विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विनायक चतुर्थी पर सिद्धिविनायक मंदिर(मुंबई ) में भगवान गणेश की पूजा से खत्म होगी पैसों की किल्लत 30-नवंबर-2019
Astrology Services

विनायक चतुर्थी पर सिद्धिविनायक मंदिर(मुंबई ) में भगवान गणेश की पूजा से खत्म होगी पैसों की किल्लत 30-नवंबर-2019

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

From nearby cities

जम्मू के अशोक शर्मा को लखनऊ में मिला प्रेरणाश्री सम्मान, जनहित से जुड़े मुद्दों को दी नई पहचान

जम्मू निवासी अशोक शर्मा वशिष्ठ को कंसर्ट थिएटर लखनऊ में प्रेरणाश्री सम्मान से नवाजा गया। शर्मा विद्यार्थी जीवन से लेखन में रुचि रखते हैं। उन्होंने अभी...

1 नवंबर 2019

विज्ञापन
विज्ञापन

जम्मू

मंगलवार, 19 नवंबर 2019

35 साल पुराने हत्या मामले में तीन आरोपी रिहा

जम्मू। बारामुला जिला कोर्ट ने 35 साल पुराने हत्या मामले में तीन आरोपियों को रिहा कर दिया। सबूतों के अभाव में जज ने आरोपियों के हक में फैसला सुनाया। सोमवार को जस्टिस संजीव गुप्ता ने मामले पर सुनवाई की।
अभियोजन पक्ष के केस मुताबिक हबीबुल्लाह भट्ट 6 और 7 नवंबर 1986 की रात को लापता हो गया। 6 दिसंबर 1986 को भट्ट का शव एक बोरे में सड़ी गली अवस्था में मिला। इसके बाद मामले की जांच शुरू हुई तो तीन लोगों के नाम इसमें सामने आए। यह लोग मृतक के पड़ोसी थे। दरअसल, तीन आरोपियों में एक महिला शामिल है। जिसके साथ मृतक का अतिरिक्त वैवाहिक संबंध था। मृतक से पीछा छुड़ाने के लिए महिला ने अपने पति और भाई के साथ मिलकर उसकी हत्या करने की साजिश रची। मृतक भी शादीशुदा था। जज ने दलीलें सुनने के बाद महसूस किया कि अभियोजन पक्ष आरोपियों के खिलाफ हत्या का कारण साबित नहीं कर सका। जेएनएफ
... और पढ़ें

