विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
समस्या कैसी भी हो, पाएं इसका अचूक समाधान प्रसिद्ध ज्योतिषाचार्यों से केवल 99 रुपये में
Astrology Services

समस्या कैसी भी हो, पाएं इसका अचूक समाधान प्रसिद्ध ज्योतिषाचार्यों से केवल 99 रुपये में

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

अपराजिता: छोटी-सी पहल ने कर दिया बड़ा बदलाव, जॉब छोड़ शुरु किया केमिकल रहित साबुन बनाने का स्टार्टअप

महिलाओं को आत्मनिर्भर बनाने की कसक ने पांच साल पहले किरणप्रीत कौर को एचआर प्रबंधक की जॉब छोड़ने को मजबूर कर दिया। खुद का कारोबार शुरू किया और आज देश म...

19 जुलाई 2019

विज्ञापन
विज्ञापन

दिल्ली-एनसीआर

सोमवार, 26 अगस्त 2019

ट्रक की चपेट में आने से सात साल के बच्चे की मौत, पिता गंभीर, गुस्साए लोगों ने ट्रक पर किया पथराव

देश की राजधानी दिल्ली के स्वरूप नगर के बुराड़ी रोड पर शनिवार दोपहर एक तेज रफ्तार ट्रक की चपेट में आने से सात साल के बच्चे की मौत हो गई जबकि उसके पिता को गंभीर चोट लगी है। घायल पिता का बाबू जगजीवन राम अस्पताल में इलाज चल रहा है। 

पुलिस ने बच्चे के शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है। घटना के बाद आक्रोशित लोगों ने ट्रक पर पथराव कर दिया। मौके पर पहुंची पुलिस ने हल्का बल प्रयोग कर लोगों को वहां से हटा दिया। पुलिस चालक के खिलाफ लापरवाही से वाहन चलाने से हुई मौत का मामला दर्ज कर फरार चालक की तलाश में जुट गई है। 

यह भी पढ़ें:
जेटली को निधन से पहले 12 घंटे में दो बार हार्ट अटैक आया, आंतों में हुआ रक्तस्त्राव, लेकिन...


जानकारी के मुताबिक सुनील अपने परिवार के साथ संतनगर इलाके में रहता है। वह मजदूरी करता है। इन दिनों उसकी पत्नी अपने गांव गई हुई है। शनिवार दोपहर वह अपने छोटे बेटे वंश (7) को दवा दिलाने के लिए डिस्पेंसरी गया था। 

जहां से वह बेटे को लेकर बाइक से घर आ रहा था। बताया जा रहा है कि बुराड़ी रोड पर एक ई-रिक्शा बैक कर रहा था। सुनील की बाइक ई-रिक्शा से टच करने के बाद लड़खड़ाकर गिर गई। 
  ... और पढ़ें

प्रेम नगर में पांच घंटे के अंतराल में मिले तीन शव, फंदे पर लटकी मिली महिला

देश की राजधानी दिल्ली के प्रेम नगर इलाके में शुक्रवार को पांच घंटे के अंतराल में एक महिला समेत तीन लोगों के शव मिले हैं। एक महिला और पुरुष के शवों की पहचान कर ली गई है, जबकि तीसरे की शिनाख्त करने में पुलिस जुटी है।  

जिला पुलिस उपायुक्त एसडी मिश्रा ने बताया कि शुक्रवार सुबह करीब साढ़े दस बजे विनय एंक्लेव स्थित डीडीए के खाली पड़ी जमीन में एक व्यक्ति के शव मिलने की जानकारी मिली। पुलिस ने शव को कब्जे में कर लिया। 

मृतक की शिनाख्त अगर नगर निवासी महफूज आलम (31) के रूप में हुई। जांच में पता चला कि वह कोई काम नहीं करता था। उसे मिर्गी की बीमारी थी। उसके शरीर पर कोई चोट के निशान नहीं था। शुरुआती जांच में पुलिस इसे एक हादसा मान रही है।

दूसरी घटना प्रेम नगर पार्ट 2 की है। दोपहर करीब साढ़े बाहर बजे एक महिला के फंदा लगाने की जानकारी मिली। महिला घर में अकेली रहती थी। घर से काफी बदबू आ रही थी। 
... और पढ़ें

सात साल के बेटे के सामने पिता की गोली मारकर हत्या, पुलिस ने दर्ज किया मामला

दक्षिण-पूर्व दिल्ली में ओखला सब्जी मंडी के सामने बाइक सवार बदमाशों ने सात साल के मासूम के सामने उसके पिता की गोली मारकर हत्या कर दी। मृतक की शिनाख्त कोट मोहल्ला, खुर्जा निवासी फजलू रहमान (42) के रूप में हुई है। फजलू का ओखला सब्जी मंडी में टमाटर की आढ़त का कारोबार था। हमले के दौरान स्कूटी पर उसके साथ बैठे सात साल के बेटे असद को भी मामूली चोट लगी।

