विज्ञापन
विज्ञापन
जन्मतिथि से बनवाएं अपनी फ्री जन्मकुंडली और जानें आने वाले समस्त शुभ - अशुभ योग
Kundali

जन्मतिथि से बनवाएं अपनी फ्री जन्मकुंडली और जानें आने वाले समस्त शुभ - अशुभ योग

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
Digital Edition

हिमाचल में 1439 पद भरने की मंजूरी, शिक्षकों-विद्यार्थियों के लिए राहत, जानें कैबिनेट के बड़े फैसले

मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर की अध्यक्षता में मंगलवार को आयोजित हुई हिमाचल मंत्रिमंडल की बैठक में कई बड़े फैसले लिए गए हैं। कैबिनेट ने विभिन्न विभागों में विभिन्न श्रेणियों के करीब 1439 पद भरने की मंजूरी दी। कैबिनेट ने मंडी, सोलन और पालमपुर नगर परिषदों को नगर निगम बनाने का फैसला लिया। इसके अलावा कंडाघाट, अंब, आनी, निरमंड, नेरवा और चिड़गांव को नगर पंचायत बनाने को भी कैबिनेट ने मंजूरी दे दी। हालांकि इन सबकी अधिसूचना होनी बाकी है। कुल्लू और शिमला जिले से 2-2, सोलन और ऊना जिले से 1-1 नगर पंचायत बनी है। पंचायत चुनाव के साथ ही नए नगर निगमों और नगर पंचायतों के चुनाव जनवरी 2021 में होंगे। वहीं चुनाव खर्च कम करने को धर्मशाला नगर निगम के चुनाव भी साथ होंगे, जबकि शिमला नगर निगम के चुनाव वर्ष 2022 में होंगे।
... और पढ़ें
हिमाचल कैबिनेट बैठक हिमाचल कैबिनेट बैठक

हिमाचल में कैबिनेट का फैसला: दो नवंबर से खुलेंगे स्कूल-कॉलेज, इन विद्यार्थियों की लगेंगी नियमित कक्षाएं

हिमाचल में करीब साढ़े सात माह बाद दो नवंबर से स्कूल और कॉलेजों में नियमित कक्षाएं लगाने की प्रदेश कैबिनेट ने मंजूरी दे दी। नौवीं से 12वीं कक्षा और कॉलेजों में प्रथम, द्वितीय और अंतिम वर्ष के विद्यार्थियों को अभिभावकों के सहमति पत्र पर नियमित कक्षाएं लगाने के लिए प्रवेश मिलेगा। शिक्षण संस्थानों में आने की विद्यार्थियों पर न अनिवार्यता होगी, न हाजिरी लगेगी। ऑनलाइन पढ़ाई भी जारी रहेगी। पहली से आठवीं कक्षा के स्कूल अभी भी बंद रहेंगे। प्रदेश के डिग्री कॉलेजों में  प्रथम और द्वितीय वर्ष में पढ़ने वाले करीब 60 हजार विद्यार्थियों को सरकार ने बिना परीक्षा लिए ही अगली कक्षाओं में प्रमोट करने का फैसला लिया है।

कैबिनेट बैठक में सरकार ने केंद्र के एसओपी को लागू किया है। कैबिनेट बैठक की जानकारी देते हुए शहरी विकास मंत्री सुरेश भारद्वाज ने बताया कि बीते दिनों हुई ई-पीटीएम में अधिकांश अभिभावकों और विद्यार्थियों ने नियमित कक्षाएं शुरू करने की पैरवी की थी। माइक्रो प्लान भी तैयार किए हैं। इन सभी पर विचार के बाद सरकार ने दो नवंबर से स्कूल खोलने का फैसला लिया है।  कोरोना की चपेट में न आने की जिम्मेवारी कोई नहीं ले सकता है, इसके चलते ही अभिभावकों के सहमति पत्र की शर्त रखी है। 



विद्यार्थियों को प्रमोट करने का तरीका
उधर प्रमोट विद्यार्थियों की बीते साल की परीक्षा के 50 फीसदी अंकों, वर्तमान सत्र की आंतरिक परीक्षा के 30 फीसदी और शिक्षकों की असेसमेंट के 20 फीसदी अंकों के आधार पर कुल अंक दिए जाएंगे। अगर कोई विद्यार्थी इन अंकों से नाखुश रहता है तो वह अगले साल पुरानी कक्षा की परीक्षाएं देकर अपने अंक सुधार कर सकता है।

