विज्ञापन

हरियाणा

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
Digital Edition

हिसार: भैंस खरीदने झज्जर से आई महिला से दुष्कर्म, खेत में ले जाकर वारदात के बाद दी धमकी

झज्जर के एक कस्बा निवासी महिला ने हिसार के एक गांव निवासी दो युवकों पर दुष्कर्म व धोखाधड़ी का आरोप लगाया है। पीड़िता ने इस बारे में आजाद नगर थाने में शिकायत दर्ज कराई है। पीड़िता ने बताया कि 31 अक्तूबर को आरोपियों में से एक ने भैंस दिलाने के लिए उसे हिसार स्थित अपने गांव बुलाया। पीड़िता अपने बेटे के साथ हिसार आई थी। यहां आरोपी ने अपने एक मित्र को बुलाया और भैंस दिखाने के लिए उसे अकेले उसके साथ भेज दिया। 

ये भी पढ़ें-
कृषि कानून वापसी का एलान: झज्जर में झूमे किसान, बोले-एकता और संघर्ष की हुई जीत

आरोपी युवक पीड़िता को ऑटो में बैठाकर एक मकान में ले गया और भैंस दिखाई। आरोपी ने उससे एक लाख 20 हजार रुपये के दो चेक सिक्योरिटी के तौर ले लिए। इसके बाद आरोपी उसे खेत में ले गया और दुष्कर्म किया। विरोध करने पर जान से मारने की धमकी दी। पुलिस ने केस दर्ज कर जांच शुरू कर दी है।   
... और पढ़ें

झज्जर: अखाड़ा संचालक ने नाबालिग लड़की से बीकानेर के होटल में किया दुष्कर्म, दरिंदगी में पंजाब का साथी भी शामिल

झज्जर के बेरी क्षेत्र के एक गांव में अखाड़ा संचालक पर नाबालिग लड़की के साथ दुष्कर्म का आरोप लगाते हुए परिजन और ग्रामीण मंगलवार को एसपी वसीम अकरम से मिलने पहुंचे। हालांकि एसपी के न मिलने पर उनके ऑफिस में ही शिकायत सौंप दी। पुलिस का कहना है कि मामले में एक आरोपी की गिरफ्तारी हो चुकी है, जांच चल रही है। ग्रामीणों ने बताया कि 29 अक्तूबर को गांव से ही लड़की को अगवा कर लिया गया था। शिकायत के बाद पुलिस की ओर से 2 नवंबर को बीकानेर, राजस्थान के एक होटल से लड़की को बरामद किया गया था। 

ये भी पढ़ें-
President RamNath Kovind At Bhiwani: भिवानी के सूई गांव पहुंचे राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद, हरियाणा की बेटियों को दिया सम्मान

आखिर किसके दबाव में है पुलिस
लड़की ने बताया कि पिछले 2 महीने से उसके साथ अखाड़ा संचालक और उसका पंजाब का साथी दुष्कर्म कर रहा था। 3 नवंबर को हुई मेडिकल रिपोर्ट में भी लड़की के साथ दुष्कर्म की पुष्टि हुई है, लेकिन पुलिस की ओर से कई माह बीतने के बाद भी अब तक आरोपी गिरफ्तार नहीं किया गया है। ग्रामीणों की शिकायत पर पुलिस अधीक्षक ने गांव में चल रहे  अखाड़े को बंद तो करवा दिया था, लेकिन उसके ऊपर अब तक कोई कार्रवाई नहीं हुई। ग्रामीणों ने आरोप लगाया कि अखाड़ा संचालक गांव व आसपास की बच्चियां, जोकि अखाड़े में प्रैक्टिस के लिए आती थी और उन्हें पेय पदार्थों में नशा करवाता था।  

