विज्ञापन
विज्ञापन
शनि अमावस्या के दिन सूर्य ग्रहण के समय करें पंच दान, होगा हर समस्या का समाधान - 4 दिसम्बर, 2021
Myjyotish

शनि अमावस्या के दिन सूर्य ग्रहण के समय करें पंच दान, होगा हर समस्या का समाधान - 4 दिसम्बर, 2021

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

From nearby cities

Digital Edition

दिल्ली: लंदन और एम्सटर्डम से आए चार यात्री कोरोना पॉजिटिव, एलएनजेपी में भर्ती, जीनोम सीक्वेसिंग के लिए भेजा सैंपल

दिल्ली के इंदिरा गांधी इंटरनेशनल एयरपोर्ट (आईजीआई) पर बीती रात लंदन और एम्सटर्डम से लैंड करने वाले चार यात्री कोरोना पॉजिटिव पाए गए हैं। इन्हें एहतियात के तौर पर दिल्ली के लोकनायक जयप्रकाश अस्पताल में भर्ती कराया गया है और इनका सैंपल जीनोम सिक्वेसिंग के लिए भेज दिया गया है।

विश्व के कई देशों में कहर बरपा रहा कोरोना का ओमिक्रॉन वैरिएंट भारत में न पहुंचे इसके लिए सरकार ने कई इंतजाम किए हैं। इसी के तहत हवाई अड्डों पर भी यात्रियों की कोरोना जांच हो रही है और अगर किसी को संक्रमित पाया जा रहा है तो उसका सैंपल जीनोम सिक्वेंसिंग के लिए भेजा जा रहा है।

जीनेस्ट्रिंग्स डायग्नॉस्टिक्स की फाउंडर डॉक्टर गौरी अगरवाल ने कहा कि हम लंदन और एम्सटर्डम से आए यात्रियों के जीनोम सिक्वेसिंग के परिणाम का इंतजार कर रहे हैं। दो दिनों के भीतर पांच यात्री कोरोना संक्रमित पाए जा चुके हैं। हम आईजीआई हवाई अड्डे पर रोजाना लगभग दो हजार यात्रियों का टेस्ट कर रहे हैं।

दिल्ली सरकार ने की है ये तैयारी
कोरोना वायरस के नए ओमिक्रॉन वैरिएंट को लेकर दिल्ली सरकार ने लोकनायक अस्पताल में मरीजों को भर्ती करने का फैसला लिया है। सरकार ने अस्पताल प्रबंधन को तत्काल इस दिशा में तैयारियां पूरी करने के लिए भी कहा है।

लोक नायक जयप्रकाश (एलएनजेपी) अस्पताल में पहले से कोविड वार्ड बने हुए हैं जिन्हें अब कोरोना के नए वैरिएंट से संक्रमित होने वाले मरीजों के लिए खोल दिया है। हालांकि दिल्ली में अभी तक ऐसा कोई मामला सामने नहीं आया है लेकिन दिल्ली सरकार ने अधिकारियों को निर्देश दिए हैं कि कोरोना वायरस को लेकर किसी भी तरह की लापरवाही नहीं होनी चाहिए।

अस्पतालों से लेकर निगरानी, जांच और टीकाकरण तक के लिए सभी जिलों को एकसाथ काम करने के लिए भी कहा गया है। इनके अलावा स्वास्थ्य विभाग ने कोरोना टीकाकरण को लेकर घर-घर जाकर जांच करने का अभियान आगे भी जारी रखने के निर्देश भी दिए हैं।
... और पढ़ें

नीट पीजी काउंसलिंग मामला: डॉक्टरों ने ओपीडी बंद करने के लिए लिखा पत्र, शुक्रवार से हड़ताल पर रहेंगे

