विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
महालक्ष्मी मंदिर, मुंबई में कराएं दिवाली लक्ष्मी पूजा : 27-अक्टूबर-2019
Astrology Services

महालक्ष्मी मंदिर, मुंबई में कराएं दिवाली लक्ष्मी पूजा : 27-अक्टूबर-2019

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

From nearby cities

पीएम मोदी आज हिसार और मोहाना में गरजेंगे तो सोनिया गांधी महेंद्रगढ़ में करेंगी पहली रैली

हरियाणा विधानसभा चुनाव में जमीन तैयार करने के लिए प्रमुख दलों के स्टार प्रचारक भी अब ताकत झोंकेंगे।

18 अक्टूबर 2019

विज्ञापन
विज्ञापन

रोहतक

शुक्रवार, 18 अक्टूबर 2019

रंजिश में युवक को चाकुओं से गोदा, फायर भी किया, गंभीर

रोहतक। शहर के नजदीकी गांव खरावड़ में आठ माह पुरानी रंजिश के चलते छह युवकों ने गांव के एक युवक धीरज को चाकुओं से तीन बार गोद दिया। इसके बाद भी मन नहीं भरा तो फायरिंग कर दी, लेकिन निशाना चूक जाने के कारण वह बच गया। उसे पीजीआई में दाखिल कराया गया। मामले की सूचना पाकर आईएमटी थाना पुलिस पीजीआई पहुंची, लेकिन देर रात तक मामला दर्ज नहीं हो सका था।
घायल धीरज का आरोप है कि गांव के कुछ युवक उसके घर के बाहर गाली गलौज करते थे, जिसके लिए उन्हें कई बार टोक दिया था। इसी बात को लेकर 8 माह पहले दो बार झगड़ा भी हुआ। झगड़े में पंचायती तौर पर राजीनामा भी हो गया। बावजूद इसके आरोपी उससे रंजिश रखे हुए थे।
मंगलवार शाम साढ़े सात बजे धीरज की पत्नी, बेटी और मां बाजार में सामान लेने गई हुई थी। छोटा भाई खेलने गया हुआ था। जबकि पिता बाहर थे। वह घर पर अकेला था। इसी दौरान आरोपी घर में घुस आए। आरोपियों के हाथों में धारदार हथियार सहित पिस्तौल थी। घर में घुसते ही उन्होंने दरवाजा बंद कर दिया और गाली-गलौज व मारपीट करनी शुरू कर दी। विरोध करने पर आरोपियों ने चाकू से उस पर हमला कर दिया। आरोपियों ने चाकू से दो बार कूल्हे और एक वार पैर पर वार किया। इसके अलावा भी उसके शरीर पर कई जगहों पर चाकू मारे। चिल्लाने पर आरोपियों ने पिस्तौल से उस पर फायर किया, लेकिन निशाना चूक जाने के कारण वह बच गया। आरोप है कि इसके बाद उसकी छाती पर पिस्तौल अड़ा दी, लेकिन ट्रिगर नहीं दबा। इस दौरान शोर सुनकर आसपास के लोगों की भीड़ जुटने लगी। यह देख आरोपी दरवाजा खोल कर जान से मारने की धमकी देते हुए फरार हो गए। स्थानीय निवासी व परिजनों ने उसे पीजीआई के ट्रॉमा सेंटर में दाखिल कराया। मामले की सूचना पाकर आईएमटी थाने से पुलिस मौके पर पहुंची, लेकिन देर रात तक बयान दर्ज नहीं हो सके थे।
अभी घायल के बयान नहीं लिए हैं। जैसे ही बयान दर्ज होंगे, तत्काल मामला दर्ज कर आगे की कार्रवाई की जाएगी।
- प्रमोद गौतम, आईएमटी थाना प्रभारी
... और पढ़ें

मुस्लिम बस्ती में लगे पोस्टर, डोर-बेल खराब है...कृपया मोदी-मोदी चिल्लाएं, हैरान कर देगी वजह

भारत की बेटियां धाकड़, शी जिनपिंग ने की तारीफ, पीएम मोदी बोले- सीना गर्व से चौड़ा हो गया

साल 2015 में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने पानीपत से बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओ अभियान की शुरुआत की थी। इससे हरियाणा में लिंगानुपात भी सुधरा है और साथ में बेटियों का मान-सम्मान भी बढ़ा है। घर से बाहर निकलने से डरने वाली बेटियां आज कुश्ती के दंगल से लेकर राजनीति के अखाड़े में लोहा मनवा रही हैं। 

इसी को देखते हुए प्रधानमंत्री ने बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओ अभियान को आगे बढ़ाने का आह्वान किया है। मंगलवार को प्रधानमंत्री चरखी-दादरी के गांव घसोला के समीप हुई चुनावी सभा में पहुंचे थे। यह चुनावी सभा भाजपा प्रत्याशी बबीता फौगाट के समर्थन में थी। यहां पर प्रधानमंत्री ने कहा कि हरियाणा में मारी छोरी छोरों से कम हैं के का नारा हरियाणा में अभियान बन गया है। 

अब तो दुनिया कहने को मजबूर है कि हिंदुस्तान की बेटियां धाकड़ हैं। चुनावी सभा में प्रधानमंत्री ने चीन के राष्ट्रपति का उदाहरण दिया कि शी जिनपिंग ने दंगल फिल्म देखकर भारत की बेटियों की तारीफ की है। प्रधानमंत्री ने कहा कि चीन के राष्ट्रपति से भारत की बेटियां की तारीफ सुनकर सीना गर्व से चौड़ा हो गया है। 

