विज्ञापन
विज्ञापन
आपकी जन्मकुंडली दूर करेगी आपके जीवन का कष्ट
Janam Kundali

आपकी जन्मकुंडली दूर करेगी आपके जीवन का कष्ट

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
Digital Edition

कुशीनगर: पेड़ से लटका मिला शख्स का शव, नाराज ग्रामीणों ने किया सड़क जाम

उत्तर प्रदेश के कुशीनगर जिले में शनिवार की सुबह कसया थाना क्षेत्र गोबरही चौराहे से कुछ दूरी पर एक शख्स का शव मिलने के बाद हड़कंप मच गया। घटना की सूचना पर पहुंची पुलिस छानबीन में जुट गई है। वहीं जानकारी होने पर पहुंचे मृतक के परिजन व ग्रामीणों ने सड़क जाम कर दिया है।

जानकारी के मुताबिक, गोबरही चौराहे से कुछ दूरी पर शनिवार की सुबह भठही बाबू निवासी 35 वर्षीय विनोद यादव का शव शीशम के पेड़ से गमछा से लटकता हुआ मिला। स्थानीय लोगों ने इसकी सूचना पुलिस व परिजनों को दी। मौके पर कसया एसओ पहुंचकर मामले की छानबीन में जुट गए।

वहीं घटना की जानकारी होने पर परिजन व कई गांव के लोग मौके पर पहुंच गए और रामकोला कसया मार्ग के गोबरही चौराहे पर जाम कर दिया। पुलिस टीम लोगों को समझाकर मामले को शांत कराने की कोशिश कर रही है।

खबर ब्रेकिंग है, अधिक जानकारी मिलने पर अपडेट किया जाएगा...
... और पढ़ें

गोरखपुर: भूमि विवाद में की गई थी मेडिकल स्टोर संचालक की हत्या, जल्द पर्दाफाश कर सकती है पुलिस

गोरखपुर में खोराबार इलाके के बल्ली चौराहे पर मेडिकल स्टोर संचालक रामाश्रय की हत्या भूमि विवाद में की गई थी। खबर है कि चौरीचौरा के रहने वाले एक शूटर को पुलिस ने उठा लिया है। पुलिस का कहना है कि शूटर ने अपने एक साथी संग मिलकर वारदात को अंजाम दिया था।

बताया जा रहा है कि दूसरे आरोपी की तलाश में पुलिस टीम गैर जनपद रवाना हो गई है। इस मामले में पुलिस अब तक सात लोगों को हिरासत में लेकर पूछताछ कर चुकी है। पूछताछ में मिले सुराग के बाद ही असल आरोपी तक पुलिस पहुंच गई। पुलिस का कहना है कि घटना का जल्द पर्दाफाश कर लिया जाएगा।

जानकारी के मुताबिक, मंगलवार की रात बल्ली चौराहे पर स्थित अपनी दुकान को बंद कर रामाश्रय घर जा रहे थे, दुकान के पास ही बदमाशों ने तीन गोली मारकर रामाश्रय की हत्या कर दी थी। पुलिस ने इस मामले में रामाश्रय के भाई की तहरीर पर निवर्तमान जिला पंचायत सदस्य पंकज शाही, खोराबार के ब्लॉक प्रमुख शैलेश के पिता, भाभी समेत 13 लोगों के खिलाफ हत्या का केस दर्ज किया है।

पुलिस मामले की छानबीन में जुटी तो पता चला है कि हत्या भूमि विवाद में की गई है। हत्या किसने और क्यों कराई है, यह शूटर के पकड़े जाने के बाद सामने आता, इसी वजह से पुलिस उनकी तलाश में जुटी थी।

अब जब पुलिस के हाथ एक शूटर लग गया है, तो पुलिस को उम्मीद है कि जल्द ही अन्य आरोपी भी पकड़ लिए जाएंगे और घटना का पर्दाफाश हो जाएगा। एसएसपी जोगेंद्र कुमार ने बताया कि पुलिस टीमें लगी हैं। कुछ अहम सुराग हाथ लगे हैं, जल्द ही घटना का पर्दाफाश कर लिया जाएगा।

