विज्ञापन

सोनीपत

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
Digital Edition

सोनीपत: कंप्यूटर सेंटर संचालक के घर का ताला तोड़कर आभूषण चोरी, 22 लाख रुपये थी कीमत

हरियाणा के सोनीपत के सेक्टर-13 स्थित कंप्यूटर सेंटर संचालक के घर का ताला तोड़कर चोर करीब 22 लाख रुपये के सोने-चांदी के आभूषण ले गए। चोर 400 ग्राम सोने के आभूषण व दो किलो चांदी के आभूषण ले भागे। पीड़ित ने मामले की शिकायत पुलिस को दी है। पुलिस ने चोरी का केस दर्ज कर लिया है। 

सेक्टर-13 निवासी राजेश चौहान ने सेक्टर-27 थाना पुलिस को बताया कि वह कंप्यूटर सेंटर चलाते हैं। 11 मई को वह घर से कंप्यूटर सेंटर पर चले गए थे। उनका बड़ा बेटा व छोटी-बड़ी पुत्रवधू यूपी के नोएडा चले गए थे। उस दिन सुबह साढ़े 11 बजे उनकी पत्नी व छोटा बेटा घर पर ताला बंद कर कहीं बाहर चले गए।

डेढ़ बजे वह अपनी पत्नी को साथ लेकर घर लौटे थे। जब वह घर पहुंचे तो ताला टूटा था। अंदर जाकर देखा तो सामान बिखरा पड़ा था। सूचना के बाद सेक्टर-27 थाना पुलिस मौके पर पहुंची। पुलिस ने जांच करने के साथ ही मौके से फिंगर प्रिंट भी एकत्रित किए। उसके बाद पुलिस टीम शिकायत देने की बात कहकर चली गई।

उसने घर के अंदर जांच की और परिवार के सदस्यों से जानकारी जुटाई। उसने घर से सोने के गले के चार सेट, सोने की 13 अंगूठी, सोने की तीन चेन, सोने की चेन व दो लॉकेट, चार चूड़ियां व दो कंगन, दो कानों के सेट, कानों के कुंडल, एक गिन्नी व एक टीका चोरी मिला।

चोर उनके घर से सोने के 400 ग्राम के आभूषण चोरी कर ले गए। इसके साथ ही चोर चांदी के दो किलो के आभूषण भी ले गए। इनमें कई आभूषण उनके खानदानी थे तो कई खरीदे हुए थे। पुलिस ने राजेश चौहान के बयान पर चोरी का केस दर्ज कर लिया है। 

पुलिस खंगाल रही सीसीटीवी फुटेज
पुलिस टीम क्षेत्र में लगे सीसीटीवी फुटेज खंगाल रही है। पुलिस का दावा है कि चोरों तक पहुंचने के लिए हर संभव प्रयास किया जा रहा है।
 
... और पढ़ें

सोनीपत: फंदे पर लटका मिला गर्भवती का शव, दहेज हत्या का केस

हरियाणा के सोनीपत में ब्रह्म कॉलोनी में संदिग्ध हालात में विवाहिता का शव फंदे से लटका मिला है। सूचना पर पहुंची सिविल लाइन थाना पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर नागरिक अस्पताल में भिजवाया। मृतका के भाई के बयान पर पुलिस ने पति सहित ससुराल पक्ष के चार सदस्यों के खिलाफ दहेज हत्या का केस दर्ज कर लिया है। 

उत्तर प्रदेश के कन्नौज के रहने वाले सन्नी ने पुलिस को बताया कि उन्होंने अपनी बहन अंशिका (27) की शादी करीब सवा साल पहले उत्तर प्रदेश के हरदोई के रहने वाले अभिषेक के साथ की थी। अभिषेक फिलहाल ओल्ड डीसी रोड स्थित ब्रह्म कॉलोनी में रहता है। अभिषेक एक निजी कंपनी में काम करता है।

शादी के बाद से ही उसकी बहन को दहेज की मांग को लेकर परेशान किया जाने लगा। उसे मानसिक व शारीरिक प्रताड़नाएं दी जाने लगी। सन्नी ने बताया कि सोमवार को सूचना मिली कि उसकी बहन ने फंदे से लटककर आत्महत्या कर ली है। उसने आरोप लगाया कि उसकी की दहेज के लिए हत्या की गई है।

सिविल लाइन थाना पुलिस ने सन्नी के बयान पर अभिषेक सहित ससुराल पक्ष के चार सदस्यों के खिलाफ दहेज हत्या का मुकदमा दर्ज कर लिया है। पुलिस ने विवाहिता के शव का पोस्टमार्टम कराकर परिजनों को सौंप दिया। अंशिका करीब छह माह  की गर्भवती थी। 
 
... और पढ़ें

सोनीपत: नाबालिग से दुष्कर्म के दोषी को 20 साल की कैद, 60 हजार रुपये जुर्माना भी लगाया