एक ओर कोरोना वायरस के नए वैरिएंट को लेकर पूरे देश में हड़कंप मचा हुआ है। दूसरी ओर दिल्ली सहित देश भर के अस्पतालों में रेजिडेंट डॉक्टर विरोध प्रदर्शन कर रहे हैं। अब करीब 45 हजार डॉक्टरों ने आगामी शुक्रवार से अनिश्चितकालीन हड़ताल पर जाने का फैसला लिया है। दिल्ली के सभी सरकारी अस्पतालों में कार्यरत रेजिडेंट डॉक्टरों ने तीन दिसंबर से ओपीडी सेवाएं बंद रखने के साथ साथ आपातकालीन सेवाओं में भी शामिल नहीं होने का फैसला लिया है।

बुधवार को फेडरेशन ऑफ रेजिडेंट डॉक्टर्स एसोसिएशन (फोर्डा) ने केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री मनसुख मांडविया को पत्र लिख तत्काल नीट पीजी काउंसलिंग कराने के लिए कहा है। अगर समय रहते उनकी मांग पर विचार नहीं किया गया तो आगामी तीन दिसंबर से अस्पतालों में चिकित्सीय सेवाएं बाधित रह सकती हैं। फोर्डा के अनुसार देश भर के करीब 45 हजार डॉक्टर सरकार के इस रवैये से परेशान हैं। कोरोना महामारी की वजह से पहले ही उनका शैक्षणिक सत्र देरी से चल रहा है। इसके बाद परीक्षाओं में देरी हुई और अब काउंसलिंग भी समय पर नहीं हो रही है। जिसकी वजह से पीजी छात्रों को काफी परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है। 
... और पढ़ें

मोहब्बत की सजा मौत:  दूसरे समुदाय की युवती से प्रेम करता था युवक, भाई ने कर दी हत्या, इलाके में तनाव

पश्चिम दिल्ली के रघुबीर नगर इलाके में मंगलवार रात एक युवक की चाकू घोंपकर हत्या कर दी गई। मृतक की शिनाख्त डबलू सिंह (26) के रूप में हुई है। डबलू सिंह दूसरे समुदाय की एक युवती से प्रेम करता था। यह बात लड़की के भाई को इस कदर नगवार गुजरी कि उसने अपने दोस्त के साथ मिलकर डबलू को चाकू से गोद डाला। डबलू किसी तरह खुद ही ऑटो में बैठकर गुरु गोविंद सिंह अस्पताल पहुंचा, वहां हालत बिगड़ने पर उसे सफदरजंग अस्पताल रेफर कर दिया गया, जहां उसे मृत घोषित कर दिया गया।

हत्या के बाद इलाके में तनाव पैदा हो गया। शरारती लोगों ने मामले को सांप्रदायिक रंग देने का प्रयास किया। देर रात को ही इलाके में पुलिस बल तैनात कर दिया गया। पुलिस ने हत्या के आरोप में युवती के भाई लाडला उर्फ फरान (20) और इसके दोस्त शाहलम उर्फ चन्ना (24) को गिरफ्तार कर लिया है। राजौरी गार्डन थाना पुलिस मामले की छानबीन कर रही है। पुलिस घटना स्थल के आसपास लगे सीसीटीवी कैमरों से भी पड़ताल कर रही है।

पुलिस के मुताबिक, डबलू सिंह परिवार के साथ टीसी-कैंप, रघुबीर नगर इलाके में रहता था। इसके परिवार में पिता चंद्रेश सिंह, मां, एक भाई व बहन हैं। डबलू कपड़ों पर रंगाई का काम करता था। डबलू इलाके की ही रहने वाली दूसरे समुदाय की युवती से प्रेम करता था।
... और पढ़ें

दिल्ली हाई कोर्ट में याचिका: याचिकाकर्ता की मांग- समलैंगिक विवाह का पंजीकरण धर्म-तटस्थ या केवल धर्मनिरपेक्ष कानून के तहत हो

समलैंगिक जोड़ों के विवाह हिन्दू विवाह अधिनियम के तहत पंजीकरण की मांग को लेकर दायर याचिका पर आपत्ति जताते हुए सेवा न्याय उत्थान फाउंडेशन नाम के एक एनजीओ ने याचिका दायर कर मामले में पक्ष बनाने का आग्रह किया है। 

