विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
हनुमान जयंती पर नौकरी प्राप्ति, आर्थिक उन्नत्ति, राजनीतिक सफलता एवं शत्रुनाशक हनुमंत अनुष्ठान - 8 अप्रैल 2020
Astrology Services

हनुमान जयंती पर नौकरी प्राप्ति, आर्थिक उन्नत्ति, राजनीतिक सफलता एवं शत्रुनाशक हनुमंत अनुष्ठान - 8 अप्रैल 2020

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

From nearby cities

27 नए मामलों के साथ हरियाणा के 15 जिलों तक पहुंचा कोरोना, कुल संख्या हुई 103, 18 हजार लोग निगरानी में

हरियाणा के चरखी दादरी जिले में सोमवार को कोरोना पॉजिटिव केस सामने आया। इसके साथ ही प्रदेश में संक्रमित मरीजों की संख्या 77 हो गई।

6 अप्रैल 2020

विज्ञापन
विज्ञापन

महेंद्रगढ़/नारनौल

मंगलवार, 7 अप्रैल 2020

जिला स्वास्थ्य विभाग को मिले 12 इंफ्रारेड थर्मल स्कैनर

कोविड-19 को देखते हुए बुखार के मरीजों की स्क्रीनिंग के लिए एक निजी कंपनी ने डीसी को 30 इंफ्रारेड थर्मल स्कैनर उपलब्ध कराया है। इसमें से 12 थर्मल स्कैनर जिला स्वास्थ्य विभाग को मिले हैं।
बखरीजा के प्लॉट नंबर दो पर स्थित त्रिपति विनियोग प्राइवेट लिमिटेड से रोहित मीणा ने कैंप कार्यालय में उपायुक्त जगदीश शर्मा को थर्मल स्कैनर भेंट किए। कंपनी के मालिक बसंत शर्मा ने स्वास्थ्य विभाग को 30 थर्मल स्कैनर उपलब्ध कराए हैं। इस मौके पर मौजूद पर्यटन विभाग के एमडी विकास यादव ने इस कार्य के लिए बसंत शर्मा का आभार जताते हुए कहा कि उपकरण फिलहाल बाजार में उपलब्ध नहीं है। ऐसे में शर्मा ने यह उपकरण स्वास्थ्य विभाग को मुहैया कराकर बड़ी सेवा की है। थर्मल स्कैनिंग से शुरुआती जांच करने में स्वास्थ्य विभाग को काफी सहायता मिलेगी। अब जिले के विभिन्न शेल्टर होम में आ रहे लोगों की स्क्रीनिंग करने में आसानी होगी।
थर्मल स्कैनिंग किसी भी व्यक्ति के तापमान को नापने का काम करता है। कोरोना वायरस का एक लक्षण तापमान में वृद्धि भी है। अगर हम ऐसे मरीजों का तापमान देखकर पहले ही एकांतवास में रखकर उनकी देखभाल करेंगे तो वायरस फैलने का रिस्क कम होगा। उन्होंने बताया कि राज्य के तीन जिलों फतेहाबाद भिवानी व पंचकूला में भी इन्होंने थर्मल स्कैनिंग उपकरण मुहैया कराए हैं। रोहित मीणा ने बताया कि लॉकडाउन के दौरान मजदूरों को राशन व दवाई उपलब्ध करवाई जा रही है। इस मौके पर सीएमओ डॉ. अशोक कुमार, डिप्टी सीएमओ डॉ संजय बिश्नोई व डॉ. दीपक शर्मा मौजूद थे।
... और पढ़ें

एमलिब की 25 सीटों के लिए 11 अप्रैल तक करें ऑनलाइन आवेदन

हरियाणा केंद्रीय विश्वविद्यालय (हकेंविवि) में मास्टर इन लाइब्रेरी साइंस में दाखिले के लिए 11 अप्रैल तक आवेदन किया जा सकेगा। विश्वविद्यालय में उपलब्ध पुस्तकालय एवं सूचना विज्ञान विभाग के अंतर्गत अध्ययन के इच्छुक विद्यार्थियों को एमलिब में दाखिले का अवसर उपलब्ध करा रहा है। विभाग में दाखिले के लिए 25 सीटें उपलब्ध हैं।
कुलपति प्रो. आरसी कुहाड़ ने कहा इस विभाग के अंतर्गत अध्ययन के लिए आने वाले विद्यार्थियों को अत्याधुनिक सुविधाओं से सुसज्जित डिजिटल लाइब्रेरी लैब, हाई स्पीड वाईफाई, विद्यार्थियों के ट्रेनिंग के लिए भारत की विभिन्न प्रसिद्ध पुस्तकालयों का शैक्षणिक भ्रमण कराया जाता है। इसके साथ विश्वविद्यालय में समय-समय पर विषय विशेषज्ञों के व्याख्यान, सेमिनार, कार्यशालाओं का आयोजन किया जाता है। पुस्तकालय एवं सूचना विज्ञान विभाग में एमलिब के दाखिले के लिए किसी भी स्ट्रीम से ग्रेजुएशन में 50 प्रतिशत अंकों (अनारक्षित वर्ग के लिए), 45 प्रतिशत (आरक्षित वर्ग के लिए) के साथ उत्तीर्ण होना निर्धारित योग्यता है। विभाग में 2 साल के कोर्स में च्वाइस बेस्ड क्रेडिट सिस्टम (सीबीसीएस) के तहत कुल 4 सेमेस्टर हैं। पुस्तकालय एवं सूचना विज्ञान विभाग के विभागाध्यक्ष प्रो. दिनेश कुमार गुप्ता ने बताया कि पुस्तकालय एवं सूचना विज्ञान का कोर्स करने के पश्चात सरकारी एवं निजी क्षेत्रों में रोजगार की अपार संभावनाएं हैं। इस कोर्स को करने के पश्चात विद्यार्थी शैक्षणिक व शिक्षणेतर दोनों क्षेत्रों में अपना भविष्य बना सकते हैं। इस कोर्स को करने के बाद विद्यार्थी स्कूलों, महाविद्यालयों, विश्वविद्यालयों, केंद्रीय पुस्तकालयों, बैंकों, राष्ट्रीय संग्रहालयों, अभिलेखागारों, संयुक्त राष्ट्र संघ, विभिन्न मंत्रालयों, न्यूज चैनल, पुस्तकालय नेटवर्क में रोजगार प्राप्त कर सकते हैं।
विभागीय उपलब्धियों की बात करें तो शैक्षणिक सत्र 2019-20 में विभाग के 14 विद्यार्थियों ने यूजीसी नेट/जेआरएफ उत्तीर्ण की। यहां बता दें की विश्वविद्यालय में केंद्रीय विश्वविद्यालय संयुक्त प्रवेश परीक्षा (सीयूसीईटी)-2020 के माध्यम से दाखिला संभव है। जिसके लिए आवेदन प्रक्रिया जारी है और आगामी 11 अप्रैल तक ऑनलाइन आवेदन किया जा सकता है। इसके पश्चात दाखिले के लिए 30 व 31 मई, 2020 को लिखित प्रवेश परीक्षा का आयोजन किया जाएगा।
... और पढ़ें

