बेहतर अनुभव के लिए एप चुनें।
TRY NOW
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
Digital Edition

हरियाणा : हिसार में नेपाली व्यक्ति की बेरहमी से हत्या, ढाबे में चारपाई पर पड़ा मिला शव

हिसार के तोशाम रोड पर स्थित पुलिस नाके से चंद कदमों की दूरी पर नेपाल निवासी 43 वर्षीय रामू के चेहरे पर नुकीले हथियार से वार कर हत्या कर दी गई। रामू का शव बुधवार दोपहर को तोशाम रोड पर स्थित चिकनहट नाम के एक ढाबे में चारपाई पर पड़ा मिला। रामू इस ढाबे में काम करता था।

सूचना मिलते ही सिविल लाइन थाना पुलिस व सीन ऑफ क्राइम टीम मौके पर पहुंची और जांच शुरू की। पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर नागरिक अस्पताल के शवगृह में भिजवाया। मामले में पुलिस ने मृतक रामू के भाई बाबूराम के बयान पर उत्तराखंड निवासी राकेश के खिलाफ हत्या का केस दर्ज कर जांच शुरू कर दी है।

रामू करीब 35 वर्ष पहले नेपाल से भारत आया था। रामू के भाई बाबूराम ने बताया कि रामू तोशाम रोड पर स्थित सड़क किनारे बने चिकन ढाबे में कारिंदा था। रामू के साथ इस ढाबे पर उत्तराखंड निवासी राकेश काम करता था। बाबूराम ने बताया कि राकेश और रामू दोनों ढाबे पर ही सोया करते थे। 

बाबूराम ने पुलिस को बताया कि बुधवार सुबह करीब 11 बजे ढाबा मालिक तलवंडी राणा निवासी दीपक ने उसे फोन कर सूचना दी कि रामू की हत्या हो गई है। उसने बताया कि रामू और राकेश का कुछ दिन पहले झगड़ा हुआ था। इस बारे में रामू ने उसे बताया था। झगड़े के बाद से राकेश उससे रंजिश रखने लगा। 
... और पढ़ें

मोबाइल पर किसी ने भेजा वीडियो तो पिता के उड़े होश...बेटे के साथ कुकर्म कर रहे थे दो नाबालिग

हिसार के एक गांव निवासी 9वीं कक्षा के छात्र से दो नाबालिगों ने कुकर्म किया। मामले का पता तब चला, जब कुकर्म का वीडियो पीड़ित छात्र के पिता के मोबाइल पर किसी ने भेजा। मामले की शिकायत पीड़ित छात्र के पिता ने सदर थाना पुलिस को दी। पुलिस को दी शिकायत में पीड़ित छात्र के पिता ने बताया कि उसका 16 वर्षीय बेटा 9वीं कक्षा का छात्र है। 

पीड़ित के पिता ने बताया कि छह फरवरी की रात करीब नौ बजे उसके मोबाइल पर किसी ने एक वीडियो भेजा। वीडियो में उसके बेटे के साथ दो नाबालिग कुकर्म करते दिखे व एक नाबालिग उनका वीडियो बना रहा था।

शिकायतकर्ता ने बताया कि उसने अपने बेटे से पूछा तो उसने बताया कि 23 जनवरी को तीनों आरोपी उसे बहला-फुसला कर खुदाई के लिए तालाब के पास ले गए। उस दौरान वहां उसके साथ कुकर्म किया गया। आरोपियों ने इस बारे में किसी को बताने पर उसे जान से मारने की धमकी दी थी। पुलिस ने केस दर्जकर जांच शुरू कर दी है।
... और पढ़ें

मास कम्युनिकेशन के छात्र ने हॉस्टल के कमरे में फंदा लगा दी जान, सुसाइड नोट में लिखी ये बात

जीजेयू में मास कम्युनिकेशन के द्वितीय वर्ष के छात्र ने शुक्रवार शाम ब्वॉयज हॉस्टल के कमरे में पंखे से रस्सी के सहारे फंदा लगा जान दे दी। सूचना मिलते ही जीजेयू चौकी पुलिस मौके पर पहुंची और जांच शुरू की। जीजेयू चौकी में एएसआई दीपेंद्र ने बताया कि शाम करीब साढ़े छह बजे उन्हें सूचना मिली कि हॉस्टल के कमरा नंबर 112 में एक युवक ने फंदा लगा लिया है। 

