विज्ञापन
विज्ञापन
गंभीर से गंभीर परेशानी होगी दूर,ललिता देवी शक्तिपीठ-नैमिषारण्य पर कराएं ललिता सहस्रनाम पाठ, मात्र रु:51/- में,अभी बुक करें
Myjyotish

गंभीर से गंभीर परेशानी होगी दूर,ललिता देवी शक्तिपीठ-नैमिषारण्य पर कराएं ललिता सहस्रनाम पाठ, मात्र रु:51/- में,अभी बुक करें

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

From nearby cities

दिल्लीः ऑनलाइन क्लास न कर पाने वाले बच्चों के लिए कांस्टेबल बने सहारा, मंदिर में ले रहे क्लास

दिल्ली पुलिस का एक कांस्टेबल कोरोना काल में जरूरतमंद बच्चों के लिए मदद का बड़ा हाथ बनकर सामने आया है। कांस्टेबल ने कोरोनाकाल के दौरान गरीब और जरूरतमंद...

20 अक्टूबर 2020

Digital Edition

दिल्ली: महिला एसआई चीनी मांझे की चपेट में आकर बुरी तरह जख्मी, माथे और नाक के पास लगा गहरा कट

लाख प्रयासों के बाद राजधानी में चीनी मांझे पर प्रतिबंध नहीं लग पा रहा है। अक्सर कोई न कोई इसकी चपेट में आकर घायल हो ही जाता है। मध्य दिल्ली के दरियागंज इलाके में ऐसे ही एक मामले में दिल्ली पुलिस की महिला एसआई बुरी तरह जख्मी गई। 

हादसे में उनके माथे और नाक पर गहरा कट लग गया। पीड़िता सरोजनी (48) खुद ही ऑटो में बैठकर एलएनजेपी अस्पताल पहुंची, जहां उनका इलाज हुआ। सरोजनी के कई टांके लगे हैं। मामले की सूचना मिलते ही दरियागंज थाना पुलिस अस्पताल पहुंच गई। बाद में उनका बयान लेकर अज्ञात शख्स के खिलाफ मामला दर्ज कर लिया गया है। पुलिस मामले की जांच कर रही है।

मध्य जिला के वरिष्ठ पुलिस अधिकारी ने बताया कि सरोजनी दिल्ली पुलिस में एसआई तैनात हैं। फिलहाल उनकी तैनाती दिल्ली ट्रैफिक पुलिस के दरियागंज ट्रैफिक सर्किल में है। वह परिवार के साथ रोहिणी में रहती हैं। 

मंगलवार को सरोजनी की दोपहर 3.00 बजे से रात 11.00 बजे की बीच ड्यूटी थी। दोपहर करीब 2.45 बजे वह स्कूटी से अपनी ड्यूटी पर आ रही थीं। जैसे ही वह राजघाट से अंबेडकर स्टेडियम की ओर बढ़ी, उसी दौरान बस टर्मिलन के गेट के पास अचानक उनके हेलमेट पर चीनी मांझा उलझ गया। 
... और पढ़ें

मौसम बदला: सुबह-शाम होने लगी ठंड, अगले दो दिन दिल्ली में बारिश की संभावना, आज बिगड़ेगी हवा

दिल्ली-एनसीआर के मौसम में इन दिनों बदलाव जारी है। तापमान में अंतर के साथ अब सुबह और शाम के समय हल्की सर्दी दस्तक महसूस हो रही है। इस कड़ी में हवा में हल्का सर्द अहसास बना हुआ है। मौसम विभाग का पूर्वानुमान है कि शुक्रवार को पराली का धुआं और स्थानीय स्तर पर उड़ने वाली धूल के कारण हवा में पीएम 2.0 व पीएम 10 के स्तर में इजाफा होगा।

मौसम विभाग के मुताबिक, बृहस्पतिवार को अधिकतम तापामान सामान्य के बराबर 32.4 डिग्री सेल्सियस व न्यूनतम तापमान सामान्य से दो कम 16 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया। हवा में नमी का स्तर 31 से 92 फीसदी रहा। दिनभर हल्की धूप खिली रही और मौसम सुहाना रहा। हालांकि, सुबह और शाम के समय हल्की सर्द हवाएं महसूस की गई। 



विभाग का पूर्वानुमान है कि अगले 24 घंटे में अधिकतम तापमान 31 व न्यूनतम तापमान 17 डिग्री सेल्सियस तक दर्ज किया जा सकता है। आगामी 23 व 24 अक्तूबर को दिल्ली में हल्की बारिश की संभावना बनी हुई है। इसके बाद मौसम फिर करवट लेगा और सर्दी बढ़ेगी। सप्ताह के अंत तक अधिकतम तापमान 29 व न्यूनतम तापमान 16 डिग्री सेल्सियस तक दर्ज किया जा सकता है। 

