विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
मात्र 2 दिन शेष ,गंगा दशहरा पर कराएं गंगा आरती एवं दीप दान, पूरे होंगे रुके हुए काम
Puja

मात्र 2 दिन शेष ,गंगा दशहरा पर कराएं गंगा आरती एवं दीप दान, पूरे होंगे रुके हुए काम

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
Digital Edition

खुलासाः पाकिस्तान से जम्मू की जेल तक बिछे हवाला के तार, इस बार किताब के जरिए होने जा रहा बड़ा खेल

पाकिस्तान से जम्मू की सेंट्रल जेल तक आतंकी और हवाला नेटवर्क संचालित किए जाने की बड़ी साजिश का पर्दाफाश हुआ है। अंतरराष्ट्रीय सीमा के नजदीकी गांव चकरोई से गिरफ्तार आतंकी संगठन जैश-ए-मोहम्मद के ओवर ग्राउंड वर्कर (ओजीडब्ल्यू) के खुलासे के बाद कोट भलवाल स्थित सेंट्रल जेल में पुलिस ने छापा मारकर चार से पांच मोबाइल फोन, सिम कार्ड और अन्य आपत्तिजनक सामग्री बरामद की है।

उत्तरी कश्मीर के हंदवाड़ा के बोधपोरा के गिरफ्तार ओजीडब्ल्यू मोहम्मद मुजफ्फर बेग के पास से पांच सिमकार्ड के साथ हवाला के पांच लाख रुपये भी बरामद हुए हैं। सूत्रों के अनुसार पूछताछ में इसने खुलासा किया है कि यह रुपये और सिम कार्ड जेल में बंद पाकिस्तानी आतंकियों को मुहैया कराने के लिए थे। वह इन आतंकियों से मोबाइल फोन के जरिए लगातार संपर्क में था।

इस सूचना के बाद कोट भलवाल जेल में छापा मारकर मोबाइल फोन, सिम कार्ड और अन्य आपत्तिजनक सामग्री जब्त की गई। पूछताछ में उसने बताया कि रुपये और सिम कार्ड किताब में छिपाकर आतंकियों तक पहुंचाए जाने थे। पुलिस यह भी जांच कर रही है कि जेल में बंद आतंकियों की ओर से हवाला राशि और सिम का कैसे और किस लिए उपयोग किया जाता।
... और पढ़ें

कश्मीरः जिला उपायुक्त पर लगा दुर्व्यवहार आरोप, डॉक्टरों ने किया प्रदर्शन, एसडीएम बोले- गलतफहमी हो गई थी

उत्तरी कश्मीर के बांदीपोरा जिले के समुबाल में डॉक्टरों ने डीसी पर दुर्व्यवहार का आरोप लगाकर प्रदर्शन किया। एक डॉक्टर के मुताबिक इससे पहले भी ऐसी घटनाएं हुई हैं। ऐसी स्थिति में जब डॉक्टर खतरा मोल लेकर काम कर रहे हैं तो ये व्यवहार बर्दाश्त नहीं किया जाएगा। डॉक्टर डीसी से माफी मांगने या उन्हें सस्पेंड करने की मांग कर रहे थे।

इधर, सुमबाल के एसडीएम शाहनवाज चौधरी ने बताया कि किसी छोटे से मामले को लेकर गलतफहमी हो गई थी जिसे सुलझा लिया गया है। उन्होंने बताया कि करीब बीस मिनट के भीतर ही सभी डॉक्टर अपनी ड्यूटी पर लौट आए हैं। चौधरी ने कहा कि उन्हें अपने डॉक्टरों पर गर्व है जो दिन रात एक कर इस कोरोना महामारी के खिलाफ डटे हैं।

उन्होंने बताया कि कुपवाड़ा और टंगधार में सैंपल इकट्ठा करने के लिए केंद्र स्थापित किए गए हैं। केंद्र की निगरानी डिप्टी कमिश्नर कुपवाड़ा अंशुल गर्ग करेंगे। एसडीएम ने कहा कि सीमा और दूरदराज के क्षेत्र में अपनी तरह का पहला अभिनव फोन बूथ नमूना संग्रह केंद्र भी स्थापित किया गया है।

