विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
मात्र 2 दिन शेष ,गंगा दशहरा पर कराएं गंगा आरती एवं दीप दान, पूरे होंगे रुके हुए काम
Puja

मात्र 2 दिन शेष ,गंगा दशहरा पर कराएं गंगा आरती एवं दीप दान, पूरे होंगे रुके हुए काम

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
Digital Edition

हरियाणा में कोरोना का कहर, गुरुग्राम में एक मौत, 13 जिलों में सर्वाधिक 123 पॉजिटिव मिले

हरियाणा में कोरोना का कहर इस कदर जारी है कि अब तक प्रदेश में पिछले 24 घंटे में सबसे ज्यादा 123 मामले सामने आ गए हैं। 13 जिलों में ये नए संक्रमित मरीज सामने आए हैं। जिले का स्वास्थ्य महकमा खासा चिंतित है और संक्रमण को रोकने की नई रणनीति पर काम कर रहा है। अब कुल संक्रमित मरीजों की संख्या 1504 पहुंच गई है। 

इनमें से 881 मरीज ठीक हो गए हैं। जबकि 604 मरीज अभी भी संक्रमित हैं। गुरुग्राम में भी 1 दिन में सबसे ज्यादा 68 मामले सामने आए हैं। गुरुग्राम में एक और मौत होने के बाद प्रदेश में इस संक्रमण से मरने वालों की संख्या 19 हो गई है। गुरुग्राम में 68, फरीदाबाद में 18, सोनीपत में 6, कुरुक्षेत्र, रोहतक और करनाल में 5-5, हिसार व कैथल में 4-4, सिरसा में 3, फतेहाबाद में 2, पानीपत, यमुनानगर, चरखी दादरी 1-1 नए संक्रमित मरीज सामने आए हैं। अब पंचकूला को छोड़कर सारे जिले कोरोनाग्रस्त हो चुके हैं। 


यह भी पढ़ें-
पाकिस्तानी की गुहार, 'मोदी साहब! मेरा कबूतर वापस कर दीजिए, मैं बहुत चाहता हूं', पढ़ें- मामला

संक्रमण से रिकवरी रेट घटकर 58.58 फीसदी हो गया है। संक्रमण बढ़ने का रेट 1.45 प्रतिशत पहुंच गया है। 4267 संदिग्ध मरीजों की सैंपल रिपोर्ट आना अभी बाकी है। विभिन्न जिलों में अब कुल पॉजिटिव मरीजों में से गुरुग्राम में 405, फरीदाबाद में 276, सोनीपत में 180, झज्जर में 97, नूंह में 66, अंबाला में 47, पलवल में 51, भिवानी में 11, चरखी दादरी में 8, फतेहाबाद में 11, हिसार में 26, जींद में 29, करनाल में 42, कैथल में 10, कुरुक्षेत्र में 26, पानीपत में 60, पंचकूला में 25, रोहतक में 24, नारनौल में 36, सिरसा में 14, यमुनानगर में 9, रेवाड़ी में 18, महेंद्रगढ़ में 33 मरीज सामने आ चुके हैं। 

अमेरिका से लौटे 21 पॉजिटिव मरीज अतिरिक्त हैं। जबकि गुरुग्राम के एक निजी अस्पताल में 14 इटालियन मरीजों को भी रखा गया था। दूसरी ओर, गुरुग्राम 193, अंबाला में 40 भिवानी में 6, चरखी दादरी में 1, रेवाड़ी 4, फरीदाबाद में 138, फतेहाबाद में 7, हिसार में 5, जींद में 18, करनाल में 16, कैथल में 4, कुरुक्षेत्र 7, नूंह में 65, पलवल में 39, पानीपत में 36, पंचकूला में 25, रोहतक में 11, सिरसा में 9, महेंद्रगढ़ में 6, चार सोनीपत में  139, झज्जर 90, यमुनानगर में 8 मरीजों समेत सभी 14 संक्रमित इटालियन मरीज भी ठीक हो चुके हैं।
... और पढ़ें

