विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

From nearby cities

किसी परिचय के मोहताज नहीं लोक गायक जगदीश

हिमाचली लोक कलाकारों में जगदीश शर्मा किसी परिचय के मोहताज नहीं हैं। बंजार के छोटे से गांव के जगदीश युवाओं के बीच खास जगह बना चुके हैं।

16 मार्च 2020

विज्ञापन
विज्ञापन

शिमला

शुक्रवार, 10 अप्रैल 2020

कोरोना पॉजिटिव जमाती ने मरकज से लौटते समय एचआरटीसी बस में किया था सफर

हिमाचल में सोलन जिले के एक और जमाती के ब्लड सैंपल की रिपोर्ट कोरोना पॉजिटिव आई है। देररात आई पॉजिटिव रिपोर्ट के बाद उसे ईएसआई अस्पताल बद्दी में भर्ती किया गया। भर्ती किया गया नया संक्रमित जमाती 11 मार्च को निजामुद्दीन मरकज से पांवटा के लिए निकला था। उसने हरियाणा रोडवेज और हिमाचल पथ परिवहन निगम की बस (एचपी 18 बी-8435) में सफर किया है। सफर के दौरान वह कई लोगों के संपर्क में आया होगा। मिश्रवाला पहुंचने पर वह 11 से 25 मार्च तक वह कई मस्जिदों में रहा। प्रशासन संपर्क में आए लोगों को ट्रेस करने में जुटा है। उपायुक्त डॉ. आरके परूथी ने बताया कि स्थानीय स्तर पर वह जिन मस्जिदों में गया और जिन लोगों के संपर्क में आया, उन्हें ट्रेस कर लिया है। 

उपायुक्त ने बताया कि जमातियों से जुड़े लोगों के 35 सैंपल और तीन अन्य लोगों के सैंपल जांच के लिए आईजीएमसी शिमला भेजे थे जिसमें से केवल एक व्यक्ति संक्रमित पाया गया है। उन्होंने अपील की है कि 11 मार्च 2020 को एचआरटीसी की बस संख्या(एचपी 18 बी-8435)  में यमुनानगर से बात्ता चौक पांवटा साहिब तक सफर करके आए लोग जानकारी जिला प्रशासन को मुहैया करवाएं। यदि किसी को खांसी, जुकाम, बुखार और सांस लेने में परेशानी हो रही हो तो अपनी जानकारी टोल फ्री नंबर या मेडिकल हेल्पलाइन नंबर पर दें। उन्होंने पिकअप चालकों से भी प्रशासन के समक्ष आने और प्रशासन को इस बारे में सूचना देने की अपील की है। 
... और पढ़ें

दवाओं के उत्पादन को फार्मा कंपनियों की मदद करेगी हिमाचल सरकार

मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर ने कहा कि राज्य सरकार हाइड्रोक्सी क्लोरोक्वीन समेत कई जीवनरक्षक दवाओं के सुचारु उत्पादन को तय करने के लिए बद्दी, बरोटीवाला और नालागढ़ क्षेत्र में फार्मा कंपनियों को हरसंभव मदद देगी। सीएम ने गुरुवार को शिमला से वीडियो कांफ्रेंसिंग के माध्यम से प्रमुख फार्मा कंपनियों के प्रतिनिधियों के साथ बातचीत की। सीएम ने कहा कि राज्य सरकार फार्मा कंपनियों के लिए कर्मचारियों के सुचारू आवागमन के अलावा कच्चे माल और दवाओं की आपूर्ति को सुचारु बनाए रखने के लिए सभी जरूरी कदम उठा रही है।

इन कंपनियों से दवाओं की ढुलाई के लिए पर्याप्त संख्या में ट्रक उपलब्ध करवाए जाएंगे। सीएम ने फार्मा कंपनियों की ओर से अपनी अधिकांश इकाइयों में फिर से उत्पादन शुरू करने के प्रयासों की सराहना की। कई फार्मा कंपनियों के प्रतिनिधियों ने दवाई उत्पादन कार्यों को शुरू करने और फार्मा कंपनियों को सुविधा देने के लिए राज्य सरकार के कदमों की सराहना की। इस बैठक में मुख्य सचिव अनिल खाची और अन्य वरिष्ठ अधिकारी भी उपस्थित थे।

