विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
महालक्ष्मी मंदिर, मुंबई में कराएं दिवाली लक्ष्मी पूजा : 27-अक्टूबर-2019
Astrology Services

महालक्ष्मी मंदिर, मुंबई में कराएं दिवाली लक्ष्मी पूजा : 27-अक्टूबर-2019

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

हरियाणा विस चुनावः 'जजपा' अध्यक्ष दुष्यंत चौटाला ने हाईकोर्ट से मांगी सुरक्षा, बोले- जान को खतरा है

जननायक जनता पार्टी (जेजेपी) के नेता और पूर्व सांसद दुष्यंत चौटाला ने पंजाब-हरियाणा हाईकोर्ट में याचिका दायर कर अपनी और परिवार की सुरक्षा की मांग की है।

17 अक्टूबर 2019

विज्ञापन
विज्ञापन

भिवानी

गुरूवार, 17 अक्टूबर 2019

किसानों की आय दोगुना करने का वादा किया, बीमा कंपनियों की कर दी : कुमारी शैलजा

किसानों की आय दोगुना करने का वादा कर सत्ता में आई भाजपा सरकार ने किसानों की आय तो दोगुना नहीं की मगर बीमा कंपनियों की आय दोगुना कर दी। जो किसानों को लूट रहे हैं। यह बात कांग्रेस प्रदेशाध्यक्ष कुमारी शैलजा ने बलियाली में बवानीखेड़ा से कांग्रेस प्रत्याशी रामकिशन फौजी के समर्थन में आयोजित जनसभा में कही। उन्होंने कहा कि भाजपा के स्टार प्रचारक दौरे कर रहे है और कुर्सियां खाली है। उन्होंने पूर्व मुख्य संसदीय सचिव रामकिशन फौजी को भारी मतों से जीताने का आह्वान किया।
कुमारी शैलजा ने जनसभा में इस बार भारी बहुमत से कांग्रेस की सरकार बनने का दावा किया। उन्होेंने यूपी के सीएम द्वारा लगाए आरोपों पर कहा कि भाजपा के पास बताने को कोई उपलब्धि नहीं। इसलिए ऐसी बातें करती है। उन्होंने भाजपा पर अपनी उपलब्धियां बताने की बजाय जनता को गुमराह करने के आरोप लगाए। उन्होंने कहा कि भाजपा गलत बात करने और गलत नारे देने में माहिर है। इसलिए भाजपा 75 पार का नारा दे रही है। उन्होंने यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ द्वारा कांग्रेस को आतंकियों के पक्षधर वाली पार्टी होने के आरोप पर पलटवार किया और कहा कि भाजपा के पास बताने को कोई उपलब्धि नहीं। इसलिए भाजपा ऐसी बातें करती है। उन्होंने कहा कि भाजपा ने पिछले चुनाव में 154 वा दे किए थे, अब उसे एक भी याद नहीं है। उन्होंने कहा कि कांग्रेस की सरकार बनने पर किसानों के सारे कर्जे माफ होंगे वहीं गरीबों को फायदा दिया जाएगा। बिजली बिल माफ किए जाएंगे और 300 यूनिट से ज्यादा का बिल आने पर रेट आधे किए जाएंगे। तीन सौ यूनिट तक फ्री बिजली दी जाएगी। कांग्रेस के घोषणा पत्र में विकास के साथ-साथ युवाओं की शिक्षा और रोजगार पर विशेष फोकस रखा है। शैलजा ने अशोक तंवर द्वारा पार्टी छोड़ने और टिकटें बेचने के आरोपों को बड़ी ही सफाई से टाल दिया और कहा कि हम तो वर्कर हैं। हमारी ताकत तो हमारे वर्कर, नेतृत्व और पार्टी की नीतियां हैं। उन्होंने कहा कि रामकिशन फौजी बहुत अच्छे नेता और इंसान हैं, जो इस बार बहुत बड़ी जीत दर्ज करेंगे। प्रदेशाध्यक्ष के साथ पहुंचे बजरंग गर्ग, डॉ. जयबीर गोयत ने भी अपने विचार रखे। वहीं कांग्रेस उम्मीदवार पूर्व मुख्य संसदीय सचिव रामकिशन फौजी ने कहा कि मौका मिलने पर वे विकास करके दिखाएंगे। पिछले पांच साल में बवानीखेड़ा की अनदेखी हुई है।
... और पढ़ें

संदिग्ध परिस्थितियों में घर के अंदर फंदे से लटका मिला नौंवी कक्षा की छात्रा का शव

