विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
फ्री में पाएं अपनी जन्म कुण्डली और बनाएं अपने जीवन को आसान
Kundali

फ्री में पाएं अपनी जन्म कुण्डली और बनाएं अपने जीवन को आसान

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
Digital Edition

सहकारी सभा पर चार करोड़ के गबन का आरोप, मामला दर्ज

पुलिस थाना धर्मशाला के तहत संचालित हो रही एक सहकारी सभा पर चार करोड़ रुपये के गबन का आरोप लगा है। इस संदर्भ में सोसायटी के सहायक रजिस्ट्रार ने पुलिस थाना धर्मशाला में शिकायत दी है। सहायक रजिस्ट्रार के आरोपों के बाद पुलिस ने सोसायटी के एमडी व उसकी पत्नी सहित कुल सात लोगों के खिलाफ मामला दर्ज किया है। पुष्टि करते हुए सदर थाना प्रभारी धर्मशाला राजेश कुमार ने बताया कि जिला मुख्यालय में चल रही एक सहकारी सभा के सहायक रजिस्ट्रार प्रत्यूश चौहान ने सोसायटी में गड़बड़झाले को लेकर पुलिस थाना में मामला दर्ज करवाया है। पुलिस को दी शिकायत में चौहान ने आरोप लगाए हैं कि सोसायटी ने लोगों के पैसे को ही जमा नहीं किया है, जिसके चलते करीब चार करोड़ रुपये के गबन की आशंका है।  वहीं शिकायत के बाद पुलिस ने विभिन्न धाराओं के तहत मामला दर्ज कर मामले की छानबीन शुरू कर दी है।
... और पढ़ें

यूपी से पार्सल के जरिये हिमाचल पहुंचा चिट्टा, दो युवक गिरफ्तार

हिमाचल के कांगड़ा जिले के भवारना डाकघर में पार्सल के जरिये चिट्टा आने से हड़कंप मच गया। नशे की सप्लाई का ऐसा पहला मामले सामने आने से हर कोई हैरान है। पुलिस की नारकोटिक्स सेल की टीम ने पार्सल से 3.20 ग्राम चिट्टा पकड़ा है। मामले में दो युवाओं को गिरफ्तार किया गया है। यह चिट्टा यूपी के द्वारिका से किसी युवती के नाम से भेजा गया है। बहरहाल, पुलिस जांच में जुट गई है। जानकारी के अनुसार पुलिस की नारकोटिक्स सेल की टीम को सूचना मिली थी कि भवारना डाकखाना में आने वाले किसी पार्सल में चिट्टा है। इस पर भवारना पहुंची नारकोटिक्स की विशेष टीम ने भवारना डाकखाना में पहुंच कर दो पार्सलो ंको अपने कब्जे में ले लिया।

हालांकि, एक पार्सल में पूजा का सामान निकला था, जिसकी भी पुलिस ने पूरी जांच की। जबकि दूसरे पार्सल में पुलिस को यह चिट्टा मिला। जिस युवक के नाम से यह पार्सल आया था, उसे थाना भवारना बुला कर पूछताछ की गई। इस पर पुलिस ने पूछताछ के बाद अलीश कटोच व मयंक शर्मा निवासी भवारना को गिरफ्तार कर लिया है।  उधर, डीएसपी पालमपुर अमित शर्मा ने कहा कि पुलिस जांच कर रही है। इसमें और युवक भी शामिल हैं या नहीं, यह जांच के बाद पता चलेगा। पुलिस की इस विशेष टीम में अनिल कुमार, रवि दत्त, अनिल कुमार, अश्वनी कुमार व सुनील कुमार मौजूद रहे।
... और पढ़ें

ऊना मेंमवेशियों से भरे तीन ट्रक पकड़े, तीन चालक गिरफ्तार

हिमाचल के ऊना में पुलिस टीम ने गुप्त सूचना के आधार पर कार्रवाई करते हुए मवेशियों से भरे तीन ट्रक पकड़े हैं। निरीक्षण के दौरान ट्रक 47 भैंसों से भरे हुए पाए गए। बताया जा रहा है कि ट्रकों में पशु भरकर रात को हमीरपुर जिले से पंजाब के डेराबस्सी बूचड़खाने में भेजे जा रहे थे। पकड़े गए ट्रक चालकों में दो हमीरपुर और एक अंब उपमंडल का रहने वाला बताया जा रहा है। रातों-रात हमीरपुर से मवेशियों से भरे ट्रक ऊना कैसे पहुंच गए। यह सवाल बना हुआ है।