सोशल मीडिया पर अफवाह फैलाई तो होगी कार्रवाई : एसपी

एसपी सुलोचन गजराज ने कहा कि कोरोना वायरस को लेकर सोशल मीडिया में गलत जानकारी पोस्ट करने वालों पर भी कार्रवाई की जाएगी।
एसपी ने कहा कि सोशल मीडिया पर पोस्ट करने वाले लोगों पर पुलिस की पैनी नजर है। अगर किसी भी व्यक्ति ने किसी तरह की गलत पोस्ट या फिर अफवाह फैलाने की कोशिश की तो उसके खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाएगी। उन्होंने कहा कि लॉकडाउन की सफलता और कानून व्यवस्था को बनाए रखने के लिए सिविल में भी पुलिसकर्मियों को तैनात किया गया है। एसपी ने कहा कि लॉकडाउन के कारण अगर किसी दुकानदार ने आटा, चीनी, डाल या अन्य जरूरी किसी भी सामान को तय दामों से अधिक रेट पर बेचने की कोशिश की तो कानूनी कार्रवाई की जाएगी। इसकी निगरानी के लिए भी पुलिसकर्मी दुकानों पर सादी वर्दी में चेकिंग कर रहे हैं। एसपी ने बताया कि सुबह व शाम पहले के मुकाबले ओर अधिक पुलिसकर्मियों की तैनाती की गई है।
... और पढ़ें

सामाजिक संगठनों ने 1742 लोगों को बांटे चावल-छोले

सामाजिक संगठनों और अमर उजाला के सहयोग से सोमवार को छोले चावल और दाल चावल का वितरण किया गया। खाने के साथ लोगों को मास्क भी वितरित किए। सामाजिक कार्यकर्ताओं ने सैनिटाइजर से हाथ धुलवाए। सोमवार को शहर में संगठनों ने 1742 पैकेट खाना वितरित किया। खाना वितरण के साथ लोगों से उनके स्वास्थ्य के बारे में भी पूछताछ की। कार्यकर्ताओं ने कहा कि साधारण खांसी, बुखार, जुकाम की शिकायत होने पर अपने स्वास्थ्य की जांच कराएं। अस्पताल में फ्लू क्लीनिक की सेवाएं चल रही हैं।
प्राचीन हनुमान मंदिर में गरीब लोगों को कढ़ी व चावल वितरित किए गए। प्राचीन हनुमान मंदिर के प्रधान साहिल भालोठिया ने बताया कि झुग्गी झोपड़ियों और घरों में रहने वाले 1062 गरीबों को कढ़ी व चावल खिलाया गया। उन्होंने बताया कि सोमवार को आरपीएस कॉलेज, मोहल्लभ कोका बंगड़ी, पंचमुखी हनुमान मंदिर स्थित झुग्गी झोपड़ी, मौहल्ला कुम्हारान में, रेलवे ओवरब्रिज के नीचे रह रहे गरीब लोगों, ब्रह्मचारी मंदिर के पास स्थित झुग्गी झोपड़ी, गोशाला रोड, ऑटो मार्केट में झुग्गी झोपड़ी में रहने वाले को कढ़ी व चावल खिलाया गया। इस अवसर पर अतुल लामडियावाल, अशीषा भालोठिश, दीपक भालोठिया, दीप भालोठिया, महेश भाटिया व तपीश शर्मा मौजूद थे।
श्री श्याम मित्र मंडल ने 680 पैकेट भोजन बांटा
सोमवार को चावल छोले, चावल दाल वितरित किया। सामाजिक संस्था श्री श्याम मित्र मंडल और अमर उजाला फाउंडेशन ने लोगों को भोजन के साथ सैनिटाइजर भी वितरित किया। आरपीएस कॉलेज बलाना, आरपीएस स्कूल में बनाए शेल्टर होम, यदुवंशी स्कूल , रिवासा फाटक, कुराहवटा रोड,पावर हाउस के पास, माजरा चुंगी, रेलवे रोड, मोदाश्रम, ऑटो मार्केट,पंचमुखी हनुमान मंदिर, सैनीपुरा,ऑटो मार्केट, ब्रह्मचारी रोड में 680 पैकेट भोजन वितरित किया। महेंद्रगढ़ शहर में भोजन के लिए प्रमोद निंबेहड़ा के मोबाइल नंबर 9991204070 पर कॉल कर सकते हैं।
छह टीमें बनाकर वालंटियर की मदद से पहुंचा रहे खाना
कनीना। श्रीश्याम मित्र मंडल ओर अमर उजाला फाउंडेशन कोरोना वायरस के चलते चल रहे लॉकडाउन में गरीब और जरुरतमंद लोगों को मोबाइल वैन से घर-घर जाकर खाना पहुंचाया। श्रीश्याम मित्र मंडल की ओर से कृष्ण कुमार कथूरिया, दिनेश कुमार कथूरिया ने संयुक्त रूप से बताया कि सुबह छह बजे पहले चाय वितरित किया जाता है। उसके बाद नौ बजे से खाना वितरित किया जाता है। संस्था के 17 सदस्य 6 टीम बनाकर वालंटियर कि मदद से हर एक-एक जरूरतमंद तक खाना पहुंचाते है। इस मौके पर मुकेश गर्ग, अनिल गर्ग, संजय मित्तल, सुरेश, नितेश, राजू मौजूद थे।
... और पढ़ें
प्रवासियों के लिए भोजन पैक करते हुए श्री श्याम परिवार सेवा समिति के सदस्य। प्रवासियों के लिए भोजन पैक करते हुए श्री श्याम परिवार सेवा समिति के सदस्य।

