विज्ञापन
विज्ञापन
आपकी जन्मकुंडली दूर करेगी आपके जीवन का कष्ट
Janam Kundali

आपकी जन्मकुंडली दूर करेगी आपके जीवन का कष्ट

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
Digital Edition

नुमाइश कैंप में दिनदहाड़े फोटोग्राफर को गोली मारी

नगर कोतवाली क्षेत्र के नुमाइश कैंप में सोमवार को दिनदहाड़े एक फोटोग्राफर को गोली मारने से क्षेत्र में दहशत फैल गई। गोली कनपटी को क्रॉस करते हुए निकल गई। घटना के बाद आरोपी फरार हो गए जबकि घायल को जिला अस्पताल में भर्ती कराया गया। मामला पैसों के लेनदेन को लेकर चली आ रही रंजिश का बताया गया है।

नुमाइश कैंप स्थित गोपाल नगर निवासी 35 वर्षीय अनिल अनेजा उर्फ काली फोटोग्राफी का काम करता है। अनिल के मुताबिक उसने नुमाइश कैंप निवासी लवली को डेढ़ लाख रुपये उधार दे रखा है। इसका तगादा करने के बावजूद काफी समय बीतने पर भी लवली पैसे नही लौटा रहा था। इसे लेकर दोनों के बीच पहले भी विवाद हो चुका था।

सोमवार की दोपहर करीब ढाई बजे अनिल जब नुमाइश कैंप छोटा चौक पर था तो लवली अपने तीन साथियों के साथ वहां पहुंचा और चारों ने अनिल को घेरकर मारपीट शुरू कर दी।

पास में ही मौजूद अनिल के रिश्तेदार ने उसका बचाव करने की कोशिश की तो हमलावरों में से एक गगन ने तमंचा निकाल लिया और अनिल पर फायर झोंक दिया। पहला फायर तो मिस हो गया जबकि दूसरी बार फायर करने पर गोली अनिल के कान को जख्मी करते हुए निकल गई। दिनदहाड़े गोली चलने से नुमाइश कैंप में भगदड़ मच गई।

कुछ देर के लिए तो आसपास की दुकानें बंद होती चली गयी। इसी बीच चारों हमलावर वहां से फरार हो गए। सूचना मिलने पर नगर कोतवाली पुलिस मौके पर पहुंची और घायल को जिला अस्पताल में ले जाया गया। चारों आरोपियों के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज कराने को कोतवाली में तहरीर दी गई।

थाना प्रभारी बीपी सिंह जाखड़ ने बताया कि चारों के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज कर उनकी गिरफ्तारी के प्रयास किए जा रहे हैं।
... और पढ़ें

डकैतों ने तीन को बलकटी से काट डाला, एक की मौत

सहारनपुर। रामपुर मनिहारान में डकैतों ने बृहस्पतिवार तड़के तीन बजे एक परिवार पर जमकर कहर बरपाया। घर में सो रहे दो भाइयों और एक महिला को धारदार हथियारों से ताबड़तोड़ वार कर लहूलुहान कर दिया।

इसके बाद घर में मौजूद बच्चों को एक कमरे में बंद कर लाखों रुपये का माल लूटकर फरार हो गए। गंभीर रुप से घायल एक युवक ने मोबाइल से अपने परिचित को मामले की जानकारी दी। इसके बाद लोग घटनास्थल पर पहुंचे और घायलों को अस्पताल पहुंचाया।

वहां उपचार के दौरान एक भाई की मौत हो गई, जबकि दूसरे को हायर सेंटर रेफर किया गया है। उधर, वारदात से गुस्साए लोगों ने थाने में जमकर हंगामा किया और दिल्ली रोड पर जाम लगा दिया। मौके पर पहुंचे एसएसपी समेत अन्य अधिकारियों ने लोगों को समझाकर शांत किया।

इस्लामनगर रोड पर सगे भाई धर्मवीर और कुलवीर रहते हैं। बृहस्पतिवार को अल सुबह तीन बजे आधा दर्जन बदमाशों ने इनके मकान पर धावा बोल दिया। बाहर खड़े पापुलर को काटकर बदमाशों ने सीढ़ी बनाई और तीन बदमाश घर में दाखिल हो गए।