याची ने तर्क रखा कि हिंदू धर्म के अनुसार विवाह एक अनुबंध नहीं बल्कि एक धार्मिक गतिविधि है। हिंदू विवाह अधिनियम के साथ इस तरह से छेड़छाड़ करने का कोई भी प्रयास जो हिंदुओं की सदियों पुरानी हानिरहित मान्यताओं को प्रभावित करेगा।

अधिवक्ता शशांक शेखर झा के माध्यम से दायर आवेदन में कहा गया है कि हिंदू विवाह अधिनियम के तहत समलैंगिक विवाह के संबंध में मंजूरी न कि भारत में मौजूद अन्य व्यक्तिगत कानूनों में धर्म के आधार पर एलजीबीटी समुदाय के लोगों के साथ भेदभाव होगा।

याची ने तर्क रखा कि विवाह या तो विशेष विवाह अधिनियम जैसे धर्मनिरपेक्ष कानून के तहत पंजीकृत होना चाहिए या मुस्लिम विवाह कानून और सिख आनंद विवाह अधिनियम जैसे सभी धार्मिक कानूनों के तहत अनुमति दी जानी चाहिए।
 
... और पढ़ें
फाइल फोटो फाइल फोटो

उपहार सिनेमा अग्निकांड: दोषी अंसल बंधुओं को राहत नहीं, अदालत का सजा निलंबित करने से इनकार, सभी को जेल में ही रहना होगा

अदालत ने उपहार सिनेमा अग्निकांड मामले में दोषी अंसल बंधुओं व अन्य को राहत प्रदान करने से इनकार कर दिया। उनकी सजा के खिलाफ अपील के निपटारे तक सजा निलंबित करने से इनकार कर दिया। यानि सभी अब जेल में ही रहेंगे। अदालत ने कहा दोषियों पर गंभीर आरोप है और उनके रवैये को देखते हुए सजा निलंबन का कोई आधार नहीं है। अदालत ने उनकी अपील पर सुनवाई 23 फरवरी 2022 तय की है।

अतिरिक्त सत्र न्यायाधीश अनिल अंतिल ने गोपाल अंसल, सुशील अंसल के अलावा अदालत के पूर्व कर्मचारी दिनेश चंद शर्मा और दो अन्य लोगों पीपी बत्रा और अनूप सिंह की मजिस्ट्रेट के फैसले के खिलाफ दायर अपील के निपटारे तक सजा निलंबित करने संबंधी अपील खारिज कर दी।

अदालत ने अपने फैसले में कहा कि दोषियों ने अदालत की फाइल से दस्तावेज गायब व छेड़छाड कर न्यायपालिका से खिलवाड़ किया है। उन्होंने पैसे के बल पर अदालत के स्टाफ दिनेश चंद शर्मा को अपने साथ मिलाकर पीड़ितों को न्याय पाने से दूर करने का प्रयास किया। यह गंभीर मामला है। ऐसे में किसी भी प्रकार की राहत पाने के हकदार नहीं है।
 
मजिस्ट्रेट अदालत ने अंसल बंधुओं, अदालत के पूर्व कर्मचारी दिनेश चंद शर्मा और दो अन्य लोगों पीपी बत्रा और अनूप सिंह को सात-सात साल कैद की सजा सुनाते हुए उन पर तीन-तीन लाख रुपये का जुर्माना भी लगाया था।
अदालत ने अंसल पर 2.25 करोड़ रुपये का जुर्माना भी लगाया था। इन सभी ने स्वयं को निर्दोष बताते हुए अपील की है। अदालत ने मामले में उपहार अग्निकांड पीड़ित एसोसिएशन व पुलिस के उस तर्क को स्वीकार कर लिया कि मामले में अदालती फाइल से मुख्य दस्तावेजों से छेड़छाड करना गंभीर मामला है। यह न्यायिक सिस्टम पर हमला है।
 
अदालत ने सरकारी वकील एटी अंसारी के उस तर्क को भी स्वीकार कर लिया कि पूरा मामला न्यायिक सिस्टम पर आम लोगों के विश्वास व पिछले 24 वर्ष से इंसाफ के लिए लड़ाई लड़ रहे उपहार हादसे से पीड़ितों के विश्वास का है। इन लोगों ने 24 वर्ष न्यायिक सिस्टम पर विश्वास किया और सजा के मात्र 15 दिनों बाद सजा निलंबन से उनका विश्वास टूट जाएगा।

