विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
सावन सोमवार पर कराएं शिव का विशेष रुद्राभिषेक , होगी समस्त अभिलाषाओं की पूर्ति
Sawan Puja

सावन सोमवार पर कराएं शिव का विशेष रुद्राभिषेक , होगी समस्त अभिलाषाओं की पूर्ति

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

From nearby cities

विज्ञापन
Digital Edition

अलीगढ़ : अचानक हाईवे पर रुके प्रमुख सचिव, निर्माण की गुणवत्ता को परखा

प्रमुख सचिव एवं जिले के नोडल अधिकारी नितिन रमेश गोकर्ण ने अपने दो दिवसीय प्रवास के दूसरे दिन रविवार को अलीगढ़-पलवल हाईवे, संचारी रोग नियंत्रण अभियान और यमुना तट पर बाढ़ अवरोधी कार्यों का निरीक्षण किया। उनके साथ एडीएम फाइनेंस विधान जायसवाल, खैर एसडीएम अंजुम बी व अन्य अधिकारी मौजूद रहे।
अलीगढ़ से यमुना तट की ओर से जाते हुए प्रमुख सचिव का काफिला अचानक जट्टारी के बाद रुक गया। यहां उन्होंने अलीगढ़-पलवल हाईवे के निर्माण की गुणवत्ता को परखा। सड़क निर्माण में लगी सामग्री के बारे में जानकारी की। इसके बाद उनका काफिला यमुना की ओर आगे बढ़ गया। इससे पूर्व, प्रमुख सचिव का काफिला खैर पहुंचा तो एसडीएम उनकी अगुवानी में पहले से ही दल बल के साथ तैयार थीं। उन्होंने प्रमुख सचिव को निरीक्षण के दौरान जानकारी दी। प्रमुख सचिव ने तहसील में कोरोना मरीजों की जानकारी ली। संचारी रोग नियंत्रण अभियान में हो रहे कार्यों का सत्यापन किया।
उन्होंने तहसील में दो दिन के लॉकडाडन के दौरान हुए स्वच्छता अभियान, सैनिटाइजेशन आदि की विस्तृत जानकारी की। प्रमुख सचिव ने पेयजल व्यवस्था, जलभराव, फॉगिंग के बारे में सवाल जवाब भी किए । इस दौरान संचारी रोग नियंत्रण अभियान को सक्रियता और गंभीरता से पूरा करने को कहा। कोरोना मरीजों की पहचान के लिए घर घर सर्वे के बारे में भी जानकारी ली।
... और पढ़ें

मुकदमे वापस नहीं हुए तो कांग्रेसी करेंगे आंदोलनः आनंद बघेल

फिल्म मेरे महबूब में तहजीब का रंग दिखाने के लिए एएमयू शूटिंग करने आए थे राजेंद्र कुमार

दीपक शर्मा
अलीगढ़ मुस्लिम विश्वविद्यालय के विकार उल मुल्क हॉल हॉस्टल से प्रसिद्ध एक्टर जुबली कुमार यानी राजेंद्र कुमार की भी यादें जुड़ी हुई हैं। 12 जुलाई को उनकी पुण्यतिथि पर यहां के रहने वाले छात्र उन्हें याद कर उठते हैं। यहां के शानदार ऑडिटोरियम हॉल में राजेंद्र कुमार की प्रसिद्ध फिल्म मेरे महबूब की शूटिंग हुई थी। उस समय राजेंद्र कुमार भी यहां आए थे। आवासीय हॉल में रहने वाले लाइब्रेरी साइंस के शोध छात्र मोहम्मद शिकोह कहते हैं अपने बुजुर्ग सीनियर छात्रों से उन्होंने उस समय की यादों को सुना है। बहुत अच्छा लगता है यह सुनकर कि हमारा यह हॉस्टल बॉलीवुड के साथ भी जुड़ा रहा है।
मेरे महबूब फिल्म 1963 में रिलीज हुई थी और जबरदस्त सफल फिल्म साबित हुई। इसमें राजेंद्र कुमार ने अनवर नाम के युवक का किरदार निभाया है जो एएमयू का छात्र है। राजेंद्र कुमार ने इसमें एएमयू की पहचान कहे जाने वाले लिबास, शेरवानी को भी खूब पहना है। एएमयू के इतिहास मामलों के जानकार डॉ. राहत अबरार कहते हैं कि फिल्म में तहजीब और नफासत दिखाने के लिए खास तौर से अलीगढ़ मुस्लिम विश्वविद्यालय को चुना गया। क्योंकि यहां के माहौल में एक अदब की फिजा है। फिल्म का एक गीत 'मेरे महबूब तुझे मेरी मोहब्बत की कसम' वीएम हाल के ऑडिटोरियम में शूट किया गया। यह भी जबरदस्त हिट साबित हुआ।
वीएम हाल के केयर टेकर एहसान वारसी कहते हैं हम इस ऑडिटोरियम का दिल से ख्याल रखते हैं। एक एक चीज को करीने से सहेज कर रखते हैं। यही वजह है कि आज तकरीबन 90 साल बाद भी हॉल अपनी पुरानी रंगत में बना हुआ है। यह सुनकर और सोच कर बहुत खुशी होती है कि बॉलीवुड की शख्सियतों का यहां से जुड़ाव रहा है। इसके अलावा अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी के तमाम छात्रों ने अलग-अलग तरह से भारतीय सिनेमा में अपना योगदान दिया है। यूनिवर्सिटी के छात्र रहे मुजफ्फर अली, प्रो. शहरयार, एएमयू में शिक्षक रहे डॉ. राही मासूम रजा, नसरुद्दीन शाह आदि तमाम लोग हैं, जिन्होंने एएमयू से निकलकर अपनी योग्यता बॉलीवुड में साबित की।
... और पढ़ें

