बेहतर अनुभव के लिए एप चुनें।
INSTALL APP
विज्ञापन

सहारनपुर

विज्ञापन
कालाष्टमी प्राचीन कालभैरव मंदिर दिल्ली में पूजा और प्रसाद अर्पण से बनेगी बिगड़ी बात, अभी बुक करें
Myjyotish

कालाष्टमी प्राचीन कालभैरव मंदिर दिल्ली में पूजा और प्रसाद अर्पण से बनेगी बिगड़ी बात, अभी बुक करें

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
Digital Edition

सहारनपुर में गिरोह का पर्दाफाश: दबोचे गए तीन तस्कर, 1.25 करोड़ की स्मैक बरामद, खुले कई बड़े राज

सहारनपुर जनपद में कोतवाली मंडी पुलिस ने मादक पदार्थ तस्करों का ऐसा गिरोह दबोचा, जो दिखाने के लिए बैंक से ऋण दिलाने का काम करता था, जबकि इसकी आड़ में मादक पदार्थ की तस्करी कर रहे थे। गिरफ्तार तीन आरोपियों के पास से एक किलो 150 ग्राम स्मैक, तीन तमंचे, 13 मोबाइल फोन और कार बरामद हुई। पुलिस का दावा है कि अंतरराष्ट्रीय बाजार में बरामद स्मैक की कीमत 1.25 करोड़ रुपये है। 

कोतवाली मंडी में पत्रकार वार्ता के दौरान सीओ प्रथम प्रीति यादव ने बताया कि सूचना के आधार पर कोतवाली मंडी पुलिस ने रविवार की रात में शकलापुरी रोड से शिवम खुराना निवासी विजयनगर, शुभम निवासी पटेलनगर और अमर राणा निवासी शारदानगर को मुठभेड़ के बाद पकड़ा है। इनके साथी सद्दाम निवासी गांव काजीपुरा व साहिल निवासी नवादा रोड कोतवाली सदर बाजार भागने में कामयाब रहे। इनमें से अमर राणा मूलरूप से मेरठ गांव सलावा थाना सरधना का रहने वाला है। आरोपियों के पास से 58 हजार की नकदी, दो इलेक्ट्रानिक कांटे भी बरामद हुए हैं। 

यह भी पढ़ें:
मौत का खौफ: कैंसर ने छीनीं इतनी जिंदगियां, हर तरफ फैला डर... जान की दुश्मन बनी ये बड़ी वजह, सरकार से मदद की गुहार

बरेली से लाकर करते थे सप्लाई 
सीओ प्रीति यादव ने बताया आरोपी बरेली से स्मैक लेकर आते थे, जिसे वह देहरादून, यमुनानगर, मुजफ्फरनगर, मेरठ, शामली में सप्लाई करते थे। आरोपी लंबे समय मादक पदार्थों की तस्करी कर रहे थे। 

यह भी पढ़ें: यूपी: कैराना में गरजे सीएम योगी, बोले- किसी अपराधी ने दुस्साहस किया तो दूसरे लोक भेज देंगे

दिखाने के लिए ले रखी थी बैंकों की एजेंसी 
सीओ प्रीति यादव ने बताया कि आरोपी विभिन्न बैंकों के एजेंसी होल्डर के रूप में काम करते थे। इनके पास सरकारी व निजी बैंकों की एजेंसी हैं। सिर्फ दिखाने के लिए आरोपियों ने एजेंसी ले रखी थी, लेकिन इनका मुख्य कार्य मादक पदार्थों की तस्करी करना था। बैंक अधिकारियों को भी इस बात की जानकारी नहीं है कि आरोपी गलत धंधे में लिप्त हैं। इन्होंने अपने सभी सही दस्तावेज जमा करके ही एजेंसी ली थी।
... और पढ़ें

सहारनपुर में मुठभेड़: पुलिस ने चार गोकशों को दबोचा, शातिर किस्म के अपराधी हैं पकड़े गए गोकश, दो तमंचे-छुरी बरामद