अंदर धर्मवीर और कुलवीर पर सोते वक्त ही धारदार हथियारों से हमला बोल दिया। इस बीच धर्मवीर की पत्नी ममता की आंख खुली तो बदमाशों ने उसे भी धारदार हथियारों से मारकर जख्मी कर दिया।

 तीनों खून से लथपथ घर में पड़े रहे और बदमाशों ने पूरे घर को खंगाल कर आलमारी और ट्रंक को तोड़कर उनमें रखे जेवर निकाल लिए। इस दौरान तीन से चार बदमाश घर के बाहर मौजूद थे, जो बाहर से आवाज दे रहे थे।

लूटपाट करने के बाद बदमाश वहां से फरार हो गए। घायल धर्मवीर ने  बमुश्किल मोबाइल से अपने परिचित को फोन पर घटना की सूचना दी। मौके पर पहुंचे लोगों उन्हें सीएचसी पहुंचाया। तीनों घायलों को जिला चिकित्सालय भेज दिया गया।

उपचार के दौरान कुलवीर की मौत हो गई, जबकि गंभीर रूप से घायल धर्मवीर को हायर सेंटर भेजा गया। घटना के बाद गुस्साए लोगों ने पहले थाने पर हंगामा किया और इसके बाद दिल्ली रोड पर जाम लगाया। हालांकि मौके पर पहुंचे एसएसपी और अन्य अधिकारियों ने पहुंच उन्हें कार्रवाई का आश्वासन दिया।

इसके बाद एसएसपी ने घटनास्थल सहित अन्य जगहों का मुआयना किया और फिंगर प्रिंट एक्सपर्ट को बुलाकर सभी मुख्य स्थानों से प्रिंट उठवाए।
... और पढ़ें

सड़क हादसे में दंपति और बेटी की मौत

देवबंद में सड़क हादसे में शनिवार को दंपति और उसकी बेटी की मौत हो गई। इस दुघर्टना में चार साल की बच्ची चोटिल हो गई है। दो ट्रकों के ओवरटेक करते समय यह हादसा हुआ है। हादसे के बाद दोनों के चालक ट्रकों को वहीं छोड़कर भाग गए। पुलिस ने दोनों ट्रकों को कब्जे में ले लिया है।

शनिवार सुबह मुजफ्फरनगर की कृष्णापुुरी कॉलोनी निवासी मोहित (32) पुत्र सुभाष अपनी पत्नी ज्योति (30) पुत्री राधिका (4) और गौरी (6 माह) को बाइक पर लेकर सहारनपुर की लेबर कॉलोनी स्थित ससुराल जा रहा था।

सहारनपुर-मुजफ्फरनगर मार्ग पर करीब छह बजे जब वह जडोदाजट गांव के पास पहुंचे तो सहारनपुर की तरफ से आ रहे खनन सामग्री लदे दो ट्रकों के ओवरटेक करते समय बाइक उनकी चपेट में आ गई।

इसी दौरान बाइक सहित सड़क पर गिरने से ट्रक ने तीन को कुचल दिया, जिससे मोहित, ज्योति और गौरी की घटनास्थल पर ही मौत हो गई। जबकि राधिका चोटिल हो गई। दुघर्टना के बाद चालक ट्रकों को मौके पर ही छोड़कर भाग गए।

हादसे की सूचना मिलते ही कोतवाली प्रभारी विजय प्रकाश मौके पर पहुंचे और शवों को पोस्टमार्टम के लिए जिला अस्पताल भिजवाया। कोतवाल ने बताया कि दोनों ट्रक कब्जे में लेकर चालकों के विरुद्ध रिपोर्ट दर्ज कर ली गई।

अकेला कमाने वाला था मोहित
देवबंद। हादसे का शिकार मोहित तीन भाई बहनों में सबसे बड़ा था। वह फाइनेंस का काम कर अपने परिवार का पालन पोषण कर रहा था। मोहित के पिता सुभाष की एक साल पूर्व मौत हो गई थी। परिवार में सिर्फ उसकी मां, एक छोटा भाई और बहन के अलावा चार साल की बच्ची ही बचे हैं। हादसे में पिता मोहित, मां ज्योति और छोटी बहन गौरी को गंवा चुकी राधिका कोतवाली में बैठी बार-बार अपनी मम्मी और पापा के बारे में पूछ रही थी।
... और पढ़ें

सहारनपुर : आईएएस लव कुमार के भाई ने खुद को गोली मारकर की आत्महत्या, वजह जानने में जुटी पुलिस

