विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
सर्वपितृ अमावस्या को गया में अर्पित करें अपने समस्त पितरों को तर्पण, होंगे सभी पूर्वज प्रसन्न, 28 सितम्बर
Astrology Services

सर्वपितृ अमावस्या को गया में अर्पित करें अपने समस्त पितरों को तर्पण, होंगे सभी पूर्वज प्रसन्न, 28 सितम्बर

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

From nearby cities

अयोध्या प्रकरणः कल्याण सिंह बतौर आरोपी 27 को अदालत में तलब, विशेष न्यायाधीश ने दिया आदेश

अयोध्या प्रकरण के विशेष न्यायाधीश सुरेंद्र कुमार यादव ने पूर्व मुख्यमंत्री व राजस्थान के पूर्व राज्यपाल कल्याण सिंह को बतौर आरोपी तलब किया है।

22 सितंबर 2019

विज्ञापन
विज्ञापन

पीलीभीत

रविवार, 22 सितंबर 2019

यूपी: तमंचे के बल पर बंधक बना युवती से किया दुष्कर्म, भीड़ देख पीड़िता को छत से फेंका

उत्तर प्रदेश के बीसलपुर के एक गांव में दुकान से चीनी खरीदने निकली 19 वर्षीय युवती को गांव का ही रिजवान तमंचे के बल पर अपने घर ले गया और साथी की मदद से बंधक बनाकर उससे दुष्कर्म किया। विरोध करने पर तमंचे की बट से उसकी पिटाई कर दी।

घटना की भनक लगने पर ग्रामीणों की भीड़ आरोपी के घर पहुंची तो उसने छत पर खड़े होकर धमकाया और फिर युवती को छत से नीचे फेंककर भाग गया। पुलिस ने पीड़ित के पिता की तहरीर पर रिपोर्ट दर्ज कर पड़ताल शुरू कर दी है। मामला दो समुदायों से जुड़ा होने से गांव में तनाव है।

बीसलपुर कोतवाली क्षेत्र के एक ग्रामीण ने बताया कि उसकी 19 वर्षीय पुत्री गुरुवार शाम करीब सात बजे किराना दुकान से चीनी खरीदने गई थी। रास्ते में सुनसान होने पर गांव के रिजवान ने उसको रोक लिया और तमंचा दिखाकर धमकाते हुए अपने घर ले गया। वहां उसका साथी मुन्ना मौजूद था।

रिजवान ने छत पर बने कमरे में ले जाकर युवती से दुष्कर्म किया। विरोध करने पर युवती की तमंचे की बट से पिटाई की। रिजवान को युवती को ले जाते वक्त गांव के कुछ लोगों ने देख लिया था। इस पर कुछ ही देर बाद शोर मच गया। काफी लोग जमा हुए और आरोपी के घर पहुंच गए। पकड़े जाने के डर से रिजवान ने युवती को 20 फुट ऊंचाई से सड़क पर फेंक दिया और भाग गया। इसमें युवती को चोटें आईं हैं।

रात भर परिजन घटना को लेकर डरे सहमे रहे और दूसरे दिन शुक्रवार दोपहर को पुलिस को तहरीर दी। सीओ प्रवीण मलिक, प्रभारी कोतवाल इफ्तिखार हुसैन ने गांव जाकर मौका मुआयना किया। युवती को मेडिकल परीक्षण के लिए भेज गया है। आरोपियों की तलाश में दबिश दी जा रही है।

तहरीर के आधार पर कोतवाली में दोनों आरोपियों के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज कर ली गई है। गांव में तनाव जैसी कोई बात नहीं है। एहतियातन संबंधित हल्का प्रभारी को गांव पर नजर रखने के निर्देश दिए हैं। आरोपियों की धरपकड़ को टीम लगाई है- प्रवीण मलिक, सीओ
... और पढ़ें