 हाइड्रोक्सी क्लोरोक्वीन की पूरी दुनिया में मांग 
सीएम ने कहा कि इस क्षेत्र की लगभग 250 फार्मा इकाइयों ने फिर से उत्पादन शुरू किया है। इनमें से अधिकांश कंपनियां  हाइड्रोक्सी क्लोरोक्वीन की मांग को पूरा कर रही हैं। इस दवाई की न केवल भारत में बल्कि पूरी दुनिया में मांग है।
... और पढ़ें

हिमाचल में 13 तक मौसम साफ, 14 से बारिश के आसार

Coronavirus: हिमाचल के पांच जिलों में 80 हॉटस्पॉट घोषित, नहीं मिलेगी कोई छूट

हिमाचल में सामने आ रहे कोरोना वायरस के मामलों को देखते हुए पांच जिलों की 80 पंचायतों को सरकार ने हॉटस्पॉट घोषित कर दिया है। वीडियो कांफ्रेंसिंग से मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर ने संबंधित जिलों के उपायुक्तों, पुलिस अधीक्षकों और मुख्य चिकित्सा अधिकारियों की बैठक लेते हुए आदेश दिए हैं कि हॉटस्पॉट पंचायतों को पूरी तरह सील किया जाए, ताकि वायरस न फैल सके। चिह्नित की गईं हॉटस्पॉट पंचायतें कांगड़ा, चंबा, सिरमौर, सोलन और ऊना जिले की हैं, जहां पर कोरोना वायरस के मरीज सामने आए हैं। उपायुक्तों ने इन पंचायतों को सीएम के निर्देश पर चिह्नित किया है।

जयराम ठाकुर ने कहा कि इन हॉटस्पॉट में कर्फ्यू में कोई छूट नहीं दी जाएगी। हॉटस्पॉट में आवश्यक वस्तुओं को होम डिलीवरी के माध्यम से प्रदान किया जाना चाहिए। उन्होंने अधिकारियों से कहा कि वे अपने-अपने जिलों में होम डिलीवरी सिस्टम को मजबूत करें। इन क्षेत्रों में वाहनों को चलाने पर प्रतिबंध रहेगा। सभी के लिए मास्क पहनना अनिवार्य होगा। मुख्यमंत्री ने कहा कि राज्य सरकार लोगों को मास्क की उपलब्धता सुनिश्चित करेगी।  यह कदम कोरोना को फैलने से रोकने में मददगार साबित होगा।

 उन्होंने गैर सरकारी संगठनों से राज्य के लोगों को घर पर बने मास्क प्रदान करने में आगे आने का आग्रह किया। मुख्यमंत्री ने राज्य के सभी प्रमुख धार्मिक स्थलों में तुरंत सीसीटीवी कैमरे लगाने के निर्देश दिए। इससे ऐसे लोगों का पता लगाने में मदद मिलेगी जो सरकार के आदेशों की अवहेलना करते हैं। उन्होंने कहा कि सरकार ऐसे उल्लंघन करने वालों के खिलाफ सख्त कार्रवाई करेगी।

केंद्र से मांगी कोरोना टेस्ट किट
वहीं, प्रदेश सरकार ने केंद्र सरकार को पत्र लिखकर कोरोना टेस्ट के लिए एक और किट उपलब्ध कराने की मांग की है। इस किट को पालमपुर में स्थापित किया जाएगा। हिमाचल में आईजीएमसी, टांडा और कसौली में ही कोरोना किट उपलब्ध है। अभी आईजीएमसी और टांडा कॉलेज में जांच की जा रही है जबकि जिला सोलन और सिरमौर के सैंपल अभी भी जांच को शिमला आईजीएमसी भेजे जा रहे हैं। कोरोना किट में एक साथ 22 सैंपलों की जांच की जा सकती है। ऐसे में बारी-बारी सैंपल की जांच करनी पड़ती है। रिपोर्ट आने में कम से कम चार घंटे का समय लगता है। 
... और पढ़ें
मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर

हिमाचल की 80 पंचायतें कोरोना हॉटस्पॉट घोषित, जानें क्या करें और क्या ना करें...