मामूली राहत के बाद अगले दो दिनों में फिर बिगड़ेगी हवा की सेहत
दिल्ली-एनसीआर की वायु गुणवत्ता में इन दिनों उतार-चढ़ाव बना हुआ है। एक दिन पहले खराब श्रेणी में दर्ज हुई दिल्ली की हवा में 22 अंकों की गिरावट हुई है और हवा औसत श्रेणी में दर्ज हुई है। बृहस्पतिवार को एक्यूआई का आंकड़ा 199 दर्ज किया गया, जबकि बुधवार को औसतन वायु गुणवत्ता सूचकांक 221 रिकॉर्ड हुआ था। सफर का पूर्वानुमान है कि अगले दो दिनों में पराली का धुआं और स्थानीय स्तर पर उड़ने वाली धूल के कारण हवा में पीएम 2.5 व पीएम 10 के स्तर में इजाफा होगा। इससे दिल्ली का दम और घुंटेगा व हवा खराब श्रेणी में दर्ज होगी।

बीते दो दिनों से दिल्ली में बारिश न होने से हवा में नमी का स्तर कम हो गया है। यही वजह है कि जहां स्थानीय स्तर पर धूल के कण पीएम 10 हवा में घुल रहे हैं। वहीं, पराली जलने की भी घटनाएं लगातार दर्ज की जा रही हैं। बीते 24 घंटे में पड़ोसी राज्यों में 1234 पराली जलने की घटनाएं दर्ज की गई हैं। इससे निकलने वाले पीएम 2.5 तत्व की प्रदूषण में 15 फीसदी दर्ज की गई है। साथ ही हवा की दिशा का साथ देने की वजह से पराली का धुआं दिल्ली की हवा को प्रदूषित कर रहा है। सफर के मुताबिक, उत्तर-पश्चिम दिशा से आने वाली धूल भरी हवाओं के कारण दिल्ली में पीएम 10 का स्तर भी बढ़ रहा है। आने वाले दो दिनों में दिल्ली की हवा खराब श्रेणी में बनी रहेगी।

केंद्रीय प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड (सीपीसीबी) के मुताबिक, बृहस्पतिवार को औसतन वायु गुणवत्ता सूचकांक 199 रहा। फरीदाबाद का 203, गाजियाबाद का 262, ग्रेटर नोएडा 220, गुरुग्राम 215 व नोएडा का 209 एक्यूआई रहा। सोमवार को अधिक बारिश होने की वजह से इस साल पहली बार दिल्ली का औसत वायु गुणवत्ता सूचकांक 46 दर्ज किया गया था, जोकि साफ श्रेणी में माना जाता है।
... और पढ़ें

दिल्ली: डॉक्टरों ने 25 वर्षीय मरीज की छाती से निकाला दुनिया का सबसे बड़ा ट्यूमर, 13 किलो से अधिक है वजन

यह सुनकर शायद थोड़ी हैरानी हो कि एक मरीज की छाती में फुटबॉल से भी बड़ा ट्यूमर हो सकता है। दिल्ली के फोर्टिस अस्पताल ने ऐसे ही एक मरीज की छाती से ऑपरेशन के जरिए यह ट्यूमर बाहर निकाला है और जब पैमाने से इसकी जांच की गई तो पता चला कि यह 13 किलोग्राम से भी ज्यादा वजन का है और दुनिया में अब तक कभी भी इतना बड़ा ट्यूमर मरीज के शरीर से नहीं निकाला गया।

गुरुवार को प्रेस कॉन्फ्रेंस में डॉक्टरों ने बताया कि एक 25 वर्षीय मरीज की छाती से उन्होंने 13.85 किलोग्राम वजन का ट्यूमर निकाला है। यह छाती में 90 फीसदी से अधिक जगह पर था, जिसके चलते फेफड़ों की क्षमता भी घट चुकी थी। उसके दोनों फेफड़े केवल 10 फीसदी ही काम कर रहे थे।

डॉ. उद्गेथ धीर ने बताया कि ऑपरेशन के बाद जब उन्होंने चिकित्सीय क्षेत्र में मौजूद प्रकाशनों पर अध्ययन किया तो उन्हें दुनिया में ऐसा एक भी केस नहीं मिला है। इससे पहले छाती में सबसे बड़े आकार का ट्यूमर गुजरात में एक मरीज के सीने से निकाला गया था जिसका वजन 9.5 किलोग्राम था।

