बेहतर अनुभव के लिए एप चुनें।
INSTALL APP
विज्ञापन
विज्ञापन
बुधवार को बन रहा है सिद्ध योग, इन 4 राशि वालों को मिलेगी बड़ी कामयाबी
Myjyotish

बुधवार को बन रहा है सिद्ध योग, इन 4 राशि वालों को मिलेगी बड़ी कामयाबी

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

हमीरपुर की निधि डोगरा बनी योग में सूबे की ब्रांड एंबेसडर

राजकीय वरिष्ठ माध्यमिक पाठशाला चौरी की निधि डोगरा को एबीबाईएम योग वर्ल्ड बुक के सीईओ राकेश भारद्वाज ने योग का प्रचार प्रसार करने के लिए हिमाचल प्रदेश...

11 जून 2021

विज्ञापन
Digital Edition

हिमाचल : गडकरी आज पहुंचेंगे कुल्लू, चीन से सटे सामरिक मार्गों का उठेगा मुद्दा

केंद्रीय भूतल एवं परिवहन मंत्री नितिन गडकरी से चीन से सटे सामरिक मार्गों का मुद्दा उठाने की तैयारी है। जनजातीय विकास मंत्री डॉ. रामलाल मारकंडा सीमावर्ती लाहौल-स्पीति क्षेत्र की दो सड़कों समदो-ग्रांफू और तांदी-संसाली नाला को स्थायी रूप से सीमा सड़क संगठन (बीआरओ) को सौंपने का मामला उठाएंगे। वर्ष 1979 और 2012 से ये सड़कें कभी लोक निर्माण विभाग तो कभी बीआरओ के पास आती-जाती रही हैं। दोनों सड़कों की हालत दयनीय है। लिहाजा, इन्हें बीआरओ को सौंपने की बात की जाएगी।

गडकरी बुधवार दोपहर बाद 3:30 बजे कुल्लू के भुंतर एयरपोर्ट पर पहुंचेंगे। वह परिवार के साथ पांच दिन के लिए कुल्लू-मनाली आ रहे हैं। मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर बुधवार को कुल्लू पहुंचेंगे। 24 जून को मुख्यमंत्री सुबह 8:15 बजे गडकरी से मुलाकात करेंगे। 10:00 बजे गडकरी के साथ अटल टनल रोहतांग जाएंगे। 12:30 बजे गडकरी हिमाचल प्रदेश के लिए विभिन्न राष्ट्रीय राजमार्ग परियोजनाओं की आधारशिला रखेंगे। इसके अलावा निर्माणाधीन राष्ट्रीय राजमार्ग परियोजनाओं पर मुख्यमंत्री के साथ समीक्षा बैठक करेंगे।

नग्गर में निजी रिजॉर्ट में रुकेंगे गडकरी 
गडकरी भुंतर पहुंचने के बाद सड़क मार्ग से ऊझी घाटी के नग्गर पहुंचेंगे, जहां एक निजी रिजॉर्ट में रुकेंगे। उनके दौरे को लेकर कड़े सुरक्षा प्रबंध किए गए हैं। गडकरी 27 जून को भुंतर एयरपोर्ट से दिल्ली के लिए लौटेंगे। पुलिस अधीक्षक गौरव सिंह ने कहा कि केंद्रीय मंत्री के कुल्लू-मनाली दौरे को लेकर सुरक्षा को कड़ा कर दिया है। पुलिस के अतिरिक्त जवान तैनात किए गए हैं। 
... और पढ़ें
केंद्रीय भूतल एवं परिवहन मंत्री नितिन गडकरी केंद्रीय भूतल एवं परिवहन मंत्री नितिन गडकरी

बिलासपुर एम्स में एक जुलाई से शुरू होंगी एमबीबीएस की ऑफलाइन कक्षाएं

कोठीपुरा एम्स में 1 जुलाई से एमबीबीएस कोर्स के प्रथम वर्ष के प्रशिक्षुओं की ऑफलाइन कक्षाएं शुरू हो जाएंगी। प्रशिक्षुओं को गर्मियों की छुट्टियों के बाद 25 जून को एम्स परिसर में रिपोर्ट करने के आदेश जारी किए गए हैं। एम्स के अकादमिक डीन प्रोफेसर संजय विक्रांत की ओर से जारी पत्र में कहा गया है कि प्रशिक्षुओं को कोरोना की निगेटिव आरटीपीसीआर रिपोर्ट लाना अनिवार्य होगा।

इन्हें 30 जून तक क्वारंटीन रखा जाएगा। प्रशिक्षुओं को कोरोना नियमों की पालना करने की हिदायत भी दी गई है। सभी प्रशिक्षुओं को एम्स में पहुंचने के बाद वैक्सीन लगाई जाएगी। इन प्रशिक्षुओं को 24 जून तक गर्मियों की छुट्टियों के कारण घर भेज दिया गया था। 
... और पढ़ें

