विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
सर्वपितृ अमावस्या को गया में अर्पित करें अपने समस्त पितरों को तर्पण, होंगे सभी पूर्वज प्रसन्न, 28 सितम्बर
Astrology Services

सर्वपितृ अमावस्या को गया में अर्पित करें अपने समस्त पितरों को तर्पण, होंगे सभी पूर्वज प्रसन्न, 28 सितम्बर

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

From nearby cities

अयोध्या प्रकरणः कल्याण सिंह बतौर आरोपी 27 को अदालत में तलब, विशेष न्यायाधीश ने दिया आदेश

अयोध्या प्रकरण के विशेष न्यायाधीश सुरेंद्र कुमार यादव ने पूर्व मुख्यमंत्री व राजस्थान के पूर्व राज्यपाल कल्याण सिंह को बतौर आरोपी तलब किया है।

22 सितंबर 2019

विज्ञापन
विज्ञापन

हरदोई

रविवार, 22 सितंबर 2019

रोडवेज से घर आ रहे युवक की संदिग्ध परिस्थितियों में मौत

हरपालपुर (हरदोई)। भतीजी की मौत की सूचना पर पत्नी, साले व मामा ससुर के साथ सोनीपत (हरियाणा) से रोडवेज बस से घर आ रहे युवक की अलीगढ़ के पास संदिग्ध हालात में मौत हो गई। उसके परिजनों ने तीनों पर हत्या का आरोप लगाया है। पुलिस ने शव का पोस्टमार्टम कराया है।
कोतवाली क्षेत्र के अचनकापुर गांव निवासी ललित सिंह (25) पुत्र हरिनाथ सिंह सोनीपत में एक कांच की फैक्ट्री में काम करता था। उसकी पत्नी राधा, सुरसा के उदरा पचलाई गांव निवासी साला मोनू व मल्लावां के कुशराजपुर निवासी मामा ससुर दीपू वहीं उसके साथ रहते हैं। बुधवार को फर्रुखाबाद के राजेपुर में भतीजी रोली की मौत की सूचना पर ललित तीनों के साथ रोडवेज बस से घर आ रहा था। अलीगढ़ के पास तबियत बिगड़ने पर उसकी मौत हो गई। तीनों ललित का शव लेकर घर पहुंचे तो परिजनों में कोहराम मच गया। भाई नन्हें ने बताया कि ललित का पूरा शरीर नीला पड़ा था, चोट के भी निशान हैं। उसने तीनों पर हत्या का आरोप लगाया। बताया कि ललित की शादी डेढ़ साल पहले हुई थी, उसके कोई बच्चा नहीं है। पुलिस ने शव का पोस्टमार्टम करा दिया है। प्रभारी निरीक्षक भगवान चंद्र वर्मा ने कहा कि पोस्टमार्टम रिपोर्ट आने के बाद आगे की कार्रवाई की जाएगी।
... और पढ़ें

मकान की कच्ची दीवार ढही, मासूम की मौत, पिता पुत्र घायल

हरपालपुर। थाना क्षेत्र के महितापुर गांव में बुधवार की रात एक मकान की कच्ची दीवार गिरने से नीचे सो रहा युवक व उसके दो बेटे मलबे में दब गए। परिजनों व ग्रामीणों ने मलबा हटाकर तीनों को बाहर निकालकर सीएचसी लेकर आए। जहां चिकित्सकों ने छोटे बेटे को मृत घोषित कर दिया। पिता व पुत्र की हालत गंभीर होने पर दोनों को जिला अस्पताल रेफर कर दिया गया।
थाना क्षेत्र के महितापुर गांव निवासी वीरेंद्र (48) पुत्र बाबूराम का गांव में पक्का मकान है, लेकिन वह परिवार के साथ कुछ दूरी पर सड़क किनारे बने कच्चे मकान में परिवार के साथ रह रहा है। बुधवार की रात वीरेंद्र अपने बेटे वरुण (3) व संदेश (12) के साथ घर में चारपाई पर सो रहा था। पत्नी घरेलू काम निपटा रही थी। इसी बीच घर की एक कच्ची दीवार भरभरा कर ढह गई। वीरेंद्र समेत वरुण व संदेश तीनों मलबे में दब गए। पत्नी के शोर मचाने पर आस पास के लोग दौड़ पड़े मलबा हटाकर तीनों को बाहर निकाला और सीएचसी ले आए, जहां चिकित्सकों ने वरुण को मृत घोषित कर दिया। वीरेंद्र व संदेश को जिला अस्पताल रेफर कर दिया। वरुण की मौत से परिजनों में कोहराम मचा है। परिजनों ने बताया कि वरुण आठ भाई बहनों में सबसे छोटा था। घटना के वक्त अन्य बच्चे घर के दूसरे हिस्से में थे। सूचना पर सीएचसी पहुंची पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया। इधर गुरुवार को तहसीलदार मूसाराम थारू ने गांव पहुंच कर पीड़ित परिजनों से मुलाकात की और उन्हें हर संभव मदद दिलाने का आश्वासन दिया।
... और पढ़ें