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय में संयुक्त सचिव आईएएस लव अग्रवाल के छोटे भाई एवं युवा उद्यमी अंकुर अग्रवाल का गोली लगा शव पिलखनी औद्योगिक क्षेत्र में फैक्टरी के पास खेत में पड़ा मिला। शव के पास ही लाइसेंसी पिस्टल पड़ा था। पुलिस का मानना है कि लाइसेंसी पिस्टल से गोली मारकर आत्महत्या की गई है। परिजनों ने शव का पोस्टमार्टम कराने से इनकार कर दिया। 

अंकुर अग्रवाल (42 वर्षीय) का परिवार दिल्ली रोड स्थित ग्रीन पार्क कॉलोनी में रहता है। अंकुर के पिता केजी अग्रवाल चार्टर्ड अकाउंटेंट हैं। पिलखनी औद्योगिक क्षेत्र में प्रथम मेटल के नाम से इनकी फैक्टरी है। सरसावा थाना पुलिस को सोमवार अपराह्न करीब तीन बजे परिजनों ने कॉल कर सूचना दी कि अंकुर दोपहर 12 बजे फैक्टरी गए थे, लेकिन उसके बाद फोन पर संपर्क नहीं हो रहा है। पुलिस ने छानबीन शुरू की और अंकुर के मोबाइल फोन की लोकेशन निकलवाई जो पिलखनी औद्योगिक क्षेत्र में मिली। पुलिस ने औद्योगिक क्षेत्र में पहुंचकर छानबीन कराई तो अंकुर का शव उनकी फैक्टरी के पास ही खेत में मिला। शव के पास ही लाइसेंसी पिस्टल भी था। 

यह भी पढ़ें: 
पत्नी पर था शक, पहले रची खौफनाक साजिश, फिर सास-ससुर को दी ऐसी मौत, कांप उठे लोग, तस्वीरें

इसके बाद परिजनों के साथ ही जिलाधिकारी अखिलेश सिंह और एसएसपी डॉ. एस चनप्पा भी पुलिस टीम के साथ मौके पर पहुंचे। शव को पोस्टमार्टम के लिए भिजवाया गया, लेकिन बाद में परिजनों ने पोस्टमार्टम कराने से इनकार कर दिया।

यह भी पढ़ें: बड़ा नाम, कारोबार और रुतबा, फिर क्यों उठाया यह कदम, आईएएस के भाई की आत्महत्या पर उठे सवाल

एसपी देहात अतुल शर्मा का कहना है कि मौके की स्थिति से मामला आत्महत्या का लग रहा है। परिजनों की तरफ से कोई तहरीर नहीं दी गई है। आत्महत्या की वजह क्या रही, यह भी स्पष्ट नहीं हो सका है।

नोट- इन खबरों के बारे आपकी क्या राय हैं। हमें फेसबुक पर कमेंट बॉक्स में लिखकर बताएं।

शहर से लेकर देश तक की ताजा खबरें व वीडियो देखने लिए हमारे इस फेसबुक पेज को लाइक करें


https://www.facebook.com/AuNewsMeerut/
... और पढ़ें
मौके पर जांच करती पुलिस मौके पर जांच करती पुलिस

यूपी: गिरोह का सनसनीखेज खुलासा, पहले लड़कियों से कराते थे कॉल, फिर ठगी और...

उत्तर प्रदेश के सहारनपुर में थाना कुतुबशेर पुलिस ने एक गिरोह का पर्दाफाश किया है। यह गिरोह आसान और कम ब्याज पर लोन दिलाने का झांसा देकर लोगों से ठगी करता था। इस गिरोह के दो सदस्यों को गिरफ्तार किया गया है।

बताया गया कि इसी गिरोह के जाल में फंसने के बाद थाना क्षेत्र में पिछले दिनों एक युवक ने आत्महत्या कर ली थी। उसके परिवार से मिले सुराग के आधार पर पुलिस इन ठगों तक पहुंची। पुलिस को गिरोह से जुड़े करीब 20 सदस्यों का पता चला है। ये हरियाणा, चंडीगढ़ और दिल्ली से लोगों को ठगी का शिकार बनाते रहे हैं। आरोपियों के कब्जे से स्कॉर्पियो, मोबाइल और एक बैंक चेक बरामद किया है।