हिमाचल में सामने आ रहे कोरोना वायरस के मामलों को देखते हुए पांच जिलों की 80 पंचायतों को सरकार ने हॉटस्पॉट घोषित कर दिया है। वीडियो कांफ्रेंसिंग से मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर ने संबंधित जिलों के उपायुक्तों, पुलिस अधीक्षकों और मुख्य चिकित्सा अधिकारियों की बैठक लेते हुए आदेश दिए हैं कि हॉटस्पॉट पंचायतों को पूरी तरह सील किया जाए, ताकि वायरस न फैल सके। चिह्नित की गईं हॉटस्पॉट पंचायतें कांगड़ा, चंबा, सिरमौर, सोलन और ऊना जिले की हैं, जहां पर कोरोना वायरस के मरीज सामने आए हैं। 

ऐसे में ये सवाल सबके मन में पैदा होते हैं कि आखिर कोरोना हॉटस्पॉट है क्या? क्या हॉटस्पॉट जोन में रहते हुए लोग घरों में बाहर निकल सकते हैं, किसी जगह को हॉटस्पॉट कब कहा जाता है? कोरोना के संक्रमण को रोकने के लिए कुछ इलाकों को हॉटस्पॉट बनाए गए हैं। ये ऐसे इलाके हैं जहां कोरोना मामलों की संख्या ज्यादा है या जहां संक्रमण के तेजी से फैलने की ज्यादा संभावना है। इन इलाकों को पूरी तरह से सील करने के निर्देश जारी किए गए हैं।
... और पढ़ें

कोरोना का असर: हिमाचल में आगामी आदेशों तक निजी स्कूलों की फीस वसूली पर रोक

हिमाचल सरकार ने निजी स्कूलों पर शिकंजा कसते हुए आगामी आदेशों तक फीस वसूली पर पूरी तरह रोक लगा दी है। कुछ स्कूलों की मनमानी पर कड़ा संज्ञान लेते हुए गुरुवार को उच्च शिक्षा निदेशक ने पत्र जारी कर हालात सामान्य न होने तक फीस वसूली पर रोक लगा दी है। बीते दिनों फीस वसूली पर 30 अप्रैल तक रोक लगाई गई थी लेकिन कुछ निजी स्कूलों द्वारा अभिभावकों को बार-बार आजकल ही फीस जमा करवाने के एसएमएस भेजने के चलते अब अगले आदेशों तक फीस वसूली को रोक दिया है। उच्च  शिक्षा निदेशक डॉ. अमरजीत कुमार शर्मा ने निजी स्कूल प्रबंधनों को चेताते हुए कहा कि कड़ी कार्रवाई के लिए सरकार को मजबूर न करें।

ऑनलाइन लाइब्रेरी की किताबें मुफ्त पढ़ सकेंगे विद्यार्थी
शिमला। हिमाचल प्रदेश विश्वविद्यालय की लाइब्रेरी में मौजूद जर्नल्स व किताबें विद्यार्थी ऑनलाइन पढ़ सकेंगे। इसके लिए विश्वविद्यालय विद्यार्थियों के लिए एक महीने की निशुल्क सुविधा मुहैया करवाएगा। तमाम औपचारिकताएं पूरी करने के बाद प्रदेश विश्वविद्यालय ने शिक्षकों को इसकी जानकारी दे दी है। साथ ही संबंधित ऑनलाइन लिंक भी उपलब्ध करवा दिया है। विद्यार्थी एक माह तक जर्नल्स किताबें ऑनलाइन प्राप्त कर सकेंगे। शिक्षकों को यूजर आईडी व पासवर्ड उपलब्ध करवाने के बाद इसे विद्यार्थियों के शेयर करने को लेकर निर्देश दिए गए हैं। 
... और पढ़ें

हिमाचल के लिए राहत की खबर, सभी 111 नमूनों की रिपोर्ट निगेटिव

हिमाचल प्रदेश के लिए राहत की खबर आई है। प्रदेश में गुरुवार को 111 नमूनों की जांच की गई है, जिनमें से सभी की रिपोर्ट निगेटिव पाई गई है। अतिरिक्त मुख्य सचिव स्वास्थ्य आरडी धीमान ने इसकी पुष्टि करते हुए कहा कि अब तक प्रदेश में कुल 773 लोगों की जांच की जा चुकी है। अभी तक प्रदेश में कुल 5035 लोगों को निगरानी में रखा गया हैं। इनमें से 2556 लोगों ने 28 दिन की जरूरी निगरानी अवधि को पूरा कर लिया है और स्वस्थ हैं।  

तीन कोरोना पॉजिटिव जमातियों की रिपोर्ट निगेटिव
उधर टांडा में भर्ती ऊना से लाए गए तीन कोरोना पॉजिटिव जमातियों की सात दिन बाद ली गई दूसरी सैंपल रिपोर्ट निगेटिव आ गई है। अब सात दिन बाद दोबारा उनके सैंपल लिए जाएंगे। अगर फिर रिपोर्ट निगेटिव आई तो उन्हें अस्पताल से छुट्टी दे दी जाएगी। यह मरीज मंडी और सुंदरनगर के रहने वाले हैं। ये लोग ऊना जिले की नकड़ोह मस्जिद में ठहरे थे। अभी टांडा में कोरोना संक्रमित मरीजों की संख्या पांच है। इससे पहले  कांगड़ा जिले के 63 साल की महिला समेत दो मरीज टांडा में ठीक हो चुके हैं, जबकि एक मरीज दम तोड़ चुका है।

