विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
सुखी वैवाहिक जीवन के लिए इस जन्माष्टमी मथुरा में कराएं राधा-कृष्ण युगल पूजा, 24 अगस्त को
Astrology Services

सुखी वैवाहिक जीवन के लिए इस जन्माष्टमी मथुरा में कराएं राधा-कृष्ण युगल पूजा, 24 अगस्त को

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

From nearby cities

यहां देखें, योगी के 56 सदस्यीय मंत्रिमंडल का जातीय गणित, किस जाति को कितना प्रतिनिधित्व

लगभग 28 महीने बाद योगी सरकार के पहले मंत्रिमंडल विस्तार के जरिये कहीं न कहीं जातीय समीकरणों को दुरुस्त करने के साथ उन्हें संदेश देकर साधे रखने की भी कोशिश की गई है।

22 अगस्त 2019

विज्ञापन
विज्ञापन

मुरादाबाद

गुरूवार, 22 अगस्त 2019

मनचाहा पति पाने के लिए थाने पहुंच रहीं युवतियां

मुरादाबाद। मनचाहा पति पाने के लिए युवतियां इन दिनाें महिला थाने के चक्कर काट रही हैं। एक, दो नहीं बल्कि तीन मामले सोमवार को ही महिला थाने में पहुंचे। जिनमें युवतियाें ने पुलिस से मांग कि है कि उनकी शादी उनके द्वारा चुने गए युवक से ही करवाई जाए। पुलिस ने उनको आश्वासन दिया है कि युवकों को बुलाकर थाने में उनसे बात की जाएगी, अगर वे शादी के लिए राजी हो जाएंगे तो शादी करवा दी जाएगी।
दरअसल, ये वो युवतियां हैं जिनको शादी का झांसा देकर उनके ही जानकार या फिर दोस्त ने दिया है। शादी का झांसा देने के बाद उनसे शारीरिक संबंध भी बनाए गए। लेकिन जब युवतियों ने शादी की जिद की तो युवक शादी से मुकर गए। जिसकी वजह से युवतियां परेशान हैं। उनका कहना है कि अगर वह शादी करेंगी तो इन्हीं युवकों से ही करेंगी। अगर ऐसा नहीं हुआ तो वह आरोपियों के खिलाफ केस दर्ज करवाएंगी। सीओ सिविल लाइन राजेश कुमार ने बताया कि शिकायत मिली है। दोनों पक्षों की काउंसलिंग की जाएगी।
शादी का झांसा देकर नंदोई ने तीन साल तक रखा साथ
मुरादाबाद। बिजनौर निवासी एक युवती का कहना है कि उसकी शादी मुरादाबाद में हुई थी। शादी के पांच साल बाद पति की मौत हो गई। दंपती के एक संतान थी। पति की मौत के कुछ दिनों बाद युवती की शादीशुदा ननद की भी मौत हो गई। उनकी भी एक संतान थी। नंदोई का घर पर आना जाना था। आरोप है कि नंदोई ने सलहज के सामने प्रस्ताव रखा कि दोनों अगर शादी कर लेंगे तो उनके बच्चों की परवरिश हो जाएगी। इसके बाद सलहज ने प्रस्ताव स्वीकार कर लिया। तीन साल दोनों बगैर शादी के साथ रहे, बाद में नंदोई ने सलहज से दूरी बना ली है। ... और पढ़ें

उत्तराखंड, दिल्ली में बाढ़, मुरादाबाद में सूखा

मुरादाबाद। कुदरत की लीला भी अनूठी है। मुरादाबाद के सीमावर्ती उत्तराखंड के इलाके अतिवृष्टि और बाढ़ से पीड़ित हैं। दिल्ली में बाढ़ का खतरा सिर पर है। लेकिन मौजूदा मानसून सीजन में बेहद कम बारिश होने की वजह से मुरादाबाद मंडल जबरदस्त सूखे की चपेट में है। सबसे कम बारिश गंगा के किनारे बसे अमरोहा जिले में हुई है। अब तक अमरोहा सामान्य से 60 फीसदी कम बारिश हुई है।
भारतीय मौसम विज्ञान विभाग के मुताबिक मुरादाबाद मंडल में इस मानसून सीजन में सामान्य की अपेक्षा काफी कम बारिश हुई है। अमरोहा जिले में सबसे कम बारिश दर्ज की गई है। सामान्यत: अमरोहा में 1 जून 19 से अब तक 533.6 मिलीमीटर बारिश होनी चाहिए थी लेकिन 211.1 मिली मीटर ही बारिश हुई है। इस तरह कुल कमी 60 फीसदी की है। लेकिन पहाड़ों में बारिश की वजह से अमरोहा के कई गांवों में बाढ़ का खतरा मंडरा रहा है। संभल में सामान्य तौर पर 425 मिली मीटर बारिश होनी चाहिए थी लेकिन अब तक 258.1 मिली लीटर ही बारिश हुई। बारिश की कुल कमी 39 फीसदी दर्ज की गई है। मुरादाबाद में इस सीजन में अब तक 380.7 मिली मीटर बारिश हुई है। सामान्य तौर पर 523.8 मिली लीटर होनी चाहिए। बारिश की कुल कमी 27 फीसदी दर्ज की गई है। मुरादाबाद मंडल में सबसे ज्यादा औसत बारिश बिजनौर में दर्ज की गई है। यहां पर सामान्य 611.2 मिली लीटर के सापेक्ष 598 मिली लीटर बारिश दर्ज की गई जो 2 फीसदी कम है। मंडल में कम बारिश के बावजूद पहाड़ों में हो रही भीषण बारिश की वजह से यहां रामगंगा, कोसी और गंगा के जलस्तर में लगातार बढ़ोतरी होती जा रही है। बांधों से भी लगातार पानी छोड़ा जा रहा है जिससे मंडल के सभी जिलों के कई गांवों में बाढ़ का खतरा मंडराने लगा है। ... और पढ़ें

