विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
मात्र 2 दिन शेष ,गंगा दशहरा पर कराएं गंगा आरती एवं दीप दान, पूरे होंगे रुके हुए काम
Puja

मात्र 2 दिन शेष ,गंगा दशहरा पर कराएं गंगा आरती एवं दीप दान, पूरे होंगे रुके हुए काम

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
Digital Edition

सिरसाः तेजधार हथियार से 32 वर्षीय युवक की हत्या, खेतों में मिला खून से लथपथ शव

60 एकड़ जमीन के बंटवारे के लिए बुलाई पंचायत, कहासुनी होने पर भतीजों ने चलाई गोली, पांच लोग घायल

गांव कंडरौली में बुधवार की सुबह 8 बजे लगभग 60 एकड भूमि के बटवारें को लेकर हुई पंचायत में विवाद हो गया। इस दौरान दो भतीजों ने अपने दो ताया, उनके दो बेटों और फूफा पर सात गोलियां बरसाकर गंभीर घायल कर दिया है।
 
गोली चलने की आवाज सुनकर ग्रामीण घटनास्थल की ओर भागे। पांचों घायलों को रादौर के सरकारी अस्पताल में भर्ती कराया गया। जहां उनकी गंभीर हालत को देखते हुए यमुनानगर के गाबा अस्पताल रेफर कर दिया गया। घायलों में पूर्व सरपंच सुरेंद्र पाल ढांडा व उनके भाई राजपाल ढांडा की हालत गंभीर है। 

मामले की सूचना मिलने के बाद डीएसपी रादौर कुशल पाल राणा भारी पुलिसबल के साथ घटनास्थल पर पहुंचे। वहीं फॉरेसिंक टीम ने घटनास्थल से साक्ष्य जुटाए। घटना के बाद हमलावर भतीजे रमन व लखन अपने पिता एडवोकेट बलिंद्र पाल ढांडा के साथ लाडवा की ओर फरार हो गए। गांव में गोली चलने की घटना से लोगों में दहशत का माहौल है। 

जानकारी के अनुसार गांव कंडरौली निवासी पूर्व सरपंच व फाइनेंसर सुरेंद्र पाल ढांडा व उनके तीन भाइयों राजपाल ढांडा, रामपाल ढांडा व सबसे छोटे भाई एडवोकेट बलिंद्र पाल ढांडा ने गांव कंडरौली व गुमथला में लगभग 60 एकड़ पारिवारिक भूमि के बंटवारे को लेकर बुधवार को पंचायत बुलाई। जिसमें कुछ रिश्तेदार भी थे। 
... और पढ़ें

पानीपतः लॉकडाउन के बीच दूध कारोबारी के बेटे की हत्या, मारकर शव खेत में फंदे से लटकाया

हरियाणा के पानीपत जिले में लॉकडाउन के दौरान हत्या की वारदात अंजाम दी गई। दूध कारोबारी के 22 वर्षीय छोटे बेटे को मारकर लटका दिया गया। उसके सिर पर तेजधार हथियार से वार किया गया था। परिजनों का कहना है कि हत्या करने के बाद शव को पेड़ पर लटकाया गया है। सदर थाना पुलिस ने शव को पोस्टमॉर्टम के लिए भेज दिया है।

गांव निंबरी निवासी दूध कारोबारी बजन सिंह ने बताया कि सोमवार की रात करीब 11 बजे छोटे बेटे बिजेंद्र को घर पर देखा था, जब रात 3:30 बजे नींद खुली बिजेंद्र घर पर नही मिला। बड़े बेटे राकेश को बुलाया और बिजेंद्र को कॉल मिलवाया, लेकिन फोन स्विच ऑफ मिला। तलाश शुरू की और वे लगातार कॉल भी करते रहे, लेकिन कुछ पता नही चला। सुबह सात बजे के आसपास एक रिंग गई, लेकिन फोन पिक नही हुआ। दोबारा कॉल करने फिर से फोन स्विच ऑफ मिला।