हरियाणा के सोनीपत में अतिरिक्त जिला एवं सत्र न्यायाधीश सुरुचि अतरेजा सिंह की अदालत ने नाबालिग को बहकाकर ले जाने के बाद दुष्कर्म करने के आरोपी को दोषी करार दिया है। अदालत ने सोमवार को दोषी को 20 साल कैद की सजा सुनाई है। साथ ही 60 हजार रुपये जुर्माना भी लगाया है। जुर्माने राशि में से 50 हजार रुपये पीड़िता को देने के आदेश दिए हैं।

सिटी थाना क्षेत्र में रहने वाली महिला ने 14 फरवरी, 2020 को पुलिस को बताया था कि पत्थर वाली गली में रहने वाला गौतम उर्फ सन्नी उसकी नाबालिग बेटी को बहकाकर ले गया है। पुलिस ने केस दर्ज कर लिया था। बाद में महिला 17 फरवरी, 2020 को बेटी को लेकर पुलिस के पास आई थी। पुलिस ने मेडिकल कराया तो दुष्कर्म की पुष्टि हुई थी।

लड़की की उम्र साढ़े 13 साल थी। उसके कोर्ट के सामने बयान दर्ज कराए गए थे। बाद में पुलिस ने 2 मार्च, 2020 को आरोपी गौतम उर्फ सन्नी को गिरफ्तार कर लिया था। उसने पुलिस को बताया था कि वह 13 फरवरी को नाबालिग को बहकाकर हरिद्वार लेकर गया था। वहां पर उसने उसके साथ दुष्कर्म किया था। पुलिस ने आरोपी को अदालत में पेश कर जेल भेज दिया था।

मामले की सुनवाई के बाद एएसजे सुरुचि अतरेजा सिंह की अदालत ने गौतम उर्फ सन्नी को दोषी करार दिया। अदालत ने सोमवार को दोषी गौतम उर्फ सन्नी को 4 पॉक्सो एक्ट में 20 साल की कैद व 50 हजार रुपये जुर्माना व भादंसं की धारा 363 में पांच साल की कैद व 10 हजार रुपये जुर्माना की सजा सुनाई है। जुर्माना राशि में से 50 हजार रुपये पीड़िता को देने के आदेश दिए हैं। साथ ही जुर्माना न देने पर 15 माह अतिरिक्त कैद की सजा भुगतने के आदेश दिए गए हैं। दोनों सजा एक साथ चलेंगी।
... और पढ़ें

Sonipat: पेट्रोल पंप के सेल्समैन को पिस्तौल दिखाकर 50 हजार रुपये लूटे, तीन बदमाशों ने की वारदात

हरियाणा के सोनीपत जिले के खरखौदा क्षेत्र में सोहटी-बहादुरगढ़ रोड स्थित पेट्रोल पंप केएसके फिलिंग स्टेशन पर बाइक पर सवार होकर आए तीन बदमाशों ने सेल्समैन व अन्य को पिस्तौल दिखाकर करीब 50 हजार रुपये और मोबाइल फोन लूटकर फरार हो गए। वारदात से पहले बदमाशों ने बाइक में 699 रुपये का पेट्रोल भी डलवाया। 

गांव बरोणा निवासी नवीन ने खरखौदा थाना पुलिस को बताया कि वह सोहटी-बहादुरगढ़ रोड स्थित केएसके फिलिंग स्टेशन पर दो साल से सेल्समैन का काम करता है। वीरवार देर शाम वह पेट्रोल पंप पर मौजूद था। उसके साथ दूसरा सेल्समैन लडरावन का रहने वाला राहुल तथा टैंकर हेल्पर लडरावन का आकाश और गढ़ी कुंडल का प्रवीन भी मौजूद थे। इसी दौरान एक बाइक पर सवार तीन युवक पेट्रोल पंप पर पहुंचे।

उन्होंने बाइक में 699 रुपये का पेट्रोल डलवाया। पेट्रोल लेने के बाद पैसे देने के बजाय वह इधर-उधर घूमने लगे। जब उसने युवकों को पैसे देने के लिए कहा तो उनमें से एक युवक ने जेब से पिस्तौल निकालकर उसे काबू कर लिया। उसके बाद आरोपी ने उसकी जेब से करीब 30 हजार रुपये निकाल लिए। 

बदमाश के दो अन्य साथियों ने राहुल, आकाश व प्रवीन पर भी पिस्तौल तान दी। उसके बाद उन्होंने राहुल से करीब आठ हजार रुपये व मोबाइल छीन लिया। उनमें से एक बदमाश ने जबरन नवीन को मैनेजर के कमरे में ले गया और वहां से अलमारी में रखे करीब 12 हजार रुपये लूट लिए। उसके बाद बदमाश हसनगढ़ की तरफ भाग गए। नवीन ने मामले की सूचना पेट्रोल पंप मालिक व पुलिस को दी। सूचना के बाद पहुंची पुलिस ने जांच के बाद लूट का मुकदमा दर्ज कर लिया है। पुलिस बदमाशों का पता लगाने का प्रयास कर रही है। 