जिले के एक गांव में 17 साल की एक नाबालिग लड़की का शव शनिवार सुबह 11 बजे घर पर संदिग्ध परिस्थितियों में फंदे से लटका हुआ मिला। लड़की की मौत के बाद जब परिजन उसका दाह संस्कार करने के लिए श्मशान घाट पहुंचे तो इसी दौरान मृतक लड़की की मां पुलिस के साथ वहां पहुंची और दाह संस्कार रुकवाकर उसकी बेटी की हत्या के आरोप उसी के पिता, दादा और दादी पर लगाए। मौके पर पहुंची पुलिस ने नाबालिग लड़की के शव को कब्जे में लिया और उसे लेकर जिला सामान्य अस्पताल पहुंची। फिलहाल पुलिस ने मृतका की मां की शिकायत पर इस संबंध में पिता सहित दादा, दादी पर हत्या का केस दर्ज कर तहकीकात शुरू कर दी है।
मृतका की मां ने बताया कि करीबन 19 साल पहले उसकी शादी हुई थी। शादी के बाद उसे तीन बच्चे हुए। जिसमें सबसे बड़ी बेटी 17 वर्ष, दूसरी बेटी 14 वर्ष व 11 साल का लड़का है। पिछले दो साल से उसका अपने पति से विवाद चल रहा है। पति से हुई अनबन के चलते ही वह दो साल से अपने मायके में रह रही है। शुरूआत में वह अपने तीनों बच्चों को भी मायके साथ ले गई थी। लेकिन उसका पति वहां पहुंचा और बच्चों को अपने साथ ले आया। उसकी बड़ी बेटी नौवीं कक्षा में पढ़ती थी, लेकिन उसके पिता ने उसकी बेटी की पढ़ाई बीच में ही जबरन छुड़वाकर घरेलू कार्य में लगा दिया था। महिला का आरोप है कि उसका पति शराबी है और अक्सर उसके साथ मारपीट करता था। उसके पति का चाल चलन भी ठीक नहीं था, इसी से तंग आकर वह अपने मायके में चली गई थी। महिला ने बताया कि उसने अपने पति के खिलाफ महिला पुलिस थाने में भी शिकायत दी थी, जिस पर अभी तक कोई ठोस कार्रवाई नहीं की गई थी।
वहीं मृतका के पिता ने बताया कि वह और उसके पिता गाड़ी चलाते हैं। जबकि उसकी मां घर पर ही थी। शनिवार को वह और उसका पिता किसी कार्य से गाड़ी लेकर बाहर गए हुए थे। घर पर उसकी मां मौजूद थी। उसकी बेटी सुबह अपनी दादी के साथ खेत में गई थी। खेत से घर वापस लौटने के बाद उसकी बेटी ने फंदा लगा लिया। वहीं मृतका लड़की की मां का आरोप है कि उसकी बेटी की हत्या की गई है और हत्या के बाद उसके शव को फंदे से लटकाकर इसे आत्महत्या जताने की कोशिश की गई और बिना पुलिस को सूचना दिए गुपचुप तरीके से उसकी बेटी के शव का अंतिम संस्कार करने के लिए भी उसे श्मशान घाट ले जाया गया।
जुईकलां पुलिस थाना प्रभारी ओमप्रकाश ने बताया मृतका की मां की शिकायत पर पुलिस ने इस संबंध में पिता सहित दादा व दादी के खिलाफ हत्या का केस दर्ज किया है। पुलिस ने शव का पोस्टमार्टम कराया है। पोस्टमार्टम रिपोर्ट में मौत के कारणों का पता चलेगा।
... और पढ़ें

14 वर्ष बाद एक साथ आए किरण चौधरी और सोमबीर सिंह

करीब 14 वर्ष तक राजनीति मंच पर एक दूसरे के धुर विरोधी रहे पूर्व सीएम बंसीलाल की पुत्रवधू किरण चौधरी व दामाद सोमबीर सिंह शनिवार को साथ-साथ नजर आए। किरण चौधरी व सोमबीर में बंसीलाल के पुत्र सुरेंद्र सिंह के निधन के बाद से ही दूरियां चली आ रही थी। इस दूरी को मिटाने के लिए किरण व सोमबीर के समर्थक पिछले लोकसभा चुनावों से ही प्रयासरत थे, जो कि शनिवार को उनके एक साथ गाड़ी में सवार होकर आए तो सफल होते नजर आए।
शनिवार को किरण चौधरी ने सिवानी और लोहारू में कांग्रेस प्रत्याशी सोमबीर सिंह के समर्थन में जनसभाएं की और बहल में रोड शो किया। अरसे बाद दोनों नेताओं को एक साथ गाड़ी में देखकर लोगों को अचरज हुआ। गौरतलब है कि सुरेन्द्र सिंह के निधन के बाद से ही सोमबीर सिंह व किरण चौधरी में दूरियां बन गई थी। पिछले दो चुनावों में एक पार्टी में होने के बाद भी किरण चौधरी ने सोमबीर के लिए प्रचार नहीं किया और सोमबीर को दोनों विधानसभा चुनावों में हार का मुंह देखना पड़ा।
पिछले लोकसभा चुनावों में ही लिखी गई थी दूरियां मिटने की पटकथा : सोमबीर सिंह ने भी वर्ष 2014 लोकसभा चुनावों में कांग्रेस प्रत्याशी को जिताने की अपील तो की लेकिन उन्होंने किसी जनसभा में श्रुति चौधरी का नाम लेकर वोट नहीं मांगे। नतीजतन, श्रुति चौधरी पराजित हुई। इस कारण दोनों परिवारों की खटास बरकरार रही। पिछले लोकसभा चुनावों के समय दोनों नेताओं के समर्थकों ने पहले एक संयुक्त मीटिंग की। मीटिंग में कार्यकर्ताओं ने फैसला लिया कि उनके नेता चाहे आपस में मिले, न मिले लेकिन वो लोकसभा तथा विधानसभा चुनावों में कांग्रेस का जो भी प्रत्याशी होगा, उसकी खुले दिल से मदद करेंगे। और पिछले लोकसभा चुनावों में बेशक श्रुति चौधरी को जीत नहीं मिली पर सोमबीर समर्थकों ने श्रुति चौधरी के लिए घर-घर जाकर लोगों से वोटों की अपील की थी।
शनिवार को किरण चौधरी व सोमबीर सिंह ने पहले सिवानी में मीटिंग आयोजित की और बाद में गाड़ी की छत पर सवार होकर बहल में रोड शो किया। दोनों नेताओं के एक साथ आने की खबर बहल में पहले ही पहुंच गई थी। इसलिए, लोग बड़ी संख्या में मेन बाजार में काफी देर तक इंतजार में खड़े रहे और जैसे ही उनका रोड शो आया तो उनका हाथ उठाकर अभिवादन किया।
समर्थक बोले- खत्म हुआ वनवास : किरण चौधरी व सोमबीर के एक साथ आने से दोनों नेताओं के समर्थकों का जोश देखते ही बन रहा था। सोमबीर समर्थक पूर्व चेयरमैन ईश्वर बिधनोई, शक्ति सिंह गाढ़ा एडवोकेट ने कहा कि दोनों के साथ आने से राजनीतिक वनवास खतम होगा।
... और पढ़ें