एबीवीपी प्रदर्शन

जम्मू। विद्यार्थियों की विभिन्न मांगों के समर्थन में अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद (एबीवीपी) का प्रदर्शन रुकने का नाम नहीं ले रहा है। सोमवार को एबीवीपी के शुभम अमर के नेतृत्व में विभिन्न विभागों के विद्यार्थियों ने डीन स्टूडेंट वेलफेयर के कार्यालय के बाहर कल्चरल सेक्रेटरी के होने वाले चुनावों के खिलाफ प्रदर्शन किया। इसके बाद चुनावों को स्थगित कर दिया गया। प्रदर्शन के दौरान कुछ विद्यार्थियों द्वारा डीन स्टूडेंट वेलफेयर का दरवाजा तोड़ने की कोशिश भी की गई। इस दौरान कुर्सियां भी बाहर फें की गई।
प्रदर्शनकारियों ने कल्चरल सेक्रेटरी के चुनावों से पहले छात्रसंघ चुनाव करवाने की मांग की। इस दौरान उन्होंने डीन स्टूडेंट वेलफेयर के बाहर अपनी मांगों के समर्थन में नारेबाजी की। प्रदर्शनकारियों ने कल्चरल सेक्रेटरी के चुनावों से पहले छात्रसंघ के चुनाव करवाने की मांग की। उन्होेंने कहा कि जम्मू विश्वविद्यालय प्रशासन द्वारा धांधली कर कुछ चुुनिंदा विद्यार्थियों को कल्चरल सेक्रेटरी के पद के लिए चयन किया गया है। प्रदर्शनकारियों ने डीन स्टूडेंट वेलफेयर के कार्यालय के बाहर धरना दिया। इस दौरान कहा कि कल्चरल सेक्रेटरी के चुनावों के साथ छात्रसंघ के भी चुनाव करवाए जाएं। ऐसा न करने पर एबीवीपी द्वारा उग्र प्रदर्शन किया जाएगा।
प्रदर्शन के दौरान डीन स्टूडेंट वेलफेयर प्रो. जसबीर सिंह ने विद्यार्थियों से इस मुद्दे पर चर्चा की। इस दौरान प्रदर्शनकारियों ने कहा कि विद्यार्थियों की मूलभूत सुविधाओं को लेकर प्रशासन द्वारा कोई भी कार्य नहीं किया जा रहा है। गौरतलब है कि एबीवीपी द्वारा पिछले कुछ दिनों से विभिन्न मांगों के समर्थन में प्रदर्शन किया जा रहा है। एबीवीपी कार्यकर्ताओं ने कहा कि सरकार द्वारा 50 हजार पदों पर भर्ती करने की घोषणा को पूरा किया जाए। साथ ही शिक्षा विभाग में रिक्त पदों को भरने, शिक्षा के व्यवसायीकरण को रोकने और 43 सूत्री मांगों के संबंध में आवाज बुलंद की। प्रदर्शन करने वालों में चैतन्या रंधावा, अजय लखोत्रा, मानिक रेशी, अभिषेक शर्मा, मनीषा खन्ना, अमोग गुप्ता, पीयूष खजूरिया, अनूप चिब आदि शामिल थे।
प्रदर्शन के दौरान दो पक्षों में कहासुनी
प्रदर्शन के दौरान एबीवीपी कार्यकर्ताओं के साथ एनएसयूआई, एनएसएफ और एनसीएसयू की कहासुनी हुई। एक तरफ जहां एबीवीपी कल्चरल सेक्रेटरी के चुनावों को रोकने के लिए प्रदर्शन कर रही थी, तो वहीं दूसरी तरफ एनएसयूआई, एनएसएफ और एनसीएसयू के कार्यकर्ताओं ने चुनावों को सोमवार के ही दिन करवाने की मांग की। इस बात को लेकर दोनों पक्षों में बहस हुई। एबीवीपी के कार्यकर्ताओं ने कहा कि ये चुनाव तय प्रक्रिया के अनुसार नहीं करवाए जा रहे हैं। जबतक इसको रद्द नहीं किया जाता तब तक हम प्रदर्शन करते रहेंगे। वहीं, एनएसएफ के दिव्यम ने कहा कि जेयू प्रशासन सिर्फ एक छात्र संगठन के कहने पर कैसे चुनाव स्थगित करवा सकता है। इसमें अन्य संगठनों को भी शामिल कर फैसला लिया जाना चाहिए।
चुनावों की नई तिथि जल्द होगी जारी
ये चुनाव किसी के भी दबाव में स्थगित नहीं किए गए हैं। कल्चरल सेक्रेटरी के पद के लिए सिर्फ दो उम्मीदवारों ने ही नामांकन किया था और ज्वाइंट सेक्रेटरी के तीन पदों के लिए केवल एक उम्मीदवार ने नामांकन किया था। इस कारण हमें चुनाव स्थगित करने पड़े। चुनावों की नई तिथि जल्द जारी कर दी जाएगी।
- प्रो. जसबीर सिंह, डीन स्टूडेंट वेलफेयर, जेयू
... और पढ़ें

शहर में पेयजल किल्लत दूर करने को होगा सर्वे

जम्मू। शहर में पेयजल किल्लत दूर करने और लोगों को 24 घंटे पानी मुहैया कराने के लिए पीएचई विभाग सर्वे करा रहा है। इसमें पानी की कुल आपूर्ति, स्रोत और कुल आबादी की जानकारी ली जाएगी। जिन वार्डों में पानी की किल्लत है। वहां पानी के नए स्रोत पर विचार किया जाएगा और पानी की किल्लत दूर की जाएगी। साथ ही ऐसे वार्ड जहां पानी की उपलब्धता जरूरत से ज्यादा है। यहां पर स्रोतों से पेयजल किल्लत वाले वार्डों में पानी मुहैया कराने पर भी योजना बनेगी। मौजूदा समय में ओल्ड सिटी, जानीपुर, न्यू प्लाट, सिद्दड़ा, बठिंडी, नरवाल, गांधी नगर समेत अन्य वार्डों में जरूरत से कम पानी मिल रहा है। सबसे ज्यादा परेशानी गर्मी के दिनों में होती है। लोगों को आधा घंटा या 15 से 20 मिनट ही पानी मिल पाता है।
पेयजल किल्लत के समाधान के लिए प्रस्ताव को सचिवालय भेजा जाएगा। साथ ही 24 घंटे पानी मुहैया कराने के लिए बजट की मांग की जाएगी। मौजूदा समय में जल स्रोतों से पूरे शहर में पानी की आपूर्ति सही तरीके से नहीं हो रही है। ओल्ड सिटी में पाइप पुराने होने के कारण आपूर्ति बाधित रहती है। नालियों में पाइप होने के कारण गंदा पानी भी सप्लाई होता है। अब सर्वे में यहां पर पाइप बदलकर कनेक्शन मुहैया कराए जाएंगे। इसके लिए पीएचई विभाग ने नगर निगम से वार्डों की रिपोर्ट ले ली है। अब आगामी माह से सर्वे करने पर काम शुरू होगा। लोगों को जरूरत के हिसाब से पानी मुहैया कराया जाएगा।
------
ढाई लाख लोगों को नहीं मिल पाता पानी
मौजूदा समय में शहर में 16 लाख आबादी को 64 जीएमडी पानी की जरूरत है। जबकि 54 जीएमडी पानी ही मिल रहा है। ढाई लाख लोगों को जरूरत के हिसाब से कम पानी मिल रहा है। कुल पानी की आपूर्ति में कट लगाकर लोगों को पानी मुहैया कराया जा रहा है। इससे लोगों को सवा घंटा की जगह एक घंटा ही पानी मिल रहा है।
-----
पेयजल किल्लत दूर करने के लिए वार्डों में सर्वे किया जाएगा। सर्वे में पानी की उपलब्धता, नए स्रोत विकसित करने पर रिपोर्ट तैयार की जाएगी। इसके बाद वार्डों में जरूरत के हिसाब से पानी मुहैया कराया जाएगा।
-पीबी सूरी, एक्सईएन, पीएचई
... और पढ़ें