पुलिस नेदर्ज की झोलाछाप के खिलाफ रिपोर्ट

पीलीभीत। कोतवाली पुलिस ने संशोधित तहरीर मिलनेे पर शुक्रवार को तीसरे दिन झोलाछाप के विरुद्ध रिपेार्ट दर्ज कर ली है।
एसडीएम सौरभ दुबे ने 18 सितंबर को कोतवाली क्षेत्र के गंाव गुलैंदा में उस वक्त एक झोलाछाप का क्लीनिक सील करा दिया था जब वह उनकी गाड़ी देखकर एक महिला मरीज को क्लीनिक में बंद कर भाग गया था। क्लीनिक सील करते समय तहसीलदार विजय त्रिवेदी और सीओ प्रवीण मलिक भी मौके पर मौजूद थे। सीएचसी अधीक्षक डॉ. ठाकुरदास ने उसी दिन कोतवाली में झोलाछाप के विरुद्ध नामजद तहरीर दी, लेकिन पुलिस ने तहरीर में खामी बताकर लौटा दिया। इस पर अधीक्षक ने शुक्रवार को कोतवाली में संशोधित तहरीर दी। प्रभारी इंस्पेक्टर इख्त्यिार हुसैन ने बताया कि झोलाछाप गंाव जसकरनापुर निवासी जहांगीर अंसारी के खिलाफ नामजद रिपोर्ट दर्ज कर ली गई है।
... और पढ़ें

उजड़ना और बसना ही बन गई है बाढ़ पीड़ितों की नियति

पीलीभीत। शारदा नदी की तलहटी में बसे लोगों की हर वर्ष उजड़ना और बसना ही नियति बन गई है। दो दशकों से अब तक शारदा नदी की बाढ़ से सैकड़ों परिवार बेघर हो चुके हैं। आबादी क्षेत्र और कृषि भूमि नदी में समाने के बाद यह परिवार शारदा सागर डैम के वर्जित क्षेत्र में शरण लिए हैं, लेकिन अभी तक सरकार ने इन बाढ़ पीड़ित परिवारों को स्थायी रूप से बसाने की कोई ठोस योजना नहीं बनाई है। इधर, अब सिंचाई विभाग इन बाढ़ पीड़ितों को यहां से बेघर करने के लिए नोटिस थमा रहा है।
तबाह होते रहे गांव, बेघर होते रहे लोग
वर्ष 1989 में शारदा में आई भीषण बाढ़ के चलते गुन्हान गांव के लगभग 450 परिवार बेघर हो गए थे। उनकी सैकड़ों एकड़ कृषि भूमि नदी में समा गई थी। यही हाल रमनगरा का भी था। यहां लगभग 90 परिवार जिन्हें कभी केंद्र सरकार ने यहां बसाया था जो बेघर हो गए थे। साथ ही ढकिया तालुके महाराजपुर के भी लगभग 114 परिवारों की आबादी की भूमि के साथ कृषि भूमि नदी में समा गई थी। इसके बाद यह सभी परिवार शारदा सागर डैम के वर्जित क्षेत्र में आकर बस गए थे। इसके बाद वर्ष 2009 में बाढ़ विभीषिका से रामनगरा बुझिया के भी 40 परिवार भी बेघर हो गए। ऐसी ही स्थिति बिजौरी खुर्दकलां की भी हुई थी। यहां के लगभग 70 परिवार बेघर हो गए थे। ये सभी परिवार शारदा सागर डैम के क्षेत्र में बस गए थे। मात्र बिजौरी खुर्दकलां के कुछ परिवार पुरेना ताल्लुके महाराजपुर में बस गए थे। शेष सभी शारदा डैम के क्षेत्र में ही बसे हैं। इसके अलावा नौजल्हा कुतिया कवर के लगभग 34 परिवार जिनकी जमीनें कट गई। ये सभी परिवार बूंदीभूड़ में जा बसे। जहां टाइगर रिजर्व प्रशासन ने इन सभी परिवारों को टाइगर रिजर्व की भूमि पर अवैध रूप से बसने की बात कहते हुए सभी के खिलाफ विभागीय केस काट दिए थे। इसके अलावा गभिया सहराई में भी लगभग 36 पट्टों की भूमि शारदा की भेंट चढ़ गई।
बाढ़ पीड़ितों को बसाने की नहीं हुई ठोस पहल
दरअसल असली बात यह है कि नदी तो हर साल इस इलाके में कटान कर रही थी और क्षेत्र के लोग जो बेघर होते जा रहे थे। बाढ़ पीड़ित परिवार प्रशासन और जनप्रतिनिधियों से कहीं ऊंचे स्थान पर बसाने की मांग करते चले आ रहे थे, लेकिन किसी ने उनको बसाने की कोई ठोस योजना नहीं बनाई। सवाल यह है कि वर्ष 1989 से लेकर अब तक सैकड़ों लोग बेघर होकर शारदा सागर डैम के क्षेत्र में बसे हैं। यहां सिंचाई विभाग भी 600 फुट चौड़ाई का क्षेत्र अपना बताता है और यहां बसे बाढ़पीड़ितों को उनको नोटिस जारी कर रहा है और कहीं दूसरे स्थान पर उनको बसाया भी नहीं जा रहा है। हां इतना जरूर है कि वर्ष 2009 जब तत्कालीन विधायक स्वर्गीय सुखलाल ने विधानसभा में बाढ़ पीड़ितों को लेकर सवाल उठाया था तो तत्कालीन डीएम कौशल राज शर्मा ने 627 बाढ़ पीड़ितों को मठिया लालपुर में पट्टे किए थे। जिसमें रमनगरा, गुन्हान, नगरिया खुर्द, ढकिया ताल्लुके महाराजपुर, मठिया लालपुर क्षेत्र के बाढ़ पीड़ित परिवार थे, लेकिन वह जमीन शारदा नदी के किनारे थी। इसीलिए बाढ़ पीड़ितों ने यहां बसने से इनकार कर दिया था। तबसे लेकर आज तक यह बाढ़ पीड़ित शारदा डैम के क्षेत्र में रह रहे हैं।
डैम के वर्जित क्षेत्र में बाढ़ पीड़ितों बैठाने में उस समय प्रशासन के क्या विंदु रहे थे, इसकी जानकारी तो नहीं है, लेकिन वर्तमान में सिंचाई विभाग द्वारा नोटिस दिए जा रहे हैं। वर्जित क्षेत्र में बसे लोग नोटिस का जबाव देंगे। इसके बाद प्रशासन निर्णय लेगा। - हरिओम शर्मा, एसडीएम, कलीनगर
... और पढ़ें

