विज्ञापन
विज्ञापन

अवैध शराब पकड़ी

22 सितंबर 2019

विज्ञापन
सर्वपितृ अमावस्या को गया में अर्पित करें अपने समस्त पितरों को तर्पण, होंगे सभी पूर्वज प्रसन्न, 28 सितम्बर
Astrology Services

सर्वपितृ अमावस्या को गया में अर्पित करें अपने समस्त पितरों को तर्पण, होंगे सभी पूर्वज प्रसन्न, 28 सितम्बर

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

अयोध्या प्रकरणः कल्याण सिंह बतौर आरोपी 27 को अदालत में तलब, विशेष न्यायाधीश ने दिया आदेश

अयोध्या प्रकरण के विशेष न्यायाधीश सुरेंद्र कुमार यादव ने पूर्व मुख्यमंत्री व राजस्थान के पूर्व राज्यपाल कल्याण सिंह को बतौर आरोपी तलब किया है।

22 सितंबर 2019

विज्ञापन
विज्ञापन

ललितपुर

रविवार, 22 सितंबर 2019

राजघाट बांध घूमने गए युवक को मारी गोली, गंभीर

राजघाट बांध घूमने गए युवक को मारी गोली, झांसी रेफर
ललितपुर। थाना कोतवाली अंतर्गत राजघाट बांध पर साथियों व भाई के साथ घूमने गए एक युवक पर अज्ञात बाइक सवारों ने फायरिंग कर दी, जिससे गोली उसके गाल को फाड़ते हुए अंदर धस गई। इससे युवक गंभीर रूप से घायल हो गया। मौके से साथी उसे तत्काल जिला अस्पताल ले गए, जहां प्राथमिक उपचार के बाद उसे चिकित्सकों ने घायल युवक को झांसी रेफर कर दिया।
थाना जखौरा अंतर्गत ग्राम बंधपुरा हाल राजघाट निवासी दीपक यादव (24 वर्ष) पुत्र लाल सिंह यादव शुक्रवार की शाम को अपने साथियों के साथ राजघाट बांध पर गया था। शाम को करीब पांच बजे बांध पर दो अज्ञात पल्सर सवार पहुंचे और उनकी किसी बात को लेकर दीपक से बहस हो गई। इसी दौरान अज्ञात पल्सर सवार युवकों ने उसके ऊपर फायरिंग कर दी, जिससे उसके गाल में गोली लग गई और गोली लगते ही वह जमीन पर गिर पड़ा। यह देख उसके साथी जब तक कुछ समझ पाते, तब तक पल्सर सवार तेज रफ्तार कर वहां से भाग खड़े हुए। इसके बाद उन्होंने घायल साथी को उठाया और उसे लेकर दो पहिया वाहन से ही सीधे जिला अस्पताल पहुंचे। जहां चिकित्सकों ने उसका प्राथमिक उपचार किया, जिसके घायल को झांसी रेफर कर दिया। चिकित्सकों स्टाफ के अनुसार, घायल युवक के गाल को फाड़ते हुए गोली अंदर फंस गई। चिकित्सकों ने हालत बिगड़ती देख उसे झांसी रेफर कर दिया है। परिजन घायल को लेकर झांसी मेडिकल कॉलेज के लिए रवाना हो गए। जिला अस्पताल में पहुंचे उसके नेहरू नगर निवासी भाई इंदर ने बताया कि उसका भाई दीपक यादव अपने कुछ साथियों के साथ राजघाट बांध पर था, जहां एक पल्सर पर सवार दो युवकों ने उसके भाई पर फायरिंग कर दी, जिससे वह घायल हुआ है। बाइक बिना नंबर की थी और उस पर सवार दोनों युवक काली शर्ट पहने हुए थे। पुलिस को अभी तक इसकी तहरीर नहीं दी गई है।
... और पढ़ें