बिना नंबर प्लेट की अपाचे पर आए बदमाश, चेहरे पर लगा रखा था मास्क 
नवीन ने पुलिस को बताया कि तीनों बदमाश बिना नंबर प्लेट की अपाचे बाइक पर आए थे। इतना ही नहीं उन्होंने पहचान छिपाने के लिए चेहरे पर मास्क लगा रखा था। तीनों युवकों की उम्र 25 से 26 वर्ष के आसपास बताई गई है। 

सीसीटीवी फुटेज में दिख रहे आरोपी 
पेट्रोल पंप पर लगे सीसीटीवी की फुटेज में आरोपी दिखाई दे रहे हैं। पुलिस ने फुटेज को कब्जे में ले लिया है। पुलिस बदमाशों का पता लगाने का प्रयास कर रही है। 

लगातार वारदात को अंजाम दे रहे बदमाश 
बिना नंबर की अपाचे बाइक सवार तीन बदमाश लगातार वारदात को अंजाम दे रहे हैं। पुलिस के अनुसार सोहटी के पास पेट्रोल पंप पर वारदात को अंजाम देने के कुछ समय बाद ही वह रोहतक के हसनगढ़ स्थित पेट्रोल पंप पर पहुंचे और वहां के सेल्समैन को काबू कर 24 हजार रुपये व दो मोबाइल फोन लूट लिए। वह मोबाइल वहीं तोड़कर फेंक गए। जांच में सामने आया है कि वह पांच दिन में बहादुरगढ़ क्षेत्र में लूट की कई वारदात को अंजाम दे चुके हैं। 
 
... और पढ़ें
खरखौदा में सोहटी-बहादुरगढ़ रोड पर स्थित पेट्रोल पंप जहां लूट की वारदात हुई। लूटपाट करते सीसीटीवी में दिख रहे आरोपी व साथ में सेल्समैन। खरखौदा में सोहटी-बहादुरगढ़ रोड पर स्थित पेट्रोल पंप जहां लूट की वारदात हुई। लूटपाट करते सीसीटीवी में दिख रहे आरोपी व साथ में सेल्समैन।

Sonipat Court News: नवविवाहिता की दहेज हत्या के मामले में पति व सास को सात-सात साल की कैद

हरियाणा के सोनीपत में अतिरिक्त जिला एवं सत्र न्यायाधीश शैलेंद्र सिंह की अदालत ने दहेज हत्या के मामले में सुनवाई करते हुए नव विवाहिता की सास व पति को दोषी करार दिया। अदालत ने दोषी मां-बेटा को सात साल कैद की सजा सुनाई है। 

गांव आहुलाना आजाद सिंह ने 9 मई, 2019 को बरोदा थाना पुलिस को बताया था कि उसकी भतीजी मोनिका (22) की शादी 8 मार्च, 2019 को गांव तिहाड़ खुर्द निवासी विकास के साथ हुई थी। मोनिका के पिता का स्वर्गवास हो चुका है। चाचा आजाद का आरोप था कि उसकी भतीजी मोनिका को ससुराल पक्ष के लोग दहेज की मांग को लेकर परेशान करते थे।

पति के साथ ही उसकी सास पतासो उसकी भतीजी को प्रताड़ित करते थे। मोनिका महर्षि दयानंद विश्वविद्यालय, रोहतक से एमएससी की पढ़ाई कर रही थी। उसकी परीक्षा चल रही थी। ससुराल में प्रताड़ना के चलते वह 5 मई, 2019 को अपनी भतीजी को घर ले आया था। जिसके बाद 8 मई, 2019 को को विकास कार लेकर गांव आहुलाना आया था और मोनिका को अपने साथ ले गया था।

विकास उसकी भतीजी को अपने गांव न ले जाकर गांव रिंढाना में अपने मामा संजय के घर ले गया था। 9 मई, 2019 को तड़के करीब चार बजे परिजनों को मोनिका के बेहोश होने की सूचना दी गई थी। गांव आहुलाना से परिजन मौके पर पहुंचे तो मोनिका बैड पर मृत पड़ी थी और उसके गले में निशान थे।

आजाद ने आरोप लगाया था कि उसकी भतीजी को फांसी पर लटका कर मौत के घाट उतारा गया है। आजाद ने बताया था कि उसकी भतीजी मोनिका ने 8 मई, 2019 की शाम को अपनी मां कृष्णा देवी से मोबाइल पर बातचीत की थी। मोनिका ने कहा था कि वह गलत जगह फंस गई है और उसके बाद फोन कट गया था।

कृष्णा ने बार-बार संपर्क करने की कोशिश की लेकिन बेटी से बातचीत नहीं हुई थी। पुलिस ने आजाद की शिकायत पर भतीजी के पति विकास, सास पतासो व अन्य के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया गया था। पुलिस न आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया था। 

मामले में सुनवाई के बाद एएसजे शैलेंद्र सिंह की अदालत ने पति विकास व सास पतासो को दोषी करार दिया। अदालत ने शुक्रवार को दोषी मां-बेटे को सात-सात साल कैद की सजा सुनाई है।
... और पढ़ें