रघुराज सिंह लखनऊ में कोरोना संक्रमित, अलीगढ़ में 23 और मिले

उत्तर प्रदेश के श्रम एवं कर्मकार सन्निर्माण समिति के अध्यक्ष ठाकुर रघुराज सिंह लखनऊ में कोरोना वायरस की चपेट में आ गए हैं। उनका उपचार वहीं पर चल रहा है। इधर, जनपद में रविवार को 22 लोग कोरोना वायरस की चपेट में आए हैं। सभी संक्रमित लोगों को कोविड-19 हॉस्पिटल में भर्ती कराया जा रहा है।
भाजपा के फायर ब्रांड नेता रघुराज सिंह के कोरोना वायरस से संक्रमित होने की सूचना आने के बाद खलबली मच गई है। भाजपा नेता एक-दूसरे से जानकारी हासिल कर रहे हैं कि उनसे पिछले 10 दिन में कौन-कौन संपर्क में आया है। आईटीआई रोड निवासी रघुराज सिंह के पुत्र नगर निगम के पार्षद भी हैं। जेएन मेडिकल कॉलेज एवं लैब से 22 लोगों की रिपोर्ट पॉजिटिव आई है।
संक्रमित लोगों में तीन टप्पल, दो छर्रा एवं 17 लोग महानगर के हैं। जिलाधिकारी चंद्रभूषण सिंह ने बताया कि संक्रमित लोगों को कोविड हॉस्पिटल एवं उनके परिजनों को क्वारंटीन किया जा रहा है। संक्रमित मरीजों के घर के आसपास के एरिया को सील कर सैनिटाइज करने की कार्यवाही चल रही है।
... और पढ़ें
राज्यमंत्री रघुराज सिंह। राज्यमंत्री रघुराज सिंह।