उन्होंने कहा था निचली अदालत के फैसले से स्पष्ट है कि अंसल व अन्य ने एक षडयंत्र रच कर अदालती स्टाफ दिनेश चंद शर्मा से मिलकर मूल दस्तावेजों से छेड़छाड़ की और दस्तावेज गायब कर दिए। उन्होंने कहा दोषियों ने न्यायिक सिस्टम से खिलवाड़ किया है और उनको उसकी सजा मिली है। सजा निलंबन से आम लोगों का विश्वास न्यायिक सिस्टम से कम होगा।

उन्होंने कहा कि अंसल बंधुओं ने पैसे के बल पर सिस्टम से खिलवाड़ किया है और उनको कड़ी सजा मिलनी ही चाहिए थी। उनकी अपील के निपटारे तक सजा का निलंबन को कोई आधार नहीं है। 

न्यायपालिका पर पुन: विश्वास कायम- नीलम कृष्णमूर्ति
उपहार पीड़ित एसोसिएशन की अध्यक्ष नीलम कृष्ण मूर्ति ने फैसले पर खुशी जताई है। उन्होंने कहा कि वर्ष 2015 में जिस प्रकार अदालत ने अंसल व अन्य पर जुर्माना लगा कर छोड़ दिया था उसने उनका न्यायपालिका से विश्वास उठ गया था लेकिन आज के निर्णय के बाद उनका न्यायपालिका पर विश्वास पुन: कायम हुआ है। उन्होंने कहा आज के फैसले से उनको कड़ा संदेश मिलेगा कि पैसे के बल पर वे साक्ष्यों से छेडछाड़ कर न्याय से खिलवाड़ नहीं कर सकते। इससे आम लोगों का भी न्यायपालिका पर विश्वास बढ़ेगा। आज का फैसला मेरे व मेरे बच्चों के लिए राहत भरा है।

दोषियों के तर्क
सुशील अंसल, गोपाल अंसल, पीपी बत्रा व अदालत के बर्खास्त कर्मचारी दिनेश चंद शर्मा के वकीलों ने निचली अदालत द्वारा उनके मुवक्किलों को सात वर्ष की सुनाई सजा को गलत बताते हुए अपील के निपटारे तक सजा को निलंबित करने का आग्रह किया। उन्होंने कहा कि उनके मुवक्किलों का मामले से लेनादेना नहीं है और बिना आधार के ही अदालत ने उनके मुवक्किलों को दोषी मानते हुए सजा सुनाई है।
... और पढ़ें

गुरुग्राम: सेक्टर-37 में मुस्लिम समुदाय के लोगों ने अदा की नमाज, हिंदू संगठनों ने जताई आपत्ति

गुरुग्राम के सेक्टर-37 में खुले में नमाज पढ़ने का मामला शुक्रवार को एक बार फिर गरमा गया है। हिंदू संगठनों के विरोध के बाद भी सेक्टर-37 में मुस्लिम समुदाय के लोगों ने नमाज अदा की। एक तरफ जहां मुस्लिम समुदाय के लोग नमाज अदा कर रहे थे, वहीं दूसरी तरफ हिंदू संगठन से जुड़े लोग वहां नारेबाजी कर विरोध प्रदर्शन कर रहे थे।  

वहीं कुछ दिन पहले जिस जगह पर नमाज पढ़ी जानी थी, वहां हिंदू संगठन के लोगों ने हवन किया था। लोगों का कहना था कि हवन का आयोजन मुंबई में हुए आतंकी हमले में शहीद लोगों की याद में किया गया। यह हवन वह हर बार करते हैं, इस बार खाड़सा गांव में किया जा रहा है। दूसरी ओर हवन करता देख नमाज पढ़ने आये लोग वापस लौट गए। बाद में हाजी शहजाद के साथ 25 लोगों ने वहां पर नमाज पढ़ी। जब वह नमाज पढ़ रहे थे कुछ लोगों ने जय श्री राम के नारे लगाए। 