शहीद की बहन को जेओए की नौकरी
3 अगस्त 2017 को आतंकी मुठभेड़ के दौरान शहीद हुए लाहौल स्पीति निवासी तंजिन छुलटिम की बहन तंजिन डोलकर को डीएफओ लाहौल स्पीति के कार्यालय में जूनियर ऑफिस असिस्टेंट (आईटी)  के पद पर नियुक्ति प्रदान करने की मंजूरी भी दी गई है।
... और पढ़ें

हिमाचल में तीन नए नगर निगम और छह नगर पंचायत बनाने को कैबिनेट ने दी मंजूरी, जनवरी में होंगे चुनाव

हिमाचल कैबिनेट ने मंगलवार को मंडी, सोलन और पालमपुर नगर परिषदों को नगर निगम बनाने का फैसला लिया। इसके अलावा कंडाघाट, अंब, आनी, निरमंड, नेरवा और चिड़गांव को नगर पंचायत बनाने को भी कैबिनेट ने मंजूरी दे दी। हालांकि इन सबकी अधिसूचना होनी बाकी है। कुल्लू और शिमला जिले से 2-2, सोलन और ऊना जिले से 1-1 नगर पंचायत बनी है। पंचायत चुनाव के साथ ही नए नगर निगमों और नगर पंचायतों के चुनाव जनवरी 2021 में होंगे। वहीं चुनाव खर्च कम करने को धर्मशाला नगर निगम के चुनाव भी साथ होंगे, जबकि शिमला नगर निगम के चुनाव वर्ष 2022 में होंगे।

  कैबिनेट के फैसलों की जानकारी देते हुए शहरी विकास मंत्री सुरेश भारद्वाज ने बताया कि नए नगर निकायों में शामिल क्षेत्रों के लोगों को तीन साल तक कोई भी सामान्य कर नहीं देना होगा। मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर की अध्यक्षता में मंगलवार को राज्य सचिवालय में हुई कैबिनेट बैठक में कुछ शहरी स्थानीय निकायों के पुनर्गठन को भी स्वीकृति दी, जिनमें कुछ क्षेत्रों को शामिल किया है, जबकि कुछ बाहर निकालकर जिला मंडी की करसोग, नेरचौक और जिला कांगड़ा में नगर पंचायत जवाली में शामिल किया है। 

8 नवंबर से शुरू होंगे जनमंच 
 सूबे में 8 नवंबर से जनमंच कार्यक्रम शुरू हो जाएंगे। प्रदेश सरकार इसके लिए एसओपी तैयार करेगी। पहले जिला या फिर विधानसभा क्षेत्र में जनमंच कार्यक्रम होते थे, अब गांव में इस कार्यक्रम को किया जाएगा। जनमंच में लोगों की कम भीड़ जुटे, इसके चलते ज्यादा से ज्यादा कार्यक्रम आयोजित किए जाएंगे। 
मंगलवार को कैबिनेट ने इस प्रस्ताव को मंजूरी दी है। हिमाचल में 23 मार्च, 2020 को लॉकडाउन लगा था। इससे पहले विधानसभा बजट सत्र था। ऐसे में हिमाचल में जनमंच कार्यक्रम नहीं हो पाए थे। सरकार का मानना है कि लोगों को अपनी समस्याओं के लिए सचिवालय या फिर विभागों के चक्कर काटने पड़ रहे हैं। जनमंच में मौके पर ही लोगों की समस्याओं का समाधान हो जाता था। ऐसे में सरकार ने फिर से जनमंच कार्यक्रम शुरू करने का फैसला लिया है। 
... और पढ़ें

मंडी सदर से अनिल शर्मा को टिकट की वकालत से कांग्रेस में सियासी भूचाल

सदर भाजपा विधायक अनिल शर्मा की कांग्रेस में वापसी की अटकलों और आश्रय की पिता के लिए मंडी सदर से टिकट की वकालत ने कांग्रेसी खेमे में सियासी भूचाल ला दिया है। विधानसभा चुनावों को दो साल हैं, लेकिन सुखराम परिवार की बयानबाजी के बाद मंडी सदर में चुनाव लड़ने की आस लगाए बैठे कांग्रेसी नेताओं में टिकट के लिए घमासान शुरू हो गया है। विरोध के सुर भी तेज हो गए हैं। 

मंगलवार को पूर्व मंत्री कौल सिंह ठाकुर की बेटी एवं मंडी विधानसभा क्षेत्र से पूर्व प्रत्याशी रहीं चंपा ठाकुर और पूर्व जिलाध्यक्ष दीपक शर्मा ने संयुक्त प्रेस वार्ता करते हुए अभी से ही मंडी सदर से कांग्रेस के टिकट पर अपनी दावेदारी जता दी है। सुखराम परिवार को दलबदलू कहते हुए कांग्रेस आलाकमान को यह भी चेताया कि पार्टी में ऐसे लोग बर्दाश्त नहीं होंगे। अगर दलबदलू को टिकट मिला तो चुनावों में वह अपने पत्ते खोलेंगे। 
... और पढ़ें