इसी दौरान गांव के सरपंच जगबीर ने कॉल करके पंचायती जमीन के खेत में बिजेंद्र के लटके होने की सूचना दी। मौके पर पहुंचे तो देखा के बेटे का शव खून से लथपथ था। उसके सिर में चोट लगी थी और उसे पेड़ के जरिए फंदे पर लटकाया गया था। उन्होंने कहा कि बेटे की हत्या करने के बाद उसे फंदे पर लटकाया है। सदर थाना पुलिस और डीएसपी बिजेंद्र सिंह मौके पर पहुंचे। उन्होंने कहा कि पोस्टमार्टम रिपोर्ट आने के बाद आगे की कार्रवाई की जाएगी।
... और पढ़ें

हिसार: दो साल पहले गांव की लड़की से प्रेम विवाह करने वाले को साले ने मारी गोली

हरियाणा के हिसार जिले में झूठी शान के लिए हत्या का मामला सामने आया है। दो साल पहले अपने ही गांव की युवती से प्रेम विवाह करने वाले युवक को 11वीं कक्षा में पढ़ने वाले उसके साले ने शनिवार दोपहर साढ़े तीन बजे गोली मारकर हत्या कर दी। मृतक नरेंद्र (23) के पिता राजेंद्र ने पुलिस की शिकायत में आरोप लगाया है कि उनके बेटे की हत्या साजिश के तहत की गई है। इसमें सचिन कुमार, बिंटू, पवन कुमार व एक अन्य लड़के के अलावा सचिन के पिता रमेश और इनके अन्य रिश्तेदार व परिवार के लोग शामिल हैं।

उधर, देर रात बरवाला थाना प्रभारी कुलदीप सिंह ने बताया कि आरोपी सचिन, बिंटू, पवन, रमेश व अन्य के खिलाफ हत्या समेत अन्य धाराओं में केस दर्ज किया गया है। जानकारी के अनुसार, हांसी मार्ग पर हिसार होंडा गैरिज के नाम से दुकान चला रहे बाइक मैकेनिक गांव चिड़ौद निवासी नरेंद्र ने गांव की ही युवती पूजा के साथ दो साल पहले प्रेम विवाह किया था। 


यह भी पढ़ें- 
भीख मांगकर समाजसेवा करते हैं राजू, पीएम मोदी भी मुरीद, मन की बात में किया जिक्र, पढ़ें- कौन हैं

इसके बाद से दोनों बरवाला में हांसी मार्ग पर दुकान के ऊपर बने मकान में रह रहे थे। वारदात के वक्त नरेंद्र दुकान के बाहर बाइक की मरम्मत कर रहा था। इसी दौरान पूजा का भाई सचिन (18) अपने मामा के लड़के और एक अन्य दोस्त के साथ दो बाइक पर आया। उस समय पूजा ऊपर चौबारे में थी। नरेंद्र से कुछ देर बातचीत करने के बाद सचिन ने अचानक पिस्तौल निकाल ली और नरेंद्र के सिर में गोली मार दी। 
... और पढ़ें
मृतक नरेंद्र का फाइल फोटो। मृतक नरेंद्र का फाइल फोटो।

भूना: शराब ठेकेदार के कारिंदे व ड्राइवर पर जानलेवा हमला करने पर भांभू पंजाबी गैंग के सरगना पर मामला दर्ज

शराब ठेकेदारों के कर्मचारियों पर जानलेवा हमला करने वाले भांभू पंजाबी गैंग के खिलाफ अलग-अलग दो एफआईआर दर्ज की गई हैं। पुलिस ने हिसार व अग्रोहा में दाखिल अलग-अलग घटनाओं में दो घायलों के बयान लेकर मंगलवार देर रात ये कार्रवाई की। पुलिस बयान में 35 वर्षीय अतुल राज निवासी इंदाछोई ने बताया कि 25 मई की शाम को वह पवन कुमार ठेकेदार के अलग-अलग चार ठेकों से कैश कलेक्शन लेकर पिकअप चालक रमेश कुमार बैजलपुर के साथ आ रहा था। लेकिन हिसार रोड पर पुराने बस स्टैंड के पास पीछे से एक बोलेरो गाड़ी में सवार चार युवको ने उन्हें घेर लिया। 

हमलावरों में विक्रम भांभू नाढोडी व मंदीप उर्फ पंजाबी चौबारा को वह पहले से जानता था। लेकिन अवैध पिस्तौल तानकर खड़े युवकों को पहचान नहीं पाया। हमलावरों ने उसे जान से मारने के लिए ताबड़तोड़ लाठी-डंडे व लोहे की राड मारकर घायल कर दिया तथा उन्होंने गाड़ी के शीशे भी तोड़ डाले। उपरोक्त हमलावर 24 हजार रुपये लूट कर ले गए। 