एसपी सिटी विनीत भटनागर ने बताया कि 25 दिसंबर को उनाली गांव में शुभम ने आत्महत्या कर ली थी। कम ब्याज पर जल्द लोन दिलाने के नाम पर ठगी करने वालों के जाल में फंसने के बाद शुभम ने यह कदम उठाया था। उसके परिवार के मुताबिक, उनसे डेढ़ लाख रुपये की ठगी की गई थी। इसी मामले की विवेचना में पता चला कि कुछ लोग हरियाणा सहित अन्य राज्यों से ठगी का धंधा चला रहे हैं। 

थाना प्रभारी विनोद कुमार सिंह सहित अन्य पुलिस और सर्विलांस टीमों ने आरोपियों को गिरफ्तार किया। आरोपियों में गैंग लीडर कुलदीप निवासी गांव सिसावी थाना हांसी हिसार हरियाणा और रवि कुमार निवासी कस्बा असंध जिला करनाल हरियाणा शामिल हैं। गैंग लीडर कुलदीप इन दिनों चंडीगढ़ के प्लाट नंबर तीन न्यू चौधरी कांप्लेक्स में रह रहा था। 

फर्जी दस्तावेजों से खोले थे खाते
आरोपियों ने बताया कि उन्होंने फर्जी आईडी और अन्य जरूरी दस्तावेजों के सहारे हरियाणा के करनाल, कुरुक्षेत्र सहित अन्य बैंकों में खाते खोले थे। खातों के माध्यम से लोन देने के नाम पर रकम ठगते थे। अलग-अलग फोन नंबरों से कॉल, एसएमएस और ई-मेल के माध्यम से लोगों को जाल में फंसाते थे। पहले पीड़ितों से जीएसटी, एग्रीमेंट चार्ज, यूजर चार्ज, प्रीमियम चार्ज, प्रोसेसिंग फीस सहित कई अन्य तरह से पैसा जमा कराते थे। जुटाई गई रकम में से कुछ लोगों को कम राशि का लोन देकर उससे ब्याज वसूलते थे। फिलहाल ये दो साल से सक्रिय हैं।

यह भी पढ़ें: 
तस्वीरें: खौफनाक तरीके से सलमान की हत्या, पंचायत में चार लाख रुपये लगाई जान की कीमत
... और पढ़ें

मेरठ में बदल रहा हत्याओं का ट्रेंड, खौफनाक मर्डर के बाद क्रूरता से शव को ठिकाने लगा रहे अपराधीे 

पश्चिमी यूपी की क्राइम सिटी कहे जाने वाले मेरठ में अपराध थमने का नाम नहीं ले रहा है। चोरी की छुटपुट घटनाओं के अलावा हत्या जैसे क्राइम यहां आम बात हैं। वहीं पिछले कुछ महीनों की बात करें तो एक तरफ अपराध का ग्राफ बढ़ा है, तो दूसरी ओर हत्या जैसे संगीन मामलों में तेजी आई है।

हैरान करने वाली बात यह भी है कि अपराध करने वाले न सिर्फ मर्डर जैसी घिनौनी वारदात को अंजाम दे रहे हैं बल्कि हत्या के बाद शवों को बेहद क्रूर तरीके से ठिकाने लगा रहे हैं। आइए नजर डालते हैं मेरठ के ऐसे ही कुछ हत्या के मामलों पर जिनमें आरोपियों ने हत्या के बाद शवों को छिपाने के लिए क्रूरता की सारी हदें पार कर दीं:-
... और पढ़ें

देहरादून : सहारनपुर के जिम संचालक के फांसी प्रकरण में मंगेतर समेत दो पर मुकदमा

जिम संचालक नमन राठौर खुदकुशी प्रकरण में मंगेतर और उसके दोस्त के खिलाफ आत्महत्या के लिए उकसाने के आरोप में मुकदमा दर्ज किया गया है। इस मामले में नमन के पिता धर्मबीर सिंह निवासी शीशवाली थाना नकुड़ जिला सहारनपुर ने सोमवार को पटेलनगर कोतवाली में मुकदमा दर्ज कराया।

बता दें, पटेलनगर के देहराखास में जिम संचालक नमन राठौर ने अपनी मंगेतर को मौजूदगी में कमरे में चार मार्च को फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली थी। मंगेतर फांसी का फंदा काटकर हॉस्पिटल ले गई थी, लेकिन डॉक्टर ने उसे मृत घोषित कर दिया था। नमन के पिता धर्मबीर सिंह की तहरीर के अनुसार नमन की मरने से पहले अपने दोस्तों से बात हुई थी।