उन्होंने बताया कि मौके पर पहुंचे तो वहां मौजूद मृतक युवक की पहचान फतेहाबाद के गांव भिरड़ाना निवासी 26 वर्षीय महेंद्र सिंह के रूप में हुई। मौके पर मौजूद उसके अन्य साथियों ने बताया कि शुक्रवार दोपहर करीब दो बजे उसने परीक्षा दी थी। उसके बाद वह अपने कमरे में चला गया था। साथियों ने बताया कि महेंद्र सिंह अपने कमरे में अकेला ही रहता था। शाम करीब छह बजे उसे फोन किया तो महेंद्र ने फोन नहीं उठाया। 

मृतक महेंद्र के साथियों ने बताया कि इसके बाद वह हॉस्टल के सुरक्षाकर्मियों के पास गए और उनकी मदद से कमरे को खोलना चाहा लेकिन कमरा अंदर से बंद होने पर रोशनदान का शीशा तोड़कर अंदर देखा तो वहां महेंद्र सिंह पंखे से रस्सी के सहारे लटका मिला। सूचना मिलते ही जीजेयू के वीसी प्रो. टंकेश्वर कुमार, डीएसपी हेडक्वार्टर अशोक कुमार और शहर थाना प्रभारी रिछपाल मौके पर पहुंचे और जांच शुरू की। 

एएसआई दीपेंद्र ने बताया कि मृतक महेंद्र के परिजनों को सूचित कर दिया। देर रात परिजनों के हिसार पहुंचने पर शव को उतारा गया। महेंद्र के पास एक सुसाइड नोट भी बरामद हुआ है। सुसाइड नोट में उसने लिखा है कि मैं अपने माता-पिता और दोस्तों से बहुत प्यार करता हूं। मैं एक लड़की से प्यार करता था और दोस्तों का भी कर्जदार हो गया है। इसलिए जिंदगी से परेशान होकर खुदकुशी कर रहा हूं। मेरी मौत के लिए कोई जिम्मेदार नहीं है।
... और पढ़ें

कार्रवाई: बुरी फंसी 'बबीता जी', आपत्तिजनक टिप्पणी मामले में गैर जमानती धाराओं में केस दर्ज

टीवी सीरियल तारक मेहता का उल्टा चश्मा फेम अभिनेत्री मुनमुन दत्ता के खिलाफ नेशनल अलायंस फॉर शेड्यूल क्लास हयूमन राइट्स के संयोजक रजत कलसन की शिकायत पर थाना शहर हांसी की पुलिस ने एफआईआर दर्ज कर ली है। एफआईआर सेक्शन 153 ए, 295ए भारतीय दंड संहिता व धारा 3(1)(आर), 3(1)(एस), 3(1)(यू) अनुसूचित जाति व जनजाति अत्याचार अधिनियम के तहत दर्ज की गई है। जिन धाराओं में  मुनमुन दत्ता के खिलाफ मुकदमा दर्ज हुआ है। यह सारी धाराएं गैर जमानती हैं। इन धाराओं में अग्रिम जमानत का प्रावधान भी नहीं है। लिहाजा यह केस दर्ज होने के चलते मुनमुन दत्ता उर्फ बबीता मुसीबतों में फंसती नजर आ रही हैं। तारक मेहता का उल्टा चश्मा की अभिनेत्री मुनमुन दत्ता उर्फ बबीता ने इंस्टाग्राम की एक वल्गर सोसायटी नाम के चैनल पर एक वीडियो डाला था। इसमें वे कह रही थी कि उन्हें यूट्यूब पर आना है तथा वे अच्छा दिखना चाहती हैं। उन.... जैसा नहीं दिखना चाहती तथा यह कहकर मुनमुन दत्ता ने अनुसूचित जाति समाज के खिलाफ एक अपमानजनक टिप्पणी कर दी।
... और पढ़ें
मुनमुन दत्ता मुनमुन दत्ता

90 वर्षीय वृद्धा के साथ ये बर्ताव: बहू व पोते ने पीटकर घर से निकाला, वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल

हरियाणा के हिसार जिले के भाटला गांव में 90 वर्षीय बुजुर्ग महिला को बहू व पोते ने पीटकर घर से निकाल दिया। बुजुर्ग महिला रोती बिलखती हुई कई घंटों तक गली में पड़ी रही। इस दौरान ग्रामीणों ने उसका वीडियो बनाकर सोशल मीडिया पर वायरल कर दिया। पुलिस ने बहू व पोते के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर लिया है।

जानकारी के अनुसार गांव भाटला निवासी 90 वर्षीय रजनी देवी के दो बेटे थे। एक बेटे का देहांत हो चुका है जबकि दूसरा रेलवे से रिटायर होने के बाद दिल्ली में रहता है। रजनी गांव में ही बहू के पास रहती है।

आरोप है कि मंगलवार को रजनी को उसकी बहू व पोते ने पीटकर चारपाई व कपड़ों से भरे बैग के साथ घर से निकाल दिया। बुजुर्ग महिला घंटों तक रोते बिलखते हुए गली में पड़ी रही। गांव के कुछ युवकों ने बुजुर्ग महिला की वीडियो बनाकर सोशल मीडिया पर वायरल कर दिया।

मामला पुलिस के संज्ञान में पहुंचते ही एसपी ने मामले में कार्रवाई करने के निर्देश दिए। जिसके बाद भाटला चौकी से पुलिस मौके पर पहुंची और बुजुर्ग महिला के बड़े बेटे को तलब किया।

भाटला चौकी इंचार्ज रामनिवास ने बताया कि फिलहाल बुजुर्ग महिला बड़े बेटे के पास है। आरोपी महिला संतरा व उसके बेटे रिंकू के खिलाफ आईपीसी की धारा 323, 506, 34 के तहत एफआइआर दर्ज कर ली गई है।
... और पढ़ें

हरियाणा: तीन लाख रुपये के लेनदेन में पड़ोसियों पर फायरिंग, गोली लगने से चार गंभीर 

हिसार के मिलगेट क्षेत्र में तीस फुटा रोड पर एक व्यक्ति ने रुपयों के लेनदेन में अपने पड़ोसियों पर फायरिंग कर दी । इसमें चार लोग घायल हो गए। घायलों में मोहन, उसकी पत्नी बबली, बेटा गौतम और भतीजा सोमवीर शामिल है। चारों को सामान्य अस्पताल में भर्ती कराया गया है।

तीस फुटा रोड निवासी रामप्रसाद सोसाइटी चलाता था। इसमें वह लोगों के पैसे का लेनदेन रखता था। इसी रोड पर रहने वाले मोहन से उसे करीब तीन लाख रुपये लेने थे। मोहन का परिवार रुपये नहीं दे रहा था। करीब दो साल से दोनों के  बीच यह विवाद चल रहा था। बताया जा रहा है कि कुछ समय पहले रामप्रसाद ने अपना मकान बेच दिया।

शुक्रवार को वह पिस्टल लेकर आया और मोहन के परिवार पर फायरिंग कर दी। 55 वर्षीय मोहन को जांघ, उसकी पत्नी 50 वर्षीय बबली को हाथ, उनके बेटे 19 वर्षीय गौतम को जांघ में गोली लगी। मोहन के भतीजे 35 वर्षीय सोमवीर को पेट में गोली लगी है। चारों को सामान्य अस्पताल में भर्ती कराया गया है। जहां से सोमवीर को गंभीर हालत में हायर सेंटर रेफर कर दिया गया है।
... और पढ़ें

दर्द : साथी पर लगाया दुष्कर्म का आरोप, पुलिस नहीं कर रही थी सुनवाई, आहत महिला ने खुद को आग लगाई

सुनवाई न होने का आरोप लगा हरियाणा के हिसार की एक महिला ने एचटीएम थाने के बाहर खुद को आग लगा ली। हालांकि मौके पर मौजूद पुलिस कर्मचारियों ने तुरंत महिला पर कपड़ा डालकर आग को बुझा दिया। महिला ने अपने एक सहकर्मी पर दुष्कर्म करने का आरोप लगाया है।