यह भी पढ़ें-
अच्छी पहल: अब कॉलेजों में शिक्षक नियुक्त होंगे पासपोर्ट अधिकारी, छात्रों का नि:शुल्क बनेगा पासपोर्ट


हमलावरों ने जाते-जाते धमकी दी कि ठेकेदार रमेश पूनिया के इशारे पर उन्होंने कार्रवाई को अंजाम दिया है। भविष्य में उसके साथ कोई टकराएगा तो उसका भी यही हश्र होगा। एसआई कश्मीर सिंह ने बताया कि घायल के बयान पर हमलावर पंजाबी गैंग के सरगना मंदीप उर्फ पंजाबी, भांभू गैंग के मुखिया विक्रम भांभू व दो अज्ञात युवकों तथा शराब ठेकेदार रमेश कुमार पुनिया के विरुद्ध भारतीय दंड संहिता की धारा 323, 341, 325, 307, 394, 506, 427 व 120 बी तथा अवैध शस्त्र अधिनियम के तहत मुकदमा दर्ज किया है।
... और पढ़ें

दादी के साथ भैंस को पानी पिलाने गया सवा साल का मासूम, किसी ने पानी की टंकी में डूबोकर मार डाला

दादी के साथ भैंसों को पानी पिलाने गए सवा साल के रक्षित का शव थोड़ी दूरी पर स्थित एक अन्य प्लॉट की अंडरग्राउंड पानी की टंकी से बरामद हुआ। सूचना पर पहुंची पुलिस ने मासूम बच्चे के शव को बाहर निकलवाकर पोस्टमार्टम को भेजा। इसके बाद परिजनों की शिकायत पर हत्या का मामला दर्ज कर लिया है। परिजनों ने गांव के एक दंपती पर मासूम रक्षित की हत्या का संदेह जताया है। 

बौंदकलां थाना क्षेत्र के गांव सौंप निवासी सतबीर ने बताया कि गुरुवार शाम करीब सात बजे उसके पोता रक्षित (14 माह) अपनी दादी के साथ घर के पास ही प्लाट में भैंसों को पानी पिलाने गया था। प्लॉट पहुंचने पर दादी ने रक्षित को गेट के पास गोद से उतारकर जमीन पर बैठा दिया। करीब पांच मिनट बाद जब वह वापस आई तो रक्षित वहां नहीं मिला। इस पर दादी ने सोचा कि शायद दादा सतबीर रक्षित को घर ले गया होगा। 
 

यह भी पढ़ें: चंडीगढ़ः कूड़े में नवजात को फेंकने वाला पिता गिरफ्तार, बोला- मृत थी, दफनाने जा रहा था जंगल
 
इसके बाद भी वह हड़बड़ाहट में घर पहुंची तो वहां भी रक्षित नहीं मिला। इसके बाद घर के सभी सदस्य मासूम रक्षित की तलाश में जुट गए। रात करीब दस बजे रक्षित का शव एक प्लॉट में बनी अंडरग्राउंड टंकी से बरामद हुआ। मामले की सूचना पाकर बौंदकलां थाना प्रभारी राम अवतार और सीआईए टीम भी मौके पर पहुंची। देर रात ही जिला पुलिस कप्तान बलवान सिंह राणा भी घटनास्थल पर पहुंचे और हालातों का जायजा लिया। 
... और पढ़ें

हरियाणा: कलायत में शराब ठेके में लगी आग, नेपाली समेत दो की जलने से मौत

गांव बालू में गत रात्रि अज्ञात कारणों से शराब के ठेके में लगी आग से दो व्यक्तियों की जलने से मौत हो गई। घटना की सूचना पाकर पुलिस मौके पर पहुंची और जांच पड़ताल की। पुलिस ने दोनों के शवों को पोस्टमार्टम के लिए अस्पताल पहुंचाया। ठेकेदार सतपाल ने आरोप लगाया है कि उसके ठेके में साजिश के तहत आग लगाई गई है। 