जेल में बंद आनंद ने बेटे-भतीजे से कराई थी पूर्व सरपंच की हत्या

बड़ेसरा गांव के पूर्व सरपंच पवन की हत्या मामले का पुलिस ने महज 41 घंटे में ही खुलासा कर दिया। पूर्व सरपंच की हत्या उसके पिता और भाई की हत्या के मामले में जेल में बंद पूर्व सरपंच पति आनंद ने अपने बेटे और भतीजे से करवाई थी। आनंद को पुलिस ने एक दिन के प्रोडक्शन वारंट पर लिया तो मामले का खुलासा हुआ। आनंद की निशानदेही पर पुलिस ने आरोपी बेटे और भतीजे को भी गिरफ्तार कर लिया। पुलिस गिरफ्त में आनंद ने कहा कि दोहरे हत्याकांड में सात आरोपी थे, मगर 52 के नाम लिखवा दिए। पुलिस 14 बेगुनाह रिश्तेदारों को गिरफ्तार कर चुकी है, जिससे कई परिवार बर्बाद हो गए। ऐसे में क्या करता?
बता दें कि 14 अक्तूबर की देर शाम करीब सात बजे बड़ेसरा गांव में बस स्टैंड से घर लौट रहे पूर्व सरपंच पवन (38) की गोली मारकर हत्या कर दी गई थी। बाइक पर सवार होकर आए दो युवकों ने सात गोलियां मारकर उसकी हत्या की थी। पुलिस ने मृतक के चचेरे भाई राज कुमार की शिकायत पर 11 नामजद और दो अन्य के खिलाफ केस दर्ज किया था। इसी मामले में पुलिस ने जेल में बंद और इस हत्या के अलावा पहले हुए दोहरे हत्याकांड के आरोपी पूर्व सरपंच के पति आनंद बबलू को जेल से एक दिन के प्रोडक्शन वारंट पर लिया। उसे जेल से एक दिन के रिमांड पर लिया गया, जिसमें उसने इस हत्याकांड का खुलासा किया और बताया कि उसी ने पवन की हत्या की साजिश रची थी। उसके बेटे करीब अंकित (19) और भतीजे सचिन (21) ने हत्या की है। पुलिस ने आनंद की निशानदेही पर अंकित और सचिन को बांस गांव से गिरफ्तार कर लिया।
पूरा परिवार बर्बाद हो गया, ऐसे में क्या करता...
पुलिस हिरासत में आरोपी आनंद बबलू ने बताया कि पवन उर्फ पोनी ने उसका पूरा परिवार बर्बाद कर दिया। पहले हुए दोहरे हत्याकांड में गिरफ्तार सात आरोपी ही सही हैं, बाकी 14 निर्दोष गिरफ्तार किए गए हैं। मामले में 54 लोगों के खिलाफ केस दर्ज है। पूरा परिवार बर्बाद हो गया, ऐसे में क्या करता?
छह लाख रुपये लेकर एक आरोपी फरार
आनंद ने जेल में रहते हुए पहले जेल में ही बंद एक अन्य केस के आरोपी से पवन की हत्या कराने की साजिश रची। इसके लिए उक्त आरोपी को छह लाख रुपये भी दिए। मगर वह रुपये लेकर फरार हो गया और काम भी नहीं किया।
एक लाख में खरीदकर लाए दो पिस्तौल और 14 गोलियां
आरोपी अंकित और सचिन ने बताया कि वे एक लाख रुपये में दो पिस्तौल और 14 गोलियां खरीदकर लाए। पिस्तौल मिलने के लिए इंतजार करना पड़ा। मगर जब पिस्तौल सुबह मिले तो शाम को ही पोनी की हत्या कर दी। अंकित ने बताया कि मेरे पापा ने कहा था और मैने उसकी हत्या कर दी।
जमीन विवाद के बाद चौधर की लड़ाई ने कर दिए कई परिवार बर्बाद
मृतक पूर्व सरपंच पवन और आरोपी आनंद पहले गहरे मित्र थे। पवन ने ही आनंद की शादी अपनी रिश्तेदारी में करवाई थी। जमीन को लेकर उनके बीच शुरू हुआ विवाद बाद में चौधर की लड़ाई बन गया। करीब 10 साल पहले पवन सरपंच बना। इसके बाद आनंद ने सरपंची हासिल करने के लिए सब कुछ झोंक दिया। इस बार उसकी पत्नी सरपंच बनी, मगर पवन ने उसके स्कूल सर्टिफिकेट पर आपत्ति जताई। पवन के चचेरे भाई राज कुमार ने आरटीआई से कॉपी लेने के बाद इसकी लोकायुक्त के समक्ष शिकायत की। जांच में सर्टिफिकेट फर्जी पाए गए और पूर्व महिला सरपंच, सरपंच पति आनंद और दो शिक्षकों पर धोखाधड़ी का केस दर्ज हुआ। इसी मामले में आनंद व उसके परिजनों और कुछ साथियों ने आठ जुलाई 2017 को पूर्व सरपंच पवन के परिवार पर हमला कर दिया। इसमें पवन के पिता भल्लेराम और चचेरे भाई बलजीत की मौत हो गई। पांच अन्य गंभीर रूप से घायल हुए। चौधर की इस लड़ाई में जहां तीन लोगों की मौत हो चुकी है, वहीं आनंद समेत उसके परिवार के सदस्य और करीब 23 रिश्तेदार जेल में हैं। अब उसका बेटा और भतीजा भी हत्या मामले में फंस गए हैं। आनंद के एक छोटा लड़का है, मगर वह मंदबुद्धि है। वहीं पवन के भी नाबालिग दो बच्चों से पिता का साया उठ चुका है।
पूर्व सरपंच पवन की हत्या पुरानी रंजिश में पूर्व महिला सरपंच के पति आनंद बबलू ने करवाई थी। आनंद के बेटे अंकित और भतीजे सचिन ने उसकी हत्या की। दोनों से हत्याकांड में प्रयोग किए गए दो पिस्तौल और बाइक बरामद कर ली है। आरोपियों को वीरवार को कोर्ट में पेश किया जाएगा। इस केस के लिए एसआईटी का गठन किया गया था, जिसमें बवानीखेड़ा थाना पुलिस, सीआईए और साइबर सेल की टीम शामिल थी।
-विरेंद्र सिंह, डीएसपी हेडक्वार्टर।
... और पढ़ें

