विज्ञापन
विज्ञापन
शनि अमावस्या के दिन सूर्य ग्रहण के समय करें पंच दान, होगा हर समस्या का समाधान - 4 दिसम्बर, 2021
Myjyotish

शनि अमावस्या के दिन सूर्य ग्रहण के समय करें पंच दान, होगा हर समस्या का समाधान - 4 दिसम्बर, 2021

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
Digital Edition

अनिश्चितकालीन हड़ताल: पीसमील वर्कर बोले- आश्वासन नहीं, लिखित आदेश चाहिए

हिमाचल पथ परिवहन निगम की वर्कशॉप में तैनात पीसमील वर्करों की पांचवें दिन भी हड़ताल जारी रही। टूल बंद कर वर्करों ने वर्कशॉप के बाहर प्रदर्शन किए। चेतावनी दी है कि जब तक लिखित में कोई आदेश जारी नहीं होते, तब तक  हड़ताल जारी रहेगी। अनुबंध और नीति बनाने को लेकर कई बार आश्वासन दिया गया है। परिवहन मंत्री, अतिरिक्त मुख्य सचिव परिवहन, निगम प्रबंधन के साथ इस बारे कई बार बैठकें हो चुकी हैं। इसके आगे बात नहीं बढ़ी है। पीसमील वर्कर के महासचिव एचके शर्मा ने बताया कि वर्कशॉप में 400 एचआरटीसी के नियमित कर्मचारी हैं।

इनमें 200 लोग ऐसे हैं, जिनकी उम्र 50 साल से ज्यादा है। ये कर्मचारी भारी सामान और बसों के पुर्जे नहीं उठा सकते हैं। निगम के पास ऐसी भी कोई टेक्नोलॉजी और मशीनें नहीं हैं, जिससे इनको उठाया जा सके। वर्कशॉप में कर्मचारियों के अभाव के चलते वर्कशॉप, सड़कों और बस अड्डों पर तीन सौ बसें खड़ी हो गई हैं। सड़क में बसें खराब होने पर उन्हें ठीक करने के लिए कर्मचारी तक नहीं भेजे जा रहे हैं। पीसमील के 930 वर्कर वर्कशॉप में काम बंद किए हुए हैं। उन्होंने बताया कि सूचना मिली है कि मुख्यमंत्री के साथ भी एचआरटीसी कर्मचारियों के पदाधिकारियों की बैठक हुई है, लेकिन इसमें पीसमील वर्करों को शामिल नहीं किया गया। 
... और पढ़ें

वीडियो: अनियंत्रित होकर नहर में गिरी कार, चालक ने तैरकर बचाई जान

हाईकोर्ट ने सीबीआई को सौंपी वाकनाघाट के प्रवीण मौत मामले की जांच

हिमाचल प्रदेश हाईकोर्ट ने सोलन के वाकनाघाट निवासी प्रवीण शर्मा की रहस्यमय परिस्थितियों में हुई मौत के मामले में पुलिस जांच से असंतुष्टि जताते हुए तफ्तीश सीबीआई को सौंप दी है। कोर्ट ने राज्य सरकार को निर्देश दिए हैं कि वह अपने पुलिस अधीक्षक के माध्यम से मामले से संबंधित तमाम रिकॉर्ड तुरंत सीबीआई को सौंपे। न्यायाधीश तरलोक सिंह चौहान और न्यायाधीश सत्येन वैद्य की खंडपीठ ने मृतक प्रवीण शर्मा की पत्नी की ओर से दायर याचिका को मंजूर करते हुए सीबीआई को आदेश दिए कि वह आईपीसी की संबंधित धाराओं के अंतर्गत प्राथमिकी दर्ज करे और कानून के प्रावधानों के तहत मामले की जांच करें। 

याचिका में दिए तथ्यों के अनुसार 9 जून 2020 को प्रार्थी का पति प्रवीण शर्मा सनवारा के समीप अचेत अवस्था में मिला था। उसे क्षेत्रीय अस्पताल राजगढ़ लाया गया, जहां डॉक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया। प्रार्थी के अनुसार उसने पुलिस से इस मामले की गहनता से जांच करने का आग्रह किया लेकिन पुलिस ने मामले में कोई भी कार्रवाई नहीं की। यही नहीं प्रार्थी ने थाना प्रभारी राजगढ़ व पुलिस अधीक्षक सिरमौर को कई बार पत्र लिखकर इस मामले पर कार्रवाई करने का आग्रह किया लेकिन पुलिस ने इसमें भी कार्रवाई नहीं की। याचिका की सुनवाई के दौरान कोर्ट ने पाया कि पुलिस ने इस मामले में कोई भी प्राथमिकी दर्ज नहीं की थी और पुलिस की संपूर्ण कार्रवाई कानून के विपरीत है।

