विज्ञापन

फरीदाबाद

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
Digital Edition

पलवलः लहूलुहान अवस्था में मिला युवक का शव, पुलिस ने शुरू की जांच

हरियाणाः पलवल में पुलिस और बदमाशों के बीच जबरदस्त मुठभेड़, ढेर हुआ वांछित अपराधी गुड्डू

रेस्तरां में पत्नी के साथ मना रहा था जन्मदिन की पार्टी, हुआ कुछ ऐसा बेटे के सिर से उठा बाप का साया

एनआईटी तीन स्थित आंगन रेस्तरां में जन्मदिन की पार्टी में आए एक युवक की रेस्तरां मालिक व कर्मचारियों ने पलटे और चाकू से वारकर हत्या कर दी। थाना एसजीएम नगर पुलिस ने रेस्तरां मालिक सहित 20 लोगों के खिलाफ हत्या का मामला दर्ज कर लिया है। पुलिस ने युवक के शव का पोस्टमार्टम करवा परिजनों को सौंप दिया है। वहीं बुधवार शाम को पोस्टमार्टम के बाद परिजनों ने एक-दो चौक पर शव रखकर जाम लगा दिया। परिजन हमलावरों की गिरफ्तारी की मांग कर रहे थे। मौके पर पहुंचे पुलिस अधिकारियों के समझाने पर लोगों ने जाम खोला।

एनआईटी 2सी विडो होम निवासी जितेश भाटिया ने बताया कि उनके ममेरे भाई संदीप के बेटे का मंगलवार को जन्मदिन था। संदीप ने ईएसआई मेडिकल कॉलेज के सामने स्थित आंगन रेस्तरां में पार्टी रखी थी। पार्टी में जितेश का 26 वर्षीय भाई हितेश अपनी पत्नी साक्षी के साथ गया था। पार्टी के दौरान संदीप के पास काम करने वाले एक युवक की वहां एक वेटर से किसी बात पर कहासुनी हो गई। यह देख संदीप बीच बचाव कराने लगा, मगर तभी वेटर ने संदीप को थप्पड़ जड़ दिया। इस पर वहां हंगामा होने लगा। जितेश के अनुसार, उसका भाई हितेश भी बीच-बचाव के लिए पहुंच गया। हितेश की पत्नी साक्षी भी बीच बचाव करने लगी।

जितेश ने बताया कि विवाद इतना बढ़ गया कि रेस्टोरेंट के वेटरों ने पार्टी में शामिल लोगों को पीटना शुरू कर दिया। इस दौरान रेस्तरां संचालक सचिन भाटिया ने फोन कर कुछ और युवकों को वहां बुला लिया। इस पर पार्टी में शामिल लोग वहां से जान बचाकर भागने लगे। जितेश के अनुसार, हितेश भी वहां से निकल रहा था, मगर तभी हमलावरों ने उसे पकड़ लिया और खींचकर रेस्तरां के अंदर ले गए। आरोपियों ने जितेश को उसकी पत्नी के सामने ही बुरी तरह पीटना शुरू कर दिया। कुछ वेटर रसोईघर में से पलटा व चाकू आदि उठा लाए। उनमें से एक ने हितेश के सिर में पलटे से वार किया। इसके बाद हमलावरों ने हितेश पर चाकू से हमला कर घायल कर दिया।

पत्नी साक्षी के अनुसार, बेहोश हितेश को हमलावर अपनी कार में डालकर ले जाने का प्रयास कर रहे थे। इसी दौरान सूचना मिलने पर पुलिस वहां पहुंच गई और हमलावर हितेश को छोड़कर वहां से फरार हो गए। पुलिस ने हितेश को अस्पताल में भर्ती करवाया, जहां उसे मृत घोषित कर दिया गया। एसजीएम नगर थाना प्रभारी हरदीप सिंह ने बताया कि रेस्तरां मालिक सचिन भाटिया सहित अन्य के खिलाफ मामला दर्ज कर लिया है। आरोपियों को जल्द गिरफ्तार कर लिया जाएगा।
... और पढ़ें

फतेहाबाद: नाबालिग को बहला फुसलाकर घर से ले जाने व दुष्कर्म करने के मामले में दोषी को 10 साल कैद व जुर्माना

