विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
सुखी वैवाहिक जीवन के लिए इस जन्माष्टमी मथुरा में कराएं राधा-कृष्ण युगल पूजा, 24 अगस्त को
Astrology Services

सुखी वैवाहिक जीवन के लिए इस जन्माष्टमी मथुरा में कराएं राधा-कृष्ण युगल पूजा, 24 अगस्त को

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

कश्मीर: दरबार मूव पर भी हो सकता है बड़ा फैसला, 600 करोड़ का खर्च अब घटकर हो सकता है 25 करोड़

अनुच्छेद 370 खत्म किए जाने के बाद आने वाले 31 अक्तूबर से जम्मू-कश्मीर में केंद्र शासित प्रदेश के तौर पर लागू होने वाली नई व्यवस्था में दरबार मूव की परंपरा पर भी अहम फैसला हो सकता है।

21 अगस्त 2019

विज्ञापन
विज्ञापन

पुंछ

बुधवार, 21 अगस्त 2019

स्वामी विश्वात्मां नंद की अगुवाई में सुबह तड़के श्रीबुढा अमरनाथ की छड़ी यात्रा निकाली गई

पुंछ। श्री दशनामी अखाड़ा मंदिर के महंत राजगुरु 1008 स्वामी विश्वात्मानंद सरस्वती की अगुवाई में मंगलवार को श्री बूढ़ा अमरनाथ की छड़ी यात्रा निकाली गई। इससे पूर्व भगवान शंकर और देवी पार्वती का प्रतीक स्वरूप चांदी की छड़ी मुबारक को मंगलवार तड़के पुंछ नगर स्थित श्री दशनामी अखाड़ा मंदिर में मुख्य द्वार पर लाया गया। वहां पर पुलिस की तरफ से छड़ी मुबारक को सलामी दी गई।
सलामी के बाद साधु-संतों सहित करीब पचास लोगों के साथ कड़ी सुरक्षा के बीच जिले के मंडी कस्बे स्थित श्री बूढ़ा अमरनाथ मंदिर के लिए रवाना किया गया। इसमें राजोरी-पुंछ रेंज के डीआईजी विवेक गुप्ता, जिला विकास आयुक्त राहुल यादव और एसएसपी रमेश अंगराल खुद भी साथ चल रहे थे।
पुंछ से निकली छड़ी मुबारक अंधेरे में श्री बूढ़ा अमानाथ मंदिर पहुंची, जहां पर एक बार फिर पुलिस द्वारा सलामी दी गई तो मंदिर समिति के सदस्यों ने छड़ी का स्वागत किया। उसके बाद वैदिक मंत्रों से छड़ी पूजन कर उसे मंदिर में विराजमान भोले नाथ के चट्टान स्वरूप शिवलिंग पर अगले तीन दिनों के लिए स्थापित कर दिया गया।
गौरतलब है कि सदियों से पुंछ नगर स्थित राजगुरु गद्दी श्रीदशनामी अखाड़ा मंदिर से श्रावण मास की पूर्णिमा के दो दिन पहले श्री बूढ़ा अमरनाथ मंदिर के लिए पवित्र छड़ी मुबारक यात्रा निकाली जाती है। इसमें हर वर्ष 20 से 25 हजार लोग भाग लेते हैं। परंतु इस बार राज्य से अनुच्छेद 370 को हटाए जाने के बाद बने हालात और जिले में जारी धारा 144 के चलते आज पहली बार छड़ी मुबारक यात्रा केवल चंद साधु-संतों के साथ सुरक्षा के बीच रात्रि ढाई बजे रवाना की गई है।
इस बारे में राजगुरु स्वामी विश्वात्मा नंद सरस्वती का कहना है कि हालात और कानून व्यवस्था को सहयोग देने के उद्देश्य से इस बार इस प्रकार छड़ी यात्रा निकाली गई है। ... और पढ़ें

जम्मू केंद्रीय विश्वविद्यालय में अब खाली सीटों के लिए होगी ऑफलाइन काउंसलिंग

जम्मू केंद्रीय विश्वविद्यालय में विभिन्न यूजी व पीजी कोर्सों के लिए ऑनलाइन दाखिला प्रक्रिया खत्म हो चुकी है। इस सत्र में 640 विद्यार्थी ने विश्वविद्यालय में दाखिला लिया है। विश्वविद्यालय में विभिन्न यूजी व पीजी कोर्सों में एक हजार के करीब सीटें हैं। 

