विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
घर बैठे इस पितृ पक्ष गया में पूरे विधि-विधान एवं संकल्प के साथ कराएं श्राद्ध पूजा, मिलेगी पितृ दोषों से मुक्ति
Astrology Services

घर बैठे इस पितृ पक्ष गया में पूरे विधि-विधान एवं संकल्प के साथ कराएं श्राद्ध पूजा, मिलेगी पितृ दोषों से मुक्ति

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

From nearby cities

रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह को हाईकोर्ट का नोटिस, चुनाव याचिका पर कोर्ट ने दिए निर्देश

इलाहाबाद हाईकोर्ट की लखनऊ पीठ में दायर एक चुनाव याचिका पर लखनऊ के सांसद राजनाथ सिंह, केंद्रीय निर्वाचन आयोग और रिटर्निंग आफिसर को नोटिस जारी किया है।

17 सितंबर 2019

विज्ञापन
विज्ञापन

रामपुर

मंगलवार, 17 सितंबर 2019

पूर्व सीओ आले हसन सहित नौ पर रिपोर्ट

रामपुर।गंज थाना क्षेत्र के मोहल्ला डूगंरपुर निवासी गुडडू खां का कहना है कि उसने यहां पर पचास गंज का एक प्लाट लियाथा। वह इस जगह पर मकान बनाकर रह रहे थे। छह दिसंबर 2016 की दोपहर को तत्कालीन सीओ आलेहसन खां, आजम के मीडिया प्रभारी फसाहत शानू अली खां,परवेज आलम,फिरोज दरोगा, बरकत अली ठेकेदार,इमरान खां,इकराम खां, सज्जाद खां उसके घर में घुस गए थे। जहां परिवार के लोगों के साथ मारपीट कर दी थी. आरोपी घर में रखा दो तोले सोना,चार तोले चांदी, तीन हजार रुपये और बाद में मकान में पर बुल्डोजर चलवा दिया था। इस मामले में गंज पुलिस ने रिपोर्ट दर्ज कर ली है। डूंगरपुर प्रकरण में आलेहसन और अन्य आरोपियों के खिलाफ पहले भी कई मुकदमे दर्ज हो चुके हैं। ... और पढ़ें

राज्यसभा सदस्य तंजीन फात्मा ने जमानत के लिए लगाई अर्जी

रामपुर। हमसफर रिसोर्ट में बिजली चोरी के आरोप में दर्ज मुकदमे में अग्रिम जमानत के लिए राज्यसभा सांसद डॉ. तजीन फात्मा ने अग्रिम जमानत के लिए कोर्ट में अर्जी लगाई है। सेशन कोर्ट में उनकी अर्जी पर 16 सितंबर को सुनवाई होगी।
भाजपा नेता आकाश सक्सेना की शिकायत पर प्रशासन ने पिछले दिनों सपा सांसद आजम खां के हमसफर रिसॉर्ट पर छापेमारी की थी।छापेमारी के वक्त यहां पर चोरी से बिजली चलती हुई मिली थी,जिस पर बिजली विभाग ने बिजली कनेक्शन काटते हुए रिसोर्ट में बिजली चोरी के मामले में सांसद आजम खां की पत्नी एवं राज्यसभा सदस्य डा.तंजीन फात्मा के खिलाफ कोतवाली में बिजली चोरी का मुकदमा दर्ज कराया था। बिजली विभाग ने इस मामले में उन पर 30 लाख रुपये का जुर्माना भी ठोंका था। इस मामले में उन्होंने अग्रिम जमानत के लिए सेशन कोर्ट का दरवाजा खटखटाया है। सेशन कोर्ट में डा फात्मा ने अपने अधिवक्ता के माध्यम से अग्रिम जमानत के लिए प्रार्थना पत्र दिया है। सेशन कोर्ट ने इस मामले की सुनवाई के लिए 16 सितंबर की तारीख मुकर्रर की है।
... और पढ़ें