लगातार बारिश से रामगंगा नदी का जलस्तर बढ़ा

मुरादाबाद। पहाड़ों पर लगातार बारिश का असर रामगंगा नदी के जलस्तर में इजाफा के रूप में नजर आया है। सिंचाई विभाग के बाढ़ नियंत्रण कक्ष से मिली जानकारी के मुताबिक रामगंगा रेलवे पुल पर 18 अगस्त को 187.990 मीटर जलस्तर देखा गया था। 19 अगस्त यानी सोमवार को जलस्तर बढ़कर 188.550 मीटर पर पहुंच गया है। रामगंगा नदी में खतरे का निशान 190.6 मीटर पर है। वर्तमान में करीब दो मीटर नीचे रामगंगा नदी बह रही है। रामगंगा नदी के किनारे बसे हुए गांव में बढ़ते जलस्तर से दहशत है। अहम यह है कि बिजनौर जिले की उन नदियों का जलस्तर भी भी लगातार बढ़ रहा है जो रामगंगा में गिर रहीं हैं।
दरअसल, रामगंगा नदी के किनारे गन्ना और धान की फसल लहलहा रही है। यह पूरा क्षेत्र डूब एरिया है। अब नदी में पानी बढ़ने के बाद कटान से इसी फसल को नुकसान होता है। पिछले दिनों किसान यूनियन के पदाधिकारियों ने प्रशासकीय अधिकारियों से मिलकर नदी के किनारे बालू की बोरियों से रोक बनाने की आग्रह किया था। मौसम विभाग द्वारा बारिश की भविष्यवाणी के बीच रामगंगा नदी का जलस्तर अभी और बढ़ने की आशंका जताई गई है।
गागन के जलस्तर में मामूली बढ़ोत्तरी
यही स्थिति गागन नदी पर भी है। आंकड़ों के मुताबिक रविवार को जलस्तर 189.20 मीटर नोट था। सोमवार को जलस्तर में मामूली बढ़ 189.25 मीटर की हुई है। चौबीस घंटों में 8.8 मिमी बारिश हुई है। कालागढ़ बांध 345.250 मीटर जलस्तर है, जबकि खतरा 365.300 मीटर पर होता है। हरेवली बैराज 230.250 मीटर खतरे का निशान है, मौजूदा समय में 226.10 मीटर पर जलस्तर है। सोमवार को 608 क्यूसैक पानी बैराज से छोड़ा गया।
बढ़ रहा खो का जलस्तर
बिजनौर में खो नदी जल स्तर लगातार बढ़ रहा है। यह नदी रामगंगा में गिरती है। पहाड़ों से हो रही बारिश का असर इन नदियों मेें आया है। ये नदियां भी रामगंगा का जलस्तर लगातार बढ़ा रही हैं।
पूछते रहे कि पानी तो नहीं छोड़ा जाएगा
नदी में बाढ़ आने की आशंका के साथ प्रभावित होने वाले क्षेत्रों में रहने वाले लोग मोबाइल और मेसेज के जरिए कालागढ़ बांध से पानी छोड़े जाने की बात पता करते रहे। विभाग के मुताबिक मौजूदा समय के हालात के मुताबिक अभी बारिश का पानी छोड़े जाने में वक्त है।
वर्जन
बारिश होने से रामगंगा नदी का जलस्तर बढ़ा है। खतरे के निशान से जलस्तर दो मीटर नीचे हैं। जलस्तर पर विभाग निगाह बनाए हुए हैं। - मनोज कुमार सिंह, बाढ़ खंड ... और पढ़ें