19 अगस्त से विश्वविद्यालय का नया शैक्षणिक सत्र शुरू होने जा रहा है। विश्वविद्यालय की खाली सीटों के लिए ऑफलाइन काउंसलिंग कर विद्यार्थियों का दाखिला किया जाएगा। 

विश्वविद्यालय प्रशासन ने बताया कि इस बार कई राज्यों के विद्यार्थियों ने विभिन्न कोर्सों में दाखिला लिया है। इनमें से कई यहां के हालात के कारण पहुंचने में असमर्थ रहे। 

विश्वविद्यालय का नया शैक्षणिक सत्र पांच अगस्त से शुरू होने वाला था, जिसकी तिथि विश्वविद्यालय प्रशासन द्वारा आगे बढ़ा दी गई थी। वहीं धारा 144 के कारण सत्र शुरू होने में देरी हुई। विवि प्रशासन का कहना है कि अगर हालात में फिर बदलाव हुआ, तो कक्षाएं लगाने की तिथि को फिर बढ़ा दिया जाएगा।   ... और पढ़ें

जम्मू: कांग्रेस के कई नेता भाजपा में हुए शामिल, खन्ना बोले-जम्मू-कश्मीर में अब एक विधान, एक निशान

भाजपा के राष्ट्रीय उपप्रधान, प्रभारी व चुनाव इंचार्ज जम्मू-कश्मीर अविनाश राय खन्ना ने कहा कि अनुच्छेद 370 को हटाने से पिछले कई दशक से जम्मू-कश्मीर की जनता को गुमराह करने वालों को जवाब मिला है। अब राज्य में हर किसी को मतदान का अधिकार होगा। 

पार्टी की विचारधारा से ही एक विधान, एक निशान और एक प्रधान संभव हो पाया है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और गृह मंत्री अमित शाह के नेतृत्व में देश में विकास को गति मिली है। यहां मंगलवार को खन्ना की मौजूदगी में कई कांग्रेसी नेता भाजपा में शामिल हो गए। खन्ना ने कहा कि जम्मू-कश्मीर में नए बदलाव से युवा पीढ़ी का भविष्य उज्ज्वल बनेगा। 

भाजपा ने राष्ट्र हित में बदलाव किया है। भाजपा नए भारत का लक्ष्य लेकर आगे बढ़ रही है। पार्टी में शामिल होने वालों में सेवानिवृत्त एसपी भोपेंद्र सिंह, शैलेंद्र वेद, विपिन निश्चिल आरोग्य, अभिउदित कौशल, गुरमीत सिंह, लोकेश कपूर आदि शामिल रहे। प्रदेशाध्यक्ष रवींद्र रैना ने कहा कि कांग्रेस एक परिवार के इर्दगिर्द ही घूमती रही है और सोनिया गांधी को फिर से अध्यक्ष बनाकर कांग्रेस ने वही काम किया है। 

कांग्रेस नेहरू परिवार के अलावा कोई शीर्ष नया चेहरा नहीं दे पाई है। कांग्रेस की कारगुजारियों का खामियाजा जम्मू-कश्मीर को भुगतना पड़ रहा है। लेकिन पार्टी ने जम्मू-कश्मीर में विकास की राह तेज की गई है। उन्होंने उम्मीद जताई की कि नए सदस्यों के पार्टी में शामिल होने से मजबूती मिलेगी। इस मौके पर गुरमीत सिंह, कृपाल सिंह, लोकेश कपूर, अरविंद गुप्ता, राम पाल, डॉ. नरेंद्र सिंह आदि मौजूद रहे।  
... और पढ़ें

पाकिस्तान ने फिर की गोलाबारी, जवान शहीद, नागरिक की मौत, पाक के झूठे दावों का सेना ने दिया जवाब

पाकिस्तान की ओर से एलओसी पर भारी गोलाबारी का सिलसिला रुक नहीं रहा है। मंगलवार को जिले के मेंढर के मनकोट, कृष्णा घाटी और कीरनी सेक्टर में पाकिस्तानी सेना ने अग्रिम चौकियों तथा रिहायशी इलाकों को निशाना बनाकर गोले दागे। इसमें एक जवान शहीद हो गया। चार अन्य जवान घायल हुए हैं। एक नागरिक की भी मौत हो गई।

