विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
सर्वपितृ अमावस्या को गया में अर्पित करें अपने समस्त पितरों को तर्पण, होंगे सभी पूर्वज प्रसन्न, 28 सितम्बर
Astrology Services

सर्वपितृ अमावस्या को गया में अर्पित करें अपने समस्त पितरों को तर्पण, होंगे सभी पूर्वज प्रसन्न, 28 सितम्बर

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

अयोध्या प्रकरणः कल्याण सिंह बतौर आरोपी 27 को अदालत में तलब, विशेष न्यायाधीश ने दिया आदेश

अयोध्या प्रकरण के विशेष न्यायाधीश सुरेंद्र कुमार यादव ने पूर्व मुख्यमंत्री व राजस्थान के पूर्व राज्यपाल कल्याण सिंह को बतौर आरोपी तलब किया है।

22 सितंबर 2019

विज्ञापन
विज्ञापन

सिद्धार्थनगर

रविवार, 22 सितंबर 2019

बर्खास्तगी के एक साल बाद भी नहीं हुई वेतन की रिकवरी

बर्खास्तगी के एक साल बाद भी नहीं हुई वेतन की रिकवरी
38 बर्खास्त शिक्षकों का है मामला : 22 बर्खास्त शिक्षक उठा चुके हैं एक करोड़ से अधिक वेतन
नीरज मिश्र
सिद्धार्थनगर। 38 शिक्षकों की बर्खास्तगी के एक साल बाद भी वेतन ले चुके करीब 22 शिक्षकों से रिकवरी नहीं की जा सकी है। ये शिक्षक एक करोड़ से अधिक वेतन ले चुके हैं। सूत्रों के मुताबिक जांच कर रही पुलिस टीम को वेतन संबंधी पूर्ण विवरण न दिए जाने से पुलिस भी धन की रिकवरी नहीं करा पा रही है।
जुलाई 2016 में प्रदेश सरकार की ओर से 16448 सहायक अध्यापकों की भर्ती प्रक्रिया शुरू हुई थी। इसमें से जिले में 600 पदों पर नियुक्ति होनी थी। जांच में इस भर्ती प्रक्रिया के 38 शिक्षकों की डिग्री फर्जी मिली। इस पर सभी को एक साल पूर्व बर्खास्त कर दिया गया था। इसमें से 26 की गिरफ्तारी हुई तो यह पता चला कि इनमें से करीब 22 ऐसे शिक्षक थे, जो करीब एक करोड़ रुपये वेतन ले चुके हैं। वहीं बीएसए राम सिंह ने बताया कि रिकवरी के लिए वित्त एवं लेखाधिकारी को निर्देशित किया गया है। जिन शिक्षकों ने वेतन उठाया है। उनका पूरा ब्योरा भी मांगा गया है। वहीं विभाग के वित्त एवं लेखाधिकारी फिलहाल एक माह से अवकाश पर हैं।
एसटीएफ भी नहीं उगलवा पाई राज
विभागीय जानकारों की माने तो पहले सत्यापन का काम लिपिकों के जिम्मे था। उन्हें यह पता होता था कि किसका सत्यापन करना है और किसका नहीं। इसी आधार पर अधिकारियों की मिलीभगत से फर्जी शिक्षकों का सत्यापन कर उन्हें वेतन दिया जाता रहा। इस मामले में एसटीएफ ने लिपिक धर्मेंद्र कुमार और फर्जी शिक्षक प्रकरण से जुड़े राकेश सिंह को गिरफ्तार भी किया। बावजूद इसके दोनों से न तो एसटीएफ ने यह राज उगलवा पाई और न ही विभाग। ऐसे में यह अंदाजा लगाया जा सकता है कि इनकी पहुंच कितनी ऊपर तक है।
किसी भी बीएसए की भी नहीं हुई जांच
शिक्षकों की बर्खास्तगी के बाद राकेश सिंह और धर्मेंद्र की गिरफ्तारी हुई, तो पूछताछ में कुछ बेसिक शिक्षा अधिकारियों के नाम भी दोनों ने बताए बावजूद इसके किसी भी बीएसए पर कार्रवाई नहीं हुई। हालांकि सहायक अध्यापकों की भर्ती प्रक्रिया के दौरान जिले में विनोद राय, अरविंद कुमार पाठक, अजय सिंह और मनीराम सिंह बतौर बीएसए तैनात रहे। सूत्र बताते हैं कि बिना अधिकारियों की मिलीभगत से इतना बड़ा खेल संभव ही नहीं है।
... और पढ़ें