धर्म के नाम पर सड़कें जाम नहीं करने देंगे : कपिल मिश्रा
इससे पहले दिल्ली से भाजपा नेता कपिल मिश्रा ने कहा था कि धर्म के नाम पर सड़कें जाम नहीं होनी चाहिए, चाहे वह किसी भी धर्म का आयोजन हो। उन्होंने कहा कि शाहीनबाग में सड़कों पर जो हुआ वो सबने देखा। उन्होंने मुस्लिम समाज को सलाह देते हुए कहा वक्फ बोर्ड की जगह पर नमाज करिए, कोई नहीं रोकेगा। गुरुग्राम में नमाज के विरोध ने पूरे देश में एक ट्रेंड बनाया है, पूरा देश इससे पीड़ित है। 
... और पढ़ें

दिल्ली: सीएम केजरीवाल ने सुरक्षा व्यवस्था पर की प्रेस कॉन्फ्रेंस, कहा- शहर के चप्पे-चप्पे पर लगेंगे कैमरे

दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने शुक्रवार को राजधानी की सुरक्षा व्यवस्था पर एक महत्वपूर्ण प्रेस कॉन्फ्रेंस कर सीसीटीवी योजना के दूसरे चरण की जानकारी दी। उन्होंने बताया कि हमारी सरकार बनने के सात सालों में पूरी दिल्ली में दो लाख 75 हजार सीसीटीवी कैमरे लग चुके हैं।

मुख्यमंत्री ने बताया कि यह कैमरे सड़कों से हर पब्लिक प्लेस में लगे हैं। पूरी दुनिया में सीसीटीवी कैमरे लगने के मामले में दिल्ली नंबर वन शहर बन गया है। एक शहर में प्रति स्क्वायर मील में कितने कैमरे लगे हैं इस मामले में दिल्ली पहले स्थान पर है। एक संस्था ने सर्वेक्षण कराया था जिसमें दिल्ली में प्रति स्क्वायर मील में 1826 कैमरे लगे हैं। नंबर दो पर लंदन है जहां 1138 कैमरे लगे हैं। इसका मतलब ये है कि हम लंदन, न्यूयॉर्क, सिंगापुर और पेरिस इन सबसे आगे हैं।

केजरीवाल बोले कि, हमारे देश में दूसरे नंबर चेन्नई आता है, दिल्ली में वहां से तीन गुना ज्यादा और मुंबई से 11 गुना ज्यादा कैमरे लगे हैं। जबसे ये कैमरे लगे हैं महिलाओं की सुरक्षा में इजाफा हुआ है वह सुरक्षित महसूस करने लगी हैं। पुलिस को भी अब अपराध सुलझाने में भी बहुत मदद मिली है।

दिल्ली में 1 लाख 40 हजार कैमरे और लगेंगे
केजरीवाल ने कहा कि आज मैं आपके लिए एक और खुशखबरी लेकर आया हूं कि हम दिल्ली में एक लाख 40 हजार सीसीटीवी कैमरे और लगाने जा रहे हैं। दो लाख 75 हजार पहले ही लग चुके हैं और एक लाख 40 हजार और कैमरे लगने से दिल्ली के चप्पे चप्पे पर कैमरे लग जाएंगे।

चार मेगा पिक्सल के होंगे कैमरे
केजरीवाल ने सीसीटीवी के लिए एलजी हाउस में जो धरना करना पड़ा उसका भी जिक्र किया। उन्होंने कहा अगर सही नियत से काम करो तो जरूर पूरा होता है। उन्होंने कहा कि हम कैमरे भारत हेवी इलेक्ट्रिकल्स लिमिटेड द्वारा बनाए गए लगा रहे हैं। यह बहुत बेहतरीन कैमरे हैं। किसी भी कारण से अगर कैमरा काम नहीं कर रहा तो उसका अलार्म कमांड सेंटर को चला जाएगा।