आतंकियों ने की जम्मू-कश्मीर को दहलाने की नापाक कोशिश, राजोरी में आईईडी बरामद

आतंकियों ने एक बार फिर जम्मू-कश्मीर को दहलाने की नापाक कोशिश की। आर्मी की रोड ओपनिंग पार्टी ने राजोरी में मंगलवार को आईईडी बरामद की। सेना का बम निरोधक दस्ता मौके पर पहुंच चुका है। राजोरी पुंछ हाईवे पर दो घंटे से यातायात रुका हुआ है। इसके बाद से हाईवे पर सतर्कता बढ़ा दी गई है। प्रमुख स्थानों और सुरक्षा प्रतिष्ठानों की सुरक्षा बढ़ा दी गई है। जगह-जगह नाके लगाकर चेकिंग की जा रही है।

राजोरी हाईवे स्थित शहर के कल्लर इलाके में आतंकवादियों ने सड़क किनारे आईईडी प्लांट किया था। हालांकि समय रहते आर्मी की रोड ओपनिंग पार्टी ने आतंकियों की इस साजिश को नाकाम कर दिया। सेना का बम निरोधक दस्ता मौके पर पहुंच चुका है। वहीं राजोरी पुंछ हाईवे पर यातायात रोक दिया गया। इससे पहले मई महीने में भी इसी जगह आतंकियों ने आईईडी प्लांट लिया था। जिसे सेना ने बरामद करने के बाद नष्ट कर दिया था।

वहीं 17 नवंबर को एलओसी पर पलांवाला सेक्टर में जीरो लाइन पर फेंसिंग के बिल्कुल पास पाकिस्तान की ओर से आईईडी प्लांट की गई थी। इसकी जग में आए भारतीय सेना के वाहन में सवार एक जवान शहीद हो गए। दो अन्य जवान गंभीर रूप से घायल हो गए। विस्फोट में सेना का वाहन बुरी तरह क्षतिग्रस्त हो गया।
... और पढ़ें
सेना का काफिला सेना का काफिला

दुनिया का सबसे ऊंचा रणक्षेत्र 'सियाचिन' जहां दुश्मन से ज्यादा बैरी है मौसम, पढ़ें जांबाजों के किस्से

हत्या की अनसुलझी गुत्थीः आखिर कौन है महंत परगट नाथ का हत्यारा

जम्मू के काली माता मंदिर में महंत की हत्या मामले में गुत्थी अभी अनसुलझी है। हालांकि अब भी इस मामले की जांच का प्रमुख पहलू किसी नशेड़ी के मंदिर में लूट और किसी अन्य महंत के गद्दी को लेकर विवाद के आसपास ही घूम रहा है।

ऐसे में जानकारी मिली है कि मंदिर में एक बार चोरी भी हो चुकी है। महंत के गद्दी संभालने के कुछ महीने बाद ही मंदिर में चोरी हुई थी। यह चोरी 2006 में हुई थी। जिसकी एफआईआर भी दर्ज कराई गई थी। उधर, सोमवार को महंत की बेटी, दामाद और बेटा भी जम्मू पहुंचे। जिस जगह महंत परगट नाथ की समाधि बनाई गई, वहां वह फूट-फूट कर रोए।

मृतक महंत परगट नाथ मूलरूप से उत्तर प्रदेश के बनारस के रहने वाले थे। दिल्ली में भी उनका आवास था। वह पिछले 14-15 साल से इसी मंदिर में महंत थे। पुलिस को अब तक महंत का मोबाइल भी नहीं मिला है। हालांकि इसकी सीडीआर निकलवाई गई है। डीएसपी अमित शर्मा का कहना है कि महंत के परिजनों से पुलिस पूछताछ कर रही है।