कोर्ट ने इस मामले को लेकर प्रार्थी की ओर से दायर याचिका के तथ्यों से सहमति जताते हुए पाया कि यह एक विशेष परिस्थिति है, जिसके तहत मामले की जांच पुलिस से हटाकर सीबीआई को सौंपी जा सकती है। प्रदेश उच्च न्यायालय ने प्रधान सचिव गृह को यह आदेश जारी किया है कि वह इस मामले से जुड़े संबंधित पुलिस अधीक्षक सिरमौर, एसडीपीओ राजगढ़, थाना प्रभारी राजगढ़ एवं अमर दत्त शर्मा प्रभारी पुलिस चौकी यशवंत नगर के खिलाफ  जांच करवाएं। जांच महानिरीक्षक पद के अधिकारी से करवाई जाए। हाईकोर्ट ने मामले की जांच 31 दिसंबर तक पूरी करने के आदेश जारी किए हैं। जांच पूरी करने के बाद अनुपालना रिपोर्ट हाईकोर्ट के समक्ष 5 जनवरी 2022 तक दाखिल करने के आदेश जारी किए गए हैं।
... और पढ़ें

Surya Grahan 2021: साल का आखिरी सूर्य ग्रहण आज, 4 राशि वाले रहें बेहद सावधान

चार दिसंबर को शनिचरी अमावस्या पर लगने वाला इस साल का दूसरा और आखिरी सूर्य ग्रहण इस बार ज्योतिष की दृष्टि से भी खास रहने वाला है। ज्योतिष शोधार्थी व एस्ट्रोलॉजी एक विज्ञान रिसर्च पुस्तक के लेखक गुरमीत बेदी के अनुसार 19 नवंबर को लगे चंद्र ग्रहण से ठीक 15 दिन बाद यह सूर्य ग्रहण लगने जा रहा है, इसलिए इसे विशेष माना जा रहा है।  ज्योतिष में 15 दिन की अवधि के बीच दो ग्रहण की स्थिति को शुभ नहीं माना जाता है। इसलिए कुछ राशियों को विशेष सावधानी बरतनी चाहिए। यह ग्रहण वृश्चिक राशि और ज्येष्ठा नक्षत्र में लगेगा। गुरमीत बेदी ने बताया कि 10 जून को इस साल का पहला सूर्य ग्रहण लगा था और अब 4 दिसंबर को साल का दूसरा व आखिरी सूर्य ग्रहण होगा। इत्तफाक से इस दिन इस साल की तीसरी शनिचरी अमावस्या भी होगी। यह ग्रहण 4 दिसंबर की सुबह 10 बजकर 59 मिनट पर शुरू होगा और  दोपहर 03 बजकर 07 मिनट पर समाप्त होगा। इस दौरान सूर्य ग्रहण में सूतक काल लागू नहीं होगा क्योंकि  इस ग्रहण को  भारत में नहीं देखा जा सकेगा। यह सूर्य ग्रहण दक्षिणी अफ्रीका, ऑस्ट्रेलिया, दक्षिणी अमेरिका और अंटार्कटिका  में दिखाई देगा।
... और पढ़ें
सूर्य ग्रहण 2021 सूर्य ग्रहण 2021

हिमाचल: इंजीनियरिंग कॉलेजों को ढूंढे नहीं मिल रहे विद्यार्थी, 1500 सीटें रह गईं खाली

हिमाचल प्रदेश तकनीकी विश्वविद्यालय के अधीन चल रहे 34 से अधिक महाविद्यालयों में डेढ़ हजार से अधिक सीटें इस बार खाली रह गई हैं। बीटेक की 1200 से अधिक सीटें, एमबीए की 200, जबकि बीएससी होटल मैनेजमेंट की 125 से अधिक सीटें खाली रह गई हैं। इंजीनियरिंग, फार्मेसी, एमबीए, एमसीए और होटल मैनेजमेंट के लिए अलग-अलग काउंसलिंग शेड्यूल जारी करने के बावजूद यह सीटें नहीं भर पाई हैं। खाली सीटों पर चिंता जताते हुए विश्वविद्यालय ने 30 नवंबर को स्पॉट राउंड भी करवाया। 