फतेहाबाद में नाबालिग को बहला फुसलाकर घर से ले जाने और उससे दुष्कर्म करने के मामले में अदालत ने दोषी युवक को दस साल कैद व 10 हजार रुपये जुर्माने की सजा सुनाई है। इस मामले में अतिरिक्त जिला एवं सत्र न्यायाधीश एवं फास्ट ट्रैक कोर्ट के जज बलवंत सिंह की अदालत ने फैसला सुनाया है।

मामले के मुताबिक रतिया शहर पुलिस ने नाबालिग की मां की शिकायत पर 19 नवंबर 2020 को रतिया निवासी आरोपी युवक जगदीप उर्फ गुरदिता के खिलाफ केस दर्ज किया था। शिकायत में पीड़िता की मां ने आरोप लगाया था कि उसकी साढ़े 16 साल की बेटी को आरोपी जगदीप उर्फ गुरदिता अपने साथ बहला फुसलाकर ले गया। पुलिस ने ही दोनों को बरामद कर लिया।
 
इसके बाद पीड़िता ने बयान में कहा कि वह रात को बिना किसी को बताए घर से दोषी के साथ चली गई थी। उसकी दोषी से करीब साढ़े तीन माह से बातचीत हो रही थी। 10 नवंबर को वह अपने घर सोई हुई थी। इस दौरान दोषी युवक उसे बहला फुसलाकर अपने साथ पठानकोट ले गया। यहां उसने कई बार उससे दुष्कर्म किया।
 
अदालत ने दोनों पक्षों की बहस सुनने के बाद आरोपी जगदीप उर्फ गुरदिता को पॉक्सो एक्ट की धारा छह की बजाय धारा चार के तहत दोषी माना और उसे 10 साल की कैद व 5 हजार रुपये जुर्माने की सजा सुनाई।
 
अदालत ने आरोपी को धारा 366ए के तहत तीन साल की कैद व 2 हजार रुपये जुर्माना तथा आईपीसी की धारा 450 के तहत तीन साल की कैद व 3 हजार रुपये जुर्माने की सजा सुनाई। सभी सजा एक साथ चलेंगी।
... और पढ़ें
court demo court demo

फतेहाबाद: नाबालिग से दुष्कर्म के दोषी को 20 साल की कैद, जींद का रहने वाला है अभियुक्त 

हरियाणा के फतेहाबाद में अतिरिक्त जिला एवं सत्र न्यायाधीश व फास्ट ट्रैक कोर्ट के जज बलवंत सिंह की अदालत ने नाबालिग से दुष्कर्म करने के दोषी गुलाब सिंह को गुरुवार को 20 साल की कैद की सजा सुनाई। इस मामले में सिटी थाना पुलिस ने फतेहाबाद शहर निवासी पीड़िता के पिता की शिकायत पर 28 नवंबर 2020 को दोषी गुलाब सिंह निवासी गांव डुमरखां खुर्द जिला जींद के खिलाफ भादंसं की धारा 363, 366ए, 376 व पॉक्सो एक्ट की धारा 6 के तहत केस दर्ज किया था। 

फतेहाबाद शहर थाना पुलिस को दी शिकायत में पीड़िता के पिता ने बताया था कि गुलाब सिंह उसकी नाबालिग बेटी को शादी का झांसा देकर अपने साथ ले गया। आरोप था कि अपहरण के करीब डेढ़ माह पूर्व गुलाब का उसके मोबाइल फोन पर फोन आया था और उसने धमकी भरे लहजे से उसे कहा था कि वह उसकी बेटी का अपहरण करके ले जाएगा।

यह भी पढ़ें ः 
नशे में अपनों को मारा: छिन गया बूढ़े लाचार कंधों का सहारा, दो सगे भाइयों ने ही की बड़े भाई और भाभी की हत्या

इसके बाद उसने उसकी बेटी को शादी का झांसा दिया और अपने साथ ले जाकर उससे जबरन दुष्कर्म किया। फिर वापस छोड़ दिया। उसकी बेटी ने घर आकर सारी आपबीती उसे सुनाई। अदालत ने इस मामले में दोनों पक्षों की सुनवाई करते हुए गुलाब को दोषी मानते हुए उसे 20 साल की कैद की सजा सुनाई है।
... और पढ़ें