एएसपी विनोद धीमान ने पुलिस टीम के साथ गुप्त सूचना के आधार पर कार्रवाई करते हुए ऊना में नाकेबंदी कर झलेड़ा की तरफ से आ रहे तीन ट्रकों को रोककर चेक किया तो ट्रकों से 47 मवेशी बरामद किए गए। आरोपी ट्रक चालकों की पहचान नसीरदीन पुत्र जीदीन गांव पीठयालु तहसील नादौन जिला हमीरपुर, हाक्म पुत्र ईलमदीन गांव जांडली गुजरां तहसील नदौन जिला हमीरपुर तथा शहिद खान पुत्र नजीरदीन गांव पंजोआ लाडोली तहसील अंब जिला ऊना के रूप में हुई है।
... और पढ़ें

नौकरी दिलाने के नाम पर फर्जी एजेंट ने ठगे 2.70 लाख

कोर्ट के आदेशानुसार बरमाणा थाना में एक व्यक्ति के खिलाफ आईपीसी की धारा 420 के तहत केस दर्ज किया गया है। व्यक्ति पर आरोप है कि उसने दो लोगों से पैसा वसूल कर उन्हें नौकरी के लिए मलेशिया भेजा। व्यक्ति खुद को बीजा एजेंट बताया और उन्हें टूरिस्ट बीजा पर नौकरी के लिए  मलेशिया भेजा। पुलिस ने मामला दर्ज कर आगामी कार्रवाई शुरू कर दी है।

जानकारी के अनुसार उपरली भटेड़ के व्यक्ति राम लाल ने पुलिस को शिकायत दी है कि सुदंरनगर के एक व्यक्ति ने खुद को वीजा एजेंट बताकर उससे और उसके एक साथी से मलेशिया में अच्छी नौकरी दिलवाने के लिए 2 लाख 70  हजार रुपये लिए। बताया कि साल 2019 में आरोपी ने उन्हें अच्छी नौैकरी का दिलासा देकर मलेशिया भेज दिया।

लेकिन वहां जोर उन्हें पता लगा कि उन्हें टूरिस्अ बीजा पर यहां भेजा गया है और उनकी नौकरी की भी कोई बात नहीं की गई है। रामलाल ने बताया कि व्यक्ति ने जब उनसे पैसे लिए थे तो बताया था कि वो अधिकृत एजेंट है। शिकायतकर्ता ने बताया कि मलेशिया जाने के बाद जब उन्हें सच का पता चला तो जैसे तैसे करके वो वापिस भारत आए। 

शिकायतकर्ता ने बताया कि आरोपी के पास बीजा लगवाकर नौकरी दिलवाने के लिए कोई अधिकृत लाइसेंस नहीं है। उसने उनकी मजबूरी का फायदा उठाकर उन्हें टूरिस्ट बीजा पर मलेशिया भेजा। जहां नौकरी न मिलने के कारण उन्हें बहुत सारी परेशानियों का सामना करना पड़ा।
 
डीएसपी बिलासपुर संजय शर्मा ने बताया कि पुलिस ने कोर्ट के निर्देशानुसार आरोपी के खिलाफ आईपीसी की धारा 420 के तहत बरमाणा थाना में केस दर्ज कर लिया है। बताया कि पुलिस प्राथमिकता के आधार पर केस की छानबीन कर रही है। 
... और पढ़ें
प्रतीकात्मक तस्वीर प्रतीकात्मक तस्वीर