सोनीपत: सीआईए-2 के बिछाए जाल में फंसे गोगी गैंग के तीन शार्प शूटर, गिरफ्तार कर बरामद किए हथियार

हरियाणा में सीआईए-2 स्टाफ ने ककरोई-बैंयापुर रोड पर राहगीरों को लूटने का षड्यंत्र रच रहे गोगी गैंग के तीन बदमाशों को गिरफ्तार किया है। आरोपी तीन राज्यों यूपी, दिल्ली व हरियाणा पुलिस के वांछित हैं। टीम ने सूचना के बाद आरोपियों की गिरफ्तारी के लिए एएसआई को सादे कपड़ों में राहगीर बनाकर भेजा था। इस दौरान बदमाशों ने एएसआई की कनपटी पर पिस्तौल रख दी। जिससे उनके पीछे चल रही पुलिस टीम ने आरोपियों को दबोच लिया।

एसपी हिमांशु गर्ग ने पत्रकारों से बातचीत में बताया कि सीआईए-2 प्रभारी सुनील कुमार को सूचना मिली थी कि गोगी गैंग के तीन बदमाश ककरोई-बैंयापुर रोड पर लूटपाट करने आए हैं। उन्होंने मंगलवार रात करीब पौने 12 बजे एसआई हरेंद्र के नेतृत्व में गश्त कर रही टीम को सूचित किया। जिस पर एएसआई जितेंद्र कुमार को सादे कपड़ों में राहगीर बनाकर भेजा गया।

पुलिस टीम उनसे करीब 150 मीटर पीछे वाहन की लाइट बंद कर चल रही थी। जब एएसआई बदमाशों के पास पहुंचे तो एक बदमाश ने उनकी कनपटी पर पिस्तौल लगा दी और दो अन्य ने उन्हें पकड़ लिया। इसी बीच पुलिस टीम ने कार्रवाई कर तीनों को दबोच लिया।

उनकी पहचान यूपी के जिला मेरठ के गांव चिंदोडी का रहने वाला अतुल उर्फ मोटा, मेरठ के पावली गांव का सन्नी काकरान व मूलरूप से सोनीपत के गांव आंवली फिलहाल दिल्ली के पुठ कलां स्थित मांगेराम पार्क क्षेत्र का रहने वाला नसरूद्दीन उर्फ नसरू के रूप में हुई।

पुलिस ने तलाशी के दौरान अतुल उर्फ मोटा के पास से 30 बोर की पिस्तौल व पांच कारतूस, सन्नी काकरान उर्फ मनीष के पास से डंडा और नसरूद्दीन के पास से बैटरी मिली। पुलिस ने तीनों को गिरफ्तार कर लिया। उनके खिलाफ सदर थाना में लूट का षड्यंत्र रचने का मुकदमा दर्ज किया गया है। पुलिस ने तीनों आरोपियों को अदालत में पेश कर तीन दिन के रिमांड पर लिया है।

पांच हत्या समेत 18 मामलों में संलिप्तता का लगा पता
एसपी हिमांशु गर्ग ने बताया कि अब तक की पूछताछ में आरोपियों के हत्या, हत्या की कोशिश व लूट के 18 मामलों में संलिप्त होने का पता लगा है। यह आंकड़ा पूछताछ के बाद बढ़ सकता है। आरोपियों से पूछताछ के लिए दिल्ली के साथ ही यूपी के मेरठ की पुलिस ने भी सोनीपत में डेरा डाल लिया है।

मुख्य इन मामलों का लगा पता
  • 25 फरवरी को गुरुग्राम के गांव खोड़ निवासी पूर्व जिला पार्षद परमजीत ठाकरान और उसके भाई सुजीत ठाकरान की गोलियों से छलनी कर हत्या का आरोप है।
  • करनाल में पेट्रोल पंप पर लूटपाट की
  • करनाल में बाइक लूटी थी।
  • 20 मई को यूपी के मेरठ के गांव पावली खुर्द में प्रयाग चौधरी की घर में घुसकर गोली मारकर हत्या का आरोप

सन्नी व अतुल की गिरफ्तारी पर है इनाम
एसपी ने बताया कि सोनीपत पुलिस के हत्थे चढ़े सन्नी काकरान की गिरफ्तारी पर यूपी पुलिस ने एक लाख रुपये व हरियाणा पुलिस ने 10 हजार रुपये इनाम घोषित कर रखा था। वहीं अतुल उर्फ मोटा की गिरफ्तारी पर भी यूपी पुलिस ने एक लाख व हरियाणा पुलिस ने 10 हजार रुपये का इनाम घोषित कर रखा था। नसरूद्दीन उर्फ नसरु दिल्ली में दोहरे हत्याकांड में वांटेड है।