सांस की तकलीफ से जूझ रहा था मरीज
उन्होंने बताया कि मरीज देवेश शर्मा को बेहद गंभीर हालत में अस्पताल लाया गया तो वह सांस नहीं ले पा रहे थे और उनके सीने में बेहद बेचैनी थी। पिछले 2-3 महीनों से तो वह सांस की तकलीफ के चलते बिस्तर पर सीधे लेटकर सो भी नहीं सकते थे। जांच के बाद पता चला कि उनके सीने में एक बड़े आकार का ट्यूमर था जो छाती में करीब 90 फीसदी जगह घेरे हुए था और इसने न सिर्फ हृदय को ढक रखा था, बल्कि दोनों फेफड़ों को भी अपनी जगह से हिला दिया था और इसके चलते फेफड़े सिर्फ 10 प्रतिशत क्षमता से ही काम कर रहे थे।

ऑपरेशन में मिली सफलता
उन्होंने कहा कि इस केस को लेकर सबसे बड़ी दिक्कत यह थी कि मरीज दुर्लभ परेशानी के साथ साथ दुर्लभ ब्लड ग्रुप एबी नेगेटिव का था। इसके अलावा ऐसे मामलों में एनेस्थीसिया देना काफी मुश्किल होता है। एनेस्थीसिया देते समय, ट्यूमर के वजन से हृदय पर दबाव बढ़ता है जिसके चलते रक्त प्रवाह अवरुद्ध हो सकता है और ब्लड प्रेशर काफी गिर जाता है। इन सभी चुनौतियों को साथ में लेते हुए पूरी रणनीति के तहत ऑपरेशन किया गया और उसमें सफलता भी हासिल हुई।

मरीज की हालत में सुधार
करीब चार घंटे तक चले ऑपरेशन के दौरान सभी जोखिम का पूरा ध्यान रखा गया और फिर मरीज को आईसीयू में शिफ्ट कर दिया। कुछ दिन बाद स्थिति में सुधार आना भी शुरू हो गया था। अब मरीज की हालत में सुधार हो रहा है और उन्हें मामूली तौर पर ऑक्सीजन सपोर्ट की आवश्यकता है।
... और पढ़ें

दिल्ली मेट्रो: आज सवेरे यलो लाइन पर बाधित रहेंगी सेवाएं, यात्री फीडर बस का कर सकते हैं इस्तेमाल

दिल्ली मेट्रो से सफर करने वालों के लिए डीएमआरसी ने आवश्यक सूचना जारी की है। दिल्ली मेट्रो रेल कॉर्पोरेशन ने बताया कि रविवार को कुछ घंटे के लिए येलो लाइन पर सेवाएं बाधित रहेंगी। येलो लाइन पर विश्वविद्यालय और मॉडल टाउन स्टेशनों के बीच रविवार सुबह 7:30 बजे से कुछ घंटों के लिए मेट्रो नहीं चलेगी। 

रखरखाव के कार्यों के कारण येलो लाइन पर सेवाएं बाधित रहेंगी, लेकिन अन्य लाइनों पर मेट्रो सेवाएं सामान्य दिनों की तरह ही जारी रहेंगी। इसके साथ ही डीएमआरसी ने यह भी जानकारी दी कि यात्रियों को परेशानी से बचाने के लिए इस दौरान दिल्ली मेट्रो की फीडर बस सेवाएं मुफ्त में उपलब्ध रहेंगी। यात्री अपने मेट्रो की फीडर बस सेवाओं का इस्तेमाल कर सकते हैं। इसके लिए उन्हें टिकट नहीं लेना पड़ेगा।
... और पढ़ें
दिल्ली मेट्रो दिल्ली मेट्रो

दिल्ली: ईएसआई के डॉक्टर व फार्मासिस्ट ने हेराफेरी कर बेच दी करोड़ों की दवाई, अपराध शाखा ने पांच को किया गिरफ्तार

दिल्ली पुलिस की अपराध शाखा ने ईएसआई डिस्पेंसरी में दी जाने वाली करोड़ों रुपये की दवाएं फर्जीवाड़े से बेचने के आरोप में एमबीबीएस डॉक्टर, दो फार्मासिस्ट समेत कुल पांच आरोपियों को गिरफ्तार किया है। 