सीटें खाली रहने से तकनीकी विवि से संबद्धता प्राप्त एक दर्जन से अधिक निजी महाविद्यालय संचालकों की चिंता भी बढ़ गई है। निजी कॉलेज प्रबंधकों ने बैंकों से करोड़ों का ऋण लेकर बड़ी-बड़ी भवन खड़े किए हैं। इसके अलावा शिक्षक और गैर शिक्षक स्टाफ को भी प्रतिमाह वेतन के रूप में राशि खर्च करनी पड़ रही है। आर्थिक तंगी से परेशान करीब आधा दर्जन महाविद्यालय पिछले पांच सालों में बंद भी हो चुके हैं। अब एक बार फिर से सीटों के खाली रहने से निजी महाविद्यालय संचालकों के सामने आर्थिक संकट खड़ा हो गया है।

इन महाविद्यालयों में खाली हैं सीटें

जवाहर लाल नेहरू राजकीय इंजीनियरिंग महाविद्यालय सुंदरनगर में टेक्सटाइल इंजीनियरिंग की 120 में से 78 सीटें खाली हैं। इलेक्ट्रॉनिक्स एंड कम्युनिकेशन इंजीनियरिंग, मेकेनिकल इंजीनियरिंग की सीटें भी खाली हैं। राजीव गांधी इंजीनियरिंग महाविद्यालय नगरोटा बगवां में आर्किटेक्चर में 23 सीटें खाली हैं। अटल बिहारी वाजपेयी राजकीय इंजीनियरिंग महाविद्यालय प्रगतिनगर शिमला में इलेक्ट्रॉनिक्स एंड कम्युनिकेशन इंजीनियरिंग 67 सीटें खाली हैं। महात्मा गांधी राजकीय इंजीनियरिंग महाविद्यालय ज्यूरी शिमला में भी 100 से अधिक सीटें खाली हैं। इसके अलावा ग्रीन हिल्स इंजीनियरिंग कॉलेज सोलन, एचआईईटी शाहपुर कांगड़ा, एचआईईटी सिरमौर, केसी एजूकेशनल एंड सोशल वेलफेयर सोसायटी ग्रुप ऑफ रिसर्च एंड प्रोफेशनल इंस्टीट्यूट ऊना, एलआर इंजीनियरिंग एंड टेक्नोलॉजी सोलन, टीआर अभिलाषी मंडी, वैष्णो कॉलेज नूरपुर, सिरडा मंडी, गौतम कॉलेज हमीरपुर और हिमाचल प्रदेश तकनीकी विवि के दडूही परिसर में बीएससी होटल मैनेजमेंट की 25, जबकि नगरोटा बगवां परिसर में 49 सीटें खाली हैं।

प्रदेश तकनीकी विश्वविद्यालय ने इंजीनियरिंग, फार्मेसी, एमबीए और एमसीए समेत अन्य विभागों में सीटों को भरने के लिए काउंसलिंग के कई राउंड करवाए हैं। फार्मेसी महाविद्यालयों में सभी सीटें फुल हैं। 30 नवंबर को आखिरी स्पॉट राउंड हो चुका है। अब सभी महाविद्यालयों में कक्षाएं शुरू हो चुकी हैं।
-राजेंद्र गुलेरिया, डीन और परीक्षा नियंत्रक, तकनीकी विवि हमीरपुर।
 

महाविद्यालयों में सीटें खाली रही हैं। इस मामले को सरकार के समक्ष उठाया जाएगा, ताकि खाली सीटों को किसी अन्य तरीके से भरा जा सके। 
-अनुपम ठाकुर, रजिस्ट्रार, तकनीकी विवि, हमीरपुर।
... और पढ़ें

संशोधित पे बैंड मामला: पुलिस कर्मियों ने विरोध में सोशल मीडिया पर काली की अपनी प्रोफाइल

संशोधित पे बैंड आठ के बजाय दो साल में देने की मांग पर अड़े साल 2015 से भर्ती सैकड़ों पुलिस कांस्टेबलों ने अभियान जारी रखते हुए अब सोशल मीडिया पर अपने अकाउंट पर सरकार के विरोध में अपनी प्रोफाइल काली कर दी हैं। शुक्रवार को भी मेस में पुलिस कर्मियों ने खाना नहीं खाया। पुलिस कर्मियों ने स्पष्ट कर दिया है कि वे तब तक मेस में खाना शुरू नहीं करेंगे, जब तक सरकार उनकी मांग पर ठोस कदम नहीं उठाती। खास बात यह है कि  पुलिस कर्मियों का यह नया तरीका ऐसे समय में सामने आया है, जब पुलिस मुख्यालय की ओर से सभी पुलिस कार्यालयों के प्रमुखों को एक एडवाइजरी जारी कर पुलिस कर्मियों को सोशल मीडिया से दूर रहने के लिए कहने और पुलिस मेस में खाना खाने के लिए सलाह देने के लिए कहा गया है। यह कहा गया है कि इस आदेश का सख्ती से पालन कराया जाए। उधर, मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर ने भी पहली बार पुलिस कर्मियों से अनुशासन में रहकर काम करने की अपील की है। कहा है कि पुलिस कर्मियों ने कोविड से लेकर हर हालात में बेहतर कार्य किया है। ऐसे में उनकी बात को सरकार ने सुनकर विचार शुरू कर दिया है और जल्द ही उचित कदम उठाए जाएंगे।


