशीर्वाद लिया तो दोनों ही अत्यंत भावुक हो उठे।
उल्लेखनीय है कि स्वामी आनंद गिरि प्रयागराज से वह 31 मार्च को सिडनी के लिए रवाना हुए थे। वहां महिलाओं से अमर्यादित आचरण के आरोप में उन्हें गिरफ्तार होना पड़ा, बाद में आरोप निराधार पाए जाने पर कोर्ट ने उन्हें बरी कर दिया। सोमवार को मठ पहुंचते ही स्वामी आनंद गिरि ने महंत नरेंद्र गिरि के पांव छुए और उनकी कुर्सी के निकट ही जमीन पर बैठ गए। बाद में ‘अमर उजाला’ से बातचीत में उन्होंने अपना कल और आज बेबाकी से बयां किया। बोले, गुरुदेव भगवान ने ही मुझे शिक्षा-दीक्षा दी। उनके निर्देश पर ही मुझे सनातन धर्म की सेवा का दायित्व मिला। कुछ षड़यंत्रकारियों ने ऐसी साजिश रची ताकि मेरी, मेरे गुरुदेव, संत समाज और सनातन धर्म की छवि धूमिल हो। लेकिन, इसमें वे पूरी तरह से विफल हुए। सिडनी की कोर्ट ने पूरे विषय को निराधार मानते हुए खारिज किया और मुझे ससम्मान बरी किया।
मैं इस बात से बहुत क्षुब्ध और आहत हूं कि मेरी वजह से मेरे गुरु को कष्ट हुआ। हनुमान जी और गुरुदेव की कृपा रही कि मैं अपने लोगों के बीच फिर आ सका हूं। जहां तक आज के कार्यक्रम की बात है तो न मैंने किसी से कहा था, न ही किसी को बुलाया था, बस वे लोग ही आए जो मुझसे स्नेह और मेरा सम्मान करते हैं।
कालिंदीपुरम, कचहरी पर स्वागत
स्वामी आनंद गिरि शनिवार की सुबह सिडनी से चलकर मलयेशिया और अगले दिन रविवार को नई दिल्ली पहुंचे, जहां गोकुल आश्रम में रात्रि विश्राम किया। सोमवार को वह एयर इंडिया की फ्लाइट से नई दिल्ली से प्रयागराज एयरपोर्ट पहुंचे। यहां विधायक संजय गुप्ता, हर्षवर्धन वाजपेयी, महानगर अध्यक्ष अवधेश गुप्ता, प्रवीण पटेल आदि ने उनका स्वागत किया। कालिंदीपुरम में पूनम संत के नेतृत्व में महिलाओं और फिर कचहरी पर अधिवक्ताओं ने उनका अभिनंदन किया। यहां से वह सीधे मठ बांघबरी गद्दी पहुंचे।
... और पढ़ें