पशुओें की नस्ल सुधारें और दूध उत्पादन बझ़ाएं

ललितपुर। बृहस्पतिवार को पं. दीनदयाल उपाध्याय पशु आरोग्य मेला शिविर का आयोजन पशुपालन विभाग की ओर से ब्लाक जखौरा के ग्राम मिर्चवारा में किया गया। मेला में पशुओं का बधियाकरण, चिकित्सा व कृत्रिम गर्भाधान किया गया। किसानों से आह्वान किया गया कि पशुओें की नस्ल सुधारें और दूध उत्पादन बढ़ाएं।
मेला का शुभारंभ डीएम मानवेंद्र सिंह ने किया। जिलाधिकारी ने कहा कि बुंदेलखंड में पशुपालकों द्वारा गोवंश को खुला छोड़ देने से सड़कों एवं अन्य स्थानों पर विभिन्न प्रकार की समस्याएं उत्पन्न होती हैं। किसान और पशुपालक उत्तम गुणवत्ता एवं अच्छी नस्ल के पशुओं को सीमित संख्या में ही रखें। आरोग्य मेलों के आयोजन का उद्देश्य भी गोवंश की नस्ल सुधार करना है, जिससे पशुपालकों की आय में वृद्धि हो सके। गायों का गर्भाधान अच्छी नस्ल से कराएं। पशुओं को बांध कर रखें। सभी अपने गोवंश की नस्ल में सुधार लाएं एवं पशुओं का टीकाकरण कराएं। मुख्य पशु चिकित्सा अधिकारी डॉ. एसके शाक्य ने बताया कि कृत्रिम गर्भाधान, पशुचिकित्सा, बधियाकरण, टीकाकरण, कृमि नाशक दवा पान, लघु शल्य चिकित्सा के साथ-साथ बांझपन से ग्रसित दुधारू पशुओं की निशुल्क चिकित्सा पशुपालक के घर पर उपलब्ध कराने हेतु दीनदयाल उपाध्याय पशु आरोग्य शिविर/मेलों का आयोजन विभाग द्वारा कराया जा रहा है। इस वर्ष जिले के 18 ग्रामों में मेला आयोजित किए जाएंगे।
प्रत्येक विकासखंड में तीन मेले लगेंगे। इन मेलों के आयोजन का उद्देश्य पशुओं को अच्छी गुणवत्ता की चिकित्सा सहायता उपलब्ध कराना है, जिससे पशुओं की दुग्ध उत्पादन क्षमता में वृद्धि हो सके। गोवंश आश्रय स्थलों में पशुओं की नस्ल सुधार के लिए उत्कृष्ट गुणवत्ता के सांड उपलब्ध हैं। कृत्रिम तकनीक द्वारा ऐसा प्रजनन बीज बनाया गया है, जिसके प्रयोग से 90 प्रतिशत तक बछिया के जन्म लेने की संभावना रहेगी। मुख्य पशु चिकित्सा अधिकारी ने बताया कि ग्राम मिर्चवारा में आयोजित आरोग्य मेले में 1540 पशुओं का पंजीकरण हुआ। इसमें 825 पशुओं की सामान्य चिकित्सा, 540 पशुओं को कृमि नाशक दवापान, तीन की लघु शल्य चिकित्सा, 137 पशुओं की बांझपन चिकित्सा, सात पशुओं का कृत्रिम गर्भाधान तथा 28 पशुओं का बधियाकरण किया गया। इस मौके पर उप मुख्य पशु चिकित्साधिकारी डॉ. एसके सिंह, पशु चिकित्सा अधिकारी बांसी डॉ. प्रशांत कुमार नायक, पशु चिकित्सा अधिकारी जाखलौन डॉ. संजय सिंह, पशु चिकित्सा अधिकारी सिलावन डॉ. विवेक सचान, पशुधन प्रसार अधिकारी कोमल निरंजन, योगेश तिवारी एवं अन्य स्टाफ मौजूद रहा।
... और पढ़ें

दबंगई से परेशान होकर अनशन पर बैठा एक परिवार

ललितपुर। मोहल्ला बड़ापुरा में रहने वाला एक परिवार दबंगई से परेशान होकर घंटाघर पर अनशन पर बैठ गया है। मोहल्ला बड़ापुरा निवासी सौरभ राठौर ने डीएम को दिए शिकायती पत्र में आरोप लगाया है कि नई बस्ती निवासी एक व्यक्ति ने एक व्यक्ति से पुस्तैनी मकान के आधे हिस्से की रजिस्ट्री करा ली। इसके बाद मकान का सामान बाहर फेंक दिया है। उसे धमकाया जा रहा है। इस संबंध में प्रार्थना पत्र उप जिलाधिकारी को दिया था, लेकिन कोई कार्रवाई नहीं हुई। इससे पूरे परिवार को जान का खतरा उत्पन्न हो गया है। वह अपने घर में नहीं घुस पा रहा है। मजबूूरन, उसे परिवार सहित अनशन करने के लिए बैठना पड़ा है। ... और पढ़ें

