विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
हनुमान जयंती पर नौकरी प्राप्ति, आर्थिक उन्नत्ति, राजनीतिक सफलता एवं शत्रुनाशक हनुमंत अनुष्ठान - 8 अप्रैल 2020
Astrology Services

हनुमान जयंती पर नौकरी प्राप्ति, आर्थिक उन्नत्ति, राजनीतिक सफलता एवं शत्रुनाशक हनुमंत अनुष्ठान - 8 अप्रैल 2020

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

रेड जोन घोषित इलाकों में 60 हजार घरों के लोग चार दिन रहेंगे कैद, अघोषित कर्फ्यू जैसा होगा माहौल

कानपुर में रेड जोन घोषित क्षेत्रों के करीब 60 हजार घरों के लोग चार दिन तक घर से बाहर नहीं निकल पाएंगे। स्वास्थ्य विभाग और नगर निगम की टीमें जब तक एक-एक घर में पहुंचकर स्वास्थ्य परीक्षण नहीं करा लेतीं इन इलाकों में अघोषित कर्फ्यू जैसा माहौल रहेगा।

6 अप्रैल 2020

विज्ञापन
विज्ञापन

बलरामपुर

सोमवार, 6 अप्रैल 2020

लॉकडाउन का उल्लंघन करने पर आठ के खिलाफ केस

महराजगंज तराई (बलरामपुर)। स्थानीय थाने में लॉकडाउन का उल्लंघन करने आठ के खिलाफ केस दर्ज किया गया है। स्थानीय थाने की पुलिस ने क्षेत्र के लोगों को लॉकडाउन के दौरान घरों में रहकर सतर्कता बरतने का निर्देश दिया है। घरों से बाहर घूमते हुए पाए जाने पर कार्रवाई की चेतावनी दी गई है।
प्रभारी निरीक्षक थाना महराजगंज तराई राजेश कुमार ने गुरुवार को बताया कि लॉकडाउन का उल्लंघन करने पर आठ के खिलाफ सुसंगत धाराओं में केस दर्ज किया गया है। लॉकडाउन में बेवजह घर से बाहर घूमनेे व लॉकडाउन तोड़ने पर कार्रवाई की गई है। सभी लोगों को घरों में रहने का निर्देश दिया गया है। कर्मवीरों की तरफ से लोगों को घर पर ही खाने-पीने के सामान मुहैया कराए जा रहे हैं।
... और पढ़ें

लॉकडाउन तोड़ने वालों पर होगी कड़ी कार्रवाई

बलरामपुर। लॉकडाउन सफल बनाने के लिए प्रशासन ने कमर कस ली है। लॉकडाउन तोड़ने वालों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की चेतावनी दी गई है। डीएम कृष्णा करुणेश व एसपी देवरंजन वर्मा ने बुधवार को बताया कि शहर से गांवों तक कड़ी नजर रखी जा रही है। घरों से बेवजह बाहर निकलने वालों के खिलाफ तुरंत कार्रवाई की जाएगी। डीएम व एसपी ने लोगों को घरों में रहने की सख्त हिदायत दी है।
कोरोना वायरस के नोडल अधिकारी व एसीएमओ डॉ. एके सिंघल ने बुधवार को बताया कि स्वास्थ्य विभाग लोगों से बार-बार सतर्कता बरतने की अपील कर रहा है। कोरोना से बचाव का सावधानी ही एकमात्र उपाय है। सर्दी, खांसी व बुखार से पीड़ित होने पर घबराएं नहीं बल्कि सतर्कता बरतें।
साधारण लक्षण दिखने वाले व्यक्ति को एक हवादार व साफ-सुथरे कमरे में घर के अन्य सदस्यों से अलग रखें। पीड़ित व्यक्ति के संपर्क में न रहें। उसके साथ में भोजन आदि भी न करें। पीड़ित व्यक्ति को सादा डिस्पोजल मास्क पहनाएं, जिससे खांसने व छींकने से निकली संक्रमित छोटी-छोटी बूंदों को फैलने से रोका जा सके।
मास्क उपलब्ध न होने की स्थिति में साफ रुमाल का इस्तेमाल करें। पीड़ित व्यक्ति के खाने के बर्तन और बिस्तर अलग रखें। इन्हें रोजाना साफ करें। जिस कमरे में उसके रहने की व्यवस्था हो उस कमरे की कुर्सियों, मेजों, दरवाजों, दीवारों, फर्श और अन्य सतही चीजों को रोजाना एक लीटर पानी में 15 ग्राम ब्लीचिंग पाउडर का घोल बनाकर सफाई करें।
बुखार होने की स्थिति में पानी से त्वचा पर पट्टी रखें। जल्द राहत के लिए तौलिया लें और इन्हें कांख, बगल और कमर में लगाएं। बार-बार बदलते रहे। खांसी और बुखार होने पर घर में रहें। पैरासिटामॉल की गोली ली जा सकती है। 60 वर्ष से अधिक के बुजुर्गों को घर के सदस्यों से दूरी बनाकर रखें क्योंकि उनमें कोरोना के गंभीर होने का खतरा अधिक रहता है। बार-बार अपना चेहरा, नाक या आंख को हाथ से न छुएं।
... और पढ़ें