सहारनपुर जनपद के छुटमलपुर में फतेहपुर पुलिस ने सोमवार की रात में कलसिया मार्ग पर मुठभेड़ के बाद चार गोकशों को गिरफ्तार किया है। आरोपियों के पास से 130 किलो गोमांस, फर्जी नंबर प्लेट लगी सेंट्रो कार, दो तमंचे और दो छुरी बरामद हुई हैं। पुलिस ने रिपोर्ट दर्ज कर आरोपियों को जेल भेज दिया। पकड़े बदमाशों में से एक पर बीस और अन्य पर दस-दस मुकदमे विभिन्न थानों में दर्ज हैं।
 
थानाध्यक्ष सत्येंद्र नागर ने बताया कि सोमवार की रात में पुलिस टीम फतेहपुर कलसिया मार्ग पर गश्त कर रही थी। भटपुरा बाईपास पर एक कार को जब टीम ने रुकने के लिए हाथ दिया तो उसमें सवार बदमाशों ने पुलिस पर फायर कर कार दौड़ा दी। टीम ने पीछा कर कार सवारों की घेराबंदी कर दबोच लिया। कार की तलाशी लेने पर उसमें से 130 किलो गोमांस, दो तमंचे 315 बोर और दो छुरी बरामद हुई। पशु चिकित्सक से मांस का परीक्षण कराने पर उसके गोमांस होने की पुष्टि हुई है। पकड़े गए वकील उर्फ छोटा, शहनवाज, शोएब निवासी गंदेवड़ा थाना फतेहपुर और शेरू निवासी मोहम्मदपुर गाडा थाना जनकपुरी ने पूछताछ में बताया कि वे गोवध कर गोमांस को फर्जी नंबर प्लेट लगी कार से आसपास के गांवों में सप्लाई करते हैं।

एसओ ने बताया कि उक्त चारों के खिलाफ संबंधित धारा में रिपोर्ट दर्ज कर उन्हें कोर्ट में पेश किया। कोर्ट ने उन्हें जेल भेजा। 

यह भी पढ़ें: 
कबाड़ियों के बड़े कारनामे: आखिर खुल गए अहम राज, पुलिस ने तीन आरोपियों को रंगेहाथ दबोचा, देखिए तस्वीरें

शातिर किस्म के अपराधी हैं पकड़े गए गौकश
पकड़े गए गोकश शातिर किस्म के अपराधी हैं। इनमें से वकील पर विभिन्न थाना क्षेत्रों में 20 मुकदमे दर्ज हैं। जबकि शहनवाज पर 12, शेरू पर दस और शोएब पर नौ मुकदमे विभिन्न अपराधों के दर्ज हैं।

यह भी पढ़ें: सामने आया बड़ा खेल: अफसरों ने खूब भरी जेब, पोल खुली तो अधिकारियों में मचा हड़कंप, देखिए तस्वीरें
... और पढ़ें

शादीशुदा युवक ने किया दूसरा विवाह: पता चलने पर उड़े परिजनों के होश, दुष्कर्म के मामले में जेल गया आरोपी पति

सहारनपुर जनपद में पहले से शादीशुदा युवक ने दूसरी शादी कर ली। इसका पता जब उसकी दूसरी पत्नी को लगा तो आरोपी ने उसे प्रताड़ित किया। पीड़िता के पिता ने एसपी देहात को तहरीर देकर कार्रवाई की मांग की। 

थाना नागल क्षेत्र निवासी एक व्यक्ति ने बताया कि कुछ समय पूर्व उसने अपनी पुत्री की शादी कोतवाली रामपुर मनिहारान क्षेत्र में की थी। शादी के करीब छह माह बाद पता चला कि उसका पति पहले से शादीशुदा है, जिसने पहली पत्नी को छोड़ रखा है। इसका विरोध करने पर प्रताड़ित किया। कई- कई दिनों तक भूखा-प्यासा रखा गया। इसी बीच आरोपी ने एक महिला के साथ दुष्कर्म भी किया, जिस मामले में वह जेल गया। 