अंशुल आत्महत्या मामले की जांच को बिलासपुर पहुंची सीआईडी

हिमाचल के बिलासपुर के अंशुल आत्महत्या कांड की जांच के लिए वीरवार को स्टेट सीआईडी की टीम बिलासपुर पहुंच गई। यहां पहुंचकर जांच अधिकारियों ने उस घटनास्थल का निरीक्षण किया, जहां अंशुल द्वारा जहर खाया बताया गया है। साथ ही उस जगह को भी वेरिफाई किया गया, जहां मरने से पहले अंशुल ने फेसबुक लाइव कर पूर्र्व कांग्रेस विधायक बंबर ठाकुर व अन्य पर प्रताड़ित करने और आत्महत्या के लिए मजबूर करने का गंभीर आरोप लगाया था। सूत्रों का कहना है कि इसके साथ ही जांच अधिकारियों ने पुलिस से उस मोबाइल को भी अपने कब्जे में लेकर फोरेंसिक जांच के लिए भेज दिया गया है जिससे वीडियो रिकॉर्ड होने की बात कही जा रही है।

सूत्रों का कहना है कि अब इस कवायद के बाद जांच अधिकारी जल्द ही बंबर ठाकुर और मामले के अन्य आरोपियों से भी पूछताछ कर सकती है। बता दें कि बिलासपुर निवासी अंशुल ने बीते वीरवार को मंडी के पधर पहुंचकर जहर निगलकर जान दे दी थी। आत्महत्या से पहले युवक ने फेसबुक लाइव कर पूर्व विधायक बंबर ठाकुर और अन्य पर छह माह से उसे प्रताड़ित करने का आरोप लगाया था। चूंकि मामला दो जिलों से संबंधित था और सियासी लोगाें पर गंभीर आरोप लगे थे। ऐसेे में डीजीपी संजय कुंडू ने मामले की जांच सीआईडी को दे दी।
... और पढ़ें

फर्जी डिग्री मामले में करनाल के दो लोग हिरासत में, दोनों हैं क्वारंटीन

 मानव भारती विश्वविद्यालय में फर्जी डिग्री मामले की जांच कर रही पुलिस ने हरियाणा के करनाल से दो लोगों को हिरासत में लिया है। इन दोनों के तार फर्जी डिग्री मामले से जुड़े हैं। विवि के मालिक राजकुमार राणा से पूछताछ के बाद दोनों पर शिकंजा कसा गया है। हिरासत में लिए गए दोनों आरोपी फिलहाल हरियाणा में क्वारंटीन हैं। इनकी क्वारंटीन अवधि पूरी होते ही पुलिस दोनों को गिरफ्तार करेगी। पुलिस की एक टीम ने उत्तर प्रदेश में भी दबिश दी है। हालांकि, यहां मामले से जुड़ी कोई गिरफ्तारी नहीं हो सकी है। 

फर्जी डिग्री मामले में अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक शिव कुमार शर्मा की अगुवाई में 12 सदस्यीय टीम राजस्थान के माउंट आबू में माधव विवि में पड़ताल करने गई है। यहां से भारी मात्रा में डिग्रियां और अन्य दस्तावेज बरामद हुए हैं। पुलिस ने माधव विश्वविद्यालय से इस मामले से जुड़ी 15 फाइलें बरामद की हैं। फर्जी डिग्रियों के सैंपल भी लिए गए हैं। टीम के शुक्रवार देर रात या शनिवार सुबह तक सोलन पहुंचने जाने की उम्मीद है। पुलिस अधीक्षक अभिषेक यादव का कहना है कि फर्जी डिग्री मामले की जांच तेजी से चल रही है। 
... और पढ़ें

दादा पर नौ साल की पोती के साथ दुष्कर्म का आरोप

शिमला जिले के उपमंडल चौपाल के एक गांव में दादा पर अपनी नौ साल की पोती के साथ दुष्कर्म का आरोप लगा है। शिकायत के बाद पुलिस ने दादा को गिरफ्तार कर लिया है। 60 वर्षीय नेपाली पत्नी सहित बीस साल से यहां रहता है। उसके साथ बेटा, बहू भी दूसरे बागवान के बगीचे में रहते हैं। बच्ची की मां ने शिकायत में दुष्कर्म का आरोप लगाया है।

मां ने बताया कि गुरुवार को बच्ची के पेट में अचानक दर्द हुआ। इसे इलाज के लिए चौपाल अस्पताल ले गए और घटना की जानकारी पुलिस को दी गई। पुलिस ने चिकित्सीय जांच के बाद मामला दर्जकर लिया है। डीएसपी चौपाल वरुण पटियाल ने कहा कि महिला के बयान पर मामला दर्ज कर दिया गया है। आरोपी को गिरफ्तार किया गया है। 
... और पढ़ें