यूपी: रेलवे स्टेशन को उड़ाने की धमकी देने के आरोप में आईटीआई छात्र गिरफ्तार

अपने बहनोई को सबक सिखाने के लिए आईटीआई छात्र आशुतोष मिश्रा ने दिल्ली एनएसजी हेड क्वार्टर में फोन कर मुरादाबाद रेलवे स्टेशन को बम से उड़ाने की धमकी दे डाली। आरोपी ने धमकी देने में जिस सिम का इस्तेमाल किया, उस सिम को बहनोई की आईडी से ही खरीदा था। इससे दिल्ली से मुरादाबाद तक हड़कंप मच गया। जीआरपी ने सर्विलांस की मदद से आरोपी को गिरफ्तार कर लिया। बुधवार दोपहर बाद आरोपी को अदालत में पेश किया गया। 

ये भी पढ़ें- पति और तीन बच्चों को नशा देकर किया बेहोश, प्रेमी के साथ भागी

जीआरपी इंस्पेक्टर पंकज पंत ने बताया कि दो दिन पहले एनएसजी हेड क्वार्टर दिल्ली में फोन कर मुरादाबाद रेलवे स्टेशन को बम से उड़ाने की धमकी दी गई थी। इस मामले में अज्ञात व्यक्ति के खिलाफ केस दर्ज किया गया था। जीआरपी सर्विलांस सेल की टीम इस मामले की तफ्तीश में जुटी थी।

इस मामले में बुधवार दोपहर मुरादाबाद रेलवे स्टेशन से आशुतोष मिश्रा निवासी गनुआपुर पाली जनपद हरदोई को गिरफ्तार किया गया। आरोपी ने पूछताछ में बताया कि वह आईटीआई का छात्र है। उसके पिता सर्वेश कुमार मिश्रा रेलवे में पीडब्लूआई हैं और वह संभल में तैनात हैं, जबकि आरोपी का परिवार राजा का सहसपुर रेलवे स्टेशन पर सरकारी आवास में रहता है।

आरोपी के बहनोई  संजय कुमार रेलवे में कार्यरत है। आशुतोष के परिवार का बहनोई से विवाद चल रहा है। उसने बहनोई को सबक सिखाने के लिए उसकी ही आईडी से सिम खरीदकर एनएसजी हेड क्वार्टर में फोन कर रेलवे स्टेशन को बम से उड़ाने की धमकी दी थी।

इंस्पेक्टर ने बताया कि आरोपी के कब्जे से वो सिम और मोबाइल भी बरामद कर लिया है। जिसे धमकी देने में इस्तेमाल किया गया था। बुधवार दोपहर बाद आरोपी को अदालत में पेश किया गया था। जहां से आरोपी को जेल भेज दिया गया है।
... और पढ़ें
मुरादाबाद रेलवे स्टेशन मुरादाबाद रेलवे स्टेशन

पुलिस ने प्रेमी जोड़ों का कराया मिलन

मुरादाबाद। पुलिस की मदद से दो युवतियों को मनपसंद जीवन साथी मिल गए। पुलिस ने रामपुर की राधा की उसके प्रेमी राहुल से मंदिर में शादी करा दी, जबकि शबनम मनपसंद दूल्हे के साथ भिजवा दी गई। शबनम की दस दिन पहले ही शादी हुई थी, लेकिन उसने अपने नापसंद दूल्हे साथ रहने से साफ इनकार दिया था।
रामपुर के टांडा बादली निवासी राधा और कटघर के बल्देवपुरी निवासी राहुल सैनी के बीच पिछले तीन साल से प्रेम संबंध थे। दोनों शादी करना चाहते थे, लेकिन परिवार के लोग शादी को तैयार नहीं थे। युवती ने जहर खाकर अपनी जान देने का प्रयास भी किया था। इसके बाद युवती ने महिला थाने में प्रार्थना पत्र देकर गुहार लगाई थी। एसओ महिला थाना ज्योति सिंह ने दोनों परिवार के लोगों को बुलाया। यहां दोनों पक्षों के बीच वार्ता हुई। इसके बाद वह शादी को तैयार हो गए। मंगलवार को बल्देवपुरी स्थित मंदिर में पुलिस की मौजूदगी में राजा और राहुल की शादी करा दी गई। दूसरा मामला कुं दरकी के जलालपुर बगरुआ निवासी शबनम का है। शबनम की मां ने उसका निकाह उसके नापसंद युवक से करा दिया था। उसने एसएसपी को प्रार्थना पत्र देकर अपनी मां पर आरोप लगाया कि अधिक उम्र के युवक के साथ उसका निकाह करा दिया है। वह उसके साथ नहीं रहना चाहती है। उसने बताया कि वह अपने प्रेमी के साथ शादी करना चाहती है। उसने बताया कि रेलवे स्टेशन पर ई रिक्शा चालक भूरा उर्फ अरशद निवासी मियां कालोनी थाना मझोला से मिली थी। वह उससे ही निकाह करना चाहती है। एसएसपी ने युवती का प्रार्थना पत्र महिला थाने भिजवा दिया था। महिला थाना प्रभारी ज्योति सिंह ने बताया कि बुधवार को दोनों पक्षों को थाने बुलाकर समझाया गया। युवती ने पति के साथ जाने से इनकार कर दिया है। उसने कहा कि पति उसे तलाक दे दे। अब वह उसके साथ नहीं रहेगी। पुलिस ने भूरा के परिवार को भी थाने बुलाया। उसके परिवार के लोग शबनम को साथ रखने के लिए राजी हैं। शबनम को भूरा के साथ भिजवा दिया गया है। ... और पढ़ें

