विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
सर्वपितृ अमावस्या को गया में अर्पित करें अपने समस्त पितरों को तर्पण, होंगे सभी पूर्वज प्रसन्न, 28 सितम्बर
Astrology Services

सर्वपितृ अमावस्या को गया में अर्पित करें अपने समस्त पितरों को तर्पण, होंगे सभी पूर्वज प्रसन्न, 28 सितम्बर

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

From nearby cities

अयोध्या प्रकरणः कल्याण सिंह बतौर आरोपी 27 को अदालत में तलब, विशेष न्यायाधीश ने दिया आदेश

अयोध्या प्रकरण के विशेष न्यायाधीश सुरेंद्र कुमार यादव ने पूर्व मुख्यमंत्री व राजस्थान के पूर्व राज्यपाल कल्याण सिंह को बतौर आरोपी तलब किया है।

22 सितंबर 2019

विज्ञापन
विज्ञापन

बांदा

रविवार, 22 सितंबर 2019

बांदा: सपा नेत्री की हत्या में देवर को उम्रकैद, 20 हजार का लगाया जुर्माना

कातिलों के लिए काल बन सकते हैं मासूम बेटी के बयान

बांदा। माता-पिता और दो भाइयों के कातिलों के लिए काल बन सकते हैं मासूम बेटी के बयान। महज सात वर्ष की अनाथ बेटी ने गुरुवार को अदालत में चौथी बार अपने बयान दर्ज कराए।
कोतवाली नगर के कताई मिल के पास 31 जनवरी 2018 की रात सोते समय महादेव यादव और उसकी पत्नी चुन्नी तथा दो पुत्र पवन कुमार (10) व राजकुमार (8) की सामूहिक हत्या कर दी गई थी। इसमें पड़ोसी गोलू उर्फ अमित यादव उसकी मां और मामा नामजद आरोपी हैं। तीनों जेल में हैं।
यहां सप्तम अपर जिला सत्र न्यायाधीश की अदालत में सुनवाई हो रही है। तीनों आरोपियों पर चार्जशीट दाखिल हो चुकी है। रिपोर्ट दर्ज कराने वाले रघुनंदन यादव (मृतक महादेव का भाई) के बयान दर्ज हो चुके हैं। घटना की चश्मदीद गवाह मृतक महादेव की 7 वर्षीय पुत्री कुमारी रानशी के बयान चल रहे हैं। गुरुवार को कड़े पुलिस पहरे में रानशी को अदालत में लाया गया।
मासूम रानशी को अदालत में पेश करने के लिए कुर्सी पर खड़ा किया गया। ताकि न्यायाधीश से रूबरू हो सके। पूरे दिन लगभग 5 घंटे रानशी बचाव पक्ष के वकील मनोज यादव के सवालों का सामना करती रही। रानशी ने बताया कि घटना की रात वह भी उसी कमरे में थी, जिसमें माता-पिता और भाई की हत्या हुई। उसकी आंख खुली तो मारने वाला व्यक्ति उसकी चारपाई के पास खड़ा था। उसने कुर्सी के पीछे छिपकर अपनी जान बचाई थी। कई घंटे लगातार जिरह में सवालों का जवाब देती रही। अदालत ने महसूस किया कि बालिका थक गई है। उसकी उम्र का हवाला देकर जिरह के लिए अगली तारीख 25 सितंबर कर दी गई।
... और पढ़ें

जिनवाणी शोभा यात्रा में गूंजे महावीर के संदेश

बांदा। जैन समुदाय द्वारा मनाए जा रहे पर्यूषण पर्व के समापन पर गुरुवार को तारण तरण दिगंबर जैन समाज ने जिनवाणी की शोभा यात्रा निकाली। चांदी की पालकी में सुशोभित पवित्र ग्रंथ के साथ गाजे-बाजे के बीच महिलाओं और पुरुषों ने भगवान महावीर के संदेश वाले नारे लगाए। विशेष वस्त्रत्तें में महिलाएं और बालिकाएं आकर्षण का केंद्र रहीं।
चौहर, भजन और डांडिया नृत्य हुए। शोभा यात्रा की शुरूआत छोटी बाजार स्थित जैन धर्मशाला महावीर चौक (झंडा चौराहा) से हुई। शहर के विभिन्न मार्गों में भ्रमण के बाद वापस यहीं समापन हुआ। संरक्षक महेंद्र जैन सहित प्रकाश जैन, मिश्रीलाल जैन, भूपत जैन, मुकेश जैन, नरेंद्र जैन, सनत जैन, पुष्पेंद्र जैन, सुबोध जैन, दिनेश जैन, अरविंद जैन, राकेश जैन, कुलदीप महलवा, तपिश, संजू, दिलीप जैन, शैली, गोल्डी, नानू, साधना, सीमा, रश्मी, पूनम, पूजा, दिव्या, प्रिया, डॉली आदि शामिल रहे।
... और पढ़ें