यह भी पढ़ें: 
पति-पत्नी की मौत: घर से एक साथ उठीं अर्थी तो हर किसी की आंखें हुईं नम, बेटे ने एक ही चिता पर दी मुखाग्नि, तस्वीरें

पीड़ित पिता का आरोप है कि ससुराल पक्ष के लोगों ने भी उसकी पुत्री को परेशान किया। पुत्री छह माह से मायके में रह रही है। पीड़ित ने एसपी देहात से रिपोर्ट दर्ज करने की मांग की। एसपी देहात अतुल शर्मा ने बताया कि जांच के बाद रिपोर्ट दर्ज की जाएगी।

यह भी पढ़ें: खौफनाक वारदात: कॉलेज जा रही थी शिक्षिका, बदमाशों ने दिनदहाड़े मार डाला, देखिए तस्वीरें
... और पढ़ें

सहारनपुर में मुठभेड़: व्यापारी से 1.62 लाख लूटने वाले तीन बदमाश दबोचे, असलाह बरामद

सहारनपुर में हथियारों के बल पर व्यापारी से 1.62 लाख की नकदी लूटने वाले तीन बदमाशों को क्राइम ब्रांच और थाना सरसावा पुलिस ने मुठभेड़ के बाद गिरफ्तार किया है। आरोपियों के पास से 70 हजार की नकदी व हथियार बरामद हुए है। 

एसपी सिटी राजेश कुमार ने प्रेस वार्ता में बताया कि जनपद शामली के गांव बंतीखेड़ा निवासी व्यापारी कमलजीत पुत्र प्रवीण कुमार से 23 नवंबर को थाना सरसावा क्षेत्र में गांव जगहेता के जंगल में चार बदमाशों ने हथियारों के बल पर 1.62 लाख की नगदी से भरा बैग लूट लिया था। बैग में जरूरी दस्तावेज भी थे। विरोध करने पर बदमाशों ने तमंचे से फायर भी किया था। रिपोर्ट दर्ज कर बदमाशों को पकड़ने के लिए पुलिस टीम को लगाया था। 

यह भी पढ़ें: 
टूट गए जिंदगी के वादे: जिनके साथ लिए सात फेरे, उन्हीं को उतारा मौत के घाट, खौफनाक हैं दो विवाहिता के मर्डर की कहानियां

वहीं सोमवार की रात क्राइम ब्रांच और सरसावा पुलिस ने गांव कुम्हारहेड़ा के जंगल से मुठभेड़ के बाद नीटू पुत्र अतर सिंह, पोपीन पुत्र शिवपाल निवासी गांव सुनेहटी कोतवाली देवबंद व पदम पुत्र इंद्रपाल निवासी गांव कुम्हारहेड़ा थाना सरसावा को गिरफ्तार किया, जबकि मौके से आरोपियों का एक साथी भागने में कामयाब रहा। 

यह भी पढ़ें: एक्सक्लूसिव रिपोर्ट: चौंकाने वाला खुलासा, कोरोना संक्रमण से मरने वाले लोग होने लगे जिंदा, पढ़िए क्या है पूरा मामला 

पुलिस ने आरोपियों के पास से लूट के 70,500 रुपये, एक बाइक, दो तमंचे, एक चाकू बरामद किया है। आरोपियों ने व्यापारी से लूट करना स्वीकार किया है। एसपी सिटी का कहना है कि आरोपियों का आपराधिक इतिहास है। आरोपी लूट के मामले में पहले भी जेल जा चुके हैं। इन पर गैंगस्टर की कार्रवाई भी जाएगी।
... और पढ़ें
आरोपी गिरफ्तार आरोपी गिरफ्तार