व्यक्तिगत चैंपियनशिप महिला और पुरुष वर्ग में बरेली का कब्जा

पीलीभीत। एलएच स्टेडियम में चल रही 37वीं अंतर जनपदीय पुलिस बैडमिंटन और टेबल टेनिस प्रतियोगिता के दूसरे दिन शनिवार को भी कई मैच खेले गए। खिलाड़ियों में खासा उत्साह रहा, देर शाम तक मैच खेले गए।
पुरुष टेबल टेनिस व्यक्तिगत चैंपियनशिप के फाइनल मुकाबले में बरेली के नगेंद्र सिंह राठौर ने पीलीभीत के विशंबर गिरि को 11-8, 11-4, 11-2 से हराया। महिला वर्ग में बरेली की कोमल ने पीलीभीत की हिना अब्बास को हराकर जीत हासिल की। टेबल टेनिस चैंपियनशिप पुरुष वर्ग में भी बरेली की टीम ने जीत दर्ज की, पीलीभीत उप-विजेता रही। बैडमिंटन चैंपियनशिप सिंगल पुरुष वर्ग में बिजनौर के अभिषेक चौधरी ने शाहजहांपुर के रामप्रसाद को 2-0 से हराया। डबल्स मुकाबले में बिजनौर के आकांक्षा-अभिषेक की जोड़ी ने शाहजहांपुर के रामप्रसाद और मोहसिन की जोड़ी को 2-0 से शिकस्त दी। बैडमिंटन महिला व्यक्तिगत चैंपियनशिप का फाइनल बरेली की कोमल और बिजनौर की कंचन के बीच हुआ। इसमें बरेली ने जीत दर्ज की। उधर, बदायूं की मधु कश्यप ने बिजनौर की अभिलाषा को हराया। रविवार को प्रतियोगिता का समापन होगा।
... और पढ़ें