आज तक कुख्यात अतुल को नहीं पकड़ सकी थी पुलिस
एसपी ने बताया कि सीआईए-2 के हत्थे चढ़े तीन बदमाशों में कुख्यात अतुल आज तक पुलिस के हत्थे नहीं चढ़ा था। यूपी मोस्ट वांटेड होने के बाद भी यह अभी तक फरार था। उसे सोनीपत पुलिस ने गिरफ्तार किया है। सन्नी और नसरूद्दीन पहले गिरफ्तार हो चुके है। नसरूद्दीन कुछ माह पहले ही जेल से बाहर आया था।

गोगी गैंग से जुड़े है तार, अब दीपक बॉक्सर के लिए कर रहे काम
गिरफ्तार तीनों आरोपियों के तार दिल्ली के कुख्यात गोगी गैंग से जुड़े है। गोगी की रोहिणी कोर्ट में हत्या हो चुकी है। अब तीनों गोगी गैंग को चला रहे दीपक बॉक्सर के लिए काम कर रहे है।
... और पढ़ें

सोनीपत: कैंटर चालक-क्लीनर को बांधकर सामान लूटने के पांच दोषियों को दस-दस साल कैद

हरियाणा के सोनीपत में अतिरिक्त जिला एवं सत्र न्यायाधीश अजय पराशर की अदालत ने एक कोरियर कंपनी के चालक-क्लीनर को बंधक बनाकर कैंटर और सामान लूटने के मामले में पांच आरोपियों को दोषी करार दिया है। अदालत ने दोषियों को दस-दस साल की कैद व 10-10 हजार रुपये जुर्माने की सजा सुनाई है। 

नई दिल्ली के गौतमनगर निवासी दीदार सिंह ने 26 सितंबर 2016 को पुलिस को बताया था कि उसने अपने कैंटर को एक कोरियर कंपनी में लगा रखा है। उसके कैंटर पर उत्तर प्रदेश के जिला हापुड़ के गांव छज्जुपुर निवासी रामकुमार चालक व दिल्ली के बदरपुर स्थित सौरव विहार का रहने वाला विक्की क्लीनर है। दोनों दिल्ली से कैंटर में कोरियर का सामान भरकर 25 सितंबर 2016 की रात को पंजाब के लुधियाना के लिए चले थे।

रात करीब एक बजे जब वह बड़ी के पास पहुंचे तो इसी दौरान बोलेरो (चार पहिया वाहन) सवार युवकों ने उनके कैंटर को रुकवा लिया था। बोलेरो सवार बदमाश क्लीनर व चालक को पीपलीखेड़ा रोड पर सुनसान स्थान पर पेड़ से बांध गए थे और कैंटर लेकर भाग गए थे। पुलिस ने लूट का मुकदमा दर्ज कर लिया था। पुलिस ने कैंटर को लावारिस हालत में बरामद किया था।

जिसमें से सामान गायब था। बाद में पुलिस ने झज्जर के गांव बागपुर निवासी बिजेंद्र, वजीरपुरा फिलहाल दिल्ली के आंबेडकर कॉलोनी निवासी जयकंवार, दिल्ली के आंबेडकर कॉलोनी निवासी हेमंत व कालीचरण उर्फ कलवा तथा दिल्ली के ढांसा जफरपुर निवासी अमित को गिरफ्तार किया था।

पुलिस ने उनसे सामान, नकदी, मोबाइल फोन तथा घटना में प्रयुक्त बोलेरो गाड़ी को बरामद किया था।  मामले में सुनवाई करते हुए एएसजे अजय पराशर की अदालत ने पांचों आरोपियों को दोषी करार दिया। अदालत ने पांचों दोषियों को दस-दस साल की कैद व 10-10 हजार रुपये जुर्माने की सजा सुनाई है।
... और पढ़ें

सोनीपत: जहरीली शराब बेचने का मुख्य आरोपी डेढ़ साल बाद गिरफ्तार, पांच हजार का था इनाम

सांकेतिक तस्वीर।
हरियाणा के सोनीपत में जहरीली शराब बेचने के मुख्य आरोपी को सीआईए-1 की टीम ने सोमवार रात करीब डेढ़ साल बाद गिरफ्तार कर लिया है। आरोपी सेक्टर-23 निवासी सुमित है। उसकी गिरफ्तारी पर पुलिस ने पांच हजार रुपये का इनाम घोषित किया था। वह आबकारी विभाग से आवंटित शराब ठेके पर जहरीली शराब की बिक्री कर रहा था। उसके ठेके से पुलिस ने नवंबर 2020 में 540 बोतल नकली शराब बरामद की थी। 

नवंबर 2020 में जिले में जहरीली शराब की सप्लाई की गई थी। गांव नैना तारपुर की अवैध शराब फैक्टरी से नकली शराब की सप्लाई जिलेभर में की जा रही थी। केमिकल ज्यादा डाले जाने के कारण शराब जहरीली हो गई थी। इससे जिले में कई लोगों की मौत हो गई थी और कई अन्य की हालत बिगड़ गई थी। पुलिस की जांच में सामने आया था कि इस शराब की शहर में सप्लाई सेक्टर-23 के ठेके से हुई है।