 
... और पढ़ें

यूपी: जेल भेजे गए सराफा लूट कांड के आरोपी पुलिसकर्मी, एसएसपी ने दी खास नसीहत

रेलवे बस स्टैंड से दो स्वर्ण कारोबारियों को अगवा कर 30 लाख का सोना और नकदी की लूट के आरोपी पुलिसकर्मियों समेत सात लोगों को शुक्रवार को जेल भेज दिया गया। इस मामले में एक दारोगा, तीन सिपाही और तीन मददगारों को पुलिस ने बृहस्पतिवार को गिरफ्तार किया था। उनकी निशानदेही पर लूटी गई रकम और सोना-चांदी बरामद कर लिया गया था।

जानकारी के मुताबिक, बीते बुधवार को महराजगंज के निचलौल के व्यापारी दीपक वर्मा और रामू वर्मा के साथ लूट की वारदात हुई थी। पुलिस की वर्दी में पहुंचे लोगों ने लूट की। पुलिस ने जांच पड़ताल की तो पता चला कि असली पुलिस वालों ने ही लूट की है।

पुरानी बस्ती थाने में तैनात दरोगा धर्मेंद्र यादव, सिपाही महेंद्र यादव, संतोष यादव, लखीमपुर खीरी निवासी सिपाही आलोक भार्गव, मुखबिर शैलेश यादव समेत सात लोगों को पुलिस ने गिरफ्तार किया था। आरोपियों की निशानदेही पर पुलिस ने नकदी और सोना-चांदी भी बरामद कर लिया। गिरफ्तार आरोपियों को पुलिस ने शुक्रवार को कोर्ट में पेश किया, जहां से उन्हें जेल भेज दिया गया।

एसएसपी ने पुलिस वालों को आचरण सुधारने की नसीहत दी
लूट के मामले में पुलिस वालों के पकड़े जाने के बाद एसएसपी जोगेंद्र कुमार ने मातहतों को एक बार फिर आचरण सुधारने की नसीहत दी है। एसएसपी ने पत्र जारी कर कहा है कि जनता से सही व्यवहार करें और इस तरह की कोई काम न करें, जिससे खाकी दागदार हो। पत्र में पुलिस वालों को इसका दुष्परिणाम भी समझाया गया है। बताया गया कि आप बेहतर तरीके से जानते हैं कि इस तरह के मामले में पकड़े जाने के बाद क्या कार्रवाई होती है और आगे क्या भविष्य होता है।

 
... और पढ़ें

यूपी: कुशीनगर में दिनदहाड़े बदमाशों ने तड़तड़ाईं गोलियां, तीन युवक घायल, दो की हालत गंभीर

उत्तर प्रदेश के कुशीनगर जिले में कप्तानगंज थाना क्षेत्र के सुधियानी और मेहड़ा गांव के बीच बुधवार शाम को हुई फायरिंग से तीन युवक गंभीर रूप से घायल हो गए। उन्हें गोरखपुर मेडिकल कॉलेज में भर्ती कराया गया। यहां से दो की हालत डॉक्टरों ने पीजीआई लखनऊ रेफर कर दिया। घटना के बाद ग्रामीणों ने हमलावरों में एक को पकड़ लिया। पिटाई के बाद कप्तानगंज थाने की पुलिस को सौंप दिया।

एसपी विनोद कुमार सिंह ने बताया कि बुधवार दोपहर करीब साढ़े तीन बजे यह घटना सुधियानी और मेहड़ा गांव के बीच हुई। कप्तानगंज थाना क्षेत्र के साखोपार निवासी आदित्य मिश्र, कप्तानगंज कस्बे के निवासी आयुष्मान सिंह और अनीश कुशवाहा फायरिंग में घायल हुए हैं। गंभीर हालत में आदित्य मिश्र और आयुष्मान को एसजीपीजीआई  रेफर कर दिया गया है। अनीश का मेडिकल कॉलेज में इलाज चल रहा है।

एसपी ने बताया कि गोली चलाने का आरोप कप्तानगंज थाना क्षेत्र के सोहनी गांव के निवासी गोपाल दूबे और कप्तानगंज कस्बे के राहुल पासवान पर लगा है। नाराज ग्रामीणों के दौड़ाने पर गोपाल तो भाग निकला, लेकिन राहुल पकड़ लिया गया।