राजद्रोह मामले में फंसे पूर्व विधायक नीरज भारती गिरफ्तार

सांकेतिक तस्वीर
राजद्रोह के मामले में पूर्व विधायक व पूर्व सीपीएस नीरज भारती को सीआईडी ने शुक्रवार को गिरफ्तार कर लिया है। बीते दिनों भारती के खिलाफ राजद्रोह का मामला दर्ज किया गया था। शिमला निवासी अधिवक्ता नरेंद्र गुलेरिया की शिकायत पर सीआईडी ने भारती के खिलाफ राजद्रोह की धाराओं में एफआईआर दर्ज की थी।  शिमला निवासी अधिवक्ता नरेंद्र गुलेरिया की शिकायत पर सीआईडी ने भारती के खिलाफ राजद्रोह की धाराओं में एफआईआर दर्ज की है।

अधिवक्ता गुलेरिया ने शिकायत में  आरोप लगाया था कि भारती ने पिछले 24 घंटों में सोशल मीडिया में जो संदेश डाले हैं उनके माध्यम से उन्होंने सरकार के विरूद्ध घृणा, तिरस्कार, अवमानना, वैमनस्य आदि का दुष्प्रचार करके देश के नागरिकों में घृणा/देशद्रोह को फैलाने की कोशिश की है। साथ ही फौजी जवानों के बारे में आपत्तिजनक टिप्पणियों द्वारा दुष्प्रचार करके आम लोगों व सैनिकों को सरकार के विरूद्ध भड़काने एवं अपनी ड्यूटी न करने के लिए उकसाया है जिससे आम लोगों में आक्रोश और नाराजगी का माहौल पैदा हुआ है। गुलेरिया की शिकायत पर सीआईडी ने भराड़ी थाना में भारती के खिलाफ भारतीय दंड संहिता की धारा 124-ए, 153-ए, 504 व 505 के अंतर्गत मामला पंजीकृत किया गया था। आज सीआईडी ने मामले में कार्रवाई करते हुए नीरज भारती को गिरफ्तार कर लिया है।
... और पढ़ें

कोरोना टेस्ट लेने गई टीम के साथ उलझा सेवानिवृत्त डीआईजी, केस दर्ज

हिमाचल के शिमला जिले के कोटगढ़ में उत्तर प्रदेश के रहने वाले सेवानिवृत्त आईपीएस अफसर पर कोरोना सैंपल लेने आई टीम के साथ बदसलूकी के आरोप लगे हैं। मेडिकल टीम में शामिल चिकित्सक ने इसकी शिकायत चौपाल थाना में दी है। पुलिस ने मामला दर्ज कर लिया है।  चिकित्सक ने एसपी शिमला को भी मेल के जरिये शिकायत पत्र भेजा है। मामले का एक वीडियो भी सामने आया है। इसमें रिटायर अफसर टीम से ऊंची आवाज में बात करते हुए दिखाई दे रही है।

सेवानिवृत्त डीआईजी यूपी के इटावा से लौटा था। यहां डीएफओ कोटगढ़ के आवास पर होम क्वारंटीन था। वह 9 जून को यूपी से लौटा था। ऐसे में उनके सैंपल लेने टीम गई थी, रिटायर डीआईजी अपने बेटे के साथ होम क्वारंटीन में था। डॉ. अंकुश ने शिकायत में कहा कि प्रोटोकोल के अनुसार टीम सैंपल लेने गई थी। इस दौरान रिटायर अफसर ने बदसूलकी की। इस दौरान उन्होंने खुद को रिटायर डीआईजी बताते हुए धमकी भी दी। उधर, डीएसपी अभिमन्यु वर्मा ने बताया कि कोटगढ़ अस्पताल के चिकित्सक की शिकायत पर सेवानिवृत्त अधिकारी के खिलाफ मामला दर्ज कर लिया गया है। 
... और पढ़ें