इन अस्पतालों में भी होगा मरीजों का उपचार
चैरिटी अस्पताल भोटा जिला हमीरपुर, एसएस मेमोरियल आशीर्वाद अस्पताल चंबा, नागरिक अस्पताल सराहां जिला सिरमौर एवं अग्रवाल अस्पताल ज्वालामुखी जिला कांगड़ा को समर्पित सेकेंडरी केयर अस्पताल के रूप मे अधिसूचित किया गया है। इनमें कोरोना संदिग्ध मरीजों का उपचार होगा।
 
... और पढ़ें

हिमाचल में कैंसर मरीजों के उपचार के लिए अस्पताल तय

सांकेतिक तस्वीर
हिमाचल सरकार ने कैंसर के मरीजों के उपचार के लिए अस्पताल चयनित किए हैं। कोरोना के चलते मरीजों का उपचार प्रभावित न हो इसके लिए यह व्यवस्था की गई है। बिलासपुर से संबंधित मरीजों का उपचार रीजनल अस्पताल में होगा। यहां सेवाएं व अन्य कार्य आईजीएमसी के दिशा-निर्देश पर होगा। चंबा के मरीजों को चंबा मेडिकल कॉलेज में उपलब्ध मिलेगी। हमीरपुर के मरीजों का उपचार टांडा मेडिकल कॉलेज के दिशा-निर्देशों, कांगड़ा के मरीजों का उपचार जोनल अस्पताल धर्मशाला में किया जाएगा। टांडा मेडिकल कॉलेज के स्पेशलिस्ट डॉक्टर सहयोग करेंगे।

किन्नौर के मरीजों का खनेरी अस्पताल में उपचार होगा। आईजीएमसी के दिशा-निर्देश पर काम होगा। कुल्लू के मरीजों का उपचार कुल्लू अस्पताल, नेरचौक मेडिकल कॉलेज के डॉक्टर सहयोग करेंगे। मंडी के मरीजों का उपचार नेरचौक में होगा। शिमला का मेडिकल कॉलेज और सिरमौर का नाहन मेडिकल कॉलेज में उपचार होगा। सोलन के मरीजों का उपचार जिला अस्पताल और ऊना के मरीजों का उपचार ऊना अस्पताल में होगा। टांडा मेडिकल कॉलेज के दिशा-निर्देश पर काम करेगा। मरीजों को कीमोथैरेपी स्पेशलिस्ट के दिशा-निर्देश पर दी जाएगी।
... और पढ़ें

नेवी अफसर ने महिलाओं को रोजगार देकर बनवाए एक हजार मास्क

कोरोना वायरस की महामारी के बीच जरूरतमंद लोगों की मदद के लिए सरकार के साथ कई संस्थाएं आगे आ रही है। वहीं सरकारी अधिकारी भी अपने स्तर से समाज की सेवा में जुटे हैं। कुल्लू के नेवी अफसर आदित्य गौतम भी निस्वार्थ सेवा की मिसाल पेश कर रहे हैं। 19 मार्च को सिंगापुर से लौटने के बाद उन्होंने पहले खुद को होम क्वारंटीन में रखा। क्वारंटीन पीरियड पूरा होने के बाद अब वह जरूरतमंद लोगों का बीड़ा उठाए हुए हैं। उनकी यह सेवा मुहिम एक अप्रैल से लगातार जारी है। आदित्य सिलाई का काम करने वाली महिलाओं को मेहनताना देकर एक हजार मास्क तैयार करवाकर लोगों को वितरित कर चुके हैं।

उन्होंने प्रवासी मजदूरों के अलावा दूर-दराज से पढ़ने आए विद्यार्थियों को राशन की सुविधा भी उपलब्ध करवाई है। साथ ही समाज सेवा में सक्रिय दो संस्थाओं को क्रमश: 10 और पांच हजार रुपये का आर्थिक सहयोग भी दे चुके हैं। इसके अलावा जरूरतमंदों को 150 सैनिटाइजर वितरित करने के अलावा व्यक्तिगत तौर पर 35 हजार रुपये की आर्थिक मदद भी मुहैया करवा चुके हैं। नेवी अधिकारी आदित्य गौतम के अनुसार के महामारी की इस विकट घड़ी में सक्षम लोगों को जातपात, धर्म और राजनीति से ऊपर उठकर जरूरतमंद लोगों की मदद को आगे आना चाहिए।
... और पढ़ें