अब सहजन का पौधा करेगा बच्चों का कुपोषण दर

मुरादाबाद। अब औषधीय पौधे सहजन के गुणों के सहारे बच्चों का कुपोषण दूर किया जाएगा। बच्चों, महिलाओं व किशोरियों को एनीमिया और कुपोषण से बचाने के लिए जिले के ग्रामीण क्षेत्रों में स्थित करीब दो हजार आंगनबाड़ी केंद्रों पर तीन हजार सहजन के पौधे रोपित किए जा चुके हैं। जिले में वर्तमान में करीब 37 हजार 440 कुपोषित बच्चे हैं। सहजन के पौधे की फलियों को स्कूलों के मिड डे मील व आंगनबाड़ी केंद्रों पर मिलने वाले पोषाहार में इस्तेमाल किया जाएगा।
मुरादाबाद जिले में कुपोषण मिटाने के लिए शासन स्तर से कई योजना संचालित हैं। बच्चों को पोषाहार वितरण से लेकर नियमित स्वास्थ्य की जांच, टीकाकरण व नियमित देखभाल की जाती हैं। इसके बावजूद सात माह से लेकर छह साल तक के करीब 17 प्रतिशत बच्चे कुपोषण की गिरफ्त में है। काफी योजनाओं व प्रयासों के बावजूद जुलाई माह की रिपोर्ट के अनुसार 32 हजार 504 बच्चे कुपोषित व चार हजार 936 बच्चे अति कुपोषित मिले हैं। अब इसमें सुधार के लिए बाल विकास विभाग सहजन के पौधे का सहारा लेगा। ग्रामीण क्षेत्रों के सभी आंगनबाड़ी केंद्रों पर करीब तीन हजार पौधे रोपित किए गए हैं। सहजन के पौधे की पत्तियों व फलियों का इस्तेमाल आंगनबाड़ी केंद्र व स्कूलों में बनने वाले मिड डे मील में किया जाएगा। महिलाओं को जागरूक किया, ताकि वे इसका सही तरीके से इस्तेमाल कर सके।
सहजन के पौधे के गुण:
सहजन का पेड़ औषधिय पौधा होता है। इसकी सब्जी और अचार बनता है। इसकी फली में प्रोटीन अधिक होता है। इसके अलावा विटामिन ए, बी, सी, कैल्शियम, मैग्नीशियम, जिंक काफी मात्रा में होता है। यह बीमारियों से लड़ने की क्षमता बढ़ाता है। कैंसर, जोड़ों के दर्द, डिप्रेशन, स्कीन समस्या, पेट की बीमारियों जैसे लीवर आदि के लिए लाभकारी है।
बीमार बच्चों के घर भी रोपित कराए जांएगे पौधे
विभागीय अधिकारियों की मानें, तो विभाग महिलाओं को सहजन के गुणों के प्रति जागरूक करेगा। ताकि नियमित भोजन में भी उसका इस्तेमाल कर सके। बच्चे कुपोषित हैं, जल्द ही उनकी माताओं को जागरूक कर उनके घरों पर सहजन का पौधा रोपित कराया जाएगा।
जिले में है 2742 आंगनबाड़ी केंद्र
मुरादाबाद जिले में 2742 आंगनबाड़ी केंद्र है, इनमें से 2092 ग्रामीण क्षेत्र में व 650 केंद्र शहरी क्षेत्र में स्थित हैं। शहरी क्षेत्रों में स्थित आंगनबाड़ी केंद्राें पर जगह की कमी के चलते सहजन के पौधे रोपित नहीं किए गए हैं।
गांव देहात के आंगनबाड़ी केंद्रों पर सहजन के पौधे रोपित कराए जा चुके हैं। महिलाओं को उनके गुणों के प्रति जागरूक किया जाएगा। ताकि वे इसका पूरा लाभ ले सके। सहजन का पौधा औषधिय पौधा है।
अनुपमा शांडिल्य, जिला कार्यक्रम अधिकारी। ... और पढ़ें