जानकारी के अनुसार, एक महिला मंगलवार सुबह 8 बजे एचटीएम थाने में पहुंची। वहां महिला ने एसएचओ सुरजीत को बताया कि वह एक दवा फैक्ट्री में काम करती थी। यहां उसकी मुलाकात सहकर्मी सुमित से हुई। धीरे-धीरे उनके बीच बातचीत होने लगी। 20 अक्तूबर को सुमित उसे एक होटल में ले गया और वहां नशीला पेय पदार्थ पिलाकर उसके साथ दुष्कर्म किया। साथ ही उसका अश्लील वीडियो भी बना लिया। महिला का आरोप है कि आरोपी उस वीडियो के आधार पर उसे ब्लैकमेल कर बार-बार उसका शोषण करने लगा। एक दिन यह बात उसने अपने पति को बता दी तो पति ने उसे घर से जाने को कह दिया। इससे तंग आकर उसने सोमवार रात घर पर फंदे लगाकर जान देने की कोशिश की, लेकिन परिजनों ने उसे बचा लिया। 


महिला ने एसएचओ से आरोपी के खिलाफ एफआई दर्ज करने की मांग की। इस पर एसएचओ ने महिला को महिला थाने जाकर शिकायत देने को कहा, जिस पर महिला वहां से चली गई। इसके बाद उक्त महिला करीब साढ़े दस बजे दोबारा एचटीएम थाने में पहुंची। उसने कहा कि महिला थाने में उसकी सुनवाई नहीं हुई। इस पर एसएचओ ने महिला से कहा कि आप बैठो, मैं किसी महिला कर्मचारी को आपसे शिकायत लेने के लिए भेजता हूं। 

करीब पांच मिनट बाद उक्त महिला थाने के बाहर आई और पास में झाड़ियों में रखी मिट्टी के तेल की बोतल अपने साथ ले आई। महिला ने थाने के गेट पर बोतल से खुद पर तेल छिड़क लिया और माचिस जला खुद को आग लगा ली। मगर मौके पर मौजूद पुलिस कर्मचारियों तुरंत महिला के हाथ से बोतल छीनी और कपड़ा डालकर आग को बुझाया। आग से महिला के कुछ कपड़े ही जले हैं। फिलहाल महिला के पति को भी थाने में बुला लिया गया है और महिला के बयान दर्ज किए जा रहे हैं।
... और पढ़ें

हरियाणा : नवविवाहित प्रेमी जोड़े का अपहरण, हत्या की नीयत से दुल्हन के घरवालों ने की थी वारदात

हिसार में महिला ने थाने के बाहर खुद को आग लगाने का प्रयास किया।
नवविवाहित प्रेमी जोड़े का अपहरण दोनों की हत्या के लिए किया गया था। दूल्हे के दोस्त ने मंगलवार को दुल्हन के पिता समेत आठ लोगों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कराया तो पुलिस ने पिता समेत चार आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया। बुधवार को आरोपियों को अदालत में पेश किया जाएगा। पुलिस के अनुसार प्रेमी युगल का अपहरण जान से मारने की नीयत से किया था।

पुलिस को दी शिकायत में दूल्हे के दोस्त ने बताया कि उसके पास दूल्हे का फोन आया था कि वह सोमवार को कोर्ट मैरिज करेगा। उसने दोस्त को बुलाया। दोस्त एक अन्य साथी के साथ वहां पहुंचा और कोर्ट से कागज तैयार करवाकर एक मंदिर में उनकी शादी करवाई।

शाम करीब छह बजे दूल्हा अपनी दुकान पर पहुंचा तो वहां से दुल्हन को आरोपी बाइक पर बिठाकर और दूल्हे को कार में डालकर ले गए। इस मामले की सूचना मिलते ही सोमवार रात करीब 10:45 बजे एसपी बलवान सिंह राणा, डीएसपी अशोक कुमार, डीएसपी जोगिंदर शर्मा, डीएसपी अभिमन्यु लोहान व सीआईए स्टाफ मिलगेट थाने पहुंच गए।

यह भी पढ़ें-
पुलिस को मिली सफलता : एक्सिस बैंक से चार करोड़ रुपये चोरी करने वाले सिक्योरिटी गार्ड को दबोचा