नई व्यवस्था के तहत वीरवार को खुले बाजार

गर्मी से नागरिक अस्पताल में बढ़ी मरीजों की संख्या

सड़क पर खड़े वाहनों की पुलिस ने निकाली हवा

नरवाना में कार की हवा निकलता पुलिस कर्मी। नरवाना में कार की हवा निकलता पुलिस कर्मी।

पीटीआई अध्यापकों को हटाने की प्रक्रिया शुरू करने के विरोध में अध्यापकों ने किया प्रदर्शन

हरियाणा विद्यालय अध्यापक संघ ने प्रदेश में 1983 पीटीआई अध्यापकों को सेवा से हटाने की प्रक्रिया शुरू करने के विरोध में काला दिवस मनाया। जिला मौलिक शिक्षा अधिकारी कार्यालय पर प्रदर्शन किया।
जिला प्रधान साधु राम ने कहा कि जींद में जिला मौलिक शिक्षा अधिकारी कार्यालय पर बड़ी संख्या में अध्यापकों ने काला दिवस मनाया। धरने की अध्यक्षता जिला प्रधान साधुराम ने की व मंच का संचालन जिला उपप्रधान महेंद्र गौतम ने किया। राज्य ऑडिटर वेदपाल रिढ़ाल ने कहा कि सरकार रोजगार देने की जगह रोजगार छीनने में लगी हुई है। सरकार को इन अध्यापकों के दस वर्षों के अनुभव को देखते हुए अपनी विधाई शक्तियों का उपयोग करके इनको सेवा सुरक्षा प्रदान करनी चाहिए थी, लेकिन सरकार सुप्रीम कोर्ट के निर्णय की ही अवहेलना कर रही है। इसमें साफ कहा गया था कि लॉकडाउन के बाद आगामी पांच महीनों में प्रक्रिया पूरी करनी है, लेकिन अभी लॉकडाउन समाप्त भी नहीं हुआ और सरकार ने अध्यापकों को हटाने की प्रक्रिया शुरू कर दी है। पूर्व राज्य प्रधान बलबीर सिंह ने कहा कि सरकार लगातार कर्मचारी विरोधी फैसले ले रही है व कोरोना की आड़ में कर्मचारी विरोधी फैसले और कटौतियां लागू की जा रही हैं, रोजगार छीने जा रहे हैं। एक ओर तो कर्मचारियों के डीए और एलटीसी पर रोक लगा दी गई है, वहीं विधायकों के भत्ते दो गुना कर दिए गए हैं। सर्व कर्मचारी संघ हरियाणा के जिला प्रधान रामफ ल दलाल ने कहा कि एक तरफ तो स्वास्थ्य विभाग में काम कर रहे कर्मचारियों पर फ ूल बरसाने का दलिखावा किया जा रहा है, और वहीं दूसरी ओर 10000 स्वास्थ्य कर्मचारियों को हटाने की तैयारी चल रही है। सरकार कहती कुछ है और करती कुछ है। हरियाणा विद्यालय अध्यापक संघ और सर्व कर्मचारी संघ हरियाणा पूरी तरह से प्रभावित अध्यापकों के साथ है और किसी भी सूरत में अध्यापकों का रोजगार जाने नहीं दिया जाएगा। इस प्रक्रिया में कहीं भी माननीय न्यायालय द्वारा अध्यापकों को दोषी नहीं पाया गया है। अगर कहीं किसी ने गलती की है तो वह उस समय की सरकार मंत्री और चयन कमेटी ने की है। उनको सजा होनी चाहिए न की इतने वर्षों के बाद इन अध्यापकों का रोजगार छीना जाए। प्रदेश व्यापी प्रदर्शनों और काला दिवस मनाए जाने के परिणामस्वरूप सरकार ने अपने आदेशों में बदलाव करते हुए फिलहाल अध्यापकों की रिलीविंग पर रोक लगा दी है। इस अवसर पर भूप सिंह वर्मा, होशियार सिंह, वेदपाल रिढ़ाल, महावीर पोपड़ा, रणधीर, हैप्पी सिंह, प्रेमचंद, अमरजीत, महिपाल सैन, सतेंद्र गौतम, महेंद्र गौतम, शमशेर कौशिक, कलीराम, रोहताश आसन, शमशेर भंभेवा, सतबीर गहलोत मौजूद रहे।
... और पढ़ें