रामपुर के जिला धिकारी को भेजा जाए बनारस

रामपुर। पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने रामपुर के जिलाधिकारी के बारे में कहा है कि जिस तरह का उनका काम है उनको बनारस भेज दिया जाना चाहिए। जिलाधिकारी की चर्चा करते हुए उन्होंने कहा कि हो सकता है कि उनको भी कोई लालच दिया गया हो। हो सकता है उनको आश्वासन दिया गया हो सिक्किम कैडर से उन्हें यूपी कैडर में ले लिया जाएगा। सिक्किम में धारा 371 लागू है, वह वहां पर जमीन नहीं ले सकते हैं। हो सकता है उनकी अपेक्षा हो कि वह यूपी में आए जाए और उनको आजमगढ़ में काम करनेे का मौका मिला। फिर उन्होंने कहा कि रामपुर के जिलाधिकारी का जिस तरह का काम है उनको बनारस भेजा जाना चाहिए। बनारस भेजना इसलिए उचित है कि जब मैं वरुणा नदी का सौंदर्यीकरण कर रहा था तो मुझे 800 लोगों को नोटिस देना पड़ा था। हम तो कार्रवाई नहीं कर पाए, कमजोर थे। अब हम चाहते हैं कि रामपुर के जिलाधिकारी बनारस जाएं, इससे वरुणा नदी साफ हो जाएगी। इससे पहले उन्होंने कहा कि कन्नौज में क्या हुआ था। चुनाव हरवाने के लिए कन्नौज के एसपी को नोएडा भेजे जाने का आश्वासन दिया गया था, लेकिन अभी तक नहीं पहुंच पाए। ... और पढ़ें

जयाप्रदा का आजम पर निशाना, बोलीं- जो जैसा बोएगा वैसा ही काटेगा

सपा की पूर्व सांसद और वर्तमान में भाजपा नेता जयाप्रदा ने कहा है कि जब मैं सांसद थी तो मेरे रामपुर आने पर अघोषित रोक लगा दी गई थी। मुझे मुरादाबाद में रुकना पड़ता था। अब सांसद आजम खां रामपुर से भागे हुए हैं। उन्होंने कहा कि जो जैसे बोएगा वैसा ही काटेगा। उन पर जो रिपोर्ट दर्ज हुई हैं उससे अहसास है कि क्या किया है। लोगों को कितना परेशान किया है, अधिकारियों का कितना अपमान किया है, औरतों पर नजर कैसा है यह संसद में देखा है। ये फिर से सम्मान नहीं पा सकते। 

ये भी पढ़ें- 
रामपुर: आजम खां की मुश्किलें और बढ़ी, अब बकरी खुलवाने का मुकदमा दर्ज

सोमवार को पत्रकारों से बातचीत के दौरान उन्होंने कहा कि अखिलेश यादव कह रहे हैं कि सपा की सरकार आने की स्थिति में आजम खां पर दर्ज मुकदमें वापस ले लिए जाएंगे। लेकिन यह तो सपना है अखिलेश यादव दोबारा प्रदेश के मुख्यमंत्री बन पाएंगे।  मैं उन्हें याद दिलाना चाहती हूं कि जब उनकी सरकार थी उस समय जब मैं सपा में थी तो मुझे न्याय नहीं मिला। जब एआरटीओ ने गाड़ी से बत्ती उतारी ऑफिस में घुसकर और लाल बत्ती का बहाना बनाकर मुझे जेल भेजने की कोशिश की गई तो अखिलेश जी को जयाप्रदा की याद नहीं आई और बचाने नहीं आए। आजम खां ने कई बार मुझ पर हमला करवाया।

उन्होंने कहा कि कांग्रेस और सपा के बीच अघोषित गठबंधन है। रामपुर में कांग्रेस के कुछ नेता आजम के खिलाफ आवाज उठा रहे हैं तो उनकी पार्टी के बड़े नेता उनको अखिलेश का साथ देने को कह रहे हैं। पूर्व सांसद ने कहा कि आजम के साथ-साथ अखिलेश को भी गरीबों की आंसुओं का हिसाब देना पड़ेगा।
... और पढ़ें
भाजपा नेता जयाप्रदा भाजपा नेता जयाप्रदा