ये भी पढ़ें- 
यूपी: बाल संरक्षण गृह में 62 बच्चे बीमार, स्वास्थ्य विभाग ने की जांच

पुलिस ने शनिवार को पोस्टमॉर्टम के बाद फजलू का शव परिवार को सौंप दिया। हत्या का मामला दर्ज कर अमर कॉलोनी थाना पुलिस आरोपियों की तलाश कर रही है। पुलिस घटना स्थल के आसपास लगे सीसीटीवी फुटेज की मदद से आरोपियों की पहचान करने का प्रयास कर रही है।

पुलिस के मुताबिक फजलू अपने परिवार के साथ गोविंदपुरी और श्रीनिवासपुरी में रहता था। फजलू ने दो शादियां की थी। उसकी एक पत्नी गोविंदपुरी और दूसरी श्रीनिवासपुरी में रहती थी। दोनों पत्नियों से उसे पांच बच्चे हैं। फजलू का ओखला सब्जी मंडी में टमाटर, अमरूद और आम की आढ़त का कारोबार था।

शुक्रवार शाम के समय वह अपने सात वर्षीय बेटे असद व भतीजे यामिन के साथ कंचनकुंज, कालिंदीकुंज में रहने वाली बहन नफीसा के गए थे। वहां से करीब 10.30 बजे फजलू, बेटा असद व भतीजा यामीन ओखला सब्जी मंडी पहुंचे। मंडी के सामने पहुंचकर फजलू ने यामीन को स्कूटी से उतार दिया। इस बीच वह सड़क पर ही खड़ा होकर फोन सुनने लगा।

इसी दौरान सामने रांग साइड से आए बाइक सवार दो लड़कों ने बेहद करीब से फजलू की कनपटी के पास गोली मार दी। वारदात के बाद आरोपी उसी दिशा में फरार हो गए। फजलू को गोली लगने की सूचना मिलते ही मंडी के कारोबारी मौके पर भागे। फौरन उसे एम्स ट्रामा सेंटर ले जाया गया, जहां डॉक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया। 
... और पढ़ें

दिल्लीः लुटेरों को एटीएम में नहीं मिला कैश तो गार्ड को डंडों से पीटा, मामला दर्ज

प्रतीकात्मक तस्वीर प्रतीकात्मक तस्वीर

कभी केजरीवाल व जेटली के रिश्तों में थी तल्खी, दिल्ली के सीएम को मांगनी पड़ी थी माफी

अरुण जेटली के निधन की वजह कैंसर नहीं कुछ और, एम्स के डॉक्टर ने बताई असली वजह

फाइल फोटो

दुर्लभ किस्म के सॉफ्ट टिशू से पीड़ित थे अरुण जेटली, 100 कैंसर मरीजों में एक को होता है

आम आदमी की थाली से सब्जियां गायब, फिलहाल राहत की उम्मीद नहीं

आम आदमी की थाली से एक बार फिर सब्जियां गायब हो गई हैं। आलू, प्याज और टमाटर के भाव औसत से दोगुने हो गए है। मटर की कीमत तो सौ रुपये किलो से ज्यादा है। प्याज और टमाटर खुदरा बाजार में 50 रुपये प्रति किलो बिक रहे हैं। आलू भी खुदरा बाजार में 30 रुपये प्रति किलो पहुंच गया है। आलम यह है आम आदमी सब्जी खरीदने की हिम्मत नहीं जुटा पा रहा। 


मानसून का असर दिल्ली में सब्जियों की कीमत पर भी पड़ने लगा है। घीया, तोरी, भिंडी, परवल सहित तमाम सब्जियों की कीमत में अचानक बढ़ोतरी हो गई है। टमाटर के दाम अचानक दोगुने से ज्यादा बढ़ गए हैं। कुछ दिन पहले 20 रुपये प्रति किलो बिकने वाले टमाटर का भाव बढ़कर 50 रुपये तक पहुंच गया है। 

आजादपुर मंडी में सब्जी विक्रेता संदीप खंडेलवाल का कहना है कि हरी सब्जियां हर साल की तरह इस बार भी बरसात के मौसम में महंगी हो गई हैं। जिन राज्यों से दिल्ली में रोज सब्जियों की आवक होती है, वहां मूसलाधार बारिश हो रही है। बारिश के कारण वाहनों के आवागमन में परेशानी होने और हरी सब्जियों के खराब होने का असर कीमत पर पड़ रहा है।