गायों का व्यापारी कैंटर से नागपुर से डरोली अहीर पहुंचा

कुंडा कोसरा नागपुर (महाराष्ट्र) से गांव डेरोली अहीर पहुंचा व्यक्ति सोमवार को पैदल सीहमा चिकित्सालय पहुंच गया। महावीर जयंती का अवकाश होने के चलते स्वास्थ्य केंद्र सीहमा में चिकित्सक नहीं मिला तो नारनौल के लिए पैदल निकल पड़ा। बस स्टैंड सीहमा पर ठीकरी पहरा दे रहे पंचायत सदस्यों ने जब उससे पूछताछ की तो उसने बताया कि उसका नाम सुरेंद्र नायक है। गांव डेरोली अहीर का रहने वाला है जो कि गाय खरीद-बेच का कार्य करता है। महाराष्ट्र में नागपुर के नजदीक कुंडा कोसरा गया था। वहां से अंगूरों के टैंकर में बैठकर नारनौल होते हुए कुकसी रविवार दोपहर तीन बजे पहुंचा था। घर व गांव वालों की सलाह पर चिकित्सा जांच करवाना चाहता है। जिसके चलते वह अपने गांव डेरोली अहीर से पैदल सीहमा पीएचसी नौ बजे पहुंचा।
सरपंच हरनाम सिंह ने बताया कि मौके पर स्वास्थ्य विभाग के चिकित्सक व पुलिस को संदिग्ध व्यक्ति की सूचना दी गई। सूचना के उपरांत उप स्वास्थ्य केंद्र डेरोली अहीर के चिकित्सक पंकज शर्मा पहुंचे और सुरेंद्र नायक की चिकित्सा जांच की। डॉ. पंकज शर्मा ने बताया कि कोरोना जैसे लक्षण सुरेंद्र नायक में दिखाई नहीं दिए हैं। सुरेंद्र को एहतियात के तौर पर घर में परिवार के सदस्यों से अलग 14 दिन कमरे में रहने की हिदायत दी गई है। सुरेंद्र नायक को चिकित्सक पंकज शर्मा ने एक नोटिस महामारी रोग अधिनियम 1897 के तहत 14 दिन घरेलू निगरानी में रहने का दिया। डॉ. शर्मा ने उसको हिदायत दी कि भीड़-भाड़ वाली जगहों पर न जाए साथ ही कहा कि नोटिस के आदेशों की उल्लंघन करने पर उसके खिलाफ कानूनी कार्रवाई की जाएगी।
21 को पहुंचा था नासिक
व्यापारी ने बताया कि 21 मार्च को पिलानी राजस्थान से गाय लेकर नासिक गया था। उसके बाद 24 मार्च को शिर्डी गया । 29 मार्च को अंगूर लोड कर चल दिया। 5 अप्रैल को नारनौल सब्जी मंडी में अंगूर उतारा। उसके बाद कैंटर चालक ने उसे अपने गांव के पास उतारा । घर पहुंचने पर लोगों ने उसे स्वास्थ्य जांच कराने उसके बाद स्वास्थ्य केंद्र पहुंचा। कारोबारी कैंटर चालक के साथ पहले से ही गाय लेकर आता जाता रहा है।
... और पढ़ें