उन्होंने कहा कि प्राथमिक संदिग्धों के 21 नमूने गुरुवार को एकत्र किए गए और जांच के लिए एसकेआईएमएस सौरा भेजा गया। एसडीएम ने बताया कि बागबेला गांव को रेड जोन और गोमल, शम्सपोरा, नाचियान, हाजिनाड गांवों में लोगों की आवाजाही को भी प्रतिबंधित किया गया है जिन्हें बफर जोन घोषित किया गया है।
... और पढ़ें

जम्मू-कश्मीरः सुरक्षाबलों को मिली बड़ी कामयाबी, पकड़ा गया एक आतंकी

जम्मू-कश्मीर में सुरक्षाबलों को एक आतंकी को पकड़ने में कामयाबी मिली है। जवानों ने इस आतंकी को बुधवार रात को पकड़ने में सफलता पाई। आतंकी के पास से एक एके-47 और दो मैगजीन मिली हैं। बता दें कि सुरक्षाबलों को बारामुला जिले के चंदौसा इलाके में आतंकियों के मौजूद होने की सूचना मिली। आनन-फानन में सुरक्षाबलों ने इलाके की घेराबंदी कर तलाशी अभियान शुरू किया। इसी दौरान एक आंतकी को पकड़ने में सफलता मिली।

उधर, उत्तरी कश्मीर के बारामुला जिले के सोपोर में बुधवार को सुरक्षाबलों ने मुठभेड़ में जैश-ए-मोहम्मद का एक कमांडर ढेर कर दिया। मारे गए आतंकी की पहचान सज्जाद अहमद डार निवासी सैदपुरा सोपोर के तौर पर हुई है। सज्जाद जैश का उत्तरी कश्मीर का कमांडर था। वह वर्ष 2018 से इलाके में सक्रिय था। उसे संगठन में स्थानीय युवाओं की भर्ती का काम सौंपा गया था। उस पर कई अन्य मामले भी दर्ज थे।
 
सुरक्षाबलों को सूचना मिली थी कि इलाके में तीन से चार आतंकी छिपे हुए हैं। इस पर सेना की 22 राष्ट्रीय राइफल्स, सीआरपीएफ की 179वीं बटालियन और एसओजी के जवानों ने सोपोर, आरमपुरा के गुलबड़ इलाके की घेराबंदी कर संयुक्त तलाशी अभियान चलाया। करीब 14 घंटे तक इलाके में घेराबंदी और तलाशी अभियान के बाद आतंकियों के साथ सुरक्षाबलों की मुठभेड़ शुरू हो गई। इसमें आतंकी सज्जाद को मार गिराने में सफलता मिली।
... और पढ़ें

जम्मू के सिख युवक का कुलगाम में पेड़ से लटका मिला शव, डेढ़ साल पहले हुई थी शादी

दक्षिणी कश्मीर के कुलगाम जिले में जम्मू निवासी सिख युवक का शव शनिवार को एक पेड़ से लटका मिला। परिवार वालों ने हत्या की आशंका जताई है। उनका आरोप है कि शव पेड़ से जिस तरह से लटका हुआ है, उससे यह लगता है कि हत्या करने के बाद उसे पेड़ से लटकाया गया है, ताकि मामले को आत्महत्या करार दिया जाए।

शनिवार को जिले के नीपोरा इलाके में स्थानीय लोगों ने एक शव को पेड़ से लटका देखा। पेट्रोल पंप के पास ही पेड़ से लटके शव की जानकारी मिलते ही काफी संख्या में लोग वहां पहुंच गए। सूचना पर पहुंची पुलिस ने शव को पेड़ से उतारकर पोस्टमार्टम के लिए भेजा।

जेब से मिले आधार कार्ड के अनुसार युवक की शिनाख्त मढ़ विधानसभा क्षेत्र के सिंबली पर्याल निवासी रविंद्र सिंह (32) के रूप में हुई। पुलिस ने मामला दर्ज कर तफ्तीश शुरू कर दी है। पुलिस का कहना है कि मौत के कारणों को पोस्टमार्टम रिपोर्ट आने के बाद पता चलेगा।