कोरोना संक्रमण ने खोली कबूतरबाजी की पोल, पैसे गंवाकर घर पहुंचे युवक

कोरोना वायरस संक्रमण ने जिला में फल फूल रहे कबूतरबाजी के धंधे की पोल खोल दी है। अब चार ऐसे युवक सामने आ चुके हैं, जो विदेश में पैसे कमाने की चाह में दलालों के चक्कर में फंसे। मोटी रकम गंवा कर अब यह लोग अपने देश वापस आ चुके हैं।
पुलिस ने अवैध रूप से अमेरिका भेजने के लिए जींद के चार व्यक्तियों को धोखा देने के लिए पानीपत और करनाल जिले के दलालों के खिलाफ केस दर्ज कर लिया है। इनको 19 मई को निर्वासित किया गया। वापस आए दो युवकों में कोरोना संक्रमण की भी पुष्टि हुई है। ऐसे में इन लोगों ने पैसे भी गंवाए और अपनी जान भी दाव पर लगा दी। अमेरिका ने 19 मई को 139 व्यक्तियों को निर्वासित किया है, जो अवैध रूप से वहां प्रवेश करते हैं और उनमें से 76 ने हरियाणा के 21 को कोरोना संक्रमित पाया गया है। नरवाना क्षेत्र के लोहचब गांव निवासी रणजीत सिंह व कसुहन गांव निवासी अमरजीत कोरोना संक्रमण से बचे हैं।
बहुत खतरनाक है यह सफर
लोहचब गांव निवासी रणजीत के अनुसार यह सफर बहुत ही खतरनाक है। रणजीत के अनुसार अमरीका जाने के लिए उनकी बात पानीपत जिला के रविंद्र से हुई। रणजीत को कैलिफोर्निया भेजने की बात हुई थी, लेकिन वह संकट में फंस गया। रणजीत के अनुसार उन्होंने 27 फरवरी को अपनी यात्रा शुरू की। उन्हें कैलिफोर्निया की बजाय इक्वाडोर ले जाया गया। यहां से छह से सात देशों के पार करने के बाद कैलिफोर्निया ले जाया गया। 16 मई को वहां पकड़ा गया और जेल में डाल दिया गया। इसके बाद, भारतीय दूतावास ने वापस भेजने की व्यवस्था करवाई।
बहुत दिक्कत हुई
दूसरी ओर नरवाना के ही लोन गांव निवासी युवक ने पुलिस को दी शिकायत में आपबीती बताई है। जांच अधिकारी राजेश कुमार के अनुसार युवक ने कहा कि उन्हें कहीं-कहीं से जंगलों के रास्ते कैलिफोर्निया भेजा गया। अंत में कैलिफोर्निया की सीमा पर छोड़ दिया गया। इसके चलते काफी परेशानी हुई। अंत में उन्हें भारत भेज दिया गया। अमरीका जाने के लिए 12 लाख रुपये एजेंट को दिए। 19 मई को उसे निर्वासित कर दिया और कोरोना पॉजिटिव का परीक्षण किया। फिलहाल युवक का इलाज पीजीआई रोहतक में चल रहा है। डीआईजी अश्विन शैणवी के अनुसार इस प्रकार के मामले आए हैं। पुलिस ने इसमें कसे दर्ज किए हैं और जांच की जा रही है।
... और पढ़ें