सहारनपुर: प्रेमी ने दोस्त के साथ मिलकर किशोरी से किया दुष्कर्म, अश्लील वीडियो भी बनाया

सेक्स रैकेट का पर्दाफाश: रंगे हाथ पकड़े गए दो महिला और एक युवक, इस हालत में देख ग्रामीण हैरान

सहारनपुर के बेहट में ब्लॉक मुजफ्फराबाद के अनवरपुर बरौली स्थित खंड संसाधन केंद्र बीआरसी भवन में चौकीदार सेक्स रैकेट चला रहा था। ग्रामीणों ने दो महिलाओं समेत तीन लोगों को रंगे हाथ पकड़ लिया, जबकि चौकीदार व एक अन्य मौके से फरार हो गए। सूचना पर पहुंची पुलिस ने तीनों को हिरासत में ले लिया। एक स्कूटी व तीन बाइकें और फरार चौकीदार का मोबाइल भी कब्जे में लिया गया। ग्राम प्रधान की तहरीर पर रिपोर्ट दर्ज कर ली गई। 

रविवार की रात करीब आठ बजे रास्ते से गुजर रहे गांव अनवरपुर बरौली के कुछ लोगों ने प्राथमिक विद्यालय के परिसर में बने बीआरसी भवन में कुछ आवाजें सुनीं। उन्होंने गेट पर जाकर जब आवाज लगाई तो अंदर से आवाजें आनी बंद हो गईं। इस पर उन्होंने ग्राम प्रधान व अन्य ग्रामीणों को सूचना दी, जब ग्रामीण अंदर घुसे तो चौकीदार शाहनवाज व नदीम नाम का युवक दो महिलाओं के साथ आपत्तिजनक हालत में थे, जबकि तीसरा उनके पास खड़ा था। ग्रामीणों को देखकर यह लोग भागने लगे। दोनों महिलाओं और एक युवक को तो ग्रामीणों ने पकड़ लिया, जबकि चौकीदार शाहनवाज व नदीम मौके से भाग निकले। 

सूचना के मिलने के बाद मौके पर पहुंची बेहट पुलिस को ग्रामीणों ने महिलाओं समेत तीनों लोगों को सौंप दिया। पुलिस ने फरार चौकीदार शाहनवाज का मोबाइल, एक स्कूटी, तीन बाइकें भी कब्जे में ली है। इनमें एक बाइक बिना नंबर की थी।

यह भी पढ़ें:
 शादियों में सियासी धुन पर लग रहे ठुमके: कार्ड पर नेताजी की फोटो, तो आंदोलन के रंग में रंगी दुल्हन की चुनरी
... और पढ़ें

यूपी: बेटे को डांट रहे पिता की आवाज सुन पहुंचा पड़ोसी, फावड़े से उतारा मौत के घाट, खौफनाक है वारदात

सहारनपुर के रामपुर मनिहारान में अपने बेटे को डांट रहे ग्रामीण की पड़ोसी से कहासुनी हो गई। तैश में आए पड़ोसी ने फावड़े से हमला कर ग्रामीण को मौत के घाट उतार दिया। वारदात को अंजाम देने के बाद हमलावर मौके से फरार हो गया। परिजन आनन-फानन लहूलुहान ग्रामीण को लेकर अस्पताल पहुंचे, जहां उसे मृत घोषित कर दिया गया। मृतक की पत्नी की तहरीर पर पुलिस ने हत्यारोपी के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज कर ली।

रामपुर मनिहारान थाना क्षेत्र के गांव उमाही कलां निवासी कविता पत्नी शिव कुमार ने थाने में दर्ज कराई गई रिपोर्ट में बताया कि उसके पति शिव कुमार (40) मंगलवार की रात साढ़े दस बजे बाहर से घर आए थे। इसी दौरान वे अपने बेटे नितिन को पशुओं को चारा न डालने पर डांटने लगे तो पड़ोसी छोटू पुत्र ऋषिपाल वहां आ गया। वह पहले से ही उसके पति के साथ रंजिश रखता था। छोटू की उसके पति के साथ कहासुनी हो गई। वह अपने घर से फावड़ा लेकर आया और उसके पति के सिर पर हमला कर उन्हें मौत के घाट उतार दिया। 