ड्रोन कैमरों से पुलिस लोगों पर रख रही नजर

नारनौल। लॉकडाउन के दौरान मोहल्लों में लोगों पर नजर रखने के लिए पुलिस ड्रोन कैमरों की सहायता ले रही हैं। दूसरी ओर पुलिस ने धारा 144 के उलंघन पर चार लोगों को गिरफ्तार कर लिया। बाद में सभी को जमानत मिल गई। लॉकडाउन के दौरान पुलिस ने अब तक 33 केस दर्ज कर 47 लोगों को गिरफ्तार कर चुकी हैं। बता दें कि लॉकडाउन के दौरान भी लोग घरों से बाहर निकल रहे हैं। लोग मोहल्लों में इकठ्ठा हो जाते और ताश खेलने लगते हैं। इससे वायरस के संक्रमण का खतरा बढ़ जाता है। इसे देखते हुए एसपी ने शहर में ही दस नाके लगाकर वाहनों के आवागमन को रोकने का प्रयास किया जा रहा है। इस दौरान खुद एसपी सुलोचना गजराज को सड़क पर उतरना पड़ा और नाकों पर सख्ती से जांच करने का निर्देश दिया। जिसके बाद सड़क पर वाहनों की संख्या में कमी हुई। लेकिन, मोहल्लों में लोग इकठ्ठा हो जा रहे हैं। ऐसे में पुलिस ने मोहल्लों में राइडर की गश्त के साथ ड्रोन कैमरों की मदद लेना का फैसला किया। पुलिस प्रवक्ता नरेश कुमार ने बताया कि लॉकडाउन में पुलिस सभी प्रमुख जगहों पर तैनात है। लॉकडाउन के चलते किसी प्रकार का उलंघन न हो इसके लिए एसपी सुलोचना के आदेश से लोगों पर निगरानी के लिए दो ड्रोन कैमरों की सहायता ली जा रही है। नारनौल शहर में डीएसपी मित्रपाल व सिटी थाना एसएचओ संतोष कुमार की देखरेख में दो टीमें बनाई गई हैं। दोनों टीमें अलग अलग स्थानों पर ड्रोन कैमरे से शहर के मुख्य चौराहों व गलियों में निगरानी की। कैमरे की मदद से वीडियो व फोटो लिए गए है। एसपी ने कहा कि ड्रोन कैमरे की मदद से लॉकडाउन को पूरी तरह से सफल बनाने के लिए सोशल डिस्टेंसिंग बनाए रखना जरूरी है। कोरोना से बचने के लिए उन स्थानों पर सोशल डिस्टेंसिंग की मॉनिटरिंग करने के लिए ड्रोन कैमरों की मदद ली जा रही हैं, जहां भीड़भाड़ ज्यादा है और पीसीआर के लिए संकरा रास्ता है। ड्रोन कैमरे इस स्थानों का जायजा लिया जा रहा हैं। वीडियो व फोटो चेक किए जाएगे। यदि किसी ने लॉकडाउन का उलंघन किया है उनकी पहचान कर कानूनी कार्रवाही की जाएगी। इसलिए लोगों से अपील की जा रही हैं कि लॉकडाउन का पालन करें। आगे भी ड्रोन कैमरे की सहायता ले जाएगी। पुलिस ने निजी ऑपरेटर्स से किराए पर कैमरे लिए हैं। 34 एफआईआर दर्ज, 47 हो चुके हैं गिरफ्तार अब तक जिले में 34 केस दर्ज हो चुके हैं और 47 लोगों को गिरफ्तार किया जा चुका है। पुलिस प्रवक्ता ने बताया कि लॉकडाउन का पालन न करने वालों पर पुलिस केस दर्ज कर रही है। सोमवार की सुबह बहादुर सिंह तालाब के पास चार लोगों घर से बाहर इकठ्ठा बैठे थे। धारा 144 का उलंघन करने पर आईपीसी धारा 188 के तहत मुकदमा दर्ज कर गिरफ्तार कर लिया गया। बाद में चारों को जमानत पर छोड़ दिया गया। प्रवक्ता के अनुसार लॉकडाउन उलंघन करने वालों के खिलाफ अब तक जिले में कुल 34 केस दर्ज हो चुके हैं। जिनमें 47 लोगों को गिरफ्तार किया जा चुका है। ... और पढ़ें

कोरोना वायरस के संदिग्धों की सूचना पर टीम भेजने में आनाकानी, मांगा स्पष्टीकरण

मंडी अटेली। अटेली सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र में कोरोना महामारी के दौरान डॉक्टरों की ड्यूटी में लापरवाही बतरने का मामला सामने आया है। इस पर सिविल सर्जन नारनौल ने अटेली के प्रवर चिकित्सा अधिकारी से स्पष्टीकरण मांगा है। सिविल सर्जन नारनौल द्वारा जारी स्पष्टीकरण में कहा गया हैं कि तीन मार्च की रात सवा नौ बजे कोरोना हेल्पलाइन पर गांव ताजपुर के सरपंच ने फोन किया कि उनके गांव के पास 10-15 मुस्लिम समुदाय के व्यक्ति हैं। इनमें से कोई तब्लीगी जमात का भी संदिग्ध हो सकता है। इनकी जांच कराई जाए। आरोप हैं कि अटेली के ड्यूटी पर तैनात डॉक्टर ने हेल्थ टीम को भेजने में आनाकानी की। संबंधित ने पुलिस कार्रवाही कराने की बात कहीं जबकि यह कार्य हेल्थ विभाग कर सकता था। टीम को तत्काल मौके पर भेजने में कानाकानी की गई। इसके बाद संबंधित को फोन किया गया लेकिन नहीं उठाया। जब डॉ. विजय यादव से बात की तो उन्होंने बताया कि रेवाड़ी घर पर है। जबकि, कोरोना महामारी को देखते हुए सभी अधिकारियों व कर्मचारियों को मुख्यालय न छोडऩे के आदेश हैं। डॉ. विजय ने यह भी बताया कि 24 घंटे ड्यूटी करने के बाद दो दिन की छुट्टी पर हैं। सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र अटेली में कार्यरत सभी चिकित्सा अधिकारी ऐसा कर रहे हैं। जारी पत्र में कहा गया है कि इस महामारी में डॉक्टरों व पैरामेडिकल हर समय कार्य कर रहे हैं। वहीं अटेली में ऐसा नहीं हो रहा है। चिकित्सा अधिकारी महीने में केवल 10 ही ड्यटियां कर रहे हैं जो की घोर अनियमितता व लापरवाही है। सिविल सर्जन ने पत्र में यह भी लिखा कि जिन चिकित्सा अधिकारियों को ड्यूटी पश्चात दो दिन का अवकाश दिया गया है, उन अवकाश को अर्जित अवकाश में बदल कर अधिकारियों को तुरंत ड्यूटी पर लौटने के आदेश दें। उन्होंने स्पष्टीकरण का जबाव दो दिन के अंदर-अंदर देने को कहा है। इस पर सिविल सर्जन डॉ. अशोक कुमार खुलकर नहीं बोले। उन्होंने कहा कि रुटिन के तहत किया गया कार्य है। दूसरी ओर गांव के सरपंच इंद्रजीत ने बताया कि हेल्पलाइन पर फोन किया था। रात साढ़े दस बजे चिकित्सकों की टीम पहुंची थी। मुस्लिम समुदाय के लोगों की जांच की थी। रिपोर्ट निगेटिव आने पर उन्हें सुरक्षित भेज दिया गया।  --  ... और पढ़ें