तालाब में उतराता मिला मजदूर का निकला शव

हरदोई। बीते बुधवार को संडीला के ग्राम लूमामऊ में तालाब में उतराते मिले शव की शिनाख्त हो गई है। पुलिस ने पंचनामा भरकर शव का पोस्टमार्टम कराया। मृतक 15 दिन पहले घर से लखनऊ के काकोरी में मजदूरी करने जाने की बात कहकर निकला था।
कोतवाली क्षेत्र के ग्राम सुहिलामऊ निवासी छोटा (25) पुत्र खन्ना अविवाहित था। दो भाइयों में बड़ा था। मजदूरी कर भरण-पोषण करता था। भाई गनेश ने बताया कि 15 दिन पूर्व लखनऊ के कस्बा काकोरी में मजदूरी पर जाने की बात कह कर घर से निकला था। इसके बाद से लापता था। काफी खोजबीन के बाद भी उसका सुराग नहीं लगा। परिजन उसकी तलाश में जुटे थे। इसी दौरान बुधवार को उसका शव लूमामऊ गांव स्थित तालाब में उतराता मिला। सूचना पर पहुंची पुलिस ने शव को कब्जे में लिया है। शिनाख्त न होने पर पुलिस ने शव मोर्चरी में रखवा दिया। कोतवाली पहुुंचे भाई गनेश ने शव की फोटो देखकर शिनाख्त की। भाई ने आरोप से इनकार किया। वहीं पुलिस ने पंचनामा भरकर शव का पोस्टमार्टम कराया। कोतवाल जगदीश यादव ने बताया कि पोस्टमार्टम रिपोर्ट के आधार पर कार्रवाई की जाएगी। ब्यूरो
... और पढ़ें

मौसम विभाग की भविष्यवाणी, यूपी के कई शहरों में आज से 27 सितम्बर तक होगी झमाझम बारिश