जमात के लोगों को दिन भर खोजती रही पुलिस

बलरामपुर। बीते दिनों दिल्ली की तबलीगी जमात में शामिल लोगों को ढूंढने के लिए प्रशासन व पुलिस ने बुधवार को जमकर पसीना बहाया। उतरौला एसडीएम एके गौड़ व सीओ मनोज कुमार यादव ने क्षेत्र की मस्जिदों का जायजा लिया और यह पता लगाया कि वहां कोई बाहरी व्यक्ति तो नहीं ठहरा है।
एसपी देवरंजन वर्मा ने बताया कि सभी संभावित जगहों पर पुलिस तथा प्रशासन की टीम ने जांच पड़ताल की। समाचार लिखे जाने तक कोई भी संदिग्ध या बाहरी व्यक्ति नहीं मिला था। कोरोना के संक्रमण की संभावना को देखते हुए एसपी ने यह भी बताया कि जांच पड़ताल का क्रम देर शाम तक जारी रहेगा। पूरी जांच पड़ताल के बाद ही स्थित स्पष्ट हो जाएगी।
अभी तक जमात में शामिल जिले के एक व्यक्ति की शिनाख्त हो पाई है। उतरौला तहसील के ग्राम बलुआ जंगली निवासी मोहम्मद यूनुस दिल्ली की तबलीगी जमात में शामिल हुए थे। एसडीएम उतरौला ने बताया कि युनुस जमात के बाद घर नहीं लौटे है। वह दिल्ली स्थित अस्पताल में भर्ती है और उनकी जांच रिपोर्ट निगेटिव आई है।
... और पढ़ें

लॉकडाउन को सफल बनाने में धर्मगुरुओं से ली जाएगी मदद

बलरामपुर। लॉकडाउन को सफल बनाने में धर्मगुरुओं से मदद ली जाएगी। कोतवाली व थानों में बैठकें कर धर्मगुरुओं से सहयोग करने की अपील की गई है। बैठक के दौरान सोशल डिस्टेंसिंग का पूरी तरह से अनुपालन किया गया है। एसपी देवरंजन वर्मा ने रविवार को बताया कि जिले की सभी कोतवाली व थानों में प्रभारी निरीक्षकों ने बैठकें कराकर धर्मगुरुओं से लॉकडाउन को सफल बनाने की रणनीति तैयार की है।
नगर कोतवाली में धर्मगुरुओं की बैठक को संबोधित करते हुए एडीएम वित्त एवं राजस्व अरुण कुमार शुक्ल ने कहा कि कोरोना जैसी महामारी से निपटने के लिए हम सभी को जागरूक होने की जरूरत है। जागरूकता को बढ़ाने के लिए सभी धर्मों के धर्मगुरु आगे आएं और लोगों को सरकार व प्रशासन के फैसले का अनुपालन कराएं। एएसपी अरविंद मिश्र ने बैठक में कहा कि प्रशासन की तरफ से खाद्य व आवश्यक सामग्री की खरीददारी के लिए सोशल डिस्टेंसिंग की जो सीमा निर्धारित की गई उसका सभी लोग अनुपालन करें। बेवजह लोग घर से बाहर न निकलें।
देहात कोतवाली, उतरौला कोतवाली, गैसड़ी कोतवाली व जरवा कोतवाली और पचपेड़वा, गौरा चौराहा, महराजगंज तराई, हरैया, ललिया, तुलसीपुर, रेहरा बाजार व सादुल्लाहनगर थानों में भी धर्मगुरुओं के साथ बैठक कर गरीबों व बेसहारों को यथासंभव मदद व जांच के लिए पहुंचने वाली मेडिकल टीम की मदद करने की अपील की गई।
... और पढ़ें

