विज्ञापन
विज्ञापन
देश के यह अनोखे शिवलिंग जो बदलते हैं अपना रंग, जरूर पढ़ें !
Astrology

देश के यह अनोखे शिवलिंग जो बदलते हैं अपना रंग, जरूर पढ़ें !

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
Digital Edition

गोंडा: स्कूल से घर वापस लौट रही छात्रा को गन्ने के खेत में खींचकर सामूहिक दुष्कर्म, केस दर्ज

स्कूल से घर लौट रही छात्रा का अपहरण कर सामूहिक दुष्कर्म के बाद चाकू से जख्मी करने का सनसनीखेज मामला सामने आया है। बताया जाता है कि मनकापुर में 10वीं की यह छात्रा साइकिल से अपने स्कूल से घर लौट रही थी। तभी कुछ शोहदों ने उसे रास्ते में रोक लिया और उसे गन्ने के खेत में खींच ले गए। जहां चार लोगों ने उसके साथ दुष्कर्म किया। छात्रों के शोर मचाने पर इन लोगों ने उसे चाकू मारकर घायल कर दिया और वहां से फरार हो गये। छात्रा ने घर पहुंचकर अपने परिवार वालों को आपबीती सुनाई।

छात्रा ने कोतवाली मनकापुर में एक आरोपी को नामजद करते हुए चार लोगों के खिलाफ सामूहिक दुष्कर्म व धमकी समेत विभिन्न धाराओं में रिपोर्ट दर्ज कराई है। कोतवाली मनकापुर कोतवाल केके राणा ने बताया कि छात्रा को महिला सिपाही की अभिरक्षा में मेडिकल परीक्षण के लिए भेजा गया है। मामले की जांच की जा रही है।  इस बीच पुलिस अधीक्षक शैलेश कुमार पांडेय का कहना है कि छात्रा की शिकायत पर एक व्यक्ति को नामजद करते हुए तीन अज्ञात के खिलाफ सामूहिक दुष्कर्म समेत विभिन्न धाराओं में केस दर्ज किया गया है। एसपी के मुताबिक छात्रा और आरोपियों के परिवार के बीच पहले से विवाद की जानकारी मिली है। मामले की पूरी जांच कराई जा रही है।
... और पढ़ें

Tandav वेबसीरीज के विवादित दृश्यों का मामला, अमेजन प्राइम इंडिया की कंटेंट हेड से हुई पूछताछ

अमेजन प्राइम इंडिया की कंटेंट हेड अपर्णा पुरोहित मंगलवार को तांडव वेब सीरीज के संबंध में बयान दर्ज कराने हजरतगंज थाने पहुंची। वहां से एसआईटी टीम उन्हें विवेचना सेल के कार्यालय ले गई और साढ़े तीन घंटे तक पूछताछ की। इस दौरान डीसीपी मध्य सोमेन वर्मा, एडीसीपी मध्य चिरंजीव नाथ सिन्हा, एसीपी हजरतगंज राघवेंद्र मिश्रा व इंस्पेक्टर श्याम बाबू शुक्ला ने भी सवाल किए। शाम 5.45 बजे तक अपर्णा से पूछताछ की गई।

गौरतलब है कि जनवरी में रिलीज हुई तांडव वेबसीरीज में कई विवादित दृश्य दिखाए गए थे। इसे लेकर हजरतगंज थाने में तैनात एसएसआई अमरनाथ यादव ने जनवरी में एक मुकदमा दर्ज कराया था। इसमें अपर्णा पुरोहित के अलावा वेबसीरीज के निर्देशक अली अब्बास, निर्माता हिमांशु कृष्ण मेहरा और लेखक गौरव सोलंकी समेत पांच लोगों पर समाज में दुर्भावना फैलाने का आरोप लगाया गया था। इस मामले की जांच के लिए एसआईटी गठित की गई। एक टीम इनकी तलाश करने के लिए मुंबई भेजी गई। इस टीम ने उनके घरों व कार्यालयों में नोटिस चस्पा किया।