जीएम जलकल चार घंटे बंधक रहे

जीएम जलकल को चार घंटे तक बंधक बनाया
तीन अभियंता भी फंसे, कर्मचारियों ने नहीं निकलने दिया
प्रयागराज। दिवाली से पहले 23 तक वेतन और बोनस भुगतान की मांग कर रहे कर्मचारियों ने सोमवार को जलकल विभाग के महाप्रबंधक और चार इंजीनियरों को चार घंटे तक बंधक बनाए रखा। धरना, प्रदर्शन, अभद्र नारेबाजी और धमकी से परेशान जीएम ने इसकी शिकायत डीएम से की। डीएम ने मौके पर मजिस्ट्रेट और पुलिस बल भेजा तब दोपहर दो बजे के बाद जीएम और इंजीनियर कैंप कार्यालय से निकल सके। इस बीच कर्मचारियों में कार्यालय के सामने सड़क पर जाम भी लगाया।
जलकल कर्मचारियों को वेतन और बोनस भुगतान के लिए 25 अक्तूबर तक का समय दिया गया है। वहीं यूनियन के पदाधिकारी 23 तक भुगतान न होने पर आंदोलन की चेतावनी पर अड़े हैं। जीएम जलकल रतन लाल के मुताबिक सुबह करीब 9.30 बजे उनके कैंप कार्यालय पर यूनियन के पदाधिकारी अन्य कर्मचारियों के साथ नारेबाजी करते हुए आए। जलकल यूनियन के अध्यक्ष सुधीर कुमार यादव, दिलीप चंद्र भारतीया, विनोद पटेल, पेंशनर संतोष कुमार मेहरोत्रा सैकड़ों कर्मचारियों के साथ आए। आरोप है कि कर्मचारी नेता अपने साथ आउटसोर्सिंग कर्मचारियों को भी लाए थे। वे तत्काल भुगतान पर अड़े तो उन्होंने दो दिन इंतजार करने को कहा। आरोप लगाया कि ठेकेदारों को भुगतान कर रहे हैं, कर्मचारी परेशान है।
कर्मचारी नेताओं ने जीएम रतन लाल के साथ जोन चार के अधिशासी अभियंता पुरुषोत्तम लाल, सहायक अभियंता अशोक भूषण और जोन दो के अधिशासी अभियंता विजय मौर्या को बंधक बना लिया। जीएम के वाहन को भी कर्मचारी घेरकर बैठ गए। बिना समय दिए वेतन-बोनस भुगतान पर अड़े कर्मचारी नारेबाजी कर रहे थे। डीएम के निर्देश पर पहुंचे एसीएम टू और पुलिस ने अफसरों को छुड़ाया। कर्मचारियों को दिवाली से पहले 25 अक्तूबर तक वेतन भुगतान का आश्वासन देकर हटाया गया। धरना प्रदर्शन में सचिंद्र नाथ राय, रिजवान आदि भी शामिल रहे।
अभद्रता करने में आठ कर्मचारी चिह्नित
जीएम और अभियंताओं को बंधक बनाने, अभद्रता करने के आरोप में यूनियन नेताओं समेत आठ लोगों को चिह्नित किया गया है। जीएम ने सभी को नोटिस जारी करने का निर्देश दिया है। वहीं फील्ड के कर्मचारियों के कार्यों का मंगलवार से भौतिक सत्यापन भी कराया जाएगा। अफसरों के मुताबिक वसूली और कार्यों में रुचि न लेने वाले कर्मचारियों के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी। जीएम ने इससे पहले पूर्व महाप्रबंधकों के साथ मारपीट की घटनाओं का जिक्र करते हुए सुरक्षा के लिए डीएम और नगर आयुक्त से फोन पर अनुरोध किया है।
वसूली पर निर्भर है संस्थान
जलकल विभाग को राज्य सरकार से सहायता नहीं मिलती। जलकर की वसूली से ही वेतन भुगतान और अन्य कार्य कराए जाते हैं। जीएम के मुताबिक सितंबर में बाढ़ और अक्तूबर में कई अवकाश से वसूली बाधित हुई। अब तेजी से वसूली की जा रही है। 25 तक कर्मचारियों को वेतन और बोनस के मद में करीब पौने दो करोड़ रुपये का भुगतान कर दिया जाएगा।
... और पढ़ें