इस बीच गांव सिंबली पर्याल में रविंद्र सिंह की मौत की सूचना पहुंचते ही मातम पसर गया। युवक के पिता देवा सिंह ने हत्या का आरोप लगाते हुए बताया कि लॉकडाउन से पहले वह मेटाडोर चलाता था। लॉकडाउन में मेटाडोर बंद होने के बाद वह ट्रक चलाने लगा।

दो दिन पहले ही वह ट्रक लेकर गया था। किसी प्रकार की कोई परेशानी नहीं थी। इस वजह से वह आत्महत्या नहीं कर सकता है। रविंद्र की शादी डेढ़ साल पहले हुई थी। पति की मौत की सूचना मिलते ही रो-रोकर उसका बुरा हाल है। रविंद्र का भाई सेना में है।
... और पढ़ें
सांकेतिक तस्वीर सांकेतिक तस्वीर

अनंतनागः गर्भवती महिला की मौत के मामले में जांच के आदेश, सीएमओ ने घटना को बताया दुर्भाग्यपूर्ण

मैटरनिटी एंड चाइल्ड केयर हॉस्पिटल (एमसीएचसी) की लापरवाही से दो गर्भवती महिलाओं की मौत हो गई। इनमें से एक गर्भवती की मौत मंगलवार की रात हुई। उसे कोरोना न होने के बावजूद उसे बिजबहेरा स्थित कोविड अस्पताल भेज दिया गया था। उसकी दो बार जांच निगेटिव आई थी। बुधवार को प्रशासन ने पूरे प्रकरण की जांच के आदेश दे दिए।

जानकारी के अनुसार, जिले के केंट गुंड शांगस के निवासी मुहम्मद अमीन शेख की पत्नी शिराजा जान को मंगलवार देर शाम एमसीएचसी ले जाया गया था, जहां से उसे रात लगभग 9.30 बजे बिजबहेड़ा एसडीएच (कोविड अस्पताल) भेज दिया गया। इससे पहले शिराजा का तीन मई को कोरोना टेस्ट पॉजिटिव आया था परंतु 14 व 18 मई को हुए उसके परीक्षण निगेटिव थे।

मुख्य चिकित्सा अधिकारी अनंतनाग डॉ. मुख्तार अहमद ने इस घटना को दुर्भाग्यपूर्ण बताया। उन्होंने कहा कि इस महिला का टेस्ट पॉजिटिव आया था तो एमसीएचसी में बिना किसी सवाल के इलाज किया जाना चाहिए था। मालूम हो कि अनंतनाग का एमसीएचसी अस्पताल पहले भी जुड़वा बच्चों के साथ गर्भवती महिला की मौत के मामले में जांच का सामना कर रहा है।
... और पढ़ें

जम्मू-कश्मीरः लूडो के खेल में लड़के की नृशंस हत्या, हत्यारों ने चेहरा भी जला दिया

जम्मू शहर के पुराने सतवारी इलाके में नौवीं कक्षा के एक छात्र की हत्या कर दी गई। 14 वर्षीय किशोर चार दिन पहले घर से लूडो खेलने निकला था। हत्या के पीछे लूडो के खेल में पैसों के लेन-देन को लेकर विवाद की आशंका जताई जा रही है। ऑनलाइन गेम खेलने के नाम पर भी लेन-देन का मामला हो सकता है।

घर के पास एक खेत से किशोर का शव बरामद हुआ है। किशोर के चेहरे को जलाने की कोशिश की गई थी। एफएसएल टीम ने जांच के लिए सैंपल लिए हैं। तीन संदिग्धों को हिरासत में लिया गया है। मामले में जांच चल रही है। सतवारी पुलिस थाने में आईपीसी की धारा 302 के तहत मामला दर्ज किया गया है।

यह भी पढ़ेंः
लूडो के खेल में लड़के की हत्या का मामलाः सड़क पर उतरे 200 से अधिक लोगों ने किया प्रदर्शन