पिकअप अज्ञात वाहन से टकराई, एक की मौत, महिला सहित तीन घायल

भिवानी-हांसी मुख्य मार्ग पर गांव मिलकपुर में मंगलवार रात नौ बजे पिकअप की अज्ञात वाहन से आमने-सामने की टक्कर हो गई। हादसे में पिकअप सवार एक व्यक्ति की मौके पर मौत हो गई। जबकि एक महिला सहित दो लोगों को गंभीर चोटें आई। पुलिस ने पिकअप चालक के खिलाफ केस दर्ज किया है।
हांसी के आर्य नगर मैन भाटिया कॉलोनी निवासी सुदेश ने बताया कि वह शादी विवाह में रोटी बनाने का काम करती है। गत 15 अक्तूबर को गांव जाटूलुहारी में एक शादी समारोह था, जिसमें वह काम करने गई थी। उसके साथ हांसी के प्रेमनगर निवासी दिलबाग व कुंभा निवासी धर्मबीर भी शादी में काम करने गया था। गांव जाटूलुहारी से शादी समारोह में के बाद रात नौ बजे वह हांसी आने के लिए पिकअप के पिछले हिस्से में सवार हो गए थे। पिकअप चालक वाहन को लापरवाही से चला रहा था। उसने सामने से आ रहे किसी अज्ञात वाहन की पिकअप की टक्कर हो गई। जिसमें पिछले हिस्से में सवार दिलबाग और उसे गंभीर चोटें आई, जबकि धर्मबीर की गंभीर चोटों के चलते मौके पर ही मौत हो गई थी। उन्हें देर रात को ही इलाज के लिए हांसी अस्पताल ले जाया गया, जहां चिकित्सकों ने उन्हें प्राथमिक उपचार दिया वहीं बवानीखेड़ा पुलिस ने मौके पर पहुंचकर शव को कब्जे में लिया और उसका पोस्टमार्टम कराया। पुलिस ने घायल सुदेश के बयान दर्ज कर इस संबंध में पिकअप चालक के खिलाफ लापरवाही से वाहन चलाने का केस दर्ज कर तहकीकात शुरू कर दी।
... और पढ़ें

82 लाख से ज्यादा का गबन कर वाहन कंपनी का कैशियर फरार

एक वाहन विक्रेता कंपनी का कैशियर 82 लाख से ज्यादा की धोखाधड़ी कर फरार हो गया है। पांच माह के अंदर यह धोखाधड़ी की गई। धोखाधड़ी केलिए फर्जी रिकार्ड बनाया गया। जिसमें कहीं एक ही एंट्री दो बार की तो कहीं फ्लूड लगाकर राशि को बढ़ा दिया गया। पुलिस ने वाहन विक्रेता कंपनी संचालक चिकित्सक डॉ. ईश्वर दास की शिकायत पर धोखाधड़ी का केस दर्ज कर जांच शुरू कर दी है।
पुलिस को दी शिकायत में रघु हुंडई के संचालक बाल रोग विशेषज्ञ डॉ. ईश्वर दास ने बताया कि उसकी हुंडई कार की एजेंसी है। वह बाल रोग विशेषज्ञ है और रोहतक गेट पर अस्पताल है। जिससे कार एजेंसी पर ज्यादा समय नहीं दे पाता। डॉ. ईश्वर दास ने बताया कि उसने भारत नगर वासी हाल पालुवास मोड़ के पास किराये पर रहने वाले युवक गौरव सोनी को कैशियर रखा। डॉ. ईश्वर ने बताया कि गौरव का कार्य एजेंसी में आने कैश को प्राप्त कर रिकार्ड में एंट्री करना था। उसने जल्द ही उसका और सभी स्टाफ सदस्यों का विश्वास जीत लिया और अब विश्वासघात किया।
27 सितंबर को जब कैशियर गौरव ने मैनेजर चांदी राम को उस दिन की प्राप्त राशि तो मैनेजर को कैश कम होने का शक हुआ। जिस पर गौरव को सारा रिकार्ड अकाउंट विनीत से चैक करवाने को कहा। डॉ. ईश्वर दास ने बताया कि उसे भी सूचित किया गया। जिस वह भी पहुंचा। गौरव नेसारा रिकार्ड एकदम हमारे सामने नहीं रखा और कहा कि कुछ दिनों से व्यस्त होने के कारण रिकार्ड पूरा नहीं है। जिसके बाद 27 सितंबर का रिकार्ड व गल्ला चेक किया गया। जिसमें से दो लाख 95 हजार 233 रुपये कम मिले। गौरव कोई संतोषजनक जवाब नहीं दे सका। जब सभी रिकार्ड चेक कर रहे थे तो अचानक वह मौका पाकर भाग निका। जिसके बाद पिछला सारा रिकार्ड अकाउंटेंट और मैनेज से ऑडिट करवाया। जिसमें सामने आया कि 26 अप्रैल से 27 सितंबर तक 74 लाख 70 हजार छह सौ रुपये जमा नहीं करवाए गए है।
रिकार्ड मे कैशबुक चेक होने के बाद फर्जीवाड़ा करते हुए लॉकर की एंट्री एक ही दिन मे दूसरी बार दर्ज कर रखी है। 21, 22, 23 और 28 की एंट्री में फ्लूड लगाकर ओवरराइटिंग कर रखी है। 24, 29 और 30 अगस्त की रिकार्ड एंट्री को फ्लूड के सहारे ओवरराइट कर रखा है। कैशबुक मे फर्जी इंद्राज हेरा-फेरी से करके फर्जी इंद्राज किए हैं। करीब 82 लाख 13 हजार 833 रुपये का गबन अब तक सामने आ चुके हैं। ऑडिट अभी चल रही है और यह राशि अभी और बढ़ सकती है।
मामले में इंडस्ट्रीज एरिया थाना प्रभारी पवन कुमार ने बताया कि शिकायत पर कैशियर गौरव सोनी के खिलाफ धोखधड़ी का केस दर्ज किया गया है। मामले की जांच की जा रही है।
... और पढ़ें