सहायक लेखाकार ही करता था बिजली निगम की ‘डीलिंग’

सहायक लेखाकार ही करता था बिजली निगम की ‘डीलिंग’
एंटी करप्शन की गिरफ्तारी के बाद खुलने लगी पोल
भीमापार में किराए के मकान में रहकर करता था यह धंधा
अमर उजाला ब्यूरो
सिद्धार्थनगर। सहायक लेखाकार अवनीश कुमार सिंह ही जिले में बिजली निगम की डीलिंग करता था। कोई भी काम हो, उसके लिए आसान खेल था। विजलेंस की टीम पकड़ी हो या फिर बड़ा जुर्माना लगाया हो, निगम की ओर से लगाए गए जुर्माने हों, सबकी डीलिंग उसके हाथों में थी। गिरफ्तारी के बाद यह पोल खुलने लगे। सूत्र बताते हैं कि भीमापार के एक किराए के मकान में उसकी सारी डीलिंग होती थी।
ठेकेदार से घूस लेने के आरोप में गिरफ्तार सहायक लेखाकार अवनीश कुमार सिंह बेहद कम समय में ही अधिकारियों का चहेता बन गया था। कम समय की नौकरी में उसने आलीशान घर, लग्जरी गाड़ियां अपने और परिजनों के नाम करा लिया था। इस काम में उसके साथ निगम का एक और कर्मी भी जुड़ा हुआ है, जो उसके कामों में सहयोग करता है। सूत्रों की माने तो शहर और कस्बों की डीलिंग अवनीश कुमार सिंह के हाथों में थी। जबकि ग्रामीण क्षेत्रों के लिए उसने एक प्राइवेट कर्मी को अपने साथ रखे हुए था। भीमापार में वह जिस किराए के मकान में रहता था। वहां भी उसने लग्जरी व्यवस्था कर रखी थी। यही वजह है कि वह सभी डीलिंग उसी किराए के मकान से करता था। सूत्रों की माने तो विजलेंस की टीम जब बड़े व्यापारियों के घर छापेमारी करती थी, तो जुर्माने की राशि के अनुसार उसकी डीलिंग अविनाश करता था। इसकी वजह से एक तरफ निगम को तो चूना लगता ही था। दूसरी ओर उसकी जेबें भरती थीं।
सूत्र तो यह भी बताते हैं कि इस काम में निगम के बड़े लोग भी शामिल हैं। क्योंकि अकेले वह इस काम को अंजाम नहीं दे सकता है। ऐसे में अगर मामले की तह तक एंटी करप्शन जाएगी, तो कइयों के गर्दन फंसेंगे। यही वजह है कि बुधवार को उसकी गिरफ्तारी के बाद निगम में कई तरह की चर्चा जोरों पर थी।
... और पढ़ें