दूसरी बच्चियों को देता है नशा
उन्हें नशे का आदी बनाता था। ग्रामीणों ने बताया कि अखाड़ा संचालक बड़े-बड़े पहलवानों से अपनी एकेडमी की तंग हालत और बच्चियों का नाम प्रयोग करके उनसे पैसे अपने खाते में भी डलवाता था। केस के इंचार्ज ने भी उन्हें परेशान किया। वह ग्रामीणों को मिलने के लिए थाने में बुलाती है, लेकिन वह मिलती नहीं है या फिर कहती है कि दूसरी पार्टी नहीं आई है, दोबारा से आना। ग्रामीणों ने साफ तौर पर आरोप लगाते हुए कहा कि पुलिस प्रशासन भी उनके ऊपर समझौता करवाने का दबाव बना रहा है। 

ये भी पढ़ें-हरियाणा की हवा फिर खराब: देश का सबसे प्रदूषित राज्य बना, जींद प्रदूषण में देशभर में सबसे अव्वल

दलीलें दे रहा है कि क्यों बच्चों की जिंदगी खराब कर रहे हो, केस करने से बच्चों की जिंदगी खराब हो जाएगी। न्याय पाने के लिए बच्ची के परिजनों और ग्रामीणों को प्रशासन के चक्कर तो लगाने पड़ रहे हैं, लेकिन न्याय की उम्मीद नहीं है, क्योंकि प्रशासन से बार-बार मिलने के बाद भी कोई कार्रवाई नहीं हो रही है।
 
इस मामले में एक आरोपी को गिरफ्तार किया जा च़ुका है। मामले की जांच चल रही है, सोमवार को पीड़ित पक्ष को बुलाया था, लेकिन ये लोग नहीं आए। 
-सुंदरपाल, थाना प्रभारी, बेरी
... और पढ़ें

यमुनानगर: आठ साल की बच्ची से छेड़छाड़ में स्कूल वैन का चालक दोषी करार 

यमुनानगर में फास्ट ट्रैक कोर्ट ने आठ साल की बच्ची से छेड़खानी करने के आरोपी स्कूल वैन ड्राइवर को दोषी करार दिया है। कोर्ट उसे 18 नवंबर को सजा सुनाएगी। फर्कपुर थाना एरिया की एक कॉलोनी निवासी व्यक्ति ने पुलिस को शिकायत दी थी कि उसकी आठ साल की बेटी तीसरी कक्षा में पढ़ती है। 

ये भी पढ़ें-
President RamNath Kovind At Bhiwani: भिवानी के सूई गांव पहुंचे राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद, सीएम और राज्यपाल ने की अगवानी

स्कूल वैन के चालक सचिन कुमार ने 25 अक्तूबर 2019 को बेटी से छेड़खानी की थी। घर लौटकर बेटी ने अपनी मां को बताया कि ड्राइवर सचिन ने उसके साथ गलत हरकत की है। इस शिकायत पर पुलिस ने मामला दर्ज आरोपी को गिरफ्तार किया था। तभी से मामला कोर्ट में चल रहा था। 
... और पढ़ें

हरियाणा: हत्या के मुख्य गवाह और साथी पर जानलेवा हमला, गाड़ी के शीशे तोड़ ले गए नकदी और फोन

एक युवक की हत्या के मामले में मुख्य गवाह और उसके साथी पर बीच रास्ते में गाड़ी रोककर जानलेवा हमला किए जाने और गाड़ी के शीशे तोड़कर एक लाख 35 हजार रुपये की नकदी व मोबाइल फोन छीन ले जाने का मामला सामने आया है। फिलहाल बवानीखेड़ा पुलिस ने इस संबंध में छह नामजद सहित तीन चार अन्य युवकों के खिलाफ छीनाझपटी सहित हत्या प्रयास की संबंधित धाराओं के तहत केस दर्ज किया है। 