ठेका बैंयापुर के ठेकेदार सतपाल और सेक्टर-23 के रहने वाले सुमित के साझे में था। पुलिस ने ठेके पर रात को छापा मारकर जहरीली शराब की 540 बोतल बरामद की थी। इस शराब को पीकर मरने वालों की पोस्टमार्टम रिपोर्ट में जहरीले रसायन मिथाइल पैराथिआन की मौजूदगी पाई गई थी।

पुलिस ने सतपाल ठेकेदार को उसी समय गिरफ्तार कर लिया था। सुमित राठी का भाई अमित राठी शहर में जहरीली शराब की सप्लाई करता था। पुलिस ने उसको भी पहले ही गिरफ्तार कर लिया था। जबकि सुमित राठी भाग गया था। अब उसे सीआईए की टीम ने गिरफ्तार कर लिया है। 

शहर के इंडियन कॉलोनी, मयूर विहार, शास्त्री कॉलोनी, श्यामनगर, गुमड़ गांव आदि क्षेत्रों में नवंबर 2020 में जहरीली शराब पीने से लोगों की मौत हो गई थी। पुलिस ने नैना ततारपुर में एक मकान के अंदर जहरीली शराब की फैक्टरी पकड़ी थी। वहां पर केमिकल रखे हुए मिले थे। वहां से काफी सामान बरामद किया था। 

सीआईए की पूछताछ में आरोपी सुमित राठी ने बताया कि वह ठेकेदार व सप्लायर अपने भाई अमित के साथ मिलकर नकली शराब को मयूर विहार, शास्त्री कॉलोनी, हनुमान नगर, इंडियन कॉलोनी व गढ़ी ब्राहमणान में सप्लाई करते थे। उसके खिलाफ नौ मामले दर्ज हैं। आरोपी घटना के बाद पुलिस से बचने के लिए दिल्ली, राजस्थान व गुवाहाटी में छिपता रहा। अब मामला शांत हो जाने पर यहां आया तो पकड़ा गया।
 
... और पढ़ें

Sonipat: उधार में शराब देने से मना करने पर गोली मारकर की थी दुकानदार की हत्या, दो को उम्रकैद

हरियाणा के सोनीपत में अतिरिक्त जिला एवं सत्र न्यायाधीश देविंद्र सिंह की अदालत ने शराब ठेके के पास नमकीन व शीतल पेय की दुकान चलाने वाले एक दुकानदार की गोली मारकर हत्या करने के मामले दो आरोपियों को दोषी करार दिया है। दोषियों को अदालत ने उम्रकैद की सजा सुनाई है। एक दोषी को 51 हजार व दूसरे को 50 हजार रुपये जुर्माना किया है। दोषियों पर उधार शराब नहीं देने पर हत्या करने का आरोप था। 

मूलरूप से गांव हलालपुर फिलहाल गांव खेड़ी मनाजात निवासी मनजीत ने 12 मार्च 2018 को कुंडली थाना पुलिस को बताया था कि उसके भाई अनूप (24) की गोली मारकर हत्या की गई है। उसने बताया था कि उसका भाई अनूप गांव खेड़ी मनाजात के पास मल्हा माजरा रोड पर शराब ठेके के पास नमकीन व शीतल पेय की दुकान चलाता था। वह अक्सर ठेके पर सेल्समैन नहीं होने पर शराब बेचने में भी ठेकेदार की मदद करता था।

12 मार्च 2018 की हमलावरों ने अनूप की गर्दन में गोली मारकर हत्या कर दी थी। उसने गांव के ही लोकेश उर्फ लाला व विकास उर्फ विक्की तथा अन्य पर हत्या का आरोप लगाया था। जिस पर पुलिस ने उनके खिलाफ हत्या का मुकदमा दर्ज कर लिया था। मामले में कार्रवाई करते हुए 13 मार्च 2018 की रात को सीआईए स्टाफ सोनीपत की टीम ने आरोपी लोकेश को गिरफ्तार कर लिया था।

बाद में उसके साथी खेड़ी मनाजात निवासी विकास उर्फ विक्की व एक अन्य को गिरफ्तार कर लिया था। पुलिस ने विकास के पास से अवैध पिस्तौल बरामद की थी। आरोपियों ने पुलिस पूछताछ में बताया था कि वह चार दिन पहले शराब के ठेके पर शराब लेने गए थे।

उस दौरान सेल्समैन नहीं था। वहां पर अनूप ही बैठा था। अनूप उनका साथी रहा था। जिसके चलते ही उन्होंने अनूप से उधार में शराब देने को कहा था। उसने शराब देने से मना किया तो उनका झगड़ा हो गया था। इसी के चलते वारदात को अंजाम दिया था।