मोदी ने कहा कि हरियाणा के गांव अगर आगे नहीं आते तो बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओं मुहिम सफल नहीं होती। हिंदुस्तान की बेटियां धाकड़ हैं और आज हर क्षेत्र में अपने कौशल का लोहा मनवा रही हैं। उन्होंने कहा कि इस बार दो दीपावली एकसाथ मनाई जाएंगी जिनमें एक कमल की होगी तो दूसरी दीपों की। उन्होंने कहा कि दीपावली बेटियों के नाम होनी चाहिए।
... और पढ़ें

हुड्डा 370 पर कांग्रेस का स्टैंड बनाए : रविशंकर

प्रदेश के पूर्व सीएम भूपेंद्र सिंह हुड्डा जनता को बताएं कांग्रेस ने 70 साल में अनुच्छेद 370 को क्या नहीं हटाया। संसद में उनकी कांग्रेस पार्टी का क्या स्टैंड रहा, क्या वे कांग्रेस से अलग हैं। वोट हासिल करने के लिए हुड्डा ने रैली में अनुच्छेद हटाने का समर्थन तो कर दिया, लेकिन अपनी पार्टी का स्टैंड लोगों को नहीं बता रहे। यह कहना है केंद्रीय कानून एवं न्याय मंत्री रवि शंकर प्रसाद का। वे वीरवार को रोहतक में मीडिया से बातचीत कर रहे थे।
उन्होंने कहा कि वे महाराष्ट्र में चुनाव प्रचार करके अब रोहतक आए हैं। कांग्रेस के राष्ट्रीय प्रवक्ता कह रहे हैं कि चुनाव में अनुच्छेद 370 कोई मुद्दा नहीं है। कांग्रेसी बताएं क्या हरियाणा के लोगों के लिए राष्ट्र की सुरक्षा, एकता व अखंडता कोई मायने नहीं रखती। जबकि सेना में 10 प्रतिशत जवान हरियाणा से हैं। प्रदेश के जवानों ने आतंकवाद से लड़ने हुए सबसे ज्यादा शहादत दी है। फिर भी पूर्व सीएम भूपेंद्र हुड्डा कह रहे हैं कि चुनाव में यह मुद्दा नहीं है।
उन्होंने कहा कि पूर्व सीएम पर सवाल दागते हुए कहा, कि हुड्डा बताएं कि क्या वे जनता को परिवार और भ्रष्टाचार में डूबा हरियाणा देना चाहते हैं। हुड्डा ने मानेसर में 1500 करोड़ रुपये की जमीन 100 करोड़ में खरीद अपने फेवरेट रियल एस्टेट व्यापारी को दे दी। गुरुग्राम में भी ऐसा ही हुआ, जमीन अधिगृहीत की 15 फर्मों को दे दी। अब हुड्डा कोर्ट के चक्कर लगा रहे हैं। हुड्डा ने बड़े परिवार के दामाद को संपत्ति दिलाने का काम किया। हुड्डा के आशीर्वाद से 25-25 लाख रुपये लगाओ और कंपनी का 700 करोड़ का टर्नओवर पाओ। ऐेसे चलती थी पहली सरकारें। उन्होंने कहा कि हुड्डा यह भी बता दें कि कांग्रेस ने सरदार पटेल की अनदेखी क्यों की। पटेल के निधन के बाद उन्हें भारत रत्न दिया गया। उस दौरान जितनी भी रियासतों को सरदार पटेल ने संभाला उनमें से किसी पर कोई विवाद नहीं, लेकिन जम्मू-कश्मीर की रियासत नेहरू के जिम्मे थी विवाद आज तक बना हुआ था।
बेरोजगारी के सवाल पर रवि शंकर ने कहा कि ईपीएफ में 2.54 करोड़ लोग नए जुडे हैं, क्या ये बेरोजगारी है। जो भी देश में बेरोजगारी बता रहा है, उसके पास गलत आंकड़े हैं। मुद्रा लोन योजना के तहत युवाओं को रोजगार शुरू करने के लिए लोन दिए हैं। केंद्रीय मंत्री रवि शंकर ने कहा कि आईटी क्षेत्र में हरियाणा आगे बढ़ रहा है। गुरुग्राम आई क्षेत्र का सपोर्ट बना हुआ है। पंचकुला में बीपीओ विस्तार कर रहा है। उमंग एप में एक हजार सेवाएं एक क्लिक पर सामने आती है। फिलहाल 490 सर्विस हैं जो ऑनलाइन हैं।
... और पढ़ें
हुडा काम्पलेक्स स्थित भाजपा कार्यालय में वीरवार  को पत्रकारो से वार्ता करते केंद्रीय मंत्री रवि हुडा काम्पलेक्स स्थित भाजपा कार्यालय में वीरवार को पत्रकारो से वार्ता करते केंद्रीय मंत्री रवि