बवानीखेड़ा पुलिस थाना में दी शिकायत में गांव रामुपुरा बलियाली निवासी 27 वर्षीय अमित ने बताया कि वह खेतीबाड़ी करता है। 20 अप्रैल की दोपहर डेढ़ बजे अपनी बोलेरो गाड़ी में गांव के ही जितेंद्र उर्फ बटलू के साथ वाया बीरण कच्चे रास्ते से गांव जा रहा था। गाड़ी वह खुद चला रहा था। जब वह गांव के समीप ड्रेन के पास पहुंचे तो गांव रामुपुरा की तरफ से एक सफेद रंग की कैंपर गाड़ी आई। जिसे रामुपुरा बलियाली का राहुल चला रहा था। आरोपियों ने उनकी गाड़ी को सामने से सीधी टक्कर मारी। इसके बाद गाड़ी में सवार अन्य लोगों ने तेजधार हथियार से उन पर जान से मारने की नीयत से हमला कर दिया। आरोपी उन्हें मरा हुआ समझकर मौके पर छोड़कर भाग गए। आरोपियों ने उनकी गाड़ी के शीशे तोड़ डाले और अंदर रखी करीब एक लाख 35 हजार रुपये की नकदी और उसका मोबाइल फोन भी छीनकर ले गए। 

राहगीरों की मदद से उन्हें अस्पताल ले जाया गया। जहां पर चिकित्सकों ने उन्हें प्राथमिक उपचार दिया। अमित ने पुलिस को बताया कि राहुल व अन्य ने मिलकर 2016 में महेश की हत्या कर दी थी। इस हत्याकांड में जितेंद्र मुख्य गवाह था। इसी रंजिश को लेकर राहुल, अशोक, उर्फ मगु, सचिन, आशु, महेंद्र व अन्य ने उन पर जानलेवा हमला किया। 

इस संबंध में बवानीखेड़ा पुलिस थाना के सब इंस्पेक्टर रोहताश सिंह ने बताया कि पुलिस ने अमित की शिकायत पर आरोपी राहुल, अशोक उर्फ मगु, सचिन, महेंद्र, टडु, आशु व तीन चार अन्य युवकों के खिलाफ हत्या प्रयास व नगदी छीनने के मामले में संबंधित धाराओं के तहत केस दर्ज किया है। पुलिस आरोपियों की धरपकड़ में जुटी है। 
... और पढ़ें
crime crime

साइबर क्राइम: फतेहाबाद की छात्रा का इमीग्रेशन अकाउंट किया हैक, आस्ट्रेलिया के लिए लगा स्टडी वीजा करवाया रद्द

हरियाणा के फतेहाबाद में साइबर अपराध का एक ऐसा मामला सामने आया है, जिसने ऑस्ट्रेलिया की एंबेसी तक में खलबली मचा दी है। शहर थाना पुलिस ने साइबर अपराध की एफआईआर दर्ज की है, जिसमें आरोप है कि स्टडी वीजा के लिए ऑनलाइन अप्लाई के सिस्टम में सेंधमारी करके किसी व्यक्ति ने फतेहाबाद निवासी छात्रा का स्टडी वीजा रद्द करवा दिया। फतेहाबाद शहर पुलिस ने छात्रा श्रेया के पिता रोशनलाल की शिकायत पर अज्ञात व्यक्ति के खिलाफ केस दर्ज कर जांच शुरू कर दी है।

सुंदर नगर निवासी छात्रा के पिता रोशनलाल ने बताया कि उसकी बेटी श्रेया ने ऑस्ट्रेलिया की विक्टोरिया यूनिवर्सिटी में जुलाई इनटेक के लिए दाखिला लिया था। लॉकडाउन के चलते पहले फ्लाइट्स बंद हो गई थीं और उसके बाद स्टडी वीजा दिसंबर 2021 में लगा। 23 दिसंबर 2021 को जब श्रेया ऑस्ट्रेलिया जाने के लिए एयरपोर्ट पहुंची तो उसका वीजा रद्द मिला।

बताया गया कि वीजा 9 दिसंबर को ही रद्द हो गया था। इस बारे में जब ऑस्ट्रेलिया एंबेसी जाकर जानकारी ली गई तो पता चला कि किसी शख्स ने पहले अपनी ई-मेल आईडी को श्रेया की ई-मेल आईडी के नाम पर बदला और फिर बदली गई ई-मेल आईडी से छात्रा श्रेया का इमिग्रेशन अकाउंट हैक किया।