अवैध शराब पकड़ी

तालबेहट। कोतवाली पुलिस, एसओजी और सर्विलॉस टीम ने शनिवार को हरियाणा से लाई गई 50 लाख की शराब पकड़ी। शराब ट्रक, कार और वैन से बरामद की गई। इस दौरान झांसी निवासी दो आरोपी पकड़े गए जबकि पांच मौके से फरार हो गए।
शुक्रवार की देर रात मुखबिर से पुलिस को सूचना मिली की ट्रक व अन्य वाहनों से हरियाणा से शराब लाई जा रही है। इस पर पुलिस अधीक्षक कैप्टन मिर्जा मंजर बेग ने अपर पुलिस अधीक्षक अवधेश कुमार विजेता और सीओ देवेंद्र सिंह को लगाया। इसके बाद कोतवाली पुलिस, एसओजी और सर्विलांस टीम ने घेराबंदी दी। टीम तेरई फाटक पुलिस चौकी के पास खड़ी होकर वाहनों का इंतजार करने लगी। इस पर ट्रक, कार और एक वैन आती दिखाई दी तो पुलिस ने उनको रोकने का इशारा किया। इस पर वाहन रोककर चालक भागने लगे। पुलिस ने पीछा कर दो वाहनों के चालकों को पकड़ लिया जबकि पांच मौके से फरार हो गए। पुलिस ने ट्रक से 945 पेटी, बिना नंबर की वैन से 20 पेटी, कार से दस पेटी शराब बरामद की। पुलिस ने आरोपियों के पास से दो मोबाइल फोन और 8700 रुपये भी बरामद किए। पुलिस ने बताया कि मौके से झांसी के मोंठ थाना क्षेत्र के गांव टांडा निवासी मानवेंद्र सिंह पुत्र राजेंद्र सिंह और झांसी के नई बस्ती निवासी हिमांशु रायकवार पुत्र महेश चंद्र रायकवार को भी गिरफ्तार किया गया। पुलिस अधीक्षक कैप्टन एमएम बेग ने बताया कि दो आरोपियों को गिरफ्तार किया गया है, जबकि तीन आरोपी लीलाधर दुबे उर्फ कुल्लू निवासी ग्राम बांसी, आफताब पुत्र अज्ञात निवासी ललितपुर, कुनाल जैन पुत्र अज्ञात निवासी गोविंद नगर ललितपुर एवं दो अन्य अज्ञात फरार हैं। पकड़े गए आरोपियों का आपराधिक इतिहास भी है। उनका कहना है कि पकड़ी गई शराब की कीमत 50 लाख रुपये है।
तालबेहट। शराब का जखीरा पकड़ने वाली टीम को पुलिस अधीक्षक कैप्टन मिर्जा मंजर बेग ने 25 हजार रुपये का इनाम की घोषणा की है।
तालबेहट। टीम में प्रभारी निरीक्षक मनोज कुमार वर्मा, एसओजी प्रभारी राजकुमार यादव, सर्विलांस प्रभारी गुलाम हुसैन के साथ कोतवाली तालबेहट के एसआई बचनेश सिंह गौर, तेरई फाटक चौकी प्रभारी विनोद कुमार सिंह, दिनेश पांडेय, धर्मेंद्र सिंह, प्रदीप कुमार, अनूप पटेल, शिवलाल, सुरजीत, सर्विलांस टीम के रविंद्र प्रताप सिंह, रजनी चौहान तथा स्वाट टीम के शत्रुंजय, जायद अली, मनमोहन एवं इमरान साबरी प्रमुख रहे।
... और पढ़ें
police police

बंदूक के साथ सैल्फी लेने के दौरान चली थी गोली

ललितपुर। राजघाट में पल्सर सवार युवकों द्वारा युवक को गोली मारने की घटना में नया मोड़ आ गया है। पुलिस के मुताबिक युवक बंदूक के साथ सेल्फी ले रहा था। उसी दौरान गोली चल गई थी, जिससे वह घायल हो गया था।
पुलिस अधीक्षक कैप्टन एमएम बेग ने घटना का पटाक्षेप करते हुए बताया कि थाना जखौरा के ग्राम बंदपुरा और हाल राजघाट निवासी दीपक यादव (24) पुत्र लाल सिंह यादव समेत सात - आठ युवक राजघाट बांध पर पार्टी कर रहे थे। इसी दौरान दीपक यादव बंदूक से सेल्फी ले रहा था। उसने बंदूक अपने चेहरा की ओर कर ली। इसी दौरान बंदूक चल गई, जिससे वह घायल हो गया था। उसका इलाज झांसी में चल रहा है। बंदूक चलने के बाद कुछ लोग घायल युवक को जिला अस्पताल ले आए, जहां से उसे झांसी रेफर कर दिया गया था। झांसी में इलाज के दौरान चिकित्सकों ने चेहरे से गोली निकाल दी है।
पुलिस अधीक्षक ने बताया कि घटना की जानकारी मिलने पर उन्होंने मौके पर जाकर मुआयना किया और कोतवाली प्रभारी निरीक्षक आलोक सक्सेना, राजघाट चौकी इंचार्ज समेत पुलिस ने घटनास्थल पर छानबीन के दौरान गोली चलने वाली बंदूक भी बरामद कर ली है। आसपास लगे सीसीटीवी कैमरे खंगाले गए और पूछताछ की गई, जिसके बाद सच्चाई सामने आ गई। इस प्रकरण में घटना के दिन घायल दीपक के साथ जिला अस्पताल आए एक युवक ने दीपक को अपना भाई बताते हुए दो पल्सर सवारों पर गोली चलाने के आरोप लगाए थे।
... और पढ़ें