करंट से झुलसे बंदर देख जगी थी पशु प्रेम की भावना

जो अपना दर्द बता नहीं सकते और जिनका कोई नहीं होता, ऐसे पशु पक्षियों को उठाकर उनकी मलहम-पट्टी करके नई जिंदगी देने का काम शहर के कारोबारी और प्रमुख लोग कर रहे हैं। कुत्ता, बंदर, गोवंशीय पशुओं के अलावा मोर कबूतर सहित करीब दो हजार से अधिक पशु पक्षियों का इलाज दिल्ली रोड पर बने संस्था के कार्यालय पर चल रहा है।
लावारिस पीड़ित पशु सेवा संघ के प्रधान जगदीश मलिक बताते हैं कि 2007 में भरत कॉलोनी में करंट से झुलसे बंदर की हालत देख उन्होंने पशुओं की सेवा करने की ठान ली। कॉलोनी के युवाओं और बुजुर्गों ने साथ दिया और यह संस्था बन गई। तब से कहीं भी किसी पशु के घायल होने पर उसे उठाकर संस्थान में लाकर उसका इलाज किया जाता है। साथ ही उनके चारे आदि की व्यवस्था की जा रही है। आलम यह है कि किसी गोवंश की टांग काटी जा चुकी हे तो दो बंदर करंट की चपेट में आकर अपनी जान गवां चुके हैं। इसी तरह सड़क हादसों में घायल कुत्तों का इलाज पशु विशेषज्ञ चिकित्सक कर रहे हैं। पशुओं के लिए दवाइयों और चारे का इंतजाम समाज के लोग करते हैं।
पशु सेवा में जुटे हैं ये लोग
प्रॉपर्टी कारोबारी वीरेंद्र राठी, रोडवेज कर्मचारी नरेंद्र अहलावत, कपड़ा कारोबारी संजय बंसल, पुलिस उपनिरीक्षक से सेवानिवृत्त ओमप्रकाश नांदल, रेडीमेड कारोबारी सन्नी मलिक, परवीन मल्हारा नीटू, प्रेम कुमार, कर्मवीर, सत्या मलिक, तस्वीर हुडा, महेंद्र दलाल।
पशु चिकित्सा में लगी है टीम
पशुओं के इलाज और उनके चारे की व्यवस्था में करीब 90 कर्मचारी लगे हैं। संस्था के पास तीन एंबुलेंस हैं, जो घायल पशु की सूचना पर उसे लादकर लाती हैं। वेटनरी सर्जन डॉ. धर्मपाल शर्मा और उनके पांच सहयोगी पशुओं का इलाज करते हैं।
संस्था पर आकर पशु सेवा करें, किसी को चंदा न दें
संस्था के प्रधान जगदीश मलिक कहते हैं कि संस्था से कोई भी कहीं चंदा लेने नहीं जाता है। पशु प्रेमी खुद आते हैं और पशुओं के लिए मदद देते हैं। खुद सेवा भी करते हैं। यदि कभी कोई संस्था के लिए दान मांगने जाए तो इसकी सूचना उन्हें दें ताकि ऐसे फर्जी लोगों पर कार्रवाई कराई जा सके।
... और पढ़ें

पप्पू, गप्पू और चप्पू के झांसे में नहीं आएगी जनता

सीएम मनोहर लाल ने कहा कि पहले हुड्डा अपने ऊपर लगे आरोपों पर कहते थे कि मेरे खिलाफ कोई भी जांच करवा लें, मैं हर जांच के लिए तैयार हूं। जब जांच चली तो कोर्ट में वकीलों को कहते फिरते हैं कि इस मामले को रोको। साफ इशारों में सीएम ने कहा कि ‘अब नहीं चलेगा कोई खेल, तुम्हारा इंतजार कर रही है जेल’। वे वीरवार को गढ़ी सांपला-किलोई हलके से भाजपा प्रत्याशी सतीश नांदल की ओर से सांपला में आयोजित जनसभा को संबोधित कर रहे थे।
सीएम ने कहा कि भ्रष्टाचार को मिटाने का संकल्प आज कामयाब होता नजर रहा है। जिन लोगों ने भ्रष्टाचार किया है, उनसे एक-एक रुपया निकलवाकर रहेंगे, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा था कि न खाऊंगा और न खाने दूंगा, हमने इस नारे में एक बात और जोड़ दी, न खाएंगे, न खाने देंगे और गलत ढंग से खाया है, उसे भी निकाल लेंगे। सीएम ने कहा कि हुड्डा ने प्रदेश में 10 साल राज किया, लेकिन कभी भी पूरे प्रदेश को अपना नहीं समझा। उस समय विकास केवल उन हलकों में हुआ जहां उनकी पार्टी के विधायक थे, लेकिन भाजपा सरकार ने सभी 90 हलकों में बिना भेदभाव विकास कार्य करवाए हैं। हर हलके के लिए 5-5 करोड़ रुपये की ग्रांट जारी की।
हुड्डा कहते थे हलके में नहीं आएंगे, अब गांव-गांव घूम रहे
सीएम ने कहा कि प्रदेश में कई सीटों को हॉट सीट बताया जा रहा है। एक सीट करनाल भी बताई गई, जहां विपक्षी कह रहे हैं कि पर्चा भरने के बाद सीएम वहां गए ही नहीं। उन्होंने कहा कि मैं विपक्ष के लोगों को बता देना चाहता हूं कि म्हारे कार्यकर्ता वहां स्वयं मनोहर लाल बनकर काम कर रहे हैं। गढ़ी सांपला-किलोई की सीट भी हॉट है। इशारों में सीएम ने कहा कि, पहले पूर्व सीएम हुड्डा कहते थे कि उनको हलके में जाने की जरूरत नहीं। अब पता चला है कि वे भी 5 या 6 गांवों में जा रहे हैं। उनका बेटा भी रोज गांवों में घूम रहा है, क्योंकि उसको पता है कि इस बार उसका मुकाबला सतीश नांदल और भाजपा से है। सीएम ने कहा कि अब हलके की जनता को तय करना है कि वे भ्रष्टाचार का समर्थन करते हैं या विरोध। उन्होंने कहा कि अगर गढ़ी सांपला-किलोई की जनता भूपेन्द्र सिंह हुड्डा को हराती है तो पूरे देश में यह मैसेज जाएगा कि इस बार किलोई की जनता ने भ्रष्टाचार मिटाने का संकल्प ले लिया है। इस मौके पर राज्यसभा सांसद बीरेंद्र सिंह व सांसद अरविंद शर्मा भी मौजूद रहे। बीरेंद्र सिंह ने कहा कि अब हुड्डा में कुछ नहीं बचा है। उनके सामने सतीश नांदल बड़े पहलवान हैं, जो सर छोटूराम की विरासत को आगे बढ़ा रहे हैं।
... और पढ़ें

