विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
एक माह तक वृंदावन बिहारी जी मंदिर में कराएं चन्दन तुलसी इत्र सेवा , मिलेगा नौकरी व व्यापार से जुड़े समस्याओं का समाधान
Puja

एक माह तक वृंदावन बिहारी जी मंदिर में कराएं चन्दन तुलसी इत्र सेवा , मिलेगा नौकरी व व्यापार से जुड़े समस्याओं का समाधान

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
Digital Edition

ट्रेनों लूट करने वाले दो बदमाशों पर गैंगेस्टर 

बुसिग्नल फेल कर रेलगाड़ियों को रोकने के बाद यात्रियों से लूट की वारदातों को अंजाम देने वाले बुलंदशहर के दो शातिर अपराधियों को खिलाफ गैंगेस्टर की कार्रवाई की गई है। वर्तमान में दोनों अपराधी अलीगढ़ जेल में निरुद्ध हैं। 

इंस्पेक्टर यशपाल सिंह के मुताबिक, सुमित पुत्र जगवीर और मोनू पुत्र सोनपाल निवासीगण निवासी देवकरनपुर, जहांगीराबाद, बुलंदशहर ने बुलंदशहर, अलीगढ़, टूंडला, गाजियाबाद में ट्रेनों में कई आपराधिक वारदातों को अंजाम दिया है। पिछले दिनों दोनों को लूट के एक मुकदमे में जेल भेजा था। इनके खिलाफ गैंगेस्टर की कार्रवाई की गई है।

दोनों अपराधी रेलवे लाइन पर रात्रि में होम सिग्नल पर रेल पटरी के ग्लयूड ज्वाइंट पर सिक्का रखकर सिग्नल को फे ल कर ट्रेन को रोक लेते थे। इसके बाद यात्रियों के बैग एवं कीमती सामान की चोरी, छिनैती, लूट कर फरार हो जाते थे।
... और पढ़ें

सामूहिक दुष्कर्म कर किशोरी की हत्या करने आए युवकों को ग्रामीणों ने दबोचा, हैदराबाद कांड देख बनाई थी प्लानिंग

थाना क्षेत्र के खुर्द खेड़ा गांव में बुधवार सुबह हापुड़ की एक किशोरी को एक माह तक सामूहिक दुष्कर्म के बाद ठिकाने लगाने के इरादे से पहुंचे कार सवार चार युवकों को ग्रामीणों ने दबोच लिया। किशोरी को बचाते हुए उन्होंने हंगामा किया। इस बीच दो आरोपी भाग गए। सूचना पर पहुंची पुुलिस को देख ग्रामीणों ने किशोरी को एक घर में छिपा दिया।

आरोपियों की पिटाई करते हुए किशोरी को इंसाफ दिलाने की मांग पर अड़ गए। हंगामे पर बरौली विधायक सहित आलाधिकारी भारी फोर्स के साथ पहुंचे। पुलिस ने किशोरी एक घर से बरामद कर थाने ले गई। हापुड़ की शहर कोतवाली पुलिस को दी गई। साथ ही आरोपियों और पीड़िता को हापुड़ पुलिस के हवाले कर दिया है। वहीं, सरकारी कार्य में बाधा डालने और पुलिस से अभद्रता करने के मामले में तीन नामजद सहित 60 अज्ञात लोगों पर जवां थाने में मुकदमा दर्ज किया गया है।

हापुड़ शहर के भट्ठा कॉलोनी के पास रहकर अपनी होंडा सिटी कार चलाने वाला राजू उर्फ अशोक पुत्र तेजपाल निवासी शीलमपुरा सिंघानी गेट गाजियाबाद 10 नवंबर को भट्ठा कॉलोनी हापुड़ निवासी 16 वर्षीय एक किशोरी को अपने साथ बहला फुसलाकर ले गया था। 19 नवंबर को किशोरी के परिवार ने अज्ञात में रिपोर्ट दर्ज कराई। बुधवार सुबह किशोरी के जवां थाना क्षेत्र के गांव खुर्द खेड़ा में होने और उसे लाने वाले आरोपियों के बारे में पता लगते ही गांव वालों ने सभी को घेर लिया। किशोरी सहित आरोपी राजू उर्फ अशोक और उसके मामा के बेटे राजा पुत्र जगदीश निवासी नंदीगांव सिंघानी गेट गाजियाबाद पकड़ लिया। जबकि राजू का साला बनवारी पुत्र छोटेलाल निवासी दासपुर चंदौसी समेत दो युवक भाग निकले।