मामले में सुनवाई करते हुए एएसजे देविंद्र सिंह की अदालत ने लोकेश उर्फ लाला व विकास उर्फ विक्की को दोषी करार दिया है। मंगलवार को अदालत ने भादंसं की धारा-302 में लोकेश व विकास दोनों को उम्रकैद व 50-50 हजार रुपये जुर्माने की सजा सुनाई। वहीं विक्की को हत्या में उम्रकैद के साथ ही अवैध शस्त्र अधिनियम में भी एक साल कैद व एक हजार रुपये जुर्माने की सजा सुनाई है। जुर्माना राशि अदा न करने पर दोषियों को एक साल की अतिरिक्त सजा भुगतनी होगी।
... और पढ़ें

सोनीपत: बच्ची से दुष्कर्म का प्रयास करने के दोषी को दस साल की कैद, 35 हजार रुपये जुर्माना भी लगाया

हरियाणा के सोनीपत में अतिरिक्त जिला एवं सत्र न्यायाधीश सुरुचि अतरेजा सिंह की अदालत ने सात साल की बच्ची से दुष्कर्म का प्रयास करने के आरोपी को दोषी 10 साल कैद की सजा सुनाई है। साथ ही 35 हजार रुपये का जुर्माना भी लगाया है। आरोपी रिश्ते में बच्ची का मामा लगता है। 

गोहाना क्षेत्र की महिला ने 16 अगस्त, 2019 को पुलिस को बताया था कि उसकी शादी जींद जिले में हुई है। वह अपने मायके आई थी। उसकी सात साल की बेटी गली में खेल रही थी। वह घर के अंदर अपने भतीजे के साथ काम कर रही थी। महिला ने बताया कि कुछ समय बाद उसे अपनी बेटी गली में दिखाई नहीं दी थी।
 
इस पर वह अपने भतीजे के साथ उसे तलाश करने लगी। जब वह आंगनबाड़ी के पीछे पहुंचे तो उसे अपनी बेटी के रोने की आवाज सुनाई दी थी। उसने देखा कि रिश्ते में उसके चाचा का लड़का उसकी बेटी को पकड़ा था। वह उसके साथ गलत काम करने का प्रयास कर रहा था। उसे देखकर आरोपी भाग गया था।
 
महिला ने पुलिस को शिकायत देकर केस दर्ज कराया था। मामले में कार्रवाई करते हुए पुलिस ने आरोपी को गिरफ्तार कर लिया था। गिरफ्तार आरोपी की उम्र करीब 17 साल के आसपास थी। उसे जुवेनाइल कोर्ट में पेश कर बाल सुधार गृह भेज दिया गया था। बाद में नए कानून के तहत उसके साथ बालिग की तरह व्यवहार किया गया। 
 
एएसजे सुरुचि अतरेजा सिंह की अदालत ने आरोपी को दोषी करार दिया है। अदालत ने दोषी को 6 पॉक्सो एक्ट में दस साल की कैद व 25 हजार रुपये जुर्माना तथा अपहरण में सात साल की कैद व 10 हजार रुपये जुर्माने की सजा सुनाई है। जुर्माना राशि में से 25 हजार रुपये पीड़िता को देने के आदेश दिए गए हैं। जुर्माना न देने पर 15 माह अतिरिक्त कैद की सजा भुगतनी होगी। दोनों सजा एक साथ चलेंगी।
... और पढ़ें

सोनीपत: पिता की हत्या कर 21 साल तक वेश बदलकर छिपता रहा बेटा, एसटीएफ ने किया गिरफ्तार

हरियाणा के सोनीपत के गांव फतेहपुर में अपने पिता के सिर पर राड से प्रहार कर हत्या करने के आरोपी को एसटीएफ ने 21 साल बाद गिरफ्तार किया है। उसकी गिरफ्तारी पर 25 हजार का इनाम रखा था। भागने के दौरान आरोपी विभिन्न राज्यों में रूप बदलकर फल बेचने से लेकर वाहन चालक तक का काम करता रहा। एसटीएफ ने आरोपी को न्यायालय में पेश किया, जहां से उसको जेल भेज दिया गया।

गांव फतेहपुर निवासी लक्ष्मी देवी ने 3 दिसंबर 2000 को सदर थाना पुलिस को बताया था कि उसके पति बलबीर को बेटे महेश ने सिर पर राड मारकर गंभीर रूप से घायल कर दिया था। उन्होंने उपचार के दौरान अस्पताल में दम तोड़ दिया था। पुलिस ने लक्ष्मी देवी के बयान पर हत्या का केस दर्ज कर लिया था। वारदात के बाद महेश भाग गया था।

कोर्ट ने उसकी गिरफ्तार के लिए वर्ष 2001 में 25 हजार रुपये का इनाम घोषित किया था। बाद में मामले को एसटीएफ को सौंप दिया गया था। एसटीएफ इंस्पेक्टर प्रवीण कुमार ने बताया कि पिता की हत्या करने के बाद आरोपी महेश दिल्ली, उत्तर प्रदेश व राजस्थान में अलग-अलग स्थानों पर रूप बदलकर रहता रहा। एसटीएफ ने आरोपी को सूचना के आधार पर गिरफ्तार कर लिया।  