देर शाम तक रुक-रुक कर चली गोलाबारी में दबराज गांव में कई मकानों को नुकसान पहुंचा है। कीरनी में दो सरकारी स्कूल क्षतिग्रस्त हो गए। सेना ने इसका मुंहतोड़ जवाब दिया है। सैन्य प्रवक्ता के अनुसार जवाबी कार्रवाई में पाकिस्तानी सैनिकों तथा पोस्टों को भारी नुकसान हुआ है।

सैन्य प्रवक्ता ने बताया कि गोलाबारी में बिहार के रोहतास जिले के गोप बिगहा गांव निवासी नायक रवि रंजन सिंह शहीद हो गए। परिवार में उनकी पत्नी रीता देवी हैं। मंगलवार सुबह करीब 11:30 बजे पाकिस्तानी सेना नेे कृष्णा घाटी व मनकोट सेक्टर में सेना की चौकियों के साथ ही ग्रामीण क्षेत्रों को निशाना बना कर मोर्टार दागने शुरू कर दिए।

इस दौरान मनकोट क्षेत्र में सेना की एक अग्रिम चौकी के पास पाकिस्तान की तरफ से एक गोला आकर फटा, जिससे वहां तैनात नायक रवि रंजन सिंह गंभीर रूप से घायल हो गए। साथी जवानों ने गोलाबारी के बीच से निकाल कर उन्हें मुख्यालय पहुंचाया। वहां से उन्हें हेलीकाप्टर से सैन्य अस्पताल उधमपुर भेजा गया, जहां उनकी मौत हो गई। दबराज गांव में फकीरदीन के 22 वर्षीय पुत्र मोहम्मद करीम की भी गोले की चपेट में आने से मौत हो गई।

भारतीय सेना की कार्रवाई में पाकिस्तान की दो चौकियां पूरी तरह तबाह हो गईं, जिनमें बड़ी संख्या में पाकिस्तानी सेना के जवान मारे जाने की सूचना है। इससे पहले सोमवार देर रात से मंगलवार सुबह तक जिले के कीरनी सेक्टर में भी पाकिस्तानी सेना ने गांव को निशाना बना कर भारी गोलाबारी की, जिसमें क्षेत्र के दो सरकारी स्कूलों को नुकसान हुआ है। ... और पढ़ें
एलओसी एलओसी

हालात समान्य होने के साथ ही अस्पताल में लगने लगी मरीजों की भीड़

पुंछ। जिले में करीब 15 दिनों के बाद हालात सामान्य होने और सभी क्षेत्रों के बीच मंगलवार को यात्री वाहनों की आवाजाही बहाल होने के साथ ही नगर स्थित राजा सुखदेव सिंह जिला अस्पताल में मरीजों और उनके तीमारदारों की भीड़ लगने लगी है।
इसके चलते सुबह से ही अस्पताल में हर तरफ लोगों का तांता लगा रहा। आज कई दिनों के बाद अस्पताल में पर्ची कटवाने के लिए लोगों की लंबी कतारें देखने को मिल। वहीं अस्पताल की ओपीडी में भी बड़ी संख्या में महिलाएं एवं पुरुष अपने बीमार बच्चों को डाक्टर को दिखाने के लिए अपनी बारी का इंतजार करते नजर आए। 15 दिनों के बाद अस्पताल में लगी भीड़ के लिए ग्रामीण क्षेत्रों से आने वाले मरीजों का कहना था कि पहले वाहन न चलने के कारण हम लोग अस्पताल नहीं आ पा रहे थे। आज वाहन सही तरह से चलने पर वे इलाज के लिए अस्पताल पहुंचे हैं। वहीं अस्पताल के डाक्टर खालिक अंजुम ने कहा कि आज काफी दिनों के बाद अस्पताल में लोगों की भीड़ उमड़ी है। हालांकि हमारी ओपीडी लगातार चल रही थी, लेकिन ग्रामीण क्षेत्रों से लोग नगर में आ नहीं पा रहे थे। राजा सुखदेव सिंह जिला अस्पताल में पर्ची काटने वाले कर्मचारी मोहिंदर सिंह ने कहा कि वैसे तो आम दिनों में अस्पताल में हर दिन पांच सौ छह सौ पर्ची काटी जाती है, लेकिन आज हमने उससे तीन गुणा करीब अठारह सौ पर्चियां काटी हैं। ... और पढ़ें

कश्मीर: हिरासत में ही रहेंगे अलगाववादी, अफवाह फैलाने वालों पर सख्ती, 10 दिन में सुविधाएं होंगी बहाल