इमिग्रेशन अकाउंट हैक करके वीजा कैंसिलेशन के लिए 7 दिसंबर 2021 को अप्लाई किया गया। छात्रा के पिता का कहना है कि उसकी बेटी के वीजा और स्टडी से संबंधित जरूरी दस्तावेज या तो खुद बेटी के पास मौजूद हैं या उसके एजेंट वर्लिन एजुकेशन फतेहाबाद के रवि चौधरी के पास मौजूद हैं। फिलहाल पुलिस ने केस दर्ज कर छानबीन शुरू कर दी है।
... और पढ़ें

वारदात: गोहाना के गांव में ग्रामीण की पीटकर हत्या, तालाब के पास मिला अर्धनग्न शव

सोनीपत के गोहाना में गांव भैंसवाल कला में एक ग्रामीण की ईटों से पीटकर हत्या कर दी गई। शव अर्धनग्न हालत में गांव लाठ के मार्ग पर तालाब के पास मिला। घटना की सूचना के बाद मौके पर पहुंची सदर थाना पुलिस ने जांच शुरू कर दी है।

प्राथमिक जानकारी के अनुसार गांव भैंसवाल कलां निवासी 40 वर्षीय जितेंद्र उर्फ काला का अर्धनग्न शव शनिवार सुबह ग्रामीणों ने गांव के तालाब के पास लाठ मार्ग पर पड़ा देखा। ग्रामीणों ने इसकी सूचना पुलिस को दी। पुलिस ने मौके पर पहुंचकर जांच शुरू कर दी है। ग्रामीण के मुंह पर ईटों से वार किया गया है। बताया जा रहा है कि उसकी ईंटों से पीट कर हत्या की गई है। उसके शरीर पर कई जगह चोट के निशान भी हैं। ग्रामीणों ने बताया कि जितेंद्र के बच्चे रोहतक में रहते हैं, जबकि माता पिता छत्तीसगढ़ में रह रहे हैं। फिलहाल पुलिस उनके आने का इंतजार कर रही है।
... और पढ़ें

वारदात: चचेरे भाई के साले ने युवक के सिर में तेजधार हथियार से वार कर की हत्या, पांच साल पुरानी रंजिश में ली जान

प्रवर्तन निदेशालय
खरखौदा के गांव खांडा में रंजिश के चलते चचेरे भाई के साले ने युवक की तेजधार हथियार से हमला कर हत्या कर दी। युवक का शव गांव सिसाना रोड पर पड़ा मिला। वह रात को चचेरे भाई के साले के साथ घर से निकला था। मृतक के भतीजे ने रिश्ते में अपने मामा पर मुकदमा दर्ज कराया। पुलिस ने आरोपी को गिरफ्तार कर लिया है। आरोपी का कहना है कि युवक से उसकी बहन के रिश्ते की बात चली थी। रिश्ता तय नहीं होने पर उसकी बहन ने आत्महत्या कर ली थी। इसी रंजिश में उसने वारदात को अंजाम दिया। पुलिस ने शव का पोस्टमार्टम कराकर परिजनों को सौंप दिया। 

शनिवार सुबह गांव खांडा से सिलाना मार्ग पर एक युवक का शव पड़ा होने की सूचना पाकर पुलिस मौके पर पहुंची। शव की शिनाख्त गांव खांडा के सतपाल (32) के रूप में हुई। वह बैंड-बाजे का काम करता था। सूचना पाकर मौके पर पहुंचे परिजनों ने बताया कि सतपाल रात को करीब आठ बजे चचेरे भाई के साले दिल्ली के गांव दरियापुर निवासी रिंकू के साथ गया था, जिसके बाद नहीं लौटा। अब उसका शव खून से लथपथ मिला है। सतपाल के सिर पर धारदार हथियार से हमला कर उसकी हत्या की गई। सतपाल के भतीजे बंटी ने रिश्ते में अपने मामा रिंकू के खिलाफ चाचा की हत्या करने का आरोप लगाया। शिकायत पर पुलिस ने हत्या का मुकदमा दर्ज कर शव का पोस्टमार्टम करवाया। पुलिस ने शनिवार रात को आरोपी रिंकू को गिरफ्तार कर लिया। उसे रविवार को अदालत में पेश किया जाएगा। 