देश के 20 सर्वश्रेष्ट गांवों में हसुड़ी औसानपुर को मिली जगह

हसुड़ी औसानपुर दोबारा देश की टॉप 20 ग्राम पंचायत में
लगातार दूसरी बार नानाजी देशमुख राष्ट्रीय गौरव ग्राम सभा पुरस्कार प्राप्त करने वाला देश का पहला गांव
हसुड़ी औसानपुर और सुगही ग्राम पंचायत को पं. दीन दयाल उपाध्याय पंचायती सशक्तिकरण पुरस्कार से भी नवाजा जाएगा
अमर उजाला ब्यूरो
सिद्धार्थनगर। जिले के भनवापुर ब्लॉक का हसुड़ी औसानपुर ग्राम पंचायत को दोबारा देश की सर्वश्रेष्ठ 20 पंचायतों की सूची में स्थान मिला है। इसके साथ ही यह देश की पहली ऐसी ग्राम पंचायत बन गई है जिसे लगातार दूसरी बार नानाजी देशमुख राष्ट्रीय गौरव ग्राम सभा और पंडित दीन दयाल उपाध्याय पंचायती सशक्तिकरण पुरस्कार मिलेगा। यह दोनों पुरस्कार जल्द ही ग्राम प्रधान दिलीप त्रिपाठी को दिल्ली में दिए जाएंगे। इसी के साथ जिले की ही सुगही ग्राम पंचायत को भी पं. दीन दयाल उपाध्याय पंचायती सशक्तिकरण पुरस्कार से भी नवाजा जाएगा। यहां के प्रधान मनोज दुबे हैं। यह जानकारी डीपीआरओ अनिल कुमार सिंह ने दी।
दरअसल, बेहतर कार्यों के लिए गांवों को प्रोत्साहित करने के लिए केंद्रीय पंचायती राज मंत्रालय बेहतर कार्य करने वाली ग्राम पंचायतोें को नानाजी देशमुख राष्ट्रीय गौरव ग्राम सभा के पुरस्कार स्वरूप दस लाख और पंडित दीन दयाल उपाध्याय पंचायती सशक्तिकरण सम्मान के रूप में आठ लाख रुपये प्रदान करती है। इस रकम को गांवों के विकास के लिए दी जाती है। यह पुरस्कार प्रतिवर्ष प्रदान किए जाते हैं।
इन कार्यों के लिए हसुड़ी औसानपुर को मिला सर्वश्रेष्ठ गांव का दर्जा
हसुड़ी औसानपुर गांव में मॉडल प्राथमिक विद्यालय, स्कूल में आरओ का पानी, टोंटी से घर-घर पानी की सप्लाई, बैंक, पिंक विलेज, वाई-फाई सुविधा, कूड़ा निस्तारण के लिए घर-घर डस्टबिन, नियमित सफाई, बेहतर सड़क, घर बैठे इंटरनेट की सुविधा, गांव में ही खसरा, खतौनी आदि मिलती है। इन्हीं कार्यों के लिए अभी हाल में ही ग्राम प्रधान दिलीप त्रिपाठी को मालदीव में भी सम्मानित भी किया गया है।
दिलीप त्रिपाठी ग्राम प्रधान हसुड़ी औसानपुर
दिलीप त्रिपाठी ग्राम प्रधान हसुड़ी औसानपुर - फोटो : SIDDHARTHNAGAR
... और पढ़ें