मौसम विभाग की भविष्यवाणी, यूपी के कई शहरों में आज से 27 सितम्बर तक होगी झमाझम बारिश

झमाझम बारिश झमाझम बारिश

अनुबंध के बाद ही कार्य करेंगे बिजली ठेकेदार

बांदा। ईडीसी कांट्रेक्टर यूनियन के अंतर्जनपदीय सम्मेलन में ठेकेदारों की समस्याओं पर चर्चा हुई। कहा गया कि अब सिर्फ लेटर ऑफ इंटेंट (एलओआई) के आधार पर ठेकेदार काम नहीं करेंगे। अनुबंध होने पर ही काम किया जाएगा।
राजनारायण गुप्ता को सर्वसम्मति से यूनियन का जोनल अध्यक्ष चुना गया। मुख्य अभियंता को पांच सूत्री ज्ञापन सौंपा गया।
शनिवार को दक्षिणांचल पावर कांट्रेक्टर एसोसिएशन, आगरा और ईडीसी कांट्रेक्टर यूनियन की संयुक्त बैठक में बुंदेलखंड के सभी जिलों सहित आगरा के ठेकेदारों ने भी भाग लिया। समस्याओं पर चर्चा की। उनके निदान पर भी मंथन हुआ।
आगरा यूनियन के अध्यक्ष मनोज चौधरी और राजनारायण गुप्ता ने भी संबोधित किया। बैठक के बाद मुख्य अभियंता को संबोधित ज्ञापन दिया गया। इसमें कहा गया कि बिना अनुबंध के कार्य नहीं कराए जाएंगे। कामों के लिए विभाग पैसे की व्यवस्था करे। प्रबंध निदेशक के आदेश का हवाला देकर कहा कि कनेक्शन विच्छेदन का भुगतान ओएंडएम फंड से किया जाए। इसका उल्लेख अनुबंध में भी करने का निर्देश है। यह भी मांग की कि टेंडर खुलने के एक सप्ताह के अंदर दूसरे और तीसरे सबसे कम दरों वाले टेंडर दाता की ईएमडी एक सप्ताह के अंदर वापस की जाए। किसी भी कार्य के लिए पूरी सामग्री एक ही बार में स्टोर से उपलब्ध कराई जाए।
इस अवसर पर अवधेश सिंह, शैलेंद्र सिंह, प्रदीप शिवहरे, सचिन मिश्रा, हरेंद्र सिंह परिहार, राजन सिंह सेंगर, अरशद खां, रामलाल वर्मा, मुबीन खां, मुकेश रावत, मकबूल, दिनेश, मानिक चौरसिया आदि शामिल हैं।
... और पढ़ें

गेट मैन की हत्या के तीन आरोपी बरी

बांदा। मटौंध थाना क्षेत्र के करछा गांव निवासी राधेश्याम ने न्यायालय के आदेश पर रिपोर्ट दर्ज कराई थी कि 19 अप्रैल 2012 की सुबह उसके पिता चतुर्थ श्रेणी रेलवे कर्मचारी खैरार रेलवे स्टेशन के गेट पर ड्यूटी में थे। गांव के बल्देव मिश्रा पुत्र रामसेवक, पिंटू मिश्रा पुत्र बल्देव मिश्रा, ग्राम प्रधान बाबू सिंह आरख पुत्र मुल्लू ने उनकी गला दाबकर हत्या कर दी।
घटना के पीछे पुराना लेन-देन का विवाद था। पुलिस ने विवेचना के बाद आरोप पत्र अदालत में दाखिल कर दिया। शनिवार को पंचम अपर जिला सत्र न्यायाधीश रामकरन द्वितीय ने तीनो आरोपियो पर दोष सिद्ध न पाए जाने पर संदेह का लाभ देते हुए बरी कर दिया। आरोपियो की ओर से अधिवक्ता अशोक कुमार दीक्षित व ब्रजमोहन सिंह ने पैरवी की। ब्यूरो
... और पढ़ें