उन्होंने कहा कि शराब की दुकान के पीछे ही बेडरूम है, जिसमें वे दोनों सो रहे थे। मरने वालों में एक गांव कुराड़ का ओमप्रकाश व दूसरा नेपाल का रहने वाला भगत सिंह है। ठेके में सो रहा तीसरा कर्मी बिंदर बाल-बाल बच गया। बिंदर ने बताया कि रात दो बजकर 51 मिनट पर अचानक गहरे धुएं से उसकी आंख खुली।


यह भी पढ़ें-
'बिग बॉस 13' प्रतिभागी शहनाज गिल के पिता पर दुष्कर्म केस, बेटा बोला- बदनाम करने की साजिश

धुआं दुकान के पीछे बेडरूम से आ रहा था। उसने देखा कि दरवाजे में कुंडी लगी थी। उसने ठेकेदार के भाई सुरेंद्र को फोन किया तो वे तत्काल मौके पर पहुंचे। सुरेंद्र ने बताया कि जिस समय वे मौके पर पहुंचे तो वहां दो मोटरसाइकिलों पर सवार तीन लोग भागने की फिराक में थे। उन्होंने उन लोगों को ललकारा व पीछा भी किया पर वे भाग गए। 

तीन अज्ञात व्यक्तियों पर केस दर्ज 
आग की सूचना मिलते ही पुलिस मौके पर पहुंच गई। मौके पर पहुंची पुलिस और शराब ठेकेदारों ने दमकल वाहन के सहयोग से आग को शांत किया। जेसीबी की मदद से पीछे की दीवार गिरा कर शवों को बाहर निकाला। कलायत पुलिस ने इस गंभीर मामले में शराब ठेकेदार सतपाल बालू की शिकायत पर तीन अज्ञात व्यक्तियों के खिलाफ हत्या, आगजनी, जानलेवा हमला करने और अन्य धाराओं के तहत मामला दर्ज किया है।

ओमप्रकाश शराब कारोबार में था हिस्सेदार शराब ठेकेदार सतपाल सिंह ने पुलिस को दी जानकारी में बताया कि गांव कुराड़ निवासी ओमप्रकाश उसका शराब कारोबार में हिस्सेदार था। भगत सिंह नेपाली रसोइये के रूप में कार्य करता था। कलायत थाना प्रभारी बिलासा राम ने बताया कि मृतकों का जिला नागरिक अस्पताल में पोस्टमार्टम करवाकर दाह संस्कार किया गया है। पुलिस गहनता से मामले की जांच कर रही है।
... और पढ़ें

करनाल: अपहरण के बाद व्यापारी के बेटे की हत्या का मुख्य आरोपी पांच हजार का इनामी गिरफ्तार

शराब ठेके में लगी आग।
निसिंग में व्यापारी के बेटे का अपहरण कर फिरौती के ढाई लाख रुपये लेने के बाद गला दबाकर हत्या करने के मामले में पुलिस ने साढे़ चार माह बाद मुख्य आरोपी राजेंद्र उर्फ जिंदा को अवैध हथियार के साथ कैथल के चीका से गिरफ्तार किया है। पुलिस ने कोर्ट में पेश करने के बाद उसे पांच दिन के रिमांड पर लिया है। बदमाश राजेंद्र उर्फ जिंदा करनाल में मोस्ट वांटेड की सूची में शामिल है और उस पर पांच हजार रुपये का इनाम भी था। 

एसपी सुरेंद्र सिंह भौरिया ने पत्रकारवार्ता के दौरान बताया कि 29 दिसंबर 2019 को देर शाम थाना निसिंग में दर्शन लाल निवासी निसिंग ने तहरीर दी थी। जिसमें बताया गया था कि सुबह उनके बेटे विश्व भारती उर्फ विशू का अपहरण हो गया है। साथ ही बदमाशों ने व्यापारी के पड़ोसी बूटा सिंह के मोबाइल पर अज्ञात नंबर से फोन कर पांच लाख रुपये की फिरौती मांगी थी। 


इसे भी पढ़ें-
हरियाणाः अब दफ्तरों में सभी अफसर पहुंचेंगे, ग्रुप-सी और डी के 50 प्रतिशत कर्मचारी रहेंगे मौजूद