ओनियन ट्रेडर्स एसोसिएशन के श्रीकांत मिश्रा ने बताया कि कर्नाटक, महाराष्ट्र से आने वाला प्याज दिल्ली में नहीं पहुंच पा रहा है। इस वजह से प्याज की कीमत बढ़ गई है। थोक बाजार में शनिवार को प्याज की कीमत 19-28 रुपया तक चढ़ गई। व्यापारियों की मानें तो प्याज का भाव अभी और चढ़ेगा। 

अगले सप्ताह तक प्याज थोक भाव में 30-35 रुपये तक चढ़ सकता है। कुछ हरी सब्जियां अधिक दिन तक टिक नहीं पाती हैं। ऐसे में ताजा सब्जियों के लिए ग्राहकों को अधिक कीमत चुकानी पड़ रही है। आगे भी बारिश के हालात के मुताबिक कीमत में उतार-चढ़ाव का सिलसिला बने रहने की उम्मीद है।

सब्जियों के भाव
मटर 100 रुपये 
टमाटर 45-50 रुपये
गोभी 50-60 रुपये
भिंडी 50-60 रुपये
अरबी 45-50 रुपये
बैंगन 50-60 रुपये
घीया-40-50 रुपये
परवल-60-70 रुपये
(कीमत प्रति किलोग्राम)
... और पढ़ें

जेटली ने पांच साल पहले मरीज बन समझी थी रोगियों की पीड़ा

पूर्व वित्त मंत्री अरुण जेटली के जीवन का एक अहम भाग मरीजों की पीड़ा से भी जुड़ा था, जिसके बारे में वे न कभी सामाजिक मंच पर बोलते थे और न ही किसी से चर्चा करते थे। वे अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान (एम्स) के बाहर मरीजों की सेवा करते रहते थे। 

करीब पांच साल पहले की बात है। वर्ष 2014 में पेट से जुड़े ऑपरेशन के लिए उन्हें एम्स में भर्ती होना पड़ा था। उस वक्त पहली बार जेटली ने एम्स के मरीजों और उनकी पीड़ा को इतने करीब से जाना। सर्दी-गर्मी में खुले आसमां के नीचे बेचैन लोगों को देख वे अक्सर मायूस हो जाते। 

उनसे मिलने जो भी आता, वे उनसे अपने मन की बाता साझा करते थे। डिस्चॉर्ज होने के बाद जेटली ने कुछ लोगों की मदद से ‘सुख वर्षा समाज सेवा संस्था’ बनाई।  इसी संस्था के अध्यक्ष वरीन्द्र मैनी बताते हैं कि मरीज बनकर जेटली ने रोगियों की पीड़ा को महसूस किया। 

संस्था बनने के बाद एक वैन खरीदी गई। इस वैन में आज भी मरीजों के लिए भोजन, कंबल और पानी का वितरण किया जाता है। जेटली के मार्गदर्शन में संस्था से कई लोग जुड़े। 9 अगस्त से एम्स में जेटली भर्ती थे और बाहर उनके परिजन संस्था सदस्यों के साथ मिलकर भोजन करा रहे थे। 

हर दिन उनके परिवार से जुड़ा कोई न कोई सदस्य साथ में होता था। संस्था के महामंत्री विनय महेन्द्रु बताते हैं कि शुक्रवार को एम्स परिसर में दाल चावल का वितरण किया था। 

पेयजल की व्यवस्था करवाई
पिछले वर्ष किडनी प्रत्यारोपण को लेकर जब जेटली एम्स में भर्ती हुए उस वक्त भी उन्हें कार्डिएक न्यूरो सेंटर में रखा गया था। उस दौरान उन्हें पता चला कि मरीजों के लिए पेयजल का संकट है। कई मरीजों को तो उन्होंने स्वयं बोतलबंद पानी दिया था। डिस्चॉर्ज होने के बाद उन्होंने एम्स में शुद्ध पानी के लिए अलग से एक मशीन भी लगवाई थी। 

सनातन मंदिर में कैशियर थीं मां
कई वर्षों से जेटली परिवार से जुड़े विनय महेन्द्रु बताते हैं कि जेटली की माता रतन प्रभा जेटली बहुत धार्मिक थीं। वे रोज नारायणा विहार स्थित सनातन धर्म मंदिर आया करती थीं। यहां के कैशियर की जिम्मेदारी वे ही संभालती थीं। इसके अलावा उन्होंने महिला मंडली भी बनाई थी। सत्संग में उनकी रुचि थी। इसीलिए उनके जाने के बाद जेटली ने सनातन धर्म मंदिर में काफी विकास कार्य कराए। 
... और पढ़ें