इसके बाद अली अब्बास, हिमांशु व गौरव ने बयान दर्ज कराए। मगर अपर्णा का बयान दर्ज नहीं हो सका था। वहीं, सभी आरोपियों ने कोर्ट से गिरफ्तारी पर रोक लगाने का आदेश हासिल कर लिया। पर, हाईकोर्ट में न्यायमूर्ति दिनेश कुमार सिंह की पीठ ने अपर्णा को बयान दर्ज कराने का आदेश दिया था। एसआईटी ने अपर्णा से पूछताछ के लिए लगभग 100 सवाल तैयार किए थे। इसमें वेब सीरीज तांडव के कंटेंट और वीडियो से जुड़े सवाल थे। पूछताछ में कई बार अपर्णा असहज हुईं। इस दौरान उनके वकील ने कई बार कार्यालय में जाने की कोशिश की, लेकिन पुलिस ने उन्हें बाहर ही रोक दिया।

मीडिया से बचने में गमले से टकराकर गिरीं अपर्णा
हजरतगंज कोतवाली में बयान दर्ज कराने पहुंचीं अपर्णा पुरोहित मीडिया से बचती दिखीं। वह बयान दर्ज कराने के लिए सीधे कार्यालय गईं। जब लौटीं तो मीडियाकर्मियों ने कई सवाल किए, लेकिन वह जवाब देने के बजाय वहां से जाने लगीं। इसी हड़बड़ाहट वह गमले टकराकर गिर पड़ीं। बाद में वह सीधे होटल चली गईं।

अपर्णा बोलीं, अंदाजा नहीं था कि जनभावनाएं होंगी आहत
डीसीपी मध्य सोमेन वर्मा ने बताया कि पूछताछ में अपर्णा ने कहा कि उन्हें इस बात का जरा भी अंदाजा नहीं था कि तांडव वेब सीरीज में जो भी दिखाया जा रहा है, उससे जन भावनाएं आहत होंगी। जैसे ही पता चला तो माफीनामा भी जारी किया। सीरीज के जिस दृश्य पर लोगों की आपत्ति थी। उसे संपादित कर दिया गया। गौरतलब है कि इस वेबसीरीज के पहले एपिसोड में हिंदू देवी-देवताओं को गलत तरीके से रूप धारण करके अमर्यादित भाषा में प्रस्तुत करने के साथ ही जातिगत विद्वेष दर्शाया गया था। इसके विरोध में लखनऊ के अलावा मुजफ्फरनगर, बागपत, हाथरस और कानपुर समेत कई शहरों में प्रदर्शन हुए। लखनऊ, जौनपुर, नोएडा आदि कई जगहों पर मुकदमे दर्ज किए गए थे।

जारी हो सकती है सैफ अली, डिंपल व जीशान को नोटिस
पुलिस के मुताबिक इस विवादित वेब सीरीज में मुख्य किरदार निभाने वाले सैफ अली खान, डिंपल कपाड़िया और जीशान सहित कई अन्य कलाकारों से भी पूछताछ की जा सकती है। इन सबको नोटिस जारी की जा सकती है। हालांकि अभी पुलिस टीम सीरीज के निर्माण में लगी यूनिट से ही पूछताछ कर जानकारी हासिल कर रही है।
... और पढ़ें

बाराबंकी में पुलिस व पशु तस्करों के बीच मुठभेड़, एक सिपाही व एक बदमाश घायल, दो मौके से फरार

बाराबंकी के थाना सफदरगंज के बासा रोड पर पशु तस्करों और पुलिस के बीच हुई मुठभेड़ में एक बदमाश व एक पशु तस्कर घायल हो गया। पुलिस ने मौके से एक बदमाश को गिरफ्तार कर लिया पर दो फरार हो गए।

पकड़े गए बदमाश के पास से पुलिस ने कार व अन्य औजार बरामद किया है। आरोपी प्रतिबंधित मवेशियों का तस्कर बताया जा रहा है। पुलिस अधीक्षक यमुना प्रसाद ने बताया कि सफदरगंज थाना क्षेत्र में मुश्किनगर क्रॉसिंग के पास बांसा रोड पर मंगलवार की भोर कार सवार बदमाशों से पुलिस टीम के बीच मुठभेड़ हो गई।