अब्दुल्ला के पास दो-दो पैन, डीएम ने आयकर विभाग को अवगत कराया

रामपुर। सांसद आजम खां के पुत्र विधायक अब्दुल्ला आजम के पास दो अलग-अलग पैन ( स्थायी खाता संख्या ) होने के मामले को जिलाधिकारी ने आयकर विभाग को अवगत कराया है। उन्होंने इस मामले में नियमानुसार कार्रवाई करने को कहा है।
जिलाधिकारी आन्जनेय कुमार सिंह ने बताया कि जांच के दौरान यह बात सामने आई है कि विधायक अब्दुल्ला के पास दो पैन हैं और दोनों अभी सक्रिय हैं। दोनों पैन उनके अलग-अलग बैंक खातों के जुड़े हुए हैं। उन्होंने बताया कि विधायक ने 2017 के विधानसभा के चुनाव में जो शपथ पत्र दिया है उसमें जिस पैन का उल्लेख किया है, उसका उल्लेख हमसफर रिसोर्ट के कागजात में नहीं किया गया है। हमसफर रिसोर्ट के कागजात में दूसरे पैन का उल्लेख है। उन्होंने बताया कि इस मामले में आयकर विभाग को अवगत कर दिया गया है और नियमानुसार कार्रवाई करने को कहा गया है।
... और पढ़ें

आजम खां के खिलाफ दोबारा नोटिस

रामपुर। कोर्ट से सम्मन जारी होने के बाद भी सांसद आजम खां और विधायक अब्दुल्ला आजम सोमवार को हाजिर नहीं हुए। नोटिस ने नोटिस जारी कर दोनों को 27 सितंबर को हाजिर होने का आदेश जारी किया।
आरोप है कि चुनाव में प्रत्याशी रहते आजम ने अनुमति से अधिक देर तक रोड शो किया था, जिस पर उनके खिलाफ आचार संहिता उल्लंघन का मुकदमा दर्ज किया गया। इसके अलावा शाहबाद में भी आचार संहिता उल्लंघन आदि धाराओं में तीन मुकदमे दर्ज हुए थे। इन मुकदमों में भी चार्जशीट के बाद अदालत में सुनवाई चल रही है।अदालत ने समन जारी किए थे और सोमवार को हाजिर होने के आदेश दिए थे। सहायक शासकीय अधिवक्ता रामौतार सैनी ने बताया कि कोर्ट में कोई भी हाजिर नहीं हुआ। जिसके चलते अब कोर्ट ने पुन: नोटिस दिए हैं और मामले की अगली सुनवाई 27 सितंबर को होगी।
... और पढ़ें

महिलाएं ठान सें तो सब कुछ संभव

रामपुर।स्टेट बैंक कालोनी में अमर उजाला अपराजिता 100 मिलियन स्माइल अभियान के तहत आयोजित गोष्ठी में पूनम अरोरा ने कहा कि महिला ठान ले तो कुछ भी असंभव नहीं है। वर्तमान परिवेश में समाज व राष्ट्र में महिलाओं की स्थिति व भूमिका पर पर आयोजित गोष्ठी में मां सरस्वती के चित्र के समक्ष दीप प्रज्ज्वलित कर की गई। इसके बाद संबोधित करते हुए पूनम अरोरा ने कहा कि महिला सशक्तीकरण के लिए तमाम योजनाओं व अभियानों की बात कही जाती है लेकिन, महिला कमजोर नहीं है। महिला ठान ले तो कुछ भी असंभव नहीं है। महिलाएं आज हर क्षेत्र में नाम रोशन कर रही हैं और अपनी योग्यता और प्रतिभा का लोहा मनवा रही हैं। वर्तमान समय में महिलाओं ने रूढ़िवादिता की जंजीरों को तोड़कर समाज और देश की तरक्की के लिए कई अध्याय लिखे हैं।
अंशिका अग्रवाल ने कहा कि कुछ लोगों की सोच महिलाओं के लिए नहीं बदली है, उसे बदलने की जरूरत है। महिला कल भी सशक्त थी और आज भी सशक्त है और कल भी रहेगी। महिला ही समाज में शक्ति का आधार है फिर उसके सशक्तीकरण की आवश्यकता क्यों, आवश्यकता महिला सशक्तीकरण की नहीं बल्कि कुछ लोगों की दकियानूसी सोच बदलने की है। बबीता ने कहा कि आज देश की बेटियां पूरे विश्व में नाम रोशन कर रही हैं। खेल के मैदान से लेकर राजनीति, विज्ञान, शिक्षा, चिकित्सा सभी क्षेत्रों में देश की बेटियां बेहतर कर रही हैं। जो यह साबित करता है कि बेटी किसी भी मायने में बेटों से कम नहीं है। कार्यक्रम में आशा भांडा, रेनू सक्सेना, संगीता अग्रवाल, शिवानी अग्रवाल, बबीता गुप्ता, चमन अग्रवाल, नीलम, मोनिका अगव्राल आदि मौजूद रहीं।
... और पढ़ें