ग्रामीणों ने पुलिस को सूचना दे दी और किशोरी को एक घर में छिपा दिया। पुलिस ने गांव पहुंचकर दोनों युवकों को हिरासत में ले लिया। ग्रामीण भड़क उठे और पुलिस हिरासत में मौजूद आरोपियाें कोे सौंपने की मांग करने लगे। इस पर पुलिस की ग्रामीणों से नोकझोंक भी हुई। साथ ही विधायक को बुलाने की मांग करने लगे। एसओ नरेश कुमार ने उच्चाधिकारियों को सूचना दी। कुछ देर में सीओ तृतीय के नेतृत्व में भारी फोर्स गांव पहुंच गया। पुलिस किशोरी को एक घंटे तक गांव में खोजती रही। वहीं, विधायक दलवीर सिंह ने ग्रामीणों को समझाया, तब कहीं खेड़ा खुर्द निवासी जसवंत पुत्र मुरारीलाल के घर से किशोरी बरामद हुई।

किशोरी ने बताया कि आरोपी युवकों ने उसके साथ बलात्कार किया। वह उसको जलाकर मार डालना चाहते थे। कार में डीजल रखे थे। किशोरी व आरोपियाें को जवां पुलिस थाने ले गई। बाद में सूचना पर पहुंची हापुड़ पुलिस को सौंप दिया। उधर, आरोपियों की होंडा सिटी कार क्षतिग्रस्त करने, सरकारी काम में बाधा डालने में चौकी इंचार्ज कासिमपुर पावर हाउस प्रदीप मलिक की ओर से जसवंत पुत्र मुरारी लाल, धर्मवीर पुत्र मुरारीलाल, विपिन पुत्र मुरारी लाल समेत गांव के करीब 60 लोगों पर रिपोर्ट दर्ज हुई है।

एक माह तक घुमाते रहे, एक सप्ताह आगरा के होटल में भी रखा
राजू उर्फ अशोक ने बताया कि 10 नवंबर को किशोरी को अपने साथ ले जाने के बाद एक सप्ताह तक हापुड़ में ही अपने साथ रखा। इसके बाद एक सप्ताह आगरा में होटल में और एक सप्ताह अतरौली (अलीगढ़) में रखा। फिर अपने साले बनवारी के हवाले कर दिया। वह अपनी रिश्तेदारियों, मित्रों के यहां लेकर किशोरी को घूमता रहा। मंगलवार को बनवारी अपनी ससुराल खुर्दखेड़ा निवासी जसवंत सिंह के यहां आया था। खबर पाकर राजू उर्फ अशोक अपने मामा के बेटे राजा पुत्र जगदीश के साथ मंगलवार की रात खुर्द खेड़ा पहुंचा। खुर्दखेड़ा के पास बहादुरपुर प्राथमिक विद्यालय में रात करीब 9 बजे सभी मिले। वहां अशोक और बनवारी में झगड़ा हो गया। इसके बाद बनवारी किशोरी को लेकर अपनी ससुराल जसवंत सिंह के यहां चला गया। अशोक और राजा कार में ही रात भर रहे। बुधवार की सुबह वह एक दुकान पर चाय पी रहे थे तभी गांव वालों ने पकड़ लिया। अशोक ने बताया कि उसने तीन चार दिन पहले किशोरी की पिटाई भी की थी।

हैदराबाद कांड को देख आरोपियों ने रची थी कहानी
पुलिस पूछताछ में पता लगा है कि आरोपियों ने किशोरी के साथ गैंगरेप करने के बाद खुद को बचाने के लिए किशोरी को मारने का प्लान तैयार किया था। उन्होंने हैदराबाद की डॉक्टर बेटी के साथ हुई घटना को देख यह प्लानिंग बनाई थी। मिली जानकारी के मुताबिक जसवंत सिंह का प्लान था कि सभी आरोपी किशोरी की जलाकर हत्या करेंगे, उसके बाद उसका शव गांव के पास से गुजर रही नहर में फेंक देंगे।

किशोरी ने पूछताछ में बताया है कि एक माह तक आरोपियों ने उसके साथ गैंगरेप किया। किशोरी का मेडिकल कराया गया है। साथ ही पूरे मामले की जानकारी हापुड़ पुलिस को देकर आरोपियों और किशोरी को उनके सुपुर्द कर दिया है। आगे की कार्रवाई वहीं से होगी। जवां थाने में तीन नामजद सहित 60 अज्ञातों पर सरकारी कार्य में बाधा, तोड़फोड़, पुलिस से अभद्रता का मुकदमा दर्ज किया गया है।
- अनिल समानिया, सीओ सिविल लाइंस
... और पढ़ें

बेटी के प्रेम-प्रसंग से तंग आकर माता-पिता ने दुपट्टे से घोंटा था गला, ऐसे हुए खुलासा