सोशल मीडिया पर सक्रिय हैं जिले के अधिकारी

अस्पताल में मरीज फाइल फोटो
नारनौल। महेंद्रगढ़ जिले के कई प्रशासनिक अधिकारी भी सोशल मीडिया पर एक्टिव हैं। ट्विटर पर सबसे अधिक सक्रिय एसडीएम महेंद्रगढ़ हैं। जहां जरूरी सूचनाए सांझा करने के साथ लोगों की समस्याओं को दूर करने का प्रयास भी कर रहे हैं। इसके अलावा पुलिस समेत अन्य अधिकारी भी शामिल भी हैं। बता दें कि 24 मार्च से कोरोना वायरस के कारण जिले में भी लॉकडाउन लागू है। ऐसे में लोगों को शुरूआत के दिनों में परेशानी उठानी पड़ी थी। लॉकडाउन के दौरान लोगों को जानकारी उपलब्ध कराने में जिले के कुछ अधिकारी सोशल मीडिया के विभिन्न प्लेटफार्म पर काफी सक्रिय हैं। इसमें सबसे आगे एसडीएम महेंद्रगढ़ विश्राम कुमार मीणा है। एसडीएम महेंद्रगढ़ ने पिछले साल नवंबर में ट्विटर एकाउंट बनाया था और 276 फॉलोवर हैं। एसडीएम की सबसे बड़ी विशेषता यह हैं कि कोई मदद करने के लिए ट्वीट करता है तो तुरंत रिस्पांस मिलता है। इसका एक उदाहरण रविवार को भी को मिला। शनिवार को शाम एसडीएम ने एक ट्वीट को रि-ट्वीट किया था कि लॉकडाउन के दौरान मजदूरों से कोई मकान मालिक अभी किराए के लिए बाध्य नहीं करेगा। साथ ही घर भी खाली करने के लिए दबाव नहीं बनाएगा। इस पर एसडीएम को एक यूजर राव सनीश ने लिखा कि महेंद्रगढ़ में एक मकान मालिक उसके दोस्त से परिवार समेत घर खाली करने को कह रहा है। इस पर उन्होंने एक नंबर देकर यूजर से पूरी जानकारी सांझा करने की बात कही। इससे पहले मदद मांगने वालों की सहायता कर चुके हैं। जबकि, डीसी महेंद्रगढ़ ने मार्च 2019 में ट्विटर एकाउंट बनाया था और 171 फॉलोवर हैं। हालांकि डीसी ट्विटर पर अधिक सक्रिय नहीं है। इस समय डीसी जगदीश शर्मा है। महेंद्रगढ़ डीसी का फेसबुक एकाउंट भी है। पुलिस विभाग ने नारनौल पुलिस नाम से जून 2019 में ट्विटर एकाउंट बनाया था और 209 फॉलोवर हैं। एसपी सुलोचना गजराज के आने के बाद पुलिस भी ट्विटर पर सक्रिय है। पुलिस विभाग का फेसबुक एकाउंट भी है। जिला लोक संपर्क विभाग ने मार्च 2018 में ट्विटर एकाउंट बनाया था और 273 फॉलोवर हैं। लोक संपर्क विभाग के निदेशक पीसी मीणा के बनाने के बाद डीआईपीआरओ भी सोशल मीडिया प्लेफार्म पर काफी एक्टिव है। जिले की डीआईपीआरओ उषा रानी है। डीआईपीआरओ का फेसबुक व इंस्ट्राग्राम पर एकाउंट है। कोरोना वायरस पर जिले में उठाए जा रहे कार्यों को हर  प्लेटफार्मों पर शेयर किया जा रहा है।  --------- प्रमुख के ट्विटर एकाउंट व फालोवर @dcmahendragarh-171 @NarnaulP- 206 @SDMMahendragarh-276 @DMahendragarh-273 ... और पढ़ें