टोक्यो ओलंपिक: पिता के सपने को पूरा करना है मंडी के बॉक्सर आशीष का लक्ष्य

टोक्यो ओलंपिक-2021  के लिए क्वालीफाई करने वाले आशीष चौधरी ने गत वर्ष इंडोनेशिया के बॉक्सर को 75 किलोग्राम भार वर्ग में 5-0 से पराजित कर ओलंपिक में देश का प्रतिनिधित्व करने का अपने स्वर्गीय पिता का सपना पूरा किया है। जब मार्च 2020 को ओलंपिक में आशीष ने क्वालीफाई किया था, तो उसके पिता के देहांत को महज एक ही माह हुआ था। लेकिन आशीष ने हौसले को टूटने नहीं दिया। आशीष चौधरी का कहना है कि वह ओलंपिक में देश के लिए मेडल लाकर पिता का दूसरा सपना भी पूरा करेंगे।

सुंदरनगर से स्कूली और एमएलएसएम कॉलेज से स्नातक करने वाले आशीष वर्तमान में तहसील कल्याण अधिकारी के पद पर धर्मपुर में कार्यरत हैं। 8 जुलाई 1994 को स्व.भगत राम डोगरा के घर जन्मे आशीष चौधरी ने 9 वर्ष की उम्र में हाथों में बॉक्सिंग ग्लव्स पहन लिए थे। वह एमएलएसएम कॉलेज में कोच नरेश वर्मा के पास कोचिंग लेने जाते थे। आशीष चौधरी हिमाचल प्रदेश के पहले बॉक्सर हैं, जो ओलंपिक में खेलेंगे।

आशीष चौधरी पूर्व में नेशनल बॉक्सिंग प्रतियोगिता में स्वर्ण पदक, ऑल इंडिया इंटर यूनिवर्सिटी में रजत, इंडोनेशिया में हुई एशिया टेस्ट इवेंट इंटरनेशनल प्रतियोगिता में कांस्य पदक जीत चुके है। आर्मी स्पोर्ट्स संस्थान पुणे में हुई सीनियर राष्ट्रीय मुक्केबाजी प्रतियोगिता में भी आशीष ने कांस्य जीता था। इसके साथ ही उन्होंने यूक्रेन में 21वीं इंटरनेशनल बॉक्सिंग, रसिया में 10वीं इंटरनेशनल बॉक्सिंग, राउंड रोबिन इंटरनेशनल बॉक्सिंग टूर्नामेंट, विश्व सीरीज आफ  बॉक्सिंग, इंडिया ओपन इंटरनेशनल प्रतियोगिता में भी वह भाग ले चुके हैं। वह बुल्गारिया में हुए 70वें स्ट्रेंडजा कप और प्रेजिडेंट कप में भी देश का प्रतिनिधित्व कर चुके हैं।

देश का मान बढ़ाएंगे आशीष: दुर्गा देवी
माता दुर्गा देवी का कहना है कि आशीष ने गत वर्ष टोक्यो ओलंपिक के लिए क्वालीफाई कर पूरे देश में प्रदेश व परिवार का नाम रौशन किया है। वह पिछले एक साल से लगातार कड़ा अभ्यास जारी रखे हुए है और उन्हें पूरा विश्वास है कि आशीष अपना पूरा दमखम दिखाते हुए टोक्यो से मेडल लाकर देश का मान बढ़ाएगा।
... और पढ़ें

हिमाचल में बड़ा प्रशासनिक फेरबदल : आठ जिलों के उपायुक्तों समेत 43 अधिकारियों का तबादला

हिमाचल प्रदेश सरकार ने मंगलवार को हुई मंत्रिमंडल की बैठक के बाद देर रात सूबे में बड़ा प्रशासनिक फेरबदल कर दिया। आठ जिलों के उपायुक्तों (डीसी) समेत 43 आईएएस और एचएएस अधिकारियों के तबादलों के आदेश जारी किए गए। एमडी एनएचएम रहे डॉ. निपुण जिंदल को सूबे के सबसे बड़े जिले कांगड़ा का उपायुक्त बनाया गया है। उपायुक्त राकेश कुमार प्रजापति को निदेशक उद्योग के साथ एमडी राज्य औद्योगिक विकास निगम लगाया गया है।