पुलिस कर्मियों के परिजनों के विरोध पर सुरक्षा एजेंसियों में हड़कंप

 पांच दिसंबर को बिलासपुर में होने वाले सरकारी कार्यक्रम में भाजपा राष्ट्रीय अध्यक्ष जगत प्रकाश नड्डा के सामने कर्मियों के परिजनों के विरोध करने की चर्चाओं के बीच सुरक्षा एजेंसियों में हड़कंप मच गया है। खुफिया एजेंसियों ने पहले ही सरकार और प्रशासन को सतर्कता बरतने के लिए कहा है। पुलिस के लिए धर्मसंकट यह है कि उनके ही कुछ मातहतों के परिजन अगर कार्यक्रम स्थल पहुंच गए और वहां प्रदर्शन किया तो वह क्या कार्रवाई करेंगे। साथ ही यह भी तय है कि विरोध से यह मुद्दा केंद्रीय नेताओं की वजह से राष्ट्रीय स्तर पर पहुंच जाएगा। इससे न सिर्फ प्रदेश सरकार की राष्ट्रीय स्तर पर बदनामी हो सकती है, बल्कि केंद्रीय नेतृत्व के सामने भी जयराम सरकार की साख खराब होने का खतरा है। इसी वजह से पुलिस के आला अधिकारियों ने अपने स्तर पर नाराज पुलिस कर्मियों को मनाने की कोशिश शुरू कर दी है। दलील दी जा रही है कि सीएम ने आश्वासन दिया है, इसलिए उनके निर्देश के बाद होने वाले फैसले तक इंतजार किया जाए।

सोशल मीडिया पर परिवारों ने शुरू किया जस्टिस फॉर एचपी पुलिस अभियान

पुलिस कर्मियों पर पुलिस मुख्यालय के सोशल मीडिया पर बयानबाजी न करने के दबाव के बीच उनके परिजनों ने अभियान को नया स्वरूप दे दिया है। बड़ी संख्या में पुलिस कर्मियों के परिजन सोशल मीडिया पर जस्टिस फॉर एचपी पुलिस लिखी तख्तियों वाले फोटो डालकर पुलिस कर्मियों के साथ इंसाफ किए जाने की मांग कर रहे हैं। सूत्रों का कहना है कि सोशल मीडिया पर इस तरह के अभियान में अब आम लोग भी अपना समर्थन दे रहे हैं। लोग कमेंट कर पुलिस कर्मियों के साथ न्याय करने की मांग कर रहे हैं।
 

पुलिस कर्मियों को भी दो साल में अनुबंध पर लाए सरकार: आनंद
हिमाचल प्रदेश सेवानिवृत्त पुलिस इकाई कांगड़ा, हमीरपुर, चंबा और ऊना की आपात संयुक्त बैठक धर्मशाला में कांगड़ा के अध्यक्ष आनंद धीमान की अध्यक्षता में हुई। इसमें वर्ष 2015 के उपरांत भर्ती हुए पुलिस आरक्षियों के 8 वर्ष उपरांत संशोधित वेतनमान दिए जाने पर आपत्ति जाहिर की। पुलिस कर्मियों की मांगों का पुरजोर समर्थन किया गया। उन्होंने कहा कि जब अन्य विभागों के अनुबंध सेवाकाल को 8 वर्ष से 3 वर्ष और अब 2 वर्ष किया जा सकता है तो पुलिस कर्मियों के साथ यह अन्याय और सौतेला व्यवहार क्यों किया जा रहा है। यह भी रोष प्रकट किया गया कि इस संबंध में पुलिस मुख्यालय और उच्च पुलिस अधिकारी को मौन धारण हुए हैं। बैठक में जगदीश शर्मा, परस राम, बलदेव सिंह, कैलाश वालिया उपस्थित रहे।
... और पढ़ें

नारकोटिक्स ब्यूरो का छापा: फर्जी बिलों पर नशीली दवाएं बेचने पर कंपनी मालिक, मैनेजर गिरफ्तार