ग्रामीणों की पिटाई से वह घायल है। उसे गिरफ्तार कर लिया गया है। एसपी ने बताया कि पूछताछ में पता चला है कि हमलावरों ने फायरिंग प्रेम संबंध के खिलाफ की है। इस मामले में मुकदमा दर्ज कर विधिक कार्रवाई की जा रही है। इन सभी की उम्र 20 से 22 वर्ष के बीच है।
... और पढ़ें
सांकेतिक तस्वीर। सांकेतिक तस्वीर।

गोरखपुर: दुकान के अंदर गाली देने से मना करना दुकानदार को पकड़ा भारी, दबंगों ने की फायरिंग

गोरखपुर के रामगढ़ ताल थाना क्षेत्र के तारामंडल बुद्ध विहार पार्ट-सी में मंगलवार को पांच बदमाशों ने मोबाइल फोन की दुकान में घुसकर फायरिंग कर दी। दुकानदार ने भागकर जान बचाई। बताया जा रहा है कि गाली देने से मना करने पर बदमाशों ने वारदात को अंजाम दिया।

तहरीर के आधार पर पुलिस ने बांसगांव के दुबौली गांव निवासी सोलू राय, गोलू राय व मोनू राय और दो अज्ञात के खिलाफ हत्या की कोशिश, धमकी देने की धारा में केस दर्ज कर लिया है। पुलिस का कहना है कि पुराने विवाद में वारदात हुई है। मामले की जांच की जा रही है।

जानकारी के मुताबिक, बड़हलगंज क्षेत्र के लखनापार गांव निवासी नितिन तिवारी बुद्ध विहार पार्ट-सी में मोबाइल रिपेयरिंग की दुकान चलाते हैं। पुलिस को दी तहरीर में नितिन ने बताया कि वह मंगलवार दोपहर तकरीबन 1.30 बजे दुकान में बैठे थे। इस दौरान तीन बाइक से पांच लोग पहुंचे। वे दुकान में घुस कर गाली देने लगे। मना करने पर तमंचा से गोली चला दी।

उन्होंने भागकर जान बचाई। घटना की सूचना पर रामगढ़ ताल थाने की पुलिस पहुंची। पुलिस ने मौके से दो खोखा बरामद किया। सीओ कैंट सुमित शुक्ला ने बताया कि तहरीर के आधार पर केस दर्ज कर पुलिस जांच कर रही है। जल्द ही आरोपित पकड़ लिए जाएंगे।
... और पढ़ें

मेडिकल स्टोर संचालक की हत्या का एक और आरोपी प्रापर्टी डीलर गिरफ्तार, निरस्त होंगे असलहों के लाइसेंस

गोरखपुर खोराबार इलाके में मेडिकल स्टोर संचालक रामाश्रय की हत्या के मामले में एक और नामजद आरोपी प्रापर्टी डीलर केशव सिंह को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। पुलिस ने आरोपी को सोमवार को बल्ली चौराहे से पकड़ा।

उधर, पुलिस सभी आरोपी के असलहों की जांच कर रही है। इन असलहों का लाइसेंस निरस्त करने के लिए पुलिस रिपोर्ट भेजेगी। ब्लॉक प्रमुख शैलेश यादव के घर पर सोमवार को भी पुलिस को ताला लटका मिला। इस मामले में जिस पारिजात एसोसिएट का नाम सामने आया है, उसकी मालकिन सीमा यादव के पति सपा नेता दुर्गेश यादव की भूमिका भी सामने आई है। इसकी भी जांच शुरू कर दी गई है। पुलिस अन्य आरोपियों की तलाश में लगातार दबिश दे रही है।
 
जानकारी के मुताबिक, बीते मंगलवार को रामाश्रय की गोली मारकर हत्या कर दी गई थी। पुलिस ने इसमें शूटर समेत दस लोगों को गिरफ्तार कर जेल भिजवाया था। इसी बीच पुलिस ने जेल भेजे गए पंकज सिंह के पिता केशव सिंह को गिरफ्तार किया है।

वह इस मामले में नामजद आरोपित है। यह भी पता चला है कि केशव के पिता ने विवादित भूमि का एग्रीमेंट कराया था। जिस आधार पर परिवार के लोग इस जमीन पर अपना दावा कर रहे थे। केशव के पिता की दस साल पहले मौत हो गई थी।