झमाझम बारिश झमाझम बारिश

बराही विवाद में दो पक्षों के 56 लोगों पर बलवा की रिपोर्ट

फॉलोअप
बराही विवाद में 56 लोगों पर बलवा की रिपोर्ट
- शौचालय की जांच करने गई टीम के सामने हुआ था विवाद
- पुलिस ने 11 लोगों को गिरफ्तार करने के बाद भेजा चालान
अमर उजाला ब्यूरो
भरावन (हरदोई)। अतरौली थाना क्षेत्र के ग्राम बराही में शुक्रवार को शौचालय की जांच करने पहुंची टीम के सामने हुए विवाद में पुलिस ने दोनों पक्षों के 56 लोगों के खिलाफ बलवा की रिपोर्ट दर्ज की है। 11 लोगों को गिरफ्तार कर चालान भेज दिया है।
अतरौली थाना क्षेत्र के ग्राम बराही निवासी सरताज अली ने शौचालय निर्माण में अनियमितता की शिकायत डीएम से की थी। शिकायत पर डीएम के निर्देश पर शुक्रवार को जिला स्तरीय टीम जांच करने पहुंची थी। टीम के सामने ग्राम प्रधान के समर्थक व शिकायतकर्ता पक्ष भिड़ गए थे। विवाद होने पर जांच टीम मौके से चली गई थी। मारपीट में दोनों पक्षों से आठ लोग गंभीर रूप से घायल हो गए थे। पुलिस ने घायलों को सीएचसी में भर्ती कराया था। शनिवार को पुलिस ने सरताज की तहरीर पर 33 लोगों के खिलाफ बलवा आदि धाराओं में रिपोर्ट दर्ज की है। वहीं दूसरे पक्ष से भुट्टो पत्नी सिराजुल की तहरीर के आधार पर 23 लोगों के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज कर जांच शुुरू की है। एसओ एसपी उपाध्याय ने बताया कि गांव में शांति का माहौल है ।
इन लोगों के खिलाफ हुई कार्रवाई
भरावन। घटना में सरताज की तहरीर पर पुलिस ने सिराजुल, सहिदुल, सत्तार, नैयर अली, सबी, सज्जाद अली, सावन, फुरात अली, हयात अली, मोहम्मद, इबने अब्बास, भुट्टो, अंजुम, गुड्डू, आनअली, मुमताज, शनी, शान अब्बास, सिराजुल, अमीर हैदर, आले मोहम्मद, हमीद,रीनू अली, हमीदुल, कल्लू, शबीबुल, आलिमा, सदाकत,रूबा, श्यामा बानो, अमर अली, मोने अली, शानशाह, शेरु के खिलाफ मामला दर्ज किया। वहीं दूसरे पक्ष से भुट्टो की तहरीर पर वाजिद, अजहर, सहसा, जहीर, सरताज, अबीदुल, बहीदुल, इरफान, अच्छू, जान अब्बास, इस्तियाक, हैदर, सहबू, शोएब, नदीम, चांद, रिंकू, बाबू, असलम, शैफ, बुद्धा, अमन के खिलाफ कार्रवाई की है।
... और पढ़ें

पति से झगड़कर महिला ने स्वयं को जिंदा जलाया, मौत

भरावन (हरदोई)। अतरौली थाना क्षेत्र के ग्राम तुलसीपुर में शुक्रवार रात पति से झगड़कर महिला ने घर के सामने बाग में केरोसिन डालकर खुद को आग लगा ली। चीखपुकार सुनकर परिजन जब तक मौके पर पहुंचे, उसकी सांसें थम गईं। घटना में घरेलू कलह की बात सामने आ रही है।
ग्राम तुलसीपुर के मजरा भरावन निवासी बबलू मजदूर है। तीन वर्ष पूर्व उसकी शादी संडीला के ग्राम आबिदखेड़ा निवासी वेदवती (23) के साथ हुई थी। उसके एक 10 माह की बेटी बिट्टूी है। ग्रामीणों के मुताबिक दंपति के बीच आए दिन किसी न किसी बात को लेकर कहासुनी होती थी। गुरुवार सुबह दोनों के बीच जमकर विवाद हुआ। ग्रामीणों ने दोनों को समझाकर शांत कराया।
शुक्रवार देर शाम वेदवती घर से निकल गई। उसने घर के सामने स्थित बाग में जाकर खुद को आग लगा ली। जब तक परिजन उसे बचाने पहुंचते, उसकी मौत हो चुकी थी। घटना से घर में कोहराम मच गया। मृतका के पति ने मायके में जानकारी दी। मृतका का भाई रजनीश अन्य परिजनों के साथ मौके पर आ गया। भाई ने आरोप से इंकार किया है। वहीं पति ने मामूली विवाद से नाराज होकर खुदकुशी करने की बात कही है। एसओ एसपी उपाध्याय ने बताया कि महिला ने घरेलू कलह में आत्महत्या की है। पोस्टमार्टम रिपोर्ट के आधार पर जांच कर कार्रवाई की जाएगी।
... और पढ़ें