कोरोना को मात देकर घर पहुंची 60 वर्षीय रति देवी

जिले के बुजुर्ग हों या जवान सभी कोरोन को मात देकर घर पहुंच रहे हैं। केवल पेगां निवासी व्यक्ति की मौत हुई है। पेगां निवासी व्यक्ति कैंसर से पीड़ित था, जिसकी वजह से उसकी मौत हो गई। जिले के 22 लोग जिनमें एक 11 वर्षीय बच्चा तथा उसकी 75 वर्षीय दादी शामिल है, कोरोना को मात दे चुके हैं। जिले में इस समय 29 लोग संक्रमित हो चुके हैं। इनमें से 22 लोग कोरोना को मात देकर घर पहुंच चुके हैं। जिले में फिलहाल छह केस ही एक्टिव हैं।
शुक्रवार को गांगोली निवासी 60 वर्षीय रति देवी भी कोरोना को हराकर घर पहुंच गईं। जिला स्वास्थ्य विभाग की एंबुलेंस उसे मेडिकल कॉलेज खानपुर से लेकर आई और गांगोली गांव में उसके घर छोड़कर गई। ग्रामीणों ने महिला का स्वागत किया। रति देवी का तीन साल से हृदय की बीमारी का इलाज मेडिकल कॉलेज खानपुर में चल रहा था। 18 मई को उसे दिल की बीमारी के कारण मेडिकल कॉलेज खानपुर में दाखिल करवाया गया था। 18 मई को ही उसका सैंपल लिया गया, जिसकी रिपोर्ट 21 मई को पॉजिटिव आई थी। इसके बाद महिला मेडिकल कॉलेज खानपुर में ही उपचाराधीन थी। वहीं 19 मई को अमेरिका से आए कालवन तथा लोन निवासी भी पॉजिटिव आए थे। इनमें से कालवन निवासी संदीप भी ठीक होकर घर पहुंच चुका है। लोन निवासी युवक की दूसरी रिपोर्ट पॉजिटिव आई है। जिसकी वजह से उसे अभी डिस्चार्ज नहीं किया गया है। दो दिन बाद फिर से युवक का सैंपल लिया जाएगा। जिले में फिलहाल छह लोग हैं, जिनका उपचार चल रहा है। सिविल सर्जन डॉ. जयभगवान ने कहा कि जिले के लिए यह अच्छी बात है कि कोरोना संक्रमित लोग रिकवर कर रहे हैं। उपचार के बाद ठीक हुए लोगों को 14 दिन के लिए घर पर ही क्वारंटीन रहना होगा। उन्होंने कहा कि इस समय लोगों को अधिक एहतियात बरतने की जरूरत है।
... और पढ़ें