बहन के आत्महत्या करने के बाद से रंजिश पाले था रिंकू
पुलिस ने बताया कि जांच और आरोपी की गिरफ्तारी के बाद पता लगा कि हत्या के पीछे वजह पांच वर्ष पहले सतपाल व आरोपी रिंकू की बहन की शादी के लिए रिश्ते की बात चलना बना। रिंकू ने रिश्ता नहीं होने दिया था तो उसकी बहन से आत्महत्या कर ली थी। इसके बाद से रिंकू अपनी बहन की मौत के लिए सतपाल को जिम्मेदार मानता था और उसे ठिकाने लगाना चाहता था। शुक्रवार रात को उसे मौका मिल गया और उसने सतपाल को साथ ले जाकर उसकी हत्या कर दी। पुलिस रविवार को आरोपी को न्यायालय में पेश कर रिमांड पर लेगी, ताकि हत्या में प्रयुक्त हथियार बरामद करने के साथ ही अन्य पूछताछ कर सके।
... और पढ़ें

सुखदेव हत्याकांड: पिता के साथ हुई मारपीट का बदला लेने के लिए की गई थी हत्या, तीन आरोपी गिरफ्तार

फतेहाबाद की आदर्श कॉलोनी निवासी सुखदेव की हत्या मामले में पुलिस ने तीन आरोपियों को काबू कर लिया है। पकड़े गए आरोपियों की पहचान फतेहाबाद के हरनाम सिंह कॉलनी निवासी इंद्रपाल, कालीदास कॉलोनी निवासी ललित व अशोक नगर निवासी अनूप उर्फ मनी के रूप में हुई है। पुलिस आरोपियों को कोर्ट में पेश कर कर रिमांड पर लेगी, आरोपियों से हत्या में प्रयोग किया गया चाकू व मोटरसाइकिल बरामद करना है। पुलिस ने आरोपियों को भूना  रोड से गिरफ्तार किया है। 

सुभाष चंद्र ने बताया कि हत्या का मुख्य आरोपी अनूप उर्फ मनी है, उसी ने ही सुखदेव को चाकू मारे थे। वह दोनों आरोपियों ने उसके हाथ पकड़े थे। डीएसपी ने बताया कि इस हत्या का मुख्य कारण पुरानी रंजिश है आरोपियों ने जो बताया है, उसके अनुसार अनूप के पिता की पिटाई सुखदेव सिंह और उसके साथियों ने की थी। पांच नवंबर को पुलिस को शिकायत भी दी गई थी। इसी रंजिश को लेकर सुखदेव की हत्या की गई है।

ये था मामला
मामले के मुताबिक 9 नवंबर को पुलिस को दी शिकायत में मृतक सुखदेव के भाई विनोद ने बताया था कि उसका भाई सुखदेव निजी स्कूल में दसवीं कक्षा में पढ़ता था लेकिन कोरोना के चलते स्कूल बंद हो गए और उसके बाद वह स्कूल नहीं गया और घर रह रहा था। शाम को करीब साढ़े 6 बजे उसे बाजार से सामान लाने के लिए कहा तो वह कह कर घर से चला गया कि उसे मोटरसाइकिल चलाना नहीं आता है। करीब 15 मिनट बाद पुलिस अधिकारियों का फोन आया कि सुखदेव पर चाकुओं से हमला हुआ है और उसकी मौत हो गई है।