जानकारी के अनुसार 14 साल के रितिक को चार दिन पहले उसके किसी दोस्त ने फोन किया। कहा, मोबाइल पर लूडो खेलते हैं। इसके बाद रितिक घर से चला गया लेकिन लौटकर नहीं आया। घरवालों ने काफी तलाश की। जानकारी नहीं मिलने पर सतवारी पुलिस स्टेशन में शिकायत दर्ज कराई।
... और पढ़ें

कश्मीरः पुलिस के नाम पर ठगी करने वाली शातिर महिला गिरफ्तार, मामला खत्म कराने की कीमत थी एक लाख रुपये

जम्मू-कश्मीरः बडगाम में लश्कर के आतंकी मॉड्यूल का भंडाफोड़, आतंकियों के चार मददगार गिरफ्तार

जम्मू कश्मीर पुलिस
जम्मू कश्मीर के बडगाम में लश्कर के आतंकी मॉड्यूल का भंडाफोड़ हुआ है। सुरक्षाबलों ने बीरवाह के एक शीर्ष लश्कर मददगार वसीम गनी सहित चार को गिरफ्तार किया है। पकड़े गए आतंकियों के मददगार अपने आकाओं के लिए रहने का प्रबंध करते थे। साथ ही संवेदनशील सूचनाएं लश्कर तक पहुंचाते थे।

आतंकियों को एक स्थान से दूसरे स्थान तक पहुंचाने में भी ये सहयोग करते थे। इनसे पूछताछ में आतंकी संगठनों की गतिविधियों और उनके ठिकाने के बारे में जानकारी मिलने की उम्मीद है। पुलिस ने इनके खिलाफ मुकदमा दर्ज कर जांच शुरू कर दी है।

पकड़े गए आतंकियों के मददगारों की पहचान वसीम गनी निवासी बीरवाह, फारुक अहमद, मोहम्मद यासीन और अजहरुद्दीन मीर के रूप में हुई है। इनके कब्जे से हथियार, गोला-बारूद व अन्य आपत्तिजनक सामग्री बरामद की गई है। इस अभियान को बडगाम पुलिस और सेना की 53 आरआर ने अंजाम दिया।

यह भी पढ़ेंः 
देश के दुश्मन! होश उड़ा देने वाला तहसीलदार का तहखाना, घर में बना रखा था आतंकी ठिकाना

 
... और पढ़ें

जम्मूः अवैध व्यावसायिक निर्माण मामले में खिलाफवर्जी इंस्पेक्टर बर्खास्त

जम्मू शहर के पॉश इलाके छन्नी हिम्मत में तैनात खिलाफवर्जी इंस्पेक्टर को नगर निगम आयुक्त ने बर्खास्त कर दिया है। शिकायतें मिलने के बाद बिठाई गई जांच में आरोप सही पाए गए। आरोप था कि वार्ड नंबर 53 छन्नी हिम्मत में तैनात इस अधिकारी ने क्षेत्र में कई व्यावसायिक निर्माण करवा डाले। नगर निगम प्रशासन की गाज कई और अफसरों पर भी पड़ सकती है।

खिलाफवर्जी (एनफोर्समेंट) इंस्पेक्टर के खिलाफ शिकायत मिली थी कि वर्ष 2018-2019 के दौरान वार्ड 53 छन्नी हिम्मत इलाके में धड़ाधड़ अवैध व्यावसायिक निर्माण कराए गए। लगातार कई शिकायतें मिलने के बाद नगर निगम आयुक्त ने जांच कर डोजियर तैयार करने के आदेश दिए थे। जांच में पाया गया कि अधिकारी ने अवैध निर्माण की सूचना देने अथवा रोकने के बजाय मिलीभगत से कई अवैध निर्माण करवा दिए।

20 मई 2020 को सौंपी गई जांच रिपोर्ट को आधार बनाते हुए नगर निगम आयुक्त जम्मू ने अधिकारी को बर्खास्त करने के आदेश जारी कर दिए। इस कार्रवाई के बाद अब कई और अफसरों पर भी गाज गिर सकती है। बताया जा रहा है कि ड्यूटी में लापरवाही अथवा मिलीभगत के चलते कुछ नाम चिह्नित किए गए हैं, जिनकी पड़ताल की जा रही है।