दोस्तों के मुताबिक नमन पैसों की वजह से बहुत परेशान था। उसे अपने दोस्त जॉनी निवासी सिकन्दरपुर मुंडलाना, रुड़की से लाखों रुपये लेने थे। बार-बार कहने पर भी जॉनी उसके पैसे नहीं दे रहा था। जिस कारण जॉनी ने नमन को कई बार धमकियां भी दीं। घटना के समय एक लड़की भी कमरे में मौजूद थी। शक जताया कि इन दोनों ने नमन को नाजायज रूप से परेशान कर आत्महत्या करने को मजबूर किया।

साक्ष्य छिपाने को नमन का शव पंखे से लगी चुन्नी को काटकर पूर्व मे ही उतार लिया गया। ऐसा करने तक किसी को भी कोई सूचना नहीं दी गयी। नमन के मोबाइल में जॉनी से पैसों के संबन्ध में हुई चैट का भी रिकार्ड भी है। इंस्पेक्टर सूर्यभूषण नेगी ने बताया कि विवेचना में आने वाले साक्ष्यों के आधार पर अग्रिम कार्रवाई की जाएगी।
 
... और पढ़ें

सहारनपुर: उत्तर प्रदेश-उत्तराखंड बाॅर्डर पर खेत में पड़े मिले प्रेमी युगल के शव

प्रतीकात्मक तस्वीर
उत्तर प्रदेश के सहारनपुर में सोमवार सुबह यूपी-उत्तराखंड की सीमा से सटे हरिद्वार जनपद के गांव बंजारेवाला के खेत में प्रेमी युगल के शव पड़े मिले। युवती बिहारीगढ़ थाने के एक गांव की रहने वाली थी। खबर मिलने पर परिजन उसके शव को घर ले आए लेकिन इसी बीच किसी ने पुलिस को सूचना दे दी। पुलिस ने शव कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया।

सुबह करीब छह बजे बिहारीगढ़ थाने के एक गांव निवासी 19 वर्षीय युवती और उसके रिश्तेदार युवक के शव बंजारेवाला गांव के खेतों में पड़े मिले। ग्रामीणों के अनुसार दोनों ने जहरीला पदार्थ खाया हुआ था। सूचना पर युवक के परिजन मौके पर पहुंचे जिन्होंने युवती के परिजनों को इसकी खबर की। इसके बाद दोनों के परिजन अपने-अपने बच्चों के शव अपने साथ ले गए।

एसएसपी के निर्देश पर एसओ बिहारीगढ़ सरेंद्र सिंह गांव पहुंचे और शव को कब्जे में लेकर पंचनामा भरते हुए पोस्टमार्टम के लिए भिजवाया। युवती की मौत के बाद उसके परिवार में कोहराम मचा है। हालांकि परिजन इस बारे में कुछ भी कहने से बच रहे हैं।

थानाध्यक्ष सुरेंद्र सिंह ने बताया कि प्राथमिक जांच पड़ताल में सामने आया है कि युवती का प्रेम-प्रसंग अपनी रिश्तेदारी में युवक से चल रहा था। दोनों शादी करना चाहते थे लेकिन परिजन इसके लिए राजी नहीं थे।

बताया गया कि ऐसे में दोनोँ ने एक साथ जहर खा कर जान दी है। उन्होंने बताया कि युवती के शव की पोस्टमार्टम रिपोर्ट आने के बाद आगे की स्थिति पर कुछ कहा जा सकेगा।
... और पढ़ें

ट्रक से कुचलकर बच्ची की मौत, मां-बाप जख्मी

थाना सदर क्षेत्र के आईटीसी रजवाहा पटरी रोड पर सोमवार दोपहर साढ़े बारह बजे विधायक की कोठी के सामने ट्रक की टक्कर के बाद बाइक पर सवार बच्ची की कुचलने से मौके पर ही मौत हो गई, जबकि उसके माता पिता गंभीर रूप से जख्मी हो गए।

हादसे के बाद आसपास के लोगों की भीड़ ने हंगामा शुरू कर दिया। ट्रक में तोड़फोड़ की कोशिश की गई और चालक को पीटा गया। पुलिस ने भीड़ को शांत कराया। भीड़ ने चालक को पुलिस के हवाले कर दिया। हादसे में घायल लोगों को वहां मौजूद विधायक और कुछ अन्य लोग जिला अस्पताल लेकर पहुंचे।