पंजाब की कंपनी जेनट फार्मा के बद्दी और जीरकपुर के होलसेल स्टोर व गोदाम में राज्य नारकोटिक्स कंट्रोल सेल (एसएनसीसी) और ड्रग विभाग ने छापा मारकर रिकॉर्ड कब्जे में लिया है। यहां नशे की दवा की ब्लैक मार्केटिंग, फर्जी बिल बनाकर कहीं और बेचने, धोखाधड़ी करने और एनडीपीएस एक्ट के तहत केस दर्ज कर कंपनी मालिक दिनेश बंसल और मैनेजर सोनू सैनी को गिरफ्तार कर लिया है। नारकोटिक्स ब्यूरो पिछले कई दिनों से इस कंपनी के थोक व्यापार पर कड़ी नजर रखे हुए था। ड्रग्स विभाग ने नारकोटिक्स ब्यूरो को कार्रवाई के लिए लिखा। शुक्रवार को दोनों विभागों के अधिकारियों ने बद्दी और जीरकपुर में दबिश दी। इस दौरान यहां से नशे की दवाओं की कालाबाजारी पाई गई।

कुछ फर्जी खरीद बिल भी मिले हैं। जांच में पता चला है कि पिछले दो सालों में इस कंपनी ने सौ करोड़ से ज्यादा कीमत की नशे के तौर पर भी इस्तेमाल होने वाली दवाएं बेची हैं। राज्य ड्रग कंट्रोलर नवनीत मरवाह ने बताया कि विभाग की पिछले कई दिनों से जेनट फार्मा के बद्दी स्थित होलसेल के कारोबार पर नजर थी। कंपनी पर नशे के अवैध कारोबार का आरोप है। अब तक की जांच में खुलासा हुआ कि इस कंपनी ने मंडी के नेरचौक के लिए 19 लाख की दवाओं की बिलिंग दिखाई, लेकिन वह ड्रग्स वहां पहुंची ही नहीं। शिमला नारकोटिक्स टीम यह जांच कर रही है कि यह सप्लाई किसे दी। दस्तावेजों से पुलिस को संदेह है कि इससे पहले भी कंपनी का मालिक करोड़ों की ड्रग्स का हेरफेर कर चुका है। नारकोटिक्स महकमे का यह पहला इतना बड़ा मामला है। कंपनी ने राजस्थान समेत कई राज्यों में दवाओं की सप्लाई की है। आरोपी के खिलाफ पहले भी पंजाब में मुकदमा दर्ज है और वहां उसका लाइसेंस रद्द कर दिया गया। 

क्या कहते हैं जांच अफसर 
एसएनसीसी के डीएसपी दिनेश कुमार ने बताया कि पुलिस ने सीआईडी थाना शिमला में मामला दर्ज कर छानबीन तेज कर दी है। उन्होंने कहा कि हर पहलू की जांच हो रही है। जांच प्रभावित न हो इसलिए ज्यादा सूचनाएं फिलहाल साझा नहीं की जा सकती। 
... और पढ़ें

विनियामक आयोग: प्रारंभिक जांच में कई नर्सिंग संस्थानों में मिलीं अनियमितताएं

कंपनी मालिक, मैनेजर गिरफ्तार (सांकेतिक )
एनओसी लेने में फर्जीवाड़ा करने की शिकायतों को लेकर नर्सिंग संस्थानों के खिलाफ शुरू हुई प्रारंभिक जांच में कई अनियमितताएं सामने आई हैं। राज्य निजी शिक्षण संस्थान विनियामक आयोग प्रदेश के 48 नर्सिंग संस्थानों की जांच कर रहा है। सभी संस्थानों के रिकॉर्ड की इन दिनों पड़ताल चल रही है। प्रारंभिक जांच में एनओसी लेने के लिए अपनाए गए गलत तरीकों की जानकारी मिली है। कई संस्थानों के रिकॉर्ड मानकों पर खरे नहीं उतरे हैं।

आयोग की जांच टीम ने कई संस्थानों से कुछ अन्य दस्तावेज भी इस संदर्भ में मांगे हैं। संभावित है कि अगले सप्ताह तक जांच प्रक्रिया पूरी हो जाएगी। राज्य निजी शिक्षण संस्थान विनियामक आयोग ने कई शिकायतें आने के बाद नर्सिंग संस्थानों के खिलाफ जांच शुरू की है। शिकायतों में आरोप लगाया गया है कि भारत सरकार के नियमानुसार नर्सिंग संस्थानों को एनओसी तभी मिल सकती है, जब उनके पास 150 बिस्तरों का अस्पताल हो।