डा. मौर्य के विरुद्ध लगे आरोपों की कराई जाए निष्पक्ष जांच

हरदोई। अखिल भारतीय मौर्य महासभा ने भाजपा प्रदेश अध्यक्ष को भेजे ज्ञापन में डॉ. अरुण मौर्या के विरुद्ध लगाए गए आरोपों की निष्पक्ष जांच कराने की मांग की है। नुमाइशपुरवा में मूर्ति खंडित होने के मामले में अरुण मौर्या पर केस दर्ज है। विविध संगठन उनकी गिरफ्तारी की मांग कर रहे हैं।
जिलाध्यक्ष श्याम सिंह कुशवाहा ने बताया कि शहर के मोहल्ला सुभाष नगर में कुशवाहा मौर्य समाज ने 20 वर्ष पूर्व चंदा कर कुश आश्रम का निर्माण कराया था। एक समिति बनाई गई थी जिसके अध्यक्ष सीताराम कुशवाहा शास्त्री बनाए गए थे।
एक माह पूर्व सीताराम शास्त्री ने स्वास्थ्य खराब होने के कारण कुशवाहा मौर्य समाज के लोगों को एकत्र कर कुश आश्रम को संचालित करने में असमर्थता जताई। जिस पर 15 सितंबर को समिति के सदस्यों ने केंद्रीय उपभोक्ता भंडार के अध्यक्ष डॉ. अरुण मौर्या के नेतृत्व में कुश आश्रम में कुशवाहा मौर्य समाज की बैठक बुलाई थी। जिसमें नई समिति का गठन भी हो गया, जिसका अध्यक्ष डा. मौर्या को बनाया गया। इस बीच कुछ अराजकतत्वों ने पास में बने मंदिर की मूर्ति क्षतिग्रस्त कर दी। इस मामले में अरुण मौर्या के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज हो चुकी है। मुख्य आरोपी जेल भेजे जा चुके हैं। डॉ. मौर्या का इस घटना से कोई वास्ता नहीं है। इसकी जांच की जाए।
... और पढ़ें

ऑटो व ई रिक्शा बेलगाम, यातायात बेपटरी

हरदोई। केंद्र सरकार की ओर से नया मोटर व्हीकल एक्ट लागू किए जाने के बाद पुलिस व परिवहन विभाग द्वारा दो पहिया व चार पहिया वाहनों की चेकिंग के लिए लगातार अभियान चलाया जा रहा है लेकिन सड़कों पर दौड़ रहे ऑटो व ई-रिक्शा चालकों पर इसका कोई असर नहीं है। प्रमुख मार्गों और चौराहों पर हर जगह ई-रिक्शा व ऑटो का कब्जा नजर आता है। जिसके कारण दिन भर जगह-जगह जाम लगा रहता है। किशोर भी इनका संचालन कर रहे हैं लेकिन जिम्मेदारों का इन पर ध्यान नहीं जाता। ये तो सवारी के चक्कर में कहीं भी रुक जाते हैं। नियम और कानून को ताक पर रखकर क्षमता से अधिक सवारियां बैठाकर उनकी भी जान जोखिम में डाल देते हैं। लोगों का कहना है कि इस बारे में कई बार अफसरों से शिकायत की गई, लेकिन किसी ने ध्यान नहीं दिया।
बिगड़े हालातों के लिए अफसर जिम्मेदार
हरदोई। शहर के महात्मा गांधी मार्ग निवासी राजकुमार पाल ने बताया कि कुछ साल पहले तक शहर में ऑटो व ई-रिक्शा नहीं थे, लेकिन कुछ ही समय में इनकी संख्या में जबरदस्त इजाफा हुआ है। नतीजा यह हुआ कि शहर के अंदर चौराहों, प्रमुख सड़कों के साथ चुंगियों पर भी इनकी बेतरतीब पार्किंग से जाम लगता है, जिससे लोगों को परेशानी होती है। यही नहीं किशोर भी ऑटो व ई-रिक्शा चलाते नजर आ जाते हैं जो सभी के लिए परेशानी का सबब बना है। कहा कि हालत दिन पर दिन बिगड़ते जा रहे हैं, इसके लिए संबंधित अफसर जिम्मेदार हैं।
जहां चाहा वहां रोका, सवारी बैठाई और चल दिए
हरदोई। बिलग्राम चुंगी निवासी शिवम ने बताया कि शहर में जिस तेजी से ऑटो व ई-रिक्शा की संख्या बढ़ रही है, वह आने वाले समय में परेशानी का सबब बनेगी। बताया कि अभी भी सड़क पर जो ऑटो व ई-रिक्शा दौड़ रहे हैं, उनके लिए न तो कोई नियम है और न कानून। ऑटो व ई रिक्शा वाले बीच सड़क पर वाहन रोक देते हैं और सवारी बैठाते हैं। इसी के चलते आए दिन हादसे होते रहते हैं। जिम्मेदारों को व्यवस्था सुधारने के लिए कार्रवाई करनी चाहिए।
सख्त कार्रवाई की जाएगी
ऑटो व ई-रिक्शा की चेकिंग को लेकर निरंतर अभियान चलाए जा रहे हैं। नियम तोड़ने पर इनका चालान व अन्य कार्रवाई भी की जाती हैं। यही नहीं कई बार बैठकें कर ऑटो व ई-रिक्शा चालकों को नो पार्किंग जोन में वाहन पार्क न करने समेत अन्य हिदायत दी जा चुकी है। इसके बाद भी अगर कोई नियमों का उल्लंघन करता मिला तो उसके खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाएगी।
- एआरटीओ प्रशासन, दीपक शाह
... और पढ़ें