याचना नहीं अब रण होगा, संग्राम अब भीषण होगा: नकवी

रामपुर। केंद्रीय मंत्री मुख्तार अब्बास नकवी ने जम्मू-कश्मीर से अनुच्छेद 370 और 35 ए समाप्त किए जाने पर कहा कि अभी यह शुरुआत है, अभी पाकिस्तान के कब्जे में कश्मीर को भी आजाद कराया जाएगा। आतंकवाद और पाकिस्तान में आतंकवाद समर्थन पर कहा कि याचना नहीं अब रण होगा, संग्राम अब भीषण होगा।
भारतीय जनता पार्टी की ओर से जम्मू-कश्मीर में अनुच्छेद 370 और 35 ए समाप्त किए जाने पर राष्ट्रीय एकता कार्यक्रम का आयोजन किया गया। कार्यक्रम में मुख्य अतिथि केंद्रीय अल्पसंख्यक कल्याण मंत्री मुख्तार अब्बास नकवी ने कहा कि अनुच्छेद 370 के समाप्त होने पर पूरा देश गौरव और फर्क महसूस कर रहा है। कहा कि अनुच्छेद 370 समाप्त किए जाने के लिए पिछली सरकार में ही काम शुरू कर दिया गया था, दोबारा जनादेश मिलने पर इसे क्रियान्वित किया गया। इस मुद्दे को लेकर कहा जाता था कि ऐसा होगा तो देश में आग लग जाएगी, जबकि हर राष्ट्रवादी भारतीय इसे समाप्त करना चाहता था। अनुच्छेद 370 और 35 ए समाप्त होने से सिर्फ पाकिस्तान, पाकिस्तान समर्थित अलगाववादियों और अलगाववादियों के कुछ राग दरबारियों को ही दिक्कत हुई है, बाकी पूरे देश की जनता ने इसका स्वागत किया है। कहा कि आतंकवाद की फैक्टरी चला रहे पाकिस्तान ने अपनी बर्बादी की इबारत लिखनी शुरू कर दी है। कहा कि पाकिस्तान इसे इस्लाम धर्म को खतरे में बताकर दुष्प्रचार कर रहा है जबकि इससे इस्लाम नहीं बल्कि आतंकवादी और आतंकवाद खतरे में है। कहा कि भारत के राष्ट्रवादी मुसलमानों की वजह से ही अल कायदा और आईएसआईएस भारत में पैर नहीं जमा सका। पूरे विश्व के इस्लामिक देश प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को उनके देश का सर्वोच्च नागरिक सम्मान दे रहे हैं, यह प्रधानमंत्री की विश्व में स्वीकार्यता और विश्वसनीयता को दर्शाता है। कहा कि अब अगली बारी पाकिस्तान के कब्जे वाले कश्मीर को आजाद कराने की है। अनुच्छेद 370 समाप्त होने के कारण ही पहली बार लाल चौक से लेकर जम्मू-कश्मीर के घरों तक में तिरंगा फहराया गया जबकि इससे पहले पाकिस्तान का झंडा फहराकर तिरंगे को जलाया जाता था। कहा कि चार लोगों को नजरबंद 40 लाख लोगों की हिफाजत के लिए किया गया है।
... और पढ़ें