ब्लॉक प्रमुख के बड़े भाई पर दर्ज है भ्रष्टाचार का केस
ब्लॉक प्रमुख शैलेश यादव के बड़े भाई अमरेश यादव जीआरपी गोंडा में तैनात थे। इनके खिलाफ अभी एक महीने पहले ही कैंट थाने में भ्रष्टाचार का केस दर्ज किया गया है। वह आय से अधिक के मामले में फंसे हैं। मामले की विवेचना चल रही है।

 
... और पढ़ें

रेल टिकट की कालाबाजारी : दलाल के झांसे में आकर गंवा दिए 22 हजार, बच्चों के नाम पर बनाया सीनियर सिटीजन का टिकट

रेलवे में टिकट दलालों का नेटवर्क सक्रिय है। अपने फायदे के लिए वे बच्चों को सीनियर सिटीजन बनाकर कन्फर्म टिकट दे रहे हैं और चेकिंग में यात्री को पेनाल्टी भी भरना पड़ रहा है। गोरखपुर से यशवंतपुर की यात्रा कर रहे एक यात्री को टिकट दलालों द्वारा ठगे जाने का एहसास तब हुआ जब वह ट्रेन में टीटीई द्वारा टिकट चेकिंग के दौरान पकड़ा गया। उसके तीन नाबालिग बच्चों के उम्र में सीनियर सिटीजन दर्शाते हुए टिकट में कंसेशन लिया गया था।

मिली जानकारी के अनुसार, गोरखपुर-यशवंतपुर एक्सप्रेस 02591 से गोरखपुर से यशवंतपुर की यात्रा कर रहे गोरखपुर मानीराम के निवासी राम गिरीश ने अपने परिवार के 11 सदस्यों का टिकट हैदराबाद के एक टिकट दलाल के जरिए से बनवाया था।

टिकट में तीन नाबालिग बच्चों को दलाल ने सीनियर सिटीजन दिखाकर पैसे बचा लिए इसकी जानकारी तब मिली जब टीटीई ने ट्रेन में टिकट को चेक किया। राम गिरीश ने बताया कि उन्होंने हैदराबाद के एक टिकट दलाल से दो हजार प्रति टिकट के हिसाब से 22 हजार देकर 11 टिकट बुक कराए थे। जिसमें उनके तीन नाबालिग बच्चे थे। जिनकी उम्र में बदलाव करके सीनियर सिटीजन के उम्र को दर्शाया गया था।
... और पढ़ें

Gorakhpur Weather: बर्फीली हवा ने बढ़ाई ठिठुरन, कड़ाके की ठंड से परेशान रहे शहरवासी

बच्चों के साथ पीड़ित यात्री राम गिरीश।

नेपाल तक फैला है नकली दवाओं का कारोबार, विभाग के हाथ नहीं लग पा रहे आरोपी धंधेबाज

गोरखपुर शहर के अलीनगर में बीते दिनों पकड़ी गई आठ लाख की नकली दवा के मामले में आरोपी धंधेबाज विभाग के हाथ नहीं लग सके हैं। बताया जा रहा है कि पकड़ी गई नकली दवा के अलावा शेष को धंधेबाजों ने जलाया नहीं, बल्कि उसे आसपास के मेडिकल स्टोरों पर खपा दिया। विभाग की ओर से दवाओं के सैंपल भी अब तक जांच के लिए नहीं भेजे गए हैं। नकली दवा पर अंकुश लगाने में विभाग की सुस्ती की वजह से धंधेबाज फिर से सक्रिय हो गए हैं।

जानकारी के मुताबिक, एक पखवारे पूर्व बाजार में नकली दवा आने की सूचना विभाग को मिली थी। इसमें 18 लाख रुपये की दवा बेच दी गई थीं। शेष 18 लाख रुपये की दवा लखनऊ के दुकानदार ने नकली कहकर वापस कर दी। इसी बीच भालोटिया मार्केट से इन दवाओं को गायब कर दिया गया।