सोमवार को हरियाणा के पंचकुला क्षेत्र के गांव बड़ौत निवासी लाल सिंह उर्फ रोहताश अपनी पत्नी पुष्पा और दो बेटियों चार वर्षीय मानसी एवं ढाई वर्षीय दीप्ति को लेकर जिले के बड़गांव में स्थित ससुराल जा रहा था।

बाइक पर सवार ये लोग आईटीसी रोड रजवाहा पटरी पर विधायक रवींद्र कुमार मोल्हू की कोठी के सामने कोरी माजरा के पास पहुंचे ही थे कि पीछे से आ रहे एक ट्रक ने बाइक को साइड मार दी। इससे बाइक पलट गई और ढाई वर्षीय बच्ची दीप्ति ट्रक के नीचे आकर कुचली गई। मां पुष्पा और पिता लाल सिंह भी जख्मी हो गए।

विधायक घायल को लेकर पहुंचे अस्पताल
इस घटना के बाद विधायक रवींद्र कुमार मोल्हू, जोन कोआर्डीनेटर नरेश गौतम और वहां मौजूद रहे गुरुदयाल अपनी गाड़ियों से घायलों को लेकर जिला अस्पताल पहुंचे। यहां तत्काल उपचार शुरू कर दिया गया। उधर, सीओ द्वितीय अमित नागर भी सदर प्रभारी के साथ जिला अस्पताल में घायलों का हालचाल जाना और उन्हें बेहतर इलाज के निर्देश दिए।

दोनों बहनों ने ही की थी नाना के यहां जाने की जिद
बाइक सवार घायल लाल सिंह ने बताया कि दोनों बहनों ने ही नाना के यहां जाने की जिद की थी। बच्चों को नाना के यहां ले जाने के लिए ही वह बाइक पर ससुराल के लिए निकला था। बेटी मानसी दूर छिटक गिरने से बच गई। आगे बैठी मानसी सड़क के कच्चे हिस्से में गिरी थी। कुछ ही देर में कोरी  माजरा, गलीरा रोड, आईटीसी रोड सहित आसपास के लोगों की भीड़ जमा हो गई।

 क्षेत्रवासियों ने ट्रक ले जाने का प्रयास कर रहे चालक को दबोचकर उसकी धुनाई शुरू कर दी। भीड़ में शामिल कुछ लोगों ने ट्रक में तोड़फोड़ का प्रयास किया, लेकिन थाना सदर प्रभारी सहित अन्य पुलिस फोर्स पहुंचने से भीड़ को काबू कर मामला शांत कराया गया। ट्रक चालक पुलिस के हवाले कर दिया गया।
... और पढ़ें

बंधक बनाकर लूटपाट

छावड़ी गांव में बदमाशों ने एक घर पर धावा बोल दिया। किशोर को गन प्वाइंट पर लेकर सोने चांदी के जेवर सहित हजारों रुपये की नकदी लूट ले गये। लुटेरे आराम से घर में बैठकर दूध भी पीकर गये। बाद लुटेरे जान से माने की धमकी देते हुए आराम से फरार हो गये। वहीं रात को हुयी इस घटना के बाद थाने से मात्र सात किमी दूर जाने में पुलिस को चार घंटे का समय लगा।

रविवार रात बदमाशों ने थाना क्षेत्र के ग्राम छावड़ी में सज्जाद के घर धावा बोल दिया। छावड़ी के सज्जाद 60 वर्ष ने बताया कि वह दूधिए का काम करता है। सज्जाद ने बताया कि रविवार रात वो बरामदे में सो रहा था। जबकि उसकी पत्नी, जमीला, बेटा जाकिर, पुत्रवधू शबनम तथा मायके आयी हुई पुत्री साबरा और बच्चे कमरे में सोए हुए थे। रात करीब एक बजे उसके घर में करीब चार नकाबपोश बदमाश घुस आए।

जिन्होंने हाथ में तमंचे और गन्ना काटने वाला पाठले लिए हुए थे। आते ही बदमाशों ने उसे काबू करते हुए कमरे का दरवाजा खुलवाया तथा उसके पुत्र जाकिर की कनपटी पर तमंचा तान दिया। बदमाशों ने शोर मचाने पर जान से मारने की धमकी देते हुए लूटपाट आरंभ कर दी। सज्जाद की पत्नी जमीला ने बताया कि लुटेरों ने कानों की बालियां, सोने का ताबीज, चांदी की पाजेब, गले की चेन तथा घर में रखी नगदी लूट ली।