यह भी पढ़ें: 
Bipin Rawat: नहीं रहे सीडीएस बिपिन रावत, खबर सुनते ही गुरु हरवीर शर्मा को लगा गहरा सदमा

इसके बाद छोटू अपनी मोटरसाइकिल लेकर फरार हो गया। वह परिजनों के साथ अपने पति को लेकर अस्पताल पहुंची, जहां उन्हें मृत घोषित कर दिया गया। इसके बाद पुलिस को सूचना दी गई। मौके पर पहुंचे कोतवाली प्रभारी जसबीर सिंह ने जांच पड़ताल के बाद शव का पंचनामा भर उसे पोस्टमार्टम के लिए भेजा। ग्रामीण की मौत के बाद उसके परिवार में कोहराम मचा है। 

यह भी पढ़ें: भीषण आग से मचा हाहाकार : दुकान के भीतर जलती रहीं तीन जिंदगी, गूंजती रही बेबस परिजनों की चीत्कार

बताया गया कि शिव कुमार के परिवार में पत्नी के अलावा तीन छोटे बच्चे हैं। इनमें बड़े बेटे की उम्र 11 साल और छोटे बच्चे की उम्र केवल पांच साल है। उधर, एसपी सिटी राजेश कुमार ने बताया कि पड़ोसी ने फावड़ा मार कर ग्रामीण की हत्या कर दी है। मृतक की पत्नी की तहरीर पर रिपोर्ट दर्ज कर ली गई है। आरोपी की तलाश में पुलिस टीम दबिश दे रही है।
... और पढ़ें

शातिर गिरोह का पर्दाफाश: लूटपाट करने वाले नौ बदमाश दबोचे, नौ तमंचे और 57 कारतूस बरामद, खुले कई बड़े राज

सहारनपुर पुलिस।
मेरठ जनपद में परीक्षितगढ़ पुलिस ने लूटपाट करने वाले गिरोह के नौ बदमाशों को गिरफ्तार कर लूट की तीन घटनाओं का खुलासा किया। बदमाशों के पास से नौ तमंचे व 57 कारतूस बरामद किए गए। पकड़े गए लुटेरे युवा है, जिनमें दो किशोर भी शामिल है।

एसपी देहात केशव कुमार ने पुलिस लाइन में पत्रकारों को बताया कि बुधवार रात परीक्षितगढ़ पुलिस ने मुठभेड़ के दौरान बदमाशों को गिरफ्तार किया। पकड़े गए राहुल उर्फ कल्ला निवासी ग्राम बढ़ला, अंकुर निवासी किरियावली थाना नरसैना जिला बुलंदशहर हाल निवासी ग्राम बली, चाहत कश्यप निवासी ऐंची कलां, हनी गुर्जर निवासी ऐंची कलां व एक किशोर से पांच तमंचे और कारतूस मिले। पूछताछ के बाद गिरोह से जुड़े अंकुश गुर्जर निवासी दुर्वेशपुर, नाजिम निवासी ठाकपीर व एक किशोर को गिरफ्तार किया। इनके पास से नौ तमंचे और 57 कारतूस बरामद हुए। इन्हें हथियार उपलब्ध कराने वाले परीक्षितगढ़ के गांव ऐंची कलां निवासी अभिषेक नागर को भी गिरफ्तार किया गया है। 

इन बदमाशों ने नौ नवंबर को कलेक्शन एजेंट से 50 हजार की लूटपाट, 16 नवंबर को इकला खानपुर मार्ग पर बाइक लूट व गोविंद पुरी रार्धना मार्ग पर महिला के साथ हुई कुंडल लूट की वारदात कुबूल की हैं। प्रेसवार्ता में एसएसपी प्रभाकर चौधरी के अलावा सीओ सदर देहात पूनम सिरोही भी मौजूद रही।