निदेशक महिला एवं बाल विकास रही कृतिका कुलहरी को डीसी सोलन, श्रमायुक्त रहे नीरज कुमार को डीसी लाहौल स्पीति, निदेशक शहरी विकास आबिद हुसैन सादिक को डीसी किन्नौर, सचिव पब्लिक सर्विस कमीशन आशुतोष गर्ग को डीसी कुल्लू, निदेशक खाद्य एवं नागरिक आपूर्ति राम कुमार गौतम को डीसी सिरमौर और डीसी लाहौल स्पीति रहे पंकज राय को उपायुक्त बिलासपुर लगाया गया है। विशेष सचिव आबकारी एवं कराधान अरिंदम चौधरी मुख्यमंत्री के गृह जिले मंडी के नए उपायुक्त होंगे। डीसी कांगड़ा रहे राकेश कुमार प्रजापति को निदेशक उद्योग के साथ एमडी राज्य औद्योगिक विकास निगम और डीसी बिलासपुर रहे रोहित जमवाल को नया श्रम आयुक्त बनाया गया है।

अमित कश्यप पर्यटन, यूनुस संभालेंगे आबकारी कराधान 
कार्मिक विभाग की ओर से देर रात जारी आदेश में कई बड़े बदलाव देखने को मिले। मुख्यमंत्री के विशेष सचिव रहे विनय सिंह को निदेशक आयुर्वेद और उनकी पत्नी व पर्यटन विकास निगम की एमडी कुमुद सिंह को एमडी कौशल विकास निगम के साथ हिमाचल प्रदेश हस्तशिल्प और हथकरघा निगम का एमडी लगा दिया है। प्रधान सचिव लोक निर्माण शुभाशीष पांडा को पर्यटन एवं नागरिक उड्डयन का अतिरिक्त कार्यभार सौंपा गया है। सचिव मुख्यमंत्री देवेश कुमार को सामान्य, सचिवालय प्रशासन के साथ एमडी विद्युत निगम, राज्यपाल के सचिव राकेश कंवर को राज्य परियोजना निदेशक जीरो बजट  प्राकृतिक खेती का अतिरिक्त कार्यभार सौंपा है।

वहीं, एमडी विद्युत निगम रहे अमित कश्यप को निदेशक पर्यटन एवं नागरिक उड्डयन व एमडी पर्यटन विकास निगम, बिजली बोर्ड के निदेशक वित्त कैप्टन जेएम पठानिया को एमडी हिमाचल प्रदेश कृषि उद्योग निगम, विशेष सचिव शिक्षा राखिल काहलों को निदेशक महिला एवं बाल विकास, एमडी सिविल सप्लाइज कॉरपोरेशन मानसी सहायक ठाकुर को एमडी सामान उद्योग निगम और आबकारी एवं कराधान आयुक्त रहे रोहन चंद ठाकुर को एमडी हिमाचल प्रदेश वित्त निगम लगाया गया है। डीसी सिरमौर रहे डॉ. राज कृष्ण परूथी को विशेष सचिव कृषि के साथ निदेशक कृषि का अतिरिक्त कार्यभार, सीईओ बीबीएनडीए विनोद कुमार को एमडी हिमाचल प्रदेश पिछड़ा वर्ग वित्त एवं विकास निगम, निदेशक पर्यटन यूनुस को आबकारी एवं कराधान आयुक्त, निदेशक हिपा चंद्र प्रकाश वर्मा को विशेष सचिव कार्मिक के साथ विशेष सचिव जनजाति विकास और आयुक्त विभागीय जांच का जिम्मा सौंपा गया है।

विशेष सचिव कार्मिक रहे अमरजीत सिंह अब विशेष सचिव वित्त के साथ निदेशक ट्रेजरी अकाउंट्स व लॉटरी का कार्यभार  संभालेंगे। उपायुक्त मंडी ऋगवेद मिलिंद ठाकुर को निदेशक ग्रामीण विकास एवं पंचायती राज, निदेशक ग्रामीण विकास एवं पंचायती राज रहे ललित जैन को एमडी स्टेट सिविल सप्लाइज कॉरपोरेशन व निदेशक अनुसूचित जाति पिछड़ा वर्ग अल्पसंख्यक दिव्यांग सशक्तिकरण विवेक भाटिया को हिपा का अतिरिक्त चार्ज दिया गया है। विशेष सचिव ऊर्जा गोपाल चंद को विशेष सचिव उद्योग का अतिरिक्त कार्यभार, डीसी सोलन रहे कल्याण चंद को निदेशक खाद्य नागरिक आपूर्ति के साथ एमडी हिमाचल प्रदेश अल्पसंख्यक वित्त एवं विकास निगम का जिम्मा सौंपा गया है।