विधानसभा उप चुनाव: कांग्रेस ने अरशद गुड़़्डू पर खेला दांव

रामपुर। रामपुर शहर विधानसभा सीट पर होने वाले उप चुनाव के लिए बसपा के बाद अब कांग्रेस नेे भी अपने प्रत्याशी की घोषणा कर दी है। कांग्रेस ने प्रदेश कार्यकारिणी के सदस्य अरशद अली खां गुड्ड़ू को अपना प्रत्या शी घोषित किया है। सोमवार को पार्टी की ओर से उनके नाम की घोषणा कर दी गई। गुड्डू का टिकट घोषित होने के बाद उनके समर्थकों ने उनका जगह-जगह स्वागत किया।
लोकसभा का चुनाव जीतने के बाद आजम खां ने शहर विधानसभा सीट से अपना इस्तीफा दे दिया था। उनके इस्तीफे के बाद इस सीट पर उप चुनाव होना है। आजम खां इस सीट से नौ बार विधानसभा का चुुनाव जीते हैं। उप चुनाव की तैयारी में सभी प्रमुख राजनीतिक दल लगे हुए हैं। सबसे पहले बसपा ने अपने प्रत्याशी का एलान किया था। बसपा ने जेडएम खान को अपना प्रत्याशी घोषित किया है। इसके बाद अब कांग्रेस ने अरशद गुड्डू को अपना प्रत्याशी घोषित किया है। गुड्डू लंबे समय से कांग्रेस से जुड़े हुए हैं। वह 1985 में एनएसयूआई के अध्यक्ष थे। यूथ कांग्रेस में भी उन्होंने कई अहम जिम्मेदारियां संभालीं हैं। इसके बाद वह लगभग आठ सालों तक नगर अध्यक्ष रहे। वर्तमान में वह प्रदेश कार्यकारिणी के सदस्य हैं। गुड्डू पहली बार किसी चुनाव में उतरे हैं। गुड्डू का टिकट घोषित होने के बाद उनके समर्थकों ने उनका कई जगह स्वागत किया। टिकट घोषित होने के बाद वह कांग्रेस के राष्ट्रीय सचिव संजय कपूर भी मिले। कपूर नेे उनको बधाई दी। इस मौके पर धमेंद्र देव गुप्ता, निक्कू पंडित, शाहीन अंसारी, अदनान खां, सिफत अली खां, एकलव्य भीम, अब्दुल्ला खां, जैद खां, वसीम मियां, साकिब खां, दाऊद खां, इकराम कुरैशी, रहमतउल्ला पहलवान, शुएब खां, गुड्डू खां, कमर अंसारी, जिया अली और महेंद्र सक्सेना सहित अन्य कई कार्यकर्ता मौजूद रहे।
... और पढ़ें

370 खत्म होने पर बोले नकवी, याचना नहीं अब रण होगा, संग्राम अब भीषण होगा

केंद्रीय मंत्री मुख्तार अब्बास नकवी ने जम्मू-कश्मीर से अनुच्छेद 370 और 35 ए समाप्त किए जाने पर कहा कि अभी यह शुरुआत है, अभी पाकिस्तान के कब्जे में कश्मीर को भी आजाद कराया जाएगा। आतंकवाद और पाकिस्तान में आतंकवाद समर्थन पर कहा कि याचना नहीं अब रण होगा, संग्राम अब भीषण होगा।

भारतीय जनता पार्टी की ओर से जम्मू-कश्मीर में अनुच्छेद 370 और 35 ए समाप्त किए जाने पर राष्ट्रीय एकता कार्यक्रम का आयोजन किया गया। कार्यक्रम में मुख्य अतिथि केंद्रीय अल्पसंख्यक कल्याण मंत्री मुख्तार अब्बास नकवी ने कहा कि अनुच्छेद 370 के समाप्त होने पर पूरा देश गौरव और फर्क महसूस कर रहा है। 