विदेश व अन्य शहरों से आए 17783 को किया गया क्वारंटीन

बलरामपुर। जिले में अभी तक कोई भी कोरोना वायरस के संक्रमण का केस नहीं पाया गया है। विदेश व अन्य शहरों से आए 17883 व्यक्तियों का स्वास्थ्य परीक्षण कर उनके घरों में क्वारंटीन किया गया है। क्वारंटीन किये जाने की अवधि 14 दिन की है। डीएम कृष्णा करुणेश ने बताया कि रविवार को 54 व्यक्तियों के क्वारंटीन की अवधि पूरी हो चुकी है। क्वारंटीन किये गए व्यक्तियों से बाहर न निकलने का निर्देश दिया गया है।
डीएम ने बताया कि क्वारंटीन किये गए सभी व्यक्तियों के स्वास्थ्य का परीक्षण कराने के साथ साथ आशा, एएनएम व पुलिस विभाग की गठित 75 क्वारंटीन मॉनीटर्स टीम के माध्यम से कड़ी निगरानी कराई जा रही है। प्रत्येक दिन टीमें क्वारंटीन किये गए व्यक्तियों के घर जाकर निगरानी कर रही है। लोग पैनिक न हो स्वास्थ्य विभाग की एडवाइजरी का पालन करें।
लॉकडाउन का सख्ती से अनुपालन कराया जा रहा है। लॉकडाउन का उल्लंघन करने पर तीन लोगों के खिलाफ केस दर्ज कराया गया है। 24 लोगों को गिरफ्तार किया गया है। चार वाहनों को सीज किया गया है। 63 वाहनों के चालान की कार्रवाई की गई है। श्रम विभाग में पंजीकृत 9690 श्रमिकों के खाते में एक-एक हजार रुपये की धनराशि भेजी गई है। छूटे हुए दिहाड़ी श्रमिकों व छोटे दुकानदारों को चिह्नित कर एक-एक हजार रुपये की धनराशि भेजी जा रही है।
2813 श्रम विभाग के गैर पंजीकृत श्रमिकों के खाते में भी एक-एक हजार रुपये की धनराशि भेजी गई है। घर-घर होम डिलिवरी को सुनिश्चित किये जाने के लिए मंडी परिषद की तरफ से 472 ठेला, हत्था गाड़ी व मोबाइल वैन के माध्यम से सब्जियां, फल आदि पहुंचाई जा रही है। 554 किराना की दुकानों से होम डिलिवरी की जा रही है। 20 वाहनों से घर-घर दूध पहुंचाया जा रहा है। 460 दूधिए घर-घर जाकर दूध बांट रहे हैं। सोशल डिस्टेंसिंग का अनुपालन कराने के लिए धर्मगुरुओं के साथ बैठकें की गई हैं।
... और पढ़ें

शेल्टर होम व आश्रय स्थलों में लोगों की होगी काउंसलिंग

बलरामपुर। लॉकडाउन के दौरान शेल्टर होम्स व आश्रय स्थलों में लोगों को तनाव से बचाने के लिए काउंसलिंग कराई जाएगी। इसके लिए शासन स्तर से प्रयास शुरू किया गया है।
सीएमओ डॉ. घनश्याम सिंह ने शनिवार को बताया कि लॉकडाउन के दौरान शेल्टर होम्स व आश्रय स्थलों में रहने वाले लोगों को मानसिक तनाव से बचाने के लिए शासन स्तर से काउंसलिंग की प्रक्रिया शुरू कराई गई है। महानिदेशक चिकित्सा एवं स्वास्थ्य सेवा की तरफ से इस आशय का शासनादेश जारी किया गया है। मानसिक स्वास्थ्य के राज्य नोडल अधिकारी सुनील पांडेय ने सुप्रीम कोर्ट के आदेश का अनुपालन कराने के लिए निर्देश दिया है।
कोर्ट ने सरकार से अपेक्षा की है कि वह सुनिश्चित करें कि लॉकडाउन के दौरान शेेल्टर होम्स व आश्रय स्थलों में क्वारंटीन किए गए लोगों को किसी मानसिक तनाव का सामना न करना पड़े, इसके लिए काउंसलिंग कराई जाए।
मानसिक स्वास्थ्य कार्यक्रम के तहत तैनात क्लीनिकल साइकोलॉजिस्ट और सोशल वर्कर की मदद से लोगों की काउंसलिंग कराई जाए। यदि जिलों में ऐसे संसाधन उपलब्ध नहीं है तो राष्ट्रीय तंबाकू नियंत्रण कार्यक्रम, एनपीसीडीसीएस कार्यक्रम अथवा अन्य कार्यक्रम में तैनात क्लीनिकल साइकलॉजिस्ट काउंसलर्स और साइक्लाजिस्ट से सेवाएं ली जाएं।
लॉकडाउन के दौरान शेल्टर होम व आश्रय स्थलों में काउंसलिंग कार्य सुचारु रूप से चलाने के लिए आवागमन व सुरक्षा आदि का भी पूरा ध्यान रखा जाए। सीएमओ ने बताया कि शासन के निर्देश पर गाइड लाइन के अनुसार टीमें तैयार की जा रही हैं। सभी टीमों को शेल्टर होम्स व आश्रय स्थलों में भेज कर क्वारंटीन किए गए लोगों की काउंसलिंग कराई जाएगी
... और पढ़ें