इस दौरान गोली लगने से थाने का सिपाही अरूण कुमार घायल हो गया। वहीं, कार सवार एक बदमाश सोनू निवासी सतरिख में गोली लगने से घायल हुआ जिसे पुलिस ने पकड़ा है। जबकि उसके 2 साथी मौके से भाग निकले हैं।

आरोपी प्रतिबंधित मवेशियों का वध कर उनके मांस की तस्करी का काम करता है जिसके खिलाफ आधा दर्जन से अधिक मुकदमे पहले से कई थानों में दर्ज है। पुलिस फरार अन्य आरोपियों का पता लगा रही है। जबकि घायल सिपाही बदमाश को जिला अस्पताल में भर्ती कराया गया है। पुलिस घटना की जांच कर रही है।
... और पढ़ें

यूपी एसटीएफ ने नेपाल के एक संदिग्ध युवक को किया गिरफ्तार, देश विरोधी गतिविधियों में था शामिल

यूपी एसटीएफ ने फर्जी आईडी के आधार पर अयोध्या के थाना इनायतनगर के बारुन बाजार में स्थित एक मदरसे में पढ़ाने वाले विदेशी व्यक्ति को गिरफ्तार किया है। नेपाली नागरिकता वाले इस व्यक्ति के पास से एसटीएफ ने फर्जी आधार कार्ड, नेपाली पासपोर्ट, कई सिम कार्ड व कुछ अन्य संदिग्ध दस्तावेज बरामद किए हैं। आरोपी व्हाट्सएप के जरिए पाकिस्तान के कई नंबरों से जुड़ा है।

रौनाही थाना प्रभारी रामाश्रय राय ने बताया कि लखनऊ एसटीएफ की टीम ने थाना क्षेत्र के संजयगंज बाजार के पास स्थित बड़ी नहर के पास से 27 फरवरी की रात करीब 1 बजे एक संदिग्ध विदेशी नागरिक को गिरफ्तार किया है। आरोपी की पहचान मो. सलीम निवासी पुत्र मंगरे खान निवासी लच्छनपुर जनपद बांके नेपाल के रूप में हुई। वह थाना इनायतनगर के बारुन चौकी क्षेत्र अंतर्गत खिहारन गांव में स्थित एक मदरसे में शिक्षक के रूप में रह रहा था।

सूत्रों के अनुसार तेलांगना राज्य से पकड़े गए एक व्यक्ति की इनपुट पर एसटीएफ की टीम ने यह कार्रवाई की है। आरोपी को उसके मोबाइल नंबर, फेसबुक व व्हाट्सएप की आईडी के आधार पर ट्रेस किया गया। वह कई पाकिस्तानी नंबरों पर लगातार चैटिंग करता था। जानकारी के अनुसार आरोपी के पास मिस्र की स्नातक की डिग्री भी मिली है। यही नहीं उसने फर्जी आईडी के सहारे श्रावस्ती जनपद से आधार कार्ड भी बनवा रखा है।
... और पढ़ें
मोहम्मद सलीम। मोहम्मद सलीम।

लाला जुगल किशोर ज्वेलर्स से चोरी हुआ सात करोड़ का माल बरामद, तीन गिरफ्तार

अमीनाबाद के लाला जुगल किशोर ज्वेजर्स एंड बैंकर्स की दुकान से हुई चोरी का खुलासा पुलिस ने कर दिया है। इस मामले में तीन चोरों को दबोचा गया है। उनके पास से पुलिस ने करीब 7 करोड़ के जेवरात बरादम करने का दावा किया है। जिसमें 70 लाख रुपये से अधिक की नकदी भी शामिल हैं। पुलिस इस गिरोह के अन्य सदस्यों के बारे में पता लगा रही है। चोरों ने महानगर, अमीनाबाद और ठाकुरगंज इलाके के चार बड़ी चोरियों के वारदात को अंजाम दिया है।