प्रदेश में 20 से 40 बिस्तरों के अस्पतालों और प्राइमरी हेल्थ सेंटर से जुड़े संस्थानों को भी एनओसी जारी की गई हैं। विद्यार्थी और मरीजों का 1:3 अनुपात होना अनिवार्य है, लेकिन इसकी भी अनदेखी की गई है। कई संस्थानों ने तीन से चार निजी अस्पतालों से खुद को संबद्ध बताते हुए 150 बिस्तरों की संख्या दिखाते हुए नियमों को पूरा किया है। इसके अलावा सरकारी अस्पतालों से कई नर्सिंग संस्थानों ने स्वयं को जोड़ा बताया है।

शिकायत के मुताबिक इस तरह के हथकंडे अपनाकर नर्सिंग संस्थान विद्यार्थियों के भविष्य से खिलवाड़ कर रहे हैं। इन शिकायतों पर संज्ञान लेते हुए बीते दिनों आयोग ने सभी 48 निजी संस्थानों से अस्पतालों से संबद्ध विद्यार्थियों का ब्योरा तलब किया था। एनओसी सहित कुल मंजूर सीटों और रिक्त सीटों की जानकारी जुटाई है। अब आयोग की जांच कमेटी सभी दस्तावेजों को खंगालने में लगी है। आयोग की ओर से जांच पूरी कर प्रदेश सरकार को रिपोर्ट भेजी जाएगी।
... और पढ़ें

हिमाचल: आसमान में रॉकेट की तरह जाती दिखी रोशनी, लोगों ने बनाए वीडियो

हिमाचल प्रदेश के जिला हमीरपुर में शुक्रवार रात को आसमान में रॉकेट की तरह कोई चीज चलती हुई दिखाई दी। एक तरह की इस खगोलीय घटना को सैकड़ों लोगों ने अपनी आंखों से देखा। कई लोग मोबाइल से वीडियो बनाने लग पड़े। हर कोई एक दूसरे को पूछ रहा था कि यह क्या हो सकता है।

बताया जा रहा है कि हिमाचल और पंजाब के कई इलाकों में जो रोशनी की कतार सी नजर आई, वह स्पेसएक्स के दर्जनों स्टारलिंक उपग्रह थे। इन उपग्रहों के माध्यम से एलन मस्क की कंपनी ब्रॉडबैंड इंटरनेट सेवाएं देगी। भारत ने फिलहाल इस कंपनी की सेवाओं पर रोक लगाई हुई है लेकिन निकट भविष्य में शायद यह रोक हट जाए और सुदूर इलाकों में भी लोग सीधे उपग्रह से हाई स्पीड इंटरनेट हासिल कर पाएंगे। हालांकि, पुलिस इस संबंध में कुछ भी कहने से इनकार कर रही है।
... और पढ़ें

हिमाचल: ओमिक्रॉन को लेकर अलर्ट, जिलों में टीमें गठित

कोरोना के नए वैरिएंट ओमिक्रॉन से निपटने के लिए सरकार तैयारियों में जुट गई है। मेडिकल कॉलेजों में मरीजों का भीड़ न उमड़े। इसके लिए ऐसे मरीजों का उपचार जिला अस्पतालों और सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्रों में ही होगा। यह वैरिएंट डेल्टा से सात गुणा तेजी से फैलता है। हिमाचल प्रदेश सरकार ने स्वास्थ्य विभाग को अलर्ट रहने को कहा है। बाहरी राज्यों से आने वाले लोगों के सैंपल लेने के लिए कहा गया है। स्वास्थ्य विभाग को निर्देश दिए हैं कि कोरोना की दूसरी डोज लगाने के बाद जो लोग पॉजिटिव आ रहे हैं, उनके सैंपल भी जांच के लिए दिल्ली भेजे जाएं। 

नए  वैरिएंट को लेकर स्वास्थ्य विभाग ने जिलों में टीमें गठित की हैं। प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र और सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्रों में अतिरिक्त स्टाफ तैनात किया गया है। इसके अलावा लोगों को वैक्सीन लगाने के लिए एंबुलेंस भी चलाई जा रही हैं। अस्पतालों में अतिरिक्त स्टाफ को इधर-उधर किया जा रहा है। स्वास्थ्य सचिव अमिताभ अवस्थी ने बताया कि ओमिक्रॉन को लेकर सरकार ने अलर्ट जारी किया है। विदेशों से आने वाले लोगों पर विभाग नजर रखे हुए हैं। जिला उपायुक्तों के साथ इसको लेकर वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग चल रही है। 