फरीदाबाद: बीमार पिता के इलाज के लिए शुरू किया गांजे का कारोबार, पुलिस ने डेढ़ किलो की खेप के साथ किया गिरफ्तार

फरीदाबाद में बीमार पिता के इलाज के लिए जल्दी पैसे कमाने के चक्कर में बेटे ने गांजे का अवैध कारोबार शुरू कर दिया। क्राइम ब्रांच सेक्टर-30 की पुलिस टीम ने आरोपी को गिरफ्तार कर लिया है। पुलिस ने उसके पास से एक किलो से अधिक गांजा बरामद किया है। आरोपी का नाम अजय है और वो सेक्टर-56 का रहने वाला है।

पुलिस प्रवक्ता सूबे सिंह ने बताया कि पुलिस को सूचना मिली कि एक व्यक्ति गांजा लेकर बड़खल की तरफ से खेड़ी पुल की ओर आ रहा है। पुलिस टीम सेक्टर-29 बाईपास के पुल के नजदीक पहुंच गई और नाकाबंदी कर दी। थोड़ी देर बाद एक व्यक्ति हाथ में थैला लेकर आता दिखाई दिया।

पुलिस की नाकाबंदी देखकर वह व्यक्ति पीछे मुड़कर भागने लगा। लेकिन उसे पकड़ लिया गया। पूछताछ में सामने आया कि आरोपी जल्द पैसे कमा कर पिता का इलाज करवाना चाहता था। पुलिस ने उसे पहले ही गिरफ्तार कर लिया। आरोपी को अदालत में पेश कर पुलिस ने उसे जेल भेज दिया है।
... और पढ़ें

खौफनाक सच्चाई: 2019 से चार लड़कियों की दुष्कर्म के बाद हत्या कर चुका है सीरियल किलर, लाशों को ऐसे लगाता था ठिकाने

फरीदाबाद में पिछले दिनों बीए की छात्रा की दुष्कर्म के बाद हत्या के मामले में गिरफ्तार आरोपी ने सनसनीखेज खुलासे किए हैं। सिंहराज नागर सीरियल किलर निकला। 2019 के बाद वह चार लड़कियों की हत्या कर चुका है। 

डीसीपी क्राइम नरेंद्र कादयान के बताया कि सिंहराज ने दो जनवरी को बीए की छात्रा की दुष्कर्म के बाद हत्या कर दी थी। पहले भी वह तीन किशोरियों की दुष्कर्म के बाद हत्या कर चुका है। 1986 में आरोपी दोहरे हत्याकांड में भी गिरफ्तार हो चुका है। उस पर अपने चाचा और चचेरे भाई की हत्या का आरोप था।

हालांकि, उस मामले में आरोपी अतिरिक्त सत्र न्यायालय से बरी हो गया था। सिंहराज नागर (54) गांव जसाना का रहने वाला है। क्राइम ब्रांच डीएलएफ ने आरोपी को पूछताछ के लिए तीन दिन के रिमांड पर ले रखा है। पुलिस ने उसे 8 जनवरी को गिरफ्तार किया था।

खेड़ीपुल से छात्रा को साइकिल पर बैठाया था, अपने गांव में किया दो दिन तक दुष्कर्म
पूछताछ में सिंहराज ने बताया कि उसने बीए की छात्रा (22) को खेड़ीपुल के पास से 31 दिसंबर को साइकिल पर बैठाया था। वह उसे पहले से जानती थी और चाचा कहती थी। आरोपी उसे 16 किमी दूर अपने गांव जसाना ले गया और दो दिन तक दुष्कर्म करता रहा।
... और पढ़ें

बल्लभगढ़: बाथरूम में संदिग्ध हालात में महिला की मौत

सीरियल किलर गिरफ्तार
बल्लभगढ़ में बाथरूम में एक महिला की संदिग्ध हालात में मौत हो गई। थाना सदर पुलिस ने शव को पोस्टमार्टम कराकर परिजनों को सौंप दिया है। 