ये कैमरे चार मेगा पिक्सल के हैं और रात में भी काम करता है। इनका पासवर्ड तीन-चार लोगों के पास होगा जो दुनिया के किसी भी कोने से इसकी मॉनिटरिंग कर सकेंगे। इन कैमरों में 30 दिन का डाटा सुरक्षित रहेगा। सीएम ने कहा, हमारे लिए दिल्ली के नागरिकों, बच्चों और महिलाओं की सुरक्षा बेहद महत्वपूर्ण है। CCTV योजना के दूसरे चरण के तहत अब पूरी दिल्ली में 1 लाख 40 हज़ार कैमरे और लगा रहे हैं।
... और पढ़ें

दिल्ली: बिना टीकाकरण के सार्वजनिक स्थानों पर नहीं कर सकेंगे प्रवेश, जानें कब से लागू होगा नियम

अरविंद केजरीवाल
राजधानी में कोरोना के नए वैरिएंट ओमिक्रॉन की आहट से दिल्ली सतर्क है। इसको लेकर दिल्ली सरकार ने सावर्जनकि स्थानों पर प्रवेश के लिए कम से कम वैक्सीन की एक डोज को अनिवार्य कर सकती है।    

अधिकारियों ने गुरुवार को बताया कि दिल्ली सरकार ने सार्वजनिक स्थानों पर प्रवेश के लिए 15 दिसंबर तक डीडीएमए को एंटी-कोविड वैक्सीन की पहली खुराक अनिवार्य करने का प्रस्ताव दे सकती है। लोगों को नकद पुरस्कार, छूट और लॉटरी के साथ प्रोत्साहित करने के लिए प्रोत्साहन कर सकती है। 

अधिकारियों ने कहा कि यह भी प्रस्तावित किया जा सकता है कि अगले साल 31 मार्च तक पूरी तरह से टीका लगवाने को मॉल और मेट्रो स्टेशनों जैसे सार्वजनिक स्थानों पर प्रवेश के लिए अनिवार्य कर दिया जाय।



अधिकारियों के मुताबिक, सार्वजनिक स्थानों पर उन्हीं लोगों को प्रवेश की अनुमति मिलेगी, जो कम से कम वैक्सीन की एक डोज ले चुके हैं। इसके लिए दिल्ली सरकार 'नो वैक्सीन नो एंट्री' का प्रस्ताव डीडीएमए को प्रस्ताव दे सकती है।

अधिकारियों का कहना है कि अगले साल 31 मार्च तक शॉपिंग मॉल और मेट्रो स्टेशन सहित सार्वजनिक स्थानों पर टीकाकरण किया जाएगा। यूरोपीय देशों के उदाहरण देते हुए कहा कि वैक्सीन परिवहन प्रणाली को अपनाया जा रहा है ताकि दिल्ली की सभी व्यस्क आबादी टीकाकरण पूरा कर सके। अधिकारियों ने यह भी कहा कि अमेरिका, फिलीपींस, मॉस्को और मैक्सिको जैसे देशों ने टीकाकरण को प्रोत्साहन दिया है।
 
इससे पहले मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने बीते मंगलवार को कहा था कि दिल्ली के 97 फीसदी लोगों को वैक्सीन की पहली खुराक मिल गई है और 57 फीसदी पूरी तरह से टीका लग चुके हैं। सरकार इन आंकड़ों को बेहतर मान रही है और साथ ही दूसरी खुराक का टीकाकरण पूरा करने के लिए प्रयास जारी रखने के लिए कार्य भी कर रही है।  
... और पढ़ें

ओमिक्रॉन को लेकर डॉक्टर बोले: अगले दो हफ्ते काफी अहम, निजी लॉकडाउन के तौर पर लें, जागरूकता के अभाव में बढ़ते हैं मामले

राजधानी दिल्ली में कोरोना के नये वैरिएंट की आहट से लोगों में दहशत का माहौल है। इस बीच गंगाराम अस्पताल के डॉक्टर डॉ धीरेन ने कहा कि लोगों में जागरूकता की कमी के कारण बिना लक्षण वाले मामले तेजी से फैलते हैं। टीकाकरण से हम सभी को फायदा होगा। 