शिक्षक बोले: ऐप वापस न होने तक जारी रहेगा विरोध

मल्लावां/माधौगंज/बिलग्राम। प्रेरणा एप को लेकर शुरू हुआ शिक्षकों का विरोध प्रदर्शन जारी है। शुक्रवार को भी मल्लावां, माधौगंज व बिलग्राम में शिक्षकों ने विरोध प्रदर्शन कर संबंधित बीईओ को ज्ञापन सौंपा।
मल्लावां में शिक्षक संघ के ब्लॉक अध्यक्ष ओमकार कनौजिया की अगुवाई में शिक्षकों ने एप के विरोध में धरना दिया। शिक्षकों ने एप को शिक्षक विरोधी बताया। प्रांतीय पदाधिकारियों से हुई वार्ता के दौरान शिक्षा मंत्री ने एप में संशोधन किए जाने का आश्वासन दिया था, लेकिन अब तक उस पर कोई कार्रवाई नहीं हुई। शिक्षकों ने बीईओ नागेंद्र चौधरी को ज्ञापन सौंपकर एप व्यवस्था खत्म करने की मांग की। यहां प्रेमशील पांडेय, प्रभात शुक्ला, शिवेंद्र, राजेश कुमार, ज्योती मिश्रा, सुनील कुमार, आशुतोष, श्रीकृष्ण, प्रदीप, राजेश वर्मा, यशवंत, विवेक, दिलीप आदि मौजूद रहे। माधौगंज में शिक्षकों ने उप्र जूनियर शिक्षक संघ के ब्लॉक महामंत्री मोहम्मद असलम की अगुवाई में बीआरसी पर विरोध प्रदर्शन किया। मोहम्मद असलम ने एप को शिक्षकों की निजता पर प्रहार बताया। यतींद्र भदौरिया व रामशरण ने एप की खामियां गिनाई।
पदाधिकारियों ने कहा कि 28 सितंबर तक प्रेरणा एप व्यवस्था को वापस न लिया गया तो 30 को संगठन के बैनर तले सभी जिलों में शिक्षक वृहद स्तर पर धरना प्रदर्शन करेंगे। इस मौके पर पवन कुमार, सुनीता मिश्रा, मनोज प्रताप, राजीव कुमार विश्वकर्मा, प्रियतम, राजीव कुमार, मोहम्मद आरिफ, नरेंद्र कटियार, विकास कुमार, गुंजन वर्मा, प्रसून लता, रीता देवी, शारदा देवी, सारिका वर्मा, पूजा, नेहा, अर्चना तिवारी, रश्मि सिंह, शिवा देवी, विजयलक्ष्मी, श्वेता सिंह आदि मौजूद रहीं। बिलग्राम में बीआर सी पर जूनियर शिक्षक संघ ने धरना प्रदर्शन कर बीईओ को ज्ञापन सौंपा। यहां जूनियर शिक्षक संघ के अध्यक्ष शकील अहमद, शिक्षा मित्र संगठन के राम लडै़ते राजपूत, शाह बानो, अखिलेश कुमार, रीता रानी मौर्य, राजकुमार मौर्या आदि मौजूद रहे।
... और पढ़ें