पुलिस की तत्परता से दुल्हन को सेक्टर-1/4 से व दूल्हे को एयरपोर्ट चौक से बरामद किया गया। दूल्हे के दोस्त ने दुल्हन के पिता समेत उनके पक्ष के 6 नामजद व दो अन्य के खिलाफ धारा 147, 148, 323 और 364 के तहत केस दर्ज कराया। पुलिस ने कार्रवाई करते हुए दुल्हन के पिता व तीन अन्य को गिरफ्तार कर लिया।

इसलिए किया था अपहरण
पुलिस पूछताछ में आरोपियों ने बताया कि उनकी बेटी ने उनकी मर्जी के खिलाफ शादी की है। जिससे उनमें रोष है। इसी रोष के चलते उन्होंने उसका अपहरण किया था। मामले में पुलिस ने बताया कि आरोपी नवविवाहित जोड़े को जान से मारने की नीयत से उठा ले गए थे। पुलिस ने आरोपियों से वारदात में प्रयुक्त बाइक को भी बरामद कर लिया है। पुलिस ने नवविवाहित जोड़े को सेफ हाउस भेज दिया है। बाकी आरोपियों की तलाश जारी है।

यह भी पढ़ें- सिद्धू की सक्रियता बढ़ी : क्या नई पार्टी बनाएंगे 'गुरु', पंजाब में चुनाव से पहले नए समीकरण के संकेत
... और पढ़ें

हरियाणा : हिसार एयरपोर्ट के नजदीक व्यक्ति का अधजला शव बरामद, हत्या की आशंका

हिसार एयरपोर्ट के नजदीक बाईपास पर सड़क किनारे शनिवार अलसुबह एक व्यक्ति का अधजला शव बरामद हुआ है। मामले की सूचना मिलने पर संबंधित थाना पुलिस मौके पर पहुंची और जांच शुरु की। इस दौरान मौके पर अधजले शव को देखकर काफी संख्या में लोग एकत्रित हो गए।

पुलिस ने मौके पर पहुंचकर मामले की जांच शुरु की तो एक काले रंग की स्कूटी भी मिली है। पुलिस ने प्राथमिक जांच करते हुए शव को कब्जे में लेकर शहर के नागरिक अस्पताल में शव को शिनाख्त के लिए रखवाया है।

पुलिस को मौके पर आत्महत्या से संबंधित कोई साक्ष्य नहीं मिले हैं। जिसके चलते पुलिस मामले में हत्या का शक जता रही है। मामले में पुलिस ने स्कूटी बरामद कर नंबर की जांच करवाई है।
 
पुलिस से मिली जानकारी के अनुसार स्कूटी का नंबर यमुनानगर का है। डीएसपी नारायण चंद ने बताया कि उन्हें सुबह के समय सूचना मिली, जिसके बाद मौके पर पहुंचकर मामले की जांच शुरु की है।
 
डीएसपी का कहना है की वारदात स्थल से आत्हत्या से संबंधित कोई साक्ष्य बरामद नहीं हुए है। प्राथमिक जांच में लगता है कि इस व्यक्ति की हत्या कर यहां पर शव जलाया गया है। वहीं मौके पर पहुंचे एक परिवार ने संभावना जताई है कि यह उनके परिवार का हो सकता है। फिलहाल पुलिस मामले की जांच में जुटी है।
... और पढ़ें

हरियाणा : फंदे पर लटका एमबीबीएस का छात्र, सुसाइड नोट में लिखा- जीवन से निराश हूं, बस जिये जा रहा हूं

अग्रोहा मेडिकल कॉलेज के एमबीबीएस प्रथम वर्ष के छात्र आशीष ने सोमवार को हॉस्टल के कमरे में फंदा लगाकर आत्महत्या कर ली। रूममेट कमरे पर आया तो उसने उसे फंदे पर झूलता देखा और इसकी सूचना स्टाफ को दी। इसके बाद पुलिस ने मौके पर पहुंचकर शव को फंदे से उतारा और जांच शुरू की। 

दरअसल, यमुनानगर जिले के जगाधरी के सेक्टर-17 निवासी करीब 22 वर्षीय आशीष अग्रोहा स्थित महाराजा अग्रसेन मेडिकल कॉलेज में एमबीबीएस प्रथम वर्ष का छात्र था। सोमवार को दोपहर करीब 3:30 बजे हॉस्टल के कमरे में जब वह अकेला था तो उसने रस्सी से पंखे के सहारे फंदा लगा लिया। इस दौरान उसने डेढ़ पेज का एक सुसाइड नोट भी छोड़ा है। पुलिस ने शव और सुसाइड नोट दोनों को कब्जे में ले लिया है। 