इसके बाद सभी बदमाश उन्हें बरामदे में ले आए तथा घर में रखा दूध गरम कराया और आराम से दूध पीकर जान से मारने की धमकी देते फरार हो गये। बदमाशों के दहशत से परिवार सुबह होने की इंतजार में दुबका पड़ा रहा। जैसे ही सूरज दिखा सज्जाद ने शोर मचाकर गांव वालों को घटना से अवगत कराया।

जिसके बाद पुलिस को सूचना दी गयी, लेकिन सूचना मिलने के बावजूद पुलिस को सात किलोमीटर की दूरी तय करने में करीब चार घंटे का समय लगा। एसओ बीपी सिंह पुलिस टीम के साथ करीब 12 बजे गांव में पहुंचे। एसओ ने कहा कि अभी मामले की जानकारी ली जा रही है। इसके बाद ही कुछ कहना संभव हो पाएगा।

उधर, गांव में लूट की वारदात से दहशत का माहौल है। बता दें की गांव में अधिकतर लोग दूधिए का काम करते हैं। ऐसे मेें वह देर शाम को ही घर वापस लौटते है। गांव के लोगों ने बताया कि अब उन्हें काम पर जाने के बाद परिवार की चिंता सताती रहेगी।
... और पढ़ें

बाग ठेकेदार की नृशंस हत्या

धारदार हथियारों से रविवार की रात बाग ठेकेदार की खजूरी अकबरपुर में एक खेत में निर्मम हत्या कर दी गई। सोमवार सुबह उसका शव खेत में पड़ा मिला। उसके बेटे ने शव देखकर पुलिस और परिजनों को सूचना दी। मृतक के सिर और गर्दन पर पीछे से तेज धार वाले हथियारों से वार किया गया है।

मौके पर पहुंची पुलिस ने जांच शुरू कर दी है। पुलिस इस पूरी वारदात को संदिग्ध मान रही है। ऐसे में कई पहलुओं पर जांच की जा रही है। उधर, पुलिस का दावा है कि वारदात से जुड़े कुछ सुराग उसके हाथ लगे हैं। गागलहेड़ी के मक्केबांस निवासी जाहिद पुत्र नजीर (45) ने खजूरी अकबरपुर में ठेके पर बाग लिया था।

बाग के पास ही उसके खेत हैं और उनमें बरसीम उगा रखी है। रविवार की शाम पशुओं के लिए बरसीम लेने जाहिद घर से निकला था। देर रात तक नहीं लौटने पर परिजनों ने उसे फोन करना शुरू किया, लेकिन उसके मोबाइल पर केवल घंटी बजती रही। सोमवार की सुबह करीब आठ बजे जाहिद का पुत्र अब्दुल रहमान खेत पर पहुंचा तो उसके पैरों तले जमीन खिसक गई। खून से बुरी तरह लथपथ जाहिद का शव खेत में पड़ा था।

उसने तत्काल परिजनों और पुलिस को सूचना दी। सीओ सुनिधि और एसओ नरेंद्र शर्मा मौके पर पहुंचे और जांच की। मृतक जाहिद के सिर और गर्दन पर तेज धारदार हथियारों से वार किया गया है। ज्यादा खून बहने से उसकी मौत हुई है। मौके पर पड़ताल में यह भी बात सामने आ रही है कि उस पर पीछे से वार किया गया है। ऐसे में वह अपना बचाव नहीं करपाया और हमले से भी पूरी तरह अनभिज्ञ था।

एसओ नरेंद्र शर्मा का कहना है कि जाहिद की हत्या के पीछे कारणों का पता किया जा रहा है। पूरा मामला बेहद उलझा हुआ और संदिग्ध लग रहा है। कई पहलुओं पर जांच की जा रही है। कुछ अहम सुराग भी मिले हैं।