पकड़े गए आरोपियों की पहचान मास्टर माइंड एमबीबीएस डॉक्टर ग्रेटर नोएडा निवासी डॉ. अविनाश सैनी (41), ग्रीन फील्ड कालोनी, फरीदाबाद निवासी फार्मासिस्ट चंद्र प्रकाश (33), फार्मासिस्ट अंकित मिश्रा (23) व दो दवाओं के दो खरीदार प्रवीन मंगला (40) और सुमेश राठी (52) के रूप में हुई है। आरोपी डॉक्टर अविनाश सैनी, चंद्र प्रकाश के कहने पर मरीजों को बिना जरूरत के कीमती दवाएं लिख देते थे। बाद में इन दवाओं को मरीजों को न देकर उनको डिस्पेंसरी के स्टॉक से निकालकर बेच दिया जाता था। 

बाजार में बेच रही थी ईएसआई की दवाई
सभी आरोपी वर्ष 2018 से दवाएं चोरी कर रहे हैं। आशंका व्यक्त की जा रही है कि आरोपी पिछले तीन सालों के दौरान करोड़ों की दवाएं बेच चुके हैं। अपराध शाखा के पुलिस उपायुक्त राजेश देव ने बताया कि उनकी टीम को सूचना मिली कि कुछ लोग सरकारी ईएसआई की डिस्पेंसरी की दवाएं चोरी करके उनको मार्केट में बेच रहे हैं। इसमें डिस्पेंसरी के डॉक्टर व फार्मासिस्ट भी शामिल हैं। सूचना के बाद इंस्पेक्टर नरेश सोलंकी व एसआई कृष्ण कुमार ने आरोपियों की जानकारी जुटाना शुरू कर दी। 

सभी दवाइयों पर ईएसआई की लगी थी मोहर
सूचना के बाद पुलिस की टीम ने बदरपुर इलाके से दवाएं बेचते हुए रंगे हाथों चंद्र प्रकाश व प्रवीन मंगला को गिरफ्तार कर लिया। इनके पास से ईएसआई डिस्पेंसरी में इस्मेमाल की जाने वाली लाखों की दवाईयां मिलीं। सभी दवाईयों पर ईएसआई की मोहर लगी थी। पूछताछ के दौरान आरोपी दवाइयों के बारे में कोई संतोषजनक उत्तर नहीं दे पाए। पुलिस ने दवाइयों को कब्जे में लेकर उनकी स्टाक रिकॉर्ड से जांच की। सभी दवाइयां ईएसआई कार्ड धारकों को जारी की हुई दिखाई गई थीं। कुछ मामलों में कार्ड धारक डिस्पेंसरी आए ही नहीं थे, लेकिन उनके नाम पर दवाई जारी थीं।
... और पढ़ें

Kisan Andolan: 26 अक्तूबर को नहीं होगी किसान महापंचायत, अब 22 नवंबर को हुई प्रस्तावित

हापुड़: रकम दोगुनी करने का लालच देकर दो हजार लोगों से की 500 करोड़ की ठगी, डायरेक्टर सहित पांच गिरफ्तार

18 महीने में ही पैसा दोगुना करने का झांसा देकर करीब दो हजार लोगों से करीब 500 करोड़ रुपये की ठगी का मामला सामने आया है। पुलिस ने ठगी करने वाली निफ्टैक ग्लोबल कंपनी के डायरेक्टर सहित पांच आरोपियों को गिरफ्तार कर शुक्रवार को मामले का खुलासा किया। गिरफ्तार आरोपियों में दो महिलाएं भी शामिल हैं। इनके पास से फॉरच्यूर्नर गाड़ी, दो लैपटॉप, छह मोबाइल फोन, 78520 रुपये की नकदी, पासबुक और चेकबुक बरामद की गई है। गिरफ्तार करने वाली टीम को एसपी ने 25 हजार रुपये  के इनाम की घोषणा की है।

एसपी दीपक भूकर ने बताया आरोपियों की गिरफ्तारी के लिए बहादुरगढ़ थाना पुलिस, सर्विलांस टीम के साथ साथ तीन टीमों को लगाया गया था। गढ़-स्याना रोड के गांव बहद के पास से अशोक और धर्मपाल, धर्मपाल की पत्नी सुषमा, अशोक की पत्नी सुनीता निवासी गांव चांदनेर थाना बहादुरगढ़ और अशोक निवासी भड़काउ थाना नरसैना जिला बुलंदशहर को गिरफ्तार किया गया। तीनों पुरुष आरोपियों पर 50-50 हजार और दोनों महिलाओं पर 25-25 हजार रुपये का इनाम था।