संयुक्त पुलिस आयुक्त अपराध नीलाब्जा चौधरी के मुताबिक अमीनाबाद स्थित लाला जुगल किशोर ज्वेलर्स एंड बैंकर्स में बुधवार व बृहस्पतिवार रात में चोरी की वारदात हुई। जिसमें पीड़ित ने अज्ञात चोरों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कराया था। लेकिन चोरी गये जेवरात की कीमत के बारे में शुरूआती दौर में जानकारी नहीं दी थी। पूछताछ में शनिवार शाम को पीड़ित ने पुलिस को बताया कि चोरी हुए सामान में उनके बाबा के नाम का लाइसेंसी पिस्तौल, कारतूस के अलावा करीब 6 करोड़ रुपये के जेवरात व नकदी गायब थे। अभी मिलान जारी है। बाकी सामानों के बोर में जानकारी दी जाएगी। पुलिस ने इस मामले की पड़ताल व खुलासे के लिए 10 टीमों का गठन किया। पुलिस ने लगातार पुलिस कमिश्नर डीके ठाकुर के निर्देशन में काम कर रही थी। रविवार देर रात को पुलिस के हाथ सफलता लगी। पुलिस ने इस वारदात से जुड़े तीन आरोपियों को दबोच लिया। पकड़े गये आरोपियों में हसनगंज मसालची टोला का रहने वाला शोएब, सआदतगज अंबरगंज का सबरूद्दीन अंसारी उर्फ शेरा और ठाकुरगंज के मरीमाता मंदिर कैंपबेल रोड का अंसारी अहमद शामिल है। पुलिस ने तीनों के पास से चोरी के जेवरात व नकदी बरामद किया है।
... और पढ़ें

बार में पार्टी करने गए दंपती में विवाद, अर्ध नग्न हालत में भागी पत्नी, अपार्टमेंट के सुरक्षाकर्मी ने दिए कपड़े

लखनऊ के विभूतिखंड थानाक्षेत्र में स्थित म्यूनिख बार में रविवार देर रात को पार्टी करने पहुंचे दंपती में विवाद हो गया। विवाद इतना बढ़ गया कि हाथापाई और खींच तान में पत्नी के कपड़े फट गये। वह अर्ध नग्न हालात में वहां से भागी और पास के अपार्टमेंट में गई। जहां सुरक्षाकर्मी ने तन ढकने के लिए तौलिया दिया। देर रात तक चले हंगामे की सूचना पर पहुंची पुलिस ने मामले को शांत कराया। इसके बाद दोनों घर गए।

प्रभारी निरीक्षक विभूतिखंड चंद्रशेखर सिंह के मुताबिक रात करीब 11.45 बजे सूचना मिली की एक महिला म्यूनिख बार से अर्ध नग्न हालात में भागी है। वह चीखती हुई पास के अपार्टमेंट में घुस गई। वहां के सुरक्षाकर्मियों ने उसे तन ढकने के लिए कपड़े दिये।

जानकारी होने पर पहुंची पुलिस ने पड़ताल शुरू किया। बार के सीसीटीवी कैमरों को खंगाला गया। जिसमें दिखा कि दोनों देर शाम साथ आये। एक साथ टेबल पर बैठक कर खाने पीने का दौर चला। इसके बाद अचानक रात को करीब 11 बजे दोनों के बीच कहासुनी होने लगी।

मामला इतना बढ़ गया कि दोनों ने हाथापाई करनी शुरू कर दी। इसी दौरान हुए खींचतान में पत्नी के कपड़े फट गये जिसके बाद वह डरकर वहां से भाग गई। पास के अपार्टमेंट में वह जा घुसी गार्ड ने उसे तौलिया दिया। कुछ देर बाद उसके कपड़े गार्ड रूम में पहुंचाए गये।
... और पढ़ें