इसके बाद विशू के परिजनों ने भय के कारण पुलिस को सूचना नहीं दी और बदमाशों के बताए स्थान पर 2.50 लाख रुपये पहुंचा दिए। इसके बाद भी जब विशू को बदमाशों ने रिहा नहीं किया तो व्यापारी ने बेटे के अपहरण की तहरीर दी। शिकायत मिलते ही मामला दर्जकर क्राइम यूनिट सीआईए-01 टीम के इंचार्ज निरीक्षक दीपेन्द्र राणा को जांच सौंपी गई। 
... और पढ़ें

भिवानी में पशु व्यापारी को पहले लाठी-डंडों से पीटा फिर छत से फेंका, अस्पताल पहुंचते ही मौत

भिवानी के गांव किरावड़ में रुपये के लेन-देन को लेकर हिसार के स्याहवड़ा गांव के एक पशु व्यापारी की उसके साथी ने पीट-पीटकर हत्या कर दी। आरोप है कि तीन लाख रुपये के लेन-देन को लेकर झगड़ा हुआ। इसके बाद दोस्त ने उस पर लाठी-डंडों से हमला किया और फिर छत से फेंक दिया। पुलिस ने युवक पवन के खिलाफ हत्या का केस दर्ज किया है। मंगलवार सुबह पोस्टमार्टम के बाद शव परिजनों को सौंप दिया गया।

मामला सोमवार रात करीब दो बजे का है। हिसार जिले के गांव स्याहड़वा निवासी जगदीश (35) अपने दोस्त किरावड़ निवासी पवन के साथ मिलकर पशुओं का व्यापार करता था। मृतक के बड़े भाई राजेश ने बताया कि जगदीश सोमवार सुबह करीब 11 बजे घर से निकला था। उसने बताया था कि वह किरावड़ में अपने दोस्त पवन से तीन लाख रुपये लेने जा रहा है।


यह भी पढ़ें-
हरियाणाः बिजली बिल पर न सरचार्ज लगेगा न कनेक्शन कटेगा, 4000 को देंगे ट्यूबवेल कनेक्शन

राजेश का आरोप है कि सोमवार रात करीब दो बजे रुपये के लेन-देन में पवन ने जगदीश पर लाठी-डंडों से हमला कर गंभीर रूप से घायल कर दिया और छत से फेंक दिया। आरोप है कि इसके बाद जगदीश को मरा समझ पवन घर चला गया। पुलिस के अनुसार रात करीब दो बजे किसी राहगीर से सूचना मिली कि घायल अवस्था में एक युवक पड़ा है।
... और पढ़ें

साल भर से बाप कर रहा था दुष्कर्म, बेटी ने मृत बच्ची को दिया जन्म, कमरे में कैद कर रखता था

52 साल का बाप 23 साल की मंदबुद्धि बेटी को एक साल से हवस का शिकार बनाता रहा। मामले का खुलासा तब हुआ जब युवती को प्रसव पीड़ा शुरू हो गई। इस पर परिजन उसे सरकारी अस्पताल में लेकर पहुंचे। जहां युवती ने 9 माह की मृत बच्ची को जन्म दिया। डॉक्टरों ने मामले की सूचना महिला थाना पुलिस को दी। 

पुलिस की पकड़ से बचने के लिए बाप भाग निकला लेकिन पुलिस ने युवती के बयान दर्ज करके आरोपी को गिरफ्तार कर लिया। महिला थाना पुलिस ने शुक्रवार को आरोपी पिता का मेडिकल टेस्ट करवाया। अब उसे 16 मई को कोर्ट में पेश किया जाएगा। घटना पंचकूला जिले के एक गांव की है। यह परिवार दूसरे राज्य से आकर यहां रह रहा था। 

इसे भी पढ़ें- हरियाणा:
6 जिलों में 36 नए मामले, मरीजों की संख्या 854 पहुंची, कॉलेज और यूनिवर्सिटी 25 जून तक रहेंगे बंद

पुलिस अधिकारियों ने बताया कि बाप कई महीने तक अपनी बेटी को हवस का शिकार बनाता रहा। आरोपी के तीन बेटियां और दो बेटे हैं। पत्नी भी उसके साथ ही रहती है। यह परिवार लगभग सवा साल पहले ही गांव में आया था। मामले की किसी को भनक न लग जाए इसलिए आरोपी बेटी को बाहर नहीं जाने देता था। 
... और पढ़ें