उन्होंने कहा कि अगले दो हफ्ते काफी अहम होने वाले हैं, इस अवधि को निजी लॉकडाउन के तौर पर लें। दक्षिण अफ्रीका में ओमिक्रॉन से युवा प्रभावित हुए हैं। डॉ. धीरेन ने कहा कि जिन बच्चों का टीकाकरण नहीं हो रहा है, वे शायद कोविड-19 से लड़ने की सबसे कमजोर कड़ी हो सकते हैं। हमने बच्चों के टीकाकरण में देरी की है। उन्हें टीकाकरण से वंचित करने वाली हमारी नीतियां हम पर उल्टा असर कर सकती हैं। हमें उन्हें स्कूल भेजने से पहले सोचने की जरूरत है। 

उन्होंने कहा कि भारत में ओमिक्रॉन वायरस का पता लगने की उम्मीद थी। भारत में लोगों को शांत और संयमित रहने की जरूरत है, साथ ही हमें सतर्क भी रहना चाहिए। हमारी प्रारंभिक रिपोर्ट के साथ, हम कह सकते हैं कि यह अन्य प्रकारों की तुलना में एक हल्का वायरस है। 
... और पढ़ें

प्रदूषण: आनंद विहार में एक्यूआई 'गंभीर' श्रेणी में, आईजीआई एयरपोर्ट पर हवा की गुणवत्ता 'बहुत खराब'

दिल्ली और राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र (एनसीआर) में वायु प्रदूषण थमने का नाम नहीं ले रहा है। बीच में दो-तीन दिन सुधार के बाद दिल्ली-एनसीआर में वायु गुणवत्ता सूचकांक फिर डरावने स्तर पर पहुंच गया है। दिल्ली के आनंद विहार आईएसबीटी पर गुरुवार सुबह नौ बजे वायु गुणवत्ता सूचकांक (एक्यूआई) 'गंभीर' श्रेणी में 448 दर्ज किया गया। इस दौरान राष्ट्रीय राजधानी में धुंध छाई रही। सड़कों पर वाहनों की रफ्तार धीमी रही।

एक्यूआईसीएन (वर्ल्ड एयर क्वालिटी इंडेक्स प्रोजेक्ट) के अनुसार, बवाना में 'गंभीर' श्रेणी में 425, चांदनी चौक पर 410, इंदिरा गांधी अंतर्राष्ट्रीय हवाईअड्डे पर 'बहुत खराब' श्रेणी में 343 दर्ज किया गया है। एनसीआर के अन्य क्षेत्रों में नोएडा के सेक्टर-2 पर एक्यूआई 'गंभीर' श्रेणी में 479 दर्ज किया गया।

इसके अलावा सेक्टर एक में 'बहुत खराब' श्रेणी में 378 और सेक्टर-125 में 373 एक्यूआई दर्ज किया गया। गाजियाबाद के इंदिरापुर में एक्यूआई 339 और लोनी में 'बहुत खराब' श्रेणी में 412 दर्ज किया गया।

हरियाणा में गुरुग्राम के विकास सदन में एक्यूआई 'बहुत खराब' श्रेणी में 360 और सेक्टर-51 में 337 दर्ज किया गया। फरीदाबाद के न्यू इंडस्ट्रियल टाउन में एक्यूआई 'गंभीर' श्रेणी में 437, सेक्टर-11 में  497 और सेक्टर-30 में 430 एक्यूआई दर्ज किया गया।
... और पढ़ें

दिल्ली: संवेदनशील देशों से आए चार यात्री कोरोना संक्रमित, एलएनजेपी अस्पताल में भर्ती, अभी कोई लक्षण नहीं

संवेदनशील देशों से आए आठ लोगों को बुधवार को दिल्ली के लोक नायक अस्पताल (एलएनजेपी) अस्पताल में भर्ती कराया गया है। इनमें से चार लोग कोरोना संक्रमित पाए गए हैं। इन लोगों के सैंपल जीनोम सीक्वेंसिंग के लिए भेजे गए थे।