बम से रेलवे स्टेशन उड़ाने की धमकी देने के आरोप में छात्र गिरफ्तार

मुरादाबाद। अपने बहनोई को सबक सिखाने के लिए आईटीआई छात्र आशुतोष मिश्रा ने दिल्ली एनएसजी हेड क्वार्टर में फोन कर मुरादाबाद रेलवे स्टेशन को बम से उड़ाने की धमकी दे डाली। आरोपी ने धमकी देने में जिस सिम का इस्तेमाल किया, उस सिम को बहनोई की आईडी से ही खरीदा था। इससे दिल्ली से मुरादाबाद तक हड़कंप मच गया। जीआरपी ने सर्विलांस की मदद से आरोपी को गिरफ्तार कर लिया। बुधवार दोपहर बाद आरोपी को अदालत में पेश किया गया।
जीआरपी इंस्पेक्टर पंकज पंत ने बताया कि दो दिन पहले एनएसजी हेड क्वार्टर दिल्ली में फोन कर मुरादाबाद रेलवे स्टेशन को बम से उड़ाने की धमकी दी गई थी। इस मामले में अज्ञात व्यक्ति के खिलाफ केस दर्ज किया गया था। जीआरपी सर्विलांस सेल की टीम इस मामले की तफ्तीश में जुटी थी। इस मामले में बुधवार दोपहर मुरादाबाद रेलवे स्टेशन से आशुतोष मिश्रा निवासी गनुआपुर पाली जनपद हरदोई को गिरफ्तार किया गया। आरोपी ने पूछताछ में बताया कि वह आईटीआई का छात्र है। उसके पिता सर्वेेश कुमार मिश्रा रेलवे में पीडब्लूआई हैं और वह संभल में तैनात हैं, जबकि आरोपी का परिवार राजा का सहसपुर रेलवे स्टेशन पर सरकारी आवास में रहता है। आरोपी के बहनोई संजय कुमार रेलवे में कार्यरत है। आशुतोष के परिवार का बहनोई से विवाद चल रहा है। उसने बहनोई को सबक सिखाने के लिए उसकी ही आईडी से सिम खरीदकर एनएसजी हेड क्वार्टर में फोन कर रेलवे स्टेशन को बम से उड़ाने की धमकी दी थी। इंस्पेक्टर ने बताया कि आरोपी के कब्जे से वो सिम और मोबाइल भी बरामद कर लिया है। जिसे धमकी देने में इस्तेमाल किया गया था। बुधवार दोपहर बाद आरोपी को अदालत में पेश किया गया था। जहां से आरोपी को जेल भेज दिया गया है। ... और पढ़ें

रामगंगा का जलस्तर .240 मीटर हुआ कम

मुरादाबाद। रामगंगा नदी के जलस्तर में चढ़ाव और उतार जारी है। लगातार दो दिन जलस्तर में दो मीटर की बढ़ोत्तरी होने के बाद बुधवार को 0.240 मीटर की कमी दर्ज की गई। जलस्तर में उतार होने के बाद किनारे पर बसे गांवों के किसानों ने राहत की सांस ली। हालांकि पहाड़ों पर बारिश होने से जलस्तर दोबारा बढ़ने की आशंका से ग्रामीणों में दहशत बनी हुई है।
बता दें कि बीते तीन दिनों से रामगंगा नदी का जलस्तर में दो मीटर की बढ़ोत्तरी दर्ज की गई थी। मंगलवार को रामगंगा नदी का जलस्तर खतरे के निशान से सवा मीटर नीचे था। लेकिन बारिश का पानी होने की वजह से बुधवार को जलस्तर तेजी से नीचे आया है। अफसरों की माने तो बारिश कम होने की वजह से जलस्तर नीचे आने की संभावना बनी हुई है। लेकिन मौसम के रुख पर बहुत कुछ निर्भर करता है। जलस्तर कम होने से रामगंगा नदी के किनारे बसे गांव के लोगों को बहुत राहत मिली है। बाढ़ खंड के अधिकारियों ने साफ कहा है कि बाढ़ जैसे हालात बिल्कुल नहीं। रामगंगा नदी में कालागढ़ डैम से पानी छोड़ने की नौबत तभी आएगी अगर पहाड़ों पर मूसलाधार बारिश होना जारी रहती है। डैम में खतरे के निशान से 19 मीटर नीचे जलस्तर है।
तिथिवार रामगंगा नदी का जलस्तर :
20 अगस्त 189.290 मीटर
21 अगस्त 189.040 मीटर
बारिश में कमी आने से रामगंगा के जलस्तर में कमी हुई है। गागन नदी का जलस्तर भी कुछ सेंटीमीटर कम हुआ है। इसके बावजूद सतर्कता पूरी रखी जा रही है। - महेश कुमार सिंह, अधिशासी अभियंता बाढ़ खंड ... और पढ़ें

यूपी: साली पर किया तेजाब से हमला, चेहरा झुलसा, मचा हड़कंप

कोतवाली क्षेत्र के मोहल्ला चमन सराय में जीजा ने साली पर तेजाब डाल दिया। जिससे उसका चेहरा झुलस गया। परिजनों ने उसे अस्पताल में भर्ती कराने के बाद पुलिस को तहरीर दी है। पुलिस ने जांच के बाद कार्रवाई का आश्वासन दिया है। 