थाना प्रभारी सुरेंद्र ने बताया कि सूचना मिली थी कि गांव सताई निवासी राहुल की पत्नी सुनीता मंगलवार की सुबह करीब 6 बजे बाथरूम में नहाने के लिए गई थी। काफी समय बीत जाने के बाद सास ने सुनीता को आवाज लगाई लेकिन सुनीता की ओर से किसी प्रकार की कोई आवाज नहीं आई। इसकी सूचना बेटे राहुल को दी।

राहुल ने जब बाथरूम की खिड़की से देखा तो सुनीता बेहोश थी। उन्होंने तुरंत सुनीता को उपचार के लिए अस्पताल लेकर गए, जहां  डॉक्टर ने सुनीता को मृत घोषित कर दिया। एसएचओ सुरेंद्र का कहना है कि शव का पोस्टमार्टम करवाकर परिजनों को सौंप दिया गया है। उन्होंने बताया कि सुनीता के बाथरूम में गैस गीजर लगा हुआ था। सुनीता की मौत किन कारणों की वजह से हुई है,यह पोस्टमार्टम की रिपोर्ट आने के बाद ही पता चलेगा।
... और पढ़ें

फरीदाबाद: बढ़खल झील चौक पर इंसानियत शर्मशार, पहले हथौड़े से पीटा फिर मार दी गोली, भीड़ बनाती रही वीडियो

सोमवार को सोशल मीडिया पर एक वीडियो वायरल हो रहा है, जिसमें कुछ युवक एक व्यक्ति को लाठी, हथौड़े से बुरी तरह पीट रहे हैं। पिटने वाला व्यक्ति बार-बार उसे छोड़ने की गुहार लगा रहा है लेकिन उसे पीट रहे युवक बिना रुके उसे पीट रहे हैं। यह वीडियो फरीदाबाद के बढ़खल झील चौक का बताया जा रहा है। मामले में दो आरोपियों को गिरफ्तार किया गया है।

फरीदाबाद- वारदात के संबंध में थाना एनआईटी में आरोपी ललित ,प्रदीप और सचिन के खिलाफ हत्या के प्रयास और अवैध हथियार से फायरिंग करने जैसी संगीन धाराओं में मुकदमा दर्ज कर लिया गया है। आरोपियो से क्राईम ब्रांच सेक्टर-30 द्वारा पूछताछ की जा रही है।

पुलिस उपायुक्त मुख्यालय नीतीश अग्रवाल ने प्रेसवार्ता में बताया कि सोमवार सुबह करीब 10 बजे सेक्टर-21 डी एरिया में कार में सवार तीन बदमाशों ने एक युवक को हथौड़े और रॉड से पीड़ित के पैर तोड़ दिए और गोली चलाकर भाग रहे थे। मौके से डायल 112 इआरवी इंचार्ज सब इंस्पेक्टर बिजेन्द्र की टीम ने दो आरोपी ललित और प्रदीप को काबू कर लिया है। तीसरा आरोपी सचिन मौके से फरार होने में कामयाब हो गया। पीड़ित व्यक्ति को पुलिस द्वारा फोर्टिस हॉस्पिटल में भर्ती करा दिया गया है।
... और पढ़ें

निकिता मर्डर केस : पहले दिन जांच के लिए निकिता के घरवालों से SIT ने किए ये सवाल

सिविल डिफेंस कर्मी ने पत्नी की हत्या कर थाने में सरेंडर किया, चरित्र पर था संदेह

दिल्ली सरकार के सिविल डिफेंस कर्मी ने पत्नी की हत्या कर कालिंदी कुंज थाने में सरेंडर कर दिया। आरोपी ने चाकू घोंपकर पत्नी की हत्या कर दी और शव को पत्तों से ढक दिया था। आरोपी पत्नी के चरित्र पर संदेह करता था।

उसे संदेह था कि उसकी पत्नी के एसडीएम कार्यालय में तैनात सीनियर अधिकारी से अवैध संबंध है। कालिंदी कुंज पुलिस थाना पुलिस ने आरोपी सिविल डिफेंस कर्मी को गिरफ्तार कर सूरजकुंड पुलिस के हवाले कर दिया। सूरजकुंड पुलिस आरोपी मो. निमामुद्दीन को शुक्रवार दोपहर को सूरजकुंड ले गई।

