विज्ञापन
विज्ञापन
शरद पूर्णिमा पर कराएं श्री कृष्ण की विशेष पूजा, बांके बिहारी मंदिर, वृन्दावन 19 अक्टूबर 2021
Myjyotish

शरद पूर्णिमा पर कराएं श्री कृष्ण की विशेष पूजा, बांके बिहारी मंदिर, वृन्दावन 19 अक्टूबर 2021

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

From nearby cities

Digital Edition

सम्मिलित राज्य अभियंत्रण सेवा परीक्षा-2019  :  चयन के साढ़े छह माह बाद भी यूपीपीएससी ने नहीं दिया नियुक्ति पत्र

एक तरफ मुख्यमंत्री ने घोषणा की है कि किसी भी भर्ती के विज्ञापन से लेेकर नियुक्ति तक की प्रक्रिया छह माह में पूरी कर ली जाएगी, वहीं तमाम अभ्यर्थी चयनित होने के साढ़े छह माह बाद भी नियुक्ति के लिए भटक रहे हैं। सम्मिलित राज्य अभियंत्रण सेवा परीक्षा-2019 के तहत मैकेनिकल एवं इलेक्ट्रिकल के चयनित अभ्यर्थियों को अब तक नियुक्ति नहीं मिली है। 

उत्तर प्रदेश लोक सेवा आयोग ने सम्मिलित राज्य अभियंत्रण सेवा परीक्षा-2019 का अंतिम चयन परिणाम 26 मार्च 2021 को जारी किया था। इस परीक्षा के तहत सहायक अभियंता के 648 पदों पर भर्ती होनी थी, लेकिन योग्य अभ्यर्थी न मिलने के कारण 68 पद खाली रह गए थे और आयोग ने 580 पदों पर अभ्यर्थियों को अंतिम रूप से चयनित घोषित किया था। परिणाम जारी होने के कुछ दिनों बाद ही आयोग ने चयनित अभ्यर्थियों की नियुक्ति की संस्तुति शासन को भेज दी थी।

कुछ दिनों पहले ही मंडी परिषद, लोक निर्माण विभाग, ग्रामीण अभियंत्रण विभाग में सहायक अभियंता के पदों पर चयनित अभ्यर्थियों को नियुक्ति दे दी गई, लेकिन ऊर्जा विभाग में सहायक निदेशक के पद पर चयनित 21 अभ्यर्थियों और श्रम विभाग में सहायक निदेशक कारखाना के सात पदों पर चयनित अभ्यर्थियों को अब तक नियुक्ति नहीं मिली है। अभ्यर्थियों का कहना है कि इस भर्ती का विज्ञापन वर्ष 2019 में जारी हुआ था और परिणाम के लिए दो साल तक इंतजार करना पड़ा। अब रिजल्ट आने के साढ़े छह माह बाद भी नियुक्ति के लिए भटकना पड़ रहा है।
... और पढ़ें

प्रयागराज डबल मर्डर केस : दोनों परिवारों के बीच वर्षों से चल रही थी खूनी रंजिश

औद्योगिक क्षेत्र थाना के चकपुरे मियां खुर्द गांव में दोहरे हत्याकांड के बाद घर वालों ने गांव के ही नवनील मिश्र, आकाश मिश्र, सुजीत मिश्र और महेश नारायण मिश्र के खिलाफ मुकदमा दर्ज कराया है। दरअसल मिश्रा परिवार के नवनीत मिश्रा की ढाई साल पहले हत्या हुई थी। उस मामले में बजरंग के परिवार के लोगों को नामजद कराके जेल भेजा गया था। 

हादसे में गंभीर रूप से घायल बजरंग बहादुर पटेल के भतीजे राज बहादुर पटेल ने पुलिस को दी तहरीर में बताया है कि ढाई वर्ष पूर्व गांव के नवनीत मिश्र की हत्या में उसके भाइयों को फर्जी तरीके से फंसाते हुए उसके पिता महेश नारायण मिश्र ने मुकदमा दर्ज कराया था। जिसमें उसे सगे भाई जेल गए थे और एक भाई अब भी जेल में बंद है। मामले में उसके चाचा बजरंग बहादुर पटेल पैरवी किया करते थे। इसी को लेकर महेश नारायण मिश्र व उसके पुत्र नवनील मिश्र अक्सर बजरंग बहादुर को जान से मारने की धमकी देते थे। इस संबंध में औद्योगिक क्षेत्र पुलिस से भी शिकायत की जा चुकी है। 
... और पढ़ें