 डीसी कुल्लू रही डॉक्टर रिचा वर्मा को सीईओ बीबीएनडीए, निदेशक आयुर्वेद देवेंद्र कुमार रतन को सचिव हिमाचल प्रदेश पब्लिक सर्विस कमीशन, डीसी किन्नौर हेमराज बैरवा को एमडी एनएचएम, पावर कारपोरेशन के निदेशक कार्मिक एवं वित्त मनमोहन शर्मा को निदेशक शहरी विकास के साथ सीईओ शिमला स्मार्ट सिटी, एडीसी शिमला अपूर्व देवगन को सदस्य सचिव राज्य प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड, एडीसी चंबा मुकेश रेपसवाल को निदेशक सूचना एवं प्रौद्योगिकी के साथ एमडी राज्य इलेक्ट्रॉनिक्स विकास निगम,  एडीसी सिरमौर डॉ प्रियंका वर्मा को पावर कॉरपोरेशन में निदेशक कार्मिक एवं वित्त अतिरिक्त, एडीसी सोलन अनुराग चंद्र को विशेष सचिव आबकारी एवं कराधान व पीडब्ल्यूडी के साथ निदेशक एस्टेट्स लगा गया है। चाइल्ड केयर लीव से लौटीं आईएएस सोनाक्षी सिंह तोमर को एडीसी सिरमौर, एसडीएम सरकाघाट जफर इकबाल को एडीसी सोलन, एसडीएम चंबा शिवम प्रताप सिंह को एडीसी कुल्लू, एसडीएम सलूनी किरण भड़ाना को एडीसी शिमला और एसडीएम मंडी निवेदिता नेगी को एडीसी चंबा लगाया गया है।
... और पढ़ें

हिमाचल में छह कोरोना संक्रमितों की मौत, 195 नए पॉजिटिव, 11 जिलों में 500 से कम सक्रिय केस

आठ जिलों के उपायुक्तों समेत 43 अधिकारियों का तबादला
हिमाचल प्रदेश में मंगलवार को छह और कोरोना पॉजिटिव मरीजों की मौत हो गई। शिमला जिले में दो, जबकि सिरमौर, कांगड़ा, ऊना और मंडी में एक-एक संक्रमित ने दम तोड़ा। उधर, प्रदेश में 195 नए कोरोना पॉजिटिव मामले आए हैं। शिमला जिले में 30, मंडी 28, चंबा 21, कांगड़ा 19, कुल्लू  18, बिलासपुर 16, सिरमौर 18, ऊना 15, हमीरपुर 11,  सोलन 13 और लाहौल-स्पीति में छह नए मामले आए हैं।  

बीते 24 घंटों के दौरान प्रदेश में 314 मरीजों ने कोरोना को मात दी। अब प्रदेश में कुल कोरोना संक्रमितों का आंकड़ा 200791 पहुंच गया है। इनमें से अब तक 195055 संक्रमित ठीक हो चुके हैं। सक्रिय कोरोना मामले घटकर 2276 रह गए हैं। प्रदेश में अब तक 3437 संक्रमितों की मौत हुई है। बीते 24 घंटों के दौरान कोरोना की जांच के लिए 18392 लोगों के सैंपल लिए गए। कांगड़ा को छोड़कर सभी जिलों में कोरोना सक्रिय केस 500 से कम हो गए हैं।

किस जिले में कितने सक्रिय मामले
कांगड़ा         512
शिमला        272
सोलन         109
मंडी            302
चंबा            284
सिरमौर       128
ऊना           162
बिलासपुर    116
हमीरपुर       176
कुल्लू          134
किन्नौर         52
लाहौल-स्पीति 29


1.08 लाख से अधिक लाभार्थियों ने लगाई वैक्सीन
 प्रदेश में 22 जून को 1 लाख 8 हजार से अधिक लाभार्थियों ने वैक्सीन लगाई है।  स्वास्थ्य विभाग का कहना है कि प्रदेश में 18 से 14 वर्ष के आयु वर्ग के लोग बड़ी संख्या में टीकाकरण के लिए आगे आ रहे हैं। सरकार ने प्रतिदिन 1 लाख लोगों को वैक्सीन लगाने का लक्ष्य निर्धारित किया है। लेकिन लक्ष्य से ज्यादा लोग वैक्सीन लगवा रहे हैं।  21 जून को भी एक लाख से अधिक लोगों ने वैक्सीन लगाई। केंद्र सरकार की ओर से हिमाचल को पर्याप्त मात्रा में वैक्सीन उपलब्ध करवाई जा रही है। राज्य में कोविड वैक्सीन की लगभग 7,33, 810 खुराकें उपलब्ध हैं। बुधवार के दिन भी 18-44 वर्ष के आयु वर्ग के लिए टीकाकरण सत्र का आयोजन किया जाएगा। प्राथमिकता समूहों वाले लाभार्थी, 45 वर्ष से अधिक आयु वर्ग के लोगों को वैक्सीन की दूसरी खुराक लगाने के लिए वीरवार, शुक्रवार और शनिवार को वैक्सीन सत्र आयोजित किए जाएंगे।  
... और पढ़ें

हिमाचल: एक जुलाई से अंतरराज्यीय रूटों पर चलेंगी बसें, ई-पास की अनिवार्यता खत्म, रात आठ बजे तक खुलेंगी दुकानें