डिजिटल माध्यम से अध्यापक बच्चों की करा रहे पढ़ाई

नारनौल। लॉकडाउन के दौरान समय का सदुपयोग कराने में निजी स्कूल भी जुट गए हैं। निजी स्कूल बच्चों को व्हाट्सएप व ईमेल के जरिए पाठ्य सामग्री भेज रहे हैं। जिससे की बच्चों की पढ़ाई बाधित न हो। वहीं कुछ स्कूल विभिन्न डिजिटल एप के माध्यम से टीचरों से साथ घर से ही ऑनलाइन बातचीत कर पाठ्य सामग्री व अन्य सुझाव सांझा कर रहे हैं। कक्षा इंजार्च अपने बच्चों के साथ एप के माध्यम से पढ़ाई करवा रहे हैं। बच्चों को यदि किसी प्रकार का संदेह है तो व्हाट्सएप के माध्यम से दूर किया जा रहा है। आरपीएस स्कूल के प्रधानाचार्य बाबुलाल यादव ने बताया कि कोरोना वायरस को लेकर सरकार ने 25 मार्च से लॉकडाउन है। लॉकडाउन में बच्चों की पढ़ाई का नुकसान न हो इसको ध्यान में रखते हुए उनकी स्कूल की तरह ही घर पर पढ़ाई कराने के लिए टाइम टेबल बनाया गया है। सभी अभिभावकों के व्हाट्सएप नंबर पर टाइम टेबल भेजा गया है। अध्यापक अपने घर से ही एक एप के माध्यम से अभिभावकों के पास भेजे गये टाइम टेबल के हिसाब से बच्चों की पढ़ाई करवा रहे हैं। सुबह आठ बजे से दोपहर दो बजे तक अलग-अलग विषयों के अध्यापक टाइम के हिसाब से एप के माध्यम से पढ़ाई करवा रहे हैं। स्कूल की कोर्डिनेटर राजेश्वरी ने बताया कि बच्चों को घर पर ही एक्टिविटी कराई जा रही है। जिससे बच्चे पेंटिंग व डांस का वीडियों बनाकर व्हाट्सएप ग्रुप में भेज रहे हैं। उन्होंने बताया कि लॉकडाउन के बाद जब स्कूल खुलेंगे तब इन बच्चों को सम्मानित किया जाएगा। ऑनलाइन कक्षा के लिए निशुल्क पंजीकरण प्रक्रिया शुरू मोहल्ला चौधरीयान स्थित हरियाणा सीनियर सेकेंडरी स्कूल में डिजिटल प्लेटफार्म बनाकर छात्रों को घर बैठे शिक्षा ग्रहण करने के लिए काम शुरू कर दिया है। विद्यालय के समस्त स्टॉफ ने छात्र-छात्राओं को ई-लर्निंग के माध्यम से घर बैठे पढ़ाने की योजना बनाई है। विद्यार्थियों को कक्षा क्रम के अनुसार अलग-अलग विषयों को पढ़ाने की व्यवस्था एप द्वारा की गई है। विद्यालय का प्रयास है कि महामारी की विकट समस्या के दौरान विद्यार्थियों का शैक्षणिक नुकसान न हो। विद्यालय चेयरमैन हितेंद्र शर्मा व निदेशिका संगीता शर्मा ने बताया कि जिन कक्षाओं का पाठ्यक्रम आरंभ हो चुका है, उन्हें रिवाइज किया जा रहा है। इसमें कोई भी विद्यार्थी निशुल्क शिक्षा प्राप्त कर सकता है। सभी विद्यार्थियों को संदेश भेजकर लॉकडाउन का पालन करने व घर से बाहर न निकलने के लिए प्रेरित किया जा रहा है। विद्यालय के माध्यम से ऑनलाइन कक्षा के लिए पंजीकरण प्रक्रिया एक अप्रैल से शुरू कर दी गई है। कोई भी विद्यार्थी निशुल्क पंजीकरण करवा सकता है। ... और पढ़ें

खाने के साथ सैनिटाइजर, दस्ताने, मास्क भी बांटेंगी सामाजिक संस्थाएं

सामाजिक संगठनों ने मुसीबत में फंसे हजारों लोगों के लिए खाने की व्यवस्था है। अगर किसी के पास खाना न हो तो वह फोन कर खाना मंगा सकता है। कोरोना से बचने के लिए देश में लॉकडाउन किया गया है। 21 दिन के इस लॉकडाउन में हजारों लाखों लोग अपने घर नहीं पहुंच पाए। ऐसे लोगों के पास रहने खाने का ठिकाना नहीं है। लॉकडाउन के समय मुसीबत में फंसे लोगों को भोजन उपलब्ध कराने के लिए सामाजिक संगठन विशेष अभियान चला रहे हैं। मुसीबत में मजबूर लोगों के लिए अमर उजाला ने एक मुठ्ठी अनाज अभियान शुरू किया है। इस दौरान लोगों को खाने के साथ ही सैनिटाइजर, दस्ताने और मास्क भी सामाजिक संस्थाओं के सहयोग से अमर उजाला उपलब्ध कराएगा। शहर की विभिन्न सामाजिक संस्थाओं के साथ मिलकर जरूरतमंदों को भोजन उपलब्ध कराया जाएगा। सामाजिक संगठनों की ओर से दिए गए मोबाइल नंबर पर संपर्क कर सहयोग मांग सकते हैं।
शनिवार को शेल्टर होम में पहुंचाया भोजन
शनिवार को आरपीएस में बनाए शेल्टर होम, यदुवंशी स्कूल , आरपीएस कॉलेज बलाना, श्रीकृष्णा स्कूल के पास, रिवासा फाटक, माजरा चुंगीद्व रेलवे रोड़, मोदाश्रम,पंचमुखी हनुमान मंदिर, सैनीपुरा,ऑटो मार्केट, ब्रह्मचारी रोड, सतनाली चौक, सैनीपुरा में 800 पैकेट भोजन वितरित किया। हेंद्रगढ़ शहर में भोजन के लिए प्रमोद निंबेहड़ा के मोबाइल नंबर 9991204070 पर कॉल कर सकते हैं।इस मौके पर नितिन जिंदल,मोहित बंसल, रवि, हनी छाबड़ा, बस्तीराम सहित अन्य उपस्थित रहे।
58 लोगों को बांटा गया सूखा राशन
लॉकडाउन के चलते पाठशाला स्थित प्रचीन हनुमान मंदिर में गरीब लोगों के लिए सूखा राशन पैक कर वितरित किया जा रहा है। प्रचीन हनुमान मंदिर कमेटी के प्रधान साहिल भालोठिया ने बताया कि शनिवार को 58 परिवारों को सूखा राशन बांटा गया। उन्होंने बताया कि यह सूखा राशन बुचाली रोड़, रेलवे ओवरब्रिज के नजदीक, कुराहवटा रोड, टेलिफोन एक्सचेंज के पास, ब्रह्मचारी रोड़ पर झुग्गी झोपडियों में सूखा राशन दिया गया। शनिवर को 1 किलो चावल, 5 किलो आटा, हल्दी, मिर्च, 1 लीटर सरसों तेल, 1 किलो दाल, चाय पत्ती गरीब लोग को वितर किया गया। इस अवसर पर अतुल लामडियावाल, आशीष भालोठिया, दीपक भालोठिया, महेश भाटिया, तपीश शर्मा, मोंटू जांगड़ा मौजूद थे।
500 लोगों को खाना वितरित किया
कनीना में सामाजिक संस्था श्री श्याम मित्र मंडल और अमर उजाला फाउंडेशन ने शनिवार को सैनिटाइज करने के लिए अभियान में सहयोग किया। श्रीश्याम मित्रमंडल के प्रधान अनिल गर्ग ने बताया कि टीम ने शनिवार को 500 लोगों को खाना तैयार करके जरूरत मंदों को वितरित किया। मोबाइल वैन से अलग अलग एरिया में खाना पहुंचाया। संस्था व्के वालियंटर जतिन, शक्तिमान, अशोक कुमार, प्रीति, नीतिश, गौरव, राधा ने मास्क भी वितरित किए। वालियंटरो को सुरक्षा के लिए मास्क, गलाउज, सैनिटाइजर उपलब्ध करा रखे हैं। इस मौके पर संस्था के राकेश, दिनेश, सुरेश, कृष्ण, मुकट, सचिन शर्मा, मुकेश सिंगला, सज्जन, संजय उपस्थित थे। जरुरतमंद व्यक्ति को भोजन की जरूरत हो तो 9416150922 पर कॉल कर सकता है।
... और पढ़ें