छात्र परिषद चुनाव से संबंधित खबरें

ईश्वर शरण में भी निरस्त हुआ चुनाव
दो प्रत्याशियों ने कराया था नामांकन, दोनों का निरस्त
इविवि समेत तीन कॉलेजों में नहीं बन सका छात्र परिषद
प्रयागराज। ईश्वर शरण डिग्री कॉलेज में भी सोमवार को छात्र परिषद चुनाव की प्रक्रिया निरस्त कर दी गई। चुनाव के लिए दो प्रत्याशियों ने नामांकन कराया था और आवश्यक अभिलेखों की कमी के कारण दोनों का नामांकन नामांकन निरस्त कर दिया गया। इस तरह चुनाव में कोई प्रत्याशी नहीं रह गया और कॉलेज प्रशासन को चुनाव निरस्त करना पड़ा।
इलाहाबाद विश्वविद्यालय समेत इलाहाबाद डिग्री कॉलेज और श्याम प्रसाद मुखर्जी महाविद्यालय में छात्र परिषद के गठन पर पहले ही पानी फिर चुका है। वहां भी मैदान में कोई प्रत्याशी न होने के कारण चुनाव नहीं कराया जाएगा। सोमवार को ईश्वर शरण डिग्री कॉलेज में छात्र परिषद चुनाव के तहत नाम वापसी, नामांकन पत्रों की जांच और प्रत्याशियों की अंतिम सूची जारी किए जाने का कार्यक्रम निर्धारित किया गया था। कक्षा प्रतिनिधि के प्रत्याशी रजनीश ने नामांकन फॉर्म के साथ उपस्थिति प्रमाणपत्र, महाविद्यालय परीक्षा प्रभारी का प्रमाणपत्र, थाना प्रभारी का प्रमाणपत्र और शपथ पत्र नहीं लगाया था।
वहीं, महिला प्रत्याशी किरन सिंह ने उपस्थिति प्रमाणपत्र, अनुशासनाधिकारी का प्रमाणपत्र, महाविद्यालय परीक्षा प्रभारी का प्रमाणपत्र, थाना प्रभारी का प्रमाणपत्र एवं शपथ पत्र नहीं दिया था। इस आधार पर दोनों का प्रत्याशियों का नामांकन खारिज कर दिया गया। चुनाव अधिकारी डॉ. अनुजा सलूजा के अनुसार छात्र परिषद चुनाव के लिए मैरान में कोई प्र्रत्याशी नहीं रहा। इसलिए तत्काल प्रभाव से छात्र परिषद 2019-20 की समस्त अग्रेतर प्रक्रिया को निरस्त कर दिया गया है।
सीएमपी में पड़े वोट, छात्र परिषद का गठन आज
प्रयागराज। सीएमपी डिग्री कॉलेज में सोमवार को कक्षा प्रतिनिधि के एक पद के लिए मतदान हुआ। वहां सात प्रत्याशी पहले ही निर्विरोध निर्वाचित हो चुके हैं। इस तरह कक्षा प्रतिनिधि के 44 पदों के मुकाबले आठ पदों पर प्रत्याशी निर्वाचित हुए हैं, जो मंगलवार को अपने ही बीच से छात्र परिषद के पांच पदाधिकारियों का चुनाव करेंगे।
सीएमपी में सोमवार को एमए द्वितीय वर्ष कक्षा प्रतिनिधि (पुरुष) के एक पद के लिए मतदान हुआ। इसमें करन सिंह परिहार ने अपने प्रतिद्वंद्वी शुभम अग्रहरि को 21 मतों से पराजित किया। कुल 297 मतदाताओं में से 56 ने अपने मताधिकार का प्रयोग किया। शुभम को 17 और करन को 38 वोट मिले जबकि एक मत अवैध हो गया। इसके अलावा बीए प्रथम वर्ष (पुरुष) में कृष्णा गुप्ता, बीए तृतीय वर्ष (पुरुष) में नवीन कुमार, बीएससी प्रथम वर्ष (महिला) में प्रियंका पासवान, बीएससी द्वितीय वर्ष (पुरुष) में अभिलेषक सिंह, एमए द्वितीय वर्ष (महिला) में सौम्या शुक्ला एवं एलएलएम प्रथम वर्ष (पुरुष) में रविंद्र कुमार कक्षा प्रतिनिधि के पद पर निर्विरोध निर्वाचित हो चुके हैं।
सीएमपी में छात्र परिषद के अध्यक्ष, उपाध्यक्ष, महामंत्री, संयुक्त मंत्री एवं सांस्कृति सचिव के पद के लिए चुनाव 22 अक्तूबर को होगा। सुबह 10 से दोपहर 12 बजे तक नामांकन फॉर्म की बिक्री, 12.30 बजे तक नामांकन, 1.30 बजे तक नाम वापसी, दोपहर दो बजे वैध प्रत्याशियों की सूची, 2.30 से 3.30 बजे तक मतदान, शाम चार बजे से मतगणना और इसके बाद चुनाव परिणाम की घोषणा होगी।
धत किया जाता है। इसके साथ ही दोनों के खिलाफ कार्रवाई के लिए इविवि प्रशासन की ओर से जिला एवं पुलिस प्रशासन को पत्र भेजा गया है।
... और पढ़ें
अपने शहर की सभी खबर पढ़ने के लिए amarujala.com पर जाएं

Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google, और सोशल मीडिया साइट्स, जैसे की Facebook, के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।

Agree