ट्रैक्टर पेड़ से टकराया, मजदूर की मौत, 15 घायल

बांदा। मजदूरों से भरी ट्रैक्टर ट्राली पेड़ से टकरा गई। उस पर सवार एक मजदूर की मौत हो गई और 15 घायल हो गए। गंभीर रूप से जख्मी दो मजदूरों को जिला अस्पताल में भर्ती कराया गया है।
बबेरू कोतवाली क्षेत्र के निभौर गांव के मजदूर शुक्रवार को देर रात जलालपुर से मजदूरी करके ट्रैक्टर पर लौट रहे थे। रास्ते में साइकिल सवार को बचाने में ट्रैक्टर पेड़ से जा टकराया। उस पर सवार बच्चा (30) पुत्र सुखुवा निषाद, नीरज (30) पुत्र नत्थू, कामता (25) पुत्र शिवप्रसाद समेत ट्राली में सवार सभी मजदूर घायल हो गए। उन्हें जिला अस्पताल लाया गया। यहां बच्चा को डाक्टरों ने मृत घोषित कर दिया।
नीरज व कामता का उपचार किया जा रहा है। अन्य 13 मजदूरों को प्राथमिक उपचार के बाद घर भेज दिया गया। मृतक के परिजन रात को ही बिना पोस्टमार्टम कराए शव घर ले गए। अन्य घटनाओं में अतर्रा थाना क्षेत्र के तेरा (ब) गांव का राजकरन (40) और शहर कोतवाली क्षेत्र के मवई बुजुर्ग गांव का श्याम सुंदर (40) पुत्र वीरेंद्र कुमार बाइक पर जाते समय अन्ना मवेशियों से टकराकर घायल हो गए।
उधर, शहर के छोटी बाजार निवासी रेखा (52) पत्नी शिवनारायण चित्रकूट से आते समय कर्वी स्टेशन में ट्रेन से गिरकर घायल हो गई। जिला अस्पताल में उसका उपचार किया जा रहा है।
... और पढ़ें