अतरौली कोतवाली क्षेत्र के गांव आलमपुर कायस्थान में कक्षा नौ में पढ़ने वाली 14 वर्षीय डीना की तीन दिसंबर को हत्या उसके माता-पिता ने ही दुपट्टे से गला घोंटकर की थी। सुबह हत्या करने के बाद पिता ने शाम को बेटी के अपहरण की अफवाह फैलाई। इसके बाद रात में अपने बड़े भाई के सहयोग से शव को वह अमरूद के बाग में फेंक आया था। आरोपी डीना के प्रेम प्रसंग को लेकर नाराज थे। पुलिस ने आरोपी माता-पिता के साथ ताऊ को भी गिरफ्तार कर लिया है।

आलमपुर गदाई तिराहा स्थित अमरूद की बाग में चार दिसंबर की सुबह शव मिला था। डीना के पिता ने गांव के ही रामू पुत्र जीतू के खिलाफ बेटी की हत्या की रिपोर्ट दर्ज कराई थी। एसपी देहात अतुल शर्मा के अनुसार पोस्टमार्टम रिपोर्ट में पता चला कि डीना की मौत शव मिलने से एक दिन पहले ही हो गई थी। उसके पेट में खाना भी नहीं था। इससे यह स्पष्ट हो गया कि डीना की हत्या रात में नहीं बल्कि दिन में की गई थी।

इस पर पुलिस का शक परिवार वालों पर गहराता चला गया। जांच के दौरान पुलिस ने कई बार परिवार वालों से पूछताछ की। इसी बीच डीना की मां सरबती देवी, पिता प्रकाश चंद्र और ताऊ वेदप्रकाश पुत्र महावीर सिंह कहीं भागने की फिराक में अतरौली में बरी के अड्डे पर खड़े थे, तभी कोतवाल राजीव सिरोही व एसआई रवेंद्र सिंह ने पकड़ लिया।

लोगों के तानों से तंग आकर की डीना की हत्या
पुलिस की पूछताछ में माता-पिता ने बताया कि बेटी के प्रेम संबंध को लेकर गांव वाले ताने मारते थे। रामू पुत्र जीतू से डीना के संबंध थे। कई बार समझाने के बावजूद डीना नहीं मानी। पिता प्रकाश चंद्र के अनुसार तीन दिसंबर की सुबह भी लोगों ने डीना को लेकर छींटाकशी की थी। इसी पर गुस्से में वह घर पहुंचे और पत्नी के साथ मिलकर डीना के दुपट्टे से ही गला घोंटकर हत्या कर दी थी। शव को घर में कपड़ों के बीच छिपा दिया था।

इसके बाद एक पुराने मुकदमे की तारीख में वह अतरौली स्थित न्यायालय चले गए। शाम घर लौटने पर डायल 112 पर बेटी के लापता होने की सूचना दी। गांव वालों को शक न हो इसलिए शाम सात बजे ही बेटी के अपहरण की अफवाह गांव में फैला दी ताकि पुलिस पूछताछ करे तो गांव वाले अपहरण की बात कहें। इसके बाद रात 10:30 बजे भाई वेदप्रकाश के सहयोग से गांव के बाहर अमरूद के बाग में शव फेंक आए थे।
... और पढ़ें

प्यार का बुखार, लड़की को एक  दिन में फोन किया 1200 बार

बदायूं जिले का एक सिरफिरा लड़का शहर के क्वार्सी थाना क्षेत्र की एक लड़की के पीछे पड़ गया है। सिरफिरा एक दिन में 1200-1200 बार फोन करके लड़की पर दोस्ती का दबाव बना रहा है। पीड़िता ने वुमन प्रोटेक्शन सेल को फोन कर मदद की गुहार लगाई है। हालांकि, लड़का पीड़िता का परिचित है, इसलिए वह सामाजिक बदनामी के डर से मुकदमा दर्ज नहीं कराना चाहती है। 


वाकये के मुताबिक, क्वार्सी थाना क्षेत्र की एक लड़की के पास पिछले कुछ समय से एक अनजान युवक फोन कर रहा है। एक दिन में 1200-1200 बार फोन करके वह लड़की पर दोस्ती का दबाव बना रहा है। पिछले दिनों लड़की ने तंग आकर वुमन प्रोटेक्शन सेल को फोन कर मदद की गुहार लगाई। वुमन प्रोटेक्शन सेल की प्रभारी स्मृति गौतम ने लड़की से मोबाइल नंबर मांगा और उसे सर्विलांस पर लगवाया। पता लगा कि फोन करने वाला युवक बदायूं जिले का रहने वाला है। साथ ही उसकी आईडी से फोन नंबर पर उसके नाम/फोटो जैसी जानकारी भी मिल गई। 