पास्को एक्ट के अपराधी को चार वर्ष की सजा

ललितपुर। अपर जिला एवं सत्र न्यायाधीश (प्रथम/पॉक्सो) उमेश कुमार सिरोही की अदालत ने मध्य प्रदेश के मालथौन निवासी एक युवक को पांच वर्ष पूर्व थाना बालाबेहट के एक गांव में बालिका के साथ छेड़खानी व अश्लील हरकतें करने के मामले में दोषी पाते हुए चार वर्ष के कठोर कारावास एवं चालीस हजार रुपये अर्थदंड की सजा सुनाई है।
पांच वर्ष पूर्व थाना बालाबेहट निवासी एक व्यक्ति ने बालाबेहट थाने में एक रिपोर्ट दर्ज कराते हुए बताया था कि 28 अगस्त 2014 की रात करीब 11 बजे वह अपने घर के दरवाजे पर सोया हुआ था, तभी गांव के ही एक व्यक्ति की पुत्री आई और उसकी पुत्री को तीज पर्व मनाने के लिए अपने साथ ले गई। उसकी पुत्री भी उसके साथ चली गई। काफी देर बाद वह और उसका पुत्र अपनी पुत्री को लिवाने के लिए उसके घर गया, जहां उस व्यक्ति के साले का लड़का थाना मालथौन के कुंवरपुर निवासी बल्लू ने उसकी पुत्री को रात करीब साढ़े बारह बजे उसे अपनी ओर खींच लिया और अश्लील हरकतें करने लगा। उसने जब मना किया तो वह उसे पकड़ने के लिए आगे बढ़ा और अपने फूफा के घर में घुसते समय समय दरवाजे से टकरा गया। उसकी पुत्री इसी खींचतान में गिर गई, जिससे उसे चोटें भी आईं। पुलिस ने बालिका के पिता की तहरीर पर उक्त आरोपी बल्लू के खिलाफ छेड़खानी करने और पाक्सो एक्ट के तहत मुकदमा दर्ज कर न्यायालय में आरोप पत्र प्रस्तुत कर दिए थे।
तब से यह मामला न्यायालय में विचाराधीन चल रहा था। शनिवार को न्यायालय ने अभियोजन पक्ष की ओर से पेश की गई दलीलों, साक्ष्यों व गवाहों के आधार पर सुनवाई करते हुए अभियुक्त बल्लू को पॉक्सो एक्ट में दोषी पाते हुए चार वर्ष के सश्रम कारवास एवं चालीस हजार रुपये अर्थदंड की सजा सुनाई है। अर्थदंड अदा न करने पर छह माह का अतिरिक्त कारावास भी भुगतना होगा। न्यायालय ने यह भी आदेश दिया कि जुर्माना अदा होने पर वसूली गई आधी राशि पीड़िता को दिलाई जाएगी। पैरवी अपर जिला शासकीय अधिवक्ता खु्शीलाल लोधी ने की।
... और पढ़ें