तबाही के निशान छोड़कर सिमटने लगी यमुना और केन

बांदा। कई दिनों तक तबाही मचाने के बाद यमुना और केन नदियां अब सिमटने लगी हैं। बीते 24 घंटों के दौरान दोनों नदियों के जल स्तर में लगभग 2-2 मीटर की कमी आई है। हालांकि अभी भी बाढ़ प्रभावित क्षेत्रों में लगभग तीन दर्जन गांवों में परेशानियां कम नहीं हुईं। पीड़ित परिवार ऊंचे स्थानों पर खुले आसमान तले या सरकारी भवनों में पनाह लिए हुए हैं। प्रशासन की ओर से राशन और दवाओं की व्यवस्था की जा रही है। पानी से खाली हुए स्थानों पर दवाओं का छिड़काव किया जा रहा है।
पैलानी, चिल्ला, बबेरू, कमासिन आदि क्षेत्रों में पिछले पांच दिनों से उफान पर रही यमुना नदी ने दर्जनों घरों को धराशाई कर दिया। कई हजार हेक्टेयर की खेती डूब गई। किसानों को भारी चपत लगी है। हालांकि जिलाधिकारी हीरा लाल के निर्देश पर राजस्व विभाग कर्मियों ने बाढ़ की चपेट में आई फसलों और मकानों के नुकसान का सर्वे शुरू कर दिया है।
एडीएम संतोष बहादुर सिंह ने बताया कि सर्वे सूची मिलते ही अहेतुक सहायता इत्यादि का वितरण शुरू हो जाएगा। उधर, बाढ़ पीड़ित पैलानी, जसपुरा, खप्टिहा कलां, चिल्ला, बबेरू, कमासिन, मरका आदि इलाकों में प्रशासन की ओर से राशन पहुंचाने की बात कही गई है। उधर, स्वास्थ्य विभाग की टीमें भी बाढ़ प्रभावित क्षेत्रों में कैंप लगाकर इलाज और दवा वितरण कर रही हैं। पानी कम होते ही ग्रामीण भी अपने घरों की सुध ले रहे हैं।
केंद्रीय जल आयोग द्वारा शनिवार को जारी बाढ़ पूर्वानुमान बुलेटिन में अधिशासी अभियंता मनोज कुमार ने बताया कि शनिवार को देर रात यमुना नदी का जल स्तर घटकर 101.85 मीटर पर आ जाएगा। इसके बाद भी जल स्तर घटने का पूर्वानुमान है। यमुना नदी में चिल्ला घाट पर खतरे का निशान 100 मीटर पर है। उधर, केन नदी का जल स्तर भी लगातार कम हो रहा है। शनिवार को यह खतरे के निशान से दो मीटर नीचे जाकर 102 मीटर पैमाने पर पहुंच गई।
गंगऊ और बरियारपुर बांधों से हो रहे डिस्चार्ज में लगातार आ रही कमी से केन का पानी और घटने का पूर्वानुमान बताया गया है। शनिवार को गंगऊ से 42,070 और बरियारपुर से 39,388 क्यूसिक पानी केन नदी में डिस्चार्ज हो रहा था। जबकि शुक्रवार को 71 हजार क्यूसिक पानी का डिस्चार्ज हो रहा था। बबेरू प्रतिनिधि के मुताबिक बाढ़ प्रभावित समगरा गांव में शनिवार को विधायक चंद्रपाल कुशवाहा ने पीड़ितों को लंच पैकेट बांटे। एसडीएम महेंद्र प्रताप, तहसीलदार विपिन कुमार, नायब तहसीलदार जितेंद्र सिंह भी उपस्थित थे।
बेंदा में बाढ़ पीड़ितों को दवाएं बांटी
तिंदवारी। बाढ़ प्रभावित बेंदा गांव में शनिवार को स्वास्थ्य विभाग की टीम ने कैंप लगाकर बाढ़ पीड़ितों को ब्लीचिंग पाउडर और क्लोरीन की गोलियां व अन्य दवाएं बांटीं। आगाह किया कि बाढ़ के बाद बीमारियों का खतरा बढ़ा रहता है। सफाई का विशेष ध्यान रखें। पीएचसी के डा.रूपेश त्रिपाठी, शोभित गुप्ता, फार्मेसिस्ट वीरेंद्र सिंह सहित ग्राम प्रधान प्रतिनिधि विवेक कुमार सिंह मौजूद रहे।
बाढ़ में बाल-बाल डूबने से बची यात्रियों से भरी कार
बांदा। इलाज के लिए कानपुर जा रहे मध्य प्रदेश के लोगों की इनोवा कार चिल्ला पुल के आगे सड़क पर यमुना नदी की बाढ़ में डूबते-डूबते बची। स्थानीय पुलिस ने तत्काल रेस्क्यू आपरेशन करते हुए कार सवारों को वाहन सहित सही सलामत बाहर निकाल लिया। बड़ा हादसा बाल-बाल बचा।
सतना (एमपी) से यह कार चालक दीनदयाल वर्मा लेकर कानपुर जा रहा था। इसमें मोहम्मद यूनुस कुरैशी अपनी मां को इलाज के लिए कानपुर ले जा रहे थे। चिल्ला पुल पार करते ही ललौली रोड पर कई दिनों से यमुना के भरे पानी से गुजरते समय कार का इंजन बंद हो गया।
कार में पानी भरने लगा। इसी दौरान ग्रामीणों ने देखा तो तत्काल चिल्ला थाने को सूचना दी। क्षेत्राधिकारी राघवेंद्र सिंह और चिल्ला प्रभारी निरीक्षक अन्य पुलिस कर्मियों के साथ तत्काल पहुंचे और रेस्क्यू आपरेशन करते हुए कार में फंसे दो पुरुष व तीन महिलाओं को कार सहित पानी के बाहर निकाला। उधर, ललौली (फतेहपुर) थाना प्रभारी भी आ गए।
बाढ़ का पानी उतरने के बाद जसपुरा क्षेत्र में दवाओं का छ़िड़काव करती स्वास्थ्य विभाग की टीम।
बाढ़ का पानी उतरने के बाद जसपुरा क्षेत्र में दवाओं का छ़िड़काव करती स्वास्थ्य विभाग की टीम।- फोटो : BANDA
बबेरू में बाढ़ ग्रस्त क्षेत्र में एसडीएम को निर्देश देते विधायक चंद्रपाल कुशवाहा।
बबेरू में बाढ़ ग्रस्त क्षेत्र में एसडीएम को निर्देश देते विधायक चंद्रपाल कुशवाहा।- फोटो : BANDA
... और पढ़ें