1664 युवाओं को रेलवे बनाएगा हुनरमंद :  बेरोजगार युवकों को फिर मिलने जा रहा है अप्रेंटिस का मौका

बेरोजगार युवाओं को हुनरमंद बनाने के लिए एक बार फिर से रेलवे आगे आया है। सरकार के स्किल इंडिया मिशन के तहत बेरोजगार युवाओं को रेलवे में अप्रेंटिस का मौका मिलेगा। इस दौरान उत्तर मध्य रेलवे प्रयागराज जोन की ओर से 1,664 युवा बेरोजगारों को प्रशिक्षण दिया जाएगा। एक वर्ष के प्रशिक्षण के दौरान इन युवाओं को सात से आठ हजार का स्टापेंड भी दिया जाएगा। अप्रेंटिस के लिए इच्छुक युवा तीन नवंबर से आवेदन कर सकेंगे। आवेदन करने की अंतिम तिथि एक दिसंबर 2021 है। 

रेलवे में अप्रेंटिस के लिए न्यूनतम शैक्षिक योग्यता दसवीं पास एवं आईटीआई है। रेल भर्ती प्रकोष्ठ (आरआरसी ) प्रयागराज द्वारा यह पूरी प्रक्रिया की जाएगी। खास बात यह है कि अप्रेंटिस के लिए रेलवे द्वारा कोई परीक्षा नहीं ली जाएगी। इस दौरान मेरिट के आधार पर ही अप्रेंटिस के लिए मौका मिलेगा। चयनित युवाओं को वर्ष भर के प्रशिक्षण के दौरान प्रतिमाह सात से आठ हजार रुपये स्टाइपेंड के रूप में दिए जाएंगे।

आरआरसी प्रयागराज के चेयरमैन अतुल मिश्र ने बताया कि मेरिट और डाक्यूमेंट वेरीफिकेशन के दौरान चयनित अभ्यर्थियों को एनसीआर के प्रयागराज, झांसी, आगरा और झांसी कारखाना में एक वर्ष का प्रशिक्षण दिया जाएगा। प्रशिक्षण के लिए 15 से 24 वर्ष की आयु निर्धारित की गई है। आरआरसी की वेबसाइट के माध्यम से ही आवेदन प्रक्रिया पूरी होगी। अप्रेंटिस करने वाले युवाओं को दो तरह का लाभ होगा। पहला यह कि वह रेलवे की भर्ती में इन प्रशिक्षण प्राप्त युवाओं को 20 प्रतिशत आरक्षण का लाभ मिलेगा।  इसके अलावा वह अपना स्वरोजगार भी शुरू कर सकेंगे। 

मंडल वार अभ्यर्थियों की यह रहेगी संख्या
मंडल का नाम    प्रशिक्षु की संख्या 
प्रयागराज मंडल       703
झांसी मंडल      480
आगरा मंडल  296
झांसी कारखाना   185

इन ट्रेडों में दिया जाएगा प्रशिक्षण
तकनीशियन फिटर, तकनीशियन वेल्डर, तकनीशियन कारपेंटर,  तकनीशियन पेंटर, तकनीशियन क्रेन, फिटर, वेल्डर, एमएमटीएम, पेंटर, इलेक्ट्रिशियन, स्टेनोग्राफर (हिंदी), इंफारमेशन एंड कम्युनिकेशन टेक्नोलॉजी सिस्टम मेंटेनेंस , प्लंबर, स्टेनोग्राफर (अंग्रेजी), वायरमैन, हेल्थ सेनेटरी  इंसपेक्टर, मल्टीमीडिया वेब पेज डिजाइनर

पिछले अप्रेंटिसशिप के लिए आए थे डेढ़ लाख आवेदन
वित्तीय वर्ष 2020-21 में अप्रेंटिस के 1664 रिक्तियों के लिए डेढ़ लाख से ज्यादा आवेदन आए थे। इन सभी अभ्यर्थियों के डाक्यूमेंट वेरीफिकेशन की प्रक्रिया आरआरसी कार्यालय में चल रही है। 
... और पढ़ें

प्रयागराज : मोदी सरकार में दलालों एवं भ्रष्टाचारियों की दुकान बंद हुई - केशव प्रसाद मौर्य

उपमुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य ने 28421.46 लाख की लागत से बनने वाले चार लेन ऊपरिगामी सेतु एवं फ्लाईओवर का शिलान्यास व भूमि पूजन किया l इस अवसर पर उन्होंने कहा कि विकास हमारी सरकार की पहली प्राथमिकता है और गुंडाराज का अंत हमारा संकल्प। उन्होंने कहा कि आज सिर्फ प्रयागराज ही नहीं बल्कि पूरे उत्तर प्रदेश में विकास की धारा बह रही है उन्होंने

कहा कि आज प्रयागराज और कौशांबी पर्यटन की दृष्टि से विकसित हो रहे हैं जिससे आने वाले समय में रोजगार को बढ़ावा मिलेगा स्वरोजगार उपलब्ध होंगे प्रयागराज और कौशांबी कि लोगों का विकास होगा आगे उन्होंने कहा कि मोदी सरकार ने आज दलालों और भ्रष्टाचारियों की दुकानें बंद कर दी, क्योंकि अब सभी योजनाओं का पैसा डायरेक्ट लाभार्थी के खाते में पहुंच रहा है और आगे कहा कि हमारा नारा सबका साथ सबका विकास है परंतु कांग्रेस का नारा कुछ का साथ कुछ का विकास, सपा का नारा कुछ का साथ गुंडों का विकास , और बसपा का नारा कुछ का साथ दलालों और भ्रष्टाचारियों का विकास है।
... और पढ़ें
Prayagraj News : कालिंदीपुरम में रेलवे फ्लाईओवर का शिलान्यास करते डिप्टी सीएम केशव प्रसाद मौर्य। Prayagraj News : कालिंदीपुरम में रेलवे फ्लाईओवर का शिलान्यास करते डिप्टी सीएम केशव प्रसाद मौर्य।

डबल मर्डर : दोहरे कत्ल के पीछे कहीं प्रेम-प्रसंग का तो मामला नहीं, किसी शख्स से होती थी लंबी बातचीत

औद्योगिक क्षेत्र में मां-बेटी की हत्या में भले ही पुलिस को चार नामजद पड़ोसियों की तलाश है। लेकिन मामले में प्रेम-प्रसंग व पारिवारिक रंजिश के एंगल पर भी जांच चल रही है। दरसअल जांच पड़ताल में जुटी पुलिस को इन बिंदुओं पर भी जानकारी मिली है। ऐसे में जांच में इसे भी शामिल कर लिया गया है।

दोहरे हत्याकांड की जांच पड़ताल में जुटी पुलिस को बजरंग बहादुर पटेल के परिवार के भीतर के भी एक विवाद की जानकारी मिली है। पत चला है कि कुछ दिनों पहले परिवार का अपनी बहू से लेकर विवाद हुआ था। दरअसल बजरंग के बेटे के जहर खाकर जान देने के बाद उसकी बहू ने दूसरी शादी कर ली। जबकि उसकी छह वर्षीय बेटी अंशिका अपने दादा-दादी के साथ ही रहती थी।
... और पढ़ें

महानिबंधक का निर्देश : चीफ जस्टिस के हाईकोर्ट में रहने तक आफिस नहीं छोडे़ंगे रजिस्ट्रार, ज्वाइंट रजिस्ट्रार व डिप्टी रजिस्ट्रार

इलाहाबाद हाईकोर्ट के महानिबंधक  ने निर्देश जारी कर कहा है कि कोई भी रजिस्ट्रार, ज्वाइंट रजिस्ट्रार व डिप्टी रजिस्ट्रार तब तक अपने अपने आफिस नहीं छोडेंगे, जब तक चीफ जस्टिस हाईकोर्ट में उपस्थित रहेंगे।

रजिस्ट्रार जनरल ने बृहस्पतिवार को यह निर्देश जारी किया। चीफ जस्टिस को ज्यूडिशियल के अलावा कई प्रकार के प्रशासनिक काम भी करने होते हैं। यह काम चीफ जस्टिस सुबह 10 बजे कोर्ट में बैठने से पहले या शाम को कोर्ट का काम समाप्त करने के बाद ही किया करते हैं। ऐसे में कार्य प्रभावित न हो, इस कारण सभी रजिस्ट्रार को चीफ जस्टिस के हाईकोर्ट में उपस्थित रहने तक आफिस में बने रहने का निर्देश रजिस्ट्रार जनरल की तरफ से जारी किया गया है। 