ड्यूटी के दौरान हृदयाघाट से पुलिस कर्मी की मौत

ललितपुर। थाना कोतवाली में तैनात एक पुलिस कर्मचारी को ड्यूटी के दौरान दिल का दौरा पड़ने पर जिला अस्पताल ले ले जाया गया, जहां हालत गंभीर होने पर झांसी रेफर कर दिया, जहां उसकी मौत हो गई। इस दौरान जिला अस्पताल में अव्यवस्थाओं की पोल खुल गई
जिला कन्नौज के विष्णुपुर निवासी हरीओम यादव थाना कोतवाली में हेड कांस्टेबल मुहर्रिर के पद पर तैनात था। शनिवार की दोपहर में लगभग डेढ़ बजे कोतवाली में ड्यूटी के दौरान उसे सीने में तेज दर्द हुआ। उसने साथी पुलिस कर्मचारियों को बताया और बेसुध हो गया। यह देख साथी पुलिस कर्मचारियों ने उसे तत्काल उठाया और एक बाइक पर लेकर जिला अस्पताल पहुंचे, लेकिन अस्पताल परिसर में स्ट्रेचर नहीं होने पर पुलिस कर्मचारियों ने उसे कंधों पर उठाया और जिला अस्पताल के इमरजेंसी वार्ड में ले गए। जहां प्राथमिक उपचार के बाद चिकित्सकों ने झांसी रेफर कर दिया।
इसके बाद एंबुलेंस से झांसी ले गए, जहां मौत हो गई। जब हृदयाघात से पीड़ित पुलिस कर्मी को जिला अस्पताल के इमरजेंसी से बाहर खड़ी एंबुलेंस तक ले जाना पड़ा तो वहां स्ट्रेचर उपलब्ध नहीं था। इसके बाद साथी अन्य पुलिस कर्मचारियों ने मरीज को पलंग सहित उठाया और एंबुलेंस तक ले गए। ऐसा नहीं है कि यही एक मरीज था, जिसे परेशानी उठानी पड़ी, यहां आने वाले मरीजों को अक्सर स्ट्रेचर नहीं मिलता है, जिस पर मरीजों को कराहते हुए इमरजेंसी में जाना पड़ा। यही नहीं इसकी जानकारी लगने के आधा घंटा बाद जब सीएमओ डा.प्रताप सिंह भी इमरजेंसी पहुंचे तो उनके सामने भी एक मरीज आ गया, जिसे स्ट्रेचर उपलब्ध नहीं हो सका। सीएमओ के हड़काने के बाद अन्य स्टाफ ने ऊपरी मंजिल पर रखे स्ट्रेचर को मंगाया गया और परिसर में रखवाया गया। सीएमओ ने सीएमएस को निर्देश दिए कि इमरजेंसी कक्ष के बाहर और परिसर में चार से पांच स्ट्रेचर हर समय उपलब्ध कराए जाएं। स्टाफ के अनुसार कई स्ट्रेचरों को सुधरवाने के लिए भेजा गया है। सीएमओ डा. प्रताप सिंह ने बताया कि इमरजेंसी कक्ष के बाहर स्ट्रेचर ऊपरी मंजिल पर थे, जो मरीजों को ले गए होंगे और फिर वहीं छोड़ दिया होगा। सीएमएस को निर्देश दे दिए हैं कि यहां हर समय चार से पांच स्ट्रेचर उपलब्ध रहें।
... और पढ़ें

दो युवकों की ट्रेन से कटकर संदिग्ध हालात में मौत

ललितपुर में सिपाही को उपचार के लिए ले जाते पुलिस विभाग के कर्मचारी।
दो युवकों की संदिग्ध हालात में ट्रेन से कटकर मौत
ललितपुर। थाना जखौरा क्षेत्र में दैलवारा व जखौरा रेलवे स्टेशन के मध्य बख्तर के पुल के पास डाउन रेलवे लाइन पर शुक्रवार को दोपहर में दो युवकों की संदिग्ध हालात में ट्रेन से कटने से मौत हो गई। दोनों के एक-एक साथ तौलिये से बंधे थे, जबकि मौके पर तीन जोड़ी चप्पलें मिली हैं। पुलिस ने मौके पर पहुंचकर शवों को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया। सीओ और थानाध्यक्ष ने भी मौके पर पहुंचकर छानबीन की।
थाना जखौरा के ग्राम राखपंचमपुर निवासी लक्ष्मन (24) पुत्र स्व. जगत सिंह राजपूत एवं सुजान (25) पुत्र शिवराज सिंह रिश्ते में भाई लगते थे। दोनों खेती बाड़ी करते थे। शुक्रवार को दिन में लगभग पौने दो बजे दोनों दैलवारा व जखौरा के मध्य छहघरा और बख्तर के पुल के पास खंभा नंबर 1052/8 पर डाउन रूट की ट्रेन देहरादून सुपरफास्ट एक्सप्रेस के सामने आ गए, जिससे दोनों की ट्रेन से कटकर मौत हो गई। ट्रेन के चालक ने इसकी सूचना जखौरा रेलवे स्टेशन मास्टर को दी, जिसके बाद जखौरा रेलवे स्टेशन मास्टर से इसका मेमो बनाकर जखौरा थाना पुलिस को दिया। इसके बाद पुलिस ने मौके पर पहुंचकर घटनास्थल का निरीक्षण किया, जहां दोनों के शव एक साथ पड़े थे और उनके एक-एक हाथ तौलिया से बंधे थे।
मामले को संदिग्ध मानते हुए सीओ तालबेहट देवेंद्र सिंह और थानाध्यक्ष जखौरा महेश कुमार ने मौके पर पहुंचकर छानबीन की। शवों के कपड़ों की तलाशी लेने पर एक के पास आधार कार्ड मिला, जिसके आधार पर ग्राम राखपंचमपुर पहुंचकर पुलिस ने परिजनों को जानकारी दी। मौके पर पहुुंचे परिजनों ने शवों की शिनाख्त लक्ष्मन व सुजान के रुप में की। परिजनों के अनुसार मौके पर तीन जोड़ी चप्पलें मिली हैं और दोनों के हाथ बंधे होने के कारण मामला संदिग्ध लग रहा है।
दोनों आपस में भाई लगते थे। इनमें लक्ष्मन की चार माह पहले ही शादी हुई थी, जबकि सुजान का एक बच्चा है। सुजान तीन भाई थे। लक्ष्मन के भाई भरत ने बताया कि दोनों लक्ष्मन व सुजान अलग - अलग खेती करते थे। घटना वाले दिन लक्ष्मन सुबह आठ बजे ही घर से निकल गया था, जबकि सुजान उसी दौरान घर से खेत पर चला गया था। भरत के अनुसार दोनों खेत पर काफी देर तक रहे। शाम करीब चार बजे पुलिस ने घर आकर जानकारी दी, तब घटना के बारे में पता चला।
ट्रेन के ड्राइवर ने जानकारी दी कि दोनों युवक अचानक रेलवे ट्रैक पर आ गए, जिससे ट्रेन से टकराकर उनकी मौत हुई है। मौके पर पहुंचकर घटनास्थल का जायजा लिया गया। फिलहाल कुछ भी कहना संभव नहीं है। देवेंद्र सिंह, क्षेत्राधिकारी तालबेहट।
... और पढ़ें