केंद्र सरकार ने अनुच्छेद 370 हटाए जाने के बाद नए जम्मू-कश्मीर में अलगाववादी नेताओं को कोई रियायत नहीं देने का फैसला किया है। अलगाववादी नेता फिलहाल हिरासत में ही रहेंगे। वहीं, अफवाह फैलाने वालों के खिलाफ सख्ती में कोई कोताही नहीं बरती जाएगी। अगले दस दिनों में आम लोगों के लिए सभी सेवाएं और सुविधाएं बहाल कर दी जाएंगी। सोमवार को गृह मंत्री अमित शाह ने राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार (एनएसए) अजित डोभाल, गृह सचिव राजीव गाबा और खुफिया ब्यूरो (आईबी) प्रमुख अरविंद कुमार सहित कई शीर्ष अधिकारियों के साथ बैठक कर कश्मीर के हालात की समीक्षा की।

यह भी पढ़ें: जम्मू-कश्मीरः अमित शाह की हिदायत के बाद एक्टिव मोड में पार्टी नेता, इस वजह से बैठकों का दौर जारी

जम्मू-कश्मीर को केंद्रशासित प्रदेश बनाए जाने के बाद से लगातार कश्मीर घाटी में डेरा डाले रखने के बाद दिल्ली लौटे डोभाल ने शाह को कश्मीर के हालात से अवगत कराया। सूत्रों ने बताया कि चरणबद्ध तरीके से कश्मीर के अलग-अलग इलाकों में सुविधाएं बहाल कर स्थिति की लगातार समीक्षा की जाएगी। इस दौरान इसके दुरुपयोग पर खास निगाह रखी जाएगी। जम्मू-कश्मीर में तैनात अतिरिक्त अर्द्धसैनिक बलों और सेना को हटाने पर कोई विचार नहीं किया गया है। सूत्रों ने बताया कि सारी सुविधाएं और सेवा बहाल होने के बाद स्थिति की समीक्षा कर पहले हिरासत में लिए गए क्षेत्रीय दलों के नेताओं को छोड़ा जाएगा। इसके बाद देश की विभिन्न जेलों में बंद अलगाववादी नेताओं पर विमर्श शुरू होगा।

 

गिलानी को इंटरनेट सेवा जारी रखने के मामले में दो बीएसएनएल अफसर नपे

जम्मू-कश्मीर में धारा 144 लगाने और इंटरनेट पर पाबंदी के बावजूद अलगाववादी नेता सैयद अली शाह गिलानी के ट्वीट करने के मामले में बीएसएनएल के दो अधिकारियों को निलंबित कर दिया गया है। आरोप है कि दोनों ने हुर्रियत कॉन्फ्रेंस नेता गिलानी को प्रतिबंध को ताक पर रखकर इंटरनेट लिंक मुहैया कराया था। हुर्रियत कॉन्फ्रेंस के नेता गिलानी को संचार सेवा पर रोक के बावजूद इंटरनेट एक्सेस देने के मामले में यह कार्रवाई की गई। 4 अगस्त से घाटी में इंटरनेट पाबंदी के बावजूद गिलानी को लैंडलाइन और इंटरनेट सेवा जारी थी।


यह भी पढ़ें: जम्मू-कश्मीर में इंटरनेट बंद होने पर भी गिलानी ने किए कई ट्वीट, बीएसएनएल के दो अधिकारी सस्पेंड


कश्मीर पर विवादित टिप्पणी कर घिरीं शेहला

वहीं जेएनयू छात्रा और पूर्व छात्र संघ नेता शेहला राशिद जम्मू-कश्मीर पर विवादित टिप्पणी करने के बाद घिरती नजर आ रही हैं। शेहला ने कई ट्वीट कर कश्मीर में अत्याचार की बात कही तो सेना ने कहा, ये बेबुनियाद और तथ्यहीन आरोप हैं, जिनमें कोई सच्चाई नहीं है। कुछ असामाजिक तत्व और संगठन नफरत भरी झूठी खबरें फैलाकर लोगों को भड़काने की कोशिश कर रहे हैं। शेहला अभी पूर्व आईएएस शाह फैसल की पार्टी जम्मू-कश्मीर पीपुल्स मूवमेंट से जुड़ी हैं। विवादित टिप्पणी मामले में शेहला के खिलाफ मुंबई और दिल्ली में केस दर्ज कराया गया है।
... और पढ़ें