नहीं खोला दरवाजा तो अनहोनी का हुआ अंदेशा
घटना के बारे में तब पता चला, जब उसका रूममेट प्रैक्टिकल देने के बाद कमरे में आया। कमरा अंदर से बंद था। काफी देर खटखटाने के बाद भी जब दरवाजा नहीं खुला तो उसने प्रशासन को इसकी सूचना दी। इसके बाद हॉस्टल वार्डन और प्रशासन के अधिकारियों ने मौके पर पहुंचकर कमरा खोलने का प्रयत्न किया। कमरा नहीं खुला तो अनहोनी का अंदेशा भांपते हुए पुलिस को सूचित किया गया। पुलिस ने मौके पर पहुंचकर दरवाजा खोला तो आशीष फंदे से लटकता मिला।
... और पढ़ें

हिसार में हादसा : डंपर से टकराई पिकअप, दो महिलाओं समेत तीन लोगों की मौत, 11 घायल

अग्रोहा में लांधड़ी टोल प्लाजा के नजदीक भातियों से भरी गाड़ी सोमवार रात करीब 10 बजे डंपर से टकरा गई। हादसे में दो महिलाओं सहित तीन लोगों की मौत हो गई। मरने वालों में मैक्सिमो (पिकअप) का चालक भी शामिल है। हादसे में गाड़ी में सवार 11 लोग घायल भी हुए हैं, जिन्हें अग्रोहा मेडिकल कॉलेज के अस्पताल में दाखिल कराया गया है। मृतकों की पहचान मीरकां गाव निवासी 40 वर्षीय गाड़ी चालक राजेंद्र और 45 वर्षीय शांति देवी और मंगाली निवासी 72 वर्षीय लक्ष्मी देवी के रूप में हुई है। 

दुर्घटना की सूचना मिलने के बाद अग्रोहा थाना पुलिस मौके पर पहुंची और शवों को कब्जे में ले लिया। इनमें से राजेंद्र और शांति देवी के शव को नागरिक अस्पताल हिसार लाया गया, जहां पोस्टमार्टम करवाकर शव परिजनों को सौंप दिए। वहीं लक्ष्मी देवी के शव का पोस्टमार्टम अग्रोहा मेडिकल कॉलेज में करवाया गया। इस मामले में पुलिस ने मृतकों के परिजनों के बयान पर डंपर चालक के खिलाफ केस दर्जकर जांच शुरू कर दी है। हादसे के बाद से डंपर चालक मौके से फरार है। 

बिना इंडिकेटर के खड़े डंपर के कारण हुआ हादसा  
मृतक के परिजनों ने पुलिस को दिए बयान में बताया कि राजेंद्र गाड़ी चलाने का काम करता था। सोमवार सुबह वह मीरकां गांव से एक परिवार के करीब 13 सदस्यों को लेकर खैरमपुर गांव गया था। यह लोग भात भरने के लिए गए थे। लौटते समय सड़क पर बिना इंडिकेटर के खड़े डंपर से पिकअप की टक्कर हो गई।
... और पढ़ें

हिसार : निजी अस्पताल की डॉक्टर पर गर्भवती को हाई डोज देकर जबरदस्ती प्रसव करवाने का आरोप, महिला की मौत

हरियाणा के हिसार शहर के एक निजी अस्पताल में महिला की प्रसव के बाद मौत हो गई। निजी अस्पातल की महिला डॉक्टर पर हाई डोज देकर जबरदस्ती प्रसव कराने का आरोप परिजनों ने लगाया है। इस दौरान अस्पताल स्टाफ, डॉक्टरों और परिजनों के बीच काफी बहस भी हो गई। हालांकि कुछ देर बाद ही शहर थाना पुलिस अस्पताल पहुंची और परिजनों को शांत करवाया। इसके बाद परिजनों ने पुलिस को शिकायत दी। 