ये भी पढ़ें- शादी के 42 दिन बाद ही पत्नी को दिया तीन तलाक, मामला दर्ज

मंगलवार की सुबह करीब नौ बजे कोतवाली क्षेत्र के मोहल्ला चमन सराय में एक मोहल्ला निवासी युवती पर उसके जीजा ने अपने पिता के साथ मिलकर तेजाब से हमला कर दिया। चीखपुकार होने पर आरोपी मौके से भाग गए। इस घटना से मोहल्ले में हड़कंप मच गया। पीड़िता ने बताया कि उसकी बड़ी बहन की शादी कोतवाली क्षेत्र के मोहल्ला चौधरी सराय निवासी एक युवक से आठ वर्ष पहले हुई थी।

आपसी विवाद के बाद उसकी बहन मायके आ गई। चार वर्ष से अब मायके में ही रह रही है। सुबह पीड़िता अपनी बहन के साथ दवाई लेने मोहल्ला चमन सराय गई थी। अचानक बाइक पर सवार जीजा अपने पिता के साथ आया और उसकी बहन को गाली गलौज करने लगा। इसी दौरान उसने तेजाब फेंक दिया।

पीड़िता ने बताया कि उसकी बहन तेजाब से बच गई। लेकिन वह झुलसी गई। परिजनों ने कोतवाली में कार्रवाई के लिए तहरीर दी है। साथ ही जिला अस्पताल में भर्ती कराया है। वहीं, दूसरी ओर कोतवाली प्रभारी निरीक्षक धर्मपाल सिंह का कहना है कि मामले की जानकारी हुई है। युवती का अस्पताल में उपचार चल रहा है। तहरीर मिलने पर कार्रवाई की जाएगी।
... और पढ़ें

शादी के 42 दिन बाद ही पत्नी को दिया तीन तलाक, मामला दर्ज

विवाहिता ने पति पर एक मिनट से भी कम समय में तीन तलाक देने, अप्राकृतिक संबंध बनाने और अपंजीकृत चिकित्सक भाई के साथ मिलकर गर्भपात कराने का आरोप लगाते हुए मुकदमा दर्ज कराया है। जबकि सास और ननद पर मारपीट कर घर में बंधक बनाने का आरोप लगाया है। पुलिस ने रिपोर्ट कर मामले की जांच शुरू कर दी है।

ये भी पढ़ें- दक्षिण अफ्रीका से फोन पर दे दिया तीन तलाक, पीड़िता ने एसपी से लगाई गुहार

मुरादाबाद के मुगलपुरा थाना क्षेत्र की युवती की शादी आठ जुलाई को डिडौली कोतवाली क्षेत्र के युवक के साथ हुई थी। आरोप के मुताबिक निकाह के बाद से ही पति विवाहिता के साथ प्राकृतिक और अप्राकृतिक संबंध बनाता था। पहले महीने में विवाहिता गर्भवती हो गई। इसके बाद पति ने अपने अपंजीकृत चिकित्सक भाई के पास ले गया। जहां टेस्ट कर गर्भवती होने की पुष्टि की। इसके बाद दोनों भाइयों ने दवाई खिलाकर गर्भपात करा दिया। जिससे पीड़िता की हालत बिगड़ गई। इसकी शिकायत उसने अपनी सास और ननद से की तो वह आग बबूला हो गईं।

पीड़िता को मारपीट कर घर में बंद कर दिया। किसी तरह पीड़िता ने 100 डायल पुलिस को सूचना दी। मौके पर पहुंची पुलिस ने विवाहिता को बंधन मुक्त कराया। इसके बाद विवाहिता अपने मायके चली गई।

आरोप है कि 16 अगस्त की रात पीड़िता ने आपबीती बताने के लिए पति को फोन किया। कई बार बात हुई। इसके आधे घंटे बाद पति ने फोन कर एक मिनट से भी कम समय में तीन बार तलाक, तलाक, तलाक बोलकर तलाक दे दिया।

मंगलवार को एसपी के आदेश पर डिडौली पुलिस ने पति, देवर, सास और ननद के खिलाफ मारपीट, अप्राकृतिक संबंध बनाना, गर्भपात कराना और मुस्लिम महिला विवाह पर अधिकारों की सुरक्षा के तहत मुकदमा दर्ज कर लिया है। इंस्पेक्टर शरद मलिक ने बताया कि रिपोर्ट दर्ज कर मामले की जांच की जा रही है।
... और पढ़ें