गांधी स्टेडियम में हुई मंडलीय क्रिकेट चयन प्रतियोगिता

पीलीभीत। माध्यमिक शिक्षा परिषद की ओर से गांधी स्टेडियम में शनिवार को मंडलीय विद्यालीय क्रिकेट चयन प्रतियोगिता हुई। इसमें मंडल के चारों जिलों की टीमों ने भाग लिया। प्रदर्शन के आधार पर अंडर 14 बालक वर्ग और अंडर 19 बालिका वर्ग मंडलीय टीम का चयन किया गया।
गांधी स्टेडियम में शनिवार को हुई प्रतियोगिता का शुभारंभ सीएंडजे इंटर कॉलेज के प्रबंधक डॉ. मनोज गुप्ता और जिला क्रीड़ा अधिकारी राजकुमार ने किया। बालिका वर्ग में मात्र बरेली की टीम ने प्रतिभाग किया। जबकि बालक वर्ग में पीलीभीत के अलावा बरेली, बदायूं, शाहजहांपुर की टीमों ने प्रतिभाग किया। प्रतियोगिता के संयोजक सीएंडजे इंटर कॉलेज के प्रधानाचार्य नरेंद्र सिंह ने खिलाड़ियों का उत्साहवर्धन किया। प्रदर्शन के आधार पर अंडर 14 बालक वर्ग और अंडर 19 बालिका वर्ग मंडलीय टीम का चयन किया गया। चयनकर्ता के रूप में सलीम शहजादा, सह सचिव राजेश शुक्ला, यासीन खां, शाहिद रजा, अमन वर्मा, सुमित सिंह, छोटेलाल आदि मौजूद रहे।
अंडर 14 में इनका हुआ चयन
अजीत कुमार, फैजान जाफरी, लक्की राठौर, शिवांश पांडेय, अभिषेक मौर्या, दिलनवाज, नितिन मौर्या, विवेक पुरी (बरेली), निशांत मिश्र (शाहजहांपुर), किशन कश्यप(बदायूं), अनमोल सिंह, कपिल सिंह, मोहम्मद शोएब, मोहम्मद अयान, उत्कर्ष शर्मा।
अंडर 19 में चयनित हुए खिलाड़ी
गुनगुन, मुस्कान, महक, संजना, करिश्मा, अमनप्रीत, पूजा, दीक्षा, वैष्णवी, वर्षा श्रीवास्तव, कृतिका, अंजली, प्रियंका, जयंती, सनोवर वारसी, आकांक्षा।
... और पढ़ें

एक आंगनबाड़ी कार्यकर्ता की सेवाएं समाप्त, नौ को नोटिस जारी

पीलीभीत। नियुक्ति के बाद कुछ दिन तक ठीक से काम करने और उसके बाद लापरवाही करते हुए केंद्र छोड़कर अक्सर गायब रहने वाली आंगनबाड़ी कार्यकर्ता पर शिकंजा कसा गया। ग्रांम पंचायत संडा के आंगनबाड़ी केंद्र के निरीक्षण में लंबे समय से गायब रहने की पुष्टि होने पर पीडी के निर्देश पर डीपीओ ने कार्यकर्ता की सेवाएं समाप्त कर दी है। अनियमितताओं पर बीसलपुर की नौ आंगनबाड़ी वर्कर को नोटिस भी जारी किया गया है। गांव की स्थिति बद से बदतर मिलने पर प्रधान की फटकार लगाने के साथ व्यवस्था में सुधार की चेतावनी दी है।
आंगनबाड़ी केंद्रों पर कार्यकर्ताओं की अनुपस्थिति, पोषाहार वितरण नहीं करने समेत कई शिकायतें आए दिन होती है। कार्रवाई करने के साथ ही पूर्व में कई कार्यकर्ताओं को नोटिस जारी कर चेतावनी दी गई, लेकिन कुछ केंद्रों पर तैनात कार्यकर्ताओं ने इसे अनसुना कर दिया। बीते दिन हकीकत परखने पीडी अनिल कुमार मरौरी ब्लॉक की ग्राम पंचायत संडा के आंगनबाड़ी केंद्र निरीक्षण करने पहुंचे तो खेल उजागर हो गया। कार्यकर्ता अनुपस्थित मिली साथ ही केंद्र में तमाम अनियमितताएं पाई गईं। जांच में पता लगा ड्यूटी से गायब आंगनबाड़ी वर्कर शिल्पी बरेली में रह रही है और वह लंबे समय से केंद्र पर नहीं पहुंची। पुष्टि होने पर पीडी के निर्देश पर डीपीओ अरविंद कुमार ने कार्यकर्ता की तत्काल प्रभाव से सेवाएं समाप्त कर दी। अनियमितताओं पर बीसलपुर की नौ कार्यकर्ताओं को भी नोटिस जारी कर जवाब तलब किया गया है। महोफ स्थित केंद्र की सभी व्यवस्थाएं चकाचक मिलने पर पीडी ने खुशी जाहिर की।
... और पढ़ें