गवाह पूर्व सरपंच को मारी थी सात गोलियां

पूर्व सरपंच पवन की हत्या सात गोलियां मारकर की गई थी। पोस्टमार्टम में उसके शरीर से सात गोलियां मिली हैं। इनमें कंधा, गर्दन, आंख और एक गोली कमर में लगी थी। जबकि तीन गोलियां पेट के साथ वाले हिस्से में मारी गई। आठ जुलाई 2017 की शाम को बवानीखेड़ा में डबल मर्डर में गवाह पूर्व सरपंच पवन कुमार को गवाही से रोकने के लिए हत्या की गई है। पवन की 22 अक्तूबर को गवाही थी। ये आरोप मृतक पूर्व सरपंच पवन के चचेरे भाई राज कुमार ने लगाए। मृतक पवन का मंगलवार दोपहर को सामान्य अस्पताल में पोस्टमार्टम के बाद शाम को गमगीन माहौल में अंतिम संस्कार किया गया।
उल्लेखनीय है कि पंचायती चुनाव की पुरानी रंजिश में पूर्व सरपंच पवन कुमार की सोमवार शाम करीब सात बजे गांव में ही गोली मारकर हत्या कर दी गई थी। बाइक पर सवार होकर आए दो युवकों ने हत्याकांड को अंजाम दिया। आरोप है कि वहां 25-30 गोलियां चलाई गई। इससे पहले 2017 में पवन कुमार के पिता भल्लेराम और चचेरे भाई बलजीत की भी हत्या की गई थी। मंगलवार को पुलिस ने मृतक के चचेरे भाई राज कुमार की शिकायत पर 11 के खिलाफ केस दर्ज कर पोस्टमार्टम करवाया। जिसमें स्पष्ट हुआ कि पवन को सात गोलियां लगी थी।
गांव में तनाव, पुलिस के साथ अर्धसैनिक बलों के जवान तैनात
घटना के बाद से गांव में तनाव है। मृतक पूर्व सरपंच पवन के घर से करीब तीन-चार सौ मीटर की दूरी पर ही आरोपी आनंद का मकान है। चुनावी रंजिश में यह तीसरी हत्या है और हत्या के बाद से ही गांव में तनाव का माहौल है। ऐसे में यहां बवानीखेड़ा थाना पुलिस के अलावा अर्धसैनिकों की एक कंपनी भी तैनात है। यह सुरक्षा आगामी विधानसभा चुनावों और हत्या दोनों के मद्देनजर लगाई है।
हम जान को खतरा बताते रहे मगर नहीं हुई कोई सुनवाई
मृतक के चचेरे भाई राज कुमार ने पुलिस पर गंभीर आरोप लगाए। उन्होंने बताया कि फर्जी डिग्री के आधार पर सरपंच बनी थी। पुलिस को शिकायत दी मगर कोई कार्रवाई नहीं हुई। उन्होंने लोकायुक्त को शिकायत की तो सरपंच को बर्खास्त कर दिया। पुलिस ने आरोपियों से मिलकर उन्हें परेशान करना शुरू कर दिया। तीन झूठे मुकदमे दर्ज कर उन्हें बेरहमी से पीटा। हम सुरक्षा की गुहार लगाते रहे मगर हमारी कोई सुनवाई नहीं हुई। आरोपी खुलेआम कहते है कि पूरे परिवार को मारेंगे। बताया कि पिछले कुछ दिनों से ही उन्हें धमकियां मिल रही थी।
11 के खिलाफ दर्ज हुआ केस
पुलिस ने पूर्व सरपंच पवन कुमार की हत्या के मामले में 11 लोगों के खिलाफ केस दर्ज किया है। इनमें रमेश, विकास पिल्लू, सुखबीर, सुदेश, अनूप, अजीत बालिया, आनंद बबलू, रवींद्र, पवन, प्रमोद, रामभगत पटवारी के खिलाफ हत्या, साजिश रखने आदि विभिन्न धाराओं के तहत केस दर्ज किया है। इनमें आरोपी आनंद, प्रमोद, रवींद्र, पवन पहले ही हत्या के मामले में जेल में है।
जो गवाही देगा, उसका यही अंजाम होगा
मृतक पवन के भाई राज कुमार ने बताया कि रात को वह पवन के पीछे कुछ दूरी पर था। बाइक पर आए दो युवकों ने उसके भाई पवन को गोली मारी और पिस्तौल लहराते हुए भाग गए। साथ ही गोली मारने के दौरान गालिया देते हुए बोल रहे थे कि बलजीत व भल्ले राम को पहले मार दिया व आज तीसरा भी मार दिया है। जब तुमको बलजीत व भलेराम के मुकदमा में गवाही देने से मना किया था। जो फिर भी गवाही दे रहे हो। और आगे भी अगर किसी ने गवाही दी तो उसका भी यही अंजाम होगा। ये कहते ही दोनों लडक़े मौका से अपनी बाइक से फायर करते हुए गांव के बीचो-बीच भाग गए। राज कुमार का आरोप है कि अन्य मार्गों पर गाडिय़ों में भी कुछ बदमाश थे।
मृतक पवन को सात गोलियां लगी थी। शव को पोस्टमार्टम के बाद परिजनों को सौंप दिया गया है। गांव में सुरक्षा के लिए पुलिस फोर्स तैनात की गई है। हत्या मामले में आरोपी आनंद को पूछताछ के लिए प्रोडक्शन वारंट पर लिया जाएगा। इसके लिए एप्लीकेशन लगा दी है।
- विरेंद्र सिंह, डीएसपी
... और पढ़ें