आरोपियों ने वर्ष 2008 में आरोपियों ने निफ्टैक ग्लोबल कंपनी की शुरुआत की थी। 18 महीनों में पैसा दोगुना करने का लोगों को लालच देते थे। पहला कार्यालय बहादुरगढ़ थाना क्षेत्र के डेहरा कुटी और गढ़मुक्तेश्वर में खोला गया। इसके बाद हापुड़, बुलंदशहर, गाजियाबाद और दिल्ली में कार्यालय खोला गया। हापुड़ के करीब 18 सौ से दो हजार लोगों ने इस कंपनी में अपना पैसा लगाया। जो 500 करोड़ रुपये से अधिक है। शुरुआत में कुछ लोगों को रकम वापस भी की गई, इसके बाद झांसा देने लगे। लोगों का दबाव बढ़ा तो कार्यालय बंद कर फरार हो गए। आरोपियों पर लोगों ने विभिन्न थानों में 96 मुकदमे दर्ज कराए हैं। 
... और पढ़ें

गाजियाबाद: न्यूड वीडियो कॉल कर करोड़ों ठगने वाले गिरोह का पर्दाफाश, चार महिलाओं समेत पांच गिरफ्तार

पकड़े गए आरोपी
सोशल मीडिया साइट्स पर अगर आपके पास अनजान लड़कियों की फ्रेंड रिक्वेस्ट आए और पोर्न चैट या न्यूड वीडियो कॉल का ऑफर मिले तो सतर्क हो जाएं। आप हनी ट्रैप के शिकार भी हो सकते हैं। गाजियाबाद पुलिस ने शुक्रवार को ऐसे ही गैंग का भंडाफोड़ करते हुए चार महिलाओं समेत पांच लोगों को गिरफ्तार किया है।

ये महिलाएं फोन पर पहले अश्लील बात कर लोगों को फंसाती थीं, फिर उनके न्यूड वीडियो बनाकर उन्हें ब्लैकमेल करते हुए उनसे रुपये वसूलती थीं। लोग भी शर्म की वजह से किसी से इस बारे में नहीं बता पाते थे। इसी बात का फायदा इस गिरोह के लोग उठाते थे।

नंदग्राम थाना प्रभारी अमित कुमार और साइबर सेल प्रभारी सुमित कुमार की टीम ने यह गैंग पकड़ा है। पकड़े गए आरोपी योगेश गौतम निवासी मरियम नगर नंदग्राम, उसकी पत्नी सपना सहित निकिता निवासी सिहानी गेट, निधि निवासी कोतवाली और प्रिया निवासी प्रेमनगर कोतवाली गाजियाबाद हैं। इनके कब्जे से कई वस्तुएं बरामद हुई हैं। पुलिस आरोपियों से पूछताछ में जुट गई है। आरोपी धीरे-धीरे अपने शिकारों के बारे में जानकारी दे रहे हैं।

गैंग बनाकर दो साल में 500 लोगों से 20 करोड़ ठगे
युवक और युवती में दिल्ली यूनिवर्सिटी (डीयू) में पढ़ाई के दौरान प्यार हुआ और फिर शादी कर हनीट्रैप गैंग बना लिया। तीन साल में 500 लोगों को ब्लैकमेल कर करीब 20 करोड़ रुपये ठगने वाले इस गैंग का खुलासा करते हुए साइबर सेल ने दंपती समेत पांच लोगों को गिरफ्तार किया है। एसपी सिटी निपुण अग्रवाल ने बताया कि नंदग्राम के मरियम नगर घूकना निवासी योगेश गौतम और उसकी पत्नी सपना राजनगर एक्सटेंशन की ऑफिसर सिटी सोसायटी में किराए के फ्लैट में ठगी का धंधा चला रहे थे।

 एसपी सिटी ने बताया कि गैग संचालक दंपती के अलावा सिहानी गेट के जटवाड़ा सिहानी गेट निवासी निकिता, नगर कोतवाली के जस्सीपुरा निवासी निधि और प्रेमनगर निवासी प्रिया को गिरफ्तार किया गया है। यह तीनों युवतियां लोगों को अश्लील वीडियो कॉल करती थीं। स्क्रीन रिकॉर्डर एप से वीडियो कॉल रिकॉर्ड करके उसे वायरल करने की धमकी देकर ब्लैकमेल करती थीं। आरोपी पति-पत्नी तीनों लड़कियों को नौकरी पर रखकर हनीट्रैप गैंग चला रहे थे। इसकी एवज में उन्हें हर महीने 25-25 हजार रुपये सैलरी दी जाती थी।
... और पढ़ें