ढेबरुआ और कपिलवस्तु एसओ की शिकायत डीपीजी से करुंगा: विधायक

फोटो- 76
‘ढेबरुआ व कपिलवस्तु एसओ की शिकायत डीपीजी से करुंगा’
शोहरतगढ़ के विधायक चौधरी अमर सिंह ने कार्यप्रणाली पर उठाए सवाल
विधायक ने ग्राम हलौरा में निर्माण कार्यों का किया लोकार्पण
अमर उजाला ब्यूरो
शोहरतगढ़। विधायक चौधरी अमर सिंह ने शोहरतगढ़ विधानसभा क्षेत्र के विभिन्न कार्यों का लोकार्पण शनिवार को हुआ। इस मौके पर उन्होंने ढेबरुआ और कि कपिलवस्तु थानाध्यक्ष की कार्यप्रणाली पर सवाल खड़े करते हुए कहा कि अगर व्यवस्था में परिवर्तन नहीं होता है, तो इसकी शिकायत डीजीपी और प्रमुख सचिव से की जाएगी। साथ ही आगामी विधानसभा सत्र में इसे उठाया भी जाएगा।
वह विधानसभा क्षेत्र के ग्राम हलौरा में पूर्वांचल विकास निधि द्वारा 600 मीटर सड़क का लेपन का कार्य व ग्राम परसा में विधायक निधि द्वारा 600 मीटर खड़ंजा निर्माण कार्य समेत 600 मीटर खड़ंजा निर्माण कार्य, थाना ढेबरुआ प्रांगण में विधायक निधि द्वारा 150 मीटर इंटरलॉकिंग निर्माण कार्य का लोकार्पण कर रहे थे। कहा कि जिले में ढेबरुआ और कपिलवस्तु थाना अवैध वसूली का अड्डा बन चुका है। थाना प्रभारी रात में गश्त नहीं करते। ढेबरुआ थानाक्षेत्र में पिछले दिनों मिली लावारिस लाशों व रेड़वरिया समेत अन्य जगहों पर हुई चोरियों का खुलासा अब तक नहीं हो सका है। कहा कि सिसवा उर्फ शिवभारी में विधवा बुजुर्ग महिला द्वारा जमीन कब्जे के विरुद्ध दिए गए प्रार्थना पत्र पर अब तक कोई कार्रवाई नहीं की गई।
तुलसियापुर चौराहे पर पिछले दिनों दो पक्षों में हुए विवाद में एक पक्षीय कार्रवाई करना मौजूदा थाना प्रभारी की तानाशाही का प्रमाण है। कहा कि अगले महीने के पहले सप्ताह में शुरू हो रहे विधानसभा सत्र में ढेबरुआ व कपिलवस्तु थाने की निरंकुशता का मामला मैं विधानसभा में उठाऊंगा। कहा कि शीघ्र ही वह डीजीपी, प्रमुख सचिव गृह व जनपद के प्रभारी मंत्री माननीय स्वामी प्रसाद मौर्य से मिलकर मामले की शिकायत करुंगा। इस बीच उन्होंने एसपी से मोबाइल पर वार्ता कर दोनों थाना प्रभारियों की शिकायत करते हुए हटाने की मांग की।
शिवचंद्र भारती, राम दास मौर्य, विजय सिंह चौौधरी, नितिन मौर्य, धर्मेंद्र, जितेंद्र कुमार, राजू प्रजापति, दिलीप चौधरी, लालजी चौधरी, नानमुन, सुनील गौतम, चिनकू, चैतू विश्वकर्मा आदि मौजूद रहे। इस संबंध में एसपी डॉ.धर्मबीर सिंह ने बताया कि मामले की मौखिक शिकायत विधायक चौधरी अमर सिंह ने की है। जांच कराकर कार्रवाई की जाएगी।
... और पढ़ें
बढनी क्षेत्र के हलौरा में लोकार्पण करते विधायक चौधरी अमर सिंह बढनी क्षेत्र के हलौरा में लोकार्पण करते विधायक चौधरी अमर सिंह

पूर्व प्राचार्य को मिलेगा नरेश मेहता पुरस्कार

फोटो-72
पूर्व प्राचार्य को मिलेगा ‘धुंधलका’ के लिए नरेश मेहता पुरस्कार
उप्र हिंदी संस्थान ने पुरस्कार 2018 के लिए चुना
दीनानाथ शुक्ल का चौथा काव्य संग्रह है धुंधलका
अमर उजाला ब्यूरो
सिद्धार्थनगर। उत्तर प्रदेश हिंदी संस्थान के वर्ष 2018 के पुुरस्कार की कड़ी में मुख्यालय स्थित बुद्ध विद्यापीठ महाविद्यालय के पूर्व प्राचार्य पंडित दीननाथ शुक्ला अमिताभ को उनके चौथे काव्य संग्रह धुंधलका के लिए नरेश मेहता पुरस्कार से सम्मानित करने का निर्णय लिया गया है। पुरस्कार मुख्यमंत्री के हाथों लखनऊ में प्रदान किया जाएगा। तिथि अभी घोषित नहीं की गई है।
पैतृक ग्राम नगरा, पोस्ट, बढ़या, गोरखपुर जनपद निवासी व लंबे समय से नगर पालिका परिषद सिद्धार्थनगर के शिवाजीनगर वार्ड में रह रहे बुद्ध विद्यापीठ महाविद्यालय से 30 जून 2000 में प्राचार्य के पद से सेवानिवृत्त होने वाले 80 वर्षीय पंडित दीनानाथ शुक्ला अमिताभ ने वर्ष 2007 में पहला काव्य संग्रह ज्ञानोन्मुखी लिखा। यह पुस्तक अपने गुरु आचार्य गोविंद चंद्र पांडेय को समर्पित रहा। दूसरा काव्य संग्रह 2010 में अंतर्ध्वनि का प्रकाशन हुआ। तीसरा काव्य संग्रह वर्ष 2014 में दिव्यांगना लिखा। वर्ष 2018 में चौथे काव्य संग्रह धुंधलका का प्रकाशन हुआ। लेखन कार्य शुरू करने से अब तक चार काव्य संग्रह लिख चुके पंडित दीनानाथ शुक्ला ने कहा कि उत्तर प्रदेश हिंदी संस्थान लखनऊ की ओर से नरेश मेहता पुरस्कार के लिए चयन किया जाना निश्चय ही किसी अद्भुत रहस्य से कम नहीं है। ढलती उम्र में भी संस्थान द्वारा पुरस्कृत होना प्रोत्साहन परक है।
... और पढ़ें