विधवा से कर ली थी शादी
भागने के दौरान आरोपी की मुलाकात दिल्ली में दो बच्चों की मां से हुई थी। वह विधवा हो चुकी है। आरोपी ने विधवा से आर्य समाज मंदिर में शादी कर ली। उसके बाद उसके साथ रहने लगा था।  
 
... और पढ़ें

सोनीपत: नौकरी लगवाने का झांसा देकर युवती से किया दुष्कर्म, अश्लील वीडियो बनाने का भी आरोप

हरियाणा के सोनीपत जिले की एक युवती ने दिल्ली के युवक पर नौकरी का झांसा देकर दुष्कर्म करने का आरोप लगाया है। आरोप है कि उसे गोहाना रोड स्थित एक होटल में बुलाकर दुष्कर्म किया गया। आरोपी ने शीतल पेय में नशीला पदार्थ पिलाकर और उसकी अश्लील वीडियो बनाया। साथ ही उन्हें वायरल करने की धमकी दी। महिला थाना पुलिस ने आरोपी को गिरफ्तार कर लिया है। 
 
युवती ने महिला थाना पुलिस को बताया कि उसकी दिल्ली के मुकेश कुमार से उसकी जान पहचान सोशल मीडिया पर हुई थी। उसको नौकरी की जरूरत थी। आरोपी ने पिछले दिनों उसे नौकरी लगवाने का झांसा दिया और सोनीपत मिलने आ गया।
 
आरोपी उसे गोहाना रोड स्थित होटल में बुलाया और शीतल पेय में नशीला पदार्थ पिला दिया। उसके बाद उसके साथ दुष्कर्म किया। जब उसको होश आया तो दुष्कर्म का पता लगा। आरोपी ने उसकी वीडियो व फोटो ले लिए। शिकायत करने पर जान से मारने और वीडियो वायरल करने की धमकी दी।

उसके बाद वह वीडियो वायरल करने की धमकी देकर अपने पास बुलाने लगा। उसने महिला थाना पुलिस को शिकायत दी। पुलिस ने मुकदमा दर्ज कर लिया। महिला थाना प्रभारी इंस्पेक्टर कृष्णा की टीम ने आरोपी को गिरफ्तार कर लिया है। उसे अदालत में पेश कर जेल भेज दिया गया।
... और पढ़ें

Fraud: सेवानिवृत्त फौजी के खाते से निकाले 13.50 लाख रुपये, LIC पॉलिसी में ज्यादा मुनाफे दिलवाने का दिया था झांसा

हरियाणा के गन्नौर में सेवानिवृत्त फौजी के खाते से 13 लाख 50 हजार की ठगी हो गई। ठग ने एलआईसी प्रबंधक बनकर फोन किया और बैंक में खाता खुलवाकर उसमें अपना खुद का मोबाइल नंबर डलवा दिया। ठग ने फौजी के खाते का एटीएम कार्ड बनवा कर पैसे निकाल लिए। पुलिस ने फौजी की शिकायत पर ठगी का केस दर्ज किया है। 
 
पुलिस को दी शिकायत में समालखा के गांव महावटी फिलहाल दीपनगर कॉलोनी निवासी ईश्वर ने बताया कि उसने एलआईसी में कुछ पॉलिसी करवा रखी हैं। उनके पास संजीव शर्मा नाम के एक व्यक्ति का फोन आया। फोन करने वाले ने खुद को एलआईसी मुंबई का प्रबंधक बताया। उसने एलआईसी पॉलिसी में ज्यादा मुनाफे दिलवाने का झांसा दिया।
 
जिसके बाद उसके कहने पर उसने आईसीआईसीआई गन्नौर में नया खाता खुलवाया और खाते में संजीव शर्मा का मोबाइल नंबर डलवा दिया। उसने पॉलिसी करने के लिए खाते में रुपये डालने को कहा। इस पर खाते में रुपये भी डलवा दिए। संजीव शर्मा ने उसे अपने सहायक स्टाफ के नंबर दिए।
 
जिनमें आशीष देव मुखर्जी ने खुद को मुख्य लिपिक, विक्रम ने खुद को सहायक प्रबंधक बता कर उससे बात करनी शुरू कर दी। कुछ समय बाद संजीव शर्मा ने उसके फोन उठाने बंद कर दिए। जब उसने अपना बैंक खाता चेक किया तो उसमें से 13 लाख 50 हजार रुपये कम मिले।
 
आरोप है कि संजीव शर्मा ने खाते में मोबाइल नंबर उसका ही होने का फायदा उठाकर गलत तरीके से एटीएम बनवा लिया और अपने साथियों की मदद से उसके खाते से रुपये निकलवा लिए। थाना गन्नौर पुलिस ने ईश्वर की शिकायत पर तीनों व्यक्तियों के खिलाफ ठगी का मामला दर्ज कर कार्रवाई शुरू कर दी है।
... और पढ़ें
  • Downloads
    News Stand

Follow Us

  • Facebook Page
  • Twitter Page
  • Youtube Page
  • Instagram Page
  • Telegram
एप में पढ़ें

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00