पूरी रात बजती रही मोबाइल पर घंटी
मृतक जाहिद के पास ही उसका मोबाइल बरामद हुआ और उसमें करीब दो दर्जन मिस कॉल थी। परिजनों ने बताया कि शाम करीब छह बजे बरसीम लाने के लिए बाग की ओर निकले थे। रात करीब नौ बजे तक वापसी नहीं होने पर फोन किया, लेकिन पूरी घंटी के बाद वह नहीं उठा। इसके बाद पूरी रात में कई बार फोन करते रहे।
... और पढ़ें

गोली मारकर लूटने वाले तीन बदमाश गिरफ्तार

थाना गागलहेड़ी क्षेत्र में कुछ दिन पहले तमंचे से गोली मारकर बाइक और मोबाइल लूटने के तीन बदमाश गिरफ्तार किए हैं। गागलहेड़ी पुलिस ने तीनों को गिरफ्तार कर उनके कब्जे से लूटी गई बाइक, तमंचा, कारतूस, मोबाइल फोन, 300 रुपये और घटना में प्रयुक्त की गई बाइक बरामद की है।

शनिवार को एसपी सिटी महेंद्र सिंह यादव ने बताया कि 10 नवंबर को शाम के समय इन तीन बदमाशों ने थाना गागलहेड़ी के नागल अहीर निवासी राकेश कुमार के बुआ के लड़के जेके कुमार से यह बाइक लूटी थी।

भगवानपुर रोड पर नागल अहीर अड्डे पर इस वारदात को अंजाम देते समय बदमाशों ने जेके को तमंचे से गोली मार दी थी। इसमें उसकी बाई आंख बाल-बाल बची। बदमाश धन तेरस पर ही खरीदी गई नई बाइक, मोबाइल फोन और 300 रुपये   लूट ले गए थे।

उन्होंने बताया कि थाना गागलहेड़ी प्रभारी नरेंद्र शर्मा, उप निरीक्षक सुरेंद्र पाल सिंह, रघुराज सिंह, संजय यादव और रवि कुमार की टीम ने इन तीनों आरोपियों को पकड़ा।

एक मुखबिर की सूचना पर मुजफ्फरनगर जाते समय चेकिंग के दौरान उन्हें पकड़ा गया। उन्हें मुजफ्फरनगर रोड स्थित खजूरी काली मंदिर के सामने गिरफ्तार किया गया। गिरफ्तार बदमाशों में मुजफ्फरनगर के थाना भोपा के मनपुरा निवासी अभि त्यागी, थाना गागलहेड़ी के फिराहेडी निवासी अनिल त्यागी और इसी गांव से मोनू त्यागी शामिल हैं।
... और पढ़ें

मवीकलां प्रधान के भाई को गोलियों से भूना

सदर कोतवाली के मवीकला गांव में प्रधान के भाई की गोलियों से भूनकर हत्या कर दी गई। उसकी हाथ की एक अंगुली भी काटी गई थी। देर रात तक उसका शव आवास विकास कालोनी में मिला।

देर रात तक लोगों की भीड़ मौके पर जमा था। पुलिस जांच पड़ताल में जुटी थी और माहौल तनावपूर्ण बना हुआ था।
मवीकला के प्रधान  गफूर ने बताया कि सोमवार शाम करीब सात बजे कुछ लोग उसके भाई हारून को घर से बुलाकर ले गए थे।

हारुन उनके साथ अपनी बाइक पर गया था। रात करीब 10 बजे फोन पर किसी ने सूचना दी कि हारून की गोली मारकर हत्या कर दी गई है और उसका शव आवास विकास की नई विकसित कालोनी में पड़ा हुआ है। सूचना पर प्रधान और परिजन आवास विकास कालोनी में पहुुंचे। यहां हारून का शव पड़ा था।

प्रधान के अनुसार हारून के सीने और पेट में दो गोलियां मारी गई थी। हाथ की एक अंगुली भी कटी हुई थी। घटना की सूचना पर एसपी देहात जगदीश शर्मा, एसपी सिटी महेंद्र सिंह यादव समेत भारी पुलिस बल के साथ मौके पर पहुंचे।

सपा नेता शादान मसूद के अलावा सैकड़ों लोगों की भीड़ मौके पर जमा था। पुलिस ने घटना स्थल पर जांच पड़ताल शुरू की। वहां जमा लोगों को समझाकर  भेजने का प्रयास कर रही थी। घटना को लेकर तनाव बना हुआ था। देर रात तक हत्या के कारणों का पता नहीं चल सका था।
... और पढ़ें
Election
  • Downloads

Follow Us

विज्ञापन
X

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00
X