दिल्ली के स्वास्थ्य मंत्री सत्येंद्र जैन ने एएनआई को बताया कि कोरोना के ओमिक्रॉन वेरिएंट के खतरे को देखते हुए विदेश से आ रहे हर यात्री का आरटी-पीसीआर टेस्ट अनिवार्य है। कोरोना संक्रमित चार यात्रियों को एलएनजेपी अस्पताल में भर्ती कराया गया है और चार मरीजों का परीक्षण किया जा रहा है। उनके सैंपल जीनोम सीक्वेंसिंग के लिए भेज दिए गए हैं।

एलएनजेपी हॉस्पिटल के स्वास्थ्य निदेशक डॉ. सुरेश कुमार द्वारा दी गई जानकारी के अनुसार, छह लोग संवेदनशील देशों की यात्रा करके आए हैं, जिनमें से एक मरीज बेल्जियम से, एक इंग्लैंड से, और चार मरीज अफ्रीकी देशों से आए हैं। चार मरीज कोरोना संक्रमित पाए गए हैं, जबकि शेष दो संदिग्ध हैं।
... और पढ़ें

मौसम: दिल्ली-यूपी और पंजाब सहित कई राज्यों में बारिश की संभावना, हिमाचल में हुई बर्फबारी

देश के कई राज्यों में बारिश होने की संभावना है। दिल्ली, उत्तर प्रदेश, राजस्थान, पंजाब, हरियाणा, राजस्थान और मध्य प्रदेश में बारिश हो सकती है। हिमाचल प्रदेश में ताजा बर्फबारी होने से ठंड बढ़ गई है। जम्मू-कश्मीर और उत्तराखंड में भी बर्फबारी होने की संभावना है। यह जानकारी मौसम विज्ञान विभाग (आईएमडी) ने दी है। राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली और एनसीआर के अन्य क्षेत्रों में बुधवार से बादल छाए हुए हैं। 



कश्मीर घाटी के अधिकांश इलाकों में पारा माइनस में चल रहा है। प्रदेश के इलाकों में इस सर्दी का पहला हिमपात इस महीने की चार तारीख की शाम से छह तारीख तक होने की संभावना है। कश्मीर के मैदानी इलाकों में हल्की बर्फबारी होने की संभावना है। जबकि ऊंचे इलाकों में भारी बर्फबारी हो सकती है।
... और पढ़ें

दिल्ली: भाजपा का आरोप- आप सरकार डीडीएमए में ताकत का दुरुपयोग कर हिंदुओं, सिखों के उत्सवों में बाधा डाल रही

दिल्ली भाजपा अध्यक्ष आदेश गुप्ता ने दिल्ली सरकार से गुरु तेग बहादुर के शहादत दिवस पर नगर कीर्तन निकालने की अनुमति देने की मांग की है। उन्होंने कहा कि प्रदेश की आम आदमी पार्टी सरकार डीडीएमए में अपनी ताकत का दुरुपयोग कर हिंदू एवं सिख धर्म से जुड़े उत्सवों में बाधा डाल रही है। सरकार ने जिस तरह ईद मनाने की अनुमति दी थी वैसे ही अन्य धर्मों का त्योहार मनाने के लिए छूट दे।

आदेश गुप्ता ने कहा कि गुरु नानक देव की जयंती पर नगर कीर्तन पर रोक लगाई थी। अब आठ दिसंबर को प्रस्तावित गुरु तेग बहादुर साहब की शहादत दिवस के नगर कीर्तन पर रोक लगा दी है।

उधर, प्रदेश भाजपा अध्यक्ष ने आबकारी नीति के खिलाफ भूख हड़ताल पर बैठे एक समाज सेवी का अनशन तुड़वाया। नारायणा ए ब्लॉक में नई शराब नीति के विरोध में पिछले नौ दिनों से मनोज राजपूत अनशन पर थे। आदेश गुप्ता ने कहा कि भाजपा एक भी नया ठेका नहीं खुलने देगी। आबकारी नीति के खिलाफ 25 सदस्यी एक संघर्ष समिति बनाई गई है। उन सदस्यों की अगुवाई में भाजपा का हर कार्यकर्ता इस नई आबकारी नीति का विरोध करेगा।
... और पढ़ें

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00