हिमाचल प्रदेश में कोरोना के मामले कम होने के बाद जयराम मंत्रिमंडल ने कई रियायतें बढ़ाने को मंजूरी दी है। बुधवार से प्रदेश में सभी दुकानें अब सुबह 9:00 से शाम 8:00 बजे तक खुल सकेंगी। रेस्तरां-ढाबों में रात 10 बजे तक खाना परोसा जा सकेगा। जिम, सिनेमाहाल, पार्क, गोल्फ कोर्स, ऑडिटोरियम और स्पोर्ट्स कांप्लेक्स को खोलने की मंजूरी भी दे दी गई है। बैठक के बाद राज्य आपदा प्रबंधन सेल ने इसके आदेश जारी कर दिए हैं। राज्य अतिथि गृह पीटरहॉफ में मंगलवार दोपहर बाद मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर की अध्यक्षता में हुई कैबिनेट की बैठक में कई अहम निर्णय लिए गए हैं।

तय किया गया है कि एक जुलाई से बाहरी राज्यों के लिए 50 फीसदी यात्रियों के साथ बसों का संचालन शुरू किया जाएगा। हिमाचल में प्रवेश के लिए ई-पंजीकरण की व्यवस्था भी खत्म हो जाएगी। इसी दिन से धार्मिक स्थलों को भी श्रद्धालुओं के लिए दर्शन के लिए खोल दिया जाएगा, लेकिन धार्मिक आयोजन नहीं होंगे। इसके अलावा इंजीनियरिंग, पॉलीटेक्निक कॉलेज और आईटीआई भी एक जुलाई से खोल दिए जाएंगे। हालांकि, सभी संबंधित विभागों की ओर से स्टैंडर्ड ऑपरेटिंग प्रोसीजर (एसओपी) जारी किया जाएगा।  बैठक में कैबिनेट ने 12वीं कक्षा के परिणाम के नए फॉर्मूले को भी मंजूरी दी है। 

52 दिन बाद बाहरी राज्यों के लिए शुरू होगी परिवहन सेवा
प्रदेश सरकार ने अंतरराज्यीय परिवहन सेवाएं शुरू करने के फैसले से बाहरी राज्यों में नौकरी, कारोबार करने वालों और छात्रों को बड़ी राहत मिलेगी।  
बता दें 7 मई को बाहरी राज्यों के लिए बस सेवाएं बंद हुई थीं, 52 दिन बाद वोल्वो और साधारण बसें हिमाचल से बाहर दौड़ेंगी।  हिमाचल के सभी जिलों से बाहरी राज्यों के लिए 708 रूटों पर बसें चलती हैं। इनमें दिल्ली, चंडीगढ़, पानीपत, हरियाणा, अमृतसर और अन्य रूट शामिल हैं। परिवहन विभाग का मानना है कि बाहरी राज्यों के यह सभी रूट फायदे वाले हैं।

शादियों में अब 100 लोग
कैबिनेट ने फैसला लिया है कि शादियों समेत सभी सामाजिक, शैक्षणिक, मनोरंजन, सांस्कृतिक, राजनीतिक व अन्य समारोहों में इंडोर क्षमता के 50 फीसदी और अधिकतम 50 लोग आ सकेंगे जबकि खुले में होने वाले समारोहों में अधिकतम 100 लोगों को शामिल होने की अनुमति होगी। अंतिम संस्कार में सिर्फ 50 लोग शामिल हो सकेंगे।  

खिलाड़ियों का पोषाहार भत्ता किया दोगुना
शिक्षा विभाग के खिलाड़ियों का पोषाहार भत्ता दोगुना करने का निर्णय भी लिया गया है। खंड स्तर पर पोषाहार भत्ता 50 रुपये से बढ़ाकर 100 रुपये, आंचलिक व जिला स्तर पर 60 रुपये से बढ़ाकर 120 और राज्य स्तर पर 75 रुपये से बढ़ाकर 150 रुपये प्रतिदिन प्रति छात्र किया गया है। मंत्रिमंडल ने शिक्षा विभाग के अंशकालिक जलवाहकों के मानदेय को एक अप्रैल 2021 से 300 रुपये प्रतिमाह बढ़ाने का निर्णय लिया है। इस निर्णय से विभाग के लगभग 1252 अंशकालिक जलवाहक लाभान्वित होंगे।

विभिन्न विभागों में भरे जाएंगे पद
कैबिनेट ने सोलन जिला के बद्दी में राज्य सतर्कता एवं भ्रष्टाचार निरोधी ब्यूरो का नया पुलिस थाना स्थापित करने व इसमें विभिन्न श्रेणियों के 14 पद सृजित कर उन्हें भरने की मंजूरी प्रदान की। कैबिनेट ने अभियोजन विभाग में सीधी भर्ती द्वारा अनुबंध आधार पर सहायक जिला न्यायवादी के 25 पद भरने को स्वीकृति प्रदान की।  बैठक में जिला किन्नौर के कल्पा में नए खोले गए उप-कारागार के लिए विभिन्न श्रेणियों के 30 पद सृजित कर भरने को स्वीकृति प्रदान की।  सोलन जिले के दून विधानसभा क्षेत्र के तहत बद्दी में जल शक्ति विभाग के नए मंडल के अलावा साई में नया जल शक्ति अनुभाग खोलने अनुमति प्रदान की। 