बांदा और चित्रकूट में खुलेंगे छह पशु चिकित्सालय

बांदा। चित्रकूटधाम मंडल के बांदा और चित्रकूट जिले में 6 पशु चिकित्सालय व एक पशु केंद्र खुलेगा। इसके लिए हाल ही में स्थानीय विधायकों ने प्रदेश सरकार को प्रस्ताव भेजे थे। सरकार ने उन्हें स्वीकृति देने के साथ ही 2.15 करोड़ रुपये का बजट भी जारी कर दिया है। भवन निर्माण का कार्य निर्माण एजेंसी पैक्सपैड को सौंपा गया है। महोबा और हमीरपुर के विधायकों ने इसके प्रस्ताव नहीं भेजे थे।
पशु चिकित्सालय निर्माण के लिए प्रदेश सरकार ने मंडल के सभी विधायकों से अपने क्षेत्र में पशु चिकित्सालय खोलने के लिए कई माह पूर्व प्रस्ताव मांगे थे। इस पर मंडल से बांदा और चित्रकूट जिलों के विधायकों ने अपने क्षेत्रों के लिए कुल 15 पशु चिकित्सालयों के प्रस्ताव भेजे थे।
इनमें शासन ने 6 को मंजूरी दे दी है। बांदा के नरैनी ब्लाक में चकलापुरवा व रौली कल्याणपुर, महुआ ब्लाक में खुरहंड, बिसंडा ब्लाक में ओरन तथा बबेरू में औगासी शामिल हैं। चित्रकूट में मानिकपुर के रुकमा खुर्द व घुरेटनपुर में प्रस्तावों को स्वीकृति दी गई है।
प्रत्येक पशु चिकित्सालय के भवन निर्माण के लिए 20.17 लाख रुपये स्वीकृत किए गए हैं। इसके अलावा बबेरू के औगासी में पशु केंद्र के लिए 14.66 लाख रुपये दिए हैं। हमीरपुर और महोबा के विधायकों ने प्रस्ताव नहीं भेजे।
पशुपालन विभाग के उप निदेशक मनोज अवस्थी ने बताया कि भवन निर्माण की धनराशि कार्यदायी संस्था को दे दी गई है। निर्देश दिए गए हैं कि भवन निर्माण जल्द शुरू कराकर अगले वर्ष मार्च माह तक पूरा करें।
... और पढ़ें

स्वदेशी चित्रकला में छात्राओं ने बाजी मारी

बबेरू। अमर उजाला और उत्तर प्रदेश खादी तथा ग्रामोद्योग बोर्ड के संयुक्त तत्वावधान में आयोजित स्वदेशी चित्रकला प्रतियोगिता में छात्र-छात्राओं ने स्वदेशी थीम पर विभिन्न संदेश देने वाले आकर्षक पोस्टर बनाए। निर्णायकों ने इनमें तीन को प्रथम, द्वितीय व तृतीय पुरस्कार के लिए चुना। छात्राओं का पलड़ा भारी रहा। तीनों पुरस्कार उन्होंने जीते।
शनिवार को यहां जेपी शर्मा इंटर कालेज में आयोजित स्वदेशी चित्रकला प्रतियोगिता (ड्राइंग कंप्टीशन) में विद्यालय के एक सैकड़ा छात्र-छात्राओं ने भाग लिया। दी गई ड्राइंग शीट पर छात्र-छात्राओं ने पूरे उत्साह और लगन से स्वदेशी विषय पर आकर्षक चित्र बनाए। किसी ने गांधी जी का प्रिय चरखा बनाया तो किसी ने राष्ट्रपिता को चित्रांकित किया।
कई प्रतिभागी छात्र-छात्राओं ने स्वदेशी को प्रेरणा देने वाले आकर्षक स्लोगन भी लिखे। प्रधानाचार्य डा.अनिल कुमार सिंह के निर्देशन में इंटर कालेज में प्रतियोगिता का आयोजन हुआ। प्रतियोगिता समाप्त होने के तत्काल बाद ही विद्यालय के निर्णायक मंडल ने सभी शीट (पोस्टर) का बारीकी से अवलोकन करने के बाद प्रथम, द्वितीय और तृतीय स्थान निर्धारित किए।
कुमारी अदिति पटेल (10बी-1) को प्रथम स्थान घोषित किया गया। आकांक्षा गुप्ता (12डी-2) के पोस्टर को दूसरा स्थान मिला। प्रेरणा सिंह (11डी-2) को तृतीय स्थान प्राप्त हुआ। तीनों प्रतिभागियों ने राष्ट्रपिता महात्मा गांधी को चरखे पर सूत कातते हुए विभिन्न स्वरूपों में दर्शाया था। निर्णायकों में नीरज मिश्रा, धर्मेंद्र चतुर्वेदी और राजीव मिश्रा शामिल थे। प्रतियोगिता के दौरान कालेज के पंकज गुप्ता, पारस प्रजापति, मिथलेश, राजू मिश्रा ने कक्ष निरीक्षक के रूप में दायित्व संभाला। शिवगोपाल गुप्ता, पीके सिंह, विवेक गुप्ता, सूर्यकांत दुबे, रामेश्वर, नीरज, मुकेश वर्मा, अभिषेक गुप्ता, बाबूलाल गुप्ता आदि उपस्थित रहे।
... और पढ़ें