पालिकाध्यक्ष ने सार्वजनिक शौचालय की रखी नींव

पीलीभीत। स्वच्छ भारत मिशन के तहत शहर में सात स्थानों पर सार्वजनिक शौचालयों का निर्माण कराया जाएगा। पालिकाध्यक्ष विमला जायसवाल ने शनिवार को सार्वजनिक शौचालय की नींव रखकर कार्य का शुभारंभ किया।
स्वच्छ भारत मिशन के तहत शहर में सार्वजनिक शौचालय निर्माण को 39 लाख रुपये मंजूर किए गए हैं। नगरपालिका प्रशासन के मुताबिक इस धनराशि से डिग्री कॉलेज चौराहा, नौगवा चौराहा, नकटादाना समेत सात स्थानों पर चार-चार और छह-छह सीटर सार्वजनिक शौचालय का निर्माण कराया जाएगा। शनिवार को डिग्री कॉलेज चौराहा पर पहुंचकर पालिकाध्यक्ष ने सार्वजनिक शौचालय की नींव रखकर निर्माण कार्य का शुभारंभ किया। उन्होंने बताया कि डिग्री कॉलेज चौराहा पर चार सीटर शौचालय का निर्माण कराया जाएगा। इस मौके पर चेयरमैन के प्रतिनिधि प्रभात जायसवाल, सहायक अभियंता दिनेश चंद्र राजपूत, अवर अभियंता इंद्रजीत सिंह, ओमप्रकाश आदि मौजूद रहे। ब्यूरो
... और पढ़ें

3625 मरीजों के इलाज पर खर्च हुए पौने तीन करोड़

पीलीभीत। गरीबों के लिए चलाई जा रही आयुष्मान योजना से जिले के 1.73 लाख पात्र परिवार हैं। इन परिवारों से करीब पांच लाख सदस्य योजना से जुड़े हैं। वर्तमान में महज 75 हजार पात्रों के ही गोल्डन कार्ड बने हैं। पात्रों की सुस्ती तोड़ने के लिए ही स्वास्थ्य विभाग ब्लॉक स्तर पर स्वास्थ्य केंद्रों के अलावा ग्राम पंचायत स्तर पर कैंप लगा रहा है। लोगों को जागरूक करने के लिए प्रचार प्रसार किया जा रहा है। बावजूद करीब एक लाख गोल्डन कार्ड नहीं बन सके हैं। आयुष्मान योजना के पैनल में जिला पुरूष अस्पताल, जिला महिला अस्पताल, बीसलपुर सीएचसी के अलावा छह प्राइवेट नर्सिंग होम शामिल हैं। जिले के अब तक 3625 मरीजों के इलाज पर सरकार करीब पौने तीन करोड़ रुपये खर्च कर चुकी है। करीब एक करोड़ अस्पतालों को देना बाकी है। इनमें जिले में महज 1324 लोगों ने इलाज कराया है।
प्रधानों का भी लिया जा रहा सहयोग
सीएमओ डॉ. सीमा अग्रवाल ने बताया कि तीस सितंबर तक चलने वाले आयुष्मान कैंपों में ग्रामीण स्तर पर प्रधानों की मदद भी ली जाएगी। स्वास्थ्य विभाग की टीम के साथ प्रधान गांव-गांव जाकर योजना से जुड़े पात्रों को गोल्डन कार्ड बनवाने के लिए आगे ला रहे हैं।
कामयाब रही है आयुष्मान योजना-डॉ. अश्वनी
आयुष्मान योजना काफी सफल योजना रही है। पात्र इसका लाभ ले रहे हैं। इस बारे में मरीजों की शिकायतें भी काफी कम रही है। इस योजना के बारे में जागरूक करने के लिए स्वास्थ्य विभाग की टीम ब्लॉक स्तर के अलावा गांवों व कॉलोनियों में कैंप लगाकर इसकी जानकारी देने और गोल्डन कार्ड बना रही है। इस योजना के सरकारी समेत नौ अस्पताल पैनल पर हैं।
180018004444 पर कॉल कर लें जानकारी
योजना के नोडल डॉ. अश्वनी गुप्ता ने बताया कि आयुष्मान भारत योजना की जानकारी टोल फ्री नंबर 180018004444 या 14555 पर प्राप्त की जा सकती है। इन नंबरों पर 24 घंटे में किसी भी समय फोन कर पात्रता, गोल्डन कार्ड, योजना में आपका नाम है या नहीं सहित आयुष्मान भारत योजना संबंधी सभी जानकारियां हासिल की जा सकती हैं। इसके अलावा जनसेवा/सुविधा केंद्रों पर सरकार ने गोल्डन कार्ड बनाने का शुल्क तीस रुपये निर्धारित किया है। गोल्डन कार्ड जिला अस्पताल, जिला महिला अस्पताल, सीएचसी बीसलपुर के अलावा गांवों में कैंप लगाकर बनाए जा रहे हैं।
देश के किसी भी अस्पताल में कराएं उपचार
आयुष्मान योजना ने लोगों को स्वास्थ्य का तोहफा दिया है। इसमें गोल्डन कार्ड धारक को पांच लाख रुपये तक का निशुल्क इलाज दिया जाता है। पात्र लाभार्थी योजना से संबद्ध देश के किसी भी अस्पताल में निशुल्क उपचार को लाभ उठा सकता है। डॉ. सीमा अग्रवाल, सीएमओ
... और पढ़ें