खरावड़ में ढाई साल का बच्चा ड्रम में डूबा

दिल्ली रोड स्थित खरावड़ गांव में ढाई साल के मासूम की करीब दो फीट पानी से भरे ड्रम में डूबने से मौत हो गई। घटना का पता लगने पर परिजन उसे नजदीक के एक निजी अस्पताल दाखिल कराया, जहां डॉक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया। सूचना मिलते ही खरावड़ चौकी पुलिस मौके पर पहुंची और शव को पीजीआई डेड हाउस में रखवा दिया। वीरवार को परिजनों के बयान पर पुलिस ने धारा 174 के तहत कार्रवाई करते हुए पोस्टमार्टम करवा कर शव परिजनों का सौंप दिया गया। घटना के समय उसकी मां दिवाली के लिए बनाए मिट्टी के दीये देने के लिए किसी के घर गई हुई थी।
दादा कमरे में बना रहा था दीये, कब बच्चा बाथरूम में पहुंच गया, नहीं लगा पता
मासूम के पिता सतीश ने बताया कि खुद एक निजी कंपनी में फाइनेंस का काम करता है। उसकेपरिवार में दो बेटे और उसकी पत्नी है। बुधवार को वह काम पर गया हुआ था। पत्नी पिंकी, मां ओमवती के साथ दीये देने के लिए नजदीक किसी के घर गई थी। घर पर दादा गणपत सिंह थे। वह एक अलग कमरे में बैठकर दीये बना रहे थे। सतीश का ढाई साल का बेटा मोहित अपने साढ़े तीन वर्षीय बड़े भाई अक्षित के साथ घर पर खेल रहा था। इसी वक्त मोहित बाथरूम में रखे पानी के ड्रम से पटरी पर खड़ा होकर ड्रम से बोतल में पानी भरने लगा। इसी दौरान मोहित संतुलन बिगड़ने से दो फीट के ड्रम में मुंह के बल गिया। अक्षित खेलता-खेलता दादा के कमरे में पहुंचा, तो दादा ने पूछा कि मोहित कहां है, बड़ी देर से दिखाई नहीं दे रहा। तो अक्षित ने अपने दादा को मोहित के ड्रम में डूबने के बारे में बताया। ये सुनते ही दादा तुरंत दौड़कर बाथरूम में पहुंचे और नजदीक रह रहे मोहित के ताऊ अनिल को घर बुलाया। इसके बाद दोनों उसे नजदीक एक निजी अस्पताल ले गए, जहां चिकित्सकों ने उसे मृत घोषित कर दिया।
दिवाली के लिए दीये देने गई थी मां, पीछे से बुझ गया घर का चिराग
अमन वर्मा
रोहतक। रोती-बिखलती मां पिंकी ने बताया कि हर साल की तरह इस साल भी दिवाली पर घर पर मिट्टी के दीये बनाए थे। वह मिट्टी के दीये घर-घर जाकर बेचती है। बुधवार दोपहर को वह दीये लेकर नजदीक ही किसी के घर पर देने गई थी। कुछ देर बाद लौटी तो पता लगा कि मोहित पानी में डूब गया था, जिसे ससुर और ताऊ एक अस्पताल लेकर गए है। मां दौड़ती हुई अस्पताल पहुंची तो वहां मासूम की मौत की खबर मिली। खबर सुनते ही मां रोती-बिखलती बोली की मैं दिवाली के लिए बनाए दीये देने के लिए दूसरों के घर गई थी। मुझे क्या पता था कि मेरे खुद के घर का चुराग बुझ जाएगा।
साथ खेलने वाला भाई नहीं दिखा, तो दिनभर उदास रहा बड़ा भाई
मोहित का साढ़े तीन साल का बड़ा भाई अक्षित है। दादा-दादी ने बताया कि दोनों भाई दिनभर घर के आंगन में इधर-उधर दौड़ते रहते थे। दिनभर शरारत करते थे। कभी मोहित तो कभी अक्षित बारी-बारी बने हुए दीये तोड़ देते थे। डांटने पर दोनों भाई नाराज होने की भी एक्टिंग करते थे। बुधवार को हुई घटना के बाद, वीरवार को जब साथ खेलने वाला छोटा भाई मोहित नहीं दिखा, तो अक्षित उदास हो गया। जब भी उसका खेलने का मन होता, तो मां से मोहित के बारे में पूछता, लेकिन अकेला खेलते हुए वो बहुत ही उदास हो गया और देर रात को सोने वाला अक्षित इसी उदासी के साथ शाम को जल्दी ही सो गया था।
ताकि और न हो ऐसी दर्दनाक घटना, बरतें सावधानियां
जो हादसा मोहित के साथ हुआ, ऐसा पहले भी कई बच्चों के साथ हो चुका है लेकिन इससे शायद ही किसी ने नसीहत ली है। थोड़ी सी लापरवाही आपके बच्चे को सदा के लिए आपसे अलग न कर दे, इसलिए थोड़ी सावधानी बरतें। छोटे बच्चों को कभी भी अकेला छोड़कर न जाएं। घर में पानी से भरे जितने भी बर्तन हैं, उन्हें बच्चों की पहुंच से दूर रखें। हो सके तो उन्हें अच्छी तरह से बंद करके रखें। जरूरत न होने पर पानी के बर्तन खाली करके उलटा करके रख दें। अगर कुछ सावधानी बरती जाए तो आपकी खुशियां और बढ़ेंगी।
... और पढ़ें