- सीडीओ के निरीक्षण में मिली खामियां, बीडीओ पर जताई नाराजगी

फोटो- 59
निरीक्षण में मिलीं बीडीओ दफ्तर का सीसीटीवी बंद मिला
उसका ब्लॉक का मुख्य विकास अधिकारी ने जायजा लिया
अमर उजाला ब्यूरो
उसका बाजार। मुख्य विकास अधिकारी हर्षिता माथुर ने शनिवार को उसका विकास खंड कार्यालय का निरीक्षण किया। इस दौरान मिली खामियों के लिए बीडीओ राजकुमार वर्मा को कड़ी फटकार लगाई। अपने निरीक्षण में वह ग्राम पंचायत गंगाधरपुर के मनरेगा योजना के तहत चकबन्ध निर्माण से संबंधित फाइल टीएसी जांच के लिए अपने साथ ले गई। सीडीओ ने सबसे पहले बीडीओ ऑफिस का निरीक्षण किया। इस दौरान सीसीटीवी कैमरा बंद होने पर उसे फौरन चालू करने को कहा। कर्मचारियों की सेवा पंजिका, जीपीएफ पासबुक आदि की जानकारी ली। इसके बाद वे सभागार पहुंचीं जहां गंदगी, बेतरतीब कुर्सियों व सरकारी फाइलों के क्रमबद्ध न रहने पर बीडीओ के प्रति नाराजगी जाहिर की। साथ ही शादी अनुदान की फाइल रोकने पर कंप्यूटर ऑपरेटर राकेश पांडेय को खूब फटकारते हुए मानदेय रोकने का निर्देश दिया। सीडीओ ने राशन, लेखा, आउट गोइंग रजिस्टर, शौचालय, आवास आदि के अभिलेख की जांच की। इसके अलावा बहुद्देशीय भवन, दुग्ध शाला, मॉडल पीएम आवास का भी निरीक्षण किया है। दुग्धशाला में खड़ी कार पर कड़ी नाराजगी जताते हुए उसकी सफाई व मरम्मत करने को कहा है। कार्यालय पर सूचना बोर्ड पर सूचनाएं चस्पा न होने के बजाय दीवार चस्पा देखकर बीडीओ को अविलंब नोटिस बोर्ड लगाने को कहा है। मॉडल प्रधानमंत्री आवास के अपूर्ण रहने पर भी नाराजगी जताई। इस मौके पर डीसी एनआरएलएम राम आसरे सिंह, एडीओ पंचायत राजेन्द्र गुप्ता, विनोद कुमार, विजय पाल, श्रीश प्रताप यादव, शंभू यादव आदि रहे।
... और पढ़ें

स्वास्थ्य विभाग की समीक्षा में डीएम की फटकार

फोटो-77, 78
स्वास्थ्य विभाग की समीक्षा में डीएम ने जताई नाराजगी
जिला टास्क फोर्स की बैठक में गोल्डेन कार्ड बनवाने के निर्देश
अमर उजाला ब्यूरो
सिद्धार्थनगर। स्वास्थ्य विभाग की योजनाओं, कार्यक्रमों की समीक्षा एवं पल्स पोलियो अभियान के साथ ही नियमित टीकाकरण कार्यक्रम के संबंध में जिला टास्क फोर्स की बैठक हुई। जिलाधिकारी ने केंद्रवार समीक्षा की। लापरवाही मिलने पर संबंधित के खिलाफ कठोर कार्रवाई की चेतावनी दी।
कलेक्ट्रेट के सभागार में आयोजित बैठक में जिलाधिकारी दीपक मीणा ने समीक्षा के दौरान राष्ट्रीय मिशन के अंतर्गत चिकित्सकीय संसाधनों की स्थिति के बारे जानकारी प्राप्त की। निर्देश दिया कि गर्भवती महिलाओं व बच्चों का टीकाकरण समय-समय पर होना चाहिए। इसमें किसी भी प्रकार की लापरवाही नहीं होनी चाहिए। मुख्य चिकित्सा अधिकारी को निर्देश दिया गोल्डेन कार्ड लाभार्थियों का प्राथमिकता के आधार पर शत-प्रतिशत बनवाना सुनिश्चित करें व उनका क्लेम भी जनरेट करवाएं। बैठक में मुख्य विकास अधिकारी हर्षिता माथुर, मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉ. आरके मिश्र, उप मुख्य चिकित्साधिकारी डॉ. डीके चौधरी के अलावा समस्त एमओआईसी, बीसीपीएम, बीपीएम व स्वास्थ्य विभाग के अन्य कर्मचारी मौजूद रहे।
... और पढ़ें