डीसी से मिलकर व्यापारियों ने की शिकायत, पुलिस करती है दुर्व्यवहार

लॉकडाउन में दुकानों को खोलने के नियम में बार-बार हो रहे बदलाव और भीड़ बढ़ने के मुद्दे को लेकर शुक्रवार को व्यापार मंडल जींद का प्रतिनिधिमंडल डीसी डॉ. आदित्य दहिया से मिला।
व्यापारियों ने कहा कि बाजार में ग्राहकों की नहीं, वाहनों की भीड़ होती है। ऐसे में यह सुनिश्चित किया जाए कि बाजार में सिर्फ दुपहिया वाहन ही आ सकें। इतना ही नहीं दुकानदारों के वाहनों को बाजार में आने से रोका जाए। इसकी जिम्मेदारी व्यापार मंडल की लगाई जाय। साथ ही व्यापारियों ने शिकायत की कि पुलिस के लोग उनके साथ अभद्र बरताव करते हैं। इस पर डीसी डॉ. आदित्य दहिया ने कहा कि वाहनों के प्रवेश व पुलिस के व्यवहार को लेकर वे डीआईजी अश्विन शैणवी से बात करेंगे।
गौरतलब है कि तीन दिन पहले प्रदेश व्यापार मंडल के प्रतिनिधि भी मिले थे। इस पर डीसी ने कहा कि उस दिन यह चूक रही कि व्यापारियों के दूसरे संगठन को संदेशा नहीं पहुंच सका। भविष्य में इसका ध्यान रखा जाएगा। व्यापारियों ने कहा कि बाजार में आने वाले ग्राहकों की संख्या का कोई अनुमान नहीं लगाया जा सकता। ऐसे में जो ग्राहक बाजार में आते हैं, उनको सामान लेकर दिया जाना है। इसके चलते सभी दुकानों को एक साथ खोला जाए, ताकि भीड़ कम हो। इस पर डीसी ने कहा कि प्रदेश में एक जैसी व्यवस्था लागू करने के लिए यह फैसला लिया गया है। अभी इसमें कोई ढील नहीं दी जा सकती। हालांकि उन्होंने वाहनों की व्यवस्था करने व पुलिस द्वारा किए जा रहे बरताव पर डीआईजी अश्विन शैणवी से बात करने का आश्वासन दिया।
सुबह आठ बजे से दुकान खोलने की मांग
इस दौरान व्यापारियों ने कहा कि सुबह आठ बजे से दुकान खोलने की अनुमति दी जाए। व्यापारियों ने कहा कि फिलहाल सुबह नौ बजे से दुकान खोलने की व्यवस्था है और दस बजे इतनी गर्मी हो जाती है कि ग्राहक नहीं पहुंच पाते। इस पर भी डीसी ने प्रदेश सरकार द्वारा की गई व्यवस्था का हवाला दिया।
दो बजे के बाद आएंगे कैंपर सप्लायर
दुकानदारों ने कहा कि मेन बाजार में सुबह करीब 11 बजे प ानी के कैंपर सप्लाई करने वाले आते हैं। बाजार पहले ही तंग है और इससे जाम की स्थिति बन जाती है। ऐसे में कैंपर सप्लाई करने वालों को दोपहर दो बजे के बाद आने के आदेश दिए जाएं। इस पर डीसी ने मांग को मान लिया।
दुकानों के बाहर लगेंगे पोस्टर
व्यापारियों ने इस दौरान पोस्टर भी लांच किया, जो सभी दुकानों के बाहर लगाया जाएगा। इसमें लोगों से अपील की गई है कि वे मास्क पहनें और अधिक संख्या में दुकानों के अंदर नहीं आएं।
नहीं रखा जा रहा शारीरिक दूरी का ध्यान
वहीं प्रशासन की सख्ती के बावजूद शारीरिक दूरी का ध्यान नहीं रखा जा रहा है। शुक्रवार को बाजार में कई जगह ग्राहकों की भीड़ लगी रही। इससे संक्रमण फैलने का खतरा बढ़ रहा है। नगर परिषद के मुख्य स्वच्छता निरीक्षक अशोक सैनी के अनुसार शुक्रवार को शारीरिक दूरी नहीं रखने पर तीन दुकानों के चालान काटे गए हैं। यह अभियान जारी रहेगा।
 बाजार में मास्क नहीं लगाने वालों को समझाते पुलिसकर्मी।
बाजार में मास्क नहीं लगाने वालों को समझाते पुलिसकर्मी।- फोटो : Jind
 शिव चौक पर पुलिस चौकी के पास की एक दुकान के बाहर लगी ग्राहकों की भीड़।
शिव चौक पर पुलिस चौकी के पास की एक दुकान के बाहर लगी ग्राहकों की भीड़।- फोटो : Jind
... और पढ़ें