10 से ज्यादा बार किया गया था चाकूओं से हमला 
सीन ऑफ क्राइम टीम इंचार्ज डॉ. जोगिंद्र ने बताया था कि मृतक सुखदेव के शरीर पर 10 से ज्यादा चोट के निशान मिले है। सुखदेव के पेट, छाती और पैर पर चाकुओं से हमले के निशान थे।   
... और पढ़ें

हिसार: बेहोशी का टीका लगा पत्नी से दुष्कर्म, आरोपी ने नाबालिग से एक साल पहले की थी शादी

हिसार जिले के एक गांव निवासी एक महिला ने सिरसा निवासी उसकी बेटी के पति व ससुराल के अन्य लोगों के खिलाफ महिला थाने में शिकायत दी है। पुलिस को दी शिकायत में शिकायतकर्ता महिला ने बताया कि उसकी बेटी की उम्र करीब 15 वर्ष है। उसने अपनी बेटी की शादी जून 2020 में सिरसा निवासी युवक के साथ की थी। बेटी के नाबालिग होने के कारण उसने शादी के बाद बेटी को ससुराल नहीं भेजा। महिला का आरोप है कि 14 अगस्त 2021 को उसका दामाद उसकी बेटी को जबरदस्ती अपने साथ ले गया। आरोप है कि ससुरालजनों ने कहा कि उसकी बेटी वहां नहीं है। इसके बाद उसने बेटी की गुमशुदगी की रिपोर्ट अग्रोहा थाने में दी। 

ये भी पढ़ें-खुलासा:
एचपीएससी में उप सचिव का पद ही आरक्षित नहीं, पंजाब-हरियाणा हाईकोर्ट के एडवोकेट हेमंत ने उठाए सवाल

24 अगस्त को उसकी बेटी हिसार वन स्टॉप सेंटर में मिली। उसकी बेटी ने बताया कि आरोपी ने उसे नशे के टीके देकर बेहोशी की हालत में उससे दुष्कर्म किया। मामले में पुलिस ने केस दर्ज कर जांच शुरू कर दी है।  वहीं, शहर निवासी एक महिला ने युवक पर शादी का झांसा देकर दुष्कर्म करने और देह व्यापार का आरोप लगाया है। पुलिस को दी शिकायत में पीड़िता ने बताया कि उसकी शादी जुलाई 2013 को अन्य जिला निवासी एक युवक से हुई थी। उस दौरान उसके एक दोस्त ने अन्य युवक को उसका फोन नंबर दे दिया। पीड़िता उसकी बातों में आ गई और अपने पति से तलाक के लिए कोर्ट में केस दायर कर दिया। इसके बाद पीड़िता इस युवक के साथ रहने लगी।

ये भी पढ़ें-हरियाणा: सरकार को अब किसानों का खोया विश्वास जीतने और वायदों पर खरा उतरने की चुनौती, कृषि कानून वापस लेने की घोषणा के बाद कम होंगी दूरियां

आरोपी ने गहने तक छीन लिए
आरोप है कि आरोपी ने उसे शादी का झांसा देकर कई बार दुष्कर्म किया। विरोध करने पर मारपीट की गई। आरोप है कि आरोपी ने उससे देह व्यापार करवाया। नशे की लत के कारण आरोपी ने उसके गहने तक छीन लिए। पीड़िता ने इसके बारे में आरोपी युवक के परिजनों को कहा तो उन्होंने उसे जान से मारने की धमकी दी। मामले में पुलिस ने केस दर्ज कर जांच शुरू कर दी है।
... और पढ़ें

हरियाणा: अब एचसीएस की मुख्य परीक्षा स्थगित, इससे पहले सामने आया था डेंटल सर्जन की परीक्षा में फर्जीवाड़ा

हरियाणा लोक सेवा आयोग में डेंटल सर्जन की भर्ती में फर्जीवाड़ा सामने आने के बाद आयोग ने अब एचसीएस एग्जीक्यूटिव की मुख्य परीक्षा को स्थगित कर दिया है। यह परीक्षा 3-5 दिसंबर 2021 तक पंचकूला में आयोजित की जानी थी। परीक्षा का नया शेड्यूल जल्दी जारी किया जाएगा। एचसीएस की पारम्भिक परीक्षा हो चुकी है और उसके परिणाम के बाद ही मुख्य परीक्षा होनी है।