बारिश से दिल्ली-एनसीआर में मौसम हुआ सुहाना, वायु गुणवत्ता में भी हुआ सुधार

दिल्ली में रविवार को हुई बारिश से मौसम सुहाना हो गया और दिल्लीवासियों को गर्मी से थोड़ी राहत मिली। वहीं इस बारिश ने दिल्लीवासियों को सांस लेने के लिए स्वच्छ हवा भी मुहैया कराई। बारिश की वजह से वायु गुणवत्ता सूचकांक 81 पर दर्ज किया गया, जिसे अच्छा माना जाता है।

बता दें कि सोमवार को दिल्ली में मानसून का औरेंज अलर्ट जारी रहेगा। इस बीच गरज के साथ हल्की से मध्यम बारिश होने के आसार हैं। मंगलवार को भी मानसून का येलो अलर्ट जारी रहेगा।

मौसम विभाग के अनुसार, रविवार को दिल्ली का अधिकतम तापमान सामान्य से एक डिग्री अधिक 34.1 दर्ज किया गया, जबकि न्यूनतम तापमान सामान्य से एक डिग्री अधिक 26.8 डिग्री सेल्सियस रिकॉर्ड किया गया। रविवार शाम साढ़े 5 बजे तक दिल्ली में 2.4 मिमी बारिश दर्ज की गई। देर शाम को भी बारिश का सिलसिला जारी रहा।

मौसम विभाग का कहना है कि सोमवार को दिल्ली में मानसून का औरेंज अलर्ट जारी रहेगा। इस दौरान अधिकतम तापमान में गिरावट की संभावना नहीं है। यदि बारिश तेज होती है तो लोगों को गर्मी से राहत मिल सकती है। इसके साथ ही दिल्ली में उमस का स्तर भी लगभग 95 फीसदी के आसपास रहने की संभावना है।

मंगलवार को दिल्ली में मानसून के येलो अलर्ट जारी रहने की संभावना है। इस बीच भी गरज के साथ हल्की बारिश हो सकती है। बुधवार और बृहस्पतिवार को दिल्ली में बेहद हल्की बूंदाबांदी हो सकती है। इसके बाद शुक्रवार से फिर बारिश का सिलसिला जारी हो सकता है।
... और पढ़ें

राजकीय सम्मान के साथ पंचतत्व में विलीन हुए अरुण जेटली, तमाम नेताओं ने नम आंखों से दी श्रद्घांजलि

पूर्व वित्त मंत्री अरुण जेटली रविवार को राजकीय सम्मान के साथ पंचतत्व में विलीन हुए। दिल्ली के निगम बोध घाट पर उनके बेटे रोहन ने मुखाग्नि दी। इस दौरान उपराष्ट्रपति वैंकेया नायडू, गृहमंत्री अमित शाह, रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह, वरिष्ठ नेता लालकृष्ण आडवाणी, भाजपा के कार्यकारी अध्यक्ष जगत प्रकाश नड्डा सहित कई राज्य के मुख्यमंत्री और कैबिनेट मंत्रियों के अलावा कई भाजपा सांसद मौजूद रहे। दोपहर तीन बजे अंतिम विदाई के वक्त कांग्रेस सहित तमाम विपक्षी दलों के शीर्ष नेता भी मौजूद रहे। 

इससे पहले रविवार सुबह कैलाश कॉलोनी स्थित जेटली आवास से अरुण जेटली का पार्थिव शरीर डीडीयू मार्ग स्थित भाजपा मुख्यालय ले गया। इस दौरान रास्ते में जगह जगह अरुण जेटली के समर्थकों ने भावभीनी श्रद्घांजलि उन्हें दी। जब तक सूरज चांद रहेगा अरुण तेरा नाम रहेगा...अरुण जेटली अमर रहे...। 

करूण स्वरों में समर्थक ये नारे लगाते उनके पीछे चल रहे थे। भाजपा मुख्यालय पर सुबह साढ़े 10 बजे अरूण जेटली का पार्थिव शरीर पहुंचा। इस दौरान भाजपा के तमाम बड़े नेताओं सहित कार्यकर्ताओं ने उन्हें श्रद्घांजलि दी। दोपहर करीब सवा बजे मुख्यालय से निगम बोध घाट तक अंतिम यात्रा निकाली गई। इस पूरे रास्ते में सड़कों पर जगह जगह अरुण जेटली को श्रद्घांजलि देने के होर्डिंग लगे हुए थे। 
... और पढ़ें
अपने शहर की सभी खबर पढ़ने के लिए amarujala.com पर जाएं

Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google, और सोशल मीडिया साइट्स, जैसे की Facebook, के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।

Agree