आंधी से जिले में गिरे दो सौ खंभे, बारिश से मंडियों में भीगा गेहूं

वीरवार रात को हुई बारिश की वजह से जुलाना सहित जिले के अन्य हिस्सों में बिजली गुल रही। बिजली निगम कार्यालय में लोगों ने 180 शिकायतें दर्ज करवाई। बारिश और तूफान के कारण जिले में दो सौ से अधिक बिजली के खंभे गिर गए। जिसकी वजह से बिजली निगम के कर्मचारियों को फाल्ट ठीक करने में दिनभर पसीना बहाना पड़ा। वहीं बारिश के कारण जुलाना अनाज मंडी में खुले में पड़ा 12 हजार क्विंटल गेहूं खराब हो गया। नरवाना में भी 33 केवी सब स्टेशन बंद रहा।
बारिश से जहां से एक तरफ क्षेत्र के लोगों को गर्मी से राहत मिली है, वहीं दूसरी तरफ तेज हवा और बारिश से जुलाना व आसपास के क्षेत्रों में बिजली के खंभे और ट्रांसफार्मर जमीन पर गिर गए, जिसकी वजह से बिजली बाधित रही। इसके अलावा जुलाना के 132 केवी सब स्टेशन पर तार पर पेड़ गिर गया जिससे बिजली बंद हो गई। एक समय तो पूरे क्षेत्र में ब्लैकआउट की स्थिति पैदा हो गई।
वहीं मंडी से उठान नहीं होने के कारण आढ़तियों का लगभग 12 हजार क्विंटल गेहूं खराब हो गया। जुलाना में गेहूं खरीद के लिए नौ खरीद केंद्र बनाए गए थे। मंडी में अब तक आठ लाख 49 हजार 777 क्विंटल गेहूं की खरीद हुई है। उठान सात लाख 61 हजार 688 क्विंटल का ही हो पाया है। उठान धीमा होने से मंडी में अब भी 88089 क्विंटल गेहूं पड़ा है। उठान नहीं होने की वजह से शेड के बाहर पड़े 700 क्विंटल गेहूं भीगने से खराब हो गए। गेहूं खराब होने से किसानों में प्रशासन के खिलाफ रोष बना हुआ है। गेहूं का काफी नुकसान आढ़तियों को उठाना पड़ रहा है। जुलाना में न्यू ग्रेन मार्केट में अब तक 44507 क्विंटल गेहूं, नई सब्जी मार्केट में 31548 क्विंटल, किलाजफरगढ़ खरीद केंद्र पर 3165 क्विंटल, शामलों कलां खरीद केंद्र पर 2327 क्विंटल, फतेहगढ़ में 6542 क्विंटल गेहूं अब भी पड़ा है, जबकि चार खरीद केंद्रों पर उठान का कार्य पूरा हो चुका है।
गांव लिजवाना खुर्द में राजकीय स्कूल की गिरी दीवार
वहीं दूसरी तरफ तेज आंधी से गांव लिजवाना खुर्द के राजकीय स्कूल में काफी संख्या में सफेदे के पेड़ गिर गए। इसके अलावा पेड़ गिरने के कारण ही स्कूल के एक तरफ की दीवार भी ढह गई। इसके अलावा गांव की सड़क के किनारे पर भी खड़े पेड़ गिरे हैं।
रामकली गांव में घर में गिरी बिजली, खराब हुए उपकरण
गांव रामकली में वीरवार रात को एक घर पर बिजली गिरने से जान माल का नुकसान तो नहीं हुआ, लेकिन के उपकरण खराब हो गए। गांव रामकली निवासी रमेश ने कहा कि बिजली गिरने से फिटिंग जल गई। इसके अलावा घर में रखा फ्रिज, पानी की मोटर, खराब हो गए। रमेश के घर के साथ लगते अनिल कुमार के घर में भी फ्रिज, इंटवर्टर और तीन एलईडी टीवी खराब हो गए।
कर्मचारियों को भेजकर समस्या का किया समाधान
वीरवार रात को हुई बारिश के कारण बिजली सप्लाई बाधित रही। तूफान के कारण बिजली के खंभे गिर गए, जिससे बिजली सप्लाई बाधित रही। जुलाना व नरवाना में सबसे ज्यादा परेशानी हुई। जिस भी क्षेत्र से बिजली सप्लाई बाधित होने की सूचना मिलती रही, कर्मचारियों को मौके पर भेजकर समस्या का समाधान किया गया।
श्यामबीर सैनी, एसई बिजली निगम जींद।
चल रहा है उठान कार्य
मंडी में गेहूं का उठान कार्य चल रहा है। जुलाना मंडी में इस बार गेहूं की आवक सबसे ज्यादा रही। साथ-साथ में उठान भी करवाया जा रहा है। कुछ गेहूं शेड के बाहर खुले में पड़ा था। बरसात आने के कारण गेहूं खराब हो गया।
देवेंद्र ढुल, मार्केट कमेटी सचिव मंडी जुलाना।
 बारिश के कारण जुलाना की एक गली में भरा पानी।
बारिश के कारण जुलाना की एक गली में भरा पानी।- फोटो : Jind
 आंधी आने की वजह से टूटे खंभे को देखता व्यक्ति।
आंधी आने की वजह से टूटे खंभे को देखता व्यक्ति।- फोटो : Jind
 आंधी आने वी वजह से गिरा ट्रांसफार्मर।
आंधी आने वी वजह से गिरा ट्रांसफार्मर।- फोटो : Jind
 जुलाना की अनाज मंडी में खुले में पड़ा खराब हुआ गेहूं।
जुलाना की अनाज मंडी में खुले में पड़ा खराब हुआ गेहूं।- फोटो : Jind
... और पढ़ें