स्मृति गौतम के मुताबिक लड़की को जब फोन करने वाले की डिटेल बताई तो वह उसका पहले से ही परिचित एक युवक निकला। अब लड़की इस मामले में सिर्फ इंसाफ मांगते हुए युवक से पीछा छुड़ाना चाहती है। सामाजिक बदनामी के डर से युवक पर मुकदमा भी दर्ज नहीं करा रही है। ऐसे में लड़के के खिलाफ कानूनी एक्शन लेना मुश्किल हो गया है। 
... और पढ़ें
सांकेतिक फोटो सांकेतिक फोटो

रिक्रूट की मौत का कारण पोस्टमार्टम में भी स्पष्ट नहीं, शव परिवार वालों को सौंपा

पीएसी 38वीं वाहिनी में प्रशिक्षण पा रहे बागपत के रिक्रूट सिपाही की मौत की वजह पोस्टमार्टम रिपोर्ट में भी स्पष्ट नहीं हो सकी है। तीन सदस्यीय पैनल ने वीडियोग्राफी के बीच शव का पोस्टमार्टम किया। मौत का कारण साफ न होने पर विसरा संरक्षित कर जांच के लिए विधि विज्ञान प्रयोगशाला भेज दिया गया है। इधर, परिवार वाले शव लेकर बागपत के लिए रवाना हो गए। परिवार में इकलौते बेटे की मौत से कोहराम मचा हुआ है।

बता दें कि पीएसी 38वीं वाहिनी में प्रशिक्षण पा रहे बागपत के रिक्रूट सिपाही की शनिवार सुबह-सुबह परेड मैदान पर चक्कर खाकर गिरने से मौत हो गई थी। हालांकि पीएसीकर्मी आनन-फानन उसे जेएन मेडिकल कालेज लेकर पहुंचे। मगर उसे बचाया नहीं जा सका। इधर, देर शाम बागपत से आए परिवार ने अनुशासनहीनता में दंड में अधिक दौड़ लगवाने और उससे मौत होने का आरोप लगा दिया।

हालांकि पुलिस जांच में देर रात तक इस तरह के किसी आरोप की पुष्टि नहीं हुई है। वहीं मीडिया के सामने भी परिवार वाले बात करने से कतराते रहे। अब पोस्टमार्टम रिपोर्ट में मौत का कारण स्पष्ट होगा। इधर, शव को कोविड-19 की जांच के चलते देर रात तक पोस्टमार्टम के लिए नहीं भेजा गया था।

क्वार्सी पुलिस से मिली जानकारी के अनुसार, मूल रूप से बागपत के सिंहावली अहीर निवासी रमेश यादव का 22 वर्षीय बेटा विशाल विजय यादव पीएसी में बतौर कांस्टेबल भरती हुआ था। 6 माह से उसकी ट्रेनिंग यहां रामघाट रोड 38वीं वाहिनी में चल रही है। वह टोली नंबर 10 में शामिल था। बताया गया है कि वाकये के अनुसार शनिवार सुबह साढ़े आठ बजे करीब परेड मैदान पर ट्रेनिंग के दौरान अचानक उसे चक्कर आए।

उसने अपने ट्रेनिंग उस्ताद को चक्कर आने की जानकारी दी तो उस्ताद ने उसे बैठने के लिए बोला, मगर बैठते-बैठते वह जमीन पर गिर गया। इस पर आनन-फानन उसे पहले क्वार्सी के ट्रामा सेंटर और वहां से मेडिकल कालेज ले जाया गया। जहां कुछ देर में ही उसे मृत घोषित कर दिया गया। इसके बाद शव के पोस्टमार्टम व एहतियातन कोविड जांच की तैयारी हुई। 

इधर, देर रात उसके पिता व बहनोई सहित कुछ अन्य परिजन यहां पहुंच गए थे। पुलिस के अनुसार परिवार ने यह आरोप लगाया कि बच्चे ने कोई अनुशासनहीनता कर दी थी, जिस पर उसे बतौर दंड अधिक दौड़ लगवा दी और जिससे उसकी मौत हो गई। मगर जब मीडिया ने मेडिकल कॉलेज में परिवार से इस सवाल पर बात करनी चाही तो वह चुप्पी साध गए। 

इंस्पेक्टर क्वार्सी छोटेलाल के अनुसार परिवार वालों ने जब दंड दिए जाने का आरोप लगाया तो हमारे स्तर से जांच की गई जिसमें साथी रिक्रूटों से बात की गई। मगर वहां इस तरह की कोई बात सामने नहीं आई है। यही पता चला है कि अचानक चक्कर आने से वह गिर पड़ा।

 
... और पढ़ें

आठ माह के बालक को बड़े भाई ने पानी के धोखे में पिलाया डीजल, मौत

गभाना थाना क्षेत्र के गांव कौमला के एक आठ माह के बालक को उसके तीन साल के भाई ने पानी के धोखे में डीजल पिला दिया। इससे बालक की हालत बिगड़ गई। बृहस्पतिवार रात को बालक ने उपचार के दौरान दम तोड़ दिया। परिवार वालों में मासूम की मौत से कोहराम मच गया।