बरखेरा प्रधान समेत छह पर गंभीर धाराओं में रिपोर्ट दर्ज

हरदोई। बावन विकास खंड की ग्राम पंचायत बरखेरा के प्रधान और उनकी पत्नी समेत छह लोगों पर न्यायालय के आदेश पर गंभीर धाराओं में शहर कोतवाली में रिपोर्ट दर्ज की गई है। खास बात यह है कि मामले में आरोपी बनाए गए एक व्यक्ति की मौत भी हो चुकी है, लेकिन पुलिस ने उसके विरुद्ध भी रिपोर्ट दर्ज कर ली है।
शहर कोतवाली क्षेत्र के आजादनगर निवासी सुभाष दीक्षित पुत्र रामकुमार दीक्षित ने बताया कि उसने संजय कुमार सिंह पुत्र गंगाबख्श सिंह से पिहानी चुंगी के निकट एग्रीमेंट पर 2020 तक के लिए दुकान किराये पर ली थी। अग्रिम भुगतान के तौर पर 36 हजार रुपये दिए थे और 1500 रुपये प्रतिमाह किराया तय हुआ था। दुकान में सुभाष ने हार्डवेयर और फर्नीचर का कारोबार शुरू किया, जिसमें लगभग 10 लाख रुपये का सामान भी रखवाया गया। आरोप है कि आठ फरवरी 2017 को संजय कुमार सिंह ने दुकान के साथ ही अन्य दुकानों को बरखेरा के प्रधान नरेश पाल सिंह की पत्नी पूनम सिंह को बैनामा कर दिया। इस पर दीवानी न्यायालय में वाद दायर किया गया।
10 अगस्त 2017 को जब सुभाष सुबह दुकान खोलने पहुंचा तो संजय कुमार सिंह, नरेश पाल सिंह, पूनम सिंह, रामेश सिंह पुत्र राजेंद्र सिंह, वीरेंद्र सिंह पुत्र बाबू सिंह और श्यामा कुमार सिंह पुत्र सुरेंद्र सिंह ने गाली गलौज कर जान से मारने की धमकी देकर उसे भगा दिया। दुकान का 10 लाख रुपये का माल लूट लिया। संजय सिंह, नरेशपाल, रामेश सिंह, वीरेंद्र सिंह, श्याम कुमार सिंह आदि ने दुकान में असलहों से लैस होकर कब्जा कर लिया। आरोप है कि कई बार कोतवाली में तहरीर देने पर भी आरोपी के विरुद्ध राजनीतिक हस्तक्षेप के चलते रिपोर्ट दर्ज नहीं हुई। शहर कोतवाल शैलेंद्र श्रीवास्तव ने बताया कि न्यायालय के आदेश पर रिपोर्ट दर्ज की गई है। आरोपी संजय कुमार सिंह की मौत हो चुकी है।
... और पढ़ें

अनियंत्रित मैजिक पेड़ से टकराई, छह घायल

पिहानी। पिहानी-हरदोई मार्ग पर ग्राम कुइयां के पास शुक्रवार को तेज रफ्तार मैजिक पेड़ से टकरा गई। हादसे में मैजिक सवार छह लोग घायल हो गए। शुक्रवार दोपहर पिहानी से हरदोई जा रही तेज रफ्तार टाटा मैजिक कुइयां गांव के पास सामने आए मवेशी को बचाने के प्रयास में अनियंत्रित हो गई। मैजिक पेड़ से टकराते ही शोर मच गया।
आसपास के लोग मौके पर पहुंचे और घायलों को बाहर निकाला। हादसे में जाहिरा (45) पत्नी लियाकत, रानी (40) पत्नी खुशी निवासी ग्राम अब्दुलपुरवा थाना कोतवाली देहात, सुधा (40) पत्नी अरविंद व सावित्री (35) पत्नी महेश निवासी लालपुर कोतवाली हरदोई, शेरखुदा (31) पत्नी शाकिर व महेश (35) गंभीर रूप से घायल हो गए। पुलिस ने घायलों को सीएचसी पहुंचाया। हालत नाजुक होने पर चिकित्सकों ने सभी को जिला अस्पताल रेफर कर दिया।
... और पढ़ें