रविशंकर प्रसाद, सीएम मनोहर और जयराम ठाकुर कांग्रेस पर बरसे, अनुच्छेद 370 पर जमकर घेरा

शुक्रवार को प्रदेश के कई स्थानों पर भाजपा के दिग्गज नेताओं ने पार्टी के पक्ष में रैली की। इसी क्रम में केंद्रीय कानून एवं न्याय मंत्री रवि शंकर प्रसाद ने रोहतक में जनसभा की। उन्होंने कहा कि प्रदेश के पूर्व सीएम भूपेंद्र सिंह हुड्डा जनता को बताएं कांग्रेस ने 70 साल में अनुच्छेद 370 को क्यों नहीं हटाया। संसद में उनकी कांग्रेस पार्टी का क्या स्टैंड रहा, क्या वे कांग्रेस से अलग हैं।

वोट हासिल करने के लिए हुड्डा ने रैली में अनुच्छेद हटाने का समर्थन तो कर दिया लेकिन अपनी पार्टी का स्टैंड लोगों को नहीं बता रहे। वे गुरुवार को रोहतक में मीडिया से बातचीत कर रहे थे। उन्होंने कहा कि वे महाराष्ट्र में चुनाव प्रचार करके अब रोहतक आए हैं। कांग्रेस के राष्ट्रीय प्रवक्ता कह रहे हैं कि चुनाव में अनुच्छेद 370 कोई मुद्दा नहीं है। कांग्रेसी बताएं क्या हरियाणा के लोगों के लिए राष्ट्र की सुरक्षा, एकता व अखंडता कोई मायने नहीं रखती। जबकि सेना में 10 प्रतिशत जवान हरियाणा से हैं।

प्रदेश के जवानों ने आतंकवाद से लड़ते हुए सबसे ज्यादा शहादत दी है। फिर भी पूर्व सीएम भूपेंद्र हुड्डा कह रहे हैं कि चुनाव में यह मुद्दा नहीं है। उन्होंने पूर्व सीएम पर सवाल दागते हुए कहा कि हुड्डा बताएं कि क्या वे जनता को परिवार और भ्रष्टाचार में डूबा हरियाणा देना चाहते हैं। हुड्डा ने मानेसर में 1500 करोड़ रुपये की जमीन 100 करोड़ में खरीद अपने फेवरेट रियल एस्टेट व्यापारी को दे दी। 
... और पढ़ें

जहरीली हुई हरियाणा के 13 शहरों की आबोहवा, सिरसा देश में सबसे ज्यादा प्रदूषित शहर

हरियाणा में चार अक्तूबर के बाद से शुष्क चल रहा मौसम शुक्रवार को करवट लेने वाला है। इससे पहले देश के 108 शहरों में सिरसा की हवा सबसे अधिक प्रदूषित पाई गई। सिरसा में सूचकांक मूल्य बीते 24 घंटे में 21 अंक बढ़कर 342 दर्ज किया। बताया जा रहा है कि औद्योगिक प्रदूषण के अलावा पराली के धुएं और सर्द-शुष्क मौसम से भी हरियाणा के 13 शहरों की हवा बद से बदतर हो गई है।  

केंद्रीय प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड की ओर से शाम चार बजे जारी वायु गुणवत्ता सूचकांक में दिल्ली में जहां प्रदूषक तत्व पीएम 2.5 की मात्रा 284 पाई गई। वहीं सिरसा में देश में सर्वाधिक 342 दर्ज की गई। सिरसा की हवा बेहद खराब तो प्रदेश के 12 जिलों की हवा खराब श्रेणी में पाई गई। राहत की बात यह है कि करनाल और यमुनानगर में वायु प्रदूषण का स्तर पहले से घटा है। हालांकि दिवाली पर पटाखे चलने के बाद हवा की गुणवत्ता और खराब होने की आशंका है। 

मानसून के विदा होने के बाद पहली बार पश्चिमी विक्षोभ के सक्रिय होने की संभावना है। इसके चलते 18 अक्तूबर को अंबाला समेत प्रदेश के उत्तरी जिलों और उनके आसपास के इलाकों में कहीं-कहीं गरज-चमक के साथ हल्की बारिश हो सकती है। तेज हवाओं के साथ होने वाली बारिश वायु प्रदूषण से राहत दे सकती है।
... और पढ़ें