बिलासपुर से मंडी पहुंचे युवक ने जहर खाकर की आत्महत्या

हिमाचल के बिलासपुर जिले के एक युवक ने मंडी के पधर क्षेत्र में घर में पहुंचकर जहर निगल कर जान दे दी। पिछले कुछ दिनों से युवक मानसिक रूप से परेशान चल रहा था। सूचना मिलते ही पधर पुलिस ने शव को कब्जे में ले लिया है। मृतक की पहचान अंशुल 34 पुत्र चमन लाल निवासी गांव व डाकघर बिलासपुर के रूप में हुई है। पुलिस के अनुसार युवक  24 जून को बिना बताए घर से जीप लेकर पधर चुक्कू की तरफ निकल गया। 24 जून रात करीब नौ बजे ही अंशुल एक व्यक्ति के घर के पास हांफता हुआ आया और जहर निगलने की जानकारी देते हुए बचाने की गुहार लगाई।

जिस पर सुरेश अन्य ग्रामीण उसे उठाकर पधर अस्पताल ले जाने लगेए लेकिन उसने ने दमेला सड़क की ओर ले जाते हुए बीच रास्ते में ही दम तोड़ दिया। अस्पताल पहुंचने पर चिकित्सक ने उसे मृत घोषित कर दिया। पुलिस ने मृतक के पास से तीन गोलियां सल्फास बरामद की हैं।  मृतक बिलासपुर में किराना की दुकान करता था। डीएसपी पधर मदनकांत ने मामले की पुष्टि की है। उन्होंने बताया कि मामले में जांच की जा रही है। मृतक के पिता के बयान लिए गए हैं। किसी तरह की आर्थिक तंगी की भी बात सामने नहीं आई है।
... और पढ़ें

फर्जी डिग्री मामला: राजस्थान में माधव विश्वविद्यालय के खाते से निकाले दो करोड़ रुपये

फर्जी डिग्री मामला सामने आने के बाद माधव विश्वविद्यालय राजस्थान के खाते से दो करोड़ रुपये निकालने का खुलासा हुआ है। यह धनराशि मामले की जांच शुरू होने के बाद निकाली गई है। मानव भारती विवि के मालिक राजकुमार राणा को राजस्थान लेकर गई पुलिस के हाथ पैसे निकालने से जुड़े दस्तावेज लगे हैं। राणा के बेटे के नाम उदयपुर के एक बैंक में लॉकर है, जिसे पुलिस ने सील कर दिया है। राणा के राजस्थान में तीन घर भी सील किए हैं।

राजकुमार के पास राजस्थान के भिंदवाड़ा में 65 बीघा जमीन है। इसकी खरीद-फरोख्त पर पुलिस ने रोक लगाई है। सोलन पुलिस की एक टीम ने भिंदवाड़ा में तहसीलदार से मुलाकात कर जमीन को किसी भी हालत में न बेचने की इजाजत न देने का आह्वान किया है। पुलिस की एक टीम अभी राजस्थान में ही डटी है। एक टीम राणा के साथ सोलन लौट आई है। मामले में पुलिस के हाथ और भी कई अहम सुराग लगे हैं। मानव भारती से जुड़े फर्जी डिग्री व अन्य दस्तावेज बरामद किए हैं। 

मानव भारती ने मृतक के नाम जारी कर दी डिग्री
राजस्थान पहुंची सोलन पुलिस के हाथ एक बड़ा सुराग लगा है। दिल्ली के मृतक को मानव भारती विवि का छात्र बताया गया है और उसके नाम पर डिग्री भी जारी की गई है। इसे मामले में अहम सुराग के रूप में देखा जा रहा है। मामले की जड़ें हिमाचल और राजस्थान के साथ दिल्ली भी पहुंच गई हैं। देश भर में विवि के सक्रिय एजेंट डिग्री बांटने का धंधा चला रहे थे। पुलिस की नजर अब इन एजेंटों पर भी है। बड़ी संख्या में गिरफ्तारी की तैयारी है। एक पुलिस टीम राजस्थान में मामले की जांच कर रही तो दूसरी टीम दिल्ली समेत उन जगहों पर दबिश दे रही है, जिनका रिकॉर्ड पुलिस पड़ताल के दौरान सामने आया है।
... और पढ़ें