शहर के साथ टप्पल, छर्रा में पैर फैला रहा कोरोना, 777 हुई मरीजों की संख्या

कोरोना जिले में लगातार अपने पैर फैला रहा है। उत्तर प्रदेश के श्रम एवं कर्मकार सन्निर्माण समिति के अध्यक्ष एवं भाजपा के फायर ब्रांड नेता ठाकुर रघुराज सिंह लखनऊ में कोरोना वायरस की चपेट में आने की खबर से यहां हड़कंप मच गया है। आईआईटी रोड निवासी रघुराज सिंह के पुत्र नगर निगम में पार्षद हैं। अब जनपद में संक्रमित मरीजों की संख्या बढ़कर 777 तक पहुंच गई है। जिले में रविवार को जो मरीज मिले हैं, उनमें शहर के साथ-साथ टप्पल व छर्रा से सर्वाधिक हैं।
जेएन मेडिकल कॉलेज एवं लैब से रविवार को 23 लोगों की रिपोर्ट पॉजिटिव आई है। संक्रमित लोगों में कनवरी का 39 वर्षीय युवक, नौरंगाबाद डिप्टीनगर का 48 व 40 वर्षीय व्यक्ति, पला फाटक का 30 वर्षीय युवक, महेंद्रनगर बैंक कॉलोनी का 60 वर्ष का बुजुर्ग एवं 25 वर्ष का युवक, कनवरीगंज हनुमानगर का 39 वर्षीय युवक, निरंजनपुरी का 29 वर्षीय युवक, बेना टप्पल का 32, 12 एवं 25 वर्षीय युवक, लोधी विहार का 34 वर्षीय युवक, जमालपुर सिविल लाइन का 52 वर्षीय व्यक्ति, क्वार्सी का 62 वर्षीय व्यक्ति, शिवपुरी छर्रा का 37 वर्षीय युवक, छर्रा का 36 वर्षीय एवं 68 वर्षीय महिला, बीमा नगर सूतमिल की 17-17 वर्ष की युवती, भगवाननगर की 50 वर्षीय एवं 26 वर्षीय महिला, लोधी विहार सासनी गेट का 34 वर्षीय युवक और नौरंगाबाद का 20 वर्षीय युवक शामिल हैं। जिलाधिकारी चंद्रभूषण सिंह ने बताया कि सभी संक्रमित मरीजों को कोविड हॉस्पिटल एवं उनके परिजनों को क्वारंटीन किया जा रहा है। संक्रमित लोगों के घर के आसपास के एरिया को सील कर सैनिटाइज कराया जा रहा है।
हाथरस का युवक संक्रमित
जेएन मेडिकल कॉलेज एवं लैब से प्राप्त रिपोर्ट में हाथरस का भी एक व्यक्ति संक्रमित पाया गया है। हाथरस का 34 वर्ष का एक युवक कोरोना वायरस की चपेट में आया है। इसकी संख्या की गिनती हाथरस में होगी।
... और पढ़ें

अलीगढ़ में भी शनिवार-रविवार को बंद रहेंगे बाजार, पर गाइडलाइन का इंतजार

कोरोना महामारी के बढ़ते प्रभाव को कम करने के लिए शासन की ओर से शुक्रवार रात दस बजे से सोमवार सुबह पांच बजे तक लागू किए लॉकडाउन का सिलसिला अब हर सप्ताह जारी रहेगा। सीएम योगी आदित्यनाथ ने हर सप्ताह पूरे प्रदेश में शनिवार और रविवार की बाजार बंदी का एलान किया है। हालांकि, इसकी स्पष्ट गाइडलाइन रविवार देर रात जिला प्रशासन को प्राप्त नहीं हो सकी थी। जिलाधिकारी के मुताबिक शासन की गाइड लाइन मिलने पर उनकी जिला स्तर पर समीक्षा करने के बाद नियम लागू कराया जाएगा। गाइड लाइन आने पर ही समय-सीमा और बाजार बंदी के दौरान क्या-क्या बंद रहेगा यह स्पष्ट होगा। वर्तमान में जो व्यवस्था लागू है, सोमवार यानी आज बाजार उसी के अनुरूप खुलेंगे। उसमें किसी भी प्रकार का बदलाव नहीं किया गया है।
पूर्व निर्धारित स्थानीय साप्ताहिक बंदी पर होगा फैसला
सप्ताह में शनिवार और रविवार को बाजार बंदी के एलान के बाद स्थानीय व्यापारियों में इस बात को लेकर भी असमंजस की स्थिति बनी हुई है कि पूर्व निर्धारित साप्ताहिक बंदी को प्रशासन समाप्त करेगा या जारी रखेगा। अगर, साप्ताहिक बंदी जारी रखी जाती है तो व्यापारियों को हफ्ते में सिर्फ चार दिन ही बाजार खोलने का मौका मिलेगा। ऐसे में उनको दुकानदारी में भारी गिरावट का सामना करना पड़ेगा। अगर, साप्ताहिक बंदी को समाप्त कर दिया जाता है तो वह सप्ताह में पांच दिन बाजार खोल सकेंगे। फिलहाल, इसको लेकर अभी प्रशासनिक और व्यापारिक गलियारों में असमंजस है।
बाजार होंगे सैनिटाइज, औद्योगिक इकाइयों पर भी सख्ती
जिलाधिकारी चंद्रभूषण सिंह ने बताया कि सप्ताह में दो दिन शनिवार और रविवार को बाजार बंद रहने के दौरान सैनिटाइजिंग अभियान चलाया जाएगा। फैक्टरी और प्रतिष्ठान संचालक भी अपने-अपने यहां सैनिटाइजिंग कराएंगे। साथ ही औद्योगिक प्रतिष्ठानों में भी सरकारी कार्यालयों तरह कोविड डेस्क की स्थापना की जाएगी। हर मजदूर का फैक्टरी में घुसने से पहले तापमान मापा जाए। साथ ही उसके हाथ ठीक से सैनिटाइज कराए जाएं।
... और पढ़ें