संदिग्ध हालात में दो विवाहिताओं की मौत

बलरामपुर। संदिग्ध परिस्थितियों में दो विवाहिताओं की मौत हो गई। पुलिस ने शव पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है।
थाना क्षेत्र महराजगंज तराई के बल्दीडीह गांव के प्रधान मुर्तजा ने शनिवार को बताया कि गांव के जितेंद्र की पत्नी अंजू देवी (20) का शव छत के कुंडे से लटकता हुआ पाया गया है। जितेंद्र के मुताबिक सभी लोग खेत में फसल काटने के लिए काम पर गए थे। घर में अंजू अकेली थी। खेत से लौटने पर अंजू का शव छत के कुंडे से लटकता हुआ मिला।
अंजू की शादी आठ जुलाई 2019 को हुई थी। अंजू का मायका देवरिया जनपद के कठौरा गांव में है। प्रभारी निरीक्षक थाना महराजगंज तराई राजेश कुमार ने बताया कि शव पोस्टमार्टम के लिए भेजा गया है। मृतका के मायके वालों को घटना की सूचना दे दी गई है।
उधर, जरवा कोतवाली क्षेत्र के ग्राम प्रतापपुर के बगल स्थित आम के बगीचे में रनियापुर निवासी शिव कुमार की पत्नी ऊषा (40) का शव पेड़ पर लटकता हुआ मिला। ग्रामीणों की सूचना पर मौके पर पहुंची पुलिस शव पोस्टमार्टम के लिए भेजकर छानबीन कर रही है।
... और पढ़ें

जरूरी सेवाओं की आपूर्ति के लिए जारी होंगे ई-पास

बलरामपुर। आवश्यक वस्तुओं की आपूर्ति व मेडिकल इमरजेंसी के लिए अब जरूरतमंदों को ई-पास जारी किए जाएंगे। अब पास के लिए आवेदकों को लाइन नहीं लगाना पड़ेगा। ऑनलाइन आवेदन करने पर निर्धारित समय में मोबाइल पर ही उपलब्ध हो जाएगा।
डीएम कृष्णा करुणेश ने शनिवार को कोविड-19 कोरोना वायरस के कारण घोषित लॉकडाउन के दौरान आवश्यक वस्तुओं एवं सेवाओं की आपूर्ति के लिए शासन के निर्देशानुसार अब ई-पास जारी किए जाएंगे। यह व्यवस्था सूचीबद्ध आवश्यक वस्तुओं एवं सेवाओं की आपूर्ति करने वाली संस्थाओं के लिए की गई है। विषम परिस्थितियों में आम जन को चिकित्सा सेवा प्रदान करने के लिए भी ई-पास के लिए आवेदन किया जा सकता है।
लॉकडाउन के दौरान शासन ने ऑनलाइन आवेदन प्राप्त करने के लिए लिंक बनाया है। कोई भी संस्थान अधिकतम पांच कार्मिकों के लिए ही ई-पास का आवेदन कर सकेगा। डीएम की तरफ से नामित प्रशासनिक अधिकारी ऑनलाइन प्राप्त आवेदनों को परीक्षण के बाद स्वीकृति या अस्वीकृति प्रदान करेगा। स्वीकृत आवेदनों के लिए ई-पास जारी किए जाएंगे जिनको आवेदक एसएमएस से प्राप्त लिंक पर क्लिक कर डाउनलोड या प्रिंट कर उपयोग कर सकता है।
ई-पास की इलेक्ट्रानिक कॉपी भी मान्य होगी। जांच के समय मांगे जाने पर ई-पास के साथ आवेदन करते समय अपलोड किया गया जीएसटी प्रमाण पत्र, वाणिज्यिक पंजीकरण प्रमाण पत्र, फोटो पहचान पत्र जैसे पैन कार्ड, आधार कार्ड या वोटर आईडी कार्ड प्रस्तुत करना होगा।
डीएम ने बताया कि शासन के निर्देश पर ई-पास जारी करने के लिए एडीएम को नामित किया गया है। संस्थानों के लिए जारी ई-पास लॉकडाउन की अवधि तक ही वैध होंगे जबकि आम जन के लिए जारी जनपदीय ई-पास की वैधता एक दिन व अंतरजनपदीय ई-पास की वैधता दो दिन को होगी। चेकिंग के दौरान ई-पास का सत्यापन क्यूआर कोड के माध्यम से पुलिस कर्मियों की तरफ से किया जाएगा।
... और पढ़ें