दक्षिण-पूर्व जिला पुलिस अधिकारियों के अनुसार मूलरूप से गांव भाईयान, थाना पहासू जिला बुलंदशहर, यूपी निवासी मो. निजामुद्दीन(25) अपनी मां के साथ गली नंबर-चार,  खड्डा कॉलोनी जैतपुर भाग-दो में किराए पर रहता है। वह दिल्ली सिविल डिफेंस में हाउस फायर पार्टी के तौर पर काम करता था। जनवरी, 21 में उसकी डीएम ऑफिस लाजपत नगर में थी।

यहां पर सिविल डिफेंस कर्मी राबिया से जान-पहचान हुई और दोनों की दोस्ती हो गई। 11 जून, 2021 को दोनों ने साकेत कोर्ट में शादी कर ली थी। कुछ समय बाद मो. निजामुद्दीन उस पर संदेह करने लग गया। उसे लगता था कि एसडीएम ऑफिस में कार्यरत एक अधिकारी से राबिया के संबंध हैं। 

मो. निजामुद्दीन साजिश के तहत राबिया को बृहस्पतिवार रात को मोटरसाइकिल से पाली रोड पर सूरजकुंड के जंगल में ले गया। यहां पर अवैध संबंधों को लेकर दोनों में झगड़ा हो गया। इस पर आरोपी मो. निजामुद्दीन ने चाकू से राबिया पर हमला कर दिया। आरोपी ने राबिया के गर्दन में चाकू से कई वार किए थे। जब राबिया की मौत हो गई तो आरोपी ने शव को पत्तो से ढ़क दिया।

इसके बाद वह मीठापुर पहुंचा और वहां कई घंटे बैठा रहा कि वह क्या करे। शुक्रवार तड़के आरोपी ने कालिंदी कुंज थाने में सरेंडर कर दिया। आरोपी की निशानेदही पर सूरजकुंड पुलिस ने राबिया का शव बरामद कर लिया। आरोपी ने अपना व राबिया का मोबाइल और वारदात में इस्तेमाल पल्ला रोड पर आगरा नहर में फेंक दिए थे। 
... और पढ़ें

टोका-टाकी और झगड़े से परेशान होकर जीजा की कर दी थी हत्या, साला गिरफ्तार 

फरीदाबाद में पांच अक्तूबर को लियाकत के सिर में ईंट मारकर साले इमरान ने ही उसकी हत्या की थी। वारदात के बाद से वह फरार था, जिसे क्राइम ब्रांच डीएलएफ ने रविवार को ओल्ड फरीदाबाद में लेबर चौक से गिरफ्तार कर लिया। एक दिन की रिमांड लेकर पूछताछ के बाद आरोपी को सोमवार को अदालत में पेश किया गया, जहां से उसे जेल भेज दिया गया।

डबुआ कॉलोनी थाना पुलिस ने मणी की टाल के पास एक व्यक्ति का शव बरामद किया था। युवक के सिर में किसी भारी चीज से हमला कर हत्या की गई थी। मृतक की पहचान उत्तम नगर, गाजीपुर रोड निवासी लियाकत के रूप में हुई। पत्नी शहनाज की शिकायत पर हत्या का मामला दर्ज कर क्राइम ब्रांच डीएलएफ की टीम ने जांच शुरू की।

इस दौरान पुलिस को पता चला कि शहनाज का भाई इमरान पिछले 15-20 दिन से अपनी बहन के पास रह रहा था। इमरान सीही गांव में रहता था। करीब 6 साल पहले वह अपना मकान आदि बेचकर गाजियाबाद जाकर रहने लगा था। पुलिस को जांच के दौरान पता चला कि घटना वाले दिन इमरान और लियाकत का झगड़ा हुआ था और लियाकत की हत्या के बाद से वह फरार था। इस पर पुलिस ने उसकी तलाश शुरू की।