गाजीपुर बॉर्डर: राकेश टिकैत ने बंद रास्ते के लिए ठहराया अब मोदी सरकार को जिम्मेदार, जानिए क्या है पूरा मामला

यूपी गेट पर 11 महीनों से लगा किसानों का तंबू आखिरकार गुरुवार को हटा लिया गया। एनएच-9 की सर्विस लेन पर 27 नवंबर 2020 को लगाए गए इस तंबू को किसानों ने खुद हटा लिया। उन्होंने यह कदम रास्ता रोके जाने की सुप्रीम कोर्ट की टिप्पणी के बाद उठाया है। गुरुवार को राकेश टिकैत ने जहां रास्ता बंद होने के लिए पुलिस को दोष दिया था वहीं शुक्रवार को उन्होंने रास्ता बंद होने के लिए केंद्र सरकार को जिम्मेदार ठहराया है।

पेंट से लिखा स्लोगन
राकेश टिकैत ने इसके पीछे दलील दी है कि रास्ते में रुकावट उनके तंबू से नहीं बल्कि दिल्ली पुलिस के बैरियर से आई। तंबू हटाने का मकसद इसी सच को उजागर करना है। पुलिस की तरफ से पहले की तरह बैरीकेडिंग शुक्रवार को भी लगी रही। किसान नेता राकेश टिकैत ने शुक्रवार को बैरीकेडिंग में पेंट से स्लोगन लिख दिया है कि यह रास्ता मोदी सरकार ने बंद किया है।

सुप्रीम कोर्ट की टिप्पणी के बाद एनएच-9 की सर्विस लेन को किया खाली
भाकियू के राष्ट्रीय प्रवक्ता राकेश टिकैत के नेतृत्व में किसानों ने तंबू हटाने का काम किया। इस दौरान किसान बताते रहे कि तंबू के बराबर से ही एंबुलेंस और अन्य आवश्यक सेवाओं के लिए जगह दी गई थी। इसके बराबर में दिल्ली पुलिस ने बैरियर लगा रखे हैं। इन बैरियर से ही सर्विस लेन ब्लॉक हो गई। अगर दिल्ली पुलिस बैरियर हटा ले तो कोई बाधा ही न रहे। दिल्ली के रास्ते में एक्सप्रेस वे पर भी पुलिस ने बैरियर लगाकर रास्ता रोक रखा है।

आंदोलन जारी... सड़क किनारे बैठे रहेंगे किसान
तंबू हटाने के बाद किसानों ने साफ किया कि आंदोलन पर इसका कोई असर नहीं पड़ेगा। जैसे पहले किसान सड़क किनारे बैठकर विरोध जता रहे थे, वैसे ही अब भी बैठे हैं। किसानों ने कहा कि आंदोलन का मकसद कृषि कानूनों की वापसी कराना है। इसके पूरा होने तक आंदोलन जारी रहेगा।राकेश टिकैट ने कहा कि आंदोलन में आगे की रणनीति बनाई जा रही है। संयुक्त किसान मोर्चा तय करेगा कि किसानों का कहां जाना है और क्या करना है।

लगाएंगे पोस्टर, भारत सरकार ने रोका रास्ता
राकेश टिकैत ने कहा कि तंबू हटाने के बाद अगला कदम पुलिस के बैरियरों पर पोस्टर लगाना होगा। इन पर लिखा होगा कि रास्ता भारत सरकार ने रोका है। दिल्ली जाने वाले एक्सप्रेस वे और एनएच-9 पर किसानों की ओर से रास्ते पहले से खुले हुए हैं।

गाजीपुर बार्डर खाली करने की फैलाई जा रही अफवाह
भाकियू के मीडिया प्रभारी धर्मेंद्र मलिक ने बयान जारी करते हुए कहा कि कुछ समय से यह अफवाह फैलाई जा रही है कि गाजीपुर बार्डर खाली किया जा रहा है। यह निराधार है।किसान सड़क किनारे बैठे हैं। मांगे पूरी होने तक आंदोलन जारी रहेगा। किसान कहीं नहीं जा रहे हैं।
... और पढ़ें

सीएए विरोधी प्रदर्शन: साकेत कोर्ट ने रद्द की जेएनयू छात्र शरजील इमाम की जमानत याचिका

सीएए-एनआरसी के विरोध में हुए प्रदर्शनों के दौरान भड़काऊ भाषण देने के आरोप में जेल में बंद जेएनयू छात्र शरजील इमाम की जमानत याचिका को अदालत ने खारिज कर दिया। शुक्रवार को शरजील की जमानत याचिका की सुनवाई करते हुए दिल्ली की साकेत अदालत ने उनकी जमानत याचिका रद्द कर दी।