धरने में पहुंचे क्षेत्रीय उच्च शिक्षा अधिकारी..सुनी समस्याएं

पीलीभीत। उपाधि महाविद्यालय में परिचर वीरेंद कुमार के आश्रितों को मुआवजा दिलाने और लंबित मांगों को लेकर शिक्षकों और कर्मचारियों ने तीसरे दिन शनिवार को भी धरना दिया। इस दौरान क्षेत्रीय उच्च शिक्षा अधिकारी डॉ. राजेश प्रकाश धरने पर पहुंचे और शिक्षकों व कर्मचारियों से वार्ता की। क्षेत्रीय उच्च शिक्षा अधिकारी के आश्वासन के बाद शिक्षक व कर्मचारियों ने धरना स्थगित कर दिया।
महाविद्यालय के परिचर वीरेंद्र कुमार की मौत के बाद उसके आश्रितों को कोई सहायता न दिए जाने के विरोध में पिछले तीन दिन से शिक्षक और कर्मचारी धरना प्रदर्शन कर रहे थे। शिक्षकों और कर्मचारियों ने परिचर वीरेंद्र के परिवार को मुआवजा देने, स्ववित्तपोषित योजना के अंतर्गत कार्यरत सभी कर्मचारियों की वेतन वृद्धि करने, पुराने देयों का तत्काल भुगतान आदि कराने को लेकर शनिवार तीसरे दिन भी धरना दिया। इधर, शनिवार को क्षेत्रीय उच्च शिक्षा अधिकारी डॉ. राजेश प्रकाश पीलीभीत धरना स्थल पर पहुंचे और शिक्षकों व कर्मचारियों की समस्याएं सुनी। इस दौरान उन्होंने प्रबंध कमेटी के सचिव मुरली मनोहर अग्रवाल को भी तलब किया। उन्होंने समस्याएं सुनने के बाद सचिव को शिक्षकों और कर्मचारियों की समस्याओं का निस्तारण कराने की बात कही। इधर, शिक्षकों व कर्मचारियों ने क्षेत्रीय उच्च शिक्षा अधिकारी से मिले आश्वासन के बाद धरना स्थगित कर दिया। शिक्षकों और कर्मचारियों ने बताया कि यदि सात दिन के भीतर परिचर वीरेंद्र कुमार से संबंधित मांगों को पूरा नहीं किया गया तो धरना दोबारा शुरू किया जाएगा। इस दौरान डॉ. विशाल सक्सेना, डॉ. राजेश कुमार, डॉ. मनोज गुप्ता, डॉ. विनय गर्ग, डॉ. विनय गुप्ता, डॉ. विपिन नीरज, विनीता भट्ट, राखी मिश्रा, कविता कनौजिया, शेफाली सक्सेना, साधना अग्रवाल संगीता द्विवेदी आदि मौजूद रहे।
... और पढ़ें