विभाग ने इसमें से आठ लाख रुपये की दवा तो पकड़ ली, शेष 10 लाख की दवा छोटे मेडिकल स्टोरों पर पहुंच गई है। इन दवाओं को आसपास के मेडिकल स्टोरों पर खपा दिया गया है। इनमें सबसे अधिक दवा बड़हलगंज, भटहट, गोला, पीपीगंज, कैंपियरगंज, उरुवा बाजार, चौरीचौरा, बेलघाट जैसे जगहों पर पहुंच गई है।
... और पढ़ें

सावधान! ऑनलाइन लोन के चक्कर में खाली ना हो जाए बैंक खाता

ऑनलाइन लोन एप के इस्तेमाल के खतरे भी बहुत हैं। इसके जरिए जालसाज पूरी जानकारी लेकर बैंक खातों को खाली कर दे रहे हैं। आसपास के जिलों में इस तरह की वारदात सामने आने के बाद साइबर सेल ने अलर्ट जारी किया है।
 
सेल की ओर से लोगों को सोशल मीडिया पर जागरूकता संदेश भेजे जा रहे हैं। इसका मकसद है कि लोग जागरूक हों और इस एप का इस्तेमाल काफी सावधानी से करें ताकि साइबर अपराध से बच सकें।
 
जानकारी के मुताबिक, कोरोना काल में कई लोग बाहर से लौटकर घर को आए हैं और यहीं पर व्यापार या फिर दूसरे कामों को करना चाहते हैं। इसका फायादा जालसाज उठाने लगे हैं। अन्य माध्यमों से खाते का डिटेल पाने में अब वह ज्यादा सफल नहीं हो रहे हैं, इस वजह से बैंक की सुविधा में सेंधमारी कर रहे हैं। छोटी चूक बड़ा नुकसान कर सकती है, इस वजह से जागरूकता फैलाई जा रही है ताकि लोग जालसाजों के झांसे से बच सके।
... और पढ़ें

गोरखपुर लूटकांड: मास्टरमाइंड से आज होगी जेल में पूछताछ, आरोपी पुलिसकर्मियों की बर्खास्तगी की प्रक्रिया शुरू

उत्तर प्रदेश के गोरखपुर जिले में महराजगंज के दो व्यापारियों से 30 लाख की लूटपाट में लिप्त पाए जाने पर जेल भेजे गए चारों पुलिस कर्मियों की विभागीय जांच के क्रम में सबसे पहले मास्टरमाइंड व निलंबित दरोगा से उसका पक्ष लिया जाएगा। जांच में अधिकारी के माध्यम से पूछा जाएगा कि ऐसा करने के पीछे उसकी सोच क्या थी और अनुशासन वाले महकमे का कर्मी होने के बावजूद किन परिस्थितियों में कलंक लगाने वाला कृत्य किया?

साथ ही तीन अन्य पुलिस कर्मियों को इसके लिए उसी ने उकसाया, या इनमें से असली जिम्मेदार कोई और है, इसकी भी जानकारी जांच में लिए जाने की संभावना है। एएसपी रवींद्र कुमार सिंह का कहना है कि सोमवार यानी आज इसके लिए गोरखपुर कारागार जाकर आरोपी का बयान लेंगे। एसपी हेमराज मीणा का कहना है कि एएसपी के साथ सीओ रुधौली शक्ति सिंह को चारों के ड्यूटी पर होने या न होने के बारे में अलग से जांच की जिम्मेदारी दी गई है।
 
वर्दी पहनकर गोरखपुर में दो स्वर्ण व्यवसायियों से लूटपाट में लिप्त पाए गए चारों पुलिस कर्मियों की बर्खास्तगी के लिए प्रक्रिया शुरू हो गई है। पुलिस इसमें हड़बड़ी करने के मूड में नहीं दिखती।

अधिकारियों का कहना है कि पुख्ता साक्ष्य और विभागीय प्रक्रिया को पूरी करके सेवाच्युत किया जाएगा। इसके लिए पूरे प्रकरण की दो स्तरीय जांच कराई जा रही है। चारों के खिलाफ सारे साक्ष्य और बयान संकलित किए जा रहे हैं। आईजी एके राय ने बताया कि विभागीय प्रक्रिया पूरी करते हुए चारों को बर्खास्त किया जाएगा।  
... और पढ़ें