युवती फांसी पर झूली

बांदा। महालक्ष्मी पर्व पर गृहलक्ष्मी ने फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली। उधर, दूसरी घटना में रेलवे ट्रैक पर वृद्ध की संदिग्ध परिस्थितियों में मौत हो गई। पुलिस और परिजन इसे दुर्घटना बता रहे हैं।
कोतवाली देहात क्षेत्र के जमालपुर गांव में माया (25) पत्नी रामप्रकाश ने शनिवार को सुबह ससुराल में कमरे में अपनी साड़ी से फांसी लगा ली। परिजन उसे तत्काल जिला अस्पताल लाए, यहां डाक्टरों ने मृत घोषित कर दिया। मृतका के भाई रमेश (कुशवाहा नगर, बांदा) ने बताया कि माया की शादी 2013 में हुई थी।
चार दिन पूर्व मां विद्या माया की ससुराल आई थी, लेकिन माया ने कोई दिक्कत नहीं बताई। ऐसे में आत्महत्या की वजह फिलहाल पता नहीं चल पा रही। उधर, पति का कहना है कि घरेलू बात पर मामूली कहासुनी हो गई थी। इसी से क्षुब्ध होकर माया ने आत्महत्या कर ली। पुलिस ने शव का पोस्टमार्टम कराया है। कोतवाली प्रभारी निरीक्षक रामाश्रय यादव ने बताया कि न तहरीर मिली है, पोस्टमार्टम रिपोर्ट।
एक अन्य घटना में शहर कोतवाली क्षेत्र के पल्हरी गांव का सुखराम (60) पुुत्र टेरिया का शुक्रवार को शाम परशुराम तालाब के पास रेलवे ट्रैक पर शव मिला। अलीगंज चौकी प्रभारी ओपी द्विवेदी व पत्नी फूला देवी ने बताया कि पटरी पार करते समय सुखराम ट्रेन की चपेट में आ गया था। शव का पोस्टमार्टम कराया है।
... और पढ़ें

सेंध लगाकर 43 हजार रुपये व जेवर की चोरी

बांदा। शहर कोतवाली क्षेत्र में नेशनल हाईवे किनारे विधवा मजदूर पेशा महिला के मकान में चोरों ने सेंधमारी कर हजारों रुपये और जेवर पार कर दिए। विधवा नवरात्र पर नवदुर्गा प्रतिमा स्थापित करने के लिए मूर्ति खरीदने को उसी दिन बैंक से 25 हजार रुपये निकालकर लाई थी। इस रकम सहित पुत्रियों के 18 हजार रुपये भी चोरी हो गए।
घटना शहर के केवटरा बैरियर के पास की है। यहां रह रही प्रेमा पत्नी गया प्रसाद द्वारा कोतवाली में दी गई तहरीर में बताया है कि बीती रात वह अपनी पुत्री व बहन के साथ घर के आंगन में सो रही थी। रात में किसी समय अज्ञात चोर पक्की दीवार में सेंध लगाकर अंदर दाखिल हुए और कमरे में रखे बक्शे का ताला तोड़कर मूर्ति खरीदने के लिए बैंक से निकाले 25 हजार रुपये, पुत्री रजनी के 5000 रुपये, पुत्री नीतू के 8000 रुपये और बहन कल्ली के 5000 रुपये तथा चांदी की पायल पार कर दी।
बक्से का अन्य सामान वहीं बाहर फेंककर चोर फरार हो गए। बलखंडी नाका चौकी प्रभारी अजय कुमार सिंह ने पुलिस कर्मियों के साथ घटनास्थल का निरीक्षण किया। उन्होंने बताया कि चोरों की सुरागरशी के लिए प्रयास शुरू कर दिए गए हैं।
सरेशाम ताले तोड़कर लाखों की चोरी
नरैनी। बारिश के बीच सरेशाम चोरों ने घर में धावा बोलकर 72 हजार रुपहये और कई लाख रुपये जेवर पार कर दिए। घटना शुक्रवार को शाम करीब 5 बजे की है। यहां पटेल नगर निवासी प्रमोद करवरिया परिजनों के साथ दरवाजे पर बैठे थे। बारिश हो रही थी।
करीब आधा घंटे बाद वह अंदर गए तो ऊपरी मंजिल में कमरे का ताला और दरवाजे खुले मिले। कमरे में रखे बक्से से लगभग 200 ग्राम सोना और दो किलो चांदी के जेवर तथा 72 हजार रुपये नदारद थे। टीवी टूटा पड़ा था। गृह स्वामी की सूचना पर कोतवाली प्रभारी दीपक कुमार पांडेय ने घटनास्थल का निरीक्षण किया। इसके पूर्व 19 अगस्त यहां किदवई नगर में रामविलास गुप्ता के घर से शाम को ही लगभग 10 लाख रुपये की चोरी हुई थी। उसका भी आज तक खुलासा नहीं हुआ।
... और पढ़ें