कार में पेट्रोल डलवा कर बिना पैसे दिए हो गया फरार

गांव हालुवास स्थित एक पेट्रोल पंप पर एक कार में तीन हजार का पेट्रोल डलवाकर चालक कार लेकर फरार हो गया। इस दौरान मशीन से पाइप भी उखड़ गया। मामले की शिकायत सौ नंबर पर भी पुलिस को दी गई। जिसके बाद इसकी लिखित शिकायत थाने में दी गई। इस पर पुलिस ने केस दर्ज किया।
हालुवास सर्विस स्टेशन पंप मालिक मनीष ने पुलिस को दी शिकायत में बताया कि गत 11 अक्तूबर की सुबह करीबन पांच बजे एक टैक्सी नंबर की स्वीफ्ट गाड़ी पंप पर आई और चालक ने गाड़ी में कारिंदे से तीन हजार का तेल डालने के लिए बोला। इस दौरान जब कारिंदा गाड़ी के टैंक में पाइप से तेल डाल रहा था कि इसी दौरान आरोपी ने बिना पैसे का भुगतान किए ही गाड़ी को दौड़ा दिया। पेट्रोल डालने की मशीन का पाइप भी गाड़ी के टैंक में ही फंसा था, वो भी झटके से उखड़ गया। मनीष ने बताया कि आरोपी तीन हजार का तेल डलवाकर बिना भुगतान गाड़ी लेकर फरार हो गया और उसकी इस हरकत से मशीन में भी 22 हजार रुपये का नुकसान हो गया। पेट्रोल पंप पर तैनात कारिंदे ने बताया कि टेक्सी नंबर की स्वीफ्ट गाड़ी में चार लोग सवार थे। तेल डलवाने के बाद वे इतनी देवीलाल मूर्ति की तरफ गाड़ी को दौड़ाते हुए फरार हो गए।
सदर पुलिस थाना के जांच अधिकारी एचसी प्रवेश ने बताया कि पुलिस ने इस संबंध में मनीष की शिकायत पर अज्ञात गाड़ी चालक के खिलाफ विभिन्न धाराओं के तहत केस दर्ज कर जांच शुरू कर दी है। फिलहाल पुलिस सीसीटीवी फुटेज के आधार पर आरोपी गाड़ी चालक की तलाश में जुटी है।
... और पढ़ें

घर से 400 मी दूर पूर्व सरपंच की चार गोली मारकर हत्या, दो साल पहले पिता और भाई का हुआ था मर्डर

पंचायत चुनाव की रंजिश में पूर्व सरपंच की गोली मारकर हत्या कर दी गई। पूर्व सरपंच सोमवार देर शाम चुनावी जनसभा से अपने घर लौट रहा था। रास्ते में बाइक पर आए दो से तीन युवकों ने वारदात को अंजाम दिया। सूचना के बाद एफएसएल टीम और डीएसपी मौके पर पहुंचे। इसके बाद रात में शव को पोस्टमार्टम के लिए सामान्य अस्पताल लाया गया।

जानकारी के अनुसार बड़ेसरा गांव में बाबा के डेरे के पास एक प्रत्याशी की चुनावी जनसभा थी। उसमें शामिल होने के बाद सोमवार देर शाम करीब सात बजे पूर्व सरपंच पवन कुमार (38) अपने घर लौट रहा था। जनसभा स्थल से अभी वह करीब पांच सौ मीटर दूर ही पहुंचा था कि बाइक पर आए युवकों ने उस पर ताबड़तोड़ गोलियां चलानी शुरू कर दीं। 

वारदात में पूर्व सरपंच को चार गोलियां लगीं। मौके पर मौजूद लोगों ने बताया कि आरोपियों ने आठ से 10 गोलियां चलाईं, जिससे गंभीर रूप से घायल होने के कारण पूर्व सरपंच की मौके पर ही मौत हो गई। आरोपियों ने पहले एक गोली कमर में मारी, जिसके बाद पूर्व सरपंच गिर गया। इसके बाद एक गोली आंख में और दो गोलियां पेट के साथ वाले हिस्से में मारीं। 

इस हत्याकांड से मौके पर हड़कंप मच गया और बड़ी संख्या में ग्रामीण मौके पर जुट गए। सूचना मिलने पर बवानीखेड़ा थाना पुलिस, गुजरानी थाना पुलिस के अलावा डीएसपी विरेंद्र सिंह और एफएसएल टीम मौके पर पहुंची। जांच के बाद रात करीब 10 बजे शव को सामान्य अस्पताल लाया गया। जानकारी के अनुसार मृतक के एक 15 वर्षीय लड़की और छोटा लड़का है।
... और पढ़ें

संतुलन बिगड़ने से गिरा बाइक सवार, सड़क किनारे नाले के सरिये सिर में धंसने से मौत

पेट्रोल डलवाने जा रहे युवक ने बाइक पर नियंत्रण खो दिया और युवक बाइक से फिसलकर नाले में जा गिरा। इस दौरान उसके सिर में निर्माणाधीन नाले के सरिये धंस गए, जिससे उसकी मौके पर ही मौत हो गई। सुबह जब उसका भाई बाइक में पेट्रोल डलवाने गया तो उसे नाले में शव दिखा। इसके बाद उसने दुर्घटना की सूचना पुुलिस को दी। पुलिस ने मौके पर पहुंचकर शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए जिला सामान्य अस्पताल पहुंचाया।
जानकारी के अनुसार गांव मुंढाल खुर्द निवासी 28 वर्षीय रमन की गांव में ही बेल्डिंग मिस्त्री की दुकान है। परिजनों ने बताया कि रविवार को वह अपनी दुकान में काम कर रहा था। रात करीबन नौ बजे वह घर पर खाना खाने के लिए आया था। उसने घरवालों को बाइक में पेट्रोल डलवाने की बात कही, फिर दुकान में आकर काम करने लगा। रात करीबन बारह बजे उसके चाचा ने उसे कहा कि रात काफी को गई है बाकी काम सुबह कर लेना। फिर वह बाइक में पेट्रोल डलवाने के लिए हांसी रोड पर स्थित पेट्रोल पंप पर जा रहा था। रास्ते में बाइक का संतुलन बिगड़ने से उसकी बाइक फिसल गई और वह बाइक से नाले में जा गिरा। इस दौरान युवक के सिर में नाले के सरिये धंस गए, जिससे मौके पर ही उसकी मौत हो गई। सुबह करीबन छह बजे जब उसका भाई बाइक में पेट्रोल डलवाने गया तो उसे नाले में शव दिखा। उसने दुर्घटना की सूचना पुुलिस को दी। पुलिस ने मौके पर पहुंचकर शव को कब्जे में ले पोस्टमार्टम के लिए जिला सामान्य अस्पताल भेजा। परिजनों ने बताया कि मृतक चार भाई-बहनों के सबसे छोटा था। मृतक रमन शादीशुदा था, जिसको साढ़े चार साल का बेटा था।
पुलिस जांच अधिकारी एएसआई विरेन्द्र ने बताया कि मृतक के भाई पवन के बयान पर इत्तफाकिया हादसे की कार्रवाई की है। पुलिस ने पोस्टमार्टम के बाद शव परिजनों को सौंप दिया।
... और पढ़ें