आज वैक्सीन की दूसरी डोज का लक्ष्य पूरा होने की संभावना
वर्ष 2011 की जनगणना के अनुसार प्रदेश सरकार अब 53.77 लाख लोगों को ही वैक्सीन की दूसरी डोज लगाएगी। हिमाचल में अभी 53.25 लाख लोगों को दूसरी डोज लग गई है। प्रदेश सरकार के पास अभी एक दिन शेष है। इसमें लक्ष्य पूरा होने की संभावना है। 
... और पढ़ें

एकल खिड़की प्राधिकरण बैठक: हिमाचल में 1377 करोड़ के 19 नए उद्योगों को मंजूरी, 2266 को मिलेगा रोजगार

हिमाचल के जिला सोलन के नालागढ़ में चार इथेनॉल प्लांट और बद्दी में इलेक्ट्रिक वाहनों के कलपुर्जे बनाने वाला उद्योग लगेगा। राज्य एकल खिड़की प्राधिकरण ने शुक्रवार को 1377 करोड़ के 19 नए उद्योगों को मंजूरी दी। इनमें 2266 लोगों को रोजगार मिलेगा। दूसरे ग्राउंड ब्रेकिंग समारोह से पहले प्रदेश सरकार ने 15 हजार करोड़ के अधिक के निवेश का लक्ष्य रखा है। सिंगल विंडो की 20वीं बैठक की अध्यक्षता करते हुए मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर ने कहा कि आर्थिक मंदी के बावजूद प्रदेश निवेश को आकर्षित कर रहा है। नालागढ़ के किरपालपुर में एमजी पेट्रोकेम, हाईगेना लाइफ  साइंसेज प्राइवेट लिमिटेड, आरएसए एनर्जी, भारत स्पिरिट को इथेनॉल के उत्पादन की यूनिट लगाने की स्वीकृति दी है। प्राधिकरण ने शिमला के ठियोग के गजेड़ी में न्यू वजीर चंद फ्रूट्स को सीए स्टोर बनाने, नालागढ़ के गांव खेड़ा निहला में लामी ट्यूब्स को लेमिनेटिड ट्यूब्स और एफएफएस ट्यूब्स का निर्माण के को मंजूरी दी।

बद्दी के धर्मपुर में ओकाया इवी को विद्युत वाहनों से संबंधित सामान और उपकरण बनाने के उद्योग को मंजूरी दी है। बद्दी के कालूझंडा में इवेट्स ग्लास एंड पॉलिमर को पैट बोतल, लामी ट्यूब और पीवीसी केबल का निर्माण करने, नालागढ़ के खेड़ा निहला के फ्लैक्सी पैकिंग लि. को प्लास्टिक ट्यूब का निर्माण, बद्दी के भोर्ड के ईर फार्मा को इंजेक्शन और सीरिंज का निर्माण करने, सिरमौर के कालाअंब के जौहरों में जर्मन फार्मूलेशन को टेबलेट, तरल इंजेक्शन और हैंड सैनिटाइजर के निर्माण, कालाअंब के पीपलीवाला में नितिन लीकर्स को आइएमएफ एल और देसी शराब का उत्पादन करने सहित नालागढ़ के अधुवाल में जैन शॉल्स को डाइड फेबरिक के निर्माण के प्रस्तावों को अनुमति प्रदान की।

आठ उद्योगों के विस्तार को मिली मंजूरी

प्राधिकरण ने सोलन के जाबली में कोस्मो फेराइटस को फेराइट कोर, फेराइट पाउडर और ट्रांसफार्मर निर्माण, बद्दी के थाना में नैना पैकेजिंग को कोरोगेटिट बॉक्स का निर्माण,  पांवटा के गोंदपुर में एएस पैकर्ज यूनिट-2 को कार्टन, मोनोकार्टन, लेबल प्लास्टिक कैप्स का निर्माण, बद्दी के बलयाणा में  हिन्दुस्तान यूनिलीवर को साबुन की टिक्किया बनाने, बद्दी के संधोली में मोंडेलेज इंडिया फू ड्स को बोर्नविटा, चॉकलेट उत्पादन की इकाई के विस्तार,  बद्दी के संधोली में मोंडेलेज इंडिया-2 को फाइव स्टार, जेम्स, मौलडेड चॉकलेट के उत्पादन की इकाई के विस्तार के प्रस्ताव को मंजूरी दी है। इस दौरान उद्योग मंत्री बिक्रम सिंह और ऊर्जा मंत्री सुखराम चौधरी बैठक में वर्चुअल माध्यम से शामिल हुए। मुख्य सचिव राम सुभग सिंह, अतिरिक्त मुख्य सचिव आरडी धीमान, जेसी शर्मा, प्रधान सचिव ओंकार शर्मा, निदेशक उद्योग राकेेश प्रजापति और अन्य अधिकारी उपस्थित रहे।
... और पढ़ें