कसुहन गांव के युवक को अमेरिका जाने की चाहत पड़ी भारी

गत दिनों अमेरिका से डिपोर्ट होकर आए प्रदेश के युवकों में से एक कसुहन गांव निवासी अमरजीत भी है। अमरजीत ने उचाना पुलिस को दी शिकायत में कहा कि एजेंट ने उसे एक नंबर में अमेरिका भेजने के नाम पर लाखों रुपये ले लिए, लेकिन उसे फर्जी तरीके से दो नंबर में पहुंचाया गया। करनाल जिले के कैमला गांव के सुरेंद्र ने अमेरिका भेजने के नाम पर उसके साथ धोखाधड़ी की। अमरजीत इन दिनों पंचकूला में है। 19 मई को अमेरिका से डिपोर्ट होकर पंचकूला 76 लोग आए थे। उचाना पुलिस ने अमरजीत की शिकायत पर सुरेंद्र के खिलाफ मामला दर्ज कर लिया है।
अमरजीत ने कहा कि उसके जीजा रमन कुरुक्षेत्र जिला के कमलापुर के रहने वाले हैं। उन्होेंने उसे अमेरिका भेजने के लिए करनाल के कैमला गांव के रहने वाले सुरेंद्र से 13 लाख रुपये में बात की। दो लाख रुपये विदेश भेजने वाले एजेंट सुरेंद्र को दे दिए थे, बाकी रुपये अमेरिका पहुंचने के बाद देने थे। 8 मई 2019 को सुरेंद्र के दो एजेंट उसे कार में बैठाकर दिल्ली एयरपोर्ट ले गए। एयरपोर्ट में एंट्री करवा कर टिकट देकर रात दो बजे उसे फ्लाइट में बैठा दिया, लेकिन गोहाटेमाला पहुंचे तो डोकर ने रुपये देने की बात की, जिस पर उसने व्हाटसएप कॉल करके उसके पिता से बात करके बाकी रुपये देने के लिए कहा।
अमरजीत ने कहा कि 15 लोगों का ग्रुप था, लेकिन इनमें से वह किसी को भी नहीं जानता था। एजेंट ने 500 डालर के अलावा टिकट व पासपोर्ट दिया था। 15 सितंबर 2019 को अमेरिका में एंट्री कर ली। जहां पर उसकी मुलाकात सावन व कपिल से हुई। तब से अब तक वे तीनों इकट्ठे ही हैं। जहां उन्हें बॉर्डर पुलिस ने पकड़ कर 14 सितंबर को कैलिफोर्निया के कलैक्सिको कैंप में भेज दिया था। 12 दिन बाद मिसीसिपी स्टेट में तलाची भेज दिया था। जहां पर दो महीने तक वह रहा फिर लुसियाना कोर्ट में वह तारीख पर गया। जहां पर वह दो महीने रहा। जज ने डिपोर्ट कर दिया। लुसियाना में ओला स्टेट में तीन महीने रहा। यहां से डिपोर्ट होकर टैक्सिस जेल में भेज दिया। जहां पर वह डेढ़ महीना रहा। अब वाइट पासपोर्ट पर अमृतसर 19 मई को भेज दिया। उसने कहा कि सुरेंद्र ने उसेे अमेरिका भेजने के नाम पर धोखाधड़ी की है। अवैध तरीके से विदेश भेजने वालों के बीच में फंसा दिया। जांच अधिकारी प्रदीप ने कहा कि पंचकूला से अमरजीत ने लिखित में शिकायत पुलिस को भेजी। अमरजीत की शिकायत पर सुरेंद्र के खिलाफ धोखाधड़ी, इमिग्रेशन एक्ट सहित कई धाराओं के तहत मामला दर्ज किया गया है।
... और पढ़ें