पत्नी ने खाया जहर, अस्पताल में हुई मौत, खबर सुनते ही फांसी पर झूला पति

लॉकडाउन के बीच हरियाणा के रेवाड़ी जिले में गृह कलह ने हंसता-खेलता परिवार तबाह कर दिया। रेवाड़ी के गांव जाटुसाना की ढाणी में पहले पत्नी ने जहर खाकर जान दे दी। इसका पता चलते ही पति ने भी फांसी लगाकर खुदकुशी कर ली। घटना के बाद से पूरे इलाके में सनसनी है। पुलिस ने पोस्टमार्टम के बाद दोनों शव परिजनों को सौंप दिए हैं।

पुलिस से मिली जानकारी के मुताबिक जाटुसाना की ढाणी निवासी रामबेहर (47) शराब का आदी था। इसी को लेकर पति-पत्नी में रोजाना झगड़ा होता था। पति की शराब की लत और कलह से परेशान पत्नी निर्मला (47) ने शनिवार की शाम जहरीला पदार्थ निकल लिया। आनन-फानन में 16 वर्षीय बेटा और परिजन महिला को रेवाड़ी अस्पातल लेकर गए। जहां, उसकी अस्पताल में इलाज के दौरान मौत हो गई।


यह भी पढ़ें-
दिल्ली से हरियाणा आने पर कोरोना टेस्ट अनिवार्य, 107 विदेशी जमाती भेजे गए जेल

इधर, घर पर पति रामबेहर अकेला था। मौत की जानकारी मिलते ही उसने भी घर में रात के समय फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली। सूचना के तुरंत बाद जाटुसाना थाना पुलिस मौके पर पहुंची और पति-पत्नी के शव का पोस्टमार्टम करवा परिजनों को सौंपा। गमगीन माहौल में गांव के श्मशान घाट में दोनों का दाह संस्कार कर दिया गया है। 16 वर्षीय बेटे के सर से माता-पिता का साया हमेशा के लिए उठ गया।

क्या कहना है थाना प्रभारी का
पूरे मामले में जाटुसाना थाना प्रभारी का कहना है कि रामबेहर शराब पीने का आदी था और इसी को लेकर घर में अक्सर झगड़ा होता था। जिससे परेशान होकर शनिवार शाम पत्नी निर्मला ने जहर खा लिया। इलाज के दौरान जिसकी रेवाड़ी अस्पताल में मौत हो गई। इसकी जानकारी मिलने पर रात में पति रामबेहर ने भी फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली। सामान्य कार्रवाई के बाद दोनों का पोस्टमार्टम करवा शव परिजनों को सौंप दिए हैं।
... और पढ़ें

हरियाणा: पंचकूला के खटौली गांव में खूनी संघर्ष, एक का हाथ कटा, छह घायल, दो पीजीआई रेफर

खटौली गांव में सोमवार रात करीब साढ़े नौ बजे मोबाइल पर डाली पोस्ट को लेकर दो समुदाय के लोग आमने-सामने हो गए। एक समुदाय के लोगों ने तेजधार हथियार से दूसरे पर ताबड़तोड़ हमला कर दिया। इससे छह लोग गंभीर घायल हो गए। विवाद में दूसरे समुदाय के एक व्यक्ति की बाजू कट गई जबकि दूसरे व्यक्ति के सिर में गहरी चोट आई है। 

दोनों की हालत गंभीर होने पर उन्हें पीजीआई चंडीगढ़ रेफर कर दिया है। विवाद की सूचना मिलते ही मौके पर पुलिस पहुंच गई। पुलिस ने घायलों की शिकायत पर 12 लोगों के खिलाफ केस दर्ज करके जांच शुरू की है। आरोपियों की गिरफ्तार के लिए पुलिस छापे मार रही है।

महाराणा प्रताप व परशुराम जयंती को लेकर डाले स्टेट्स पर बहस
जानकारी के अनुसार नगर निगम के वार्ड नंबर-20 के गांव खटौली में दोनों समुदाय के लोग महाराणा प्रताप और परशुराम जयंती के मोबाइल पर डाले गए स्टेट्स को लेकर आमने-सामने हुए। पहले तो दोनों समुदाय के लोग एक-दूसरे से बहस करते रहे लेकिन कुछ ही देर में विवाद खूनी संघर्ष में बदल गया। 