यहां बनी हिमाचल की पहली कीटाणुनाशक छिड़काव सुरंग, पांच सेकंड में वायरस से मुक्ति

हिमाचल में कोरोना पॉजिटिव के कई मामले सामने आने के बाद अब प्रदेश में कीटाणुनाशक छिड़काव सुरंग लगाने की कवायद शुरू हो गई है। इसकी शुरुआत नालागढ़ अस्पताल से हुई है, जहां ग्रामीण विकास विभाग एवं पंचायती राज विभाग द्वारा पहली टनल स्थापित कर दी गई है। यहां इसका ट्रायल भी किया गया है। टनल में प्रवेश करते ही व्यक्ति पांच सेकंड में बिना गीले हुए खुद ही सैनिटाइज हो जाएगा। 

ग्रामीण विकास विभाग के निदेशक ललित जैन की अगुवाई में यह टनल स्थापित हुई है। इस दौरान एसडीएम नालागढ़ प्रशांत देष्टा, तहसीलदार नालागढ़ ऋषभ शर्मा, बीएमओ डॉ. केडी जस्सल, बीडीओ राजकुमार आदि मौजूद रहे। नालागढ़ अस्पताल में अब प्रवेश करने वाले लोग सैनिटाइज होकर ही प्रवेश करेंगे। इस कीटाणुनाशक छिड़काव सुरंग को नालागढ़ अस्पताल में स्थापित करके ट्रायल के तौर पर शुरू कर दिया है। यदि प्रयोग सफल होता है तो अन्य जगहों पर भी इनका संचालन किया जाएगा। 
... और पढ़ें

मुख्यमंत्री जयराम ने लांच किया फेक न्यूज रोकने के लिए वेबपोर्टल

मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर ने कहा कि कुछ सोशल मीडिया प्लेटफार्म असत्यापित सूचना दे रहे हैं। इससे लोगों में डर फैल रहा है। सीएम ने कोविड-19 से संबंधित फर्जी और असत्यापित सूचनाओं की जानकारी अपलोड करने के लिए गुरुवार को वेब पोर्टल fakenews.hp.gov.in लांच किया, जिससे ऐसी सूचनाओं के खिलाफ उचित कार्रवाई की जा सके। उन्होंने कहा कि यह भी देखा गया है कि समाचार मीडिया, विशेष रूप से कुछ सोशल मीडिया प्लेटफार्म कोविड-19 से संबंधित असत्यापित जानकारी को प्रसारित कर रहे हैं। 

 उन्होंने सभी मीडिया प्लेटफार्मों और सभी हितधारकों से अफवाह और असत्यापित खबरें न फैलाने और लोगों को सत्यापित जानकारी देने में सरकार के साथ सहयोग करने का आग्रह किया। उन्होंने कहा कि इस बारे में सूचना उपलब्ध करवाने वाले व्यक्ति की जानकारी गोपनीय रखी जाएगी। यह सुनिश्चित करने के लिए कि इस तरह की जानकारी किसी गुमनाम व्यक्ति की ओर से न दी जाए, इस वेब पोर्टल में कई सिक्योरिटी फीचर्स जैसे ओटीपी इत्यादि का प्रावधान रखा गया है।

लोग कोविड-19 से संबंधित मीडिया में प्रसारित की जा रही फर्जी और अप्रमाणित सूचनाओं की जानकारी [email protected] ई-मेल आईडी या व्हाट्सऐप नंबर 9816323469 पर दे सकते हैं। उन्होंने लोगों आग्रह है कि वे कोविड-19 से संबंधित किसी भी मीडिया प्लेटफार्म की ओर से प्रचारित अथवा प्रसारित की जा रही सूचना को ऐसे माध्यम से सरकार की ओर से गठित फेक न्यूज मॉनीटरिंग यूनिट के संज्ञान में लाएं। मुख्यमंत्री ने कहा कि समाचार पत्रों, टेलीविजन न्यूज चैनलों और डिजिटल, सोशल मीडिया की ओर से कोविड-19 से संबंधित तथ्यपरक सूचनाओं के प्रचार-प्रसार में महत्वपूर्ण योगदान दिया जा रहा है।
... और पढ़ें