स्कूलों को अपग्रेड किया 
कैबिनेट ने जिला चंबा में राजकीय माध्यमिक पाठशाला मनकोट, कुठेड़, केगा, घट्टा, सरोग को राजकीय उच्च पाठशाला और राजकीय उच्च पाठशाला बन्जवार, सिंगाधार और ढाडू को राजकीय वरिष्ठ माध्यमिक पाठशालाओं में स्तरोन्नत करने का निर्णय लिया। इन पाठशालाओं के सुचारु संचालन के लिए विभिन्न श्रेणियों के आवश्यक पदों को सृजित कर भरने का निर्णय लिया। जयराम कैबिनेट ने सीबीएसई के फार्मूले में संशोधन करते हुए 12वीं कक्षा का परिणाम तैयार करने को मंजूरी दे दी है। इसके साथ ही प्रदेश के ग्रीष्मकालीन अवकाश वाले स्कूलों में 26 जून से 25 जुलाई तक अवकाश रहेगा। 

तीसरी लहर के लिए तैयारी जोरों पर: भारद्वाज  
 कैबिनेट ब्रीफिंग करते हुए शहरी विकास मंत्री सुरेश भारद्वाज ने कहा है कि स्वास्थ्य विभाग की ओर से विस्तार से प्रस्तुति दी गई। कोविड 19 की दूसरी लहर में सक्रिय सक्रिय और मौत के मामलों में भी कमी आई है। यह कमी धीरे-धीरे आ रही है। रिकवरी रेट ज्यादा है। इसलिए ये निर्णय हुए हैं। हालांकि, अभी भी 2400 एक्टिव केस प्रदेश में हैं। तीसरी लहर के लिए सरकार पूरी गंभीरता से तैयारी कर रही है। बच्चों के लिए तीसरी लहर घातक होगी तो इसके लिए अभी से तैयारी की जा रही है। 
... और पढ़ें

किन्नौर: नमज्ञा में महिला की हत्या, देवर और जीजा गिरफ्तार

 हिमाचल प्रदेश के किन्नौर जिले की पुलिस थाना पूह के तहत नमज्ञा गांव में महिला की हत्या का मामला सामने आया है। नेपाली मूल की इस महिला की हत्या के मामले में पुलिस ने देवर और जीजा को गिरफ्तार कर लिया है। पुलिस ने हत्या का मुकदमा दर्ज कर छानबीन शुरू कर दी है। बताया जा रहा है कि किसी बात को लेकर दोनों पक्षों में झगड़ा हो गया, जिसमें दोनों ने महिला की पीटकर हत्या कर दी। मृतक महिला की पहचान तागी थापा पुत्री नेने राणा, निवासी गांव डिंगा, तहसील खलंगा, जिला जाझरकोट, नेपाल के रूप में हुई है। 

पुलिस अधीक्षक जिला किन्नौर एसआर राणा ने बताया कि नमज्ञा गांव में दो नेपाली मूल के मजदूरों ने 38 वर्षीय नेपाली मूल की महिला की हत्या कर दी है। मामला सामने आने पर धनराज की शिकायत पर पुलिस थाना पूह में आईपीसी की धारा 302 और 34 भारतीय दंड संहिता के तहत दर्ज किया गया है। उन्होंने बताया कि जांच करने पर इस हत्या में दो लोगों की संलिप्तता पाई गई है। मृतका के शव का पोस्टमार्टम आईजीएमसी शिमला में करवाया गया, जहां विशेषज्ञ चिकित्सकों ने मौत की वजह से सिर, मुंह और छाती पर चोटों को बताया।

मौके पर मिले साक्ष्यों, गवाहों के बयान और पोस्टमार्टम रिपोर्ट के आधार पर पुलिस ने इस मामले में मृतक महिला के देवर टेक बहादुर थापा पुत्र कृष्ण बहादुर थापा, निवासी गांव डिंगा, जिला जाझरकोट, नेपाल और जीजा नीम बहादुर थापा पुत्र दलबीर थापा, निवासी डिंगा, जिला जाझरकोट, नेपाल को गिरफ्तार किया। पुलिस ने दोनों आरोपियों को जिला मुख्य न्यायिक दंडाधिकारी रिकांगपिओ के समक्ष सोमवार को पेश किया, जहां से उन्हें 25 जून तक पुलिस रिमांड पर भेजा गया है। एसपी एसआर राणा ने बताया कि महिला की हत्या के मामले में पुलिस ने संलिप्त दोनों आरोपियों के खिलाफ केस दर्जकर उन्हें गिरफ्तार कर लिया है। दोनों आरोपियों से कड़ी पूछताछ की जा रही है। 
... और पढ़ें