दो हत्यारोपियों की गिरफ्तारी की मांग को लेकर निकाला कैंडिल मार्च

हरदोई। शहर कोतवाली क्षेत्र के ग्राम भदैचा में अनुसूचित जाति के युवक को जलाकर मारने के मामले में दो आरोपियों की गिरफ्तारी की मांग को लेकर मृतक के परिजनों ने गांव में कैंडल मार्च निकाला। मृतक को श्रद्धांजलि दी गई।
भदैचा में शनिवार रात गांव निवासी मोनू (22) पुत्र मिथिलेश को गांव के ही राधे गुप्ता के मकान में कमरे में बंद कर पेट्रोल डालकर जिंदा जला दिया गया था। इस मामले में मृतक के चाचा अजय पाल की तहरीर पर गांव के राधे गुप्ता, उनकी पत्नी डाली गुप्ता, गोद ली हुई पुत्री शिवानी गुप्ता के अलावा गांव निवासी सत्यम सिंह और शिखर सिंह पुत्रगण शैलेंद्र सिंह के विरुद्ध हत्या की रिपोर्ट दर्ज की गई थी। इस मामले में पुलिस राधे, उनकी पत्नी डाली और पुत्री शिवानी को गिरफ्तार कर जेल भेज चुकी है। सत्यम और शिखर की गिरफ्तारी की मांग को लेकर अजय के नेतृत्व में शुक्रवार को ग्रामीणों ने कैंडल मार्च निकाला। अजय ने बताया कि सत्यम और शिखर की गिरफ्तारी जरूरी है। सीओ सिटी विजय कुमार राना ने बताया कि काफी कुछ चीजें स्पष्ट हो गईं हैं। अगले दो दिन में तस्वीर साफ हो जाएगी।
... और पढ़ें

अरुण मौर्या के पक्ष में उतरे डाक्टर

हरदोई। शहर के नुमाइशपुरवा में गत रविवार को मंदिर में मूर्ति खंडित किए जाने के मामले में आरोपी डॉ. अरुण मौर्या के बचाव में जनपद के चिकित्सक उतर आए हैं। शुक्रवार को चिकित्सकों के प्रतिनिधिमंडल ने शाहाबाद की भाजपा विधायक, भाजपा जिलाध्यक्ष और पुलिस अधीक्षक को प्रार्थना पत्र देकर पूरे प्रकरण की निष्पक्ष जांच की मांग की। साथ ही कहा कि दबाव में डॉ. अरुण की गिरफ्तारी न की जाए।
विधायक रजनी तिवारी, भाजपा जिलाध्यक्ष सौरभ मिश्रा व पुलिस अधीक्षक आलोक प्रियदर्शी को प्रार्थना पत्र सौंपते हुए डॉ. सीके गुप्ता, डॉ. तिरुपति आनंद, डॉ. एके सिंह, डॉ. नवीन सक्सेना सहित कई चिकित्सकों ने कहा कि घटना दुर्भाग्यपूर्ण है। वह सभी बस इतना चाहते हैं कि कोई भी कार्रवाई दबाव में न की जाए। निष्पक्ष जांच के बाद सच सामने आ जाएगा। उन सभी ने डॉ. मौर्या के ऊपर लगे आरोपों को निराधार बताया। इस मौके पर अनुपम पांडे, राकेश कुमार शुक्ला, तुषार गुप्ता, विकास सिंह, अनुराग आदि मौजूद रहे।
कुशवाहा महासभा ने दी भाजपा के विरोध की धमकी
अखिल भारतीय कुशवाहा महासभा के जिला महासचिव छविराम सिंह कुुशवाहा ने भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष और प्रदेश महामंत्री संगठन को भेजे गए पत्र में कहा है कि डॉ. अरुण मौर्या पर लगाए गए आरोप झूठे हैं। उन्होंने कहा कि डॉ. अरुण मौर्या का पूरे मामले से कोई सरोकार नहीं है। डॉ. अरुण की बढ़ती लोकप्रियता के कारण सुनियोजित ढंग से फंसाया जा रहा है। उन्होंने यह भी कहा कि अगर डॉ. अरुण मौर्या को फंसाया गया तो अखिल भारतीय कुशवाहा महासभा पूूरे देश के सभी चुनावों में भाजपा का विरोध करेगी।
... और पढ़ें
अपने शहर की सभी खबर पढ़ने के लिए amarujala.com पर जाएं

Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google, और सोशल मीडिया साइट्स, जैसे की Facebook, के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।

Agree