मिट्टी के तेल से भीगे कपड़े लेकर एसपी के पास पहुंची महिला

ललितपुर। थाना बार अंतर्गत भुजऊपुरा निवासी एक महिला ने पति पर मारपीट कर उसके ऊपर मिट्टी का तेल डालकर आग लगाने का प्रयास करने का आरोप लगाया और मिट्टी के तेल से भीगे कपड़े लेकर एसपी के सामने पेश हुई। पुलिस अधीक्षक ने बार थानाध्यक्ष को आवश्यक कार्रवाई के निर्देश दिए।
थाना बार के ग्राम भुजऊपुरा निवासी राधा अरिवार ने पुलिस अधीक्षक को एक शिकायती पत्र देकर बताया कि उसकी शादी 15 महीने पूर्व हुई थी और उसकी पंद्रह दिन की बच्ची है। शादी के कुछ दिन बाद से ही उसके ससुराली व उसका पति उसे परेशान करने लगे। उसका पति आए दिन शराब पीकर उसके साथ मारपीट करता है और कई बार उसने उसे जान से मारने का प्रयास भी किया। उसके पति रघवीर ने बीते 15 व 16 सितंबर को उसके साथ काफी मारपीट की और उसके ऊपर मिट्टी का तेल डालकर जलाकर मारने की धमकी दी है और मिट्टी का तेल डाल दिया जिससे वह वहां से किसी प्रकार भागी और अपनी मां और भाई के साथ बार थाने गई, लेकिन वहां उसकी सुनवाई नहीं होने पर वह अपनी पंदह-सोलह दिन की बच्ची को लेकर पुलिस अधीक्षक के पास पहुंची, जहां उसने पुलिस अधीक्षक को आप बीती सुनाई और मिट्टी के तेल से भीगे कपड़े भी दिखाए। इस पर पुलिस अधीक्षक ने बार थानाध्यक्ष को उचित कार्रवाई के निर्देश दिए।
... और पढ़ें

नाले में बहने से ग्रामीण की मौत्

ललितपुर। थाना कोतवाली अंतर्गत एक गांव में चेकडैम की पट्टी से नाला पार करते समय एक ग्रामीण नाले में बह गया और उसकी पानी में डूबने से मौत हो गई।
ग्राम रघुनाथपुरा निवासी दयाराम (50 वर्ष) पुत्र खूबे ने बृहस्पतिवार को सुबह लगभग सात बजे खेत पर फसल देखने के लिए जा रहा था लेकिन रास्ते में बरुआ नाला पड़ता है, जो बीते दिवस रात्रि तक बारिश होने के कारण उफान पर था। नाले पर ही चेकडैम बना है, जिसकी पट्टी पर चढ़कर दयाराम नाला पार करने लगा, अभी वह चेकडैम की पट्टी पर कुछ ही आगे बढ़ा कि उसका पैर फिसल गया और वह उफनाते नाले में गिर कर बहने लगा। यह देख आसपास के ग्रामीणों ने बह रहे दयाराम को बचाने का प्रयास किया और कुछ अच्छी तैराकी वाले ग्रामीणों ने नाले में कूदकर उसे बाहर निकाला लेकिन नाले में बहने के कारण दयाराम बेसुध हो गया, जिस पर ग्रामीण उसे जिला अस्पताल ले गए, जहां चिकित्सकों ने उसे मृत घोषित कर दिया। जानकारी मिलने पर पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया।
... और पढ़ें