जुलाना में हुई 24 एमएम बारिश, 12 हजार क्विंटल गेहूं हुआ खराब

जुलाना और आसपास के क्षेत्र में वीरवार को 24 एमएम बारिश हुई। बारिश से गन्ने और कपास की फसल को तो फायदा हुआ, लेकिन मंडी में गेहूं का उठान नहीं होने से आढ़तियों का लगभग 12 हजार क्विंटल गेहूं खराब हो गया। जुलाना में गेहूं खरीद के लिए 9 केंद्र बनाए गए थे। मंडी में अब तक 8 लाख 49 हजार 777 क्विंटल गेहूं की खरीद हुई है। उठान 7 लाख 61 हजार 688 क्विंटल का ही हो पाया है। उठान धीमी गति से होने से मंडी में अब भी 88 हजार 89 क्विंटल गेहूं पड़ा है। उठान नहीं होने से लगभग 700 क्विंटल गेहूं शेड से बाहर पड़ा होने से खराब हो गया। गेहूं खराब होने से किसानों में प्रशासन के खिलाफ रोष बना हुआ है। आढ़तियों की मांग है कि मंडी में और शेड का निर्माण किया जाए। इसके अलावा मंडी में आढ़तियों को हुए नुकसान की भरपाई के लिए भी कोई प्रावधान होना चाहिए। ... और पढ़ें

सड़क पार कर रही महिला को ट्रक ने मारी टक्कर

जींद-रोहतक मार्ग पर जुलाना के पुराने बस स्टैंड पर ट्रक ने सड़क पार कर रही महिला को टक्कर मार दी। जिसमें महिला गंभीर रूप से घायल हो गई। महिला को जुलाना के सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र में दाखिल करवाया गया, जहां से गंभीर अवस्था को देखते हुए चिकित्सकों ने उसे रोहतक पीजीआई रेफर कर दिया। जुलाना पुलिस ने आरोपी ट्रक चालक के खिलाफ मामला दर्ज कर जांच शुरू कर दी है। लजवानां खुर्द निवासी पूनम (40) सामान लेने के लिए बाजार गई हुई थी। जब वह जुलाना के पुराने बस स्टैंड पर सड़क पार कर रही थी तो जींद की ओर से आ रहे ट्रक ने उसे टक्कर मार दी, जिससे उसकी टांग टूट गई। महिला को जुलाना के सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र ले जाया गया, जहां से चिकित्सा ने उसे रोहतक पीजीआई रेफर कर दिया। सूचना मिलते ही पुलिस मौके पर पहुंची और आरोपी चालक को काबू कर उसके खिलाफ मामला दर्ज कर जांच शुरू कर दी है। ... और पढ़ें
Election
  • Downloads

Follow Us