यह भी पढ़ें: 
भीषण आग से मचा हाहाकार : दुकान के भीतर जलती रहीं तीन जिंदगी, गूंजती रही बेबस परिजनों की चीत्कार
... और पढ़ें

डबल मर्डर केस: गमगीन माहौल में हुआ अंतिम संस्कार, अपराधियों की कुंडली खंगाल रही पुलिस, जल्द होगा खुलासा

सहारनपुर जिले के गांव मोहनपुरा में देवस्थान पर पूजा करने गए सगे भाई पुन्नू व लीलू भगत की गोली मारकर हत्या करने के मामले में पुलिस कई लाइनों पर काम कर रही है। हत्यारों के करीबी होने की आशंका है। दोनों भाइयों के मोबाइल फोन की कॉल डिटेल भी पुलिस खंगाली है, लेकिन पुलिस की तीनों टीमों के हाथ अभी कोई अहम सुराग नहीं लगे हैं। 

शुक्रवार को पुलिस टीमें पड़ताल में जुटी रही। इसके साथ ही घटना के समय क्षेत्र में सक्रिय रहे फोन नंबर की सूची टेलीकॉम कंपनियों से मंगवाई है। सूत्रों के मुताबिक वारदात के समय 500 से मोबाइल फोन नंबर सक्रिय थे, जिनके आधार पर पुलिस ने पड़ताल शुरू की है। वहीं, दोनों भाईयों ने कई लोगों के पैसे भी देने थे। पुलिस लेनदेन और तंत्रमंत्र के विवाद में हत्या होने की दिशा में काम कर रही है। वारदात के खुलासे को रिश्तेदारों व ग्रामीणों से भी पूछताछ कर जानकारी जुटाई गई है। 

सक्रिय अपराधियों की कुंडली खंगाल रही पुलिस 
पुलिस जिले में सक्रिय रहे अपराधियों की कुंडली भी खंगाल रही है। जेल से कुछ दिन पूर्व ही छूटकर आए अपराधियों को बारे में भी पता लगाया जा रहा है। शुरूआती जांच में पुलिस को लग रहा है कि सुपारी देकर दोनों भाइयों की हत्या कराई गई है। पुलिस के लिए वारदात का खुलासा करना चुनौती बना है।

यह भी पढ़ें: 
मर्डर की तस्वीरें: सराफ को दिनदहाड़े चाकू से गोदकर मार डाला, सामने आई अनैतिक संबंध की बात, खौफनाक है वारदात
... और पढ़ें

देवबंद: पंकज की हत्या का सनसनीखेज खुलासा, संदीप की पत्नी से थे अनैतिक संबंध, आरोपी ने ऐसे दिया था वारदात को अंजाम

सहारनपुर जनपद में देवबंद के तलहेड़ी में पत्नी के साथ अनैतिक संबंधों की भनक लगने पर आरोपी संदीप ने ही पंकज की हत्या की थी। बुधवार को गिरफ्त में आए आरोपी ने यह स्वीकार किया है, साथ ही यह बताया कि वारदात को अंजाम देने में उसके साथ चाचा, भाई और साला भी शामिल रहा था। जिसके बाद पुलिस उनकी तलाश में जुट गई है। 

वहीं, परिजनों द्वारा शव का अंतिम संस्कार करने से इनकार करने पर पुलिस अधिकारियों के हाथ पांव फूल गए। हालांकि आरोपी की गिरफ्तारी के बाद ही उसका अंतिम संस्कार किया गया। इस दौरान घ्याना में भारी पुलिस बल तैनात किया गया था। 

यह भी पढ़ें:
यूपी: कैराना में गरजे सीएम योगी, बोले- किसी अपराधी ने दुस्साहस किया तो दूसरे लोक भेज देंगे