तेजी से बढ़ रहा नदियों का जलस्तर

कलेक्ट्रेट सभागार में बैठक करते डीएम दीपक मीणा और सीडीओ हर्षिता माथुर
तेजी से बढ़ रहा नदियों का जलस्तर
बाढ़ की आशंका से सहमे लोग, नेपाल में बारिश का दिख रहा असर
अमर उजाला ब्यूरो
सिद्धार्थनगर। नेपाल में पहाड़ों पर हो रही बारिश से जिले की नदियों का जलस्तर तेजी बढ़ रहा है। इससे नदी के किनारे बसे गांवों के लोगों को बाढ़ का भय सता रहा है। वहीं बूढ़ी राप्ती नदी से सटे कई गांवों के पास कटान भी हो रहा है। इससे बाढ़ का खतरा और बढ़ गया है।
दरअसल, बानगंगा, बूढ़ी राप्ती, जमुआर नाले में सीधे नेपाल के रास्ते पानी आता है। इन नदियों और नालों में तेजी जल का स्तर बढ़ रहा है। बूढ़ी राप्ती के जलस्तर बढ़ने से ककरही के अलावा योगमाया, शेरपुर, सूपा, जोगिया, तनेजवा, गायघाट, फतेपुर, इटौवा, बैरवा, संगलदीप, छितरापार, तिघरा, चुरहरि, लक्षनपुर, खजूरडाड़ सहित अन्य गांव के किसान बाढ़ के खतरे से सहमे हुए हैं। छितरापार के सुभाष, लोकई, राम निहाल, संगलदीप के दीपक, राजू, शंकर का कहना है कि जितनी तेजी से जलस्तर बढ़ रहा है, इससे लगता है कि बाढ़ आ जाएगी। डुमरियागंज क्षेत्र में राप्ती नदी के बढृने से कई तटवर्तीय गांव के लोग डरे हुए हैं। डीएम दीपक मीणा ने बताया कि बाढ़ से बचाव के पूरे इंतजाम प्रशासन की ओर से किए गए है। जहां-जहां बाढ़ आने की संभावना ज्यादा है वहां पर प्रशासन की नजर है।
ड्रेनेज खंड के एक्सईएन आरके नेहरा ने बताया कि कूड़ा और बूढ़ी राप्ती का जलस्तर सर्वाधिक तेजी से बढ़ रहा है। बढ़ते जलस्तर पर निगाह रखी जा रही है।
---
इस प्रकार बढ़ा नदियों का जलस्तर
नदी शुक्रवार, गुरुवार खतरे का निशान (मीटर में)
बानगंगा 90.40 89.70 93.420
बूढ़ी राप्ती 83.690 83.440 85.650
राप्ती 83.410 83.240 84.900
जमुआर नाला 81.23 80.20 84.89
तेलार नाला 84.00 84.20 87.500
कूड़ा नदी 85.40 85.60 87.200
कूड़ा नदी उसका 80.720 80.500 83.520
घोंघी नदी 85.00 85.30 87.00
... और पढ़ें