हिमाचल में थियेटर और सिनेमाहाल खोलने के लिए एसओपी जारी

पूर्व प्रत्याशी रहीं चंपा ठाकुर
हिमाचल में थियेटर, सिनेमाहाल और मल्टीप्लेक्स खोलने के लिए मानक संचालन प्रक्रिया (एसओपी) जारी कर दी गई है। एसओपी के मुताबिक छह फीट की पर्याप्त सामाजिक दूरी बनाए रखना जरूरी होगी। यह दूरी बाहर-भीतर सब जगह जरूरी होगी। फेस कवर और मास्क का पहनना जरूरी है। हैंड सैनिटाइजर अगर टच फ्री मोड में हों तो अच्छे रहेंगे। इन्हें एंट्री और एग्जिट प्वाइंट पर रखना जरूरी होगा। थूकना मना है। सभी को अपने मोबाइल पर आरोग्य सेतु ऐप को डाउनलोड करना होगा।

आगंतुकों की थर्मल स्क्रीनिंग करनी होगी। सिनेमाहाल, थियेटर और मल्टीप्लेक्स में 50 प्रतिशत से अधिक लोगों को नहीं बैठाया जाएगा। सूचना एवं जनसंपर्क विभाग ने कोरोना वायरस के संक्रमण के बीच फिल्मों के प्रदर्शन के लिए एसओपी जारी किया है। प्रधान सचिव सूचना एवं जनसंपर्क जेसी शर्मा ने इस बारे में निर्देश जारी किए हैं। कंटेनमेंट जोन में किसी भी तरह की प्रदर्शनी नहीं लगाई जा सकेगी। फिल्मों से संबंधित गतिविधियां जैसे सिनेमा, थियेटर, मल्टीप्लेक्स आदि को केंद्रीय गृह मंत्रालय के निर्देशों के अनुसार ही संचालित किया जा सकेगा। राज्य और केंद्र शासित प्रदेश अपनी फील्ड असेसमेंट के हिसाब से अतिरिक्त उपायों को अपनाएंगे। 
... और पढ़ें

अंतरराष्ट्रीय कुल्लू दशहरा: नरसिंह की जलेब में ढोल-नगाड़ों की थाप पर झूमे देवलू

अंतरराष्ट्रीय दशहरा उत्सव के तीसरे दिन मंगलवार को ढोल-नगाड़ों की थाप पर देवता नरसिंह की दूसरी जलेब निकली। ढालपुर स्थित रघुनाथ के अस्थायी शिविर से शुरू हुई जलेब दोपहर बाद करीब चार बजे निकली, जिसमें सैंज घाटी के अधिष्ठाता देवता लक्ष्मी नारायण ने पूरे लाव लश्कर के साथ भाग लिया।  राजा की चानणी से निकली जलेब के माध्यम से नरसिंह ने ढालपुर में रक्षा सूत्र बांधा। शाही अंदाज में निकाली गई जलेब में अधिष्ठाता भगवान रघुनाथ के मुख्य छड़ीबरदार महेश्वर सिंह पालकी में सवार होकर निकले।

आगे नरसिंह की घोड़ी और साथ में ढोल-नगाड़ों की थाप पर निकली जलेब में देवता लक्ष्मी नारायण संग देवलुओं ने नाटी डाली। हालांकि कोरोना के कारण दशहरा में लोग कम है, बावजूद देव आस्था के चलते लोगों ने जगह-जगह दर्शन कर आशीर्वाद लिया। इस दौरान उत्सव देखने आए लोगों ने इस आकर्षक पल को अपने मोबाइल में कैद किया और सेल्फी ली। दशहरा मैदान ढालपुर स्थित राजा की चानणी से जलेब अस्पताल रोड से होते हुए पुराने स्टेट बैंक,कलाकेंद्र तथा ढालपुर चौक होकर निकली। भगवान रघुनाथ के मुख्य छड़ीबरदार महेश्वर सिंह ने कहा कि मंगलवार को नरसिंह की जलेब में देव पंरपरा के अनुसार निकाली गई।
... और पढ़ें

CoronaVirus in Himachal: छह संक्रमितों की मौत, प्रदेशभर में 243 नए मामले

Election
  • Downloads

Follow Us

विज्ञापन
X

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00
X