कौमला गांव के रहने वाले किसान रमेेश ने बताया कि उनके दो बेटे हैं। बड़ा बेटा तीन साल का अनुज और छोटा बेटा आठ का राहुल। वाकया बृहस्पतिवार शाम का है। अपने घेर में लगी चारा काटने की मशीन का इंजन ठीक कर रहे थे। पास पड़ी चारपाई पर आठ माह का बालक राहुल लेटा हुआ था। पास में बड़ा बेटा तीन वर्षीय अनुज उससे खेल रहा था।


इंजन ठीक करने के दौरान किसी सामान की जरूरत होने पर वह घर के भीतर चले गए। तभी राहुल रोने लगा। राहुल को प्यासा समझ अनुज ने पास में ही इंजन सफाई के लिए कटोरी में रखे डीजल को पानी समझकर राहुल को पिला दिया। इससे उसकी हालत बिगड़ गई। डीजल पिलाने की बात पता लगते ही बेटे को जेएन मेडिकल कालेज लेकर पहुंचे। यहां देर रात को उसकी मौत हो  गई। घटना से परिवार में कोहराम मचा हुआ है।
... और पढ़ें

केबीसी के नाम पर महिला से 15 हजार की ठगी

बन्नादेवी थाना क्षेत्र के रसलगंज की रहने वाली एक महिला से अज्ञात शातिरों ने कौन बनेगा करोड़पति (केबीसी) के नाम पर 15 हजार रुपये की ठगी कर ली।
रसलगंज इलाके की महिला न्याज बानो ने बताया कि 17 मई को उसके मोबाइल पर एक फोन आया।

फोन करने वाले ने खुद को राना प्रताप बताते हुए केबीसी में परिवार के नाम से 25 लाख रुपये की लॉटरी खुलने की बात कही। इस पर बेटियां और स्वयं वह लालच में आ गई। शातिरों ने फर्जी तरीके से कुछ दस्तावेज भी बनाकर भेज दिए और बाद में 15 हजार रुपये खाते में डलवा दिए। इसके बाद वह 32 हजार रुपये और मांगने लगा।


इस पर शक हुआ। फोन करने वालों को 32 हजार रुपये देने से मना कर लॉटरी के 25 लाख रुपये भेजने को कहा तो वह बातों को घुमाने लगा। इस पर उसके  द्वारा ठगी करने का अहसास हुआ। एसएसपी के मुताबिक महिला की शिकायत के आधार पर मामले में जांच बैठा दी गई है। शातिरों को जल्द से जल्द दबोच लिया जाएगा।
... और पढ़ें

लॉकडाउन में क्राइम सीरियल देख रची सगे दोस्त के अपहरण की साजिश

सांकेतिक तस्वीर
त्रिमूर्ति नगर के बैंक कर्मी के 16 साल के बेटे के अपहरण और हत्या जैसी संगीन वारदात को अंजाम देने वाले आरोपी 18 से 20 साल के हैं। इतनी छोटी उम्र में इन आरोपियों के दिमाग में क्राइम सीरियल देखकर अपहरण और हत्या की कहानी आई। तीनों ने अपना शिकार तलाशा तो उनके सामने अभिषेक सामने आया। दरअसल, अभिषेक के घर में पल्सर मोटर साइकिल और पिता की बैंक में नौकरी होने की चकाचौंध से आरोपियों ने उसके  अपहरण की कहानी रची। टिकटॉक वीडियो के शौक को इसका आधार बनाया गया। मुख्य भूमिका शिवम ने निभाई।


शिवम ने पुलिस पूछताछ में बताया कि उसे व अनिकेत और बाबू को घूमना-फिरना और ऐश मौज काटना पसंद है। इसके लिए पैसे चाहिए थे। क्राइम सीरियल में सगे दोस्त की के अपहरण की कहानी देखी तो अपने दोस्त अभिषेक के अपहरण की साजिश रच ली। शिवम के मुताबिक शुक्रवार दोपहर को फोन कर घर से बुलाने के बाद उसे भांकरी से आगे एक बंद फैक्टरी में लेकर गए। वहां अपहरण कर रखने की व्यवस्था न बनी तो उसे वीडियो बनाने के बहाने एक स्कूटर और एक मोटर साइकिल  पर साथ लेकर गभाना क्षेत्र के पला सल्लू गांव से गुजर रही नगर के बीचोबीच ले गए। नहर सूखी पड़ी है। वहां अभिषेक के हाथ पैर बांध दिए। उसने विरोध किया तो पिटाई लगा दी। इसके बाद उसके ही फोन से उसके पिता के साथ काम करने वाले मयंक अग्रवाल को फोन कर 10 लाख रुपये की फिरौती मांगी।