मामू भांजा मार्केट के व्यापारियों में असमंजस की स्थिति, स्पष्ट गाइडलाइन की मांग

मामू भांजा मार्केट के व्यापारियों में सोमवार को बाजार खोलने को लेकर भ्रम की स्थिति है। व्यापारियों ने डीएम से मामले में हस्तक्षेप कर स्पष्ट गाइडलाइन जारी करने की मांग की है। मामू भांजा रेडियो मार्केट के महामंत्री हेमंत गर्ग के मुताबिक पहले ही व्यापारी कारोबार को लेकर परेशान हैं। ऊपर से मामू भांजा रेडियो मार्केट को बिना गाइडलाइन जारी किए सीज कर दिया गया है।
जिलाधिकारी के अनुसार, जहां कोरोना पॉजिटिव निकलता है, केवल उस क्षेत्र के 250 मीटर एरिया को सील किया जाएगा। मगर, अधिकारियों ने पूरे मार्केट को बंद करा दिया है। इस मामले में डीएम को हस्तक्षेप कर बाजार खोलने को लेकर स्पष्ट गाइडलाइन जारी करनी चाहिए। इससे भ्रम खत्म हो। वहीं, व्यापारी अंकित अग्रवाल ने बताया कि रेडियो मार्केट से काफी दूरी पर कोरोना संक्रमित मिला था। ऐसे में पूरे मार्केट को बंद कराना उचित नहीं है। डीएम स्तर से इस समस्या का हल निकाला जाना चाहिए। वरना व्यापारी संघर्ष के लिए बाध्य होंगे।
अंकित अग्रवाल व्यापारी मामू भांजपा रेडियों मार्केट।
अंकित अग्रवाल व्यापारी मामू भांजपा रेडियों मार्केट।- फोटो : CITY OFFICE
... और पढ़ें

लॉकडाउन के दूसरे दिन सात मुकदमे दर्ज, आठ वाहन सीज

हेमंत गर्ग महामंत्री मामू भांजा रेडियों मार्केट।
लॉकडाउन के दूसरे दिन रविवार के अवकाश ने भी भरपूर साथ दिया। अधिकांश बाजारों, सड़कों और गलियों में सुबह 11 बजे के बाद सन्नाटा ही दिखा। इस पर पुलिस प्रशासन की सख्ती का भी असर रहा। वहीं, पुलिस ने वाहनों की बेवजह आवाजाही पर भी कानूनी कार्रवाई की। इस दौरान सात मुकदमे दर्ज किए गए। आठ वाहन मौके पर सीज किए गए। ई-चालान के साथ मौके पर 134750 रुपये जुर्माने के तौर पर वसूले गए और 1027100 रुपये का चालान ई-सिस्टम से घरों पर भेजा गया है। जिसको वाहन स्वामी बाद में जमा कराएंगे। पुलिस ने तीन मुकदमे देहलीगेट, तीन क्वार्सी और एक अतरौली थाने में दर्ज किया है। वहीं, बिना मास्क के 733 चालान और वाहनों के 555 चालान किए गए है।
एसएसपी मुनिराज जी ने कहा है कि लॉकडाउन के दौरान बेवजह घरों से निकलने वालों के खिलाफ ऐसी ही सख्त कार्रवाई जारी रहेगी। इसमें कोई कोताही नहीं बरती जाएगी। पुलिस थानों और कंट्रोल रूम को कड़ी कार्रवाई करने को कहा गया है। इधर, लॉकडाउन में सुबह से ही बाजारों में दूध, दही, सब्जी, फल की बिक्री हुई, ये दुकानें छह बजे से खुल गई थीं। ग्यारह बजते बजते दुकानें बंद हो र्गइं। देहात के इलाकों में ये दुकानें साढ़े ग्यारह बजे तक खुली। वहीं, मोहल्लों की दुकानें 12 बजे तक खुली रहीं।
इसके बाद शाम को केवल दूध की दुकानें 4 से 6 बजे तक खुलीं। जिसमें दूध, दही की बिक्री हुई। हालांकि कई दुकानदारों ने इस लॉकडाउन में चोरीछिपे शटर उठा कर जरूरी सामानों की बिक्री की। पान मसाला, सिगरेट के दुकानदारों ने भी मौके पर फायदा उठाया। अधिकांश दुकानदारों ने लॉकडाउन का सौ फीसदी का पालन किया। इन सभी ने सोमवार को नियमानुसार दुकानें खोलने को कहा। लॉकडाउन में दौरान शहर के सभी प्रमुख चौराहों पर चेकिंग हुई, जिसमें कई वाहनो को रोक कर उनके कागज भी जांच गए। शहर के प्रवेश मार्ग के चौराहे पर भी सख्ती बरती गई।
... और पढ़ें