अवध असम एक्सप्रेस ट्रेन पर विजिलेंस का छापा

मुरादाबाद। रेलवे की विजिलेंस टीम ने मंगलवार को अवध असम एक्सप्रेस ट्रेन पर छापा मारा। टीम ने यात्रियों के टिकट चेक करने के साथ ही टीटीई स्टाफ को भी चेक किया। एक टीटीई के पास पांच हजार रुपये अतिरिक्त मिले हैं। जिसका टीटीई कोई हिसाब नहीं दे पाया। रेलवे स्टेशन और रेलवे अस्पताल में टीम ने छापा मार कार्रवाई की। जिससे हड़कंप मचा रहा। कार्रवाई करने के बाद टीम वापस दिल्ली चली गई।
अवध असम एक्सप्रेस ट्रेन मंगलवार को लालगढ़ से डिब्रूगढ़ जा रही थी। रेलवे की विजिलेंस ने मंगलवार सुबह हापुड़ में स्लीपर कोच में छापा मारा। टीम ने यात्रियों के टिकट चेक किए। जिससे ट्रेन में तैनात टीटीई स्टाफ में हड़कंप मच गया। टीम ने अमरोहा तक कई यात्रियों को चेक किया। इस दौरान ट्रेन में तैनात एक टीटीई को भी चेक किया गया। जिससे पास से पांच हजार रुपये अतिरिक्त मिले है। जिसकी रिपोर्ट तैयार की गई। सूत्रों का दावा है कि टीटीई इस रकम का कोई हिसाब नहीं दे पाया है। ट्रेन मुरादाबाद पहुंची तो टीम ने सीआईटी कार्यालय और टिकट विंडो को भी चेक किया। यहां कार्रवाई करने के बाद टीम ने रेलवे अस्पताल में छापा मारा। आरआरबी द्वारा चयनित अभ्यर्थियों का रेलवे अस्पताल में मेडिकल किया गया था। जिससे मेडिकल में धांधली की शिकायत मिली हैं। टीम ने यहां छापा मारा तो हड़कंप मच गया। टीम काफी देर तक अस्पताल में मौजूद रही। मेडिकल संबंधित दस्तावेजों को चेक किया। कुछ दिन पहले भी टीम ने यहां आकर कार्रवाई की। ... और पढ़ें

अपराजिता अभियान का हुआ आयोजन, वक्ताओं ने रखे अपने मत

मुरादाबाद। दिव्य सरस्वती बालिका इंटर कालेज में अमर उजाला के कार्यक्रम अपराजिता 100 मिलियन स्माइल्स के तहत तनाव प्रबंधन और व्यक्तित्व निर्माण कार्यशाला का आयोजन किया गया। वक्ताओं ने कहा कि सकारात्मक सोच से व्यक्तित्व का निर्माण होता है और भविष्य संवरता है। साथ ही नारी गरिमा एवं संवेदनशीलता की रक्षा का संकल्प लिया।
मुख्य वक्ता वरिष्ठ स्त्री रोग विशेषज्ञ डॉ. कुमकुम मेहरोत्रा ने छात्राओं को पढ़ाई में तनाव नहीं लेने के लिए प्रोत्साहित किया। उन्होंने कहा कि परीक्षा में बेहतर करने का दबाव तनाव पैदा करता है। हमें भविष्य की चिंता किए बिना वर्तमान में ध्यान एकाग्रचित्त करना चाहिए। क्रोध, निंदा, आलस्य, जिद, अपेक्षा और दूसरों पर निर्भरता तनाव उत्पन्न करते हैं। सफल होने के लिए हमें स्वस्थ प्रतिस्पर्धा करनी चाहिए। अंकों के बजाय ज्ञान को महत्व देने से विचारों में शांति और स्थिरता आती है। हमें खुद अच्छा महसूस करने के साथ दूसरों को भी अच्छा महसूस करना चाहिए। इससे सकारात्मक माहौल बनता है और व्यक्तित्व में निखार आता है। उन्होंने कहा कि हमारे विचार व्यक्तित्व का आइना होते हैं। प्रधानाचार्य उमेश सिंह ने कहा कि विद्यार्थियों में धैर्य का गुण होना आवश्यक है। एक साथ मंजिल पर पहुंचने की ललक के बजाय एक-एक सीढ़ी चढ़ना चाहिए। इससे असफलता की संभावनाएं कम हो जाती हैं। इस दौरान दिनेश पाल, नरेश सैनी, शशि कुलश्रेष्ठ, नंदराम, अंजू मेहरोत्रा, नूपुर सक्सेना आदि मौजूद रहे। ... और पढ़ें