ये भी पढ़ें-
खुलासा: एचपीएससी में उप सचिव का पद ही आरक्षित नहीं, पंजाब-हरियाणा हाईकोर्ट के एडवोकेट हेमंत ने उठाए सवाल

आयोग की ओर से 156 पदों पर भर्ती की जानी है। दो दिन पहले ही आयोग के उप सचिव समेत दो अन्य को विजिलेंस ने 2 करोड़ से अधिक राशि के साथ  गिरफ्तार किए हैं। आरोपियों को रिमांड पर लिया गया है। इस दौरान विजिलेंस ने आयोग का कुछ रिकार्ड भी जब्त किया है। क्योंकि परीक्षा समेत तमाम तैयारियां उप सचिव को करनी होती है। 
... और पढ़ें

रिश्वतकांड: छापामारी में एक करोड़ रुपये और बरामद, अनिल नागर चार दिन और रिमांड पर

डेंटल सर्जन की लिखित परीक्षा में नंबर बढ़ाने के लिए लाखों रुपये रिश्वत लेने के आरोप में गिरफ्तार हरियाणा लोक सेवा आयोग (एचपीएससी) के उप सचिव अनिल नागर और उसके सहयोगियों के घर से शुक्रवार को भी एक करोड़ रुपये बरामद हुए हैं। अब तक दो करोड़ 10 लाख रुपये बरामद किए जा चुके हैं। आगे की पूछताछ के लिए विजिलेंस ने नागर को चार दिन के रिमांड पर लिया है। हरियाणा विजिलेंस ब्यूरो ने शुक्रवार रात सवा सात बजे एचसीएस नागर को ड्यूटी मजिस्ट्रेट के समक्ष पेश किया। दलील दी कि अभी तक की जांच में कई भर्तियों में पैसों के लेनदेन की बात सामने आ रही है। अनिल नागर इस भर्ती घोटाले में सीधे तौर पर जुड़ा हुआ है। कुछ अन्य लोगों की भी गिरफ्तारी की जानी है। इसलिए रिमांड जरूरी है। ड्यूटी मजिस्ट्रेट ने दलील सुनने के बाद नागर को चार दिन के रिमांड पर भेज दिया है। 

शुक्रवार को भी जारी रहे छापे
 उधर, नागर और उसके सहयोगियों के आवास पर शुक्रवार को भी छापे जारी रहे। नागर के घर की तलाशी के दौरान 12 लाख रुपये नकद, 50 लाख रुपये की एक पंजीकृत लैंड डीड, लैपटॉप और डिजिटल मीडिया जब्त किया है। ज्यादातर नकदी अनिल नागर ने अपने सहयोगी के घर पर छिपाकर रखी थी। अब तक 2.10 करोड़ रुपये बरामद किए जा चुके हैं। यह मोटी रकम डेंटल सर्जन की भर्ती में उम्मीदवारों से नंबर बढ़वाने के लिए रिश्वत के तौर पर ली गई थी। विजिलेंस ने नागर के सेक्टर-17 स्थित निवास की तलाशी ली। उसके एक सहयोगी के ठिकानों पर छापे मारे। इस मामले में क्या चल रहा है इसकी जानकारी के लिए गुप्तचर समेत कई विभाग के कर्मचारी और अधिकारी सक्रिय रहे।
... और पढ़ें