बेकाबू बाइक चाय की दुकान में घुसी, सवार की मौत

गोल्हौरा। जिगिनिहवा गांव निवासी लालजी (25) पुत्र तौलू बाइक से शुक्रवार को बहादुरगंज चौराहे पर किसी काम से गया था। लौटते समय वह बांसी-इटवा मार्ग पर स्थित चाईजोत गांव पास पहुंचा था। बाइक की रफ्तार तेज होने के कारण अनियंत्रित होकर सड़क के किनारे राजू के चाय की दुकान में घुस गई और दुकान में रखे टूटे विद्युत पोल से टकराकर वह गंभीर रूप से घायल हो गया। वहीं दुकानदार का बकरा बाइक की चपेट में आकर मर गया। आसपास के लोगों ने घायलावस्था में लालजी को जिला अस्पताल पहुंचाया, जहां देखते ही डॉक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया। सूचना पर पहुंची पुलिस ने शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है। एसओ गोल्हौरा महेंद्र चौहान ने बताया कि मामले की जानकारी मिली है। युवक ने हेलमेट नहीं लगाया था। ... और पढ़ें

कल पांच घंटे ठप रहेगी विद्युत आपूर्ति

कल पांच घंटे ठप रहेगी विद्युत आपूर्ति
सिद्धार्थनगर। जनपद में निर्माणाधीन 132 केवी बांसी-डुमरियागंज लाइन के तार खींचने के कार्य दौरान 132 केवी नौगढ़-बांसी लाइन का शटडाउन 22 सितंबर को सुबह 8 बजे से दोपहर 1 बजे तक रहेगा। इसके बाद से डुमरियागंज, इटवा क्षेत्र की विद्युत आपूर्ति में बेहतर सुधार हो सकेगा। ऐसे में उक्त तिथि व समय में शटडाउन के दौरान 132 केवी उपकेंद्र नौगढ़ से निर्गत 33 केवी नौगढ़, शोहरतगढ़, बर्डपुर, विश्वविद्यालय, उसका बाजार आदि क्षेत्रों में विद्युुत आपूर्ति बाधित रहेगी। यह जानकारी अधिशासी अभियंता विद्युत प्रेषण खंड द्वितीय विवेक श्रीवास्तव ने जारी विज्ञप्ति के माध्यम से दी।
... और पढ़ें

बार चुनाव ः 24 सितंबर को नामांकन, 4 नवंबर को चुनाव

24 को नामांकन, चार नवंबर को मतगणना
सिविल सिद्धार्थ बार एसोसिएशन की चुनाव तिथि घोषित
अमर उजाला ब्यूरो
सिद्धार्थनगर। सिविल सिद्धार्थ बार एसोसिएशन की चुनाव तिथि की घोषणा शुक्रवार को कर दी गई।
प्रवर समिति के अध्यक्ष एसपी राही की अध्यक्षता में हुई बैठक यह निर्णय लिया गया है कि 24 से 27 सितंबर के बीच पर्चा दाखिल किया जाएगा। वापसी एवं जांच के लिए 28 सितंबर, मतदान तीन नवंबर को होगा। चार नवंबर को मतगणना के साथ साथ परिणाम की घोषणा की जाएगी। चुनाव के लिए कमेटी का गठन भी किया गया। इसमें राम शंकर सिंह उर्फ शेखर सिंह को अध्यक्ष, रमेश कुमार पांडेय को सह संचालक नियुक्त किए गए हैं। इसके अलावा सदस्य के रूप में नागेंद्र कुमार त्रिपाठी, शकूर मोहम्मद, द्विजेंद्र मणि त्रिपाठी के रूप में नियुक्त किए गए हैं। अधिवक्ता रमेश पांडेय ने बताया कि सिविल सिद्धार्थ बार एसोसिएशन का वर्तमान कार्यकाल चार नवंबर को समाप्त हो रहा है।
कार्य बहिष्कार कर किया विरोध
सिद्धार्थनगर। सिविल सिद्धार्थ बार एसोसिएशन के वरिष्ठ उपाध्यक्ष नरेंद्र कुमार भार्गव की अध्यक्षता में शुक्रवार को बैठक आयोजित हुई। इस बीच अधिवक्ताओं ने बंदोबस्त अधिकारी चकबंदी की कार्यशैली के विरोध में कार्य बहिष्कार किया गया। साथ ही मामले की जानकारी डीएम को दी गई। बताया गया कि बंदोबस्त अधिकारी चकबंदी अधिवक्ताओं के साथ दुर्व्यवहार करते हैं। ऐसे में उनके खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जाए। महामंत्री अंजनी कुुमार दुबे, कृपाशंकर त्रिपाठी, अंकित चौधरी, अजय कुमार पांडेय, दिव्य प्रकाश शुक्ल, संजय श्रीवास्तव, देवेंद्र नाथ त्रिपाठी, उमेश मिश्रा, प्रभाकर दुबे, चंद्र प्रकाश मौर्या आदि मौजूद रहे।
... और पढ़ें