घायल सूबेदार की हालत सुधरने पर होगी पूछताछ, कैंटोनमेंट में ऑफिसर्स मेस चार्ज के लेनदेन में हुआ था खूनी संघर्ष

कैंटोनेमेंट में सेंट्रल ऑफिसर्स मेस के चार्ज लेनदेन को लेकर शुक्रवार दोपहर में हुए खूनी संघर्ष में सूबेदार पेम्पा बहादुर शेरपा की मौत हो गई। वहीं दूसरे सूबेदार रमेश कुमार राई गंभीर रूप से घायल हो गए थे। घायल सूबेदार पुलिस की पूछताछ में ज्यादा कुछ नहीं बता सका। सिर्फ मेस चार्ज के संबंध में विवाद की बात कही है। वहीं शनिवार को मृत सूबेदार पेम्पा के शव को पोस्टमार्टम के बाद परिवारीजनों को सुपुर्द कर दिया गया।

एसीपी कैंट डॉ. बीनू सिंह के मुताबिक रमेश कुमार राई का कमांड अस्पताल में इलाज चल रहा है। शनिवार को रमेश की हालत में सुधार होने के बाद उससे वारदात के संबंध में जुड़ी जानकारी हासिल की गई है। गले में चोट होने के कारण वह पूरी वारदात के बारे में नहीं बता सका। हालांकि रमेश राई ने चार्ज सौंपने को लेकर विवाद होने की बात कही है।

एसीपी के मुताबिक डाक्टरों ने सूबेदार को आराम करने की सलाह दी है। ऐसे में हालत सुधरने पर रमेश राई से दोबारा पूछताछ की जाएगी। जिसके बाद ही घटनाक्रम साफ हो सकेगा। पुलिस को छानबीन में पता चला कि वारदात के वक्त सूबेदार नशे की हालत में था। जिसके कारण विवाद बढ़ गया।

पुलिस इस मामले से जुड़ी हर बिंदु पर जांच कर रही है। पुलिस के मुताबिक, घायल सूबेदार ही वारदात की सही जानकारी दे सकेगा। इसके लिए पुलिस लगातार उसके स्वास्थ्य के बारे में चिकित्सकों से बातचीत कर रही है।
... और पढ़ें

बच्चा पैदा न कर पाने पर पति ने भाइयों से कराया यौनशोषण, विरोध करने पर तीन तलाक बोलकर घर से भगा दिया

प्रतीकात्मक तस्वीर
मोहनलालगंज के एक गांव में महिला को दूसरा बच्चा न होने पर पति ने अपने दो बड़े भाईयों से महिला का यौन शोषण कराया और विरोध करने पर पति ने महिला को शनिवार की रात मारा-पीटा व तीन तलाक बोलकर घर से बाहर निकाल दिया।

महिला ने इसकी शिकायत 1090 पर करने के साथ ही मोहनलालगंज पुलिस को तहरीर दी लेकिन पीड़ित महिला को मदद नहीं मिली। रविवार को मामला सोशल मीडिया पर वायरल होने से हड़कंप मच गया।

इसके बाद पूरे मामले को डीसीपी ने संज्ञान में लिया और मोहनलालगंज पुलिस को मुकदमा दर्ज करन के निर्देश दिए, जिसके बाद हरकत में आई पुलिस ने आरोपी की तलाश शुरू कर दी है। इंस्पेक्टर ने आरोपियों के विरुद्ध मुकदमा दर्ज कर कार्रवाई करने की बात कही है।

लखनऊ के आलमबाग की रहने वाली महिला का विवाह मोहनलालगंज के एक गांव में नौ वर्ष पहले हुआ था। विवाह के दो वर्ष बाद महिला को एक बेटा हुआ लेकिन इसके बाद महिला को कोई संतान नहीं हुई जिसके कारण पति-पत्नी में मन मुटव रहने लगा।
... और पढ़ें

रिश्वत की पेशकश करने पर रिटायरमेंट से तीन दिन पहले इंजीनियर का डिमोशन, पहले किया गया था निलंबित