पुरानी रंजिश में पूर्व सरपंच की चार गोलियां मारकर हत्या

पंचायत चुनाव की रंजिश में पूर्व सरपंच की गोली मारकर हत्या कर दी गई। पूर्व सरपंच सोमवार देरशाम चुनावी जनसभा से अपने घर लौट रहा था। रास्ते में बाइक पर आए दो से तीन युवकों ने वारदात को अंजाम दिया। सूचना के बाद एफएसएल टीम और डीएसपी मौके पर पहुंचे। इसके बाद रात में शव को पोस्टमार्टम के लिए सामान्य अस्पताल लाया गया।
जानकारी के अनुसार बड़ेसरा गांव में बाबा के डेरे के पास एक प्रत्याशी की चुनावी जनसभा थी। उसमें शामिल होने के बाद सोमवार देरशाम करीब सात बजे पूर्व सरपंच पवन कुमार (38) अपने घर लौट रहा था। जनसभा स्थल से अभी वह करीब पांच सौ मीटर दूर ही पहुंचा था कि बाइक पर आए युवकों ने उस पर ताबड़तोड़ गोलियां चलानी शुरू कर दीं। वारदात में पूर्व सरपंच को चार गोलियां लगीं। मौके पर मौजूद लोगों ने बताया कि आरोपियों ने आठ से 10 गोलियां चलाईं, जिससे गंभीर रूप से घायल होने के कारण पूर्व सरपंच की मौके पर ही मौत हो गई। आरोपियों ने पहले एक गोली कमर में मारी, जिसके बाद पूर्व सरपंच गिर गया। इसके बाद एक गोली आंख में और दो गोलियां पेट के साथ वाले हिस्से में मारीं। इस हत्याकांड से मौके पर हड़कंप मच गया और बड़ी संख्या में ग्रामीण मौके पर जुट गए। सूचना मिलने पर बवानीखेड़ा थाना पुलिस, गुजरानी थाना पुलिस के अलावा डीएसपी विरेंद्र सिंह और एफएसएल टीम मौके पर पहुंची। जांच के बाद रात करीब 10 बजे शव को सामान्य अस्पताल लाया गया। जानकारी के अनुसार मृतक के एक 15 वर्षीय लड़की और छोटा लड़का है।
पिता और भाई की भी की गई थी हत्या
पूर्व सरपंच पवन के पिता भल्लेराम और भाई बलजीत की भी पंचायत चुनाव की रंजिश में आठ जुलाई 2017 की देरशाम को तेजधार हथियारों से हत्या कर दी गई थी। बलजीत, बल्लेराम के अलावा 80 वर्षीय हुकम सिंह, 85 वर्षीय मल्हाराम व महेंद्र उस शाम खेत से घर लौट रहे थे। रास्ते में करीब 30-35 लोगों ने तेज धार हथियारों से उन पर हमला किया था। इसमें 55 वर्षीय बलजीत और 75 वर्षीय भल्लेराम की मौत हो गई थी। पुलिस ने 54 लोगों के खिलाफ हत्या सहित विभिन्न धाराओं के तहत केस दर्ज किया था। उस समय परिजनों ने दो दिन तक कार्रवाई की मांग को लेकर शव लेने से इनकार कर दिया था।
जमीन से शुरू हुआ विवाद बना चौधर की लड़ाई
पूर्व सरपंच पवन और आनंद बबलू के परिवार के बीच विवाद वर्षों पुराना है। पहले जमीन का विवाद था। इस जमीन विवाद के चलते दोनों सरपंच का चुनाव लड़ने लगे। जमीन विवाद तो बाद में सुलझा लिया गया, मगर सरपंची को लेकर लड़ाई बढ़ती गई। पिछले चुनाव में आनंद बबलू की पत्नी सुदेश विजेता रही। पूर्व सरपंच पवन की ओर से सुदेश के सर्टिफिकेट पर आपत्ति जताई गई। पूर्व सरपंच के भाई राज कुमार ने इसकी शिकायत की। जांच में डिग्री फर्जी पाई गई और सरपंच को बर्खास्त कर दिया गया। इस मामले में महिला सरपंच, सरपंच पति व दो शिक्षकों के खिलाफ धोखाधड़ी का केस दर्ज हुआ और उन्हें जेल जाना पड़ा। इसी रंजिश के चलते दोनों पक्षों में विवाद बढ़ चला है।
भाई ने पुलिस पर भी लगाए आरोप
मृतक पूर्व सरपंच के भाई राज कुमार ने आरोप लगाया है कि पुलिस ने पहले वाले मामले में कुछ लोगों को निकाल दिया। कुछ आरोपी पिछले दिनों जेल से बाहर आए हैं और उन्हीं लोगों ने उसके भाई की हत्या की है। पुलिस पर भी राज कुमार ने आरोपियों से मिलीभगत करने के आरोप लगाए हैं।
400 मीटर की दूरी पर था घर
पूर्व सरपंच पवन कुमार को गोली मारी गई तो वह अपने घर से महज 400 मीटर की दूरी पर ही था। वह बाबा के डेरे के पास हुई चुनावी जनसभा में शामिल होने गया था। गांव बड़ेसरा में ही जताई रोड पर उनका मकान है। वह जनसभा समाप्त होने के बाद अपने घर जा रहा था। वह घर से करीब 400 मीटर दूर ही रह गया था कि तभी पीछे से बाइक पर आए बदमाशों ने गोलियां मारकर उसकी हत्या कर दी।
सप्लेंडर बाइक से आए थे बदमाश
बदमाश सप्लेंडर बाइक से आए थे। प्रत्यक्षदर्शियों ने पुलिस को यह सूचना दी है। बाइक का नंबर भी पुलिस के पास आया है। उसके आधार पर पुलिस नाकेबंदी कर देररात तक बदमाशों की तलाश में जुटी रही।
बड़ेसरा गांव में पूर्व सरपंच पवन कुमार की गोली मारकर हत्या की गई है। प्राथमिक दृष्टि में चार गोली लगी नजर आ रही है। परिजनों ने अभी कोई बयान नहीं दिए हैं। बयान के आधार पर कार्रवाई की जाएगी।
-विरेंद्र सिंह, डीएसपी।
... और पढ़ें