हाउस में उठा था मामला
नगर निगम की जनरल हाउस की बैठक में अवैध निर्माण को लेकर खूब हंगामा हुआ था। इसमें भ्रष्ट अधिकारियाें के खिलाफ कार्रवाई करने को बोला गया था। इस पर आयुक्त ने जांच करने की आदेश दिए थे। एक अधिकारी को बर्खास्त कर दिया गया है। एक दर्जन से ज्यादा अधिकारियों के खिलाफ जांच चल रही है।
... और पढ़ें

श्रीनगरः पीसीआर में गोली चलने से अफरा-तफरी, मामले की जांच जारी

लेहः कंटेनमेंट जोन घोषित गांव में पुलिस-प्रदर्शनकारी भिड़े, कई घायल, सात के खिलाफ एफआईआर

लेह जिले में कंटेनमेंट जोन घोषित चुशोत योकमा क्षेत्र में लोगों और पुलिस में टकराव हो गया। यह लोग सील किए गए इलाके में सुविधाओं के अभाव और क्वारंटीन केंद्रों की व्यवस्था के खिलाफ प्रदर्शन कर रहे थे। पुलिस के रोकने पर मामला भड़क गया। इस दौरान लाठीचार्ज किया गया। गुरुवार की इस घटना में कुछ लोग घायल भी हो गए हैं। पुलिस ने सात लोगों के खिलाफ पांच अलग-अलग धाराओं के तहत मामले दर्ज किए हैं।

जानकारी के अनुसार चुशोत योकमा गांव कंटेनमेंट जोन घोषित है। यहां सैकड़ों लोग दूसरे राज्यों से लौटे हैं जिन्हें क्वारंटीन केंद्रों में रखा गया था। इन लोगों का कहना था कि पहले तो क्वारंटीन केंद्राें में उनसे अत्यधिक पैसा लिया गया। कंटेनमेंट जोन के भीतर भी कई सुविधाएं नहीं दी जा रहीं।

इसे लेकर प्रशासन की अनदेखी पर वह शांतिपूर्ण प्रदर्शन कर रहे थे। इसी दौरान उन पर लाठीचार्ज कर दिया गया। वहीं घटना के बाद जिला उपायुक्त लेह सचिन कुमार वैश्य और एसएसपी लेह सरगुन शुक्ला ने संयुक्त पत्रकार वार्ता में कहा कि कंटेनमेंट जोन के नियम कायदे किसी हाल में तोड़े नहीं जा सकते।

प्रदर्शनकारी निर्माणाधीन चोगलामसर पुल पर आ गए थे, जिससे हादसा हो सकता था। जब इन्हें रोका गया तो कुछ शरारती तत्वों ने माहौल खराब कर दिया। कुछ लोगों को पुल पर पड़े सरिया, कील व अन्य सामग्री से चोटें आई हैं। सात लोगों पर आईपीसी की धारा 147, 188, 323, 336 और डिजास्टर मैनेजमेंट एक्ट की धारा 51 के तहत मामला दर्ज किया गया है।
... और पढ़ें

जम्मू-कश्मीरः पहाड़ी क्षेत्र सुंब में पुलिस को मिला गोला बारूद, आतंकी घुसपैठ की आशंका

जम्मू संभाग में सांबा जिले के पहाड़ी गांव गौरण के निकट से पुलिस को तीन ग्रेनेड व 54 कारतूस मिले हैं। रक्षा सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार शनिवार शाम को पुलिस को पहाड़ी क्षेत्र गौरण के गांव ढूंगा के जंगल में कुछ हथियार छिपाए जाने की सूचना मिली। इस पर एसओजी के जवानों ने क्षेत्र में तलाशी अभियान चलाया।

सूत्रों के अनुसार घगवाल के बंई नाले से एसओजी के जवान तलाशी करते हुए गौरण क्षेत्र में पहुंचे वहां पुलिस को एक व्यक्ति ने हथियारों के बारे में सूचना दी। इस पर पुलिस ने तलाशी अभियान छेड़ा व क्षेत्र से तीन हैंड ग्रेनेड व 54 कारतूस बरामद किए।