मजदूरों की फोटो दिखाकर पहचान कराई 
एसीपी मुख्यालय आदर्शदीप सिंह ने बताया कि पुलिस टीम इमरान की तलाश में गाजियाबाद पहुुंची तो पला चला कि वह यहां से भी अपना मकान बेचकर चला गया है। इस पर इमरान की फोटो लेकर उसकी तलाश शुरू की। शहनाज ने बताया कि इमरान मजदूरी करता और ऑटो चलाता है। इस दौरान ओल्ड फरीदाबाद के लेबर चौक पर मजदूरों ने इमरान की फोटो देखकर उसे पहचान लिया। उसे पकड़ने के लिए पुलिस ने टीम लगाई और रविवार सुबह 8 बजे ओल्ड फरीदाबाद लेबर चौक से उसे गिरफ्तार कर लिया। पूछताछ में पता चला कि वह सड़क किनारे जहां जगह मिलती वहीं सो जाता था।

लेबर चौक पर हुआ था जीजा साले में झगड़ा
पूछताछ के दौरान इमरान ने पुलिस को बताया कि 5 अक्तूबर की सुबह वह काम की तलाश में लेबर चौक पर गया था। थोड़ी देर बाद उसका जीजा लियाकत भी वहां आ गया और झगड़ा करने लगा, जोकि मारपीट में बदल गई थी। इसके बाद इमरान वापस अपनी बहन के घर आकर सो गया। शाम को वह घर से काम के लिए जाने का कहकर निकल गया था। रास्ते में मणी की टाल के पास उसे जीजा लियाकत मिल गया और दोनों में दोबारा झगड़ा होने लगा। इमरान अपने जीजा को घसीटकर शमशान घाट के पास खाली मैदान में ले गया और उसके सिर में ईट से कई वार किए, जिससे उसकी मौके पर ही मौत हो गई। लियाकत की हत्या के बाद इमरान वहां से फरार हो गया था। पुलिस ने उसे अदालत में पेश कर एक दिन का रिमांड लिया और वारदात के दौरान पहने उसके कपड़े बरामद किए। सोमवार को रिमांड समाप्त होने पर उसे अदालत में पेश किया गया, जहां से उसे जेल भेज दिया गया। 
... और पढ़ें

आप भी ऑटो से आते-जाते हैं तो सावधान! सवारी बैठाकर लूटपाट करने वाले तीन आरोपी गिरफ्तार

फरीदाबाद में रात के समय ऑटो में सवारी बैठाकर उनका सारा सामान लूटने वाले तीन बदमाशों को पुलिस की क्राइम ब्रांच सेक्टर-85 ने गिरफ्तार किया है। पुलिस ने आरोपियों के पास से दो ऑटो, एक मोटरसाइकिमल, तीन मोबाइल फोन और 78 सौ रुपये बरामद किए हैं। इनके खिलाफ विभिन्न थानों में सात मामले दर्ज हैं। पुलिस ने तीनों को अदालत में पेश कर जेल भेज दिया है।

पुलिस प्रवक्ता सहायक पुलिस आयुक्त आदर्शदीप सिंह ने सोमवार को प्रेसवार्ता के दौरान बताया कि एक सूचना के आधार पर क्राइम ब्रांच सेक्टर-85 ने रविवार को ऑटो में सवारी बैठाकर उनसे मारपीट लूटपाट करने के तीन आरोपियों को गिरफ्तार किया है।

आरोपियों की पहचान गांव मौजपुर निवासी विकास, अरुण और सोनू के रूप में हुई है। एसीपी ने बताया कि तीनों रात के समय ऑटो चलाते हैं और जल्द पैसे कमाने की लालच में अपने ऑटो में सवारी बैठाकर उनसे मारपीट करते थे और उनसे उनका सारा सामान लूट लेते थे। 

पुलिस ने आरोपियों की निशानदेही पर एक कट्टा, एक कारतूस, वारदात में प्रयुक्त दो ऑटो, एक मोटरसाइकिल, छीने गए तीन मोबाइल फोन व 78 सौ रुपये बरामद किए हैं। आरोपियों के खिलाफ विभिन्न थानों में अवैध हथियार, चोरी व झपटमारी के सात मामले दर्ज हैं। पुलिस ने तीनों को अदालत में पेश कर जेल भेज दिया है।
... और पढ़ें
  • Downloads
    News Stand

Follow Us

  • Facebook Page
  • Twitter Page
  • Youtube Page
  • Instagram Page
  • Telegram
एप में पढ़ें
सबसे तेज और बेहतर अनुभव के लिए चुनें अमर उजाला एप
अभी नहीं

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00