हिमाचल कैबिनेट निर्णय: जुलाई के तीसरे सप्ताह में 12वीं कक्षा का परिणाम, ग्रीष्मकालीन स्कूलों में 26 जून से 25 जुलाई तक छुट्टियां

हिमाचल सरकार ने 12वीं कक्षा का परीक्षा परिणाम तैयार करने के लिए सीबीएसई के अंक निर्धारण का फार्मूला संशोधित कर दिया है। सीबीएसई ने 10वीं और जमा एक कक्षा के 30-30 फीसदी अंक जोड़ने का फैसला लिया है। मंगलवार को मंत्रिमंडल की बैठक में राज्य स्कूल शिक्षा बोर्ड को 10वीं और 11वीं कक्षा के सिर्फ 25 फीसदी अंक ही 12वीं के परिणाम में शामिल करने को मंजूरी दी गई। इसके अलावा 12वीं कक्षा की प्री बोर्ड और फर्स्ट-सेकेंड टर्म की परीक्षाओं के 55 फीसदी अंक, अप्रैल में हुई अंग्रेजी विषय की परीक्षा के पांच फीसदी अंक और आंतरिक मूल्यांकन के 15 फीसदी अंकों के आधार पर परीक्षा परिणाम तैयार करने को मंजूरी दी गई। परीक्षा परिणाम जुलाई के तीसरे सप्ताह में जारी होगा।

मंगलवार दोपहर बाद मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर की अध्यक्षता में हुई मंत्रिमंडल की बैठक में शिक्षा सचिव ने 12वीं कक्षा के अंक निर्धारण को तैयार किए गए फार्मूले की प्रस्तुति दी। सरकार ने स्कूल शिक्षा बोर्ड के प्रस्ताव को बदलते हुए 12वीं का परिणाम तैयार करने के लिए दसवीं कक्षा के पांच फीसदी अंक घटाने और प्री बोर्ड परीक्षाओं के पांच फीसदी अंक बढ़ाने का फैसला लिया। विषय वार थ्योरी के अंक तय करने को सरकार ने इस फार्मूले में बदलाव किया। 15 फीसदी अंक शिक्षकों को आंतरिक मूल्यांकन करने के लिए दिए गए हैं। सीबीएसई ने 10वीं-11वीं कक्षा के 60 फीसदी और बारहवीं कक्षा के 40 फीसदी अंकों के आधार पर परिणाम तैयार करने का फार्मूला तैयार किया है। 

उधर, प्रदेश के ग्रीष्मकालीन स्कूलों में 26 जून से 25 जुलाई तक बरसात की छुट्टियां रहेंगी। मंगलवार को मंत्रिमंडल ने शिक्षा विभाग के छुट्टियों के शेड्यूल में बदलाव करने के प्रस्ताव को मंजूरी दी। शीतकालीन स्कूलों में 22 से 27 जुलाई तक अवकाश रहेगा। कुल्लू जिला के स्कूलों में 23 जुलाई से 14 अगस्त और लाहौल-स्पीति में एक से 31 जुलाई तक मानसून ब्रेक दी गई है। छुट्टियों के बावजूद ऑनलाइन पढ़ाई जारी रहेगी। गर्मियों के स्कूलों वाले बच्चों को छुट्टियों के दौरान प्रोजेक्ट और असाइनमेंट वर्क दिया जाएगा। विद्यार्थियों के लिए प्रदेश में अभी स्कूल बंद ही रहेंगे। शीतकालीन स्कूलों और जिन स्कूलों में छुट्टियां नहीं की गई हैं, वहां एक जुलाई से शिक्षकों का आना अनिवार्य कर दिया गया है। 30 जून तक सभी शिक्षकों को वैक्सीन लगवाना सुनिश्चित करने की प्रिंसिपलों को जिम्मेवारी सौंपी गई है। सरकार ने ग्रीष्मकालीन स्कूलों में तीस दिन, कुल्लू के स्कूलों में 23 दिन, लाहौल में 31 दिन और शीतकालीन स्कूलों में छह दिन का अवकाश दिया है। 

अंशकालिक  जलवाहकों का मानदेय बढ़ा
शिक्षा विभाग के खिलाड़ियों का पोषाहार भत्ता दोगुना करने का निर्णय भी लिया गया है। खंड स्तर पर पोषाहार भत्ता 50 रुपये से बढ़ाकर 100 रुपये, आंचलिक व जिला स्तर पर 60 रुपये से बढ़ाकर 120 और राज्य स्तर पर 75 रुपये से बढ़ाकर 150 रुपये प्रतिदिन प्रति छात्र किया गया है। मंत्रिमंडल ने शिक्षा विभाग के अंशकालिक जलवाहकों के मानदेय को एक अप्रैल 2021 से 300 रुपये प्रतिमाह बढ़ाने का निर्णय लिया है। इस निर्णय से विभाग के लगभग 1252 अंशकालिक जलवाहक लाभान्वित होंगे।
 