कोरोना: हिमाचल में दो और संक्रमितों की मौत, 50 नए मामले

हिमाचल प्रदेश में शुक्रवार को  दो और कोरोना पॉजिटिव मरीजों की मौत हो गई। हमीरपुर के 60 वर्षीय और शिमला के 75 वर्षीय बुजुर्ग ने दम तोड़ा है। प्रदेश में सक्रिय मरीजों की संख्या 797 रह गई है। मौत का आंकड़ा 3835 पहुंच गया है। शुक्रवार को प्रदेश में 4233 लोगों की सैंपलिंग हुई। 

मंडी जिले में 98 फीसदी को लगा दी वैक्सीन की दूसरी डोज 

वहीं, कोरोना के नए वैरिएंट ओमिक्रॉन के अलर्ट के बीच जिला स्वास्थ्य विभाग ने मंडी में लक्षित आबादी में से 98 फीसदी को कोविड वैक्सीन की दूसरी डोज लगा दी है। शेष दो फीसदी को स्वास्थ्य विभाग तलाश रहा है। ये वे प्रवासी लोग बताए जा रहे हैं, जो पहली डोज लगाने के बाद किसी अन्य स्थान पर चले गए हैं। इन्हें ढूंढने के लिए अभियान छेड़ा जा रहा है। कोरोना के नए वैरिएंट ओमिक्रॉन से निपटने के लिए प्रशासन और स्वास्थ्य विभाग पूरी तरह से सतर्क हो गया है। शुक्रवार को जलशक्ति मंत्री महेंद्र सिंह ठाकुर ने मेकशिफ्ट कोविड अस्पताल भंगरोटू का दौरा किया और अस्पताल प्रबंधन से ओमिक्रॉन की किसी भी संभावना से निपटने को लेकर पूर्व तैयारियों का ब्योरा लिया।

उन्होंने अस्पताल में मरीजों के उपचार और देखभाल की व्यवस्था जानने के अलावा ऑक्सीजन प्लांट सहित अन्य प्रबंधों की जानकारी ली। मंत्री ने सभी से सतर्कता और बचाव के लिए आवश्यक सावधानी बरतने का आग्रह किया। श्री लाल बहादुर शास्त्री मेडिकल कॉलेज एवं अस्पताल के चिकित्सा उपअधीक्षक डॉ. राकेश मोहन ने जलशक्ति मंत्री को कोविड अस्पताल भंगरोटू में उपलब्ध स्वास्थ्य सुविधाओं का ब्योरा दिया। कहा कि मंडी समेत पूरे हिमाचल में ओमिक्रॉन का कोई मामला नहीं आया है। मेकशिफ्ट कोविड अस्पताल भंगरोटू में वर्तमान में केवल चार मरीज उपचाराधीन हैं।
... और पढ़ें

मौसम: हिमाचल में रोहतांग समेत चोटियां बर्फ से लकदक, शिमला में बारिश, देखें शानदार तस्वीरें

हिमाचल प्रदेश में पश्चिमी विक्षोभ की सक्रियता से मौसम में आए बदलाव से रोहतांग समेत ऊंची चोटियां बर्फ से लकदक हो गई हैं। राजधानी शिमला सहित प्रदेश के कई क्षेत्रों में शुक्रवार को बारिश हुई। शुक्रवार को दो नेशनल हाईवे सहित 44 सड़कों पर वाहनों की आवाजाही बंद रही। 87 बिजली ट्रांसफार्मर भी ठप हो गए हैं। अधिकतम तापमान में सामान्य से पांच डिग्री की कमी दर्ज हुई है। प्रदेश के अधिकांश क्षेत्र कड़ाके की ठंड की चपेट में आ गए हैं। शनिवार को बारिश-बर्फबारी के आसार हैं। रविवार को भारी बारिश और बर्फबारी का येलो अलर्ट जारी किया गया है।

सात दिसंबर तक मौसम खराब बना रहने का पूर्वानुमान है। नेशनल हाईवे तीन दारचा से सरचू और नेशनल हाईवे 505 ग्रांफू से लोसर तक वर्ष 2022 की गर्मियों तक बंद हो गए हैं। इसके अलावा लाहौल स्पीति जिले में 42 और कुल्लू व चंबा में एक-एक सड़क बंद हुई हैं। लाहौल-स्पीति जिले में 65, किन्नौर में 21 और कुल्लू में एक बिजली ट्रांसफार्मर ठप हो गया है। 
... और पढ़ें

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00