पिता की बातों से लगा कि वह पैसे दे देगा। पैसे मिलने की बात पर निश्चित होने पर अभिषेक को मौत के घाट उतार दिया। इसके बाद शव को वहीं छुपा दिया। परिवार वालों को उसके जिंदा होने की बात बताते रहे। इस बीच सभी अपने-अपने घर आ गए। बाद में शिवम का फोन बंद कर अपने फोन से शिवम के परिवार से संपर्क किया। पकड़े जाने के डर से राजू ढाबे और साईं मंदिर पर फिरौती की रकम लेने नहीं पहुंचे थे।

अनिकेत डरा, बाप को बताई वारदात
वारदात में आरोपी अनिकेत बरौला इलाके के एक प्रॉपटी डीलर का बेटा है। उसने अपने पिता को पूरा वाकया बता दिया था। पिता  ने मामले को पुलिस के पास पहुंचाने के बजाय बेटे का जुर्म छुपाने को उसे फरार कर दिया। मगर, अनिकेत फिर से घर लौटकर पिता के पास पहुंच गया। पुलिस ने उसे और उसके पिता को घर से उठाया।

फिरौती के लिए कई माह पहले खोई सिम का नंबर कराया जारी
शिवम ने वारदात के लिए पूरी प्लानिंग बेहद संगीन अपराधी के तौर पर रची थी। जिस नंबर से उसने फोन कर फिरौती मांगी थी वह नंबर उसके बहनोई का था, जो कि कई माह पहले फोन गुम हो जाने के चलते बंद था। मगर. शिवम ने बहनोई की आईडी से गुपचुप तौर पर दुबारा से उक्त नंबर को जारी कराया था, उसे लगा था कि वह ऐसा करने से पकड़ा नहीं जाएगा। मगर, सर्विंलांस की टीम ने सिम नंबर और मोबाइल के आईएमईआई नंबर से उसकी लोकेशन ट्रेस कर थाना पुलिस को बता दी। इससे पूरी वारदात का 24 घंटे में राजफाश हो गया।

कप्तान ने खुलासा टीम की पीठ ठोंकी
रात में इस घटना की गंभीरता को देखते हुए एसएसपी ने एसपी सिटी अभिषेक के निर्देशन में सीओ द्वितीय पंकज श्रीवास्तव के नेतृत्व में बन्नादेवी इंस्पेक्टर रविंद्र दुबे के अलावा क्वार्सी इंस्पेक्टर छोटेलाल, जवां एसओ अभय कुमार, एसओजी/सर्विलांस प्रभारी संजीव कुमार की टीम को लगाया। शाम को थाने पहुंचे एसएसपी ने रात भर के प्रयास में खुलासा करने पर टीम की पीठ ठोंकी।
 
... और पढ़ें

संदिग्ध हालात मेें फंदे पर झूला युवक, मौत

महानगर के सासनी गेट थाना क्षेत्र की एडीए कॉलोनी में लॉकडाउन के दौरान ताऊ के घर रुके एक युवक ने बुधवार रात को फांसी के फंदे पर लटककर अपनी जान दे दी। आत्महत्या के पीछे का कारण स्पष्ट नहीं हो सका है। पुलिस ने शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है। मामले की जांच जारी है।


सासनी गेट की एडीए कॉलोनी के तिकोना पार्क के पास स्थित मकान में निवासी ओमवीर के मकान में उनके स्वर्गीय भाई सुखवीर का 18 साल का बेटा राजुल लॉकडाउन के चलते रह रहा था। राजुल के मां-पिता की पहले ही मौत हो चुकी है। वह फरीदाबाद की एक कंपनी में नौकरी करता था। वाकये के मुताबिक रात को खाना खाने के बाद राजुल अपने कमरे में चला गया।


तभी देर रात फंदे से लटककर उसने आत्महत्या कर ली। सुबह परिजनों की आंख खुली तो शव लटका देख चीख निकल गई। मोहल्ले के लोग घर पर जुट गए। सूचना पर पुलिस पहुंच गई। पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया। शव का सैंपल कोरोना टेस्ट के लिए भेजा गया है। रिपोर्ट आने के बाद आगे की कार्रवाई की जाएगी। सासनी गेट इंस्पेक्टर जावेद खां के अनुसार राजुल ने संदिग्ध परिस्थितियों में आत्महत्या की है।


घटना के पीछे की वजह स्पष्ट नहीं है। ताऊ ओमवीर पारिवारिक कलह से भी इंकार कर रहा है। हालांकि कुछ लोगों से मिली जानकारी के मुताबिक पैतृक संपत्ति का भी विवाद आत्महत्या की वजह हो सकता है। मामले में जांच जारी है। पोस्टमार्टम रिपोर्ट आने के बाद आगे की कार्रवाई की जाएगी।
... और पढ़ें