पावर कॉर्पोरेशन के निदेशक (वित्त) सुधीर आर्य को रिश्वत की पेशकश करने वाले अधीक्षण अभियंता राजेश गुप्ता को अधिशासी अभियंता के पद पर पदावनत कर दिया गया है। 6 फरवरी, 2020 से निलंबित चल रहे राजेश 28 फरवरी को सेवानिवृत्त हो रहे हैं। रिटायरमेंट से तीन दिन पहले उनका निलंबन समाप्त करते हुए पदावनत करने का दंड दिया गया है।

दिलचस्प है कि कॉर्पोरेशन के अध्यक्ष एवं प्रबंध निदेशक एम. देवराज की ओर से जारी आदेश में कहा है कि जांच में सामने आए तथ्यों से राजेश की सेवा समाप्त करने का आधार बनता है। चूंकि वह अब रिटायर हो रहे हैं इसलिए उदार दृष्टिकोण अपनाते हुए उन्हें पदावनत करते हुए उनके खिलाफ जांच समाप्त की जाती है।

समाप्त कर दी जाएगी जांच
पॉवर कॉर्पोरेशन के निदेशक (वित्त) सुधीर आर्य को रिश्वत की पेशकश करने वाले अधीक्षण अभियंता राजेश गुप्ता को पदावनत कर अधिशासी अभियंता बना दिया गया है। 6 फरवरी 2020 से निलंबित चल रहे राजेश की सेवानिवृत्ति 28 फरवरी को है। रिटायरमेंट से तीन दिन पहले राजेश का निलंबन समाप्त करते हुए पदावनत करने का दंड दिया गया है। कॉर्पोरेशन के  अध्यक्ष एवं प्रबंध निदेशक एम. देवराज की ओर से जारी आदेश में साफ कहा है कि आरोपों की जांच में सामने आए तथ्यों से राजेश की सेवा समाप्त करने का स्पष्ट आधार बनता है। चूंकि वह 28 फरवरी को रिटायर हो रहे हैं इसलिए उदार दृष्टिकोण अपनाते हुए उन्हें पदावनति का दंड देते हुए उनके खिलाफ चल रही जांच को समाप्त किया जाता है।
... और पढ़ें

सीतापुर: अगवा कर धर्मपरिवर्तन करवाने का आरोपी तीन महीने बाद गिरफ्तार, जेल भेजा गया

युवती को अगवा किए जाने के मामले में पुलिस ने जिब्राइल को गिरफ्तार कर लिया है। वहीं पुलिस ने युवती को कोर्ट में पेश कर उसका बयान दर्ज कराया है। अब तब इस मामले में जिब्राइल सहित 14 लोग जेल जा चुके हैं।

सीतापुर जिले के तंबौर इलाके के एक गांव की युवती को 23 नवंबर को अगवा किया गया था। मामले में पुलिस ने 26 नवंबर को आरोपी जिब्राइल सहित सात लोगों के खिलाफ धर्मपरिवर्तन के लिए युवती को अगवा करने सहित धाराओं में केस दर्ज किया था। इसके बाद पुलिस की कई टीमें आरोपी की गिरफ्तारी के लिए लगाई थीं।

इसी बीच तंबौर पुलिस ने आरोपी जिब्राइल को क्षेत्र के चौका पुल से गिरफ्तार कर लिया। साथ ही पुलिस लड़की को भी वापस ले आई है। इस मामले में पुलिस ने आरोपी के भाइयों इज्राइल, मैनुददीन, मां जन्नतुन, भाभी अफसर जहां, दोस्त रफीक व शमशाद, रिश्तेदार उस्मान, नददाफ, पप्पू, चांद बीबी, आकिब, जावेद व वैन चालक सरोज जेल भेजा है। अब पुलिस ने जिब्राइल को भी जेल भेज दिया है।

इंस्पेक्टर अंबर सिंह का कहना है कि धर्म परिवर्तन के लिए युवती को अगवा करने वाले आरोपी जिब्राइल को गिरफ्तार कर लिया गया है। उसे जेल भेज दिया गया है। अगवा की गई युवती का कोर्ट में बयान कराया गया है। मामले में आवश्यक कार्रवाई की जा रही है।
... और पढ़ें