भीड़ लगाने से मना करने पर दीवान व सिपाही से मारपीट

बलरामपुर। कोरोना वायरस को हराने के लिए किए गए लॉकडाउन व धारा 144 के बीच इलाहाबाद से आए संत का दर्शन करने जुटी भीड़ ने मना करने पर दीवान व सिपाही से मारपीट की। इस दौरान भीड़ ने बाइक की चाभी व मोबाइल भी छीन ली। पुलिस ने एक नामजद समेत 26 लोगों के खिलाफ केस दर्ज किया है। मामले के मुख्य आरोपी को गिरफ्तार कर लिया गया है। अन्य की तलाश की जा रही है।
थाना कोतवाली देहात प्रभारी निरीक्षक वीके सिंह ने शुक्रवार को बताया कि गुरुवार रात थाने के दीवान विंध्याचल मिश्र व सिपाही अखिलेश शर्मा श्रावस्ती जनपद के बॉर्डर पर बने पुलिस बैरियर पर ड्यूटी करने जा रहे थे। रास्ते में हरिहरगंज बाजार निवासी रज्जू उपाध्याय के दरवाजे पर भीड़ जुटी थी। दीवान व सिपाही ने अपनी बाइक रोक दी। इन लोगों ने वहां पर जुटे लोगों से कहा कि धारा 144 लगी है। आप लोग भीड़ न लगाइए। मना करने पर भीड़ के लोग भड़क गए। शेखरपुर निवासी श्रीनरायन उर्फ गुड्डू उपाध्याय तथा अन्य लोगों ने दीवान व सिपाही के साथ मारपीट की। बाइक की चाभी व मोबाइल भी छीन लिया।
मौके पर पहुंचे प्रभारी निरीक्षक को देखते ही लोग अंधेरे का फायदा उठाकर भाग निकले। घायल दीवान और सिपाही को जिला अस्पताल ले लाकर इलाज कराया गया। प्रभारी निरीक्षक ने बताया कि छानबीन में पता चला है कि रज्जू के घर इलाहाबाद से संत आए थे। उनसे मिलने के लिए ही क्षेत्र के लोग इकठ्ठा हुए थे। घायल दीवान व सिपाही की तहरीर पर श्रीनरायन उर्फ गुड्डू उपाध्याय तथा 25 अज्ञात के खिलाफ केस दर्ज किया गया है। गुड्डू उपाध्याय को गिरफ्तार कर लिया गया है। अन्य आरोपियों की तलाश में दबिश दी जा रही है।
... और पढ़ें