रामगंगा नदी खतरे के निशान से सवा मीटर नीचे बह रही

मुरादाबाद। रामगंगा नदी का जलस्तर बीते चौबीस घंटे में 0.74 मीटर बढ़ा है। रामगंगा नदी खतरे के निशान से सिर्फ सवा मीटर नीचे बह रही है। पानी बढ़ने के बाद किनारे बसे गांवों से सिर्फ 500 मीटर की दूरी पर बह रहा है। ग्रामीणों में दहशत जरूर है, लेकिन बाढ़ खंड के अधिकारियों का दावा है कि फिलहाल डरने जैसे हालात नहीं है। कालागढ़ डैम से पानी छोड़े जाने की स्थिति बनने में 20 से 25 दिन लगेंगे। रामगंगा नदी में बारिश और छोटे डैमों से छोड़ा गया पानी है। कालागढ़ डैम में खतरे के निशान से 19.200 मीटर नीचे जलस्तर है।
देश में बाढ़ से विध्वंस के हालात बनने के बाद रामगंगा नदी समेत अन्य नदियों में भी बाढ़ आने की अफवाहें तेज हो चुकी हैं। इसके किनारे बसे रिहायशी क्षेत्रों और गांवों में भी कालागढ़ डैम से अचानक पानी छोड़ने की दहशत है। पानी का जलस्तर धीरे-धीरे बढ़कर लोगों के डर को सही साबित करने में लगा है। रामगंगा नदी का पानी कांठ, अगवानपुर, विवेकानंद अस्पताल, हरथला, चक्कर की मिलक, बंगलागांव, नवाबपुरा, लालबाग, कटघर होते हुए देवपुरा गांव तक पहुंचता है।
गले तक डूबे नजर आते है बैल और वाहक
जिगर कॉलोनी के पीछे से पशुओं के लिए चारा लाने का सिलसिला जारी है। पानी बढ़ने के बाद नदी पार करने के दौरान बैल और गाड़ी वाहक के सिर ही नजर आते हैं। पानी के साथ बहते हुए धीरे-धीरे गाड़ियां नदी पार करती हुई देखी जा सकती है। लोग नाव के सहारे नदी के पार आ रहे हैं। लेकिन नदी में बहाव तेज हो चुका है।
गागन में पानी स्थिर
गागन नदी का जलस्तर 189.25 मीटर पर स्थिर है। वहीं रामगंगा नदी मेें 19 अगस्त को जलस्तर 188.550 मीटर था, चौबीस घंटे में जलस्तर बढ़कर 189.29 मीटर पर पहुंच गया है। जबकि रामगंगा में रेलवे पुल पर बने खतरे का निशान 190.6 मीटर का है। कालागढ़ डैम 365.300 मीटर खतरे का निशान है, जबकि मौजूदा जलस्तर 346.100 पर स्थिर है। हरेवली बैराज पर 230.250 मीटर पर खतरे का निशान है। मौजूदा समय में 225.85 जलस्तर है। यहां 393 क्यूसेक पानी छोड़ा गया है।
वर्जन
24 घंटे में जलस्तर बढ़ा है। लेकिन बाढ़ जैसे हालात बिल्कुल नहीं है। कालागढ़ डैम से पानी छोड़ने की स्थिति बनने में 20 से 25 दिन लगेंगे। - मनोज कुमार सिंह, बाढ़ खंड ... और पढ़ें

कटघर इलाके में निर्माणाधीन फैक्ट्री सील

मुरादाबाद। कटघर और मूंढापांडे थाने के बार्डर पर मुरादाबाद विकास प्राधिकरण की सीमा में अवैध रूप से बन रही एक फैक्ट्री को एमडीए के सचल दस्ते ने मंगलवार को सील कर दिया। प्राधिकरण अधिकारियों का कहना है कि कई बार नोटिस देने के बाद भी फैक्ट्री मालिक ने निर्माण कार्य नहीं रोका। जहां यह कार्रवाई की गई उसके आसपास के इलाके में भी बड़े पैमाने पर अवैध निर्माण हो रहे हैं। एमडीए जल्द उनके खिलाफ भी कार्रवाई की तैयारी कर रहा है।
प्राधिकरण अधिकारियों के मुताबिक कटघर थाना क्षेत्र में एनएच - 24 पर अक्का डिलारी गांव के सामने उवैद द्वारा 2000 वर्ग मीटर के भूखंड पर बगैर किसी स्वीकृत मानचित्र के अवैध रूप से निर्माण किया जा रहा था। करीब 500 वर्ग मीटर के इलाके में अवैध निर्माण किया जा चुका था। प्राधिकरण अधिकारियों के मुताबिक लगातार नोटिस दिए जाने के बाद भी भूखंड स्वामी ने भूतल का निर्माण पूरा कर लिया। वीसी अरुण कुमार के आदेश पर मंगलवार को एमडीए के सचल दस्ते ने पुलिस की मदद से इस अवैध निर्माण को सील कर दिया। कटघर इलाके में पहले से अवैध निर्माणों की बाढ़ सी आ गई है। मझोला, गलशहीद और मुगलपुरा थाना क्षेत्र में एमडीए से मानचित्र स्वीकृत कराए बगैर बड़े पैमाने पर अवैध निर्माण किए जा रहे हैं। मझोला के जयंतीपुर ढक्का इलाके में लगातार हो रहे अवैध निर्माणों पर प्राधिकरण अभी तक कार्रवाई करने में नाकाम रहा है। ... और पढ़ें
अपने शहर की सभी खबर पढ़ने के लिए amarujala.com पर जाएं

Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google, और सोशल मीडिया साइट्स, जैसे की Facebook, के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।

Agree