लखनऊ: अवैध संबंध के शक में पत्नी की हत्या, बीच सड़क पर तड़पती रही महिला, तमाशा देखते रहे लोग

उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ के मड़ियांव के गायत्रीनगर में महिला की चाकू से गोदकर हत्या करने का मामला सामने आया है। महिला की हत्या उसके पति ने अवैध संबंध के शक में की है। पुलिस ने आरोपी को गिरफ्तार कर लिया है। पुलिस पूछताछ कर रही है।

जानकारी के अनुसार, दूसरे युवक से संबंध होने का संदेह हुआ तो अफसाना (25) को चाकू से गोदकर पति ने घायल कर दिया। गंभीर हालत में उसे ट्रॉमा सेंटर में भर्ती कराया गया जहां डॉक्टरों ने मृत घोषित कर दिया। पुलिस ने आरोपी पति को गिरफ्तार कर उसकी निशानदेही पर चाकू भी बरामद कर लिया है। 

एसीपी अलीगंज अखिलेश सिंह के मुताबिक, मूलरूप से सीतापुर निवासी मो. रफीक मड़ियांव के गायत्रीनगर में परिवार के साथ रहता था। परिवार में पत्नी अफसाना व पांच साल की बेटी रहती थी। वह सिलाई का काम करता है। पुलिस के मुताबिक, रफीक को संदेह था कि उसकी पत्नी का दूसरे युवक से संबंध हैं। इसी को लेकर दोनों में अक्सर विवाद हुआ करता था। रफीक अपनी पत्नी को गांव लेकर जाना चाहता था ताकि दूसरे युवक से वह मिल न पाए। इसका विरोध अफसाना कर रही थी।

सुबह से गायब थी अफसाना
प्रभारी निरीक्षक मनोज सिंह के मुताबिक, पूछताछ में रफीक ने बताया कि उसकी पत्नी अफसाना सुबह से ही लापता थी। उसने कई जगह तलाश किया लेकिन कोई सुराग नहीं मिला। शाम को वह पास की गली में आती दिख गई। गुस्से रफीक ने सवाल किया तो दोनों के बीच विवाद हो गया। इसी बात पर नाराज होकर रफीक ने अफसाना पर चाकू से हमला बोल दिया। उसके पेट व सीने पर कई वार किए। जिससे वह गंभीर रूप से घायल हो गई। वह खून से लथपथ होकर सड़क पर गिर गई।
... और पढ़ें

शर्ट चोरी करने पर सिपाही की पिटाई करने वालों पर मुकदमा दर्ज, मॉल के मैनेजर भी फंसे

लखनऊ के हुसैनगंज के वी-मॉर्ट मॉल में चोरी करते पकड़े गए सिपाही को पीटने वालों पर मुकदमा दर्ज कर लिया गया है। इस मामले में पुलिस ने मॉल के मैनेजर विश्वास मिश्रा, गार्ड अजीज व कर्मचारी विजय कुमार सहित दर्जन भर लोगों के खिलाफ केस दर्ज कराया है।

प्रभारी निरीक्षक हुसैनगंज दिनेश सिंह बिष्ट के मुताबिक, सिपाही आदेश कुमार पुलिस लाइन में तैनात है। वह हुसैनगंज चौराहे पर स्थित वी-मॉर्ट मॉल गया था। उसने वहां तीन शर्ट पसंद कीं और पहनने के बाद ऊपर से वर्दी पहन ली।

मॉल से निकलने लगा तो कर्मचारियों ने उसे पकड़ लिया और वर्दी में होने के बाद भी उसकी पिटाई की। इसके बाद उन्हीं लोगों ने पिटाई का वीडियो बनाकर सोशल मीडिया पर वायरल करवाया।