ओपी त्रिपाठी हाईकोर्ट जज नियुक्त
राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने ओम प्रकाश त्रिपाठी को इलाहाबाद हाईकोर्ट का अपर न्यायाधीश नियुक्त किया है। कार्यभार ग्रहण करने की तिथि से 20 जुलाई 23 तक कार्यरत रहेंगे। 24 अगस्त 21 को सुप्रीम कोर्ट कोलेजियम ने तीन न्यायिक सेवा के अधिकारियों को हाईकोर्ट का न्यायाधीश नियुक्त किए जाने की संस्तुति की थी।
... और पढ़ें

हाईकोर्ट बार मे बढ़ाई गई सुरक्षा :  एल्डर कमेटी सदस्य के अनुरोध पर दी गई सुरक्षा

इलाहाबाद हाईकोर्ट बार एसोसिएशन कार्यालय की सुरक्षा के लिए सुरक्षा बल की तैनाती की गई है। एल्डर कमेटी के अध्यक्ष की सहमति से कमेटी के सदस्य वरिष्ठ अधिवक्ता एनसी राजवंशी ने महानिबंधक को पत्र लिखकर निवर्तमान पदाधिकारियों के हस्तक्षेप से उत्पन्न स्थिति को देखते हुए सीआरपीएफ के चार जवानों की तैनाती की मांग की थी।

बार एसोसिएशन कार्यालय अधीक्षक पवन पांडेय ने राजवंशी को सूचित किया कि एल्डर कमेटी के अध्यक्ष व वरिष्ठ सदस्य द्वारा खाते के संचालन के अनुरोध को बैंक ने अस्वीकार कर दिया है। जिसके कारण 8 अक्तूबर से 13 अक्तूबर तक कार्यालय में जमा पैसा 18 लाख 43 हजार 561 बैंक में नहीं जमा किया जा सका है। साथ ही एल्डर कमेटी का विगत वर्षों की तरह अलग खाता भी नहीं खुल पाया है। दो दिन छुट्टी के कारण दूसरे बैंक में भी खाता नहीं खुल सकेगा। 16 अक्टूबर को प्रयास किया जाएगा।

इस पत्र के आधार पर  एल्डर कमेटी के वरिष्ठ सदस्य एनसी राजवंशी ने हाईकोर्ट के आदेश व बाईलाज का हवाला देते हुए कहा है कि पिछली कार्यकारिणी का कार्यकाल 5 सितंबर 21 को समाप्त हो चुका है। कोर्ट के आदेश पर 5 अक्तूबर 21 को बार एसोसिएशन का कार्यभार एल्डर कमेटी ने संभाल लिया है। किेतु निवर्तमान पदाधिकारियों द्वारा बार एसोसिएशन के कार्य में अवरोध उत्पन्न किया जा रहा है। जिसके कारण सीआरपीएफ के चार जवानों की तैनाती की जाए। 18 को वार्षिक आम सभा होनी है। तब तक बार एसोसिएशन के सदस्यों द्वारा सदस्यता शुल्क जमा किया जा रहा है।
... और पढ़ें

दोहरा हत्याकांड: फिलहाल आरोपी पकड़ से दूर, घायल बजरंग नहीं दे पाया हत्यारों का क्लू, ताबड़तोड़ दबिश जारी

इलाहाबाद हाईकोर्ट
औद्योगिक क्षेत्र के चकपूरे मियां खुर्द गांव में मां-बेटी की नृशंस हत्या में नामजद आरोपियों की तलाश में ताबड़तोड़ छापेमारी हुई। उनके संभावित ठिकानों पर बृहस्पतिवार को दिनभर दबिश दी जाती रही। लेकिन फिलहाल उन्हें पकड़ा नहीं जा सका। उधर, अस्पताल में भर्ती घटना के चश्मदीद बजरंग पटेल का बयान दर्ज किया गया। लेकिन हत्यारों के बारे में वह कोई खास क्लू नहीं दे सका।