महिला ने तीन बच्चियों को जन्म दिया

महिला ने तीन बच्चियों को जन्म दिया
अमर उजाला ब्यूरो
सिद्धार्थनगर। सदर विकास खंड के परसा महापात्र की एक महिला ने तीन बच्चों को जन्म दिया है। सभी बच्चे स्वस्थ हैं। प्रारंभिक इलाज संयुक्त जिला चिकित्सालय के एसएनसीयू वार्ड में चल रहा है। मुख्यालय से सटे परसा महापात्र निवासी राधेश्याम की पत्नी आशा प्रजापति ने शुक्रवार को प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र नौगढ़ में तीन बच्चों को एक साथ जन्म दिया। तीनों बालिका हैं। दोपहर में जन्म लेने के बाद समस्या उत्पन्न होने के बाद उन तीनों को संयुक्त जिला चिकित्सालय के एसएनसीयू वार्ड में भर्ती कराया गया जहां चिकित्सक की देखरेख में उपचार प्रारंभ किया गया। सभी बच्चियां स्वस्थ हैं। आशा प्रजापति को पहले भी एक पुत्री है।
... और पढ़ें

दो बाइकें भिड़ीं, एक की मौत, दो घायल

दो बाइकें भिड़ीं, एक की मौत, दो घायल
घायल का जिला अस्पताल में चल रहा है इलाज
गोल्हौरा थाना क्षेत्र के बरदहा चौराहे पर देर रात हुई घटना
अमर उजाला ब्यूरो
सिद्धार्थनगर/गोल्हौरा। गोल्हौरा थाना क्षेत्र के इटवा-बांसी मार्ग पर स्थित बरदहा चौराहे पर गुरुवार की देर शाम दो बाइक में भिड़ंत हो गई। हादसे में पशु पालन विभाग में संविदा पर तैनात चालक की मौत हो गई। जबकि दूसरे बाइक पर सवार दो लोग जख्मी हो गए। पुलिस ने शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है। वहीं, घायलों का इलाज चल रहा है।
थाना क्षेत्र के नथुआजोत गांव निवासी अरुण किशोर शुक्ल (38) पुत्र रामजीत शुक्ल पशु पालन विभाग में संविदा पर चालक के रूप में कार्यरत है। बताया जा रहा है कि गुरुवार को ड्यूटी के लिए इटवा गया था। देर शाम वह बाइक से अपने घर लौट रहा था। अभी इटवा-बांसी मार्ग पर स्थित बरदहा चौराहे के पास पहुंचा था कि बाइक से टक्कर हो गई। हादसे में अरुण की मौत हो गई। जबकि दूसरे बाइक पर सवार दो लोग घायल हो गए। आसपास के लोगों ने घायलों को नजदीक के अस्पताल में पहुंचाया। सूचना पर पहुंची पुलिस ने शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है। एसओ महेंद्र चौहान ने बताया कि शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया गया है। मामले की जांच चल रही है।
चार बच्चों के सिर से उठ गया पिता का साया
अरुण दो भाई थे। दूसरा अजय किशोर पिता के साथ दिल्ली में प्राइवेट कंपनी में काम करते थे। अरुण किशोर पशु पालन विभाग में चालक के रूप में कार्यरत थे। साथ ही घर पर रहकर खेती देखते थे। उनकी मौत से परिवार टूट चुका है। घटना की जानकारी मिलने के बाद से परिजनों को रो-रो कर बुरा हाल है। अरुण के पास चार बच्चे हैं। दो पुत्र और दो पुत्री हैं। राहुल (18), प्रियंका (16), शालू (12) और गौरव आठ वर्ष शामिल हैं। मौत के बाद बच्चों के सिर से पिता का साया छिन गया है। मौत की खबर मिलने के बाद से परिजनों का रो-रोकर बुरा हाल है।
... और पढ़ें
अपने शहर की सभी खबर पढ़ने के लिए amarujala.com पर जाएं

Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google, और सोशल मीडिया साइट्स, जैसे की Facebook, के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।

Agree