मलेरिया ने पसारे पैर, क्लीनिकों में मरीजों की भरमार

ललितपुर। जिले में आए दिन हो रही बारिश से मलेरिया ने पैर पसार लिए हैं। इस समय जिला अस्पताल सहित निजी क्लीनिकों में मलेरिया के मरीजों की भरमार देखी जा रही है। इसके मद्देनजर स्वास्थ्य विभाग द्वारा मरीजों की स्लाइड तैयार की जा रही है। अफसरों ने अब तक 48 मरीजों में मलेरिया होने की पुष्टि की है लेकिन वास्तविकता में इसका आंकड़ा कहीं अधिक है। बारिश में मच्छर काफी बढ़ गए हैं। इसकी वजह से लोग मलेरिया की चपेट में आ रहे हैं।
मध्य प्रदेश के जिलों से घिरा होने के कारण जनपद में भी खूब बारिश हो रही है। इससे आए दिन नदी, नाले उफना रहे हैं। कुछ घंटों की बारिश में गोविंद सागर बांध सहित अन्य बांधो के गेट खुल जाते हैं। शहर में ही गली मोहल्लों के खाली प्लाटों में बारिश का पानी भरा है। रही सही कसर सड़कों में बने गड्ढे पूरी कर रहे हैं। सड़कों पर कीचड़ होने से मच्छरों को पनपने का मौका मिल रहा है। वहीं, सिंचाई विभाग की खुली नहरें भी मलेरिया जैसी बीमारियों को बढ़ाने में सहायक साबित हो रही हैं। यही वजह है कि जिले में मच्छरों का प्रकोप बढ़ने से मलेरिया ने भी पैर पसार लिए हैं। आलम यह है कि जिला अस्पताल में आए दिन मलेरिया से ग्रसित मरीज उपचार के लिए पहुंच रहे हैं। कमोबेश यही स्थिति निजी क्लीनिकों की भी है। विभागीय आंकड़ों पर गौर करें तो वर्तमान में जिले में 48 मरीजों में मलेरिया की पुष्टि हुई है। इनमें एक मरीज प्लाजमोडियन फैल्सीपेरम मलेरिया हुआ है। शेष को प्लाजमोडियन वाइवेट मलेरिया पाया गया है। विभाग द्वारा जनवरी 2018 से अगस्त माह तक 42 हजार चार सौ 12 बुखार के मरीजों की जांच की गई है। यदि निजी पैथालोजी में बनाई गई स्लाइड व पाजिटिव मरीजों की संख्या जोड़ी जाए तो मलेरिया के प्रकोप का अंदाजा लगाया जा सकता है। उधर, विभागीय अधिकारियों का कहना है कि विभाग के पास मच्छरों की रोकथाम के लिए दो फागिंग मशीनें हैं, जिन्हें आवश्यकतानुसार चलाया जाता है।
तृतीय चरण में चल रहा संचारी रोग नियंत्रण अभियान
स्वास्थ्य विभाग द्वारा मच्छर जनित बीमारियों व संचारी रोगों की रोकथाम के लिए संचारी रोग नियंत्रण अभियान चलाया जा रहा है जिसमें जलभराव रोकने व साफ-सफाई का कार्य पंचायती राज विभाग व नगर क्षेत्रों में नगरीय निकायों को दिया गया है। वहीं जलभराव व नालियों में पनपने वाले मच्छरों की रोकथाम के लिए मलेरिया विभाग द्वारा लार्वीसाइड स्प्रे व डीडीटी का छिड़काव किया जा रहा है। इसके बाद भी मरीजों की संख्या कम नहीं हो रही है।
मलेरिया दो प्रकार का होता है। इनमें एक सामान्य व एक घातक होता हे। इनमें मस्तिष्क का मलेरिया घातक व प्लाजमोडियम वाइवेट सामान्य होता है।
डॉ. पवन सूद, वरिष्ठ फिजीशियन , जिला अस्पताल
--------
नगर क्षेत्रों में नगर पालिका व ग्रामीण क्षेत्रों में मलेरिया विभाग द्वारा फागिंग कराई जा रही है। वर्तमान में डेंगू के प्रभावित क्षेत्रों में फागिंग कराई गई है। अन्य स्थानों पर लार्वीसाइड का छिड़काव कराया जा रहा है।
मनोज कुमार, जिला मलेरिया अधिकारी
... और पढ़ें