आठ नवंबर से लापता तेलूराम के 27 वर्षीय पुत्र पंकज का शव 16 नवंबर को गांव के ही एक खेत से बरामद हुआ था। मामले में नामजद किए गए गांव निवासी संदीप को बुधवार को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया। इंस्पेक्टर योगेश शर्मा ने बताया कि संदीप ने पूछताछ में स्वीकार किया कि पत्नी के साथ अनैतिक संबंधों के चलते ही उसने घर से बुलाकर पंकज की हत्या की थी। संदीप को जेल भेज दिया गया है। 

यह भी पढ़ें: मौत का खौफ: कैंसर ने छीनीं इतनी जिंदगियां, हर तरफ फैला डर... जान की दुश्मन बनी ये बड़ी वजह, सरकार से मदद की गुहार

वहीं, बुधवार को जब पोस्टमार्टम के बाद पंकज का शव गांव पहुंचा तो परिजनों ने आरोपी की गिरफ्तारी होने तक अंतिम संस्कार करने से इनकार कर दिया। जिसके चलते अधिकारियों के हाथ पांव फूल गए। इस बीच गांव में भारी पुलिस बल भी तैनात कर दिया गया। हालांकि कुछ समय बाद ही पुलिस ने आरोपी को गिरफ्तार कर लिया। जिसके बाद ही पंकज का अंतिम संस्कार किया गया।
... और पढ़ें

कातिल भाई: सच जानकर अफसर भी हैरान, शर्म से झुके परिजनों के सिर, आरोपी ने उगला कत्ल का पूरा राज

मेरठ में रेड कारपेट बैंक्वेट हॉल में दूल्हे की भांजी की हत्या का बुधवार को सनसनीखेज खुलासा हुआ। हत्यारोपी कोई और नहीं बल्कि पिलखुआ निवासी मौसेरा भाई विशाल गुप्ता निकला। युवती के साथ उसी ने दुष्कर्म करने का प्रयास किया था और विरोध करने पर गला घोंटकर हत्या कर दी थी। भावनपुर पुलिस ने उसे गिरफ्तार कर क्राइम सीन भी दोहराया। घटनास्थल पर सिपाही रवि बालियान भी मौजूद था, जिसकी जांच करने का पुलिस दावा कर रही है। 

सोमवार रात बैंक्वेट हॉल में दूल्हे की भांजी की हत्या हो गई थी। परिवार ने सामूहिक दुष्कर्म के बाद हत्या होने का आरोप लगाया था। एसएसपी प्रभाकर चौधरी व एसपी देहात केशव कुमार ने पुलिस लाइन में बताया कि विशाल गुप्ता ने शादी समारोह में युवती को कमरे में बुलाकर दुष्कर्म का प्रयास किया था, विरोध करने पर उसकी हत्या कर दी। वारदात के बाद आरोपी मंडप से बाहर आ गया और करीब दो घंटे बाद वापस शादी समारोह में पहुंचा। युवती का पता न लगने पर विशाल और युवती के भाई के बीच कहासुनी भी हुई थी। विशाल ने परिवार के साथ मिलकर युवती को ढूंढने का नाटक भी किया था।
... और पढ़ें

सहारनपुर में शर्मनाक मामला: सौतेले पिता ने किया नाबालिग बेटी से दुष्कर्म, आरोपी को गिरफ्तार कर भेजा जेल

सहारनपुर शहर के एक मोहल्ले में सौतेले पिता ने दस साल की बेटी से दुराचार किया। पुलिस ने रिपोर्ट दर्ज कर आरोपी को गिरफ्तार कर लिया। इसके बाद कोर्ट में पेश करके उसको जेल भेज दिया।