चकपूरे मियां खुर्द गांव में रहने वाली प्रेमपति प्रेमपति (50) व उसकी पुत्री तनु (17) की मंगलवार रात घर के भीतर हत्या कर दी गई थी। हत्यारों ने प्रेमा के पति बजरंग बहादुर पटेल उर्फ नचऊ पटेल (55) पर भी चापड़ से हमला किया और मरा समझकर उसे छोड़ दिया। सुबह जानकारी पर पहुंची पुलिस ने उसे अस्पताल में भर्ती कराया। मामले में भतीजे राज बहादुर पटेल की तहरीर पर गांव के ही नवनील चंद्र मिश्र, आकाश मिश्र, सुजीत कुमार व महेश नारायण मिश्र पर रिपोर्ट दर्ज की गई, जो घटना के बाद से ही फरार हैं। पुलिस रात भर उनकी तलाश में छापेमारी करती रही। दिन में भी उनके कई संभावित ठिकानों पर दबिश दी गई लेकिन वह नहीं मिले। फिलहाल उनकी तलाश जारी है। 
... और पढ़ें

प्रयागराज : डेंगू के 415 संक्रमित चिह्नित, कुल मरीजों की संख्या एक हजार के पार

डेंगू का कहर बढ़ता ही जा रहा है। जिले में डेंगू संक्रमण के 415 मामले सामने आ चुके हैं। बृहस्पतिवार को डेंगू के 12 नए मामले सामने आए। गंभीर हालत में 11 मरीज अस्पतालों में भर्ती हैं। इन सरकारी आंकड़ों से इतर संभावित डेंगू पीड़ितों की संख्या एक हजार के पार हैं। इन बुखार पीड़ितों में लक्षण तो डेंगू के हैं पर उनकी जांच मेडिकल कॉलेज से एलाइजा जांच नहीं हुई है। शहर के दस बड़े नर्सिंग होमों के आईसीयू में औसतन 15 ऐसे हैं, जिनकी प्लेटलेट्स ही नहीं कम हो रही है, बल्कि वे अन्य संक्रमण से भी ग्रसित हैं। 

शहर के नए क्षेत्रों में डेंगू के प्रसार को रोकने के उपाय नाकाफी साबित हो रहे हैं। नगर निगम का दावा है कि जोनवार तीन हजार से अधिक घरों के आसपास सफाई, छिड़काव कराया जा रहा है। स्वास्थ्य विभाग का मलेरिया विभाग भी प्रभावित इलाकों में औसतन दो हजार घरों में एंटी लार्वा छिड़काव करा रहा है। इसके बावजूद न मच्छरों की रोकथाम हो रही है और न ही संक्रमण कम हो रहा है। 

शहर के सरकारी ही नहीं अधिकतर निजी अस्पतालों में बुखार पीड़ितों की भरमार है। शहर के एसआरएन, बेली, कॉल्विन में भी बुखार पीड़ित भर्ती हैं। निजी अस्पतालों में तो वायरल के वार से बीमारों की भरमार है। ज्यादातर मरीजों में डेंगू के लक्षण दिख रहे हैं, लेकिन उनकी मेडकल कॉलेज में एलाइजा जांच न होने के कारण ऐसे मरीज डेंगू संक्रमितों की सूची में दर्ज नहीं हैं। इन संभावित डेंगू मरीजों की संख्या एक हजार के पार है। सभी को बुखार कई दिनों से बने रहने की शिकायत है।

जिला मलेरिया अधिकारी डॉ. आनंद सिंह के मुताबिक निजी अस्पतालों से एलाइजा जांच के बाद डेंगू संक्रमितों की सूची मिलती है। सभी संभावित मरीजों की जांच कराने के स्पष्ट निर्देश हैं। उन्होंने बताया कि डेंगू के 11 नए मरीज चिह्नित किए गए हैं। विभिन्न अस्पतालों में 11 डेंगू संक्रमितों को भर्ती कर इलाज किया जा रहा है।

उन्होंने बताया कि डेंगू का प्रसार नए क्षेत्रों में न हो, इस दिशा में निरोधात्मक कार्रवाई कराई जा रही है। बृहस्पतिवार को बाई का बाग, करनपुर, छोटा बघाड़ा, अतरसुइया, बेली कॉलोनी, लाला की सरैंया, नेवादा स्टैनली रोड के साथ शंकरगंढ़, मऊआइमा, मांडा और सैदाबाद में एक-एक व्यक्ति में डेंगू का पुष्टि हुई है।
... और पढ़ें

विजयादशमी उत्सव :   बिछड़े भू-भाग देश की सीमा से फिर जुड़ेंगे, होगा अखंड भारत का निर्माण - आरएसएस

राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के अखिल भारतीय सह शारीरिक शिक्षण प्रमुख जगदीश ने अखंड भारत के संकल्प को फिर दोहराया। संघ की स्थापना दिवस के रूप में एंग्लो बंगाली इंटर कॉलेज परिसर में बृहस्पतिवार को आयोजित विजयदशमी उत्सव में उन्होंने कहा, बिछड़े भूभाग देश की सीमाओं से फिर जुड़ेंगे।

जगदीश ने कहा, श्रीराम मंदिर के निर्माण और धारा 370 समाप्त होने का भी किसी को विश्वास नहीं हो रहा था लेकिन आज यह संभव हो चुका है। देश की सेना तथा देशवासियों में पूर्ण विश्वास का उदय हुआ है। इसलिए एक बार फिर अखंड भारत का निर्माण होकर रहेगा। उन्होंने कहा कि आज हिंदुत्व का डंका पूरे विश्व में बज रहा है। हिंदुत्व से डरने वाले कुछ लोगों ने विश्व स्तर पर अमेरिका में एक ऑनलाइन सेमिनार आयोजित किया था लेकिन वहीं के लोगों ने इसका विरोध किया।
... और पढ़ें

माघ मेला 2022 :   रेती पर छह सेक्टर में मेला बसाने की तैयारी, अरैल की तरफ होगा विस्तार

माघ मेले का खाका तैयार होने लगा है। इस बार छह सेक्टर में मेला बसाने की योजना है। इसके तहत अरैल की तरफ भी मेला का विस्तार होगा। जिला प्रशासन की बृहस्पतिवार को हुई पहली बैठक में मेले के स्वरूप के साथ 2020 और 2021 में हुए आयोजनों का तुलनात्मक अध्ययन भी किया गया। इसी के साथ सभी विभागों से प्रस्ताव मांगे गए। प्रयागराज मेला प्राधिकरण बोर्ड की बैठक में अनुमोदन के बाद प्रस्ताव शासन को भेजे जाएंगे।

पूर्व में पांच सेक्टर में मेले का आयोजन होता था। कुंभ-2019 के बाद इसमें विस्तार किया गया तथा 2020 में छह सेक्टर में मेले का आयोजन हुआ। इसके विपरीत कोविड संक्रमण की वजह से 2021 में मेला का दायरा फिर सिमटकर पांच सेक्टर में हो गया। इसमें भी सेक्टर एक को दो भागों में बांटा गया था। इसके अलावा सेक्टर पांच के क्षेत्र में भी कटौती की गई थी। डीएम की अध्यक्षता में हुई बैठक में इन दोनों वर्ष के आयोजनों पर विस्तार से चर्चा हुई।

बैठक में अरैल की तरफ विस्तार करते हुए छह सेक्टर में मेला के आयोजन पर चर्चा हुई। इसी के अनुरूप सभी विभागों को प्रस्ताव तैयार करने के निर्देश दिए गए। प्रयागराज मेला प्राधिकरण बोर्ड की बैठक भी जल्द संभावित है। इसमें सभी प्रस्ताव रखे जाएंगे। बोर्ड की अनुमति के बाद प्रस्ताव शासन को भेजे जाएंगे। डीएम ने यह प्रक्रिया पूरी होने तक मेले की तैयारी करने के निर्देश दिए। ताकि, शासन की अनुमति मिलने तथा संगम क्षेत्र में नदियों का पानी कम होने के बाद मेले से संबंधित काम शुरू कर दिए जाएं।
... और पढ़ें

इलाहाबाद विश्वविद्यालय : 16 शहरों के 48 केंद्रों में होगी ऑनलाइन प्रवेश परीक्षा

इलाहाबाद विश्वविद्यालय (इविवि) एवं संघटक महाविद्यालयों में सत्र 2021-22 के तहत प्रवेश लिए परीक्षा 18 अक्तूबर से शुरू होने जा रही है। पहले दिन बीएड, एमएड सहित पीजीएटी-2 और इंस्टीट्यूट ऑफ प्रोफेशनल स्टडीज (आईपीएस) के तहत संचालित पाठ्यक्रमों में प्रवेश के लिए केवल ऑनलाइन मोड में परीक्षा होगी। यह परीक्षा 16 शहरों के 48 केंद्रों में आयोजित की जाएगी।