बुखार से किशोरी की मौत

पीलीभीत। पूरनपुर। गांव चंदिया हजारा निवासी नेमचंद की पुत्री प्रीती (15) की बुखार से मौत हो गई। नेमचंद ने बताया कि उसकी पुत्री की मौत दिमागी बुखार से हुई है। गांव में कई बच्चे बुखार की चपेट में है।
गांव निवासी नेमचंद की पुत्री प्रीती को सप्ताह भर से बुखार आ रहा था। प्रीती को पहले नगर के एक चिकित्सक के यहां भर्ती कराया गया। हालत में सुधार न होने पर उसे पीलीभीत और इसके बाद बरेली के एक प्राइवेट अस्पताल में भर्ती कराया गया। इलाज के दौरान प्रीती की मौत हो गई। नेमचंद ने बताया कि चिकित्सकों ने इलाज के दौरान उसकी पुत्री को दिमागी बुखार होना बताया। उधर, गांव में कई बच्चे बुखार की चपेट में है। एमओआईसी डॉ. सीपी सिंह ने बताया कि दिमागी बुखार से बालिका की मौत की जानकारी नहीं है। एएनएम को गांव भेजकर जानकारी करवाई जाएग
... और पढ़ें

हाईटेंशन लाइन की चपेट में आए युवक की मौत

पीलीभीत। करंट से झुलसे मोहल्ला साहूकारा लाइनपार निवासी 20 वर्षीय जावेद की इलाज के दौरान मौत हो गई। युवक की मौत से घर में कोहराम मच गया। घरों के ऊपर से निकली हाईटेंशन बिजली की लाइन न हटने से लोगों में रोष है।
घटना शुक्रवार शाम करीब आठ बजे की है। जावेद मोहल्ला में अपने रिश्तेदार शब्बीर की छत पर घूम रहा था। शब्बीर की छत के ऊपर से निकली बिजली हाईटेंशन की लाइन की चपेट में आने से जावेद अचेत हो गया था। उसे अस्पताल न ले जाकर घरेलू उपचार शुरू किया गया। मोहल्ले में ही एक मैदान में उसे रेत के ढेर से दबा दिया गया। घरेलू उपचार के दौरान रात करीब डेढ़ बजे उसकी मौत हो गई। युवक अपने नौ भाई बहनों में इंत्याज शाह, इरशाद और बहन रूकसाना से छोटा था। शनिवार को युवक का अंतिम संस्कार कर दिया गया।
... और पढ़ें