फर्नीचर हाउस संचालक का अपहरण, लाठी-डंडों से तोड़े हाथ-पैर, नाखून उखाड़ा

रोहतक। देर शाम साढ़े सात बजे शहर के भगवती चौक पर खड़े फर्नीचर हाउस संचालक का कार सवार बदमाश अपहरण कर ले गए। इसके बाद करीब 25 युवकों ने खेतों में उसे लाठी-डंडों से पीटा। आरोप है बदमाशों ने उसके एक पैर का नाखून उखाड़ दिया और हाथ-पैर तोड़ दिए। इसके बाद बदमाश उसे वहीं छोड़कर फरार हो गए। आसपास के लोगों ने घायल को ट्रामा सेंटर पहुंचाया। सूचना मिलने पर शिवाजी कॉलोनी थाना पुलिस ने मौके पर पहुंच घायल के बयान दर्ज कर आरोपियों की तलाश शुरू कर दी है। मामला पैसों के लेन-देन से जुड़ा है।
पुलिस को दी शिकायत में प्रीत विहार कॉलोनी निवासी सुरेश जांगड़ा उर्फ शशि ने बताया कि वह फर्नीचर हाउस का मालिक है। उसके भाई संजय ने आरोपी फाइनेंसर भूपेंद्र उर्फ भूप्पी निवासी कन्हेली से तीन महीने पहले 15 हजार रुपये लिए थे। संजय ने फाइनेंसर को 25 हजार रुपये लौटा दिए, इसके बाद भी फाइनेंसर 40 हजार रुपये और मांग रहा था। पांच अक्तूबर को फाइनेंसर ने संजय के फोन न उठाने पर उसे फोन कर रुपये देने को कहा था। इस दौरान दोनों में कहासुनी हो गई थी। इसके बाद फाइनेंसर ने उसके घर आकर जान से मारने की धमकी थी, जिसकी शिकायत उन्होंने शिवाजी कॉलोनी थाने में थी। हालांकि पुलिस ने केस दर्ज नहीं किया था। बुधवार शाम 7ऱ्30 बजे वह और शिव कॉलोनी निवासी अनिल भगवती चौक रोहतक पर खड़े थे। इसी दौरान वहां फाइनेंसर भूपेंद्र आया और फोन करके करीब 25 युवकों को और बुला लिया। इसके बाद आरोपियों ने उसके साथ मारपीट शुरू कर दी। बाद में आरोपियों ने उसे सफेद रंग की कार में डाल लिया और एकता कॉलोनी के पास खेतों में ले गए। वहां सभी आरोपियों ने मिलकर उसको लाठी-डंडों से पीटना शुरू कर दिया। उसके पैर का नाखून उखाड़ दिया और हाथ पैर तोड़ दिए। इस दौरान उसका शोर सुनकर आसपास के लोग इकट्ठे हो गए, जिसके बाद आरोपी वहां से फरार हो गए। बाद में लोगों ने उसे ट्रामा सेंटर पहुंचाया।
दोपहर में भी दी थी धमकी
सुरेश ने बताया कि बुधवार दोपहर को वह मिस्त्री प्रदीप के साथ एकता कॉलोनी में बिट्टू की दुकान के पास खड़ा था। इसी दौरान वहां आरोपी भूपेंद्र आया और जान से मारने की धमकी दी। मामला बढ़ता देख सुरेश वहां से अपनी बाइक पर फरार हो गया।
घायल सुरेश के बयान पर अपहरण, मारपीट सहित अन्य धाराओं के तहत केस दर्ज कर लिया है। मामले की जांच की जा रही है। जांच में जो सामने आएगा उसी के आधार पर कार्रवाई की जाएगी।
-दिलबाग, थाना प्रभारी, शिवाजी कॉलोनी,
... और पढ़ें

टेस्ट में नंबर कम आने की वजह मानसिक तौर पर परेशान था छात्रा

रोहतक। सोनीपत रोड स्थित निजी गर्ल्स हॉस्टल की तीसरी मंजिल की छत से छलांग लगाने वाली छात्रा की बुधवार सुबह को निजी अस्पताल में मौत हो गई। पुलिस के अनुसार छात्रा निजी इंस्टीट्यूट से नीट की तैयारी कर रही थी। टेस्ट में नंबर कम आने से परेशान होकर छात्रा होकर छात्रा ने यह कदम उठाया। वहीं अर्बन एस्टेट थाना पुलिस ने परिजनों के बयानों पर धारा 174 के तहत कार्रवाई करते हुए पोस्टमार्टम करवा कर शव परिजनों का सौंप दिया।
गोहाना की रहने वाली 19 वर्षीय छात्रा छह माह से शहर के एक निजी इंस्टीट्यूट से नीट की तैयारी कर रही थी। पुलिस को दिए बयान में पिता ने बताया कि छह माह में उसकी बेटी ने दो बार टेस्ट दिए। दोनों ही बार उसके नंबर कम आए थे। शनिवार को एक और टेस्ट हुआ था, जिसकी सोमवार को आंसर की आई थी। उसके हिसाब से भी उसके नंबर कम थे। बेटी ने घर पर फोन कर इस बारे में बताया, तो पिता ने उसे अच्छे से तैयारी करने की बात कही थी। इसके बाद मंगलवार रात को वह हॉस्टल में खाना खाना के बाद छत पर चली गई और वहां जाकर करीब 50 फीट से नीचे छलांग लगा ली। नीचे गिरने पर रक्त रिसाव नहीं हुआ और सिर के अंदर खून का थक्का जम गया। उसे इलाज के लिए पीजीआई ले जाया गया, जहां प्राथमिक उपचार देने के बाद परिजनों ने उसे एक निजी अस्पताल में भर्ती करवाया। यहां इलाज के दौरान उसकी मौत हो गई। छात्रा के परिजनों का रो-रोकर बुरा हाल है।
नंबर कम आने की वजह से छात्रा मानसिक तौर पर परेशान थी। पिता ने अच्छे से तैयारी करने की हिदायत दी थी। इससे वह ज्यादा परेशान हो गई और इसके चलते छत से कूदकर जान दे दी। पिता के बयान पर 174 की कार्रवाई कर पोस्टमार्टम करवा कर शव परिजनों को सौंप दिया गया। - बलवंत सिंह, अर्बन एस्टेट थाना प्रभारी।
जल्द परेशान हो जाते हैं बच्चे, अभिभावक दें साथ : डॉ. राजीव गुप्ता
पीजीआईएमएस रोहतक के मनोरोग विशेषज्ञ डॉ. राजीव गुप्ता ने कहा कि पास-फेल होना किसी भी विद्यार्थी के जीवन का अहम हिस्सा है। ऐसे में उनके परिवार वालों को सकारात्मक रोल अदा करने का समय होता है। बच्चे बहुत जल्दी मानसिक तौर पर परेशान हो जाते हैं और विद्यार्थी जीवन में अक्सर ऐसा हो ही जाता है। परिवार वालों को भी बच्चों पर जरूरत से ज्यादा दबाव नहीं बनाना चाहिए। बल्कि बताना चाहिए कि वे उसके साथ हैं।
... और पढ़ें