पुंछ में हालात सामान्य, स्कूल खुले

पुंछ। जिले में पिछले 15 दिनों से बंद पड़े सरकारी एवं गैर सरकारी स्कूलों को प्रशासन की तरफ से खोल दिया गया। इसमें कक्षा एक से आठवीं तक की पढ़ाई शुरू करवा दी गई। पहले दिन अधिकतर स्कूलों में विद्यार्थियों की उपस्थिति काफी कम रही। जो भी स्कूल पहुंचे वह सामान्य दिनों की तरह ही पढ़ाई करते नजर आए। नगर स्थित सीटी गर्ल्स मिडिल स्कूल में दो सौ में से 40, सनातन धर्म सभा स्कूल में 25, गुरु निवास स्कूल में साठ विद्यार्थी ही पहुंचे। इसके अलावा जामिया जिया उल उलूम में सबसे अधिक साढ़े तीन सौ में से अस्सी छात्र छात्राएं उपस्थित रहे। सीटी मिडिल स्कूल ब्वायज में एक भी विद्यार्थी नहीं पहुंचा था। सरकारी स्कूलों में सभी शिक्षकों की उपस्थिति रही। इसके अलावा नगर में कुछ गैर सरकारी स्कूल नहीं खोले गए क्योंकि उनका स्टाफ बाहरी राज्यों से होने के कारण आज तक पुंछ नहीं पहुंच पाए। गौरतलब है कि राज्य से अनुच्छेद 370 हटाए जाने के बाद जिले में कर्फ्यू और धारा144 जैसी पाबंदियों लगाए जाने के कारण पिछले 15 दिनों से जिले के सभी शिक्षा संस्थान बंद कर दिए गए थे। ऐसे में हालात सामान्य होते देख प्रशासन ने शनिवार को ही आठवीं कक्षा तक के स्कूलों को सोमवार से खोलने के आदेश जारी कर दिए थे। पहले दिन स्कूलों में विद्यार्थियों की उपस्थिति कम होने के बारे में अन्य स्कूलों के प्रधानाचार्यों कर ही तरह जामिया जिया उल स्कूल के प्रधानाचार्य वाहिद बांडे का कहना है कि जिले में मोबाइल फोन सेवाएं ठप होने के कारण वह शिक्षकों और विद्यार्थियों तक स्कूल खुलने का संदेश नहीं पहुंचा पाए। जिन तक मौखिक संदेश पहुंचा वह सभी मौजूद हैं। ... और पढ़ें

पाकिस्तान की शर्मनाक हरकत, पुंछ-रावलकोट बस सेवा के लिए नहीं खोले गेट, 27 पीओके नागरिक अटके

जम्मू-कश्मीर के पुंछ में सोमवार को एक बार फिर पाकिस्तान ने अपनी नापाक हरकत की है। पाक ने जम्मू-कश्मीर और पीओके के बीच पुंछ जिले से हर हफ्ते चलने वाली पुंछ-रावलकोट बस सेवा के लिए नियंत्रण रेखा पर चक्कां-दा-बाग की राहें मिलन पर बने गेट नहीं खोले। जिसके चलते पुंछ नगर से सुबह 27 पीओके नागरिकों को लेकर रवाना हुई पुंछ-रावलकोट बस दोपहर बाद चक्कां दा बाग की राहें मिलन से लौट गई।

आपको बता दें कि, धारा 370 हटाए जाने के बाद पांच अगस्त को पुंछ-रावलकोट बस सेवा चली थी। उसके बाद पिछले सोमवार को ईद के कारण पुंछ-रावलकोट बस सेवा बंद रखी गई थी। ऐसे में सोमवार को एक बार फिर जिला प्रशासन की तरफ से पिछले महीने जम्मू-कश्मीर में आए पीओके नागरिकों को वापस भेजने के लिए पुंछ-रावलकोट बस सेवा चलाई गई। जिसमें 27 पीओके नागरिक अपने घर लौटने के लिए बस में सवार हो गए गए थे, लेकिन सोमवार सुबह 11 बजे से लेकर तीन बजे तक पुंछ-रावलकोट बस सेवा की देख-रेख करने वाले अधिकारियों और भरतीय सेना के अधिकारियों ने चक्कां-दा-बाग की राहें मिलन के गेट तक कई चक्कर काटे और पीओके प्रशासन से गेट खोलकर बस में सवार यात्रियों को उस पार लेने का आग्रह किया, लेकिन उनकी तरफ से गेट नहीं खोले गए। 