फरियादी आए कम, निस्तारण और भी बेदम

पीलीभीत। सितंबर के तीसरे शनिवार को जिले के समस्त थानों में संपूर्ण समाधान दिवस आयोजित हुआ। सुबह दस से दोपहर दो बजे तक अफसरों ने थाने में बैठकर लोगों की समस्याएं सुनीं। इस दौरान ज्यादातर शिकायतें जमीनी विवाद संबंधी आईं। उनके निस्तारण के लिए पुलिस और राजस्व कर्मियों की संयुक्त टीम बनाई गई है।
गजरौला थाने में डीएम वैभव श्रीवास्तव और एसपी मनोज कुमार सोनकर शिकायतें सुनीं। उनके सामने पहुंची तीन शिकायतों में केवल एक का निस्तारण हो सका। डीएम, एसपी ने थाने में साफ-सफाई देखी और अभिलेख चेक किए। सदर कोतवाली में एसडीएम वंदना त्रिवेदी, सीओ सिटी धर्म सिंह मार्छाल ने शिकायतें सुनीं। एक मामला पति-पत्नी के बीच विवाद का सामने आया, जिसमें एसडीएम ने सुलह कराने के निर्देश प्रभारी निरीक्षक को दिए। दूसरा मामला मोहल्ला बाग गुलशेर खां से पहुंचा। इसमें एक व्यक्ति से मकान बेचने के नाम पर 4.20 लाख रुपये ले लिए गए थे। आरोपी ने न तो रुपये लौटाए और न ही मकान का बैनामा कराया गया। अफसरों ने दोनों पक्षों की सुनने के बाद सुलह करा दी। बरखेड़ा थाने में एसडीएम न्यायिक रामदास ने शिकायतें सुनी। यहां चार शिकायतों में दो का निस्तारण किया जा सका।
बीसलपुर। यहां एसडीएम सौरभ दुबे की अध्यक्षता में हुए समाधान दिवस में पांच शिकायतें आईं। इसमें तीन का निस्तारण कराया जा सका। बाकी जमीन के विवाद होने पर टीम गठित की गई है।
सुनगढ़ी और पूरनपुर में नहीं हुआ कोई निस्तारण
सुनगढ़ी थाने में तहसीलदार विवेक मिश्र की अगुवाई में हुए समाधान दिवस में दो शिकायतें पहुंची, जिनमें किसी का निस्तारण नहीं हो सका। जबकि पूरनपुर में प्रशासनिक अधिकारियों की मौजूदगी में छह शिकायतें सुनी गईं। इनमें निस्तारण किसी का नहीं हुआ। जहानाबाद, न्यूरिया, माधोटांडा समेत अन्य थानों में भी सुनवाई की स्थिति बेहतर नहीं रही।
... और पढ़ें

वाह रे सिस्टम ! डीएम ने की डीसी की सेवाएं समाप्त करने की संस्तुति.. डायरेक्टर ने कर दी अनसुनी

पीलीभीत। पिछले माह डीएम वैभव श्रीवास्तव और सिटी मजिस्ट्रेट ऋतु पूनिया की छापा मारने के दौरान दो कस्तूरबा गांधी आवासीय बालिका विद्यालयों में भारी अनियमितताएं पकड़ी थीं। डीएम ने जिला समन्वयक (बालिका शिक्षा) और वार्डेन की सेवाएं समाप्त करने की संस्तुति सहित रिपोर्ट शासन को भेजी थी। मगर राज्य परियोजना निदेशक विजय किरण आनंद ने केवल चेतावनी देकर जिला समन्वयक को छोड़ दिया।
डीएम वैभव श्रीवास्तव ने 29 अगस्त को बीएसए कार्यालय परिसर में स्थित कस्तूरबा गांधी आवासीय विद्यालय और सिटी मजिस्ट्रेट ऋतु पूनिया ने गोहनिया स्थित कस्तूरबा स्कूल में छापा मारा था। इस दौरान कई बड़ी अनियमितताएं सामने आईं थीं। छात्राओं के लिए आया सामान उन्हें न देकर अलमारियों में बंद पाया गया था। सामान की खरीद में भारी घपला सामने आया था।
इस मामले में डीएम नेे बीएसए देवेंद्र स्वरूप को जिला समन्वयक (बालिका शिक्षा) मनीष श्रीवास्तव और वार्डेन कहकशां की सेवाएं समाप्त करने और दोनों के खिलाफ एफआईआर दर्ज कराने के निर्देश दिए थे। डीएम ने शासन को जिला समन्वयक और वार्डेन की सेवाएं समाप्त करने की संस्तुति के साथ रिपोर्ट शासन को भेज दी थी। इधर, परियोजना निदेशालय के डायरेक्टर विजय किरण आंनद ने जिला समन्यवयक को अभयदान देते हुए महज कड़ी चेतावनी दी है।
राज्य परियोजना निदेशक ने जिला समन्वयक (बालिका शिक्षा) को कड़ी चेतावनी दी है। इसका पत्र भी प्राप्त हो चुका है। वार्डेन के खिलाफ कार्रवाई जिलास्तर पर होनी है, लेकिन अभी की नहीं गई है। - शिवेंद्र वर्मा, प्रभारी बीएसए
... और पढ़ें
अपने शहर की सभी खबर पढ़ने के लिए amarujala.com पर जाएं

Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google, और सोशल मीडिया साइट्स, जैसे की Facebook, के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।

Agree