कहा कि अनुच्छेद 370 समाप्त किए जाने के लिए पिछली सरकार में ही काम शुरू कर दिया गया था, दोबारा जनादेश मिलने पर इसे क्रियान्वित किया गया। इस मुद्दे को लेकर कहा जाता था कि ऐसा होगा तो देश में आग लग जाएगी, जबकि हर राष्ट्रवादी भारतीय इसे समाप्त करना चाहता था। अनुच्छेद 370 और 35 ए समाप्त होने से सिर्फ पाकिस्तान, पाकिस्तान समर्थित अलगाववादियों और अलगाववादियों के कुछ राग दरबारियों को ही दिक्कत हुई है, बाकी पूरे देश की जनता ने इसका स्वागत किया है। कहा कि आतंकवाद की फैक्टरी चला रहे पाकिस्तान ने अपनी बर्बादी की इबारत लिखनी शुरू कर दी है। 

कहा कि पाकिस्तान इसे इस्लाम धर्म को खतरे में बताकर दुष्प्रचार कर रहा है जबकि इससे इस्लाम नहीं बल्कि आतंकवादी और आतंकवाद खतरे में है। कहा कि भारत के राष्ट्रवादी मुसलमानों की वजह से ही अल कायदा और आईएसआईएस भारत में पैर नहीं जमा सका। पूरे विश्व के इस्लामिक देश प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को उनके देश का सर्वोच्च नागरिक सम्मान दे रहे हैं, यह प्रधानमंत्री की विश्व में स्वीकार्यता और विश्वसनीयता को दर्शाता है। 

कहा कि अब अगली बारी पाकिस्तान के कब्जे वाले कश्मीर को आजाद कराने की है। अनुच्छेद 370 समाप्त होने के कारण ही पहली बार लाल चौक से लेकर जम्मू-कश्मीर के घरों तक में तिरंगा फहराया गया जबकि इससे पहले पाकिस्तान का झंडा फहराकर तिरंगे को जलाया जाता था। कहा कि चार लोगों को नजरबंद 40 लाख लोगों की हिफाजत के लिए किया गया है।
... और पढ़ें

जम्मू-कश्मीर से अनुच्छेद 370 समाप्ति पर भाजपा ने किया राष्ट्रीय एकता कार्यक्रम का आयोजन

भारतीय जनता पार्टी की ओर से जम्मू-कश्मीर में अनुच्छेद 370 और 35ए समाप्त किए जाने के विषय पर लोगों में जागरूकता के लिए राष्ट्रीय एकता अभियान जन जागरण प्रबुद्ध गोष्ठी का आयोजन किया गया।

गांधी समाधि के निकट एक बैंकट हॉल में हुए कार्यक्रम की शुरुआत मुख्य अतिथि केंद्रीय मंत्री मुख्तार अब्बास नकवी, प्रदेश सरकार में राज्यमंत्री बलदेव औलख, पेक्सफेड चेयरमैन सूर्यप्रकाश पाल, विधायक राजबाला, शिव बहादुर सक्सेना,चौधरी देवेंद्र सिंह, जिलाध्यक्ष मोहन लाल सैनी ने पंडित दीनदयाल उपाध्याय, श्यामा प्रसाद मुखर्जी और भारत माता के चित्र के समक्ष दीप प्रज्ज्वलित कर की।  

इसके बाद महिला मोर्चा द्वारा वंदे मातरम से कार्यक्रम प्रारंभ हुआ। कार्यक्रम में संबोधित करते हुए प्रदेश सरकार में राज्यमंत्री बलदेव सिंह औलख ने कहा कि भाजपा के लिए देश की उन्नति सर्वोपरि है। अनुच्छेद 370 और 35ए के समाप्त होने के बाद ही देश सही मायनों में आजाद हुआ। 