पुलिस और अस्पताल की महिला डॉक्टर के बीच काफी देर तक गुफ्तगू हुई। मगर महिला के परिजन महिला डॉक्टर की गिरफ्तारी की मांग को लेकर अड़े हैं और काफी देर तक रोष प्रदर्शन कर हंगामा भी किया। हालांकि, शनिवार शाम को महिला ने बेटे को जन्म दिया था, जो बिल्कुल ठीक है। अभी पुलिस मामले की जांच में जुटी है।

मिल गेट एरिया के सेक्टर-14 निवासी महिला के देवर आशु ने बताया कि शनिवार दोपहर करीब 11:00 बजे वह और उसके परिजन रोहिणी को सामान्य जांच के लिए एक निजी अस्पताल लाए थे। यहां आने के बाद महिला डॉक्टर ने रोहिणी के कुछ टेस्ट किए और बाद में कहा कि रोहिणी की डिलीवरी होने वाली है और कुछ समय लगेगा। इसके चलते महिला डॉक्टर ने रोहिणी को अस्पताल में दाखिल किया और जल्द डिलीवरी के लिए दवा दी। देर शाम तक रोहिणी की डिलीवरी हुई। मगर इसके बाद रोहिणी की हालत गंभीर होती गई और ब्लीडिंग भी काफी हुई। 

इस दौरान महिला डॉक्टरों ने करीब 12 यूनिट ब्लड मंगवाया। फिर भी रोहिणी की हालत में कोई सुधार नहीं हुआ। इस बारे में उन्होंने कई बार महिला डॉक्टर से बातचीत की और डॉक्टर ने कहा कि ठीक हो जाएगी। मृतका के परिजनों का आरोप है कि महिला डॉक्टर ने रोहिणी को जबरदस्ती डिलीवरी करवाने के लिए हाई डोज दी, जिससे उसकी मौत हो गई।
... और पढ़ें

जेल में गुजरेगी जिंदगी: शेखपुरा तिहरे हत्याकांड के आठ दोषियों को उम्रकैद, सभी पर 42-42 हजार रुपये का जुर्माना

हांसी क्षेत्र के शेखपुरा गांव में करीब चार साल पहले 13 मार्च 2017 को फाग के दिन हुए तिहरे हत्याकांड के मामले में एडीजे वीपी सिरोही की अदालत ने शुक्रवार को सभी आठ दोषियों को उम्रकैद की सजा सुनाई। अदालत ने अशोक, उमेद, संदीप, सुभाष, कृष्ण, रामफल, अजीत और दलेल को दो मार्च को दोषी करार दिया था। 

सजा का दिन मुकर्रर होने के चलते सुबह से ही अदालत परिसर में सुरक्षा कड़ी कर दी गई थी। सभी दोषियों को सेंट्रल जेल-1 से सुबह करीब 10 बजे पुलिस गाड़ी में लाया गया, जहां उन्हें बख्शीखाना में रखा गया। उसके बाद सुबह एक बार अदालत में हाजिर किया गया। जज ने उन्हें दोपहर बाद लाने के निर्देश दिए। दोपहर तीन बजे अदालत में उन्हें फिर से हाजिर किया गया, जहां जज ने उन्हें उम्रकैद की सजा सुनाई। 

42-42 हजार रुपये जुर्माना
अदालत ने सभी दोषियों को धारा 302, 307, 325, 323, 506, 147, 148 सहित अन्य धाराओं के तहत सजा सुनाई और जुर्माना लगाया। जुर्माना नहीं भरने पर दोषियों को अतिरिक्त सजा भुगतनी होगी। सभी दोषियों पर 42-42 हजार रुपये जुर्माना लगाया गया है। इसके अलावा आर्म्स एक्ट के कारण सुभाष पर दो हजार और संदीप पर पांच हजार रुपये अतिरिक्त जुर्माना और लगाया गया है। 

यह था मामला : शेखपुरा गांव में बलबीर गुर्जर गुट और सुभाष गुर्जर गुट में 13 मार्च 2017 को फाग के दिन खूनी संघर्ष में गोली लगने से मुकेश, प्रदीप और रामकुमार की मौत हो गई थी। मामले में हांसी सदर थाना पुलिस ने शेखपुरा निवासी संजय की शिकायत पर हांसी के सदर थाने में 23 नामजद व 4-5 अन्य के खिलाफ केस दर्ज किया था।
... और पढ़ें
Election
  • Downloads

Follow Us

विज्ञापन