बेसिक के सहायक वित्त एवं लेखाधिकारी का रुकेगा वेतन

बेसिक शिक्षा विभाग के विद्यालय प्रबंध समिति (एसएमसी) और ग्राम शिक्षा समिति (वीईसी) के बैंक खातों से 31 मार्च को अवशेष धनराशि को जिला परियोजना कार्यालय के नवीन बचत बैंक खाते में जमा न करने के मामले में सहायक वित्त एवं लेखाधिकारी पर गाज गिरी है।
राज्य परियोजना निदेशक विजय किरन आनंद ने बीएसए डॉ. लक्ष्मीकांत पांडेय को पत्र जारी कर सहायक वित्त एवं लेखाधिकारी का जुलाई माह का वेतन रोकने के आदेश जारी किए हैं। बता दें कि विद्यालय स्तर पर बनी प्रबंध समिति एवं ग्राम शिक्षा समिति के बैंक खातों में 31 मार्च 2019 तक अवशेष बची राशि को जिला परियोजना कार्यालय के नवीन बैंक खाते में हस्तांतरण करने के आदेश 26 मई को दिये गए थे। एक महीने में राशि जमा नहीं हुई तो दोबारा से सात दिन का समय दिया गया।
इसके बावजूद अभी तक राशि हस्तांतरित नहीं हो पाई है। ऐसे में सहायक वित्त एवं लेखाधिकारी एएन सिंह चौहान और संबंधित कार्मिकों का जुलाई माह का वेतन रोकने के आदेश राज्य परियोजना निदेशक विजय किरन आनंद ने दिये हैं।
इस संबंध में बीएसए डॉ. लक्ष्मीकांत पांडेय ने बताया कि वेतन रोकने के निर्देश जारी किये जा रहे हैं। साथ ही धनराशि को जल्द से जल्द हस्तांतरित करवाया जाएगा। इसके बाद ही राज्य परियोजना कार्यालय की अनुमति के बाद ही वेतन निर्गत किया जाएगा।
... और पढ़ें

शासन से कोरोना हेल्प डेस्क की निगरानी शुरू

जिले में कोरोना संक्रमण फैलने से रोकने के लिए तकरीबन 200 कोरोना हेल्प डेस्क संचालित हो रही हैैं। जिसमें सरकारी विभागों और निजी संस्थानों के साथ सार्वजनिक स्थलों पर इस डेस्क का संचालन होना बताया गया है। प्रदेश में अचानक कोरोना संक्रमण बढ़ने के बाद इन हेल्प डेस्क की सक्रियता की जांच की जाने लगी है, जिससे सामुदायिक संक्रमण रोका जा सके। रविवार को इस संबंध में शासन स्तर से मांगी गई सूचना लखनऊ भेजी गई।
कमिश्नरी, कलक्ट्रेट, पुलिस लाइन, जिला कारागार, नगर निगम, आयकर विभाग, वाणिज्य कर विभाग, सेंट्रल जीएसटी भवन लाल डिग्गी, जिला पूर्ति अधिकारी, सिंचाई विभाग, कृषि विभाग, सीडीओ आफिस के साथ अधिकांश सरकारी विभागों में ये डेस्क संचालित हैं। अस्पतालों में भी इसको से चलाया जा रहा है। रेलवे, बैंकों में भी इसका संचालन हो रहा है। इसके अलावा निजी नर्सिंग होम, फैक्ट्रियों और निजी दफ्तरों में भी इस तरह की व्यवस्था की गई है। इस हेल्प डेस्क में एक थर्मल स्कैनर, ऑक्सीमीटर, सैनिटाइजर की व्यवस्था होती है।
अगर कोई कोरोना के संबंध में जानकारी मांगता है तो उसको जानकारी दी जाती है। साथ ही कलक्ट्रेट कंट्रोल रूम, कमिश्नरी कंट्रोल रूम से भी जानकारी दी जा रही है। शासन ने अब सभी कारखानों और फैक्ट्रियों में इस तरह की कोरोना हेल्प डेस्क संचालन अनिवार्य कर दिया है। अगर ये हेल्प डेस्क नहीं होगी तो फैक्ट्री का संचालन नहीं होगा।
... और पढ़ें