कोतवाली मंडी क्षेत्र के एक मोहल्ला निवासी महिला का पति से तलाक हो गया था। उसने 2014 में दूसरी शादी की थी। महिला के दस साल की बेटी है। पुलिस के मुताबिक महिला घरों में साफ सफाई आदि काम करती है। शनिवार की शाम वह घर से बाहर गई थी। घर पर उसका पति व बेटी थी। आरोप है कि सौतेले पिता ने बेटी के साथ दुष्कर्म किया। 

यह भी पढ़ें:
मौत का खौफ: कैंसर ने छीनीं इतनी जिंदगियां, हर तरफ फैला डर... जान की दुश्मन बनी ये बड़ी वजह, सरकार से मदद की गुहार

इसके बाद लड़की गुमसुम हो गई। घर लौटने पर उसकी मां को शक हुआ। पूछने पर बेटी ने दुष्कर्म होने की जानकारी दी। इसके बाद परिवार और रिश्तेदार मामले को दबाने में लगे रहे, लेकिन एक रिश्तेदार ने पुलिस को मामले की जानकारी दी। 

यह भी पढ़ें: यूपी: कैराना में गरजे सीएम योगी, बोले- किसी अपराधी ने दुस्साहस किया तो दूसरे लोक भेज देंगे

एसपी सिटी राजेश कुमार ने बताया कि सोमवार को लड़की के परिवार के सदस्य की तहरीर पर रिपोर्ट दर्ज कर आरोपी को गिरफ्तार किया गया। पीड़िता का डाक्टरी परीक्षण कराया गया है।
... और पढ़ें

सहारनपुर: खनिज से लदे दो वाहन पकड़े, पुलिस ने तीन आरोपियों किया गिरफ्तार

सहारनपुर जनपद के बेहट क्षेत्र में कोतवाली पुलिस ने खनिज सामग्री से लदे दो वाहनों को पकड़ लिया। इस दौरान पुलिस ने तीन लोगों को भी गिरफ्तार किया गया है।

खनिज से लदा एक डंपर (ट्रक) गांव शेखपुरा से पकड़ा गया। उसके चालक के पास खनिज से संबंधित प्रपत्र नहीं थे। पुलिस ने चालक रोशन पुत्र बहादुर व हेल्पर तनसीर पुत्र गालिब निवासी गांव दुमझेड़ा थाना चिलकाना को गिरफ्तार कर लिया, जबकि डंपर मालिक मो. शमी निवासी गांव महेश्वरी थाना देहात कोतवाली मौके से भाग निकला। इसके अलावा लोदीपुर गांव के पास से एक ट्रैक्टर-ट्रॉली पकड़ी गई। उसमें भी बिना रायल्टी के खनिज लाया जा रहा था। पुलिस ने उसके चालक मनव्वर पुत्र जावेद निवासी टोडरपुर थाना चिलकाना को गिरफ्तार कर लिया है। बेहट कोतवाली प्रभारी किरनपाल सिंह ने बताया कि इन दोनों मामलों में रिपोर्ट दर्ज कर ली गई है। 

यह भी पढ़ें: 
मर्डर की तस्वीरें: सराफ को दिनदहाड़े चाकू से गोदकर मार डाला, सामने आई अनैतिक संबंध की बात, खौफनाक है वारदात

ग्रामीण रास्तों पर दौड़ रहे खनिज से लदे वाहन  
बेहट क्षेत्र में खनिज सामग्री से लदे वाहनों का अवैध परिवहन व्यापक स्तर पर किया जा रहा है। देहात के रास्तों से आधी रात के बाद  रायल्टी के बिना ही खनिज सामग्री से लदे वाहन निकाले जा रहे हैं। इससे सरकार को राजस्व की हानि हो रही है।  

यह भी पढ़ें: भयावह हादसे की दर्दनाक तस्वीरें: पलभर में चकनाचूर हुआ दरोगा बनने का सपना, एक झटके में चार की मौत, उजड़ गया परिवार
... और पढ़ें
  • Downloads

Follow Us

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00