यूपी: बरात देखने गई बच्ची के साथ युवक ने किया दुष्कर्म, दो दिन बाद होश आने पर बताई आपबीती

अलीगढ़ के हाथरस कोतवाली क्षेत्र के एक गांव में रविवार रात करीब डेढ़ बजे बरात चढ़त को देखने गई आठ वर्षीय मासूम बच्ची को एक दरिंदे ने अपनी हवस का शिकार बना लिया। आरोपी बच्ची का मुंह दबाकर सुनसान जगह पर ले गया और उसके साथ दुष्कर्म किया।

घायल अवस्था में बच्ची रात को तो घर आकर सो गई। सुबह जब मां ने उसकी हालत देखी तो उसे तुरंत इलाज के लिए ले गई। बच्ची दो दिनों तक बेहोश पड़ी रही। दो दिन बाद होश आने पर उसने परिवार वालों को पूरी घटना बताई। बच्ची के पिता ने आरोपी के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज करा दी है।

पुलिस ने पीड़ित बच्ची को चिकित्सकीय परीक्षण के लिए भेजा है और आरोपी को दबिश देकर गिरफ्तार कर लिया है। घटना की गंभीरता को देखते हुए पुलिस अधीक्षक गौरव बंसवाल कोतवाली पहुंचे और वहां पर सीओ डॉ. राजीव कुमार सिंह से पूरे मामले की जानकारी ली।

परिवार वालों के मुताबिक 16 फरवरी की रात करीब डेढ़ बजे यह बच्ची गांव में निकल रही बरात को देख रही थी। तभी आरोपी कृष्णा यादव आया और बच्ची को मुंह दबाकर सुनसान जगह पर ले गया और वहां उसके साथ इस घिनौनी हरकत को अंजाम दिया।

रात को बच्ची घायल हालत में ही सो गई। सुबह जब बच्ची को कराहते हुए उसकी मां ने देखा तो उसके शरीर के नाजुक अंगों पर चोट के निशान थे। उसे इलाज के लिये ले जाया गया। दो दिन तक बच्ची अचेत हालत में रही। होश में आने पर उसने पूरी घटना परिवार वालों को बताई।
... और पढ़ें

अतरौली: लापता 11वीं के छात्र की फिरौती के लिए दोस्तों ने की हत्या

अतरौली से 6 फरवरी को लापता हुए 11वीं के छात्र का शव पुलिस ने शनिवार को बरामद कर लिया है। शव को कब्जे में लेकर उसे पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया गया है। पुलिस ने इस मामले खुलासा करते हुए बताया कि छात्र का अपहरण फिरौती के लिए उसके दोस्तों द्वारा ही किया गया था। पुलिस ने सभी पांच आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया है।

पांच दोस्तों ने मिलकर अपहरण को अंजाम दिया और 10 लाख की फिरौती मांगी। फिरौती भी अपहृत छात्र के मोबाइल से फोन करके मांगी जा रही थी। लेकिन उन्होंने अपने दोस्त की हत्या क्योंकि इस बात का खुलासा अभी नहीं हो सका है।

वहीं इंस्पेक्टर अतरौली राजीव सिरोही को इस मामले में लापरवाही बरतने के चलते निलंबित कर दिया गया है। परिजनों ने पुलिस पर लापरवाही करने का आरोप लगाया है। उनका कहना है कि पुलिस अगर समय से कार्रवाई करती तो उनके बच्चे की जान बच सकती थी।
... और पढ़ें

यूपी: शराब के लिए रुपये न देने पर पिता की पीट-पीटकर हत्या

सिकंदराराऊ के मोहल्ला बुंद्दू खां में गुरुवार देर रात दो बेटों ने पिता की पीट-पीटकर हत्या कर दी। गंभीर हालत में पीड़ित को समुदायिक स्वास्थ्य केंद्र (सीएचसी) लाया गया था, लेकिन उसे बचाया नहीं जा सका।

मोहल्ला बुंद्दू खां के रहने वाले राजपाल (55) पुत्र छोटेलाल रेलवे में राजमिस्त्री थे। उनकी तैनाती कन्नौज में थी। दो दिन पहले ही वे घर आए थे। गुरुवार को बैंक से 20 हजार रुपये खाते से निकाले थे। रात को इन रुपये को लेकर राजपाल का उनके बेटों से झगड़ा हुआ था।  