सूत्रों के अनुसार गत दिनों सेना, पुलिस, सीआरपीएफ को इनपुट मिले थे कि बंई नाले से घुसपैठ हुई है, जिस पर संयुक्त तलाशी अभियान चलाया गया था, लेकिन पुलिस को कोई सफलता नहीं मिली थी। गत एक सप्ताह से सुरक्षाबलों ने क्षेत्र में तलाशी अभियान चला रखा है।

शनिवार शाम सात बजे के करीब पुलिस ने ग्रेनेड व कारतूस बरामद किए। बताया गया है कि हैंडग्रेनेड व कारतूस नए हैं, जिससे आशंका जताई जा रही है कि नई घुसपैठ हो चुकी है। हालांकि पुलिस इस बारे में अभी कुछ भी नहीं बता रही है। सूत्रों के अनुसार बंई नाले से गौरण क्षेत्र घुसपैठियों का पुराना मार्ग रहा है। पहले भी इस क्षेत्र से घुसपैठ की कई सफल कोशिशें हो चुकी हैं।
... और पढ़ें

कठुआः टेक्सटाइल मिल के बाहर भारी हंगामे के बीच भोजपुरी का कमाल, एसएसपी के मुरीद हुए प्रदर्शनकारी

कोरोना महामारी के बीच जिले की चिनाब टेक्सटाइल मिल में आधा वेतन मिलने पर भड़के श्रमिकों ने शुक्रवार को जम्मू-पठानकोट नेशनल हाईवे से सटी इकाई में घुसकर तोड़फोड़ की। इसके साथ ही पुलिस की जिप्सी सहित वहां खड़े कई वाहनों को तोड़ दिया। पुलिस ने भीड़ को रोकने के लिए लाठीचार्ज किया। इससे श्रमिक और भड़क गए, उन्होंने पथराव शुरू कर दिया।

स्थिति को नियंत्रित करने के लिए एसएसपी कठुआ ने कमान खुद संभाली और श्रमिकों के बीच जाकर उनकी समस्याओं को हल करवाने का आश्वासन दिया। इसके बाद बवाल थमा। इस झड़प में चार पुलिस कर्मियों सहित तीन श्रमिक भी घायल हुए हैं। पुलिस ने मामला दर्ज कर जांच शुरू कर दी है। फिलहाल तनाव की स्थिति को देखते हुए भारी तादाद में पुलिस व अर्द्ध सैनिक बल तैनात कर दिया गया है।

शुक्रवार सुबह ड्यूटी पर पहुंचे मजदूर उस समय भड़क गए जब उन्हें मिल की ओर से जारी वेतन स्लिप मिली। श्रमिकों का आरोप है कि उन्होंने प्रबंधन से बातचीत का प्रयास किया परंतु कोई आगे नहीं आया। इसके बाद श्रमिक भड़क गए। सैकड़ों की तादाद में श्रमिकों ने पहले इकाई परिसर के भीतर खड़ी गाड़ियों, बाइक और कार्यालय में तोड़फोड़ कर दी। बवाल की सूचना पर हटली पुलिस चौकी से पहुंची पुलिस टीम पर भी हमला कर दिया। इस दौरान पुलिस के जवान घायल हुए। स्थिति इतनी बिगड़ी कि पुलिस वालों को अपनी गाड़ी छोड़ पीछे हटना पड़ा।

प्रदर्शनकारी श्रमिकों ने मिल के मुख्य गेट के बाहर निकलकर जम्मू पठानकोट नेशनल हाईवे पर जमकर हंगामा किया। पुलिस की जिप्सी भी तोड़ दी। इकाई के भीतर से कंप्यूटर, कुर्सियां, दस्तावेज आदि भी हाईवे पर ला कर फेंक दिए। स्थिति बिगड़ती देख भारी तादाद में पुलिस बल मौके पर पुहंचा और प्रदर्शकारियों को तितर-बितर करने के लिए लाठियां भांजी। उग्र हुए प्रदर्शनकारियों ने रेलवे रोड़ और इकाई के मुख्य गेट के पास जमकर पत्थरबाजी की।

 
... और पढ़ें
Election
  • Downloads

Follow Us

विज्ञापन