पानीपत: आसन गांव की निवर्तमान सरपंच के देवर की हत्या के दो आरोपी गिरफ्तार

पानीपत के गांव आसन में निवर्तमान सरपंच ममता के देवर सुनील की खेत में चाकुओं से गोदकर हत्या करने के मामले में मतलौडा थाना पुलिस ने संदीप पुत्र रमेश और गांव के ही दीपक को गिरफ्तार कर लिया है। दोनों को गांव के अड्डे से गिरफ्तार किया गया। मतलौडा थाना पुलिस ने दोनों को सीआईए टू के हवाले कर दिया है। अब इस मामले की पूरी जांच सीआईए टू को सौंप दी गई है। सीआईए टू ने दोनों आरोपियों को कोर्ट में पेश कर छह दिन के रिमांड पर लिया है। वहीं, हत्याकांड के दूसरे आरोपी विकास, अजय व मोहित परिवार समेत गांव से फरार हो गए हैं। सीआईए की टीमें इनकी गिरफ्तारी के लिए रिश्तेदारी में भी छापेमारी कर रही है। अब तक ये आरोपी पुलिस गिरफ्त से बाहर हैं। उधर, निजी अस्पताल में दाखिल निवर्तमान सरपंच के पति वीर सिंह व उसके छोटे भाई सचिन की हालत में सुधार है। सीआईए टू ने जल्द सभी आरोपियों को पकड़ने का दावा किया है।

ये भी पढ़ें-
हरियाणा: सरकार को अब किसानों का खोया विश्वास जीतने और वायदों पर खरा उतरने की चुनौती, कृषि कानून वापस लेने की घोषणा के बाद कम होंगी दूरियां

ये है मामला
गांव आसन कलां निवासी सरपंच पति वीर सिंह की पत्नी नीलम 2015 में गांव की सरपंच बनी थीं। 2021 फरवरी में उनका कार्यकाल खत्म हो गया। इसके बाद उन्होंने गांव के सरपंच पद के लिए चुनाव लड़ने की घोषणा की। वे चुनाव की तैयारियों में जुटे थीं। इसी बात पर गांव में रमेश के बेटे संदीप और विकास के साथ ही उनके दोस्त दीपक, अजय और मोहित रंजिश रखते थे। खेत में गेहूं बुआई करने के दौरान वीर सिंह, उसका छोटा भाई सचिन और चचेरा भाई सुनील भी था। 

पेट में कई बार मारा चाकू
सुनील दुकान से सामान लेने बाइक पर गया था। रास्ते में उसको ट्रैक्टर पर आते दीपक और मोहित मिले। वे उनके खेत के पास टैंकर से गंदा पानी डाल रहे थे। सुनील ने उन्हें टोका तो दीपक ने सुनील की बाइक में ट्रैक्टर से टक्कर मार दी और कॉल कर विकास, संदीप, अजय, रोहित और विनोद को बुला लिया था। सुनील का शोर सुनकर वह भी मौके पर पहुंचे थे। विकास, संदीप, दीपक, रोहित, व अजय ने सुनील के पेट में कई बार चाकू मार दिया था। उसे बचाने के प्रयास में उन पर और भाई सचिन के पेट और हाथ में चाकू मारा था। पड़ोसी सुदर्शन और शीशपाल ने उन्हें छुड़ाने का प्रयास किया तो उन पर हमला कर दिया गया था। इसमें सुनील की मौत हो गई थी।

ये भी पढ़ें-खुलासा: एचपीएससी में उप सचिव का पद ही आरक्षित नहीं, पंजाब-हरियाणा हाईकोर्ट के एडवोकेट हेमंत ने उठाए सवाल

मतलौडा थाना पुलिस ने उन्हें दो आरोपियों को सौंपा है। दोनों को छह दिन के रिमांड पर लिया गया है। रिमांड के दौरान इनसे अन्य आरोपियों के बारे में पूछताछ होगी। हत्या में प्रयुक्त चाकू व गंडासी बरामद की जाएगी। बाकी आरोपियों को भी जल्द पकड़ लिया जाएगा।
-वीरेंद्र सिंह, प्रभारी सीआईए टू
... और पढ़ें
  • Downloads
    News Stand

Follow Us

  • Facebook Page
  • Twitter Page
  • Youtube Page
  • Instagram Page
  • Telegram
एप में पढ़ें

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00