क्षतिग्रस्त होने लगा महरौनी-ललितपुर मार्ग

सिलावन (ललितपुर) ललितपुर-महरौनी मार्ग पर गड्ढे हो गए हैं। इसके अलावा बारिश से गिट्टियां भी उखड़ गई हैं। कई जगह पर मार्ग की ऊपरी परत बारिश में साफ हो गई है। इन हालातों में वाहन चालकों को कठिनाइयों का सामना करना पड़ रहा है। वाहन चालक मार्ग पर उखड़ी पड़ी गिट्टी पर फिसलकर चुटहिल हो रहे हैं। ग्रामीण मार्ग के जल्द ही खस्ताहाल होने का अंदेशा जताने लगे हैं। उन्होंने उच्चाधिकारी का ध्यान इस ओर आकृष्ट कराया हैं।
करोड़ों रुपये की लागत से तैयार ललितपुर-महरौनी मार्ग का निर्माण कार्य टुकड़ों में किया गया था। सबसे पहले इस मार्ग का निर्माण कार्य छिल्ला से लेकर महरौनी स्थित शमशान घाट तक किया गया था। बारिश की वजह से मार्ग पर मौजूद गिट्टी ने तारकोल का साथ छोड़ दिया है। मार्ग पर जगह-जगह गड्डे हो गए हैं। सबसे अधिक मार्ग ग्राम किसरदा, छपरट, समोगर और छिल्ला में क्षतिग्रस्त हो गया है। विभाग ने उन गड्ढों को आसपास की मिट्टी डालकर भर दिया है। मिट्टी डालने से मार्ग कई जगह धंस गया है। मार्ग पर रात दिन भारी वाहनों का आवागमन होता रहता है। लोगों ने मार्ग को दुरुस्त कराने की मांग की है।
नवीनीकरण स्वीकृत हो गया है, बरसात के बाद एग्रीमेंट कर मरम्मत कराई जाएगी। सुबोध कुमार, सहायक अभियंता, लोक निर्माण विभाग
... और पढ़ें

जान जोखिम में डालकर यात्रा करा रहे टैक्सी चालक

ललितपुर। नए मोटर यान अधिनियम लागू होने के बाद भी टैक्सियां फर्राटा भर रही हैं। शुक्रवार को राजघाट मार्ग पर एक टैक्सी पर तो लटककर सफर करते दिखे। टैक्सी चालकों को चालान का भी भय नहीं है जबकि पुलिस सिर्फ बाइक सवारों को ही पकड़ रही है।
सड़क दुर्घटनाओं में बढ़ती मौतों को रोकने के मकसद से शासन ने मोटर यान अधिनियम 2019 लागू कर दिया है जिसमें नियमों का उल्लंघन करने वालों से दो गुना जुर्माना राशि बढ़ाई गई है। इसके बाद भी कई वाहन चालक अधिक कमाई के चक्कर में नियमों को ताक पर रखकर नियमों की अनदेखी कर लोगों की जान से खिलवाड़ कर यात्रा करा रहे हैं। ऐसा ही नजारा शुक्रवार को राजघाट मार्ग पर देखने को मिला। टैक्सी में सामान में सामान के साथ लोग लटककर चल रहे थे। मालूम हो कि
शहर कोतवाली क्षेत्र अंतर्गत ललितपुर महरौनी मार्ग पर एक टैक्सी गाय के बछड़े से टकराकर अनियंत्रित होकर पेड़ से टकरा गई थी जिसमें सवार तीन लोगों की मौत हो गई थी। इसके अलावा टैक्सी में सवार अन्य लोग भी गंभीर रुप से घायल हो गए थे। इससे किसी भी टैक्सी चालक व जिम्मेदार अधिकारियों ने सबक नहीं लिया है जिससे आए दिन सड़कों पर सवारियों को ठूंस - ठूंस कर यात्रा करा रहे हैं।
सहायक परिवहन अधिकारी विवेक कुमार शुक्ला ने बताया कि लोडिंग गाड़ियों व सवारी टैक्सी में अधिक सवारियों को बैठाने का मामला संज्ञान में आया है जिसके खिलाफ जांच कर कार्रवाई की जाएगी।
... और पढ़ें
अपने शहर की सभी खबर पढ़ने के लिए amarujala.com पर जाएं

Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google, और सोशल मीडिया साइट्स, जैसे की Facebook, के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।

Agree