पति व्यापार में घाटे के बाद लापता, देनदारों से परेशान महिला ने की खुदकुशी

कपड़े के व्यापार में घाटे के बाद लापता हुए व्यक्ति की पत्नी ने देनदारों से परेशान होकर घर में ही फंदा लगा लिया। महिला का शव घर के ही कमरे में खिड़की से लटका मिला। मृतका के पिता ने आरोप लगाया कि चार लोग उन्हें रुपयों के लिए परेशान कर रहे थे। इसी परेशानी में उसने यह कदम उठाया। पुलिस ने शिकायत पर चार के खिलाफ केस दर्ज किया है।
मामला सोमवार दोपहर बाद का है। न्यू फ्रेंड्स कॉलोनी में दोपहर बाद करीब साढ़े तीन बजे करीब 40 वर्षीय महिला दिनेश ने खिड़की से चुन्नी बांध फंदा लगा लिया। परिजनों ने शाम करीब साढ़े चार बजे उसे देखा। सूचना पर करीब पांच बजे पुलिस मौके पर पहुंची। शव को जांच के बाद पोस्टमार्टम के लिए सामान्य अस्पताल लाया गया। पुलिस को दी शिकायत में मृतका के पिता भूरु सिंह ने बताया कि उसकी बेटी दिनेश की शादी करीब 17-18 वर्ष पूर्व राणीला बास वासी चतुर्भुज के साथ हुई थी। चतुर्भुज कपड़े का व्यापारी था और उसका दिल्ली, भिवानी आदि जगहों से कपड़ा व्यापारियों से लेन-देन था। उसे व्यापार में घाटा हुआ। करीब ढाई साल पहले वह अचानक लापता हो गया। उसके बाद से किसी को नहीं पता कि वह कहां है। अब कुछ लोग उस पर कर्जा बताकर उन्हें परेशान करने आ रहे है। वे उनसे रुपये मांगते हैं जबकि उन्हें तो कुछ पता ही नहीं। इस कारण पिछले कुछ सालों से उसकी बेटी उसके पास भिवानी आ गई। यहां लेनदार काफी आ रहे थे और धमकियां भी दे रहे थे। इसी परेशानी में उसकी बेटी ने यह कदम उठाया है। उन्होंने चार लोगों पर परेशान करने का आरोप लगाया।
सूचना पर इंडस्ट्रीज एरिया थाना पुलिस मौके पर पहुंची। पूरी जांच के बाद देर शाम शव को पोस्टमार्टम के लिए सामान्य अस्पताल लाया गया। जहां सुबह शव का पोस्टमार्टम होगा। मामले में एसएचओ पवन कुमार ने बताया कि मृतका के पिता भूरुराम के बयान पर अभिषेक खेमका, राजेंद्र गुर्जर, नरेंद्र, राजेंद्र के खिलाफ आत्महत्या के लिए मजबूर करने का केस दर्ज किया है। मामले की जांच की जा रही है।
पिता लापता, बच्चों से छीन गया मां का सहारा : मृतका दिनेश के दो बच्चे 16 साल की बेटी और 14 साल का लड़का है। बच्चों का पिता ढाई साल से लापता है और अब उनकी मां भी नहीं रही। दोनों बच्चों का रो-रोकर बुरा हाल है।
... और पढ़ें

18 तक भरे जाएंगे एचटेट परीक्षा के आवेदन

16 व 17 नवंबर को आयोजित होने वाले एचटेट परीक्षा के लिए आवेदन पत्र लाइव हो चुके हैं जो बोर्ड की आधिकारिक वेबसाइट पर उपलब्ध है।
हरियाणा विद्यालय शिक्षा बोर्ड के अध्यक्ष डॉ. जगबीर सिंह ने बताया कि हरियाणा अध्यापक पात्रता परीक्षा के लिए ऑनलाइन आवेदन/शुल्क भरने की अंतिम तिथि 18 अक्तूबर निर्धारित है। आवेदन प्राप्त करने के लिए निर्धारित तिथि के बाद बोर्ड कार्यालय द्वारा कोई आवेदन स्वीकार नहीं किया जाएगा। लेकिन जिन आवेदकों को अपने नाम, पिता का नाम, माता का नाम, जन्मतिथि, पहचान/पहचान संख्या, फोटो व हस्ताक्षर में कोई संशोधन करना है, ऐसे आवेदक 19 से 23 अक्तूबर तक शुद्धि करा सकते हैं। आवेदन में लेवल, जाति और कैटेगरी, शारीरिक रूप से चुनौतीपूर्ण विकल्प में कोई परिवर्तन/सुधार की अनुमति नहीं होगी। इस अवधि के बाद किसी भी प्रकार की शुद्धि ऑनलाइन या ऑफ लाइन करने की सुविधा नहीं दी जाएगी। इसलिए सभी आवेदक अपने आवेदन में दर्शाए गए महत्वपूर्ण निर्देशों को ध्यान से पढ़कर/समझकर भरना सुनिश्चित करें। उन्होंने बताया कि एक ही कैटेगरी में दो अलग-अलग विषयों के लिए आवेदन स्वीकार नहीं किए जाएंगे और अपने व्यक्तिगत/शैक्षणिक रिकार्ड में बदलाव आदि करके अलग कैटेगरी या जिले आदि से आवेदन करने वाले परीक्षार्थियों के आवेदन रद्द कर दिए जाएंगे। उन्होंने बताया कि परीक्षार्थियों की सुविधा के लिए बोर्ड कार्यालय में हेल्पलाइन नंबर 01664-2543000, 254302, 254303, 254304, 254306 की सुविधा दी गई है।
... और पढ़ें
अपने शहर की सभी खबर पढ़ने के लिए amarujala.com पर जाएं

Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google, और सोशल मीडिया साइट्स, जैसे की Facebook, के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।

Agree