दरअसल राजपाल के दो बेटे बंटू व राजेश हैं। पुलिस के अनुसार दोनों ही कुछ काम नहीं करते हैं और इन्हें शराब की लत है। इसी वजह से राजपाल ने रुपये देने से इंकार कर दिया। बस इसी बात पर दोनों बेटों ने पिता को बुरी तरह पीटा।
 
घटना की जानकारी पर पुलिस भी पहुंची तथा दोनों बेटों को हिरासत में ले लिया। घायल राजपाल को सीएचसी ले जाया गया। प्राथमिक उपचार के बाद उन्हें घर भेज दिया गया था, लेकिन सुबह फिर हालत खराब हुई। अस्पताल लेकर गए, जहां सुबह लगभग दस बजे राजपाल की मौत हो गई।
 
मृतक के भाई रहीशपाल ने मारपीट के बाद बंटू व राजेश के खिलाफ एनसीआर दर्ज करा दी थी। पुलिस अब मामला मुकदमे में तरमीम करेगी। फिलहाल दोनों आरोपी पुलिस हिरासत में हैं। एसएचओ सिकंदराराऊ प्रवेश राणा ने बताया कि शराब के लिए रुपये मांगने को लेकर विवाद हुआ था। मामले की जांच की जा रही है। 
... और पढ़ें

धरने से लाैट रहे पार्षद पर हमला, जमकर पीटा

पूर्व विधायक जमीरउल्लाह के साथ शाहजमाल इलाके में चल रहे धरने में शामिल लोगों से मिलकर लौट रहे वार्ड संख्या 55 के नगर निगम पार्षद मो. हफीज अब्बासी पर बृहस्पतिवार को कुछ लोगों ने जानलेवा हमला किया। आशिक अली भुजपुरा स्थित एसके लाज के पास हुई घटना के दौरान उनके साथ जमकर मारपीट की गई। आसपास के राहगीरों ने किसी तरह उन्हें बचाया। गंभीर रूप से घायल पार्षद को उपचार के लिए मलखान सिंह जिला अस्पताल में भर्ती करा दिया गया है। सूचना पर पूर्व विधायक समेत अन्य नेता अस्पताल पहुंच गए हैं। इस मामले में अज्ञात हमलावरों के खिलाफ तहरीर दी है। 


शाहजमाल इलाके में एनआरसी एवं सीएए के विरोध में चल रहे धरने में बैठी महिलाओं के लिए बुधवार दोपहर खाना आया था। इसका वहां मौजूद पुलिस ने वीडियो बना लिया था। इससे घबराई महिलाओं ने पूर्व विधायक हाजी जमीरउल्लाह खां को बुलाया। बृहस्पतिवार को विधायक के साथ बाबा फरीद व नगर निगम पार्षद वार्ड 55 मुल्ला पाड़ा निवासी मो.हफीज अब्बासी भी शाहजमाल पहुंचे और धरनारत महिलाओं को सांत्वना दी। इसके बाद विधायक वहां से चले गए।


पार्षद हफीज ने बताया कि जब वह घर जा रहा था, तभी एसके लाज के पास लगी भीड़ देखकर वह रुक गए और कारण पूछा। तभी एक युवक ने यह कहते हुए कि बहुत नेता बनता है आज तुझे ही देख लेते हैं। इसके बाद युवक और उसके चार पांच साथियों ने उस पर हमला बोल दिया। पुलिसकर्मियों की मौजूदगी में हुए हमले के दौरान हमलावरों ने लात, घूंसे, चैन व बेल्टों से उसके साथ जमकर मारपीट की। राहगीरों ने बमुश्किल उसे बचाया, वरना वह लोग जान से मार देते। इंस्पेक्टर कोतवाली रविंद्र सिंह के अनुसार घटना में कुछ लोगों को चिह्नित कर मुकदमा दर्ज कर लिया गया है। जल्द गिरफ्तारी की जाएगी।

जमीरउल्लाह समेत सपा नेताओं ने अस्पताल जाकर लिया हालचाल 
पार्षद मो.हफीज अब्बासी के साथ हुई मारपीट में घायल होने की सूचना पर पूर्व विधायक हाजी जमीर उल्लाह खान एवं प्रगतिशील समाजवादी पार्टी लोहिया के महानगर अध्यक्ष बाबा फरीद आजाद जिला मलखान सिंह चिकित्सालय पहुंचे और घायल का हालचाल लिया। उन्होंने घटना की निंदा करते हुए प्रशासन से दोषियों के खिलाफ कार्रवाई की मांग की। इस मौके पर फरहान सलमानी, मोहम्मद आरिफ , बबलू अब्बासी, कल्लू पहलवान, पार्षद अकरम, पार्षद माशा अल्लाह, प्रताप सिंह चीफ , रूप सिंह जाटव, रिजवान आदि उपस्थित थे। 
... और पढ़ें
Election
  • Downloads

Follow Us

विज्ञापन