जिला विकास आयुक्त पुंछ राहुल यादव का कहना है कि हमारे जिले में 47 पीओके नागरिक हैं जिनमें से आज 27 जिनका परमिट का समय समाप्त हो गया है उन्हें घर लौटना था। जिसके लिए हमने हर सोमवार की तरह आज भी पुंछ-रावलकोट बस सेवा चलाई थी जो कि चक्कां-दा-बाग से वापस लौट आई है। पीओके प्रशासन ने राहें मिलन के गेट ही नहीं खोले हैं। 
... और पढ़ें

एसटीडी-पीसीओ पर उमड़ रही भीड़

पुंछ-रावलाकोट बस सेवा
पुंछ। जिले में 15 दिन से बने हालात के चलते कई प्रकार की पाबंदियों के साथ ही सभी प्रकार की इंटरनेट एवं मोबाइल सेवाएं बंद किए जाने के कारण जिले में लोग बुरी तरह परेशान हो रहे हैं। ऐसे में पिछले दो दिन से हर तरफ पूरे दिन के लिए धारा 144 में ढील दिए जाने से एक तरफ जहां हालात सामान्य होते दिखने लगे हैं। वहीं बाजार खुलने के बाद हर तरफ एसटीडी एवं पीसीओ पर फोन करने वालों की भारी भीड़ उमड़ने लगी है।
पुरुषों के अलावा बड़ी संख्या में महिलाएं जिनके पति राज्य से अथवा देश से बाहर काम के लिए गए हुए हैं। महिलाएं सुबह अपने घरों के अन्य कामकाज छोड़ कर अपनों का कुशल क्षेम जानने के लिए फोन करने के लिए एसटीडी पर पहुंच रही हैं। जहां कई-कई घंटों तक अपनी बारी का इंतजार करने के बाद फोन से बात होने पर संतोष के साथ घरों को लौटती हैं। पुंछ नगर में पीसीओ पर फोन करने पहुंचे नियंत्रण रेखा से सटे गांव की सफीना बेगम, इशरत बेगम, सकीना आदि का कहना है कि हमारे पति सऊदी अरब में हैं। पिछले 15 दिनों से मोबाइल बंद होने के बाद न तो उन्हें हमारी कुशलता का पता चल पाया है और न ही हमें ऐसे में कल बाजार खुलने का पता चला था, लेकिन गांव से नगर की तरफ आने के लिए कोई गाड़ी नहीं मिली। ऐसे में आज सुबह हम गांव से आटो पकड़ कर अपने पतियों को फोन करने के लिए यहां पहुंची थीं तो हमारे आने से पहले ही कई लोग यहां मौजूद थे। हमें तीन घंटे हो गए हैं फोन करने के लिए अपनी बारी का इंतजार करते हुए।
वहीं पंजाब में मजदूरी करने के लिए गए अपने भाई से बात करने के लिए आए रफीक ने कहा कि भाई से बात होने से मुझे काफी खुशी हो रही है। हमारा पूरा परिवार उसका हाल मालूम न होने से परेशान था तो वहां वह भी बुरी तरह दुखी हो रहा था। इस दौरान एसटीडी पर अपने मायके में 15 दिनों के बाद बात करते हुए एक नवविवाहिता का तो रोना ही निकल गया। उसके साथ एसटीडी पर पहुंचे उसके पति का कहना है कि करीब तीन महीने पहले हमारी शादी हुई थी। मेरी ससुराल जम्मू में हैं। मोबाइल सेवाएं बंद होने के बाद इसकी मायके में आज तक बात नहीं हो पाई थी। आज बात होते ही इसका रोना निकल गया है। अपनों का हाल पता न होने से परेशान एसटीडी पर दिन भर कतारों में लगने वाले लोगों का कहना है कि हमारे जिले में किसी प्रकार की कोई गड़बड़ी नहीं है सब तरफ अमन है। ऐसे में हमारी सरकार और प्रशासन से मांग है कि जिले में भले ही इंटरनेट सेवाएं बहाल न करें परंतु मोबाइल से बातचीत करने की सुविधा को बहाल कर दें, ताकि हमे समय समय पर अपनों का कुशल क्षेम पता चलता रहे। ... और पढ़ें

जम्मू-कश्मीर पुलिस का कड़ा संदेश, सोशल मीडिया पर न फैलाएं झूठी अफवाहें, नहीं तो मिलेगी यह सजा