35 गांवों में तबाही मचा नर्म पड़े यमुना और केन के तेवर

बांदा। जिले की दो तहसील क्षेत्रों में यमुना और केन की बाढ़ का कहर जारी है। बाढ़ प्रभावित लगभग 35 गांवों के ज्यादातर लोग घर छोड़कर सरकारी स्कूलों या ऊंचाई वाले स्थानों पर पॉलिथीन की झोपड़ी बनाकर शरण लिए हैं। यमुना खतरे के निशान से करीब पौने तीन मीटर ऊपर है। शनिवार की शाम केंद्रीय जल आयोग द्वारा जारी बाढ़ बुलेटिन में यमुना का जलस्तर घटने का पूर्वानुमान बताया गया है, जो एक सेंटीमीटर प्रति घंटा घटेगी। उधर, केन नदी के जलस्तर में दो मीटर की कमी आई है। गंगऊ और बरियारपुर बांधों से डिस्चार्ज काफी घट गया है।
शनिवार को यमुना और केन की बाढ़ से प्रभावित पैलानी तहसील के लगभग 35 गांवों में पानी भरा रहा। कई कच्चे मकान धराशायी हो गए। पक्के मकान वालों ने अपना सामान ऊपरी मंजिल पर रख लिया है। तमाम ग्रामीणों ने घर छोड़कर गांव के स्कूल भवन या ऊंचे स्थानों पर खुले आसमान तले पॉलिथीन लगाकर शरण ले ली है। ग्रामीण अपने साथ पशु भी रखे हैं। इन बाढ़ पीड़ितों को अभी जरूरत का राशन, मिट्टी का तेल, दवाएं आदि नहीं मिल रहे हैं।
हालांकि प्रशासन ने राहत कार्यों की शुरुआत कर दी है। शनिवार को एडीएम संतोष बहादुर सिंह, अपर एसपी एलबीके पाल, एसडीएम पैलानी मंसूर अहमद, तहसीलदार राजीव निगम आदि ने पुलिस की स्टीमर से बाढ़ से घिरे कई गांवों का जायजा लिया। उधर, क्षेत्रीय विधायक बृजेश प्रजापति ने भी तारा, खजुरी, चिल्ला आदि गांवों में पैदल और नाव के जरिए जायजा लिया। बाढ़ पीड़ितों को लाई-चना और सिर छिपाने को आशियाना बनाने के लिए पन्नी बांटी। उनके साथ एसडीएम मंसूर अहमद, सीएमओ डॉ. संतोष कुमार और चिल्ला थाना इंस्पेक्टर तथा पैलानी नायब तहसीलदार भी थे। शनिवार को शाम केंद्रीय जल आयोग के अधिशासी अभियंता मनोज कुमार द्वारा जारी पूर्वानुमान बुलेटिन में कहा गया है कि यमुना नदी के रविवार को सुबह 9 बजे 102.37 मीटर पैमाने पर आ जाने का अनुमान है, यानी रातभर में 16 सेंटीमीटर जल स्तर घटेगा।
केन का पानी घटने से मिली राहत
खप्टिहा कलां। केन नदी की बाढ़ में लगाम लगने से पैलानी कस्बा सहित इससे प्रभावित गांवों में ग्रामीणों ने राहत महसूस की है। शंकर पुरवा, सेमरा डेरा में केन का पानी भरा हुआ है। यहां दर्जनों निषाद बिरादरी के लोग पलायन कर गए हैं। उनके घरों में पानी भर गया है। यह गढ़ी टीला में खुले आसमान तले शरण लिए हुए हैं। सेमरा डेरा में लेखपाल कृष्णचंद्र ने बाढ़ पीड़ितों को सुरक्षित स्थानों पर भेजने के लिए लगातार लगे हुए हैं। चिल्ला प्रतिनिधि के मुताबिक खजुरी व तारा गांवों में अभी स्थिति में सुधार नहीं हुआ। चिल्ला कस्बे में दुकानों तक पानी भरा हुआ है।
खुले में रहने को मजबूर ग्रामीण
कमासिन। यमुना और बागै नदियों की बाढ़ ने इस क्षेत्र के कई गांवों में बर्बादी मचा रखी है। अछरील, कुचौली और इटर्रा गांव सबसे ज्यादा प्रभावित हैं। इन गांवों में आबादी तक पानी भर गया है। दो दर्जन से ज्यादा परिवार खुले आसमान तले डेरा डाले हुए हैं। शनिवार को एसडीएम महेंद्र प्रताप और तहसीलदार विपिन कुमार ने अछरील में बाढ़ पीड़ितों को लाई और चना बांटा। बागै, पैसुनी व रवाय जैसी छोटी नदियों के उफान से भी यह गांव प्रभावित हैं। लगभग दो दर्जन कच्चे मकान ध्वस्त हो गए हैं।