अलीगढ़ : विद्यानगर में वाटर प्लांट सील, अधिकारियों से हुई नोंकझोंक

विद्यानगर स्थित आरओ वाटर प्लांट के कक्ष को नगर निगम के अधिकारियों ने सील कर दिया है। प्लांट संचालक द्वारा मौके पर कोई प्रपत्र भी नहीं दिखाया गया। नगर निगम के अधिकारियों ने अग्रिम आदेश तक प्लांट सील कर 14 जुलाई तक नगर निगम में प्रपत्र पेश करने का निर्देश दिया है।
विद्यानगर के लोगों ने मोहल्ले में वाटर प्लांट संचालित होने की शिकायत की थी। शिकायत मिलने के बाद नगर निगम के अधिकारी रविवार को प्लांट का निरीक्षण करने पहुंच गए। इसकी भनक लगने के बाद मीडियाकर्मी भी पहुंच गए। प्रपत्र दिखाने एवं घर में घुसने को लेकर प्लांट संचालक एवं अधिकारियों में नोकझोंक हो गई। सूचना के बाद सहायक नगर आयुक्त राजबहादुर सिंह भी पहुंच गए। इसी बीच कुछ भाजपा नेता भी प्लांट संचालक के पक्ष में पहुंच गए। सहायक नगर आयुक्त राजबहादुर सिंह ने बताया कि विद्यानगर में आरओ वाटर प्लांट से व्यवसाय किया जा रहा है। संचालक द्वारा नगर निगम से अनुमति से संबंधित कोई प्रपत्र नहीं दिखाया गया। उन्होंने बताया कि अगले आदेश तक के लिए वाटर प्लांट का कक्ष सील कर दिया गया है।
14 जुलाई को सांय 4 बजे तक नगर निगम के महाप्रबंधक जल के समक्ष प्लांट संचालक को प्रपत्र प्रस्तुत करना है। प्लांट संचालक प्रदीप गर्ग का कहना है कि वह निर्धारित समय पर जाकर प्रपत्र दिखा देंगे। लाकडाउन में प्लांट सील होने से उन लोगों की परेशानी बढ़ने की उम्मीद है, जिनके घर पर पानी की सप्लाई प्लांट संचालक द्वारा की जा रही थी।
... और पढ़ें

अलीगढ़ : आर्थिक तंगी के चलते हुआ विवाद, युवक ने की आत्महत्या

महानगर के क्वार्सी थाना क्षेत्र के किशनपुर इलाके में आटा चक्की संचालक ने आर्थिक तंगी के चलते घर में उपजे विवाद के बाद आत्महत्या कर ली। सूचना पर पहुंची पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम कराया।
किशनपुर निवासी 32 वर्षीय बंटी पुत्र राजपाल अपने घर पर आटा चक्की चलाता था। परिवार में तीन छोटे बच्चे और पत्नी रेखा है। लॉकडाउन के चलते चक्की बंदी की कगार पर आ गई। आर्थिक तंगी को लेकर दंपती में विवाद होने लगा। शनिवार रात बंटी अपने कमरे में गया और फंदे पर झूल गया। पत्नी रेखा इस दौरान दूसरे कमरे में थी। काफी देर होने पर रेखा उसे देखने पहुंची तो पति को फंदे पर लटका देखकर उसकी चीखें निकल गईं।
परिवार के अन्य लोग भी जुट गए। सूचना पर पुलिस पहुंची। पुलिस ने परिवार से पूछताछ के बाद शव को पोस्टमार्टम के लिए भेजा। रविवार दोपहर को पोस्टमार्टम की प्रक्रिया पूरी होने पर शव परिवार वालों को सौंपा गया। इंस्पेक्टर क्वार्सी के मुताबिक, परिवार वाले आर्थिक तंगी के चलते कलह को वजह बता रहे हैं। मामले की छानबीन जारी है। शव परिवार को सौंप दिया है।
... और पढ़ें
Karwachauth Coupon
Karwachauth Coupon
Karwachauth Coupon
Karwachauth Coupon
Election
  • Downloads

Follow Us