बेकरी संचालक 50 प्रतिशत कम सेल दिखा कर रहा था जीएसटी की चोरी

रोहतक। दिल्ली रोड स्थित एक बेकरी संचालक की फर्म पर सेंट्रल जीएसटी टीम ने छापा मार साढ़े 7 लाख रुपये के टैक्स की चोरी पकड़ने का दावा किया है। विभाग की ओर से फर्म संचालक को टैक्स की राशि के अलावा ब्याज व जुर्माना जोड़कर साढ़े नौ लाख रुपये जमा कराने का नोटिस दिया है। इसमें से संचालक ने दो लाख रुपये जमा करवा दिए हैं।
सेंट्रल जीएसटी के अधिकारियों के मुताबिक टीम को सूचना मिली थी कि बेकरी फर्म की ओर से टैक्स चोरी किया जा रहा है। टीम ने करीब डेढ़ महीने तक बेकरी पर नजर बनाए रखी। मंगलवार को टीम ने फर्म संचालक के घर, गोदाम व शोरूम पर छापामारी की। इस दौरान पता चला कि बेकरी फर्म का जुलाई 2017 में रजिस्ट्रेशन कं पोजिट कैटेगिरी में कराया गया था। वहीं फर्म का टर्न ओवर फरवरी महीने से इस कैटेगरी से बाहर था। संचालक की ओर से 50 प्रतिशत कम सेल दिखाई जा रही थी। जिस पर अब तक का टैक्स सात लाख रुपये बनता है। टीम ने उस पर ब्याज व जुर्माना जोड़कर संचालक को साढ़े नौ लाख रुपये का नोटिस दिया था।
ऐसे हो रही थी टैक्स चोरी
संचालक की ओर से फर्म का रजिस्ट्रेशन कंपोजिट श्रेणी में कराया गया था, जिसमें एक करोड़ से कम टर्न ओवर होने पर टैक्स एक प्रतिशत लिया जाता है। 1 करोड़ से ज्यादा का टर्न ओवर होने पर अलग-अलग सामान पर 5 से 18 प्रतिशत जीएसटी लगता है।
इनकम टैक्स बचाने के लिए दिखाई जाती है कम सेल
जीएसटी अधिकारी का कहना है कि जिन फर्मों की ओर सेल कम दिखाई जाती है उसके पीछे मकसद टैक्स से बचना होता है। कारोबारी कम सेल दिखा कर कम जीएसटी देना चाहते हैं। कारोबाजी जैसे ही जीएसटी देंगे उसी हिसाब से उनको आयकर का ब्योरा देना पड़ता है। उससे बचने की फिराक में सेंट्रल जीएसटी की चोरी करते हैं।
यह है कंपोजिट कैटेगिरी
अधिकारियों के मुताबिक सेंट्रल जीएसटी की श्रेणी में ऐसी फर्म आती है, जिनका साल भर का कारोबार एक करोड़ से कम होता है। इस श्रेणी में रजिस्ट्रेशन लेने वाले को उत्पाद पर एक प्रतिशत का सेंट्रल जीएसटी टैक्स जमा करना होता है। जबकि एक करोड़ से ज्यादा के टर्नओवर वाले कारोबारियों को 5 से 18 प्रतिशत जीएसटी टैक्स अलग-अलग उत्पादों पर अलग-अलग देना पड़ता है।
चाट कारोबारी पर 20 लाख रुपये का लग चुका है जुर्माना
सेेंट्रल जीएसटी की ओर से छह अक्तूबर को दिल्ली रोड पर एक चाट भंडार पर छापेमारी की थी। विभाग की ओर से 20 लाख रुपये भरने का नोटिस जारी किया गया था।
शहर की रजिस्टर्ड 35 से अधिक फर्म 50 प्रतिशत कम दिखा रहीं सेल
जीएसटी अधिकारियों का कहना है कि शहर की 35 ऐसी दुकान व संस्थान हैं। जिनकी ओर से सेल 50 प्रतिशत कम दिखाई जा रही है। विभाग ने इन फार्मों की छानबीन पूरी कर ली है। विभाग कभी भी इन फर्मों पर छापेमारी कर सकता है। संचालक खुद आकर विभाग में अपना टैक्स जमा कर देते हैं तो उनको ब्याज व जुर्माने से निजात मिल जाएगी।
बेकरी संचालक की ओर से सेल दिखाने में चोरी की गई है। छानबीन के बाद साढ़े नौ लाख रुपये जमा कराने के लिए नोटिस दिया गया है। इसके साथ ही संचालक की ओर से 2 लाख रुपया जमा कराया गया है।
- विजय मोहन जैन, आयुक्त, सेंट्रल जीएसटी रोहतक।
... और पढ़ें