कहा कि अभी अनुच्छेद 370 और 35ए समाप्त हुआ और अब राम मंदिर का निर्माण भी जल्द होगा। पेक्सफेड चेयरमैन सूर्यप्रकाश पाल ने कहा कि श्यामा प्रसाद मुखर्जी का सपना था कि एक भारत देश में एक संविधान एक निशान होना चाहिए। इसके लिए उन्होंने अपना जीवन बलिदान कर दिया, उनके इस सपने को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने जम्मू-कश्मीर से अनुच्छेद 370 और 35ए समाप्त कर पूरा किया। 

पूर्व सांसद जयाप्रदा नाहटा ने कहा कि अनुच्छेद 370 और 35ए जैसे कई राष्ट्रीय मुद्दे पर आज तक किसी भी पार्टी ने विचार नहीं किया। भारतीय जनता पार्टी हमेशा देश की उन्नति और राष्ट्र भावना के लिए वचनबद्ध है। इसके बाद सेवादल कार्यक्रम के अंतर्गत रामपुर के 11 दिव्यांगों को रामपुर के व्यापारियों ने गोद लिया और उनके परिवहन की चिंता करने का भी संकल्प लिया। जिलाध्यक्ष मोहनलाल सैनी ने कार्यक्रम में उपस्थित सभी लोगों का आभार व्यक्त किया। कार्यक्रम का संचालन रविप्रकाश ने किया। 

कार्यक्रम में राकेश मिश्रा, प्रेम शंकर पांडेय, हंसराज पप्पू, काशीराम दिवाकर, जागेश्वर दयाल दीक्षित, अमरीश पटेल, दीक्षा गंगवार, अभय गुप्ता, अवधेश शर्मा, आकाश सक्सेना, भारत भूषण गुप्ता जुगेश अरोड़ा, देवेश गुप्ता, आचार्य राधेश्याम वासंतेय, ख्यालीराम लोधी, अनुज सक्सेना, संजीव अग्रवाल, प्रेमशंकर पांडेय, राजू शर्मा, शिवा शर्मा, नरेंद्र सिंह गंगवार आदि  शामिल रहे।

भारत माता की जय के साथ शुरू किया संबोधन
केंद्रीय मंत्री मुख्तार अब्बास नकवी ने अपना संबोधन भारत माता की जय के जयघोष के साथ शुरू किया। मंच अभिवादन के बाद उन्होंने जब संबोधन शुरू किया तो सबसे पहले भारत माता की जय का उद्घोष किया, इस दौरान पीछे बैठे कार्यकर्ताओं की आवाज न आने पर उन्होंने टोकते हुए फिर उद्घोष किया।
... और पढ़ें

रामपुर: पाकिस्तान पर जमकर बरसे नकवी, बोले- भारतीय मुसलमानों ने हमेशा आतंकवाद को ठुकराया है

भाजपा के वरिष्ठ नेता व केंद्रीय मंत्री मुख्तार अब्बास नकवी सोमवार दोपहर रामपुर पहुंचे, जहां वो पाकिस्तान पर जमकर बरसे। नकवी ने बड़ी संख्या में लोगों को संबोधित करते हुए कहा कि बदहवास पाकिस्तान के शासक, उनके आतंकी दोस्त और आईएसआई, भारतीय मुसलमानों की राष्ट्रभक्ति और अमन पसंदगी पर भी सवाल खड़ा करने की कायराना साजिश करने की कोशिश कर रहे हैं, लेकिन इन आतंक के आकाओं को समझ लेना चाहिए कि भारत में अल-कायदा, इस्लामिक स्टेट जैसे आतंकी संगठनों की शैतानी हरकतें और जड़ें नहीं जम पाई हैं तो इसमें भारत के मुसलमानों की राष्ट्रवादी सोच का बड़ा योगदान है।

नकवी ने कहा कि भारतीय मुसलमानों ने हमेशा आतंकवाद को ठुकराया है और अमन और इंसानियत का साथ दिया है। उन्होंने कहा कि पाकिस्तान आतंकवादी गैंग का गैंगस्टर बन गया है जो पूरे विश्व के अमन और इंसानियत के लिए खतरा है। जिस बात को भारत ने बहुत पहले समझ लिया था उसे आज पूरी दुनिया समझ चुकी है।