... और पढ़ें

दफ्तर आएंगे सभी कर्मी, डॉक्टरों का स्टाइपेंड बढ़ा, अंशकालिक जलवाहकों को तोहफा, जानें हिमाचल कैबिनेट के फैसले

हिमाचल प्रदेश में एक जुलाई से सभी कर्मचारी कार्यालय आएंगे। मंगलवार को कैबिनेट बैठक में फैसला लिया गया कि सभी सरकारी कार्यालय एक जुलाई से शत-प्रतिशत क्षमता के साथ कार्य करना आरंभ करेंगे। कैबिनेट ने सोलन जिला के बद्दी में राज्य सतर्कता एवं भ्रष्टाचार निरोधी ब्यूरो का नया पुलिस थाना स्थापित करने व इसमें विभिन्न श्रेणियों के 14 पद सृजित कर उन्हें भरने की मंजूरी प्रदान की। कैबिनेट ने अभियोजन विभाग में सीधी भर्ती द्वारा अनुबंध आधार पर सहायक जिला न्यायवादी के 25 पद भरने को स्वीकृति प्रदान की।

 बैठक में जिला किन्नौर के कल्पा में नए खोले गए उप-कारागार के लिए विभिन्न श्रेणियों के 30 पद सृजित कर भरने को स्वीकृति प्रदान की।  सोलन जिले के दून विधानसभा क्षेत्र के तहत बद्दी में जल शक्ति विभाग के नए मंडल के अलावा साई में नया जल शक्ति अनुभाग खोलने अनुमति प्रदान की। कैबिनेट ने राज्यों के चिकित्सा एवं दंत महाविद्यालयों में स्नातकोत्तर विद्यार्थियों (एमडी, एमएस एवं डीएनबी), जूनियर रेजीडेंट, ट्यूटर विशेषज्ञ और डीएम, एमसीएच विद्यार्थियों का स्टाइपेंड 5000 रुपये प्रतिमाह बढ़ाने का निर्णय लिया।

मुख्यमंत्री की बजट घोषणा के अनुरूप शिक्षा विभाग के खिलाड़ियों का पोषाहार भत्ता दोगुना करने का निर्णय भी लिया गया। इस निर्णय के अनुसार खंड स्तर पर पोषाहार भत्ता 50 रुपये से बढ़ाकर 100 रुपये, आंचलिक व जिला स्तर पर 60 रुपये से बढ़ाकर 120 और राज्य स्तर पर 75 रुपये से बढ़ाकर 150 रुपये प्रतिदिन प्रति छात्र किया गया है। कैबिनेट ने जिला चंबा में राजकीय माध्यमिक पाठशाला मनकोट, कुठेड़, केगा, घट्टा, सरोग को राजकीय उच्च पाठशाला और राजकीय उच्च पाठशाला बन्जवार, सिंगाधार और ढाडू को राजकीय वरिष्ठ माध्यमिक पाठशालाओं में स्तरोन्नत करने का निर्णय लिया।

इन पाठशालाओं के सुचारु संचालन के लिए विभिन्न श्रेणियों के आवश्यक पदों को सृजित कर भरने का निर्णय लिया। शिक्षा विभाग के अंशकालिक जलवाहकों के मानदेय को एक अप्रैल 2021 से 300 रुपये प्रतिमाह बढ़ाने का निर्णय लिया। इस निर्णय से विभाग के लगभग 1252 अंशकालिक जलवाहक लाभान्वित होंगे। बैठक में गोविंद सागर जलाशय की कार्य प्रणाली में बदलाव के लिए पट्टा/निविदा अवधि को कम से कम एक से चार वर्ष तक बढ़ाने का भी निर्णय लिया।

30 सितंबर तक सेवाएं देते रहेंगे 1602 आउटसोर्स कर्मी
जयराम मंत्रिमंडल ने राज्य में कोविड-19 की दूसरी लहर से निपटने के लिए स्वास्थ्य संस्थानों में 30 जून तक विभिन्न श्रेणियों के 1602 पद आउटसोर्स के आधार पर भरने को कार्योत्तर अनुमति देने के लिए सहमति प्रदान की। बैठक में कोविड महामारी की संभावित तीसरी लहर को देखते हुए इन कर्मचारियों को 30 सितंबर 2021 तक सेवा विस्तार प्रदान करने का निर्णय लिया गया। 
... और पढ़ें
Election
  • Downloads

Follow Us