क्वारंटीन सेंटर में सोशल डिस्टेंसिंग का हो रहा अनुपालन

बलरामपुर। सदर शिक्षा क्षेत्र के प्राथमिक विद्यालय धुसाह में क्वारंटीन किए गए निजामुद्दीन दिल्ली के 14 लोगों से सोशल डिस्टेंसिंग का अनुपालन कराया जा रहा है। प्रशासन की तरफ से लगाए गए अफसरों व कर्मियों के साथ ही पुलिस फोर्स भी इन लोगों को सुरक्षित और दूरी बनाकर रहने का निर्देश दे रही है।
प्राथमिक विद्यालय धुसाह की हेडमास्टर प्रतिमा सिंह ने शुक्रवार को बताया कि प्रशासन की तरफ से निजामुद्दीन से आए लोगों को क्वाजी क्वारंटीन सेंटर धुसाह में रखा गया है। इन लोगों को स्वास्थ्य, आंगनबाड़ी कार्यकर्ता व पुलिस फोर्स आदि के माध्यम से सुरक्षित रहने के बारे में बताया जा रहा है।
आशा रोली सिंह व राम देवी, लेखपाल कृष्णकुमार, एएनएम ऊषा वर्मा, सफाईकर्मी मेहीलाल व बुधराज सिंह, एसआई संदीप कुमार व कांस्टेबिल रामधन यादव आदि की तरफ से क्वारंटीन किए गए लोगों की कड़ी निगरानी की जा रही है।
सदर एसडीएम डॉ. नागेंद्र नाथ यादव व सीओ सिटी आरआर सिंह ने क्वारंटीन सेंटर का निरीक्षण कर लोगों को सतर्क रहने और क्वारंटीन किए गए लोगों को प्रशासन की तरफ से जारी निर्देश का पूरी तरह से अनुपालन करने का निर्देश दिया। सदर एसडीएम ने बताया कि क्वारंटीन किए गए लोगों को भोजन आदि दिया जा रहा है।
... और पढ़ें

अफवाह फैलाने वालों पर होगी कठोर कार्रवाई

बलरामपुर। कोरोना लॉकडाउन के दौरान अफवाह फैलाने वालों के खिलाफ कठोर कार्रवाई की जाएगी। डीएम कृष्णा करुणेश ने शुक्रवार को बताया कि हाईकोर्ट ने लॉकडाउन के दौरान अफवाह व भ्रामक सूचनाएं फैलाकर लोगों को दहशत में डालने और प्रशासन को गुमराह करने वालों पर कठोर कार्रवाई करने का आदेश जारी किया है। डीएम ने सभी से संयम व धैर्य के साथ लॉकडाउन को सफल बनाने की अपील की है। डीएम ने अफसरों को धारा 144 का कड़ाई से अनुपालन कराने का निर्देश दिया है।
डीएम ने तीनों तहसीलों के एसडीएम व सीओ को शासन के एक अप्रैल के पत्र का हवाला देते हुए निर्देश दिया है कि लॉकडाउन के दौरान हाईकोर्ट के आदेश का अनुपालन पूरी तरह से सुनिश्चित कराएं। कोविड-19 के संबंध में हाईकोर्ट ने त्रुटिपूर्ण, भ्रामक सूचना व चेतावनी फैलाकर भयावह स्थिति उत्पन्न करने वाले व्यक्तियों के खिलाफ डिजास्टर मैनेजमेंट एक्ट के तहत तत्काल कार्रवाई करने का आदेश दिया है। किसी लोक सेवक की तरफ से दिए गए आदेश का उल्लंघन करने पर संबंधित व्यक्ति के खिलाफ भारतीय दंड संहिता की धारा 180 के तहत तत्काल कार्रवाई की जाएगी।
जिले में पहले से ही लागू लॉकडाउन संबंधित विशेष धारा 144 का अनुपालन कड़ाई से कराया जाए। तीनों तहसीलों के एसडीएम व सीओ को डीएम ने निर्देश दिया है कि इलेक्ट्रानिक मीडिया, समाचार पत्र, व्हाट्सएप, फेसबुक, अन्य सोशल मीडिया व दूरभाष के माध्यम से यदि कोई त्रुटिपूर्ण, भ्रामक सूचना व चेतावनी फैलाई जाती है तो तत्काल संबंधित के खिलाफ हाईकोर्ट की तरफ से दिए गए आदेश के मुताबिक कार्रवाई सुनिश्चित कराएं और तत्काल डीएम कार्यालय को भी रिपोर्ट भेजें। इसमें लापरवाही बर्दाश्त नहीं की जाएगी।
... और पढ़ें