इसमें एक समुदाय ने दूसरे समुदाय के लोगों पर तलवारों, डंडों व ईंट-पत्थरों से ताबड़तोड़ हमला कर दिया। इससे एक समुदाय के जगवीर सिंह, राहुल, कृष्ण पाल, दिग्विजय, सुरेश पाल उर्फ शीश पाल, भीम सेन गंभीर रूप से घायल हो गए। घटना में जगवीर सिंह की बाजू कट गई जबकि राहुल के सिर में गंभीर चोट लगी, जोकि पीजीआई चंडीगढ़ में उपचाराधीन हैं। वहीं, दिग्विजय, सुरेश पाल उर्फ शीश पाल और भीम सेन सेक्टर-6 स्थित सामान्य अस्पताल में उपचाराधीन हैं। 
हमला करने वाले समुदाय के सुखदेव, रामकरण, आज्ञा राम, गौरव शर्मा, संजीव कुमार, जगदीश चंद, शिवा, सुनीता रानी, रामो, वीना देवी, ममता व लाजो देवी के खिलाफ कृष्ण पाल ने शिकायत दी है। उसके आधार पर आईपीसी की धारा 148, 149, 323, 506, 307, 188, 269 व 270 के तहत मामला दर्ज कर जांच शुरू कर दी है। -दीपक कुमार, एसएचओ चंडीमंदिर थाना पुलिस
... और पढ़ें

अंबालाः पैदल घर के लिए निकले प्रवासी मजदूरों को कार ने कुचला, एक की मौत, दूसरा घायल

अंबाला-जगाधरी हाईवे स्थित छोटे खुड्डे के पास एक चौपहिया वाहन ने दो प्रवासी मजदूरों को चपेट में ले लिया। गाड़ी के नीचे कुचले जाने से बिहार के पूर्णिया निवासी अशोक ने मौके पर दम तोड़ दिया, जबकि पिंटू कुमार को नागरिक अस्पताल में प्राथमिक इलाज के बाद पीजीआई रेफर कर दिया गया। 

बताया जाता है कि इनोवा कार ने प्रवासियों को टक्कर मारी और मौके से फरार हो गया। दोनों प्रवासी मजदूर अंबाला छावनी इंद्रपुरी के रहने वाले हैं। सुबह अपने दो अन्य दोस्तों के साथ बिहार की तरफ निकले थे। 

टक्कर के बाद घटनास्थल पर मजदूरों के बैग और कपड़े बिखरे पड़े थे। पुलिस के मुताबिक मृतक अशोक शादीशुदा था और उसके 6 बच्चे है। महेश नगर थाना पुलिस ने मृतक के शव को पोस्टमार्टम के लिए अस्पताल की मोर्चरी में रखवा दिया। अज्ञात वाहन चालक के खिलाफ आपराधिक धाराओं के तहत मामला दर्जकर जांच शुरू कर दी। 

गनीमत रही कि हादसा होता देख दो अन्य साथी अचानक सड़क किनारे चले गए। पुलिस ने मृतक के साथी पूर्णिया के गांव भिठा टोली निवासी विनोद मंडल की शिकायत पर यह कार्रवाई की। उनका कहना था कि जल्द ही आरोपी को काबू कर लिया जाएगा। 

प्रवासी मजदूरों का शहरों से पलायन नहीं थम रहा 
लॉकडाउन में बिना कामकाज के अपने ऊपर आर्थिक संकट गहराते ही प्रवासी मजदूर अपने घरों की तरफ जाते दिखाई दे रहे हैं। रोजी-रोटी का संकट गहराने के डर से इन मजूदरों के जहन के केवल अपने परिवारों से मिलने की एक उम्मीद है। यहीं कारण है कि बिना किसी वाहन के यह पैदल ही अपने घरों की तरफ निकल रहे हैं।

ऐसे ही मजदूरों में से मंगलवार सुबह हादसे में एक की जान चली गई तो दूसरा जिंदगी और मौत से जूझ रहा है। मृतक के साथी विजय व अन्य का कहना था कि मेहनत मजदूरी कर खुद व अपने परिवार का गुजर बसर करते थे। वो बंद होने के कारण आर्थिक संकट गहरा गया है। मजबूरन उन्हें अपने घर जाना पड़ रहा है।
... और पढ़ें
Election
  • Downloads

Follow Us

विज्ञापन