सरसों की 2567 हेक्टेयर में 75 फीसदी तक हुआ नुकसान, 11500 किसानों को मिलेगा मुआवजा

जिले में ओलावृष्टि से फसलों में हुए नुकसान का सर्वे कार्य पूरा हो गया है। ओलावृष्टि से खराब हुई फसलों का अब जल्द ही किसानों को मुआवजा दिया जाएगा। विभाग के पास 16500 किसानों ने मुआवजे के लिए आवेदन किया था। 209 गांवों में अधिक नुकसान की शिकायत मिलने पर एसडीएम व तहसीलदार ने सर्वे कर रिपोर्ट सौंप दी है। कुल 351 गांवों का सर्वे हुआ है। जिले में सरसों की 20976 हेक्टेयर में 25 फीसदी, 20677 हेक्टेययर में 50 फीसदी,  2567 हेक्टेयर में 75 फीसदी और 50 हेक्टेयर में सौ फीसदी नुकसान हुआ है। कृषि विभाग के डिप्टी डायरेक्टर जसविंद्र ने बताया कि मार्च में ओलावृष्टि से किसानों की सरसों,गेहूं,चना व जौ की फसल खराब हो गई थी। ओलावृष्टि से खराब हुई फसलों के मुआवजे के लिए विभाग ने किसानों से आवेदन मांगे थे। जिसमें 16500 किसानों ने मुआवजे के लिए आवेदन किया था। 209 गांवों में अधिक नुकसान की शिकायत मिलने पर एसडीएम व तहसीलदार ने सर्वे कर विभाग को रिपोर्ट सौंप दी है। 142 गांवों में कम शिकायतें आई थी। इन गांवों को अधिकारियों ने दौरा कर रिपोर्ट तैयार की है। उन्होंने बताया कि जिन किसानों ने फसल इंश्योरेंश कराया हुआ है, उन किसानों के आवेदन लिये गये है। 16500 आवेदनों में पांच हजार आवेदनों सही नहीं मिले हैं। इन किसानों का ऑनलाइन जमीन के रिकार्ड में कमी मिली है। ऐसे किसानों की बैंक से डिटेल ली जा रही है। अगर बैंक से इंश्योरेंश करने में गलती हुई है तो इसका भुगतान किसानों को बैंक करेगा। ऐसे समझे नुकसान- नारनौल व अटेली ब्लॉक में 50 से 75 फीसदी नुकसान 75 हेक्टेयर सरसों की फसल हुई है। नांगल चौधरी में सरसों की फसल 256, कनीना ब्लॉक मेें 2151 व महेंद्रगढ़ में दस हेक्टेयर सरसों की फसल को नुकसान हुआ है। गेहूं में सबसे अधिक नुकसान अटेली में हुआ है। यहां पर 150 हेक्टेयर गेहूं की सफल 50-75 फीसदी तक नुकसान हुई है। इसके बाद महेंद्रगढ़ में तीस हेक्टेयर में फसल को नुकसान हुआ है। ओलावृष्टि में कनीना ब्लॉक में 2151 हेक्टेयर सरसों की फसल में 50 से 75 फीसदी तक नुकसान हुआ है। नांगल चौधरी 50 हेक्टेयर सरसों में 75-100 फीसदी तक नुकसान हुआ है। जिले में सरसों की 20976 हेक्टेयर 25 फीसदी, 20677 हेक्टेययर में 50 फीसदी,  2567 हेक्टेयर 75 फीसदी और 50 हेक्टेयर में सौ फीसदी नुकसान हुआ है। जिले में ओलावृष्टि से हुआ नुकसान (प्रति हेक्टेयर) फसल - 0- 25 प्रतिशत - 50 प्रतिशत -75 प्रतिशत - 100 प्रतिशत सरसों - 20976 -- 20677 - 2567 - 50 गेहूं - 19288 - 7534 - 180 - 0 चना - 1920 -- 552 - 10 - 0 जौ - 135 -- 90 - 20 -- 0 ... और पढ़ें