जम्मू जोन के पांच जिलों जम्मू, सांबा, कठुआ, उधमपुर और रियासी में इंटरनेट सेवाएं बहाल हो गई है। आईजीपी जम्मू ने लोगों से अपील की है कि सोशल मीडिया पर किसी भी तरह की झूठी अफवाह न फहलाएं। लोग ऐसे संदेश जिससे शांति भंग होने की संभावना है, ऐसे झूठे संदेश और वीडियो शेयर न करें। ऐसा होने पर सख्त कानूनी कार्रवाई अमल में लाई जाएंगी। उन्होंने कहा कि जम्मू जोन में बाजार खुल गए हैं और हालात सामन्य है। राजेारी, रामबन और डोडा जिला में स्कूल खुल गए हें। राजेारी में दूरभाष सेवा बहाल हो गई है।  

आर्मी स्कूल एहतियातन रहे बंद
फिदायीन हमले के इनपुट के मद्देनजर शनिवार को विभिन्न आर्मी स्कूल बंद कर दिए गए। इन स्कूल में शनिवार को होने वाली परीक्षा भी स्थगित कर दी गई। सूत्रों ने बताया कि कक्षा छह की स्थगित परीक्षा के लिए सोमवार का दिन तय किया गया है। हालांकि, इस बारे में सेना की ओर से कोई अधिकृत बयान नहीं मिल पाया है। ज्ञात हो कि इनपुट के बाद शुक्रवार की रात जम्मू, कठुआ और सांबा में हाई अलर्ट घोषित कर दिया गया था। 

दो-तीन फिदायीनों के भारतीय सीमा में दाखिल होने के थे इनपुट
दो-तीन फिदायीनों के भारतीय सीमा में प्रवेश करने और इनके द्वारा हमला करने का इनपुट शुक्रवार देर रात मिला था। इनपुट था कि जम्मू और पठानकोट के बीच हमले किए जा सकते हैं। फिदायीन का निशाना सैन्य तथा सुरक्षा बलों के प्रतिष्ठान बताए जा रहे हैं। इनपुट के बाद कठुआ के एसएसपी ने सभी नाकों तथा पुलिस चौकियों को हाई अलर्ट पर कर दिया था। सभी पुलिस चौकियों के बाहर सेना तैनात कर दी गई थी। इसके साथ ही हीरानगर के मंगतियां गांव में सर्च ऑपरेशन भी चलाया गया था। ... और पढ़ें

जम्मू-कश्मीर में बारिश से नदी नाले उफान पर, 16 लोग बहे, 15 लोगों को निकाला गया सुरक्षित

  • सांबा में लोग दो बहे, एक को बचाया, एक की देर शाम तक जारी रही तलाश 
  • उज्ज दरिया में फंसे 14 लोगों को सुरक्षित निकाला 
  • कटड़ा-सांझीछत चापर सेवा बाधित 
  • जम्मू-राष्ट्रीय राजमार्ग डेढ़ घंटे बंद रहा 

जम्मू संभाग के कई हिस्सों में शनिवार को मानसून की बारिश आफत लेकर आई। सांबा में देविका नदी पार करते समय दो लोग बह गए। आसपास के लोगों ने एक को बचा लिया, जबकि दूसरे की देर शाम तक तलाश जारी थी। उधर, कठुआ जिले के उज्ज दरिया में आई बाढ़ में फंसे 14 लोगों को कड़ी मशक्कत के बाद सुरक्षित बाहर निकाला गया। 
... और पढ़ें

सोमवार से जिले में आठवीं कक्षा तक स्कूलों को खोला जाएगा जिला विकास आयुक्त

पुंछ। जिले में आठवीं कक्षा तक के स्कूल सोमवार से खुल जाएंगे। अभिभावक अपने बच्चों को बेखौफ होकर स्कूलों में भेजें। यह कहना है उपायुक्त राहुल यादव का, वह शनिवार को नगर में 12 दिन से चल रहे कर्फ्यू और धारा 144 में पूरे दिन के लिए ढील दिए जाने के बाद एसएसपी रमेश अंगराल के साथ हालात का जायजा लेने के लिए नगर का दौरा कर रहे थे।
उन्होंने कहा कि आज पाबंदियां हटाए जाने के बाद नगर में बड़ी संख्या में ग्रामीण क्षेत्रों से लोग आए हुए हैं और हालात पूरी तरह सामान्य हैं। लोगों को कोई परेशानी न हो, इसके लिए प्रशासन की तरफ से लगातार नजर रखी जा रही है। दोपहर को उपायुक्त राहुल यादव ने एसएसपी रमेश अंगराल के साथ परेड बाजार, किला बाजार, शंकर नगर सहित कई क्षेत्रों का दौरा किया। इस दौरान दुकानदारों से कहा कि वह जम्मू एवं बाहर से अपनी दुकानों के लिए और सामान मंगवाएं एवं आम लोगों से बातचीत करते हुए कहा कि आप लोग बेखौफ होकर अपना कामकाज सामान्य रूप से करें। किसी प्रकार की अफवाह पर ध्यान न दें और आपसी एकता एवं भाईचारा बनाए रखें। ... और पढ़ें