इविवि प्रवेश प्रकोष्ठ के चेयरमैन प्रो. आशीष सक्सेना एवं निदेशक प्रो. आईआर सिद्दीकी के अनुसार सर्वाधिक 34 परीक्षा केंद्र उत्तर प्रदेश के विभिन्न जिलों में बनाए गए हैं। प्रयागराज में14, वाराणसी में आठ, आजमगढ़ में एक, गोरखपुर में चार, लखनऊ में चार, बरेली में एक और कानपुर में दो परीक्षा केंद्र बनाए गए हैं। वहीं, दिल्ली में एक, बिहार के पटना में छह, राजस्थान के जयपुर में एक, मध्य प्रदेश के भोपाल में एक, असम के गुवाहाटी में एक, पश्चिम बंगाल के कोलकाता में एक, कर्नाटक के बंगलुरू में एक, तेलंगाना प्रदेश के हैदाबाद में एक, और केरल के तिरुवनंतपुरम में एक परीक्षा केंद्र बनाया गया है।

प्रयागराज में नंद किशोर सिंह कंप्यूटर एकेडमी झूंसी, एआईआइटी एंड मैनेजमेंट कॉलेज झूंसी, विनायक आईटी कालेज फाफामऊ, विवेकानंद पब्लिक इंटर कालेज बम्हरौली, आरडी इंस्टीट्यूट नैनी, एमएम इंफोटेक नैनी, अभिजीत स्किल सेंटर झलवा, एक्सेलेंस इंफोटेक नैनी, न्यू विजन कंप्यूटर इंस्टीट्यूट नैनी, श्री विंध्यवासिनी एजूकेशन एंड वेलफेयर फाफामऊ, अजय आनलाइन एग्जाम सेंटर झूंसी, साईं इंस्टीट्यूट ऑफ  आईटी मैनेजमेंट नैनी, इंस्टीट्यूट ऑफ  कंप्यूटर साइंस एंड डेवलपमेंट (आईसीएसडी) कॉलेज टैगोर टाउन और इलाहाबाद इंफोटेक प्राइवेट लिमिटेड नैनी को परीक्षा केंद्र बनाया गया है।
... और पढ़ें

उपलब्धि : प्रयागराज के मयंक मिश्रा ने गूगल के बग हंटर हॉल ऑफ फेम में बनाई जगह 

कुछ बेहतर करने का लक्ष्य लिए सोरांव के पसियापुर गांव के मेधावी छात्र मयंक मिश्रा ने साइबर सिक्योरिटी के क्षेत्र में बड़ी सफलता हासिल की है। तेजी से बढ़ रहे डिजिटल युग में साइबर सिक्योरिटी डाटा कलेक्शन को सुरक्षित करना बेहद अनिवार्य और आवश्यक है। अभी हाल ही में विश्व का सबसे बड़े सर्च इंजन गूगल में कमी खोजने पर गूगल ने उनके काम की सराहना करते हुए उन्हें बग हंटर हॉल ऑफ  फेम में जगह दी है।

बता दें कि अंतरराष्ट्रीय टेक्निकल कंपनियां बाउंटी प्रोग्राम का आयोजन करती रहती हैं। ऐसे में अगर किसी खामी की रिपोर्ट यूजर्स कंपनी को भेजते हैं और वो खामी सही पाई जाती है तो संबंधित कंपनी द्वारा यूजर्स को इनाम दिया जाता है। मयंक मिश्रा ने कहा कि उन्हें विश्व की बड़ी कंपनियों में गूगल, चाइनीज टेलीकॉम कंपनी हुआवे, लेनेवो, अंतरराष्ट्रीय सॉफ्टवेयर कंपनी इंफ्लेक्ट्रा आदि के हॉल ऑफ  फेम में भी जगह मिल चुकी है। मयंक मिश्रा ने इसी वर्ष बीटेक आईटी की पढ़ाई पूरी की है।


द्वितीय वर्ष से ही पढ़ाई के दौरान साइबर सिक्योरिटी में रुचि होने के कारण वह इस क्षेत्र में नित नई उपलब्धियां हासिल कर रहे हैं। उन्हें कई अंतरराष्ट्रीय कंपनियों द्वारा सराहना पत्र भी मिला है। फिलहाल, मयंक का कहना है कि वह बग हंटिंग जारी रखेंगे। क्योंकि उन्हें लगता है कि वह ऐसा करके ज्यादा से ज्यादा लोगों को इस सबजेक्ट के बारे में और बता सकेंगे। इस तरह से आगे भी साइबर इंडस्ट्री को अपना योगदान देते रहेंगे। 
... और पढ़ें
  • Downloads

Follow Us

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00