रसों की 2567 हेक्टेयर फसल में 75 फीसदी तक नुकसान, 11500 किसानों को मिलेगा लाभ

जिले में ओलावृष्टि से फसलों में हुए नुकसान का सर्वे पूरा हो गया है। ओलावृष्टि से खराब हुई फसलों का अब जल्द ही किसानों को मुआवजा दिया जाएगा। विभाग के पास 16500 किसानों ने मुआवजे के लिए आवेदन किया था। 209 गांवों में अधिक नुकसान की शिकायत मिलने पर एसडीएम व तहसीलदार ने सर्वे कर रिपोर्ट सौंप दी है। कुल 351 गांवों का सर्वे हुआ है। जिले में सरसों की 20976 हेक्टेयर में 25 फीसदी, 20677 हेक्टेययर में 50 फीसदी, 2567 हेक्टेयर में 75 फीसदी और 50 हेक्टेयर में सौ फीसदी नुकसान हुआ है।
कृषि विभाग के डिप्टी डायरेक्टर जसविंद्र ने बताया कि मार्च में ओलावृष्टि से किसानों की सरसों, गेहूं, चना व जौ की फसल खराब हो गई थी। ओलावृष्टि से खराब हुई फसलों के मुआवजे के लिए विभाग ने किसानों से आवेदन मांगे थे। जिसमें 16500 किसानों ने मुआवजे के लिए आवेदन किया था। 209 गांवों में अधिक नुकसान की शिकायत मिलने पर एसडीएम व तहसीलदार ने सर्वे कर विभाग को रिपोर्ट सौंप दी है। 142 गांवों में कम शिकायतें आई थी। इन गांवों को अधिकारियों ने दौरा कर रिपोर्ट तैयार की है। उन्होंने बताया कि जिन किसानों ने फसल इंश्योरेंश कराया हुआ है, उन किसानों के आवेदन लिये गये है। 16500 आवेदनों में पांच हजार आवेदनों सही नहीं मिले हैं। इन किसानों का ऑनलाइन जमीन के रिकार्ड में कमी मिली है। ऐसे किसानों की बैंक से डिटेल ली जा रही है। अगर बैंक से इंश्योरेंश करने में गलती हुई है तो इसका भुगतान किसानों को बैंक करेगा।
ऐसे समझे नुकसान
नारनौल व अटेली ब्लॉक में 50 से 75 फीसदी नुकसान 75 हेक्टेयर सरसों की फसल हुई है। नांगल चौधरी में सरसों की फसल 256, कनीना ब्लॉक मेें 2151 व महेंद्रगढ़ में दस हेक्टेयर सरसों की फसल को नुकसान हुआ है। गेहूं में सबसे अधिक नुकसान अटेली में हुआ है। यहां पर 150 हेक्टेयर गेहूं की सफल 50-75 फीसदी तक नुकसान हुई है। इसके बाद महेंद्रगढ़ में तीस हेक्टेयर में फसल को नुकसान हुआ है। ओलावृष्टि में कनीना ब्लॉक में 2151 हेक्टेयर सरसों की फसल में 50 से 75 फीसदी तक नुकसान हुआ है। नांगल चौधरी 50 हेक्टेयर सरसों में 75-100 फीसदी तक नुकसान हुआ है। जिले में सरसों की 20976 हेक्टेयर 25 फीसदी, 20677 हेक्टेययर में 50 फीसदी, 2567 हेक्टेयर 75 फीसदी और 50 हेक्टेयर में सौ फीसदी नुकसान हुआ है।
... और पढ़ें

नागरिक अस्पताल में भर्ती प्रसूता की मौत

नारनौल। नागरिक अस्पताल में एक प्रसूता की मौत हो गई। प्रसूता की मौत के कारणों का अभी पता नहीं चला है। शुक्रवार को उसने दो बच्चों को जन्म दिया था। पुलिस पोस्टमार्टम करवाकर शव परिजनों को सौंप दिया। पुलिस से मिली जानकारी के अनुसार महेंद्रगढ़ के मोहल्ला लाला वाला कुआं निवासी मोहित तीन अप्रैल को पत्नी की डिलिवरी कराने के लिए जीएच में आया था। शाम सात बजे प्रसूता ने ऑपरेशन से दो बच्चियों को जन्म दिया। उस समय पत्नी स्वस्थ थी। शनिवार सुबह छह बजे डॉक्टरों ने पत्नी का खून टेस्ट कराने के लिए कहा था। इस पर वह खून जांच के लिए लैब में देने गया था। जब वह लैब से वापस प्रसूता वार्ड में आया तो पत्नी मृत मिली। पीड़ित ने पुलिस में शिकायत देकर पत्नी का पोस्टमार्टम करवाकर मौत के कारणों का पता लगाने की मांग की है। ... और पढ़ें
अपने शहर की सभी खबर पढ़ने के लिए amarujala.com पर जाएं

Disclaimer


हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर और व्यक्तिगत अनुभव प्रदान कर सकें और लक्षित विज्ञापन पेश कर सकें। अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।
Agree
Election
  • Downloads

Follow Us