पिछली सुनवाई में शरजील ने कहा था- वह कोई आतंकी नहीं हैं
देशद्रोह और अवैध गतिविधि रोकथाम अधिनियम (यूएपीए) के तहत आरोपी जेएनयू छात्र शरजील इमाम ने कहा कि वह कोई आतंकी नहीं है और उसके खिलाफ मुकदमा स्थापित कानून के अनुरूप नहीं बल्कि किसी सम्राट के चाबुक की तरह है। यह तर्क शरजील ने मामले में जमानत देने और आरोपमुक्त किए जाने की मांग करते हुए रखा।

दिल्ली पुलिस ने शरजील इमाम को सीएए-एनआरसी के विरोध के दौरान कथित भड़काऊ भाषण देने के आरोप में जनवरी 2020 में गिरफ्तार किया था। उसके खिलाफ आरोपपत्र दाखिल हो चुका है। आरोप है कि उसने 2019 में अपने भाषणों में कथित रूप से असम और पूर्वोत्तर के अन्य हिस्सों को देश से अलग करने की धमकी दी थी।

ये कथित भाषण उसने जामिया में 13 दिसंबर 2019 और अलीगढ़ मुस्लिम विश्वविद्यालय में 16 दिसंबर 2019 को दिए थे। वह जनवरी 2020 से न्यायिक हिरासत में है।
... और पढ़ें

दिल्ली: मनीष सिसोदिया ने 100 करोड़ टीकाकरण की उपलब्धि पर उठाए सवाल, बोले- छह महीना पहले मिल जाती सफलता, अगर...

भारत में कोरोना टीकाकरण का आंकड़ा 100 करोड़ के पार पहुंचने पर केंद्र सरकार इसे बड़ी उपलब्धि बताकर जश्न मना रही है। वहीं, दिल्ली के उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने जश्न मनाए जाने पर सवाल उठाया है। उन्होंने कहा कि मोदी सरकार वाहवाही लूटने के लालच में न पड़ी होती तो छह महीना पहले ये सफलता मिल जाती। 

मनीष सिसोदिया ने ट्वीट कर कहा कि 100 करोड़ वैक्सीन लगने पर जश्न मनाते हुए हमें यह भी याद रखना चाहिए कि अगर केंद्र सरकार समय रहते वैक्सीन के इंतजाम में लग गई होती और विदेशों में वैक्सीन भेजकर वाहवाही लूटने के लालच में न पड़ी होती तो हमारी मेडिकल टीमें छह महीने पहले ही 100 करोड़ का लक्ष्य हासिल कर चुकी होतीं। 



सीएम केजरीवाल ने दी बधाई
हालांकि, इससे पहले गुरुवार को टीकाकरण का आंकड़ा 100 करोड़ के पार पहुंचने पर मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने सभी देशवासियों, डॉक्टरों, नर्सों और फ्रंटलाइन वर्कर्स को बधाई देते हुए इसकी तारीफ की थी। सीएम केजरीवाल ने ट्वीट कर कहा कि 100 करोड़ टीके लगने पर सभी देशवासियों को बधाई। जिन डॉक्टरों, नर्स और फ्रंटलाइन वर्कर्स की वजह से यह संभव हुआ, उन्हें सलाम। हम सभी देशवासियों ने मिलकर इस बीमारी का सामना किया। हम सब मिलकर इसे हमेशा के लिए हराएंगे।

वैक्सीन पर सवाल उठाने वालों को जवाब
प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि इस तरह के सवाल थे कि भारत के लोगों को वैक्सीन मिलेगी भी या नहीं? क्या भारत इतने लोगों को टीका लगा पाएगा, जिससे महामारी को फैलने से रोक सके। भांति-भांति के सवाल थे, लेकिन आज ये सौ करोड़ वैक्सीन डोज हर सवाल का जवाब दे रहे हैं। भारत ने अपने नागरिकों को सौ करोड़ वैक्सीन डोज मुफ्त लगाई है।

वैक्सीन हेजिटेंसी हमारे लिए चुनौती नहीं
प्रधानमंत्री ने कहा कि हमारे देश के लिए यह भी कहा जा रहा था कि यहां ज्यादातर लोग टीका लगवाने के लिए आएंगे ही नहीं। दुनिया के कई देशों में वैक्सीन हेजिटेंसी एक चुनौती है, लेकिन भारत के लोगों ने 100 करोड़ वैक्सीन डोज लेकर यह सवाल उठाने वालों को निरुत्तर कर दिया है। किसी अभियान में जब सबका प्रयास जुड़ जाता है तो परिणाम अद्भुत ही होते हैं।
... और पढ़ें