वर्ल्ड बॉक्सिंग चैंपियनशिप में रजत जीतकर लौटी मंजू का जोरदार स्वागत

रोहतक। अपनी पहली ही वर्ल्ड बॉक्सिंग चैंपियनशिप में रजत पदक जीतकर इतिहास बनाने वाली गांव रिठाल की मंजू का बुधवार को रोहतक पहुंचने पर जोरदार स्वागत किया गया। सबसे पहले मंजू ने गांव के तालाब किनारे बॉक्सिंग रिंग में जाकर माथा टेका। इसके बाद मंजू अपने घर पर पहुंची, जहां मां ईशवंती ने आरती उतारकर बेटी का स्वागत किया।
तीन से 13 अक्तूबर तक रूस के उलान उदे शहर में हुई वर्ल्ड बॉक्सिंग चैंपियनशिप में जिले के रिठाल की 19 वर्षीय बॉक्सर मंजू ने 48 किलो भारवर्ग में देश का प्रतिनिधित्व किया। पहली बार वर्ल्ड चैंपियनशिप जैसी स्पर्धा खेल रही मंजू ने रजत पदक जीतकर बॉक्सर मैरीकॉम के रिकार्ड की बराबरी कर ली। मंजू का स्वदेश लौटने के बाद बुधवार सुबह तिलियार झील पर स्वागत किया गया। यहां से सुबह साढ़े 11 बजे मंजू को फूलों व नोटों की माला पहनाकर खुली जीप में बैठाकर पहले कोच साहब सिंह के घर ले जाया गया। यहां पर मंजू की आरती उतारकर स्वागत किया गया। इसके बाद मंजू को खुली जीप में गांव ले जाया गया। शाम साढ़े पांच बजे घर पहुंचने पर सबसे पहले मंजू ने गांव के तालाब किनारे अपने बॉक्सिंग रिंग पर माथा टेका।
क्वार्टर फाइनल जीतते ही लगा, बदल गई है जिंदगी : मंजू
मंजू ने बताया कि चैंपियनशिप में जब उसका मुकाबला उनके भारवर्ग की नंबर वन बॉक्सर के साथ तो वह नर्वस थी। उसने कोच साहब सिंह व परिवार के सदस्यों से बात की। इसके बाद मुझे हौसला मिला। क्वार्टर फाइनल मुकाबले जीतते ही मुझे लगा कि अब से मेरी जिंदगी बदल गई है। इसके बाद मुझे लगा कि अब मैं गोल्ड पक्का जीतूंगी, लेकिन चैंपियनशिप में रजत पदक ही जीत पाई। मंजू ने बताया कि जब एशियन बॉक्सिंग चैंपियनशिप की ट्रायल के बाद भारतीय टीम में मेरा चयन नहीं हुआ तो मैं निराश हो गई थी। इस दौरान कोच साहब सिंह ने हौसला बढ़ाया। पिता का देहांत हुआ तक उसके परिवार के हालात बिगड़ गए थे। उस समय भी कोच साहब सिंह ही परिवार का सहारा बने।
गांव के तालाब किनारे बने रिंग में तैयारी कर अंतरराष्ट्रीय स्तर पर पहुंची मंजू
मंजू ने गांव के तालाब किनारे बनाए गए रिंग में 2012 के आसपास तैयारी शुरू की थी। उस दौरान कोच साहब सिंह बिना सुविधाओं के खिलाड़ियों को वहां कोचिंग दे रहे थे। इसके बाद कोच रोहतक शहर में रहने थे। यहां भी उन्होंने मंजू समेत अन्य खिलाड़ियों को घर के पास ही एक नीम के पेड़ पर पंचिंग बैग टांग कर कोचिंग दी थी। कोच साहब सिंह ने बताया कि उनके यहां से सात महिला और दो पुरुष खिलाड़ी राष्ट्रीय व अंतरराष्ट्रीय स्तर की प्रतियोगिताओं में भाग ले चुके हैं। इनमें मंजू, जॉनी फौगाट, निशा, मनीषा, शिक्षा, कीर्ति, स्वीटि व लड़कों में अंकित नरवाल व प्रदीप फौगाट शामिल हैं। उन्होंने बताया कि उन्हें किसी भी सरकार से अभी तक बॉक्सिंग रिंग तक भी नहीं मिला है। अभी भी खिलाड़ी बिना बॉक्सिंग रिंग के ही अभ्यास करते हैं।
मंजू के स्वागत के लिए पहुंचे भाजपाई और कांग्रेसी
देश का नाम रोशन कर लौटी मंजू का गांव रिठाल गढ़ी सांपला-किलोई हलके में आता है। पांच दिन बाद वोटिंग होनी हैं। ऐसे में जब मंजू बुधवार सुबह रोहतक पहुंची तो भाजपा व कांग्रेसी भी पहुंचे। मंजू के स्वागत समारोह में पूर्व मुख्यमंत्री भूपेंद्र सिंह हुड्डा की धर्मपत्नी आशा हुड्डा, भाजपा से गढ़ी-सांपला-किलोई हलके के विधायक प्रत्याशी सतीश नांदल के बेटे संचित नांदल और रामकरण हुड्डा पहुंचे थे।
... और पढ़ें
अपने शहर की सभी खबर पढ़ने के लिए amarujala.com पर जाएं

Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google, और सोशल मीडिया साइट्स, जैसे की Facebook, के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।

Agree