बांधों से एक लाख क्यूसेक पानी घटा
बांदा। मध्य प्रदेश के जल संग्रह क्षेत्रों में बारिश में आई कमी से गंगऊ और बरियारपुर बांधों में बाढ़ भी काफी कम हो गई है। इन बांधों से केन नदी में डिस्चार्ज हो रहे पानी में 24 घंटे के दौरान करीब एक लाख क्यूसेक पानी की कमी आई है। शनिवार को गंगऊ से 69,884 और बरियारपुर बांध से 71,493 क्यूसेक पानी केन नदी में डिस्चार्ज हो रहा था, जबकि शुक्रवार को इन बांधों से 1.70 लाख क्यूसेक पानी डिस्चार्ज हो रहा था। बांधों के डिस्चार्ज में कमी से केन नदी का जलस्तर भी घटने लगा है। शुक्रवार की रात खतरे के निशान तक पहुंचने के बाद शनिवार को सुबह से यह घटने लगी। लगभग दो मीटर कमी के साथ 102 मीटर पर आ गई। आगे भी इसके घटते रहने का पूर्वानुमान है।
चित्रकूटधाम मंडल के 10 बांधों में हुई बारिश
बांदा। बीते 24 घंटे के दौरान चित्रकूटधाम मंडल के 13 में से 10 बांधों में बारिश हुई है। सबसे ज्यादा 55 मिलीमीटर पानी गुंता बांध (चित्रकूट) में बरसा है। गंगऊ (छतरपुर) में 51 मिमी, रनगवां में 20, बरियारपुर में 10, ओहन में 21, बरुआ बांध में 34, अर्जुन (महोबा) बांध में 10, चंद्रावल (महोबा) में 5, मझगवां (महोबा) बांध में 15, उर्मिल (महोबा) बांध में 10 और रसिन (चित्रकूट) बांध में 35 मिलीमीटर बारिश हुई है। उधर, बांदा में 19.20 मिलीमीटर, चित्रकूट में 6 मिलीमीटर और महोबा में दो मिलीमीटर बारिश बताई गई है। शनिवार को शाम भी घने बादलों के साथ चित्रकूटधाम मंडल के कई इलाकों में बारिश होती रही। यह देर रात तक जारी थी।
नाले भी उफान पर
बांदा। बारिश से नाले भी उफान पर हैं। सदर तहसील के लोहारी गांव में शनिवार को उफनाए सैमरी नाले से गांव के अंदर पानी दाखिल हो गया। मौके पर पहुंचे सदर तहसीलदार अवधेश कुमार निगम ने बताया कि दो परिवारों को सुरक्षित स्थान पर पहुंचा दिया गया है। लोहारी और माचा गांवों में खेत भी जलमग्न है। लेखपालों से नुकसान का सर्वे कराया जा रप्तहा है। ब्यूरो
पुलिस स्टीमर में एडीएम, एएसपी व एसडीएम।
पुलिस स्टीमर में एडीएम, एएसपी व एसडीएम।- फोटो : BANDA
बाढ़ से बचाने के लिए पेड़ पर रखी गई गृहस्थी।
बाढ़ से बचाने के लिए पेड़ पर रखी गई गृहस्थी।- फोटो : BANDA
बाढ़ प्रभावित इलाकों के मरीजों की जांच करती स्वास्थ्य विभाग की टीम।
बाढ़ प्रभावित इलाकों के मरीजों की जांच करती स्वास्थ्य विभाग की टीम।- फोटो : BANDA
नाव से सुरक्षित स्थानों पर जाते बाढ़ प्रभावित।
नाव से सुरक्षित स्थानों पर जाते बाढ़ प्रभावित।- फोटो : BANDA
बाढ़ पीड़ितों को पॉलिथिन देते विधायक बृजेश प्रजापति।
बाढ़ पीड़ितों को पॉलिथिन देते विधायक बृजेश प्रजापति।- फोटो : BANDA
... और पढ़ें
अपने शहर की सभी खबर पढ़ने के लिए amarujala.com पर जाएं

Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google, और सोशल मीडिया साइट्स, जैसे की Facebook, के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।

Agree