खौफनाक: पत्नी के चरित्र पर शक ने नीरज को बना दिया हैवान, ताबड़तोड़ गोलियां दाग कर दिया ट्रिपल मर्डर

हरियाणा के फरीदाबाद के धौज थाना क्षेत्र में गुरुवार अल सुबह एक युवक ने अपने साथी के साथ मिलकर अपनी पत्नी, सास, साले व उसके दोस्त को गोली मार दी। घटना में पत्नी,सास व साले का दोस्त ने तोड़ दिया, जबकि साले को घायल अवस्था में अस्पताल में भर्ती कराया गया है। क्राइम ब्रांच डीएलएफ ने दोनों आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया है। पुलिस ने हत्या में इस्तेमाल दो तमंचे, चाकू और मोटरसाइकिल बरामद कर लिए हैं। आरोपी नीरज को अपनी पत्नी आयशा के के चरित्र पर शक था। इसके आलावा उसका अपने साले गगन से 10 लाख रुपये का लेनदेन भी था। पुलिस ने गगन की शिकायत पर धौज थाने में हत्या, हत्या का प्रयास व आर्म्स एक्ट तहत मामला दर्ज कर लिया है। मूलरूप से पानीपत के समालखा निवासी गगन ने पुलिस को बताया कि बहन आयशा शादी करीब चौदह साल पहले एनआइटी-एक निवासी निवासी नीरज चावला के साथ की थी। ... और पढ़ें

ग्रेटर नोएडा: ट्रांसपोर्टर की बेटी की हत्या और लूट का आरोपी पुलिस मुठभेड़ में घायल

ग्रेटर नोएडा के सूरजपुर कोतवाली क्षेत्र की पैरामाउंट गोल्फ विला सोसायटी में बुधवार को ट्रांसपोर्टर की बेटी की हत्या और आभूषण लूटकर फरार हुए आरोपी को शुक्रवार सुबह पुलिस मुठभेड़ में गोली लगी है। पुलिस ने आरोपी को गुरुवार देर रात गिरफ्तार कर लिया था।

पुलिस आरोपी की निशानदेही पर हत्या में प्रयोग किया गया धारदार हथियार बरामद करने 130 मीटर रोड पर गई तो आरोपी दरोगा हरिराम की पिस्टल छीन फायरिंग करते हुए भागने लगा। पुलिस का कहना है कि जवाबी फायरिंग में आरोपी पैर में गोली लगने से घायल हो गया और उसे गिरफ्तार कर लिया गया।

नोएडा के छलेरा गांव निवासी कालू सिंह चौहान ट्रांसपोर्टर हैं। छलेरा गांव के पास ही उनका ट्रांसपोर्ट का काम है। वह परिवार के साथ लगभग एक साल से सूरजपुर कोतवाली क्षेत्र स्थित पैरामाउंट गोल्फ विला सोसायटी में रह रहे थे।

वारदात के वक्त घर में अकेली थी पिंकी
बुधवार को कालू सिंह और उनकी पत्नी शॉपिंग के लिए गई थी। कालू चौहान का 26 वर्षीय बेटा भी ट्रांसपोर्ट के काम से घर से बाहर गया था। इस दौरान उनकी बेटी पिंकी चौहान (28) घर पर अकेली थी। दिल्ली के अलीपुर गांव पल्ला निवासी अर्जुन उर्फ चमन उनके घर पहुंचा।

आरोपी यहां दो घंटे तक रुका और पिंकी की धारदार हथियार से गला रेतकर व शरीर पर कई वार कर हत्या कर दी। आरोपी घर में रखे आभूषण आदि लूटकर फरार हो गया। पुलिस ने शुक्रवार सुबह ही दिल्ली स्थित आरोपी के घर से लूटे गए आभूषण और घटना में प्रयोग की गई स्कूटी बरामद कर ली थी।

पुलिस ने आरोपी को गुरुवार रात गिरफ्तार कर पूछताछ की। आरोपी ने बताया कि वह पिंकी से विवाह करना चाहता था लेकिन उसके परिजन विवाह के लिए दूसरा लड़का देख रहे थे। इसी से नाराज होकर उसने पिंकी की हत्या कर दी।
... और पढ़ें
  • Downloads

Follow Us

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00