केजीएमयू भेजे जाएंगे हाई रिस्क श्रेणी के सैंपल

बलरामपुर। कोरोना संक्रमण रोकने के लिए संदिग्ध व्यक्तियों की जांच तेजी से होनी चाहिए। हाई रिस्क जनसंख्या वाले क्षेत्रों में संदिग्धों को चिह्नित कर सैंपल जांच के लिए किंग जॉर्ज चिकित्सा विश्वविद्यालय लखनऊ भेजे जाएंगे।
मुख्य चिकित्साधिकारी डॉ. घनश्याम सिंह ने शुक्रवार को बताया कि सचिव चिकित्सा एवं स्वास्थ्य वी हेकाली झिमोमी ने प्रदेश के सभी डीएम व सीएमओ को पत्र भेजकर निर्देश दिया है कि कोविड 19 पीड़ित रोगियों और हाई रिस्क जनसंख्या को चिह्नित कर समय से जांच व उपचार कराया जाए।
सरकार ने प्रदेश के सात मेडिकल कॉलेजों में कोरोना वायरस की जांच की सुविधा उपलब्ध कराई है। देवीपाटन मंडल के बलरामपुर, गोंडा, श्रावस्ती व बहराइच जिले के सैंपल की जांच केजीएमयू लखनऊ में होगी। सैंपल कलेक्शन के लिए समय निर्धारित किया गया है। सैंपल को 24 घंटे के अंदर भेजना होगा।
साथ ही इसकी सूचना स्वास्थ्य भवन लखनऊ को प्रतिदिन शाम छह बजे तक भेजनी होगी। एसीएमओ डॉ. एके सिंघल ने बताया कि जिले में अभी तक तीन संदिग्ध मरीज मिले हैं जिनकी जांच कराई जा चुकी है। तीनों सैंपल निगेटिव आए हैं। जिले में अभी तक कोरोना का कोई मरीज नहीं है।
... और पढ़ें

जिले में कोरोना का एक भी मरीज नहीं

बलरामपुर। डीएम कृष्णा करुणेश ने शुक्रवार को बताया कि जिले में अभी तक कोई भी व्यक्ति कोरोना से संक्रमित नहीं पाया गया है। सोशल डिस्टेंसिंग व अन्य बातों का व्यापक प्रचार-प्रसार कराकर लोगों को कोरोना से बचाव के संबंध में लगातार जागरूक किया जा रहा है।
डीएम ने बताया कि विदेश व अन्य शहरों से आए 15836 व्यक्तियों का स्वास्थ्य परीक्षण कराकर उनको होम क्वारंटीन किया जा रहा है। जिले में अब तक तीन कोरोना के संदिग्ध मरीज मिले, जिनकी जांच कराई जा चुकी है। तीनों के सैंपल निगेटिव आए है। लोगों को पैनिक होने की जरूरत नहीं है। स्वास्थ्य विभाग की एडवाइजरी का पालन करें और अफवाहों पर ध्यान न दें। घरों में क्वारंटीन किए गए बाहर से आए व्यक्तियों की निगरानी की जा रही है।
डीएम ने बताया कि जिले के 9,422 श्रमिकों के खाते में एक-एक हजार रुपये की धनराशि भेजी जा चुकी है। खाद्य एवं रसद विभाग की तरफ से अब तक 27,288 अंत्योदय कार्डधारकों, मनरेगा कार्ड जॉब धारकों, श्रम विभाग में रजिस्टर्ड श्रमिकों, नगर निकायों में सत्यापित दिहाड़ी मजदूरों को कोटेदारों की तरफ से निशुल्क राशन वितरण किया जा चुका है।
54,633 राशन कार्ड धारकों को भी राशन बांटा गया है। जिले में 31 कम्यूनिटी किचन संचालित किए जा रहे हैं। रोजाना 4905 लोगों को लंच पैकेट बांटा जा रहा है। खाद्य वस्तुओं को लेकर लोगों को दिक्कत न हो इसके लिए घर-घर डिलेवरी फोन के माध्यम से कराई जा रही है। डीएम ने लोगों से अपील की है कि लॉकडाउन का पालन करें। बेवजह घरों से बाहर न निकलें। दिन में 10 बार साबुन से हाथ धोएं। एक मीटर की सोशल डिस्टेंसिंग बनाए रखें।
... और पढ़ें
अपने शहर की सभी खबर पढ़ने के लिए amarujala.com पर जाएं

Disclaimer


हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर और व्यक्तिगत अनुभव प्रदान कर सकें और लक्षित विज्ञापन पेश कर सकें। अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।
Agree
Election
  • Downloads

Follow Us