बता दें कि तीन दिन पहले अखनूर रोड पर तोफ पुल स्थित काली माता मंदिर के महंत परगट नाथ की हत्या कर दी गई थी। पुलिस मंदिर में आने वाले साधु संतों और उनके चेलों से भी पूछताछ कर रही है। हालांकि पुलिस को अभी इस मामले में जांच के कोई खास सबूत नहीं मिले हैं।
... और पढ़ें

जम्मू-कश्मीरः जेयू में एबीवीपी के प्रदर्शन के बाद कल्चरल सेक्रेटरी का चुनाव स्थगित

विद्यार्थियों की विभिन्न मांगों के समर्थन में अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद (एबीवीपी) का प्रदर्शन रुकने का नाम नहीं ले रहा है। सोमवार एबीवीपी ने विभिन्न विभागों के विद्यार्थियों ने डीन स्टूडेंट वेलफेयर के कार्यालय के बाहर कल्चरल सेक्रेटरी के होने वाले चुनावों के खिलाफ प्रदर्शन किया। इसके बाद चुनावों को स्थगित कर दिया गया। प्रदर्शन के दौरान कुछ विद्यार्थियों द्वारा डीन स्टूडेंट वेलफेयर का दरवाजा तोड़ने की कोशिश भी की गई। इस दौरान कुर्सियां भी बाहर फेंकी गईं।
 
प्रदर्शनकारियों ने कल्चरल सेक्रेटरी के चुनावों से पहले छात्रसंघ चुनाव करवाने की मांग की। इस दौरान उन्होंने डीन स्टूडेंट वेलफेयर के बाहर अपनी मांगों के समर्थन में नारेबाजी की। प्रदर्शनकारियों ने कल्चरल सेक्रेटरी के चुनावों से पहले छात्रसंघ के चुनाव करवाने की मांग की।

उन्होंने कहा कि जम्मू विश्वविद्यालय प्रशासन द्वारा धांधली कर कुछ चुनिंदा विद्यार्थियों को कल्चरल सेक्रेटरी के पद के लिए चयन किया गया है। प्रदर्शनकारियों ने डीन स्टूडेंट वेलफेयर के कार्यालय के बाहर धरना दिया। इस दौरान कहा कि कल्चरल सेक्रेटरी के चुनावों के साथ छात्रसंघ के भी चुनाव करवाए जाएं। ऐसा न करने पर एबीवीपी द्वारा उग्र प्रदर्शन किया जाएगा।
... और पढ़ें

सियाचिन : 19 हजार फुट की ऊंचाई पर हिमस्खलन, 4 जवान शहीद, दो पोर्टरों की भी मौत

एबीवीपी का प्रदर्शन
सियाचिन ग्लेशियर में सोमवार को आए हिमस्खलन की चपेट में आकर चार जवान शहीद हो गए जबकि दो पोर्टरों की भी मौत हो गई। दो अन्य जवानों की हालत अब भी गंभीर बनी हुई है और इन सभी को चिकित्सकीय निगरानी में रखा गया है। सियाचिन ग्लेशियर दुनिया का सबसे ऊंचा युद्ध क्षेत्र है।



सैन्य प्रवक्ता के अनुसार, 19 हजार फुट की ऊंचाई पर सियाचिन ग्लेशियर के उत्तरी सेक्टर में काम कर रहे आठ कर्मचारी हिमस्खलन की चपेट में आ गए थे। सूचना पर पास के पोस्ट से बचाव टीम को मौके पर भेजा गया। बर्फ में दबे आठ लोगों को निकालकर हेलिकॉप्टर से पास के सैन्य अस्पताल में पहुंचाया गया। इनमें सात की हालत गंभीर थी। इलाज के दौरान छह की मौत हो गई। इनमें चार जवान और दो पोर्टर शामिल हैं, जिन्होंने काफी देर तक बर्फ में दबे रहने के कारण दम तोड़ दिया। सभी चौकी पर बीमार एक अन्य व्यक्ति को निकालने गए थे। सूत्रों ने बताया कि पेट्रोलिंग ड्यूटी पर तैनात छह डोगरा बटालियन के जवान काजी और बाना पोस्ट के बीच हिमस्खलन की चपेट में आ गए।
... और पढ़ें

जम्मू कश्मीर के इतिहास में पहली बार 1145 पुलिस के जवानों ने ली सिर्फ भारतीय संविधान की शपथ

सियाचिन : दुनिया का सबसे ऊंचा रणक्षेत्र, जहां-50 डिग्री में भी भारतीय जवान करते हैं सीमा की हिफाजत

अपने शहर की सभी खबर पढ़ने के लिए amarujala.com पर जाएं

Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google, और सोशल मीडिया साइट्स, जैसे की Facebook, के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।

Agree
Election