हिमाचल: पत्नी ने बच्चों को डांटने से रोका तो पति ने लगाया फंदा

हिमाचल के कांगड़ा जिले के नूरपुर थाना क्षेत्र के तहत ग्राम पंचायत खैरियां के बटनियाल गांव में एक व्यक्ति ने घर के समीप पेड़ से फंदा लगाकर जान दे दी। इस घटना से परिजनों सहित गांववासी भी स्तब्ध हैं। जानकारी के अनुसार भागीरथ(48) पुत्र धगड़ो राम निवासी गांव बटनियाल (खैरियां) मेहनत मजदूरी करता था। मृतक अपने पीछे दो बेटे छोड़ गया। जो छठी व आठवीं कक्षा में पढ़ते हैं।

बताया जा रहा है कि बुधवार रात को भागीरथ ने अपने बेटों को मोबाइल चलाने को लेकर डांट लगाई तो पत्नी ने बच्चों को डांटने से मना किया। इसी बात को लेकर दोनों पति-पत्नी के बीच कुछ कहासुनी हो गई और भागीरथ अपने परिवार को मनमानी करने की बात कहकर तैश में आकर घर से बाहर चला गया। देर रात तक इंतजार करने के बाद जब वह घर वापस नहीं लौटा तो परिजनों ने आसपड़ोस के दो-चार लोगों को साथ लेकर उसकी तलाश में बाहर निकले तो घर से थोड़ी दूरी पर ही पेड़ से उसका शव लटका हुआ था। इसके बाद परिजनों व गांव वालों ने पंचायत प्रधान को फोन किया।

इसके बाद पंचायत की प्रधान विमला देवी के पति तिलक राज, उपप्रधान महेंद्र सिंह सहित अन्य गांववासी मौके पर पहुंचे और इसकी सूचना नूरपुर पुलिस थाने में दी। गुरुवार सुबह डीएसपी नूरपुर डॉ. साहिल अरोड़ा और एसएचओ मोहन भाटिया सहित पुलिस की टीम मौके पर पहुंची और शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए नूरपुर अस्पताल भेज दिया। डीएसपी ने मामले की पुष्टि करते हुए बताया कि पुलिस ने सीआरपीसी-174 के तहत कार्रवाई शुरू कर दी हैं और शव को पोस्टमार्टम के बाद परिजनों को सौंप दिया गया।
... और पढ़ें

नालागढ़ के 46 सैंपल में से 18 निगेटिव

सोलन। कोरोना संकट के बीच सोलन जिला के लिए कुछ राहत की खबर आई है। नालागढ़ उपमंडल से लिए जमातियों के 46 में से 18 सैंपल की रिपोर्ट निगेटिव आई है। स्वास्थ्य विभाग ने 18 सैंपलों को जांच के लिए कसौली लैब में भेजा था। 28 सैंपल आईजीएमसी शिमला भेजे गए थे।
इनकी रिपोर्ट आना बाकी है। गौरतलब है कि नालागढ़ में कोरोना पॉजीटिव के तीन मामले सामने आने के बाद क्वारंटीन केंद्र लेबर हॉस्टल में रखे गए 46 लोगों के स्वास्थ्य विभाग ने सैंपल ले लिए थे। प्रशासन के बनाए क्वारंटीन केंद्र में तब्लीगी जमात के 46 लोगों के पहले लिए गए सैंपलों के बाद इसमें तीन पॉजीटिव पाए गए थे। जिसके बाद तीनों को आईजीएमसी शिफ्ट किया गया।
वहीं अन्य 43 लोगों को यहां से स्थानांतरित कर क्वारंटीन केंद्र नालागढ़ कॉलेज में अलग-अलग कक्ष में रखा है। क्वारंटीन केंद्र लेबर हॉस्टल में शेष बचे 46 लोगों के स्वास्थ्य विभाग ने सैंपल लिए थे। इन्हें जांच के लिए सीआरआई कसौली और शिमला भेजा था। जिला स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. एनके गुप्ता ने 18 सैंपल निगेटिव आने की पुष्टि की है। उन्होंने बताया कि शिमला भेजे सैंपल की रिपोर्ट देर रात तक आने की संभावना है।
... और पढ़ें
अपने शहर की सभी खबर पढ़ने के लिए amarujala.com पर जाएं

Disclaimer


हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर और व्यक्तिगत अनुभव प्रदान कर सकें और लक्षित विज्ञापन पेश कर सकें। अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।
Agree
Election
  • Downloads

Follow Us