पुंछ में सुरक्षाबलों को बांधी गई राखियां

पुंछ। अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद और सीमा जनकल्याण समिति की सदस्यों ने नगर में तैनात सुरक्षाबलों, सीआरपीएफ, एसएसबी, आरएएफ के जवानों को राखियां बांधी। इसके अलावा उनकी लंबी आयु एवं सुरक्षित जीवन की कामना की।
विद्यार्थी परिषद की जिला छात्रा प्रमुख तेजस्वनी जोहर, सीमा जनकल्याण समिति की सरिता देवी और विजय गीता की अगुवाई में बड़ी संख्या में महिलाएं और युवतियां मुख्य बाजार पहुंची। जहां से उन्होंने सुरक्षाबलों के जवानों एवं अधिकारियों की कलाइयों पर राखियां बांधने का क्रम शुरू किया। इस दौरान उन्होंने नगर में जगह-जगह तैनात जवानों को मिठाइयां खिला कर उनका मुंह मीठा करवाया। तेजस्वनी जोहर ने कहा कि वह हर वर्ष नियंत्रण रेखा पर जवानों को राखियां बांधती थी। इस बार अनुच्छेद 370 हटने के बाद लोगों की सुरक्षा के लिए तैनात सुरक्षाबलों के जवानों को राखियां बांध रही है। धारा 144 लगी होने के कारण नियंत्रण रेखा की तरफ आने जाने की अनुमति नहीं है। वैसे भी बार यहां फोन भी नहीं चल रह हैं और शायद इन जवानों को घर से राखियां भी नहीं पहुंची होंगी क्योंकि इनको अचानक यहां भेजा गया होगा। ऐसे में इन्हें बहनों की कमी न खले। इसलिए हम इन जवानों को राखियां बांध रही हैं। सुरक्षाकर्मियों ने सभी का शुक्रिया अदा किया। ... और पढ़ें

भारत का करारा जवाब, पाकिस्तान के 12 सैनिक ढेर

पुंछ। पाकिस्तानी सेना की नापाक हरकत का जवाब देते हुए सेना ने उसके 12 सैनिकों को मार गिराया। कई पाकिस्तानी चौकियों के भी तबाह होने की खबर है। वीरवार को स्वतंत्रता दिवस पर सीमा पार से कृष्णा घाटी सेक्टर में सेना की चौकियों और रिहायशी इलाकों को निशाना बनाया गया। करीब दो घंटे चली गोलाबारी में सेना को किसी प्रकार के नुकसान की सूचना नहीं है। घटना के बाद आईबी और एलओसी पर सतर्कता बढ़ा दी गई है।
वीरवार सुबह सात बजे पाकिस्तान ने सेना की चौकियों को निशाना बनाते हुए बडे़ हथियारों से भारी गोलाबारी शुरू कर दी। जिले के मेंढर सब डिवीजन के कृष्णा घाटी सेक्टर में युद्ध विराम का उल्लंघन करते करते हुए सीमा पर बसे गांवों पर भी गोले दागे गए। इससे ग्रामीणों में दहशत फैल गई। सेना ने मोर्चा संभालते हुए नापाक हरकत का जवाब दिया। सूत्रों का कहना है कि इस दौरान पीओके के बट्टल में पाकिस्तानी सेना के करीब एक दर्जन जवान ढेर हो गए। इसके बाद सीमापार से गोलाबारी बंद कर दी गई। पाकिस्तान ने अपने लोगों के आक्रोश को दबाने के लिए पांच भारतीय जवानों को मारे जाने जाने की झूठी खबर उड़ा दी। ... और पढ़ें
अपने शहर की सभी खबर पढ़ने के लिए amarujala.com पर जाएं

Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google, और सोशल मीडिया साइट्स, जैसे की Facebook, के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।

Agree