बता दें कि  हुसैनगंज के वी-मॉर्ट मॉल में चोरी करते हुए सिपाही को लोगों ने दबोच लिया था। उसकी जमकर धुनाई की। इसके बाद पुलिस के हवाले कर दिया। आरोपी सिपाही ने वर्दी के नीचे चोरी की तीन शर्ट पहन रखी थी। इस वारदात का वीडियो गुरुवार देर शाम सोशल मीडिया पर वायरल हो गया। इसके बाद पुलिस कमिश्नर डीके ठाकुर ने आरोपी सिपाही को निलंबित कर दिया। वहीं उसके खिलाफ जांच का आदेश भी दे दिया है।
... और पढ़ें

तीन दर्जन से अधिक दागी इंजीनियरों पर होगी कार्रवाई, बर्खास्तगी से लेकर निलंबन तक की लटकी तलवार

आय से अधिक संपत्ति अर्जित करने तथा केंद्र सहायतित योजनाओं में गड़बड़ी के आरोपी पावर कॉर्पोरेशन के तीन दर्जन से ज्यादा अभियंताओं पर शिकंजा कस गया है। कॉर्पोरेशन ने ऐसे आरोपी अभियंताओं की जांच संबंधी फाइल तलब की है। सूत्रों के अनुसार जांच रिपोर्ट का परीक्षण अंतिम दौर में है। एक वरिष्ठ अधिकारी का कहना है कि कार्रवाई की पूरी तैयारी कर ली गई है। जल्द ही कुछ की बर्खास्तगी व निलंबन के आदेश जारी कि ए जा सकते हैं।

ऊर्जा मंत्री श्रीकांत शर्मा के निर्देश के बाद पावर कॉर्पोरेशन प्रबंधन ‘ऑपरेशन क्लीन’ के तहत दागी अभियंताओं के खिलाफ कार्रवाई तेज करने जा रहा है। इसकी शुरुआत बीती 15 फरवरी को दक्षिणांचल विद्युत निगम के अधिशासी अभियंता ओम प्रकाश की बर्खास्तगी के साथ कर दी गई है। भरोसेमंद सूत्रों के अनुसार मौजूदा समय में 37 अभियंताओं के खिलाफ भ्रष्टाचार के  आरोपों की जांच चल रही है।

मुख्य से अधिशासी अभियंता तक के अफसरों पर शिकंजा
जिन अफसरों पर शिकंजा कसा है, उनमें मुख्य अभियंता से लेकर अधिशासी अभियंता तक के अधिकारी शामिल हैं। इनमें ज्यादातर पश्चिमांचल विद्युत वितरण निगम के अंतर्गत नोएडा व गाजियाबाद, दक्षिणांचल वितरण निगम में अलीगढ़, मध्यांचल वितरण निगम के लेसा व केस्को में लंबे समय तक तैनात रहे हैं। इसी दौरान सौभाग्य व दीन दयाल उपाध्याय ग्राम ज्योति योजना जैसी केंद्र सहायतित योजनाओं में भ्रष्टाचार का आरोप है।

ईओडब्ल्यू से भी जांच, कई पर आरोप सिद्ध
11 अभियंताओं के खिलाफ आय से अधिक संपत्ति जांच चल रही है। पांच की जांच लगभग पूरी हो चुकी है। अभियंताओं पर पिछली सरकार में मनमाने ढंग से ठेके  देने, बिजली के बिलों में संशोधन के  नाम पर मोटी उगाही करने, निर्माण कार्यों में गड़बड़ी, बड़े उपभोक्ताओं के  कनेक्शन देने में खेल करने समेत तमाम अन्य तरह केआरोप हैं। विभागीय सतर्कता इकाई के अलावा सतर्कता अधिष्ठान व आर्थिक अपराध अनुसंधान शाखा (ईओडब्ल्यू) से जांच कराई गई है। कई पर आरोप सिद्ध पाए गए हैं। जांच एजेंसियों ने गलत तरीके से अर्जित की गई संपत्तियों का ब्योरा भी जुटाया है।
... और पढ़ें
Election
  • Downloads

Follow Us

विज्ञापन
X

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00
X