मेडिकल स्टोर संचालक हत्याकांड: ब्लॉक प्रमुख के घर दबिश, शूटर पर 25 हजार रुपये का इनाम घोषित

गोरखपुर जिले के खोराबार इलाके में मेडिकल स्टोर संचालक रामाश्रय की हत्या के मामले में पारिजात एसोसिएट की संचालिका और ब्लॉक प्रमुख की भाभी व पिता की तलाश में पुलिस ने दबिश दी। ब्लॉक प्रमुख के घर पर तीन थाने की पुलिस पहुंची, मगर आरोपी घर में ताला बंद कर फरार हो गए थे।

उधर, वारदात में एक और शूटर पिपराइच के बंगला चौराहा निवासी मनीष साहनी का नाम सामने आया है। एसएसपी ने उस पर 25 हजार रुपये का इनाम घोषित किया है। पुलिस आरोपियों की तलाश में दबिश दे रही है। नामजद आरोपियों में ब्लॉक प्रमुख शैलेश यादव के पिता जवाहर यादव, उनकी भाभी और फर्म की संचालिका सीमा यादव, जिला पंचायत सदस्य पंकज शाही जैसे कई बड़े नाम शामिल हैं।

जानकारी के मुताबिक, बीते मंगलवार की रात में भूमि विवाद में मेडिकल स्टोर संचालक रामाश्रय की गोली मारकर हत्या की गई थी। भाई रामनयन की तहरीर पर पुलिस ने 13 लोगों के खिलाफ केस दर्ज किया था।
... और पढ़ें

यूपी: छह दिन से लापता किशोरी का तालाब में मिला शव, परिवार में मचा कोहराम

संतकबीरनगर जिले के नगर पंचायत मेंहदावल के सानी केवटलिया मोहल्ले की एक 15 वर्षीय किशोरी छह दिनों से घर से गायब थी। रविवार को नायक टोला स्थित तालाब में उसका शव मिला। शव मिलने की सूचना पर आस पास के लोग जुट गए। घटना की जानकारी मिलने पर पहुंची पुलिस ने शव को तालाब से बाहर निकलवाया और पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया। किशोरी की मौत से परिजनों में हड़कंप मच गया।  
 
जानकारी के मुताबिक, सानी केवटलिया निवासी मीनाक्षी मिश्रा (15) पुत्री स्वर्गीय अंबे मिश्रा 19 जनवरी को घर से गायब हो गई थी। परिजन युवती की खोजबीन में लगे थे, पर युवती का पता नहीं चल पाया। थक हार कर परिजनों ने 23 जनवरी को युवती के गुमशुदगी की सूचना मेंहदावल पुलिस को दी।

पुलिस गुमशुदगी का मुकदमा दर्ज करते हुए मामले की जांच में जुट गई। इसी बीच रविवार की सुबह कस्बे के नायक टोला में स्थित कुबेर नाथ मंदिर के तालाब में कुछ लोगों ने शव को देखा। देखते ही देखते लोगों की भीड़ वहां एकत्रित हो गई और किसी ने मामले की सूचना पुलिस को दी।

मौके पर पहुंची पुलिस ने शव को बाहर निकलवाया तो उसकी पहचान मीनाक्षी मिश्रा पुत्री स्वर्गीय अंबे मिश्रा के रूप में हुई। बेटी की मौत की सूचना मिलते ही परिजनों में चीख पुकार मच गई। मौके पर घटनास्थल पर पहुंचे परिजनों का बिलखना देख वहां मौजूद हर किसी की आंखें नम हो गईं। वहीं पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया।

एसओ प्रदीप सिंह ने बताया कि तालाब में शव मिलने की सूचना पर पहुंचे थे। शव की पहचान मीनाक्षी पुत्री स्वर्गीय अंबे मिश्रा के रुप में हुई है। मृतका की दादी रामरति द्वारा पुलिस को किशोरी के गुमशुदगी की तहरीर दी गई थी जिस पर मुकदमा कायम किया गया है। शव को कब्जे में लेते हुए पोस्टमार्टम के लिए भेजा गया है। पोस्टमार्टम रिपोर्ट आने के बाद ही मृत्यु का कारण स्पष्ट होगा।
... और पढ़ें
Election
  • Downloads

Follow Us

विज्ञापन
X

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00
X