कांगड़ा: आईएएस की तैयारी कर रही युवती चिट्टे के साथ पकड़ी

आईएएस की तैयारी कर रही एक युवती और सिविल इंजीनियरिंग की पढ़ाई करके रोजगार की तलाश करने वाले दो युवकों समेत 4 लोगों को नशे की खेप के साथ पुलिस ने दबोचा है। पुलिस जानकारी के अनुसार लड़की काफी समय से नशे की आदी है। इससे पहले भी उसे नशा मुक्ति केंद्र में ले जाया जा चुका है।

 जानकारी के अनुसार डमटाल थाना के प्रभारी हरीश गुलेरिया के नेतृत्व में पुलिस टीम ने गश्त के दौरान भदरोया गांव के पास एक गाड़ी को शक के आधार पर रोका और गाड़ी की तलाशी के दौरान गाड़ी में बैठे तीन लड़कों और एक लड़की से 8.38 ग्राम हेरोइन व 1102 नशीले कैप्सूल बरामद किए।

आरोपी मदेच, शाहपुर, परेही व चैतड़ू गांवों के रहने वाले हैं। आरोपियों को गिरफ्तार करके थाना डमटाल में लाया गया और उनके खिलाफ मुकदमा दर्ज करके आगामी कार्रवाई अमल में लाई जा रही है। डीसीपी डॉ साहिल अरोड़ा ने मामले की पुष्टि की है।
... और पढ़ें

राजस्थान में राणा के घर से ही चल रहा था फर्जी डिग्री का खेल, पुलिस ने बरामद किए दस्तावेज

राजस्थान में मानव भारती विवि के मालिक राज कुमार राणा के घर से फर्जी डिग्री का खेल चल रहा था। राणा को साथ लेकर राजस्थान गई पुलिस के हाथ कई अहम सुराग लगे हैं। इनमें मानव भारती से जुड़ीं डिग्रियां भी शामिल हैं। डिग्री के इस फर्जीवाड़े में एजेंटों में शामिल होने का भी पता लगा है। डिग्री प्रदान करने का धंधा कमीशन पर एजेंट चला रहे थे। पुलिस जल्द इस पूरे नेटवर्क का खुलासा करने का दम भर रही है। अब देश भर में इस मामले से जुड़े लोगों पर गिरफ्तारी की संभावना बन गई है। पुलिस इन तमाम सबूतों के साथ सोलन लौट आई है।

पुलिस जांच में एक बड़ा खुलासा यह भी हुआ है कि मानव और माधव दोनों विश्वविद्यालयों में जो शिक्षक के तौर पर पंजीकृत हैं, कागजों में उन्हें कई जगह छात्र भी दर्शाया गया है। विश्वविद्यालय में छात्रों को ही अध्यापक के तौर पर दर्शाया गया है। पुलिस ने राजस्थान से बरामद दस्तावेजों का खुलासा फिलहाल नहीं किया है। फर्जी डिग्री मामले पुलिस ने अभी तक कुल पांच गिरफ्तारियां की हैं। इनमें गिरफ्तार किए मानव भारती के मालिक को निशानदेही के लिए राजस्थान उसके घर और माधव विश्वविद्यालय ले जाया गया था। इसके बाद टीम अब वहां से सारी जानकारी हासिल कर कई सबूतों के साथ वापस पहुंच गई है, जिसकी रिपोर्ट गठित टीम तैयार कर रही है। इसके बाद इसे सरकार को सौंपा जाएगा।

पुलिस कर रही मामले की जांच
एएसपी सोलन डॉ. शिव कुमार शर्मा ने बताया कि निशानदेही के लिए राजकुमार राणा को राजस्थान ले जाया गया था। यहां उनकी टीम राणा सहित वापस पहुंच गई है। राणा के घर सहित माधव विवि में जांच की गई है। कई बातों का खुलासा हुआ है, जिसमें फर्जी डिग्री का कार्य घर से भी किया जा रहा था। यहां से इस कार्य के लिए एजेंटों की फाइलें भी पुलिस को बरामद हुई हैं। इसके अलावा अध्यापक ही विद्यार्थी बने हुए थे। इसके अलावा ओर अन्य दस्तावेज पुलिस को मिले है, जिसकी अभी जांच चल रही है।
... और पढ़ें
Election
  • Downloads

Follow Us

विज्ञापन