इस दौरान उन्होंने अनुच्छेद 370 हटाए जाने के फैसले के बारे में कहा कि  जम्मू-कश्मीर और लद्दाख की जनता की खुशहाली पर से 370 के काले बादल भी छंट गए हैं। पाकिस्तान, आतंकवादियों और अलगाववादियों की बेचैनी-बौखलाहट का यही कारण है। 
 
... और पढ़ें

आजम की गैरमौजूदगी खलती रही सपाइयों को

रामपुर। अखिलेश यादव के दो दिवसीय दौरे के कार्यक्रम के दौरान सपाइयों को आजम खां की गैरमौजूदगी खलती रही। यह ऐसा पहला मामला था कि उनके समर्थन में पार्टी का कोई बड़ा नेता हो और मौजूद ना हों। हालांकि कहा जा रहा है कि बंद कमरे में आजम-अखिलेश की मुलाकात हुई थी, लेकिन आजम सार्वजनिक रूप से सामने नहीं आए थे। आजम की गैर मौजूदगी में अखिलेश सपाइयों में वह जोश नहीं भर पाए, जिसकी आवश्यकता है।
वह भी एक दौर था कि जब रामपुर में आजम खां गरजते थे तो लखनऊ में मुख्यमंत्री का कार्यालय हिलने लगता था। सपा का कोई नेता उनकी अनुमति के बिना रामपुर आने की जहमत नहीं उठाता था। आठ-नौ विभागों के मंत्री होते हुए भी आजम खां प्रत्येक शुक्रवार की रात रामपुर आ जाते थे और रविवार की रात लखनऊ के लिए रवाना होते थे। रेलवे स्टेशन पर उनको रिसीव करने और छोड़ने जाने के लिए कार्यकर्ताओं का हुजूम सा उमड़ जाता था। वहीं आजम खां वह मुश्किलों से घिरे हुए हैं। किसानों की जमीन कब्जाने से लेकर बकरी चोरी और भैंस चोरी सहित अन्य कई संगीन धाराओं में उनके खिलाफ 81 मुकदमे दर्ज हो चुके हैं। इसके अलावा स्थानीय सपा कार्यकर्ताओं के खिलाफ भी ताबड़तोड़ मुकदमें दर्ज हो रहे हैं। इस कार्रवाई के डर से आजम खां के करीबी सपाई रामपुर से गायब हैं। ऐसे में आजम खां अपनी इस लड़ाई में कमजोर और अकेले पड़ते दिख रहे हैं। लिहाजा, पिछले दिनों सपा संरक्षक मुलायम सिंह यादव ने प्रेस कांफ्रेंस के जरिए कार्यकर्ताओं से अपील की थी कि आजम खां के खिलाफ हो रहे अन्याय को लेकर सड़कों पर विरोध प्रदर्शन किया जाए।
सपा संरक्षक की इसी अपील के बाद सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव का रामपुर आगमन हुआ। उनके दौरे से लपहले माना जा रहा कि प्रदेश के दूसरे जिलों से भी सपाईयों की भारी भीड़ रामपुर में जुटेगी। इसके अलावा स्थानीय कार्यकर्ताओं का भी जमावड़ा रहेगा, लेकिन अखिलेश यादव के आगमन के बाद अधिकांश भीड़ दूसरे जिलों की थी। स्थानीय स्तर पर सिर्फ आजम खां के करीबी लोग ही नजर आए। ग्रामीण क्षेत्रों से भी सपाई नहीं जुट सके। इससे पहले भी अखिलेश यादव का रामपुर आगमन हुआ है, लेकिन इतनी कम भीड़ कभी देखने को नहीं मिली। ऐसा माना जा रहा है कि आजम खां की गैरमौजूदगी से कार्यकर्ताओं के उत्साह कम होता जा रहा है।
... और पढ़ें
अपने शहर की सभी खबर पढ़ने के लिए amarujala.com पर जाएं

Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google, और सोशल मीडिया साइट्स, जैसे की Facebook, के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।

Agree